बीएफ देना सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,दुनिया के सबसे खतरनाक बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

लिंग बढ़ाने का: बीएफ देना सेक्सी बीएफ, वो भी पूरे जोर से लंड पर उठक-बैठक कर रही थी, जिससे कि उसकी चूचियां और गांड पूरी कामुकता से हिल रही थी।कमरे में चुदाई की ‘फच.

सेक्सी वीडियो में एचडी बीएफ

उसके सामने एक लम्बा सा आदमी खड़ा था, उसका भी लंड भी तुम्हारे और साहिल की तरह लम्बा था, लड़की उंगली चाटते हुए बोले जा रही थी- come on Darling, why are you waiting, come and fuck me, my pussy is waiting for you. सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सी बीएफ वीडियोआ…आ… औरर्र तेज्ज अंदर बाहर करो… हाय ईईई मेरा निकलाआआआ निकलाआअ…कह कर शान्त सी हो गई और मैंने महसूस किया कि बुर अंदर से मेरे लंड पे बुर अपनी रस की फुहार छोड़ रही थी.

कुछ ही देर ऐसा ही करने के बाद मैंने उससे पूछा- क्या लोगी?तो वो मुस्कराती हुई मज़ाक करती हुई कहने लगी- ये…और साथ ही मेरे लंड की तरफ इशारा कर दिया. एचडी बीएफ सेक्सी दिखाएंचारों ओर सुनसान था… किनारे पर लेटे होने से कभी कभी लहर उन्हें भिगो जाती… रूबी ने साराह का हाथ पकड़ा और उसे खींचती समुद्र में ले गई.

पहले तो बड़े आराम से प्यार करते थे, उसके बाद चुदाई शुरू करते थे और आजकल तो बस सीधा लंड अन्दर घुसा देते हो.बीएफ देना सेक्सी बीएफ: मैंने उसका सर पकड़ रखा था और उसके मुँह का रसपान करने के साथ साथ उसकी चूत को दबा के रगड़ रहा था। फिर जब उसके आँसू निकल आए तो मैं होश में आया और उसे छोड़ दिया।फिर उसका ब्लाउज निकाल दिया, वो बुरी तरह से हाँफ रही थी। फिर उसने थोड़ी देर रुकने को कहा, मैं उसके ऊपर से उतर गया और उसके खुले मम्मों को पकड़ कर सहलाने लगा।वो मेरी तरफ देख कर बोली- मुझे ऐसी चुदाई की आदत नहीं है.

पिछली कहानी में आप सबने पढ़ा कि कैसे मामी और मैंने एक दूसरे की अन्तर्वासना को समझा.मैं सुकांत के बगल में हो गया। हम दोनों एक-दूसरे चिपके हुए ही झड़ गए.

इंग्लिश बीएफ सॉन्ग - बीएफ देना सेक्सी बीएफ

असल में रयान के पेरेंट्स को भी लगा कि उन्हें भी एक कंपनी मिल जाएगी, वर्ना पैसों की तो उन्हें कोई आवश्यकता नहीं थी.आपने मेरी कहानीदेसी भाभी की रात भर चूत चुदाईपढ़ी होगी अगर नहीं पढ़ी तो पढ़ लीजिए.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।मैंने उससे रुकने को कहा और अपनी ब्रा उतार फेंकी। मेरे बड़े-बड़े स्तन देखकर अवी पागल हो गया। वो पागलों की तरह मेरे स्तन चूसने लगा। साले ने मेरा पेटीकोट भी उतार दिया. बीएफ देना सेक्सी बीएफ तभी उसने मुझे रेशमा को देखते हुआ पकड़ लिया- वासु, अब पता चला कि तेरा लंड इतना कड़क कैसे है… तू रेशमा को देख रहा है न?मैंने कहा- अरे नहीं मैं कहाँ…दीपा- वासु अगर उसको चोदना है तो कोई दिक्कत नहीं, मैं कुछ नहीं कहूँगी.

मैं कुछ समझी नहीं?टीना- सब्र कर जानेमन बताती हूँ, पहले मेरे कुछ सवालों के जबाव तो दे।सुमन- ओके दीदी आप पूछो ना?टीना- सबसे पहले ये बता.

बीएफ देना सेक्सी बीएफ?

वैसे भी, उसका सूट मैं पहले ही फाड़ चुका था और उसको वापस जाने के लिए नए कपड़ों की जरूरत थी. इसी तरह 5 मिनट तक मैंने उनकी गांड को चोदा। अब मैंने उसकी गुलाबी और फूली हुई चुत पर लंड रखा. एक बार मुझे उनके बेटे से पता चला कि आज आंटी घर पर अकेली होंगी क्योंकि उनका बेटा और उनके पति गाँव में किसी कार्यक्रम में जा रहे हैं और उन्हें घर तक आते हुए रात हो जाएगी.

लेकिन जाते जाते पूजा ने अग्रवाल साहब का एक बार फिर लंड चूसा और माल पिया, बोली- मेरी शर्त याद रखना!तो अग्रवाल साहब बोले- ठीक है!दोस्तो, आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी जिसमें एक भाई ने बहन को चोदा? मुझे मेल करके ज़रूर बतायें, मुझे आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा. कितनी बार समझाया ये पीना-वीना लड़कियों के लिए अच्छी बात नहीं है।जॉय- अरे क्या हुआ ममता. क्यों अच्छी नहीं लग रही हूँ क्या?तो उसने कहा- नहीं यार, लग तो बहुत अच्छी रही हो.

लगेगी नहीं थोड़ी देर ढीली।गांड की चुदाई की यह हिंदी गे सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!तो रख उसने थोड़ी ढीली की तो पेल दिया। अब आधा ही अन्दर घुसा था कि वह ‘आ… आ…’ करने लगा, दर्द के चलते वो गांड सिकोड़ रहा था. लेकिन मैं हूँ न अभी आपके पास! अभी एक घंटा और है अपने पास जैसे चाहो चोद लो मुझे फिर मेरे भीतर ही झड़ जाना आप! मैं आपके वीर्य को भी महसूस करना चाहती हूँ अपने भीतर, अगर आपका बीज मुझमें अंकुरित हो गया तो मुझे और ख़ुशी होगी. लेकिन मेरे लंड महाराज फिर से खड़े हो गए तो मैंने उसको एक बार और वहां घोड़ी बना कर चोदा।फिर हम नहा कर बाहर आ गए और नंगे ही सब कपड़े आदि समेटने लगे। अचानक हमारी नजर वहां पड़ी चादर पर गई जिस पर खून के धब्बे लग गए थे।जानवी ने पूछा- ये खून कहां से आया?तो मैंने उसकी चुत में उंगली डाल कर बोला- ये खून यहां से आया है।वो पूछने लगी.

अब मैं आपको मेरे दोस्तों की बीवियों का परिचय करवा दूँ… मेरी बीवी दीपा, रंग सांवला पर बड़ी आकर्षक औरत है. मैंने अपनी पत्नी को किस करते हुए कहा- अरे वाह, रजनी को रात को हमारे ही रूम में सुला लो.

मैंने कहा- क्यों? और वो भी अपनी ड्यूटी छोड़ कर?रामू काका बोले- अरे, यहाँ कौन देखता है.

मैंने अपनी जुबान बाहर निकाली और मैं उसके मूतने के छेद को जुबान से लपलपाने लगी.

मगर ये सुधीर से मिलकर क्या होगा तुझे नहीं लगता उससे मिलने की कोई जरूरत नहीं है?मोना- नहीं मीना उससे मिलना ही होगा. अब मैडम फर्श पर लेटी हुई थी, मैंने एक तकिए को मैडम की गांड के नीचे रख दिया, मैडम की चूत बहुत मोटी थी, बहुत मस्त चूत थी. मैं अपने सेंटर के टीचर के साथ काफ़ी फ्रेंक था इसलिए मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे लाइक करता हूँ लेकिन वो बोला- ये ठीक नहीं है, ज़्यादा भाव खाएगी क्योंकि वो काफ़ी सुंदर थी.

मैं सुबह जल्दी उठ कर अपने रूम में आ गया।ब्रेकफ़ास्ट के टाइम भाभी बहुत खुश लग रही थी।उस दिन के बाद से जब भी हमको टाइम मिलता है हम देवर भाभी चूत चुदाई करते हैं।यह थी मेरी सेक्सी भाभी की चुदाई की कहानी, आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी सेक्सी कहानी पसन्द आई होगी।[emailprotected]. इससे दोस्ती का अहसास होता है और मेरे आने की वजह है तुम्हारा टास्क जो तुम्हें देने आई हूँ।सुमन- इस टाइम वो भी मेरे घर में. मैं कुछ देर तक यूं ही वहाँ पर पड़ा रहा, फिर धीरे-धीरे होश संभाला, मैंने गर्दन उठाई तो रात हो चुकी थी, आस-पास सन्नाटा ही सन्नाटा था जिसमें घास-फूस में छिपे छोटे-मोटे जीवों की आवाज़ें आ रही थीं.

रोज रात को 12 बजे के करीब वो आता और सुबह 5 बजे चला जाता। वो रात में 5 घंटे मेरी जम कर अच्छे से चुत चुदाई करके मेरी कामुकता का इलाज करता और मेरी चुदाई की भूख को मिटाता।दो महीनों तक मेरी रात में बहुत चुदाई हुई। रोज 5 घंटे की चुदाई से मेरी जिन्दगी में हरियाली आ गई।थोड़े दिन में मेरी चुदाई का असर मेरे ऊपर भी होने लगा था.

रोहन का लण्ड मेरे मुंह के सामने था तो मैंने भी रोहन के लण्ड को अपने मुंह मे भर लिया और उसे चूसने लगी. उनकी चुत का स्वाद बड़ा नमकीन था।चुत चाटते हुए धीरे से मैंने अपने हाथ उनके दोनों मम्मों पर रख दिए। भाभी की कामुकता भरी सिसकारियों से कमरे में मादक माहौल छा गया- उ ऊऊ हाहा. उसने कहा- कोई बात नहीं लाडले, चल बाइक पर बैठ तुझे तेरे रवि के पास पहुंचा देता हूँ.

कमरा बंद भी नहीं कर सकते तह क्यूंकि अगर कोई आता तो बंद कमरे के अन्दर हम दोनों के होने से वही एक्सप्रेशन जाता फिर…मामी की चूत अब मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी, एकदम चिकनी चूत, जिसे कई सालों से किसी ने छुआ नहीं था. पर अब लंड अन्दर था सो मैंने तेज धक्का दे दिया।मेरा पूरा लंड अन्दर हो गया।वह चिल्लाया- बस बस. !फिर वह उठ कर एक मग्गे में साफ पानी लाया और उसमें कपड़े को भीगो कर मेरे गुदाद्वार और अपने लिंग को साफ किया और बोरो प्लस लगाया.

’ की आवाज आई।पवन अंकल ने और जोर का झटका मारा तो अबकी बार माँ जोर से चिल्लाईं ‘आह.

मैंने दिया… समझा तू?साथियो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं. मैंने अचानक से उसके बाल पकड़े और अपने लंड की ओर दबाव लगाकर अपना पूरा लंड उसके गले तक उतार दिया। उसकी आँखों में से आँसू निकल रहे थे.

बीएफ देना सेक्सी बीएफ रयान बोला- मैं तुम्हारे लिए कॉफ़ी बनता हूँ…उसने दो कप कॉफ़ी बनाई और लेकर अपने बेड रूम में आ गया. ’ की आवाज़ें पूरे कमरे में भरने लगीं। दीदी भी मेरा हौसला बढ़ा रही थीं।‘और ज़ोर से सुशान्त.

बीएफ देना सेक्सी बीएफ फिर मैं भी जोश में था और भाभी भी… फिर भाभी लेटी और अबकी बार तो मैंने अपने लंड का टोपा भाभी की चूत में डाल दिया और भाभी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउहह!’ की आवाज़ करने लगी. मैंने तो पहले से दीवार से पाँव टिकाए थे सो मैंने धक्के तेज़ कर दिए। मेरी ठुकाई की रफ़्तार तेजी पकड़ने लगी थी। मैं भी उसकी चुत पर अपना लंड पटकने लगा।‘छट.

तभी मेरे एक घनिष्ठ मित्र ने ऑफिस में असिस्टेंट रखने की सलाह दी जो सामान बेचे और मेरे कार्य में सहयोग करे!मैंने अपनी दुकान के आगे असिस्टेंट हेतु आवश्यकता का विज्ञापन चिपका दिया.

बहन की चुदाई खेत में

इसलिए वो खड़ी हो गई और राधा के पास बैठ कर उसके आँसू पोंछने लगी।राधा- आह क्क्क काका आपका आह. हम दोनों बाइक खींचते-खींचते थक चुके थे। तभी पास में एक कच्चा घर दिखाई दिया, तो उसे देख कर थोड़ी राहत मिली। हम दोनों ने तय किया कि आज रात यहीं रूक जाएंगे।सो साहब चल दिए उस घर की ओर. मालदीव में दो सहेलियों का डबल हनीमून-1चारों साराह की विला में पहुंचे और पीछे बने पूल के पास बैठ गए.

’ की आवाज़ आने लगी थी। मैं लंड चुसवा कर जन्नत की सैर कर रहा था। मैंने कुछ ही देर उसके मुँह में ही अपना कम निकाल दिया।उसने मेरे लंड को चाट कर साफ़ कर दिया और फिर अपनी पेंटी निकाल के खड़ी हो गई। अब वो अपनी बुर को मेरे मुँह पर रगड़ने लगी।मैं बोला- यार मुझे बुर चाटने का मन नहीं हो रहा।तो वो कहने लगी- मेरी बुर अच्छी नहीं है क्या?प्रीति, मेरीबहन की चुततो मस्त थी. और फिर आखिर के जोरदार शॉटस के बाद मैंने अपना सारा माल निशा की चुत में छोड़ दिया. !यह कहते हुए भाभी मेरे लंड से खेलने लगीं।कुछ ही पलों बाद मैंने लंड चूसने का इशारा किया तो भाभी ने मेरे लंड के ऊपर दारू डाल दी और उसे चूसने लगीं, लंड चूसते हुए भाभी बोल रही थीं- उम्माह.

तो कर देना।मैं बोला- ओके!इसके बाद मैं और भाभी भैया को एयरपोर्ट छोड़ने गए। वो चले गए और हम लोग वापिस आने लगे.

हम दोनों झड़ चुके थे और कुछ ही क्षणों में एक दूसरे से अलग हुए और बाथरूम में जाकर अपने आप को साफ़ किया. फिर मैंने उन्हें कहा कि वो अपने दोनों हाथों से मुझे मेरी गर्दन से कस के पकड़ लें. विवेक भी उसके साथ ही तैरने लगा पर चूत को तो लंड चाहिये था, तो रूबी बाहर आ गई और बाथरूम में जाकर शावर लेने लगी.

दोनों बिल्कुल सेम।मैं मुस्कुराया।फिर वे मुस्कुराते बोले- आपके लिए एक खुशखबरी है. और उसे मारने के लिए दौड़ाने लगी तभी एक टीचर ने रोका और कहा- क्या हुआ?तो प्रेरणा ने फिर छेड़ा- बता ना क्या हुआ है।मैंने कुछ नहीं कहा. तो बता दे।’दीदी कुछ देर बाद शांत हो गई और उसने कहा- भैया आप ये सब क्यों करते हो.

मैं अन्दर आ गई उसने दरवाजा बंद किया और मुझे कमरे में ले गया। वहां पर एक चॉकलेट केक रखा था और बिस्तर सफेद चादर से ढका हुआ था।मैंने कहा- ये सब किस लिए?तो आकाश ने मुझे बिस्तर पर बिठाया और कहा- केक काटो।मैंने केक काटा और आकाश को खिलाने के लिए हाथ बढ़ाया. कितने मुलायम से थे एकदम गोरे… मन कर रहा था कि खा जाऊँ… मैं उन्हें चूसने लगा.

उस दिन उसने जींस पेंट और टी- शर्ट पहनी हुई थी। क्या मस्त लग रही थी. तो मुझे मालूम हो गया कि मेरी माँ इन तीनों से चुदवाती हैं। क्योंकि जब चाचा जी जब बाहर से आते हैं तो माँ के साथ उसके रूम में ही सोते हैं और माँ हम भाई- बहन को दूसरे रूम में सुला देती थीं।जब फूफा घर आते तो भी यही सिलसिला चलता. मैंने भी देर ना करते हुए चाची की टाँगों को फैलाया और अपना लंड चाची की प्यारी सी चुत पर रख कर एक ही झटके में पूरा उनके अन्दर पेल दिया।चाची मस्ती में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगीं और मुझे तो जैसे स्वर्ग का मजा ज़मीन पर ही मिल गया हो। मैं मस्त होके जोर-जोर से चाची की चुदाई करने लगा।वो मस्ती में ‘अह स्स ह.

फिर उन्होंने मेरे वक्ष का साइज़ चेक किया और मेरे साइज़ से 1 नंबर छोटी ब्रा और पेंटी के 4-5 सेट मंगवा लिए.

एक दिन काम समाप्त करके रात को घर जाने के समय जब अम्मा को देर हो गई थी तब माला मेरे घर आई और उसने मुझे देखा था. ‘किशोर धीरे… मुझे अभी भी दर्द है!’पर मैं अब रुक नहीं सकता था मेरा लंड उसकी बुर की गहराइयों को छू गया… और लंड को एक समान स्पीड में अंदर बाहर करता रहा. मगर बहुत साफ-सुथरा रहता था।उसके पास एक ही बेड था तो उसने कहा- हमें दो-तीन महीने इसी एक से एडजस्ट करना होगा.

फिर लड़की की चूत का क्लोजअप दिखता है और वो आदमी उस किशोरी का भगान्कुर अपने दांतों से धीरे धीरे कुतरने लगता है और चूत के उस हिस्से को होठों में दबा के चूसने लगता है. रीना- फिर, मैं कबसे आना शुरू करूं?विक्रम- आप कल सुबह दस बजे से आ जाओ.

वो मुझे अपने हाथों से पीछे धकेलने लगी, पर मैं उसी पोजिशन में खड़ा रहा। थोड़ी देर जब कमला थोड़ी शान्त हुई तो फिर से धीरे से धक्का लगा दिया। अब मेरा लंड करीब चार इंच अन्दर घुस गया था. उसके बाद के अगले तीन दिन भी अम्मा काम पर नहीं आई और दूसरी कामवाली ही काम पर आती रही. आंटी हंसते हुए- तू शरारती हो गया है, अरे जवान लड़की के तो मुझसे भी अच्छी होगी, मेरे बूब्स अच्छे लगते हैं?जब आंटी ही इतनी फ्रेंक हो रही थी तो मैं भी फ्रेंक हो गया और मैंने कहा- आंटी आपके बूब्स बड़े हैं, और काफ़ी नर्म हैं.

कंडोम का यूज़ कैसे करते हैं

मैंने थोड़ी वेसलीन अपने लंड पर लगाई और मानसी के पैरों के बीच में जा बैठा.

30 बजे तक वापस आ गए।हिम्मत अपना लैपटॉप और पोर्न मूवी की 3-4 सीडी लेकर मेरे रूम में आया।मेरे रूम में पहले पोर्शन में टीवी और बेड था और दूसरे और पहले पोर्शन के बीच में दीवार नहीं थी, केवल पर्दे लगे थे, उस साइड में ही बाथरूम था और ए सी लगा हुआ था. जब हम दोनों की जननेन्द्रियों में से पूर्व रस बहने लगा तब माला मेरे ऊपर आ गई और लिंग को अपनी योनि में प्रवेश करा कर उचक उचक कर अन्दर बाहर करने लगी. मुझे इस समय ऐसा अहसास हुआ कि राजू अब डबल एनल के चक्कर में है!! और सच.

हम दोनों सीधे लेटे हुए थे, थोड़ी देर बाद मैंने करवट ली और थोड़ा सा नीचे आते हुए उसके दूध को अपने मुंह में भर लिया. अब कोमल फिर से हमारे बीच सैंडविच बन के चुदने लगी और भद्दी गालियां देने लगी. सुपरहिट देसी बीएफमैं उसका इशारा समझते हुए उसके ऊपर चढ़ गई और अपनी भीगी प्यासी चूत में उसका लंड सेट करने लगी.

हम दोनों चौंक गए कि यह अचानक कौन आ गया, पर चुदाई का नशा हम दोनों पर कुछ ऐसा था कि 2-3 बार घंटी बजने के बाद ही हम अलग हो पाए. दोस्तो, मैं सोनाली एक बार फिर से आप सबके लिए बीवी की चुदाई एक नई कहानी लेकर उपस्थित हूँ, उम्मीद है आपको यह कहानी मेरी पिछली कहानियों की तरह काफी पसंद आएगी।आप सब लोगों नेमेरी पिछली कहानियों को तो पढ़ा ही होगाकि किस तरह मैंने एक घरेलू औरत से एक इंसेस्ट क्वीन बनने का सफर तय किया.

देखिये न अब ये कम्बख्त मोना कहानी टाइप करना रोक के मेरी चूत चूसने लगी है. रयान के पास तो टाइम नहीं था, इसलिए उसने कुशल से बात करके अपने पिताजी से मिलने को कह दिया और जब तक मकान न मिले वो रयान के घर ही रह ले, ऐसा उसने कुशल से कहा. अपनी कल्पना में स्नेहा को बसा कर उसकी चूचियाँ पकड़ कर उसकी चूत में आड़े तिरछे सीधे गहरे उथले जबरदस्त शॉट्स लगाए और लंड से उसकी चूत में चक्की भी चलाई.

रामू काका बोले- अरे घंटे की माशूक है, साली लंड की यार है, इसके खसम से कुछ बनता नहीं है, तो मेरे पास आ जाती है. वो लम्बी लम्बी सांसें ले रही थी… मैंने उसकी आँखों में देखा, वहाँ सिर्फ वासना ही दिखाई दे रही थी, आंखें लाल थी, बाल बिखरे थे, चुची पर लाल लाल निशान थे. और मेरी तरफ पीठ करके मेरे लंड पर झुक गई…समझे आप? 69 की दशा में थे हम…मेरे हाथ उसकी पीठ को सहलाने लगे बीच बीच में चुची को भी मसल देता.

दोनों बिल्कुल सेम।मैं मुस्कुराया।फिर वे मुस्कुराते बोले- आपके लिए एक खुशखबरी है.

थोड़ी देर के बाद जूसी का फोन आया- रेखा तू आजा हमारी तरफ!मैं उठ खड़ी हुई और चलते हुए सोचने लगी कि जूसी ने फोन करके क्यों बुलाया, खुद आकर भी बुला सकती थी. मैंने अपनी जीन्स उतार दी, जीजू मेरे पीछे आ गये और उन्होंने अपने लंड को मेरी गांड के ऊपर घिसना चालू कर दिया.

उधर जैसे ही मेरा प्यारा छेद खाली हुआ, मैंने चित लेती हुई देवी रति के खुले मुंह में उसका क़ानूनी लंड घुसेड़ दिया!मेरे विचार से उसके मुंह की इतनी चुदाई के बाद तो उसमें बिल्कुल भी ताकत नहीं बचनी चाहिए थी, लेकिन मुझे आश्चर्यचकित करते हुए नताशा ने पूरे जोशोखरोश से अपने पति के लंड को चूसना शुरू कर दिया. धीरे से उसकी पेंटी उतार कर मैं उसकी चूत को चाटने लगा, उसकी चूत एकदम लाल और बिना बाल की थी, चूत चाटने से वो झर गई और उसकी चूत का सारा नमकीन पानी मैं पी गया. फिर तुम हमेशा चुत चुदाई से पहले गांड मरवाना पसंद करोगी।मैंने अपने लंड पर भी तेल लगाया और धीरे-धीरे उनकी गांड में लंड डालना शुरू कर दिया।मैंने पहले ही तेल लगा कर उनकी गांड को बहुत ढीला और चिकना कर दिया था ताकि लंड अन्दर जाने में दिक्कत ना हो। मैंने धीरे-धीरे धक्के मारने शुरू कर दिए और लंड अन्दर जाने लगा।आंटी बोलीं- अमित, मुझे दर्द हो रहा है।मैं बोला- चुत की तरह पहली बार गांड में भी दर्द होता है.

नमस्कार दोस्तो, मैंने कम्प्यूटर पर सेक्सी ब्लू फिल्म दिखा कर अपनी घरेलू काम वाली की चूत को चोदा. उनके मम्मों का साइज बढ़ गया। भाभी के मम्मे बहुत बड़े और तने हुए थे और उन पर छोटे-छोटे से भूरे निप्पल हवा में लहराने लगे।अब हम दोनों ऊपर से नंगे हो चुके थे और मेरे लंड का साइज तन के 6. फिर इधर-उधर की बातें करके मीना चली गई और मोना भी सुधीर की तलाश में निकल गई.

बीएफ देना सेक्सी बीएफ वो वाशरूम में बने बाथटब में चली गई, विवेक भी उसके पीछे पीछे चला गया. लेडी इनकम टैक्स ऑफिसर ऑफिसर को चोदा-1अब तक आपने इस चुदाई की कहानी में पढ़ा कि मैडम मुझसे मालिश करवाने लगी थी और मैं उसके नंगे बदन पर अपना हाथ फेर रहा था।अब आगे.

पोकेमोन सेक्स

उसने बाद उन्होंने कभी मुझसे चुदवाया नहीं… शायद वो सच्ची पतिव्रता औरत थी।उसके बाद मैं वहाँ से दूसरी जगह शिफ्ट हो गया।कैसी लगी दोस्तो आपको मेरी यह कहानी?आप सभी के उत्तरों का इंतज़ार है।[emailprotected]. यह कहकर मैं थोड़ा रुका और उसके चूचे दबाते हुए उसे किस करने लगा। थोड़ी देर बाद वो चुप हो गई. मैं समझ गया कि रास्ता साफ़ है, मैंने उनके चूतड़ को चूमना और चाटना शुरू किया.

चिंटू को किसी काम से जाना था, उसने मुझे भी चलने के लिये बोला और उस लड़की को भी बुला लिया क्योंकि चिंटू से भी वो लड़की चुदना चाहती थी. गोपाल अब धीरे-धीरे मोना के मम्मों को जोर से दबाने और चूसने में लग गया था और उसका हाथ भी चुत को जोर-जोर से रगड़ रहा था।कुछ देर बाद मोना ने गोपाल को अपने से अलग कर दिया और खुद उस पर सवार हो गई।गोपाल- आह. बीएफ फिल्म बढ़िया वाली बीएफतब तक पीछे से मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दी, वो कसमसाने लगी।मैंने कहा- बहुत रंगरलियाँ मनाई तुमने! अब रोज ऐसे ही चुदाई होगी!मुदस्सर के चेहरे की रौनक वापस आ गई थी।मैंने अपनी बीवी से कहा- अमिता कुतिया की तरह झुक जा!तो वो झुक गई तो मैंने मुदस्सर से उसको चोदने के लिए कहा तो मुदस्सर ने अपना लंड झट से उसकी चूत में डाल दिया।‘आएईई… मुदस्सर बहुत दर्द हो रहा है धीरे धीरे.

अब मैंने अपना लंड बहन की चूत के छेड़ पर रखा और जोर डाल दिया, वो ज़ोर से चिल्लाई.

पर सुनील के बारे में तुमको नहीं बता पाई।मैंने दीदी की बात पर हामी भरते हुए सर हिला दिया।फिर मैंने कहा- कोई बात बात नहीं. साराह की आँखें बंद थी शायद उसकी ऐसी चुदाई पिछले दस दिनों में नहीं हुई थी.

फिर उसने भी बाथरूम जाने की इच्छा जताई तो मैंने उसको सहारा देकर उठाया. सुमन- क्या हुआ? तू मुझे ऐसे क्यों देख रहा है मॉंटी?मॉंटी- अरे दीदी, जल्दी आप कपड़े निकालो तो मैं इलाज करूँ ना आपका. ’ की आवाज गूँज रही थीं।संजू जैसे जन्नत में गोता खा रही थी। वो इस पोज में संजू लगभग 10 मिनट चुदी।अब वो थोड़ा थक गई थी तो वो बोली- बाबा अब मैं नीचे आऊंगी, आप मेरे ऊपर आकर चुदाई करो।इसके बाद संजना नीचे आ गई और गुप्ता जी उसके ऊपर लेट गए और जबरदस्त चुदाई करने लगे।चुदाई इतनी जबरदस्त थी कि मेरा पलंग भयंकर आवाज करने लगा। गुप्ता जी को निकला हुआ पेट संजना के पेट से टकरा रहा था.

आप और रानी भाभी उसी के बेडरूम में चुदाई करना पूरे दो घंटे! मैं बाहर आँगन में बैठ कर चौकीदारी करती रहूँगी, मान लो कोई आ भी गया तो एकदम से भीतर आ नहीं पायेगा, हमें संभलने का मौका मिलेगा.

क्या बात है मेरी गुड़िया तो आज बहुत प्यारी लग रही है।सुमन- थैंक्स पापा, आप भी स्मार्ट लग रहे हो… हा हा हा हा. अजय ने अपने और साराह के कपड़े खींच कर उतार दिए और दोनों नंगे चिपट गए शावर के नीचे…अजय ने साराह के पूरे शरीर पर शावर जेल लगा दिया और अपने ऊपर भी लुढ़का लिया. मैं जैसे ही झड़ने पर पहुंची तभी परीक्षित ने चूत चाटना बन्द कर दिया और मुझे उससे थोड़ा दूर किया और खुद भी बैठ गए और रानी को उनकी तरफ खींच लिया तो मैं बिना कुछ बोले चिंटू के तरफ 69 की पोजीशन में आ गई.

बीएफ जबरदस्ती वाली बीएफअब मैं आपको मेरे दोस्तों की बीवियों का परिचय करवा दूँ… मेरी बीवी दीपा, रंग सांवला पर बड़ी आकर्षक औरत है. फिर हम दोनों अलग हुए लेकिन सही बात तो यह है कि हम वहाँ से अलग नहीं, एक हुए थे.

लड़की जानवर का सेक्सी

फिर एक बार उसकी नज़र मुझसे मिली और उसने सिर झुका कर मेरा अभिवादन किया. मैं उत्तेजनावश अपने कदम गद्दे पर जमा कर, ऊपर-नीचे गांड की चुदाई करने लगा. उस गोरी सेक्सी लड़की का नाम कुसुम था और वो यहाँ इस शहर में एकदम नई थी.

मैंने पूछा- कितनी दूर है अभी रवि का गांव?तो वो बोला- बस दस मिनट में पहुंच जाएंगे, तू अपना काम करता रह!रात का अंधेरा घिर आया था और रोड पर वाहनों की लाइटें जलनें लगी थीं, मेरा मन थोड़ा घबरा रहा था लेकिन सोचा कि दस मिनट की ही तो बात है, एक बार रवि के पास पहुंच जाऊँ, फिर सब ठीक हो जाएगा. जब तक उसकी माँ किचन में काम करती रहीं।उसकी माँ किसी काम से कमरे में आ जातीं तो हम दोनों अलग हो जाते और जैसे ही वो किचन में जातीं तो किसिंग चालू हो जाती। उसके चूचुकों पर हाथ फेरना चलता रहता। मैंने उल्टे हाथ से उसके दाएं हाथ को पकड़ा और अपने पजामा के अन्दर डाल दिया। वो पॉर्न देखने में मस्त थी. सुबह जल्दी उठा, स्कूल गया, वापस आया तो देखा आंटी बाथरूम में नहा रही हैं और घर में कोई नहीं था.

मैं सूसू करके भाई के रूम की तरफ गई और अन्दर घुसी तो देखा कि भाई स्टडी कर रहा है।मैंने उससे कहा- चिंटू अब सो जा. अभी दिल नहीं भरा क्या?मैंने कहा- आप जैसी शानदार औरत से दिल भर ही नहीं सकता. बदले में उसके मुंह से सिसकारी निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’सलवार नीचे से निकल चुकी थी लेकिन उसकी चूत के ऊपर अभी भी अटकी हुई थी.

मेरे विवाह की अजब गजब हिंदी चुदाई स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरा विवाह अजब हालातों में होने जा रहा था. उनका टॉप उतारने के बाद, मेरी नजर उनकी चूचियों पर गई, उन्होंने ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

पर कैसी पार्टी?मैं बोला- जैसे होती है।भाभी ने आँख मटका कर पूछा- कैसी वाली पार्टी?मैंने पूछा- आप ड्रिंक करती हैं?वो बोलीं- हाँ.

एकदम आज़ाद भी है।दिव्या- हाँ अमित, लेकिन कभी लगता है कि सेटल होती तो अच्छा रहता ना, दुनिया की नज़र में मेरा इस नाजायज़ तरीके से रहना. बीएफ सेक्सी नंगी सीन चुदाईमगर उनका कहानी में कोई खास रोल नहीं है, इसी लिए इंट्रो नहीं दिया। वैसे ही और भी बहुत लोग कहानी में आएँगे मगर कुछ देर के लिए. बीएफ इंग्लिश पिक्चर बताइएशायद मेरे सोने के बाद उनमें से किसी के टॉयलेट जाने के कारण उनकी जगह आपस में बदल गई थी. क्योंकि कसा हुआ टॉप है और सफ़ेद रंग का है तो उसमें तुम्हारे चूचे ज़्यादा उभरे हुए दिखेंगे। फिर देखो कि क्या वो तुम्हारे मम्मों को घूरता है कि नहीं। मैं पक्का हूँ कि वो ज़रूर तुम्हारी चूचियों को देखने के ट्राइ करेगा। इसके बाद जब कभी भी घर में तुम और तुम्हारा भाई अकेले हो तो तब तुम अपनी स्कर्ट ऐसे रखो कि उसको तुम्हारी पेंटी दिखे। नाइट में भी कोई सेक्सी नाइटी पहना करो.

इतनी भयानक चुदाई के बाद हमारे लंड और गोरी लड़की की गांड और चूत सुर्ख लाल हो चुके थे, आखिर हमें चुदाई करते हुए काफी समय बीत चुका था!अब हम झड़ने को तैयार हो चुके थे, नताशा तो अब तक कई बार झड़ चुकी थी.

हमारी सेक्स लाइफ बहुत अच्छी है, मेरे पति सेक्स पर खुल कर बोलते हैं और हर बार कुछ नया करने की सोचते हैं सेक्स में! हम रोज तीन या उससे भी ज्यादा बार सेक्स करते हैं, जब भी विनोद को मौक़ा मिलता है, वो मुझ पर टूट पड़ते हैं. दो मिनट ऐसे ही चोदने के बस मैं उसके मम्मों को तेजी से मसलने लगा और अब मैं भी जब झड़ने के करीब पहुंचा तो मैं बोला- मैं भी झड़ने वाला हूँ. ओह्ह गॉड… क्या गांड थी! इतनी मस्त कि सारा दिन चाटता रहूं!मैंने अपना हाथ उनके चिकने चूतड़ पे फेरा… एकदम मलाई थी!शायद उन्हें भी मेरा टच अच्छा लगा.

तुम्हें अन्दर तक प्यार करना चाहता हूँ।मैंने कहा- वो कैसे?तो उसने मेरा हाथ अपने लंड पे डाल दिया और बोलने लगा- मैं इससे तुम्हारी फुद्दी के अन्दर जाकर चूमना चाहता हूँ। मैंने पहली बार लंड छुआ था. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने वाले सभी दोस्तों को राज का प्रणाम! यह सेक्स स्टोरी मेरे और मेरे भाई की पड़ोसन अमिता के बीच की है. अँधेरा हो चुका था… आस-पास ना कोई था और ना कुछ था तो मम्मी ने कहा- यश, कुछ दूर तक मेरे साथ ऐसे ही नंगा होके चल ना!तो यश ने कहा- ठीक है.

साड़ी वाली आंटी सेक्सी वीडियो

चल लेट जा, तेरी कच्ची चुत पर रगड़ खा कर शायद ये लंड पिघल जाए।संजय ने पूजा को लेटा दिया और खुद उस पर सवार हो गया। अब वो लंड को चुत पर घुमाने लगा, साथ ही पूजा के चूचे चूसने लगा।पूजा को भी मज़ा आने लगा और वो भी गर्म हो गई। अब हालत ऐसे थे कि संजय का लंड पूजा की जाँघ में फँसा हुआ था और संजू जोर-जोर से उसको ऊपर से ही चोद रहा था। कभी-कभी लंड ऊपर आ जाता और सीधा चुत से टकराता. मुझे चूत चाटने का भी बहुत शौक है… जैसे ही मामी की चिकनी चूत मेरे सामने इस कामुक अवस्था में आई, मैं उस पर टूट पड़ा एक प्यासे की तरह… मामी की चूत को पहले अच्छे से चाटा, फिर उनकी चूत के दाने को अपनी जीभ से सहलाया. पर व्हिस्की पीने के कारण मेरा माल निकल ही नहीं रहा था।अब मैंने अपनी देशी स्टाइल ट्राइ करने का सोचा। मैंने सोनम को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से अपना लंड सोनम की चूत में पेल दिया, जिससे सोनम को बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी।अगले 5 मिनट में मेरा माल छूटने वाला था तो मैंने सोनम से पूछा कि कहाँ निकालूँ?तो सोनम ने जवाब दिया कि इतना कीमती प्यार किया तुमने.

मैं झड़ने के करीब पहुँच गई और चिल्लाने लगी- और कस कर चोदो मुझे… फाड़ दो मेरी चूत को… बना दो मुझे बाजारू रंडी! मैं अब तुमसे हमेशा चुदवाऊंगी! मुझे ऐसे ही हमेशा चोदना!उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

वो अब एक सी स्पीड में धीरे धीरे से मुझे नीचे से चोद रहा था, मुझे अब उसके धक्के सहन नहीं हो रहे थे, मुझे ऐसा लगा कि वो भी झड़ने वाला है- अरे, तुमने कंडोम नहीं पहना?‘मुझे अच्छा नहीं लगता!’‘पर कुछ हो गया तो?’‘अपुन फुल कण्ट्रोल में है, दोपहर को भी बाहर ही माल गिराया था.

बहुत देर तक हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे और फिर एक दूसरे को बाँहों में भर कर बिस्तर पर ही लेट गए. तभी आदित्य में अपना पूरा लंड मेरे गले में उतार दिया और वहीं रुक गया।उसका लण्ड बहुत लम्बा था. बीएफ वीडियो सेक्सी चलने वालामैंने पहले जब भी उसे देखा था तो पोनी टेल स्टाइल में बंधे बाल और वही स्कूल की यूनिफार्म लेकिन आज उसका नजारा ही अलग था.

करीब 10 मिनट तक हम किस करते रहे, फिर मैंने उसको कपड़े उतारने के लिए बोला तो मना करने लगी. भाभी ने कहा- पानी अन्दर ही निकालना!तेज झटकों के बाद मैं झड़ गया और दोनों निढाल से होकर गिर गए. चूंकि इस समय सभी बच्चे एंव टीचर बिल्डिंग से बाहर जा चुके थे, इसलिये मुझे भी डर नहीं था, मैं भी सीधा उनके पीछे उनकी नजर को बचाकर दरवाजे के पास पहुंचा तो मरियम की आवाज आ रही थी, वो सुधा से सलवार और पैन्टी उतारने के लिये बोल रही थी.

राहुल ने अपने लिए कपड़े ख़रीदे, लेकिन मुझे मेरे लिए वहाँ कुछ नहीं मिला क्योंकि मैं केवल सलवार सूट और साड़ी पहनती थी. com/voyeur/meri-bevafa-biwi-chut-fuddi-chudai/बीवी की गांड साफ़ नजर आ रही थी, और सच पूछो तो मैं वास्तव में चाह रहा था, कि स्वान अपना गधे जैसा लंड उसकी गांड में घुसेड़ दे!उसने मेरे मन के भावों को पढ़ लिया, वो बेड से नीचे उतर कर नताशा के चूतड़ों के पीछे जाकर खड़ा हो गया और सही पोजीशन में लाकर अपने लंड के सुपारे को नताशा के सबसे छोटे छेद से टहोकते हुए धीमे-2 अन्दर घुसेड़ दिया.

लगेगी नहीं थोड़ी देर ढीली।गांड की चुदाई की यह हिंदी गे सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!तो रख उसने थोड़ी ढीली की तो पेल दिया। अब आधा ही अन्दर घुसा था कि वह ‘आ… आ…’ करने लगा, दर्द के चलते वो गांड सिकोड़ रहा था.

!इतना कह कर मैंने उसके हाथ में अपना लंड दे दिया। मेरा लंड उसके लंड से बड़ा था. कॉलेज के टाइम पर उसने कई लड़कों से चुदाई करवाई थी लेकिन शादी के बाद पराए मर्द से चुदाई का यह उसका पहला अनुभव था. यह तो सब करते हैं।वो सॉरी बोलने लगा।मैंने कहा- ब्रा में तुझे मुठ मारने में इतना मज़ा आया, अगर रियल में मेरे स्तन देखेगा तो क्या होगा तेरा?ये कहते हुए मैंने उसका लंड पकड़ लिया.

हिंदी बीएफ सेक्स दिखाओ बस जोर से रगड़ो!मैंने भी उसकी क्लिट को जोर से रगड़ना शुरू कर दिया और उसकी सलवार को घुटने तक सरका कर उसकी चुत में उंगली डाल दी।वो बोली- प्लीज़ धीरे-धीरे करो. वो भी मुझे चोदना चाहता है।एक बार हम लोग अपने नानी के गाँव गए हुए थे। ठंडी का समय था.

मेरे जैसे मस्त, गांड की चुदाई के शौकीन मेरे गांडू दोस्तों को मेरा सलाम गे सेक्स स्टोरीज के प्रेमी लौंडेबाज दोस्तों को मेरी कुलबुलाती गांड. ’ बहुत दिनों बाद मेरी गांड को लंड नसीब हुआ। फिर उसने एक धक्का और लगाया. उस पर उसके दो मस्त कड़क और एकदम कसे हुए चूचे भी ऊपर-नीचे हो रहे थे… एक मासूम सी बला थी कमला।अब उसके हिलते हुए मम्मों को देखकर मेरे अन्दर भी वासना जगने लगी। मेरी पैन्ट में तंबू खड़ा होने लगा। मैंने धीरे-धीरे कमला के पूरे शरीर को फोन के उजाले में निहार लिया.

चायना सेक्स चायना सेक्स

मैंने कहा- नहीं भैया, अब मैं रवि के पास ही जा रहा हूँ और किसी के पास ऐसा गलत काम नहीं करना चाहता. उसके सामने एक लम्बा सा आदमी खड़ा था, उसका भी लंड भी तुम्हारे और साहिल की तरह लम्बा था, लड़की उंगली चाटते हुए बोले जा रही थी- come on Darling, why are you waiting, come and fuck me, my pussy is waiting for you. रात को पार्टी में नाचा गाना किया होगा, जिससे थकान होकर बुखार आ गया। अलमारी से दवा निकाल कर दे दो.

सलोनी एक हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे सर को सहलाते जा रही थी और अंग्रेजी को जो बोल रही थी उसकी हिन्दी यूं थी- शाबाश, तुम बहुत ही अच्छे तरीके से अपनी जीभ चला रहे हो, मेरे निकलते हुए पूरे रस को पीओ, मेरे राजा!उसके बाद मैं खड़ा हो गया और अपनी कमर पर हाथ रखकर खड़ा हो गया, सलोनी मेरे इशारे को समझ गई, उसने तुरन्त मेरे लंड को अपने हाथ में लिया और हथेली चलाकर मेरे सुपारे से खेलने लगी. मैं तेरे बच्चे की माँ बनना चाहती हूँ… तुझसे जैसे चोदने वाला आज तक नहीं मिला… आज रात को भी मेरे कमरे में आना और जम के चोदना मुझे… मुझे रात भर चुदना है तुझसे…यश ने कहा- ठीक है… रात को तुझे माँ बनाऊंगा, इस समय लंड का माल मुंह में ले ले.

उसने मुझे धमकी सी दी थी, मैं तुरंत उससे दूर हुआ और वो चली गई।ये पैसों से चूत चुदाई की कहानी कैसी लगी.

अब बस मैं अंडरवियर में रह गया था जो किसी टेंट की तरह तना हुआ दिख रहा था. कहानी जारी है। चूत में लंड घुसा कर मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी पर आप अपने विचार जरूर लिखिएगा।[emailprotected]कुंवारी चूत में लंड घुसा कर मौसेरी बहन की चुदाई-2. मैं आपको बताना भूल ही गया मेरी मौसी सरकारी स्कूल में टीचर है और मोसा जी बैंक में हैं तो तो दोनों शाम को ही घर आते हैं.

यह मेरे जीवन का सबसे अच्छा समय था जिसको मैंने बहुत मज़े के साथ बिताया. मैंने सुहाना से आगे की कहानी बताने का आग्रह किया तो सुहाना ने बताना शुरू किया- दो दिन बीतने के बाद हम दोनों हनीमून मनाने गोवा की ओर चल दिये।गोवा पहुंचने के बाद साहिल मुझे एक शानदार होटल में ले गये। होटल में पहुंचते ही साहिल ने पहली शर्त रख दी कि तुम मेरी नजरों से एक पल के लिये भी ओझल नहीं होगी. हालाँकि उसमें रात को स्विमिंग अलाउड नहीं थी, पर फिर भी कुछ विदेशी जोड़े उसमें उतरे हुए थे और खुल कर बेशर्मी कर रहे थे.

तो हम दोनों को ही डबल चुदाई का कितना मज़ा आता।गोपाल- तुम तो जानती हो.

बीएफ देना सेक्सी बीएफ: काश मालिश के बहाने कुछ और भी हो जाए और मेरे लंड कोभाभी की चुतको चोदने का मौका मिल जाए. उसके बाद उसने धीरे धीरे मेरे सारे कपड़ों को निकाल दिया और किस करते हुए एक हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगी, मेरा लंड भी आधा खड़ा हो चुका था, पर मुझे थोड़ी शर्म भी आ रही थी.

वो निष्ठा के अकेलेपन का कोई फायदा नहीं उठाना चाहता था, उसने एक घूँट में कॉफ़ी ख़त्म की और तेज चलकर बाहर निकल गया. अब जीजू मेरी बाहों में आये और उन्होंने अपने लंड को जानबूझ के मेरी चूत की पलकों के ऊपर रख दिया. रानी मेरे ऊपर ही लेट गई तभी परीक्षित, जो हाँफ रहे थे, उनके लंड को मेरे मुँह के पास लेकर आये मैं उसे मुँह में लेकर चूसने लगी, और चिंटू जो मेरे पास में ही बैठे हुए थे उनके लंड को भी सहलाने लगी.

मैं भी स्पीड बढ़ाता गया और वो भी गांड उठा-उठा कर चुत चुदाई के मज़े लेने लगी। वो कह रही थी- जान तुमने मुझे सेक्स का असल मज़ा दिया है.

‘हाँ-हाँ, क्यों नहीं… डाल दो जानू तुम भी मेरी गांड में… मैं तुम दोनों के लंड अपनी गांड में महसूस करना चाहती हूँ!’ नताशा ने मेरी तरफ देखते हुए कहा. साले ने जूसी वाला वाइब्रेटर मेरी चूत में दिया और लौड़ा गांड में… फिर बहनचोद मेरी गांड और चूत की एक साथ जो ठुकाई हुई है कि वर्णन करना ही मुश्किल!खैर अच्छे से चुद के, गांड मरवा के मैं और राजे दोनों सो गए. ’ मैं उसके निप्पल गोल-गोल घुमाने लगा।सोनिया मस्ती में नाच उठी- ई… हाय… सी… सी… उफ़… मार डालेगा क्या राजा.