बीएफ वाला बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ हिंदी 2021 का

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी भाभी सेक्सी: बीएफ वाला बीएफ बीएफ, मॉम गांड उचका कर बोलीं- चुदाई क्यों रोकी?मैं बोला- आप मेरी बात तो मानती हो तो ठीक है नहीं तो मैं नहीं चोदूँगा.

बीएफ वीडियो चोदने वाली बीएफ

माँ पापा के जाने के बाद अगले दिन मैं दीदी के घर गया, तो पता चला कि उनकी देवरानी कहीं गयी हुई है. हरियाणा बीएफ सेक्स वीडियोमेरी बात सुन कर वो कुछ उदास सी हो गईं और उसी बीच आगे बात बढ़ती कि उनकी सास की आवाज आ गई तो भाभी को जाना पड़ा.

हल्का हल्का नशा अब चढ़ने लगा था, मैं शीतल की जान्घें सहला रहा था, अंजलि और शिवानी देख रहे थे और उनकी आँखों से चढ़ता हुआ जोश मुझे साफ़ दिख रहा था!मैं शिवानी की जान्घें ताड़ रहा था और शीतल के कान में कहा- शीतल इन दोनों को भी चुदवा मुझसे!इस पर शीतल ने कहा- भैया क्या अंजलि और शिवानी दीदी की जान्घों से बहती हुई बियर पीना चाहोगे?मैंने हामी भर दी. बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स एक्सउन्होंने 5-6 बार मेरी चुत पर जीभ चलाई, फिर जीभ को चुत में डाल चाटने लगे.

उधर दीदी ने गिलास निकाल कर रखे और जीजा को नंगा देखा तो वो खुद भी पूरी नंगी हो गईं.बीएफ वाला बीएफ बीएफ: कुछ देर कंधे को चूमने के बाद, मैं उनकी पीठ की तरफ आ गया और उनकी पीठ को चूमने लगा.

कुछ समय बाद शादी में पहुंचा और खाना खा कर दोस्त के रूम में उसके बेड पर लेटा हुआ था.मगर मुझे नहीं पता था कि बिंदु ने अपनी चूत का हिसाब पूरा करने के लिए उसको घर में सैट किया था.

बीएफ भोजपुरी हिंदी बीएफ - बीएफ वाला बीएफ बीएफ

मजे की बात ये थी कि भाभी को तो दोनों माँ बेटी का पता था परंतु उन दोनों को आपस की बात का पता नहीं था और न ही हमने बताया.खैर उसने आते ही पूछा कि खाना खा लिया?मैंने कहा- नहीं मैं तुम्हारा इंतज़ार कर रही थी.

खैर उसने डबलरोटी और अंडे निकाल कर ऑमलेट बना कर मुझे दिया और बोली- अभी तो यह खाओ… सुबह कुछ और व्यवस्था करती हूँ. बीएफ वाला बीएफ बीएफ वहाँ जाकर जो कुछ मालूम हुआ, उससे मेरे कान सुर्ख हो गए, मेरी 1 कजिन जिसका नाम सारा था और उम्र लगभग १९ साल थी की शादी हमारे कजिन इमरान से हुई थी और उनका आपस में बहुत प्यार मोहब्बत था, पता नहीं क्या हुआ कि उसने ग़ुस्से में आकर मेरी कजिन सिस्टर को तलाक़ दे दिया और इसी कारण से वह शादी में भी नहीं आयी थी.

कामिनी- तुम्हारा वो कितना बड़ा है ना…मैंने हिम्मत दिखाई पर थोड़ा मजाक के लहजे में बोला- यार अगर तुम्हें यह पसंद आ गया हो तो आज के लिए ये तुम्हारा ही है!यह सुनते ही कामिनी मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

बीएफ वाला बीएफ बीएफ?

हम अलग हुए कभी न मिलने के लिए!वह जीप लेकर चला गया, मैं स्टेशन की ओर बढ़ा।. मैंने अपनी दोनों बांहें उसकी कमर पे डाली और उसके कामुक बदन को सहलाने लगा. मैंने मेहमान के सम्मान में अपना लंड अपनी पत्नी के मुंह से बाहर निकाल लिया और आर्थर ने फ़ौरन अपने मोटे ढपाल को उसके मुंह में घुसेड़ दिया.

तभी सुरेंद्र जीजा अपनी उंगली मेरी गांड में डालने लगे, मुझे गांड में थोड़ा सा दर्द का अहसास हुआ, इधर सामने अंकल मेरी चूत को बिल्कुल चाटे जा रहे थे. तब मैंने प्रिया को हल्का हिला कर जगाने की कोशिश की तो वह तुरंत जाग गई, मैंने उसे एक स्माइल पास की, उसने भी मुस्करा कर मेरी तरफ देखा और नजरों से पूछा कि क्या हुआ, क्यों जगाया?तो मैंने उसे अपने बेड के थोड़ा पास आने को कहा तो उसने मना कर दिया और इशारे से मुझे पास आने को कहा तो मैं लेटे-लेटे उसके बेड पर चला गया. नहीं तो लड़कियाँ आजकल शादी से पहले ही अपनी चूत फड़वा लेतीं हैं।फिर जब भाभी का दर्द कुछ कम हुआ तो वो अपने चूतड़ उठाने लगीं, भैया समझ गये और फिर वो भी ऊपर से धक्के लगाने लगे.

अब मुझे उम्मीद हो चली थी कि सोनिया की चूत अब मेरे लंड से ज्यादा दूर नहीं है. मैंने उससे पूछा- अच्छा बताओ तुम्हारा दूध इतना बड़ा बड़ा कैसे और इतना टाईट कैसे?तब उसने कहा- मेरे पड़ोस में एक दोस्त है, उसी ने मुझे एक दवा बताई, मैं वो यूज़ करने लगी, तब से मेरे ये दूध बड़े हो गए, उससे पहले मेरे छोटे छोटे दूध थे और मेरे ऊपर कोई कपड़ा नहीं सेट होता था. मुझे सबा की बात सुनकर गुस्सा आया और मैंने उसको बुरा भला बक दिया और घर से बाहर निकाल दिया.

फिर कभी मेरे चेहरे को भी चूसने लगते और गालों को भी काटने लगते!कुछ ही देर में हम लोगों ने नाश्ता कर लिया, नाश्ता करते ही उन्होंने मुझे टेबल पर ही झुका दिया और चोदने लगे, 10 मिनट तक चोदने के बाद जब उनके लंड से बीज निकलने वाला था तो उन्होंने उस बीज को मेरे ब्रेड पर गिरा दिया और मुझे खाने को बोले. फिर उसके मम्मों को ज्यादा न ताड़ते हुए मैंने उसकी पैंटी की ओर हाथ बढ़ाया और उसे नीचे कर दी.

अब मैं खूबसूरत चेहरे को अपने दोनों हाथों में थाम कर अपने प्यार को होंठों के माध्यम से भाभी को बयां कर रहा था.

बेटी याना की चुत मेरे मुँह पर पानी छोड़ रही थी और उसकी चुचियां मेरे हाथ में थीं, जिनको ज़ोर से मसल रहा था.

फिर मैंने लंड उसके अंडरवियर से निकाल कर पकड़ लिया, साथ ही दिनेश का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा, उसने भी मेरा लंड पकड़ लिया. फिर उसने मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा. सुकन्या ने देर न करते हुए अपने चेहरे को थोड़ा सा उठाकर लण्ड को गप से मुंह में भर लिया.

मेरा फ्रेंड ये सब देख रहा था तो वो बोला- भाभी, आपको पहले लंड देखना है तो बताओ. तभी मॉम हंसने लगीं और नवीन के लंड को पाजामे के ऊपर से ही पकड़ कर बोलीं- तुम देहात वालों को सिर्फ अन्दर डालना ही आता है क्या. मैं जल्दी से सोनिया के कमरे में गया जहां बेड पर मेरी छोटी बहन सो रही थी और नीचे बेड के पास सोनिया ने एक अलग बिस्तर बिछाया हुआ था.

कुछ देर बाद वो फ़ोन से बात करते हुए गेट पर आई और कहा कि मैं गेट पर हूँ.

मैंने बोला- ये क्या है?तो भाभी बोलीं- तुम्हारे लिए स्वीड डिश यानि केला है. वो मेरी कमर पर हाथ रख कर एक हाथ मेरे ब्लाउज में से दूध दबाते हुए मुझे दो कदम पर बिछी रजाई पर ले गया. दीदी ने पहले तो मुझे रोकने की कोशिश की, लेकिन मैंने जबरन अपना मुँह लगाए रखा, तो दीदी ने अपनी टांगें खोल दीं.

तो मैं करीब 2 मिनट के लिए रुक गया और अपने लंड से ज्योति की चूत में धक्के मारना बंद कर दिए. फिर थोड़ी देर में उसके सामान्य होने पर मैं उसकी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा. मम्मों को पकड़ कर इतना दबाओ की लड़की के मम्मों पर दबाने वाले का हाथ छाप जाए.

पहली चुदाई के बाद जैसे ही उसको आंख लगी तो मैंने उसके घुटनों के पीछे जीभ फिराई.

वो मेरी चड्डी के अन्दर भी हाथ मार कर चुत में उंगली डाल कर, फिर उसके रस को, जो उसकी उंगली पर चिपक जाता था, कभी खुद चाटता था, कभी मुझे चटवाता था. मैंने उसे जकड़ कर रखा था और साथ में मैं उसकी गांड धीरे धीरे मारने लगा.

बीएफ वाला बीएफ बीएफ इसी बीच गर्मियों की छुट्टियां आ गयीं और इनके सास-ससुर अपने पोते यानि कि सुकन्या जी के बेटे को लेकर गाँव चले गए. मैंने उसको पकड़ कर चूमा और सोचा कि इसकी चुत मेरा मोटा लंड खा खा कर ढीली हो गई.

बीएफ वाला बीएफ बीएफ जैसा कि ब्लू फिल्मों में लड़की लड़के का लंड चूस चूस कर मजे लेती है, वैसे मजा ले. मॉम की साड़ी थोड़ा सा ऊपर उठाकर मॉम की साड़ी के अन्दर ही घुस गया और मॉम की चुत चाटने लगा.

उन दोनों को दीन दुनिया का कोई होश नहीं था और वे दोनों घर में मेरी उपस्थिति को भी भूल चुके थे.

1 साल की सेक्सी फिल्म

यदि ना करता तो सच में बहुत पछताता भी, सो जब उसके साथ सेक्स किया तो मज़ा भी बहुत आया. मैंने पूछा- क्या यह हो सकता है?वो बोली- क्यों नहीं हो सकता, अगर कोई चूत अपनी पर आ जाए तो क्या नहीं कर सकती. अंकल ने मेरे पीछे घूम कर जैसे ही देखा मेरे पिछवाड़े की तरफ और मेरे दोनों कूल्हों पर हाथ रखा, बोले- बाप रे, तुम क्या कयामत हो वन्द्या तुम्हारी गांड तो बहुत ही जबरदस्त है, इतनी निकली हुई गांड, मैंने आज तक नहीं देखी, बहुत गजब की गांड है तेरी वन्द्या!और वो मेरे दोनों कूल्हों को चूमने लगे, और फिर कूल्हों को फैलाकर जहां मेरी गांड का सुराख था, वहां जीभ चलाने लगे.

किचन में ही नाश्ता बनाने के दौरान ही मुझे चोदते रहे, फिर जब नाश्ता बन गया, तब डाइनिंग टेबल पर उन्होंने नाश्ता लगाया और मुझे अपने लंड पर बिठा दिया. मैंने दारू का इंतजाम भी कर रखा था तोथोड़ी देर बाद प्रदीप दारू पीने में लग गया क्योंकि वो बहुत बड़ा पियक्कड़ है. उन दोनों को दीन दुनिया का कोई होश नहीं था और वे दोनों घर में मेरी उपस्थिति को भी भूल चुके थे.

अबकी बार मैं 69 की स्थिति में था जहां मैं मंजू की चूत को चूस रहा था और वो मचले जा रही थी.

मैंने उसके चूतड़ों पर हाथ फिराया और पीछे से उसकी चूत के अंदर अपना लंड डालने के लिए उसके पिछले पटों में से बाहर निकली चूत को उँगलियों से अलग किया. एक दिन मेरे साले साहब को कंपनी की किसी मीटिंग के लिए आउट ऑफ स्टेशन जाना पड़ा तो मेरी सास का फ़ोन आया कि तुम दोनों यानि मैं और मेरी वाइफ उनके घर रुकें जब तक वो वापिस नहीं आ जाता. वो हंस कर बोली- यार मेरी ग़लती थी कि मैंने तुमसे उसका लंड शेयर नहीं किया.

तुम्हारे दूध को पकड़ सकता हूँ?उसने कहा कि तुम पकड़े हुए ही हो और कैसे पकड़ना है?मैंने कहा- मतलब मैं इनको देख सकता हूँ. मैंने देखा अब वो अपना हाथ पेंटी के अन्दर डाल चुकी थीं और अपनी चुत को सहला रही थीं. उसने जैसे ही दोनों तरफ से खींचा वो झट से नीचे गिर गई और मेरी चुत पूरी नंगी उसके सामने थी.

क्योंकि सुकन्या का काम रस अभी अभी निकला था इसलिए वो थोड़ा ढीली हो रही थी लेकिन मैं अब रुकने वाला नहीं था बल्कि और हचक हचक कर चोदने लगा. रानी अच्छे से मस्ता गई थी, वो कुछ बोलना चाहती थी लेकिन मुंह से केवल आहें ही निकल रही थीं.

दीदी ने डॉक्टर के लिए कहा तो मैं वहाँ से निकला और डॉक्टर को साथ लाया. मुझे अपने सामने करके भाईजान मेरे चूतड़ों पर हाथ लगा कर दबाते हुए मुझे अपने पास को खींचा और अपने मुँह को मेरी चुत पर लगा दिया. तो उनमें से एक मेरे दूध को मसलता हुआ मेरे पति से बोला- तुम भी यहीं रुक जाओ, हम तेरी बीवी को तेरे सामने ही चोदेंगे.

कहानी के अगले भाग में आप प्रभा के बाकी बेटियों के साथ की चुदाई, मम्मी के गर्भवती होने एवं शीतल से मेरे विवाह की कहानी पढ़ेंगे!तो यह कहानी कैसी लगी आपको?मुझे मेल कर के जरूर बतायें![emailprotected]धन्यवाद!कहानी का अगला भाग:मेरी मम्मी रंडी निकली-4.

बिल्कुल भी देरी न करते हुए मैंने जीन्स और शर्ट उतार फेंकी और बिल्कुल नंगा हो गया. तो मैं करीब 2 मिनट के लिए रुक गया और अपने लंड से ज्योति की चूत में धक्के मारना बंद कर दिए. बहूरानी झट से उठीं और मेरा लंड पकड़ कर अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी, इसकी चमड़ी पीछे कर फूला हुआ सुपारा निकाल कर जीभ से चाटने लगी और फिर उसे गप्प से मुंह में भर लिया और चाकलेट की तरह चूसने लगी.

मेरे पास मोटे कपड़े थे, जब मैंने उनको डालना शुरू किया तो बोली- क्या यार, तुम भी कहाँ की दकियानूसी हो. अचानक उसे याद आया कि उसे मेरा पानी देखना था, तो उसने मुझे अपने ऊपर से उतरने के लिए कहा.

मेरे ऐसा करने से वो तड़प रही थी और मुँह से आवाजें निकाल रही थी- आआह. उस अंडरवीयर को देख कर मैं विचलित होने लगी कि इतना बड़ा लड़का नंगा नहा रहा है…मैं उत्सुकतावश उसकी ओर मुंह करके राज का दरवाजे से निकलने का इंतजार करने लगी. वहाँ जाकर जो कुछ मालूम हुआ, उससे मेरे कान सुर्ख हो गए, मेरी 1 कजिन जिसका नाम सारा था और उम्र लगभग १९ साल थी की शादी हमारे कजिन इमरान से हुई थी और उनका आपस में बहुत प्यार मोहब्बत था, पता नहीं क्या हुआ कि उसने ग़ुस्से में आकर मेरी कजिन सिस्टर को तलाक़ दे दिया और इसी कारण से वह शादी में भी नहीं आयी थी.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी में

लगभग 20 मिनट के बाद उसने अपने लंड को मेरी चुत से निकाला और मुझे सीधा किया और बोला- मुँह खोलो.

जब दीदी नहा कर अपना बदन पोंछने लगी तो मैंने देखा उसके शरीर पर कुछ चकत्ते से निकल रहे हैं. वह भी समझ चुका था कि उसे निदा के साथ गुज़रे पलों के बारे में सब पता था, हालाँकि खुद नितिन को यह नहीं पता था कि मैं अन्तर्वासना पे कहानी ही लिख रखी थी। उसे लगा था कि मैंने उसे सेक्स चैट के दौरान बताया होगा।फिर उसने जो मलाई रखी थी वह रज़िया को दे दी और रज़िया ने ही न सिर्फ अपने पूरे जिस्म पर वो मलाई मली और हम दोनों के जिस्मों पर भी उसी ने मल दी. डॉली एकता की चुत चाटना चालू कर चुकी थी और मादक अंदाज में गालियां देते हुए बोलने लगी थी- डाल मादरचोद अन्दर.

कुछ देर बाद मैंने अपने पेटीकोट का नाड़ा खोल कर नीचे कर दिया, अंदर पैंटी नहीं थी।मेरी चूत में वो उंगली करने लगा, मेरी गर्दन पर, कभी चूचियों पर किस करने लगा. उस वक़्त मुझे भी इस बात का पता नहीं था कि यही मेरा पढ़ाई का आखरी साल है. इंडियन पोर्न बीएफमेरे हाथों को थोड़ा ऊपर उठाते हुए कमर और पीठ पे हाथ फेरते हुए मुझे मजा देने लगी.

तो मैं करीब 2 मिनट के लिए रुक गया और अपने लंड से ज्योति की चूत में धक्के मारना बंद कर दिए. उसे मेरे हवाले करो, फिर मैं तुम्हारे लिए खाड़ी के देशों में ग्राहक ढूँढता हूँ.

उसके बाद से तो जब भी हम दोनों को मौका मिलता है, मैं उसके घर जाकर या सोनिया को कहीं भी बुला कर हम दोनों खूब चुदाई करते हैं. मैंने कहा- पहले तो तुम मुझको अपने पास बुला लेती थीं, मगर आजकल बहुत आराम से सो जाती हो. फेसबुक पे देखा कि कीकु ने फ्लाइयिंग क्लब ज्वाइन कर लिया, वो शुरू से पाइलट बनाना चाहता था.

मुझे ख़ास कर विवाहित, आंटियां, अधेड़ उम्र की महिलायें बहुत पसंद हैं. मैं सीढ़ी पर चढ़ कर बैठ गया और अन्दर का नजारा देखने लगा।दोस्तो, अब जो मैंने देखा वो आपको बताता हूँ:भैया भाभी से बातें कर रहे थे, भाभी उसका जवाब धीरे-धीरे दे रहीं थीं जो मेरी समझ में नहीं आ रहा था. घर के बाहर भी आवाज जा रही थी और घर वाले समझ रहे थे कि लड़की को लड़का चोद रहा होगा और लड़की की चूत में मुश्किल से लंड जा रहा होगा, इसलिए चिल्ला रही है.

फिर कुछ देर बाद दोनों एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे और मुझे नींद आ गई.

मैंने उसको घोड़ी बन जाने के लिए कहा, वो बाथरूम की विंडो पकड़ कर घोड़ी बन गयी. इस तरह से 10-15 मिनट के बाद जब उसका वीर्य लंड से निकलने वाला था, तो लंड और ज्यादा अकड़ गया.

उन्होंने कसमसाते हुए मुझसे छूटने का ड्रामा किया और अंततः मेरा साथ देने लगीं. मैं अपने डॉक्टरी पेशे के प्रति पूर्ण निष्ठावान हूँ, अपने मरीजों का पूरी लगन से इलाज करता हूँ. उनका फिगर 36 34 40 है, मेच्यूर हैं काफ़ी…लेकिन दूसरी रात को उन्होंने मुझसे बात की कि मैंने उनको ऐसे क्यों देखा और उन्होंने खूब डांटा मुझे.

शादी के दौरान खाला ने मेरे साथ खूब अपनी सेल्फ़ियाँ ली और मुझसे पूछा कि मेरी कितनी गर्लफ्रेंड हैं. पर दोस्तो, पूरे दिन की मस्ती चढ़ी थी, जोश बहुत ज्यादा था, तो मैं लगातार उसको ठोकता रहा और अपना पानी निकाल दिया. आज घर जाकर पद्मिनी को ज़रूर चोदूँगा… पता नहीं उस टीचर ने उसकी सील तोड़ी है या मुझको ही काम तमाम करना पड़ेगा… देखूंगा… पता नहीं अगर सील तोड़नी पड़ी तो चिल्लाएगी या हल्ला करेगी.

बीएफ वाला बीएफ बीएफ यह कह कर वो मुझसे आकर लिपट गया और मेरे होंठों को उसने पहली बार किस किया. फिर उसने मुझसे सारा का सारा ही झूठ बोला था और मुझे फंसा कर और पैसे वापस मांगने की धमकी दे कर राज़ी किया था.

औरत का भोंसड़ा

मैंने इस बार थोड़ा ज़ोर लगाकर उसका टॉप उपर किया, उसके बूब्स अपने मुँह में ले लिए. अब वो मुझे गाली देने लगी और फिर मुझे उल्टा पटक कर मेरे ऊपर आ चढ़ गयी. जब आपा कॉलेज चली जातीं, तो उसकी ब्रा निकाल कर उसपे मुठ मारा करता था और उसके आने से पहले ब्रा धोकर सुखा दिया करता था.

जिस ऑफिस से पासपोर्ट बन कर आया था, वहाँ के किसी आदमी ने मुझे चोद रखा था, तो उसको पता लग गया और उसने उस दलाल को भी इस बारे में बता दिया. भाभी ने अपने पैर फैला लिए थे, जिससे अब उनकी चूत की लाइन साफ़ साफ़ नज़र आने लगी थी. हिंदी बीएफ वीडियो में हिंदी बीएफ वीडियोतब तक मेरा किराये का कमरा है कृष्ण नगर में वहीं दो घंटे थोड़ा रूकेंगे, नश्ता करेंगे फिर चल के तुमको बढ़िया ड्रेस दिलवाऊंगा।मैं बोली- ठीक है!काफी हाउस से जीजा ने नाश्ता पैक कराया और कोल्डड्रिंक लिए और चल दिए, रूम पहुंच गए.

अब नूरी खाला सिहरकर मुझसे लिपट गयी थी और उनकी 38 साईज की चूचियां मेरे सीने से दब गयी थी.

मैं अपनी सहेली के भाई का सर अपनी चूत में दबा रही थी और उससे अपनी चूत चटवा रही थी. वो बोला- हम लंड वालों का प्यार ही ऐसे होता है कि मम्मों को तब तक दबाओ जब तक वो लाल या नीले ना हो जाएं.

एक मिनट तक लंड चूसा, फिर लंड को बाहर किया तो भाईजान का लंड मेरे थूक से चमक रहा था. ये इतना बड़ा कैसे हो गया है?मैंने उससे कहा कि तुम आराम से लंड को देखो. मैंने पाल पोस कर बड़ा किया है, मेरे घर में रहती है, मेरी अपनी है, तो मेरे सिवाए कोई और क्यों इसको ले.

कुछ देर के बाद जब मैं थोड़ा नार्मल हो गयी, तो उसने अपना लंड मेरी चूत में पूरा डाल दिया और मुझे धीरे धीरे चोदने लगा.

तभी मेरी नताशा ने सर्बियन मेहमान के अण्डों को चाटना शुरू कर दिया जिससे मेहमान के मुंह से तेज कराहें निकलने लगी, अब उसका लंड मुंह से बाहर आ चुका था और उसका सही आकार हमारी आँखों के सामने थे, जो कि दिल को दहला रहा था. आंटी ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर सेट किया और इशारे से कहा- घुसा…मैंने चूत के छेद पर धक्का मारा तो किसी अधिक कठिनाई के बिना मेरा लंड उनकी चूत में घुस गया. जब दिल की धड़कनें और साँसें सामान्य हो गयीं तो मैंने उठ कर स्थिति का मुआयना किया.

नौकर मलकिन की बीएफअब मैंने दिनेश से कहा- लंच लेते हैं!उसकी पसंद के होटल में गए, वहां बढ़िया लंच लिया. जब भाभी मेरी बाइक पर बैठी थीं, तो थोड़ा मुझसे चिपक कर बैठी थीं, जिससे ब्रेक लगने से वो आगे को झुक जातीं और उनके गोल गोल मुम्मे मेरी पीठ से चिपक जाते.

बुद्धा बुढ़िया की चुदाई

मेरी कहानी पर अपने विचार मुझे मेल करें, मेरा मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-5. मेरी बहन थोड़ा चौंकी, उसने मुझसे पूछा- भैया ये सब क्या है? आप दोनों अकेले यहाँ आये हो? अंकुश नहीं आया क्या?मज़बूरी में मैंने सारी बात अपनी बहन रीनू को बताई. मेरा नाम विशाल है, मैं एक शादीशुदा इंसान हूँ और अपनी बीवी से खुश हूँ.

ऐसा बिल्कुल नहीं है कि कानपुर में सुन्दर लड़कियाँ नहीं है लेकिन वो मुझे मेरे नजरिये से बहुत ही अच्छी लगी, वो मेरी लाइफ की पहली और अभी तक की एकमात्र गर्लफेंड है। बाय द वे… ऐसा बिल्कुल नहीं है कि मैं देखने अच्छा नहीं हूँ क्योंकि मेरी एक ही गर्लफेंड है, मैं बहुत खूबसूरत और स्मार्ट बन्दा हूँ. ऐसा बोल कर उसने एक किस होंठों पे किया और हम दोनों बिना चुदाई किए एक दूसरे की बांहों में लिपट कर सो गए. मैं अपनी सहेली के भाई के कपड़ों को निकालने लगी और मैं कुछ देर में ही उसको नंगा कर दिया.

मैंने भाभी को पीछे से उनकी चूचियों के नीचे से पकड़ कर अपनी बाहों में जोर से जकड़ा और अपने लौड़े को उनकी गाण्ड पर टिका कर ऊपर उठा दिया. उस पार्सल में एक बेल्ट से बंदा हुआ रबर का लंड था, जो 8 इंच लंबा और 2. कहानी के बारे में मुझे ज़रूर बताएं कि आपको कैसी लगी। मेरी मेल आईडी हैं.

जाहिरी तौर पर तो वह एकदम मेरे जैसी ही थी। बहनें होने की वजह से यह समानता तो होनी ही थी। क्या वह अंदर से भी मेरे जैसी ही थी?अब तुम देखो. शंकर बोला- अरे यार, मेरी भी तो वैसे ही हालत है, लेकिन मैं अपने एक दोस्त के साथ कई बार जाकर आ चुका हूँ.

तभी फिर से मैंने अपना लंड बिना निकाले पूरा बाहर खींच लिया और दुगुनी ताकत से एक जोरदार धक्का लगा दिया.

फिर मैंने कहा- आज तो चुदवा कर देख लो, फिर कल से मेरे इस लंड के लिए पागल हो जाएगी!वो किसी तरह मान गई, मैं उसके दूधों को बड़े प्यार से सहला कर चूस कर उसे मजा देने लगा, उसे पूरा गर्म किया तो वो खुश हो गयी, वो फटाक से मेरे लंड को अपने मुख में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी. बीएफ फिल्म वीडियो ब्लूहालांकि मुझे भी नहीं पता था कि अब आगे क्या होगा, पर मैं उसके अन्दर से अपने लंड को बाहर नहीं आने देना चाहता था. बीएफ वीडियो फुल मूवीरंजीत बोला- क्या हुआ भाभी?मेरी वाइफ कुछ नहीं बोली, सिर्फ़ उन दोनों के बीच पड़ी रही. घर वापिस आ कर मैंने उसे बिंदु के हवाले कर दिया और उससे कहा कि इसको समझाओ ताकि यह समझ जाए कि इसकी ड्यूटीज क्या क्या हैं.

मैंने उससे कहा कि मैं अभी तो दिल्ली जा रहा हूँ, आपको लौटकर अपनी सर्विस दे पाऊँगा या फिर आप किसी और की सर्विस ले लीजिए.

खुशबू के साथ मेरे संबंध क्यों नहीं बन सके और मैंने शादी से पहले खुशबू के साथ कितना मज़ा किया. मेरे पापा की उस वक्त एक एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई थी जिस वक्त मैं छोटा था. फिर करीब आधे घंटे की लगातार चुदाई में वो तीन बार झड़ गईं और मैं भी उनकी चूत के अन्दर ही झड़ गया.

उसकी जवान कड़क चुची आह… कसम कोई हिज़ड़ा ही होगा जिसका लण्ड खड़ा ना हो जाए मेरी नंगी बहू को देख कर!मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसकी एक चुची क़ो चूसना चालू किया तो पूजा भी जाग गई- पापा क्या हुआ? आपका लंड तो फिर से मूसल जैसा कड़क हो गया. तो मैंने उसे बोला- शादीशुदा लड़की खूबसूरत नहीं होती है क्या?यह सुनकर उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई और बोली- मेरा नाम कविता (काल्पनिक) है और यहाँ शादी में आई हूँ. हालाँकि वो बड़े रफ तरीके से मेरी धर्मपत्नी की चूत मारने में लगा हुआ था लेकिन क्योंकि नताशा को भी नशा चढ़ा हुआ था, इसलिए उसे मजा आ रहा था और वो भी खूब जोर-जोर से चिल्लाते हुए आर्थर के लंड को अपनी चूत में पिलवा रही थी.

अक्ष अक्ष अक्ष वीडियो

मैंने अनजान बनते हुए कहा- मैंने कब लगाया?भाभी- आखिर आप मुझसे चाहते क्या हो?मैं कुछ नहीं बोला. रात में 2-3 बजे तक भी फोन चैट हुआ करती, जिसमें कभी कभी सेक्सी बातें भी हुआ करती थीं. आंटी ने कहा- ठीक है बेटा, कोई बात नहीं… पर इसकी आदत मत डालना और तुम्हारी तो शादी नहीं हुई तुम यह सब देखकर क्या करते हो? तुम यह सब मत देखा करो, वरना गलत रास्ते पर चले जाओगे.

हमने कपड़े पहने और हम कमरे के बाहर खुली जगह में बैठे। तब तक पांच साढ़े पांच बजे होंगे, जीजाजी बोले- अभी टाइम है, आपको नाश्ता मंगाते हैं, अब तो कई गाड़ियां हैं.

अभिलाषा कहने लगी- मुझे विश्वास नहीं होता कि इतनी छोटी लड़की, इतने बड़े लंड के साथ आराम से चुदी होगी.

जब वापस आया तब पता चला कि दीदी और जीजा के बीच किसी बात पर कहासुनी हो गयी और जीजा जी गुस्सा होकर गेस्टरूम में चले गये हैं।दीदी ने मुझे खाना दिया और कहा कि मैं अपने लैपटॉप पर कोई अच्छी मूवी लगा दूँ. अगर दिल करे तो एक दो बार और मेरी चुदाई देख लेना इससे तुम्हारा हौसला बढ़ जाएगा. हिंदी बीएफ एचडी में हिंदी मेंअब आगे:मेरे ही स्टाफ में एक फील्ड वर्कर था शशि… एक साल की नौकरी थी, कोई काम नहीं करता था, कई बार अनुपस्थित पाया गया.

अब वे यह देखना चाहती थी मेरा लंड कितना बड़ा है और क्या मैं ठीक से चोद पाता हूँ या नहीं! इसीलिए उन्होंने ये सारा इंतज़ाम किया था. उसने मुझे फिर अगले दिन फोन कर के आने को कहा तो मैंने कहा- यार आज तो नहीं आ सकता, मुझे कुछ जरूरी काम है. अब मैं समझ चुका था कि ये तैयार है, मैंने अपने हाथों को बगल में लिया और उसकी साड़ी के नीचे हाथ डाल कर उसके मम्मों को दबाने लगा, वो मस्त हो गई.

सन 2010 में फ़ेसबुक का शुरूआत का समय था, तब ज्यादातर फेसबुक आईडी ओरिजिनल ही रहती थीं. एक बार फिर मैं लव आप सभी प्यारे पाठकों का स्वागत करता हूँ अपनी कहानी ‘काजल की चुदाई’ के अंतिम भाग में।कामवासना से भरपूर इस कहानी के पिछले भागकाजल की चुदाई: दूध वाला राजकुमार-7इस अब तक आपने पढ़ा कि रत्नेश भैया से किये वादे के अनुसार मैंने उन्हें बिल्डिंग वाली लड़की काजल से मिलवाया और चुदाई के लिए जगह का भी इंतज़ाम किया.

थोड़ी देर में मैंने भाभी को मेरा लंड चूसने को बोला, तो उन्होंने मना कर दिया.

अभी जब भी मैं जॉब से छुट्टी पर घर आता तो हर बार ससुराल जाकर ममता की चुदाई करता हूँ. उसके दोनों हाथ मेरे हाथों में और मेरे दोनों पैर उसके दोनों पैरों को खोल के ऊपर सहलाते हुए और धीरे धीरे मैं उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था. वैसे तो गाँव के सभी नौजवान लड़के पद्मिनी का रास्ते में इन्तजार करते थे, जब वह स्कूल जाती थी और वापस आती थी.

बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर हिंदी में तीसरे लड़के मेरे दोस्त को देख कर पूछने लगी- इसे क्या हुआ? ये लंगड़ा कर क्यों चल रहा है?तब मैंने मजाक से कहा- रास्ते में हम लोगों का एक्सीडेंट हो गया था तो उसे चोट लग गयी है. उसका अपने ब्वॉयफ्रेंड से झगड़ा हो गया है और वो किसी लंड से चुदने के लिए मुझसे कह रही थी.

फूफा जी हैरान होते हुए बोले- ज़बरदस्ती, क्या… मैंने कब की तुम्हारे साथ ज़बरदस्ती, अब जब मेरी आँख खुली थी तो उल्टा तुम ही मेरे साथ लिपट रही थी. दोनों लैम्पों के शेड भी नीले थे, इसलिए रौशनी हल्का सा नीलापन लिए थी, वातावरण को बहुत कामुक बना रही थी. मैं तुरंत खड़े होकर बेड पे गया और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधों पे रख कर लंड को उसकी चुत पर सैट कर दिया.

श्याम रंगीला

जैसे ही मनोहर की जीभ मेरी जांघों में चलने लगी, मैं पूरी की पूरी मदहोश होने लगी. पहले तो मैंने मना कर दिया लेकिन वो और जोर देने लगे तो मैंने हाँ कर दिया और हम वहीं पास में एक होटल में चल दिये।वहाँ पर दो चाय बोली और मेरे बगल में आकर बैठ गये. पता नहीं मुझे कभी माँ का सुख मिलेगा भी या नहीं?मैंने भाभी के कंधे पे हाथ रखते हुए बोला- भाभी सब ठीक हो जाएगा परेशान नहीं हो.

उसके मुंह से हाय उम्म हाय मम्म आह आह ऊ ऊ ऊ जैसी आवाज़ें मेरी ठरक को कई गुना करे जा रहीं थीं. मैनेजर ने कहा- हमारे सैलून में तुमसे अच्छा बॉडी मसाज कोई नहीं कर पाता, तुम छोड़ दोगे तो बहुत नुकसान हो जाएगा.

जब शाम हुई तो वे दोनों उठे और भैया घूमने के लिए निकल गये क्योंकि उनको शर्म लग रही थी, पड़ोस की महिलायें, लड़कियाँ भाभी को देखने के लिए आयीं थीं और उनको शादी की बधाइयाँ दे रहीं थीं.

मम्मी ने वैसे ही किया और अब वे दोनों कुछ ऐसे बैठे थे कि मुझे पूरी तरह से दिखाई पड़ रहा था. उनकी चुत चिपक सी गई थी क्योंकि उन्होंने पिछले 5 साल से लंड नहीं लिया था. मैंने खड़े लंड को हाथ से छूकर मज़ा लेने के लिए धीरे से उसके लंड पर हाथ रख दिया तो उसने आराम से अपनी टांगें अच्छी तरह सीट पर फैलाकर मेरा हाथ अपने तने हुए लंड पर रखवा लिया.

इस बार बीस मिनट के बाद मेरा झड़ गया मगर साली उसी स्पीड से उछल उछल कर गांड मरवाती रही. मॉम बोलीं- अरे ये तो बता उनसे मैं कैसे चुदूँ?तो मैं बोला- मेरे पास एक प्लान है. बहूरानी की बुर की वो विशिष्ट गंध मेरे भीतर समा गयी और उनके मुंह से एक गहरी निःश्वास निकल गयी.

वो मेरे शर्ट के ऊपर मेरे चूचे को दबाने लगा, मैंने चुप होकर ये सब होने दिया और उसके सहलाने की अदा का मजा लेने लगी.

बीएफ वाला बीएफ बीएफ: लालजी बोला- अरे वन्द्या मैं बोल नहीं सकता तुमसे, क्या बताऊं?मैं उसके और नजदीक चली गई. पूजा ने लन्ड के बाद मेरी गोली चूसी तो मेरा लन्ड घोड़े के जैसा खड़ा हो गया.

मैंने देखा कि मुँह से चाटते ही कुत्ता कुतिया के ऊपर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चूत में फंसाने लगा. मैंने लंड गांड से बाहर निकाल कर दोनों को लंड के सामने मुँह करके बैठाया और अपना लंड हिलाने लगा. मैं- जी भाभी, बोलिए कोई काम है क्या?विमला भाभी- हां, तुम्हारे भैया यहां नहीं हैं और यह पंखा चल नहीं रहा है.

सुमेर ने शशि से कहा- पैन्ट खोलो!शशि ने अपने कपड़े उतार दिए, फिर सुमेर देवेश से बोला- पहले तुम!देवेश रुका तो सुमेर उसके पैन्ट की चेन खोलने लगा- यार हर समय मजाक बहस नहीं, जल्दी करो।और हाथ डाल कर देवेश का लंड निकाल लिया, तेल की शीशी से तेल लेकर उसके लंड पर मल दिया और बोला- अब तो शुरु हो जा।देवेश ने थोड़ा से तेल अपने हाथ पर मांगा, सुमेर ने दे दिया.

मैंने मौसी को सेक्स की गोली देकर उनकी कामुकता जगाई और मौक़ा पाकर मैंने मौसी को चोद दिया. तो भाभी ने बताया तुम्हारे भईया तो शहर के बाहर रहकर ही काम करते रहते हैं, मुझ पर तो ध्यान ही नहीं देते. राज ने मुझे चूमते हुए खाट पर लेटा दिया, उसका बड़ा सा लंड मेरी बेचारी सी चूत के पास ही था, वो मेरी चूत को किस करता हुआ उसके अंदर प्रवेश करने लगा.