ब्लू फिल्म देखना है बीएफ

छवि स्रोत,जबर्दस्त सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट साड़ी: ब्लू फिल्म देखना है बीएफ, उसी ने मुझे घर रुक जाने के लिए कहा था और उसी ने सेक्सी नाइटी पहन कर मुझे गर्म कर दिया था.

देसी सेक्सी वीडियो 2022

अभी कुछ मिनट ही हुए थे कि लंड के प्रहारों से हार कर मंजू के शरीर ने अपने वीर्य का फव्वारा ठाकुर के लंड पर फिर से कर दिया. सेक्सी वीडियो नंगी सीन हिंदी मेंकुछ देर इस पोज में चोदने के बाद मैंने उसके फोल्डेड डेक पोज में कर लिया और उसके पैर हवा में और चूत मेरे लंड से चिपक गयी.

बाबा- शादी कब हुई थी?कुसुम- दो साल पहले!बाबा- बच्चा क्यूँ नहीं हुआ?कुसुम- पता नहीं बाबा के हो गया।बाबा- हाँ ये ही पूछ रहा हूं … के हो गया?कुसुम- मुझे नहीं पता बाबा।बाबा- तुझे ही तो पता है बेटी … और कोई नहीं बता सकता।कुसुम- क्या पता है मुझे?बाबा- क्या हुआ है. दिवाली की सेक्सी फिल्मक्या तुम एक रात के लिये नीचे सो सकते हो?ये सुनते ही मेरे मन में लड्डू फूट गये.

अंकिता ने बोला- मगर मैं तुम्हारे घर आऊँगी कैसे … अगर किसी ने देख लिया तो?मैंने बोला- तुम छत के रास्ते से आ जाना.ब्लू फिल्म देखना है बीएफ: फिर मुझे किस करने के साथ मेरी बुर का पानी अपने मुंह से मेरे मुंह में देने लगा.

जैसे ही उनके झांटों के एरिया पर किस किया तो उन्होंने मेरे सिर को नीचे दबाते हुए खुद ही मेरे होंठों को अपने लंड के टोपे पर लगवा दिया.धीरे धीरे अब मेरा लौड़ा गर्म हो गया और लन्ड ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी.

দীপিকা xxx - ब्लू फिल्म देखना है बीएफ

मैं हर हाल में मेहनत करूंगी, तू बस टिप दे और बता कि कैसे पूरा करती है.उसका हाथ अब भी मेरे छोटे छोटे चूचों के टीलों को रगड़ रगड़कर मसल रहा था.

बंदरों के झुण्ड को देख हेमा चाची बहुत तेज घबरा गईं और उन्होंने मेरा हाथ कस कर पकड़ लिया. ब्लू फिल्म देखना है बीएफ उन्होंने मुझे बहुत देर तक चोदा और अपन सारा माल मेरी एक चुची पर गिरा दिया.

मैंने उसकी टांगें हवाई में उठाईं और बोला- आह्ह … मेरी रंडी, आज तुझे इतनी जोर से चोदूंगा कि तू अपने पति की चुदाई को भूल ही जायेगी.

ब्लू फिल्म देखना है बीएफ?

फिर सुमन बोली- मुझे आधा घंटा दो … और आप दूसरे कमरे में मेरी प्रतीक्षा करो. वो पागलों की तरह सिसकारने लगी थी- आह्ह … आह्ह … और जोर से … आह्ह पी लो … ऊह्ह मम्मी … आह्ह … चूस जाओ. उसने मुझे किस करके ये कहा, तो मैंने भी उसे चूम कर बोला- आई लव यू टू … मुझे भी तुम्हें चोदने में बहुत मज़ा आया बेबी.

उसने मोना का सहयोग देखा, तो उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसके पूरे बदन पर किस करने लगा. अब मैं उसके कपड़े उतारने लगा और जल्दी ही वो मेरे सामने केवल पैंटी में थी. नीचे से दीदी ने पैंटी पहनी थी जो उनके मोटे मोटे गोरे चूतड़ों में फंसी हुई थी.

शुरूआत में प्यार से धीरे धीरे उसकी आँखों मे देखते हुए, फिर धीरे धीरे अपनी ताक़त लगानी शुरू की और उसके होंठों को चूसते हुए मैं मस्ती से उसकी चूची मसल रहा था. उसका भाई एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था तो वो सुबह 9 बजे ही ऑफिस निकल जाता था और शाम को 5 बजे के बाद आता था।तब मैं उससे मिलने उसके घर चला गया।जब मैं पहुंचा तो वो लैग्गी और टीशर्ट पहने हुए थी।वो मेरे लिए पानी लायी, फिर बोली- मैं चाय बनाकर लाती हूँ।हम दोनों साथ में बैठकर चाय पीने लगे. मैं चाची की मक्खन गांड मसलते मसलते अपना आपा खो बैठा और मैंने हेमा चाची की गांड में उंगली कर दी.

वो सोचने लगी कि ससुर ने जो चुदाई की वो तो मेरे पति के द्वारा की गयी चुदाई से कहीं ज्यादा बेहतर थी. अंजलि: अब बर्दाश्त नहीं हो रहा, डाल दो ना … आह्ह … प्लीज डाल दो लंड!बेड पर सभी नंगे थे.

जब मैंने उसकी बात का कुछ जबाव नहीं दिया, तो वो फिर खनखनाती हुई मीठी आवाज में बोली- आपने बताया नहीं कि आप क्या देख रहे थे.

बहन घर में नहीं थी और …दोस्तो! मेरा नाम आर्यन है। मैं पंजाब में रहता हूं और मेरे साथ मेरे मम्मी पापा और एक बहन रहती है। मेरी बहन का नाम शिखा (बदला हुआ) है।हम लोग यहां एक अपार्टमेंट में रहते हैं। हमारा रूम दूसरे फ्लोर पर है।मैं आज एक सच्ची स्कूल गर्ल सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूं जो मेरे साथ ही हुई थी.

नूपुर भी समझ गयी थी कि मेरी नजरें कहां हैं और वो किस अंग को पाने के लिए प्यासी हैं. तुम उसे कैसे बुलाते हो?वो बोला- मैं जब घर पहुंचने वाला होता हूँ तो उसे फोन कर देता हूँ और वो मुझसे मिलने आ जाता है. मैंने कहा- इसे खोल कर देखो न!शबाना ने मेरी चड्डी को नीचे खींचा तो लंड एकदम से उसकी नाक पर लगा.

मेरी बात से आंचल जी एक बार को तो शर्मा गईं, मगर अगले ही पल वो मेरे बाजुओं में समा गईं. मैंने सेक्स के मजे में ऐसे ही बोल दिया- हां जाओ बुला लो, आज मैं तुम दोनों को शांत कर दूंगी. पर मुझे क्या … मैं उसे एक तरफ सरका कर बैठ गया और अपनी पढ़ाई करने लगा.

अगर आपका अच्छा रिस्पॉन्स मिला तो अगली सेक्स कहानी में मैं बताऊंगा कि मैंने ज्योति की सील कैसे तोड़ी और कैसे उन दोनों बहनों को एक साथ चोदा.

पिछले भागभाभी ने अपनी ननद से सेटिंग करवा दीमें आपने अब तक पढ़ा था कि मैं नन्दा के साथ बिस्तर पर था और उसकी पैंटी उतार कर उसे नंगी कर दिया था. मैंने चाची की चुत को चाटना शुरू किया तो चाची की आहें और कराहों से कमरा गूंज उठा. मुझे डर सता रहा था कि न जाने कॉलेज की रैगिंग कैसी होती होगी!पर मैं आगे चलती रही.

रानी को इन सब बातों से कोई परेशानी नहीं थी क्योंकि रानी तो खुद ही उस लड़के से अपनी चूत की खुजली दूर करवाना चाहती थी।उसके बाद अब जब भी रानी कॉलेज जाती तो वह लड़का घर से थोड़ा आगे आ जाता और रानी उसके साथ गाड़ी में बैठकर कॉलेज चली जाती. उसने कहा- तो फिर तेरे इतने बड़े (बूब्स) कैसे हैं?मैं हंसकर बोली- पता नहीं. खैर उस दिन मैं पूरा स्कूल टाइम टेन्शन में रहा।स्कूल की छुट्टी से 10 मिनट पहले मैडम ने मुझे दफ्तर में बुलाया.

आह्ह … चोद दो प्लीज!मैं बोला- जान, किसी को पता चल गया तो?वो बोली- चलने दो, मुझे चोद दो बस!मैंने कहा- तो फिर चूत खोल लो आदीबा रानी.

आंटी मेरी पकड़ से छूटने की कोशिश करने लगीं, पर मैं उन्हें जोर से पकड़े रहा और लंड धीरे धीरे अन्दर डालता गया. फिर मैंने तेजी से उसे चोदना शुरू कर दिया क्योंकि मैं भी अपने स्खलन की ओर बढ़ रहा था.

ब्लू फिल्म देखना है बीएफ दीदी बोली- एक दिन में ही थक गया बेटा, रोज कैसे करेगा?मैं बोला- दीदी अब क्या करूं? आप इतना तेज करने को बोलती हो कि मैं थक जाता हूं. देसी Xxx चुदाई कहानी के पिछले भागममेरी सास की नवविवाहिता पड़ोसन को लंड चुसवायामें आपने अब तक पढ़ा था कि कैसे मैंने और मेरी बीवी की मामी मनजीत ने चुदाई के मज़े लिए.

ब्लू फिल्म देखना है बीएफ पांच मिनट के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया।फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और वो मेरे गले से लिपट गयी. आपकी गीली चूत को फैलाकर उसमें जीभ से चाटते हुए आपकी गांड में उंगली करना चाहता हूं.

ये देख कर मैं दंग रह गया क्योंकि इससे पहले मैंने ऐसा नजारा कभी नहीं देखा था और वो भी हेमा चाची के सेक्सी जिस्म का.

चावट katha

आपको जवान कुंवारी लड़की की चुदाई की ये कहानी कैसी लग रही है? आप सिस्टर इन लॉ सेक्स स्टोरी पर मुझे अपने कमेंट्स में जरूर लिखें. वो कुछ नहीं बोल रही थी, मगर वो शुरू में मेरा साथ भी नहीं दे रही थी. प्रेमा ने प्रमोद की शादी कर देने का विचार किया और सोचा कि घर में बहू आयेगी तो इस पर कुछ जिम्मेदारी पड़ेगी और ये सही रास्ते पर आ जायेगा और सुधर जायेगा.

बुआ ने गांड हिला कर शंटिंग शुरू करने का इशारा दिया, तो अब मैं उन्हें धकापेल चोदने लगा. हमारी अब फ़ोन पे बात भी होने लगी और मैं हमेशा किसी न किसी बहाने से साहिल के आफिस भी जाने लगी।फिर कुछ दिन बाद मैंने उसको प्रोपोज़ भी कर दिया. कुछ ही देर में मेरी गांड अब खुद ही लंड को और अंदर तक रास्ता देने लगी.

तो मैंने क्या किया?दोस्तो, कैसे हैं आप सब लोग? अन्तर्वासना पर यह मेरी दूसरी कहानी है.

मैंने अपना पल्लू चूचों से हटा कर अपनी कमर में खौंस लिया था और मैं अब इस कोशिश में थी कि अपनी चूचियों को ससुर जी की पीठ से रगड़ कर मजा लूं. अब वो रोज मुझे लाइब्रेरी में मिलने लगी थी और मैं उसके साथ ही बैठने लगा था. मुझे ये सब देख कर बहुत गुस्सा आ रहा था … मगर मैंने सोचा कि अगर ऐसा करने से बच्चा हो जाए, तो मोना की जिन्दगी खुशगवार हो जाएगी.

सुरभि कहने लगी- यह छेद तो बहुत टाइट है … इसमें आपका लंड कैसे समाएगा?मैंने कहा- इस छेद में भी चला जाएगा बन्नो. दोस्तो, आप महसूस कर सकते हैं कि जीवन में पहली बार जब एक लड़का और लड़की एक बंद कमरें में अकेले होते हैं तो कैसा अहसास होता है. मैंने चुप्पी तोड़ते हुए कहा- सॉरी आंचल, ना जाने मेरे मुँह से कैसे ये निकल गया.

हम दोनों ने सैकड़ों बार चुम्बन किए, मैंने उसके दूध दबाए, उसने भी मेरे लंड को दबाया. मगर बाद में अनुभव के साथ साथ मुझे इस बात का ज्ञान हुआ कि मेरे जैसी कुछ महिलाएंचुदाई का सुखलेने के बाद कुछ ज्यादा ही बिंदास हो जाती हैं और उनको अपनी चुत की बढ़ती आग को बुझाने के लिए हर मर्द में एक मजबूत लंड ही दिखने लगता है.

फिर मैंने उसकी गांड में बहुत सारा तेल लगाया और अपने लंड पर भी तेल लगाकर उसकी गांड पर लंड सैट करके धीरे धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा. मेरे ससुर लगभग 55 साल के रहे होंगे, पर उनका गठीला शरीर मुझे उनकी ओर जबरदस्त आकर्षित करता था. उसके चूसने से मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और इस बार मैंने नूपुर से बोला- नूपुर मेरी कुतिया … आ जा आज तुझे कुतिया बना कर चोद दूँ.

मैंने जोर से धक्का मारा, तो आधा लंड उसकी सील तोड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

आंटी ने भी कम्पूटर पर चलती ब्लू-फिल्म देखी और बिना किसी शर्म के मेरी तरफ वासना से देखने लगीं. आंचल एकदम से चौंक गईं और उन्होंने अपना सर उठाकर देखा तो मेरी आंखों में भी आंसू थे. मेरी इस सेक्स कहानी में आपको जो भी गलती दिख जाए, उसे प्लीज़ अनदेखा करते हुए मेरी देसी कहानी का आनन्द लीजिए.

करीब आधे घंटे बाद मंजुला खाना बेडरूम में ही ले आई और फिर बिस्तर पर ही अखबार बिछा पर उस पर प्लेटें सजा दीं. हेमा चाची ये सुनकर मुस्कुरा दीं और बोलीं- क्या मुझसे मिलने से पहले तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड ही नहीं थी … बड़ी अजीब बात है भास्कर.

मगर वो आंखें बंद करके चुदाई का मज़ा ले रही थी।लगभग दस मिनट बाद उसके मुख से आने वाली आवाज़ें तेज़ हो गईं और उसके झटके लगाने की स्पीड भी तेज होती गई।उसकी सांसें उखड़ने लगीं और एक जोरदार झटके के साथ वो निढाल सी होकर मेरे ऊपर लेट गई. तो कुछ नौकरी पाने के लिये मैंने आगे पढ़ने का फैसला लिया।मैं अब देखने लगी कि मैं क्या कर सकती हूँ. कुछ वीर्य उनके पेट पर मला और चाची की नाभि में भी उंगली से वीर्य लेकर रगड़ा.

हरियाणा की सेक्सी चूत

अब राज ने मेरे हाथों को अपने हाथ में लिया और हम लोग एक कपल की तरह डांस करने लगे.

आज चाची की चुत में मेरा लंड खेल आया था, इससे मैं और मेरा लंड बहुत हैप्पी हैप्पी फील कर रहा था. मेरे सामने तो आज सुलेखा के वो तने हुए चुचे आ रहे थे, जो मैंने अपनी इन आंखों से नापे थे. उसका हाथ जैसे ही मेरे लंड पर पड़ा मैंने उसे अपने ऊपर झुका लिया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा.

कुछ देर में मुझे दर्द से राहत मिल गई और उसके लंड से अपनी गांड मरवाने का मजा लेने लगा. जब मोना ने चुदाई की बात मुझे नहीं बताई, तो मैंने मन ही मन सोचा कि अगर बच्चा हुआ, तो ठीक है. हिंदी सेक्सी सेटिंगवो पूरा वीर्य निगल गई।मेरे स्खलित होने के बाद भी उसने मेरा लन्ड मुंह से नहीं निकाला और वो और भी मज़े से लन्ड चूसती रही।वो मेरे अंडकोषों को हाथ में लेकर सहलाने लगी।मेरे लंड में गुदगुदी होती रही लेकिन उसने लंड नहीं छोड़ा.

यही सब सोचते सोचते मैंने बाबा संग आंटी की चुदाई को याद करते हुए लंड हिलाया और सो गया. मामी गपगप करके लंड को चूसने लगी।अब मैंने मामी को लिटा कर दोबारा अपना लंड उनके अंदर घुसा दिया और झटके मारने लगा.

आज मैं घर पर बिल्कुल अकेली थी तो इसीलिए मैंने आंटी को सब्जी देने के लिए कहा. हम पार्क और रेस्टोरेंट में कई बार साथ जा चुके थे लेकिन मैं कभी उसके घर नहीं गया था. वो लड़का ब्रा पैंटी का पैकेट देने दरवाजे के करीब आया और मुझे देख कर मुस्कुराने लगा.

फिर प्रमोद अपने कपड़े बदल कर आ गया और उसने शालू को अपनी बांहों में भर लिया. उस समय उसे मर्द की मजबूती और उसके मोटे लंड का ही नशा चढ़ा हुआ होता है, तो वो उम्र या रिश्ते को नजरअंदाज कर देती है. लगभग 10 मिनट की चुदाई के बाद भानू ने अपना वीर्य शालू की चूत में निकाल दिया.

मैं सोचता था कि जैसे उसका लंड बाहर से फूला हुआ दिखता है, क्या वैसा ही अन्दर से भी बड़ा और तगड़ा होगा.

बुआ मेरी बात सुनकर हंस पड़ीं और खुद के लिए छमिया शब्द सुनकर खुश हो गईं. फिर हमने कुछ देर तक फिल्म देखी जिसमें मज़ा नहीं आया तो हम बाहर आ गए।भाभी बोली- चलो अब घर चलते है।और हम कुछ और सामान खरीद कर घर आ गए।भाभी बोली- आज तो मज़ा सा गया! अब तू पूरा जवान हो गया है।तो मेरे प्यारे पाठको, कैसी लगी सेक्स इन पब्लिक स्टोरी? सिनेमाहाल में मेरी भाभी की चुदाई की कहानी?.

मेरी उस समय छुट्टियां चल रही थीं, में छुट्टियां बिताने अपनी बुआ के यहां गया था. बहन की आंहों की आवाज बिल्कुल मादक औरत जैसी थी।फिर लगभग 15 मिनट की चुदाई के बाद राहुल का माल उसकी चूत में निकल गया. कुछ देर में मुझे दर्द से राहत मिल गई और उसके लंड से अपनी गांड मरवाने का मजा लेने लगा.

इस सेक्स कहानी में मैंने अपने घर पर काम करने वाली आंटी की चूत चुदाई का मजा लिया था. फिर हमने डिनर किया और उसके बाद ऑस्कर विजेता मूवी ‘पैरासाइट’ देखने लगे. उनके जिस्म का एक भी हिस्सा ऐसा नहीं रह गया था, जहां मैंने वीर्य लगा कर न मला हो.

ब्लू फिल्म देखना है बीएफ भाभी- आह अब डाल भी दो राजा … अब नहीं रहा जाता … जल्दी से अन्दर डाल दो. मगर मुझे पति के दोस्तों से चूत और गांड चुदाई करवाने में बहुत मजा आया.

भोजपुरी सेक्सी भोजपुरी सेक्सी फिल्म

बस दुख इसका था कि अब मैं साहिल से प्यार करने लगी थी और अपना प्यार किसी से चुदे या किसी और को चोदे तब दुख होता है।बहरहाल अब कुछ किया नहीं जा सकता था. मैंने उनको बोला- भाभी, ब्लाउज खोल लो ताकि पीठ पर पूरी तरह से मालिश हो सके. वैसे तो मैं हमेशा थोंग वाली ब्रा पैंटी पहनकर रखता था … लेकिन मैंने उस दिन ब्रा की जगह केवल समीज पहन रखी थी और नीचे पैंटी डाली हुई थी.

वो भी अपनी चुत को मेरे मुँह पर दबा कर झड़ने लगी और जब तक पूरा रस खाली नहीं हो गया, वो कमर को झटके दे देकर मेरे मुँह पर अपनी चुत रगड़ती रही. मैंने मस्ताने अंदाज में हेमा चाची से कहा- चाची, आप चाहो तो क्या मैं आपकी थकान मिटा दूं?हेमा चाची हंस पड़ीं और बोलीं- क्या भास्कर … ये भी कोई पूछने की बात है? मैंने मेरी थकान और इतने दिनों की प्यास बुझाने के लिए ही तो तुम्हें यहां बुलाया है. चावट kathaये शायद इसीलिए हुआ था क्योंकि मैंने अपना लंड हेमा चाची के काफी अन्दर तक जो डाल दिया था.

उनके कमरे में घुसते ही हेमा चाची को देखकर मेरे अन्दर हवस जागने लगी और मेरा लंड खड़ा हो गया.

ये कह कर चंपा ने हंस कर ठाकुर को देखा और अपनी कमर मटकाते हुए अन्दर चली गई. मेरी तो समझ में ही नहीं आ रहा है कि क्या करूं?मैंने पूछा- आपके पति या भाई वगैरह नहीं है क्या?वो बोलीं- हां पति तो हैं, मगर वो दिल्ली में फंस गए हैं और वापस आने का कोई साधन ही नहीं है.

मैंने उसकी गांड पर लंड लगाकर एक धक्का दे दिया और मेरा टोपा उसकी गांड में जा फंसा. शॉपिंग करते टाइम भाभी एक अंडरगार्मेंट्स की शॉप में घुस गईं तो मैं बाहर ही रुकने लगा. मैं तुरंत ही रोते हुए राहुल से बोली- प्लीज राहुल निकाल लो … मैं नहीं सह सकती … प्लीज निकाल लो.

अब उसकी बारी थी तो उसने मेरी टी-शर्ट के अंदर से मेरे चूचों को मस्ती से लकिन बहुत प्यार से मसलना शुरू कर दिया.

कई बार ऐसा होता था कि दीदी को हम बनी हुई सब्जी दे दिया करते थे क्योंकि वो तो अकेली ही रहती थी. अगले भाग में आपको पता लगेगा कि कैसे मैंने बहन की सहेली की गांड भी चोदी. लेकिन अभी भी उसका मूसल लौड़ा मेरे मुँह में था और अभी भी उसमें से वीर्य की कुछ नमकीन बूंदें निकल रही थी.

सेक्सी भेजिए नाकुछ ही पलों में मैं महसूस कर पा रहा था कि हेमा चाची अपनी चूत वाले हिस्से से मेरे खड़े लंड को दबा रही थीं. वो बोली- देखो … क्या कर दिया तुमने?मैंने उसको लिटाया और उसको किस करते हुए कहा- कुछ नहीं होगा.

ஷகிலா ஆன்ட்டி செக்ஸ் படம்

मैं जोरदार धक्के लगाए जा रहा था और भाभी के मुँह से मजे वाली मादक आवाजें निकली जा रही थीं. उसको अपनी सुन्दरता पर बहुत घमंड था जिसको मैंने बाद में तोड़ दिया था. रात में 3 बजे भैया जब खेत पर गए, तो मैं एकदम से भाभी के ऊपर टूट पड़ा.

बहन ने थूक लिया और फिर उसके लन्ड पर लगाकर चूत पर लगाया और फिर राहुल ने झटके देना शुरू कर दिया. उस ब्लू फिल्म में एक लड़के ने अपना लंड उस लड़की की चूत में डाल रखा था और दूसरे लड़के ने अपना लंड उस लड़की की गांड में डाल रखा था. एक दिन टीचर ने हमारी सीट बदलवा दी और इत्तेफाक से उस लड़के की सीट मेरी सीट के पीछे ही आ गयी.

आठ दस लम्बी लम्बी पिचकारियां बलविंदर के लंड से छूट कर अलीमा की चुत में उसके गर्भाशय में गिरने लगी थीं. मैंने उसकी चुत में लंड का सुपारा डाला ही था कि वो चीख पड़ी- उई मम्मी मर गई. अब आगे हॉट अंटी सेक्स कहानी:जब आंचल मैडम ने अपने पति के साथ असंतुष्ट होने की बात कही, तो मैंने उन्हें बोला कि अब मैं तुम्हें जिंदगी का हर वो सुख दूंगा, जिसकी तुम हकदार हो.

मीशू ने उसके मुंह पर अपनी चूत रख दी और वो मीशू की चूत को चूसने लगी. वो सिसकारते हुए बोली- क्या इरादा है … मेरी चूत को प्यासी रखेगा क्या आज … या ऐसे ही तड़पाता रहेगा? जल्दी कर दे, अगर स्वाति आ गयी तो सारा मूड खराब हो जायेगा.

जब आप कभी किसी अनजान के साथ सेक्स कर सकोगे या इसी चुदाई की जुगाड़ में रहोगे, तो आपको पक्के में अनजान चुत चुदाई करने का मौका मिल ही जायेगा.

ये बोलकर वो अपने घुटनों पर बैठ गयी और हर्षदीप ने भी लन्ड से कंडोम को निकाल लिया और लंड को आंटी के मुंह के सामने हिलाने लगा. सलवार सूट के सेक्सी वीडियोउसके बाद हम एक बार फिर से 69 की पोजीशन में आये और दस मिनट बाद फिर से मेरा लौड़ा तन गया. पता सेक्सीमैं चाह रहा था कि पूरा लंड एक बार में ही घुस जाये क्योंकि धीरे धीरे करके चोदने में तो उसको बहुत दर्द होने वाला था. ये बात उस समय की है, जब मैं कॉलेज में पढ़ता था और कॉलेज के हॉस्टल में ही रहता था.

मैं भी मौके की फिराक में था।एक दिन मुझे वो मौका मिल ही गया।उस दिन मैं सुबह जंगल में से आम लाने गया था.

अब मैं तो समझ गया था कि शिखा तो एक बहाना है उसके लिये; असली मकसद तो कुछ और ही था।फिर वो बोली- ठीक है, तो मैं कुछ देर गेम खेल लेती हूं. वो बोली- कहो, क्या करना है?भाभी से मैंने कहा- आपको अपने कपड़े थोड़े और उतारने होंगे ताकि मैं बॉडी के बाकी हिस्सों की भी मालिश कर सकूं. फिर भी मैंने कुछ नहीं कहा।मैं सही मौके के इंतजार में थी।उस रात उसके जाने के बाद मैंने भी पोर्न वीडियो लगाया और अपनी टॉप उतार दी.

ए के फर्स्ट ईयर में हूं। मेरी उम्र 20 साल है और लंड का साइज़ नॉर्मल है। मैं यू. उनका वो ब्लाउज उनके कंधे से थोड़ा फटा सा था और वो झुकी हुयी थीं, तो साड़ी का पल्लू भी सही नहीं था. मैं उनकी चुत में जितनी बार लंड अन्दर धकेलता … उतनी बार उनके एक चूतड़ पर मेरा चांटा जा पड़ता और उनकी आह निकल जाती.

త్రిబుల్ ఎక్స్ డాట్ కాం

फिर वो एकदम से हंसने लगीं और बोलीं- इतने सीरियस भी मत हो यार!मैंने बोला- आप एकदम से गुस्सा हो गई हैं … इसलिए मैं भी घबरा गया. इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के सभी पात्रों के नाम और स्थान काल्पनिक हैं. उनके दो मकान हैं जिसमें एक में ये लोग खुद रहते थे और दूसरे को किराये पर दे रखा था.

वैद्य को दिखाया पर वो ठीक नहीं हुई।तो लाजों की माँ को किसी ने कहा कि मंदिर वाले बाबा को भी दिखा ले एक बार!कि कुछ भूत प्रेत का साया ना हो।तो वो लाजो को लेकर बाबा के पास गई.

ये देखकर हेमा चाची और घबरा गईं और फिर हम जल्दी से वहां पास में ही छत पर बने बाथरूम का गेट खोल कर घुस गए.

अब मेरा लंड सुमन की चूत में अपनी जगह बना चुका था और सुमन की चूत का बहता पानी लुब्रीकेंट का काम कर रहा था. अब उन्हें मज़ा आने लगा।काफी अरसे बाद उनकी चूत में लन्ड घुसा था।अब हम दोनों बुआ भतीजा चूत चुदाई का मज़ा लेने लगे।मैं बहुत खुश था कि मैं अपनी बुआ को चोद रहा हूं।बुआ की चूत ने पानी छोड़ दिया. ப்ளூ ஃபிலிம் மூவிஸ்हालांकि अंकिता पहले से ही खेली खाई थी … मगर वो काफी दिनों बाद चुद रही थी जिससे उसे दर्द हो रहा था.

महिला वर्ग के लिए लिखना चाहता हूँ कि मेरे लंड की लम्बाई औसत ही है … मैंने अपनी इस पहली चुदाई के पहले लंड को मापा ही नहीं था. उसको देखकर कभी कभी स्माल पास कर देती और कभी कभी उसको देखकर शर्मा जाती थी. मुझे उम्मीद है कि अगर आप सब ये कल्पना कर पा रहे होंगे तो आपको समझ आ गया होगा कि उस वक्त उस शादीशुदा चूत को उन कपड़ों में देखकर मेरा क्या हाल हुआ होगा.

नहाने के बाद मैंने अपनी समीज और पैंटी निकाल कर अपनी गांड को भी अच्छी तरह से धोया. लेकिन जब रात को हम ठंड में बिस्तर में जाते, तो उसकी चुत गर्म होकर रोज उसकी पैंटी खराब कर देती थी.

फिर मैंने लैपटॉप पर एक पोर्न साइट खोली और उस पर गे वाली कैटेगरी पर क्लिक कर दिया.

मैंने फिर से उसके मम्मों को बारी बारी से अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ उसकी चुत पर रखकर रगड़ने लगा. मेरी पिछली कहानी थी:मैं तेरा तू मेरीये गरम सेक्स भाई बहन कहानी मेरी और मेरी एक कजिन सिस्टर की है. कुछ देर बाद उसका भी जवाब आया और इसी तरह कुछ देर तक हम दोनों की बात हुई।आप मेरी अन्तर्वासना एक्स कहानी पर अपनी राय अवश्य दीजिये.

सेक्सी वीडियो में नंगी पिक्चर अब मैंने नाटक किया और कराहते हुए बोला- आह काफी दर्द हो रहा है … मुझसे चला नहीं जा रहा है … बहुत दर्द हो रहा है. मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- काफी दिन बाद ले रही हूँ और तुम्हारा काफी बड़ा भी है.

मैं अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए अपना सब कुछ लुटा देने के लिए भी रेडी रहती हूँ. मैंने कहा- अरे कल ही बताया था कि आपके जिसे कोई माल मिलेगी तभी उसे गर्लफ्रेंड बनाऊंगा. होंठों को चूसते हुए मैंने अपना एक हाथ उसकी टीशर्ट में डाल दिया और उसके बूब्स दबाने लगा।क्या मस्त बूब्स थे यार … रानी के।थोड़ी देर बाद हम दोनों पूरा गर्म हो चुके थे.

यादव सेक्सी फोटो

फिर मुझे जिज्ञासा हुई, तो मैंने अन्दर डी और ई ड्राईव में झांकना शुरू किया. उसकी ब्रा को मैंने खोल दिया और उसके दूध जैसे चूचों को मसल मसल कर पीने लगा. अमन ने मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी चुत को टटोला और मेरे कान में बोला- हां जान, आज लंड कुछ ज्यादा ही बेचैन हो रहा है.

मैं बोल पड़ा- क्या कर रहे हो?उन्होंने कहा- अब कुछ मत बोलो और जो हो रहा है उसे होने दो. यह देख कर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और अपने लंड को जोर जोर से हेमा चाची के चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

मैं जल्दी से उसकी बात काटते हुए बोली- नहीं यार खुशबू … मैं सब कर लूंगी.

उसने अगले ही पल एक वॉइस रिकॉर्ड भेजी जिसमें उसकी आवाज आई- आह्ह।सुनकर मैंने पूछा- क्या हुआ रानी?वो बोली- कुछ करो अब, मैं गर्म हो रही हूं. कुछ देर बाद वो औरत बाहर आई और उसने मुझसे कहा कि मोना को सही से देखना होगा, आप चाहो, तो कुछ देर कहीं घूम आओ. उसकी चूत में चार लौड़ों का वीर्य जा चुका था और उसके कमरे में भी वीर्य फैला हुआ था.

वो चुपचाप आंखें बंद करके लेटी थी।अब मेरी हिम्मत बढ़ने लगी और मैंने नीचे से मैक्सी उठा दी और पैंटी के ऊपर से सहलाने लगा।मामी गर्म होने लगी. इतना सुनकर मैं उन चारों के बीच में अपने दोनों पैर चौड़े करके लेट गई. उसकी नजर बार बार मेरी क्लीवेज पर ही जा रही थी जो मैं जानती थी क्योंकि वो घर में मेरी चूचियों को ताड़ा करता था.

उनकी चूत एकदम ग़ुलाबी और फूली हुई ऐसी थी जैसे उभरी हुई नान खटाई में दरार हो.

ब्लू फिल्म देखना है बीएफ: वो बोली- सॉरी बेटा, लेकिन तेरे पापा के जाने के बाद मुझे साथी की कमी खलती थी इसलिए कर लिया. जैसे कि आपको पता है मेरे पति का मॉल में होटल का बिज़नेस है, जिसमें वो पूरा दिन बिजी रहते हैं.

मैं लोड़े को आगे पीछे करने लगा और उसके होंठों को पीने लगा, बूब्स दबाने लगा. उसने कहा- ठीक है, तो फिर कल तुम काली ब्रा और काली ही पैंटी पहन कर आना. अलीमा उसके उठने से पहले ही उठ गई थी वो बलविंदर के माथे को प्यार से सहलाने लगी थी.

फिर एक दिन मैंने उससे बाहर घूमने चलने के लिए कहा, तो वो राजी हो गई.

उन्होंने मेरी आंखों में वासना से देखते हुए मेरा पैंट का हुक खोला और उसे नीचे गिराते हुए मेरे अंडरवियर को उतार दिया. निकाल दे अपने लंड का पानी मेरी चूत में! बुझा दे इसकी आग!हर्षदीप- मैं भी इतनी गर्म चूत को चोदने के लिए कब से बेकरार हूं आंटी!हर्षदीप ने आंटी को सीधा लेटाया और बिस्तर के पास रखी टेबल से कंडोम लेकर उसे अपने लन्ड पर पहनाया. रास्ते में स्पीड ब्रेकर आया तो मैंने ब्रेक लगा दी। वो आगे की तरफ झुक गई और उसकी चूचियां मेरी पीठ से टकराई।मेरे तो शरीर में करंट सा लगा। मेरी पैन्ट में हलचल होने लगी।पर वो पीछे नहीं हुई; वो वैसे ही बैठ गई।मेरी हालत खराब हो रही थी। मजा भी आ रहा था.