चीखने चिल्लाने वाली बीएफ

छवि स्रोत,अपनी भाभी को चोदा सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

पहली बार चुदवाती लड़की: चीखने चिल्लाने वाली बीएफ, मेरी सारी निजी बातें उनको पता थीं और मुझे उनकी सारी बातें मालूम थीं.

बिहारी चूत सेक्सी

जब सुबह नहाने के वक़्त मैंने जीतू को आवाज़ दी कि चलो मेरे साथ नहा लो. भोजपुरी जुदाई सेक्सीमेरे दोस्त ने वाइफ को सीधा लिटा दिया और पैरों को ऊपर करके अपने लंड को मेरी वाइफ की चुत पर सैट किया और धक्का देने लगा.

आज तो जीन्स और स्लीवलेस टॉप में तो उसकी खूबसूरती बिल्कुल बाहर निकल कर भागी जा रही थी. सेक्सी की चुदाई का वीडियोशायद उसकी आँखों में अपनी पहली चुदाई का मंजर घूम गया और उसको अपनी चुत की झिल्ली टूटने पर हुआ दर्द याद आ गया.

मैंने उससे उसके पति के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो जॉब के लिए दिल्ली रहते हैं और कभी कभी आते हैं। उन दोनों के बीच जमती नहीं तो ममता ने औरंगाबाद में ही रहना पसंद किया।खाना खाने के बाद हम दोनों गप्पे मारने बैठ गए। मुझे भी समय का पता नहीं चला, काफी देर हो गयी तो उसने मुझे उसके घर ही रुकने को कहा। मैंने भी उसकी यह बात मान ली.चीखने चिल्लाने वाली बीएफ: चाय गिरते ही जूही ने मेरी पैन्ट और अंडरवियर उतार दी, अब मैं जूही और नाज़ के सामने नंगा था, जूही मेरे लंड को पकड़ कर नाज़ से बोली- तेरे को यही चाहिए था न? ले पकड़ ले!नाज़ शरमा रही थी तो मैं उठ कर उसके मुंह के सामने लंड कर के खड़ा हो गया और हाथ उसके शर्ट के अन्दर डाल कर उसकी चुची दबाने लगा.

पर मैंने जब ज़ोर दिया तो बोली कि आज मेरी शादी की सालगिरह है और मेरा पति साथ नहीं है, इसलिए मूड खराब है.आप उसके रेस्ट हाउस में जाकर उससे मिलिए और कहिएगा कि आप मेरी बहन हैं और मैं अकेला ही घर का खर्चा चलाने वाला हूँ और आप मेरी बदमानी सहन नहीं कर पाओगी.

हॉट बॉलीवुड सेक्सी वीडियो - चीखने चिल्लाने वाली बीएफ

आह… मैं तो अब जैसे जन्नत में था, मेरी तो आँखें ही बंद होने लगीं और मुँह से हल्की हल्की आवाजें भी आने लगीं.अब उसने अपना एक हाथ मेरे एक चुचे पर रखते हुए मेरे कान में पूछा- क्या मैं तेरे मम्मों को दबा सकता हूँ?मैंने कहा- ज़रा ध्यान से.

जब मैं खड़ा हुआ तो मेरा लंड पूरा खड़ा हुआ था और चाची मेरे खड़े लंड की तरफ़ देख कर थोड़ी हैरान सी हो गईं. चीखने चिल्लाने वाली बीएफ इस बार जब मैंने अपने होंठ करीब किए तो आंटी ने मेरा सर पकड़ कर मेरे होंठों पे अपने होंठ ज़ोर से रख कर चूसने लगीं, मैं यही तो चाहता था.

मैं- क्या हम बेस्ट फ्रेंड बन सकते हैं?माँ- फ्रेंड्स तो हम हैं ही!मैं- ऐसे वाले नहीं… बेस्ट फ्रेंड्स जिनके साथ हम कुछ भी शेयर कर सकें… अपनी प्रॉब्लम्स, अपनी फीलिंग्स… चाहें वो कैसी भी हों!माँ- कैसी भी फीलिंग शेयर करने के लिए तुम अभी बच्चे हो.

चीखने चिल्लाने वाली बीएफ?

दोस्तो, मैं आकाश एक बार फिर आपके सामने अपनी एक और नई पोर्न कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैं अपने ससुराल पहुँचा और दरवाजे पर खड़े होकर मैं डोर बेल बजाने ही वाला था कि मेरी नजर घर के दरवाजे पर पड़ी जहां किसी मर्द के जूते पड़े थे. मेरी इस भाषा को सुनकर बिंदु नॉर्मल हो गई और उसके हाव भाव से लगता था कि अन्दर से वो खुश है क्योंकि वो समझती थी कि शायद मैं पापा को कुछ ना बता दूं.

प्रिया के उरोज़ मेरी छाती में धँसे हुये थे और उस का बायाँ हाथ मेरी पीठ को कस कर जकड़े हुए था. अब मेरी वाइफ मस्त आवाज में बोल रही थी- आआआअ उम्म्ह… अहह… हय… याह… मज़ाआ. बहूरानी जी बार बार अपना चेहरा अपनी हथेलियों से छुपाने का जतन करती लेकिन मैंने उसकी एक न चलने दी और अब उसके दोनों स्तन अपने अधिकार में करके अपनी मनमानी करने लगा.

लगभग 15 मिनट तक मुझे चोदने के बाद उसने मेरे सर पर अपना लंड झाड़ दिया. अब मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने पूछा- माल कहां निकालूँ?उन्होंने बोला- अन्दर ही निकाल दो. कामिनी कहाँ पीछे रहने वाली थी, उसने विवेक की पैंट का हुक खोल दिया, फिर उसने बटन खोल दिए, उसकी पैन्ट नीचे गिर पड़ी.

काफी महीने बाद सेक्स किया तो शुरू में थोड़ा दर्द हुआ लेकिन इस दर्द में भी मजा भरा हुआ था. ”हुस्न की शमशीर को धार लग रही थी, कोई किस्मत वाला परम मोक्ष को प्राप्त होने वाला था.

मैंने झट से अपना हाथ उसके मुँह पे रख दिया और मैं कुछ देर के लिए रुक गया.

उधर सुरेंद्र जीजा ने भी मेरे कूल्हों को पकड़ कर मेरी गान्ड को फैलाया, फिर पीठ पर हाथ रखकर पीछे से कमर पकड़कर पीठ पर जोर लगाकर एक जोर से धक्का मारकर मेरी गान्ड में अपने लन्ड को घुसा दिया.

दोस्तो, कैसी लगी मेरी भाभी जी कीदेसी चुत की चुदाईकी स्टोरी?[emailprotected]. मेरी गन्दी कहानी में पढ़ें कि मैंने पड़ोसी को गांड चुदाई सिखाया और बदले में इनाम में पड़ोसन की गांड की चुदाई करने को मिल गई. मैं उंह उंह उंह हूँ… हूँ… हूँ… हमम मम अहह्ह्ह्हह… अई… अई… अई…” चिल्ला रही थी.

वो मेरे लंड का सारा माल पी गई लेकिन तब भी लगातार मेरे लंड लगातार चूसती रही. जब उन्होंने पट्टी लगाई तो उनके शरीर की मादक खुशबू ने मुझे मदहोश कर दिया. पर तभी मुझे ख्याल आया कि मैं भी अपनी साली को चोद सकता हूँ क्योंकि मेरे पास उसकी इस चुदाई का क्सक्सक्स वीडियो भी है.

दीदी ज़ोर ज़ोर से कराह रही थीं- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह आह फ़क मी… ओह…दीदी से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था.

मैंने बोला- अगर आप मेरे साथ रहना चाहते हो तो आपको मुझसे शादी करनी होगी. लेकिन इस बार मैं काम-क्रीड़ा से पहले अपनी उंगलियों से योनि के छेद को ख़ुला करने के मूड में हरगिज़ भी नहीं था. तभी मुझे लगा कि दीदी जाग रही हैं और अपनी चुत को जोर जोर से सहला रही हैं.

फिर दिल्ली के रूम पर पहुँच कर उसने मुझसे कहा कि जो यहाँ तुम्हारे कपड़े हैं वो. ओओओ… शानदार पोज़ सोचा है तुमने मेरे प्यारे हब्बी… ओ ओओ ओओ… चप चप चप चप… सुपर पोज़! सुपर चुदाई!! चप चप चप चप…” मेरे लंड को पागलों की तरह चूसती हुई मेरी अतिउत्तेजित पत्नी कहने लगी. नेहा पर तो वो इस तरह से टूटा, जैसे किसी मेमने पर भेड़िया टूट पड़ता है.

तो सोचो दोस्तो, मेरे लंड का क्या हाल हुआ होगा?खैर मैं मिंकी से लिपटते हुए किस करने लगा और नीचे की ओर खिसक कर मैं उसकी नाभि पर आ गया और उसमें जीभ डाल कर घुमाने लगा तो मिंकी सिसकारी भरने लगी.

अब पहली बार मैंने उसको ठीक से देखा था, क्या मस्त सेक्सी लड़की थी वो. मैंने धीरे से उसका हाथ पकड़ा और अपने अंडरवियर के अन्दर अपने लंड पर रख दिया.

चीखने चिल्लाने वाली बीएफ अब मैंने बगल के सोफे पर उसे लेटाया और लंड को चूत पर सैट करके एक झटका मारा, जिससे उसने मुझे कस कर पकड़ लिया. जब तब आप मेरे चूतड़ों को सहला देते थे।ऊपर से एक दिन जब वो ससुराल आये हुये थे तो एक बक्से की ओर इशारा करते हुये बोले कि आपकी लव लेटर उस बक्से में सहेज कर रखी हुयी हैं, आशा करता हूँ कि आप इसे जितना जल्दी हो सके, नष्ट कर दें। उस समय मैं पसीने से नहा गयी थी। मुझे काटो तो खून नहीं था.

चीखने चिल्लाने वाली बीएफ कुछ देर बाद वो भी ‘आआह…’ की आवाज के साथ मेरी चूत में झड़ गये और मेरे ऊपर ही गिर गये। हम दोनों लेट गए।फिर मैंने उठ कर अपने कपड़े पहने. जब तुम्हारी चुदाई को देखा था तो मन कर रहा था, मैं भी तुमको चोद दूँ.

मैं फिर जब बाथरूम की तरफ जाने लगी तो मेरी टांगें जवाब दे रही थीं क्योंकि पूरी रात भर चुदाई हुई थी.

देसी सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो देसी

देख जैसे मैं नंगी होती हूँ उसी तरह से नंगी हो जा और मैं भी देखती हूँ तू कैसे होती है. एक दो बार तो उसने मेरे गले तक लंड डालने की कोशिश भी की, जिससे मुझे तेज खांसी सी आ गई. वहां उसे दीवार के सहारे खड़ा करके उसकी गांड में धीरे धीरे धक्के मारने लगा.

उनकी इस बात से मुझे अहसास है कि मुझे आंटी और बॉबी दोनों की चुत की सेवा करते रहते हुए ही जिन्दगी बिताना है. मैंने फिर से सुपारे को चूत के अन्दर डाल कर निकाल लिया, फिर पूरे तेजी के साथ उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया. हमारा घर एक हनीमून सूइट हो गया था, जहाँ मैं और मेरे देवर के अलावा कोई नहीं था.

जब मैं भाभी के ऊपर से हटा तो मैंने देखा कि भाभी के नीचे खून था, मैं बोला- भाभी, क्या आपकी ये पहली चुदाई हुई है?तो वो बोलीं- किसी मर्द का लंड तो पहली बार ही मेरी चुत में गया है.

तुम समझ रहे हो ना… अखबार में मेरे बारे में तरह तरह से गलत बात लिखी जाएगी. ” निकल रही थीं। मेरी चूड़ियाँ और झांजरों की छन-छन हो रही थी।मुझे पता था कि गाँव के माहौल में पले-बढे रवि में सेक्स की पावर बहुत अधिक है।मैं नीचे लेट गई. शालिनी ने सरगोशी से पूछा- राजेश, तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- नहीं शालिनी, तुम जैसी कोई मिली ही नहीं.

एक बार पूरा लंड अन्दर घुस जाने के बाद मैंने माँ को रगड़ना चालू कर दिया. और यह मेरी पहली और बिल्कुल सच्ची कहानी है।अहमदाबाद में मेरा कंप्यूटर को ठीक करने का काम है और मैं कंप्यूटर की सर्विस लोगों के घरों में जाकर भी किया करता हूँ. इस तरह मेरी इस कमजोरी को समझ कर मुझे एक लड़के ने प्यार के जाल में फंसा लिया.

पहले मुझे उसमें कुछ ख़ास नहीं मिला, पर जब मैंने छुपे हुए एक फोल्डर को खोला तब मुझे उसमें सेक्सी वीडियो दिखाई दिए. मैं सबके सामने नंगा खड़ा था, सबके सब आँखें फाड़ कर मुझे देख रहे थे.

माँ बेटे की xxx पोर्न वीडियो देख कर और सेक्स स्टोरी पढ़ कर मेरी मॉम से मेरा इस तरह का लगाव तो जवानी की दहलीज पर आते ही हो गया था. उन्होंने जो नाईट ड्रेस पहनी थी, वो पेट के ऊपर को हुई पड़ी थी औऱ कम्बल भी साईड में पड़ा था. मैंने नीचे होकर पहले भाभी चुत को सहलाया और उनकी चुत को चाटना चालू कर दिया.

वो मेरे ऊपर से हट गया और तब उसने मुझे उसका लंड चूसने को कहा, तो पहले तो मैं मना करने का नाटक करने लगा, पर बाद में मान गया क्योंकि लंड चूसने का मन तो मेरा भी कर रहा था.

कुछ समय के बाद अचानक बारिश होने लगी जिससे बचने के लिये वह अपनी जगह से उठा और जाने लगा. दो पल बाद मैं भी जन्नत की सैर कर रही थी कि उसने अपने उंगली गांड में से निकाल कर थोड़ा और नीचे करनी चालू कर दी और इससे पहले मैं कुछ कर पाती, उसकी उंगलियां चूत की तलाश में मेरे लंड से जा टकराईं. इसके बाद मैंने उसकी चूत पर लंड रखा और उसको भी लंड पकड़ कर रखने को कहा.

मेरे चुप रहने से उसका हौंसला बढ़ गया और वो अपनी उंगली मेरी गांड के छेद में दबाने लगा, उसकी उंगली आधा इंच मेरी गांड में घुस गई, तो भी मुझे अच्छा ही लग रहा था. फिर जो प्रतीक्षित था बहूरानी ने वही किया; वो नीचे झुकी और पंजों के बल बैठ कर मेरे लंड को तन्मयता से चाटने चूमने लगी.

तो मैंने उसकी बुर में अपनी एक उंगली डाल दी और जोर जोर से अंदर बाहर करने लगा. हमारे ऑफिस में मुझे मिला कर तीन लड़कियां काम करती थीं और बाकी सब पुरुष थे. उसने लंड निशाने पर रख कर एक झटका दे मारा और आधा लंड मेरी बुर में चला गया.

मधु सिंह की सेक्सी

मैं समझ नहीं पा रहा था कि फोन पर दूसरी तरफ कौन है… लेकिन उनकी बातों से लग रहा था कि दीदी की कोई फीमेल फ्रेंड है.

इस बार मैं उसे देखता हुआ पकड़ा गया, तो मैंने एक छोटी सी मुस्कान दे दी. उसी के थोड़ा आगे एक लेटने की जगह थी, जो वहां कुछ स्पेशल होती है, जो लोग गोवा गए हैं उनको पता होगा. ये असली चुदाई का मेरा पहला मौका था तो मैं देखना चाहता था कि एक पूरी तरह से तैयार लड़की या औरत की चूत कैसी लगती है.

फिर जैसे ही मैंने उसकी स्कर्ट और पिंक कलर की पेंटी को नीचे उतारा तो ब्राउन कलर की झांटें और चूत खुली हुई पिंक कलर की दिख रही थी. उसकी बुर से काफ़ी पानी निकल रहा था, जिससे उसकी पूरी झांटें भीग गई थीं. पंजाबी सेक्सी पंजाबी सेक्सी व्हिडिओउनके चेहरे के भाव लगातार एक्साइटमेंट में चेंज होते देख मुझे जोश आ गया.

देवर भाभी सेक्स कहानी के पहले भागदेवर भाभी की कामवासना और चुत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि पड़ोस की एक सुनयना भाभी मुझे एक अन्य भाभी की उनके देवर से सेक्स की आप बीती कहानी सुना रही थी. पर सुबह उठने से लेकर ही मुझे तो सिर्फ चुदाई की ही याद आ रही थी, पता नहीं ये दोनों मेरी चुदाई कब करेंगे.

पांच से सात सुधा के साथ रसोई आदि का काम, सात से नौ अपने कम्प्यूटर पर प्रेक्टिस, नौ बजे डिनर, साढ़े नौ से सोने के टाइम तक बच्चों और सुधा के साथ गप-शप. नीला अपने मम्मों को पानी के अन्दर मेरे हाथों से दबवाते हुए कहने लगी- इनको दबाने से दूध निकलता है, जिसको पीने से आदमी धन्य हो जाता है. लेकिन वो दोनों नहीं माने, फिर हम तीनों साथ में कॉलेज के पीछे चल दिए.

अब मैं आपको सबके सामने माँ जैसा आदर दे भी दूँ मगर आपको अकेले में आपके नाम से ही बुलाऊंगी और आपको अपनी फ्रेंड मानूँगी ना की माँ. एकदम से दीदी मेरी तरफ पलटीं मैं डर गया, मुझे ऐसा लगा कि जैसे वो जाग गई हों. एक दिन मैं अपनी ससुराल गया तो मेरी बीच वाली साली अकेले ही घर पर थी.

उनकी बातों से ऐसा लग रहा था, जैसे प्रीति के सेक्रटरी ने प्रीति को प्रमोशन के बहाने चोदा है.

वैसे उसके घर वाले मॉडर्न ख़यालात वाले थे और वो काम्या के कहीं भी आने जाने पर कोई रोक नहीं लगाते थे. मां अब गरम हो गई थीं और उनके मुँह से मादक सीत्कारें निकलने लगी थीं.

अब उसके शरीर पर सिर्फ पैंटी थी, उसने मेरे पास आकर मेरे लंड को पकड़ लिया, मेरा लंड खड़ा होने लगा. पवन ने मुझे अपनी तरफ घुमा दिया और मेरी लड़कियों जैसी चुचियों को चूसने लगा. मैंने कहा- मैं आपके साथ कमरे में हूँ, बोलिए क्या करना है मुझे?वो बोला- ठीक है.

मैं भी मजे से अपनी चुत में दूसरा लंड लेकर बहुत खुश थी और मजे से चुद रही थी. और साथ में मैंने अपनी पैंट और चड्डी को नीचे सरका दिया।इतने में सोनी ने मुझे गिलास में पेप्सी भर कर फिर पकड़ा दिया और साथ में दोनों लोगो ने भी पेप्सी पी ली; इस तरह एक बोतल खाली हो गयी।अब तक हम लोग 30-40 किमी दूर आ चुके थे।पेप्सी खत्म होने के बाद मैंने उन दोनों में से किसी एक को आगे की सीट पर आने को कहा।सोनी ने रेशमा को इशारा किया, रेशमा बिना कोई वक्त गंवाये आगे आ गयी. मैं उसकी शर्त मान गई और दिल में सोच लिया कि बस उसमें से कुछ कॉंटॅक्ट नंबर लेकर इस फोन की सिम को ही तोड़ दूँगी.

चीखने चिल्लाने वाली बीएफ मेरे दोस्त ने मुझे सब कुछ समझा दिया और बोला- रात 12 बजे तक शायद वो लोग आ जायेंगे तो तू देख लेना!मैं बोला- कोई प्रॉब्लम नहीं, तू मस्त काम निपटा, मैं हूँ इधर!वो भी रुकना चाह रहा था लेकिन रात में कोई पूजा होनी थी तो घर चला गया. और फिर जैसे ही मैंने एक तगड़े धक्के के बाद लंड को रोक के तुनका मारा, रानी चरम सीमा पर पहुंच गई और अपनी कमर उछालते हुए कुछ धक्के मारे.

हिंदी में ससुर बहू की सेक्सी

जैसे ही कुसुम वहाँ पहुंची, वो बोला- जानेमन कुछ अपनी जवानी का जलवा तो दिखाओ. और हां… मैं आपको एक बात बताना भूल गया वो यह कि पारुल के मम्मे एक बच्चे के बावजूद भी बहुत टाइट थे।अब पारुल को भी लन्ड अपनी चूत में लेने की बहुत जल्दी थी लेकिन प्रॉब्लम यह थी कि अंजलि गाड़ी ड्राइव करना नहीं जानती थी और अब रोड भी ऐसा नहीं था कि कहीं गाड़ी किनारे लगाई जाए. क्या आपने मेरी वो देख ली है?मैंने खुलते हुए कहा- हां भाभी अभी तो आपकी चुत एक जालीदार पैकेट में देखी थी.

मैंने उसमें से झाँक कर अन्दर देखा तो रमेश अंकल मां से कुछ कह रहे थे. वो कहने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… देवा, इसे निकाल दो… बहुत दर्द हो रहा है. ब्लू फिल्म सेक्सी हिंदी दिखाएंअब उसके लिए कंट्रोल करना काफ़ी मुश्किल हो गया था और वो काफ़ी तेज तेज साँसें लेने लगी थी.

मैंने उससे कहा- चल पागल, ऐसा कहीं होता है क्या?उसने मुझे अपने रूम में ले जाकर लैपटॉप खोलकर ब्लू फिल्म दिखाई, जहां एक लड़की ने पूरा वीर्य पिया था.

एमडी या मेरे सिवाये किसी को कुछ नहीं पता था कि मैं क्या क्या करती हूँ. कोई लेखक हमारे क्षेत्र का नहीं मिला और हर किसी पर विश्वास भी नहीं होता। एक दिन ऐसे ही कहानियाँ पढ़ रही थी.

अब मैं अपने लंड को उसकी चूत में धीरे से डालने लगा और अचानक एक जोर के झटके के साथ पूरा लंड अन्दर पेल दिया. थोड़ी देर चूमा चाटी के बाद मैंने उसके टॉप में हाथ डाल कर बहन के चूचे दबाए, जिससे उसको और भी मजा आने लगा. C टूरिस्ट बसें पूरे उत्तर भारत में चलती हैं, इन साहब ने अपनी कोई मनौती पूरी होने के उपलक्ष्य में अपने गोत्र की सारी लड़कियों समेत वैष्णो देवी दर्शन के लिए पूरी AC स्लीपर वाली वॉल्वो बस बुला रखी थी.

रोशनी क्या तुमने कभी अपनी झांटें साफ़ नहीं की?”उसने मासूम सा चेहरा बना कर मेरी तरफ देखा और ना” में सर हिला दिया.

एक बार पूरा लंड अन्दर घुस जाने के बाद मैंने माँ को रगड़ना चालू कर दिया. मैं बड़े स्वाद से विनय का लंड चूसने लगी और विनय के लंड ने वीर्य की एक पिचकारी मेरे मुँह में छोड़ दिया, जिसे मैं पी गई. मैं- आपके उनकी साइज़ क्या हैं?माँ ने खुलते हुए कहा- मेरे चूचे 36डी साइज़ के हैं और नीचे 32 व 35 इंच की नाप है.

हॉर्स लेडीज सेक्सी व्हिडिओऔर फिर मैं मैं उसको अपने साथ बाथरूम में नहाने के लिए ले गया, वहाँ जाते ही मैंने हम दोनों के कपड़े उतार दिए. तब तक तभी मेरी नज़र रूम के बाहर अंधेरे में किसी की हिलती डुलती छाया पर पड़ी.

भाभी सेक्सी वीडियो चोदा

पूरी टी-शर्ट ही छोटी लग रही थी और नीचे से उसकी नाभि भी बाहर नजर आ रही थी. उनके उभारों को एक हाथ से दबा रहा था और एक हाथ से लहंगे को नीचे उतार रहा था. एक रात में मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि मेरी बीवी अपनी चुत में उंगली डाल रही कर आगे पीछे कर रही है तो मैं अपनी वाइफ से बोला- ये क्या कर रही हो?तो बीवी अपनी चुत से उंगली निकालते हुए बोली- अरे आप कब जागे?मैं बोला- जब तुम अपनी चुत में उंगली डाल रही थी.

बस का चलने का टाइम हुआ तो 3 सुन्दर सी लड़कियाँ बस में चढ़ीं, उनमें से एक मेरे पास बैठी और बाकी दो 3 सीट वाली पर बैठ गईं. मतलब कुछ भी ऐसा नहीं हुआ, जिससे हम दोनों में कोई बातचीत शुरू हो सके. मयूर ने बिना ज्यादा जांच किए ही सब कागज पर साइन कर दिए, फिर कानूनगो साहब से भी साइन करवा लिया.

वो मुझे अन्दर आने की कह कर सीधे किचन में चली गई और अपने कपड़े ठीक करके मेरे लिए पानी लेकर आई, मैंने पानी पिया और वो मेरे सामने सोफे पे बैठ गई. वहां उसे दीवार के सहारे खड़ा करके उसकी गांड में धीरे धीरे धक्के मारने लगा. मैंने कहा- क्यों नहीं, पर क्या भैया मानेंगे?भाभी बोलीं- वो तू मुझ पे छोड़ दे.

कानूनगो साहब कहते हैं- मयूर, तुम्हारी बीवी बहुत टेस्टी खाना बनाती है. कुछ देर बाद मैंने बिना सोचे उसकी चूत पर अपने जीभ से धावा बोल दिया और खुशी और आनन्द के मारे नीता उछलने और चिल्लाने लगी.

विनय ने मेरी गांड के छेद को उंगली से सहलाते हुए कहा- नेहा, तुम्हारी गांड बहुत खूबसूरत है.

रमेश अंकल मां के चूचों को चूसने लगे थे और उनके एक दोस्त मां की चूत को अपनी जीभ से चाटने में लग गए थे. सुहागरात वाली सेक्सी फिल्मेंमैंने अपना हाथ उसके हाथ के ऊपर रख कर उसको ट्रेनिंग देना लगा, तो कुछ ही देर में उसकी साँस तेज होने लगी. कुत्ता और भाई की सेक्सीवहां मैंने बिकनी और न्यू स्टाइल के अंदरूनी वस्त्र लिए और कुछ हॉट और सेक्सी कपड़े भी ले लिए. वो इस तरह ही चिल्लाती रहीं और पूरे कमरे में फ़चफ़च की आवाज़ गूंजने लगीं.

उसने वो पेपर बनवाने के बाद मुझे दोबारा कांटेक्ट किया और फिर मैंने अपने पति को तलाक के लिए बोल दिया.

मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरीबहन की बुर चुदाईकी कहानी अच्छी लगी होगी. अब पहली बार मैंने उसको ठीक से देखा था, क्या मस्त सेक्सी लड़की थी वो. मैं थोड़ा सा डर गया, पर न जाने क्यों मैंने दीदी के मम्मों से हाथ नहीं हटाया.

उसकी बात फ़ोन पर खत्म हुई और वह खड़ा हुआ तो उसकी हाईट और चोदू अंदाज़ का मैं कायल हो गया. क्योंकि अब मैं छूट चुकी थी तो मैं सुबह रोज़ की तरह से अपने दफ़्तर गई और वहाँ एमडी से मिली. तभी उन्होंने मज़ाक में कहा- दोस्त कभी हमें भी गांड मारने का सुख दिलाओ, कैसे मारी जाती है, कभी हमें भी सिखाओ.

सेक्सी नंगा वीडियो देसी

मैंने उसकी चूत में एक जोरदार झटका मारा, तो मेरा सुपारा ही अन्दर घुस पाया था. पर शाम को नोट्स ड़े दूँगा… लेकिन तुम मुझे मिलोगी कहां?उसने कहा- क्या आप वतन विहार में रहते हो? मैंने आपको अक्सर शाम को वहां देखा है. मैंने उससे पूछा तो क्या तुम तैयार हो, मुझमें पूरी हिम्मत है?उसने इस पर कुछ नहीं कहा और हँसने लगी… मैं समझ गया.

मैंने अपना लंड और अन्दर डाला, उसे फिर दर्द हुआ और वो रुकने को बोली.

मैंने कहा- यार अर्पी, तुम तो काफी हॉट हो गयी हो, कोई सोच भी नहीं सकता था कि तुम वही अर्पिता हो।अर्पिता- सब तुम्हारे कारण!वो कैसे?” मैंने चौंक कर पूछा- मैं तो अभी अभी मिला हूँ।अर्पिता- मेरा मतलब, सब अन्तर्वासना और उस पर तुम्हारे जैसे लोगों की लिखी हुई कहानी का असर है!सच? तुम्हें मेरी कहानी अच्छी लगी?”अर्पिता- हाँ, बहुत अच्छी कहानी थी, कहानी अच्छी बना लेते हो!वो कहानी नहीं है, मेरी सच्चाई है.

उसके तने हुए ठोस मम्मों पर नाइटी ऐसी लग रही थी जैसे खूँटी पर टंगी हो और उसकी पुष्ट जांघें देख कर और उसके मध्य स्थित उसकी रसीली गद्देदार चूत की कल्पना करके ही लंड में तनाव भरना शुरू हो गया. कल मेरे साथ मेरे घर चलना, मैं तुम्हें चुदाई से पहले की तैयारी करवा दूँगी और सेक्सी कपड़े भी दे दूँगी, जिसे डाल कर तुम मेरे साथ चलोगी. आंटी की हॉट सेक्सी वीडियोउसने आते ही अपने लंड को हिलाया और मां की चूत पर अपने लंड का सुपारा टिका दिया.

तो उसने पेनकिलर दी, उसे मैंने खा लिया और घर जाने के लिए अपने कपड़े पहने. एक दिन मैं उनके घर गया तो देखा वो रो रही थी तो मैंने पूछा- भाभी, क्या हुआ? रो क्यों रही हो?तो उन्होंने कहा- यार अमन, अब मुझसे पापा की हालत देखी नहीं जा रही है और मैं उनकी सेवा कर कर के थक गयी हूँ, और अब नहीं कर सकती, मैं चाहती हूँ कि पापा को अब मौत आ जाए और सबको उनके दुख से निजात मिल जाए।मैंने कहा- भाभी जी, आप चिंता मत करिए, सब ठीक हो जाएगा!और कुछ दिन बाद सच में उनके पापा की मौत हो गयी. मैंने वैसे तो उसकी साड़ी निकाल दी थी, लेकिन चूंकि उसने अन्दर पेटीकोट पहना था… इसलिए मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा खोला और उसे भी निकाल कर फेंक दिया.

अचानक मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि सामने वाली वंदना मुझे घूर रही है. उस वक़्त मेरा लंड अंडरवियर में पूरा टाइट था और मुझे थोड़ा नशा भी था.

आप सबको मेरी यह इंडियन सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं? मुझे मेल कीजिएगा.

फिर मैंने उसके होंठों को बाईट किया तो उसके मुँह से हल्की से चीख निकल गई. वो रिक्वेस्ट करती रही- खा लो!मैंने चुपचाप खाना खाया और बैडरूम में आ गया. विनय अभी नहीं झड़ा था, इसलिए दो पल बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड मेरी चूत में पेल दिया.

सेक्सी चुदाई सनी लियोन रुचिका मुझसे चिपक कर काफी रोई और बोली- सर मैं कालेज को और आपको हमेशा मिस करूँगी. पर अब मुझे मजा कम और दर्द ज्यादा हो रहा था और उनसे छोड़ने के लिए बोल रही थी.

तभी आशीष बोला- क्या बालू भाई? अपने लंड को हाथ से मत रगड़ो, आ जाओ… ये सच में साली छिनाल है। बहुत मस्त माल है वन्द्या! देखो इसे इस हालत में देख कर तुम्हारा लंड एक बार झड़ने के बाद बीस मिनट के अंदर खड़ा हो गया है. उसके करीब आकर मैंने एकाएक उसको गले लगा लिया और उसके होंठ पर अपने होंठ सटा कर चूसने लगा. मैंने भी अपना काम जल्दी ही खत्म कर लिया था और अब उसके जाने का भी समय हो गया था लेकिन मैंने उसको मेरे लिए एक कप चाय बनाने के लिए कहा.

भोजपुरी फिल्म सेक्सी फोटो

मैं फिर उसके बगल में बैठ गया और उसे देखने लगा, फिर उसने मेरी तरफ देखा तो मैं मुस्कुरा दिया. इन दिनों मैं घर पर अकेली ही रहती थी क्योंकि सास ससुर जी हर लड़के के पास 4 महीने रुकने वाले थे. दूसरी बात ये कि मेरे पहले भी बहुत से अफेयर रहे हैं तो मुझे शादी के बाद किसी भी किसी भी तरह की रोक टोक नहीं करोगे.

भाभी की जम कर चूत चुदाईकी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, आपके सुझावों का इंतज़ार रहेगा। अपने सुझाव मुझे मेल करें[emailprotected]पर।. भाभी ने उनकी बहुत सेवा की लेकिन उनको जरा भी आराम नहीं हुआ और इस वजह से वो बहुत दुखी रहने लगी.

छोड़ो ना… कल रात को इतनी जोर से बजाने के बाद भी तुम्हारा दिल नहीं भरा क्या??मैं- जान, तुम चीज़ ही ऐसी हो कि दिल नहीं भरता.

अब विनय ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मैंने भी विनय की गर्दन में अपनी बांहें डाल दीं और दूसरे हाथ से विनय का लंड सहलाने लगी. वो कभी मेरा एक चुचा दबाता तो दूसरा चूसता और अगर दूसरा दबाता तो पहला चूसता. इसके बाद मैं अपना हाथ को उसके लोअर के अन्दर ले गया और उसकी चुत को मसलने लगा.

अब उन्होंने अपनी ब्रा को भी उतार दिया वाऊ आह… मेरे तो मुँह में पानी आ गया. जब रात को मैं रूम पर पहुँचा, तो वो भूखी शेरनी के जैसे मुझ पर टूट पड़ी और मेरा लंड निकाल कर चुसकने लगी. मेरी हवस और भी बढ़ गई… मैं और एक जोर का धक्का लगाने के लिए बढ़ा तो उसने मुझे रोका और कहा- धीरे से करो, जिससे कि तुम्हें भी मजा आए और मुझे भी.

कुछ देर बाद वो वापस आया और उसने कहा कि अन्दर फैमिली वाले हिस्से में कोई फैमिली खाना खा रही है.

चीखने चिल्लाने वाली बीएफ: परवीन करीब 10 मिनट तक लंड चूसती रही, फिर वह बोली- सैफ अब बर्दाश्त नहीं होता. अगली कहानी में रात को बुआ के मम्मों को चूसना और उनकी बड़ी सी गांड मारने का खेल लिखूंगा.

निप्पल चुसवाते ही मीशा की मस्ती बढ़ गई और वो मेरे मुँह में अपनी चूचियां ठेलने लगी. मुझे चुदाई में बहुत मजा आने लगा था तो मुझे एक दूसरे लड़के ने पटा लिया. मैं भी उस वक्त पता नहीं किस मूड में आ गई थी कि मुझे उसका ये जबरन पकड़ कर चूमना बुरा नहीं लग रहा था.

उसकी चूत में लिसलिसा पानी हो जाने से मेरा लंड अब उसके चूत में आसानी से जा रहा था और उसकी कामुक सिसकारियां सुनकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

मिंकी दर्द से तड़प रही थी तो मैं कुछ देर के लिये मिंकी की चूत में अपना लंड डाल कर रुक गया और अपने दोनों हाथों से मिंकी के दूध पकड़ लिये और एक को दबाने लगा, दूसरे को मैंने अपने मुँह में डाल लिया और चूसने लगा।मैंने करीब 5 मिनट ही मिंकी के एक दूध को चूसा होगा कि मिंकी का दर्द मजे में बदल गया तो वो नीचे से अपनी कमर को हिला हिला कर मेरे लंड को अपनी चूत में अंदर बाहर करने लगी. मैंने अपना हाथ आगे बढ़ाया तो मेरी तर्जनी और मध्यमा उंगली के बीच में प्रिया के बाएं कान की लौ आ गयी जिसे मैंने हल्के से मसल दिया।सी… ई… ई… ई… ई… ई…!!!” शाश्वत आनन्द की पहली आनन्दमयी सिसकारी प्रिया के होंठों से फूट पड़ी. तो उसने लंड बाहर निकाल लिया और मेरे पूरे चेहरे पर अपने लंड का पानी निकाल दिया.