बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी

छवि स्रोत,बीएफ बीएफ चालू बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बॉयज सैंडल: बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी, मगर वो भी कहने लगी- आह … साले आज फिर मैंने लगातार तीन चार बार बेल्ट और मार दीं.

बीएफ इंग्लिश फिल्म चुदाई

दीदी की चूत खुल गयी और फिर अंकल ने अपनी पत्नी पिंकी के दोनों हाथों को ऊपर कर के सिर के ऊपर रख दिये. बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर चुदाईफिर जब मुझसे रुका नहीं गया तो मैंने रानी की चूत पर लंड को लगा दिया और एक धक्का दे मारा.

शादी की सभी रस्में ठीक प्रकार से संपन्न हो गयीं और अब चारू अपने ससुराल आ गई।सब कुछ ठीक था।हमारा संदीप और चारू के घर हर रविवार को आना जाना होता रहता था. हमको बीएफ देखना हैवो मना करने लगी, तो मैंने उसका पट्टा खींचा और उसके मुँह पर एक थप्पड़ मारा- चल साली कुतिया कर पेशाब!सुर्र सुर्र सुर्र.

आपको स्टूडेंट मॉम टीचर सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी: मैं मुस्कुराते हुए अन्दर गया, तो छोटी बुआ ने मुझे दूध का गिलास दिया.

मुझे सड़क पर आते जाते लोगों को देखकर ऐसी फीलिंग आ रही थी कि हम पब्लिक प्लेस में सेक्स कर रहे हैं.उसकी बुर पकौड़ा सी फूली हुई थी और एकदम कुंवारी थी … मतलब बिना चुदी हुई थी.

वीडियो बीएफ डाउनलोड - बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी

उसके गले पर किस करते हुए मैं धीरे से काट भी देता था और मेरा लंड उसकी गांड को टच कर रहा था; जिससे वह पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी।उसने मुझे लिटाया और खुद मेरे ऊपर आकर मुझे पागलों के जैसे किस करने लगी.दिखने में वो एकदम मस्त माल थी जब उसे पहली बार देखा तो मन में आया कि उसे वहीं पटक कर चोद दूँ.

तो मामी के मुंह से एक ज़ोर की कामुक सिसकी ‘आहह हह’ मुंह से निकल गयी. बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी उसकी कमर माशाल्लाह … क्या तारीफ करूँ … देखते ही हाथ घुमाने का मन हो जाता है और गांड के बारे में तो सोच कर लंड फनफनाने लगता है.

तभी मैंने सुना कि वे फुसफुसा रहे थे- यार … आज तुम्हारे बेटे ने आकर सारा खेल बिगाड़ दिया.

बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी?

वो पतली है लेकिन उसके चूचे एकदम सामने की तरफ नोकदार उठे हुए हैं और बड़े मस्त लगते हैं. अगर वो आपा थी तो उन्होंने एक बार गलती होने के बाद मुझे क्यों रोका था गलती दोहराने के लिए?इतना सुन ज़ोहरा बुरी तरह डर गयी. अब आप तो जानते ही हैं कि सर्द रात में जब अनजान लेडी सामने हो और शादी का माहौल हो तो वासना कितनी बढ़ जाती है.

वो कोशिश कर रहा था कि मेरी गांड का छेद थोड़ा और खुल जाये और जब मेरी गांड की चुदाई चालू हो तो मुझे कोई तकलीफ न हो. दोस्तो, काली ब्रा और पैंटी में उसका दूध जैसा गोरा शरीर अलग ही चमक रहा था. दोनों बुआ उधर नहीं थीं, तो मैं समझ गया कि ये दोनों मेरे कमरे में होंगी.

हम दोनों ने हामी भर दी। तभी मेरी दूसरी मामी आयी और बोली कि तुम दोनों में से कोई एक हमारे कमरे में चले आओ, जगह तो खाली है ही और आराम से सो भी सकोगे। इसी बात पर मेरे भैया ने मुझे कमरे में सोने के लिए भेज दिया।मैंने भी हामी भरी और मन ही मन खुश हो गया।मैं तो यही चाहता था कि मामी के साथ किसी न किसी तरह टाइम बिताने का मौका मिले और मैं उनके बदन को देखकर मुठ मारूं. मैंने उदास होते हुए कहा- मुझे भी तेरी बीवी सीमा के गोरे गोरे बदन का मज़ा चाहिए. जैसा मैंने बताया कि श्रुति भाभी ने मुझसे उनकी सहेलियों से मिलवाया था, उनमें से ही ये एक है.

अब मम्मी ने कहा- मज़ा आया? अब तुम खुश हो?अंकल ने कहा- मैं तुम्हें एक बार और चोदना चाहता हूँ. मेरी दोनों बहनें अब ऐसी बन गयी थीं कि मेरे लंड के बिना वो रह ही नहीं पाती थीं.

अब मेरी लोअर नीचे आ गयी थी और मेरा अंडरवियर भी नीचे कर दिया गया था.

मैं समझता था कि मेरी अम्मी एक पतिव्रता औरत हैं, उनकी उम्र अभी 41 साल की है.

जब मुझे लगा कि वो मेरे जिस्म की गर्मी को पाकर मेरे हवाले होने को तैयार हो रही है तो मैंने उसे धीरे से अपनी ओर घुमाया और उसके माथे पर एक प्यारी सी चुम्मी दी. मां ने ब्रा खोलते हुए कहा- तू चड्डी खींच कर निकाल दे और आज बिना किसी डर के मुझे चोद दे. गांव का माहौल आप जानते ही हैं … इसमें ये सब कर पाना बहुत आसान नहीं हो पाता है.

हमारे मोहल्ले में ही पास के मकान में एक अंकल रहा करते थे जिनसे हमारा अच्छा परिचय था. लंड को चूत पर रखने के बाद मैंने उसकी चूत में लंड को धकेला लेकिन लंड फिसल गया. उनका गोरा गोरा जिस्म मेरे दिल को बहुत सुकून दे रहा था।फिर मैंने कहा- माँ, आप उल्टी होकर मेरे ऊपर आकर लण्ड चूसो।माँ ने कहा- ओह मतलब बेटा तुझे 69 करना है?हां माँ” मैंने कहा।और वो मेरे ऊपर आ गयी.

मुझे अच्छी तरह याद है कि मेरे जीवन में मेरे जन्मदिन पर एक ही बार किसी ने मुझे सरप्राइज दिया था.

यूं ही कंधों पर खुले पड़े हुए थे। बालों में हेअरकण्डीशनर किया हुआ था शायद जो जबरदस्त मादकता फैला रहे थे।मैं पैंट पहन रहा था और भाभी बार बार मेरे लंड की ओर झांक रही थी. फिर मैंने अपने दिल को समझाया कि मुर्गी को अंडा देने तक का इंतजार करना ठीक रहेगा. उसके बाद वो ननद की चूत को सहलाने लगे और वो उसके लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

तभी मेरी मां ने कंडोम छीन लिया और कहा- अपने जीजा से कैसा परहेज है तुझे … कंडोम रहने दो और अपनी योनि को राजू के बाप के लिंग से संभोग करवा लो. उसके बाद मैंने कई बार भाभी की चुदाई की और साथ ही बहन की चुदाई भी की. रात में उसको चोदने का सपना देखते हुए मैंने मुठ मारी और अगले दिन का इतंजार करने लगा.

मैंने बोल दिया- तुम कोई डॉक्टर हो, जो तुमको पता है कि दर्द 4-5 दिन रहेगा.

मैंने हड़बड़ाकर जैसे ही पीछे मुड़ कर देखा, तो वहां आकांक्षा खड़ी हुई थी, जो मुस्कुरा भी रही थी. यह सोच कर मैंने कुर्सी की फोम निकाली और उसमें आग लगाकर खुद को सेंकने लगा.

बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही दो उंगलियां उसकी चूत में डालने की कोशिश की, तो वो कराह उठी. ”मामू, आप मेरे साथ???”हाँ बेटा, तुम ठीक समझ रही हो, अब तुम्हें फैसला करना है कि तुम रोहित को पाने के लिए ये सब करोगी या नहीं.

बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी उसको किस करना शुरू किया मैंने और धीरे धीरे करके उसकी चूत में आधा लंड घुसा दिया. अज़ीम ने अपना पूरा हाथ मेरी गाँड में डाल दिया था। जिसकी वजह से गांड में से खून बहने लगा।वह अब मेरी गाँड में अपनी मजबूत कलाई और हाथ से चुदाई कर रहा था। मेरी तो जान ही निकलने को हो रही थी.

अब मेरी लोअर नीचे आ गयी थी और मेरा अंडरवियर भी नीचे कर दिया गया था.

जिलेबी कैसे बनता है

जैसे कि ‘पर्दा नहीं जब कोई खुदा से, बंदों से पर्दा करना क्या … जब प्यार किया तो डरना क्या. मैंने रात में मुठ भी ये सोचकर नहीं मारी कि अब तो उसकी चूत में ही माल गिराना है. रुबीना बाजी को अम्मी अब भी गाली देती थी और मोटी गांड वाली नजमा बाजी तो मार भी देती थी.

सारे छात्रों के साथ मैं भी अन्दर जाने लगा,तो सर ने बोला- ये मेरी किताबें स्टाफ रूम में पहुंचा दो. खुशबू दो बार झड़ चुकी थी और अब एक बार फिर से उत्तेजित होकर मेरे लंड से चुदने के लिए मचल रही थी. [emailprotected]चुदाई चुदाई चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरे यार के लंड की महिमा अपरम्पार- 4.

अंकल मॉम की गांड मारते रहे और मॉम चिल्लाती रहीं- इह उम्म एयेए छोड़ दो … चूत फाड़ दो मेरी गांड छोड़ दो.

अभी तक मेरी कोई भी संतान नहीं थी क्योंकि शादी के बाद से ही हम दोनों की कभी भी बनी ही नहीं, इसलिए मुझे अपने पति के साथ साथ ज्यादा सेक्स करने को मिला ही नहीं. मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था।करीब 10 मिनट किस करते हुए हम एक-दूसरे के कपड़े उतार चुके थे. उन्होंने मेरे लन्ड को जोर से पकड़ा और उनकी चूत के मुंह के सामने रख दिया और कहा- प्यारे भांजे … अपनी मामी की आग और मत भड़काओ … अपने इस गर्म हथियार को मेरे बदन के अंदर डाल दो और अपनी मामी की प्यास बुझा दो।मैंने मामी की बात पर हामी भरते हुए उनकी चूत में लन्ड को डाल दिया जिसकी वजह से उनकी हल्की सी चीख निकल गई.

फिर जैसे ही वो ऊपर उठी हमने एक दूसरे की आंखों में देखा तो दोनों ही सेक्स के मूड में आ चुके थे. हमारा गाँव का घर बहुत बड़ा है और गाँव में केवल भैया भाभी और चाचा ही रहते हैं बाकी सब बाहर जॉब में हैं. मेरे पिता ने मौसी की योनि में उंगली डालकर चूसना चालू किया, मौसी भी उनका भरपूर साथ दे रही थीं.

चुदाई करते करते ननदोई जी मेरी चूचियों को खूब मसल रहे थे … कभी मेरे उरोजों के चूचुकों को अपने लबों में दबा दबाकर चूस रहे थे. और मुझे यह कहते हुए अजीब लग रहा है कि कुछ समय बाद मुझे वह सब कुछ बहुत अच्छा भी लगने लगा.

हम भाई बहन की चुदाई में हमारे माँ बाप रुकावट ना बनें, इसलिए मैंने योजना बनाकर बाप बेटी की चुदाई करवा दी. मेरी उम्र 29 वर्ष और मैं मध्य प्रदेश के इंदौर का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 5’5″ है और लन्ड का साइज 6. उसका लंड इतना बड़ा था कि मेरे गले में जाकर फिर अंदर धक्का मारता तो मेरी तो जान ही निकल जाती थी। कुछ देर ऐसे ही चलता रहा.

एक पल वो लंड देखती रही और इसके बाद उसने मेरा लंड चूसना चालू कर दिया.

अंकल ने एक तेज आवाज के साथ अपने लंड का वीर्य उनकी गांड में डाल दिया. उस दिन रात में मम्मी पापा के सोने के बाद वो दोनों मेरे रूम में आ गईं. दोस्तो, मेरे लौड़े को इसके पहले किसी भी महिला ने मुँह में नहीं लिया था और मुझे उस दिन पता चला कि इसमें कितना आनन्द है.

एक दिन कॉलेज से आने के बाद मैंने उसको कॉल कर दी फोन पर … फिर हमारी बातें होने लगीं. अम्मी ने दूध में नींद की गोली डाली और अपने गिलास बिस्तर के पास रख लिया.

उनकी ये साड़ी इतनी चुस्त तरीके से बांधी गई थी कि उनके चूचे साफ़ उठे हुए नजर आ रहे थे. कमरे में आते ही सबसे पहले भाभी ने मुझे वह गोली खिला दी और उन्होंने भी खुद एक गोली खा ली. पहले मैंने हाथ से सहला कर प्रिन्सिपल का लंड खड़ा किया, फिर सोफे पर झुक कर लंड चूसने लगी.

हैप्पी बर्थडे माय डॉटर

वे गांड मटकाते हुए प्रशान्त के पास गईं और प्रशांत मम्मी की चूत के नीचे मुँह खोल कर बैठ गया.

जैसे ही उसे मौका मिला तो उसने एक स्टेप में मेरे लंड पर अपनी चुत रगड़ दी और साथ ही अपने हाथ से मेरे लंड को मसल भी दिया. वैसे मेरा अपना मानना है कि जवान लौंडियों की चूत में 18 से 24 की उम्र में ज्यादा चुल्ल मचती है. जहां मेरे घर वाले मेरे लिए लड़का देखेंगे, मैं वहीं शादी करूंगी।अब हम दोनों की बहुत बातें हुआ करती थी। मैं उनसे फोन में भी बात कर लेती थी और मुझे जब भी बैंक से संबंधित कोई काम होता तो मैं बैंक में चली जाती और उस वक्त मुझे अमित जी मिल जाया करते थे। वे मेरा काम करवा देते थे.

मगर तब भी मुझे आज तक इस घटना को लेकर बार बार याद आता है कि कैसे मेरी बीवी ने अपने जीजा के साथ चुत चुदवा ली थी. मैंने मां को लेटने के लिए कहा, तो मां ने लेटते ही कहा कि मेरी चड्डी और अंगिया भी दिक्कत करे, तो तू उतार देना. चुदाई वाली बीएफ इंग्लिशदीदी उनके सामने पूरी की पूरी नंगी लेटी हुई थी और उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर जोर से सहलाते हुए मजा ले रही थी.

अम्मी ने थोड़ा सा सरसों का तेल अपने कूल्हों और गांड में लगाया क्योंकि फूफा को गांड मारने का बहुत ज्यादा शौक था. मैं भी जोश में आकर और तेज़ तेज़ चोदने लगा।अब दोनों की सिसकारियां निकलने लगीं और हम चुदाई में खो गये.

मैंने अपना लौड़ा चेन खोलकर बाहर निकाला और उसकी ग्रे कलर की छोटी सी निक्कर उतार दी. शकील ने कहा- इसमें परेशान होने की क्या बात है?अम्मी ने कहा- उसका पति उसे अच्छे से खुश नहीं कर पाता. जब दोनों को कोई दिक्कत नहीं तो आपको क्या है?वो बोली- वो सब तो ठीक है मगर मेरी बेटी भी है.

मैंने उससे पूछा- आह … ऐसा मस्त लंड चूसना कहां से सीखा?उसने बताया- पोर्न देख कर. रात होते ही अंजलि की हवस जागी और वो मुझे जगाने हाल में आ गयी।हम फिर से रूम में गये. मैं आपको बता दूं कि अंकल के घर में कुल तीन लोग थे- अंकल, उनकी पत्नी और उनकी बेटी शिल्पी.

मेरे बगल में शनाज़ और शनाज़ की बगल में अम्मी ने जोहरा आपा को बैठने को कहा तो उन्होंने कहा कि उन्हें भूख नहीं है.

अब जरा तुम ही सोचा कि जो आदमी अपनी बीवी के चेहरे में भी तुम्हारा चेहरा देखता हो तो वो तुम्हें किस कदर चाहता होगा … किस कदर वो तुम्हारा दीवाना होगा. वो मुझे पढ़ाते पढ़ाते कभी मेरे कंधे पर हाथ रखते, तो कभी मेरी पीठ पर और कभी मेरी जांघ पर हाथ रख कर मुझे समझाते.

मेरी कहानी कोई मनगढ़ंत नहीं बल्कि सच्ची चुदाई वाली कहानी है जिसमें मेरी पड़ोसन हॉट देसी भाबी ने मुझसे जबरदस्त चुदाई करवायी।मेरे बारे में तो आप सभी पिछली कहानी में पढ़ चुके हो कि मैं एक गठीले बदन वाला और 6 फीट की हाइट वाला, 30 साल का स्मार्ट और जवान लड़का हूं. जैसे ही हम बाहर आए मैंने एकदम आकांक्षा का हाथ पकड़ा ओर उसे साइड में ले गया. उसके बाद मैंने उसके मम्मों और होंठों को किस करके उसको दुबारा से गर्म कर दिया.

अर्धचेतना की हालत में भी चारू मुझे चूम रही थी और अपने मन से निकल रहे उन्माद को बयां करने की कोशिश कर रही थी- अन्नु … मेरी जान … तुमने आज मुझे शांति प्रदान की है. कोई पांच मिनट चूत चोदने के बाद मैंने उसे अपनी गोद में बिठा लिया और लंड को चूत में डालकर उसकी चूचियों को मसलने लगा. मेरी बहन मेरे लंड को सहलाती हुई कहे जा रही थी- आज मैं तेरे लंड सेअपनी चूत की प्यासबुझाऊंगी मेरे भाई.

बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी उसके बाद मैंने भैया को आवाज़ लगाई, तो भैया अन्दर से बाहर आए और बोले- हां मयंक बोलो भाई?मैंने कहा- भैया, अर्चना भाभी एक्टिवा की चाबी मंगवा रही हैं. शुरुआत में मुझे भाभी में कोई इंटरेस्ट नहीं था और ना ही ज्यादा ध्यान से कभी मैंने उन्हें देखा था.

सेक्स फुल सेक्स वीडियो

उसके बाद मेरे साथ क्या हुआ?शराब और शवाब का नशा कई बार जिन्दगी के सबसे अटूट रिश्तों पर भी कहर बन कर टूट पड़ता है. वो भी पूरे जोश से जीभ को ऊपर से नीचे तक चलाते हुए मेरी चूत और गांड के छेद को चाट रहे थे. इससे मेरी नींद खुल गयी और मुझे अपने भाई की इस गन्दी हरकत का पता चला तो मुझे बहुत बुरा लगा, मुझे बहुत गुस्सा आया.

जैसे वसंत ऋतु में जंगल नए रूप रंग में निखर आते हैं, वैसे ही माधवी भाभी का रूप, उनका गदराया बदन और उनकी हर एक अदा निखर रही थी. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मैं झड़ गया और बाजी रुक गई।वो मेरे ऊपर लेट गई।मैंने बाजी को चूमा और हम कपड़े पहनने लगे. हिंदी नाबालिक बीएफमॉम आगे की ओर भागने लगी लेकिन अंकल ने फिर से उनको पकड़ कर अपनी ओर कर लिया.

ज़ोहरा आपा को सजीधजी देखकर मैं भी बहुत खुश हुआ और उनसे हंस हंस कर बात करने लगा.

और साथ ही साथ बोल रही थी- मेरी जान, आज की ये रात तुमको हमेशा याद रहेगी कि कितनी किस्मत वाली गर्लफ्रैंड मिली है तुमको!अब सुधा सागर के होंठों पर अपने होंठ रख कर उसको चूसने लगी जिसमें सागर भी उनका साथ देने लगा. फिर मैंने उसका पट्टा जोर से खींचा और उसकी चूतड़ों पर कस कर एक बेल्ट मारी.

अब में पेट से होते हुए उसकी कमर के चारों ओर अपनी जीभ की नोक फिरा रहा था और वो तड़प रही थी. इसी के साथ उसने अपने होंठों को खोल दिया और उसी समय मेरी जीभ ने उसके मुँह में हमला कर दिया. एक तरफ प्रियंका भाभी की नयी चुत मिलने वाली थी इस बात की खुशी थी … और दूसरी तरफ चाची साथ नहीं आ रही थीं, उस बात का मुझे दुख भी था.

मगर तू चिंता न कर, मैं तुझे एक गर्भ निरोधक गोली लाकर दे दूंगा ताकि तो पेट से न हो जाये.

हम दोनों बस फ़ोन पर ही बातें करके मन शांत कर लिया करते थे … कुछ व्हाट्सएप पर भी चैट हो जाती थी. कुछ पल रुकने के बाद मैंने थोड़ा सा लंड बाहर निकाला और एक जोरदार फिर से धक्का दे मारा. क्या स्टाइल से लंड चूस रही थी … ऐसा लग रहा था जैसे कि कोई पोर्न स्टार मेरा लंड चूस रही थी.

सनी लियोन के बीएफ 2021लंड पर हाथ पहुंचते ही उसने पायजामे के ऊपर से ही मेरे लिंग को सख्त तरीके से पकड़ लिया और पायजामे के ऊपर से ही लिंग को ऊपर नीचे करने लगी. वो कुछ देर में खाना ले कर आई तो मैंने आँख मारते हुए धीरे से पूछा- कैसा लगा मेरा बदला?वो बिना शर्माते हुए शरारती अंदाज़ में बोली- शाम को बताती हूँ.

गांव की सेक्सी विडियो

जब वो कमरे में से झाड़ू लगा कर बाहर जाने लगी तो मेरे गाल पर प्यार भरा थप्पड़ लगा कर हंसते हुए निकल गयी. भाई ने मेरा एक हाथ उठा कर अपने लंड पर रख लिया … और मुझसे करीब होकर लेट गया. लेकिन मैंने जो देखा अपनी आँखों से … वही आपके सामने हूबहू पेश करने का यत्न कर रहा हूँ.

मैं भी उसको चूसते-काटते हुए बोला- हां भाभी, ये लंड आपका ही है … मैं आपको कस कर चोद दूंगा भाभी … आपकी चूत की प्यास बुझा दूंगा. हिम्मत करके मैंने पैंटी को थोड़ा और हटाया और उसकी चूत के पास मुंह को ले गया. इस पर मां बोलीं- मालिश बेटा रहने दे, तू थोड़ी कमर ही दबा दे, तुझे भी नींद आ रही होगी.

चूंकि मेरी बहन बिना चुदी हुई थी इसलिए उसकी बुर अब पूरी तरह से फट चुकी थी. तभी अचानक मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और चूसना चालू कर दिया. जीजा साली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी कुंवारी बुर की चुदाई के बाद जीजा की नजर साली की गांड पर थी.

मेरा लंड आन्दोलन करने लगा था और दिल ने बोला कि भाभी को चोद कर उनके बच्चे का बाप मैं ही बनूंगा. उसके दांत भींचे हुए थे और वो अपनी मुट्ठियों को बांधें हुए लंड को झेल रही थी.

मैं बहुत से शहर घूमा हूँ, पर पिछले तीन साल से तो गुड़गांव में ही रह रहा हूँ.

मैंने पहले उसे कॉल किया और पूछा कि मुझे मेन गेट से आना है या पार्लर वाले गेट से आना है. राजा महाराजा की सेक्सी बीएफउल्फ़त के बेड पर बैठते ही मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर लिप किस कर दिया. company बीएफहम सब काफी देर तक अपने बिस्तर पर बैठ कर बातें करते रहे। शादी में काफी महिलाएं भी आईं थी मगर मैं किसी को जानता ही नहीं था।मैं बस अपने मामा के बच्चों के साथ ही लगा रहता था लेकिन वो भी ज्यादा देर तक साथ नहीं रह पाते थे. वह मेरे हिप्स पर बहुत तेज मारता भी था बीच-बीच में … जिससे मुझे बहुत मजा आता था.

मॉम की चुदाई लाइव के पिछले भागमेरी मामी मेरे बॉयफ्रेंड से चुद गयीमें आपने पढ़ा कि मेरी मामी ने मेरे बॉयफ्रेंड से अपनी चूत और गांड मरवा ली.

मैं उसे थोड़ा और तड़पाने के मूड में था, तो मैं अपना लंड उसकी चुत की फांकों पर घिसने लगा. उसने मुझे भाईजान कहा, तो मुझे याद आया कि वह मेरी बहन लगती थी और मैं उसको चोदने की सोच रहा था. कभी मेरी जीभ को चूस रही थी और कभी मेरे होंठों को चूस रही थी।मैं गर्म होने लगा था.

मैंने उसको रोकना चाहा लेकिन वो पूरे जोश में था क्योंकि उसका अभी नहीं छूटा था. निशा भाभी- हां साले … क्यों दूध नहीं चूसना है क्या दोपहर जैसे?मैं- हां हां क्यों नहीं मेरी रंडी. मैं अपनी बाइक पर आने लगा, तो वो मुझे बोली- मैं भी तुम्हारे साथ बाइक पर चल रही हूँ … क्योंकि बारिश कभी भी आ सकती है.

भेरुजी फोटो डाउनलोड

जब मेरा होने को आया तो वो नीचे आ गईं और मैं खड़ा होकर भाभी के मुँह के सामने मुठ मारने लगा. मेरी बहन मेरी हरकतों से गर्म हो गई थी और उसकी कच्छी काफी गीली हो गयी थी. धीरे धीरे मेरे मन में फिर से मौसी के लिए वासना जागने लगी जो कुछ देर पहले मौसी के गिर जाने के कारण शांत हो गयी थी.

ब्रा में मेरे दूध एकदम फिट हो गए थे और मैं लड़कियों के जैसे दिख रहा था.

अब हालात ये हो गई थी कि वो खुद मेरे पास बैठने की इच्छा जाहिर करने लगी और इस तरह से हम दोनों क्लास में साथ में बैठने लगे.

इस पर टीना ने कहा- अच्छा जी!मैंने कहा- जी … हम तो पहले भी आपको बोल चुके हैं, अगर आप हां करें तो!उसने कहा- जॉगिंग के समय मिलना … फिर बताती हूँ. कुछ समय तक लंड अन्दर बाहर करने के बाद मैंने एक जोर से धक्का लगा दिया, जिससे मेरा पूरा लंड चुत के अन्दर समा गया था. बीएफ xxr6 2a कीमतऔर इसके अलावा वह अंकल एक ताश की गड्डी लाये थे उस ताश के हर कार्ड पे बहुत ही ज्यादा सेक्सी और संभोग के अलग-अलग आसन की फोटो बनी हुई थी.

मैं उसके दोनों चूचों को दबाने के साथ उसके निप्पलों को भी चूसने और काटने लगा. मैंने उसे रोका और कहा- मेरी जान … ऐसी ही खा जाओगी क्या … रुको पहले … तुम्हारी गहराई का आनन्द तो ले लूं मैं!ये बोलकर मैंने उसे खड़ा किया. भाभी ने वो सारा वीर्य पी लिया और मेरे लंड चाट कर एकदम शीशे सा चमका दिया.

मैं मुस्कुरा दिया तो उन्होंने वो ढोकला वाला डब्बा खोल कर एक ढोकला का पीस निकाला और एक दूसरे के मुँह के पास लाकर आधा आधा दबाते हुए खाने लगे. मैं इत्मीनान से उसकी काम उत्तेजना को देख रहा था और उसे अधिक ज्यादा भड़काने का प्रयास कर रहा था।मैंने भी उसे कसकर अपनी बांहों में भर लिया.

सत्यम के सीने से लग कर आज मुझे पहली बार इतना सुकून मिल रहा था, जितना कभी अपने पति की बांहों में नहीं मिला था.

उसी वक्त इस विचार ने मेरे लंड को एक सनसनी दे दी और वो तुनकी मारने लगा. फिर मैम मुझसे मेरे बारे में पूछने लगीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं. पहले तो मेरी बीवी ने राजीव को अपने पास देखा तो बहुत डर गई और वो सकते में आ गई.

बीएफ कार्टून की बीएफ फिर मैम मुझसे मेरे बारे में पूछने लगीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं. मुझे वह आवाज आज तक याद है चट चट की आवाज!और जैसे ही दीदी की गांड पर चांटा पड़ता, वह उछल जाती और मुझे मजा आता.

कुछ समय बाद माही भी मेरा साथ देने लग गयी और चुदाई का भरपूर मजा लेने लगी. शांता भी मज़े लेने लगी।कई मिनट तक मैंने उसको किचन में खड़ी खड़ी चोदा. हूर बहुत ही आकर्षक लड़की थी, उसका फिगर 34-28-36 का इतना अधिक मदमस्त था कि जो भी उसको एक बार देख भर ले, मेरा दावा है कि उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाएगा और वो मर्द उसको चोदने का मन बनाने लगेगा.

ओपन सेक्स हिंदी फिल्म

मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा वीर्य भाभी के कपड़ों पर गिर गया था. हालांकि उस समय तो सुमन भाभी ने शोभा भाभी से कुछ बातें की और चली गईं. एक बार चुदाई के बाद दुबारा हमें मौका नहीं मिल रहा था कि हम चूत गांड चोदन कर सकें.

सोते सोते ज़ोहरा आपा को पेशाब की हाजत हुयी तो वो उठ कर टॉयलेट जाकर नींद में वहीं सोफे के ऊपर सो गई. सुधा ने अपनी दोनों चूचियों को हाथों से सटा लिया और अब सागर मानो मम्मी की चूचियों को चोदने से लगा।लन्ड लम्बा होने के कारण सागर का लन्ड सुधा अपने मुंह में भी ले रही थी।कुछ देर बाद सागर ने सुधा को उठाया और सोफे के हत्थे की तरफ उलटा करके लिटा दिया जिससे सुधा की गांड ऊपर उठ गई.

लेकिन उसे क्या पता था कि उसके छोटे भाई अशफ़ाक ने उसे अपनी बीवी शनाज़ समझकर उसे चोद दिया था.

भाभी ने बोला- कॉलबॉय ऐसे नहीं करता … वो तो सामने वाले की फरमाइश पूरी करता है. इस पर उल्फ़त हंसने लगी और बोली- तो अपनी इसी तीखी मिर्ची से फ्रेंडशिप कर लो. उसने बिस्तर को सही किया और मेरे साथ बाहर वाले कमरे में आ गयी।वहाँ पर मैंने अपने कपड़े पहने और उसने अपनी साड़ी और अन्य कपड़े समेट लिए।मैंने उसे वो ब्रा और पैंटी दे दी जो मैं उसके लिए लाया था.

फिर मैं अपना गाउन पहन कर बाथरूम में जाने लगी तो ननदोई जी ने मुझे रोका और कहा- थोड़ी देर चूतड़ों के नीचे तकिया लगा कर लेटी रहो जिससे मेरा वीर्य बाहर न निकले. मैं बिस्तर पर गिरा तो भाभी ने मेरी अंडरवियर को खींच कर बाहर निकाल दिया. इससे सोनिया भाभी एकदम से बौखला गईं और उनकी उत्तेजना अपने शिखर पर आने लगी.

मैं अपना ऑफिस का काम करके आराम करने सोफे पर बैठा था।मैं मोबाइल में गेम खेल रहा था लेकिन मेरा ध्यान गेम पर नहीं था। बार बार मेरी आँखों के सामने शांता की बड़ी गांड आ रही थी.

बीएफ सेक्सी देहाती फुल एचडी: मैंने उसे गोद में बिठाया और बोला- अब तुम कली से फूल बन गई हो मेरी रानी. फिर सवा 9 महीने बाद मम्मी के दो लड़कियां हुईं, जो एक मेरी तरह और दूसरी पापा (प्रशांत) की तरह दिखती है.

आवाज आने के बाद मैंने हल्के से आंख खोल कर देखा कि वो बाथरूम में घुस गया था. हम दोनों की अच्छी बनती थी और वो मुझसे हर तरह की बात शेयर कर लिया करती थी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी गर्लफ्रेंड की सुहागरात की कहानी-2.

फिर 5-7 मिनट की चुदाई के बाद वो एकदम से धीमे पड़ते चले गये और मेरी पीठ पर ढेर होकर हांफने लगे.

मैंने देखा कि बापू ने दोनों गिलासों में दारू भरी और मां को भी दारू पीने के लिए कहने लगे. अम्मी ने कहा- मजाक नहीं … लगता है उसे तुम्हारा पिछवाड़ा पसंद आ गया है. सागर अपना हाथ मम्मी की गांड पर रख कर नाइटी की ऊपर से सहलाने, दबाने और मारने लगा।सुधा कुछ देर सागर के होंठ चूसने के बाद दूसरी तरफ मुंह करके 69 की पोजीशन में लेट गयी और सागर का लन्ड उसकी शर्ट्स के ऊपर से ही मसलने और चूसने लगी।सागर भी उनकी गांड से नाइटी उठा कर उसने अपनी उंगलियों पर थूक लगा कर उसमें उंगली करने लगा.