कैमरा मे बीएफ

छवि स्रोत,बीपी सेक्सी वीडियो राजस्थानी

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी सेक्सी डॉग: कैमरा मे बीएफ, मैं- सुनो दिव्या वो 10 मिनट में आ रहा है तो?दिव्या- तू फुल टॉप और जींस या फिर कोई सिंपल सूट पहन कर तैयार हो जा.

देसी गर्ल पोर्न वीडियो

मैंने अन्नू भाभी को अपनी गोदी में ले लिया और लंड फिर से अन्नू की चूत में डाल दिया. बाथरूम क्सक्सक्समेरी उम्र 21 साल की है, कद 5 फीट 11 इंच है और रंग गोरा तो नहीं, पर ठीक ठाक है.

उन्होंने मेरे लंड को हाथ से पकड़ा और अपनी गांड के छेद पर रखा, मगर छेद छोटा होने की वजह से मेरा लंड अन्दर नहीं गया. বিএফ ব্লু ফিল্মमैं उसे अपने केबिन में ले गया और कंप्यूटर पर बेसिक चीजें समझा कर मार्केट निकल गया.

वो नहाने चले गए, नहाने के बाद उन्होंने बाथरूम से आवाज दी कि मिनी बाहर तौलिया है.कैमरा मे बीएफ: एक एक करके ऊपर हाथ से यही करता रहा और नीचे अपने लंड को पकड़ कर उसने मेरी स्कर्ट में घुसा दिया.

झीनी जॉर्जेट की सफ़ेद साड़ी में अंजलि की बॉडी का पूरा शेप समझना आसान था.फिर मैंने उसको जोर से किस किया और छोड़ा ही नहीं तक़रीबन 5 मिनट तक!धीरे धीरे मैं उसकी कमर पर हाथ फेरता रहा और हम दोनों इतना ज़्यादा बहक गए कि बस शायद अब दोनों एक दूसरे में खो जाना चाहते थे.

हिंदी सेक्सी चूत चुदाई - कैमरा मे बीएफ

मैंने मॉम से पूछा- मॉम आप क्यों आ गई, आप सो जाती, आपके सर में दर्द था.मैंने उसे कहा- सॉरी यार, गलती से बोल दिया… लेकिन सच में मैं पसंद करता हूँ तुम्हें और अगर तुम चाहो तो हम…मुझे बीच में रोक कर उसने कहा- हम साथ होंगे या नहीं, ये तो मैं नहीं जानती लेकिन मैं आपके साथ जब तक हूँ आपकी ही रहूँगी.

उसने मंजरी की दोनों टाँगें पूरी तरह से खोल दी और अपना पूरा मुँह उसकी चूत से सटा दिया कि उसके होंठों और मंजरी की चूत के होंठों में से हवा भी न गुज़र सके. कैमरा मे बीएफ अब मुझे अमित से बातें तो करने का मन करता था लेकिन मैं उससे सीधे सीधे बात नहीं कर सकती थी.

सब उससे डरते हैं, गुस्सा तो हमेशा उसकी नाक पर किसी ना किसी बात पर होता ही है.

कैमरा मे बीएफ?

कुछ ही पलों में वो फिर से जोश में आ गई और बोली- आजा मेरे राजा चोद दे आज मेरी चुत को. साथ ही साथ वो अपनी छोटी बहन की पहली चुदाई भी देखना और उसका लुत्फ़ उठाना चाह रहा था. फिर दो मिनट बाद मैंने उनकी चूत पर अपना लंड को लगाया और जोर से झटका दे दिया.

लेकिन उसको पेन नहीं हो रहा था तो मैंने पूछा- क्या तुमने पहले किसी से चुदवाया है?अनुष्का बोली- चुदवाया नहीं है, लेकिन बैगन मूली वगैरह काफ़ी बार अन्दर डाला है, सो मेरी चूत पूरी खुल गई है. मैंने धीरे से उनके एक चूचे पर प्यार से हाथ फेरते हुए मसक दिया, इससे उनकी आह निकल गई. मैंने रानी के दोनों बूब्स पकड़ के लंड को बाहर तक खींच के एक पावरफुल शॉट उसकी चूत में मार दिया जैसे कि मैं अदिति बहूरानी को चोदता था.

अमित धीरे धीरे पूरी पीठ को सहला रहा था और पीठ की ही तरफ से मेरी चुचियों को भी छू रहा था. दीदी ने मुझे नहीं रोका तो फ़िर मैं दीदी की चुची को दबाने लगा। दीदी दिखावे के लिए मेरे हाथ हटाने लगी लेकिन मैंने दीदी को पकड़ा और उसके स्तनों को दबाने लगा।वो मदहोश होने लगी। मैं दीदी के नंगे पेट पर भी हाथ फिराने लगा।दीदी की कामुकता जागृत होने लगी. जब सिसकारियों की आवाज माला ने सुनी तो उसने मेरी तरफ देख कर थोड़ी परेशानी दिखाई और विकास की ओर देखकर उसे थोड़ा कण्ट्रोल करने के लिए मुझे इशारा किया.

मैंने हर रोज सुमन मामी को चोदा और अब जब भी गाँव आता हूं तो सुमन मामी को जरूर चोदता हूंये मेरी दूसरी चुदाई की कहानी है, जो मैंने आपको बताई. मैंने देर न करते हुए एक ज़ोरदार धक्का मारा, उसकी चुत बहुत कसी हुई थी.

सुभाष की शादी जिस लड़की से फिक्स हुई है, वो सीकर की है और उसका नाम रेणुका है.

”इधर मुझे तो जैसे आज जन्नत ही मिल गई थी इस चोदन से… क्या टाइट लंड जा रहा था उस की चूत में.

थोड़ी देर बाद बस रुकी और लोग नीचे उतरने लगे, वो सभी दारू के लिए उतरे थे. थोड़ी देर में मैं भी अपनी चचेरी बहन की चूत में ही झर गया, वो तब तक दो बार झर चुकी थी. मेरे प्रिय दोस्तों, मेरा नाम सनी सिंह है, मैं राजस्थान में रहता हूँ.

अगले दिन रविवार था, मैंने रात में होटल में स्टे किया था, रात को घर रहना ठीक नहीं था. तब उन्होंने कुछ याद आया और मुझे मना किया कि अभी नहीं करो क्योंकि मेरा बेटा बाहर खेल रहा है. कुछ ही पलों में वो फिर से जोश में आ गई और बोली- आजा मेरे राजा चोद दे आज मेरी चुत को.

मैं रेणुका भाभी को सीधा करके उनके मोटे मोटे मम्मों से दूध पीने लगा.

मामी तब भी मना कर रही थीं, तभी मैंने अपना एक हाथ उनके मम्मों पर रख दिया और सहलाने लगा. आगे की तरफ ऊपर गले में एक पट्टी बांधने वाली थी, जो मेरे मम्मों के ऊपर से जाती. लेकिन जब 6 बज गए और बस ऑफिस बंद करने की सोच ही रहा था तो सोनी का कॉल आया, बोली- ऑफिस नहीं मिल रहा!तो मैंने उसे ऑफिस आने रास्ता समझाया और 5 मिनट में वह ऑफिस पहुंच गयी.

मैं चिल्लाया- जीजाजी!मैं गांड उठाने लगा, भारी दर्द हो रहा था, गांड फटी जा रही थी, पहली बार इतना मोटा लंड मेरी गांड में पिला था. मेरा लंड 7 इंच का है और मैं हर रोज जिम जाता हूँ तो शरीर जिम जाने की वजह से काफी अच्छा है. भाभी- अच्छा तो मैं अपने मुँह से चूस कर तुम्हारा लंड ठण्डा कर दूँगी.

फिर सर ने मेरे को बोला- चल बेबी अपने कपड़े पहन और वापस जा तेरे दोस्त ढूंढ रहे होंगे.

मैंने भी अपना लंड साफ किया और शावर बंद करके एक दूसरे को टॉवेल से पौंछा. फिर हम पहले की तरह लाइफ एन्जॉय करने लगे, पर जब भी हम आनन्द नाम सुनते तब वो समय कांटे की तरह चुभता.

कैमरा मे बीएफ आज भी मॉम का सूट एकदम टाइट था तो बार बार मॉम के सूट पे पीछे से ब्रा कि झलक दिख रही थी, वो सीन मुझे और ज़्यादा एग्ज़ाइट कर रहा था. जिसको मैं सीनियर लड़कों को उंगलियों पर नचाना समझती थी, वह अब समझ आ रहा था.

कैमरा मे बीएफ अब उसका लंड बाहर आ गया था उसका लंड कम से कम 8 या 9 इंच का लम्बा और 3. आज माया का जोश सातवें आसमान पे था और अंकित भी उसे चोदने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता था.

मैं सुबह जल्दी उठी गई और दरवाजे की चौखट पर देखा कि एक पैकेट पड़ा था.

கேரளா sex video

भाभी ने अलमारी में से कॉंडम निकाला और मेरे लंड को हाथ में लेकर पहले उसे किस किया और वो कॉंडम मेरे लंड पर चढ़ा कर मेरे ऊपर चढ़ गईं. पापाजी इस बात के खिलाफ हैं तो जब तक शादी नहीं हो जाएगी तब तक हम ऐसे बातें नहीं कर सकते. करीब पंद्रह मिनट बाद जब वो चाय लेकर आईं तो उन्होंने जीन्स टी शर्ट चेंज करके नाईट गाउन पहना हुआ था.

वो किचन में बर्तन साफ़ कर रही थी, मैंने पीछे से जाके उसको हग किया और गर्दन पर एक किस कर दिया. हम सब लोग देर रात तक बातें करते रहे और रात में जिसको जैसे नींद आती गई, वो सोता गया. अब तक आपने देखा कि कैसे विवेक ने मेरी चुदाई की और अब मैं और विवेक चुदाई की सारी हदें पार कर चुके थे.

दीदी लंड को बाहर निकाल कर अपने मुँह में जमा थूक को लंड पर थूक देती और एक हाथ से तेज़ी से लंड को ऊपर नीचे करके सहलाने लग जाती, फिर जब खाँसी ठीक हो जाती तो जल्दी से लंड को वापिस मुँह में भर लेती और फिर से पूरा लंड मुँह में लेने की कोशिश करने लगती लेकिन पूरा लंड लेने में दीदी को परेशानी हो रही थी, फिर भी वो ज़्यादा से ज़्यादा लंड को मुँहमें लेके चूसने लगी थी.

अब इस घर के हॉल में लगे सोफे पर दो जोड़े जबरदस्त चुदाई में लगे हुए थे. मैंने जल्दी से सलवार पहनी और एकदम तृप्त होकर ख़ुशी से सीधे घर की तरफ जाने लगी. उसकी चूत में मैं जोर जोर से उंगलियों से उसकी चुत की चुदाई कर रहा था.

पर कैसे वो कुछ करने को तैयार होगी और लेगी कैसे?मैं- वो मैं कर दूंगी और कैसे देना है ये भी मैं बता दूंगी. तुमने बोला कि तुमने कभी सेक्स नहीं किया पर मुझे लगता है कि तुम ने सेक्स किया हुआ है?तो वह बोली- नहीं, कसम से… मैंने कभी नहीं किया सर!वो मुझे सर बोली… पता नहीं क्यों? पर मुझे क्या मतलब था, मुझे तो उसकी चूत को अच्छे से चोदना था. ”मैं खुद को छुड़ाना चाह रही थी लेकिन उसने मेरी मचलती हुई कमर को कसकर पकड़ा हुआ था.

पर जीजाजी पुराने खिलाड़ी थे, वे पूरा पेल कर ही माने बोले- थोड़ी देर दर्द होगा, फिर मजा आएगा, मैं तुझे परफैक्ट कर दूंगा. उसने लाल रंग का टॉप पहना हुआ था और नीचे जीन्स थी, वो बहुत ही हॉट लग रही थी.

रमेश ने तो ये कामुक शरीर बहुत बार देखा हुआ था, पर काजल और सुरेश के लिए एकदम नया था. जब वो थोड़ी शांत हुई, तो फिर मैंने एक शॉट से आधा लंड उसकी चुत में उतार दिया. मोहन लाल ने उसकी चूत से निकले हुए पानी का एक-एक बूँद को चाट लिया था.

वो जोश में आ गई और दर्द से बिलबिलाती हुई नीचे को होने लगी, वो अपनी हिम्मत दिखा रही थी.

मुझसे कोई गलती हुई हो तो माफ़ करना प्लीज!आप सभी का धन्यवाद।आप मुझे ईमेल कर सकते हैं[emailprotected]. पहले प्रॉमिस करो?”ओके बिटिया रानी… आई प्रॉमिस!”मेरे कहने से बहूरानी ने अपने पैरों के बंधन से मुझे आजाद कर दिया और अपने घुटने मोड़ कर ऊपर की ओर कर लिए. लेकिन इस तरह की बातें कुछ करने की इजाजत दे दूँ, वो दिव्या के मोबाइल से ही अभी होता था और इसी लालच कि वजह से मैं अवी को भी अपना बॉयफ्रेंड बनाने को राजी हो गई और उससे बात करने लगी.

मैंने पूछा- तुम यहाँ अकेले ही रहते हो?तो रवि ने कहा- हाँ भाभी जी, मैं यहाँ अकेले ही रहता हूँ. फिर मैंने उनकी पैन्टी को उतार दिया और उन्होंने मेरी अंडरवियर को उतार के फेंक दिया.

कुछ ने अपने हाथ भी अन्दर किए हुए थे, मैंने और मेरे एक दो कज़िन ने भी अपने हाथ अन्दर किये हुए थे. मुझे टेंशन हो गया कि अगर गालों पे निशान हो गए तो मैं अपनी बीवी को क्या जवाब दूँगा. मैं मेरी जीभ उसके मुँह में डाल कर अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा, जिसमें मैं सफल हो गया.

राजस्थानी कॉलेज की सेक्सी वीडियो

धीरे धीरे मैंने मामी की पेंटी भी उतार दी और उनको लिटा कर जीभ से उनकी चूत को चाटने लगा.

उसने काले रंग की पेंटी भी पहनी हुई थी, मैं उसे उसकी चूत को पैन्टी के ऊपर से छूने लगा लेकिन उसने अपनी पैंटी भी उतार दी और नीचे लेट कर मुझे उसके ऊपर आने का इशारा किया. वो दिन भर पढ़ाई करती रहती है और दिखने के अलावा हर बात में इतनी स्मार्ट है कि पूछो ही मत. मूवी ख़त्म होने के बाद हम घर को जाने लगे, वो कार में मेरे साथ बैठी थी तो कार में चलते चलते मैं पूनम को छेड़ता रहा, उसके मैं कभी गुदगुदी करता तो कभी उसकी जाँघ पर पिंच करता.

फू! गन्दा काम!!लेकिन मेरी काफी समय की मिन्नतों के बाद उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया था, परन्तु ज्यादा देर तक नहीं चूस पाती थी… लंड बाहर निकाल अपने जबड़े चलते हुए शिकायती स्वर में कहने लगती- ओ गॉड! कितना बड़ा है तुम्हारा!! मैं इसे और अपने मुंह में नहीं रख सकती!!! और अब क्या हो रहा था. मैं उसकी नाभि पे बर्फ लगा कर उसे क़िस करने लगा था और उसे अपनी जीभ से लिक कर रहा था. एक्स एक्स एक्स हिंदी बी पी पिक्चरमुझे लगा मैं जन्नत में हूँ और जब उन्होंने लंड को चूसने का काम चालू किया तो मुझे सारा माज़रा समझ में आ गया.

लंड उसकी गांड में अन्दर गया तो उसने दांत भींच लिए, आंखें बंद कर लीं. एक दिन बात है, जब मेरे मम्मी पापा 7 दिन के लिए दीदी को लेकर उसकी पढ़ाई के लिए मुंबई सैटिल करने जाने का डिसकस कर रहे थे, पर मुझे घर पर ही रुकना था.

अगले दिन मैं जब अपने घर के पीछे के हिस्से में गया, तो वो भाभी अपनी खिड़की पर खड़ी थीं, जो मेरे गेट के ठीक सामने थी. मेरा तो दिमाग़ ही खराब हो गया, इतने खूबसूरत चूचे थे, इतने गोरे गोरे कि मेरा तो लंड सीधा खड़ा हो गया. मैंने कहा- टैलिपैथी से तुम्हारा संदेश मुझे पहले ही मिल गया था!अब प्रेरणा और फफक कर रो पड़ी और मुझसे लिपट कर कहने लगी- ओह संदीप, तुम नहीं होते तो मेरी जिन्दगी का मकसद पूरा नहीं हो पाता और मैं भी जिंदा नहीं होती।उस वक्त माहौल भावुक हो उठा था, फिर धीरे धीरे सभी सामान्य होने लगे.

चूंकि मैं भी अपनी मर्दानगी साबित नहीं कर पाया था, इसलिए चुप रह गया. उसने आपके लिए ये गिफ्ट था लाने को कहा था, वही देने आया हूँ बस!अब आगे तो मुझे सब पता ही था कि बात क्या है क्योंकि सारी प्लानिंग मैंने ही की थी इसलिए मैं भी नार्मल हो कर बात करने लगी- अच्छा ऐसी बात है आओ बैठो, चाय पी लो, फिर जाना. आंटी जी, अब मैं जा रहा हूं, आप आराम से फ्री होकर अपना काम करिए।मैंने आंटी जी के मस्तक में चुंबन करके थैंक्स कहा, तो आंटी भी बोल पड़ी- दर्द सह कर भी जो थैंक्स कहे, उसे ही तो संदीप कहते हैं।और फिर कहा- ठीक है, अब तुम जाओ, पर मुझे तुमसे बहुत सी बातें करनी है, पर अभी शर्म के मारे मुझसे नजरें नहीं मिलाई जा रही हैं।मैं हंसते मुस्कराते वहाँ से लौट आया.

अब उसकी सिसकारियों में दर्द भी कम हो गया था और बच गई थी सिर्फ़ मस्ती भरी सिसकारियाँ जो कुछ ज़्यादा ही मस्त लग रही थी मैंने दीदी के बूब्स से सर उठा कर दीदी के फेस की तरफ देखा तो वो बडे प्यार से सिसकारियाँ ले रही थी.

वो मेरे से लिपट गया और मैं कांप उठी, वो भी गर्म गर्म साँसें भरते हुए मेरी चूत में धक्के मारने लगा, उसका पूरा लंड मेरी चूत में घुस गया, मैं भी मजे से चुदाई कराने लगी क्योंकि अपनी चूत तो मैंने उंगली, पेन्सिल, पेन और मूली गाजर डाल डाल कर खुली कर रखी थी. मेरे दिमाग़ में बत्ती जली कि इसका कोई और प्लान तो नहीं है?थोड़ी देर में उसने कॉल किया- कोई देख नहीं रहा, आ जाओ.

उसने भी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी, जिसका मैं बेसब्री से इंतज़ार कर रहा था. उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोलीं- ना बेटा ,ये मत कर बस माफ़ कर दे. इसके बाद हम रियल सेक्स का प्लान करने लगे और दूसरी नाइट में हम दोनों ने फिर से कॉल करके सेक्स शुरू किया, बहुत मजा आ रहा था.

मैं घर के मंदिर में भगवान की पूजा करके वापिस आती हूँ, फिर इस चुदाई के कार्यक्रम में मैं भी तुम्हें ज्वाइन करती हूँ. मैंने उसके लबों से अपने लब हटाये और कहा- यार, मैं ज़रा बाथरूम होकर आता हूँ. मैंने ज्यादा किसी से पूछ ताछ नहीं की और पवन के ऑफिस भी जाना छोड़ दिया.

कैमरा मे बीएफ मैं राज दिल्ली से हूँ। मैं एक कंप्यूटर इंजिनियर हूँ, और यहाँ जॉब करता हूँ। यह नोन वेज स्टोरी मेरे जीवन की एक महत्वपूर्ण घटना है जिसे मैं आज आप सबके साथ शेयर करना चाहता हूँ। मैं पहली बार अपनी कहानी पेश कर रहा हूँ। आप मेरे किरदार और उनकी परिस्थिति को समझ सकें, उसके लिए बीच बीच में आस पास की चीज़ों का अंदाज़ा लगवाने की कोशिश मैं करूँगा।यह कहानी सेक्स से लेकर जीवन का भी ज्ञान करती है. जब मैंने ये सब बात जानी तो मैं बिना मोनिका को बताए उस लड़के के घर गया.

देसी सेक्सी वीडियो एचडी देहाती

मैंने भी हंस कर आसन बनाया और धीरे धीरे उसकी चुत में लंड डाला और चुत मारने लगा. पर कोई भी भाई ऐसा नहीं होगा कि लड़की सामने नंगी हो, तो उसे चोदे ना. फिर 3 साल पहले मेरे डैड का एक्सिडेंट हो गया और वो हमें छोड़ कर चले गए थे.

लेकिन कई बार लड़कियां परिवार, समाज और गर्भवती हो जाने के डर से कह नहीं पाती हैं. ” उसने अपने मन की बात कह दी।यू थिंक मैं हॉट हूँ?” उषा का रिप्लाई आया।इसमें सोचना क्या है; तुम तो पत्थर को भी पिघला दो. हिंदी में सेक्सी ब्लू वीडियोयह ही सोचते सोचते मैंने दस मिनट लगा दिए और वो मेरी शर्ट सुखा कर ले आईं.

आपने मेरी पहली सेक्स कहानीअनजाने में हुई गलतीपढ़ी ही होगी और अब मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी वाइफ को शादी से पहले ही कैसे चोदा.

मेरा लंड फुल टाइट खड़ा था क्योंकि मेरा लंड उस एक खूबसूरत हूर की चूत में था, जिसको सभी चोदना चाहते थे. मैंने गीतांजलि से कहा- गीतांजलि, सिर्फ और सिर्फ तुम्हारी वजह से ऐसा जिस्म भोगने को मिला है, इस काम के लिये मैं तुम्हे इनाम देना चाहता हूँ और वो इनाम यह है कि मैं आज की तुम्हारी चुदाई फ्री में करूँगा.

फिर विवेक ने अपने लंड को मेरी चुत पर लगाया और हल्का सा धक्का दे दिया. फिर वो मेरे निप्पल को अपने मुँह से चूसने लगा और अपने दांतों से काटने लगा. सबने होली खेलना शुरू किया और म्यूज़िक पर डांस भी शुरू हुआ, बीच बीच में सब अपने अपने पैग भी ले रहे थे.

मैंने कहा- ओके ले लो!फिर पापा बोले- अरे ऐसे नहीं पगली… कपड़े उतार के लेने होंगे!मैं एकदम शॉक में चली गई.

इधर मैंने दीदी की चूत में जीच से चाटा और उधर अंजलि दीदी ने मेरा आधा लंड अपने मुख में भर लिया. तभी चाचा ने बोला- यार बृजेश, तू आ जा और आरती की चूत में डाल दे लंड… मैं तो झड़ गया, यह बहुत प्यासी है, अभी इसका पानी नहीं निकला!तब जो अंकल मेरे मुंह में लंड डाले थे, वह आ गए और मेरी टांग ऊपर कर के मेरी चूत में लंड फंसा कर जोर से धक्का दिया. मैंने उनके ही सामने अपने लोअर के ऊपर से अपने लंड को मसला, जिसे देखकर भाभी ने एक कातिलाना स्माइल दी.

सुहागरात कैसे बनता हैमेरे लंड ने भी मुंडी हिला कर तुनकी सी मारी, इससे वो जोर से हँस पड़ीं और बेड पर जाकर अपनी टांगें उठा के लेट गईं. इस सेक्स स्टोरी में अभी तक आपने पढ़ा कि ठरकी ससुर दिनेश ने कामुकता की मारी बहू आरुषि की चूत चोद दी.

लड़की को चोदते हुए सेक्सी

मेरा शरीर एकदम फिट है, जो मैंने आर्मी के लिए तैयार किया था, पर किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था. निहारिका का जॉब इंटरव्यू दिल्ली में शनिवार को था, तो हम लोग दिल्ली शनिवार को ही पहुंच गए थे. कुणाल- आंटी केला अच्छा है?आंटी- अभी ख़ाकर तो देखा नहीं कैसा बताऊं?कुणाल- तो ख़ाकर बताइए ना.

भैया मुझे यह धमकी दे गए कि जब तक मेरी शादी में वीशु तू नहीं आएगा, ये समझ लेना कि तब तक मैं घोड़ी पर नहीं बैठूँगा. मैंने उसकी परवाह न करते हुए उसे चेयर पर घोड़ी बना दिया और चूत पर लंड सैट करके धक्का लगा दिया. मैं जॉय लेनिन विजाग से, आपसे अपनी सच्ची सेक्सी एडल्ट स्टोरी शेयर करने जा रहा हूँ.

आखिरी बात है कहानी का नाम या शीर्षक; क्योंकि कहानी का नाम ही पाठकों को आकृष्ट करता है. मैं अपना हाथ पकड़े पकड़े नीचे ले जाने लगी तो अवी ने कहा कि जितनी ताकत है उतनी ताकत से दबाते हुए ले जाओ. फिर मैंने उस की टॉप को उठाया और उससे अलग कर दिया अब वो मेरे सामने ब्रा में थी.

मैं उसके कॉलेज पर जाने लगा, उसके जाते और आते टाइम सेफ्टी के लिए कि कोई उसे छेड़े ना. मैं मूर्ख फिर भी नहीं समझ पाया कि आखिर काया भाभी की उदासी अचानक से कैसे दूर हो गई.

क्या हुआ?वो मुझे देख कर रो पड़ी, मुझे बांहों में भरके काँपते हुए रोते हुए बोली- माया दीदी कुछ भी ठीक नहीं है.

मैं अब धीरे धीरे लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा लेकिन वो अब गर्म होने के साथ साथ बहुत डर भी रही थी क्योंकि मैंने उसके कहने के बाद भी अपने लंड पर कंडोम नहीं लगाया था. सेक्सी बफ अंग्रेजीउनकी तीन लड़कियां अंजलि, पारुल और संगीता और एक लड़का बॉबी यादव था, जो ताऊजी के परिवार में सबसे छोटा था. एक्सएक्सएक्स तीनयह एक तेजी से बढ़ती हुई कंपनी थी और यहाँ माया जल्दी ही अपने बॉस, कंपनी के एमडी को इम्प्रेस करना चाहती थी. मैं भी मौके को देख कर सिमरन की चूत पर आ गया और लंड चूत पर घिसने लगा फिर उसकी चूत के छेद पर अपना लंड टिका कर मैंने एक पूरी ताकत से जोरदार धक्का लगा दिया तो मेरा लंड का सुपारा सिमरन की चूत को फाड़ता हुआ करीब 3 इंच तक घुस गया और घुसने के साथ ही उसकी चूत से एक खून की धार बह निकली.

फिर वो चला गया, मैं इस सब में इतना थक गई थी कि मैंने जल्दी से ड्रेस बदली और ब्रा पैंटी पहनी और बिस्तर पर आकर सो गई.

जैसे अमित ने चूची दबाई थी, उससे भी ज्यादा जोर लगा लगा कर चूची को चूस रहा था. दोस्तो उस दिन मुझे अपने लवर के दोस्त के बड़े लंड से चुद कर बहुत मजा आया. मैंने उसे ढांढस बंधाया और उसकी जॉब के लिए दो तीन जगह बातचीत कर ली, मेरा अपना काम इतना बड़ा नहीं था कि मैं उसकी सैलरी अफ्फोर्ड कर पाता इसलिए मैंने उसे दूसरी जगह जॉब पर लगवा दिया जहाँ काम का इतना स्ट्रेस भी नहीं था और सैलरी भी पवन के ऑफिस से तो बेहतर ही थी.

यूं ही चूमते चूमते मेरा एक हाथ पूनम के मम्मों पर तो दूसरा हाथ पूनम के कूल्हों पर घूमने लगा. अब मैंने आँखें खोलीं, मेरे मुँह में वीर्य का स्वाद नमकीन खट्टा सा था लेकिन मेरे मुँह में ज्यादा नहीं गया था, सिर्फ इतना सा गया था कि केवल स्वाद मिल गया. ”पापाजी, वही तो मैं चाहती हूं कि मैं थक जाऊं आपके साथ इन छत्तीस घंटों में और आप अच्छे से थका देना मुझे जिससे मेरे बदन की पोर पोर दुखने लगे, मेरे अंग अंग में मीठा मीठा दर्द होने लगे!” बहूरानी जी बेहद मीठी आवाज में बोली.

குரூப்செக்ஸ்

फिर मैंने उनकी बनियान के अन्दर हाथ डाल कर उनके दूध दबाना चालू कर दिए. उसने कहा- आपकी बात तो ठीक है, पर हर एक पर भरोसा तो नहीं कर सकती और आजकल तो आपको पता ही है कि थोड़ा सा भी कुछ हो जाए तो लोग बातें बनाना शुरू कर देते हैं और एक अकेली लड़की का जीना मुश्किल हो जाता है. आह्ह्ह्ह हहा अम्म्म्म्मम…”मैं बहुत ही उत्तेजित हो गई और किसी भी वक्त झड़ने वाली थी.

करीब पांच मिनट डाले रहे, फिर शुरू हो गए, दे दनादन… दे दनादन… धच्च फच्च… धच्च फच्च!उनकी कमर बार बार मेरे ऊपर ऊपर नीचे हो रही थी, वे मुझे मस्ती से चोद रहे थे, मेरे मुंह से बार बार आवाज निकल रही थी- आ आ ई ई आ आ… बस बस फट गई! अब तो बस करें पर वे कुछ सुन नहीं रहे थे, उनके गांड फाड़ू झटके पंदरह बीस मिनट तक चालू रहे, गांड फाड़ कर रख दी.

तभी एक आदमी बगल से निकल कर आया और भाभी को चूमने लगा, उसने भाभी की चूत पर अपना मुँह रख दिया.

मैं तो मदहोश होने लगी थी क्योंकि मेरे सिर पर तो दवाई का असर था और मेरे साथ क्या हो रहा था, मुझे कुछ नहीं पता था. एक दिन रात के टाइम मैं व्हाट्सैप पर सबकी डीपी देख रहा था, तो मैंने देखा राखी रात के 3 बजे भी ऑनलाइन थी. पंजाबी सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चरयह कहते हुए मोहन लाल ने अपनी दो उंगलियां मयूरी की चूत में डाल दीं और और अन्दर बाहर करते हुए उंगलियों से उसकी चूत को चोदने लगा.

मैं ड्रेस बदल कर और सिंपल टॉप और लोअर पहन कर लेट गई और वही सब सोचते सोचते सो गई. ठीक है, आज ही आपको दो मिल जाएंगे, बस आप तैयार रहना। आप बताइए कि कितना बजे भेजना है?मैंने कहा- साढ़े दस बजे तक भेज देना. अगले ही पल उसने मेरे साढ़े छह इंच लम्बे और ढाई इंच मोटे लंड को अपने मुँह में ले लिया और भर भर के चूसने लगी.

बेड के कोने पे लेटी माया ने अपनी टांगें अंकित की कमर में डाल रखी थीं. करीब 2 महीने बाद अमित मुझसे मिलने आया और मुझे गले लगाया और बताया कि आज तुमको एक पार्टी ज्वाइन करनी है तो तैयार हो जाओ.

दिव्या अमित से बात करते करते चाय बना रही थीमैं जब जगी तो दिव्या ने कहा- मिनी, देखो चाय बन गई है.

यह हिंदी एडल्ट स्टोरी मेरी जिन्दगी से संबंधित है मैंने अपनी जिन्दगी में न जाने कितनी ही बार चुदाई की मगर किस्मत की मार से मेरी मुहब्बत अधूरी रह गई. मैं आई फोन लेना चाहती थी, जिसके लिए गांड का दर्द भी सहने को तैयार थी. अब आंटी ड्राइवर वाली दिशा में मुँह करके खड़ी हो गईं और कंडक्टर वाली दिशा में गांड कर ली.

सनी लियोन की सेक्सी वीडियो हिंदी में वो मेरी नाइटी को उतार कर ब्रा के ऊपर से ही मेरी मोटी चुचियों को दबा रहे थे. मैंने पूछा कि बड़ी साइज़ का है?तो उन्होंने मुझे घूरते हुए देखा, फिर कहा- नहीं.

सिराज के उस धक्के से मैं तो आगे गिरने को हुई मगर आगे दूसरा था, जिसका लंड मेरे गले में अंदर तक घुस गया. सीनियर, जिसका नाम सिराजुद्दीन था उसने कहा कि हमें पुलिस थाना चलना पड़ेगा।अब हम दोनों सिराज के सामने गिड़गिड़ाने लगी- सर, पुलिस थाना जाकर क्या करेंगे… जो भी है यही सुलझा लीजिए प्लीज। अगर थाने में गई तो हम किसी को मुँह दिखाने के काबिल नहीं रहेंगी। प्लीज सर… प्लीज!वैगरह वैगरह!काफी देर बाद उसने हमें चुप रहने के लिए बोला। फिर उसका और उसके साथियों का नजरों में ही कुछ इशारा हुआ. उसने पहले मेरा टॉप उतारा, उसके बाद मेरी जीन्स को धीरे धीरे उतार कर एक तरफ कर दिया.

ट्रेन में सेक्सी

चाची मेरे लंड के नीचेपढ़ी, मुझे आपके मेल से पता लगा कि आपको मेरी कहानी पसंद आई है. ये सुनने के बाद मैंने तुरंत दरवाजा बंद किया और रेणुका भाभी का हाथ खींच कर अपनी जाँघ पर बैठा लिया. मुमताज की चूत पर हलके हलके बाल थे जैसे 3-4 दिन पहले हेयर रिमूवर क्रीम से साफ़ किये हों.

अब उसका लंड बाहर आ गया था उसका लंड कम से कम 8 या 9 इंच का लम्बा और 3. हम दोनों ने शादी अटेन्ड की, फिर रात को वह बोला- यहां राधे चाचा हैं, उनके घर चलते हैं.

उनके सर ने कहा- और जिससे अभी तुम बात कर रहे थे, उसे 10-15 दिन के लिए यहाँ बुलाओ, मैं उसके साथ घूमना चाहता हूँ.

पर वो अभी अपनी सगी बहन के साथ बाहर ही आपत्तिजनक अवस्था में उसके सामने लेटा हुआ था. एड्रिआना बिस्तर पर अपनी सांसें ठीक कर रही थी और मुझे प्यार भरी आँखों से देख रही थी. मैं समझ गया कि वो भी अब अपनी चूत का चोदन करवाने के लिए तैयार है तो मैंने उस को मेरी तरफ घूमने के लिए कहा और जैसे ही वो घूमी, मैंने अपने होंठों को उस के होंठों पर रख दिया.

मयूरी ने देखा कि सुरेश काजल के नीचे लेट कर उसकी चूत चाट रहा है और इसी वजह से उसका मुँह घर के मुख्य दरवाज़े की तरफ ही था. लेकिन इस तरह की बातें कुछ करने की इजाजत दे दूँ, वो दिव्या के मोबाइल से ही अभी होता था और इसी लालच कि वजह से मैं अवी को भी अपना बॉयफ्रेंड बनाने को राजी हो गई और उससे बात करने लगी. पर मैं तो रिश्ते लाइफ टाइम के लिए ही बनाता हूँ, मैंने कहा- मैं कौन सा तुझे छोड़ रहा हूँ.

मंजरी को भी पता था कि वो उसका रिश्ते में भाई लगता है तो दोनों की शादी होना मुश्किल है.

कैमरा मे बीएफ: तभी सामने वाले अंकल ने चूत में डाल दिया, और एक अंकल ने मेरे मुंह में दाल कर मेरा मुख चोदन करने लगे!अन तीन तीन लोग मुझे चोदने लगे. तीनों उसी अवस्था में नग्न ही सोफे पर बैठ गए और मयूरी के वापिस आने का इंतज़ार करने लगे.

हम दो पागल लड़कियाँ उस कड़ाके की सर्दी में, अधनंगी हो कर, दुनिया से बेखबर, एक दूसरे को चूम रही थी. उसके मुँह से सी…सी… की आवाज़ आने लगी लेकिन मैं उसे किस कर रहा था तो उससे आवाज़ नहीं आ रही थी. उन्होंने अम्मी से मशवरा किया और उन दोनों ने लखनऊ के पास के एक गाँव में कैंप लगाने का निर्णय लिया.

मेरा पाठकों से आग्रह है कि आपको ये देसी कहानी कैसी लगी, कृपया मुझे बताएं.

दीदी ने भी मेरे को रेस्पॉन्स दिया और मेरे सर को हाथ से पकड़ कर लिप्स की तरफ़ खीच लिया और एक ही पल में मेरे लिप्स दीदी के लिप्स से जकड़े गये. स्टेशन पर बहुत भीड़ थी, मैं कुछ खास नहीं कर सका बस हल्का सा हग किया और सामान लेकर टैक्सी में बैठ गए और सीधे सुमीना के घर आ गए. मैं अपना लंड हिला कर बातें कर रहा था, वो बहुत सेक्सी आवाजें निकाल रही थी.