बीएफ सुहागरात वाला

छवि स्रोत,సెక్సీ బ్లూ ఫిలిమ్స్

तस्वीर का शीर्षक ,

बीबीसी सेक्सी वीडियो: बीएफ सुहागरात वाला, अपनी बहन हनी को चुदवाते देखकर मेरी बीवी मनी ने कहा- वाह हनी वाह! वक्त किसी को नहीं छोड़ता … सबको जवाब देता है.

hindi sex story दो बेटी

पानी पीने के बाद वह मेरे बगल में आकर बैठ गई और बात करते-करते हम लोग एक दूसरे को किस करने लगे. ব্লু ফিল্ম ব্লুमैंने पूरी जीभ उसकी चूत में घुसा दी और उसकी चूत का सारा पानी पी गया.

मैंने उसके होंठों पर धीरे से अपने होंठ रख दिए और लंबा किस करने लगा. सेक्सी वीडियो एचडी सुहागरातरात में उसने मुझे मैसेज किया और बोला- अगर तुमको मेरा साथ पसंद आया तो तुम कल ऑफिस में रेड टॉप एंड ब्लैक जींस पहनकर आना।मैं बोली- कल सोच कर बताती हूँ.

मैंने तुरंत पूछ लिया- तो क्या सौरभ (मेरे कज़न) के टीचर वाली बात सच है?चाची ने हैरानी से मेरी तरफ देखा.बीएफ सुहागरात वाला: क्या मस्त चाटते हो … मेरा आधा काम कर दिया, लेकिन पूरा काम प्रोग्राम खत्म होने के बाद करेंगे.

अंजू भाभी लंड की पहली चोट से ही एकदम से सिसक गईं और थोड़ा सा चिल्लाकर बोलीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई!मैं भाभी को चूमते हुए बोला- अभी कहां से मर गईं अंजू रानी … अभी तो फीता ही कटा है.मैंने देखा कि उसकी चूचियों के निप्पलों के इर्द-गिर्द का काला घेरा काफी बड़ा था.

மலையாள படம் செக்ஸ் படம் - बीएफ सुहागरात वाला

दो मिनट तक एक दूसरे की आंखों को पढ़ने के बाद हम दोनों ने एक साथ स्मूच करना शुरू किया.कुछ ही देर में इस बात का भी खुलासा हो गया कि मैं अपनी माँ को भी चोदता हूँ और उनसे मैंने दो बेटियों को जन्म दिया है.

अनुजा खुल कर बोली- मेरी बुर की चुदाई तो अब होगी भइया … मुझे भी सोशल साइट पर जब से जानकारी मिली कि घरेलू रिश्तों में भी ये सब होता है, तो मैंने भी सोच लिया कि अब मैं भी घर में ही किसी से चुद जाऊंगी. बीएफ सुहागरात वाला फिर मैं आशी की स्कर्ट ऐसे ही ऊपर उठा कर उसकी पेंटी साइड में सरका कर उसकी अनछुई बुर सहलाने लग गयी.

अब तक मैं चार बार झड़ चुकी थी, मगर मेरा बेटा अब भी मुझे फुल स्पीड में चोद रहा था.

बीएफ सुहागरात वाला?

मैं अपनी गांड उठाते हुए चिल्ला रही थी- आह … और तेज़ विशाल … आंह और तेज़ हां हां … ऐसे ही … आह … इतनी बढ़िया चुदाई करना तूने कहां से सीखी है?विशाल मेरी चूचियों को मसलते हुए लंड की चोट मार रहा था और कह रहा था- आह … मॉम आपका फिगर इतना कमाल का है कि अपने आप चुदाई करना आ गई. सीमा बोली- कल रात को मैं सोने जा रही थी, तो मैंनेँ अपने भैया के कमरे से कुछ आवाजें सुनी थीं. मेरी चाची की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी? आपके मेल का मुझे इन्तजार रहेगा.

चाची मेरी बांहों में थी और मैंने उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. वो देखने में बहुत सुंदर है और अच्छी अच्छी हुस्न की मल्लिकाओं को पछाड़ देती है. वैसे भी मुझे बहुत देर हो गई है, घर पर मेरी वाइफ मेरा इंतजार कर रही होगी.

मैंने उठ कर दरवाजा खोलने को हुआ, तो मॉम बोलीं- हां आ जाने दे … सरिता सब जानती है. कोई दो मिनट लंड चूसने के बाद मैंने उसे रोका और उसके हाथ में एक कंडोम दे दिया. अन्तर्वासना पर भी शादी से पहले चुदाई की कहानी पढ़ने के बाद मैंने सोचा कि मैं भी अपनी सेक्स कहानी आपके सामने रखूँ.

मॉम के मीठे, गुलाबी, मोटे और कोमल होंठों को मैंने अपने मुंह में ले लिया था. मैंने उनके रसीले होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसना चालू हो गया।फिर बुआ ने कहा- थोड़ा सबर कर जानेमन! अब तो तू मेरी रोज चूत मारेगा.

वो अपनी चूचियों को हाथ में लेते हुए बोली- देख जब कोई मर्द किसी लड़की या औरत की चूचियों को दबाता है तो उसको अच्छा लगता है.

बेटी और बेटा अभी पढ़ रहे थे।घर हमारा सांझा था, बड़े सारे घर में मेरे पास दो कमरे थे.

मैं बोली- मगर मैं तुम्हारे पति के लंड से कैसे चुदवा सकती हूं?मीरा बोली- अगर मेरे पति से चुदाई नहीं करवा सकती तो मेरे दोस्त से तो करवा ही सकती हो. उसकी घुटी सी आवाज कुछ देर निकली फिर उसका छटपटाना भी बंद हो गया और चिल्लाना भी बंद हो गया. इसलिए जब जब दीदी बताती थीं कि आप उनको मसल कर रख देते हो, तो मेरे मन में भी आता था कि काश मेरी भी चुदाई ऐसी ही हो.

मैं भी बहुत थक गया था तुम्हारे कंटीले बदन को देख देख कर … सच कहूँ, तो मैं तुम्हें पहले ही दिन से चोदना चाहता था. मॉम की हल्की चीख निकल रही थी ‘आह ओह उह आह आ …’ लेकिन मॉम मना नहीं कर रही थी. जब वह झुक कर झाड़ू देती थी तो उसकीबड़ी गांडमेरी आंखों के सामने होती थी.

भाभी की पेंटी गीली हो गयी थी और भाभीजान आहें भरते हुए बोलीं कि आएम्म ऊफ एईई देवर राजा … इतना क्यों तरसा रहे हो … जल्दी से कुछ कर दो … मेरी गर्मी शांत कर दो … मुझे कुछ कुछ हो रहा है … प्लीज मुझे अपना बना लो.

मैं नीचे लेट गया और निशा मेरे ऊपर बैठ कर मेरी शर्ट और बनियान उतार कर मेरे सीने में किस करने लगी. मैंने शीनू को बिस्तर पर लेटा दिया और टॉवल को निकाल दिया, शीनू फिर से मेरे बगल में नंगी लेटी हुई थी. फिर पापा ने चाची को डॉगी स्टाइल होने के लिये बोला और चाची डॉगी स्टाइल में आ गईं.

मैंने 30 मिनट तक ताबड़तोड़ भाभी की चुदाई की, वो एक बार झड़ गई लेकिन मैं लगा रहा. मैंने अपने लंड में जेल लगाई और फिर बरखा की गांड में भी वही जेल लगा दी और बरखा की गांड में मैंने अपना लंड डाल दिया. उसने शायद अपना अंडरवीयर उतार दिया था पहले ही … मेरा हाथ डायरेक्ट उसके लंड पर था.

फोन चैट करते हुए हम दोनों एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जान गये थे.

मैं उसके पूरी तरह से खड़े लंड को देख कर गहरा गई लेकिन मुझे मेरी चुत की आग लगातार गर्म कर रही थी. ये बात कई साल पहले की है, जब मैं, मेरा भाई ओर मेरे मॉम पापा गांव में रहते थे.

बीएफ सुहागरात वाला रूपाली ट्रेन के हिलने से थोड़ा गिरने सी लगी, तो मैंने उसे कमर से पकड़ लिया. गुलाबी रंग की सिंगल पीस की इस ड्रेस में उसके नुकीले मम्मे ढंके तो थे, लेकिन उसकी गोरी क्लीवेज साफ दिख रही थी.

बीएफ सुहागरात वाला मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ जीभ को चलाना शुरू कर दिया था और अब बस मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई के तड़प उठा था. उसकी चूत से खून आने लगा, लेकिन उसने मुझे रोका नहीं … बस थोड़ा रुकने को कहा.

मैंने निशा को बोला- अभी कुछ करना ठीक नहीं होगा, चलो नीचे होकर आते हैं.

नंगी सेक्सी का वीडियो

वो मेरे पिता के दोस्त की बेटी थी, हम दोनों साथ में एक ही क्लास में पढ़ते थे. हर चार पांच मिनट में अब वे तीनों हब्शी मेरी दीदी के छेद को अपने लंड से बदल बदल कर चोद रहे थे. एक बार की बात है कि मैं ऐसे ही छिप कर मम्मी पापा की चुदाई को देख रहा था.

फिर उसने लड़की को उठा दिया और उसको भी अपने कपड़े उतारने के लिए कहा. फिर मॉम के मोबाइल पर उनकी सहेली रेशमा का कॉल आ गया और दोनों के बीच औरतों वाली बातें शुरू हो गई. खिड़की को खोलने की कोशिश की तो खिड़की के सरकने से उसकी आवाज मेरे मां-पापा के कानों में चली गई.

मैंने अंजना को बताया- अब मैं अपना लंड तुम्हारी बुर में डालूंगा, थोड़ा कष्ट होगा.

कोमल के मुँह से आह निकली और वो पीछे पलट कर मुझे चूमते हुए बोली- बाहर से ही खड़ा करके आया है. वह जोर से चिल्लाई- हाय … मार डाला।लेकिन मैंने जब नीचे देखा तो उसकी चूत से कोई खून नहीं निकला. सब्र कर मजा ले!और चार पांच झटको के बाद पापा झड़ गए और चाची के बगल में लेट गए।कुछ मिनट बाद चाची उठी और बाथरूम की तरफ चल दी.

वो बोली- क्या हो सकता है?मैंने कहा- जब इतनी खूबसूरत महिला सामने खड़ी हो तो किसी की भी नियत बिगड़ जायेगी. कहीं से आवाज आती- कहां जा रहा है चिकने?कभी कोई सामने से आकर कहती- रस्ते का माल सस्ते में चाहिए तो इधर आजा!कहीं से 200 की आवाज आती तो कहीं से 500 और 1000 की. जब वो मेरी बहन को ऐसी गंदी गालियां दे रहा था तो मेरा जोश भी बढ़ रहा था.

कुछ देर बाद मैंने उसको लिटा दिया और उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. मेरी सौतेली दीदी बहुत खूबसूरत सेक्सी और हॉट है। वो मॉडलिंग करती है और बहुत लोगों से चुद चुकी है.

मैं एक हाथ से उसके एक चूचुक को मसल रहा था और दूसरे से उसके पेट और कमर को सहला रहा था, जिससे उसके अन्दर गर्मी बढ़ती थी. वो बोली- बस कर अब, डाल दे, क्यूं तड़पा रहा है!मैंने कहा- थोड़ा सब्र और कर लो चाची. मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी ये सेक्स कहानी पसंद आयी होगी … और खास कर महिला पाठकों को मजा आया होगा.

उसकी गांड के अंदर उंगली चलाते हुए अपनी गर्लफ्रेंड की गांड को मैंने एकदम से चिकनी मलाई के जैसी कर दिया.

यही सब सोचते हुए मेरे लंड ने अपनी चरम सीमा पा ली थी और अब वो स्खलन के नजदीक आ गया था. मॉम मेरे जवाब से मुस्कराई और बोली- गुड बेटे!फिर वो बोली:बेटे, आज पूरे दिन मैंने तेरी परीक्षा ली थी. जब उसने मेरे लंड पर हाथ रखा तो किसी लड़की के हाथ का पहला स्पर्श पाकर मेरे लंड में अलग ही जोश आ गया.

मैंने नीचे को होकर उसके पेटीकोट और साड़ी को उसके जिस्म से खींच कर अलग कर दिया. मैं सोचने लगा कि इसका मतलब ये हुआ कि ये खुद मुझे अकेले में मिलना चाहती है.

उन दोनों को बुलाने के लिए मैंने फोन उठाया ही था कि मेघा के नम्बर से फोन रिंग करने लगा. वो बहुत खुश थी और मैंने उसकी आंखों में अजीब सी चमक देखी जो मुझे समझ नहीं आई कि वह उस का मेरे प्रति प्यार था या फिर उसकी अनबुझी प्यास!दोस्तो, कैसी लगी मेरी और पुष्पा की कहानी आपको? मुझे ईमेल के जरिए रिप्लाई कीजिएगा मैं आपकी सभी के जवाब का इंतजार करूंगा!मेरा इमेल है[emailprotected]. जब मैं कॉलेज के द्वितीय वर्ष में था तो उसी समय से मेरे अंदर इस तरह की इच्छाएं प्रबल होना शुरू हो गई थीं.

હિન્દી ચૂદાઈ

मैं- कैसा लग रहा है शिखा तुमको … शर्माओ मत!शिखा- मुझे समझ नहीं आ रहा है, क्या बोलूं?मैं- क्यों?शिखा- आपसे ऐसे बात करने में मुझे अच्छा नहीं लगता, आप मुझसे कितने बड़े हैं.

जब हम घर जाने लगे, तो उसने मुझे फ़ार्महाउस के बाहर ही दो मिनट तक लिपकिस किया. [emailprotected]चुदाई की सच्ची कहानी का अगला भाग:मेरी मस्त सलहज की चुदाई-2. बास्केट में पड़े कपड़े बाहर निकाले तो सबसे नीचे कच्छियाँ और ब्रा मिलीं.

मैं उसे चोदने की खुशी से पागल हो गया कि जिसको मैं चोदने के सपने देखता था, वो मेरे पास खुद चुदवाने आ रही है. मैं धीरे-धीरे उसकी चूचियां दबाता रहा और साथ ही साथ उसके होंठों को भी चूसता रहा जिससे उसे कुछ राहत महसूस हुई. वीडियो सेक्सी एचडी डाउनलोडपर उस दिन का वाकिया मुझे इसलिए भी जिन्दगी भर नहीं भूलता क्योंकि दीदी उस दिन के बाद रंडी ही बन चुकी थी.

मैंने हां कर दी, लेकिन मुझे मालूम था कि मिष्टी इस बात से मानेगी नहीं, वो पूरे समय पर इस ग्रुप सेक्स का हिस्सा बनेगी. थोड़ी देर बाद मॉम की कमरे से आवाज आई- अर्जुन बेटा, बेडरूम में आ जा!मैं बेडरूम में गया.

कुल मिलाकर हुस्न का वो सुलगता अंगार, जिसे कोई 80 साल का बुड्डा भी देख ले, तो बुड्डे का भी लंड तन कर खड़ा हो जाए. मैं बोली- मगर मैं तुम्हारे पति के लंड से कैसे चुदवा सकती हूं?मीरा बोली- अगर मेरे पति से चुदाई नहीं करवा सकती तो मेरे दोस्त से तो करवा ही सकती हो. उसने साड़ी का काफी पतला और जालीदार पल्लू ले रखा था जिससे उसके बूब्स देखने में कोई परेशानी नहीं हो रही थी.

पहले ही धक्के में मेरा आधे से ज्यादा लंड उनकी चूत में जा पहुंचा और उनकी आंखें पलट गईं. डॉक्टर लोग कहते हैं कि औरतों में मर्दों की अपेक्षा 10 गुना ज्यादा सेक्स होता है. वो लंड को मेरी चुत पर ले गया और सुपारा घिसते हुए बोला- साली रंडी कितनी मस्त है तेरी चुत … लगता है तेरा पति तुझे अच्छे चोद नहीं पाता … चल कोई बात नहीं … आज मैं इसको भोसड़ा बना दूँगा … तू चिंता मत कर.

मैंने अपने खड़े लंड को उसकी चूत के मुंह पर रखा और धकेलने की कोशिश की.

दो मिनट में ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और मैं उसके मुँह में ख़ाली हो गया. मैंने विशाल की बनियान को पहना, जिसमें से मेरी चूचियों का बहुत कम ही भाग ढका हुआ था.

मैं आंटी की प्यास को अच्छी तरह से समझ रहा था और आंटी की चूत चुदाई के बारे में सोच कर मेरा लंड भी पूरा का पूरा मेरी जीन्स में तन गया था. उसकी आँखें बंद हो गयीं थीं और उसका मुंह ऊपर की ओर था, वह वासना के उस क्षण तक पहुँच गया जहाँ से अब वापसी संभव नहीं. उसके बाद वंदना मैम ने कहा- तुमने मेरे चुचे नहीं चूसे, चलो बचा हुआ लेसन पूरा करते हैं.

चूंकि वो दोनों ब्रा में आ गई थीं तो मैंने भी उनके इशारे को समझ कर अपने टॉप को उतार दिया. चूंकि मैं पहले से ही मुठ मार कर आया था इसलिए जल्दी वीर्य निकलने का भी ज्यादा चान्स नहीं था. यहां घर पर बैठे-बैठे मेरा दिमाग खराब रहता था और जेब में पैसा भी नहीं रहता था.

बीएफ सुहागरात वाला मेरा काम था चूत मार कर लंड की प्यास बुझाना और उसका काम था सामने वाले लौड़े का पानी निकाल कर पैसा ऐंठना और फिर दूसरे ग्राहक की तलाश में लग जाना. मैं फ्रेश होकर वापस आया तो मां ने कहा कि तेरी मोसी अपने घर वापस जा रही है.

हिंदी में बुर चुदाई वीडियो

इससे भाभी की वासना पूरी प्रज्ज्वलित हो गयी और उन्होंने जल्दी से मेरा अंडरवियर उतार दिया. वो 19 वर्षीय 30-32-34 फिगर की मालकिन थी, जिसके गुलाबी गाल व बला का खूबसूरत जिस्म था. मेरा मुंह पर दबाव बना रहे थे लेकिन मुझे तो चूसने में मज़ा आ आ रहा था.

मॉम की सिसकारियां चालू हो गईं थी क्योंकि मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत में जा रहा था, चूत के अंदर के बीज से टकरा रहा था और लन्ड भी सख्त हो गया था एकदम लोहे की रॉड की तरह. मैं शादी-शुदा हूँ पर मेरा एक बॉयफ्रेंड भी है थोड़ी बड़ी उम्र का … करीब 45 साल का! और मेरे बॉयफ्रेंड की एक 19 साल की बेटी है जिसका नाम आशिमा है पर प्यार से उसे सब आशी कहते हैं. सेक्सी पिक्चर दो नंगीकिचन में झांकते हुए मैंने कहा- मैडम, अगर चाय बना रही हैं तो रहने दीजिये.

मैं उसे बड़े प्यार के साथ बांहों में लेता वहाँ हम खूब मजे करते!हॉस्पिटल में पूरा दिन मैं बोर हो जाता परंतु मेरे मां के बेड के साथ वाले बेड पर एक भाभी भी एडमिट थी जो अभी 33 साल की थी, देखने में गोल मटोल हॉट लगती थी.

वो मेरे निप्पलों को दांतों से काटने लगे तो मैं जैसे पागल ही हो उठी. फिर उन्होंने मुझसे अचानक से पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?इस पर मैंने मना कर दिया तो भाभी बोलीं- यार आप तो इतने स्मार्ट और गुड लुकिंग हो … और कोई गर्लफ़्रेंड नहीं है … ऐसा हो ही नहीं सकता.

मेरे पापा का लंड देख कर चाची बोली- भैयाजी, आपका तो बहुत बड़ा और मोटा है. मैंने बोला- ओके … तुम्हारे रूम में चल कर साथ में पिएं, तो कैसा रहेगा?उसने झट से हां कर दी. मॉम ने मेरे पापा से चुदवाते हुए जवाब दिया कि यार आपके बॉस का लंड बहुत लंबा था … और मुझे गांड मरवाने के बाद गांड में बहुत दर्द भी होता है, इसलिए मैंने उससे गांड मरवाने से मना कर दिया था.

मैंने भी मस्ती मस्ती में भाभी के ब्लाउज़ के ऊपर अपने हाथ रख दिए और अन्दर हाथ डाल कर रंग लगाने के बहाने भाभी के बोबे दबाने लगा.

पूरा लण्ड उसकी बुर में पेलकर मैं उसके होंठ चूसने लगा तो वो साथ देने लगी जिससे मेरा जोश बढ़ गया. हमें पता नहीं लग रहा था कि हम लोग शिमला में चुदाई कर रहे हैं क्योंकि दोनों के ही जिस्म बहुत ज्यादा गर्म हो चुके थे. जब मैंने भाभी की चूत पर मुँह रखा तो मुझे बहुत ही अजीब सा नमकीन स्वाद लगा.

ஸ்கூல் டீச்சர் செஸ்वो भी अपनी गांड आगे पीछे करके लंड अन्दर बाहर लेने लगी उसकी इस कला ने मुझे और भी उत्तेजित कर दिया. चाची ने फ़ोन रिसीव किया तो वो पापा का फ़ोन था।पापा ने चाची से कुछ लाने के लिये बोला.

आदिवासी सेक्सी पिक्चर ओपन

पहले चुत ने हाथ को आने मना किया और मैडम की जांघों ने मेरे हाथ का रास्ता रोक लिया. मैंने उससे फिर से पूछा- बोलो ना तगड़ा मतलब क्या?उसने बताया- दीदी बता रही थी कि आप बहुत रोमांटिक हो और जब दीदी ठीक थीं, तो आप उनको बहुत परेशान करते थे. उसे किस करते हुए मैंने थोड़ा जोर लगा कर लंड को अन्दर किया ही था कि वो कसमसा उठी.

फिर मैंने मॉम के होंठों पे अपने होंठ चिपका दिए जिससे मॉम की आवाज़ भी बंद हो गई और मॉम को मस्त जबरदस्त चुम्मा दे रहा था. जैसे ही मैंने उनको आते हुए देखा मैंने चैनल बदल दिया पर प्रीति मैम ये देख चुकी थीं।चाय पीते हुए हम यूं ही इधर उधर की बातें करते रहे. मुझे देख कर वो हंस कर बोली- गांड में लंड ले कर मजा आया?मैंने भी उसको एक आंख मार दी.

मॉम मेरे पास वाली चेयर पर बैठ कर खुद नाश्ता करने लगी तो मैं बोला- मॉम, आज कॉलेज नहीं जाने का मन कर रहा है, आज पूरे दिन आपके साथ रहना चाहता हूं मैं!वे बोली- बेटा, पहले पढ़ाई … फिर उसके बाद सब कुछ! मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूं, इधर ही तो हूं. फिर वह वीर्य को थूकते हुए बोली- साले कुत्ते … मैंने लंड निकाल दिया था … तूने अन्दर वापस क्यों डाला?मैं बोला- माफ कर दे जानू … जोश में आ गया था. तब उसने मुझसे कहा- विक्की सॉरी, आज मैं तुम्हें खाना नहीं दे पाऊंगी.

मैंने उसकी बात का जवाब देते हुए कहा- अगर मैं नॉक करके आता तो क्या तुम मुझे वैसे ही अंदर आने देती?उसने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया. वहाँ क्या हुआ?अब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागपांच महिलाओं के साथ सेक्स कहानी-2में पढ़ा कि मैंने अपनी होने वाली सासु माँ को भी लंड की मजबूती चैक कराने के बहाने चोद दिया था.

मामी पूछने लगी- क्या तरीका है? पूरा बताओ ना?मैं- मामी जी, मैं कैसे बोलूं … कहते हुए आप से डर लगता है.

धीरे धीरे उसे जोश आने लगा और वो अपनी गांड को उछाल उछाल कर लंड पर उठने बैठने लगी. सेक्सी+वीडियो+हॉटइस बार भाभी को दर्द हुआ क्योंकि मेरा भाई भाभी की गांड कम ही मारता था. सेक्सी वीडियो चूत फाड़कुछ समय बाद वो मुझे लिटा कर मेरे ऊपर आ गई और लंड को चुत में लेकर ऊपर नीचे कूदने लगी. प्रीति को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वो आरिफ़ा को अपने साथ लेस्बियन सेक्स करने के लिए कैसे मनाये.

प्रीति ने नौकरानी की चूत को बेपर्दा करने के लिए उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी छोटी सी पैंटी को खींच कर निकाल दिया.

मैंने उसके एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया और कपड़ों के ऊपर से ही उसके दूध को चूसने लगा. मैंने बरखा से कहा- पहले कहाँ लंड डालूं?तो बरखा कहने लगी- मेरी चूत बरसों से प्यासी है. मैं कब से इंतजार कर रही हूं!मैंने कहा- मैडम, आपके घर के गेट के बाहर ही खड़ा हुआ हूं.

नया नंबर देखकर मैंने फोन उठाया और बहुत धीमी सी आवाज में हेलो बोली।बस यही पहली शुरुआत थी हमारे प्यार की!तब हमारे बीच बहुत सारी बातें हुई. मैंने उसका फॉर्मल इंटरव्यू लिया और नाम काम जानने के बाद भी, उसे काम सिखाने की बात बोल कर मैंने उसे अपनी सेक्रेटरी की पोस्ट दे दी. वो कहने लगे- तो और कैसे सवाल पूछते हैं?मैंने कहा- सरदारनी की चुदाई का मौका तो कोई भी नहीं गंवाता और आपने तो इतना लम्बा समय इंतज़ार किया है.

हिंदी सेक्सी वीडियो सुहागरात

पापा बोले- सुंदर … अति सुंदर मेरी जान!फिर मॉम सोफे पर बैठ गई और बोली- मेरे दोनों दूध के डेयरी यानि मेरे दोनों बूब्स में अभी दर्द है और लाल भी बहुत हैं. साथ ही निशा ने रात को मेरे वीर्य से ही अपनी चुत की प्यास मिटवाई थी. अर्पणा का शरीर फिर से अकड़ने लगा और उसने मेरे मुँह में ही अपनी चुत का पानी छोड़ दिया.

उन्हीं दिनों हमारे रिलेशन में किसी की शादी थी, तो मेरे घर के सारे सदस्यों को उधर जाना था.

वो एकदम क़यामत ढहाने वाली परी लग रही थी, उसके बाल खुले हुए थे … उसने लाल रंग का जरी के काम वाला लहंगा पहना हुआ था.

मेरी मॉम मेरे खड़े लंड को अपने गले में अन्दर तक ले रही थीं और साथ ही मेरी गोटियों को भी सहलाए जा रही थीं. फिर पापा ने अपने लन्ड की नकली चूत से चुदाई बीच में रोक दी, पापा अभी भी संतुष्ट नहीं हुए थे. देशी भाभी सेक्सी विडिओयह सोच कर कि शायद बच्चों को आगे पढ़ाई या नौकरी के लिए कभी जरूरत पड़े, नहीं तो एक अच्छा निवेश तो था ही.

मैंने उसकी एक न सुनी और मुँह पर अपने मुँह का ढक्कन कसते हुए पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. उसके बाद भाभी ने अपनीपड़ोसन भाभीको मेरे बारे में बताया, तो वो भी मुझसे चुदने को बोलने लगी. उसने मुझे मुस्कुरा कर देखा और चॉकलेट का रैपर खोल कर अपने होंठों से लगाने लगी.

मैंने पूछा- क्या मेरी बात शीनू से हो रही है?तो उधर से हां के स्वर के साथ एक प्रश्न भी आया- आप कौन?मैंने अपना परिचय दिया. इतने में मैंने बैठते हुए अपनी सासु को अपनी तरफ खींचा और कहा- मुझे दो नहीं तीन बीवियां और बोनस में एक सासु मिली है.

मैंने तुरंत पूछ लिया- तो क्या सौरभ (मेरे कज़न) के टीचर वाली बात सच है?चाची ने हैरानी से मेरी तरफ देखा.

निम्मी अपनी मनपसंद ड्रैस लेकर खुश हो गई और बोली- सर, आप बहुत अच्छे हैं. चाची बोली- ये क्या कर रहा है!मैंने उत्तेजना में उनकी गांड पर लंड लगा कर कहा- चाची, बस एक बार करने दो. उसके बाद मैंने उनके मम्मों को चूसना शुरू किया, तो भाभी मस्त सिसकारियां लेने लगीं.

శ్వేత నాయుడు సెక్స్ వీడియోస్ वो बोली- तुझे अंदर आते हुए किसी ने देखा तो नहीं?मैंने कहा- नहीं, मुझे किसी ने नहीं देखा. मैं बोला- हां भाभी, इस लंड में भी आपकी चूत के लिए बहुत दिनों से खुजली हो रही थी.

फिर मैंने निशा को नीचे लेटाया और लंड में कंडोम चढ़ा कर उसकी दोनों टांगें कंधे पर रख कर पूरा लंड अन्दर तक डाल कर चुदाई करने लगा. उसने फिर अपनी एक उंगली को उसकी चूत में दे दिया और ऊपर से उसको जीभ से भी चाटती रही. पता नहीं क्यूं अब मुझे डर नहीं रहा था कि आशिमा या मेड को शक हो जाएगा.

কাজের মেয়ের চুদাচুদি

मेरा बॉयफ्रेंड भी मेरी गांड चुदाई करने की कोशिश करता है मगर उसके साथ मुझे कभी मजा नहीं आया. और धीरे धीरे धक्के लगाते हुए मैं अपना लंड भाभी की चूत के अन्दर करने लगा. मैं- जी ज़रूर … इतनी हॉट एंड सेक्सी लड़की को कौन जीएफ नहीं बनाना चाहेगा.

उसने आश्चर्य जताते हुए कहा- इतना स्टैमिना कैसे हो सकता है?मैंने कहा- पहले मेरे लंड को झाड़ो. वो थोड़ी देर मेरे लंड को सहला रही थी और बोल रही थी- ये तो सच में बहुत मोटा है.

मामी दर्द से कराहते हुए मेरे बदन पर नाखून गड़ाने लगीं … और चीखने लगीं.

सारा दिन ऑफिस में गुज़र जाता, शाम में हम दोनों आपस में बतियाते रहते या फिर लैपटॉप पर अंग्रेजी फिल्में या संगीत सुनते रहते. मेरे मम्मों का तो राजेश बहुत दीवाना था और जब दिल करता था मेरी चूत में लंड डाल देते थे. गांव में प्रोग्राम होने के कारण चाची और उनके साथ अनुजा और अंश भी साथ में आए थे.

पापा बोले- सुंदर … अति सुंदर मेरी जान!फिर मॉम सोफे पर बैठ गई और बोली- मेरे दोनों दूध के डेयरी यानि मेरे दोनों बूब्स में अभी दर्द है और लाल भी बहुत हैं. अब बरखा कभी भी मेरे रूम पर आ जाती और मेरे साथ ढेर सारी गप्पें मारा करती थी. अब मैंने भाभी के बूब्स के निप्पलों को काटना और चूसना शुरू कर दिया, जैसे कोई बच्चा अपनी मां के दूधों को चूस रहा हो.

मैंने कहा कि वो पूछेगी कि पापा दस साल पहले मर गए थे, तो ये दोनों कहां से आईं … तब क्या जवाब देंगे.

बीएफ सुहागरात वाला: दीवार के साथ लगते ही हम दोनों ने एक दूसरे को पागलों की तरह चूमना चाटना शुरू कर दिया. मैंने पहले से ही अपने बॉयफ्रेंड यानि आशी के पापा को अपने कमरे में बाप बेटी की चुदाई करवाने के लिए छिपा रखा था.

कुछ देर बाद उसने मुझे बेड पर पेट के बल लेटा दिया और पीछे से मेरी चूत में ही लंड डाला. जब मैं टेबल से नीचे उतर रहा था तो बरखा ने अपने बूब्स मेरे लंड से टच कर दिए. मेरी पहली निगाह उसकी संतरे जैसी गोरी चूचियों और उस पर निकले गुलाबी छोटे निप्पलों पर पड़ी, जिसे उसने फिर से अपनी हथेलियों में छुपाना चाहा.

वो कभी मेरे बालों को सहलातीं, तो कभी मेरी कमर से होते हुए मेरी गांड पर हाथ फेरतीं.

मामा का छोटा और पतला लंड मामी की गर्म चूत की प्यास नहीं बुझा सका और मामी की सुहागरात में उनकी चूत की प्यास अधूरी ही रह गई. मैंने उनके होंठ गाल आँखें, गला, ब्रा से बाहर निकले बूब्स, सब जगह चूमा और चाटा. मुझे डर लग रहा था कहीं मेरा लन्ड जवाब नहीं दे दे और मैं अंडरवियर में ही वीर्य ना छोड़ दूँ.