बीएफ पिक्चर दिसणारा

छवि स्रोत,पंजाबी ब्लू सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ 2000: बीएफ पिक्चर दिसणारा, बस फिर क्या था … मैंने लंड को चुत से सुपारे तक पूरा बाहर किया, थोड़ा सा लंड उसकी चूत की छेद में अटकाए रखा.

स्कूल यूनिफार्म ड्रेस

जब से तुम्हारा मोटा और लंबा लंड देखा है, तब से मेरी चुत बार बार गीली हो जाती है. সেক্স বাঙালি ভিডিওपहले तो वो मेरे सीने से चिपक गईं मगर एक मिनट बाद ही भाभी मुझसे दूर हो गईं और मेरे एक गाल पर किस दे दिया.

सोचा कि साला 4 दिन तो कुछ नहीं होगा अब … क्योंकि भैया और भाभी 4 दिन बाद ही गांव से वापस आने वाले थे।मैंने भाभी को फिर मैसेज किया. इंडियन सेक्सी बीपी एचडीवो भाभी किसी से पार्क में बात नहीं करती थीं और अकेली ही आती जाती थीं.

फ़िर मैंने उसकी टांगें ऊपर कर दीं और उसकी चूत के छेद में जीभ डालकर अन्दर बाहर करने लगा, चूतरस का पान करने लगा.बीएफ पिक्चर दिसणारा: मैंने फिर से लंड का सुपारा चुत पर लगाया तो इस बार लवी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत की दरार में लगा दिया और पकड़ के रखा.

बंशी सीमा के गांव से पांच किलोमीटर की दूरी पर रहता था, जहां से वह कॉलेज जाया करती थी.विशू बोला- तो क्यों रोक कर रखा है इनको … जाने दे अब!उसने कहा- अरे एक एक डबलरोटी वाला राऊंड मार लेते हैं, बहुत दिन हो गए हैं.

देसी एक्स एक्स व्हिडीओ - बीएफ पिक्चर दिसणारा

हनी को अपनी गांड पर सोहल की उंगलियों का चलना बेहद रोमांचक लग रहा था इसलिए उसने सोहल से कुछ नहीं कहा.जिया दीदी के कातिलाना मम्मों को मसलते हुए मैं अलग ही सुख और लज्जत महसूस कर रहा था.

अंकल का काला लंड, उसके ऊपर लाल टोपा और थोड़ी सी उसमें से आने वाली मादक महक मुझे बेकाबू कर रही थी. बीएफ पिक्चर दिसणारा दोस्तो … अभी इस ओरल सेक्स लंड चुसाई कहानी को यहीं ख़त्म करते हैं, पर अभी मेरठ से मुजफ्फरनगर का ये सफर बाक़ी है.

उनका हाथ अब कंधे की सीध में था।जाने अंजाने उनका हाथ मेरे लंड पर रख गया। मेरा लंड फिर से फुफकारने लगा.

बीएफ पिक्चर दिसणारा?

उसने मेरा सर पीछे से पकड़ा और अपने होंठ मेरे होंठों से सटा दिए और मेरे होंठों को चूस कर अपनी मुँह में भर लिए. अब दीदी ने अपना मुंह खोल दिया और मैंने अपना लंड दीदी के मुंह में दे दिया. जिया दीदी- क्या सच में तुम मेरे साथ सेक्स करना चाहते हो!मैं- हां दी, मेरा बहुत मन है और आप ही मेरी मदद कर सकती हो.

लॉकडाउन के समय रात के ग्यारह बजे मैंने दीदी को फोन किया था लेकिन पहली बार की रिंग में जिया दीदी ने फोन नहीं उठाया तो मैंने दोबारा फोन किया. कुछ देर बाद उसने लंड मुँह से बाहर निकाला और कहने लगी- अब रहा नहीं जा रहा है … मुझे जल्दी से चोद दो सलीम. फिर उस लड़के ने मुझे अपने दोस्त के साथ सेक्स करने के लिए कहा तो मैंने मना कर दिया.

मैं जब भी कॉल करती, वो ‘अभी थोड़ा बिजी हूँ, शाम को करता हूँ बात!’ऐसा बोल कर फ़ोन रख देता. लंड सकिंग सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी सेक्स स्टोरी पढ़कर एक लड़की ने मुझसे मिलना चाहा. मैंने उसके होंठों पर किस करना चाहा, तो उसने अपनी गर्दन को घुमा लिया जिससे किस उसके गाल पर हुआ.

मैंने ये तो नहीं देख पाया था कि मुझे इस तरह से देख कर वो क्या सोच रही होगी. फिर जो मेरी नीचे चूत को चोद रहा था, उसका पानी झड़ गया और उसने अपना सारा पानी मेरी चूत में ही निकाल दिया.

मैंने उनके मम्मे दबाकर चूसना चालू किया ही था कि मामी भी चालू हो गईं.

शब्बो की गांड को एक हाथ से खोलते हुए उसने तेल उस छेद पर टपकाना चालू किया।ठंडा ठंडा तेल गांड पर गिरते ही शब्बो की सिसकारी निकल गयी और अब वो उस मजे के लिए धीरे धीरे खुलने लगी।वीरू की उंगलियां अब उस गांड के भूरे रंग के छेद पर मंडराने लगी थीं.

अगर तुम मना करोगे तो मैं सबको चिल्ला कर बुला लूंगी और तुझे दिक्कत हो जाएगी … सोच लो. उसने मुझे ही अपनी वासना पूर्ति का साधन बनाया और मेरे लंड के साथ खेली. इधर आंटी टुन्न हो गई थीं, वो अपनी दुखभरी कहानी सुनाने लगीं और रोने लगीं.

मैंने मन ही मन में सोचा कि चाची से यदि और कोशिश की जाए तो काम बन जाएगा. जब मैंने पूरा डाल दिया तो पूछा- शुरू करूं?वह हल्का सा मुस्करा दिया. सोहल ने हनी की चुदास को समझ लिया और वो उसकी टांगों को खींच कर उसे बेड के किनारे पर ले आया.

पांच मिनट में ही सरिता वापस कमरे में आई … उसने धोयी हुई पैंटी और ब्रीफ लाकर मेरे कमरे में सुखाने को डाल दी.

पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था क्योंकि धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है. हम दोनों के साथ अच्छी बात ये भी थी कि हम दोनों एक ही कमरे में सोते थे. अन्दर आकर हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए और पागलों की तरह एक दूसरे को काटने चाटने लगे.

दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और अपनी जीभ एक दूसरे के मुँह में देने लगे. रीना ने उसे रोक दिया, तो हसित रीना के मम्मों पर ब्रा के ऊपर से किस करता हुआ नीचे उतर आया. लेकिन फिर उसने बातचीत शुरू की और मुझे पूछा- आपको कहां जाना है?मैंने बताया कि मुझे जयपुर जाना है.

फिर से सेक्स पोजीशन में आकर मैंने उसकी चूत की फांकों में लंड का सुपारा लगाया और एक धक्का दे दिया.

ऐस लिक हॉट स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी सहेली की शादी में गई थी। वहां दुल्हे का भाई मुझ पर लाइन मार रहा था. शराब पीते पीते मैंने सत्या से कहा- यार, तू बहुत खुशक़िस्मत है कि तुझे शिल्पा जैसी बहुत ही खूबसूरत गर्लफ्रेंड मिली.

बीएफ पिक्चर दिसणारा कोई मेरीचुत का भुर्ताबनाता, कोई मेरी गांड का, जिसे अच्छा लगता वो मुझसे अपना लंड चुसवाता. हसित ने फिर से ऊपर उठ कर ब्लाउज के ऊपर से दोनों मम्मों को किस किया.

बीएफ पिक्चर दिसणारा थोड़ी देर पैर भी दबाकर तू जाकर पढ़ाई कर … तुझे अभी होमवर्क भी कम्पलीट करना होगा।मैंने भी हां कर दी. तुम और श्रुति दोनों पढ़ते हो, तो अगर तुम दोनों एक साथ पढ़ो तो काम बन सकता है.

अब आगे ननद भाभी सेक्स कहानी:भाभी वैसे तो बहुत सुंदर थीं, पर आज मेरा पूरा ध्यान उनकी कोमल नाजुक चूचियों पर ही था … क्योंकि वो चूची ना होतीं, तो वो लाल चोली न होती.

भोजपुरी हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो

प्राची का बदला हुआ रंग देखकर मैं समझ गया कि इसका मन तो बहुत है लेकिन थोड़ा सा डर रही है. इस पूरे दिन उसको कई बार हैलो लिखा मगर उसने मेरे किसी मैसेज का जवाब नहीं दिया. मैंने इठला कर अपने मम्मे उसकी तरफ ताने और पूछा- किस लिए?उसने बिंदास मेरे स्तनों को पकड़ कर कहा- आप भूल गईं कि आपको पांच लीटर दूध देना है.

ससुराल में मेरे पति नमन जिनकी उम्र 23 साल लन्ड 8”, सास शांति उम्र 40 साल भरे पूरे बदन वाली औरत और मेरे ससुर जी हिम्मत सिंह उम्र 51 साल लन्ड-9″ रहते हैं. तभी सासू माँ ने एक और झटका दे डाला, उन्होंने मेरे पैंट और अंडरवियर दोनों खीचकर नीचे कर दिये. वो बाकी के लंड को भी गांड के अन्दर करना चाहता था इसलिए सोहल ने हनी से झूठ बोलकर उसका दर्द खत्म कर दिया था कि पूरा लंड अन्दर चला गया है.

अचानक से उसने मेरे लंड के सुपारे पर होंठ खोले और लंड को मुंह में भर लिया.

लेकिन उस दवाई से मुझे बहुत ज्यादा दर्द हुआ और मुझे बहुत ज्यादा पीरियड्स होने लगी. मौसी मुस्कुराने लगीं और अगले ही पल अपनी ब्रा और पैंटी निकाल कर फिर से तौलिया लपेट ली. कुछ देर बाद दीदी बोली- देख भाई, चुदाई में तो मज़ा आ गया, पर तूने जो अन्दर पानी छोड़ा है … इससे मैं प्रेगनेंट भी हो सकती हूँ.

सोहल उस बात को समझता था कि पहली बार गांड मारना कोई हंसी खेल नहीं है. मैंने उसे बांहों में भर लिया और कुछ देर बाद उसकी चूत में उंगली डालने की कोशिश की तो देखा कि वहां से खून निकल रहा था. फिर ससुर जी ने मेरी चूत पर तेल लगाया और थोड़ा तेल अपने लन्ड पर लगाया और मेरी चूत के ऊपर रख उसे रगड़ने लगे.

रवि ने लंड हिलाया और मेरी टांगों के बीच में आ गया और उसने अपना लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ने सहलाने लगा. मेरा लंड सरिता की चुत की दीवारों को चीरकर आधा अन्दर जा चुका था, चुत छोटी होने के कारण लंड एकदम कसा हुआ फंसा था.

एक एक करके अपने क्रम से लोग मेरी चुत का भोग करते गए और पानी निकालते रहे. मैं जोरों से धक्का मारकर पूरा लंड सरिता की चूत में डालकर उसके ऊपर झुक गया और उसके होंठों को चूमने लगा. मामी खुद से बोलीं- आंह … अब मुझे और मत तड़पाओ … तुम अपना औजार मेरी चुत के अन्दर डाल दे और मुझे चोदकर तृप्त कर दो.

वही बात मुझे याद आ गयी कि मोनू झोटे की तरह दमदार है, आज ये कोमल का बुरा हाल करेगा.

वो लड़का मेरी गांड में ताबड़तोड़ धक्के लगाने लगा, उसके हर एक धक्के से मेरी हल्की चीख निकल रही थी. तभी दीदी आयी और बोली- आइये जीजा जी … कैसे हो आप!मैं समझ गया कि ये कौन है और क्या करने आया है. वो बोली- यार, मैंने कभी गांड मरवाई नहीं है, मनीष का तो तुम्हें पता ही है, उसे इस सबमें इतना इंटरेस्ट नहीं है.

फिर भईया धीरे धीरे उनके कमर को चूमते हुए पैरों तक चले गए और भईया भाभी की चूत को चुमते हुए नीचे आ गए. दस मिनट किस करने के बाद हम दोनों एक दूसरे से दूर हुए और अपने कपड़े उतारने लगे.

कुछ ही देर में उन्होंने मेरे सिर को अपनी चूत पर बहुत जोर से दबा दिया और तेज सिसकारियों के साथ अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया. ‘हाय दय्या, मैं मर गयी रे …’मुझे ऐसा लगा, जैसे मेरी पूरी चुत अन्दर से पति के लंड के साथ बाहर आ गयी हो. अब अगले एक हफ्ते उन लोगों ने अपने काम तेजी से निबटाये।जाने से एक दिन पहले नेहा ने पूरा दिन ब्यूटी पार्लर में बिता कर अपना एक-एक अंग चिकना और चमकीला करवाया।सारी तैयारी करके दोनों फ्लैट से माले एयरपोर्ट पहुंचे, वहाँ से एक स्टीमर बोट से वो ताज के एक्सोटिका रिज़ॉर्ट में पहुंचे।बोट में उन लोगों के साथ एशियाई मूल का ही उन्हीं की हमउम्र एक जोड़ा था.

बीएफ फोटो में

’मैं उसकी बंद आंखों और उठे हुए चेहरे को प्यार करते हुए कभी उसकी ठोड़ी को चूमता, कभी गर्दन को.

तभी सोनाली की चूत ने गर्म चूतरस से मेरे लंड को नहलाना शुरू कर दिया. अच्छा हुआ, हमने आस प्लग लगाकर सोनू की गांड का छेद थोड़ा ढीला कर दिया, साली को दर्द थोड़ा कम होगा. तो वो भी बंगलुरु चला गया और नई जॉब की वजह से काफ़ी बिजी रहने लग गया था.

तब तू उसे जाने देना या तू दो तीन दिन के लिए बाहर चले जाना कहीं भी!उसने मुझसे पूछा- मैं कहाँ जाऊंगा?मैंने कहा- अरे यार … अपने उन्ही साथियों के पास चले जाना न!उसके बाद जब भी हमें मिलना होता तो अंगिका विपुल को मायके जाने को कहती और वो कुछ दिन के लिए चला जाता।फिर हम दोनों अपनी रातें रंगीन करते।इसी तरह चार महीने बीत गये. चाचा की उंगलियां मेरी उंगलियों से थोड़ी मोटी थीं इसलिए तीसरी उंगली जाते ही मुझे थोड़ा दर्द हुआ. ऑंटी चुदाईदूसरे दिन मैं एक बड़े से ब्यूटी पार्लर में बाल कटाने गयी।मैं बात कर ही रही थी कि तभी एक मस्त जवान खूबसूरत लड़की आई और मैनेजर से बोली- मेम मुझे अपनी झांटें बनवानी हैं.

लगभग दो घंटे बाद उठा तो देखा सामने पूजा रसोई में खाना बना रही थी, वो भी नंगी. चाची बोलीं- अब बात न करो … जो काम शुरू किया है, पहले उसको खत्म करो.

मैंने उसकी टांगें चौड़ी कर दी और अपने लण्ड को उसकी गुलाबी गदराई चुत की फांकों के बीच लण्ड का सुपारा सेट कर के धीरे धीरे धक्का दिया. फिर राजेश ने रेणु से पूछा- कैसा लगा?उसने कहा- आज तो तुम दोनों ने मुझे मजा ही दे दिया. रीना पहले से ही पागल हो रही थी और अब तो हसित रीना की चूत चाटने लगा था तो रीना पागल होने लगी थी.

अंगिका कमरे में हमारे साथ ही थी।मैंने उसकी चुनरी से हम दोनों का सिर ढक लिया और हम एक दूसरे को जमकर चूम रहे थे।कुछ देर बाद मैं उसके ब्लाउज में से बूब्स निकाल कर पीने लगा।थोड़ी देर बाद मैं नीचे बैठ गया और उसके पैरों को किस करते हुए ऊपर बढ़ने लगा और उसकी पैंटी निकाल दी।अब वो काफी गर्म हो चुकी थी. मैंने सोचा कि साला अब ये सब जान चुका है और शनाया का भी दोस्त है तो इसे चोदने देने में कोई दिक़्क़त नहीं है. लेकिन उस दवाई से मुझे बहुत ज्यादा दर्द हुआ और मुझे बहुत ज्यादा पीरियड्स होने लगी.

उस दिन मेरा जन्मदिन था तो उसने मुझे यकीन दिलाया कि हम दोनों की शादी के बाद हमारा रिलेशनशिप इसी तरह चलता रहेगा.

वहां हमारे आस पास कई लड़के लड़कियां गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड के जैसे बैठ हुए थे. मैं आंटी से बोला- आंटी, मैं एक बात पूछूं, मेरी मम्मी आपसे क्या बोल रही थीं?तो वो बोलीं- तुम्हारी मम्मी ने जब से तुम्हारा लंड देखा है, तब से उसके दिमाग में तुम्हारे ही लंड चुदने की बात चल रही है.

ये सुनकर मैंने कहा- किसका फोन था चाचा?उन्होंने कहा- मेरे एक दोस्त का था. मैंने बाथरूम लॉक किया और नंगा होकर उसकी सलवार को चुत की जगह से नाक पर रख कर सूंघने लगा. अनिल एक तरफ थककर बैठ गया था लेकिन बाकी दोनों में पहले चोदने को लेकर झगड़ा होने लगा.

अगले दिन अर्चना की एंगेजमेंट थी तो मेरी बीवी ने मेरे लंड पर मेहंदी लगाई थी. मैंने अपने हाथ से उसका चेहरा ऊपर किया और कहा- अब तो खुश हो?वो हंसती हुई बोली- हां अब मैं बहुत खुश हूँ. वो आगे अपने मुँह में राजेश का लंड चूस रही थी और पीछे से अपनीचूत चटवाने का मजाले रही थी.

बीएफ पिक्चर दिसणारा कुछ देर के बाद दीदी ने मेरे लंड को मुंह से निकाल दिया और बोली- मैं झड़ने वाली हूं सैम!मैंने भी हांफते हुए कहा- मेरे मुंह में ही झड़ जाओ दीदी. मैं भी उठ गया और अपने रूम में जाकर दरवाजा हल्के से लगा दिया, लॉक नहीं किया.

कुत्ता आदमी के बीएफ

उसके मुंह से यह सुनकर मुझे अजीब नहीं लगा क्योंकि मुझे उसकी बातों से लग ही रहा था कि वह ऐसा कुछ बोलेगा. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड का पानी मेरी गांड में छोड़ दिया और थक कर मेरे ऊपर गिर गए. रात को हम लोग सो गए और दूसरे दिन सुबह तैयारी करके सुबह 9:00 बजे एयरपोर्ट की ओर निकल गए.

इस बार मेरा सात इंच का लंड पूरा का पूरा प्राची की गांड में उतर गया. भैया बोल रहे थे- ऐसी बहन हर घर में हो तो किसी भाई को सेक्स मूवी देखने जरूरत नहीं होगी. एक्स एक्स एक्स एचडी मूवी हिंदीअब मुझे लगा कि ये सही समय है तो मैंने श्रुति की चूची को चूसना शुरू किया.

सोनम का दर्द थोड़ा कम हुआ तो प्रकाश ने सोनम का पैर अपने कंधे पर रखा और अपना पूरा लंड सोनम की गांड में डाल डाल दिया.

लेकिन अब मैं घर पर अपनी चुत में उंगली डाल कर या गाजर, मूली डाल कर अपनी वासना को शांत करने लगी थी. उसने मेरे चूतड़ों पर अपने हाथ रखे और दबाव बना अपनी चूत टांगों को फैला कर मुझे और अन्दर जाने के लिए रास्ता दे दी.

लेकिन वो सब जैसे पारुल की बात सुन ही नहीं रहे थे और अपने अपने कपड़े उतारकर अपनी अपनी जगह को सैट करने में लगे हुए थे. मैंने भी भाभी की चुत का सारा माल चाट लिया और उनकी चुत को चूसता ही रहा. लंड अन्दर जाते ही भाभी चिल्ला पड़ीं और दर्द से कराहती हुई बोलीं- आं मर गई मम्मी रे … आंह इसे बाहर निकालो … लंड है या आफत … मैं इसे नहीं सह पाऊंगी!मैंने भी लंड पेल कर रुक जाना ही ठीक समझा.

मैं अभी यही सोच रहा था कि लवी बोली- अगम तुम्हारा इतनी जल्दी नहीं होगा, अभी तो तुम्हें टाइम लगेगा.

अचानक से उसने मेरे लंड के सुपारे पर होंठ खोले और लंड को मुंह में भर लिया. मैंने दीदी को हल्के से हिलाया तो वो उठ गयी और नंगी ही बाथरूम में चली गयी. इसके बाद मैं एक और धमाकेदार असली सेक्स कहानी लेकर आऊंगा जिसमें मैंने और दीदी ने हमारी मम्मी को किसी पराए मर्द से चुदवाते देखा था.

एक्स एक्स एक्स मूवी देसीपर एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि:यह कहानी आज से लगभग 1 महीने पहले की है जब मेरे मामा का जन्मदिन था. मेरा जी चाहने लगा था कि अपनी मम्मी को यहीं इसी बारिश में भीगते हुए कहीं किनारे रोक कर जी भरके चोद लूं.

बीएफ मूवी सेक्सी ब्लू फिल्म

तो मैंने अपनी छमिया को बोला कि अगर तुम चाहती हो कि मैं आकर तुम्हारी चूत को चाटूं, उसे चोदूँ … तो तुम्हें इस खेल में गुड्डू और जमीला को भी शामिल करना होगा. उनकी बीवी यानि मेरी भाभी का नाम रूपाली है।उनकी उम्र लगभग 24 साल होगी. सरिता ने मुझसे कहा- देवर जी, और दो दिन रहते तो हम लोगों को अच्छा लगता.

मेरी नंगी चूची को देखते ही सर अपनी जीभ अपने होंठों पर और हाथ लंड पर फिराने लगे. उसने बहुत सारा पानी छोड़ा और मैंने उसकी चूत का सारा रस चाट चाटकर साफ कर दिया. मैंने भी बिना देर किए लंड उसकी चूत पर सैट कर दिया और बिना देरी किए हुए ही धक्का दे मारा.

अंधेरा था, तो साफ दिखाई नहीं दे रहा था … मगर चाल ढाल से लगा कि कुच्ची है. बाद में उसने मेरे लंड को आगे पीछे करके अच्छी तरह से धोकर साफ कर दिया. मेरी मॉम का भरा हुआ बदन, बड़े बड़े बूब्स और मोटी गांड किसी को भी पागल कर सकती है.

अब तक ब्लूफिल्म में ही चुत को देखा था मगर आज सामने से उसकी फूली हुई चूत को देखकर मैं पागल सा हो गया. हम चम्बल एक्सप्रेस से उसके होम टाउन के पास के स्टेशन महोबा आ पहुंचे.

फिर हिम्मत करके मैंने उनसे पूछा कि अंकल के जाने के बाद रात को अकेले को नींद कैसे आ जाती है?उन्होंने कहा- हां अकेले रहना बहुत मुश्किल है … पर क्या करें!मैंने मजाक में कहा- दूसरी शादी कर लो.

रोजी ने मेरी इच्छा पूछी और कहा कि मैं किसी भी हालत में आपकी इच्छा पूरी करने के लिए तैयार हूँ. एक्स एक्स एक्स फुक्किंग मूवीवो मुझसे अपने आपको छुड़ाने की पुरजोर कोशिश कर रही थी पर कामयाब नहीं हो पाई. bf फिल्म चाहिएप्रकाश बोला- मुझे लगता है मेरी बीवी की शादी उसकी इच्छा के विरूद्ध हुई थी. मैंने रुकने को बोला, तो वो सड़क के एक किनारे झाड़ियों की आड़ में खड़ी हो गई.

तब तक तुम दोनों अपना मन पक्का कर लो कि आज की तारीख में तुम दोनों को अपनी गांड मेरे लंड के रेडी रखना है.

मैंने कहा- अब कुछ नहीं हो सकता है गुलाब … मैं बस अभी आता हूँ और तुम दोनों को मस्त मजा दूंगा. वे उछल उछल कर लौड़े को अन्दर ले रही थीं जिससे उनके दोनों बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे. मैं उससे पूछने लगा- कैसा लगा?इस पर उसने कंटीली मुस्कान के साथ कहा- बड़े वो हो गए हो तुम!मैंने कहा- अब ब्रा और पैंटी आनन्द के सामने कैसे दोगी?उसने कहा- देखते जाओ.

मुझे अब भी तारे से दिखने लगे थे और लग रहा था कि उसका लंड गांड से होते हुए मेरे मुँह से निकल जाएगा. मैं आपको उनके लुक के बारे में बता दूँ, मेरी मौसी का रंग एकदम गोरा था, उनका कद औसत से जरा कम था. मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?वो बोली- आज जिंदगी में पहली बार इतना चरमसुख प्राप्त हुआ है … लव यू.

कानपुर बीएफ

वो अपने मम्मों पर हाथ फिराने लगी और मचलने लगी तब मैंने उसकी पैंटी निकाल दी जोकि पूरी गीली हो चुकी थी. वहां क्या हुआ?मित्रो, मैं कमल किशोर आपको अपने दोस्त की बीवी के साथ सेक्स कहानी सुना रहा था. जब अंकल घर पर नहीं होते हैं तो हम और भी बहुत कुछ कर सकते हैं।उसने कैम में मुझे किस किया.

हमारे पड़ोसियों की फैमिली भी जॉइंट फैमिली है, जिसमें लवी, उसकी एक बहन और उसके मम्मी पापा और दादा दादी रहते हैं.

मैंने उसके आंसुओं की परवाह न करते हुए एक दूसरा झटका दे मारा और मेरा पूरा लंड उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.

मैंने एक हल्की सी चीख मारी, चीखना तो जोर से चाहती थी, पर इससे आस पास से लोगों का ध्यान चला जाता. वो मुझसे अलग हुई और बोली- झूठ?मैंने कहा- नहीं यार सच में!वो बोली- तो तुमने पहले क्यों नहीं कहा?मैंने उससे कहा- यार सच बताऊं, तो बात ये है कि भले ही हम दूर के रिश्तेदार हैं, पर रिश्ता तो हमारा भाई बहन वाला है. नर्स और डॉक्टर का सेक्समैं गांव की आबादी में जमीला के पीछे चल रहा था पर मेरे मन में चल रहा था कि जमीला ने जाने का इशारा किया था या फिर पीछे आने का?आस पास घर तो थे पर लोगों का आना जाना नहीं हो रहा था.

यह रही मेरी कहानी जिसमें ससुर ने बहू को पेला!पर अब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी कि आगे क्या हुआ था, कैसे मेरी सास ने मुझसे बदला लिया. मैं फिर से उसके ऊपर आकर उसके दोनों हाथों की उंगली में अपनी उंगलियां फंसा कर उसके सर के ऊपर ले गया जिससे उसके दोनों स्तनों का उभार और बढ़ गया था और अंडरआर्म्स भी खुल कर सामने आ गए थे. मेरे मोटे लंड को चाची अपने दांत दबा कर अन्दर लेती जा रही थीं और कराह भी रही थीं- आह … धीरे धीरे अन्दर पेल साले … तेरा हथियार बहुत मोटा है.

वो उछल उछल कर मजे से चुद रही थी और उसके 36 इंच के दूध मस्ती से उछल रहे थे. वो थोड़ी देर तक तो मेरा साथ देती रही लेकिन थोड़ी देर बाद विरोध करने लगी.

मैंने कहा- क्या हुआ सोनाली?मेरे गीले लंड को हाथ में लेती हुई सोनाली बोली- तुम्हारे इस गाढ़े अमृत को चखकर मुझे इसका स्वाद लेना है.

एक दिन ऐसे ही मैं कॉलेज से आकर घर पर अन्तर्वासना पर चुदाई की कहानी पढ़ रही थी. मेरा एक हाथ उसके बालों में और एक हाथ उसकी कमर पर ऐसे लिपटा था, जैसे कोई सांप चन्दन से लिपटा हो. उसकी गांड शायद पहले भी चुदी हुई थी तो मुझे ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी.

ब्लू फिल्म दिखाएं एचडी में यह सेक्स फंतासी स्टोरी आपको एक ऐसी दुनिया में ले जाएगी, जिधर सिर्फ सेक्स ही सेक्स भरा पड़ा है. घंटों तक बातें होने लगीं, तो मैंने उसे उकसाना शुरू कर दिया और अब उसने भी अपनी सेक्सी बॉडी दिखाना शुरू कर दी.

फिर मेरा ध्यान बगल की मेज पर गया जिस पर कुछ दवाएं, जग और ग्लास रखा था।मुझे लगा कुछ गड़बड़ है।मैं मौसी मां को डिस्टर्ब नहीं करना चाहता था, मैं तुरंत भाग कर दीदी के पास गया. फिर भाभी खड़ी हुईं और साड़ी को घुटनों तक ऊपर करके उन्होंने अपनी पैंटी उतार दी. भाभी कहने लगीं- मैं तो कब से आपके साथ सेक्स करना चाह रही थी लेकिन आपकी ही फट रही थी.

बीएफ चुदाई देहाती

मैंने सरिता की पैंटी अपने दोनों हाथों से घुटने तक नीचे सरका दी तो मेरे लंड का सुपारा चूत की दरार में रगड़ खाने लगा था. सरिता कसमसा रही थी और जोर से मेरे लंड पर गाउन के ऊपर से ही अपनी चुत रगड़ रही थी. उसके मम्में निचोड़ते हुए वो शब्बो के चूचक दांतों से काट रहा था, उनको उंगलियों से मरोड़ मरोड़ कर उनको सुजा रहा था और शब्बो चुपचाप अपनी टाँगें फैलाकर उसकी बेटी के उम्र के लड़के के साथ अपनी इज्जत लुटा रही थी.

वो भी लंड का मज़ा ले रही थी, नीचे से अपनी कमर उठा उठा कर लंड चूत में ले रही थी. अब अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि रानी और बबीता भाभी को एक साथ चोदने में क्या हुआ और आगे भैया के आ जाने के बाद मैंने बबीता भाभी और रानी को कैसे चोदा.

चमेली का भी सील तोड़ो कार्यक्रम हो चुका था, जिसके लिए जया ने नगर के ही एक लड़के को चुना था.

मैंने शॉवर चालू कर दिया और सरिता से चिपककर शॉवर के नीचे खड़ा हो गया. कुछ ही मिनट हुए होंगे कि भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया और उन्होंने सारा पानी मेरे मुँह में ही निकाल दिया. चाची मीठे दर्द से कराह रही थीं मगर लंड को अन्दर से बाहर निकालने की कोशिश नहीं कर रही थीं.

देसी आंटी की चुदाई कहानी पर आने से पहले मैं आपको अपने बारे में थोड़ा बता देता हूँ. कभी एक तो कभी दूसरा!मॉम भी बड़े मजे से मेरे सर को दबा रही थीं और सिसकारियां भर रही थीं. अब महीने में एक दो बार मैं अपना कॉलेज बंक करता हूँ और उनके घर जाकर उनकी चुदाई कर लेता हूँ.

मैंने उसका हाथ अपने सीने पर रह दिया तो वो मेरे निप्पलों से खेलने लगी.

बीएफ पिक्चर दिसणारा: क्यूंकि ये बहुत ही शर्मीला लड़का है इसलिए आप लोग इससे ज्यादा से ज्यादा बात करें ताकि ये भी जल्दी से हम लोगों के साथ घुल-मिल जाए. मैंने लंड हिला कर कहा- हां भाभी मेरा लंड भी प्यासा है, यदि आप इसको भी चाट लो तो मुझे भी मजा आ जाएगा.

मैंने कहा- तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं होगी न?हसित बोला- अरे भला मुझे क्या दिक्कत होगी. इतने में लवी बोली- तुम क्या सोच रहे हो कि मैं तुम्हें कैसे खुश करूंगी?मैं बोला- कुछ नहीं बाबू … वो मैं तुम्हारे सरप्राइज के बारे में सोच रहा था कि कितना अच्छा सरप्राइज दिया तुमने, जो अभी तक मालूम ही नहीं चला है. चाची ने एक लिस्ट देते हुए कहा- चल अब बातें बनाना बंद कर … और दुकान से यह सामान लेकर आ.

मैं- अच्छा जी … बस प्यार की और चूमने की … अब सारे कपड़े उतार कर बस यही करना था?रवि- नहीं मेरी जान … अब तो बारी है सबसे बड़ी ख्वाहिश पूरी करने की.

मैं फोटो दिखाने के बहाने से उनके पास जाकर बैठ गया और उन्हें अपने मोबाइल में फोटो दिखाने लगा. क्या करना है?मोहिनी और सोनम ने कहा- इसको घोड़ा गाड़ी में जोत दो, हम सवारी करेंगे. लाइट बंद होने के कारण किसी को कुछ समझ नहीं रहा था कि आखिर हम दोनों के बीच क्या खेल चल रहा है.