2020 के बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स बीएफ राजस्थानी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी आदावासी: 2020 के बीएफ हिंदी में, मैंने अपनी जीभ को बाहर निकाल कर उसकी चूत के अंदर डाल दिया तो उसने मेरे मुंह को अपनी चूत में घुसा दिया.

भोजपुरी में बीएफ सेक्सी वीडियो में

उसकी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था जिससे उसकी पैंटी गीली दिखाई देने लगी थी. सेक्सी बीएफ देहाती पंजाबीये बात सुनकर मैंने विक्की को एक स्माइल दी और उससे पूछा- कौन सा फ्लेवर है?इस पर उसने भी एक स्माइल दी.

उसने लंड का स्पर्श चुत पर पाया तो अपनी गांड को उठाते हुए मुझे आंख मारी. सेक्सी बीएफ भाई बहन की चुदाईमैं सोच रहा था कि हम सब कल ही उन दोनों के बारे में बात कर रहे थे और आज वो हमारे साथ हैं.

दरअसल मैं पैसे देने के बहाने से पूनम को अपना फोन नम्बर देना चाह रहा था.2020 के बीएफ हिंदी में: अब नजारा यह था कि मेरा एक बूब आगे वाला दबा रहा था और दूसरा बूब पीछे वाला मसल रहा था.

मैंने एक दिन काले रंग का डीप गले वाले वार्मर में अपनी तस्वीर निकाल कर अपनी व्हाट्सप्प प्रोफाइल पर लगा दी.मैं कार के पास जाकर उसमें छुपाया गुलाब बाहर निकाल लाया और पीछे करते हुए अन्दर आ गया.

बीएफ फोटो लड़की - 2020 के बीएफ हिंदी में

आदी जोर से चिल्लाया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो एक पल के लिए रुक गया.वो कामुकता से भरी सिसकारियाँ लेने लगी, बोलने लगी- अब सहन नहीं हो रहां है … प्लीज अपना लण्ड डालो! प्लीज़!लेकिन मैं अभी कहाँ डालने वाला था.

संदीप के भाई ने एक मेमने का जिक्र किया, वो उसके साथ खेल कर बहुत खुश रहता था. 2020 के बीएफ हिंदी में तुम्हारा मस्तक मुझे तब बड़ा ही दिलकश लगता है, जिस पर गुस्से में बल पड़ जाते हैं.

इतना कहने के बाद मैंने 15-20 जोर के शॉट मारे और हम दोनों साथ में ही झड़ने लगे.

2020 के बीएफ हिंदी में?

फिर भी दीदी के सामने मेरा शर्मीला रूप ही जाहिर रहा और मैंने फटाफट कपड़े पहन लिए और दीदी से चलने को कहा. दीदी की आवाज से मेरी तंद्रा टूटी- तेरा इरादा क्या है … वैसे तो बड़ी भोली बनती है और देख ऐसे रही है, जैसे मुझे खा ही जाएगी. तभी सागर का कॉल आने लगा तो प्रीत से बोली- यार मम्मी का कॉल आ रहा है, बाद में बात करती हूँ.

कुछ पल यूं ही चोदने के बाद संदीप मुझ पर से हट गया और उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा. विवेक की बात पर अभय ने उसको डांटते हुए कहा- साले ये औरत नहीं है, ये तो कच्ची कली है. मेरी चूत ने रस बहा दिया, तो मैं अपना वजन बिस्तर पर रखते हुए लुढ़क गई.

मेरे जन्मदिन पर इतना अच्छा उपहार देने के लिये धन्यवाद!असलम और राज अंकल ने भी मेरी और मेरी चूत की बहुत तारीफ की और कहा- फिर कभी आओ तो हमें चूत देकर जरूर जाना. मैंने अपने लण्ड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया तो संगीता को अच्छा लगने लगा. उसने जाते जाते परमीत से कहा- जा साली कुतिया मर, अब तेरे घर कभी नहीं आऊंगी.

तो संजय बारी बारी से मेरी गोरी चूचियों को चूसने लगा और बीच बीच में काट भी लेता. पीछे वाले आदमी का दूसरा हाथ मेरी नाभि पर था और उसका खड़ा लंड जो 8 इंच से कम नहीं था, वो एकदम मेरी गांड पे सहला रहा था.

क्या आप मुझसे मिलना चाहेंगे?”मुंबई में हूँ से क्या मतलब?” आप तो शायद मुंबई में ही रहती थी.

धीरे धीरे ज्योति को पता चला कि राकेश मात्र आठवीं पास है और कोई काम नहीं करता है तो ज्योति ने उससे दूरी बनाना शुरू कर दिया जो राकेश को बर्दाश्त नहीं है और तमाम तरीके की धमकियां देता है.

मैं अन्दर गई, मैं वहां पहले भी प्रीत के साथ आ चुकी थी, सो मुझे सब पता था. सास बच्चे की जिद में लगी है, अब उनको कैसे समझाऊं? अगर आज तुम ठीक से करे तो शायद मेरी जिंदगी संवर जाएगी।अब मेरी विचार धारा बिल्कुल बदल गयी थी, 12:30 बज रहे थे और मुझे कम से कम 3 गेम करना था।मैंने लन्ड को थोड़ा गीला किया औऱ आराम से डालने लगा. मैंने नंगे होकर थोड़ा मेकअप किया और फिर सिर्फ टी-शर्ट पहन कर बेड पर लेट गई.

मैंने पूछा- कैसा लग रहा है?पूरा बदन सिहर उठता है और लिपट जाने को जी करता है. मेरी मॉम चूत चुदवाते हुए उम्म्ह… अहह… हय… याह… इश्शस … करके बार-बार सिसकारियां ले रही थी. ”उससे क्या होगा?”मेरे भाग्य में होगा तो एक कुंवारी लड़की को छूने चोदने का मेरा सपना पूरा हो जायेगा.

कुछ देर तक मैं उनके होंठों को … या यूं कह लीजिए कि हम एक दूसरे के होंठों को चूमते और चूसते रहे.

मैं- तो कल रात पार्टी हुई है जम के, पर आवाज़ तो नहीं आयी गाने बजाने की … कोई आया गया भी नहीं?रोहित- नहीं भाभी कोई पार्टी शार्टी नहीं थी. वो बोले जा रही थी- आह … और जोर से पेलो … आह दी मेरी चूचियों को और जोर से चूसो … आह मेरी चूत को भोसड़ा बना दो. मैंने कभी सोचा नहीं था कि लड़की भी किसी मर्द के जिस्म की इतनी प्यासी हो सकती है.

उसका फ़िगर 34-26-36 का है, यानि कोई भी उसको नजर भरके देख ले, तो अपने आप ही लंड पर हाथ चला जाए. सुबह का नाश्ता भी कभी कभी ममता उसके लिए भी बना लेती और दोनों साथ नाश्ता कर लेते. वो अपन ही बेटी को धंधा करने के लिए परमिट दे रही थी, वो भी मेरे जीजा के कहने पर.

एक बार फिर से मेरी फुदी में से पानी निकलने लगा था और ड्राइवर उसे चाट चाट कर मुझे और भी मज़ा दे रहा था.

तभी दीदी ने नाश्ता करने के लिए बुलाया … और हम तीनों नाश्ता करने के लिए चले गए. उसने कहा- यह कैसे करोगे?मैंने आजू बाजू देखा, बस में आगे की सीट पर कुछ लोग बैठे थे.

2020 के बीएफ हिंदी में मेरे मुँह में भानुप्रताप अंकल का लन्ड था तो मेरे मुँह से सिर्फ गों गों की आवाज आ रही थी. मैंने अपनी जीभ को छुटकी चूत से बाहर निकाल कर अब उंगलियों का प्रयोग करना शुरू कर दिया.

2020 के बीएफ हिंदी में उसने आगे कहा- गीत जब तुम पास आती हो, तो मन में उमंग भर जाती है, एक खुशनुमा अहसास मेरा आलिंगन कर लेती है. उसने भी कहा- मुझे भी चरम सुख प्राप्त हुआ संजय … मैंने तुम्हारी आभारी रहूंगी.

सच कहूं, तो मैं उसके लिए खुश था … क्योंकि वो बच्चों से बहुत प्यार करती थी.

मैथिली बीएफ सेक्सी

मैं तो पिछले दो तीन दिन से एक ही बात सोच सोच कर परेशान हूँ कि भगवान भी कितना निष्ठुर है, जोड़ियां बनाता है लेकिन सबको जीवन का आनन्द नहीं लेने देता. बेटा शैली, तुम मेरी सेक्स की जरूरतें पूरी तो नहीं कर सकती लेकिन कम जरूर कर सकती हो. खाला हंसती हुई बोलीं- अरे बेटा जल्दी क्या है … तीन दिन बाद तो किला फ़तह करना ही है … जल्दबाज़ी क्या है?मैंने उनकी तरफ मुस्कुरा कर देखा.

बेड पर बैठकर मैंने अपना लण्ड लोअर से बाहर निकाल कर संगीता की स्कर्ट उठाई और उसकी पैन्टी नीचे खिसका कर उसे अपने लण्ड पर बैठा लिया. तुम रहोगी तो मुझे साथ मिल जाएगा और तुम्हारे हॉस्टल के पैसे बच जाएंगे. मेरी जीभ चुभलाते हुए भी उसके हाथ निरंतर मेरी कमर और कूल्हों को सहला रहे थे और दबाने मसलने का भी पूरा प्रयास किया जा रहा था.

तभी अचानक से प्रीत ने मुझे अपनी तरफ खींचा और आदी के सामने मुझे किस करके मेरे मम्मों को दबाने लगा.

मुझे अपने संदेशों के जरिये अपने विचारों से अवगत जरूर करायें और कहानी पर कमेंट करना भी न भूलें. जब तक लड़की का जिस्म खूबसूरत दिखता है, तब तक मर्द उस पर पैसे लुटाएंगे. क्योंकि कल स्वीटी आंटी जाने वाली थीं और मैं एक बार और उनकी चुदाई करना चाहता था.

दिन में किसी के घर जाना, वो भी अपने माल से मिलने, तो खतरा पूरा रहता है. ममता ने सर उठाया और अपने जलते होंठ राजन के होंठों पर टिका दिये और पागलों की तरह उसे चूमने लगी. तो उन्होंने मुझसे कहा- नहीं बेबी, आराम से करो, अपने होठों का अहसास मेरे लंड पर कराओ.

बेड पर आने के बाद हम दोनों इधर उधर की बातें करने लगे और लगभग एक घंटे बाद मैं बोला- तुम्हारी भाभी तो और ज्यादा मस्त हो गई है. दीदी- कुछ नहीं बस ऐसे ही … तुम कॉपी किताब क्यों लेकर आई हो?श्वेता दीदी- अरे कुछ नहीं ऐसे ही … क्या हुआ … तुमने उनके लैटर का जवाब दिया या नहीं?दीदी कुछ देर चुप रही.

मैंने कहा- आहह अंकल … हां ऐसे ही डालो अपना लन्ड मेरी गांड में! और जोर से अंकल … मुझे बहुत मजा आ रहा है. कुछ ही देर में वसुंधरा के जिस्म में उठ रही काम-हिलोर कम होते-होते बिल्कुल बंद हो गयी. मैं भी खड़े खड़े उसके लंड को पकड़कर आगे पीछे करने लगी।फिर वो बोला- मुंह में ले ले!मैं भी मना नहीं कर पायी और घुटनों के बल बैठकर अपने यार का लंड चूसने लगी।अब संजय ने कहा- बस अब बेड पर लेट जाओ।मैं लंड को मुंह से निकाल कर बेड पर लेट गयी.

उसकी मम्मी का मेरे पास कॉल आया- मेरे को 1-2 घंटे लग जायेंगे, आप टाइम पर जाकर के चंचल को पढ़ा देना।मैंने फ़ोन काटा और टाइम होने का इंतज़ार कौन करता, मेरे को पता था कि वो अकेली है.

जैसे ही मैंने उसकी चुत को चाटना और चूसना शुरू किया, वो बस अपनी चुत मेरे मुँह में धकेलने लगी. दीदी की आवाज से मेरी तंद्रा टूटी- तेरा इरादा क्या है … वैसे तो बड़ी भोली बनती है और देख ऐसे रही है, जैसे मुझे खा ही जाएगी. वो तो जब उनके चूचे से मेरी कोहनी टच हुई और भाभी ने मेरी तरफ देख कर आह भरी, तब मुझे लगा कि मुझसे गलती हो गई.

मैंने इस पोजीशन में उसका एक पैर हवा में उठा कर लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत पर सैट कर दिया. सुमित बोला- ये सप्लीमेंट वाले भैया ने तो कहा था कि आप डिस्काउंट दे दोगे.

वह बस मुझे चोदना चाह रहा था … वह भी बहुत ही बेदर्दी के साथ।कुछ देर बाद वो उठा और मुझे बिस्तर से बाहर खींच लिया और मुझे अपनी गोद में उठा कर लंड को मेरी गांड में डाल दिया और मेरे दोनों पैरों को कमर में फंसा कर मुझे जोर-जोर से उछालने लगा।तब भी उसका मन नहीं भरा तो उसने मुझे खड़ा कर दिया और खड़ा करके सामने से मेरी चूत में लंड घुसा दिया. लंड पर ऐसा महसूस हो रहा था जैसे किसी ने उसको मुट्ठी में जकड़ लिया हो. उनमें से हो सकता है कि मैं कुछ लोगों के मेल का जवाब ना दे पायी हूं, तो उसके लिये माफी चाहती हूं.

सी बीएफ डाउनलोड

उसके बाद मैं किसी और को अपनी जिंदगी में शामिल करती, उससे पहले गर्मी की छुट्टियों में ही मुझे शादी के लिए देखने एक लड़का घर आ गया और उससे इस शर्त पर बात पक्की हो गई कि मेरी पढ़ाई पूरी होने पर शादी होगी.

उन्होंने कहा- ये क्या था? कहां से सीखा ये?मैंने उन्हें आंख मारी और कहा- आंटी सब पोर्न से सीखा है … कैसा लगा?आंटी- अरे सच में काफी मजा आया. फिर हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और जब मैं जाने लगी तो उस लड़के ने मुझे एक महंगी वॉच गिफ्ट की. उसे क्या सूझी, उसने दो चाय बनायीं और ट्रे में रखकर बाहर बरामदे में आकर बैठ गया और ममता को आवाज दी- भाभी जी, आइये चाय पी लीजिये.

इसलिए ना तेरे भैया शादी करना चाह रहे हैं … ना तेरी दीदी की शादी होने दे रहे हैं. मैं जब दरवाजे के पास पहुंची, तो मुझे लगा कि दरवाजा अन्दर से बंद नहीं है, तो मैंने दरवाजा धकेल कर देखा. हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियोरिक्वेस्ट करते हुए मैं बोला- प्रोमिस करता हूं कि मैं तुम्हें हाथ भी नहीं लगाऊंगा.

वो दोनों आगे और पीछे से मेरी जांघों और मेरी गांड में फंसी हुई पैंटी को देख कर लार टपकाने लगे. इस बार मैम झुक कर मेरा लण्ड चूस रही थी कि तभी रमेश सर ने लंड उनकी गांड में डाल दिया.

कुछ देर ऐसे ही मैं कभी भाभी की चूत के दाने को चूसता, तो कभी चूत के अन्दर जीभ डाल कर चूसता. अब दोनों बांहें फैलाए हुए परमीत हमारे सामने सिर्फ ब्रा पेंटी में रह गई थी. मैंने मां से कहा- लेकिन मां, आज जो मैंने किया है उसको करने के बाद मेरे बदन में हर जगह दर्द हो रहा है.

फिर हम दोनों नंगे ही पड़े रहे और मैं भाभी के बोबे चूसते हुए ही उनकी बांहों में ही सो गया. उसने आंखों से पट्टी हटा कर साइड से झांका तो मैंने उसके मुंह में अपनी चूत अड़ा दी. कोई 5-7 मिनट तक वैसे ही चुम्मा-चाटी के बाद जेठजी अपना एक हाथ मेरे पिछवाड़े से हटा कर मेरे चुचे पर रख दिए और मेरे दोनों चूचों को बारी बारी से मसलने लगे.

एक दिन दोपहर का समय था, मैं दीदी के कमरे में बैठ कर होमवर्क कर रहा था.

हमने अपना एक कदम ही बढ़ाया था कि संदीप के छोटे भाई ने ललक कर हमारे पांव छू लिए और छोटी बहन ने गले लग कर प्रेम प्रदर्शित किया. चूंकि वो मुझसे उम्र में छोटा है … इसलिए उसने मुझे बड़े सम्मान से नमस्ते भी की.

मैं दीदी की बात सुनकर मैं उनकी चुत में और जोर जोर से धक्के मारने लगा. इस पर उसने कहा- देखिए मैं आप लोगों को काफी समय से देख रहा हूँ, आप लोग दुकानों में गए और निकल आते हैं, ऐसे में आप बिना पसंद या जानकारी के उपहार पसंद नहीं कर सकते. दूसरी सवारी को दोनों सीटों के बीच वाली जगह पर बैठना था और वहाँ पर गियर हैंडल भी था.

उसकी बातों के जवाब में मेरे मुँह से निकल गया- आहह संदीप … आह … ऐसे ही चोदते रहो … आहह संदीप लव यू यार!यह कहते हुए मैं झड़ गई. मैंने कहा- पायल बेटा, ऊपर वाले हिस्से की मालिश भी करवाना चाहोगी क्या?वो बोली- हां नानू. मैं दीदी की बात सुनकर मैं उनकी चुत में और जोर जोर से धक्के मारने लगा.

2020 के बीएफ हिंदी में जब वो बाथरूम की तरफ जा रही थी, तब मैंने नोटिस किया कि उसकी चाल थोड़ी लड़खड़ा रही थी. मेरे एक हाथ में मोबाइल था, पर एक हाथ को मैंने अपने ही जिस्म को सहलाने के लिए आजाद कर रखा था, साइज क्या था, बाल कितने थे, ये सब मां चुदाए, आप तो बस ये पूछो कि मन कहां था, ध्यान कहां था, बेचैनी कितनी थी, किसे महसूस किया.

भोजपुरी सुहागरात की बीएफ

मगर अचानक ही उसकी नींद खुली और उसने मेरे हाथों को अपने बदन से अलग कर दिया. मैं- अब क्यों डांटेंगी … अभी तो बोली नहीं बताओगे, तो मम्मी डांटेंगी … अब कहती हो कि बताओगे तो डांटेंगी. क्योंकि मैं हमेशा नए लोगों से मिलने के लिए और नए दोस्त बनाने के लिए उत्सुक रहता हूं.

इस पर दीदी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा- अरे बैठ तो सही … अभी तो तुम लोगों से मेरी कोई बात भी नहीं हुई है, ऐसे कैसे चली जाओगी. यहां आधुनिकता से अलग, किन्तु एक मोहक अंदाज में जन्मदिन मनाया जा रहा था. गुजराती सेक्स वीडियो बीएफआज शैली को पूरी नंगी करने में मुझे कोई भय नहीं था क्योंकि आज तो उसकी मम्मी ने ही उसे मेरे पास चूत चुदाई के लिए भेजा था.

यही पास के इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ता हूँ फाइनल ईयर, कंप्यूटर ब्रांच!उसने बस इतना कहा और फिर डर के मारे भाग लिया.

हमेशा की तरह उसने मुझे फोन करके बुलाया तो अपने मीटिंग प्वाइंट पर पहुंच गई. बेड पर आने के बाद हम दोनों इधर उधर की बातें करने लगे और लगभग एक घंटे बाद मैं बोला- तुम्हारी भाभी तो और ज्यादा मस्त हो गई है.

मैं- तो आपने बर्दाश्त कैसे किया था?भाभी- तब तो तुम्हारे भाई ने जबरन पेल दिया था. मैंने अपना लोअर उतार दिया और उसके ड्रेसिंग टेबल पर रखी कोकोनट ऑयल की बॉटल उठा लाया. फिर परमीत ने हमारे सामने हाथ जोड़ लिए और हमारी बातों को मानने के लिए तैयार हो गई.

मैंने एक बार ही नजर उठा कर दीदी को देखा, वो मुझे बहुत ही ललचाई नजरों से घूर रही थीं.

मैंने जल्दी से अपना मुँह उनकी चूत पर लगाया और उनका सारा पानी पी गया. इससे पहले कि मैं उसके लंड को चूसने के लिए नीचे झुकती उसने मेरे दूधों को ब्लाउज के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया. परमीत की आवाज ट्रेन की साइरन की तरह हमारे कानों में टकराई और हम दोनों एक साथ खुश होकर सीधे घुटने के बल बैठ गए.

देसी बीएफ इंग्लिश मेंमेरा दिल जोरों से धड़क रहा था, क्योंकि मैं बहुत बड़ा कदम उठाने जा रहा था. पर उनको कोई फर्क नहीं पड़ रहा था, मेरी हर चीख के साथ उनकी रफ़्तार तेज़ हो रही थी.

कॅटरिना कैफ बीएफ

वो जब भी अकेले में मिलती थी, तो कभी मेरी चूची मसल देती थी, तो कभी चुत को सहला देती थी. ‘प्रिया मैं तुम्हारी परेशानी को समझ सकता हूं … लेकिन मैं तुम्हें यकीन दिलाता हूं कि मेरी वजह से तुम्हें कभी कोई परेशानी नहीं होगी … हमारे बीच जो कुछ भी होगा, वो तुम्हारे, हमारे और श्वेता के बीच ही रहेगा … तुम्हारे मम्मी और पापा को कभी नहीं पता चलेगा. हम सब नंगे ही टेबल पे नाश्ता करने लगे।आखिर में मैम फ्रीज़ से आइसक्रीम लायी.

मुझे उससे मिले एक साल ही हुआ था, उसकी पढ़ाई पूरी हो गई और वो अपने शहर लौट गया. अब मैंने भाभी को लिटाते हुए उनकी टांगों की तरफ अपना मुंह कर लिया और मेरे होंठ भाभी की चूत पर जा सटे. इस पर वो थोड़ा सा शरमाई … फिर बोली- मैं इतनी भी खूबसूरत नहीं हूँ … आप झूठी तारीफ कर रहे हो!अरे नहीं … मैं सच बोल रहा हूँ.

मगर अभी मेरे दिमाग में एक ही भूत सवार था कि मैं किसी तरह उसको इतनी गर्म कर दूं कि वो अपनी चूत को चुदवाने के लिए तड़प उठे. अब आगे:फिर एक बजने वाले थे, तो उसने मुझे फोन करके कहा- मैं आ रहा हूँ … कोई है तो नहीं?मैं बोली- नहीं, कोई नहीं है … आ जाओ. इस पर मैंने चाची से अपना लंड चूसने को कहा तो चाची मना करने लगीं और बोलीं- मैंने कभी लंड नहीं चूसा है.

दीदी ने ट्रे रखते हुए कहा कि घर के सभी बाहर गए हुए हैं … दो दिन और नहीं आएंगे, तो मैं बाजार से कुछ सामान लेकर आ जाती हूँ, तब तक तुम लोग बातें करो. फिर भानुप्रताप अंकल ने मेरे मुंह से लन्ड निकाल कर मेरी चूत में डाल दिया और सुधीर सर ने मेरे मुँह में!सर ने 2-4 धक्के मेरे मुंह में लगाये और अपना सारा वीर्य मेरे गले में उतार दिया जिसे मैं बहुत मजे से पी गयी.

उनके दोस्त मेरी चूत चाट रहे थे और बॉस ने अपना मोटा लंड मेरे मुँह में डाल दिया! मैं भी मजे से उनके लंड को चूस रही थी.

खैर यह छोटी सी मुलाकात मेरे सुने जीवन में कुछ उम्मीद जगा गई क्योंकि मैं जीवन से इतना निराश था कि कई साल से अकेला रहता हुआ मैं अपनी एक अलग ही दुनिया में बस गया था. बीएफ सेक्सी देसी साड़ी वालीलाल सुपारे के साथ गेहुंआ रंग का जेठजी का लंड, जो अभी आसमान की तरफ मुँह उठाये खड़ा था … बीच बीच में कभी वो मेरी तरफ हल्का सा झुक जाता, फिर एक झटके और अकड़ के साथ आसमान की तरफ देखने लगता. हिंदी बीएफ सेक्सी नईअंदर आकर मैंने देखा तो संजय नीचे खुले में खड़ा आंख बन्द किये लंड को हिला रहा था।मैं चुपचाप खड़े उसके लंड को देख रही थी और वो मस्ती में आंख बन्द किया लंड हिला रहा था. शर्मा अंकल- अरे! भाभीजी उस दिन आप लग भी तो रही थी मेरी फ़ेवरेट पोर्नस्टार मिया खलीफा के जैसी.

अभी पढ़ाते हुए 15 दिन ही हुए थे और संगीता के साथ मेरा रिश्ता झप्पी और चुम्बन तक आ गया था.

उसने एक सेल्फी भेजी जिसमें वो मैक्सी में थी, ऊपर हाथ करके ली गई सेल्फी थी, हल्के से दूध दिख गए मुझे!मैंने रिप्लाई दिया- सो हॉट!उसने बोला- हट!मैं बोला- आप तो सच में बहुत मस्त दिखती हो. ये देख कर मैं बहुत दुखी हुआ, पर उसकी केयर करनी नहीं छोड़ी … और कहीं ना कहीं से उसके बारे में जानकारी लेता रहता था. इसके बाद मालकिन पलंग पर आराम से पेट के बल होकर लेट गई और उन्होंने अपने दोनों हाथों से अपना पेटीकोट ऊपर करके खींच लिया.

डोली भी अपनी कमर उठा रही रही थी … मानो उसकी चुत लंड को पकड़ना चाहती हो. इस दौरान उसकी नजर मेरे खड़े होते लौड़े पर थी और मेरी पिपासु नजरें उसकी मदमस्त चूचियों का आंखों से चोदन कर रही थीं. जैसे ही मैंने उसे अन्दर किया मुझे बहुत दर्द हुआ, मैंने उसे बाहर निकाल लिया। मैं उस केले को वहीं रखकर कमरे से बाहर आ गई।मेरे घरवाले 2 दिन तक आने वाले नहीं थे। मैं शाम को जब बाजार गयी तो कंडोम के दो पैकेट खरीद कर ले आयी। उस दिन के खाने की मुझे चिंता नहीं थीं, क्यूंकि वो फ्रिज़ में पहले से ही रखा था। मैं फ्रिज़ से खाना ले कर खाने लगी.

हिंदी बीएफ चूत लंड वाली

वो मेरा हाथ पकड़ कर बोला- मैंने तो आशा ही छोड़ दी थी कि तू मुझे वापस कभी मिलेगी. मैं बोली- ये लो … फ्रेंड्स के साथ 6 से 9 मूवी देख कर आना और खाना बाहर से ही खाकर आना. फिर जब नींद आने लगी, तो मैंने खुद को साफ करते कपड़े पहन कर सोना ठीक समझा और वैसा ही किया.

”अच्छा आप बताइये … आज कैसे याद आई आपको मेरी?”कुछ नहीं … याद तो आपको बहुत किया क्योंकि आपने जो निस्वार्थ मेरी मदद की वो मैं भूल नहीं सकती.

श्वेता दीदी- अरे बोलो … मुझसे क्यों छुपा रही हो … कोई दिक्कत है तो बताओ.

जब मेरा निकलने वाला था, तो मैंने झट से कंडोम निकला और आंटी के स्तनों पर अपने वीर्य को छोड़ दिया. तभी अचानक से उन्हें पैरों पर चींटी ने काटा … जिसकी वजह से वो थोड़ी नीचे झुक गईं. सेक्सी बीएफ बिहार के वीडियोमैं बोला- अच्छा!उसके बाद सुषमा ने पूछा- कहाँ से हो आप?मैं- बिलासपुर … और आप कहाँ से हो?सुषमा- प्रोफाइल में पढ़ लो.

वो घबराते हुए- आइये ना अंदर!अंदर जाते ही माहौल पता चला, खूब गंदगी थी, खाने के पैकेट इधर उधर और कुछ बियर की बोतलें भी थी. मुझे पता ही नहीं चला कि कब उसका एक हाथ मेरे मम्मों पर आ गया और वो दबाने लगा. फिर 2 दिन बाद मैंने शाम को उसको चोदने के लिए तैयार किया और हम लोग चुम्मा चाटी करते हुए नंगे होकर चुदाई करने लगे.

मैं ये सब बातें मम्मी से नहीं पूछ पाती थी, क्योंकि वो सब ब्रा पैंटी मुझे मेरे ब्वॉयफ्रेंडस लाकर देते थे. आपके गुलाबी गाल … जब आप हँसती हो तो गुलाब से खिल उठते हैं।”इतना कहकर मैं रुक गया। हम दोनों ने असहज महसूस किया। मैं कुछ ज्यादा बोल गया था। मैं माफी मांग कर अपनी गलती जाहिर नहीं करना चाहता था।दीदी बोली- मेरी आज तक किसी ने ऐसे तारीफ नहीं की, आशू ने भी नहीं.

इनमें से कुछ तो मुझे अपनी बहू समझते हैं, कुछ भाभी समझते हैं और कुछ अपनी रखैल की तरह समझते हैं.

उस समय उसे ये सब नहीं पता था, तो उस टाइम कोई प्रॉब्लम नहीं हुई … लेकिन अब वो बड़ा हो गया था. मैं निधि की इस समझदारी देख कर हैरान था और मेरा गुस्सा भी थोड़ा शांत हो गया था. कई मिनट तक मैंने उसके लंड को चूसा और फिर उसने मुझे 69 की पोजीशन में कर लिया.

सनी लियोन की बीएफ वीडियो बीएफ मुझे बेबस देखने के अलावा कुछ भी न कर पाने की स्थिति बनाने के बाद उसने अपना ब्लाऊज़, ब्रा, पैंटी और पेटीकोट भी निकाल दिया. उनसे बात करते हुए मैंने नोटिस किया कि वो मेरी चूचियों की तरफ देख रहे थे.

मीना उस दिन से लेकर आज तक जब मौका मिलता है, मेरा लण्ड अपनी चूत में ले लेती है. मुझे इस समय मेरी परीक्षा ज्यादा महत्वपूर्ण लग रही थी और मैं देरी नहीं चाहता था तो मैंने ओके कह दिया. जेठजी मेरी तरफ ही देख रहे थे, जैसे वो जानने को बेचैन से थे कि आगे मैं क्या करने वाली हूँ?मैं उनकी मनोदशा समझ गयी और अब मुझसे भी और देरी बर्दाश्त नहीं हो रही थी.

अभी वाला बीएफ

इस पर मनु ने मस्ती से कह दिया- अभी पटा नहीं है … इसलिए बॉयफ्रेंड नहीं कह सकते. मैं उसके और उसके बॉस के साथ मजे लेने की बात कर रही थी कि तभी पीछे से बिक्कू आ गया. वैसे तो यहां काम करने के लिए एक मेड आती थी, लेकिन वो एक महीने की दो हफ्ते की छुट्टी लेकर अपने गांव गयी थी.

मैं फोन लिए ऐसे ही ब्रा पैंटी में ही लेट गई और उससे बातें करने लगी. इधर पैन्ट में मेरा लंड लंबा कड़क होकर सावधान पोजिशन में खड़ा हो चुका था.

मैं- और दबाऊं?मालकिन- अरे हां दबा ना … और किसलिए इन्हें नंगा किया है.

मैंने यह दिखाया उसके सामने कि जैसे मैं अपने जीवन में जिस बड़ी चीज का हकदार था, उससे वंचित रह गया उसके कारण. मुझे दर्द हो रहा था, मैं छः रही थी कि अंकल अपना लंड मेरी चूत में से निकाल लें. अब मैंने अपनी चूत को एक हाथ की दो उंगलियों से फैलाने का प्रयास किया और दूसरे हाथ से केले को पकड़ कर चूत में डालने का प्रयत्न करने लगी.

थोड़ी देर बाद, भाभी ने कहा- और अच्छे से कर ना … मैं स्ट्रीप खोल देती हूँ. इस बार मैंने विक्की को बेड पर लिटा दी और उसके ऊपर चढ़ कर उसका लंड चुत में लेकर बैठ गई. फिर मोना ने मुझे इशारा किया, तो मैं डोली के ऊपर चढ़ गया और उसकी चुची मसलते हुए उसके होंठों को चूसने लगा.

मैं बोला- अच्छा सुषमा जी आप! बोलो क्या हो रहा है?बोली- कुछ नहीं, बच्चा स्कूल गया है.

2020 के बीएफ हिंदी में: कुछ ही झटकों के बाद उन दोनों के गले से कामुक आवाजें कमरे में गूँजने लगीं. उसने कहा- नहीं सर … ऐसा मत करो!मैंने कहा- क्यों? मजा नहीं आ रहा?तो उसने कहा- नहीं सर … ऐसी बात नहीं है … पर ये सब कुछ जल्दी नहीं है?मैंने कहा- प्यार करने के लिए कोई जल्दी नहीं होती है, आज नहीं तो कल होना ही है, तुम सोचो मत … बस मजा लो और मुझे भी मजा दो.

कपड़ों के सभी आवरणों सहित मेरा पत्थर सा उत्तेजित लिंग वसुंधरा के नितम्बों की दरार में लंबरूप फ़िट था. उसने एक लकड़ी का फट्टा निकाला और हमारी स्कूटी को ऑटो पर चढ़ा कर पीछे खड़ा करके बाँध दिया. मैं उसे चोदने लगा, वो बोल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्महह आह आह आह … ज़ोर से चोद … और जोर से!कमरे में फच फच फच की आवाज आ रही थी.

मैंने भी ज़ोर ज़ोर धक्के मारे और करीब 5 मिनट में ही झड़ने वाला हो गया.

उसने एक हाथ से लंड पकड़ कर चूत में डालने की कोशिश की, पर इस आसन में चूत का द्वार आसानी से नहीं मिलता, जिस वजह से लंड चूत में घुसने की बजाय छिटक गया. फिर मैंने उसका सिर पीछे से पकड़ कर अपना लंड उसके मुँह में दे दिया और उसके गले तक पेल दिया, जिससे उसकी आंखें फट गईं. उसने खुद ही मेरा 7 इंच का लंड पकड़ लिया और जोर जोर से आगे पीछे करने लगी.