साउथ की चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो 13 तारीख

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ xx: साउथ की चुदाई बीएफ, वहां मेरी मजबूरी थी लेकिन घर में मैं मां के रहते हुए किसी गैर मर्द से चुदाई नहीं करवा सकती.

ब्लू सेक्सी न्यू वीडियो

मैं उठा, तो दीदी बोली- जल्दी से तैयार हो जाओ … वरना कॉलेज के लिए लेट हो जाओगे. सेक्सी गर्ल्स एंड वीडियोज़ोरदार 10 मिनट चुदाई के बाद मैं उनकी चुत में ही झड़ गया और मैं उनके ऊपर गिर गया.

करीब 20 मिनट के बाद मैं बोला- मामी मेरा लंड झड़ने वाला है … लंड का माल चुत में निकालूं या पीना है?मामी बोलीं- अभी चूत में ही छोड़ दो … मेरा भी निकलने वाला है. का देहाती सेक्सी वीडियोमैंने कहा- भाभीजान, काफ़ील का तो ठीक है … लेकिन अगर मैंने अपने दोस्त सन्नी को बुला लिया … और उसने आपके इस मादक हुस्न को देख लिया तो वो आपकी चूत को चोदे बिना नहीं रहेगा.

आप लोग जानते हो कि गांव में पति पत्नी में उम्र का काफी फासला देखा जाता है.साउथ की चुदाई बीएफ: अपने नौकर रामू के लंड का गुलाबी सुपारा देख कर आरिषा भाभी की आंखों में चमक आ गई और वो अपनी कातिलाना नज़रों से रामू की तरफ देखने लगीं.

मैं जल्दी जल्दी अपने कॉलेज से दीदी के कॉलेज के पास पहुंच कर उनका इंतज़ार करने लगा.मैं दोबारा से उसकी चूत की ओर गया और उसकी चूत में जीभ से तेजी से चोदने लगा.

हिंदी में ब्लू सेक्सी ब्लू फिल्म - साउथ की चुदाई बीएफ

लेकिन हम अभी चलती हुई बस में थे … तो मुझे थोड़ा संभाल कर उन्हें चोदना होगा.मैं खाली हाथ जाना नहीं चाहता था, सो उसके घर के नजदीक वाली शॉप के पास वेट करने लगा.

उसने मेरे मम्मों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे चोदना भी चालू रखा. साउथ की चुदाई बीएफ शबनम ने नायरा को भी कांफ्रेंस पर ले लिया … उसका भी यही हाल था … उसके तो होंठ दुःख रहे थे, राहुल ने चुदाई के साथ उसके होंठों की चुसाई भी भरपूर की थी.

उसका मुँह पूरा लाल हो चुका था और उसके मुँह से मेरा माल निकल रहा था.

साउथ की चुदाई बीएफ?

नंगे होते ही सर ने मेरे मम्मों को अपनी मजबूत हथेलियों में दबा लिया. मैंने कहा- यार … ज्यादा बड़ा तो नहीं लगा? तुमने तो इससे और बड़ा भी लिया होगा. मैंने ना‌ तो टिकट‌‌ व पैसों को उठाया … और ना ही अपने पर्स को उठाया.

अगर तुम और तुम्हारे घरवाले मान जाएं, तो मैं मंदिर में चल कर या कोर्ट में चल शादी भी कर सकता हूँ. मुझे रहा न गया और मैं एक बार फिर बोली- डॉक्टर, इस चूत का भी इलाज कर दीजिए. मैं कहा- क्या लाऊं आपके लिए?रेखा- क्या ला सकते हो?मैंने- अपना दिल और लंड.

पहले तो वो मेरे मादक जिस्म को देखता रह गया, उसका लंड फूलना शुरू हो गया था. आब आगे की प्यार सेक्स की कहानी:मैं- अब भी कुछ कह रही हैं तुम्हारी गांड और चूत?ज़ारा- हां कह रही हैं!मैं- अब क्या कह रही हैं?मैं हंसते हुए बोला!ज़ारा- कह रही हैं कि मजा आ गया!और वो भी हंसने लगी!ऐसे ही एक दूसरे को छेड़ते-छेड़ते, हंसते-मुस्कुराते खाना बन चुका था. दोस्तो, मुझे विश्वास है कि मेरी ये डेली सेक्स की कहानी आप सभी को पसंद आई होगी।धन्यवाद।[emailprotected].

वो उसके पास जकर प्यार से उसके सिर पर हाथ फेरते हुए बोली- चिराग बेटा उठ … कॉलेज जाने में देर हो जाएगी. मैंने उन्हें बताया- यहां एक स्पोर्ट टीचर थे जोसफ सर … वे केरल के थे इसलिए कुछ काले रंग के थे.

एक ही लड़की की अभी तक शादी हुई थी … और वो अब अपनी दूसरी लड़की की शादी के लिए लड़का तलाश रहे थे.

मैंने बॉयफ्रेंड से टॉर्चर सेक्स करके उसकी बेवफाई का बदला कैसे लिया? मैं अपनी सहेली के साथ एक जिम में प्रशिक्षक थी.

उसने पैंटी और ब्रा पहनना छोड़ रखा है और सीधे आकर मेरे मुंह से चूत लगा देती है. उधर अनामिका एक पल के लिए रुकी और वो फिर से मेरा लंड मुँह के अन्दर बाहर करते हुए चूसने लगी. चूचियों की घुंडियां (निप्पल) एकदम से ऐसे तन गये थे जैसे किसी ने उसकी चूचियों पर कंचे रख दिये हैं.

वह एक मिनट तक चूत को पास से देखता रहा; फिर वह मेरे ऊपर 69 वाली पोजीशन में लेट गया और अपनी जीभ से मेरी चूत को कुरेदने लगा. मैंने तुरंत लन्ड निकाल कर उसके दूधों में पूरा माल गिरा दिया और निढाल होकर लेट गया।माल गिरते ही मुझे लगा जैसे मुझे स्वर्ग मिल गया।इतना स्टैमिना मुझे बहुत दिनों तक मुठ न मारने की वजह से मिला।अब मैंने उसके होंठों पर फिर से किस करना शुरू किया. अगले दिन सोनाली की चूत दुखती रही और मैंने उसको दर्द की गोली लाकर भी दी.

उसने अपने दोनों पैर मेरी कमर में कैंची लगा कर जकड़ बढ़ा दी और ‘हुम्म हां हां.

ऊपर से शायरा मेरे लंड की ताक़त और बढ़ाने के लिए मुझे अपने पूरे जोश के साथ किस कर रही थी. बॉस ने कहा- मुझे 10000 तक तो ऑफिस से ही मिल जाएगा इसलिए इससे अगर कुछ ज्यादा भी हुआ, तो चलेगा … मगर लोकॅलिटी सही होनी चाहिए, जैसी आप लोगों की है. एक बात तो तय थी कि आज रात मेरी बीवी चुदने वाली थी और वो भी मेरे दोस्त राहुल से, जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था.

उसके मुंह से कामुक आवाजें आ रही थी, वो ‘आह आह … सस्सश जीजूऊऊ …’ बोल रही थी. मुझे तो अपनी साली के साथ सोने में कोई परेशानी नहीं थी क्योंकि मेरे अंदर तो बरसों की प्यास दबी हुई थी. दूसरी तरफ अविना के साथ नंगा होकर उसको लंड चुसवाने में माहिर करने में लगा हुआ था.

एक दिन …दोस्तो, मुझे पता है कि आप सभी को अन्तर्वासना पर एक से बढ़ कर एक सेक्स कहानियां पढ़ने को मिलती हैं और आप सभी पढ़ कर मजा करते हैं.

वो मजे ले रही थी … बोली- क्या इरादा है मेरी जान?मैंने कहा- जो तुम्हें अच्छा लगे … वो सब करूंगा. देखते ही देखते आरिषा की चुत ने पानी छोड़ दिया, जिसे रामू पूरा पी गया.

साउथ की चुदाई बीएफ मैं जिसको देखने का इंतजार कर रहा था वो और कोई नहीं मेरा ही एक दोस्त था. तो मैं ही उसको मनाती थी।दोस्तो, आजकल ज्यादातर लड़कों को बस चूत से मतलब होता है सच्चा प्यार करने वाले लड़के तो बस एक प्रतिशत होंगे.

साउथ की चुदाई बीएफ मैंने कहा- दीदी आपको दर्द हुआ तो?वो बोली- पहली बार में तो होता ही है. अधिकतर वार्तालाप और शब्द अंग्रेजी के इस्तेमाल किए गए थे लेकिनयहां मैं उन्हें हिंदी में लिख रहा हूं.

हालांकि हमारी स्लीपिंग बर्थ का कंपार्टमेंट बंद था, तो कोई भी हमें देख नहीं सकता था.

𝑥𝑥𝑥 𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜

मेरा मन कर रहा था कि कमरे में जाकर तुरंत उसका तौलिया खोल कर सोफे पर ही उसकी गोद में सीधा उसके लण्ड पर बैठ जाऊं बिना कुछ कहे हुए!लेकिन साथ ही मैं विजय को तड़पाना चाह रही थी।लेकिन मेरा शरीर मेरे खुद के काबू में नहीं तो रहा था, मैं विजय से भी ज्यादा उतावली हो रही थी और खुलकर चुदाई करना चाह रही थी. उसके मुंह से कामुक आवाजें आ रही थी, वो ‘आह आह … सस्सश जीजूऊऊ …’ बोल रही थी. डॉक्टर ने मुझे उसी जोश के साथ अपने से चिपका लिया और मेरी पीठ और चूतड़ों पर अपने हाथ फेरने लगा.

क्योंकि मेरे मम्मों को चोदते चोदते उनका लंड मेरे जीभ में टच करता, तो उनकी उत्तेजना और भी बढ़ जा रही थी. अब आगे:घर आने से पहले दीदी मुझसे बोली- अर्णव, मम्मी को मत बताना कि हम लोग साकेत भैया के साथ होटल गए थे. मैंने कहा- शायद इसीलिए कोई नहीं बनी कि सबको लगता है … क्या फायदा, इसकी तो कोई न कोई होगी.

मैं दौड़ कर उस रूम में गया तो देखा कि संजू विक्रम के लंड पर बैठी है … और अपनी गांड को आगे पीछे कर रही है.

इन दस सालों में मैंने नीरू को इतनी बार चोदा है कि इतनी बार तो वो अपने पति से भी नहीं चुदी होगी. फिर कुछ देर बाद वो मेरे बालों को सहलाने लगी, उसकी चुदास फिर बढ़ गयी, वो अब खुद धीरे धीरे अपनी गांड उठा कर लन्ड अंदर लेने की कोशिश करने लगी. उधर वो दुकान वाली मैडम यानि रिचा मुझे बड़े गौर से देख रही थी, जिसका अहसास मुझे भी हो रहा था.

इस्स … ओह्ह … आईई … आह्ह … चोद दे।सुमन सीत्कारें मार रही थी और उसकी चूत से निकलने वाली इस प्रचंड अग्नि में पंकज भी जलते हुए सुमन के होंठों को चूसते हुए ज़ोर से धक्के लगाते हुए झड़ने लगा।उन दोनों के जिस्मों में झटके लगने लगे और जैसे दोनों स्वर्ग के सुख को पा गये. मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा तो लंड पर बैठे-बैठे ही घूम गयी और अपने हाथ टिकाकर झुकने लगी तो मैं भी साथ ही साथ उठ गया. आरिषा भाभी रामू का हाथ खींचते हुए बोलीं- रामू कहीं मत जाओ … आओ आगे आओ.

हरियाणा सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे घर के बगल में एक सांवली लड़की रहती थी. प्रिय अन्तर्वासना पाठकोजून 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये ….

उन दोनों सेल्सगर्ल ने हमें अब एक से एक डिजाईन व कलर के पैंटी-ब्रा दिखाने शुरू कर दिए. हमारी ड्रेस को देख कर सुनील भैया भी तारीफ करने लगे कि हम दोनों बहुत ही हॉट लग रही हैं. पर अचानक डॉक्टर ठहर गया और मेरी दोनों चूचियों को बारी-बारी से पीने लगा.

मेरी पकड़ और मुँह में लंड होने से उसको सांस लेने में दिक्कत हो गई थी, तो पकड़ छूटते ही वो हांफने लगी.

ड्राइवर उसकी चुची को जोर से मसलते हुए बोला- चल अब हमारा पानी निकाल … नागौर आने वाला है. मैंने कहा- मामी अपनी गांड में वैसे जोर लगाओ … जैसे सुबह हगने जाती हो. मैंने भी लंड को थोड़ा सा बाहर खींचा और फिर से एक जोरदार धक्का मारकर सीधा आधे से ज़्यादा लंड चूत में घुसा दिया.

वो बहाने बनाने लगा और बोला- ये क्या कह रही है छोटी, कैसी बातें कर रही है तू?उसको आईना दिखाने के लिए मैं अपनी पैंटी को निकाल लाई. मेरी कहानी सुनने के बाद वो बोली- क्या तुम अपनी फोटो व्हाट्सएप पर भेज सकते हो.

उस टाइम जीवन में शायद ही पहली बार मुझे इतने सुख का अनुभव हो रहा था. आज तक इतनी बढ़िया चूत चटाई और इतनी मस्त चुदाई नहीं हुई।और फिर हम एक दूसरे को बहुत देर तक चूमते रहे।उस रात सीमा की दो बार चुदाई की। वो जब तक मुंबई में थी हमने ख़ूब चुदाई की।आपको यह भाभी की चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी?अपने विचार अवश्य लिखें,[emailprotected]आप मुझे telegram app पर भी सम्पर्क कर सकते हैं बस उसमें @mayank0301 सर्च करें. चूंकि यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो कोई भूल दिखे, तो माफ कर दीजिए.

एक्स एक्स ओपन सेक्सी

पूरी चुदाई करके जब वो चूत के ऊपर से उतरा, तो बोला- सच सच बताना कि तुमको कैसा लगा.

रामू थोड़ा पीछे को होने लगा, तभी आरिषा भाभी ने उसे कसके पकड़ लिया और बस वो दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे. सुगंधा भाभी मुस्कराते हुए बोलीं- ऐसा क्या!मैं- हां भाभी मैं सच कह रहा हूँ. फिर कुछ और मिनट चुत चोदने के बाद वो रुक गया था … लेकिन झड़ा नहीं था.

मां के हमेशा कहने के बावजूद भी मैंने दूसरी शादी नहीं की क्योंकि मेरी वासना यूं ही पूरी हो रही थी, तो मैं शादी करने पर ज्यादा ध्यान भी नहीं देता था. मैं चूत को अपनी जीभ से रगड़ रहा था। पहले जीभ को ऊपर से नीचे लाता, फिर नीचे से ऊपर लेकर जाता. 12 साल की सेक्सी सेक्सीमैंने पूछा- क्यों?उसने कहा- मैंने बोल दिया न … नहीं जाओगे माने नहीं जाओगे … ठीक है!मैं- जी ठीक है.

उस कहानी में किसी लड़की ने डिल्डो से अपनी चुत की चुदाई करते हुए अपनी आपबीती लिखी थी. मैंने जल्दी से मेडिकल दुकान से लाई शीशी को खोला और एक गोली अविना के गिलास में डाल दीं.

इस भाग में सब पाठिकाओं की चुत पानी छोड़ने वाली है और सब पाठकों के लंड पानी छोड़ने वाले हैं. रोज रोज अन्तर्वासना पर कहानी पढ़कर मेरी भी वासना बढ़ गयी जिसके कारण मुझे भी अपनी कहानी लिखने की इच्छा हुई. अब कुछ भी कहने का कोई फ़ायदा नहीं था … क्योंकि उसके लंड के लिए चूत तो मेरी भी तड़फ़ रही थी.

दो दिनों में हमने घर का कोई कोना ऐसा नहीं छोड़ा जहां चुदाई ना की हो![emailprotected]कहानी जारी रहेगी. अब वो पूरे मस्ती में चुदवा रही थी, उसका जोश देखने लायक ही था, वो भी मेरा पूरा साथ देते हुए मुझे पकड़ के चूत उठा उठा कर चुदवा रही थी. पिंकी चुदवाते हुए मस्ती में बोली- रवि फटी चुत देख कर पूछेगा, तो मैं क्या कहूँगी.

उसने अपने होंठों को मेरे कांप रहे होंठों पर रख दिया और उनको चूमने लगा.

वो मुझे नयी ब्रा पेंटी पहनाने लगा और मेरी पुरानी वाली ब्रा पैंटी उसने निशानी के तौर पर अपने पास रख ली. मैं दौड़ कर उस रूम में गया तो देखा कि संजू विक्रम के लंड पर बैठी है … और अपनी गांड को आगे पीछे कर रही है.

बहन भाई सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी जवानी आते ही भैया की नजर मुझ पर पड़ गयी. जेठ जेठानी दो भतीजे समेत सास ससुर इतने ज्यादा मेंबर देख कर मेरी बुद्धि सनक गई थी. उसने मुझे कहा- अविनाश भाई, प्लीज़ फक मी हार्ड!उसकी इन बातों को सुन कर मैंने भी उससे कहा- बस जानेमन, ऐसे चोदूंगा अब कि तेरा ब्वॉयफ्रेंड भी तुझे कभी ऐसे ना चोद पाएगा।इतना कहते ही मैंने एक झटके में चूत पर लंड टिकाया और दे मारा।अनुपमा चीख उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…उसकी चीख दबाने के लिए मैंने उसके होंठ अपने होंठों से दबा दिए.

विवेक ने सारा सीन देख लिया और मुझसे बोला- हमें अपना रास्ता मिल गया है, ये शिवम साला बहुत शरीफ बनता है लेकिन मेरी बहन पर हाथ साफ कर रहा है. शिल्पा- अहह ओह राहुल यू आर क्रेजी मैन … आह्ह बस करो … मेरी दम निकाल कर मानोगे क्या … आह मैं झड़ गई … आह. कभी विक्रम संजू के मुँह में अपनी जीभ को डाल देता, जिसे संजू जोर जोर से चुभलाने लगती.

साउथ की चुदाई बीएफ मैंने चाचा को फ़ोन लगाया, तो चाचा पूछने लगे कि अभी तक घर क्यों नहीं आए. मेल ज्यादातर वही थे- मुझे भी मिलवा दो किसी भाभी से? पता दो उनका। भाभी का नम्बर दे दो.

इंग्लिश बीपी ट्रिपल एक्स

मुझे उनके सामने खड़े होने में भी शर्म‌ आ रही थी, इसलिए मैं अब वहां खड़ा नहीं हुआ बल्कि वहां से पैदल‌ ही चलकर कॉलेज आ गया. चाची- नहीं रहने दे, तू तो मेरा आशिक़ है … तुझे जैसा मन करता है, वैसे कर ले, मैं तो तेरी हूँ. उसने मुझसे सुबह की बात पूछी, पर मैंने उसे इग्नोर कर दिया और अपना पूरा ध्यान अपनी पढ़ाई और अपने प्यारे डॉक्टर पर लगा लिया.

दूसरी तरफ मैंने अविना को देखा, तो वो थकान में होने के कारण बेसुध हो चुकी थी. फिर एक चूची को उसने मुंह में भर लिया और दूसरी चूची को हाथ में भर कर बच्चों की तरह दूध निकालने की कोशिश करने लगा. हिंदी सेक्सी देखनेवहां मेरी मजबूरी थी लेकिन घर में मैं मां के रहते हुए किसी गैर मर्द से चुदाई नहीं करवा सकती.

छाती चाटते चाटते वो नीचे आने लगीं और अपने दांतों से अंकल के अंडरवियर को खींच कर उतारने लगीं.

मैं यह पूछ रही थी कि खाना बनाऊं या पहले चाय पियोगे?पहले चाय पियूंगा, फिर खाना खाऊंगा और उसके बाद दूध पिला देना!”यह कहते कहते मैंने अपने लण्ड को नीचे दबाकर बैठाने के लिए हाथ फेरा. जैसे जैसे झटके तेज होते गये वैसे-वैसे ज़ारा की आहें भी तेज और मादक होने लगीं.

वो बोली- जीजू आप इतना क्यों तड़पा रहे हो … प्लीज़ चुसवाओ ना!मैं बोला- मैं पालतू जानवर को भी जंगली बना देता हूँ … जैसे तुम अभी हो रही हो मेरी प्यारी शर्मीली सी साली. वो बोली- और?मैं बोला- और दोनों हाथों से तुम्हारे गाल पकड़ कर तुम्हारे होंठों को चूम लेता. मैं चूत को अपनी जीभ से रगड़ रहा था। पहले जीभ को ऊपर से नीचे लाता, फिर नीचे से ऊपर लेकर जाता.

वो तो उसका कमरा घर से बाहर गार्डन की साइड में था अगर अंदर होता तो पक्का सब उसकी चीख सुन कर उठ जाते.

अब इसी तरह रात भर हमारे प्यार का सिलसिला चलता रहा और सुबह तक हम‌ एक दूसरे से प्यार करते रहे. मेरे गले पर चूमते हुए वो मेरी चूचियों की घाटी में जा पहुंचा और दोनों पहाड़ों के बीच की घाटी में जीभ से चाटने लगा. कुछ देर की चुदाई के बाद मैं झड़ने के कगार पर पहुंच गई थी क्योंकि मैं ऐसी खुले में चुदाई होने के कारण बहुत ही उत्साहित हो गई थी.

ई-मेल एंड सेक्सी वीडियोमैंने उसकी ब्रा को उतार दिया और उसके मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा. फिर भी उसने छिनाल लुक देते हुए मेरी तरफ़ से नज़रें फेर लीं और अपनी चूत की आग को शांत करने में जुटी रही।पंकज- अह्ह्ह … साली तुम बड़ी मस्त माल हो सुमन … उहह्ह् … आज तुम्हारी चूत इस तरह फाडूंगा कि तुम अपने पति के लंड को हमेशा के लिए भूल जाओगी.

भाभी सेक्सी ब्लू फिल्म

इस बस का ड्राइवर और उसका साथी मेरे अच्छे दोस्त थे और मैं हमेशा इसी ही बस में बैठता हूं. अपने लण्ड का सुपारा रेखा की चूत के मुखद्वार पर सेट करके मैंने धक्का मारा तो पहले धक्के में आधा और दूसरे में पूरा लण्ड रेखा की गुफा में समा गया. लेकिन कहने से क्या होता है? होता तो वही है जो किस्मत में लिखा होता है।फिर एक दिन रोहित ने मुझे ‘आई लव यू’ बोल दिया.

तब मैं नोएडा में रहती थी और मेरे पास मेरे कई सारे क्लाइंट्स थे जो अपने वर्कआउट को लेकर बहुत सीरियस थे. फिर मुझे भी इस उम्र में न जाने क्यों गांड मरवाने के सुख की लालसा भी होने लगी थी. और थोड़ी देर में अपने पेन ड्राइव से ऑफिस में जाकर प्रिंट लिया और सबको एक एक टेस्ट पेपर दे दिया।1 घंटे का टेस्ट था.

और मेरी पुरानी वाली ब्रा पैंटी लेकर रोहित ने अलमारी में रख ली।तभी उसकी मामा की लड़की मोमोज और कोल्ड ड्रिंक ले आयी फिर हम तीनों ने मोमोज खाये।मैं बोली- कि मुझे देर हो रही है मैं जा रही हूँ. मैंने उसके हाथ से ट्रे लेकर एक कप उसे दिया और दूसरा खुद लेकर ट्रे रख दी!ज़ारा- क्यों जनाब! शेर खत्म हो गये या बाकी हैं मुझ नाचीज के लिए?मैं- हां ज़ारा, शेर खत्म हो गये. दोनों ये भूल ही गए की बगल के कमरे में सुनील उनकी आवाज सुनकर अपना लंड की मुठ मारने की तैयारी कर रहा है.

चुत को तो चोद करके इस तरह से चूसा था कि चुत पूरी तरह से खुली हुई दिखने लगी थी. अगर किसी को कोई एतराज हो तो वो बैठ कर ड्रिंक या स्नैक्स का मजा ले सकता है.

उसके बाद मैंने एक उंगली उसकी चूत में धीरे से अंदर डाल दी।उंगली जाते ही उसे कामरस की ऐसी अनुभूति हुई कि उसकी आह्ह निकल गयी.

मैंने मना भी किया लेकिन उसके मामा की लड़की चाय बनाने के लिए रसोई में चली गयी. सेक्सी वीडियो भाई बहन का चोदने वालाबस अपनी गति से चल रही थी और अभी तक हम मुंबई शहर से बाहर निकले नहीं थे. सेक्सी चुदाई की चूत की चुदाईघर पहुंच कर मां और मामा जी ने मुझसे पूछा, तो मैंने सोच कर बताने का बोल दिया. ‘उह्ह … ह्म्म्म आअह ह्हह … हम्म्म म्मम … आई … मर्रर्र … गईईई मैं आ … रहीई … हूँ … ओह्ह्ह … ह्म्म्म्म … और … उह्ह … ह्म्म्म्म … अब और मत तड़पाओ राहुल.

तो मैंने फिर से उसको पकड़ लिया और बोला- तूने बताया नहीं … तेरी हां है या ना!जब उसने कोई जवाब नहीं दिया.

लेकिन कहने से क्या होता है? होता तो वही है जो किस्मत में लिखा होता है।फिर एक दिन रोहित ने मुझे ‘आई लव यू’ बोल दिया. सुनील को दीपा ने ये बता दिया कि मनोज कि चाहत होती थी कि वो कम से कम कपड़ों में दरवाजा खोले तो सुनील ने हंसते हुए उसको बताया कि वो किराने वाले लड़के का किस्सा मनोज ने उसे बताया था. बहुत कम देखने मिलती है, ब्लू फिल्म में भी ऐसी चिकनी गुलाबी चुत नहीं दिखती है.

वो शायद कुछ कहना चाहती थी मगर उसके दिल ने उसका साथ नहीं दिया और वो बस हल्का सा कुनकुनाकर रह गयी. मेरा लंड अभी भी बिल्कुल टाईट था, लेकिन मैं जल्दी जल्दी में अपनी पैंट की ज़िप लगाना भूल गया था. नमस्कार दोस्तो, आपकी प्यारी कोमल फिर से अपने पाठकों के लिए सेक्सी वाइफ की कहानी लेकर हाज़िर है.

கன்னட செக்ஸ்பிலிம்

मैंने दादी को बेड के किनारे पर खींचते हुए दादी की टांगें धीरे से मोड़ दीं और दादी के बेड से सटकर खड़े होकर अपना लण्ड दादी की चूत में सरका दिया. हमारी बेटी जिस स्कूल में पढ़ने जाती थी वहीं पर एक आदमी उसके बेटी को लेने और छोड़ने रोज आया करता था. चाची- नहीं रहने दे, तू तो मेरा आशिक़ है … तुझे जैसा मन करता है, वैसे कर ले, मैं तो तेरी हूँ.

मेरे मुँह से दर्द भारी आवाज़ निकल गई और मेरी आंखों से आंसू आने लगे.

उधर जब भी आयेशा से बात होती तो वो भी अपना हाल-ए-दर्द मुझे बताती और बोलती- यार अब ये चूत की आग बर्दाश्त नहीं हो रही हैं.

घर पहुंच कर मां और मामा जी ने मुझसे पूछा, तो मैंने सोच कर बताने का बोल दिया. मैं इस सेक्स कहानी के द्वारा अपने साथ बीते हर पल को आप तक पहुंचाने का प्रयत्न करूंगा, इसलिए हो सकता है कि कहानी कुछ लंबी हो जाए. नोट सेक्सी ब्लू फिल्मअब तक आप मेरी जिन्दगी में बीती गांड चुदाई की कहानी में पढ़ रहे थे कि असलम भाई की गांड मार कर और उनसे अपनी एक बार गांड मरवा कर मैंने उनकी उदासी और हताशा को कम कर दिया था.

अपने लन्ड को मैंने 2-3 बार चूत पर रगड़ा और धीरे-धीरे डालने लगा।डालते ही मुझे समझ आ गया कि यह उसका पहली बार है क्योंकि इतना अनुभव तो था कि मैं पहचान सकूं।उसे भयानक दर्द हो रहा था मगर मैंने भी उसे प्यार से किस करना चालू रखा।अंगूठे से उसके क्लिटोरिस को सहलाते सहलाते मैंने उसकी चूत में गप से आधा लन्ड डाल दिया. कुछ देर बाद वह मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसके लंड का सारा पानी पी गयी. करीब 45 मिनट बाद एक आखिरी क्लास में ले जाकर उसने अपना सारा वीर्य मेरी गांड में निकाल दिया.

थोड़ी देर में दोनों एक दूसरे की ओर धक्के लगाने लगे और सिसकारते हुए चुदाई का मजा लेने लगे. मैं नीचे जाने की सोच ही रहा था कि वो कुछ देर बाद फिर से अपने कमरे से बाहर आ गई.

शायरा ने भी अपने हाथ को मेरे लंड पर से हटाया नहीं … बल्कि उसे अपनी मुट्ठी में कस कर भींच लिया और मेरे लंड की ताक़त, उसकी हार्डनेस को फील करके खुश हो गयी.

मालू की दोनों चूचियों को अपने दोनों हाथों में दबोचकर मैंने अपने होंठ मालू के होंठों पर रख दिये. फिर राज बोला- अच्छा बोल … मैं रंडी हूं और जब हम बोलेंगे, तब तू हमसे चुदवाने आ जाओगी. कुछ देर तक इधर उधर की बातें करते हुए उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और मुझे पूरी तरह से चूमने लगा.

सेक्सी चुदाई वीडियो भाभी के साथ यह मेरी लाइफ का पहला वाकया है जो मैं आप लोगों से शेयर करने जा रही हूं. मैंने उससे बोला कि ये छेद तुम्हारी चूत है और ये मेरा लंड अब तुम्हारी चूत में जायेगा.

चार पांच धक्कों के बाद वो जोर से ‘आह आह ओह ओह साहब जी … मैं गयीईईई …’ बोल कर झड़ गयी. संगीता- ओह मां … बचा ले अपने चोदू दामाद से मुझे … देख तेरी बेटी को तेरा ये दामाद कैसे रंडियों की तरह चोद रहा है. मैंने शिवम को रोक लिया और उससे बोली- मेरा और विवेक का जो वीडियो है उसको डिलीट कर दे.

नंगी सीन नंगी सीन

उसी तरह पंकज के लंड की मथनी पर सुमन अपनी चूत की हांडी रख कर उसे धीरे धीरे मथते हुए मथनी को अपनी हांडी में पूरा अंदर तक घुसाने का काम कर रही थी. इधर मेरा मुंह उसकी चूत में जा लगा और उसकी चूत में जीभ डाल कर मैं उसकी चूत को जैसे मुख चोदन का मजा देने लगा. एक दिन मेरा एक दोस्त कमरे में चुदाई वाली डीवीडी लेकर आया और देखने के बाद हम दोनों ने खूब लंड हिला कर मुठ मारी.

चड्डी उतारते ही उसका काला-काला, तना हुआ लंड मेरी नजरों के सामने लहराने लगा था. पहले मुझे भी यकीन नहीं था लेकिन फिर लूसी ने मुझे उनकी लाइव चुदाई दिखायी.

साथ ही साथ एक चूड़ी का डब्बा निकाल कर रिचा की दीदी को देते हुए बोला- दीदी, इस चूड़ी को वापस करके पिंक कलर की चूड़ी दे दीजिएगा.

कुछ देर बाद वह मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसके लंड का सारा पानी पी गयी. सब काफी खुश दिख रहे थे कि मेरे अनुभव का उन्हें लाभ मिलेगा।क्लास में 15 विद्यार्थी थे, जिनमें 6 लड़कियाँ थी. उसको समझाने लगा कि काफी सालों से उसकी चूत की चुदाई नहीं हुई है इसलिए थोड़ी तकलीफ हो रही है.

मैंने उसको वहीं पड़ी एक टेबल पर झुका दिया और अपने लंड को उसकी चुत पर रगड़ने लगा. हम दोनों के बीच बातचीत से हम दोनों की नजदीकियां बढ़ रही थीं … और हम दोनों के चेहरे पर मुस्कान थी. खैर … जैसे ही संजू का पेटीकोट उसके तन से अलग हुआ, संजू की मांसल और अत्यधिक गोरी जांघें चमकने लगीं.

मैं उसके पास गया, मैंने उसको कहा- आप मुझे जानती हैं क्या?उसने कहा- सर, मैं आपकी कम्पनी में इंटरव्यू देने के लिए आई थी … मैंने आपको वहाँ देखा था.

साउथ की चुदाई बीएफ: मैंने उसे इतना डरा दिया था कि वो रात को सोता भी था तो मेरी बुर या गांड के पास मुँह लगा कर सोता था. इसलिए उसने मेरी कमर को पकड़ लिया और बोली- मजा आ रहा है यार … बहुत लाजवाब है तुम्हारा लंड … आह.

मीरा ने मेरे लण्ड को अपनी मुठ्ठी में पकड़ा और खाल को नीचे करके मेरे लण्ड का सुपारा अपने मुँह में ले लिया. मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि भाभी का इतना मस्त माल मेरे सामने खुला पड़ा होगा. मैं अक्सर अपने काम की वजह से बाहर रहता हूँ … तो मेरे पीछे घर में क्या होता है … वो जानने के लिए मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा था.

वीर्य स्खलन के बाद भी रोहित ने मुझे अपने लंड पर ही बैठा कर रखा और किसी तरह अपनी जेब से मेरी पैंटी निकाली और उससे मुझे वीर्य साफ करने के लिए बोला।मैं अपनी चूत के छेद को पैंटी से कवर करके रोहित के लंड से उतरी।उतरते ही ढेर सारा वीर्य मेरी चूत के रास्ते बाहर आने लगा.

अभी भी लंड की रगड़न से मेरी चूत की दीवार घायल हो रही थी, लेकिन जो चूत के अन्दर जलन थी, चिलकन थी, दर्द था वो उन्माद में खुशी में उत्तेजना में बदल रहा था. अंजू की चूत पे अंशिका की जीभ लगवा दी, अंशिका की चूत पे मेरी जीभ लगा दी और मेरे लौड़े को खुद चूसने लगी और अपनी चूत उसने अंजू के मुंह में दे दी. फिर मैंने थोड़ा स्पीड को बढ़ाया, तो उसके कंठ से आवाज निकलने लगी- आअहह आअन्न राहुल चोद दो … और तेज चोद दो.