सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,नंगी नंगी सेक्सी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी सेक्सी व्हिडिओ शॉट: सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ, मैंने बोला- ऐसे घर जाओगी दीदी?दीदी बोली- क्या करें, तुम देखना कोई हमें देखे नहीं.

രേഷ്മ സെക്സ് വീഡിയോസ്

मैं चाहता था कि वे सामने से मुझे चुदाई ऑफर करें!दिन में उन्होंने मुझसे पूरी फ्रैंक होकर बातें की. हिंदी सेक्सी कहानी मां बेटे कीउसी मदहोशी में रेखा मेरे लंड के सुपारे पर अपनी जीभ गोल गोल फिराने लगी और मेरा लंड अपने दोनों हाथों से नीचे खींचने की कोशिश करने लगी.

मैंने पूछा- सरसों का तेल कहां रखा है?उसने बोला- किचन में सामने से ही रखा है. आम्रपाली दुबे का सेक्सीसरिता के मुँह से सीत्कारने की कामुक आवाजें तेज स्वर में निकलने लगी थीं, वो लंड अन्दर तक घुस जाने के कारण एकदम से सिहर उठी थी और उसकी गांड ने हिलना बंद कर दिया था.

मैं बीच बीच में टीना का चुम्मा ले रहा था और एक हाथ से उसकी एक चुची सहला रहा था.सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ: मैंने आंखों ही आंखों में सीमा को इशारा किया जिस पर वो मंद मंद मुस्कुरायी.

Xxx डॉक्टर फक स्टोरी मेरी सीधी सादी घरेलू मम्मी की चूत गांड चुदाई की है.आशिया के मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगी थीं- अहह उम्मम!वो वासना से भरी आवाजें निकाल रही थी और कसमसा रही थी.

सेक्सी चूत चूत चूत चूत चूत चूत - सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ

अगले दिन फिर मेरे हस्बैंड जॉब पर चले गए और अमित अपने इंटरव्यू देने के लिए चला गया.मौसी मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह से चूस रही थीं और लंड को चूसते चूसते वो मेरे आंडों को भी दबा रही थीं.

फिर मैंने हैरानी से पीछे देखा, तो जो मैंने देखा, वो कभी सोचा भी नहीं था. सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ मैंने आशिया को किस करते हुए उसकी गर्दन पर एक छोटा सा चुम्बन और एक लव बाईट दी.

ये मेरी और मेरे बड़े चाचा की बड़ी बेटी मेरी चचेरी बहन की चुदाई की कहानी है.

सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ?

चाची के मुँह से ‘आआ … उधर नहीं …’मैंने उंगली निकाल ली तो उन्होंने झट से अपने चूतड़ भींच लिए. राहुल- और चाची को पता चल गया तो?मैं- लाइट ऑफ होने के बाद कुछ पता नहीं चलेगा बे. फिर रात को जब मैं उससे चैट कर रहा था तब मैंने उससे चोदने को कह दिया.

उसने मेरी आईडी की एंट्री रजिस्टर में कर ली और मुझे आईडी वापस थमाते हुए मेरा नाम बोला- शालिनी राठौड़!मैंने भी सर हिलाकर अपना नाम कंफर्म किया और हल्का सा मुस्कुराई. मैं बेडरूम के पास जाकर रुक गई और पलट कर मुकेश की तरफ देखा; उसे आंखों ही आंखों में बेडरूम में आने का न्यौता सा दे दिया. उसकी मुस्कुराहट से मुझे पता चल गया कि ये भीएक नंबर की चुदक्कड़ औरतहै.

इस अदला बदली में मेरी नजर दीदी की ओर गई, तो मैंने देखा कि दीदी की गोरी जांघें और बुर क्या गजब की लग रही थी. और दोनों ही टॉवल में थे।यह समझते मुझे देर नहीं लगी कि दोनों कहाँ गायब हो गए थे।फिर … फिर क्या … चुदने के लिए तो मैं तैयार थी ही … तो उसके कुछ देर बाद मैं दोनों के सीने पर हाथ फेरने लगी. मैं बोली- मुझे नींद नहीं आ रही, मुझे यहीं सोना है तुम दोनों के साथ.

जिस प्रकार से वो मुझे छेड़ता और किसी को कुछ पता भी नहीं चलता, ये मुझे अन्दर तक खुश कर देता था. इसलिए उसकी हर जिज्ञासा को मैं शांत करता था, जिसमें सेक्स से संबंधित बातें भी होती थीं.

फिर मम्मी को मैंने फ्लैट दिखाया और शाम को हम दोनों शॉपिंग करने निकल पड़े.

मैंने रोहन को आंख मार दी तो वो समझ गया कि आज मेरा मन समीर से चुदने का कर रहा है.

मैं उसके घर पंहुचा तो उसने मुझे घर के अन्दर खींच लिया और दरवाजा बंद कर दिया. इस तरह के कमेंट्स का जवाब चाची कैसे देती होंगी, ये तो पढ़ने लायक होगा. तभी भाभी अन्दर से बाहर आईं तो उन्होंने देखा कि उनका बच्चा मिट्टी खा रहा है.

मैंने कहा- ये सब क्या है … मालिश करो न तुम!वो कहने लगा- इसमें दिखाया है कि कैसे करना है. मैं बस इतना कह सकता हूं कि मेरा लंड एक औरत को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता है. मम्मी ने कहा- अब मेरी सालों की भूख मिटा दे बेटा!ये सुनते ही मेरा लंड एक बार फिर से खड़ा हो गया.

मैंने गियर बदलने के बहाने अपना हाथ उसकी जांघों पर रखा और सहलाने लगा.

उनकी इस बात पर मैं कुछ बोलता तो पकड़ा जाता, इसलिए मैं चुप ही बना रहा. वो अपने दोनों हाथों से पूरे लंड और अंडकोषों को सहलाकर मलहम लगाती रही और मैं उसकी चूत रगड़ता रहा. इसी वजह से शिल्पा मेरे साथ सेक्स करने की हिम्मत भी नहीं कर पा रही थी.

अब मैं खुद को तो अच्छी तरह से जानता ही था कि मुझे क्या पसंद है और क्या नहीं, तो मैंने खुद से ही दोस्ती शुरू कर दी. कुछ ही दिनों में उन्होंने मुझे अन्तर्वासना सेक्स कहानी की एक लिंक भेजी और मुझसे उसे पढ़ने को कहा. निशा हंसने लगी और बोली- तुम जगे हुए थे, तो नाटक क्यों कर रहे थे?मैंने कहा- अब तो मुझे तुम्हारी आदत सी हो गई है.

मैंने उससे इस बारे में बात की; उसे समझाया कि हम दोनों तीन साल से प्यार करते हैं और हर हफ़्ते चुदाई करते हैं.

पर जब भी कोई प्रपोज करती, मैं मना कर देता क्योंकि मुझे पढ़ाई करनी होती थी. ये सुनकर मैंने तुरंत उसकी शर्ट के बटन खोल दिए और उसके नंगे हो चुके दोनों मम्मों को चूसने लगा, जोर जोर से दबाने लगा.

सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ हम दोनों मूवी देखने जाते और वो मेरा लंड चूसती और मैं उसका दूध पीता, निपल्स को लगभग खा जाता. जैसा कि मैंने बताया था कि विधवा की सोच ज्यादा नहीं चलती है, मेरी मम्मी मेरी बात तुरंत मान गईं.

सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ मेरे पति ने अपना कुछ हिस्सा बेच दिया और बड़े शहर में ज्यादा बिजनेस हो पाए, उस वजह से हम दोनों यहां सूरत में आ बसे. अब हमारा मिलने का मन हो रहा था तो मैंने एक प्लान बनाया कि क्यों न रिया भी मेरी कोचिंग क्लास पर आने लग जाए.

शनाया मोटे लंड से गांड मारे जाने को सहन नहीं कर पाई; वो तेज दर्द से चीख उठी, उसकी गांड में से थोड़ा सा खून भी आ गया.

बांग्ला बीएफ फिल्म

वो भी मस्ती में बोलने लगी- आह चोद दे मेरी जान … अब मुझे भी मज़ा आ रहा है … आंह और जोर से चोद. चोद लेना मुझे दबा कर जितना मन करे तुम्हारा!फिर हम दोनों ने अपना दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म के यूजर आईडी शेयर किए और रोज रात को बातचीत होने लगी।हमेशा हम दोनों सिर्फ सेक्स चैट करते थे और एक दूसरे को अपनी न्यूड्स शेयर करते थे।हम दोनों ने मिल कर एक डेट डिसाइड किया कानपुर में मिलने का।मैं ट्रेन से कानपुर गया. बाद में जब मेरा लंड सिकुड़ने लगा तो मैं सरिता के ऊपर से उठकर उसकी बाजू में लेट गया.

अन्दर जाते ही रीटा ने मुझसे कहा- नजर घुमा कर देख लो, कहीं कैमरे तो नहीं लगे हैं. अब रात को मैं सौम्या डार्लिंग के कमरे के बाहर गया और सौम्या को भूत बनकर डराने लगा. बहुत ही ज्यादा खुशियां दीं तुमने, मैं ये सब पहली बार अनुभव कर रही थी.

मैं हंस दिया और हाज़िरजवाब होते हुए कह दिया- तो आप ये कहना चाहती हो कि मैं बुरा दिखता हूँ.

मैं देखना चाहता था कि एक औरत किस हद तक तड़पती है और कैसे तड़पती है. इस पर चार चाँद लगाने के लिए मैंने मम्मी को अपना काला चश्मा दे दिया. स्टेप मॉम Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी सौतेली मम्मी को उनकी ही सहेली की मदद से चोद चुका था.

फिर मैंने सोचा कि चलो दोस्त हैं, आज ये फिर से मुझे कुछ न कुछ खिलाएंगे. पर मैं बहुत ही सीधा था, इतना कि उस समय तक मैंने एक भी गर्ल फ्रेंड नहीं बनाई थी. ’‘ठीक है जान … मुँह में ले लेता हूँ उम्म्म इस्स …’‘हां ऐसे आराम मिल रहा है आह सर चूसिए इनको.

हम रास्ते में एक दूसरे के हाथ में हाथ डाल कर आ रहे थे और ऐसा लग रहा था जैसे वो मेरी गर्लफ्रेंड हो. मेरी हालत पतली हो रही थी, धड़कन तेज हो गई, सिर की नसें जोर जोर से चल रही थीं.

रात को 11 बजे के आस पास मैं मॉम से बोला- मॉम, मुझे अपनी जिंदगी में आपके सिवाए कोई और लड़की नहीं चाहिए. वो मेरे होंठों को चूसकर बोली- हर्षद अब पूरा चला गया ना अन्दर … चूत में बहुत दर्द हो रहा है. सरिता उठकर बैठ गयी तो हम दोनों का कामरस उसकी चूत से बह रहा था, नीचे तौलिया गीला हो रहा था.

अब विलास को सहलाते हुए मैंने कहा- अब कैसा लग रहा है?विलास- आंह अभी ठीक लग रहा है हर्षद.

तभी मेरे मोबाइल में एक मैसेज आया कि क्या कर रहे हो?मैंने पूछा- आप कौन?उसने कहा- मैं तुम्हें रोज़ देखती हूँ, तुम बहुत हैंडसम हो. बात है उन दिनों की है जब मैं 21 साल का था और मेरी बहन 25 साल की थी. मगर उसने पहली बार मना कर दिया, उसने कहा- फिर कभी जीजू, जब हम आराम से सेक्स करेंगे.

सेक्सी इंडियन हॉट भाभी को सेक्स की क्या कमी हो सकती थी … फिर भी मैं इन सब चीजों से दूर थी और मैंने अपने शौहर को धोखा देने का कभी नहीं सोचा. उसके बाद मैं भाभी की पैंटी के ऊपर से ही जीभ लगा कर उनकी चूत चाटने लगा.

मेरे हाथ उसके नंगे हिप्स पर आ गए और मैं उसको दबाव देकर अपने अंदर लेने लगी. इतना सुनने के बाद वो बहुत खुश हो गयी और मेरे गले में अपना भार डाल कर अपने होंठों को मेरे होंठों से जोड़ दिया. सोनाली के जाने के लगभग पन्द्रह मिनट के बाद ही मुझे रूम का दरवाजा खुलने की आवाज आयी.

ब्लू बीएफ नंगी पिक्चर

मैं एक हाथ में लंड पकड़कर, लंड का सुपारा रेखा की गीली चूत के मुँह पर रगड़ने लगा.

इतना कहकर वो मेरे गले लग गई।मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके कान में हल्के से फुसफुसाते हुए कहा– आई लव यू टू. उसका सब सुनने के बाद मैंने उसको सही गलत … और अभी क्या जरूरी है … वो समझाया. उस समय गर्मी का मौसम था तो खाना खाने के बाद मैंने अपना बिस्तर नीचे जमीन पर बिछा लिया और वो बेड पर लेट गई.

हमेशा जब भी कुछ ऐसा होता है, तो लोग औरत पर ही पहले उंगली उठाते हैं. कहते हैं कि सबकी जिन्दगी में एक मौका ऐसा भी आता है, जब जिंदगी हमें वो पल दे जाती है, जब हम मौत के पास होते हैं … और सबसे हसीन पल बन जाता है. भोजपुरी में देवर भाभी की सेक्सीसोने के समय पर चाचा ने कहा- मुझे रात में कुछ ऑफिस का काम है, तो तुम तीनों चाची और रानी बेडरूम में सो जाओ.

उन्हें उकसाने के लिए मैं जानबूझकर कर तेज आवाज में चिल्लाने लगी- आआह आह ऊऊह हह ऊउफ़्फ़ ऊऊम्म मम्म मम्म यययईई आह हह … यस यस ईए फक मी हार्डर, फक्क मीईई हार्डर, फक मी हार्डर, येह बेबी!ऐसे ही ना जाने क्या क्या बोलती रही. साली- जल्दी कुछ करो न जीजू … समय भी होता जा रहा है, फिर आपको जाना भी होगा.

मैं बारी बारी से उसके दोनों स्तनों को चूसकर उसका सारा दूध पीने की कोशिश कर रहा था. वो बोली- मतलब!मैंने कहा- तुम बहुत ही खूबसूरत हो नीरू … तुम्हें देखे बिना कोई कैसे रह सकता है. मैं उसके पीछे बाथरूम गया, उसे संभालते हुए मैंने उसे कुल्ला कराया और वापस रूम में ले आया.

बाकी जब मैं मार्केट जाती हूं या कहीं और बाहर जाती हूँ, तो कुछ छिछोरे किस्म के आदमी मुझ पर गंदी निगाहें और भद्दे कमेंट्स करते हैं. पहले तो मैंने लंड का सुपारा जीभ से छुआ, फिर उसे चाटा, फिर मुंह के अन्दर लिया. तो मैं बाथरूम में गया, गीजर चालू करके गर्म पानी को एक जग में ले आया.

उसने जब घर पर गणित की कोचिंग लेने की बात की तो घर वालों ने भी रज़ामंदी दे दी.

मैं उन सभी से मिला और पहले मैंने उनको घर तक छोड़ा और वापस बाजार चला गया. निशा ने कहा- मेरे बाथरूम के शॉवर में से पानी टपकता रहता है, आप किसी प्लंबर को बुलाकर दिखवा सकते हो?मैंने कहा- पहले मुझे दिखाओ.

मैंने देखा कि विलास मेरी तरफ मुँह करके सोया था और उसका एक हाथ लुंगी के ऊपर से ही मेरे लंड पर था. फिर उन्होंने मुझे एकदम से पीछे धक्केल दिया और कहने लगीं- नहीं अरुण … ये सब गलत है. करीब 5 मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में निकाल दिया.

मैंने खाला के मुँह में अपना लंड घुसा दिया और हम 69 की अवस्था में आ गए. माया दीदी मेरी मौसी की लड़की हैं और वो अपने पति और बच्चों के साथ मेरे ही घर जा रही थीं. शिखा का रस कसैला स्वाद लिए था और उसकी मात्रा इतनी थी कि मेरा मुँह लगभग भर गया.

सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ मेरे बालों में मौसी हाथ घुमाने लगीं और मेरे सिर को अपने मम्मों पर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगीं. चार पांच धक्के कस कसकर मारने के बाद मेरे लंड ले अपना लावा उगल दिया.

ढोंगी बाबा का सेक्सी बीएफ

हमारे होंठ इतने पास थे कि उसकी सांसें मेरे होंठों से भी टकरा रही थीं. चूंकि ये मेरा पहली बार था इसलिए कम शराब में ही मुझे नशा ज़्यादा हो गया. मैंने बातों बातों में यह भी महसूस किया था कि वह अपने पति से खुश नहीं है.

वे हंस दिए और बोले- इसे लंच कराऊंगा और कुछ? लौंडिया दिलवाऊं?मैं बोला- दादा, लड़का मैरिड है. 5 से 4 इंच का ही था, जबकि मेरा लंड लगभग 6 इंच का है और मेरा लंड गोरा भी था. बिहार की सेक्सी भोजपुरीलंच में मैं उसके पास गया और एक पर्ची उसके हाथ में चुपचाप से थमा दी.

फ्री फॅमिली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे घर में, मेरी खाला, मेरे मामू के घर में, मेरी सहेली के घर में कैसे कैसे चुदाई के खेल खुलेआम चलते हैं.

उसने बताया कि वो मुझे बहुत पहले से जानती है … मतलब उसने मुझे सोसाइटीज के फंक्शन्स में देखा है. मैंने इस बार उनके मम्मे को मसलने का मजा ले ही रहा था कि उन्होंने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया.

वो बोली- सच बताना मौसा … इतना मज़ा तो मौसी ने भी नहीं दिया होगा आपको … जितना मैंने दिया?उसकी ये बात एकदम सच थी।नेहा को मैंने कहा- मेरी जान, तेरे नाम के कितनी मुठ मारी है तुझे याद कर करके! आई लव यू यार!वो भी बोली- आई लव यू मौसा … मेरी जान! ये मेरी पहली चुदाई मुझे जिंदगी भर याद रहेगी. अब अगले भाग में चाची की मदमस्त जवानी को कैसे अपने लंड के नीचे लाकर भोगा, वो सब लिखूंगा. मुझे लगा कहीं ये गांड मारने से मना न कर दे, तो मैं रुक गया और उसे सहलाने लगा, किस करने लगा.

अब मेरी नंगी जवान मम्मा को देख कर मुझको और भी ज्यादा उत्तेजना चढ़ गई थी.

कुछ देर बाद मेरे लंड ने हरकत कुछ ज्यादा करनी शुरू कर दी तो मैंने अपने मजे को बढ़ाना शुरू कर दिया. गांव में विलास के कोई पहचान वाले मिले, तो बातों बातों में और घूमते घूमते समय निकल रहा था. देसी हाउस मेड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी खाना बनाने वाली औरत को बिना किसी भूमिका के कमरे में लाकर चोद दिया.

सेक्सी लड़की डॉगरुचिता के बाद मैंने अपनी भाभी को भी चोदा, उस सेक्स कहानी को मैं फिर कभी विस्तार से सुनाऊंगा. मैं तुम्हें रात में ही बताने वाला था कि तुम्हें तो बस नींद आ रही थी।मैं बोली- कोई बात नहीं, आप नहा लीजिए, फिर नाश्ता लगाती हूँ।जेठ जी नहा कर आए और फिर हम दोनों ने साथ नाश्ता किया.

सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी सेक्स

चाचा जी का शायद अभी तक मन नहीं भरा था, उनका लंड दीदी की चूत में जा ही नहीं पाया था. वो जोर से चिल्लाई- मैं मर जाऊंगी मादरचोद!लेकिन मुझे केवल अब उसको चोदना ही दिख रहा था और मैं जोर जोर से नैना को चोदने लगा. तभी उसने कहा- कहां खो गए भैया?मैंने कहा- कुछ नहीं … तुझे काफी दिनों बाद देखा तो बस हैरान हो गया था.

हम दोनों ने कुछ देर बाद एक दूसरे के प्यार किया और अब शनाया अपने हॉस्टल चली गई. पर क्या करता मर्यादा … और फटती गांड दोनों ही मुझे हमेशा कुछ भी काण्ड करने से पहले रोक देते थे. अब रात को मैं सौम्या डार्लिंग के कमरे के बाहर गया और सौम्या को भूत बनकर डराने लगा.

मेरे मना करने पर यही कहा- बस 2 मिनट और फिर तुम्हारी इच्छा भी पूरी कर देंगे!और फिर दोनों धीरे-धीरे मेरे मुंह हो चोदने लगे।अब बारी थी चूत को चोदने की!मैं दोनों की तरफ देख रही थी, तभी दोनों ने इशारों में कुछ बात की, दोनों ने कंडोम पहने. आज मैंने भी सोचा कि मैं भी अपने जीवन के सेक्स अनुभव में से एक मस्त सेक्स कहानी आप सभी के साथ साझा करूं. दोस्तो, मेरी किस्मत भी ऐसी कि जिससे मुझे प्यार हुआ, वो मेरे मामा का लड़का है.

उसका लैटर पढ़ने के बाद तो मेरी खुशी का ठिकाना ही नहीं था और मुझे लग रहा था कि मेरी वर्षों की तमन्ना आज पूरी होने जा रही है. वैसे मुझे उसकी चुदाई की तेज आवाजों की कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि हम होटल में थे और रूम से आवाज बाहर जाने वाली नहीं थी.

कुछ देर बाद मैंने उसकी गर्दन के पीछे से सिर पकड़कर उसके होंठों पर पहला चुम्बन किया.

शिल्पा बेड पर बिना कपड़ों के लेटी हुई थी और वो फ़ोन पर किसी से कॉल पर बात कर रही थी. हिंदी में सेक्सी मूवी चुदाईमैं चाहती हूं कि जब मैं फेरे ले रही होऊं, तब मेरी चूत तुम्हारे स्पर्म से भरी हुई हो. हिंदी सेक्सी बीपी इंडियनमैंने सौम्या डार्लिंग से रुकने को रिक्वेस्ट की और कहा- मैं घर पर अकेले बोर होता रहूंगा. औपचारिकता पूरी करने के बाद मैंने सबसे पहले उसके रूम का बंदोबस्त कराया और उसका सामान क्लॉक रूम के लॉकर में रखवा दिया.

साथ ही मैं उसके कड़क निपल्स को भी सहला रहा था तो रेखा मुँह से कामुक सिसकारियां लेने लगी.

धीरू बड़े ही आराम से अपने लंड को मेरी गांड की दरार के बीच रगड़ रहे थे. वो अभी भी मेरे लंड से बने हुए पैंट के उभार पर ही नजरें लगाए बैठी थी. कुछ देर बाद साड़ी में एक भरे हुए जिस्म की दूध जैसी गोरी महिला ने दरवाजा खोला.

तभी उसने मेरे कान के पास आकर मुझे किस किया और मेरे कान की लौ पकड़ कर चूसने लगा. मैगी खाते समय रिया मेरी गोद में बैठी हुई थी, तो बीच बीच में मैं कभी उसके मम्मे दबा देता तो कभी उसकी चुत में उंगली कर देता. मैं पहले ऊपर चढ़ने लगा, वो मेरे पीछे मेरी गांड पर थप्पड़ मारता हुआ चढ़ने लगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ देखने वाली

मैंने फोन रख दिया और अपने बॉस को बोलकर वहां से अपनी बाईक लेकर निकल पड़ा. मैं चाची के पैरों के पास बैठ कर उनके पैरों को अपने सीने से लगा कर उन्हें चुप होने की मिन्नतें करने लगा. वो मेरे लंड से अपनी चुत की खुजली शान्त करवा कर अपने कपड़े ठीक करके नीचे चली गई थी.

मुकेश की हरकतों से मेरी चुत गीली सी होने लगी और मैं भी उसकी हरकतों का विरोध न कर पाई.

मैंने उसकी आंखों में देखा, तो उसने स्माइल करते हुए मुझसे पूछा- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- बस यही ऑफिस का काम.

अब जब भी साली किचन में होती थी, मैं किसी न किसी बहाने से नीचे आ जाता और साली से चिपक कर बातें करने में लग जाता था. वो खड़ी थी तो मैंने मैक्सी के अन्दर हाथ डालकर ब्रा उठा दी और उसके दोनों मम्मों को धीरे धीरे मसलने लगा. ಕನ್ನಡ ಫುಲ್ ಸೆಕ್ಸ್सौम्या डार्लिंग ने नीले रंग की साड़ी पहनी थी और वो इतनी हॉट लग रही थी कि मन कर रहा था कि उसे बिना कुछ कहे, सबके सामने सीधे चोद दूं.

मैं टीना को लेकर घर से निकला और हम दोनों खाने के लिए अच्छा सा रेस्तरां खोजने लगे. मैं भी एक हाथ से उसका लंड हिला रहा था और दूसरे हाथ से उसकी गांड को दबा रहा था. कहानी के पहले भागदो सहेलियों का आपस में लेस्बियन सेक्समें आपने पढ़ा कि कॉलेज में पढ़ने वाली दो सहेलियां आपस में लेस्बियन सेक्स करके अपनी अन्तर्वासना शांत करती थी.

मुझे उम्मीद है कि आप मेरी पहले वाली Xxx कहानीटीचर से चुदाई की तमन्नाको पढ़ कर मुझे एक बार फिर से अपना प्यार देंगे. फिर अपने मुंह से उसके मुंह में मयंक का सारा माल दिया।कुछ मिनट तक हम दोनों मयंक का वीर्य अपने थूक के साथ एक दूसरी के मुंह में डालती रही और फिर थोड़ा मैं तो थोड़ा सीमा उसका वीर्य पी गयी।हम दोनों खड़ी हुई और मयंक को बारी बारी लिप किस करके थैंक यू बोला.

अब मैंने भाभी को पीछे घुमाया और झट से अपना लंड उनकी गीली गांड में पेल दिया.

वो अपने दोनों हाथों से पूरे लंड और अंडकोषों को सहलाकर मलहम लगाती रही और मैं उसकी चूत रगड़ता रहा. जैसे ही मैंने अपने होंठ हटाए, तो मैंने देखा कि उसके चेहरे पर पसीना आ गया था. मैंने अपना सर भाभी के दोनों पैरों के बीच में करके दोनों हाथों से चूत को खोल दिया और जीभ से चुत को कुरेदने लगा.

सेक्स वीडियो बिहारी सेक्सी क्योंकि जैसे ही पापा सौम्या यानि मेरी प्यारी मम्मा के साथ दिल्ली शिफ्ट हुए, मैं दिल्ली पहुंच गया और उनके पास ही किराए पर रहने लगा. मैं अपने भाई का इन्तजार कर रही थी कि तभी मेरे भाई ने मेरे बगल में से लैपटॉप हटा कर दूर रखा और मेरी चूची को ब्रा से ऐसे मुक्त किया, जैसे उसकी अपनी हो.

कहानी के पिछले भागभाभी की चचेरी बहन की पहली चुदाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने शिल्पा को चोद कर लंड का माल इसके पेट पर गिरा दिया था और उसके बाजू में लेट गया था. बातों ही बातों में हम दोनों धीरे धीरे सेक्स के बारे में भी बातें करने लगे थे. अब शिल्पा भी अपने हाथ को मेरे अंडरवियर में डाल कर लंड को सहलाने लगी.

बीएफ वीडियो सेक्सी वीडियो देसी

मेरा उसको चोदने का बहुत मन था पर हम दोनों उस दिन भी सेक्स नहीं कर पाए. इन्हीं सब बातों में दिन जा रहे थे और मेरा मन उसकी तरफ आकर्षित होता जा रहा था. तब मैंने कहा- रंडी साली मादरचोद … तू पहले नीचे तो बैठ!उसके नीचे बैठते ही मैंने उसके बाल पकड़ लिए और जोर से खींचे और कहा- जल्दी से ले इसे अपने मुंह में … इसे चूस और मुझे आराम दे जल्दी!मेरे गुस्सा करने के बाद वह मेरे लोड़े को चूसने लगी.

डॅाक्टर मम्मी के चूतड़ों पर इंजेक्शन लगा ही रहा था कि मम्मी की झांटों वाली बुर दिख गई।डॉक्टर मम्मी की चूचियां मसल कर पहले से ही गर्म था, वो मेरी मम्मी की नंगी बुर देख पगला उठा।जैसे तैसे दिन कटा और रात में मरीज आना बंद हो गये, उसने अपना क्लीनिक बंद किया और अब केवल वो और मम्मी थे।डॉक्टर लुंगी में आ गया. मुझे किस करो, मेरे बूब्स मसल दो।अब मेरा भी लंड खड़ा हो गया।हम दोनों ने कम्बल ओढ़ रखा था।वो मुझे चूमे जा रही थी।मैंने भी उसकी चूची मसलनी शुरू कर दी।अब वो मेरे लौड़े को चूसने लगी।मुझे भी मज़ा आ रहा था।मैंने भी उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और एक अंगुली उसकी गांड में घुसेड़ दी।वो ऊह कर के उछल उठी.

फिर याद आया कि आज तो भैया जाने वाले हैं तो मैं भाग कर नीचे आया तो मालूम हुआ कि भैया जा चुके थे.

लेकिन निशा से खड़ा नहीं हुआ जा रहा था क्योंकि उसके पैर में मोच आ गई थी. वो भी लंड लेने को बेताब हो गई थी इसलिए उसने खुद ही अपने शरीर को पीछे की ओर धकेल दिया. उसने मुझे सीधा किया और अपना लंड मेरी चुत पर सैट करते हुए बोला- ले जीनी, आज और चुदाई का मजा ले ले.

चाची माथे पर हाथ मारती हुई बोलीं- हाय राम … तमीज़ नाम की चीज तो है ही नहीं तुम्हारे अन्दर … कोई ऐसे नंगा होकर किसी के सामने चेंज करता है क्या?मैंने नादान बनते हुए कहा- चाची, पहली बात तो मैंने आपको बाथरूम से ही आवाज़ दी थी, जो कि शायद आपने सुनी नहीं. मैं मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा और एक को मुँह में भर कर अपने दांतों से हल्के हल्के से काटने लगा. मैंने कहा- जरा आप अपनी चूत की फांकें खोल कर चूत के दर्शन कराओ न!भाबी ने एक हाथ से अपनी चूत की झांटें हटाते हुए अपनी चूत में उंगली करना शुरू दी.

अब चाचा ने टूरिंग का काम पकड़ लिया था तो वो ज्यादातर बाहर ही रहने लगे थे.

सेक्सी फुल एचडी हिंदी बीएफ: हम्म, समझ रही हूँ कि तुम क्या देख रहे हो?”फिर रिया खड़ी होकर और अपना हाथ मेरी तरफ करते हुए बोली- आओ मेरे साथ डांस करो।उनके ऑफर से ऐसा लग रहा था कि साला जन्मदिन उनका न होकर मेरा है।मैं उनके साथ डांस करने लगा, कोशिश कर रहा था कि कुछ ज्यादा मैं टच न हो जाऊँ।फिर रिया ने खुद ही मेरी बांहों को अपनी कमर में फंसाकर मुझसे चिपक गयी।थोड़ी देर तक दोनों के बीच यूं ही खामोशी चलती रही. मैं उसके बालों को सहला रहा था और बोल रहा था- आह … ओ…ह … हाँ मेरी जान … पीओ इसे … आह और चूसो!मैं कह रहा था- सक इट बेबी … आह आ जाओ … और तेज पीओ जान!तब मैं बिल्कुल अलग ही दुनिया में था.

अब मैंने भैया भाभी को बोला कि टीना को घर छोड़ देता हूँ और मार्केट से कुछ खा भी लूँगा. वो झड़ कर मेरी बांहों में ही झूल गईं और मैं उन्हें अपने आगोश में लिए लंड खाली करता रहा. मैं- अब इसे देखती ही रहोगी या मुँह में भी लोगी?मौसी- इसे मुँह में कौन लेता है.

मेरा घर 3 मंज़िल का है, जिसमें एक मंज़िल पर मेरे मम्मी पापा का कमरा, रसोई और एक गेस्ट रूम था.

पर साली के कान में लीड लगी हुई थी जिस वजह से उसको कुछ सुनाई ही नहीं दिया. जब से मैंने मेरी बहन के स्तन देखे हैं, तब से मुझे अपनी बहन को चोदने की इच्छा हो गई थी. मैंने उसकी गांड पर ज़ोरदार थप्पड़ मारते हुए अपना लंड का सुपारा वापस टीना की गुलाबी चूत पर टिकाया और उसे वापस चोदना शुरू कर दिया.