मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पीली पीला वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट सेक्स चुदाई वीडियो: मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ, मैंने उसकी गोलियां कस कर पकड़ लीं और जोर से दबा लीं।मारेगी क्या रंडी?” रवि दर्द से आह्ह करते हुए बोला.

पूरे शरीर में दर्द के कारणों

उसने मुझे अपने से लिपटा लिया और मुझे बांहों में लेकर मेरी गर्दन पर किस करने लगी. खाने वाली लड़कियांहाँ … हाँ यही बात है!” वसुन्धरा के बारे में सोचते हुए और ख्यालों में उलझे हुए मेरे मुंह से ये शब्द निकल गए.

मैंने सुमिना से पूछा तो उसने बताया कि अब वो अपने घर पर रहकर ही पढ़ाई करती है. राजस्थानी सेक्सी फिल्म हिंदीघोड़ी की स्थिति में झुकाने के बाद जीजा ने अपना लंड एक ही झटके में दीदी की चूत में घुसा दिया.

अब इतनी देर में मैं भी उन दोनों से काफी फ्रेंडली हो चुकी थी, इसलिए वो भी बातों बातों में मुझे टच करने लगे थे.मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ: अजय ने गिलास रखा और मेरे बाल पकड़ के ज़ोर से खींचा और बोला- साली तू तो बहुत गर्म है … तेरी गर्मी निकालनी होगी, साली आज हम दोनों रंडी की तरह तेरी चूत चोदेंगे.

इसी समय नम्रता ने अपने पैरों को मोड़ा और साड़ी को सरकाते हुए कमर पर ले आयी.मैंने उससे मजाक में पूछा- मुझे चोदने का मन है?नहीं नहीं मेमसाब, ऐसा मैं सोच भी नहीं सकता!” वो डर के बोला.

आदिवासी सेक्सी पिक्चर बताइए - मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ

हम रात को ट्रेन से जा रहे थे, ग़लती से ट्रेन में लेडीज कोच में चढ़ गए, उस डिब्बे के गेट पर कई औरतें खड़ी थीं, उन्होंने मुझे रोक लिया.काफी देर अन्दर बाहर करने के बाद मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला, कॉण्डोम चढ़ाया और फिर से चूत के अन्दर खिसका दिया और धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा.

वैसे ये कहानी मेरी अम्मी बारे में है, इस कहानी में मैंने अपनी अम्मी के अकेलेपन का इलाज ढूंढा है. मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ लेकिन मेरा लंड मुट्ठी मारते मारते टेड़ा हो गया और एक मिनट में पानी भी निकल आता है.

उसकी नंगी चूचियों को आज मैं पहली बार अपने हाथ में इस तरह से भर कर उनका आनंद ले रहा था इसलिए मेरे मुंह में जैसे पानी सा आने लगा उनको पीने के लिए.

मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ?

उसकी चुत में उंगली करने के साथ साथ मैं उसके मम्मों को भी खा रहा था. वो टांगें खोल कर ‘उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊह …’ की आवाजें निकाल रही थीं. एक रात तो मैंने सोते सोते उनके लंड पर हाथ भी रखा पर उन्होंने हटा दिया.

अगर आप इस कहानी के बारे में कुछ भी बात करना चाहते हैं तो मेल करके जरूर बताएं. वो दरवाजे छेद पर आंख लगाकर झुकी हुई थी और मैं उसकी गांड के छेद पर अपने लंड को लगाकर रगड़ने लगा. कुछ देर में ही उसके लंड ने मेरी गांड में जगह बना ली थी, जिससे मुझे दर्द होना बंद हो गया था.

मैं उसका लंड जड़ तक अन्दर लेती और फिर बाहर निकाल कर जीभ से चाटने लगती. मैंने मामी से पूछा- आपको मजा आ रहा है?वो बिना कुछ बोले मेरे बाल पर अपना हाथ फिरा के मेरा साथ देने लगीं. सेक्स कहानी शुरू करने से पहले बताना चाहता हूँ कि यह एक समलैंगिक कहानी है.

वो भी गालियाँ बके जा रहा था- रंडवी साली … तेरे भोसड़े में मेरा लोड़ा … तुझे आज घोड़ी बना दूंगा, तेरी चुत चोद चोद कर फाड़ दूंगा, तेरी गांड मार दूंगा. चूंकि वो मेरे जिले का था, मैंने प्रॉब्लम नजरअंदाज करते हुए फाइल साइन कर दी.

गुप्ताइन आई तो मैंने बेबी से कहा- फ्रिज से पानी की बोतल और तीन गिलास निकाल लाओ.

क्या बताऊं यार इतना सेक्सी ओर हॉर्नी अहसास मैंने मेरी जीएफ के साथ भी कभी फील नहीं किया था, जितना आज उसके साथ कर रहा था.

पिछले 2 घंटों के करतबों के दौरान उसकी चूचियां बहुत सेंसिटिव हो गयी थीं. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे जोन्स ने मेरी चुत और गांड की बैंड बजा दी थी. मामी बोली- अगर तुम दोनों अगर लड़ाई नहीं करती तो शायद बत्ती भी गुल न होती.

प्रिया से सपनों के साकार होने जैसे हसीन मिलन की रात के बाद से तो दिन ऐसे पंख लगा कर उड़े कि कब प्रिया की शादी सर पर आन पहुंची … पता ही नहीं चला. फिर पता नहीं क्या हुआ कि वो बोले- चल आज तुझे नहीं चोदता, 2 दिन बाद मुझे ऑफिस के काम से बाहर जाना है. मेरे घर के पास में एक बहुत बड़ा और बहुत अच्छा सा पार्क है और मेरे घर से वहां जाने में थोड़ा टाइम लगता है.

कुछ देर रुकने‌ के बाद मैं भी अब खिसक कर थोड़ा नीचे की तरफ हो गया और मोनी के जैसे ही अपने घुटनों को मोड़कर फिर से उसके पीछे चिपक गया!वैसे मोनी ने तो अपने घुटनों को मोड़कर मुझसे दूर होने का प्रयास किया था मगर बदले में मैं भी अपने घुटनों को मोड़कर उसके जैसे ही हो गया था.

लंड के बाहर आने के बाद उन्होंने उठ कर मेरे होंठों को चूमा और मुझसे आई लव यू कहा. उन्होंने मुझसे कसम ले ली कि आइन्दा मैं कभी शराब को मुंह भी न लगाऊं तभी वो मुझसे बात करेंगी नहीं तो नहीं करेंगी. ”सोचना क्या, दिन में दो तीन बार तो पेलूँगा ही!”फिर चाय वगैरह पी के राजेश चला गया।शाम को मम्मी आयी। उस वक़्त सिर्फ मैं थी घर पे। हमने चाय पीते हुए बात की।मम्मी ने कहा- सब ठीक हो जाएगा न?हाँ मम्मी, राजेश ने डॉक्टर शोभा से बात कर ली है। कल सुबह वो आप की जांच करेंगी उसके बाद प्रोसीजर कर देंगी.

मैं अपने टीवी की तार निकाल देती हूँ और उसको टीवी देखने के बहाने भेजती हूँ. मैंने रजिस्टर में जाकर देखा तो उसमें तुम बाप-बेटी का नाम लिखा हुआ था. मेरी नजर उसके चूचों से फिसल कर उसकी चूत पर चली जाती थी और फिर ऊपर आ जाती थी.

मैंने और जोर पकड़ते हुए पूरी ताकत के साथ भाभी की चूत को चोदते हुए दूसरी बार उनकी चूत में अपना माल गिराना शुरू कर दिया.

दीदी ने जीजा जी से उनकी चुदाई रोकने के लिए कहा लेकिन वह रुक ही नहीं रहे थे. मोनी प्रतिक्रया में अपने दोनों घुटनों को मोड़ कर नीचे वो दूसरी तरफ मुड़ गई.

मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने कहा- तेरी चूत का पानी तो निकल गया लेकिन मेरी चूत तो अभी भी वैसी की वैसी गर्म है. उसने मेरे लंड को अच्छी तरह चूस-चाट कर साफ़ किया और अपनी स्कार्ट उतार कर पूरी नंगी हो गयी.

मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ वो धीरे धीरे सीत्कारते हुए चिल्ला सी रही थी और बोल रही थी- आह छोड़ो यार आरव प्लीज़ …मैं अपने दांतों से उसके निप्पलों पर बाईट कर रहा था. साथ ही में वो मुझे अपनी ओर खींचने लगी, जैसे वो मुझे अपने में समा लेना चाहती हो.

मोनी के बदन में इतनी गर्मी थी कि उसने मेरे अंडकोषों के अंदर इकट्ठा हुए वीर्य को गर्म लावा बनाकर बाहर आने पर मजबूर सा कर दिया.

क्सक्सक्स विलेज वीडियो

फिर मैं भाई के ऊपर आ गयी और होंठों को बुरी तरह से चूसने लगी और अपने हाथ से उसका लंड हिलाने लगी. उसके बालों को पकड़ कर खींचा और उसका सिर ऊपर की तरफ उठ गया। मैंने उसके कंधों पर दांत गड़ा कर चुम्बन किया. मैंने इंदौर से इंजीनियरिंग किया है और मैं देवास में नौकरी करता हूँ.

फिर फिल्म में एक सीन आया जिसमें हीरो और हिरोइन के बीच में रोमांस चल रहा था. मामी बोलीं- बड़े नाजुक हो यार!मैं मामी के मुँह से यार शब्द सुनकर ज़रा चौंक गया. मैं लंड को सहलाने लगा और बस मुठ मारने ही वाला था तभी भाभी की आवाज आई- प्रणय!उनकी इस आवाज से मेरा लंड एकदम से ढीला हो गया और मैं जल्दी से पेशाब करके तुरन्त बाथरूम से निकल कर भाभी के पास चला गया.

भाबी- प्लीज़ देव अपने लंड का साइज़ तो देखो … तुम्हें लगता है मैं इसे पीछे बर्दाश्त कर भी पाऊंगी?मैं- भाबी, प्लीज़ दर्द तो फर्स्ट टाइम सबको होता है … लेकिन इतना दर्द भी नहीं होता.

हां शादी के बाद मैंने कभी किसी परपुरुष से सम्बन्ध नहीं बनाए (इस सत्य कथा के लेखक सुकांत जी को छोड़कर)मुझे अपने पति से सिर्फ एक शिकायत थी कि वो मेरी चूत कभी नहीं चाटते थे और न ही कभी अपना लण्ड चूसने के लिए मुझसे कहते थे जबकि चूत चटवाने की मेरी बहुत इच्छा होती पर मैं लाज के मारे उनसे कभी कह न सकी. जैसे ही बुआ बाथरूम से बाहर निकलीं … मैं फिर से सोने का नाटक करने लगा. तो उसने मेरी इस बात पर मुझे हग कर लिया और कहा- क्या तुम मेरी एक जरूरत पूरी कर सकते हो?मेरा तो लंड खड़ा ही हो गया था और मुझे आंटी को चोदने की पड़ रही थी.

बिस्तर के सामने एक पांच सीट वाला सुन्दर सा सोफा सेट और बहुत कीमती बेलबूटेदार कालीन. फिर वो मेरा लंड मुँह से निकाल कर बोले- देखा मजा आया न, पता चला कैसे चूसते हैं. जब तक लंड में ताकत थी, तब तक वो अन्दर तना हुआ था, पर बाद में ढीला होकर बाहर आ गया.

उस पर से मोनी का अब करवट बदलकर अपना मुँह मेरी तरफ कर लेने से मैं और भी बेचैन सा हो गया।मैंने अब एक बार फिर से अपना मुँह दूसरी तरफ करके सोने की कोशिश तो की लेकिन मुझे चैन नहीं मिल रहा था। अजीब सी कश्मकश में उलझ गया था मैं. उसके बाद उसने फिर आंखों ही आंखों में मुझे उसके घर आने का इशारा किया तब कहीं जाकर मेरी समझ में आया कि वह मुझे अपने घर बुला रही है.

मैं समझ गया कि मौसी का दर्द अब कम हो गया है और मौसी अब तैयार है दूसरे झटके के लिए. फिर मैं उसकी चुत में उंगली डाल के तेल से उसकी चुत की मालिश करने लगा. अब अंकल जी मेरी नंगीं टांगों को नीचे से ऊपर तक चाटने चूमने लगे तो मुझे गुदगुदी होने के साथ ही मेरा बदन झनझना उठा और मुझे इच्छा हुई कि अब जो होना है तो वो अंकल जी जल्दी से कर डालें बस.

मैं ये मौका हाथ से नहीं जाने देता और उस कमरे में जाकर बैठ जाता हूं.

इस बहाने वहां पर घूमना भी हो जायेगा और आंटी भी फार्म हाउस देख कर आ जायेंगी. चूंकि मैं देखने में अच्छा था और मेरी बॉडी भी काफी फिट थी इसलिए लड़कियां जल्दी ही मुझे पसंद कर लेती थीं. अंकल जी का बदन देख मैं उनके चौड़े चकले सीने पर मैं रीझ उठी और मन हुआ कि उनकी छाती से जा लगूं; हम लड़कियों को पुरुष की शक्ल से ज्यादा उनका चौड़ा सीना ज्यादा आकर्षित करता है, पता नहीं क्यों … अंकल जी के सीने से लगने की इच्छा उन्होंने खुद पूरी कर दी और सोफे से उठा कर मुझे अपनी मजबूत बांहों में भर लिया.

हम भूल गए थे कि चुदाई को चलते हुए कितना वक्त गुजर चुका है और गांव में तो लोग जल्दी उठ जाते हैं. काफी देर तक ये सिलसिला चलता रहा और भाभी मादक सिसकारियाँ भरे जा रही थी.

राधिका- ओह राज, आह कम ऑन फक मी … आह राज चोद डाल … लाल कर दे अपनी बीवी की चुत को … चोद डाल अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. मैं वनिता के ससुर राजेन्द्र जी के बारे में सोचने लगी और अपनी प्यासी चुत में उंगली करने लगी. भाई का लंड मेरे मुँह के अन्दर होने की वजह से उसकी पिचकारी बहुत अन्दर तक चली गई.

सेक्स सेक्स सेक्सी

तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपनी हब्शी लंड को मेरे मुँह में घुसा दिया और थोड़ी देर ऐसे ही मेरा मुँह चोदने लगा.

मेरे ताऊ जी जिनकी उम्र 48 साल की है वो रंग के गोरे, शरीर के लम्बे और सेहतमंद इंसान हैं. ” इस से पहले वसुन्धरा कुछ और कहती, मैंने वसुन्धरा के दिल की बात बूझ कर पहले ही उसको मुतमईन कर दिया. मेरे बड़े भाई साहब सुबह काम पर चले जाते थे और बहन उस समय हमारे पुराने घर में गई हुई थी.

इसलिये मैं अब उससे दूर ही रहने लगा।दो-चार दिन तो मोनी भी मुझसे अलग-अलग सी रही मगर फिर धीरे-धीरे उसने भी मुझसे‌ थोड़ा बहुत बात करना शुरु कर दिया। वैसे भी वहाँ घर में हम दोनों ही थे और लगभग दिन-रात एक साथ ही रहते थे।आप भी इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि एक ही घर में दिन‌ रात एक साथ रहेंगे तो एक-दूसरे से बात किये बिना‌ कब तक‌ रह सकते थे. मैं तो बस अपनी गीतू को चूसना चाहता था।मैंने देर न करते हुए उसकी गुलाबी रंग की पैंटी उतार दी. राजस्थान सेक्स विडियोअभी मैं यही सोच रहा था कि अचानक से बाथरूम का दरवाजा खुला और पूजा उसमें से तौलिया लपेटे बाहर आई.

इतनी मस्त चुदाई को देखने के बाद मेरे मन में सेक्स का तूफान सा उठ गया था. मैं तो पहले अपने काम पर ध्यान देता था, उसके बाद जैसे जैसे मैं पुराना होता गया, तो मुझ पर काम का बोझ भी कम हो गया.

हेतल ने मानसी को सलाह देते हुए कहा- तू चाहे तो तू भी अपने ऑफिस में चुदवा सकती है. मैं एक चूची को छोड़कर दूसरी चूची पर टूट पड़ा और दूसरे हाथ से काजल की पैन्टी को निकाल कर उसे बेड पर गिरा दिया दी. मेरी पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के पहले भागपड़ोसन लड़की के चूतड़ों का दीवाना-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी पड़ोस में रहने वाली जवान कुंवारी लड़की को पटाया और उसकी चुदाई की.

हम लोग जहां रुके थे, ठीक हमारे सामने पड़ोसी भाभी का रूम था और वो खिड़की के पास आके खड़ी होकर हम लोगों को देख रही थी. बस 5 मिनट के बाद वो अकड़ने लगी और मेरी बांहों में निढाल हो कर पड़ी रही. जैसे ही सनी लियोन के सम्भोग दृश्य स्क्रीन पर चलने लगे, बेबी कभी अपना हाथ अपनी चूत पर फेरती और कभी चूचियों पर.

इसके बाद वो अपने कड़ियल लंड से धकाधक चोदने लगता, जिससे मेरी चूत झड़ ही नहीं पा रही थी.

भाई ने अपना आधा लंड बाहर निकला और फिर एक जोर के धक्के से पूरा मेरी चूत में अन्दर पेल दिया. मैंने विक्की को निहारिका को किस करने व चूचियां दबाने का इशारा किया.

माँ- मेरे राजा ऐसी चुदाई रोज किया करो मेरी … म्म्मम्म … तुम्हारा रस भी कितना टेस्टी है … म्म्मम्म … चाट लो मेरी चूत को … आह … आह … 20 सालों के बाद आज मैं संतुष्ट हुई हूं. दोनों ही के मुंह से आह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ह्य … जैसी आवाजें सेक्स के आनन्द को बयां करने लगीं. काम तो कल्पना में ही विराजता है और कल्पना शुरू होती है आधे-अधूरे, ढके छुपे शब्दों से, अनजाने में सीने से ढलके आँचल से, तिरछी-नज़र से, सहज़-इशारे से, झुकती पलकों में अधूरे से इकरार से, महबूब के अपने निचले होंठ को दांतों से तिरछे काटने में.

मैंने दीदी के मोटे चूचों को एक बार हाथ से दबाया और फिर उसको कपड़ों के ऊपर से ही किस करने लगा. भाभी भी सिस्कार रही इथी- आहह उहहाआ आअहह फक मी जान अहह चोद दे मेरे राजा … मेरी आग को बुझा दो. हाई स्कूल मैंने अच्छे अंकों से उत्तीर्ण कर लिया और इंटरमीडिएट की ग्यारहवीं क्लास में प्रवेश ले लिया.

मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ बुआ ने ताऊ के लंड को एक-दो बार हिलाया और फिर उसको मुंह में लेकर चूसने लगी. और मैं तुमको बहुत अच्छे से चोदना चाहता था क्योंकि आज तक मैंने किसी कुंवारी लड़की की सील नहीं तोड़ी है.

नेपाली चोदा चोदी वीडियो

अंकल ने कोल्ड ड्रिंक लेते टाइम अम्मी का हाथ टच कर दिया, जिस पर अम्मी ने हल्की सी स्माइल पास कर दी. जब तक लंड में ताकत थी, तब तक वो अन्दर तना हुआ था, पर बाद में ढीला होकर बाहर आ गया. उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया.

और दिलिया की चीख निकल गयी- आईई आहाह आआआआ आईईईई स्स्सस!मगर गजब की हिम्मत थी उसमें … अपने हाठों में मेरा चेहरा लेकर चूमते हुए बोली- गज़ब किला फ़तेह किया तुमने आमिर … आई लव यू! बहुत दर्द हुआ लेकिन मुझे गर्व है कि मेरी चूत को तुमने एक ही धक्के में ही फाड़ दिया. जब मेरा लंड 5″ तक अन्दर घुस गया, तो दर्द के मारे भाभी का बुरा हाल होने लगा … लेकिन उन्होंने मुझे रोका नहीं. लडकी कैसे पटाना सीखेदोस्तो, कैसे हो आप सब? मेरा नाम अंकित पटेल है और मैं अहमदाबाद (गुजरात) से हूँ.

ऊपर से आगे की तरफ बूब्स निकले हैं … तो नीचे पीछे की तरफ गांड उठी हुई है.

पता नहीं मेरी चूत में एक अजीब सी सनसनी सी होने लगी थी उनको इस हालत में देख कर. मैं ब्लाउज के ऊपर से ही उसके मम्मे को अपने मुँह में भरने की कोशिश करने लगा.

इधर मैंने अपनी पढ़ाई जारी रखी और इंजीनियरिंग करने के बाद बहुत बड़ा सरकारी ऑफिसर बन गया. मुझे नहीं पता वो दोनों कब से इस तरह एक-दूसरे की प्यास बुझा रहे थे लेकिन दोनों के अंदर सेक्स जैसे कूट-कूट कर भरा हुआ है. तकरीबन पांच मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैंने फिर से उसकी चुत में लंड डाल दिया.

रितेश का लंड भी बहुत मोटा है लेकिन मुझे अलग-अलग मर्दों के लंड लेने का मन करता रहता है इसलिए मैंने राज को फंसा लिया.

अब और देर करना मुनासिब नहीं था, मैंने उसका हाथ अलग किया और अपने हाथ से उसकी चूत के दोनों लब खोलकर लण्ड का सुपारा रख दिया. मैंने चोद चोद कर उसकी चूत को भोसड़ा बना दिया था और गांड का छेद भी बड़ा कर दिया था. उसने मेरी चूत को चूसा-चाटा और फिर अपना लंड मेरे मुंह में देने के लिए तैयार होने लगा.

रिया चक्रवर्ती की नंगी फोटोमैंने हल्का सा अपनी कमर को झटका दिया और आधा लंड उसकी चूत में उतर गया. फिर उसने ओकले को हटाया और खुद मेरी गांड में लंड सैट करके शुरू हो गया.

सेक्सी गाने नंगे

मेरी जीभ जब उसकी जीभ से मिली तो उसका शरीर सिहरने लगा और वह मेरी जीभ को चूसने लगी. मेरा साथ हुई इस घटना में जिस लड़की का जिक्र मैं करने जा रहा हूं वह मेरे साथ ही मेरी ही कम्पनी में काम करती थी. मैंने उसकी टांगों को पूरा खोल दिया और और उसकी कुंवारी चूत को जबान से लिक करने लगा.

यह सवाल मीना जी द्वारा: मैंने एक पॉर्न वीडियो देखा, जिसमें दो लड़की एक लड़के के साथ सेक्स कर रही थीं. पन्द्रह साल बाद मैं 56 की हो जाऊंगी, तब तेरा भी मन भर जाएगा या उससे पहले भी भर गया, तो मैं तेरी शादी करा दूंगी. मामी जी मुस्कुराते हुए बोलीं- ये हुई न बात, चलो छत पर चलो, वहीं बैठ कर बात करते हैं.

इन पिछले पांच छः महीनों में मुझे मेरे प्रशंसकों के पचासों मेल मिले जिनमें मेरी अदिति बहूरानी के बारे में और लिखने का आग्रह किया गया; यहां अन्तर्वासना के कमेंट्स में भी मुझे स्मरण कराया गया. जीजा ने कस कर मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और एकदम से मेरे तने हुए दूधों को पकड़ कर अपने लंड को चूत में बुरी तरह से पेलने लगे … आह्ह … आह्… करते हुए वो ऐसे चीख रहे थे जैसे उनका लंड अभी फटने ही वाला है किसी बॉम्ब की तरह. कुछ देर इंतजार करने के बाद मेरे पास में वेटिंग लाइन में एक 40 वर्ष की महिला आ कर बैठ गई.

मगर हम दोनों को चुदाई का इतना मौका नहीं मिल पाता था क्योंकि घर पर सब लोग होते थे और काजल को लेकर मैं बार-बार बाहर नहीं जा सकता था. इतना सुनने के बाद मैंने धीरे से उसकी चूत पर लंड रख के एक झटका मारा.

उसको देख कर तो यही लग रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दें, पर ये मुमकिन नहीं था.

जैसे ही वो खाना रखने को झुकी मुझे जन्नत की दो सफेद चोटियां और उसके शिखर नजर आए. सेक्सी फिल्म इंग्लिश मेंमेरा दिल नहीं माना, तो अपने दोस्त को लेकर कुछ काम का बहाना करके उससे मिलने चला गया. रियल मी सी 35मगर ऐसा हो पाना अभी तो संभव नहीं था न, मैं बस दूर से ही देख कर उसकी चूत को चोदने की कल्पना करने के सिवाय और कुछ नहीं कर सकता था. वैसे भी यहाँ पर इतनी भीड़ है कि कुछ अच्छा नहीं लग रहा। रात को संगीत ही होगा.

फिर अपना लंड उसके चूतड़ों के छेद पर लगा कर उसकी कमर पकड़ कर जोर से धक्का दे मारा.

छठे लड़के ने पीछे से मेरी गांड पर लंड को सेट किया और धक्का दे दिया. मेरा आनंद बढ़ रहा था तो मैं मजे में कामुक सिसकारियाँ ले रही थी जो काफी तेज हो गई थी. मैं भाई से बोली- भाई, अब अपना लम्बा लंड अपनी बहन की चूत में घुसा कर इस साली को अपनी रंड़ी अपनी रखैल बना ले.

यह सुनते ही उसने मेरी चूत में अपनी जीभ डाल दी, फिर अपनी दो उंगलियों को एक साथ मेरी चूत में घुसाने लगा. वो भी दारू के एक पैग से मस्त होने लगी थी और धीरे धीरे पूरी तरह से गर्म होना शुरू हो गई थी. मैं बोला- प्लीज मान जाओ न … प्लीज केवल 5 मिनट।उसने कहा- ओके पर जल्दी कर!मैंने कहा- ठीक है।फिर मैंने तुरंत ही उसकी सलवार उतार कर अलग कर दी और खुद घुटने पर बैठकर चूत चूसने लगा। उसकी रशीली रस भरी चूत को चूसने में बहुत मजा आ रहा था। चूत के रस की मधुर सुगंध मुझे और भी ज्यादा मदहोश कर रही थी.

ब्लू फिल्म चोदा चोदी वाली

फिर भी बताइये अगर कुछ काम है तो?मैं उठी और बोली- रहने दो, सब ठीक है. इतने में महेश फिर आ टपका!मैंने कहा- आ भोसड़ी के! और अपनी बहन की चूत मे उंगली कर!अब महेश गीतू की चूत में उंगली कर रहा था और मैं उसकी गांड मार रहा था. मैं उसे ढूंढता हुआ घर के पीछे एक अलग सा गोदाम था जो सुनसान रहता था, उसमें गया.

उसने मुझे अपने से लिपटा लिया और मुझे बांहों में लेकर मेरी गर्दन पर किस करने लगी.

इतने में महेश फिर आ टपका!मैंने कहा- आ भोसड़ी के! और अपनी बहन की चूत मे उंगली कर!अब महेश गीतू की चूत में उंगली कर रहा था और मैं उसकी गांड मार रहा था.

अंदर ही अंदर इतनी गर्मी हो गई थी कि मुझे रजाई को अपने ऊपर से हटाना पड़ा नहीं तो अंदर ही दम घुट जाता. भाभी की चूत को इस पोजीशन में चोदते हुए बड़ा मजा आ रहा था क्योंकि इस पोजीशन में उनकी चूत थोड़ी टाइट सी लग रही थी. फुल सेक्सी व्हिडिओ एचडीफिर एक दिन पति को काम से बाहर जाना था तो पति ने मुझे फोन किया और बोले- मेरा बैग तैयार रखना, मुझे शाम को चेन्नई जाना है, मुझे कम से कम 15 दिन लग जाएंगे.

मैं हर रोज इस बात के इंतजार में रहती थी कि कब जीजा जी को मेरे साथ अकेले में रहने का टाइम मिलेगा. उन्हें रात के बारे में सब कुछ समझ आ चुका था लेकिन वो पापा के सामने कुछ बोल भी नहीं सकती थीं. मैं भाभी को मनाने लगा- प्लीज़ भाभी, कुछ नहीं होगा, बस एक बार मार लेने दो.

पर उन्होंने मौसी के कपड़े और बैग फेंक दिए थे तो उन्होंने मेरे कपड़े और एक वाइट सूट सलवार दिया, जो बहुत चुस्त था, जिसे पहन कर मौसी की हर चीज़ दिख रही थी. दोस्तो, मैं ये तब की बात बताने जा रही हूँ, जब मैं बारहवीं कक्षा की तैयारी कर रही थी.

पांच मिनट के बाद जीजा का लंड अपने आप ही सिकुड़ कर मेरी चूत से बाहर निकल आया था.

मैंने पूछा- आइए सरला जी, कहिये कैसे आना हुआ?कुछ नहीं, मेरे उनका फोन था, उनको अचानक भोपल जाना पड़ा. स्लिपर बहुत सुन्दर थी परन्तु उसमें पांव ढक हुए थे, दिख नहीं रहे थे. दर्द होगा ही, खीरा मेरे लौड़े से भी मोटा था ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो टांगें चौड़ी करके गांड उचकाए स्लैब के सहारे झुकी थी.

सेक्सी फिल्म हिंदी एचडी में भोला सिंह यह बात सुनकर खुश हो गया और बोला- तुमने तो दिल खुश कर दिया भाई, बंध्या के साथ ही तुम भी यहां पर आ सकते हो. आज पता नहीं मेरा क्या होगा।इतने में सर ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और बिस्तर पर लिटा दिया.

मुझे देखकर उठ कर खड़ी हो गयी और घर में जाने का मेन गेट खोल के मुझे भीतर आने का इशारा किया. उन्होंने अपने पैरों से मेरी जांघों को दबा लिया और दोनों हाथ को मेरी पीठ पे ले जाकर मुझे अपने सीने से चिपका लिया. मैं अपनी कहानी शुरू से कहूं तो मेरा जन्म एक साधारण निम्न मध्यम परिवार में हुआ, पिता जी एक सरकारी दफ्तर में चपरासी थे, मेरी माँ, एक बड़ी बहिन, दो बड़े भाई; बस यही मेरा परिवार था.

सेक्सी सनी लियोन का

”वो बोला- एक बात पूछूँ मेमसाब … आपको अगर बुरा न लगे तो?हां हां पूछो?” मैं बोली. अब जब मैं यह सब करवा चुका था, तो फिर कुछ दिनों बाद मैंने अपनी चचेरी बहन के साथ करने की सोचा. घर पर हम मिल नहीं सकते थे, तो किसी काम के बहाने बाहर जाकर ही ये हो सकता था.

बंदा-परवर! मैं पहले भी अर्ज़ कर चुका हूँ कि लिखना मेरा शौक है, पेशा नहीं. मैं इस चुदाई में इतनी मस्त हो गई कि ‘आह ऊऊ आआ अंकल … ऐसे ही … हां दे दो झटका.

आपकी राय के बाद मुझे आगे भी आपके लिए कहानी लिखने के लिए प्रेरणा मिलेगी.

न करने का तो सवाल ही नहीं था लेकिन पाठकगण! मैं झूठ नहीं बोलूंगा कि हाँ करने के कई कारणों में से एक उम्मीद … चाहे बेजा ही थी, लेकिन वो यह थी कि शायद मेरी शिमला-फेरी के दौरान किसी रोज़ मेरी वसुन्धरा से मुलाकात हो जाए. मैंने भी उसे कह दिया- जब भी मेरी जरूरत हो तो बता देना, मैं आ जाया करुँगी. जोकि किसी भी लड़की को होना सामान्य था ‘बदनामी का डर’ फिर भी वो मुझ पर विश्वास करके मेरा साथ दे रही थी।मैंने उसके हाथों को आगे करके फिर से उसकी लाल ब्रा से बांधा और ऊपर कर दिया। मैंने उसके होंठ चूसना चालू किया.

मैं दर्द से चिल्ला उठी- भोसड़ी के मार डाला मुझे, निकाल बाहर अपना लंड … मुझे नहीं चुदवाना है. पांच मिनट की जोशीली चुदाई के बाद वह मेरी चुत में झड़ने लगा, तो मैं लगभग बेहोश सी हो गयी थी. ज़ाहिर सी बात थी कि काजल के बाद सुमिना घुसने वाली थी और सबसे आखिर में मैं.

अब बाकी का आधा काम प्रिया को करना था जिसके लिये वो पूरी तरह से तैयार थी क्योंकि मैं उसको शुरू से ही नोटिस करता आ रहा था कि यह लड़की बहुत तेज है.

मूवी सेक्सी वीडियो बीएफ: पर मेरा लेखक मन एक ही चरित्र की सीरियल कहानियों से उभर कर कुछ नया लिखने का प्रयास, कोई नयी थीम तलाशता रहता था. हर क्षण बाली रानी की बेपनाह खूबसूरती आँखों के सामने छा जाती थी और लंड अकड़ जाता था, अंडे भारी हो जाते थे.

मैंने उसकी बात को समझ कर कहा- नहीं, अपने ऐसे नसीब कहाँ कि कोई हसीना अपना स्वाद चखा दे. तब राजेन्द्र जी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और किस करके बोले- बहुत हॉट और सेक्सी लग रही हो. अन्दर जाते ही मैंने निहारिका को बेड पर लिटा लिया और और उसके ऊपर चढ़ गया.

चूत पर जीभ ने कमाल दिखाना शुरू किया, तो अनुषी हल्की सिसकारी लेने लगी.

फिर जब मैंने तुझे बाथरूम में नंगा देखा तो मेरा दिल भी तेरा लंड लेने के लिए करने लगा. उनकी आँखों में देखा तो वे मुझे अजीब तरीक़े से देख रही थी और मेरी पीठ पर हाथ फेर रही थी. ’वह दूसरी बार मेरी गांड में ही झड़ गया और मैंने जैक को मना किया, तो उसने मेरे बाल खींच कर अपना लंड मेरे मुँह में भर दिया और झड़ गया.