मूवी पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वॉलपेपर दिखाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

पिक्चर खपाखप: मूवी पिक्चर बीएफ, अब भाभी का कामुक बदन मेरी नज़र में चढ़ गया, मुझे लगने लगा कि भाभी मेरी प्यास बुझा सकती हैं.

कोलगेट से गोरे होने का तरीका

उस वक़्त उसकी शादी हुए एक साल ही हुआ था और एक साल के बाद ही उसका तलाक़ भी हो गया था. खुराना सेक्सीअपनी कहानी लिखने के बाद आप उसे एक अच्छा सा शीर्षक दे सकते हैं जो लुभावना लगे, पाठक बरबस ही आपकी कहानी को पढ़ने पर विवश हो जाय; बस इतना ध्यान रखिये कि आपकी कहानी का शीर्षक सड़कछाप या निम्नस्तरीय न लगे जैसे एवरेस्ट की चोटी पर चुदाई” इत्यादि.

मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी बाथरूम में शावर के नीचे मेरा लंड चूस रही हों, उनके सर पर शावर का पानी गिर रहा हो और वो मेरा लंड चूस रही हों… यह नज़ारा मैं अच्छे से देखना चाहता हूँ. सेक्सी पिक्चर ब्लू टोकाइधर भाभी ने अपना कैमरा भी ओन कर दिया और बोली- तुम मेरी चूत को चोदते हुए वीडियो बनाओ.

मैंने उस की गर्दन को दूसरी तरफ से टच करते हुए कहा- इधर से भी पी लूं पानी?उसने हँसते हुए कहा- पी ले, सब तेरा ही तो है.मूवी पिक्चर बीएफ: सेक्सी स्टोरी का पिछला भाग :भाई बहन की चुदाई की सेक्सी स्टोरी-1इस चुदक्कड़ परिवार की हिंदी सेक्सी स्टोरी का अगला भाग आपके सामने है, फिर से मजा लीजिएगा.

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके हाथों को पकड़ लिया और बस मम्मों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा.अब वो 4 लड़के हो गए और फिर हम दो लड़कियों के साथ बारी बारी से सेक्स करने लगे.

அனுஷ்கா செக்ஸ் - मूवी पिक्चर बीएफ

फिर मैं जोर जोर से लंड को सुमन मामी के मुँह में डाल कर मुँह चोद रहा था, वो सिसकारियां ले रही थीं.तभी दीदी का फोन बज उठा, दीदी ने फोन उत्जा कर देखा और उनकी त्यौरियाँ चढ़ा गई, वो फोन लेकर अंदर चली गई, अब किसी से फ़ोन पर गुस्से में बात कर रही थी, चिल्ला कर बोल रही थी, बिलकुल बिगड़ैल जंगली घोड़ी लग रही थी.

मैंने देखा तो मेरा भी मन हो गया पर मैंने कुछ कहा नहीं और भाभी को बाहर ढूँढने चला गया. मूवी पिक्चर बीएफ आप सभी को बता दूं कि हमारी बातचीत सभी अंग्रेजी और कुछ कुछ हिंदी में हो रही थी.

मैंने जबरदस्ती अपना मुंह उसकी चूत पे लगा दिया और अपनी जीभ उसकी चूर की दरार में फिराने लगा, वो एक दम सिहर गई, उस मजा आया.

मूवी पिक्चर बीएफ?

चूँकि हम डॉगी स्टाइल में कर रहे थे, तो वो उलटी लेटी रही और मैं उसके ऊपर उलटा पड़ा रहा. मैंने उसकी बहुत देर तक अपनी जीभ से चुदाई की और फिर कुछ देर बाद हम दोनों ने 69 में आकर दोनों की प्यास बुझाई. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर मैं पहली बार अपनी सेक्स कहानी लिख रही हूँ, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी पसंद आएगी.

आपने मेरी पहली सेक्स कहानीअनजाने में हुई गलतीपढ़ी ही होगी और अब मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी वाइफ को शादी से पहले ही कैसे चोदा. अब आंटी ड्राइवर वाली दिशा में मुँह करके खड़ी हो गईं और कंडक्टर वाली दिशा में गांड कर ली. मेरा लंड फुल टाइट खड़ा था क्योंकि मेरा लंड उस एक खूबसूरत हूर की चूत में था, जिसको सभी चोदना चाहते थे.

उसने मुझे बॉडी लोशन दिया, साथ ही पहले मेरे लंड को अच्छे से लोशन लगा कर रेडी किया. मैंने उसकी पीठ सहलाई और उसको थोड़ा शांत किया और एक दमदार शॉट लगाया अपना पूरा लंड उसकी गांड में कर दिया. साथ ही भाभी अपने पैरों को मेरी कमर से बांध कर अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगीं.

मुझे उसको उसी वक्त चोदने का मन कर रहा था पर रोमांस करना भी तो जरूरी है. कुछ देर बाद मैंने अपने लंड पर भी लोशन लगाया और लंड को हाथ से पकड़ कर दीदी की गांड के छेद पर रखा और धक्का लगा दिया लेकिन मेरा लंड फिसल कर दूसरी तरफ मुड़ गया, मैंने फिर से कोशिश की लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ.

मुझे अपने पर बड़ा गुस्सा आया कि मैंने इतना अच्छा मौका हाथों से जाने दिया.

मुझे मेरी भाभी की चूत ऐसे चाटना चाहता हूँ कि उनकी चूत से स्वादिष्ट रस निकलता रहे.

कभी कभी मंजरी इतनी ज़ोर से अपनी कमर को झटका देती के पुलकित का मुँह उसकी चूत से फिसल जाता, मगर उसने भी मंजरी की कमर को पूरी मजबूती से पकड़ा हुआ था. फिर उसे कुछ काम था तो वह बोली- अभी के लिए बाय! बाद में बात करते हैं!मैंने भी उसे बाय बोल दिया और मैं भी ऑफलाइन हो गया. ट्रांसपेरेंट साड़ी की तरह ब्लाउज भी थोड़ा झीना था और ध्यान से देखने पर माया के काले निप्पल देखे जा सकते थे.

रमेश, सुरेश और काजल के लिए मयूरी का ये व्यवहार समझ के एकदम बाहर था. मेरे लंड ने इतना माल निकाला कि वो चुत में समां ही नहीं पाया और नीचे बहने लगा. अब उन्होंने भी मेरी टी शर्ट को उतार दिया तो मेरा सीना नंगा हो गया, भाभी मेरे सीने पर हाथ फेरने लगीं और मुझे किस करने लगीं.

जब हम दिल्ली पहुँचे तो नम्बर एक्सचेंज कर के अपने अपने रास्ते चल पड़े.

क्या कहूँ… वो हरामी मुझे पढ़ाने के बहाने मेरे साथ चक्कर चला रहा था और साथ ही मेरी माँ के साथ मजा लूट रहा था. तभी दरवाजे पर आहट हुई, मैंने अपने कपड़े जल्दी से पहने बाल बिखरे हुए ही थे. तभी मैंने भी जोर से पिचकारी मारी, फच्चच… से अपनी चूत का सारा पानी सास के मुँह में पेल दिया और मेरी सास ने चूत को चाट कर साफ किया.

वो लड़का जैसे ही गया मैंने डोर लॉक किया और लड़की को खींच कर अपनी गोद में ले लिया और उसकी चुची मसलते हुए उसके होंठ चूसने लगा. उसने मेरे हाथ में हाथ दे कर डांस करना चालू किया और मैं भी बेझिझक उसके हाथ और कंधे पे एक हाथ रख कर नाचने लगा. किड के भयंकर धक्कों के बीच परिश्रमी नाता के मुंह से निकलने वाली चप-चप की मीठी आवाज रेगिस्तान में पानी की बूंदों के समान मालूम पड़ रही थीं! मेरी प्राण प्यारी अर्धांगिनी के मुंह से किड के वीभत्स धक्कों के बीच उड़ती हुई मधुर ध्वनि आर्केस्ट्रा की मधुर ताल प्रतीत हो रही थी.

सब लोगों के मन से एक-दूसरे को लेकर शर्म-हया जैसी कोई चीज़ खत्म हो गई थी, पर प्यार और गहरा हो गया था.

जब मैंने भाभी के दूध को थोड़ा ढीला छोड़ा, तब कुछ उन में जान आई और बोलीं- कोई भला आमों को ऐसे भी चूसता है… ऐसे तो आम का रस कई जगह से निकल जाएगा. मगर गांड के दूसरे छल्ले ने जैसे ही मेरा सुपारा निगला, उसने आराम की साँस ली.

मूवी पिक्चर बीएफ मैंने वो कमरा दिखाने को बोला, वो मुझे अपने घर ले गयी और अपने माँ से मिलवाया और कमरा लेने वाली बात बताई- ये लड़का मेरे क्लास में है और इसे कमरा चाहिए।उसकी माँ मान गयी और मुझे एक कमरा मिल गया. मैं उसके दिए हुए एड्रेस पर पहुँच गया, जो हमारे घर से 20 किलोमीटर दूर था.

मूवी पिक्चर बीएफ फिर कैसे ना कैसे करके हम सब एक दूसरे पे से अलग होकर खड़े हुए और जैसे ही मैं उन पर से हटने लगा कि ड्राइवर ने फिर से ब्रेक लगा दिया. उस समय के बाद काया भाभी का नेचर एकदम से बदल गया मतलब उनका उदास चेहरा खिल सा उठा.

इसके बाद उसने अपनी ब्रा और पेंटी भी उतार दी और पूरी तरह नंगी हो गई.

सेक्सी डाउनलोडिंग हिंदी

अब आगे की सेक्स कहानी अगले पार्ट में सुनाऊंगी, तब तक आप जल्दी से अच्छे अच्छे कमेंट्स मेरी आईडी पर करो. लंड झड़ने के बाद मैं लेट गया और पूनम मेरे ऊपर आकर मेरे सीने को चूमने लगी. और मैंने जैसे ही धक्का लगाया लंड फिसल गया, क्योंकि चूत टाइट थी और मेरे लंड का टोपा फूल कर मोटा हो गया था.

उसकी सेक्सी जवानी इतनी कातिलाना है कि उसे देखते ही लंड खड़ा होकर सलामी देने लगे और बिना कुछ किए लंड का पानी निकल आए, उसका चेहरा एकदम गोल भरा हुआ, आँखें झील सी गहरी एकदम नशीली. इधर वो गरम सिसकारियां ले रही थी- आहह आइईई चुसओ औरर जोरर से ईईई मसल दोओ. लेकिन चुत में लंड डालने की स्थिति इसलिए नहीं बन सकी क्योंकि सभी लोग सटे हुए सो रहे थे, जरा भी हल्ला या झटका लगने से चिल्लपों होती तो गेम बज जाता.

भाभी टांगें फैलाए हुए चूत खोल कर पूरी तरह से उस आदमी के सर को अपनी चूत पर दबाए हुए कामुकता से ‘अह अह अह्ह्ह.

वो फिर से सिसकारियाँ भरने लगीं- आह… प्लीज़ अब नहीं… और नहीं… आह… रुक जाओ… म्म्म्मम…पर मेरा शैतान लंड तो फिर से खड़ा हो गया था लेकिन मैंने कंट्रोल किया क्योंकि अगर मैं बाथरूम में चोदने लगता तो शावर से पानी वेस्ट हो जाता और फिर वो भी थकी हुई थीं और वहां इतना स्पेस भी नहीं था. मेरी बहन की चुदाई की रियल सेक्स स्टोरी पढ़ कर आपको मजा आया या नहीं, मुझे मेल करके बताएं!आपका आकाश सिंघानिया[emailprotected]. तब मैं धीरे से उठा और काजल के पास गया तो देखा कि वो सीधी लेट कर सो रही है तो मैंने फिर से उसके कान के पीछे सहलाना शुरू करना ही बेहतर समझा, मैंने उसके कान के पीछे से उसके बाल हटा कर धीरे से सहलाना शुरू किया तो उसने कोई हलचल नहीं की, मुझे लगा कि वो सो रही है.

इतनी अच्छी लग रही थी? हाँ सच में अभी तक उसने कुछ नहीं किया है, केवल गले लगी है बस. पर जबसे यहाँ आये हैं सिर्फ आपके लिए चाय पीना शुरू किया है, आपके लिए चाय जब भी बनती है एक दो या तीन बार हम भी उतनी बार आपका साथ देते हैं। और आपने हमें कितने ही दिन बिना चाय पिलाए रखा। और हाँ. बस फिर मेरे भैया ने उसी दिन शाम को पापा के पास कॉल किया और वही बताया, जो उनके सर ने कहा था.

मैंने उसकी ब्रा को निकाल कर उसके दोनों मम्मों को बारी बारी दबाना और चूसना चालू किया. मैंने भी उसका वन पीस उतार दिया और उसके उन्नत और रसीले मम्मों को पीने लगा.

मैंने बोला- आगे डाल दो मेरी नंगी चूत में!और राजेंद्र कहां डाले?”मैंने कहा- पीछे!आरती, ऐसे ही जम कर बोलो खुल कर, बहुत मजा आएगा. कथा पढ़ते पढ़ते पुरुष का लिंग बिना किसी प्रयास के खुद बखुद तन जाए और लड़कियों की योनि रसीली हो उठे और उनका हाथ अनचाहे, अनायास ही उनकी पैंटी में घुस कर योनि को सहलाने लगे, उंगलियाँ क्लिट या दाने को छेड़ने लगें तभी कहानी की सार्थकता है. अंजलि दीदी ने मेरे लंड को मुख से निकाला और बोली- चल भाई, अब दे ड़े अपनी दीदी को असली चुदाई के स्वर्ग का आनन्द!मैं उठा अपने पूरे कपडे उतारे, इतनी देर में दीदी ने अपने सारे कपडे उतार दिए थे, दीदी ने बिस्तर पर लेट कर अपनी दोनों टाँगें खोली और चूत का फाटक मेरे सामने खोल के रख दिया.

अब मेरी बॉडी को कहीं यहाँ तो कहीं वहां गांड को छूने लगा, तो कहीं मम्मों को दबाने लगा.

मेरे ही शहर से मेरा एक पुराना दोस्त था रोशन, जो मेरा क्लास फैलो रहा है. भाभी ने मेरे लंड की गोटियां सहलाते हुए लंड को जबरदस्त चूसा और मेरे पानी के एक एक बूंद को गटक गईं. मैंने उसे अपने पास बिठा कर उसके आंसू पोंछे तो वो झट से मेरे गले से लग गई.

वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं कि वो झड़ने वाली हैं, मैंने ध्यान नहीं दिया और वो झड़ गईं. विक्की ने खुश होकर कहा- देखो तुम्हारी सील टूट गई, अब तुम कुंवारी नहीं बची.

वैसे लड़कियों को पटाने का मुझे बहुत अनुभव है मगर किसी आंटी के साथ मेरा पहला प्रयत्न था. उन्होंने उस दिन हरे रंग की साड़ी पहनी हुई थी जिसमें वो बहुत ही माल लग रही थी, उन्होंने मुझसे पूछा- राज, दिल्ली में तो तुम पर बहुत सी लड़कियाँ मरती होंगी?मैंने उनसे बोला- ऐसा कुछ भी नहीं है. उन दोनों की बातें शुरू हो गईंमीना- भैया रात में कार्ड के गेम में बहुत मज़ा आया ना.

हॉर्स सेक्सी

पहले मैं मैनपुरी (उतर प्रदेश) में रहता था, अभी दिल्ली में रहता हूँ.

आपके विचार और सुझाव मेरी नीचे दी गई ई मेल आईडी पर अवश्य प्रेषित करें. अगले दिन ननद ननदोई जी चले गए, ननद जाते समय बोली- भाभी, अगर इनको काम में देर हो जाएगी तो ये आपके यहाँ रात को रुक जाया करेंगे. घर में मॉम, मैं नानी और बहन ही रहते थे, मिलने वाले आते थे और दिलासा देकर जाते रहते थे.

मैं सरिता को उतार कर अभी कुछ आगे गया ही था कि सरिता का फ़ोन आ गया और उसने बताया कि उसके फ्लैट की चाभी ऑफिस की टेबल पर ही छूट गई है और बारिश तेज होने के कारण चाभी ऑफिस से लाना मुश्किल है. आकांक्षा मेरे इस काम से इतनी खुश हुई कि उसने अपनी पहली सैलरी से मुझे ट्रीट भी दी, मैं खुश था कि वो अपने नए जॉब में खुश थी और धीरे धीरे पवन और उसकी बेवफाई को भूलती जा रही थी. xxx வீடியோஸ்यार जब मैंने वो ड्रेस पहनी तो मेरे दोनों कंधे खुले थे, ऊपर केवल एक पट्टी लगी थी और पीठ मेरी आधी से ज्यादा खुली हुई थी, जैसे आयरनमैन मूवी में टोनी स्टार्क की गर्लफ्रेंड ने पहनी थी.

फिर खाना खाने के बाद जब मैं वापस आई तो अमित को एक एसएमएस किया- हां जी, अब बताइए?अमित- खा चुकी आप खाना?मैं- हां खा चुकी हूँ. जैसे ही मैंने अपना ब्लाउज निकाला, मेरे बूब्स उछल पड़े मेरी ब्रा मेरे बूब्स को संभाल नहीं पा रही थी क्योंकि मैंने बहुत छोटी ब्रा पहनी थी।फिर मैंने अपने पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया और पेटीकोट एकदम से नीचे गिर गया।रोहण मुझे ब्रा पेंटी में अधनंगी देख कर शॉक हो गया था.

वैसे मुझे ऐसे ही कपड़े पसंद थे और मैं पहनती भी ऐसे थी कि मेरी आधी बॉडी दिखे, तभी इस जवानी और इस जिस्म का मज़ा है. झीनी जॉर्जेट की सफ़ेद साड़ी में अंजलि की बॉडी का पूरा शेप समझना आसान था. )वो बहुत कुछ बोले जा रही थी, पर उसके उभार मुझे छूने की वजह से मैं गरम हो गया था.

मैं बोर हो रहा था तो मैं उनकी काम में मदद करने के बहाने अपनी रांड को देखने लगा. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल नज़र आ रहे थे, जैसे उसने अभी कुछ दिन पहले ही चूत की झांटें साफ़ की हों. चपरासी बोला- साहब 7:30 बज गए और मुझे जाना है!तो मैंने उसको बोल दिया- तू चला जा, हमको थोड़ा टाइम लगेगा.

थोड़ी देर में दर्द कम होने के बाद मैंने अपने लंड को हिलाया और अन्दर बाहर करने लगा.

तभी मैंने उठ कर अपनी जींस उतार दी और उसकी भी जींस उतार दी, अब वो मेरे सामने काले रंग की पैंटी में बेड पर लेटी हुई थी, ऐसा लग रहा था कि जैसे कह रही हो कि आकर यह पेंटी भी फाड़ दो और अपना लौड़ा एक ही झटके में मेरी चूत में डाल दो!मैं वापस जाकर उसके ऊपर लेट गया और उसके गले में जोर जोर से किस करने लगा. अन्नू भाभी मेरा लंड चूसने लगीं और कुछ मिनट तक लंड चूसने के बाद मैं अपना लंड अन्नू भाभी की चूत पर ले गया और भाभी की चूत टटोलने लगा.

भाभी की फिर से एक जोरदार चीख निकल गई और भाभी की दर्द के कारण दोनों आँखें ही बाहर को आ गई थीं. अच्छा है न?मैं- मेरे लिए लाए हो क्या है?अमित- खुद देख लो मैं क्या बताऊँ. मेरा बड़ा भाई लगातार मेरी चुदाई में लगा हुआ था, लगभग 10 मिनट होने को थे, वो लगातार मुझे चोद रहा था और मेरी गांड लाल करने में लगा हुआ था, उसके थप्पड़ मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहे थे तो मैंने नीचे हाथ डाल कर उसके आंड को दबा दिए.

अब तक मेरा लंड पिंकी की गांड में अपने लिए जगह बना चुका था और मैं जानता था कि पिंकी को जितना दर्द होना था, हो चुका है. मेरे पति को पता चला तो? मैंने उससे झूठ बोला है कि मुझे वाइन पसंद नहीं. मुझे वही सब सीन याद आने लगा जो अमित और गांव और अवी ने मेरे साथ किया था.

मूवी पिक्चर बीएफ पायल भाभी तो चुदते-चुदते ही सो सी गई थीं और मुझे भी बहुत तेज नींद आने लगी. अगले दो दिन मैं टयूशन नहीं गया तो उसका फोन मेरी मॉम के पास आया कि सैंडी दो दिन से टयूशन क्यों नहीं आ रहा है?मॉम ने मुझे ज़बरदस्ती उसके पास टयूशन के लिए भेज दिया.

इंडियन सेक्सी वीडियो एचडी

चलो तुम एक बार डाल के देखो!जैसे ही अपना लंड मैंने उनकी गांड में घुसाया तो पहले तो गया ही नहीं; फिर मैंने मेम की गांड को चाटना शुरू किया; उनकी गांड को अपने थूक से भर दिया. एक दिन मैं रसोई में पानी लेने गया था तभी भाभी भी वहां आ गईं, तो मैंने हिम्मत कर के भाभी के गाल पर चुम्मा करते हुए भाभी के मम्मों को भी छू दिया. मेरी सिस्कारियों से सर की कामुकता और बढ़ गई और थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड मेरी चिकनी चूत से सटाया और हाथ से पकड़ कर मेरी चूत की दरार के बीच ने मेरे दाने पर रगदने लगे.

फिर भी किसी लड़की को चोदना चाहते हो तो पहले उससे दोस्ती करो, उसका दिल जीतो. इस तरह हमारा प्रोग्राम सेट हो गया और मैं छह दिसम्बर की सुबह बैंगलोर जा पहुंचा. गांव की सेक्सी मूवी एचडीफिर हमने ऊबर ली हुई थी, कुछ ही देर में कैब एक सुनसान सड़क के बाद फॉर्म हाउस में जाकर रुकी.

कहते हुए वो मुझे दुखी सी लगी तो मैंने भी आगे कुछ नहीं पूछा और हम टीवी देखने लगे.

मैं समझ गया कि पिंकी को जवानी के इस खेल में मजा आ रहा था और वो इस खेल को समझ रही थी. सुभाष की शादी के बाद मैं अपनी जॉब के लिए दिल्ली चला गया, मैं पूरे 11 महीने बाद जयपुर आया क्योंकि मैंने छुट्टी ली हुई थी, मुझे जयपुर में कुछ काम था.

फिर रोहण भी फ्रेश होने चला गया और मैं किचन में ब्रेकफास्ट बनाने चली गयी. अब तक आपने इस इंडियन सेक्स स्टोरी के पिछले भाग में पढ़ा था कि मैं अपने गाँव गई हुई थी, मेरे गाँव में एक लड़के ने मुझे पकड़ लिया था और मेरी गांड की तरफ से मेरी जाँघों में लंड रगड़ कर माल निकाल कर भाग गया था. वो मेरे मम्मों को धीरे धीरे से तेज़ तेज़ दबाने लगा और पूरी पीठ पर किस करने लगा.

फिर मैंने दुबारा अपना लौड़ा, जो कि आधा पहले ही अन्नू भाभी की चूत में था, एक और खींच के तेज धक्का मारा.

मुझे मेरी भाभी की चूत ऐसे चाटना चाहता हूँ कि उनकी चूत से स्वादिष्ट रस निकलता रहे. फिर जैसे ही उसका दर्द कम हुआ, मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया. कहानी यह है कि तुम इंडियन पत्नी हो ब्रायन तुम्हारा पड़ोसी है जो कि तुम्हारे घर आया है.

मन सेक्सीमुश्किल से मैंने सिमरन को 10 मिनट ही चोदा होगा कि उसे बहुत मजा आने के कारण वो झड़ गई लेकिन मैं लगातार धक्के लगाता रहा और मैंने उसे अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक लगातार चोदा. मैंने उसकी परवाह न करते हुए उसे चेयर पर घोड़ी बना दिया और चूत पर लंड सैट करके धक्का लगा दिया.

महाराष्ट्रीयन सेक्सी

ब्रा का क्या करोगे?”क्योंकि अभी तेरी ब्रा सूँघ कर ही काम चला लूँगा बाद में तेरे आमों को चूस कर रस पियूंगा. मेरी इच्छा है कि मैं भाभी के साथ शादीशुदा जोड़ियों की तरह बाहर घूमने जाऊँ, अपने हाथों में भाभी का हाथ लेकर और भाभी की कमर को पकड़ के!3. 2 मिनट तक ऐसा करने के बाद वो रिलेक्स हुई तो मैंने अपना लंड हिलाना शुरू किया.

आज पूनम कुछ ज़्यादा ही सेक्सी लग रही थी क्योंकि उसने आज रेड कलर की साड़ी पहनी हुई थी. मैं मुंबई में रहता हूँ, मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं, अब तक कोई बच्चा नहीं हुआ है, पर मुझे अलग अलग औरतों को चोदने का बहुत शौक है, अगर मुझे हर रात भी चोदने को मिले तो मैं चोदूंगा. तो पहले मना करने लगी लेकिन मेरे ज़ोर देने पर लंड को अपने मुँह में लेके चूसने लगी.

मैं उसके मम्मे, जो अभी अभी सेब की तरह ही हुए थे, वहां तक पहुंच गया था. भाभी दिखने में तो किसी हिन्दी फिल्म की नायिका से कम नहीं लगती थीं, मैं हमेशा से उन पर नज़र रखता था. लेकिन उनके साथ आप उनका हिन्दी रूपान्तर भी अवश्य लिखें क्योंकि आपकी कहानी पूरे भारत वर्ष के अलावा नेपाल और अन्य देशों में रहने वाले भारतीय भी पढ़ते हैं, उन्हें स्थानीय भाषा समझने में असुविधा हो सकती है.

जब मैं अपनी 12वीं के बाद की पढ़ाई के लिए उज्जैन आया तो मैं अपने चचेरे भाई के यहां रुका. उसके अगले दिन भी ऐसा ही किया, उस किताब को पढ़ा और उसमें ही अपना माल गिरा कर वापस उसको उसकी जगह पर रख दी.

मेरे पास शायद एक बार का और मौका था क्योंकि मैं मॉम को बस यहीं चोद सकता था, घर पर तो संभव ही नहीं था.

उसकी मखमली गांड मारते समय मैं हाथ से उसकी गांड पर चमाट मार रहा था, दर्द की वजह से वो कराह रही थी. हिंदी सेक्सी पिक्चर ब्लू सेक्सीसुबह सो कर जगी और नहाने चली गई तो मुझे लंड का मुँह में लेना और चूसना और उसका चूची दबाना याद आने लगा. एक्सएक्सडीडीएक गोरी जवान और गदराई विधवा बिल्कुल नंगी इस कमरे के अटैच्ड बाथरूम में नहा रही है और यहाँ मेरे अलावा और कोई नहीं है. मैं बहुत इंजवाय करने लगी, क्या मस्त खुशबू थी उनके लंड की!सुरेश अंकल बोले- अपन तीनों पूरे नंगे हो जायें, तब और जबरदस्त मजा आयेगा अपने को भी, आरती को भी!तीनों ने झट से अपने कपड़े और अंडरवियर उतारे और मेरे नंगे बदन से लिपट गये.

प्रीति को को बेड के कोने पे पीठ के बल लिटाया, पैर को चौड़ा किया और उसके पैरों को चौड़ा करके मेरे कंधों पर डाल लिया.

थोड़ी देर में हम ऐसे ही सो गए, जब हम जागे तो पूनम से बिल्कुल खड़ा नहीं हुआ जा रहा था. कुछ देर मुँह की चुदाई करने के बाद उसने फिर स्पीड बढ़ा दी, मैं जान गई कि लंड से पिचकारी निकलने वाली है और इस बार मेरे मुँह में ही जाएगी. अब हमारी फोन पे सेक्स चैट होने लगी और मैंने उसको सेक्स चैट में उसको अलग अलग पोज़िशन में चोदना चालू कर दिया.

माया सबके सामने तो साड़ी ठीक कर नहीं सकती थी, इसलिए उसने अपनी प्रेजेंटेशन चालू की. कभी कभी नीचे झुक जाती और आँचल गिरा देती थी, जिससे उसके बड़े बड़े चुचे ब्लाउज में से दिखाई देते थे. उनके मम्मों का साइज 34 इंच है, भाभी के चुतद भी 34-35 इंच के तो होंगे ही… भाभी का रंग एकदम दूध जैसा गोरा और होंठ तो इतने रसीले की उनको देखते ही उन पर टूट पड़ने की इच्छा हो जाए.

सेक्सी वीडियो मूवी देखने वाली

कुछ देर बाद मामी फिर बोली- बहन के लौड़े, उनगली से ही छोड़ता रहेगा या अपनी मामी की गांड में लैंड भी घुसायेगा?अब मैंने मामी की गांड के छेद पर लंड का सुपारा टिकाया और अंदर को दबाया, पूरा सुपारा तेल की सहायता से मामी की गांड में घुस गया और मामी हल्के से चीख पड़ी, वो कह रही थीं- यार, गांड में दर्द हो रहा है. मयूरी उम्मीद कर रही थी कि बाहर तो अब घनघोर चुदाई चल रही होगी, पर सबको सोफे पर चुचाप बैठे हुए देख के समझ गई कि सब थोड़े असहज हो रहे हैं. तभी विवेक भी बोल पड़ा- सरिता देख इसने हमें ये सब करते हुए देख लिया है, अब ये सब इसके साथ भी करना पड़ेगा.

फिर मयूरी काजल से मुस्कुराते हुए नटखट अंदाज़ में पूछने लगी- काजल, तुम अपने भाइयों से कबसे चुदवा रही हो?काजल ने थोड़े शिकायत भरे अंदाज में कहा- भाभी, बस आज और अभी से ही शुरू हुआ था और आज ही हम सब पकड़े भी गए.

भाभी के मस्त रसीले मम्मों को देखते ही मैं ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को चाटने चूमने लगा.

तभी बस की स्पीड स्लो हुई तो मैंने थोड़ा नज़दीक जाकर बोला कि आंटी आप थोड़ा इधर हो जाओ. अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और मेरे लंड का तो हाल ही बुरा था, अंडरवीयर में वो तन कर एकदम अकड़ चुका था, मेरी अंडरवीयर और मेरा लंड भी मेरे प्रि-कम से गीली हो चुका था. தமிழ் செஸ் வீடியோ சென்னைजल्दी बताओ?मैं- तुम कब करना चाहते हो?अमित- मैं तो अभी करना चाहता हूँ.

अकीरा ने अपने प्यार का इज़हार तब भी किया था और विक्रांत को भी वो अच्छी लगती थी. फिर वो मेरे दोस्त अमित से बोली- छोड़ना शुरू करो यार… मेरी चूत में धक्के मारो! चोदो मुझे!अमित मेरी बीवी की चूत में अपना लंड पेलने लगा मेरी बीवी आनन्द विभोर हो कर आहें, सीत्कारें भरने लगी. फिर उसने मुझ से पूछा- फैमिली में कौन कौन हैं?तब मैंने उसे बताया- मेरे मम्मी पापा और मैं ही हूँ बस!फिर मैंने उस से पूछा- यहाँ कौन कौन रहता है?तो उसने बताया कि उस का पति जो कि एक मल्टी नेशनल कंपनी में अच्छी पोस्ट पर हैं.

मैं चेंजरूम से बाहर आई तो विक्की ने देखा और कहा- हाँ, अब हुस्न की परी लग रही हो. जब से आपको मैंने देखा है, तब से यही सोच रहा हूँ कि कैसे बात करूँ?मैं चुप रही.

पर किसी के घर रात में जाने में मेरी फ़टी पड़ी थी, इसलिए मैं जल्दी जल्दी कर रहा था.

जिस तरह से कोई तुम्हारी गर्लफ्रेंड है, वैसे ही वह भी किसी की गर्लफ्रेंड हो सकती है. तभी अचानक से मैंने देखा कि वो भी अपनी गांड को पीछे की ओर धकेलने लगी थी. वो हंसती रही।मैंने उसे अंदर आने को कहा और उसे सोफे पे बैठाया और मैं कॉफी बनाने गया.

सेक्सी वीडियो सलवार मुश्किल से मैंने सिमरन को 10 मिनट ही चोदा होगा कि उसे बहुत मजा आने के कारण वो झड़ गई लेकिन मैं लगातार धक्के लगाता रहा और मैंने उसे अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक लगातार चोदा. उसने कोई प्रतिरोध नहीं किया मतलब कामुकता उसके दिमाग में चढ़ चुकी थी, मेरा रास्ता साफ़ था.

मेरी बहन सरिता इस तरह उसकी चूत चूसने चाटने से बिल्कुल पागल सी हो गई और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी. नशे में धुत्त पार्टी में कोई भी लड़का मुझे लाइन देता, मैं बहाना करके उसके साथ कभी कार में, तो कभी वाशरूम में चली जाती. मेरी आँखें मज़े से बंद हो गई थीं, तभी अचानक उसने झटके से गेट खोल दिया, मैं उसके सामने लंड हाथ में पकड़े खड़ा था और वो सिर्फ़ तौलिया में मेरे सामने थी.

दर्द नाक शायरी

इस दरमियान छोटी ने फिर वही बात दोहराई- क्या तुम भी मुझे चोदोगे?सभी सर झुका कर खाना खाने लगे, तो छोटी ने फिर कहा. मैंने वैलंटाइन वाले दिन उसको कान पर फ़ोन लगा कर कहा- आई लव यू, इफ यू लव मी. उन्होंने पूछा कि क्या हुआ इतनी सुबह क्यों बुलाया है आपने? क्या काम है?मैंने कहा- प्यार करना है आपको.

’मैंने पूनम के पेटीकोट का नाड़ा खोल उसका पेटीकोट खींच कर निकाल दिया. अब बस मैं आपे से बाहर हो गया और अपनी भाभी पर टूट पड़ा, मैंने उनका ब्लाउज फाड़ दिया और उनके चूचों को अपने मुँह में भर लिया.

वो घूमी तो उसकी लचकती कमर एकदम नागिन जैसी और गांड सहारा रेगिस्तान के छोटे छोटे रेत के ढेर जैसे एकदम गोल गोल.

थोड़ी देर बाद भाभी के घर में संजय जाता हुआ दिखा, मुझे समझ आ गया कि भाभी ने मुझे घर क्यों भेज दिया. फिर वही हुआ, मैं जब कोचिंग जा रही थी, तो अमित और उसका एक दोस्त आया. अली चिल्लाया- आ आ आ धीरे धीरे लग रही है!जीजा जी बोले- चुपचाप खड़ा रह… क्या पहली बार करवा रहा है? नखरे मत कर, गांड ढीली रख तो लगेगी नहीं!और उन्होंने बेरहमी से अपना पूरा मस्त लंड अली की कोमल गांड में पेल दिया और लंड अंदर-बाहर… अंदर-बाहर करने लगे.

लेकिन मुझे राजधानी पकड़नी थी तो मैं इस बस को छोड़ने की हालत में नहीं था. इसके बाद भाभी हमारे लिए नाश्ता और चाय ले आईं और बोलीं- भाई साहब आप कहां रहते हो. बात जब की है सर्दियों की छुट्टियों के चलते मेरी पत्नी बच्चों को लेकर अपने मायके गई हुई थी.

यह ऑडियो स्टोरी है डेल्ही सेक्स चैट की दो लड़कियों स्वाति और निकिता की आपस में सेक्सी बातचीत की.

मूवी पिक्चर बीएफ: पर वो डरी हुई थी क्योंकि उसके भाई को पता होने के बाद भी उसके भाई ने उस लड़के को कुछ नहीं कहा, उल्टा मोनिका को डांटा. मैं अकेला ही घर पर रह रहा था तो मैंने सोचा क्यों न घर पर आज कोई कॉलगर्ल बुला लूँ.

मेरी इच्छा है कि मुझे एक ऐसी ब्लू फिल्म मिल जाये जो सिर्फ देवर भाभी की हो. हमारा मकान जहां बन रहा था, वहां मैं चाय देने गई, वहां पर पांच मजदूरों के साथ में किशोर भी था. मुझे क्या चाहिए था, मैंने कैमरा ऐसा अड्जस्ट किया ताकि हमारी चुदाई की अच्छी वीडियो आ सके.

वो दिन भर पढ़ाई करती रहती है और दिखने के अलावा हर बात में इतनी स्मार्ट है कि पूछो ही मत.

धीरे धीरे रात होने लगी, सब शादी की तैयारी करने लगे और मैं इस तलाश में था कि मॉम की चुदाई कैसे करूं. आपको मेरी आपबीती इंडियन सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं,[emailprotected]पे मेल ज़रूर कीजिए. मैं जरा रुक गया, मेरे साथ 5 मिनट बात करने के बाद वो भी मेरा साथ देने लगी और उछल उछल कर मुझसे डॉगी शॉट में गांड मरा रही थी.