fm रेडियो बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,फ्री x.com

तस्वीर का शीर्षक ,

सीआईडी के सेक्सी: fm रेडियो बीएफ सेक्सी, मैं अपने घर पर अकेला था लेकिन क्षिति मुझसे अकेली मिलने नहीं आ सकती थी.

आदिवासी स्टेटस इन हिंदी

फिर मैं उठा और मैंने अपना लंड उसकी चुत से निकाला, तो उसकी चुत से खून निकल रहा था. पाकिस्तान की ब्लू पिक्चरपांच मिनट बाद मैंने उन्हें पकड़ कर बेड पर धक्का देकर सीधा लेटा दिया और उनके ऊपर चढ़कर अपना लंड डाल दिया.

मॉम की गांड तो इतनी मस्त है कि किसी भी व्यक्ति का लंड एक झटके में खड़ा न हो जाए तो मेरा नाम बदल देना. माहवारी videoविशाल ने उससे कहा- मेरी जान इसके बदले में मुझे क्या देगी?तो आपा ने कातिलाना हंसी हंसते हुए कहा- जो तुम्हें चाहिए, वह दे दूंगी,यह सुनकर विशाल ने कहा- मेरी जान, तेरी चूत मारने का बहुत मन कर रहा है.

उसने अचानक मुझसे पूछा- क्या सोच रहे हो?मैंने कहा- मस्त चूस रही हो, जैसे पता नहीं कितनी प्यासी हो.fm रेडियो बीएफ सेक्सी: नॉर्मली अम्मी के चूतड़ जितने दिखते थे, अभी टांग लपेट कर लेटने के कारण करीब 4 इंच और बड़े से देख रहे थे.

अम्मी ने आपा को बोला- नसरीन बेटा, तुम वहां अकेली कैसे रहोगी? वहां तुम्हारा ध्यान कौन रखेगा?फिर अम्मी ने कहा- सलीम, तुम भी अपना दाखिला दिल्ली के किसी कॉलेज में ले लो.बहन अपने चचेरे भाई के प्यार में डूब रही थी और उसकी सहेली की चूत भी मचल रही थी। ये सब कैसे हुआ, स्टोरी में पढ़ें।यह कहानी सुनकर आनन्द लें.

वॉलपेपर वीडियो - fm रेडियो बीएफ सेक्सी

मैंने सीधे उन्हें कार्ड दे दिया और बताया कि किसके यहां का कार्ड है और मैं क्यों देने आया हूँ.अब पंकज आपा के जिस्म को ताड़े जा रहा था और अपने होंठों पर अपनी जीभ चला रहा था.

अब मैंने पूर्णिमा जी को घर के अन्दर खींचकर दरवाज़ा बंद कर अन्दर से सांकल लगा दी. fm रेडियो बीएफ सेक्सी मैंने उसे गर्म करना शुरू कर दिया था कि अब तुम अपने रिजर्व आईटम के साथ जो करती हो, वो तो मुझे बता दिया करो … तुम्हारा ये वेटिंग टिकट वाला आशिक उसी से संतुष्ट हो जाएगा.

उसकी गांड का छेद काफी खुल गया था शायद उसे हल्का दर्द भी हो रहा था पर कुछ बोली नहीं.

fm रेडियो बीएफ सेक्सी?

मेरे प्यारे दोस्तो,कहानी के पिछले भागकालगर्ल ने मुझे चुदाई का पहला पाठ पढ़ायामें आपने पढ़ा कि मैंने पैसे उधार लेकर कालगर्ल को चोदा. मैंने उसके गालों पर हाथ फेरा, तो वो मेरे जिस्म से चिपक गई और अपने मम्मों को मेरे सीने से रगड़ने लगी. मैं तुम्हारे इस विशाल लंड को अपनी चूत में कब से लेना चाह रही हूं।मैंने उनकी चूत के छेद में लंड टिकाकर एक जोर का झटका दिया.

फिर वो अचानक से बोली- साहब मैं अभी आ जाऊं क्या?मैंने बोला- इतनी रात को?वो बोली- हां साहब. सास ने खाना लगा दिया और मुझसे बोलीं- आइए दामाद जी!मैं जाकर मेज के सामने कुर्सी पर बैठ गया. ये सुनकर जेठालाल की बोलती बंद हो गई … मगर बबीता ने ऊपर से अय्यर को कहा- क्या हुआ अय्यर, तुम जेठाजी से ऐसे बात कैसे कर सकते हो?इस पर अय्यर और भड़क उठा.

पर पहले ही रवि को बता दिया कि वो अब गर्भवती हो गयी है तो बस एक दो बार के बाद फिर संभाल कर करना होगा।अब मालविका की ज़िंदगी की सारी डोर उसके हाथ में थी. परंतु मुझे नींद कहां आनी थी, आप भी समझ सकते हैं, चुत सामने हो तो फिर तो सवाल ही नहीं बनता कि नींद आए. भाबी हंसी और बोलीं- कितना अन्दर तक देखा तुमने?मैंने कहा- भैया का जहां तक गया, वहां तक.

तुम्हें अगर सेक्स करना ही था तो कोई गर्लफ्रेंड बना लेते!मैंने कहा- आपा, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है और मुझसे कोई लड़की पटती भी नहीं है. आज मैं आपा को खड़े-खड़े चोदना चाहता था तो आपा ने मुझसे कहा- इतनी जल्दी क्या है, थोड़ा आराम से करते हैं.

पर तीन चार दिन बाद ही जब मैंने किस किया तो वह भी मेरे होंठ चूसने लगी.

करीब बीस मिनट तक नहाने के बाद मैंने नीचे से टॉवल से पानी को पौंछ कर साफ़ किया और ऊपर से अंकित ने उसे सुखा दिया.

अब मेरा मन अपनी तीसरी उंगली डालने को करने लगा तो मैंने तीसरी उंगली भी डाल दी. शाबाश … लगा धक्के पर धक्का मेरे लंड पर … दीपक … मेरे लंड से गांड मरवा ले आंह … और मेरी चूचियों और जिस्म का रस चूस ले!”दीपक को अब मेरे लंड से गांड मरवाने में मजा आने लगा था. जाकिरा एक सिगरेट सुलगा कर सामने सोफे पर नंगी बैठी थी और वो अपनी दोनों बेटियों सनोबर और फरहीन से अपनी चुत चूचियां चटवा कर मजा ले रही थी.

उसके शरीर के हर हिस्से को किस करने लगा और उसकी चुचियां दबाने लगा, उनको मुँह में लेकर चूसने लगा. ऑफिस Xxx चुदाई कहानी में पढ़ें कि गंदे पति से अलग होने के बाद मेरी सहेली ने मेरी जॉब लगवा दी. पहले भागअम्मी ने अब्बू से गांड मारने को कहामें आपने अब तक पढ़ा था कि मैंने अम्मी के रूम में झांका, तो हैरान हो गया था.

मेरा पूरा लंड उसकी चुत में घुस गया और वो बिन पानी की मछली के जैसे तड़फने लगी.

पूर्णिमा जी हल्की सी मुस्कान देती हुई बोलीं- आपका मन कर रहा है तो आप क्या समझते हैं कि मेरा मन भी कर रहा होगा?मैंने कहा- हां ये मुझे नहीं मालूम है पर तब भी मैंने कलावती जी के माध्यम से आपसे पूछा है. आपा मुझे बिल्कुल भी मना नहीं कर रही थी जैसे वह आज खुद ही चुदना चाहती थी. उस दिन दोपहर में मैं प्रिया भाभी को अपने लंड से धकापेल चोद रहा था तो शालिनी चुदाई की आवाज़ सुनकर बेडरूम में आ गई.

उसका लंड आपा की चूत में चला गया जिससे आपा की एक जोर की सिसकारी निकली … आपा ने जसवंत को अपनी बाँहों में जोर से जकड़ लिया और उसके हर धक्के का माकूल जवान देने लगी. धीरे-धीरे नहीं कर सकते थे क्या?मैंने आपा को सॉरी कहा और कहा- आप जैसीहसीन लड़की की चूत चुदाईपहली बार कर रहा हूं. मेरा मन नहीं था मगर मुझे उसका लंड छोड़ना पड़ा!फिर हम दोनों नंगे ही बिस्तर पर लेट गए.

फिर धीरे धीरे अय्यर अपनी ताकत और स्पीड दोनों बढ़ाने लगा और बबीता को जमकर चोदने लगा.

अब हम दोनों कपल की तरह घूमने लगे … मस्ती करने लगे और फोन पर बातें करने लगे. मैंने लंड सहलाते हुए उससे कहा- टेंशन मत लो जान … आज ये तुम्हारा ही है.

fm रेडियो बीएफ सेक्सी इतने में ही सुनीता की आंखें शर्म से लाल हो गईं, उसके हाथ थरथराने लगे, चेहरा लाल हो गया. अब मैं इस भाग में आपको बताऊंगा कि कैसे मैं और स्वाति पास आए और हम दोनों ने जम कर मजे लिए.

fm रेडियो बीएफ सेक्सी मैंने भाभी से उस दूसरी वाली चूत के विषय में पूछा तो भाभी बोलीं- इतने लालायित न हो देवर जी … मैं तुम्हें कल उससे मिलवा दूंगी. मुझे खुद भी बड़ा मस्त लग रहा था कि लोगमेरी मदमस्त जवानीको आंखों से चोद रहे हैं.

उसने अचानक मुझसे पूछा- क्या सोच रहे हो?मैंने कहा- मस्त चूस रही हो, जैसे पता नहीं कितनी प्यासी हो.

कानपुर सेक्स बीएफ

मैंने फिर से कहा- यार मामी, एक बार तो चूस दो … प्लीज़ मेरी बात नहीं मानोगी. टीचर पैदल ही थीं तो मैंने उनको मेरी बाईक पर बैठने को कहा- अरे वाह … ये तो अच्छा हुआ मुझे चलकर जाना नहीं पड़ेगा. फिर पति ने पूछा- कैसी लगी वीडियो?मैंने बोला- बहुत ही मस्त वीडियो थी.

मेरा लंड हानिया की गांड में घुसने को तैयार बैठा था तो मैंने फिर से उसकी ब्रा उतारनी चाही. मैं जैसे अन्दर गया, मुझे दरवाजे पर किसी लड़की की कच्छी टंगी हुई दिखी. जब सरकार ने लॉकडाउन लगाया, तब मेरी कजन सिस्टर की लड़की यानि मेरी भांजी अंजू अपने नाना यानि मेरे ताऊ जी के घर आई.

वहां से घर वापस आया, उस सारी रात गार्गी की गोलाइयां और चॉकलेटी निप्पल मेरे जेहन में नाचते रहे.

इसके साथ ही मेरे मालिक ने खुश होकर मुझे काफ़ी रुपए भी इनाम में दिए. उसे यूं देख कर मेरा हौसला पस्त हो गया कि अब भाभी कुछ ऐसा न कह दें, जिससे खेल बिगड़ जाए. वो हंस कर बोली- और मुझे सीलटूटा हुआ माल मिला है क्या?मैंने कहा- तुझे ही कुंवारा लौंडा ही मिला है … बस मैंने मुठ मारी है.

अम्मी कई बार दो लोगों को एक साथ लेकर आतीं और पूरी रात मस्ती से चुदवाने का मजा लेतीं. जिमी बोला- रजनी मुझे मज़ा आ गया … तुमको कैसा लगा?मैं बोली- मुझे भी बहुत मज़ा आया. लेकिन मेम की गांड बहुत टाईट थी, तो मुझे ओर ऋतु मेम को बहुत दर्द हुआ.

मैंने सोचा कि जब मम्मी घर चलेंगी, तो मैं उनसे पहले पहुंच जाऊंगा, खाली जो हूँ. अलगनी पर टंगी कच्छी और ब्रा से बूंद-बूंद पानी ऐसे टपक रहा था, जैसे मधुमक्खी के छत्ते से बूंद बूंद करके शहद टपक रहा हो.

एक दो बार हमने फोन पर थोड़ी बहुत रोमांटिक बातें की लेकिन ज़्यादा कुछ बात नहीं हुई. मीनू जैसी नारी के बदन की महक छुपाए नहीं छिप रही थी और मेरे लंड की अकड़न हाथ दबाए हुए भी नहीं दब रही थी. मैंने कहा- तेरे उस ब्वॉयफ्रेंड ने अपना लंड नहीं चुसवाया?वो बोली- नहीं यार … उस दिन हम दोनों सेफ जगह पर नहीं थे.

मेरे नीचे के होंठ को दांतों में भर कर तान सा लिया और अपने लंड पर लिक्विड चॉकलेट लगा कर उसे पूरी तरह से ढक दिया.

अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़कर मुझे भी अपने अनुभव सेक्स कहानियों के रूप में लिखने को हौसला हुआ. मुझे उसने अपना मोबाइल नम्बर दिया जो मैंने अपने मोबाइल में सेव कर लिया. जाते वक़्त उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अपने पास खींच कर मुझे जोर से किस करने लगी.

मैं अपने रूम के बाथरूम में होने की वजह से दरवाजा को बंद करने के बजाए सिर्फ़ भिड़ा कर नहाने लगी. मीना चाय बना रही थी, नहाकर आने की वजह से वो बहुत ही सेक्सी और सुंदर लग रही थी.

भैया ने भाभी की पैंटी के मध्य भाग में उनकी चूत के ऊपर अपने हाथ टिका दिया था. थोड़ी देर में ही मेरे लौड़े ने हल्की सी पिचकारी दे मारी जो संगीता मैम के चेहरे पर जा पड़ी. इसलिए हमने अपना एक अलग घर बसाया, जिसमें हम दोनों खुशी से अपना जीवन यापन करने लगे.

संगीता बीएफ

तो मैंने उसे जगाना ठीक नहीं समझा और सोने के लिए दूसरी जगह ढूंढने लगा.

और आज जब से तुम्हरी सेक्स की वीडियो देखी है, मैंने तभी सोच लिया था कि मैं अपनी ज़िन्दगी का पहला सेक्स किसी गुंडे के साथ नहीं करना चाहती. जाते जाते नसरीन आपा ने मुझसे कहा- उस कुत्ते जसवंत से वही कहना जो मैंने तुमसे कहा है. मैं उनके कमरे में गया, बाथरूम में जाकर देखा तो वहां मामी की लाल ब्रा पड़ी था.

मैं उसी के अनुसार कम्पनी के लिए ग्राहकों से चुदती थी और कम्पनी का फायदा करवाती थी. मैंने बिना समय गंवाए अपने कपड़े उतार दिए और भाभी के दोनों पैरों को अलग करके चुत को चूम लिया. मोटे होने के लिए क्या खायेंमैं उसी के मुँह में झड़ गया तो उसने एक भी बूँद भी खराब नहीं होने दी, पूरा वीर्य अपनी जीभ से चाट कर लंड को साफ कर दिया.

ब्रा उतरते ही नसरीन के गोल-गोल गुलाबी निप्पल के साथ बूब्स बाहर आ गए. क्या तुम मेरा बुखार उतार सकते हो?मैंने कहा- हां भाबी, आप कहें तो मैं आपका इलाज कर सकता हूँ.

रात में वह कुछ ज्यादा ही प्यासी हो गई थी तो वो मेरे लंड को सहलाने लगी. उनकी चुदाई की आवाजें कमरे के बाहर सबको सुनाई देती हैं लेकिन वो दोनों इस बात की जरा भी फ़िक्र नहीं करते हैं. एक महीने के बाद मेरे मामा के यहां उनकी बेटी की शादी थी … तो मैं, मम्मी और मेरी बहन उधर गए थे.

अब राहुल मेरी चूत चाट रहा था और मुझे राहुल का लंड चूसने में इतना मजा आ रहा था कि आप लोगों को बता नहीं सकती. उसने जो टाइट पजामी पहनी थी, उसमें से उसकी पैंटी की शेप साफ़ दिख रही थी. भाभी मेरा लंड मुँह से निकाल कर तेज तेज सांसें लेने लगी और मेरी तरफ देख कर स्माइल करने लगी.

मैंने भी मौके का फायदा उठाया और कहा- अरे ये दोनों तो बहुत आसान हैं, अगर तुम चाहो तो मैं तुम्हें सिखा सकता हूँ.

ये हॉट गर्ल सेक्सी स्टोरी तब की है, जब मैं अपने कालेज के अंतिम वर्ष में था. बीस मिनट बाद मैंने देखा कि मंजू भाबी कामुक आवाज में सिसकारियां ले रही थीं.

5 मिनट बाद ही वो झड़ने को हुआ मगर वो अपना लंड बाहर नहीं निकाल रहा था. मैंने देखा कि मेरी बीवी संजना, अब अमित की तरफ ज्यादा ही आकर्षित हो रही थी. मैं अपनी बहन और मम्मी के साथ जैसे ही वहां पहुंचा तो हमारा गर्मजोशी से स्वागत हुआ.

अनिकेत मुझे बिस्तर पर पटक कर मेरी गांड को उचका कर मेरी चूत में झटके दिए जा रहा था. भैया का पप्पू कुल मिलाकर बहुत ज्यादा बड़ा नहीं था पर फिर भी भाभी पर सेक्स का खुमार चढ़ा हुआ था. थोड़ी पीने के बाद जिमी मेरी सुंदरता और शरीर, स्तनों की तारीफ करने लगा.

fm रेडियो बीएफ सेक्सी भाभी- अभी नहीं है का क्या मतलब हुआ … क्या पहले थी?मैं बोला- हां पहले एक थी. अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़कर मुझे भी अपने अनुभव सेक्स कहानियों के रूप में लिखने को हौसला हुआ.

बीएफ सेक्सी 2019

मैंने उनकी आंखों के आंसू भी चाट लिए और प्यार से धीरे-धीरे उन्हें चोदने लगा. अंकित साइड में जाकर बैठ चुका था तो मुझे भी समझ आ गया था कि आज मेरी भट्टी अन्दर तक उधेड़ दी जाएगी. उसके बाद तो हम लोगों की चुदाई की गाड़ी चलती रही और हम लोगों ने सारी पोजिशन में सेक्स किया.

उसने भी अपनी टांगें खोल दी थीं और तकिया लगे होने के कारण उसकी चुत ऊपर को उठ कर लंड के इन्तजार में दिख रही थी. करीब एक घंटे तक मेम को चोदने के बाद मैं काफी थक चुका था और ऋतु मेम भी लस्त हो गई थीं. तृषा और मधु वायरल वीडियोचुत चाटने से मैं गर्म आहें भरने लगी … और पता नहीं क्या हुआ कि मैं भी उसका लंड चूसने लगी.

ये सुनते ही मैं सोचने लगा कि ये सब साले मेरी बहन की चूत गांड एक साथ मारने की ही बात कर रहे हैं … मैं भी देखता हूँ कि भैन के लंड कैसे कैसे मेरी बहन की गांड मारते हैं.

वकील ने वीडियो दिखाकर कहा- सोमवार की सुबह यह वीडियो अदालत को दिखाने के बाद सब साफ़ हो जाएगा. जैसे ही अब्बू ने अम्मी का दूध मुँह में लिया, अम्मी तुरंत उठकर अब्बू के ऊपर लेट गईं और उन्होंने अब्बू का सर पकड़ कर अपने दूध से चिपका लिया.

मैं अपने कपड़े पहन कर उठ गया और भाभी नंगी ही अपनी बेटी को दूध पिलाने लगीं. कुछ मिनट बाद जब वो झड़ने वाली थीं तो उन्होंने अपनी चुत को मेरे मुँह पर दबा दिया और मेरे बाल पकड़ लिए. उसकी आंखों में प्यास बढ़ती दिख रही थी तो मैंने उसकी टी-शर्ट को हटा दिया.

थोड़ी देर चूत मारने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया और मैं अपने लंड को उसकी गांड के छेद पर रखकर सहलाने लगा.

उसने अपनी जींस को अपने जिस्म से अलग कर दिया और अपनी टी-शर्ट भी उतार दी. दीपक मेरी बड़ी-बड़ी चूचियों को जोर-जोर से दबाते हुए मेरे गुलाबी होंठों को चूसने लगा. वो इंतजाम देख कर खुश हो गयी और मेरी तरफ देख कर बोली- जनाब तो सारा इंतजाम किए बैठे हैं.

करीना कपूरसेकसीमैंने उससे पूछा- पहले कभी ये सब किया है?तो उसने कहा- नहीं, आज पहली बार आपने ही मुझे छुआ है. शाम का धुंधलका भी जल्दी हो जाता था और देखते ही देखते रात होने लगती थी.

चूत चुदाई बीएफ चूत चुदाई

मुझे बहुत ही अच्छा लगा कि मेरे पति मेरे लिए कोई और मोटा लंड ढूँढ रहे हैं और उससे मेरी चुत चुदाई के लिए लालायित हैं. मैंने पकड़ कर उसे अपनी जांघों पर बिठाया, पर चूत में उंगली चलानी जारी रखी. फिर कुछ देर बाद मामा और मॉम का पानी निकल गया और दोनों एक दूसरे से लिपट कर थोड़े देर पड़े रहे.

मेरी इस हॉट सिस्टर सेक्स स्टोरी पर अपनी राय मुझे[emailprotected]पर बताएं. मैंने सोचा कि जब मम्मी घर चलेंगी, तो मैं उनसे पहले पहुंच जाऊंगा, खाली जो हूँ. पर विजय कुछ खास नहीं कर पा रहा था।मालविका को अपने कॉलेज लाइफ के वो जवान रईसजादे याद आ रहे थे जो उसके गुलाब जैसे होंठ चूस चूस कर और उसके मम्मे दबा दबा कर उसे उत्तेजित कर देते थे।पर आत्मसमर्पण करने का पल मालविका के जीवन में पहली बार था.

तब भी जितने दिन मेरे माता पिता नहीं आए, वो मेरे पास ही सोती और मैं रोज उसकी गांड में लंड डाल कर सोता. अब उन्होंने भाभी की लाल रंग की ब्रा को भी उनके शरीर से अलग कर दिया था. अब आगे हार्डकोर गैंगबैंग सेक्स कहानी:इधर पम्मी ने मेरे पीछे जाकर मेरे बूब्स पकड़ लिए और दबाने लगा.

आपके मेल मिलने के बाद मैं आपको रेशमा और अपनी भाभी की एक साथ चुदाई की कहानी लिखूँगा. मरने दो कौन इनसे बहस करे साली लंड का माल ही तो पी गई, कौन सा गलत हो गया.

अय्यर ने चुदाई का प्लान कैंसिल कर दिया और चादर ओढ़ाकर बाहर निकल गया.

एक दिन मैंने देखा कि मौसी जी किचन में थीं और मेरे मौसा जी अन्दर घुस गए. ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म इंग्लिशउन्होंने मुझको हाथ पांव पर कुतिया की तरह चलाकर वापस मेरे पिंजरे में बंद कर दिया. बीपी पिक्चर बीपी पिक्चरअचानक दोनों ने मुझे चोदना बंद कर दिया और मुझे उठाकर पीठ के बल पलंग के किनारे लिटा दिया. उन दिनों की चुदाई देख कर अब मुझे मालूम पड़ा कि मेरी अम्मी बिस्तर पर बिल्कुल पोर्न स्टार की तरह चुदवाती हैं.

तो आपा ने मुझे कहा- कुत्ते बहनचोद, तूने मेरी नाईटी क्यों फाड़ी? मैं खुद उतार तो रही थी ना?मैंने आपा के बाल पकड़कर किस करते हुए कहा- आज तुझे मेरी रांड बनाकर चोदूँगा साली.

मैंने अपने लंड को उनकी गांड में रगड़ कर पीछे से उनके गाल पर किस किया. 5 मिनट ऐसे करने के बाद उसने मुझे जमीन पर उतार दिया और मुझे बिस्तर पर हाथ रखकर घोड़ी बनने को बोला. अब जल्दी से तू भी अपने अब्बू के साथ प्यार भरा सेक्स कर डाल और अभी ही चुदवा ले.

तो मैंने क्या किया?मेरा नाम देवेन है (नाम बदला हुआ है) मैं विदिशा से हूँ, पर जॉब लगने के कारण अब मैं बंगलोर आ गया हूँ. कागज पढ़कर नसरीन आपा सर पकड़कर बैठ गयी और गुस्से से मेरी तरफ देखने लगी. वैसे तो हम दोनों रोज ही साथ में नंगे नहाते हैं इसलिए ये सब मेरे लिए सामान्य था.

बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो में बीएफ

मुस्कुराते हुए प्रिया बोली- उठ जाओ अमन, बहुत ज्यादा देर हो गई।मैंने समय पूछा. थोड़ी देर में मामा ने भी अपना पानी मॉम की चूत में ही निकाल दिया और मॉम को किस करके उन पर ही ढेर हो गए. परंतु मुझे नींद कहां आनी थी, आप भी समझ सकते हैं, चुत सामने हो तो फिर तो सवाल ही नहीं बनता कि नींद आए.

ये मेरे साथ सच्ची घटना घटी है जो मैं इस देसी गाँव की चुदाई की कहानी के माध्यम से दिल खोलकर बताने वाला हूँ.

उठते ही उन्होंने मुझे बेड पर सामने की ओर गिरा दिया यहां तक कि मुझे संभलने का मौका भी नहीं दिया.

जैसे तैसे सुबह हुई, मेरे ससुर जी ड्यूटी से आकर फ्रेश होकर हॉल में ही सोने चले गए. कुछ मिनट के बाद हम दोनों झड़ गए और मैंने अपना सारा माल उसकी हाथों पर गिरा दिया. साली की चौड़ाईऑफिस Xxx चुदाई कहानी का अगला भाग:एक घरेलू लड़की से कालगर्ल बनने तक का सफरनामा- 3.

साले कुत्ते अब मेरी चुत की प्यास बुझा दे … अपना लंड मेरी चुत में पेल दे … आंह जल्दी से डाल भोसड़ी के. फिर योगेश ने अपने लंड पर केक लगाया और 69 की पोजीशन बना ली और मेरी चुत चाटने लगा. मुझे जीभ लपलपाते हुए देखकर बोली- रूक जा चाचा, इतनी जल्दी काहे की है। थोड़ा थम जा, मैं पहले मूत आऊँ तब चाटना!सुन चाचा, जब तेरे साथ चैट करके मुझे इतनी मस्ती चढ़ जाती है तो सोच इस समय तो मैं तेरी बांहों में हूँ, मेरी चूत कितनी मस्त हो रही होगी?” कहकर अपनी गांड मटकाती हुई बाथरूम के अन्दर चली गयी.

लेकिन मेरे कहने पर वो राज़ी हो गईं और अपनी बुर अपने पति के सामने खोल कर चोदने के लिए बोलीं. उसने पैंट की चैन खोल कर अपना लंड बाहर निकाल लिया और मैं उसे अपने हाथों में ले हिलाने लगी.

दीपक की गांड के छेद के ऊपर मैं अपने लंड के सुपारे को रखकर रगड़ने लगी.

वाजिहा मुझे चुम्मी करते हुए अपना गोरा सेक्सी हॉट चिकना जिस्म मेरे जिस्म पर रगड़ रगड़ कर मुझे बहुत प्यार करती रही. समझ नहीं आता किस से शादी करूं?अमित बोला- साले मुझे दिखा, मैं बताता हूं. पूर्णिमा जी के हाथों को मसलते हुए उनके रसीले होंठों को मैं फिर से खाने लगा.

इंग्लिश वीडियो ब्लू सेक्सी वो प्यार से अपनी चूचियों को मेरे सीने से रगड़ती हुई मुझे चुम्मी करती रही और चुदवाती रही. जब उसका लंड उतना आराम से जाने लगा तो उसने ज़ोर से झटका दिया और पूरा लंड अंदर घुसा दिया।मैं रोने लगी पर पूरण ने पकड़ बना कर लंड पेलना जारी रखा।करीब 5 मिंट उसने लंड को पेला तो मुझे आराम मिला और फिर मजा भी बहुत आने लगा।जब उसने देखा कि मैं मस्त होने लगी हूँ तब उसने मेरा मुँह छोड़ा।आह … बहुत बेरहम हो तुम … आह आह!” कह कर मैं गांड हिलाने लगी.

मैं कब से देख रही हूं कि तुम दोनों बात तक नहीं कर रह हो?मुझे लगा कि बस अब प्रिया सब कह देगी और मेरी खैर नहीं, अब ये सब बताने वाली है. उसके पति होटल में काम करते हैं … उसकी दो बेटियां है और दोनों अभी जवान हुई हैं. मगर मुझे तुम्हारी भतीजी की पिछाड़ी काफी हॉट लगी, तो मैं कहने में खुद को रोक ही नहीं पाया.

हिंदी में कुंवारी लड़की की बीएफ

अब सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको मैं अपनी Xxx बहन की मदमस्त चुदाई की कहानी लिखूँगा. फिर भी निशा ने पूछा- क्यों … मजा आया प्रिया? तुम्हारी आवाज तो पूरे कमरे में गूंज रही थी. संगीता ने अपनी वाइल्ड फैंटेसी के साथ साथ बहुत सारे तरीके बताए लेकिन वो सब बातें तभी लिखूंगा जब मैं उनके साथ ऐसा कुछ एक्सपीरियंस कर लूं.

लगभग 10 मिनट राहुल को लंड चूसने के बाद उसने मुझे अपने ऊपर से हटा दिया और मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा. मेरा ध्यान उधर उधर नहीं लग रहा था बस बार बार मैं उसी को मूतते हुए देख रहा था.

थोड़ी देर बाद मेरी स्पीड भी तेज हो गई और 2-4 झटकों के बाद मैं भी झड़ने को हो गया.

मैं भी इस बात से बेहद गर्म हो जाती थी कि मेरी चूत में किसी गैर मर्द रोहित का लम्बा मोटा लंड घुसा हुआ है और वो मुझे पूरी ताकत से रगड़ रहा है. मैंने अपने शौहर से इस बारे में बात की पर उन्होंने मुझे कोई जवाब नहीं दिया. थोड़ी देर चुत चाटने के बाद मैंने उससे कहा- अब बस चुत में लंड पेलने दो.

वाजिहा मुझे चुम्मी करते हुए अपना गोरा सेक्सी हॉट चिकना जिस्म मेरे जिस्म पर रगड़ रगड़ कर मुझे बहुत प्यार करती रही. उसने बोला- सच में आप दारू पीते हो या मजाक कर रहे हो?मैंने उससे बोला- हां सच में मैं पीता हूँ. तो वो बोली- अमेजिंग जानू … मेरे अंदर ही डालना तुम्हारा सारा माल!मैंने सारा माल आंटी की चूत में छोड़ दिया।फिर उसी तरह हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपककर सो गए।थोड़ी देर बाद मैंने उनसे पूछा- बेबी आप इतनी माल चीज हो.

मैं कमरे की जगह किचन में चला गया था ताकि उनको पता न चले कि मैंने सारा सीन देख लिया है.

fm रेडियो बीएफ सेक्सी: उसने मुझसे पूछा- मैं कहां निकालूं?मैं इतना थक गया था कि कुछ बोल ही नहीं पाया. कुछ देर बाद ससुर जी ने मुझे रुकने को कहा और बोले- क्या अपने चुचे नहीं दिखाओगी … इन्हें पेटीकोट में छुपा क्यों रखा है?मैं बोली- मैंने कब रोका है, खोल लो मेरा पेटीकोट और देख लो … आपकी ही मेहनत है, जो आप मुझे कहीं भी कभी भी दबा दबा कर बड़े कर दिए हैं.

एक मिनट में ही उसे लंड से मजा आने लगा और वो गांड उचकाने लगी तो मैंने एक और झटका मारकर पूरा लंड अन्दर तक पेल दिया. अब मैं खुद को रोक नहीं पाया और सोचा कि अब अपना लंड चूत में पेल ही देता हूँ. अब इस यंग भाभी सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको मिताली की चुदाई की कहानी का रस पिलाऊंगा.

कुल पांच मिनट में ससुर जी ने काम तमाम कर लिया और लंड लटका कर चले गए.

चूंकि भाभी जी का एक लड़का भी था, उसे भी इन सब बातों में इंटरेस्ट आने लगा. उनकी चूचियों का आकार खरबूजे के जैसा हो गया था और वो दोनों एकदम लाल हो गई थीं. आपा के मुंह से ये सुनकर मैं हंस दिया और नंगी आपा को अपने ऊपर ले लिया.