ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म

छवि स्रोत,हीरोइन का सेक्सी वीडियो हीरोइन का

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी मोसी: ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म, पारो भाभी लगातार मुझे पेरते हुए बोलीं- क्या हुआ … चुप क्यों हो गए?मैंने धीमे से कहा- कुछ नहीं भाभी.

रक्षा बंधन कब का है

कुछ देर तो मैं चुपचाप लेटा रहा मगर मेरा लंड ऐसे तना हुआ था कि बस पूछो मत. हिंदी सेक्स मूवी इंडियनमुझे अकेले छोड़ दो, भगवान करेगा तो दो चार दिन में ठीक हो जाऊँगी, मुझे कोरोना नहीं है, बस एहतियात के लिए ऐसा करना जरूरी है.

मेरी चुत में मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने कोई सब्बल घुसेड़ दी हो. घरगुती सेक्स व्हिडिओवो सर पीछे करके अपने दोनों हाथों से मेरे पैर पकड़ कर उछल उछल कर धक्के मार रही थीं.

ऐसा लग रहा था जैसे वो अपनी चूत को सिकोड़ रही हो और मेरे लंड को अंदर खींच रही हो.ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म: मैं सोचता था कि रंडी की चुदाई में क्या मजा आता होगा लेकिन मेरा अनुमान गलत था.

सारा खर्चा रोहित ने किया और फिर वादे के मुताबिक उसने मेरा पेमेंट भी दिया.वो 28 साल की एक गदराये जिस्म की महिला था जिसकी मस्तानी चाल देख कर अच्छे अच्छे चोदू मर्दों का लंड गीला हो जाये.

सेक्सी वीडियो पिक्चर सेक्सी - ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म

ओह रूपांगी बिटिया ये तुम हो क्या; हे भगवान ये कैसा अनर्थ कर डाला मैंने!” मौसाजी मेरे पास से उठ खड़े हुए और बोले.वो नशे में मस्त थीं और कराहते हुए बोलीं- भोसड़ी के क्या आराम से नहीं डाल सकते थे.

मैंने हल्के से उनके दोनों पैरों को खोला और चुत की सुगंध को सूंघने लगा. ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म अब तो मेरे मुंह से स्वत: ही सिसकारियां फूटने लगी थीं- आह्ह … उम्म … आह्ह … हाह … ओओ … ओह्ह … होह … आई लव यू राजीव … आई लव यू।वो बस मुझे चोदे जा रहा था.

मैंने उसकी इच्छा समझते हुए कहा- अच्छा ऐसा है … तो कल ही मंदिर में शादी कर लेते हैं.

ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म?

मैं खुद हैरान था इस बात से कि आज मुझे ये हुआ क्या जो मैं अभी तक झड़ नहीं रहा हूं। इससे पहले मैंने आज तक बस रंडियों को ही चोदा था तो बस एक बार ही कर पाता था। मगर ये मेरा पहली बार था ज़ब मैं लगातार दूसरी बार किसी को चोद रहा था. उसने लंड को अच्छी तरह पकड़ा और समझने की कोशिश करने लगी कि ये मुखिया के लंड से बड़ा है या छोटा. मीता- ठीक है, मैं बाबूजी किसी को नहीं बताऊंगी … मगर ये सब आप मुझे कब सिख़ाओगे?सुरेश- देखो, इन सब में टाइम लगता है और अभी कोई भी आ सकता है.

मैंने आपको अपनी फर्स्ट नाईट सेक्स स्टोरी इन हिंदी के पहले भागभाभी की कुंवारी बहन संग सुहागरात-1में बताया था कि कैसे मैंने अपनी भाभी की बहन को पटा लिया. अब आगे की सेक्सी सिस्टर की चुदाई कहानी:हैलो मैं विजय, सच बताऊं दोस्तो मेरी इतनी गांड फट रही थी … मगर मेरी बहन की चुत को चोदने के सिवाए फिलहाल मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था. जैसे ही वो नॉर्मल हुईं, उनके होंठों पर मैंने अपने होंठ रख दिए और एक और जोर से धक्का मारा.

मुझे चुत चाटते हुए एक मिनट ही हुआ था कि सुनयना भाभी ने अपनी दोनों टांगों के बीच मेरे सिर को दबा लिया और जोर से ‘आह्ह्ह्हह …’ की आवाज के साथ ढेर सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया. आदी ने मेरी बाइक को खड़ा किया … तो संजय और मैंने उसका खूबसूरत बला की स्कूटी को खड़ा किया. उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगा दिया और मुझे अपने लंड से जोर जोर से चोदने लगा.

मैंने उसकी बात सुनकर 2-3 जोरदार धक्के दिए और उसकी गांड की जड़ तक लंड दबा कर अपना लावा उसकी गांड में उड़ेलने लगा. मैं ज़ोरों से अनवरी चाची की दोनों चूचियों के निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था.

उसकी बुर में लंड जब बुर की दीवारों को घिसने लगा तो उसको मजा आने लगा.

सुरेश तो करवट लेकर सो गया और सुमन अपने पांव पटकती रही क्योंकि उसकी चुत में आग लग रही थी.

अब मैंने उनकी उम्र का अंदाजा लगाया तो यही कोई लगभग 35 साल की उम्र समझ आई. आज मैं अपने निजी सेक्स जीवन को जिस मजे से एन्जॉय कर रही हूं मैंने अपने बारे में कभी खुद सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं आगे जाकर ऐसी निकलूंगी या ऐसी बन जाऊँगी. इधर पारिज़ा ने भी अपने अब्बू का लंड लेने की सोचने के साथ ही अपनी आंखें बंद कर लीं.

मुझे बताया गया कि उस दिन वो किसी अर्जेंट काम से छुट्टी पर गयी हुई हैं. इस इंडियन भाभी सुहागरात Xxx कहानी के बारे में आपके जो भी विचार हों आप मुझे अपने विचारों से अवगत जरूर करवायें. मैडम ने चिकन पकने के लिए छोड़ दिया और किचन की स्लिप पर अपने हाथ रख लिए हुए गांड में लंड लेने लगीं.

उसकी चूचियों की नोकें इतनी शानदार थीं कि मेरे लंड में आग लगी जा रही थी.

मैंने कहा- लेकिन वो तो काफी बड़े हैं मुझसे!सुमन बोली- तो क्या हुआ यार? प्यार उम्र को थोड़े ही देखता है. उस दिन तो हम सब घर पर ही रहे, लेकिन यह सिलसिला अभी भी जारी रहने वाला था. मुखिया- कुत्ते एक आदमी को देख कर मेरा मूड कैसे अच्छा होगा! तू तो ऐसे बोल रहा है, जैसे कोई तगड़ी चुत लाया हो.

बीच बीच में वो मेरे स्तनों को पकड़ कर उठा देता, जिससे ठीक नाप ले सके. कुछ ही झटके में मेरा सारा माल उसके मुँह में निकल गया और वो रांड सब पी गयी. तय समय के अनुसार हम लोग स्टेशन पर ही मिले और वहां से सीधे चारबाग आकर उसको मैं अपने साथ लेकर अपने दोस्त के रूम पर गया.

उसने लिखा- क्या हम दोनों किसी वर्किंग डे पर ही मिल सकते हैं?मैंने उसे ओके लिखते हुए फ्राइडे को मिलने का बोल दिया.

जब तक तू अपनी चूत में किसी का मोटा लंड नहीं पिलवाएगी ये मुहांसे जाने वाले नहीं!’उनके मुंह से चूत लंड जैसे गंदे शब्द सुन के मुझे बहुत शर्म आती और उन पर गुस्सा भी बहुत आता. मैंने सुषमा मैडम को हैलो कहा, तो उनकी तरफ से कोई रिस्पांस नहीं आया.

ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म मैं इस बात से मन ही मन इन्कार नहीं कर पा रही थी कि मंगेतर के सामने मुझे अपने पुराने यार के साथ मस्ती करने में अगल ही मजा मिलता था. उसके पैरों में हाई हील की सैंडल, उसके ऊपर छन छन करने वाले पायलें, उसके ऊपर धीरे धीरे मुझे सब कुछ नजर जाने लगा.

ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म इधर मेरे लंड को चैन नहीं पड़ रहा था वो मेरी बहन कि चूत में घुसने के लिए बेसब्री से इंतजार करने लगा. मैं बस नंगी गर्ल की चूचियों को बौरा कर चूसने लगा और मस्ती से दीदी के दूध चूसे जा रहा था.

मैं धीरे-धीर उसके बूब्स प्यार से सहलाने लगा और होंठों पर किस करने लगा.

बिहारी बीएफ वीडियो बिहारी

मैं सिर्फ मादक सिसकारियां ले रही थी- आह्ह ओह्ह आह्ह मुकेश!पागल हो गयी थी मैं!फिर मुकेश सर ने 69 पॉजिशन में आकर अपने लंड को मेरे मुँह में डाल दिया. कभी लोअर में तो कभी निक्कर में रहने लगा था। रात को कभी कभी वो सिर्फ कैपरी में भी सो जाता था. मैं बोला- मॉम, मन तो मेरा बहुत मचल रहा था आपको नंगी देख कर। मगर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी.

इसके अलावा मेरी योनि में अजीब से सुरसुरी या सनसनाहट होती रहती एक तेज फड़कन या खुजली होने लगती. मैं तो अपनी किस्मत पर गर्व कर रहा था कि मौसी इतनी जल्दी पट गयी मुझसे!उसके बाद मौसी ने मेरे पूरे कपड़े उतार दिये. मगर फिर भी सुरेश ने कन्फर्म करने के लिए अपनी एक उंगली गीता की छूट में घुसाई, जो बड़ी आसानी से चुत में घुस गई.

इतना मजा आने लगा कि मैंने अंकित का मुंह जोर से अपनी चूत पर दबा दिया.

कविता की बातों से मुझे पूरा यकीन था कि वो भी मेरा साथ एक जिस्म होने के लिए बेकरार है. मैं दरवाजा खोल कर दूसरे कमरे में गया और पानी की बोतल लेकर वापस आ गया. करीब 2-3 मिनट तक पापा ने ऐसे ही लंड को मां की चूत में रहने दिया और मम्मी के होंठों को चूमने लगे.

मैंने सोचा कि मैंने तो अभी तक चूत भी नहीं मारी है, मैं बिना चूत चोदे नहीं मरना चाहता हूं. सेक्सी औरत की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे बड़ी उम्र की एक लेडी ने मुझे एक महीने के लिए बुलाया अपनी अन्तर्वासना को शांत करवाने के लिए. फिर तो मेरी हिम्मत खुल गई और मैंने मोनिषा की टी-शर्ट ऊपर करके उसके मम्मों को भी खूब दबाया और निचोड़ा.

मैं- भाभी आपको एक बात बोलूं, आप बुरा तो नहीं मानोगी!सुनयना भाभी- हां बोलो, नहीं मानूंगी बुरा. तब मैंने बोला- मजा आया मेरी प्यारी बहना!वो बोली- भैया आपका दिया ये दर्द अब तक का सबसे सुखद दर्द है … जो ज़िन्दगी भर याद रहेगा.

मैं उसके नाजुक होंठों का स्पर्श पाकर एकदम से सिसक गया और मेरी आंखें बंद हो गयी. मुझे उम्मीद है कि मेरी इस गर्ल सेक्स स्टोरी इन हिंदी को पढ़ कर लड़के अपने हाथ को रोक नहीं पाएंगे और लड़कियां भी काबू नहीं कर पाएंगी. उसकी चूचियों की नोकें इतनी शानदार थीं कि मेरे लंड में आग लगी जा रही थी.

चाची हम दोनों को ऊपर बने कमरे में छोड़ आईं और दरवाजे को अटका सा दिया.

छोटी बहन की गांड मारी स्टोरी में पढ़ें कि मुझसे चूत चुदाई के बाद मेरी बहन मुझे गांड मारने की जिद करने लगी. ये सब चल ही रहा था कि गीता भी बाहर आ गई- अब मैं जाऊं क्या डॉक्टर बाबू!सुरेश- अभी कहां, तुम पहले दवाई तो लेकर जाओ. फिर चाची को पूरी तरह से नंगी कर दिया और मैं भी पूरी तरह से नंगा हो गया.

उनसे इतना कह कर मैं बाथरूम में चली गई … लेकिन जैसे ही मैंने बाथरूम में जाकर अपनी पैंटी निकाली … क्योंकि मुझे सुसु लगी थी. करीब पांच मिनट बाद मैं खड़ा होकर दूसरे सोफे पर चला गया और अंकल ने इधर आकर अपनी बेटी पारिज़ा को सोफे पर घोड़ी बना दिया.

मैं रवीना की चूत को चाटने लगा और नगमा ने अपनी देसी बुर को रवीना के मुंह पर रख दिया. मैं कोई गड़बड़ नहीं करना चाहता था … क्योंकि हमारे पास बहुत समय था और मैं इस समय को यादगार बनाना चाहता था. वे मम्मी की चुत में लंड पेल कर पुल्ल पुल्ल करके झड़ जाते थे और मेरी मम्मी को कोई मजा नहीं आता था.

ट्रिपल एक्स बीएफ वीडियो

मेरे आने के पांच मिनट बाद मम्मी भी बाथरूम से बाहर आ गईं और अपने रूम में चली गईं.

जब पता चला कि वो भाभी की बड़ी बहन है तो इस नाते मैं आते जाते उनसे मुँह से मजाक भी कर लेता था. वो कसमसाकर मुझ से अलग हुई और बोली- कोई देख लेगा!फिर वो जल्दी-जल्दी नीचे उतर गई।नीचे उसकी मां खड़ी थी. हॉट चुत की पहली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मुझे एक लड़के ने प्रोपोज किया तो मैंने हाँ कर दी.

मेरे मन में लड्डू से फूट गये और मैं उतावला होकर जल्दी से तैयार हुआ और उसके घर पहुंच गया. वो हांफते हुए बोलने लगी कि मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूँ … आज की पूरी रात है हमारे पास … तुम तो ऐसे चोद रहे थे कि जैसे आज के बाद मैं कभी मिलूंगी ही नहीं. मॉम सेक्स वीडियोअभी से मैं क्या कह सकती हूं?उसने कहा- जब करना ही है तो फिर राजीव भैया में क्या बुराई है? तुम अच्छी तरह से सोच लो और फिर बाद में मुझे बता देना.

आपके फीडबैक से मुझे पता लगेगा कि आपको किस तरह की कहानियां पढ़ना पसंद हैं. फिर मुझे ध्यान आया कि मैं बाइक की चाबी नीचे बाइक में टंगी हुई ही भूल आया हूं.

बॉस मेरी ओर देखने लगे और पूछा- कोई ज़रूरी काम है?बहाना बनात हुए मैंने कहा- एक मित्र को चाय की दुकान पर बैठने के लिए बोल कर आया हूं, उससे फ्री होकर आता हूं।बॉस बोले- ठीक है, मगर तुम्हारा मोबाइल क्यों बंद है?मैंने कहा- बैट्री खत्म हो गई थी. मैंने उससे कहा कि तुम्हारी दीदी ने मुझे पैसे दिये थे, ये उसके लिये है, उसको ले जाकर दे दो. पिछले हफ्ते मेरी सास बाथरूम में स्लिप कर गई जिस कारण उसकी हड्डी टूट गई.

इसलिए शादी से पहले जब तक वो हमारे साथ घर में रही उसने कभी भी पजामी नहीं पहनी. मैंने पूछा- आज योगेश जी से बात हुई है आपकी?उन्होंने कहा- नहीं, एक बार भी नहीं हुई है. उसके हाथ में कुछ सामान था तो उसने वो रोज़ी की तरफ बढ़ाते हुए कहा- इसे जल्दी लेकर जाओ.

उसके बाद मैंने लंड से उसकी गांड को सहलाई और अपने लंड को पारिज़ा की गांड पर सैट कर दिया.

मैंने उन्हें सोच कर मुठ मारी और सब कुछ भविष्य के हाथों में छोड़ कर सो गया. इसी लिए आज मैं अपनी दूसरी भूल हॉट टीचर सेक्स स्टोरी को आप लोगों के साथ शेयर करना चाहती हूँ.

अचानक हुए इस स्पर्श से सुमन एकदम से सिहर उठी और उसके मुँह से एक हल्की सी सिसकारी निकल गयी. मैं भी मुस्कराता हुआ उसके करीब जा पहुंचा और पूछा- कैसी हो?वो बोली- ठीक हूं. भाभी की जवानी के बारे में सोच कर मेरे मन में भी हिलौरियां उठने लगीं.

मैंने धड़कते दिल से दरवाजा खटखटाया तो कुछ ही पलों में एक आदमी ने दरवाजा खोला. आंखों से आंसुओं की धार बह रही थी। ये सब देख कर मुझे दुख तो हुआ, मगर मेरे दुख पर मेरी हवस हावी थी।मैं उसी पोजिशन में रुका रहा और समझाने के साथ साथ ये दिलासा भी देता रहा कि बस थोड़ी देर और, थोड़ी देर और। जब उसे थोड़ी राहत मिली तो वो तेज़ तेज़ सांसें लेने लगी. जैसे ही निशु ने मुझे गले लगाया और किस किया तो तुरंत मेरे लंड महाराज ने सलामी दे दी जो कि उसको पता लग गया.

ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म मुखिया- अच्छा अच्छा ठीक है … ज़्यादा ज्ञान मत दे … और वैसे भी आज मैं उसको नहीं छोड़ने वाला. मेरा ये ब्लाउज थोड़ा ज़्यादा लो-कट था, जिसमें से मेरी चूचियां साफ़ दिख रही थीं.

गांड मारने वाली बीएफ फिल्म

मैं बोला- मेरा निकलने वाला है जान … कहां निकालूं?फराह बोली- मेरी बुर के अंदर ही निकाल दो जान … अब तुम्हारा सब कुछ मेरा भी है. मैं बाइक की चाबी नीचे लेने गया तो वहां पर मां का पैर फिसल गया और हम दोनों फिर से पानी और किचड़ में गीले हो गये. क्या बताऊं दोस्तो, उस दिन निशु क्या बनकर आई थी! उसने ब्लैक कलर का टाइट पंजाबी सूट पहना था.

सारे मूड की मां चोद कर रख दी थी उसने।मुझे उसकी बातों पर अब गुस्सा उठ रहा था. मैं तो अपनी किस्मत पर गर्व कर रहा था कि मौसी इतनी जल्दी पट गयी मुझसे!उसके बाद मौसी ने मेरे पूरे कपड़े उतार दिये. मराठी सेक्सी पिक्चरइतना सुनते ही मुखिया ने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और उसको ताबड़तोड़ चोदने लगा.

अब आगे की स्टूडेंट टीचर सेक्स स्टोरी:अब सुषमा मैडम का व्यवहार मेरे लिए काफी बदल गया था.

इसलिए इन क्षणों में उसकी चूत का इस तरह से गर्म हो जाना स्वाभाविक था. सारा खर्चा रोहित ने किया और फिर वादे के मुताबिक उसने मेरा पेमेंट भी दिया.

फिर जैसे ही मैंने गर्लफ्रेंड की एक बगल में मुँह डाला, मुझे बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी. मैंने पूछा- कैसा लग रहा है भाभी?भाभी- पहले कभी ऐसे नहीं करवाया था … बड़ा अच्छा लग रहा है. मुझे ये तो पता था ही कि अन्दर मेरी बहन मेरे साथ सुहागरात मनाने की तैयारी कर रही है, पर वो ये सब किस तरह करना चाहती है, ये मुझे नहीं पता था, पर हां इतना जरूर मालूम था कि ये सुहागरात का कार्यक्रम सामान्य वाला कार्यक्रम नहीं होगा.

उफ्फ … हाय राम … शर्म और लाज के मारे मैंने अपना मुंह उस अँधेरे में भी हाथों से छिपा लिया.

थोड़ा गुस्से में तो थोड़ी शर्मीली नजर से शायद वो मुझसे पूछ रही थी कि ये तूने क्या किया. फिर 10 मिनट के बाद मैंने अपनी लोअर को नीचे कर लिया और अंडरवियर सरका कर लंड को नंगा कर लिया. मैंने कहा- मेरे लंड से शीरा निकलवा कर मानोगी क्या?इस पर चाची हंस दीं और लंड को चूसने में लगी रहीं.

सेक्सी विडिओ डाउनलोडमैंने उसकी क्लिटोरिस को जीभ से जैसे ही छुआ तो उसके पूरे शरीर के रोंगटें खड़े हो गए. फिर मैंने लंड पर कंडोम लगाया और पारिज़ा के पैर फैला कर बिना देर किए अचानक से जोर से धक्का लगा दिया.

जैकलिन बीएफ

ये देख कर मैंने भी मन में ठान लिया था कि इस काम की शुरुआत सुबह ही की जाए. तो दोस्तो, ये थी पूजा भाभी की चुदाई की कहानी जो कि उनकी पहली सुहागरात के दिन हुई थी. मैंने उसकी पैंटी में हाथ देकर उसकी बुर को सहलाना शुरू कर दिया और तब तक रवीना ने उसकी पूरी नाइटी उतरवा दी.

मैं बोला- मेरा निकलने वाला है जान … कहां निकालूं?फराह बोली- मेरी बुर के अंदर ही निकाल दो जान … अब तुम्हारा सब कुछ मेरा भी है. उसकी आवाज सुनकर मैंने खुद को नार्मल किया और उन्हें उठाने के लिए जैसे ही बोलने को हुआ, वो उठ गईं. वो आराम से गांड मरवा लेती थी और मेरी सेक्स की प्यास पूरी हो जाती थी.

उन्होंने इतना बोलते ही मेरी टांगों को फैलाया और झट से मेरी गांड के छेद में उंगली डाल कर मुझे पेलने लगीं. ये गांव है, यहां तो कभी कुत्ता, कभी भैंस, कभी गधा इन सबका चलता ही रहता है. जगह का नाम इसीलिए नहीं बता रहा हूँ कि लोग उस जगह से धर्म जाति और नारी की प्रवृत्ति का अनुमान लगा लेते हैं, जो कि गलत है.

और मैंने उसकी कैसी गंदी चुदाई की और बहुत हार्ड चुत चोदी, जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते. यहां मैंने आपकी प्रोफाइल और फोटो देखी, तो सोचा आपसे थोड़ी बहुत गपशप करूं.

क्योंकि आज के बाद तुम्हारी यह बेटी हमेशा हमेशा के लिए पराई हो जाएगी.

अब मैं दोबारा से उठने लगा तो कविता ने फिर से नीचे बैठ कर मेरे लंड को मुंह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी। अब शायद उसके अंदर सेक्स ज्वाला कुछ ज्यादा ही भड़क गयी थी. गर्भधारणा झाली कसे ओळखावेमैं उनके ऊपर 69 पोजीशन में लेट गया तो उनके मुँह के पास मेरा लंड और मेरे मुँह के पास उनकी चूत आ गयी. मारवाड़ी सेक्सी लड़कियों का वीडियोकमेंट्स में अपनी राय दें और आप मुझे नीचे दी गयी ईमेल पर मैसेज भी कर सकते हैं. मैं ठीक से चल भी नहीं पा रही थी इसलिए उस दिन मैं कहीं बाहर भी नहीं गयी.

आज सुहागरात के लिए पूजा भी तैयार थी। व्यवस्था के हिसाब से टिश्यू पेपर एवं पानी और सभी सावधानियों पर ध्यान रखते हुए सभी को पास ही में रखा हुआ था उसने। अब मनोज एक एक करके बिना इजाजत लिये पूजा के शृंगार को उतारने लगा.

मैंने उससे कह दिया कि अगर उसे पैसे चाहिएं तो मैं पैसे देने के लिए भी तैयार हूं मगर इस शनिवार की रात वो बस मेरी ही होगी. आज मेरी बहुत दिनों की तमन्ना पूरी होने जा रही थी कि जिस चीज को मैं देखने के लिए इतना इंतजार कर रहा था, आज वह मेरे सामने नंगी पड़ी थी. वो एकदम से खुश हो गया और बोला- रीमा क्या सच!मैंने कहा- … मुच राहुल.

मैंने मैडम को वहीं पर कुतिया बनाया और तेजी से लंड को उनकी गांड में अन्दर-बाहर करने लगा. मुझे इसके बारे में नहीं पता था और मैं बोला- मुझे ये सब जानकारी नहीं है भाभी. मैंने फिर से वैसा ही किया और इस बार उसने अपनी चुचियों के दानों पर सिंदूर लगवाया.

बहन को चोदा बीएफ

अन्तर्वासना के आप सभी पाठकों को अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में कुछ बातें बताना चाहता हूँ कि मेरी गर्लफ्रेंड की उम्र 25 साल है. विभा भाभी अपनी गांड में मेरी उंगली का अहसास पाते ही सिहर गईं और जोर जोर से मेरे धक्कों की रफ़्तार से ताल मिलाने लगीं. वहां विनी की जीभ का स्पर्श होते ही मेरे जिस्म में वासना की तेज लहरें मचलने लगतीं.

7-8 मिनट की गांड चुदाई के बाद मैंने सारा माल उनकी गुदा में डाल दिया.

ऐसे ही हम लोग लगातार काफी देर तक सेक्स करते रहे और जब मैं झड़ने के करीब हो गया.

मैं बोला- क्या हुआ? इतना हिल क्यों रही हो? आराम से हो जाओ, अब बहुत मजा आने वाला है तुम्हारी बुर में. मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और दोनों टांगें खोल कर खूब सारा तेल डालकर लंड की मालिश करने लगा. सेक्सी मराठी व्हिडिओसइधर मैं रोज अपनी बहन श्वेता को याद करके और उससे फोन पर बात करके लंड हिलाता रहता था.

मैंने उससे पूछा- चुलबुली मतलब?वो हंस पड़ी- अरे यार चुलबुली का मतलब नहीं समझते हो … क्या पूरे लल्लू हो!मुझे उसकी बात से हंसी आ गई. मैंने कहा- कॉन्डम से लोगी या उसके बगैर ही कर दूं?वो तुरंत उठी और उसने एक कॉन्डम का रेपर फाड़ कर मेरे लंड पर कॉन्डम को चढ़ा दिया. उसने अन्दर लाल ब्रा पहन रखी थी, जिसमें से उसके मोटे बूब्स बाहर आ जाने को आतुर दिख रहे थे.

मैंने कहा- अगर प्यार करते थे, तो फिर आज तक बताया क्यों नहीं?राहुल- कॉलेज की पढ़ाई के दौरान मेरे मम्मी पापा ने मुझे कहा था कि मैं शादी भले ही किसी से भी कर लूं, उसके लिए वे कभी रोक टोक नहीं करेंगे. अपना रुमाल धोया और फिर आकर गीले रुमाल से उसकी चूत और जांघ को रगड़ने लगा.

मैंने उनके ईमेल पर रिप्लाई किया और अपना नंबर देते हुए कॉल करने के लिए बोला.

बेशक इसकी उम्र कम है लेकिन मेरी और इसकी विचारधारा बहुत मिलती है इसलिए इसे मेरी सहेली ही मानो. रोहन मुझे अपने जिस्म से सटाते हुए नीचे ला रहा था … उसी समय मेरी चुत में मेरी फैली हुई टांगों और खुली हुई चुत में उसके लंड का सुपारा फंस गया. तो यह बोला कि तुम्हारे पापा को थोड़े दिनों के लिए यहां बुला लो और तुम अपने पापा से चुदाई करवा लो … मैं किसी को कुछ नहीं कहूँगा … और तुम भी किसी को कुछ मत बोलना.

सेक्सी फिल्में डॉट कॉम मैंने भाभी की कमर पकड़ी और एक जोर से धक्का दे मारा, जिसके कारण मेरी और सुनयना की एक साथ चीख निकल गई ‘आआह्ह …’भाभी की चुत बहुत ज्यादा ही गर्म और टाइट थी और यह मेरा पहला अनुभव था. फिर मैं सॉरी बोलते हुए वकील के सामने ही झुक गयी और मेरा पल्लू नीचे गिर गया.

अब आगे देसी बुर कीचुदाई स्टोरी:मैं चाची के पास गया और पीछे से उनकी गांड को सहलाने लगा. हमें नहीं पता था कि उन्होंने हमें बालकनी में देख लिया है और वो ऊपर आ रहे हैं. एक बार ट्राय करके तो देख। एक दो बार सेक्स हो गया तो उससे ही पता लग जायेगा कि वो तुझसे प्यार करती है या फिर टाइम पास कर रही है.

एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ पिक्चर

उसने पूछा- क्या हुआ था?मैंने उसे बताया कि मयंक ने तुझे देख लिया था. मजबूरी में वो जॉब करने लगी लेकिन रूम का किराया व रहने का खर्चा तो शुरू में ही चाहिए था. विनी ऐसे ही एक दो मिनट तक मेरी योनि चाटती रही फिर उसने योनि के होंठ खोल दिए और अन्दर की तरफ चाटने लगी.

कविता की चूत मिलने के बाद अब मुझसे रात का इंतजार करना इतना भारी हो रहा था कि मैं क्या बताऊं. उसने बाथरूम में जाकर अपनी चूत की सफाई की और मैंने भी अपने लंड को साफ किया।मैंने देखा कि चुदने के बाद रवीना से चला नहीं जा रहा था.

उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगा दिया और मुझे अपने लंड से जोर जोर से चोदने लगा.

इसके बाद उसने मुझे हल्का सा धक्का दिया मैं उसकी कामना समझते हुए नीचे को आ गया और उसकी चूत की मालिश शुरू कर दी. ड्रिंक के साथ उन दोनों की नंगी फोटोज देख कर मेरे निप्पल खड़े हो गए. उसकी चूत में मेरा लंड बिना कहीं रूके या अटके हुए सट् से अंदर चला गया.

पापा मम्मी के बगल में चिपक कर लेट गए और बातें करने लगे- आज तुमने मजा दे दिया जान!मम्मी बोली- बगल में क्यों लेट गए? ऊपर आ जाओ मेरे … और मुझे प्यार करो।फिर मां की चूचियों को सहलाते हुए पापा ने पूछा- तुम अभी भी पहले की तरह प्यार करती हो मुझसे?वो बोली- हां, आपके लिये कुछ भी कर सकती हूं. जब मुझे अहसास हो गया कि अब चूत साफ हो गई है तब फिर मैंने चूत को सूंघा. उसकी चूत बिल्कुल गोरी और टाइट थी जैसे किसी ने जांघों के बीच में कुछ सिल रखा हो.

अब मैं फ़ोन पर राहुल को बोल रही थी- जानू प्लीज़ मेरी चुत चाटो न!वहां राहुल बोल रहा था- हां जानू अपनी चूत खोलो.

ब्लू बीएफ इंग्लिश फिल्म: वो भी मौका पाकर बाहर आ जाती थी और मैं उसकी चूचियों और चूत को हाथ से छूने का मजा लेता था. मेरा मन कर रहा था कि उसकी पैंटी को उतार कर उसकी बुर में जीभ दे दूं.

मैं जिस काम से आया था, वो उसके पापा से ही था, तो मैं कुछ सोचने लगा. उन्होंने कहा कि मेरी डेली की पेमेन्ट मेरे एकाउंट में आ जायेगी और मैं कभी भी एकाउंट से कैश करवा सकती हूं. और वे मेरी टांगें फैला कर उनके बीच में आकर बैठ गए और अपना लंड मेरी चूत के द्वार पर टिका दिया और चूत की फांकों पर उसे रगड़ने लगे.

अब मैं गर्दन पर आ गया। मैं अपने होंठों को नीचे से शुरू करके उसके कान तक ले जाकर रगड़ रहा था। अब अंजू पागल होना शुरू हो गयी थी.

एक तरफ मेरा मन कह रहा था कि ये मुझसे चुदना चाहती है और दूसरी तरफ उसका संकोच मुझे हैरान भी कर रहा था. फिर भाभी चुपचाप उठीं, अपना मुँह पौंछा और धीरे धीरे लंगड़ाते हुए बाथरूम में चली गयीं. मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया और बोला- वीर्य बाहर मत निकलने दो.