कामसूत्र सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,साली और जीजा का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ हिन्दी मे: कामसूत्र सेक्सी बीएफ, चूंकि पापा लेटेस्ट कलेक्शन लेकर आते थे इसलिए कई बार लड़कियों के फैशन को देख कर मुझे हैरानी भी होती थी.

सेक्सी पिक्चर नंगी देखने वाली

वो अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों दूध को मसलने लगे और बोले- आज पहले तेरी जवानी के मजे लूटना है, बाद में चुदाई करनी है. सेक्स हरियाणा सेक्सड्राइवर ने गाड़ी स्टार्ट की और गियर डालने के लिए जब उसने हैंडल को आगे पीछे किया तो उसका हाथ सीधा मेरी फुदी पर आकर टकराया.

इस बार मैंने अपनी 3 उंगली अंदर डाल दी और उसे अपने हाथ से चोदने लगा. एक्स एक्स एक्स मां बेटे कीमेरे बड़े बूब्स में पसीना आने से बचने के लिए मैं खुले कपड़े डालती हूं.

मेरे पति का लंड मेरी छोटी बहन की चूत में अंदर बाहर हो रहा था और उनकी जीभ अपनी साली के चूचों का दूध निचोड़ने में लगी हुई थी.कामसूत्र सेक्सी बीएफ: मेरी चूचियां उसकी छाती से लगी हुई थीं और वो मुझे चूमने की कोशिश कर रहा था.

पकड़े गये तो कोई बात नहीं!मेरी बात सुनकर वो भी मुस्करा दिया और बोला- अच्छा जैसा तेरा हुकम मगर यह तीन घंटे तो अच्छे से मज़ा दे दो.तो वो बोली- अगर मेरी चूत में आग ना लगी होती … तो मैं आपको अभी छोड़ कर चली जाती.

चूत लंड की सेक्स - कामसूत्र सेक्सी बीएफ

मेरे हाथों की लगाम को पकड़ो और अपनी चूत की सवारी मेरे लौड़े पर शुरू कर दो.मैंने कहा- मैं तेरी गांड की चुदाई का स्वाद भी चखना चाह रहा हूं मेरी रानी.

एक कारण यह भी था कि इससे पहले श्वेता कभी मेरे इतने करीब नहीं आई थी. कामसूत्र सेक्सी बीएफ पिंकी मेरे छाती के बालों को सहलाते हुए कभी कभी मेरे लंड को भी सहला रही थी.

जब चाची चौथी बार झड़ीं, तो मैंने अपना लंड उनकी चूत से निकाल कर उन्हें पेट के बल लिटा दिया और साइड करके पीछे से उनकी चूत में लंड डाला और एक हाथ आगे ले जाकर उनकी चूत के दाने को रगड़ने लगा.

कामसूत्र सेक्सी बीएफ?

उधर अभय ने पीछे मेरी कमर को अपनी तरफ खींचा तो उसका लंड मेरी गांड में टकराने लगा. मैं बोला कि जब मैं तुम्हारे होते वन्दना को चोद सकता हूँ, तो वन्दना के होते तुम्हें क्यों नहीं चोद सकता!ये सुन कर वो हंस दी और मेरी गाल पर चुटकी काट कर बोली- हो तो तुम उस्ताद. तभी विवेक झुका और घुटनों के पास से मेरी नाइटी पकड़कर धीरे-धीरे ऊपर करने लगा।मैं विवेक को बोली- मुझे शर्म आ रही है, प्लीज इसे रहने दो.

आप ही सोच लो, उसका पति चूत को कितनी यूज़ कर पाया होगा, जो महीने में बस 3-4 दिन के लिए घर आता हो. कमर पर बंधी बैल्ट वसुंधरा की पतली कमर के ख़म को विशिष्ट ढ़ंग से उजागर कर रही थी. लेकिन इतना तो तय है कि जिसने एक बार मेरा लण्ड ले लिया, दोबारा लेने से कभी मना नहीं किया.

मैं जिस शहर में जॉब करता हूँ … वहां हम लोगों के आग्रह पर मेरी वाईफ संजू के बड़े भाई नीरज और भाभी प्रियंका का आने के प्रोग्राम तय हो गया. मैं रोज अपनी प्यासी चूत को शांत करने के लिए इसमें टॉर्च डाला करती थी. मैं अपने शॉपिंग बैग कार से निकाल रही थी, तब उसने मुझे एक गिफ्ट का बॉक्स दिया.

मुझे अपनी क्लास के लिए जाना था इसलिए मैंने फंक्शन में जाने से मना कर दिया. अब मैं उसकी चूचियों को घूरता था तो वो भी इस बात को समझ चुकी थी और केवल मुस्करा कर रह जाती थी.

उस वक्त मैं एक शादी में गया था जहां पर मैं अपनी मौसी की लड़की से मिला.

इसी दौरान मैंने अपना एक हाथ उसकी चुत पर रख दिया, जिससे उसके मुँह से एक लम्बी आह्ह निकल गयी और उसने मुझे कसके पकड़ लिया.

तभी मेरे घर वालों को भाई के लिए लड़की देखने जाना था, ये बात मुझे एक दिन पहले ही पता लग गई थी. फिर उन्होंने अपने अंडरवियर को निकाल दिया और मेरे बदन के साथ चिपक गये. मैम- ओह … तो कब आएंगी तुम्हारी मम्मी?दीदी- बात हुई थी, शायद दो तीन दिन में आ जाएंगे.

तभी बाथरूम से आलिया बाहर निकल आई और वो अपने भाई को लंड सहलाते देखने लगी. फिर वो चूत में दोबारा लंड घुसाने लगा तो मैंने कहा कि वीर्य को अंदर ना गिराये. दस दिन में प्यार और चुदाई का खुमार इतना चढ़ गया कि हम दोनों सारी हदें पार करने लगे थे.

वैसे भी अकेला चना भाड़ तो नहीं फोड़ सकता!रवि के मेरी जिन्दगी में आने से पहले मैं भी आम गांडुओं की तरह जगह-जगह मुंह मारता रहता था.

मैं सुबह को ऑफिस जाता था तो प्रीति के दर्शन जरूर हो जाता था और शाम को घर आता था तो कुछ बातें वातें भी हो जाया करती थी. इस वक्त मैं अपने एक हाथ में सिगरेट दूसरे हाथ में अपना लवड़ा पकड़ कर हिलाने लगा था. हल्का सांवला चेहरा, काफी पतली कमर, थोड़ी सी उठी हुई गांड और छोटी-छोटी चूचियां कयामत ढा रही थीं.

मैं अपने लंड को शांत करने की कोशिश कर रहा था मगर मेरे अंदर की हवस और बढ़ती जा रही थी. अतः आप सबसे विनती है कि जिन्हें मेरी लेखन कला पसंद आ रही है, या जो मुझसे पर्सनली बात करना चाहते हैं, वो मुझे मेरे मेल आईडी पर मेल कर सकते हैं. पहले धीरे धीरे … उसके बाद वो अपने शरीर को इतनी तेज गति से मेरे लंड पर घुमा रही थी कि लंड उसकी चूत में घूम घूम कर चुदायी कर रहा था.

इस कारण मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने उसके मुंह में लंड को पूरा घुसा दिया.

वो बोली- हां बिल्कुल … पर जरा खुल के करो न!मैंने- मुझे अच्छा नहीं लगेगा मोनिका. वो बोला- अब कब आओगी?मैंने कहा- अब इतने मोटे लंड को छोड़ कर किसी और का लंड क्या काम करेगा.

कामसूत्र सेक्सी बीएफ और मैं उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दी।लेकिन फिर उसने मुझसे कहा- मुझे आपसे एक काम है।मैंने कहा- क्या … बोलो?आप जाते जाते एक बार मेरा लंड चूस कर जाओ. वो कुछ बोल नहीं रही थीं … लेकिन अपने होंठ दबाते हुए मेरी हरकतों का पूरा मजा ले रही थीं और सीत्कार रही थीं.

कामसूत्र सेक्सी बीएफ उसने अंधेरे में ही मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे चारपाई पर खींच लिया और साथ ही बोला- आ गयी जानेमन! कब से तेरा इंतजार कर रहा था. निधि बोली- जब आप गर्म होते हो, तो बहुत गालियां देते हो जी … और मेरे को बहुत मज़ा देते हो.

मगर कुंवारी चूत का मजा इतना था कि न कुछ सुनाई दे रहा था और न कुछ दिखाई दे रहा था.

बीएफ वीडियो खोलो

आंटी ने साइड के अलमारी से कंडोम का पैकेट दिया और कहा- लो, जितने कंडोम चाहिए ले लो. उसने लिखा कि मैं देश के एक नामी गिरामी न्यूज़ चैनल की एंकर हूँ और दिल्ली में फ्लैट लेकर अपनी एक सहेली के साथ ही रहती हूँ। उसने मुझे चैनल का नाम भी बताया था लेकिन गोपनीयता के लिए मैंने चैनल का नाम यहाँ नहीं लिखा है. दीदी की बात पर मैं रूम के अन्दर ही सकपका गई और अब तक परमीत भी कपड़े पहन चुकी थी.

उधर आलिया भी किलकिला रही थी- ओह मर गई आह राज … धीरे चोदो … मुझे दर्द हो रहा है … आंह राज तुम्हारा बहुत बड़ा है. पर अब संदीप बेरहम हो चुका था, उसने अपने विशाल लंड को वापस खींचा और फिर जोरों से जड़ तक पेल दिया. प्रोफाइल चैक करते करते मैंने पांच भाभियों और आंटियों को मैसेज भेज दिया और सो गया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी पहली चुदाई पड़ोस की भाभी के संग-2.

मैंने हैरानी से पूछा- तो फिर कैसे मर्द पसंद हैं आपको?उसने अपना फोन निकाला और उसमें कुछ वीडियो दिखाने लगी. मैंने अपने दूसरे हाथ पर से वसुंधरा की पेंटी को फ़ौरन वापिस वाशिंग-मशीन में फिसल जाने दिया और खुद मैंने पल भर में अपने कपड़ों को तिलांजलि दे दी और ख़ुद शॉवर के नीचे खड़ा हो कर ‘अपना हाथ … जगन्नाथ’ करने लगा. उनकी उंगलियों को मुँह में लेने लगा और उनके मम्मों को बेतहाशा दबाना चालू कर दिया.

मामी खड़े हुए ही बोलीं- ऐसे क्यों देख रहे हो … कभी देखा नहीं है क्या मुझे?मैंने कहा कि आज आप बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही हो. कल और आज में फर्क यह था कि आज टेबल पर रखी मैगजीन्स में दो मैगजीन अश्लील कहानियों और चित्रों से सुसज्जित थीं. मैंने उसको प्यार से समझाया कि पहली बार में दर्द होता है, लेकिन बाद में मज़ा आएगा.

मेरे लंड के मुंड को मैं उसकी बच्चेदानी पर टकराते हुए महसूस कर रहा था, उसके बाद कुछ पल तक शान्त हो जाती और फिर से मेरा साथ देने लगती. हर लड़की जो चाहती है, वो सभी गुण तुम्हारे अन्दर हैं … और ऊपर से तुम्हारा तेज दिमाग़, जो मुझे सभी प्रॉब्लम्स से दूर रख सकता है.

जब उनको मजा आने लगा, तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी और फुल स्पीड में भाभी की गांड में धक्के मारने लगा. बस की स्पीड तेज थी, रास्ते के स्पीड ब्रेकर की वजह से हमें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ रही थी. मैं बोली- नहीं नहीं … मुझे शर्म आ रही है, ऐसा मत बोलो … मैं ऐसा नहीं कर सकती.

मतलब अब मुझे सुधीर और राजेश्वर सर और मेरे चारों बॉयफ्रेंड यानि मेरे छह चोदनकर्ता मुझे रोज चोदते और बहुत ज्यादा मजा देते!मुझे भी उनसे रोज चुद कर बहुत मजा आता.

उधर अपनी बहन आलिया के चूचे ब्रा में देख कर अविनाश जीजा जी का लंड भी तन गया था. और मुंह में लिये मम्मे को मैं कभी उसकी निप्पल को काटता तो कभी प्यार से चूसता. यह देख कर अंकल ने दीदी के पेटीकोट को दूर फेंक दिया और इसके बाद उन्होंने दीदी के ब्लाउज को उतार दिया.

मैंने झटके मारने शुरू किए, तो वो बहुत ही मजे से मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी. मैंने कामिनी से पूछा- तैयार हो मेरी जान?उसने कहा कि मैं तो कब से तैयार हूँ … अब जल्दी पेल दो राजा मेरी चूत की प्यास बुझा दो … तुमने बहुत तड़पा लिया अब जल्दी से लंड पेलो … आह.

मैं- हैलो … तुम्हारा नाम क्या है?वो बोला- आप जो बोलो, वही मेरा नाम है. मनीषा ने बत्ती जलाई और बोली- चाचा जी दूध लाई थी, सो गये हैं क्या?नहीं बेटा, सोया नहीं हूँ. मैं धीरे धीरे उनकी भारी भरकम भरी हुई जांघों पर तेल की मालिश करके दबाने लगा.

सेक्सी बीएफ छोटी लड़की वाली

इधर दीदी का चेहरा देखकर और बात सुनकर मेरी हवा निकल गई थी, क्योंकि रात रुकने का कोई प्रोग्राम नहीं बना था और दीदी का आज बर्थ-डे है, हमें ये भी नहीं पता था.

फिर तेरी दीदी ने भैया से एक ही शर्त रखी थी कि उसे बाहर जितने ब्वॉयफ्रेंड चाहे बनाने दो … भैया कुछ नहीं बोलेंगे. चूंकि वो मेरे घर के सामने रहती थी, तो उसका मेरे घर में आना जाना लगा रहता था. कुछ पल यूं ही चोदने के बाद संदीप मुझ पर से हट गया और उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा.

जब भी मेरा मन करता था मैं पोर्न मूवी देखते हुए अपनी चूत में उंगली कर लिया करती थी. मैंने लण्ड को चलाना शुरू किया तो देखा मेरा लण्ड खून से सना हुआ था लेकिन ताज्जुब था कि ज्योति न चीखी न चिल्लाई. हिजड़ो का सेक्स वीडियोचूंकि मालकिन ने ही मुझे कपड़े निकालने को कहा था … और मैं भी निकालना चाहता था.

थोड़ी ही देर में उसने खुद ही अपनी चूत को मेरे लंड की तरफ धकेलना शुरू कर दिया. चित्रा दीदी- आहह … ओह मेरी जान … यू आर सो हार्ड … आहह … कितना अन्दर तक पेल रहे हो.

दीदी की आवाजें सुनकर मुझे अहसास हो गया था कि मेरा लंड जीजा जी के लंड से बड़ा है. हम दोनों ऐसे ही मस्ती कर रहे थे, तब तक बच्चों की बस आ गई और भाभी बच्चों को लेने चली गईं. चाहे सच बताओ या झूठ लेकिन मैं तुम्हें अपने जीवन की हर बात सच ही बताऊंगा.

खाला हंसती हुई बोलीं- अरे बेटा जल्दी क्या है … तीन दिन बाद तो किला फ़तह करना ही है … जल्दबाज़ी क्या है?मैंने उनकी तरफ मुस्कुरा कर देखा. संजू ये सब बड़े ध्यान से देख रही थी और उसका हाथ अपने आप अपनी कैपरी के ऊपर से ही चूत को सहलाने लगा. आज उनका दोनों शिफ्ट में एग्जाम था और मेरा एक ही शिफ्ट में था, इसलिए मेरी क्लास की जल्दी छुट्टी हो गई थी.

ऐसा लग रहा था जैसे कोई आसमान से परी उतर कर मेरे साथ उस कूपे में बैठ गई है।उसकी काली आंखें, तीखी नाक … मुस्कुराती थी तो ऐसा लग रहा था जैसे होंठों से फूल झड़ रहे हों.

धीरे धीरे हो रही चुदाई से मीना मस्त हो रही थी, तभी एक बार लण्ड अन्दर पेलते समय मैंने जोर लगाया तो पूरा लण्ड मीना की चूत में चला गया, वो चिल्लाने ही वाली थी कि मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये और चोदना शुरू कर दिया. मेरी अपनी ही चुदाई की गति ने अपने ही सारे रिकार्डों को ध्वस्त कर दिया था.

वो बोली- लो आवाज लगाओ मेरे को … ऐसे बुलाओ मेरे को, जैसे मैं घर में ही हूँ. जैसे ही मेरे गर्म होंठों ने उसकी तपती हुई चूत को स्पर्श किया तो उसके मुंह से जोर से सिसकारी फूट पड़ी- आह्ह. एक आदमी मुझे अरबी टाइप का लग रहा था उसने सफेद रंग का कुर्ता और सिर में काली पट्टी बांध रखी थी।और दूसरा भी शायद वहीं का रहा होगा मगर वो कोट सूट पहने हुए था।वो अरबी मुझे ही घूरे जा रहा था उसकी लम्बाई 6 फीट से भी ज्यादा की थी और शरीर भी भारी भरकम ही था।हम दोनों को वही छोड़ कर वहाँ के मालिक चले गए.

फिर हमारी थोड़ी बात हुई तो पता लगा कि वो लड़की नहीं बल्कि एक भाभी थी. सर अपने लन्ड को पूरा बाहर निकाल लेते और फिर पूरा लन्ड एक झटके में ही मेरी चूत में डाल देते. मैं उसके लिए बेड पर घोड़ी बन गई और उसने फर्श पर खड़े होकर पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

कामसूत्र सेक्सी बीएफ वैसे भी आदी मेरे आशिकों से चुदाना चाहता था और इसे मना करती, तो प्रीत बुरा मान जाता. मैं उन्हें धक्का देकर अपने से अलग करते हुए बोली- क्या भैया जी, अभी भी आप मुझे श्वेता भाभी ही समझ रहे हैं क्या? इस बार तो मैंने अपनी नाइटी पहनी है.

बीएफ वीडियो सेक्सी हिंदी फिल्म

मैं उसकी मक्खन सी चिकनी जांघों पर किस करता हुए उसकी चुत तक आ पहुंचा. जैसे ही मैंने चुत पर लंड का दबाव बनाया, वैसे ही घर का दरवाजा किसी ने खटखटा दिया. मैंने नीचे से एक झटका दिया और लौड़ा उसकी चूत में अंदर तक घुसा दिया.

मैं- तो तू ही ले ना मेरी कुतिया, तेरे लिए ही तो है मेरा काला लंड … अब से ये तेरा ही है … ले ले पूरा ले … ऊओहूऊऊ बड़ा अच्छा लग रहा है. पहली बार मैंने एक मर्द के वीर्य को अपने मुंह के अंदर लेकर उसका स्वाद चखा था. सेक्सी वीडियो भेजिए देखने के लिएइस वक्त वासना से लबरेज होकर मेरी चुत और भी ज्यादा फूलकर कुछ बड़ी सी हो गई थी.

लेकिन मैं हॉस्टल में नहीं रहना चाहती थी … क्योंकि प्रीत मुझसे मिलने पुणे आता था.

खैर, वो इश्क ही क्या जिसको मंजिल मिल जाये!समाज के एक तबके को लगता है कि गांडू केवल गांड मरवाने के शौकीन होते हैं. सर मेरी गांड पर थप्पड़ मार रहे थे जिससे मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.

तभी दीदी के कमरे का दरवाजा बंद करने की आवाज आई … मैं समझ गया कि कुछ तो है … मैं जल्दी से पलंग पर कुर्सी रखकर होल से अन्दर झांकने लगा … दीदी कुछ लिख रही थी … कुछ देर लिखने के बाद उस पन्ने को कॉपी से फाड़ लिया और उसे मोड़ कर एक किताब में डाल दिया … कुछ देर बाद वो सो गई और मैं भी अपने कमरे में सो गया. वो बोला- कुछ नहीं … बस वायरल फीवर है … दो तीन दिन में ठीक हो जाएगी. फिर मैंने बात को टालते हुए उसका ध्यान दूसरी तरफ खींचने की कोशिश की ताकि वो दोबारा से लंड चुसाई करने के लिए तैयार हो जाये.

बड़े भैय्या वाले हिस्से में उनकी बहू रेखा, पोता हैप्पी और पोती शैली रहते थे.

मैं और मनु परमीत के यहां उदास चेहरे लेकर पहुंचे, शायद उनके घर वाले आज भी नहीं आए थे, क्योंकि बाहर उनकी गाड़ी नहीं थी. रोहित- वाह, आप लोग तो छुपे रुस्तम निकले पर हर किसी का प्यार अंजाम तक पहुंचे जरूरी नहीं!फिर मैंने और रोहित ने 5 मिनट बैठ कर चाय पी, घर-बार इधर-उधर की बात की. आज सुबह से ही मेरी चूत फड़क रही थी। मुझे अहसास हो रहा था कि आज कुछ होने वाला है लेकिन मुझे इसकी उमीद नहीं थी कि मैं भाई के साथ घर से इतनी दूर इस होटल में अकेले एक कमरे में होंगी।पिछले कई महीनों से मैं एक किसी ऐसे ही अवसर की तलाश में थी.

सेक्स करते सेक्सी वीडियोक्योंकि पाँच बज़े तक मेरी सासू माँ जाग जाएँगी और मैं चार बजे तक अपने कमरे में जाकर सो जाऊँगी. मेरा अनुमान एकदम ठीक था, जेठजी का लंड मेरे पति के लंड से करीब आधा पौना इंच ज्यादा लंबा और मोटा था.

बीएफ सेक्सी हो

अगले दिन सुबह करीब 11 बजे ज्योति आई तो मैंने उससे पूछताछ की तो कहानी यह सामने आई:पिछले साल ज्योति अपना मोबाइल रिचार्ज कराने गई थी, वहीं उसकी मुलाकात राकेश से हुई थी और धीरे धीरे प्यार हो गया. चित्रा- अब पूरी रात सिर्फ किस ही करोगे या आगे भी कुछ करोगे?दीदी की बात सुनकर मैंने आलिया को घुमा दिया और उसकी ब्रा का हुक खोल कर निकाल दिया. ”बेटा, इतना सब तो तुम्हें जानना और सीखना पड़ेगा वरना हैप्पी के साथ कैसे गुजारा होगा? तुम एक काम करो, शरमाओ नहीं और अपना कुर्ता ऊपर उठाकर चूचियां बाहर निकालो.

ऐसा कहते हुए उसने झटके के साथ मेरी दोनों टांगों को चौड़ा किया और वहां पर हथेली से चूत को रगड़ने लगा. मुझे पता था कि मर्द का लिंग जब औरत की योनि में जाता है तो उसको मजा आता है. फिर विक्की खड़े हो कर चोदने लगा और दस मिनट बाद वो मेरी चुत के बाहर झड़ गया.

कुछ ही देर में भाभी भी पूरी गर्म हो गई थीं और खुल कर मेरा साथ दे रही थीं. दोनों में से कोई किसी से बात नहीं कर रहा था। एक दो बार उसने बात करने की कोशिश की लेकिन मैंने कुछ रेस्पोन्स नहीं दिया. हालांकि मेरे मन में मामी के लिए उस वक्त केवल प्यार था और वो मुझे बड़ी खूबसूरत लग रही थीं.

एक ही झटके में पहले सुपारा और फिर पूरा लण्ड ज्योति की चूत में चला गया. मैं समझ गयी कि मेरी आवाज सुन कर लंड का पानी पैंट पर ही गिर गया होगा.

ये सब देखने से अब ये स्पष्ट हो गया था कि हम लोगों की ही तरह वो दोनों भी सेक्स फैन्टेसी, रोल प्ले आदि में पारंगत हैं.

बिक्कू ने पूछ लिया कि तुम लोग कब तक घर पहुंच रहे हो तो मेरे भाई ने वहां से जवाब दिया कि हम लोगों अभी घर आने में एक या डेढ़ घंटे का टाइम और लगने वाला है. ओपन सेक्सी विडिओमेरे जीजा ने अपने काम निकलवाने के लिए मुझे उन सेठों से चुदवाया दिया था. इंडियन हाउसवाइफ सेक्स वीडियोवो झड़ने लगी और उसके कुछ अन्तराल पर ही मेरे लंड से भी वीर्य निकल पड़ा. तभी मालकिन बोली- अब एक काम कर!मैंने उनकी तरफ देखा तो मालकिन ने बिस्तर पर पड़े पड़े ही अपनी साड़ी एकदम से घुटनों के ऊपर तक कर ली.

दीदी ने कहा- मैं हूँ ना …उन्होंने बिस्तर पर उल्टे लेटते हुए पोजीशन बदल ली और मुझे पैर सीधा करने को कहा.

तो सर ने अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिये जिससे मेरी कामुक आवाज दब गई. फिर मैं खड़ा हो गया और उनको नीचे बिठाया और जोर जोर से धक्के मारने लगा और पूरा पानी उनके मुंह में ही छोड़ दिया. ममता ने पूछा- और क्या करना होगा?मैंने अपने लण्ड पर हाथ फेरते हुए कहा- कभी कभी खुश कर दिया करो.

क्योंकि मुझे मालूम था कि भाभी चुदासी है और वाइल्ड सेक्स की ख्वाहिश पूरी करने के लिए उसने मुझे यहां बुलाया है. तो उन्होंने मुझे कहा- सलवार उतार और बेड पकड़ कर झुक जा!मैं झुक गयी और उन्होंने लंड डाल कर चुदायी शुरू बस एक मिनट में ही ढीले हो गये और बोले- चल भाग यहाँ से!चुपचाप सलवार उठा के मैं बाथरूम में गयी और अपनी चूत में उगंली करने लगी और फिर नहा धोकर आगे वाले कमरे में आकर लेट गयी।अब मैं अकेली थी तो मुझे संजय का ख्याल आने लगा. इन सबके बावजूद मैं खुद को रोक लेता हूँ, क्योंकि मैं तुम्हें धोखा नहीं देना चाहता.

सेक्सी बीएफ गार्डन

मैंने मामी जी को भी नमस्ते बोली और मैं वहीं आलिया के साथ सोफे पर बैठ गया. तभी मेरी चूत ने मुझे फिर से कहा- अब मुझे भी डिल्डो दे ही दो … तो मैंने अपनी पूरी ताकत लगा कर स्पीड को बढ़ा दिया. जी हां … आपने ठीक समझा, दरवाजा खोलने वाली लड़की कोई और नहीं, वो जीन्स वाली मॉडल थी.

जेठजी ने पहले मेरी दोनों टांगों को पकड़ कर अलग किया, फिर अपनी उंगली चूत के फांकों में फिराने लगे.

वैसे तो हम दोनों में काफी खुले तौर पर बात हो रही थी लेकिन अभी तक इतने भी नहीं खुले थे कि बात सेक्स तक पहुंच जाये.

कभी गर्दन पर चूमते, कभी गालों पर … तो कभी होंठों पर … साथ ही साथ वो मेरे चूचों को कभी प्यार से सहलाते जाते, तो कभी कस कर दबा देते. मैं आहह उम्म्ह हहह ओहह उह की आवाजें निकालने लगी और मैंने कहा- सर, अब मेरी चूत में अपना लन्ड डाल दो. सेक्सी पिक्चर नंगी पूरीमैं- आज का क्या प्लान है?दीदी- कल रात तुम दोनों ने मजा किया था, आज हम दोनों मजा लेंगी.

मैं उठकर बैठ गई और कहा- आप दोनो यहाँ क्या कर रहे हो?बॉस बोले- डरो नहीं, बस प्यार ही तो कर रहे हैं जान तुम्हें!मैं बोली- नहीं नहीं … आप दोनों एक साथ मेरे साथ क्या करना चाहते हैं?कुछ नहीं … बस एक साथ प्यार करेंगे तुमको! डरो नहीं … बस मजा लेती रहो तुम आज!”मैं कुछ बोल पाती कि उन्होंने मुझे गोद में उठा लिया और सोफे में बैठा दिया और दोनों लोग मेरे बगल में बैठ गए. मैंने कहा- तो फिर मेरे साथ ऐसा क्या हो गया?वो बोली- तुमने मुझे बहुत एक्साइटेड कर दिया था इसलिए मैंने सोचा कि मैं भी तुम्हें थोड़ा मजा दूं. अब मुझे थोड़ा दर्द होने लगा था। तो मैं अब उसकी बांहों में छटपटाने लगी। मेरे छटपटाहट को देखकर वह जल्दी झड़ गया और उसने अपना सारा वीर्य मेरी चूत की गहराई में निकाल दिया.

इसके बाद भाभी ने मेरी साड़ी को उतार दिया … अब मैं सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में रह गया था. मैं उसके संगमरमर जैसे बदन को जितनी देर हो सके, उतनी देर तक भोगना चाह रहा था.

इस तरह मैंने उसे रात भर में 4 बार चोदा और हम दोनों ऐसे ही नंगे सो गए.

दरअसल मैं उससे बातें करके उसे सामान्य करना चाहता था ताकि वो मुझसे ना शरमाए. स्कूटी को रोक कर हम दोनों उतरे और देखा कि पास में ही एक बड़ा सा झाड़ था. कुछ देर तक ऐसे ही उनके जिस्म को निहारने के बाद मैं उनके बगल में ही लेट गया.

मारवाड़ी नंगी सेक्सी वीडियो मैंने कहा- कुतिया, तू अभी नकली से मजे कर … चुदाई के बाद हम असली लंड से चुदाई के बारे में बात करेंगे. अजहर- कैसी हैं मेरी आशना की चुचियाँ?मैं- मस्त हैं एकदम!अजहर- चोदोगे इसको?तभी आशना बोली- कैसी बातें कर रहे हो तुम आज ही शुरू में।उसका पति अजहर बोला- लड़का अच्छा लगता है.

कोई पांच मिनट की चुत चुसाई में वो बुरी तरह से अकड़कर झड़ गयी और उसकी चुत से नमकीन अमृत निकलने लगा. मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और पूरी जोर से स्नेहा भाभी की चुदाई करने लगा. लेकिन किसी तरह मैंने खुद को कंट्रोल कर लिया क्योंकि गलती मेरी ही थी.

प्रियंका पंडित के बीएफ वीडियो

मैंने ज्योति को गोद में उठा लिया और बेडरूम में ले आया, पलक झपकते ही उसको नंगी कर दिया. मैंने की-होल से देखा तो आदी नंगा होकर मेरी ब्रा पहन कर अपने मम्मों को दबा रहा था. फिर उन्होंने पलंग के पास कटोरी रखी और सारे दरवाजे अन्दर से बंद कर दिए.

देखा दिखाई के दौरान ही रेखा ने कहा- चाचा जी बड़े हैं, फाइनल डिसीजन इनको ही करना है. और वो अपना लोवर पहन कर बोले- मैं आता हूँ जान एक ड्रिंक लगा के!मैं वैसे ही नंगी लेटी रही और मेरी आँख लग गई.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के माध्यम से मुझे कुछ मित्रगण ऐसे मिले हैं, जो न केवल मेरी कहानियों की हर दिन प्रतीक्षा करते हैं बल्कि उसके साथ ही इन्सान होने के नाते एक अपनी मित्रता का अहसास भी करवाते हैं.

मैंने सोचा कि दो मिनट की ही तो बात है इसलिए ऐसा सोच कर मैंने गेट भी नहीं लगाया था. मुझे बचाओ, नहीं तो मैं मर जाऊंगी।मेरी गाली को सुन कर अभय बोले- साली यह तो बिगड़ी हुई रंडी है. कोई बीस मिनट बाद मेरे लंड का पानी निकलने वाला था, पर इतनी जल्दी झड़ता, तो निधि नाराज़ हो जाती.

मैंने उनकी आंखों में देखते हुए पूछा- क्यों कल क्या हुआ था?मेरे जोर देने पर उन्होंने बताया कि कल यहां एक कपल पकड़ा गया था. फिर मैंने उनका पूरा पेटीकोट निकाला और उनके पैर को किस करने लगा और उन्हें गर्म करने लगा. मालकिन की नर्म नर्म जांघें दबाते समय जो कुछ मुझे आकर्षण लग रहा था, उसे लिखने के लिए मेरे पास शब्द ही नहीं हैं.

मैं भाभी की कराहें सुनता, तो और जोर-जोर से उंगली को चूत के अन्दर बाहर करने लगता.

कामसूत्र सेक्सी बीएफ: बॉस ने मुझे बैठने को बोला और फिर बताया- परसों तुम्हें एक एड शूट करने एक हफ्ते के लिए लुधियाना जाना है. शिल्पा आंटी हंस कर बोलीं- साली तू तो बड़ी रंडी है … तूने अकेले अकेले चुदवा लिया.

ऐसे ही 15 मिनट की ताबड़तोड़ गांड चुदाई में मैं बेहद थक चुकी थी और आगे चुत में उंगली चलाने से भी 2 बार झड़ चुकी थी. मैंने अपने दोनों हाथों से आंटी के मम्मों को अपने हाथों में अच्छे से पकड़ लिए और उनकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. तभी मैंने एक जोर का झटका मार दिया, जिससे मेरा आधा लंड दीदी की गांड में घुस गया.

कुछ समय ऐसे चोदने के बाद वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लण्ड को हाथ से पकड़ के अपनी चूत पर सेट किया और ऊपर नीचे होने लगी.

शादीशुदा है।विभा मैम उन्ही नाज़िमा के साथ लेस्बियन सेक्स भी करती थी कभी कभी।मैम बोली- आज हम अलग तरह से चुदाई का आनंद लेंगे. कुछ देर घंटी जाने के बाद मेरे भैया ने फोन उठाया, तो परमीत ने ‘भैया नमस्ते कहा’ और बोला कि दीदी आपसे बात करेंगी. उसकी मोटाई भी 3 इंच हो चुकी है जो चूत को फाड़ कर रखने के लिए काफी है.