अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,पूनम पांडे की सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

महिला बीएफ वीडियो: अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो, एक तरफ तुम थीं जो ओस की पहली बूंद बनकर मेरी प्यास बुझाने आयी थीं, दूसरे तरफ ये समाज था … घरवाले थे, जो इस रिश्ते को कभी मान्य नहीं करते.

वाली सेक्सी फोटो

यहां तक कि बाद में नीना अपनी सहेलियों और बहनों को भी ‘चक्की’ स्टाइल में चुदाई करने की मुफ्त सलाह देने से कभी नहीं चूकी. मस्तराम की सेक्सी कहानियाँऔर खाना बनाने के बाद सबको खिलाया और खाने के बाद सब अपने कमरे में सोने चले गये.

जबकि मैं उससे पहली बार मिल रहा था और उसने मुझे अपना जिस्म का वो दूधिया हिस्सा दिखाने में तनिक भी गुरेज नहीं की थी, जिसके लिए किसी भी महिला को खूबसूरती हासिल होती है. सेक्सी फिल्म गांव की देहातीउनकी जांघ पर हाथ रखते हुए कहा- चाची हो, माँ नहीं।चाची ने मेरे हाथ पर हाथ रखते हुए कहा- तो फिर आज ही आजमा लेती हूं … देखूँ तो कितना बड़ा हो गया है मेरा बेटा.

नेहा ने अपनी चूत के होंठों को एक हाथ से पूरा खोल लिया और धीरे से खड़े लंड पर बैठ गई.अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो: नौ सौ चूहे खाकर अब बिल्ली हज को जाएगी? चुपचाप मान जा वरना अपनी सहेली को बोल कि चूस देगी थोड़ा सा … फिर मैं मान जाऊंगा …” सर ने कहा।अजीब उलझन में आ फँसी थी मैं.

देखने में भी अच्छे नहीं थे और रोमांस नाम की चीज़ का तो उनको पता भी नहीं था.ये सब दीदी के साथ ही करना!” प्रिया ने झूठमूठ का गुस्सा दिखाते हुए कहा, मगर मुझे हटाने की कोशिश या फिर मेरा विरोध उसने बिल्कुल भी नहीं किया.

सेक्सी मूवी 18 साल - अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो

उसकी इस बात से मैं चौंक गया, मैंने ध्यान दिया तो मुझे उसके हाथ में नींद की गोलियां दिखाई दीं.उसने मेरा पूरा मेनू किचन में लिखवा दिया और फिर शाम को बाहर जाने का प्लान बनाया.

मैंने उनको घुटनों के बल लेटने को कहा तो उन्होंने कहा- यहाँ नहीं, बाथरूम में नहाते हुए!मैं बाथरूम में पानी में उनकी चूत चोदने लगा और उनके मम्मों को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो उसने मेरी जीन्स और टी-शर्ट को निकाल के फेंक दिया और मेरी फ्रेंची में हाथ डाल के लंड सहलाने लगी.

मैं खाट पर लेटी रही और सब ने मेरे मुँह में अपना लंड देकर अपना रस मुझे पिला दिया.

अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो?

मैं- पहले बताओ कब और किस से चुदी थी तुम?मनीषा- एक साल पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था, उसी ने मेरी चूत की सील तोड़ी थी और अब तक मैं उसके साथ 6-7 बार सेक्स कर चुकी हूँ पर तुमसे मिलने से पहले ही हमारा ब्रेकअप हो गया था. मैं उसके घर रहने लगा, लेकिन फिर भी शनिवार रविवार को नाके पे जल्दी जाता था … ताकि दीदी को देख सकूं. राखी आंटी ने कहा- बेटी, अब तुम्हारी शादी हो चुकी और तुम्हें अपने पति से आशीर्वाद लेना चाहिए.

येबातसलोनीसमझगईतोउसनेअपनेहाथसेमेरासरपकड़केझुकायाऔरमेरेहोंठोंकोअपनेहोंठोंसे जोड़ दिया. फिर तुरन्त उसने उसकी नाईटी खोल दी, अगले ही पल अनु सिर्फ पेंटी में थी. मैंने सोनू से पूछा- क्या तुम्हारे बॉयफ्रेंड ने तुम्हारे साथ ये सब किया है?सोनू कहने लगी- नहीं ऐसा कुछ नहीं किया, वह लड़का मेरा बॉयफ्रेंड नहीं है, परंतु बनना चाहता है.

वैसे एक बात पूछूँ … इतने समय बाद आप ये सब ख्याल मन में क्यों ला रहे हैं?”मैंने जरा मुस्कुरा कर ताना कसा- क्या बताऊं कौशल्या जी, सब आपकी चाय की गलती है. सरिता खुद मुझे एअरपोर्ट लेने आई थी, लाल ड्रेस ऊपर दुपट्टा डाले, वो गजब की माल लग रही थी. मैंने जेठ जी की तरफ देखा, तो वह मेरी उस अवस्था पर मुस्कुरा रहे थे, मुझे बहुत शर्म महसूस हो रही थी.

सलोनी- उफ्फ … आह्ह!सिसकारियों की गूंज ट्रेन के शोर में दब सी गई पर मैं सुन सकता था. उसने झट से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

फिर वो मुझसे हाथ छुड़ा कर चली गयी और मैं भी सीधे बाथरूम में गया और मुठ मारने लगा क्योंकि मेरा लंड खड़ा हो चुका था.

मैंने जैसे ही चाची को अपनी तरफ घुमाया, वाउ उनके दो मोटे रसीले आम मेरे सामने थे.

मैंने अपनी तीन उंगलियां चूत में डाल कर अन्दर बाहर करना चालू कर दीं. मालती ने अब मुझसे फोन पर अश्लील बातें करनी शुरू कर दीं और बहुत से चुदाई वाली क्लिप भेजने लगी. उन्होंने कहा कि दस हजार तो ले ही ले … फिर उनकी गाड़ी सीज कर देते हैं.

अब तो यह होड़ लगी थी कि कौन जोर से किस करता है और साथ में ही एक दूसरे के बदन से खेलने लगे. मैंने अपना लंड उसके मुँह से निकाल लिया और उसे बेड के किनारे पे सीधा लिटा दिया. लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद मेरा होने वाला था तो मैंने सारिका से पूछा कि कहां छोड़ना है तो उसने कहा कि मेरी चूत में ही छोड़ दो.

जब 5 मिनट तक मेरी चूत में डिल्डो अन्दर ही रहा तो मैंने कहा- आह दीदी अब इसको हिलाओ ना … मेरी चूत अन्दर से उछल रही है … मगर हिल नहीं पा रही है.

इनके बहुत कहने पर … और वैसे एक बात बताऊं तुम्हें वन्द्या सच में तुम में बहुत आकर्षण है, मैंने बहुत सारी लड़कियों और औरतों को अपने पास बुलाया, कुछ तो पैसों की जरूरत के कारण आई और कुछ मुझसे करवाने आईं. ये सब बोलकर उसने मुझे गले लगा लिया और रोने लगी, वो मुझे गर्दन पर चुम्बन करने लगी और फिर मैं भी पिघल गया. पहले तो वंदना को मुझसे बात करने में शर्म आ रही थी लेकिन थोड़ी देर बाद वह भी मुझसे ऐसी बातें करने लगी.

उनकी धमकियों से एक टाइम तो मेरी गांड फट गई थी, लेकिन फाइनली वो मान गईं. मैं जानती हूँ कि तुम समझ चुके हो कि मैं तुमसे क्या कहना चाहती हूँ क्योंकि तुम समझदार हो इसलिए प्लीज यह काम हम दोनों के बीच बहुत ग़लत काम है. फिर पता नहीं उसने क्या सोचा और उसने मुझसे कहा कि वो आपके सामने मेरे साथ सेक्स कैसे करेंगे?मैं- मतलब तेरी चूत अंकल का लंड मांग रही है.

मैंने अपने दोस्त को आवाज दी, जब कोई जवाब नहीं आया, तो मैं उसे ढूंढते उसके घर घुस गया.

जब घर आया तो यही सोचने लगा कि भैया कब न आ जाएं और मुझे घर से निकाल दें. अगर वो कोई असली लंड भी होता तो भी इतनी मुश्किल नहीं होती क्योंकि लंड जल्दी से अन्दर बाहर होता है, जिससे वो एक जगह टिक कर नहीं बैठता.

अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो अब नीरू और मेरी पत्नी दोनों ने उसकी टांगों को चौड़ा किया और उसकी कुंवारी बुर की दरार को खोल कर मुझे दिखा कर बोली- देखो राजा जी, बिनचुदी बुर के दर्शन करो … कितनी मस्त लग रही है पायल की बुर … हम आपके लंड के लिए बंद और नई बुर लेकर आए हैं. कल भी मेरे पति घर से बाहर रहेंगे, आप कल रात का खाना खाने घर आ जाना.

अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो मैं- हाँ बोलो?तो वो मेरे पास आकर बोली- तुम्हें याद है क्या सूर्या … एक साल पहले तुम चाचू के लड़के की शादी में आये थे? (मतलब मेरे मामा का लड़का)मैं- हाँ याद है. ड्राइवर अंकल मेरी पीठ को कस के पकड़ के धक्का लगाने लगे, तभी वह जो रमीज के साथ पहलवान की तरह अनवर आया था.

तभी उसने टोकते हुए मुझे रोका और बोली- रुको!मैंने देखा कि वो थोड़ी गुस्से में लग रही थी.

हिंदी में ब्लू पिक्चर मूवी

बैठते ही मैंने उससे कहा- आप हमेशा यहीं जुगाड़ लाते हो क्या?उसने हंसते हुए मुझे सफाई दी- नहीं ये तो दो दिन पहले लाकर रखी है. भाभी ने बच्चे को डांटा और फिर मेरी तरफ देखा तो मैं उसके स्तनों को ही घूर रहा था. उस वक्त दोपहर का टाइम था और सब लोग अपने-अपने कमरों में सो रहे थे।पति और राहुल भी बेड पर लेट गए और मैं नीचे ही सो गई.

आपको भाई बहन की सुहागरात की कहानी कैसी लगी, उसके लिए कमेंट्स कीजिये. वो नीचे से कमर उठा कर लंड ले रही थी और बोले जा रही थी- यसस्स कम ऑन … जोर से चोदो अहहह अहह … अहहह … बड़ा मजा रहा है. यह देखकर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा, लेकिन मैं क्या कर सकता था.

कुछ देर बाद जब मैं झड़ गया, तो देवी ने पूछा- क्या हुआ जी … आये तो जोश में थे … अब मायूस क्यों हो? मज़ा नहीं आया क्या?मैं- नहीं जानू, बस थोड़ा जल्दी में हूँ … आज कहीं जाना है.

फिर मैं ऊपर जा कर चाय और सिगरेट पीने लगा और सोच रहा था कि अगर ये ऊपर आ जाती है, तो इसकी चुत का मज़ा लूंगा और अगर नहीं आती है, तो फिर इसे भूल जाऊंगा. तभी हम सहेलियां भी 69 की पोजीशन में आ गयी और एक-दूसरी की चूत चाटने लगी करीब दस मिनट बाद मम्मी जोर से चिल्लाई- आहह हह उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरा पानी निकलने वाला है. मैंने ब्रा के ऊपर से ही सोनू के मम्मों को थोड़ा-थोड़ा दबाया तो सोनू एकदम मस्त हो गई और सिसकारियां लेने लगी.

यह 2 बार होने के बाद में उसने मुझसे कहा कि अब मुझसे नहीं होगा क्योंकि उसका हाथ दुखने लगा है. उन्होंने कहा- मुझे रंग नहीं लगाओगे?मैंने लता भाभी के लिफाफे से ही गुलाल लिया और थोड़ा सा चुटकी भर कर उनके माथे पर लगा दिया. फिर खुद की ही टॉप अपने जिस्म से अलग कर दिया और अपने कबूतरों को टॉप से आज़ाद कर दिया.

उसने मुझे इतने जोर से पकड़ा था कि उसके नाख़ून मेरे पीठ में चुभ गए थे. इसी दरम्यान मैंने भाभी का हाथ धीरे से पकड़ कर अपने पास में लाकर उनके गाल पर चुम्मी कर ली.

मेरे मुंह से निकल गया- आज़मा कर देख लो।मैं बोला- सॉरी-सॉरी चाची, गलती से निकल गया।चाची बोली- कोई बात नहीं, अगर मैं तेरी चाची न होती तो आज़मा कर देख भी लेती।मैं सुनते ही पागल हो गया और यकीन नहीं हुआ कि यह सब चाची कह रही है. सोनल के कमर के हिलने की स्पीड बढ़ती जा रही थी, जोर ज़ोर से उसके नितम्ब दादाजी के बदन पर टकरा रहे थे. मेरी सहेली की एक भाभी भी है और उसके मुँह से ये सुनकर मुझे बहुत अजीब लग रहा था क्योंकि भाभी तो दिखने में बहुत सीधी शालीन लगती थी.

वो भी कुछ देर के बाद झड़ गया और उसके बाद हम दोनों ने थोड़ी देर आराम किया.

”वैसे आपके पति देव से भी फ़ोन पे बातें तो होती ही होंगी क्यों?”अरे कहां. मैं बोला- तो आप इतनी उदास क्यों रहती हो?भाभी बोलीं- ऐसे ही!और वे हंस कर चली गईं. मैं हमेशा की तरह आज भी नहा धोकर स्कूल के लिए अपनी बुलेट बाइक पर रवाना हो गया.

यह वाकयी बेहद जरूरी था, क्योंकि एक बार फिर से मेरी नीना रानी मुख-मैथुन का सुख देकर अपने किराएदार प्रशांत के लौड़े का एहसान उतारना चाह रही थी और उसने किया भी. साली अनु ने मेरा लंड कभी भी इस तरह से नहीं चूसा था … और आंड तो आज तक नहीं चाटे थे.

उस रात मैंने उसको दो बार पेला था जिससे उसको चलने में दिक्कत हो रही थी. वहीं पर रीतिका से भी मुलाकात हुयी, जब हम तीनों की नजर एक दूसरे से मिली तो एक मुस्कुराहट के साथ सभी ने एक दूसरे का स्वागत किया. तो इस पर मीनाक्षी उठी और कुछ देर बाद वापस आकर उसने कहा कि सब सो रहे हैं.

जबरदस्ती हिंदी बीएफ

तभी अनवर ने मेरी चूत में अपनी जीभ को डाल दिया और मुझे बोला कि तेरी चूत इतनी गरम कैसे है.

मैडम काफ़ी सुंदर हैं … एकदम गोरी चिट्टी … मानो दूध से नहा कर निकली हो. अब मैं उसके कपड़े उतारने की कोशिश ही कर रहा था, तब तक उसने मेरे पूरे कपड़े उतार दिए. मैंने पैन्ट की चेन खोलकर अपना लंड निकालकर उसके हाथों में दे दिया।वो मेरे लंड से खेलने लगी.

मुझे आज ये बात समझ आ गई थी कि जब औरतों को लंड नहीं मिलता है, तो वे किसी से भी चुदवाने लगती हैं. जैसा कि मैं बता चुका हूँ कि उस समय हर शाम शादियों में जाना होता था इसलिए अगली रात फिर वही हुआ. मां बेटे की सेक्सी बातेंउसने अपने ब्रेस्ट से उसको दूध पिलाना शुरू कर दिया, जिसके लिए उसने मेरे सामने ही अपना बुर्का खोला, जो सामने से खुलने वाला था.

मुझे ऐसा लगा कि एक किसी पतली सी गली में मेरे लंड फंस गया हो और उस गली में आग लग गयी हो. वंदना मुझसे बोली- जानू, अब बर्दाश्त नहीं हो रहा … तुम मेरी चुत को अपने लंड से चोदो … और मुझे अपनी औरत बना लो.

सोनू जब सोफे के ऊपर बैठी थी तो मैं उसकी मोटी जांघों और चूचियों को देख रहा था. जैसे ही दादाजी ने उंगली सोनल की चूत पर रखी, तो सोनल ने अपनी कमर को नीचे से उठा दी. दरअसल उन्होंने मुझे मेल किया कि उन्हें मेरी कहानी बहुत अच्छी लगी है और वो मुझसे फ़ोन पर बात करना चाहते हैं.

मामी ने मेरी एक टांग ऊपर की और मेरी चूत में जीभ डालकर अंदर तक चूसने लगी. मगर तभी मेरी नजर अनायास ही उनकी चुत पर चली गयी जिसमें से मेरे व उनके प्रेमरस का‌ बिल्कुल क्रीम जैसा गाढ़ा और सफेद‌ मिश्रण धीरे धीरे बहते हुए बाहर निकल रहा था. उन्होंने मेरे पल्लू को मेरे सीने पर से हटाया और मेरे ब्लाउज के हुक्स खोलने लगे.

उसने बताया कि वह देवास जिले की रहने वाली है, लेकिन कोटा राजस्थान (शहर और उसका नाम बदला हुआ है) में रह कर पी.

करण पाल मेरी बीवी को बांहों में लेकर कमरे में ले गया और उसने गेट भी बंद कर लिया. एक बार फिर से थोड़ी शांति हो गयी और धीरे धीरे बातें करने की आवाज़ें आने लगीं.

उसने मेरे लंड पर अपने दांत गड़ा दिए और इधर उसकी चूत से कामरस बह निकला. जो नए पाठक हैं उनके लिए बता दूँ कि मैं चंदन रेवाड़ी हरियाणा का रहने वाला हूँ. चूँकि मैं एक अमीर घर का लौंडा हूँ इसलिए घर में कम रहता था और दोस्तों के साथ घूमता रहता था.

उधर सुखबीर व्याकुल हुआ जा रहा था और उसके संदेशों में ये साफ झलकता था. मुझे लगता था कि मेरी सहेली का भाई मेरी बहुत केयर करता है और मुझे उसकी ये बात बहुत अच्छी लगती थी. फाइनली मेरी ब्रा उसने हटा दी और मेरे मोटे मोटे मम्मे उसके सामने अब आजाद थे.

अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो मुझे उसकी बातों में कुछ शरारत सी लगी और मैं नीचे जाने लगा क्योंकि वो थी तो मेरी बहन ही!तभी पीछे से उसने आवाज लगाई- रुको सूर्या … मुझे तुम्हें एक बात बतानी है. फिर अजय ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद मेरे बूब्स पर किस करते-करते मेरी चूत तक आ पहुंचे और मेरी चूत को चाटने लगे.

xxx के वीडियो

इस बार उसने जब दुप्पटा ऊपर किया, तब उसकी चुचियों का पॉईंट ज्यादा ही दिख गया था … इस बार निप्पल उभर कर आ गए थे और कड़क से दिख रहे थे. एक दिन उसकी सासू माँ ने खाना खाते वक्त कहा- मैंने इससे बोला कि तू दूसरी शादी कर ले, कब तक अकेली रहेगी, लेकिन ये है कि मानती नहीं. लेकिन अकेले में ही … बाहर ये सब अच्छा नहीं लगेगा, ये चीजें अपने पास तक ही रखिएगा, मैं एक घरेलू औरत हूँ.

मेरे इतना बोलते ही उसने एक धक्का मारा जिससे उसका लण्ड मेरी चूत को चीरते हुए अंदर चला गया. मेरे लिए तो ये बेहद ही अनूठा और उत्तेजक सा दृश्य था, जिसे मैं टकटकी लगाये बस देखता रह गया था. तेजाजी का फोटोमैं भी अजय के जबरदस्त लौड़े से चुदते हुए उसकी पीठ को सहला कर उसका उत्साह और ज्यादा बढ़ाने की कोशिश कर रही थी.

मैंने उसके कान में बताया कि मैं तुम्हारी चूत में अपने लंड को डालना चाहता हूँ.

पता नहीं उस आदमी ने क्या सोचा और गुस्सा होने की जगह कहा- ओके, तो यहीं से खड़े होकर चुदाई के मज़े ले. वो तो इतनी अधिक चालाक थी कि कभी कभी अपनी बहन के साथ टूर पर जाने की बात कह कर अपने बॉयफ्रेंड्स के साथ चली जाती थी और बहुत दिन के बाद आती थी.

मानसी की जोर से सिसकारी किलकारी निकली … सब समझे कि मानसी झूले के कारण चिल्ला रही है और सिसकारी मार रही है. प्रमिला दीदी- चलो देखते हैंवो मेरे रूम में आयी और उसने कहा- प्रकाश चलो तेरे रूम का थोड़ा रिनोवेशन करवा लेते हैं. पर इस बार मैं अड़ गयी- नहीं सर … ये नहीं!मैंने एकदम से सीधी खड़ी होकर कहा.

मैंने उसका हाथ पकड़ लिया, मैंने कहा- समझ तो मैं सब कुछ गया हूँ, मगर सामने वाली कुछ खुलकर बोल ही नहीं रही है.

मुझे मेरे लंड पर नाज था, जिसने आज वंदना की सील तोड़ दी थी और वंदना की चुत से खून आने लगा था. मैं बाइक के छोटे से पैरदान पर बड़ी मुश्किल से अपने दोनों पैर रखकर खड़ा हो पाया था. इस वक्त उसके छोटे से ब्लाउज में से उसके बड़े बड़े मम्मे काफी बाहर को आए हुए थे.

मराठी सेक्सी रोमान्सइधर मेरा लंड भी हमारी कामुक बातों के कारण पूरा तना हुआ था और मेरी पैंट में अलग से ही शेप बना रहा था. मामी ने पूछा- चूत में बाल हैं क्या?मैंने कहा- नहीं मामी, आज सुबह ही साफ किए हैं.

ठुकाई वीडियो

आवाज लगाते ही मेरी पत्नी तुरंत बेडरूम में आ गई, उसने हम तीनों को कहा- अरे बेशर्मों, तुम तीनों अंदर मजे कर रहे हो और मैं तुमको गेट के छेद से मजे करते हुए देख रही हूं. लगभग 20 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मेरे लंड ने अकड़ना शुरू कर दिया और मैंने सोनू को अपनी बांहों में कसकर भींच लिया. नैना की आंखें बंद थीं, मैंने अपने हाथ उसके मम्मों पे रख दिए और धीरे धीरे मसलने लगा.

जैसे ही दादाजी ने उंगली सोनल की चूत पर रखी, तो सोनल ने अपनी कमर को नीचे से उठा दी. एक उंगली से मैं प्रमिला की चुत के दाने को भी सहला रहा था, जिससे प्रमिला भी सिसकारियों के साथ मुँह से ‘ऊऊ ह्ह्ह आआअह्हह …’ की आवाजें निकाल रही थी. उसने जैसे ही यह बात मुझसे कही, मैं हैरान हो गया कि कोई सच में मुझसे अपनी चुत की चुदाई करवाना चाहती है.

फिर मैंने उसके काले हुस्न की तारीफ की और इस वजह से मैं उसका भरोसा जीतने में कामयाब हो गया. क्या चुत, क्या गांड, क्या मुँह, सब छेदों में मेरे लंड ने लैंड किया. मैं बोला- मैंने इससे पहले भी कई खेतों में पानी लगाए हैं, विवाह नहीं हुआ तो क्या बारातें तो बहुत देखी हैं.

उसके आने के कुछ एक हफ्ते बाद मुझे हेड ऑफ़ डिपार्टमेंट से प्रमोशन लैटर आया कि वो मुझे टीचर से प्रिंसिपल बना रहे थे, लेकिन मुझे पोस्टिंग किसी दूसरे शहर के स्कूल में दी जा रही थी. मुझे चुदते देख वे दोनों हट्टे कट्टे लोग चौंक गए और उनमें से एक बोला- यह तो बहुत बड़ी रंडी लग रही है.

आखिर कैसी होगी इसकी चुदाई की नई दुनिया? फिर तो करते हैं प्रशांत की नई दुनिया का सैर.

फिर करीब दस मिनट बाद हम दोनों सेक्स करते करते दुबारा झड़ गए और थकान के चलते वो मेरी गांड पर ही ढेर हो गया. इंग्लिश सेक्सी व्हिडिओ लाईव्हफिर वो मुझसे हाथ छुड़ा कर चली गयी और मैं भी सीधे बाथरूम में गया और मुठ मारने लगा क्योंकि मेरा लंड खड़ा हो चुका था. ऊषा सेक्सी वीडियोमैंने जांघों को कस कर भींच लिया ताकि मेरी चूत में लंड आसानी न जा पाए और मेरे चूतिया पति को लगे कि मैं कुंवारी ही हूँ अब तक. 2 मिनट बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और मनीषा मेरा सारा पानी पी गयी और मैं बेड पे उसके पास लेट गया.

फिर मेरे परिवार ने मुझे काफी समझाया कि चिंता की कोई बात नहीं है, वो लोग घर संभाल लेंगे.

राहुल- तुम दोनों हर रविवार आती हो क्या यहाँ?मैं- नहीं, बस आज पहली बार ही आए हैं हम दोनों तो।अमित- तुम दोनों बैठो, मैं कुछ खाने के लिए लेकर आता हूँ।मैं- नहीं, कोई ज़रूरत नहीं, हमें हॉस्टल जल्दी जाना है।अमित- हम हैं न, छोड़ देंगे तुम दोनों को।अब मैं कुछ बोलती उससे पहले वो निकल गया।हम वहीं बैठ गए. एकता के कमरे में पहुंच के हम सभी ने अपने सामान मोबाइल … हैण्डबैग, स्कार्फ सभी बेड पर फेंके और एकता मेरे पास आकर मुझे स्मूच करने लगी. अंकल ने कहा- रेशमा, लंड का पानी छोड़ने वाला हूँ, कहाँ छोड़ूँ?मामी बोली- साली रंडी की चूत में ही छोड़ दो.

अपने‌ लंड‌ के सुपारे को नेहा की मुनिया पर घिसते हुए मैंने फिर से एक बार नेहा के चेहरे की तरफ देखा. कुछ दिन बाद भाभी वापस आईं और उसी दिन उनसे फोन पर बात हुई तो मैंने उनसे किस माँगा. कुछ देर की चुदाई के बाद मुझे मेरी चूत में एकदम से अकड़न सी हुई और कुछ गीला गीला सा महसूस हुआ.

देसि सेकसि विडियो

मैं बहुत देर तक उसके पीछे चूतड़ों में लण्ड लगाए खड़ा रहा और उसके पेट पर हाथ फिराता रहा. मैंने सिर्फ नैना से दोस्ती इसलिए की थी कि वो खुश रहे और उसकी गृहस्थी ठीक से चलती रहे. घर के काम करते वक्त कभी कभी पल्लू अपनी जगह पर नहीं रहता था, कभी पेट खुला पड़ जाता, तो कभी ब्लाउज में से स्तन दिखने लगते थे.

अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरा नाम रुचित है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ.

फिर मैंने मनीषा को ढूंढा और बोला- मामा जी ने एक काम करने को बोला है.

वहां वो उनको नल चालू करके फंक्शन बता ही रही थीं कि तभी अचानक शावर चालू हो गया और मॉम भीग गईं. दोनों चाचियों से मेरा मज़ाक तो चलता था, लेकिन मेरे दिमाग़ में सेक्स या ग़लत बातें ज़्यादा नहीं होती थी. திருநங்கை செக்ஸ் twitterथोड़ी ही देर में उसके मुँह की गर्मी से मेरे लंड में जान आ गयी और वो 3 इंच से बढ़ कर 7 इंच का हो गया.

मैंने सोचा कि चलो कोई बात नहीं केवल दो घन्टे की तो बात है, काट लेंगे. गौरव भाई तुम्हें जो करना है, तुम कर लो, मैं तो बस पीछे इसकी गांड में ही लंड डालूंगा. उनके घर मैं दोपहर को पहुंचा, डोरबेल बजाई तो चाची दरवाजा खोलते ही मुझे देखती रह गईं.

उस रात मैंने उसको दो बार पेला था जिससे उसको चलने में दिक्कत हो रही थी. फिर मैंने सुमन को उस प्लास्टिक के लण्ड से काफी देर तक चोदा और साथ में ही सुमन की चूत को धीरे-धीरे चाटना शुरू किया.

पता नहीं उस समय मेरे अन्दर इतनी ताकत कहां से आ गई थी, शायद ये भाबीजी को चोदने का जुनून था.

मैंने जब से अपनी जवानी में कदम रखा है तब से ही मैं उनका दीवाना हूँ. आज मैं अनु को जी भर के चोदूँगा … पूरी रात इसकी चूत का मजा लूँगा और अपने दिल की हवस निकालूंगा. मेरे दोनों होंठों को मुँह ने भर कर सुलेखा भाभी उन्हें इतनी जोरों से चूसने लगीं कि कुछ देर तो मैं अब‌ भाभी के होंठों को चूमने के‌ लिए तरसता ही रह‌ गया.

टाइगर श्रॉफ की सेक्सी वो- लगाऊं फोन?मैं- हैं ग्वालियर में एक दो, जिनके साथ, उन्हीं के उनके कहने पर करता हूँ. वह अंदर से मेरे लिए पानी लेकर आई लेकिन इतने में उसका बच्चा भागता हुआ आया और उसने पानी की प्लेट पर हाथ मार दिया.

कुछ देर बाद हम दोनों के अंदर की चुदास फिर से जाग गई और मैंने अजय के मोटे लौड़े को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया. पहले तो मैंने सोचा कि क्या यह चालू माल है … साली इतनी जल्दी चुम्मी कर रही है. गाड़ी अपनी स्पीड से चल रही थी, तभी चार पांच मिनट बाद धीरे-धीरे से मेरा दर्द कम होने लगा और मैं अब बिल्कुल अपने आप से बाहर होने लगी.

बीएफ सेक्सी फिल्म दिखाएं

मेरे इतना बोलते ही उसने एक धक्का मारा जिससे उसका लण्ड मेरी चूत को चीरते हुए अंदर चला गया. इतना कहकर छत्तू ने मेरी पीछे से स्कर्ट पूरी ऊपर कर दी और मुझे बोला- तुम्हारी चूत बहुत गर्म है वन्द्या, बहुत बह भी रही है. जैसे ही मेरे लंड का सुपारा उनकी चूत में गया … तो वो ज़ोर से चिल्लाने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत मोटा है … नहीं मुझे छोड़ दो … नहीं मैं मर जाऊँगी … आह … अपना लंड बाहर निकाल लो.

लगातार 15 मिनट चोदने के बाद मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और पूरी रफ्तार से उनकी चूत में ही झड़ गया; मैंने अपनी अपनी आखिरी बूंद भी चाची की चूत में छोड़ी!जब मैं उनके ऊपर से हटा तो देखा मेरे लंड का पानी उनकी चूत से टपक रहा है. उंगली करते करते सन्नी का खड़ा हुआ लंड मेरे मुँह के सामने आ गया, उसने मौका देख कर अपने लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया.

अभी टोपा ही अन्दर गया था कि मैम चिल्लाने लगीं और उनकी आंख से आंसू आने लगे.

मैं- जेठ जी, मैंने आपको तो कब का माफ कर दिया है, अब मुझे आपके मूसल लंड से मेरी चुत की कुटाई करवानी है, जल्दी से आ जाओ, अब मुझे मत तरसाओ. मेरा दूसरा हाथ मामा की छाती पर था और मैं मामा के कान के पास जाकर अपने मुँह से आह. जैसे ही ललिता ने कपड़े पहन कर खड़ी हुई कि उस कुएं के कमरे का दरवाजा खुला, उसमें से एक 28-30 साल की लड़की निकली.

वह मुझे उठा कर जाने लगी तो मैंने वंदना का हाथ पकड़ लिया और किस करने लगा. अब मैं उसको पीछे से छेड़ रहा था सीट के ऊपर से कभी उसके बाल खींच देता. जब उसकी बहन की आंख से आँसू निकलने लगे, तब मैंने उसकी चुत से लंड बाहर निकाला.

मेरे रोने की आवाज सुनकर पड़ोस के लोग और ऊपर से घर के मालिक भी आ गए.

अमरपाली दुबे का बीएफ वीडियो: मेरी चूत बहुत गीली थी, उसका जो रस निकला था मैक ने उसे जीभ से चाट लिया. मेरी आंखों के सामने उसके बड़े बड़े 38 साइज के बूब्स ब्लैक ब्रा में कैद थे.

उनके हाथों में इतनी ताकत थी कि मैं बिल्कुल खिलौने जैसे उनके दबाव में आ गई. उसमें वो क्या मस्त माल लग रही थी!सच में दोस्तो, इस वक्त मेरी बहन की नशीली जवानी के सामने सनी लियोनि भी फेल थी. तीसरी बार पानी निकल जाने के कारण हम दोनों बहुत थक गए थे और हम दोनों की फिर से नींद लग गयी.

मैंने ब्रा के ऊपर से ही सोनू के मम्मों को थोड़ा-थोड़ा दबाया तो सोनू एकदम मस्त हो गई और सिसकारियां लेने लगी.

मैंने बात को संभालते हुए कहा- सरिता मुझे रोज़ अगर खाना मिले तो मैं किसी और की थाली में क्यों देखूंगा. अगर आप लोगों का प्यार मिलेगा तो आगे और सच्चाई बताऊंगी अपने जीवन की। मैं आपको आगे कहानी में बताऊंगी कि मैं गांव की लड़की इतनी होशियार कैसे बनी और अन्तर्वासना के बारे में मुझे कैसे पता चला. मैंने कहा- मतलब?तो वो बोली- मेमसाब ने बोला था कि मेरे आने तक साब की अच्छी से सेवा करना … उन्हें मेरी कमी नहीं महसूस होनी चाहिये.