पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,xxx वीडियोस इन हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बाल रोल करने वाली मशीन: पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर, मेरी प्यारी बीवी मुझे चोदने के लिये कभी मना नहीं करती, क्योंकि उसे मालूम है, मैं जब भी उसको चोदता हूँ, तो उसे और उसकी चुत को बहुत खुश करता हूँ.

क्सक्सनक्स

उनकी दुकान बनारस में है और अधिकतर घर से बाहर ही रहते हैं। मेरी मम्मी का साइज़ 36-34-38 है। वह एक बहुत ही सुन्दर औरत है. सेक्स थ्री एक्समेरे हाथों में ठण्ड लग रही थी, जिस कारण मैंने हिम्मत करके उसके हाथों को पकड़ लिया उसके हाथ भी बर्फ की तरह ठण्डे थे.

इसके बाद में मेम ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने बड़े बड़े चूचों पे रख दिया. सेक्सी bf सेक्सी bfअब आगे की घटना पढ़ें:यह बात अगले दिन की है, जब मैं सुबह उठा, तो मैंने देखा दीदी और अरु नीचे चली गयी थीं.

मैं आज आप सबको अपने एक शारीरिक सम्बन्ध के बारे में बताने जा रही हूँ कि कैसे मैंने अपनी चुदास को शांत करने के लिए अपनी मौसी के लड़के से चुदवा लिया.पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर: मैं जा रही हूँ … मम्मी आने वाली होंगी, इसलिए तुम‌ भी‌ अब‌ अपने‌ कपड़े‌ पहन‌ लो.

फ़िर मुझे लगा कि आज तो दी की आवाज बड़ी सॉफ्ट लग रही है और वो कलेक्शन के नाम पर मुझसे भड़की भी नहीं हैं.उस दिन के बाद सिर्फ हमने टयूशन में सिर्फ ह्यूमन प्रोडक्शन का ही चैप्टर्स पढ़ाई की थी.

સેક્સ ઇંગ્લીશ વીડિયો - पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर

सतीश नीचे लेट गया वो मुझसे बोला कि तू मेरे ऊपर आ जा और अपनी चूत मेरे लंड पर सैट करके बैठ जा.उसने आखिरी धक्का मारा और अपने वीर्य की आखिरी बून्द गिरा कर मेरे ऊपर सुस्त पड़ गया.

तभी जीजू ने मुझे अपनी बाहों में ले लिया और मुझे किस करके बोले- मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ. पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर वो बोला कि वन्द्या अब मेरे लंड से, तेरी गांड की गर्मी और ज्यादा बर्दाश्त नहीं हो रही है.

तभी रिया भाभी ने तेल लाकर अपने हाथों से मेरे लंड पर और मेरे लिए एकता भाभी नई नकोर गांड पे लगा दिया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर?

मैं चिल्लाने लगी- निकाल कमीने … नहीं डलवाना … बहुत दर्द हो रहा है … मर जाऊंगी साले … छोड़ दे. नीचे की ओर पतली होती हुई पिंडलियां और कमानीदार धावकों जैसे बीच में से घुमावदार पैर. मैं अपनी ज्यादा तारीफ नहीं करना चाहती लेकिन बस आपको एक आइडिया दे रही हूँ क्योंकि मुझे चुदाई करवाने में बड़ा ही मज़ा आता है.

मैंने उठाया तो सामने से आवाज आई कि आपके बाजू में जागृति मेम रहती हैं उन्हें बुला दीजिए।तो मैंने कहा- आप फोन पर रहें, मैं बुलाता हूँ।मैं उसे बुलाने गया तो घर का दरवाजा खाली उड़का हुआ था. करीब 5 बजे शाम को मेरी नींद टूटी, लेकिन सोनू और शिवानी अभी भी सो रहे थे और मैंने भी उन्हें नहीं जगाया. गलती मेरी भी थी, मैंने दरवाज़ा लॉक नहीं किया था; और उसकी भी थी क्योंकि उसने नॉक नहीं किया था.

फिर सुबह उसकी मेड के आने का टाइम हो गया था, तो मैं वहां से निकल गया. इस सच्ची कहानी को लेकर आपकी कोई सुझाव या प्रतिक्रिया हो तो प्लीज़ मुझे[emailprotected]पर ज़रूर मेल करें. एक दिन मैं उसके भाई से मिलने उसके घर गया, क्योंकि उनके घर पर हमारा आना जाना रहता था.

सर की बात सही निकली, मैं खुद उनकी पीठ पर नाखून गाड़ कर, गांड उठा उठा चुदवाने लगी. इसके बाद उसने फिर टोका- एक ही जगह अटके रहोगे क्या?मैंने उसकी भड़की हुई चुदास को समझा और पहले एक बार चुदाई करने का मन बना लिया.

और हम लोगों ने 6 दिन तक दारु और चोदने के अलावा और कोई काम नहीं किया.

चुदाई से पहले बस 2-4 चुम्मियां की, कपड़े उतारे और अपना काम कर लेते थे.

चाची- पहले एक बार और चूत को चोदो … जब मैं झड़ जाऊंगी, तब जितना मर्जी हो, मेरी गांड मार लेना. जीजू अगले दिन चले गए और उसके बाद हम दोनों लोग आज तक संपर्क में हैं. पोर्न देखती हो, पढ़ती हो और सोशल साइट्स पर भी हो तो ब्वायफ्रेंड तो होना ही चाहिये कि कभी न कभी जुगाड़ बन ही जायेगा।”तीन हैं.

अब भाभी बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… यार … और जोर से झटका मार ना!मैंने फिर एक और झटका मारकर अपना लण्ड भाभी की चूत में घुसा दिया. मेरी पत्नी के होंठों से एक मीठी सी वो चीख निकली, जो बरसों पहले मैंने अपनी सुहागरात पे सुनी थी. ये बात करीब 3 साल पहले की है जब मैंने अपनी पहली गर्लफ्रेंड बनाई थी, उसका नाम हिनल था.

कुछ ही पलों में भाभी ने अपना बदन ढीला छोड़ दिया और अब वो धीरे धीरे मेरे चुम्बन में साथ देने लगीं.

साला लगता तो है कि मुझे चोदने के चक्कर में है लेकिन उसने कभी मुझसे कहा नहीं है. उसने हौले हौले उन्हें फैलाना शुरू किया और चूमते हुए मेरी योनि के पास आ गई. हमें जब भी अवसर मिलता है हम चुदाई कर लेते हैं लेकिन अब रेवती की शादी है.

मनीषा की पेंटी अभी मेरे हाथों में ही थी और मेरा लंड मानो फिर से सलामी देने लगा. वे हवस भरी आवाज़ में बोलीं- ऐसा है तो उनको मसल दे ना!मैं लग गया और इसके बाद में धीरे धीरे उनकी चूचियों को दोनों हाथ से मसलने लगा. मन उनकी पीठ पर चढ़ कर उनके नीचे हाथ डाल कर चूचों को मसल मसल कर लंड के झटके दे रहा था.

किशोर भैया और सुलेखा भाभी की उम्र में काफी अन्तर है‌ और जब उनकी उम्र में इतना इतना अन्तर है, तो उनके रिश्तों में भी कुछ ना कुछ कमी तो रहती ही होगी.

तभी मेरे हाथ उसकी पीठ से निकल कर उसके पेट पे चलने लगे पेट से होते हुए मई अपना हाथ टीशर्ट के ऊपर से ही उसके बूब्स पे फिराने लगा। नीता की आँखें बंद हो रही थी और वो मेरे स्पर्श से मदहोश हो रही थी।मैंने उसकी टीशर्ट ऊपर उठा दी और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स पे हाथ फिराने लगा।मैं उसके कान में बोला- नीता, मैं तुम्हारे बूब्स देखना चाहता हूँ।उसने मेरे को अपनी टीशर्ट निकालने में मदद की. उसने 20 से 30 धक्के तेज़ी से मारते हुए मेरी योनि के भीतर ही झड़ना शुरू कर दिया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर इसके बाद मैं करीब 10 -15 मिनट उसे ऐसे ही धक्के लगाता रहा और वो और जोर जोर से सिसकारियां भरके बोलने लगी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अमन. कुछ देर बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहन कर ठीक किये और घर को लौट आया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर मैं उसकी गांड और चूत मारते समय ही समझ गया था कि ये साली खेली खाई है. 5 इंच मोटा है … जिससे मैंने बहुत सी भाभियों और लड़कियों को संतुष्ट किया है.

फिर वो गिड़गिड़ाने लगी- प्लीज़ ऐसा मत करो … जब मेरा होने वाला रहता है … तो तू क्यों रुक जाता है.

हिंदी देसी सेक्सी ब्लू पिक्चर

शायद मुझे भी अब चूची चुसाने की आदत पड़ गयी थी। लेकिन इस सब में सेक्स नाम की कोई चीज नहीं थी. अगली बार एक और कहानी लेकर आऊंगा आपके समक्ष, तब तक के लिए लंड-चूत का प्रणाम![emailprotected]. हम दोनों ने सेक्स पोजीशन को बदल लिया था और अब मैं टांगें उठा कर उसका लंड अपनी चूत में लेने लगी थी.

मुझे भी यह स्वीकार करने में कोई झिझक या संकोच नहीं है कि मैं भी तुमसे प्यार करने लगी हूं. फिर भी जैसे तैसे दिन बीतते गये और मैं अपने दोनों कामों में बिज़ी रहा. और शायद वो मुझे अब याद करती भी होगी? या नहीं …पता नहीलेकिन कभी कभी सोचता हूँ कि हमे उस दिन नही मिलना था… ये ज्यादा अच्छा न होतालेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है.

मुझे अब यह भी नहीं होश रहा कि क्या बोलना चाहिए और क्या नहीं, अपने आप कुछ भी अब बोलने लगी.

जब वो अपने पिता के कपड़े उतार रहा था तो अशोक ने उसको रोका और बोला- रजत…रजत- हाँ पापा?अशोक- सुना है कि तुम दोनों भाई लंड भी चूसते हो?रजत- जी पापा… आप देखना, एक बार पूरा परिवार एक साथ आपका लंड चूसेगा… आपको खूब मजा आएगा. मैंने उसके तकिये पर लेते हुए चेहरे के ऊपर से उसके मुंह में अपना आग उगलता लंड डाल दिया, जिसे नताशा ने अपनी थकी हुई जीभ से थोड़ा सा चुभला दिया. अंकल ने मुझको अपनी बांहों में लिया और लंड को पकड़ कर चुत में हल्का सा धक्का दिया.

इससे मैं समाली अंकल को जकड़ कर लिपट गई और उनके होंठों को चूसने लगी. थोड़ी देर बाद ही वो मुझे हाथ में प्लास्टिक की थैली लेकर आती दिखी जिसमें बियर और एनर्जी ड्रिंक था. कहां से मिली दवा?” सुलेखा भाभी ने पूछा तो मुझे शरारत सूझ गयी और मैंने प्रिया की तरफ इशारा करते हुए कह दिया कि प्रिया के पास थी.

तुम यौवन का पौधा बन चुकी हो, तुझे भी अब माली की ज़रूरत है … जो तेरे इस पौधे को पानी दे. तब मैं बोला था कि मेरे एक अंकल हैं, उनको भी ले आऊं? तो वन्द्या बोली थी कि जिनको जिनको लाना है ले आओ, उस वक्त उसने बहुत मस्त बात की थी, तब लालजी इसकी चूत चाट रहा था और एक इसकी बहन का लड़का पीयूष भी इसके साथ बिस्तर में था.

करीब 5 मिनट लगातार नीरू की चूत में धक्के मारने के बाद मैंने अपना लंड साली की चूत से बाहर खींच लिया और सविता का हाथ पकड़ कर उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया. मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैं अब सीधा ही उसके एक निप्पल को मुँह में भर कर गप्प कर गया और नेहा के‌ मुँह से एक‌ मीठी सीत्कार सी फूट पड़ी. अब नीरू मेरे लंड को मुंह में लेकर चूस रही थी और यह नजारा सविता बड़े गौर से देख रही थी.

शायना भाभी आँख मुझे मारते हुए उठीं और बिना कुछ बोले नंगे ही बेटे को दूध पिलाने लगीं.

मैं- आप रंडी हो क्या … जो मुझसे चुदवा रही हो?चाची- मैं तो दो साल से प्यासी थी और तू दीदी की चुदाई देखते हुए पकड़ा गया. जब मैंने ऐसा कहा तो वह डर गया और डरते हुए दरवाजा खोल दिया, दरवाजा खुलते ही मैं अन्दर आ गया और अन्दर से दरवाजा बंद कर लिया।मैंने कहा- कौन है तू? यहाँ क्या कर रहा था? दरवाजा क्यों नहीं खोल रहा था, और कौन है यहाँ तेरे साथ?इस तरह मैंने चार-पांच सवाल एक साथ कर दिये. मैं आज आपको बताऊंगा कि हमारी सुहागरात कैसी रही, हमने सुहागरात कैसे मनाई.

हमने उसे किचन में ना बैठा कर ड्राइंग रूम में बैठाया और फिर नताशा उसके साथ पुरानी यादों को ताजा करने लगी. मेरे दिमाग में ख्याल आया कि चलो आज पता कर लिया जाए कि आंटी लाइन ही मारती हैं, या सच में इनके मन में कुछ और भी है.

थोड़ी देर साधारण बातों के बाद …पूर्वी- आप स्मोकिंग या ड्रिंकिंग करते हैं?मैं- नहीं, मैं इन सब चीजों से दूर ही रहता हूँ. फिर उसने अपनी अंडरवियर निकाली और अपना बड़ा सा लंड मेरी चूत पर सैट किया और सीधा मेरे ऊपर आ गया. मुझे मेरा सिग्नल मिल गया था, इसलिए अगले ही पल मैंने सीधा सुलेखा भाभी के होंठों से अपने होंठों को जोड़ दिया … और जब तक वो कुछ समझतीं, तब मैंने उनके होंठों को अपने मुँह में भरकर जोरों से चूसना शुरू कर दिया.

मौसी की सेक्सी कहानियां

जब तारा ने एक हाथ से उसकी योनि को फैलाया, तो मुझे अंदाजा हुआ कि उनकी योनि की दरार बड़ी थी.

कभी उसकी नायिका की तरह दो या तीन लड़कों के साथ एकसाथ मजा लेने की ख्वाहिश नहीं होती?”अब मेरी तरह एक लंड को भी तरसती लड़की को ऐसी ख्वाहिश न हो, यह तो नामुमकिन है. मैं आगे चल रहा था और वो दोनों मेरे पीछे पीछे … हम तीनों एक होटल के पास आ पहुंचे. कुछ देर बाद उन्हें मज़ा आने लगा और वो सीत्कार भरने लगीं- आह … शशि … बहुत अन्दर तक जा रहा है … आह … बहुत बड़ा लंड है … आह मस्त चोद दे … मेरी जान!मैंने भी और ज़ोर से झटका मारते हुए आंटी की चूत में अपना लंड ताक़त से अन्दर तक दबा दिया.

तुम चाहो तो इसको अपने हाथों से खड़ा कर सकती हो या फिर इसे अपने मुँह में लेकर चूस चूसकर खड़ा कर सकती हो. इस तरह से हम दोनों ने खाना खाया और फिर सोनू ने रसगुल्ले निकाले और मुझे खड़े होने के लिए बोला. एक्स एन व्हिडिओजब गले तक लंड लेती थी तो ऐसा लगता मानो उसके लंड चूसने से मुझे जन्नत मिल गयी हो.

बाकी मेरे रहने और खाने की चिंता उन्हें सता रही थी, तो मेरे दोस्तों के ये कहने पर ही कि उनके रिश्तेदार उसी जगह रहते हैं, किसी तरह की कोई समस्या नहीं रहेगी, घर वालों ने मुझे जाने की इजाजत दे दी. उनका गोरा रंग, पतला शरीर, मस्त मम्मे, उठी हुई गांड आह … दिल खुश हो गया.

फिर उनका लंड चूत में ही सिकुड़ गया और बहुत छोटा हो गया, तब जगत अंकल ने मुझे छोड़ा और उठ गए. लेकिन वह काफी भारी था इसलिए पैंट को नीचे करने में बहुत दिक्कत हो रही थी. इतने में उन्होंने अपना पूरा ग्लास खाली कर दिया और ज़ोर से खांसने लगी … शायद लास्ट वाला घूँट थोड़ा ज़्यादा हो गया उनके लिए.

मेरी हालत बेकरार हो रही थी, नीचे लंड बाहर आने के लिए बेताब था, लेकिन मैंने खुद पे काबू रखा और नीचे झुककर टॉवल उठाकर उसके शरीर पे लपेट दिया. उसने हौले हौले उन्हें फैलाना शुरू किया और चूमते हुए मेरी योनि के पास आ गई. अब मैं उसके दोनों मम्मों को पकड़ कर दबाने लगा और वो भी ‘हमम्म अह्म्म मम्म …’ की आवाज़ से मेरा साथ देने लगी.

मैं बेबी के दूध दबा कर बोला- तुम हो ही इतनी मस्त कि लंड तुम्हारे भीतर तक जाना चाहता है … तो मैं क्या करूँ.

क्योंकि हर कोई कुछ न कुछ लेकर ही मिलने आता था इसलिए तेरी मौसी खुश रहती थी. पहले आंटी थोड़ी थोड़ी कतराती थीं, लेकिन अब वो भी सामने से मुझे अकेले में घर बुलाकर मेरे लंड के मजे लूट लेती हैं.

यए … ये … ये … क क क्या आ … है?” टूटे फूटे शब्दों में उन्होंने बस इतना ही कहा और तुरन्त मेरे लंड को पकड़ कर अपनी मुट्ठी में ऐसे भींच लिया, जैसे कि वे उसका माप ले रही हों. जल्दी बोल लंड रस कहां लेगी?मैं बोली- साले अभी मत झड़ना मेरा काम नहीं हुआ … मैं फिर अधूरी रह जाऊंगी … मुझसे कुछ बर्दाश्त नहीं हो रहा है. साली सुबह से चुचे दिखा रही थी, लेकिन क्या करूँ, उसकी नजर में मैं बहुत सीधा साधा इंसान था.

उन्होंने भी थोड़ी देर मज़ा लेने के बाद मेरा पेंट उतार दिया और चड्डी में से लंड निकाल कर चूसने लगीं. दर्द के मारे वो छूटने की पूरी कोशिश कर रहीं थीं लेकिन मेरी पकड़ से कहाँ छूटने वाली थी. सही‌‌ में, उस समय मैं उसकी बात का मतलब नहीं समझ पाया था … जो मुझे बाद में समझ आया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर तो वह एकदम से आहें भरने लगा और तभी जो दूसरा नीग्रो मैक था, वह सामने से मेरे ऊपर तरफ आ गया और मेरे सीने को और नाभि को चूमने लगा. मेरी चुदाई की स्पीड और नेहा का दर्द देख कर रवि डर गया और कुछ देर बाद उसने अपनी वाली रंडी को चोदना बंद कर दिया.

ஹிந்தி ப்ளூ பிலிம்

उसने आंखें बन्द की हुई थीं और अपना मुँह एक तरफ करके लम्बी व गहरी गहरी सांसें ले रही थी. शायद उसने ब्रा नहीं पहनी थी क्योंकि शायद वो भी पूरी तैयारी के साथ चल रही थी. पूजा धीरे से मेरे कंधों पर से अपना सर उठाया और मुझे अपनी आधी बंद आंखों से देखते हुए मुझे तीन-चार चुम्मे दिए.

सुनील ने मुझसे बोला- तुम अपने पैर ऊपर सीट पर कर लो … हम लोग बस तुम्हें अच्छे से देखना चाहते हैं. मैं उन आमों को अपने हाथों में पकड़ना चाहता था तो मैंने ज़ोर से नाइटी को खींच दिया, जिस कारण वो फट गयी. जंगल में चुदाई की वीडियोअब तक मैंने आपका मसाजर स्टाफ से तो परिचय नहीं कराया था, अब जान लीजिएगा.

इसके बाद मैं करीब 10 -15 मिनट उसे ऐसे ही धक्के लगाता रहा और वो और जोर जोर से सिसकारियां भरके बोलने लगी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अमन.

बुद्धू … उस रात मैं भी तो उसी कमरे में सो रही थी मगर तुम्हारी और नेहा दीदी की उह …आह …” ने मुझे सोने ही नहीं दिया. अब वो अपना आपा खो बैठीं और गरम सिसकियां लेने लगीं- अहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउउम्म … अअयाह …ये सब देख कर मम्मी की चूत में भी पानी आ गया और वो भी बिना कुछ कहे मेरे लंड को पकड़ कर दबाने लगीं.

उसने मेरे कंधे पकड़े और मेरे होंठ अपने होंठों में दबाते हुए करारा झटका दे मारा. रेवती अब बिस्तर से खड़ी हुई और मेरे कपड़े उतारने लगी और साथ ही मुझे चूमती जा रही थी. गाहे-बगाहे मौका मिलते ही चूत चुदाई का खेल शुरू हो जाता था।दोस्तो, आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे इमेल करना।[emailprotected].

मैंने बड़े गौर से अपने छोटे छोटे गुलाबी निप्पलों को देखा, मानो सॉफ्टी की गोल आइसक्रीम पर के गुलाबी चैरी का दाना रखा हो.

भाभी बाहर आईं और बोलीं- क्या कर रहे हो मेरी पैंटी से?मनीष- इसे बता रहा हूँ कि अब तेरी जरूरत कम पड़ेगी. इस बार नेहा शर्मायी नहीं बल्कि मेरी तरफ देखती रही, जैसे कि वो पूछना चाह रही हो कि मैं रुक क्यों‌ गया? उसकी आंखों में उत्तेजना की तड़प अब साफ दिखाई दे रही थी. लेकिन जहां एक लड़के के लाले पड़े हों, वहां दो की तो उम्मीद करना ही चूतियापा है।”कोई बात नहीं.

वाली चुदाईउन्होंने भी थोड़ी देर मज़ा लेने के बाद मेरा पेंट उतार दिया और चड्डी में से लंड निकाल कर चूसने लगीं. उफ्फ क्या मखमली जिस्म पाया था कम्मो ने!मैंने उसके पेट को सहलाया और फिर उसकी नाभि में उंगली रख के हिलाया; इतने से ही कम्मो हिल गयी और उसकी हंसी छूट गयी- अंकल जी गुदगुदी मत करो ऐसे!वो अपने मुंह पर हाथ रख कर खिलखिलाते हुए बोली.

ब्लू पिक्चर चाहिए सेक्सी हिंदी

माइक के धक्के कुछ पलों में जोरदार झटकों में बदल गए और तारा की मादक सिसकारियां चीखों का रूप लेने लगीं. मेरे उठे हुए मम्मे और मेरी तोप सी तनी हुई गांड किसी भी मर्द को मेरी ओर आकृष्ट करने के लिए पर्याप्त हैं. वो नताशा की ही उम्र का चौड़े डील-डौल वाला, सिर पर पोनीटेल बाँधने वाला आदमी निकला.

थोड़ा थोड़ा कर के किसी तरह उसने आखिरकार अपना सबसे मोटा हिस्सा भी मेरी योनि के भीतर घुसा ही दिया. एकदम से लंड पेलने के कारण उसकी चीख निकल गई और वो बोलने लगी- थोड़ा धीरे!जब मेरा लंड उसकी बुर में सैट हो गया तब वो भी गांड को धकेलते हुए धक्के देने लगी. मैं धक्के पर धक्का लगाये जा रहा था, नीरू अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरे लंड गहराई में डालकर चुदाई का मजा ले रही थी और सविता हम दोनों की चुदाई देखकर पूरी गर्म हो चुकी थी.

मैं अब तुम्हारी प्यारी चूत को अपने लंड के पानी से पूरी की पूरी भरने वाला हूँ. ” कहते हुए नेहा ने अपना दूसरा हाथ भी अपनी चूचियों पर से हटा कर अपनी जांघों पर ही रख लिया. पिटाई तो ठीक है, मगर मुझे जब यहां से निकाल देंगे तो मैं अपने घर पर क्या जवाब दूँगा? अब ये सोच कर तो मैं अन्दर तक‌ ही हिल सा गया.

मैं उससे बहाना करते हुए बोला- मुझे यहां खुजली हो रही थी, खुजा रहा था. तभी मनीष कमरे में आया, बोला- क्या हुआ भाभी थक गईं क्या?भाभी बोलीं- हां बहुत थक गई हूँ और सर भी दुःख रहा है.

मैंने उस रात उन्हें 2 बार और चोदा और उनकी गांड भी मारी और सुबह होने से पहले अपने घर वापिस आ गया.

चाची की नगाड़े जैसे चूतड़ों को मसलते हुए उनकी एक चुची को मुँह भर भर के चूसने लगा. सेक्स ब्लू पिक्चर फोटोवो ये सुन कर चुप रही, मैंने उसे उठाया और बेड से उतर कर बेड पर हाथ रखवा कर कविता को घोड़ी बना दिया. इंडियन पोर्न वीडियोयह कहते हुए वो बहुत जोर जोर से मेरी गांड में पीछे से धक्का मारने लगा. नीरू बुरी तरह चिल्ला उठी थी लेकिन मेरी पत्नी ने उसको डॉगी स्टाइल में इस तरह जकड़ा हुआ था कि उसकी एक न चली क्योंकि मेरी पत्नी ने उसकी टांगें चौड़ी करके फैलाई हुई थी और उनको जकड़ लिया था.

भाभी हंस कर बोलीं- आजकल की लड़कियों को तुम्हारे सरीखे लड़के ही पसंद आते हैं.

उसने दोबारा लिंग मुँह से बाहर निकाला और दोनों हाथों से पकड़ लिंग के सुपाड़े को उसके ऊपर की चमड़ी पीछे खींच कर खोल दिया. ये सब मेरे लिए भाभी ने भी देर रात तक पढ़ाई की बात कह कर आसान बना दिया. एक दिन उसने पूछा- इंटरनेट पे क्या क्या जानकारी मिलती है?मैंने बोला- आपको जो जानकारी चाहिए, इन्टरनेट पर उसके बारे में आपको सब मालूमात मिल जाएगी.

इतने में सतीश बोला- यार अब थोड़ा पोजीशन बदल लें … तू हिमांशु पीछे आजा और गांड में डाल ले … वन्द्या की गांड बहुत मस्त है. मुन्ना तू अपना लंड इसके मुँह में डाल और फ्रेंच चुदाई कर इसके मुँह की. इस प्रक्रिया से मेरी योनि चिकनी हो गयी और योनि के किनारे भी धीरे धीरे फैलते चले गए.

भौजी के सेक्सी वीडियो

मैंने धीरे धीरे उनके ब्लाउज के हुक खोलने शुरू कर दिया और कुछ ही सेकेंड में ब्लाउज निकाल कर साइड में फेंक दी. वो मस्ती में आंखें बंद करे हुए अपनी जांघें जोर से दबाए हुए और अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ते हुए बैठ गई थी. फिर विदाई हो गई और हम सब लोग घर आ गये।कुछ दिन बाद जब भैया की शादी की एलबम और वीडियो फिल्म बनकर आयी तो मैंने भाभी को फोटो दिखाकर शीतल के बारे मे पूछा, तो भाभी ने बताया कि वो उनके पड़ोस में रहती है और बीए में पढ़ती है.

शिवानी वहीं सोफे पे बैठ के हमारी फोटो खींच रही थी और हमारी यादों को यादगार बनाते हुए वीडियो बना रही थी.

बहन ने मॉम से पूछा- भाभी इतनी मोटी कैसे हो गई हैं?उसकी मासूमियत पर मॉम ने उसे टाल दिया.

?मुझे अब होश नहीं था कि मैं क्या बकवास कर रही हूं, कुछ भी बोल रही थी. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर पर जब मेरी चुदाई होगी तो तुम कहां पर रहोगी?उसने कहा- तुम्हारे पास ही रह कर मैं भी देखूँगी कि वो तुमको कैसे चोदता है. ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಸೆಕ್ಸ್इस बार नेहा शर्मायी नहीं बल्कि मेरी तरफ देखती रही, जैसे कि वो पूछना चाह रही हो कि मैं रुक क्यों‌ गया? उसकी आंखों में उत्तेजना की तड़प अब साफ दिखाई दे रही थी.

जब से तेरे चाचा जेल गए हैं, तब से उन्हीं की चुदाई देख कर मैं अपनी चूत में उंगली डाल कर अपनी चूत का पानी झाड़ लेती हूँ. अब तक की मेरी चुत चोदन कहानी में आपने जाना था कि राज अंकल जमकर पूरी ताकत से मेरी गांड को चोदने लगे थे. उन्हें और गर्म करने के लिए एकता भाभी उनके दूध चूस रही थीं और रिया भाभी किस कर रही थीं.

मैं चुप रही, शाम को मैंने बहुत सोचा और पता नहीं क्या मन में आया कि मैंने वैसा ही किया. जब भी मैं उसे पीछे से गर्दन पर किस करता था, तो वो बहुत उत्तेजित हो जाती थी और मुझे भी मज़ा आता था.

उसने ये भी बताया कि सर्जरी कराके बहुत से मर्द औरत और औरत मर्द बन जाते हैं.

मैं पहले से बहुत एक्साइटेड थी, मेरे अन्दर चूत में आज सरसराहट लग रही थी. जब तक एक दूसरी लड़की वहां न आ गयी जो मुझसे ज्यादा अच्छी भी थी और फ्रैंक भी थी। धीरे-धीरे उसका जुगाड़ उससे फिट हो गया तो मुझसे ब्रेकअप हो गया। फिर छः महीने सिंगल रही।इसके बाद एक और लड़का नया आया, जिसने खाली देख के प्रपोज किया तो मेरे सामने भी क्या ऑप्शन था। मैंने एक्सेप्ट कर लिया. अब तो मेरा सुपारा गुस्से‌ में आकर और भी जोरों से नसें सी फुलाने लगा‌.

देसी स्कूल गर्ल सेक्सी वीडियो इधर मेरे पजामे में मेरा लंड तन गया था और उसकी जांघों में घुसने के लिए जिद कर रहा था. आज मैंने उससे कहा तो उसने कहा- आज तुम अपना लंड मेरी चुत में धीरे से अन्दर डालना.

फिर मैंने उनकी पेंटी को धीरे धीरे नीचे सरका दिया और भाभी की मखमली गांड पर हाथ रख कर हल्का हल्का दबाना चालू कर दिया. फिर ठाकुर को फोन लगाया कि ठाकुर भाई हम लोग वन्द्या का ऊपर ऊपर से थोड़ा टेस्ट ले रहे हैं. मस्त क्या मजेदार सीन था!तभी मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी गुलाबी चूत पर रखा और एक हल्का सा धक्का लगाया, मेरा सुपारा नीरू की चूत के अंदर चला गया.

খলিফা সেক্স ভিডিও

स्तनों को लगातार ढका रखने के कारण वे कुछ ज्यादा ही गोरे हैं और उसकी चूचियो के निप्पल सुनहरे रंग के हैं, जिसको देखते ही काटने को मन करता है. तब पूजा मेरे मुरझाए लंड को अपने हाथों से सहलाते हुए बोली- हां … मुझे गांड मरवाने में बहुत मज़ा आया, लेकिन पहले लग रहा था कि मेरी गांड फट ही जाएगी. मैं आगे चल रहा था और वो दोनों मेरे पीछे पीछे … हम तीनों एक होटल के पास आ पहुंचे.

क्या तुम मेरे साथ मेरी ससुराल चलोगे?मैंने पूछा- ससुराल चलूँ मतलब?पूजा बोली- अरे मेरी ससुराल में मेरे ससुर जी, जेठ जी, देवर जी सब गांडू हैं. आप सोचती हैं … बहुत सोचती हैं, जिससे आपकी आधी ज़िन्दगी अन्दर से बर्बाद है.

और जोर से करो।दस मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों का पानी निकल गया। थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे.

फिर वो कभी अपनी चूत की फांकों को सिकोड़ लेती तो कभी ढीला छोड़ देती… कुछ देर ऐसा करने के बाद वो अपनी कमर धीरे धीरे खुद ही ऊपर नीचे करने लगी. अपने मुँह से थूक लेकर उसके गांड के होल पर लगाया और उंगली से होल थोड़ा ढीला किया. तभी वह जो पीछे मैक था, वह अपना पैंट खोलने लगा और जल्द ही वह अंडरवियर में आ गया.

कुछ दिन तो ठीक से कट गए, पर कहते हैं ना कि शहर की हवा लगने में देर नहीं लगती. मुझे इसी के साथ खुद पर गुस्सा भी आ रहा था … क्योंकि उसने कहा था कि ब्रा तुम ही लाओगे. उसने ये भी बताया कि सर्जरी कराके बहुत से मर्द औरत और औरत मर्द बन जाते हैं.

फिर मैंने बाथरूम जाने के लिए उनको उठाया, तो उन्होंने मुझे टाइट पकड़ लिया और फिर मेरे होंठों को चूसने लगीं.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर: मैंने उनसे कॉल करने को बोला तो बोली कि अभी वो अपने पति के साथ एयरपोर्ट पर हैं. मेम नाईट सूट में थीं और नहाने जाने की तैयारी कर रही थीं … ऐसा इसलिए लगा क्योंकि उनके हाथ में टॉवल था.

मुनीर ने तारा की पीठ को सहलाना शुरू किया और तौलिये से दोनों के पसीने पौंछने लगी. फिर मैंने अपना हाथ आगे लाकर जैसे ही लोअर के ऊपर से उनकी चूत पर रखा, वो एकदम से उछल गईं. अगले ही पल मैंने वहां से बाथरूम में जाकर भाभी के नाम पर मुठ मार दी, जिससे मेरे अंडरवियर पर लंड का पानी लग गया.

जिस दिन मेरी बीवी और ससुर बाहर गए, मैं और मेरी सास मोहिनी उन्हें स्टेशन छोड़ने गए थे.

करीब आधे घंटे इतना गैब्रियल ने मेरी चूत को चूसा और चाटा और मैंने मैक और पुनीत के लंड को चूसा और चाटा कि हम चारों मदहोश और पागल हो चुके थे. एक सुबह कपड़े बदलते वक्त मैंने बंद कमरे में शीशे के सामने खुद को गौर से निहारा. वो बोली- अच्छा … इस पटाखे को फोड़ना चाहोगे?मैंने कहा- माचिस भी तैयार है … आप जगह तो बताओ.