बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी

छवि स्रोत,तुर्की की ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ देहाती बीएफ वीडियो: बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी, उस समय मेरी उम्र बिन्दू जितनी होगी अर्थात मेरे शरीर में बदलाव आ चुके थे, मेरी चूत कुलबुलाने लग चुकी थी, लेकिन दुनियादारी की समझ नहीं थी.

सेक्सी वीडियो चड्डी वाली

वो बोली- क्या मतलब?हंसते हुए मैंने कहा- कुछ नहीं, आज का खाना तुम बनाओगी. देसी chut chatnaवो मेरे लण्ड को सहलाते हुए बोली- आज का क्या प्लान है, आज क्या नया करोगे डार्लिंग?उसके इस अंदाज से मेरे पूरे शरीर में करंट दौड़ गया.

बोलो चोदोगे ना अपनी रानी को? आह … आह … मैं गई … आ … आ … आई … ईई ईईईई. नगी लडकी के फोटोमैंने बोला- अब मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर सही से सेट कर लो.

ये सुनकर भाभी ने अपनी एक चूची शालिनी के मुँह में डाल दी कर बैठ गईं.बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी: मैंने उस गर्म भाभी की फुद्दी को कैसे चोदा?अब आगे की भाभीजी की चूत चुदाई कहानी:मैंने सरोज भाभी के टॉप को ऊपर सरकाया और उनके मम्मों को सहलाने लगा.

कुछ पल बाद मैंने लंड बाहर खींचा, तो वो जैसे ही वीर्य थूकने जा रही थी, मैंने उसको पकड़ लिया.आज सिर्फ एक ही बुड्ढा है।रिया- ओके, कितने बजे पहुंचना है?रत्न- उसी टाइम पर।रिया- ठीक है पहुँच जाऊंगी, उसको तैयार रहने को बोलना।रत्न- अरे उसकी बात सुन कर तैयार तो मैं भी बैठा हूँ.

जेठालाल बबीता xxx - बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी

उन्होंने मुझे इसलिए फोन किया था क्योंकि अंकल की बेटी का फोन स्विच ऑफ आ रहा था.और उसने अपना हाथ मेरे अंडरवियर पर रख कर मेरे लंड को डरते डरते पकड़ लिया.

गर्मी के कारण मैंने अपना पलंग पंखे के नीचे खिसका लिया, जिससे मेरे और नीरजा के बीच दूरी खत्म हो गई. बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी फिर एक जोरदार धक्के के साथ रमेश ने पूरा लंड अपनी बीवी की चूत में घुसा दिया.

और ये बात मैं उस लड़के के पास जाकर कर रही थी जिससे उसे सब ठीक से सुनाई दे सके.

बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी?

आकाश ने जैसे ही सर नीचे किया, नैन्सी ने अपने होंठ उसके होंठों पर लगा दिए. अब गीत ने मेरा लंड छोड़ कर संजय का लौड़ा पकड़ लिया और नेहा उठ कर घूमी और मेरी तरफ़ आ गयी. मैंने स्माइल के साथ और काम पूछा, पर उन्होंने मुझे तैयार होने भेज दिया.

भाभी ने इस पर कुछ नहीं कहा और मुस्कुराते हुए किचन में काम करने लगीं. मैं आपकी आशना … मेरी पिछली कहानीटीचर से सेक्स मार्क्स के चक्कर मेंआपने पढ़ी और पसंद की थी. उसने लंड को एक दो बार हाथ से सहलाया और फिर अपने मुंह में लेकर उसको चूसने लगी.

और शो रूम वाले को गवाही के लिए कहा- है ना भैया?पर वो तैयार नहीं था, उसने बक दिया- नहीं मैम, सिर्फ दस परसेंट ही छूट मिलेगी. मैंने उसके दोनों उरोजों को दोनों हाथों से दबाना और सहलाना शुरू कर दिया. रात भर भीगने के कारण और बाइक ड्राइव करने से पैर जैसे मन मन भर के भारी हो रहे थे.

अभी हम लोगों को स्कूल तक पहुंचने में आधा घंटा लगना था, तो हम दोनों वहां से निकल गए. मैं- कभी किसी से चुदी हो इससे पहले?गुंजन- नहीं।मैं- तो फिर ऐसे चुदवाते हैं क्या? ये तरीका था चुदवाने का ऐसे खुले में और वो भी इस तरह खड़े होकर?अगर इस तरह से चुदवाती तो फट जाती तुम्हारी वहीं पर। ढेर सारा खून निकलता.

मैं तो कभी भी उनके होते हुए आपको ना तो मैसेज करूंगा और ना ही मिलूंगा.

मैं अपने भाई से बोली- तू बहनचोद अपनी बहन को चुदते देखना चाहता था ना … तो अब देख भोसड़ी के.

वह मुझे बोली- क्या तुम मेरा मजाक उड़ा रहे हो? अगर ऐसा होता, तो आज तक मेरी शादी न हो गई होती?मैंने कहा कि शायद देखने वालों की आंखों में कुछ कमी रही होगी. राजेश नहाने गया और अंदर से ही शीला को आवाज दी- मेरा टॉवल बाहर रह गया है, वो दे दो. भाभी के अच्छे गोल चूतड़ और सुंदर मोटी फांकों में पीछे की तरफ चूत को मैंने उंगली और अंगूठे से खोला और छेद के ऊपर लण्ड का सुपारा लगाया और धीरे धीरे लण्ड अंदर किया.

दोस्तो, मजा आ रहा है ना हॉट बेडरूम सेक्स स्टोरी में? कमेंट्स करते रहें. रवि भी रिया के सिर को पकड़ कर प्रेशर के साथ उसके मुंह में अपना लंड घुसाए हुए था. मेरे हाथ उसकी पीठ और कमर को सहला रहे थे और हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों में जैसे सिल गये.

उसमें लिखा था- मैं और वैभव चाहते हैं कि तुम पार्टी वाले दिन के तीन दिन पहले ही आ जाओ, तुम्हें कोई परेशानी तो नहीं?मैंने कहा- मैं घर पर बात करके देखता हूँ।खुशी ने कहा- क्या यार, तुम अब भाव खा रहे हो.

मैं बोला- घबराओ मत, आज तुम्हें जीजा साली सेक्स का असली मजा दूंगा मैं। फिलहाल तुम अपनी कुर्ती पहन लो वरना कोई आ गया तो मुसीबत हो जायेगी. मैं उसे चूमते चाटते उसकी चूत तक पहुंच गया, फिर उसकी चूत को जीभ से रगड़ने लगा. फिर उससे अलग होकर किनारे बैठ गया और रमेश से बोला- गुड मॉर्निंग यार, तू कब से उठा हुआ है?रमेश- बस तभी से जब तू इस रंडी के जिस्म से लिपट कर सोया हुआ था।रवि रिया की गांड को सहलाते हुए बोला- लिपटूं क्यों ना … साली चीज़ ही ऐसी है … क्या माल है ये! मगर देखने से यह किसी ख़ानदानी परिवार की लगती है।रवि की बात पर रमेश मुस्करा दिया.

मैं जोर से अपने बूब्स दबाने लगी और आखिरकार मेरा पानी उसके मुंह में निकल गया. मैंने धीरे से उसके गालों को चूमते हुए उसके स्तनों को धीरे से एक साथ में जैसे ही मसला वैसे ही उसने अपने होंठों को खोल दिया. मैं और प्रीति ऊँट को लेकर रेगिस्तान के ऊबड़ खाबड़ रेत के टीलों पर घूमने के निकल पड़े.

धत्त, मुझे बहुत शर्म आएगी आपके नीचे लेटने में, मैं ना लेटती, रहने दो आप तो!” साली जी ने नखरे दिखाये.

नारी के पास पुरुष की आंखें और बॉडी लैंग्वेज समझने का विशेष गुण होता है. कहानी में यह भी बताया गया था कि बेबी रानी की एक सहेली और लेस्बो पार्टनर गुड्डी भी उसके साथ आयी थी.

बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी अब राह चलते लड़कों की नजर से सुन कि वो तुझे देख कर क्या बोलते होंगे- वाह… क्या माल जा रही है यार! देख तो एक बार… क्या मस्त पीस है!दिया- तो लड़के मुझे माल बोलते हैं?मैं- हां, इतना ही नहीं, वो बोलते हैं ‘देख क्या मस्त हैं इसके. मैं बोला- अच्छा अच्छा झगड़ो नहीं रानियों … मैं टॉस कर लूंगा … जो टॉस जीत गयी वो पहले चुदेगी … ठीक ना?ग़नीमत है कि यह बात दोनों ने बिना ज़्यादा बात बढ़ाये मान ली.

बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी अब उसको अच्छा लगने लगा और वो अपनी गांड उछाल-उछाल कर लंड को चूत में अपने अन्दर लेने लगी और जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्हह … अजय … क्या लंड है तुम्हारा! आह्ह … तुम तो सच में कमाल हो … अच्छी मेहमाननवाजी है … आह्ह चोदो … यार … और जोर से चोदो … आईई … आह्ह और तेज।मैंने धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ाते हुए अब जोर-जोर से उसकी चूत में लंड अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया. मैं अपने दूसरे हाथ से भाभी जी की चुत में उंगली करने लगा और भाभी जी को मस्त करने लगा.

मेरा लंड तो पैंट के अन्दर बहुत टाइट हो गया था और इस बात को प्रीति ने भी नोटिस कर लिया था.

এক্স এক্স ভিডিও পিকচার

रवि इसी लफड़े से बचने के लिए तो इस शौक को छोड़ चुका था, आज फिर फंस गया. हमारे साथ तो तुम्हारा पुराना नाता है और फिर एक बार चूची चुसवा लेने से तुम्हारा कुछ घिस थोड़े जायेगा. इस सीन को देख कर मैंने कंट्रोल खो दिया और मेरा माल वहीं पर छूट गया.

इस समय नहाने के बारे में सोचने की एक वजह और भी थी, ये बात आप भी ध्यान में रखें, तो अच्छा है. ऐसे ही स्क्रॉल करते हुए मुझे एक सेक्सी वेबकैम मॉडल अस्मि की प्रोफाइल दिखी. जब मैं दोपहर के वक्त अपनी सौतेली बेटी के घर आने का इंतजार कर रहा था.

हल्की ठंड की वजह से मैंने यलो कलर का हाफ स्वेटर डाल रखा था, व्हाइट सॉक्स और ब्राऊन शूज में मॉडलों जैसी संयमित चाल, मेरे व्यक्तित्व को निखार रही थी।मैंने गहरे रंग का चश्मा सफर के धूल-धूप से बचने के लिए पहन रखा था.

बर्तन साफ़ करके वो मेरे पास सोफे पर आकर बैठ गईं और मुस्कुराते हुए कहने लगीं- कैसा लगता है वेट करना? वैसे संजय तुम में बहुत धैर्य है यार. सेक्सी लड़की को ताड़ कर मजे लेने के चक्कर में मैं भी 2-3 दिन में ही वहां शिफ्ट हो गया. गुंजन को अपनी जांघों की ओर घुमाया और फिर उसकी चूत में लंड लगाकर उसे अपने से चिपका लिया.

ये बात आज से 5 साल पहले की है, जब मुझे पढ़ाई के लिए पंजाब भेज दिया गया. मैं उसको लिप किस करता रहा और अब उसके होंठ भी मेरे होंठों को चूसने लगे थे. जैसे ही मैंने मुट्ठी भींची, ब्रा का हुक टूट कर अलग हो गया और चुचे पके हुए आम जैसे आज़ाद हो गए.

”मैंने तुरंत कहा- जो हुक्म मेमसाब … कहिये इस दास के लिए क्या आर्डर है?पिंकी खुश हो गयी- मतलब तू सब शर्तें मानता है न?मैंने कहा- जी हाँ मेमसाब. दोस्तो, आपको मेरी जीजा साली Xxx स्टोरी कैसी लगी मुझे अपने कमेंट्स के द्वारा जरूर बतायें.

मैं रण्डी हूँ तुम्हारी।हम दोनों अब क्लाइमेक्स पर पहुँचने ही वाले थे. कामसूत्र की ढेर सारी कलाएं सीखी और देखा कि राजेश ने कैसे एक झटके में अपना सारा माल वहीं बेड पर रखे एक तौलिये में गिरा दिया. मैंने उसके मुंह को हाथ से भींच लिया और उसकी दूसरे हाथ से उसकी चूचियों का मर्दन करने लगा.

ऐसा नहीं था कि सिर्फ मैं ही पागल हो रहा था … भाभी का भी यही हाल था, वे भी मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर अपनी अन्तर्वासना ठंडी करना चाहती थी.

मैंने आहिस्ता से उसकी गांड पर कौड़ा फिराया और फिर एकदम से उसकी गांड पर एक जोर का प्रहार कर दिया. मुझसे रहा नहीं गया और उसी टाइम मैंने मुठ मार ली, जिससे मुझे कुछ शांति मिली. फ्री कामुकता सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी कमसिन कामवाली को तोहफे देकर लुभा रहा था.

उसका गोरा बदन सांचे में ढला हुआ सा प्रतीत हो रहा था, अंग-अग में चिकनाई थी, रोम-रोम से मादकता टपक रही थी और उसके चेहरे को प्रेम और वासना की मिश्रित कांति चमक रही थी. हम दोनों की उत्तेजना अपने चरम पर थी।हमारे गीले बदन आपस में रगड़ कर मानो पानी में आग लगा रहे थे.

’ करके आवाज निकाली और अपने कंधों पर ही उसके हाथ को पकड़ कर मसलने लगा. उसने मुझे जल्दी से नंगा कर दिया और मुझे अपने ऊपर लेकर मेरे होंठों को पीने लगी. फोन रख कर उस ब्यूटीफुल कॉलेज गर्ल ने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

एक्स एक्स एक्स गर्ल वीडियो

जिससे मेरी ‘आआह्ह्ह ह्ह्ह्ह’ चीख निकल गयी क्यूंकि मैं बहुत दिनों बाद चूत चुदवा रही थी.

कुछ ही देर के बाद मैं बर्दाश्त करने की हालत में नहीं रही और मेरी चूत एकदम से झड़ने लगी. मैंने मां से पूछा- किसका फोन था अदिति?मां ने कहा- तेरे पिताजी का था. मामी मस्ती में धकापेल करते हुए बोलीं- हां तेरा मामा साला गांडू … उस मादरचोद का तो खड़ा ही नहीं होता … मुझे उसने दो सालों से नहीं चोदा है … तो खून तो निकलेगा ही ना.

मैंने कहा- हाँ भाभी, वो मुझे कल नींद नहीं आ रही थी तो मैं टहल रहा था. [emailprotected]भतीजी सेक्स की कहानी का अगला भाग:अतृप्त भतीजी और उसकी मौसी सास की चुदाई- 2. गैलरी पे चलाएफिर मेरी फ्लाइट थी, तो मैं उनका पुणे का नंबर और एड्रेस लेकर दिल्ली के लिए चल दिया.

मैंने दोनों हाथों में मनजीत की चूचियां पकड़ लीं और फुल स्पीड से उसकी गांड मारने लगा. सुमीना को मैंने व्हाट्सएप मैसेज किया कि थोड़ी देर में शिवानी भाभी तुमको लेने के लिए आ रही है.

उसके बाद हम दोनों गाड़ी लेकर फ्लैट के लिए निकल गये और रास्ते में हमने गंदे सेक्स का मजा लेने के लिए कुछ चीजें भी ले लीं. तो मैंने धीरे-धीरे से पैंटी के कपड़े को तान तान कर एक जोर के झटके के साथ उसे भी फाड़ दिया. वो मुझे इतना चूस रहे थे कि मैं उनके बीच में मछली की तरह तड़प रही थी.

[emailprotected]इंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई कहानी का अगला भाग:इंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई का मौका-2. नहाते हुए मैंने अपने लंड को देखा और उसे हिलाते हुए कहा- खुश हो जा भाई, तेरी किस्मत में साफ़ सुथरी, सुंदर और गजब की सिंगल हैंडड चूत लिखी है. तो भाभी जी ने हंस कर पूछा- नम्बर किस लिए चाहिए?मैंने कहा- आपसे बात करनी है.

मैंने भाभी से कहा- भाभी मैं यह सामान अपने कमरे में रख दूँ?भाभी बोली- रख दो, लेकिन आज तो तुम यहाँ ड्राइंगरूम में दीवान पर ही सो जाना, कल सुबह कमरा तैयार करवा दूंगी, अभी तो बच्चों की बुक्स वगैरह होंगी.

इस ज्यादा मत छेड़ो, पति ने खुद धंधे पर बिठा दिया होगा और जमकर दलाली खाई होगी. वो जान बूझकर अपने चुचे और चूतड़ को हिला कर रिझा रही थीं … ऐसा लग रहा था, जैसे भाभी मुझे दीवाना बना रही हों.

मैंने उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही चूमना और हल्के से काटना शुरू कर दिया. लेकिन मैंने हमेशा इसे नजरअंदाज किया और निष्ठा से एकांत में मिलने से भी बचता रहा. बड़ों की प्रस्तुतियों के बाद आंचल ने अपनी प्रस्तुति दी, उसकी मनमोहक अदा और सादगी भरे खूबसूरत चेहरे पर नजर ऐसे अटकी, मानो समय स्थिर हो गया हो.

मैंने सोचा कि मैं अपने और नैना के बीच हुए सेक्स का एक और किस्सा आप सबको बताऊं. नेहा लंड चाटते हुए नीचे जाकर मेरी गोलियों तक पहुंच जाती और उसे भी चूस चाट रही थी. जो लोग स्टीव को नहीं जानते वो मेरी कहानीचूत की ऐसी भयानक चुदाई सोची न थीके सारे भाग पढ़ सकते हैं.

बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी कैसे?लीजिये आप भी सेक्सी रंडी की चुदाई कहानी पढ़िए और मेरे नाम से अपना लंड हिलाइए. सच कहूं तो दोस्तो, एक बार तो मन किया कि प्रीति को वहीं पटक कर चोद दूं लेकिन मैं अपनी भावनाओं पर कंट्रोल किये हुए था.

देसी बीएफ वीडियो में

विक्की मेरी जांघों के बीच वाले हिस्से में आया और उसने मेरी पैंटी को खींच कर उतार दिया. भाभी ने मुझे छोड़ा और बोली- सुबह के तीन बज गए हैं, अब थोड़ा सो लेते हैं, मैं अपने बेडरूम में जा रही हूँ, नेहा हर रोज छः बजे उठकर अपने लिए चाय बनाती है. उसने मुझे दिल्ली सेक्स चैट के बारे में बताया जिसमेंलाइव वीडियो सेक्स चैट सेशनहोते हैं.

वो फिर से झड़ने लगी थी और ढेर सारा पानी अपनी चूत से निकाल कर शांत हो गई. आज रजनी दूसरी बार सेक्स कर रही थी और वह भी बहुत दिनों के बाद। आज भी उसकी चूत बहुत टाइट थी। मैंने उसकी कमर पकड़ कर हाथों से उसे नीचे धकेला।मेरे मोटे लंड का टोपा उसकी चूत में घुसा तो वो एकदम से उचक गयी. ब्लूटूथ सेक्सी चाहिएमैं यह सब कुछ बताना नहीं चाहता था और आज तक किसी रानी को बताया भी नहीं, लेकिन गुड्डी रानी की ज़िद ने मजबूर कर दिया.

ननद इसके लिए तैयार नहीं थी, वो लंड लेते ही उचक गयी और बोली- आह साले … चूत की चुदाई कर … इसकी मां मत चोद.

भाभी एकदम उठी और मुझसे बोली- चलो मेरी तो किस्मत ही ऐसी है, पर तुम्हारा तो हो ही गया. मेरी पहले की सारी कहानियां पढ़ पढ़ कर जिसे जो मिला, जिसका मिला वही घुसा लिया.

’मीता के झटके तेज होते गए, वो पागलों के तरह मेरे निप्पल नोंचने लगी. भाभी जोर जोर से आवाज करने लगीं- आहहह जान … कितना मस्त चूसते हो … आह और जोर से चूसो मेरी जान … उम्मम और जोर से. तभी प्रिंसीपल सर ने मेरा हाथ पकड़ा और खड़े रहने का इशारा करके फोन पर बात खत्म करने लगे.

उनकी सहमति मिलते ही मैं तो मानो चूत पर पिल पड़ा … फिर एक जोर के झटके के साथ उनके अन्दर झड़ गया और उनके ऊपर ही ढेर हो गया.

तब तक तुम भी सो जाओ, मैंने रात को ही नेहा को बोल दिया था कि वह हर रोज तुम्हें बेड टी दे दिया करेगी. नाखूनों पर लाल रंग की नेल पोलिश मेरे पहनावे के साथ मैच करके कहर बरपा रही थी. उसकी गांड के छेद में फंसा वो डिल्डो फिसल कर बाथरूम के फर्श पर गिर गया.

पहाड़ के पर्यायवाचीcom/koi-mil-gaya/bhabhi-sex-hindi-kahani/में पढ़ा था कि प्रीति मुझसे मिलने और राजस्थान घूमने के लिए दिल्ली से जैसलमेर आयी और मैं प्रीति को स्टेशन से होटल लेकर गया. गर्मी के कारण मैंने अपना पलंग पंखे के नीचे खिसका लिया, जिससे मेरे और नीरजा के बीच दूरी खत्म हो गई.

सेक्स भोजपुरी सेक्सी

मैंने लण्ड बाहर निकाल कर पैंटी को अपने लण्ड पर रगड़ा और उसे लण्ड पर लटका लिया. एक हाथ से प्रीति की पीठ को सहलाते हुए उसकी टीशर्ट को निकाल कर मैंने अलग कर दिया। फिर मैंने उसकी शॉर्ट्स का बटन खोल दिया और नीचे करने लगा तो प्रीति ने रेत के टीले पर मुझे धकेलते हुए पीठ के बल लेटा दिया और खुद मेरे ऊपर आ गई और मेरे होंठों को जोर जोर से चूसने लगी. शायद ये कुदरती असर था कि मैं अपने लंड पर हाथ का मजा बहुत ज्यादा महसूस कर रहा था.

मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और कहा- थोड़ी देर और रुक जाओ ना।वो हाथ छुड़ाने लगी लेकिन मैंने उसे खींच कर नीचे बिठा लिया. वहां जाकर हमने आराम किया और 4 बजे बाइक से जैसलमेर घूमने का प्लान किया. उसकी बात सुन कर संजय ने उसे हाथ से पकड़ कर बेड पर खीँच लिया और बोला- आ साली, पहले तेरी ही चूसता हूँ, ज्यादा गर्म है न तू? बहनचोद।ये बोलकर संजय ने उसको बेड पर लिटाया और उसकी दोनों टाँगें चौड़ी करके उसकी चूत के बीच अपनी जीभ रख दी.

उसकी तरफ मुंह करके गीत लेट गयी और उसकी गांड से गांड मिला कर नेहा लेटी थी. राजेश ने शीला को जाने को कह दिया और उसे 1000 रूपये अलग से दिए कि तुम्हें अपने लिए कोई कपड़ा लेना हो तो ले लेना. उधर दीपक आज तीसरी बार आएशा को पीछे से पेलते हुए रंजु की कठोर चूचियों को मसलने लगा था। एक दो बूँद वीर्य के आएशा के चूत से टपक कर रंजु की चेहरे पर गिर पड़ा तो वह घिन से बिलबिलाती रही।मेरी नज़र सामने आएशा के दोनों उठे हुए गोल नितम्बों पर थी.

अब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागभाई और आशिक ने की 3 सम चुदाई-1में पढ़ा था कि मेरा भाई और राजीव दोनों ने मुझे छत पर एक साथ चोदने का प्लान बना लिया था. मेरे हाथ पैरों की मालिश करके आपने मुझे बहुत राहत दी है पर उसी का साइड इफ़ेक्ट ये हुआ कि ये लिंगदेव उत्तेजित हो कर खड़े हो गए.

मैंने बाथरूम में जाकर पेशाब किया और अंडरवियर वहीं निकाल कर पानी में भिगो दिया.

कई बार जब अनिल मनोचा पीकर सोफे से उठ नहीं पाते तो नैन्सी आकाश को ही फोन करके बुलाती थी, और इसके लिए उसने चुपके से जीने की एक डुप्लिकेट चाभी उसे दे रखी थी. लड़कियां हस्तमैथुनलंड थोड़ी मुश्किल के बाद गांड में घुस चुका था जिससे मुझे अब तकलीफ होने लगी थी. चाय पर मारवाड़ी कविताउसने उसे वहां बिछा दी और बोला- भैया बैठो … आप थक गए हो, थोड़ा लेट लो. कविता ने अब आयल सीधा रवीना के मम्मों पर उड़ेल दिया और मम्मों से लेकर उसके पेट पर हाथ फहराते हुए वो सीधे अपनी हथेलियाँ रवीना की चूत में ले गयी.

कोमल ने जिया को बेड पर लेटा दिया और मेरी और देखकर जिया को किस करने लगी.

मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा।मैं आगे और भी कहानी लिखने वाला हूँ अगर आप लोग कहेंगे तो!मेरी भाभी जी बहुत प्यारी हैं और मैं भी बहुत प्रेम करता हूँ।आई लव यू दीपा भाभी जी, ऐसी भाभी सबको मिलें।[emailprotected]. कहानी अगले भाग में जारी है। आप कहानी पर कमेंट करके बतायें कि कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग कर सकते हैं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:रिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-2. अब रमेश ने मेरे हाथों को छोड़ दिया था और मैंने कमलनाथ को अपने ऊपर खींच कर उसको जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसके चूतड़ों पर अपनी टांगें लपेट कर चुदने लगी.

इस गाली पर वो मेरे सीने पर जोर से नोंचते हुए बोली- बहुत गंदे हो तुम … हम दोनों बहनों को चोद कर मन नहीं भरा जो मेरी माँ भी चोदोगे?इस पर हम दोनों जोर से हँसे. मैंने भाभी की तरह से अपनी चूत को भाभी की चूत पर रगड़ रगड़ कर पटकना चालू किया और बीच बीच में अपनी एक उंगली उनकी चूत के अंदर चलाती रही. साली जी भी खूब मस्ता गयी और मेरे लंड से गांड लड़ाते हुए कमर नचाने लगी.

उघडा सेक्स

फिर अपने कपड़े उतारो फटाफट … करते हैं।उसने अपनी शर्ट के बटन खोलने शुरू किया और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए. उस दिन तो मैं अपने घर चली गई थी, लेकिन मुझे उनका लंड मिलना पक्का हो गया था. कुछ मिनट की लंड चुसाई के बाद जब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूं, तो मैंने उसके मुँह से लंड को बाहर निकाल लिया और उसे उठा कर बेड पर पटक दिया.

गांड मारने का जो सुख मेरी सगी बीवी ने मुझे कभी नहीं दिया था वही सुख उसकी छोटी सगी बहिन मुझे दे रही थी.

अपने हाथ उसकी छाती पर ले गया और धीरे से टीशर्ट के ऊपर से ही उसके बूब्स दबा दिए.

भाभी के साथ मस्ती की कहानी का पिछला भाग:ऐसी प्यारी भाभी सबको मिले-1दोस्तो, एक बार मैं गर्मियों में रात को देर से सोया था तो सुबह जल्दी नहीं उठ पाया तो भाभी मुझे उठाने के लिए मेरे कमरे में आ गयी. शाम को आते, हम दोनों मिल कर खाना बनाते, क्योंकि शाही सर खाना बहुत अच्छा बनाते हैं. साडी वाली सेक्स व्हिडीओदोस्तो, मैं आपको कैसे लिख कर बताऊं … बस उस आनन्द को सिर्फ महसूस ही किया जा सकता था.

पहले भाग का लिंक ऊपर दे रहा हूँ, चाहें तो एक बार उसे फिर से पढ़ सकते हैं. अब जब से मैं सुबह की वंदना में हारमोनियम बजाने लगी थी, तब से मेरे प्रिंसीपल और बाकी स्टाफ की भी नज़रें मुझ पर टिक गई थीं. मैं जॉकी का फ्रेंची अंडरवियर पहनता हूँ तो उसमें लिंग अलग ही पता चल जाता है जो लोग पहनते हैं, वो समझ गये होंगे.

तो आकाश दो-तीन दिन नीचे उनके ड्राइंग रूम में सो जाया करे!तो आज रात को रवि ऊपर अकेला ही रहेगा. अब इसके बाद की जीजा साली सेक्स कहानी मैं फिर कभी सुनाऊंगा कि मैंने अपनी साली की चुदाई में और क्या क्या मजा किया?इस जीजा साली सेक्स कहानी पर आप अपनी राय देना न भूलें.

हम दोनों थोड़ी देर यूं नंगे लेटे हुए एक दूसरे को सहलाते रहे और बात करते रहे.

वर्जिन लड़की की सेक्सी चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मेरी मित्रता एक कुंवारी लड़की से हुई. फिर मैंने उसके दोनों चूतड़ अपने दोनों हाथों से फैलाए और धीरे धीरे लंड घुसा दिया,वह आआ करने लगा. फिर हमने मस्ती शुरू की। मैंने उसे अपनी गोद में बिठा कर उसकी कमर और स्तनों को धीरे धीरे कपड़ों के ऊपर से ही सहलाते हुए उसके फूले फूले गालों को अच्छे से चूमा और धीरे धीरे अपने दाँतों से काटा.

इंग्लैंड पोर्न वीडियो मैंने अपने दोनों हाथ उसकी कमीज में डाल दिए और अपने हाथों से उसकी पीठ को सहलाने लगा. भाभी एकदम मेरी तरफ सीधा हुई और अपनी चुचियों को मेरी छाती में गड़ाती हुई मुझसे लिपट गई.

मैंने खुश होकर उसकी चूत चूम ली तो निष्ठा ने भी अपने घुटने मोड़ कर ऊपर कर लिए और अपनी चूत को अपने हाथों से खोल दिया. अब दोनों मर्द अपने हाथों से अपने लंड की मुठ मारने लगे और जोर जोर से लौड़ों को रगड़ने लगे. इस तरह पहली बार टीचर ने चोदा मुझे होटल के कमरे में!कुछ देर बाद सर ने फोन पर कुछ खाने का आर्डर किया और वो बाथरूम में चले गए.

बुर चुदाई बीएफ

लेकिन सूट फिटिंग का था तो अंदर से दबाना मुश्किल था तो उसने मेरा कमीज ऊपर कर दिया. मैंने दादी से पूछा- दादी ये क्या कर रहा है?दादी- बेटी ये इसे प्यार कर रहा है. मैंने उनको अपनी बांहों में जकड़ते हुए अपने में समाने की कोशिश की तो मेरे लंड खड़ा होकर उनकी कमर से लड़ने लगा.

मेरा हाथ आराम से उसकी चुत तक चला जाए, इसके लिए अनीता ने पेट दबा कर हाथ अन्दर करवा लिया था. जैसे ही लण्ड बाहर निकला तो भैंस की चूत से थोड़ा तरल पदार्थ बाहर निकला.

विश्वामित्र जैसे ऋषि मुनि, बड़े बड़े राजनेता, साधू महात्मा सब के सब अपना तप, अपना मानसम्मान अपनी पद प्रतिष्ठा इस परनारी की चूत के आगे दांव पर लगा कर नतमस्तक हुए हैं.

और उसकी चूत से निकला शगुन रूपी खून यह बता रहा था कि वो अब कली से फूल बन चुकी है।मैं कुछ देर ऐसे ही रुका रहा. तभी चाचा ने हमारा कुर्ता निकाल दिया और हमारी चूचियां चूसते हुए हमारी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगे. मैं यह सब कुछ बताना नहीं चाहता था और आज तक किसी रानी को बताया भी नहीं, लेकिन गुड्डी रानी की ज़िद ने मजबूर कर दिया.

इसके अलावा कहानी के बारे में कुछ विशेष राय साझा करना चाहते हैं तो भी आपका स्वागत है. फिर मैंने उसे कुछ पल फ्रेंच किस किया। उसके बाद मैंने उसको अपने से अलग किया और उससे कहा कि अब मेरे लंड की सवारी करने के लिए तैयार हो जाओ. मुझे ये बड़ा अजीब लग रहा था कि ऐसे कैसे हुआ … लंड मामी की गांड में क्यों नहीं जा पा रहा था.

बेबी रानी ने कहा- मैं नहीं मानती … पिस इज़ पिस … तू कैसे बता सकता कौनसा अमृत किसने निकाला … हम दोनों की चूचियों का साइज अलग अलग है इसलिए चूची तो तू कुत्ते तू हाथ से फील करके बता देगा.

बीएफ पिक्चर हिंदी भोजपुरी: रिया- अच्छा, कैसे भला?रवि- क्योंकि रमेश को रंडियों की ब्रा और पैंटी कलेक्ट करने का शौक है. भगवान का शुक्रिया तो इसलिए कि उन्होंने इस करिश्मे को मेरे लिए धरती पर भेजा और प्रीति का शुक्रिया इसलिए कि वो खुद चलकर मेरे पास आयी.

उसकी आंखों के सामने रवि के चेहरे पर रिया को देख कर नाचती वो हवस बार बार सामने आ रही थी कि कैसे रवि उसकी बेटी की चूत और गांड को चोद रहा था. ऐसा नहीं कि मैंने तुम्हें कभी नोटिस नहीं किया लेकिन मैं आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं कर पाई. मतलब तो समझ गए न … मेरी भोसड़ी पसंद करने वालों … मैं अपना खुद का रंडीखाना खोल लूंगी.

निष्ठा ने आंखें खोल कर मुझे असमंजस भरी निगाहों से देखा और फिर थोड़ा सा पीछे खिसक कर अपने दोनों पैरों के तलुओं में मेरा लंड दबा लिया और अपने पैर ऊपर नीचे करते हुए लंड का पग-मैथुन करने लगी.

और तभी अचानक से सामने एक पत्थर था जो मैंने देखा नहीं और उस पे टायर को चढ़ा दिया जिससे हम दोनों उछल गये और उसने अपने हाथों में मेरे बूब्स को थाम लिया।अब गाड़ी मैंने रोक दी तो उसने तुरंत हाथ हटा लिया और फिर से मुझसे चलने को बोला. तभी भैंसा फिर कूदा और अबकी बार उसने फिर से अपना लण्ड भैंस की चूत में घुसेड़ दिया और एक दो बार आगे पीछे हो कर नीचे उतर गया और उसी तरह से भैंस की चूत से लण्ड के साथ ढेर सारा पानी निकला और भैंस ने फिर पिशाब किया. अभी तक मैंने शर्मिष्ठा को या अपने बेटे को भी नहीं देखा था; इन्हीं सब चिंताओं में डूबा हुआ मुझे कब पुनः नींद आ गयी पता ही नहीं चला.