सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर भाई बहन की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

जूतों की सेक्सी: सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में, टेबल पर चलते हैं।अब नीलम ने अपनी एक टांग को टेबल पर टिका दिया और एक नीचे मैंने उसके पीछे खड़ा होकर उसकी चूत में लंड ड़ाल दिया और उसे हचक कर चोदने लगा।नीलम बहुत अच्छे से चुदवा रही थी और मजे ले रही थी, ‘आईईईए.

देसी भाभी देवर का सेक्सी वीडियो

मैं उसे देख कर पागल सा हो गया और उसी पल उसके साथ सेक्स करने का मन करने लगा।मैं सोच रहा था कि कैसे उसे चोदूँ. सेक्सी देसी बुर चुदाईउन्होंने मुझसे मुस्कुराते हुए पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है?मैंने ‘ना’ में अपना सर हिला दिया।भाभी ने कहा- क्यों?मैंने बोला- मुझे शादीशुदा भाभियाँ बहुत अच्छी लगती हैं.

फिर नीचे की तरफ उसके ब्लाउज की फिटिंग चैक करने लगा और थोड़ा सा उसके मम्मों को उठा कर उसके पेट से चिपके ब्लाउज के हिस्से को देखने लगा।जब मैंने उसके मम्मों को उठा कर ब्लाउज की फिटिंग देखी तो मम्मों को छूते ही मेरा लवड़ा गनगना गया. वह सेक्सी वीडियोऔर मेरा आधा लण्ड उनकी गाण्ड में घुस गया।मैंने ब्रेक इतनी जोर से मारा था कि उनका पूरा ध्यान गाड़ी में था और मेरा लण्ड उनकी गाण्ड में था।थोड़ी देर बाद फिर से वैसे ही किया और अब पूरा लण्ड उनकी गाण्ड में था.

फिर तुम्हें भी मज़ा आएगा।यह बोलते हुए ही मैंने एक झटके में अपना पूरा लण्ड उसकी चूत में उतार दिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।उसकी चूत से खून की पतली सी धार फूट पड़ी.सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में: और मेरी प्यास बुझा दो।मैंने मामी को अपनी गोद में बिठाया और मेरे लौड़े को एडजस्ट करके उनकी चूत में पेल दिया।मामी अचानक हुए इस वार के लिए तैयार नहीं थीं.

वक़्त आने पर इसके बारे में भी बताऊँगी। अभी तो मीरा और रोमा पर ही ध्यान दो कि इनकी किश्ती किनारे लगती है या डूब जाती है।रोमा चलती जा रही थी और उसने नीरज को फ़ोन किया कि वो स्कूल के पास उसको लेने आ जाए।जब तक नीरज आता है.तन के उतार-चढ़ाव 32-30-34 हैं। भाभी एक ऑफिस में नौकरी भी करती हैं जो घर से बहुत दूर था।मुझे पहले मेरी भाभी में कोई रूचि नहीं थी.

खुला सेक्सी सेक्सी सेक्सी - सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में

दोनों का तलाक हो चुका है, यहाँ मैं अकेली ही रहती हूँ।तभी मेरे फ़ोन की घंटी बजी। मैं अपने कपड़े पहन रहा था.यह घटना अभी 2 हफ्ते पुरानी है जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ।हमारे घर के पास में एक पड़ोसी रहते हैं वहाँ एक आंटी हैं.

मैं तुम्हारे साथ सेक्स कर रहा हूँ।इतना सुनते ही उसका मुँह पीला पड़ गया और हाथ में पकड़ा हुआ बिस्किट भी हाथ से छूट गया। वो मेरी तरफ देखती ही रह गई।मैं उसकी तरफ देख रहा था. सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में उस दिन को हमने जी भर के जिया।मैं एक बार तो भूल गया था कि उसकी शादी किसी और से हो रही है। शायद मैं आज याद भी नहीं करना चाहता था इस बात को…रात हो चुकी थी.

इस बहन की चुदाई की रसीली कहानी को पढ़ने के बाद मुझे अपने विचार जरूर भेजिएगा।कहानी अभी जारी है।[emailprotected].

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में?

’ करके अपने हाथों को मेरी पीठ पर फिरा रही थी। फिर मैंने अपनी चुदाई की रफ्तार बढ़ाते हुए उसकी चूत को दनादन चोदने लगा और वो भी अपनी कमर को उचका कर मेरे लंड के हर धक्के का जबाव दे रही थी।उसे इस चुदाई में बड़ा मज़ा आ रहा था और मस्ती में बड़बड़ा रही थी- आहह्ह. लेकिन उस वाकिये के बाद मेरा दिमाग एक अजीब ही रास्ते पर चल पड़ा और मैंने वो सब करवा दिया जो कि कभी नहीं होना चाहिए था।वो इतवार का दिन था और हम सब लोग घर पर ही थे। दोपहर के वक़्त हम सब लोग टीवी लाउंज में ही बैठे हुए टीवी देख रहे थे कि फैजान ने चाय की फरमाइश की. भाभी के मुँह से एक मीठी सी ‘आहह’ निकली और भैया ने धक्के देना शुरू कर दिया।शुरू में तो वे बहुत प्यार से धक्के लगा रहे थे.

मुझे भी हँसी आ गई।फिर मैंने हिम्मत करके लण्ड को पकड़ लिया। अपने जीवन में पहली बार मैं किसी लौड़े को छू रही थी। ये मेरी कल्पना से कहीं ज्यादा मोटा और सख्त था।मैंने लौड़े को अपनी मुठ्ठी में पकड़ लिया। उसका लण्ड थोड़ा गरम था और धीरे-धीरे फड़क रहा था।मैंने अपने हाथ को लौड़े के ऊपर फेरते हुए उसके ऊपर ले जाना शुरू किया. लगभग रोज़ ही हमारी आँखें एक-दूसरे से टकराती थीं।कुछ दिनों बाद भाभी मुझे देख कर मुस्कुराने लगीं और मैं भी भाभी को देख मुस्कुराने लगा। ऐसा करीब पन्द्रह दिनों तक चलता रहा।एक दिन जैसे ही मैंने अपनी बाइक स्टार्ट की. इतना कह कर अमन ने अपनी टी-शर्ट उतार दी। उस का गठीला बदन मुझे उसकी तरफ खींच कर ले गया। मैंने उसके होंठों को चूस कर उसकी छाती पर खूब चुम्बन किए। फिर हाथ नीचे ले जा कर उसके लंड को सहलाना शुरू किया.

जिसे उसने चूस कर साफ़ कर दिया था।इस पूरी जोर आजमाइश में वो बुरी तरह थक चुकी थी।उसके बाद मेरे दोस्त ने और मैंने उसे एक साथ चोदा जिसके बारे में अगली बार लिखूंगा. इसलिए ‘फट’ से अन्दर चला गया।साबुन लगाकर चुदाई करने का मज़ा ही कुछ और होता है।मैं उसको धक्के दे रहा था और सबिया आँखें बंद करके चुदने का पूरा मज़ा ले रही थी।काफ़ी देर तक चुदाई चलती रही. मैं बेशरम होकर दोनों के पैरों के पास नीचे कार्पेट पर बैठ गया। दोनों के बीच में बैठने के कारण एक के पैर मैंने मेरे दोनों हाथों में उठाए और उन्हें चूसना शुरू कर दिया.

मैं उसे पागल कुत्ते की तरह घूरता रहता था।एक बार उसका पति बाहर से फ्रिज लाया और उसे कमरे पर लाने के लिए आदमी चाहिए था।मैंने उनके बिन बुलाए उनके फ्रिज को उनके कमरे तक उठाने में मदद की. लेकिन उस वाकिये के बाद मेरा दिमाग एक अजीब ही रास्ते पर चल पड़ा और मैंने वो सब करवा दिया जो कि कभी नहीं होना चाहिए था।वो इतवार का दिन था और हम सब लोग घर पर ही थे। दोपहर के वक़्त हम सब लोग टीवी लाउंज में ही बैठे हुए टीवी देख रहे थे कि फैजान ने चाय की फरमाइश की.

देखो उसी खुजली के मारे तेरा लंड भी पैन्ट में तंबू बनाये खड़ा है।मैं एकदम से शरमा कर अपना लंड छुपाने लगा।खुशबू बोली- छुपाते कहाँ हो? मैं तो कब से तेरे तने हुए लंड को देख रही हूँ.

उसको राधे का लौड़ा किसी मीठे गन्ने जैसा दिख रहा था और उसका मन उसको चूसने का कर रहा था।ममता ने धीरे से लौड़े को मुँह में ले लिया और उसको चूसने लगी।राधे नींद में था.

इस मदमस्त कहानी का अगला भाग जल्द ही आपके सामने पेश करूँगा। इस बात के साथ इजाजत चाहूँगा कि आप मुझे अपने प्यार से भरे हुए ईमेल जरूर भेजेंगे।कहानी जारी है।[emailprotected]. अभी तेरी चूत को ठंडा करता हूँ।मीरा सीधी लेट गई और राधे उसके पैरों के बीच बैठ गया। उसने लौड़े को चूत पे टिकाया और धीरे से धक्का मारा। लौड़ा थोड़ा चूत में घुस गया।मीरा- आई. नीरज ने रोमा को गोली खिला दी और उसे वहीं चलाता रहा। आधे घंटे में वो नॉर्मल हो गई।रोमा ने कहा- बहुत समय हो गया.

यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !वो हँसते हुए पीछे का दरवाज़ा बंद करके आई और पर्दे के पीछे से अपनी मैक्सी ऊपर करके उसने मुझे चूत दिखाई. वो नशा ना उतर सके।मैंने महसूस किया कि हो भी ऐसा ही रहा था कि फैजान की नजरें अपनी बहन की टाइट जीन्स में फंसी हुई गाण्ड पर ही घूम रही थीं।मैं और जाहिरा इधर-उधर की बातें करते हुए चलते जा रहे थे। इधर-उधर जो भी लड़की किसी सेक्सी ड्रेस में नज़र आती. कन्डोम तो बीमारी से बचने के लिए कह रही थी।मैंने बीस मिनट तक जम कर आसन बदल-बदल कर उसकी चूत की चुदाई की फिर मैं उसके अन्दर ही झड़ गया।वो भी झड़ गई.

’ की आवाज आई और समझो चुदाई का बिगुल बज गया।मैं उसे दम से चोदने लगा।मंजू आंटी उनके चूचे चाटने लगीं, मैं तेज-तेज धक्के लगा रहा था और उन्हें चोद रहा था।वो मस्ती से ‘आ.

लेकिन कहानी के उस हिस्से में मेरा उसके साथ सेक्स ही हुआ है और ये सब तो आप अन्तर्वासना पर लगभग सभी कहानियों में पढ़ ही लेते हैं।आप सभी से गुज़ारिश है कि अपनी प्रतिक्रिया मेरी मेल आईडी पर ज़रूर भेजें. आज मैं अपनी मौसी से शादी करके उन्हें अपनी दुल्हन बनाऊँगा।मैं जाकर दो फूल माला ले आया और एक मोम्बत्ती जला दी. फिर उन्होंने एक कुर्ता खरीदा और मुझसे कहा- चाय पियोगे?मैंने ‘हाँ’ में सर हिला दिया।वो बोली- चाय पीना है.

तब-तब ऐसा लगा है कि उन किरदारों की जगह तुम मुझसे ही कुछ कह रहे हो। तुम मेरे लिए एक सुपरस्टार हो और हमेशा रहोगे। मैं आज तक किसी की फैन नहीं थी. तो मेरी हिम्मत बढ़ गई और फिर उसी रात को मैं फिर से उसके घर चला गया।मैंने देखा कि आज उसका पति आ गया था। मैं चुपचाप वापस आ गया।मुझे लग रहा था कि वो अपने पति से मेरी हरकत के बारे में कहेगी और सुबह बवाल हो सकता है. लेकिन वहाँ मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगता था।तो मैंने उनके साथ सेक्स चैट भी की और जब मेरे इम्तिहान खत्म हो गए तो मैं वापस आ गया हूँ और अब मैं उन दोनों को खूब चोदता हूँ।दोस्तो, यह थी मेरी सच्ची कहानी… उम्मीद करता हूँ कि आपको अच्छी लगी होगी।प्लीज़ मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट्स ज़रूर भेजना। बाय दोस्तो![emailprotected].

इसलिए मैंने भी अपनी आँखें मूँदीं और सो गई।आप सब इस कहानी के बारे में अपने ख्यालात इस कहानी के सम्पादक की ईमेल तक भेज सकते हैं।अभी वाकिया बदस्तूर है।[emailprotected].

इसलिए मैंने धोखे से उसकी गाण्ड मारने की सोची।मेरा लौड़ा तो एकदम फिर से कड़क हो गया, मैं खड़ा हुआ और उसके पीछे जाकर उसकी गाण्ड की दरार में अपना मूसल लण्ड रगड़ने लगा और मैंने उसे बाँहों में भर लिया।वो मुस्कुराने लगी. आओ राधे के पास चलते हैं।ममता मजे से राधे के लौड़े को चूस रही थी और राधे आँखें बंद किए पड़ा हुआ था।राधे- ओह्ह.

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में और इस तरह में झड़ गया।मैंने ब्रा-पैन्टी वापिस टाँग दी और सफाई करके बाथरूम से बाहर आ गया।मैंने भाभी को ‘थैंक यू’ कहा. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !कुछ देर बाद मैं उनकी ओर घूम गया और मेरा लंड उनकी गाण्ड में टच करने लगा। वो तो समझ रही थीं कि उनके साथ मौसा जी हैं।यह सोचकर वो मेरी ओर को और अधिक खिसक आईं और तब मेरा लंड उनकी गाण्ड में और भी अच्छे से एड्जस्ट हो गया। अब मैं धीरे-धीरे हिलने लगा.

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में ’ आवाज़ उसके मुँह से निकल जाती थी।फिर चाची ने दरवाज़ा बन्द किया और वो भी अपने कपड़े उतारकर पूरी नंगी हो गई और मेरे पास आकर अपनी चूत चटवाने लगी।मैं भी कहाँ कम था. और ये आज आपकी चूत में हलचल मचाएगा।मैडम खुशी के मारे मेरे 8 इंच के लंड को अपने मुँह में लेने लगीं।उनके मुँह में मेरा पूरा लंड घुस नहीं रहा था.

मैं उसके गुलाबी होंठों को चूमने को आतुर हो उठता था।वो बहुत ही मॉडर्न टाइप की माल किस्म की कामुक औरत है और बहुत ही जवान दिखती है.

सेकसी देहाती

वहाँ टेलर ने उसकी नाप लेनी शुरू की। मैं वहीं खड़ा था और उसे गाइड कर रहा था।उसने ब्लाउज का नाप लेना शुरू किया तो उसने अंजलि से दुपट्टा उतारने को कहा और अंजलि ने दुपट्टा उतार दिया।फिर उस टेलर ने नाप लेना शुरू किया. मैं शुरू से दिल्ली का रहने वाला हूँ और मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मैं काफी समय से अन्तर्वासना पर प्रकाशित कहानियों को पढ़ता आ रहा हूँ। यूँ तो पहले मैं सोचता था कि ये सब कहानियाँ सच्ची नहीं होती हैं. वो वाइट टी-शर्ट और पिंक शॉर्ट्स पहने हुए थी। मैं उसे बेहतहाशा किस कर रहा था।उसने मेरे लौड़े पर हाथ रख दिया और उसे पकड़ कर हिलाने लगी।अब हम काफ़ी किस कर रहे थे.

वो उचक कर ऊपर को हो जाती थी।मेरा लंड अब एकदम कड़क हो उठा था नसें फूल गई थीं।फिर मैंने उसे दीवार के साथ जोर से चिपका दिया और उसकी बगलों में किस करने लगा। वो तो तड़फ उठी. जो मैंने सोचा था।मैंने सोचा यह था कि विनोद मेरी ओर ही रहे और नसीब से हेड ही आया।फिर सबसे पहले आंटी बोलीं- अच्छा अब शर्त भी तो बता. तो मैं अब आराम से चुदाई करने लगा।थोड़ी देर बाद दोनों पूरे जोश में आ गए फिर मैं कमोड पर बैठ गया और वो मुझे चोदने लगी।उसने कानों को मुँह में लिया और काटती.

अब तुम भी वो सब भूल कर बस पढ़ाई पर ध्यान दो।मैं- मुझे लगा था कि आप भैया को सब बता देंगी।भाभी- बोल देती.

साली बड़ा परेशान करती थी।उसके ये बोलते ही मैंने जोर-जोर से झटके मारकर उसे ठंडा कर दिया।फिर मैंने कहा- जानू अब मुझे ठंडा करो. उसको राधे का लौड़ा किसी मीठे गन्ने जैसा दिख रहा था और उसका मन उसको चूसने का कर रहा था।ममता ने धीरे से लौड़े को मुँह में ले लिया और उसको चूसने लगी।राधे नींद में था. जब मैं स्कूल में पढ़ता था। मुझे उस समय सेक्स के बारे में थोड़ा बहुत पता था। मैं स्कूल की छुट्टियों में मामा के घर गया। मेरे मामा की लड़की मीत मुझसे पाँच साल बड़ी है।उसकी मेरे साथ बहुत बनती थी.

मैंने पकड़ कर जाहिरा को ट्रायल रूम में जबरिया ढकेल दिया।जाहिरा सुर्ख चेहरे के साथ अन्दर चली गई।थोड़ी देर के बाद मैंने उसे आवाज़ दी और पूछा- हाँ बोलो. तब तक थोड़ी देर रोमा के पास चल कर देख आते हैं वो क्या कर रही है।अपने कमरे में एकदम नंगी लेटी हुई किसी को फ़ोन लगा रही थी।किसी को क्या नीरज को ही लगा रही होगी और आधी रात को किसको लगाएगी. मुझे कुछ हो रहा है।मुझे पता चल गया था कि वो फ़िर से पानी छोड़ने वाली है तो मैं भी जोर से चोदने लगा, वो और जोर से सीत्कार करने लगी- उईई.

एक-दूसरे से लिपटे रहे और उस दिन हमने उतने ही मज़े से दो बार और मज़े लिए।फिर ये सिलसिला उसकी शादी तक चलता रहा. लंड का सुपारा अपनी जुबान से चाट कर और भी मस्त कर देती हैं।मैंने भी एक गोरी मेम को अपने देसी लंड के रॉकेट पर सैर करवाने की सोची। मैंने सोचा क्यों ना मैं भी एक बार किसी गोरी मेम की गाण्ड मारूं?क्यों ना उसकी चूत का अवलोकन किया जाए और तुलना करके देखा जाए कि गोरी मेम की चूत.

फैजान का अकड़ा हुआ लंड उसकी जाँघों से लड़ रहा था। जाहिरा थोड़ी सी मेरी तरफ सरकी और मेरी तरफ करवट लेकर लेट गई. रुकिए मैं इसे संभाल लेती हूँ।इतना कहकर शीतल पूरी तरह से मेरे पैरों पर झुक गई और मेरे पैर उसनी बगलों के नीचे क़ैद कर लिए. नाश्ते के बाद वो दोनों बहन-भाई चले गए और मैं रसोई का सामान समेटने के बाद नहाने के लिए चली गई। फुव्वारे से ठंडी-ठंडी पानी की गिरती बूंदों के नीचे नहाते हुए मैं यही सोच रही थी कि अब आगे क्या किया जाए.

और वो शादी के बाद पहली बार घूमने आई थी। जीजा जी को बाजार में कुछ काम था तो दीदी मम्मी से मिलने आ गई।वैसे दीदी मुझसे भी खुल कर बात करती थी। शादी से पहले तो वो साधारण ही लगती थी.

क्योंकि मज़ा ही इतना आ रहा था।लगभग 7-8 मिनट बाद मेरा शरीर भी जवाब दे गया और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया। वो चूस-चूस कर लंड का सारा पानी पी गई।फिर हम एक-दूसरे को देखने लगे और उसे बाथरूम से उठाकर मैं अन्दर ले आया और बिस्तर पर लिटा दिया।मैंने उसकी दोनों टाँगों को चौड़ा किया और उसकी चूत को दोबारा से चूसने लगा। थोड़ी देर में वो वापस सिसकारियाँ ‘स्ससीई. यह कहते हुए जाहिरा ने उसे बाहर की तरफ धकेला और फिर फैजान घर से निकल गया।जाहिरा अपना ड्रेस ठीक करते हुए वापिस आई और बर्तन समेट कर रसोई में चली गई।मैं भी दोबारा बिस्तर पर लेट गई।थोड़ी ही देर मैं जाहिरा चाय के दो कप बना कर बेडरूम में आ गई और लाइट जलाते हुए बोली- क्या बात है भाभी. तो मुझे करेंट सा लगा और मेरे दिल में गुदगुदी होने लगी।दूसरे ही क्षण वो मुझे हग करने लगी।अब तो मेरी ट्रैक में हलचल शुरू हो चुकी थी। वो मुझे किस करने आगे बढ़ी और मैंने भी उसे साथ देना शुरू किया।उसकी तो साँसें तेज होने लगीं.

तो फैजान बेचारा अपनी बहन की जवानी को इस हालत मैं देख कर कैसे खुद को रोक सकता है।मेरा हाथ धीरे-धीरे जाहिरा की नंगी जाँघों को सहला रहा था और थोड़ा उसके ऊपर तक चढ़े हुए बरमूडा के अन्दर तक भी फिसल रहा था।जाहिरा का नंगा कन्धों भी मेरी आँखों के सामने था। मैं आहिस्ता से झुकी और अपने होंठ जाहिरा के नंगी कन्धों पर रख कर उसे चूम लिया।जाहिरा बड़ी मदहोशी में अपने भाई के साथ चिपकी हुई सो रही थी।अब आगे लुत्फ़ लें. तब तक राधे के हाल देख लो।ममता की चूत और गाण्ड को जम कर चोदने के बाद अब राधे आराम से लेटा हुआ था और ममता भी नंगी उसके सीने पर सर रख कर पड़ी थी.

तुम्हें अन्दर गर्मी नहीं लग रही क्या?उसने इतना कहते हुए मेरे कमरे का दरवाजा खोला और अन्दर झाँका तो मैं एकदम शर्म से झुक गया. मैंने कहा- धन्यवाद किस बात का?उसने कहा- अगर आप सर को मेरे लेट आने के बारे में नहीं बताते तो मेरी गैर हाजिरी लग जाती।मैंने कहा- यह तो मेरा कर्तव्य है कि अगर मेरे विभाग में किसी को कोई दिक्कत है. इसने तो सारा मजा खराब कर दिया।इतने में निशी अन्दर आ गई तो मंजू आंटी मुझसे बोलीं- इसने मजा खराब नहीं किया.

बाप बेटी का सेक्सी मूवी

मीरा और राधे सुकून की नींद सोए हुए हैं तभी ममता आ गई और अपनी आदत से मजबूर मीरा के कमरे को ठोकने लगी।ममता- बीबी जी उठो.

मैं उनको ये बताना चाहता हूँ कि इस तरह की कोई उम्मीद न धारण करें और इत्मीनान से कहानी का मज़ा लेते हुए सहयोग प्रदान करें। धन्यवाद।अभी तक आपने पढ़ा…शायद आज भी मैं इसके आगे अब ज्यादा नहीं लिख सकता क्योंकि अब मेरी आँखों में सिर्फ उसी का चेहरा घूम रहा है।चुदाई तो मैंने जरूर माया की थी. मैं और मेरा लंड यह देख कर और सुन कर दोनों कामोत्तेजित हो गए। मेरा लंड भी खड़ा हो गया और मैं भी उठा और सीधा अपने कमरे में चला गया।कमरे में सावित्री बिस्तर में मेरी तरफ गांड करके लेटी हुई थी। मैंने धीरे से उसकी साड़ी उठाई. मैंने बगल से ही उसके ऊपर चढ़ाई करते ही अपने लण्ड को उसके होंठों पर टिका कर अपने होंठों को उसकी चूत के होंठों से भिड़ा दिया।जिससे अब उसके मुँह से ‘आह्ह.

लेकिन देख सकती थी कि एक पन्ने पर कुछ औरतों के नंगी तस्वीरें थीं।शायद काम कला में लिप्त औरत मर्द के जुड़े नंगे जिस्म भी उन चित्रों में होंगे। दूसरे पन्ने पर कुछ लिखा हुआ था. लेकिन थोड़ी देर रेस्ट करने के बाद हम लोग बस में बैठ कर घर आने लगे।वहाँ से रास्ते भर वो यही कहती रही- क्या चोदा है. हसीना पारकर सेक्सी वीडियो’फिर मैंने उनकी चूत को इतना चाटा कि आखिरकार वो दो बार झड़ चुकी थीं। फिर मैंने उनकी चूत में लण्ड डाला तो वो तड़फ़ने लगीं.

तो देखा वो टायलेट में पजामा नीचे कर मूतने बैठी थी, उसका मुँह मेरी ही ओर था।दरवाजा खुलते ही मेरी नजर सीधी उसकी चूत पर ही पड़ी जो सीटी की आवाज के साथ पेशाब बाहर निकाल रही थी।मुझको देखते ही वह एकदम से खड़ी हो गई और अपना पजामा ऊपर खींचने लगी. एक ही स्पर्श में उसकी चूत रो पड़ी थी और उसमें से बहुत पानी निकलने लगा था, वो पानी उसकी गाण्ड की तरफ बह रहा था।अब आगे.

तुम्हें अब सुनना ही पड़ेगा।मैंने अपने होंठों पर ऊँगली रखी और उससे शुरू होने का इशारा किया।कहते हैं कि आँखें कभी झूठ नहीं कहती हैं। उसकी आँखें ही काफी थीं. फिर वो गरम होने के कारण जल्दी से मान भी गई और फिर हम दोनों चूमा-चाटी करने लगे।मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और दूध दबा कर पीने लगा।अब वो मुझे जोरदार किस करने लगी थी. क्या घर पर कोई नहीं है क्या?तो वो बोली- विनोद भैया माँ से लिस्ट लेकर घर का कुछ समान लेने गए है और माँ रसोई में नाश्ता तैयार कर रही हैं।मैं बोला- बस यही तो मेरी परेशानी की वजह है.

तो कभी वो मेरे ऊपर आकर चुद रही थी।अब मैंने उसे अपने बगल में लिटाया और पीछे से अपना लण्ड उसकी चूत में डाला। मेरे हाथ में उसकी चूचियां थीं मैं उन्हें बेदर्दी से मसलकर तेज-तेज उसकी चूत में धक्के लगाने लगा।इससे आवाज कम आ रही थी और स्पीड भी बढ़ गई थी। वो भी चुदने ही आई थी इसलिए खुद अपनी चूत का दबाव हर धक्के में मेरे लण्ड पर दे रही थी। जैसे ही मुझे लगा कि वो झड़ने वाली है. उसने कहा- ठीक है!और बोलते ही जोर का झटका लगाया…उईई इमाअमाआअ… मर गयईईई… मेरे मुँह से निकल गया।मैंने तुरंत आगे होकर लंड बाहर निकाल दिया… सच में चक्कर आ गए थे मुझे!गांड में चींटियाँ सी दौड़ गई थी और दर्द बहुत तेज़ हो रहा था. तो मैं नहीं हटा चूत में लण्ड पेलने में लगा रहा। मैंने बहुत देर तक उसकी चूत मारी।फिर मेरा पानी उसकी चूत में झड़ गया। मैंने उसकी चूत से अपना लंड निकाला… तो देखा सारा लण्ड उसके खून से सना हुआ था।उसकी चूत ओर गाण्ड तक खून से सनी थी।उसके बाद मैंने उसे पूरे दिन.

उनके नंगे जिस्मों और गुप्त अंगों का खुला वर्णन लिखा हो सकता था।मुझे इस ’घिनौनी’ हरकत से उस पर काफ़ी गुस्सा आया और जी चाहा ही अन्दर जाकर रंगे हाथों पकड़ लूँ उसे और डांट फटकार दे दूँ। लेकिन ऐसी किताबें मैंने भी जवानी में पढ़ी थीं और हाथों से सेक्स का अनुभव पाया था।जो वासना मुझे उन दिनों में हुई थी.

वो भी अपने लण्ड से।मेरा पूरा लण्ड उनकी चूत में जा चुका था। मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाने शुरू किए। धीरे-धीरे उन्हें भी आराम मिलने लगा. मैंने तेरे लिए एक मस्त सी गर्लफ्रेण्ड भी ढूँढ़ रखी है।तो मैं झट से बोला- सच में?मैं उत्तेजनावश आंटी के गले से लग गया.

कर रही थी।फिर मैंने उसको सीधा किया और उसको देखा तो उसकी आँखें बहुत ही नशीली दिख रही थीं।वो बोली- तुमने पता नहीं. मैं तुम्हारा लण्ड मुँह से चूस कर माल निकाल देती हूँ।उसने मेरा लण्ड मुँह में लेकर पूरा रस निकाल दिया।मैंने कहा- कैसा लगा सपना. तो मुझे उनके पूरे चूचे दिख गए, मेरा लण्ड तो जैसे पैंट फाड़ कर बाहर आने को हो गया।अब आंटी नीचे ब्रा उठाने को झुकीं.

लेकिन आज जाहिरा की खूबसूरती को देख कर मुझ पर भी नशा सा छा रहा था।मैं सोच रही थी कि अगर मेरा यह हाल हो रहा है. राधे लेट गया और ममता उसके लौड़े को होंठों में दबा कर कस कर चूसने लगी… जैसे कोई चूत में लौड़ा जाता हो।राधे- आह्ह. कि आपके भाई का लंड मस्त है या नहीं? क्या आपकी मस्त चूत इसको अन्दर लेने के लिए मचल रही है या नहीं?’पद्मा के चेहरे के भाव बता रहे थे कि वो एक पल के लिए झिझकी.

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !वो हँसते हुए पीछे का दरवाज़ा बंद करके आई और पर्दे के पीछे से अपनी मैक्सी ऊपर करके उसने मुझे चूत दिखाई. मैं बार-बार ब्रेक मार रहा था।कुछ ही देर बाद हम वहाँ पर पहुँच गए और हम घूमने लगे। तो मैंने देखा कि वहाँ पर काफ़ी कपल्स घूम रहे थे और वो हमें बार-बार देख रहे थे क्योंकि वो लग ही रही थी इतनी हॉट एंड सेक्सी.

मां बेटे की चुदाई की कहानी

मैंने ज़िंदगी में पहली बार ऐसी चूत देखी थी। उसकी फुद्दी देख कर मेरा 7 इंच का लण्ड तनतना गया।मैं उसकी फुद्दी चूसने और चाटने लगा। वो मेरा सर अपनी फुद्दी पर दबाने लगी, उसकी सिसकारियाँ निकलने लगीं।मैं उसकी चूत का रस चाटने लगा और अपनी जीभ उसकी गांड में फिराने लगा।वो बेकाबू होने लगी. तो वो सिसक गई और उसने मेरा गाल पकड़ कर अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए।सच में वो तो पागलों की तरह चूसे जा रही थी और मैं भी. दूजा उतना ही पीछे उठा हुआ था। उसके नागिन से लहराते काले रेशमी बाल जो जरा घुंघराले से भी थे।वक़्त ने करवट ली और मैं इंजीनियरिंग पढ़ाई पूरी करने बाहर चला गया। अब शुरू होती है.

मैं जान चुका हूँ कि तुझे मेरे उस ‘शौक’ के बारे में पता चल गया है और अब तो तुम जानते ही हो कि मेरे लंड में इतनी ताक़त नहीं है। लेकिन मेरे पास एक बहुत बढ़िया सुझाव है. तो मैं उन्हें देखता ही रह गया। वो बिल्कुल नई दुल्हन लग रही थीं।अब मैं उनके नजदीक गया और कहा- आज मैं अपनी मौसी नहीं. देहाती खेत की सेक्सी वीडियोएक दिन वो हमारे घर आईं और मुझे बताया कि यह तुम्हारी चुदाई का नतीजा है।वो बहुत खुश थीं क्योंकि उनके पति शादी के 5 साल के बाद भी उन्हें बच्चा नहीं दे पा रहे थे।इस कहानी को गप मत समझना, यह बिल्कुल सच्ची घटना है, वो तो भाभी और कमला को आप सभी से चुदवाना संभव नहीं है वरना आपको इस कहानी की सत्यता मालूम हो जाती।मुझे अपने विचारों से अवगत कराने के लिए लिखें।[emailprotected].

तभी इतने दिनों से तुम परेशान थे। मैं तृषा के पापा से बात करता।मैंने पापा की बात काटते हुए कहा- मैं तृषा के बारे में कहाँ कह रहा था.

’मैं सीधा उसके मुँह में ही धक्के मारने लगा।फिर हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और अब मैं उसकी चूत चाट रहा था. तब तक तुम मेरी सहेली का ख्याल रखना।मैंने कहा- भाभी आप जाइए मैं इनका इनके पति से भी ज्यादा ख्याल रखूँगा। वो हर चीज दूँगा.

तो मैं भी चालू हो गया। मैंने भी उसका साथ दिया और हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूम-चाट रहे थे।फिर मैंने उसके टॉप को और उसने जो जींस पहनी थी. तब तक के लिए आप सभी को राहुल की ओर से गीला अभिनन्दन।आप सभी के सुझावों का मेरे मेल बॉक्स पर स्वागत है और इसी आईडी के माध्यम से आप मुझसे फेसबुक पर भी जुड़ सकते हैं।[emailprotected]. तभी तो मैंने तुम्हें कहा था कि आज तुम्हें एक और बुर चोदने को मिलेगी।उस रात को ख़ाने के बाद दीदी ने कहा- तुम एक घंटे के बाद आना.

क्योंकि उसके लड़की हुई है।मैंने उनसे पूछा- कमरे के लिए अंकल को हाँ तुमने ही किया था न?तो वो मुस्कुरा उठी और आँख दबा कर बोली- हाँ अब सहन नहीं होता था और तुम मुझे पसंद भी आ गए थे।उसके मुँह से यह सुनकर मेरा फिर से लंड खड़ा हो गया। मैंने उसकी टांग उँची करके अपना लौड़ा चूत में डालने लगा.

जाहिरा अपनी चूत को मेरी उंगली पर आगे-पीछे कर रही थी और मेरी उंगली को अपनी चूत में पूरा लेने के लिए तड़फ रही थी। लेकिन मैं अपनी उंगली को आगे नहीं कर रही थी।मैं- डार्लिंग. पास रखी दूसरी चादर डाल दी।अब मीरा बिस्तर पर सीधी सो गई और अपनी बाँहें फैला कर राधे को आने का इशारा किया. आज मैं भी आपको ऐसा सुख दूँगी कि आप मुझे याद रखोगे।राधे कमरे में ले जाकर ममता को बिस्तर पर लिटा देता है और उसके होंठों को चूसने लगता है।ममता- साहेब जी दो मिनट रुक जाओ.

जवान चाची का सेक्सी वीडियो? परेशान से लग रहे हो?मैं- वो ग्रेजुएशन में एक पेपर में फेल हो गया हूँ।मैं तो तृषा वाली बात बताना चाह रहा था. जिसे देसी भाषा में खड़ी चूची भी कहते हैं। एकदम हिरनी जैसी पतली कमर और एटम बम्ब जैसी 32″ की मुलायम मतवाली गाण्ड.

जासूसी कैमरा

बियर खत्म होने तक मेरा तो लण्ड पैन्ट से बाहर आने को तैयार था।उतने में ही उसकी नज़र मेरी पैन्ट के उभार पर पड़ी तो वो बोली- आपका पप्पू कुछ ज्यादा ही बेचैन हो रहा है।मैं- आपको देखकर तो कोई भी बैचेन हो जाएगा. मैंने उसकी बात याद रखते हुए ऐसा ही किया।तीन महीने तक बात करने के बाद एक दिन उसने कहा- क्या तुम मुझसे मिलोगे?मेरी तो जैसे मुराद पूरी हो गई।उसने मुझसे सोमवार के दिन सुबह दस बजे मॉल में मिलने को बुलाया।मैं माल पहुँचा तो मुझे अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हुआ. ना ही मैं उनसे मिलने गया। पर जब तक साथ रहा तब तक दोनों ने खूब मजे किए।उसके बाद पड़ोस की दूसरी भाभी को कैसे चोदा। यह कहानी भी जल्दी ही पेश करूँगा।आपको कहानी कैसी लगी। अपनी राय मेल कर जरूर बताइयेगा।[emailprotected].

जब उठी तो देखा कि सुबह के 10 बज रहे थे, मैं जल्दी से खड़ी हुई कपड़े पहने और जाने लगी।तभी मेरा मोबाइल बज़ा. लेकिन दिल्ली में रहता हूँ।सेक्सी गर्ल- तो कहाँ मिलें?मैं- पटना में।सेक्सी गर्ल- मैं अभी पटना नहीं जाऊँगी!मैं- ओके. मैं करीब 5 मिनट तक उसे मज़े दे कर चोदता रहा और वो लण्ड के मज़े लेती रही।अचानक उसने मुझे ज़ोर से पकड़ लिया और मेरे शरीर को जकड़ने लगी.

फिर मैंने बोला- जाने से पहले एक हग भी नहीं देगी?तो उसने जो मुझे अपने गले से लगाया तो मानो सच में बहुत अच्छा फील हुआ।फिर हम दोनों हाथों में हाथ डाल के चलने लगे।वो बोलती- तू मुझे बहुत पसंद है. यह आपकी चूत पर ही मेहरबान हुआ है।भाभी मेरे लौड़े को देखने लगीं।अब मैंने कहा- भाभी ये नाईटी क्यों पहनी हुई है. इसको लेकर क्यों नहीं गए और इतनी रात को यहाँ खड़े-खड़े क्या कर रहे हो?गाँव वाला- अरे बाबूजी अभी-अभी ही तो ये सब हुआ है.

तो खिलखिलाकर हँसने लगे। राधे ने शावर चालू कर दिया और दोनों मज़े से नहाने लगे।पंद्रह मिनट बाद दोनों बाहर आए. वो वाइट टी-शर्ट और पिंक शॉर्ट्स पहने हुए थी। मैं उसे बेहतहाशा किस कर रहा था।उसने मेरे लौड़े पर हाथ रख दिया और उसे पकड़ कर हिलाने लगी।अब हम काफ़ी किस कर रहे थे.

जब उसे ही कोई फर्क नहीं पड़ता तो मैं क्यूँ नींद खराब करूँ।उसके वादे के मुताबिक़ मुझे हर रोज़ उसे मिलना था, सो मैं छत पर ठीक शाम के 8 बजे आ जाता था। हमेशा यही कोशिश करता कि उससे मेरी नज़रें ना मिलें.

मैं ये काम नहीं करूँगी और सब कुछ कर लूँगी।मैंने उसके जिस्म पर हाथ फेर कर उसकी चूत को जगा दिया और अपना लण्ड उसके हाथ में थमा कर बोला- लो ये आपके लिए ही है. pooja की सेक्सी’इसी के साथ ही मैंने उनके चूचे छोड़ दिए मेरे चूचे छोड़ते ही वो बोलीं- तूने तो आज जान ही निकाल दी।वो अपने चूचे को मेरी ओर दिखाते हुए बोलीं- देख तूने इसे लाल कर दिया. सेक्सी सुहागरात हिंदी वीडियोमुझे तो लगा कि मेरे अन्दर का ज्वालामुखी फटने वाला है और मेरा लंड लोहे जैसा मजबूत हो गया।तो उन्होंने कहा- यह तो बहुत हार्ड है. कभी कोई औरत नहीं देखी क्या?खुशबू के इस मजाक भरे रवैये से मेरी हिम्मत खुली और मैंने बोला- औरतें तो बहुत देखी हैं.

फिर मैं तुम्हारा थोड़ा सा मेकअप करती हूँ। तुम्हारे भैया कह रहे थे कि तुम्हें भी मेकअप वगैरह करा दिया करूँ.

क्योंकि उस वक्त भाभी जी एक पंजाबी ड्रेस में थी और उनके कपड़े फुल टाइट थे जो कि उनके मम्मों तक एकदम चुस्त थे और वो बहुत खूबसूरत दिख रही थीं।मैंने सोच लिया ये ही मेरी ब्लू-फिल्म की हीरोइन बनेगी।सच में. तो वो पूरा हिल गईं और हल्का सा चिल्लाईं भी।फिर मैंने उनकी इतनी तेजी से चुदाई की कि ऐसे लग रहा था जैसे कोई लगातार किसी को चांटा मार रहा हो।जबरदस्त चुदाई के करीब 2-3 मिनट में ही मैं उनकी बुर में ही झड़ गया और जब मैंने अपने लंड को निकाला. उन्हीं से वादे पूरे कर लेना और उन्हीं को अपना घर भी दिखा देना।मैं समझ गया कि वो मुझसे प्यार करने लगी है।तो फिर भी मैंने उससे कहा- चलो आज तुम्हें तुम्हारी मनपसंद चीज दिखाता हूँ।वो थोड़ा सा मुँह बनाकर बाइक पर बैठ गई.

कुछ भी होश नहीं था। मैंने रश्मि की तरफ देखा जो मेरे खड़े लण्ड को देख रही थी। उसके चेहरे पर डर और खुशी देखी जा सकती थी. मैंने फटाफट अपना लोवर ठीक किया और हाथ से लण्ड को छुपाने लगा।यह देख कर आंटी हँसने लगीं और बोलीं- तू ये पढ़ रहा था. कुछ देर तक मैंने कोई जवाब नहीं दिया।फिर उन्होंने हल्के से अपने हाथों को मेरे शरीर पर रखा और पैर से हल्का-हल्का रगड़ना जारी रखा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !फिर थोड़ी देर बाद वो हल्के खिसक कर से मेरे पास आ गईं.

मराठी सेक्स कहानी

यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !हम दोनों एक-दूजे को बेतहाशा चूमना शुरू किया। मेरा लण्ड जो पहले से ही खड़ा था. उसका पति आर्मी में था। उसका एक बेटा जो छ: साल का था वह उसे रोज़ स्कूल छोड़ने जाती थी।मैं भी उसी रास्ते से अपनी बाइक पर कॉलेज जाता था. जिसे देखते ही सबका लंड खड़ा हो जाए।मेरा तो दिल कर रहा था कि इसे यहीं पकड़ कर मसल डालूँ… लेकिन मजबूरी थी, कुछ नहीं कर सकता था।फिर वो ‘हैलो’ बोल कर चली गई और मैं उसके बारे में सोचता ही रहा।जैसे-तैसे करके ऑफिस का समय पूरा किया और फ्लैट पर आ गया। खाना खाया और लेट गया। लेकिन नींद तो गायब हो गई थी। उसके बारे में ही सोचता रहा। रात दो बजे तक नींद नहीं आई और फिर मुठ्ठ मार कर लेट गया।उसके बाद पता ही नहीं चला.

वो मेरे से 5 साल बड़ी थी फिर भी लग नहीं रही थी कि वो दो बच्चों की माँ है।मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और चुम्बन करने लगा।मैं अपनी जीभ से उसकी जीभ को टच करने लगा.

मेरी अच्छी किस्मत थी कि उस दिन मेरे घर में कोई नहीं था, मैंने जन्मदिन मनाने के लिए प्लान के तहत उसको सुबह 11 बजे घर बुलाया.

जहाँ मैंने मामी को खड़े-खड़े गोद में उठाए हुए चोदा।ऐसे रस भरे कारनामे कई बार और कई दिनों तक चलते रहे।आज भी मुझे मामी के साथ बिताए वे पल खूब मजा देते हैं।आपको कहानी कैसी लगी. दोनों की उत्तेजना भड़की हुई थी और ये चुदाई ज़्यादा देर नहीं चल पाई। नीरज का लौड़ा चूत की गर्मी को सहन नहीं कर पाया और मोमबत्ती की तरह पिघल गया।अरे. रानी चटर्जी के सेक्सी वीडियो एचडीकितने गोरे और गदराए पैर थे।मैं उनकी चूचियाँ को देखता ही रह गया, उन्होंने मुझे घूर कर देखते हुए देखा और थोड़ा सा मुस्कुराईं और अन्दर चली गईं।मेरा मन अब पढ़ाई में नहीं लग रहा था। मेरा लंड कड़क होने लगा.

उसी वक्त उसका लंड खड़ा हो जाए।मैं उनको चोदने का ख्बाव बहुत पहले से देख रहा था। मुझे तो बस किसी मौके के मिलने का इंतज़ार था।मेरा यह सपना पूरा हुआ. क्योंकि आज उसका भाई उसकी नंगी चूचियों को और चूत को भी मसल चुका था।रात का खाने खाते हुए भी फैजान अपनी बहन की चूचियों को भी देखना चाह रहा था। वो उनको अपने भाई की नजरों से छुपा रही थी. मुझे एक शैतानी ख्याल आया और साथ ही मेरी आँखें कमरे के उस अँधेरे में भी चमक उठीं।ुमैंने एक नज़र जाहिरा के चेहरे पर डाली.

मैं सब सीक्रेट रखता हूँ।आप सभी के मनोरंजन के लिए ये कहानी लिख रहा हूँ। आशा है कि आप इस कहानी को भी पहले जैसा ही प्यार देंगे। आप इस कहानी पर अपना ईमेल जरूर करना।किसी एक पुराने समय में एक विशाल भव्य राज्य था. लेकिन उस वाकिये के बाद मेरा दिमाग एक अजीब ही रास्ते पर चल पड़ा और मैंने वो सब करवा दिया जो कि कभी नहीं होना चाहिए था।वो इतवार का दिन था और हम सब लोग घर पर ही थे। दोपहर के वक़्त हम सब लोग टीवी लाउंज में ही बैठे हुए टीवी देख रहे थे कि फैजान ने चाय की फरमाइश की.

लेकिन कोई वादा और सीमा में आज का कार्यक्रम मत बांध देना।मैं भाभी की बात समझ गया। उनकी इच्छा समझते ही और उनके मुँह से इतना सुनते ही मेरे हथियार ने एक जोरदार सलामी दी।खैर.

’ आवाज़ उसके मुँह से निकल जाती थी।फिर चाची ने दरवाज़ा बन्द किया और वो भी अपने कपड़े उतारकर पूरी नंगी हो गई और मेरे पास आकर अपनी चूत चटवाने लगी।मैं भी कहाँ कम था. फिर हम सो गए।अगली सुबह दोनों दर्द के मारे चल नहीं पा रहे थे।यह था कमसिन उम्र की चुदाई का अविस्मणीय सच्चा किस्सा. मुझे लगा था कि मैं तृषा और उसके परिवार वालों को मना लूँगा। तृषा की प्यार भरी बातें उसका मेरे करीब आना.

पोर्न सेक्सी फुल एचडी अब तो ये तुम्हारे ही आम हैं।मैंने भाभी के सारे कपड़े खोल दिए और अपने भी खोल दिए।भाभी मेरा लंड देखकर बोलीं- इतना मस्त लंड. तब तक चूत में उँगलियाँ और लौड़े को मुठ्ठी में हिलता रहना चाहिए।आपके पत्रों का बेसब्री से इन्तजार है।कहानी जारी है।[emailprotected].

वो मेरी गोदी में नंगी बैठी थी और मैं भी नंगा ही डाइनिंग टेबल पर बैठा था।हम दोनों एक-दूसरे को खिला रहे थे। मेरा लंड अब ढीला था. नहीं तो इस ब्राह्मण को मौका नहीं देना अन्याय होगा।राजा की यह बात सुनकर सभा में एक बार फिर सन्नाटा छा गया। कोई भी अपनी बेइज़्ज़ती के डर से आगे नहीं आ रहा था।तब राजा ने कोका पंडित को आज्ञा दे दी।कहानी जारी रहेगी. जिससे काफी जोर से आवाज़ हुई।मैं भाग कर बाहर वाले कमरे में आ गया और वहीं बैठ गया।कुछ देर बाद वो मुस्कुराती हुई बाहर आई और बोली- तुम मुझे नहाते हुए देख रहे थे ना?मैं डर गया और कुछ बोल नहीं पाया.

बीटीएस फोटो

यह कहानी मेरी दूर के रिश्ते की मामी की और मेरी है। उस वक़्त मेरी उम्र 19 साल थी। मामी की शादी बहुत कम उम्र में उनसे करीब 8 साल बड़े. जो मेरे पास होती है।दरवाजा खोल कर मैं चुपचाप अन्दर घुस गया। मैंने छुप कर जो अन्दर का नज़ारा देखा तो मेरी आँखें फट गईं. जो मैंने तुम्हें अपना दोस्त माना।मैं- क्यों मैंने ऐसा क्या किया?वो कुछ नहीं बोली और मैं भी चुप हो गया।छुट्टी के बाद मैं उसे फिर बोला- मुझे माफ कर दो.

उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी थी। वो अपने मम्मे खुद दबाने लगी थी।नीरज- अब मैंने तुम्हारी पैन्टी भी निकाल दी. लेकिन अभी मोनिका कुँवारी थी उसकी चूत ने सुपारे को ही अन्दर लिया था कि एक जोर की दर्द भरी सिसकारी निकल पड़ी।मैं उसकी दर्द भरी सिसकारी को अनदेखा करते हुए लौड़े को उसकी चूत के अन्दर घुसेड़ता चला गया।उसकी सिसकारी चीख में तब्दील होती.

तो जोर-जोर से रस को मुँह में लेते हुए चूसने लगी।ज़ेबा लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे बचपन में हम सब बर्फ का गोला चूसते हैं।इस मस्त मजे में मुझे तो पता ही नहीं था कि क्या हो रहा है.

मैं लेकर आया हूँ।उसने अपनी गर्दन हिलाई और मुझे एक स्माइल पास कर दी।फिर हम दोनों उसके फ्लैट पर चले गए।मैं ड्राइंगरूम में पड़े काउच पर बैठ गया और वो मेरे लिए एप्पल जूस और पैसे लेकर आई। मैंने पैसे पर्स में रखे. मैं तुझे दिखाता हूँ।पुनीत बैठ गया और अपने मोबाइल में एक वीडियो चालू करके मुनिया को फ़ोन दे दिया।उस वीडियो में एक लड़की एकदम नंगी खड़ी एक आदमी की मालिश कर रही थी जो एकदम नंगा था। पहले तो मुनिया को अजीब सा लगा. वैसे वैसे आपकी उंगली खुद अपना काम करना शुरू कर देगी।मेरे प्यारे दोस्तो, आप भी अपने लंड को बाहर निकाल कर खुला छोड़ दीजिए और उसके उठने का इंतजार कीजिए…मैं आशीष.

मगर तुम्हारे साथ कुछ ज़बरदस्ती नहीं करूँगा।रोमा ने नीरज के होंठों पर हाथ रख दिया और गुस्से से देखते हुए बोली- प्लीज़ दोबारा मरने की बात मत करना।नीरज- अच्छा नहीं करूँगा. अब तो मैं यह मान चुका था कि मैंने किसी बेवफा से मोहब्बत की थी।तभी ऐसा लगा मानो कोई मेरी शराब की बोतल को मुझसे दूर कर रहा हो। मैंने अपनी आँखें खोलीं… सामने तृषा थी।मैं डर गया और लगभग रेंगता हुआ उससे दूर जाने लगा।‘ज. This is more a Love Story than a Sex Storyवो मुझसे हाथ मिलाते हुए बोली- वैसे इस पार्टी की होस्ट मैं ही हूँ… आपसे मिलकर अच्छा लगा कि इस उबाऊ भीड़ से अलग कोई तो है यहाँ.

पूजा की चूत में डाल दिया और पूजा दर्द की वजह से छटपटाने लगी।उसके दर्द को कम करने के लिए मैं उसके होंठों को चूसने लगा और उसके होंठों को चूसते-चूसते मैंने अपना बाकी का आधा लण्ड भी पूजा की चूत में उतार दिया।लण्ड के पूरा अन्दर जाते ही पूजा दर्द के मारे दोहरी हो गई। मैंने उसके होंठों को चूसना चालू रखा.

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ हिंदी में: आज मैं आपको अपनी कहानी बता रहा हूँ।घटना आज से 7 साल पुरानी है।मेरा एक दोस्त 2 दिन घर में अकेला था इसलिए मैं उस दोस्त के घर गया था। हम दोनों बातें कर रहे थे. यह मुझसे सहन नहीं हुआ और मैं यहाँ से निकल गया।रोमा- मगर तुम नीरज को जानते नहीं थे तो ये सब कैसे?आयुष- याद करो तुमने टीना को बताया था.

उसके हाथ अपने हाथों में फंसा लिए और उसकी गान्ड में लण्ड घुसड़ेने की कोशिश करने लगा। वो मना करने लगी कि गान्ड ना मारूँ. ताकि वो थोड़ी सामान्य हो जाए और आहिस्ता-आहिस्ता इस नई ड्रेसिंग की आदी हो सके। अगर तुमने कोई ऐसी-वैसी बात की. कोई साली मेरे साथ कॉफ़ी तक पीने को राजी नहीं थी।मैंने सोचा था कि शादी ऐसी ही किसी जीन्स टॉप वाली से होगी.

तो वो भी जोश में आ गई और कस कर चुम्बन करने लगी।दस मिनट तक हम दोनों एक-दूसरे से चिपके हुए चुम्बन करते रहे।वो थोड़ा सा नार्मल हुई और पैन्ट के ऊपर से मेरा लंड पकड़ने लगी।मैंने उसका टॉप निकाल दिया। वो अन्दर लाल रंग की ब्रा में क्या मस्त आइटम लग रही थी।मैं उसे बिस्तर पर ले गया और लिटा दिया और ऊपर चढ़ कर उसकी चूची दबाने लगा और चुम्बन करने लगा।वो बस ‘इस्स्स्स्स्स्स.

पर लौड़ा फिसल कर ऊपर को चला गया।फिर मैंने चूत पर सैट करके ज़ोर से धक्का मारा। अबकी बार लण्ड चूत में आधा चला गया।वो इतनी ज़ोर से चिल्लाई कि. तो वो भी मेरी बातें सुन सके और मैं उसको उत्तेजित करने की लिए ऐसी बातें कर रही थी।ऐसी उत्तेजित बातें करते समय मेरी खुद की चूत में रस निकलने लगा था।आप सब इस कहानी के बारे में अपने ख्यालात इस कहानी के सम्पादक की ईमेल तक भेज सकते हैं।अभी वाकिया बदस्तूर है।[emailprotected]. जंग की तैयारी हो गई क्या?मैंने देखा कि तृषा के मुझे देखते ही उसकी आँखों से आंसू बहने लगे थे, वो बोली- भाभी आप सबको थोड़ी देर के लिए बाहर ले जाईए।सबके बाहर जाते ही उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और बहुत जोर-जोर से रोने लगी।मुझे ऐसा लगा कि जैसे इतने दिनों से उसने जो दर्द अपने अन्दर भरा हुआ था.