भाई बहन के बीएफ एचडी

छवि स्रोत,ತೆಲುಗು ಆಂಟಿ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್

तस्वीर का शीर्षक ,

अमेरिकन सेक्सी मॉम: भाई बहन के बीएफ एचडी, संजू ठहाका मारके हंसी और बोली- कमीना कहीं का … निकाल ली ना अपनी भड़ास …संजू ने एक दिखावटी चांटा उसके गाल पर मार दिया.

പോൺ വീഡിയോസ്

मेरा दोस्त जमींदार था और प्रॉपर्टी का कम करता था तो तो वह ज्यादातर घर से बाहर ही रहता था. मराठी वाली सेक्सी वीडियोमैंने पीछे से उसकी गांड में वोड्का डाल डाल के अच्छे से गीला कर दिया था और अपनी उंगली उसकी गांड में ज़ोर ज़ोर से चलाने लगा.

नीरू को देख कर वो बोली- अरे दीदी, आप कब आयी?नीरू उसे उसकी कच्छी दिखाती हुई बोली- जब तू ये लेना भूल गई थी. சென்னை செஸ் விதேஒஸ்मैं ये सब देख कर पागल हो गई थी कि मेरी माँ ने तो सीन ही बदल दिया था.

ऐसी मनमोहक चूत अगर मिल जाये तो मैं उसका गुलाम बन कर रहूं जिन्दगी भर।वो ऊपर से अपने स्तनों पर दारू को गिराने लगी जो नीचे बह कर उसकी चूत तक आ रही थी.भाई बहन के बीएफ एचडी: वो मुझे अपने कमरे में ले गयी और मेरे अन्दर आते ही उसने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया.

कई बार तो उनको दूर से ही देख कर अपने कमरे में छिप कर लंड को मसलता रहता था.मैंने कहा- शालिनी जी मैंने तो सब कुछ देख लिया, अब अपनी चूत और चुचियों का दीदार करा भी दो.

गरीब लड़का - भाई बहन के बीएफ एचडी

मैंने ही उसको संभाला और इस दौरान हमारी नजरें मिलीं और हम दोनों वहीं पर स्मूच करने लगे.उम्म्ह… अहह… हय… याह… इतना मजा … स्स्स … मेरी तो सिसकारियां निकलने लगीं.

मैंने उसकी चूत को इतनी जोर से चाटा कि उसने एक बार फिर से मेरे मुंह में ही पानी छोड़ दिया. भाई बहन के बीएफ एचडी मैंने टीसी से सीट के बारे में बोला, तो टीसी ने लिस्ट देखकर मुझे बताया कि ट्रेन पूरी भरी हुई है.

दोस्तो, मेरा नाम देवेन्द्र नायक है, मैं बुरहानपुर मध्य प्रदेश का रहने वाला हूं.

भाई बहन के बीएफ एचडी?

मैं गर्म तो पहले से ही थी क्यों के काफी दिनों से कुछ किया नहीं था। पैंट के ऊपर से मैं भी उसका लंड सहला रही थी. मैंने पूजा को गोद में उठाया और बेडरूम में लाकर बिस्तर में पटक दिया अब मैंने उसका लोवर निकाल उसकी चूत में चाटना शुरू कर दिया. आपने इस सेक्स कहानी के पहले भागनजर का धोखा और मौसी की चूत-1में पढ़ा कि मैंने अपनी फ्रेंड के धोखे में किसी और लड़की को अपनी बांहों में जकड़ लिया था.

दो घंटे से ज्यादा हमने बातें की इधर उधर की। उसने अपने कॉलेज हॉस्टल लाइफ के बारे में बताया, मैंने भी घर के कुछ हालत बताए. अब आते हैं चाची जी के मुद्दे पर …जब धीरे धीरे मेरा चाची को भी देखने का नजरिया बदलने लगा था, तो मुझे बस ये हो गया था कि किसी भी तरह चुत और गांड मारनी है. आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूं यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है.

जैसे ही वो मूत कर खड़ी हुई और मेरी तरफ मुड़ी, मुझे देख कर एकदम से चौंक गयी. मैंने अपनी जीभ उसकी चुत में घुसा दी और मैं चॉकलेट से सनी चूत चाटने लगा. मैंने लंड को एक हाथ से लेकर उसके छेद पर टिका कर जोरदार झटका दे दिया.

ये सुनते ही उसने मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पर लीं और एक करारा धक्का मार कर अपना लंड मेरे अन्दर घुसेड़ दिया. अचानक से भाबी ने कहा- आरव, जब ये अपनी पैंट को सहलाते हैं, तब तू इतनी गौर से क्या देखता है?मैंने बोला- कुछ भी तो नहीं.

ना ही वो खुद के विचारों को रोक पा रही थी और न ही उन पर ध्यान लगा पा रही थी.

इसके बाद उसने किसी बच्चे की तरह टोपे को रिया के होंठों बीच में घुसेड़ना शुरू कर दिया.

मैं उनके पास आकर बैठ गया और उनकी जांघ पर हाथ रखते हुए कहा- चाची जी, ये क्या कर रही हो आप?चाची जी एकदम से डर कर उठीं और हाथ बाहर निकाल कर भागने लगीं. लेकिन भैया ने मेरे दोनों हाथ पकड़ रखे थे और भाबी ने मेरा सिर अपनी बुर में घुसाया हुआ था. मैंने मौसी की चूत को हाथों से साफ़ किया और मौसी में मेरे बाल पकड़ लिए.

मैंने हैरान होते हुए पूछा- क्या पता है आपको मेरे बारे में?वो बोली- मैं दो साल से अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रही हूं. मैंने उनको अपनी बांहों में भर लिया, पर उनकी तरफ से कुछ प्रतिक्रिया न मिलने पर मैंने कहा- क्या हुआ?तब भी भाभी कुछ नहीं बोलीं. वो बोले- देख बेटी, तेरी मां मुझे अब उसके साथ सेक्स नहीं करने देती है.

अब हम दोनों ने खाना खाया और मेम को सब काम ब्रा पेंटी में ही करने को बोला.

वह खूब जानती थी कि किसी भी मर्द को किस तरह मनाया और रिझाया जा सकता है. मैंने कहा कि एक बार बस अंडरवियर उतार कर उसको ऊपर हाथ में लेकर हवा में लहरा देंगे. तभी सीमान्त ने अपने लंड का पानी रीमा की गांड में डाल दिया, जिससे रीमा को मानो लज्जत मिल गई थी.

मेरी जीभ निकाल कर चूसने लगा और इतना तेजी से धक्के मारने लगा कि मुझे बहुत मजा आने लगा. कई बार जब मैं सामने से आ रहा होता तो वो मुझे आंख मार देता था और अपने लंड को मुझे दिखाते हुए सहलाने लगता था. ” नीलम ने एक क़ातिल मुस्कान के साथ समीर को देखते हुए कहा।सॉरी बेटी, मैं अगली बार ख़याल रखूँगा.

जब लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया, तो मैंने हिम्मत करते हुए सोच ही लिया कि आज ही मोसी को चोदने का मौका है, मौक़ा हाथ से नहीं जाने देना चाहिए.

Dost Ki Behan ko Chodaदोस्तो, जब एक औरत एक मर्द का लंड अपने मुख में लेती है तो आदमी सातवें आसमान पे होता है. पहले हम हॉस्पिटल गए फिर कुछ देर रुकने के बाद हम दोनों एक होटल में खाना खाया।हमारे शहर से 12 किलोमीटर की दूरी पर एक फॉरेस्ट टूरिस्ट स्पॉट है, वहाँ हम गए जैसे हमने खाना खाते वक़्त डिसाइड किया था।अक्सर काफी जोड़ियाँ वहीं जाती है मजे करने.

भाई बहन के बीएफ एचडी अगर इस कहानी में आपको मजा आया हो तो मेरा उत्साह वर्धन करें और यदि कोई गलती हुई तो मुझे और अमृता को माफ करें. मैंने उसके लिए चाय बना दी और हम दोनों साथ में बैठ कर चाय नाश्ता करने लगे.

भाई बहन के बीएफ एचडी मैं भी उसकी बात को मान कर उसके कपड़ों के ऊपर से ही जोर जोर से चूत और कभी बोबे को दबाने लगा. वहां किसी को हम पर शक भी नहीं होगा … और ऐसे भी मैं किचन में आपको चोदना चाहता हूं.

उसका घर हिमाचल प्रदेश के मंडी शहर में था, बहुत ही ठंडा इलाका है।मेरी बहन से मेरी बहुत जमती है.

सुहागरात सेक्सी व्हिडिओ एचडी

बेड पर मेरा और मेरे हस्बैंड का किसी दूसरे मर्द का नाम सुनते ही गर्म हो जाना उनका मुझे खूब चोदना और मेरा उनसे खूब चुदना।अब मैं और मेरे हस्बैंड सच में किसी को ढूंढने लगे जिस पर हम भरोसा कर सकें और जो हमारी जरूरत को पूरा कर सके. वॉयलेट खुश होते हुए बोली- पक्का?मैं- अरे हां … इसमें कौन सी बड़ी बात है. कुछ देर मेरी पुसी को सक करने के बाद वे मेरी चूचियों पर आ गए और उन्हें खूब मसल डाला।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, वह बहुत बुरी तरह से गीली हो गई थी.

परमीत के मुँह में जितना समा सका, उसने मुँह में रखा और बाकी का रस उसके चेहरे और शरीर पर बिखर गया. राहुल रीमा के मम्मों को जानवरों की तरह मसल रहा था और चूस रहा था, जिससे रीमा पूरी तरह पागल होकर अपनी चूत में उसका लंड ले रही थी. वो सब कहानी मैं आपको फिर कभी बताऊंगा कि कैसे हमने कोचिंग क्लास में भी सेक्स का मजा लिया.

उसी दिन जब वो बधाई देने के बाद मिली, तो मैंने उससे पूछा- क्या हुआ वॉयलेट, उदास क्यों हो?वॉयलेट- अरे ये पढ़ाई मुझसे नहीं हो पा रही है … मैं 3 सब्जेक्ट में फेल हो गई हूँ.

लेकिन जो था, यही था और बहुत चाहते हुए भी वो खुद की कोई मदद नहीं कर सकती थी. जब मैंने पहली बार तुमको सोनम दीदी की शादी में देखा तो मुझे तुम बहुत अच्छे लगे थे. मैंने धीरे से दीदी के कान में पूछा- मज़ा आ रहा है ना?उन्होंने भी बोल दिया- दो से मेरा कुछ नहीं होगा … तीसरा भी होता, तो उसे भी ले लेती.

आप कम्पनी देने की बात तो कह ही रही थीं, मेरी योग्यता को भी परख लीजिएगा. क्यों??”यह सुनकर मेरे होंठों पे मुस्कान आ गई, बिना कुछ बोले ही वो सब समझ गए।इतने में मैं अपने कमरे की तरफ जाने लगी. उसने मेरा पूरा पानी पहले तो अपने मुँह में ले लिया, लेकिन बाद में उसने सारा लंड रस बाहर थूक दिया.

फिर उसके सामान्य होते मैंने एक जोरदार धक्का मार कर पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. मैंने उससे कहा- अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है … प्लीज़ तुम मुझे कुछ करो.

फिर उन्होंने कहा- ये किताबें लाता कहां से है तू?मैंने कहा- मेरे एक दोस्त से. मैं धीरे से उनकी चुत को चाटने लगा, तो उन्हें इससे बहुत मजा आने लगा. एक बार तो मैंने उसकी आंखों में देखा और उसके बाद मैंने अपनी नजरें नीचे कर लीं.

मैंने भी देर न करते ही उनकी चूत में अपना लंड फंसाकर धक्का मारा, लेकिन फिसल गया.

जैसे ही मेरी उंगलियों ने उसके होंठों को छुआ, ऐसा लगा जैसे उसके बदन में कोई करंट दौड़ गया हो. मेरा ब्लाउज खुलते ही ब्रा में कसी हुई मेरी चूचियां उसकी आंखों के सामने उछलने लगी थीं. चूंकि उनका लंड बहुत मोटा था इसलिए उनको मेरी सील टूटने के बारे में कुछ नहीं पता चला.

साकेत भैया ने दीदी का हाथ फिर से पकड़ा और अपने लंड पर रख दिया, पर दीदी ने फिर से हाथ हटा लिया. वो रोहित की गोद में लैपटॉप की तरफ सर करके लेट गई और बीएफ देखने लगी.

हर बार मैं ही वहाँ जाती थी मगर अब मेरा जॉब लगने के कारण वो यहाँ आई थी. उसने ऐसे ही लंड फंसाए फंसाए ही मुझे लेटने को कहा और ऐसे ही मेरे लंड पे बैठ कर उचकने लगी. इसके बाद बॉस ने मेरी गर्दन को पकड़ के झुका दिया और मैं बॉस के लंड को फ्रेंची से बाहर निकाल कर चूसने लगी.

सेक्सी बीपी बताईये

इससे पहले कि मैं और दबाता, उन्होंने मेरे हाथ को धकेल के हटा दिया। मेरी दुबारा कोशिश पर भी उन्होंने मुझे बूब्स दबाने नहीं दिए। मेरे धक्कों में तेजी आने लगी थी पर मैं बाकी लोगों के डर से थोड़ा कण्ट्रोल भी कर रहा था।अब जबकि वो मुझे वक्ष पर हाथ नहीं रखने दे रही थी, मैंने थोड़ा सा नीचे होकर चादर के अंदर से ही उनकी साड़ी को ऊपर खींच दिया.

कुछ देर चलने के बाद घर पहुंची वो बाहर ही खड़ा था उसके घर के चबूतरे से मुझे देख रहा था और उसके साथ कुछ लड़के थे शायद उसके दोस्त थे।मैं सीधे घर में आ गयी और पहले बाथरूम जाकर अपने आप को क्लीन किया. इसके बाद मैंने अपना एक हाथ मोसी के आगे की तरफ ले जाकर उनके मम्मों पर डाल दिया और यूं ही एक दूध पकड़ कर लेटा लेटा मम्मे की गोलाई का जायजा लेता रहा. दोस्तों मेरे लिए भगवान से प्रार्थना कीजिएगा कि मेरा यह चुदाई का मिशन सफल हो जाए और मैं शिखा मामी को चोद सकूँ.

कहानी के पिछले भागमौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायी-1में आपने पढ़ा कि अमृता मेरे साथ मूवी देखने सिनेमा हॉल में गई थी जहां मैंने उसकी चूची दबाई. मैंने शान्ति भाभी को अपनी बाहुपाश में भर लिया और कुछ पल यूं ही एक दूसरे को महसूस करने के बाद मैं भाभी के पास से हट गया. वीडियो चुदाई वीडियो सेक्सीफिर जब भी मेरे पिता जी मेरे लिये पैसे लेकर आते तो मैं कुछ पैसे उनमें से मेरे दोस्त की उधारी के रूप में उसको लौटाने लगा.

बल्कि मेरा मन उसे चूमने का मन करता था … हमेशा उसको छूने का मन करता था. अरे जब उनको बात ही करनी है, तो कहीं भी कर सकते हैं … घर में ही क्या जरूरी है?श्वेता दीदी- तुम इसलिए डर रही हो ना कि कोई देख लेगा … तो वो तुम मुझ पर छोड़ दो.

बॉस ने एक बार में सोनम की ब्रा निकाल फेंकी और उसके दोनों गोरे गोरे दूध तन के उनके सामने आ गए. उनकी चुदाई की कल्पना मैंने किस तरह से बुनी थी, ये भी काफी रसीली घटना है. बॉस ने आंखों को बन्द कर लिया था और मेरे मुँह में अपना लंड घुसा कर मजे से चुसवा रहे थे.

उन्होंने उठते ही मुझे प्यार से किस किया और कहने लगीं- तुमने मुझे जो मजा दिया, वो मैं कभी भूल नहीं पाऊंगी. मैं मेम की गांड में उंगली करने लगा और बोला- मेम आपकी गांड बड़ी मस्त है, कभी मरवाई है?मेम बोली- नहीं … वहां कभी नहीं किया. मैंने बड़े ही प्यार से कच्छे के अंदर हाथ डाल कर अपने यार के लंड को उसके कच्छे से आजाद कर दिया.

तभी उसके जाने के बाद अनिता भाभी आयी जिसने मुझे तन और मन से अपना पति माना हुआ था.

मैं वन्दना के होंठों को चूमने लगा, हम दोनों की जीभ आपस में खेलने लगी. करीब दस मिनट बाद संजना के आने की आवाज सुनकर मैं फिर से खड़ा होकर अन्दर झांकने लगा.

मेरी छाती पर छोटे छोटे बोबे भी उभरे हुए हैं जिनका आकार मीडियम साइज का हो चुका है. मैंने फिर से अपना बाक़ी का लंड एक झटके में अन्दर घुसाया, तो वो फिर से ज़ोर से चिल्ला दीं. लगता है बंध्या ने बातों बातों में ही अपनी चूत की चुदाई की चुल्ल बताई होगी मगर इसके जीजा ने तो अपने काम के लिए इसकी चूत ही चुदवा दी.

वन्दना की उस चुदाई की कहानी मैं आप को फिर कभी सुनाऊंगा। आपको यह कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताना. अब चारों ब्रांडेड कपड़ों के शोरूम में घुस गयीं और चारों ने ही मिनी स्कर्ट और अलग अलग तरह के टॉप लिए. चुदाई की मादक आवाज़ें भी काफ़ी बढ़िया आ रही थीं ‘फट पाट सट सट फच फक फच … आह आह आहह आहह ऊऊऊऊ आआअहह.

भाई बहन के बीएफ एचडी मौके का फायदा उठा कर मैं कभी उसके गालों को चूम लेता, तो कभी उसके भरे हुए गोल, गोरे रंग के मम्मे दबा देता. खेत में रात के वक्त मवेशी घुस जाते हैं और सारी फसल को खराब कर देते हैं.

मराठी सील पॅक सेक्सी व्हिडिओ

फिर हमने 2 कॉफी और 1 पास्ता, एक वेज लॉलीपॉप और स्प्रिंग रोल मँगा लिये।हम दोनों शेयर करके खा रहे थे तो मैंने जान बूझ कर उसके गाल पर क्रीम लगा दी और उसे साफ करने का इशारा किया लेकिन उसने साफ नहीं किया और मुझे ही साफ करने का इशारा किया तो मैं उठ कर उसके पास साफ करने गया और साफ करके हल्का सा झुक कर उसे एक किस दे दिया जिसकी उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।फिर हम हॉल में जाकर बैठ गये. सबा टांगें खोल कर ‘आह आह उम्म्ह … अहह … उफ्फ हय आह आह उम्म्म माह …’ करने लगी और अपने ही होंठों को को दांत से काटने लगी. तभी माँ ने कहा- अरे बेटी, तुम्हारे पिताजी तो आज घर देरी से आने वाले हैं.

तभी 5 मिनट में मेरा लंड अपने आप उसकी चूत से बाहर आ गया, जो कि वीर्य ओर उसके पानी से लथपथ हो चुका था. उसकी मुलायम त्वचा और उसकी बड़ी बड़ी आँखें किसी का भी मन मोहने के लिए काफी थी. देहाती सेक्सी चुटकुलेमैं बेड पर पहुंचा, तो वहां पर यशिमा बिल्कुल नई दुल्हन की तरह सज संवर कर बैठी थी.

फिर उसने मुस्कुराकर पूछा- अब बोलो कैसी जगह है?मैंने कहा- यह जगह तो बहुत अच्छी है.

उपिन्दर ने शैली के मुंह में लौड़ा घुसा के उसे अपना पेशाब पिलाया।फिर मैं शैली को लेकर बाहर आ गया।थोड़ी देर में शैली विदा हो गयी।शाम तक रिश्तेदार विदा हो गए, राजेश भी चला गया।बचे हम चार!मैं, मेरी मम्मी मालिनी, मेरी बीवी अंशु और उसका और मेरा यार उपिन्दर. दरअसल वहां बाहर खड़े होकर उस फार्म हाउस के मालिक यानि हमारे रईस सीनियर ने इशारा करके बुलाया था और वो इशारा ड्रिंक यानी दारू के लिए था.

लंड में हल्का सा तनाव आते ही वो फिर से नीचे बैठ गई और मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी. अभी तक की इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि हम दोनों एक पार्क में सुनसान जगह पर बैठ कर एक दूसरे के होंठों का रसपान कर रहे थे. मैंने भाई को कल रात की बात बताई कि कैसे पापा ने रात में नशे की हालत में मेरी चूत की चुदाई की.

हमें भी चलने को कहा गया, पर हमने कभी पी नहीं थी और ना ही पीने का कोई इरादा था, तो हमने उनकी बात को नकार दिया.

वो मुझे इतना अधिक उत्तेजित कर देता था कि मैं बिना अपनी चूत में उंगली किए सो नहीं पाती थी. उसकी ये हरकत इस बात का सबूत थी कि उसने पहले कभी और कोई लंड नहीं चूसा है. फिर भैया ने मेरे और दीदी के मुँह के सामने लंड रख दिया, जिसे हम दोनों ने बहुत प्यार से चाटकर साफ कर दिया.

साली जीजा सेक्सी वीडियोसुनील ने दीपा से कहा कि वो उसकी छाती पर जेल लगा दे तो दीपा उसकी ओर मुड़ी तो पीछे से मनोज ने उसे सुनील की ओर धक्का दे दिया. उसने उसको बोला कि चूँकि आतिफ घर पर नहीं है, इसलिए अगर वो चाहे तो रुक कर इंतज़ार कर सकता है.

महाराजा सेक्सी

मैंने समीर को बताया कि सर ने तो बस किस किया और नार्मल बातें कर के मुझे घर भेज दिया. फिर वह उदास होकर बोलीं- कहीं तुम उसकी टाइप की चूत के चक्कर में मुझे तो चोदना नहीं छोड़ दोगे ना. उसी कहानी को आगे बढ़ाते हुए आज मैं एक और सच्ची घटना पर आधारित सेक्स कहानी लिख रहा हूं.

वहां पर मेरे और मनु के अलावा एक शख्स और था जो सलीके से था और वो था संदीप. मैंने तो किसी भी तरह के ऐसे खेल और शर्त के लिए साफ मना कर दिया और देर होने की बात कहकर जल्दी घर चलने की जिद भी करने लगी. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं। बहुत ही रोचक कहानियां यहाँ पढ़ने को मिलती हैं.

मनोज ने खुद ड्राइविंग न करके कैब बुक करी क्योंकि पार्किंग की बहुत समस्या होती है. उसका जिस्म मस्त भरा हुआ है और वो पहाड़ी इलाके की मतलब बर्फीले इलाके की है तो वो इतनी गोरी थी कि लाल दिखती है. तब साकेत भैया समझ गए कि अब मामला फिट है और वो फिर से दीदी की पैंटी को नीचे खींचने लगे.

मैंने बोला- आपको कैसे पता?भाभी गांड उठाते हुए बोलीं- मैंने तुम दोनों को किस करते हुए देख लिया था. मैंने उनको अपनी बांहों में भर लिया, पर उनकी तरफ से कुछ प्रतिक्रिया न मिलने पर मैंने कहा- क्या हुआ?तब भी भाभी कुछ नहीं बोलीं.

उन्होंने फोन कट करते हुए कहा- मस्त है यार … शकील अब मैं एकदम टेंशन लैस हो गई हूँ.

एक दो बार जेठजी लंड को पकड़ फिर चूत में घुसा देते, पर बार बार लंड के बाहर निकल जाने से मज़ा कम होने लगा और ये जेठजी भी महसूस कर रहे थे. ஸ்கூல் செஸ் வீடியோ தமிழ்मैंने उसे आंख भर कर वासना से देखा, तो उसने अपने दोनों हाथ ऊपर कर दिए. सेक्सी कहानी पढ़नी हैउसने कहा- फिर आप क्या ओढ़ने वाले हो … कोई बात नहीं … मैं एडजस्ट कर लूंगी. भाबी नशीली आंखों से भैया का लंड हिलाते हुए बोलीं- शर्मा क्या रहा है? अब देखता है, तो बोल न कि देखता हूं … इसमें बुराई क्या है.

झड़ने के बाद ने उसने मुझे मेरे होंठों पर एक जोरदार किस किया और बोली- मज़ा आ गया, आपने आज मुझे जो खुशी दी है, उसके बाद मेरा आपके लिए मेरा प्यार और बढ़ गया है.

दस पीस का इसलिए कि नए नए चोदू थे, भोसड़ी का कंडोम किस तरह लगता है, ये जानते ही न था. वो मेरे अंडरवियर को हटा कर अपना टाइट लंड मेरी गांड में लगा कर सोता था. सबा पहले तो कोशिश कर रही थी कि वह बड़े आराम से मेरा पूरा लंड अन्दर ले लेगी, लेकिन जब थोड़ा सा और अन्दर घुसा … तो वह दर्द के वजह से छटपटाने लगी और उसने मेरे होंठों पर दांत से काट लिया.

पैकेज टूर में तो आप लोगों को पता ही है कि कई सारे कपल्स हो जाते हैं. उसने संजना की उस टांग को, जो अब तक उसके कंधे पर थी, को नीचे रखा और संजना के ऊपर चढ़ कर उसे पूरा कस लिया. फिर वो सामने से उसके पेट और कंधों की मसाज करते हुए बूब्स पर जा पहुचा और बारी बारी से उसके बड़े बड़े बूब्स की मसाज करने लगा और बोला- भाभीजी, आपकी बॉडी बहुत मस्त है.

लड़की की सुहागरात सेक्सी

फिर सचिन ने अपना लंड आधा बाहर निकाला और फिर एक दम से घुसा दिया तो मेरी फिर ज़ोर से ‘आहह …’ निकल गयी।सचिन ने कहा- धीरे धीरे दर्द कम हो जाएगा. हालांकि कॉलेज में बहुत सारे लड़कों ने मुझे पटाने की कोशिश की क्योंकि कॉलेज में आते आते मेरा फिगर किसी की भी गांड फाड़ने के लिए बहुत था. उसके बाद सबको पता लग गया था कि हमारे घर में जो भी मर्द आते हैं वो सेक्स के लिए ही आते हैं.

उसने गांड को अच्छे तरीके से चेक किया कि मेरी साली की गांड कहां कहां से फटी हुई है.

इतने में ही दूसरा धक्का भी लग गया और लंड बुर को फाडता हुआ पूरा अन्दर तक चला गया.

आंटी ने अपनी टी-शर्ट को निकाल दिया और उनके रसीले बूब्स मेरे सामने थे, उन्हें ब्रा में कैद करके रखा हुआ था. उसके दिमाग में केवल यही विचार आते थे कि कैसे अंकित उसके शरीर के ऊपर आकर उससे प्यार कर रहा था. கேரளா வீடியோ செஸ்उन्होंने मेरी चूत में लंड डाला हुआ है और मैं उनसे भी अपनी चूत को चुदवाने में लगी हुई हूं.

मैंने उठते हुए मासी को सीधा किया और सबसे पहले उनके पैर को किस किया. मैंने देर ना करते हुए उनकी पैंटी को निकाल दिया और अब मेरे सामने वो चीज थी, जिसका मुझे कबसे इंतजार था. अब तू भी रात को घर खाना खा कर ही आने वाली है, तो मैंने सोचा मैं भी अपने सहेलियों के साथ बाहर खाने का प्लान बना लेती हूँ.

रोहन- ओह्ह्ह्ह जान …सोनिया- आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह … मैं भी झड़ रही हूँ जानू … मैं भी झड़ रही हूँ जानू … आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह मैं गई … ई. मैं पूछने लगा- घर पर कोई नहीं है क्या?वॉयलेट- मॉम फ्रेंड्स के साथ बाहर गई हैं.

बेटी, जितना मज़ा तुम्हारी गांड मारते हुए आ रहा है उतना मज़ा तो तुम्हारी मां की गांड मार कर भी कभी नहीं आया.

तभी मैंने गौर किया कि साकेत भैया का लंड इतना मोटा था कि पूरी तरह से दीदी की मुट्ठी में नहीं आ रहा था. मैं उन्हें अपने जिस्म से लिपटा कर प्यार करने लगा, किस करते हुए उनके मदमस्त मम्मों को दबाने लगा. परी मैम की पीछे की मसाज होने के बाद मैंने कहा- अब आप सीधी होकर लेट जाएं.

रोज पिक्चर वही ऑफिस पॉलिटिक्स शुरू हो गई कि किसका किसके साथ चल रहा है, कौन किससे चुद रहा है. रोहित आया और बेड के नीचे ही खड़े अवस्था में लेटी हुई संजू के चेहरे को अपनी तरफ घुमा कर लंड सामने कर दिया.

कितनी अच्छी नींद आएगी प्यार करने के बाद तुमसे लिपट कर तुम्हारी बांहों में सोने में. दरवाजा खोलते ही वो मेरे ऊपर आकर गिरने लगे तो मैंने उनको संभाला और फिर उनको अंधर करके दरवाजा बंद कर दिया. तो मैं बोला- सुबह प्रिन्स चला जाएगा; अभी टाइम है; चाहो तो एक बार और मज़ा ले लो.

वीडियो सेक्सी वीडियो हिंदी सेक्स

उसके बाद मैंने मोना और भाभी दोनों के साथ बहुत बार चुदाई का मजा लिया. मैंने आंखें बंद करके उसकी चूत पर अपने होंठ रख दिये और उसकी चूत को चाटने लगा. रोहन- रियल में तो आप वेबकैम से भी कहीं ज्यादा खूबसूरत दिखती हैं, मैंने अपनी पूरी जिंदगी में आप जैसी खूबसूरत लड़की नहीं देखी.

जब मैं थोड़ा सामान्य हुआ, तो मैंने गांड हिलाते हुए उससे बोला- हां अब डालो. इस समय रीमा की बातों से तो मैं बहक गयी और मेरा भी मन चुदाई के लिए तड़प उठा.

मार डालोगे आज तुम मुझे … इतना एक्साइटमेंट हो रहा है, लेकिन उतनी ही शर्म भी आ रही है.

इस तरह से मम्मों को चुदवाते समय भी मुझे भी हनी का लंड अपने मुँह में लेना अच्छा लग रहा था. उसने काफी देर तक मेरे बूब्स को दबाया और फिर मेरी पजामी के ऊपर से ही मेरी चूत पर हाथ रख दिया. दो मिनट के बाद उसने जब लंड को बाहर निकाला तो उसकी लार से पूरा लौड़ा चमक उठा था.

अगर तू कहे तो हम तुझे सारा दिन और सारी दिन अपने नीचे लिटा कर चोदते रहें. सोनिया- ओह्ह्ह रोहन अपनी आंखें बंद करो … मेरे बारे में सोचो, इमेजिन करो. अब परमीत थोड़ा उठकर लंड को अलग-अलग तरीके से चूमने चाटने और चूसने लगी.

मैं- तुम्हारी चूत तो फिर से टाइट हो गई।नित्या- उस दिन की चुदाई के बाद रोज चूत की मालिश करती थी तो शायद हो गई।मेरा लन्ड जोर से बार बार नित्या के बच्चेदानी से टकरा रहा था। जिससे नित्या की जोर से सिसकारियां निकलने लगीं और जोर जोर नित्या बोलने लगी- कम ऑन फक मी … हार्ड फक मी.

भाई बहन के बीएफ एचडी: मैं डॉक्टर के कहे अनुसार लंड को धीरे से बाहर खींच कर फिर से अंदर घुसाने की कोशिश करने लगा. चूत के प्यासे लौड़ों और लंड की प्यासी गर्म चूत वाली भाभियों को मेरा प्रणाम।मेरा नाम राज है और कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में हल्का सा परिचय दे देता हूं.

कितनी अच्छी नींद आएगी प्यार करने के बाद तुमसे लिपट कर तुम्हारी बांहों में सोने में. … वैसे भी मैं ये सब अपने पति को बता ही दूंगी … क्योंकि वो मुझसे बहुत प्यार करते हैं और वही तो मुझसे ये सब करवाने की फैन्टेसी रखते हैं. मुझे सोच में डूबा देखकर सोनिया ने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- सोनिया, मुझे लगता है … हमें कहीं और जाना चाहिए.

अब थोड़ी देर के बाद मैंने सेजल दीदी को नीचे उतारा और उन्हें टेबल के सहारे पीछे घुमा कर खड़ा कर दिया.

मैंने मां से कहा- मां मुझे पैसे की जरूरत नहीं है, मगर जो मैं मांगने जा रही हूं उसके सामने मेरे लिए पैसा कुछ भी नहीं है. खाना के बाद मैं बेड से उठी और अपने खिड़की का पर्दा हटाया, तो मैंने देखा कि हमारे रूम के नीचे स्विमिंग पूल बना हुआ था और वहां पर लोग मस्ती कर रहे थे. मैंने अपना नम्बर उसे देते हुए उसका नम्बर मांग लिया लेकिन उसने अपना नम्बर देने से मना कर दिया.