सलमानी बीएफ

छवि स्रोत,सनी लियोन ब्लू पिक्चर बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पंजाबी सेक्सी फिल्म: सलमानी बीएफ, पप्पू हौले-हौले अपना लंड रूपा के मुँह में डाल के साफ़ करते हुए बोला- अच्छे से चूस कर साफ़ कर रंडी, ये तेरे हिजड़ेपति का छोटा सा लण्डनहीं है, तेरे यार का लौड़ा है.

बांग्ला में सेक्सी वीडियो बीएफ

फिर मैं उसके पीछे खड़ा हो गया और उसके गले को चूमते हुए उसका ब्लाउज खोलने लगा. बीएफ की चुदाई बीएफ की चुदाईचल बता मैं क्या कर सकती हूँ तेरे लिए?मॉंटी- रहने दो दीदी, आपकी तबीयत ठीक नहीं है.

फिर मैंने उबासी सी ली तो दीदी ने मुझसे कहा- भैया तुम थक गए होगे, बाथरूम में जाकर चेंज कर लो, मैं चाय बना देती हूँ. अंग्रेजी बीएफ नईइस तरह चाची ने मेरी मुठ मार दी और हम दोनों एक दूसरे को किस करते हुए सो गए.

वो पहले कुछ बोला था जिसे मैंने नहीं सुना इसलिये वह मुस्कुराते हुए भारी मर्दाना आवाज़ में दोबारा बोला- हाँ भाई! क्या हुआ? क्या चाहिये?साला उसका तो अंदाज़ ही कातिलाना था… हल्की मुस्कान, काली शर्ट की खुली बटन से दिखती फूली मर्दाना छाती और चेहरे पर हल्की दाढ़ी मूँछ उसे पक्का मर्द बना रही थी.सलमानी बीएफ: आहहहहह साली और ज़ोर से उछल, लंड तेरी बच्चेदानी पे टकरा रहा है या नहीं साली रखैल?नीचे के धक्कों से रूपा भी अब अपना पूरा ज़ोर लगा कर उछलने लगी.

आराम से चूसो उफ्फ आह…काफ़ी देर तक गुलशन जी अपनी बेटी के मम्मों को चूसते रहे.एकदम स्पंजी बॉल्स थे, मैंने कड़क निप्पलों को देखते ही मुँह लगा दिया, मेरी गर्लफ्रेंड की माँ मेरे बाल पकड़ कर मादक आहें भर रही थी.

बीएफ बीएफ एचडी चुदाई - सलमानी बीएफ

अदिति बेटा, अब कैसा लग रहा है?” मैंने लंड को गांड में धीरे से आगे पीछे करते हुए पूछा.मैंने सोचा शायद मम्मी बाजार से आ गई हैं, लेकिन मम्मी नहीं, दीपिका आई थी.

अब परीक्षित का लंड सिंडी की गांड में और चिंटू का लंड उसकी चूत में था और दोनों एक साथ फिर से धक्के लगाने लगे, वो उनसे छुटने की कोशिश भी कर रही थी, पर दोनों ने उसे इस तरह कस कर पकड़ा हुआ था कि उसे उनसे छूटना आसान नहीं था. सलमानी बीएफ बातें करते हुए वह काफ़ी साधारण लगा, ना घमंड, ना ज्यादा नखरे और ना ही ज्यादा स्टाईल.

काकू ने उसकी फांकों पर तेल डाला और फांकों के बीच से लेकर नीचे मालिश शुरू की.

सलमानी बीएफ?

बस की 80-90 की रफ्तार में भी जैसे हम दोनों का वक्त थम सा गया था, उसका सैलाब अपने चरम पर था और किसी भी समय वो मेरे मुंह मे अपना अमृत छोड़ने वाली थी. मैं दोनों हाथ ऊपर करके चाची के मम्मों को दबाने लगा और चूत के छेद में जीभ डाल के चूत चाटने लगा. शाम को उसके हसबैंड को कॉल आई तो उन्हें किसी काम की वजह से अपने किसी दोस्त के साथ दिल्ली जो 250 किलोमीटर दूर है, जाना है.

मेरे द्वारा उसकी बात का उत्तर नहीं देने पर उसने मेरी नाइटी के खुले बटनों में से अपना हाथ डाल कर मेरे स्तनों को सहलाते हुए मुझसे पूछा- तुमने मेरी बात का उत्तर नहीं दिया. फिर कुछ देर बाद हम दोनों वैसे ही टॉपलेस बाहर निकली और बीच की तरफ निकली। जिंदगी में पहली बार हम कहीं खुले आसमान के नीचे दिन दहाड़े नंगी घूम रही थी. मैंने चाची को चोदना चालू किया तो चाची ने अपने पैरों से मुझे जकड़ लिया ताकि मैं कोई हरकत ना कर दूँ.

मैंने उसे बताया कि उसके बॉयफ्रेंड को करना नहीं आता था, वह बच्चा था, आज तुम चुदोगी तो थोड़ा दर्द होगा जिसे बर्दाश्त कर लेना, फिर एक बार के दर्द के बाद सारी जिंदगी मजे ही मजे हैं. मैं- अन्नू, तू चाहती है कि मैं तेरी झांटें शेव करूँ?अनुराधा- सिर्फ चूत के ऊपर ही नहीं… मैं चाहती हूँ कि तुम यहाँ से लेकर वहां तक के सारे बाल शेव करो. उसने मेरा मोटा लौड़ा अपनी चूत में रखा और नीचे बैठने लगी, सारा लंड उसकी चूत में धंस गया.

हम दोनों बहुत ज्यादा मूड में आ गए थे।उस के बाद हम 69 पोजीशन में आ गए, मैं उस की चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चाट चूस रही थी। वो इस दौरान वो एक बार झड़ गई थी, उस की चूत का नमकीन पानी मैं चाट गया और इसी तरह से करते हुए मैं उसको दुबारा मूड में लाया।जब वो दुबारा गर्म हो गई तो मैंने सोचा बिना देर करते हुए अब इस को चोदा जाये. अंकल- टीना अगर तू ना कहेगी तो तेरी माँ गुस्सा करेगी क्योंकि मैं अगर नाराज़ हुआ तो सारा काम बंद कर दूँगा, फिर तुम लोग गरीब हो जाओगे.

मैं बहुत ही आश्चार्य से उस हवेली को देख रही थी तभी तरुण बोला- यह हमारी पुश्तैनी हवेली और मेरा घर है.

तो दोस्तो, यह थी मेरी एक चाय वाले से हिन्दी चुदाई कहानी रेलवे लाइन के किनारे… इसके बाद एक मस्त हिंदी चुदाई स्टोरी अगली बार लिखूंगी तब तक लंड हिलाते रहिए.

मॉंटी- ठीक है फिर बताओ क्या बात है?टीना- देखो भाई तुम बहुत भोले हो. आशीष- उफ्फ शनायाआ आ आ आह!बदन में उनके थिरकन सी हुई… जीभ में थूक से भर के पूरा सुपारा मुँह में ले लिया. खड़ा लंड देखकर रतना मुस्कुराई, उसने कहा- बाबू तुम्हारा तो अन्दर जाने के लिए एकदम तैयार है.

लेकिन दीदी की नज़र अचानक तौलिए पर पड़ी और उसमें से दीदी को मेरा 8 इंच का लंड फूलता हुआ नज़र आने लगा. बीच-बीच में मणि मुझे भी टच कर के मजे ले रहा था, मुझे भी अच्छा लग रहा था तो मैं कोई ऐतराज नहीं कर रही थी. पापा जी, चलो अब खाना खा लो!” बहूरानी की आवाज ने मुझे जैसे सोते से जगाया.

मैं- अच्छा लग रहा है ना मेरा लंड? अगर हाँ तो अपनी एक उंगली तेरी चुत में डाल.

रितु दीदी ने मुझे अपने पास खींच कर दो तीन बार मेरा चुम्मा लिया और एक हाथ से मेरा लंड दबाया. मैंने कहा- सर, पहली पहली बार मुझे थोड़ी तो दिक्कत होगी ही क्योंकि आपका लंड मेरे पति के लंड से ज्यादा लम्बा और मोटा है. मैंने स्पीड बढ़ा दिया…अनुराधा- आहहाआह आह… आहाहा… आह… और… जोर से एयेए… उहह… उउफ्फ़… डाल दे… अया… रांड हूँ मैं तेरी… अया…डाल्लो… पूराआ… आहा आहा…मैं उसकी गांड चोदता रहा- आआआहह… अया… तेरी गांड बहुत टाइट हैई… तेरी गांड में हो छोड़ रहा हूँ…मैंने उसकी गांड में अपना रस छोड़ दिया और उसकी चूत भी रो पड़ी, उससे नहीं सहा गया तो वो चीख पड़ी और टब में गिर गई.

मैं बोला- भाभी, तुम ही उतार दो ना!भाभी ने मेरे सारे कपड़े निकाल दिए, मैं अब सिर्फ अंडरवियर में था. अब उसकी सेक्स भरी सिसकारियाँ घुटन बन कर निकलने लगी थी और मैं उसकी टाइट चूत में डुबकी लगा रहा था. कुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद मैं अब सिर्फ रोस्टन का लंड चूस रही थी और सिंडी परीक्षित और चिंटू के लंड को चूस रही थी.

मैंने पूरा माल आंटी की चूत में ही निकाल दिया और उनके ऊपर ही लेट गया.

वो एक सेल गर्ल थी, उसने अपनी कंपनी का नाम बताया और कहा- मुझे आपके दो मिनट चाहिए, मुझे आपको हमारे न्यू प्रॉडक्ट्स के बारे में बताना है. ये अनायास ही होने लगा था तो सुमन चौंक उठी क्योंकि उसे चुदवाना नहीं था.

सलमानी बीएफ किसी ने सच ही कहा है कि इस सम्भोग नाम का वर्जित फल जिसने एक बार खाया उसका दिल बार बार उसको खाने का करेगा. फिर पप्पू की गोटियाँ सहला कर और उसकी तरफ़ देख कर रूपा ने जीभ निकाल कर दो-तीन बार लंड चाट लिया.

सलमानी बीएफ मॉम नाराज़ हो गईं और उठने लगीं, पर मैंने उन पर अपना भार रख दिया और उनको उठने से रोकने लगा. लेकिन मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं था; मैं उसकी सॉक्स उतार कर तलवे चाटने लगा.

अब जब एग्जाम समाप्त हो गए थे तो एक माह बाद गाँव गया था, जब उसके घर के तरफ गया था तो उसने एक नजर मेरी तरफ देखा और फिर एक लड़की से बात करने लग गई.

बीएफ चुदाई वाली हिंदी फिल्म

तब जाकर टीना ने आँखें खोलीं और एक बार तो वो भी सोच में पड़ गई कि संजय ऐसा कैसे कर सकता है. मैं समझ गई कि मुझे फिर से दिक्कत होने वाली है लेकिन मैं यह भी जानती थी कि मुझे मजा भी खूब आएगा. तुम्हारी चुत और गांड ने मेरे लंड को अपने खून का टीका इसलिए लगाया क्योंकि तुम्हारी गांड और चुत को मेरा लंड पसंद आ गया था.

फ्लॉरा- वाउ यार सो नाइस, फिर क्या हुआ… चुदाई रुक गई या उसके बाद भी तुम्हें अपनी चुत में अंकल का लंड लेने का मौका मिला?टीना- अरे मिलता कैसे नहीं… अंकल ने माँ को काम में इतना उलझा दिया कि वो ज़्यादा बाहर ही रहने लगीं और अंकल मेरे साथ रासलीला करते रहते थे. मेरे उसके रूम में रुकने की वजह से वो अपने पापा को डांट रही थी कि किसी को भी मेरे रूम में शिफ्ट कर दिया है. वह बैठ गई और बोली- आपका इतना बड़ा और मोटा लंड है, मेरी तो बिल्कुल ही फट जायेगी.

आँख तुम्हें बंद करनी होगी समझी!सुमन ने थोड़ी ज़िद की, मगर फिर वो मान गई.

मेरे मन में पहले से ही उसे चोदने का प्लान था, इसलिए मेरा लंड खड़ा हो रहा था और मैं लंड को संभाल रहा था. मैंने उसे बताया- स्वीटी अपने बॉय फ्रेंड को छोड़ देगी क्योंकि बॉय फ्रेंड से कुछ हुआ ही नहीं था. उस दिन मैंने 3 बार आंटी को चोदा और मैंने तीनों बार आंटी की चूत में ही अपना माल गिराया.

मैंने कहा- चलो छोड़ो वो बात… मैं हूँ ना!तो वो बोली- सन्नी मज़ाक नहीं!मैंने कहा- अरे बाबा मज़ाक नहीं सच्ची… जब से तुम्हें देखा था, तब से ही आई लाइक यू… बट तुम लोगों की नई शादी हुई थी, तो मैंने सोचा तुम खुश होगी इसलिए मैंने इज़हार नहीं किया. उस लम्बी चुदाई में मैं 3 बार झड़ी और फिर वो भी झड़ गया, उसने मेरी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया।उस रात हमने 5 बार चुदाई की. तरुण एक वह इंसान है जिसने मेरे जीवन के सब से भयानक, कठिन एवं संकटमय समय में मुझे तथा मेरे पुत्र को आश्रय दिया था.

टीना- चल मेरी जान, अब जल्दी से बता तेरे पास बताने को ऐसा क्या खास है?सुमन- दीदी, आजकल पापा रात को मेरे कमरे में आते हैं और बातों ही बातों में मुझे टच करते हैं. सुमन उठ कर बैठ गई और उसने एक जोरदार अंगड़ाई ली और अपने पापा से लिपट गई- पापा, आप कितने अच्छे हो.

बेडरूम के अंदर जा कर मैंने बालकोनी के दरवाजे की चिटकनी लगा दी और पर्दे को थोड़ा सा सरका कर उसमें झिरी बना दी ताकि सैफिना अंदर देख सके. अपने खरबूजों की ज़रा सी झलक दिखा दूँगी ना… देखना कैसे उनका लंड लुंगी फाड़ कर बाहर आने को बेताब हो जाएगा हा हा हा. मैंने जोर से उसे अपने से चिपका के रखा था और उसकी गर्दन को किस कर रहा था.

उतनी सी लाइट में कुछ दिखता तो नहीं था हां खिड़की के कांच चमकते से लगते थे.

मैंने कहा- सॉरी लेकिन हुआ क्या?तो जो मेरे सेकेंड लेफ्ट में बैठी थी, उसने मुझसे कहा- देखो मेरी पहचान बहुत ऊपर तक है और अगर तुम हमारी बात नहीं मानते हो तो हम तुम्हारे खिलाफ रिपोर्ट कर देंगे कि तुमने बदतमीज़ी की और भी बहुत कुछ किया. पहली सबसे नशीली चीज उसकी आँखें मेरे दिल में बैठ गई थीं और मैं ये बात भी काफी पहले ही समझ गया था कि अगर मैंने मेरी किसी कज़िन को चोदा तो वो यही होगी. कुछ तेज धक्कों के बाद विनय ने अपना सारा माल कविता के पेट पर निकाल दिया.

मैं एक हाथ की दो उंगलियाँ उसकी चूत के अन्दर-बाहर कर रहा था और आज मैं हरमीत की गांड भी मारना चाहता था. चली जाना, किसने रोका है?हेमा- अरे सुमन भी तो घर पर है, अब लड़की को अकेली छोड़ कर जाऊं क्या?गुलशन- अरे तो मैं कौन सा शाम तक रहूँगा.

शायद उन्हें लंड चुसवाना अच्छा लग रहा था इसलिए उन्होंने मुझे ठीक से लंड चुसवाना शुरू कर दिया. मेरी बहन की चुत बहुत ही गोरी थी, जिस पर छोटी-छोटी झांटों के सुनहरे बाल उगे हुए थे. मैं हैरान रह गया कि वो अभी तक चुदी नहीं थी, मेरी बहन की चूत कुंवारी थी.

जीजा साली पोर्न वीडियो

सुमन मान गई तो गुलशन जी ने उसे कुर्सी पे बैठा कर पीछे हाथ बाँध दिए और आँखें भी बंद कर दीं.

अब मैंने उन्हें उठा कर अपनी गोद में बिठा लिया और किस करने लगा, साथ ही साथ उनकी चुचियों को भी दबाने लगा. यह मेरी कहानी की आखिरी हिस्सा है, पीछे के सारी कहानी और आज की कहानी केवल तीन दिन और तीन रात में घटित है. मैंने फोन रख दिया इसके बाद मैंने रात भर ब्लूफिल्म देखी और चुत में मूली से मजे लिए.

मैंने उसे देखा कि वो मेरी चूचियों को देख रहा है, मैंने अपने दुपट्टे से अपने मम्मों को ढक लिया और उस पर ध्यान नहीं दिया और मैं नीचे अपने कमरे में आ गई. तब मेरे दिमाग में कुछ डाउट हुआ कि कहीं ये मुझे किसी दूसरे बेस पर कमेंट पास न कर गई हों. सेक्सी बीएफ उड़ीसातो मैंने कहा कि ये कपड़े पानी में भिगोने पड़ेंगे, तभी इसका कीचड़ साफ हो सकेगा.

दूध पीकर मैंने गिलास आंटी को वापस दे दिया।आंटी बोली- बेटा, मैं दूसरा गिलास दे देती. काकू ने कविता को नीचे पेट के बल लिटाया और धीरे धीरे कविता के कन्धों और बाँहों पर तेल लगाते हुए मालिश शुरू की.

यकीन हो तो ठीक है… वरना कल हम वापस चले जाएंगे… पता नहीं तेरा फिगर देख कर मुझे क्या हो गया था कि मैं अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पाया और ये सब कर दिया. यह कह कर वो मुझे उन सब से थोड़ी दूर पर ले गया और बोला- दीदी चिल्लाओ मत, मुझे और मेरे दोस्तों को खुश कर दो. फिर मैंने उनकी ऊपर झुककर अपना एक हाथ जमीन पर टिका लिया और दूसरे हाथ से अपना लंड उनकी चूत में घुसाने लगा.

सर्वेश में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह अपना लोहे की रॉड सा कड़क हो चुका लौड़ा मेरे मुँह में दे सके लेकिन तड़प तो वह भी रहा था अपने लण्ड को हल्का करने के लिए… मैंने ही उसके लोवर को नीचे खींच दिया और चड्डी के ऊपर से ही उसके मस्त खीरे जैसे लण्ड को मुँह में भर लिया और अपनी जुबान से लण्ड से लेकर उसके सिक्स पेक तक चाटने लगा. मैंने गर्दन मोड़ के देखा, रिया अपनी नाक उस लड़के के पैंट पे घिस रही थी. मॉर्निंग में मैं जब उठी तो गांड का शेप ही बदल गया था… वो और मैं न्यूड ही सो रहे थे.

अमन से शोभा की मुलाकात हुई तो अमन समझ गया कि आज सविता भाभी की चुत मिलना मुश्किल सा लग रहा है.

उसने लंड को चुत पे एक दो बार रगड़ा, फिर सुपारे को चुत में फंसा कर ज़ोर से धक्का दे मारा. फिर मैंने भी ज़बरदस्ती नहीं कि क्योंकि आख़िर मेरे पास पूरी रात थी तो मैंने दीदी से पूछा- आपने वो नींद की गोलियाँ क्यों लाने को बोला था?तो वो बोली- कुछ नहीं तू मुझे दे दे, मैंने वो गोलियाँ उनको दे दीं और खुद फ्रेश होने बाथरूम में चला गया.

उधर मेरी उंगलियों ने मौसी की चुत की दीवार को जैसे ही छुआ, अन्दर इतनी गर्मी थी कि मुझे ऐसा लगा मैंने गरम तवा में उंगली रख दी हो, तो मैंने झट से उंगली बाहर निकाल ली. हम बारिश में भीग कर आये थे इसलिए दोनों ही को नहाने की इच्छा हो रही थी. नमस्कार दोस्तो, एक बार फिर मैं एक बार फिर अपने साथ घटी एक रसीली सी घटना का जिक्र एक कहानी के रूप में कर रहा हूँ.

मैं कई बार साथ वाले बिस्तर की ओर देख कर जब तरुण को वहां नहीं पाती तब मन मसोस कर रह जाती और रात भर जागती रहती थी. जब तक मौका नहीं मिलता, तब तक रोज ही बस उसके मम्मों को उछलते देख कर और थोड़ा टच करके ही काम चलाना पड़ रहा था. यह घटना एक साल पहले की है जब मेरे घर के बगल वाले घर में एक शादीशुदा पति-पत्नी किराये पे रहने के लिए आए थे.

सलमानी बीएफ हैलो सभी भाभी और आंटी, आप सब की चूतों को मेरे खड़े लंड की तरफ से प्रणाम. वो जॉन के पास घर पर रुक गई और जॉन इसी दिन का तो इंतजार कर रहा था कि कब वो लोग जाएं और वो फ्लॉरा को चोद दे.

सेक्सी बीएफ बंगाली

रात को खाना खाने के बाद सारे बच्चे सोने के लिए छत पर चले गए और मैं टीवी देखने लगा. इधर मेरे वाले ने मेरे मम्मे कसकर पकड़े और वो खतरनाक तरीके से मेरा मुँह चोदने लगा. भाभी ने लंड को पकड़ा और चुदास का अहसास होते ही लंड देख कर बोलीं- वाह मेरी जान, क्या लंड है.

फिर नीचे चूत में लंड घुसा-घुसा कर रूपा को चोदते हुए पप्पू ने उसके मम्मे इतने चूसे कि उसके चबाने से रूपा के मम्मों से हल्का सा खून आ गया, जिसे पप्पू ने चाट लिया. तभी मेरा फोन बजा और उसने मुझे नीचे पार्किंग में पैसे देने बुलाया।मैं भाभी से पैसे लेकर तैयार होकर नीचे गया तो देखा वो अपनी नई हीरो की रेंजर सायकल से टिक कर खड़ा हुआ पैसे गिन रहा है और आसपास 4-5 लोग खड़े हुए हिसाब करवा रहे हैं।यार वो बिल्कुल छोटा हीरो की तरह लग रहा था… उसकी उम्र कम थी लेकिन हरकतें किसी बड़े हीरो जैसी… सब लोग उससे हंसी मजाक कर रहे थे… उसकी बातों से वह मुझे नादान लगा. जंगल की शेरनी बीएफअपनी साली गीत को सीधा बैड पे लिटा दिया, उसका दूधिया जिस्म कमरे को और दूधिया कर रहा था और लंड की चुदास बढ़ा रहा था.

यही सोच के मैंने एक हल्के नारंगी रंग की पैंटी उठा कर अपने लंड पर लपेट ली और ये सोचते हुए कि मेरा लंड अदिति बहूरानी की चूत में ही आ जा रहा है मैं जल्दी जल्दी मुठ मारने लगा और दूसरी सफ़ेद रंग की पैंटी को उठा के उसे सूंघते हुए जल्दी जल्दी मुठ मारते हुए झड़ने का प्रयास करने लगा.

कुछ देर बाद जब मैं झड़ने को हुआ तो मैंने अपना अपना सारा वीर्य उनके मुँह में छोड़ दिया और वो मेरा सारा वीर्य अपनी जीभ से चाट कर पी गईं. उस दिन मैंने दोनों को चोदा और पूरी रात भर ब्लू फ़िल्म देख कर चुदाई के मजे लिए.

वो दर्द को भूल कर बस मजा लेने लगी थी और ना जाने क्या क्या बोले जा रही थी. लेकिन तब तक आप हमें चोदो ना, श्वेता जब आएगी तब देखेंगे क्या करना है. वो लोग किसी शानदार रूसी लड़की यानि पोर्न एक्ट्रेस की खोज में थे, जो एनल सेक्स में एक्सपर्ट होने के साथ-साथ गजब की सुन्दर भी हो!जिस दोस्त ने मेरा रुस्लान से परिचय कराया था, वो थोड़ी देर बाद हम लोगों से क्षमा मांगते हुए विदा हो गया और रुस्लान संग हम दोनों बियर की चुस्कियां लगाते रहे.

हमारा ये किस काफी लम्बा चला तो रिया ने टोक दिया- निकी कमीनी, मुझे भी तो उसका मजा लेने दे!मेरी हंस कर मुझसे अलग हुई और रिया बाहों में समा गयी.

क्या हो गया है आपको! मैंने आपका नाम कब लिया? मैं तो बस ऐसे ही बता रहा था. सुमन- हाँ पापा बोलो ना क्या बात है?पापा- रात को तेरी माँ तो जल्दी सो जाती है और मुझे नींद नहीं आती तो क्या मैं तेरे पास आ जाऊं, अगर तुझे कोई दिक्कत ना हो तो?सुमन- अरे इसमें पूछना क्या पापा. जल्दी ही वो मेरे रूम में आ गई और मैंने उसे अन्दर करके अपना गेट लॉक कर दिया.

काजल राघवानी की बीएफ सेक्सीयश ने मेरी मॉम से कहा- इसकी बुर तो बहुत कसी है, लंड अंदर घुस ही नहीं रहा. फ्लॉरा- हैलो महारानी उठो तुम यहाँ चैन की नींद ले रही हो और वहां तुम्हारे पापा ख़ूँख़ार जानवर बने हुए हैं.

मां और बेटे की सेक्सी वीडियो बीएफ

जहां हम रुके, वो कोई चिंटू का ही परिचित था और मैं पहले भी उनके साथ उस घर में रुकी हूँ तो कोई प्रॉब्लम भी नहीं थी. लेकिन मैं कुछ नही बोला और उसने मैं अपने कपड़े उठा कर वापिस उसकी माँ के पास आ गया. मैं थोड़ी सी डर गई और बोली- छोड़ो मुझे!लेकिन वह नहीं माना, मैंने जैसे तैसे करके अपने आप को उससे छुड़ा कर जाने लगी.

फिर मैंने मेरे गाँव के एक लड़के जो मेरा पक्का यार था, से उससे कहलवाया कि प्रभाकर तुमसे बहुत प्यार करता है. तो बहूरानी की पैंटी अपने लंड पर लपेट कर कम से कम मुठ तो मार ही सकता हूं. रास्ते भर मैं उसकी जाँघों को सहलाता रहा और वो कुछ बोली नहीं, बस मजे लेती रही.

सुबह के 4 बजने को थे तो उसने कहा- सर जी, आप अपने कमरे में जाकर सो जाओ, नहीं तो प्रिया और राजीव को पता चल जाएगा. रूपा उंगली से अपनी चूत चोदते हुए जोश में आकर दूसरे हाथ से पप्पू के बाल पकड़ कर उसका सिर झंझोड़ डाला और उसकी छाती में एक मुक्का भी मारा. अब मैंने चाची की एक टांग छोड़ी और उनकी टांगों के बीच में घुसकर उनकी एक टांग उठाकर चोदने लगा.

मैं पकौड़े खाकर अपने रूम की तरफ चल दिया, तभी भाभी बोलीं- रामू, आज रात में यहीं खाना खा लेना, ओके!मैं बोला- हाँ ठीक है भाभी. फिर आगे की तरफ उसे घुमा कर स्कर्ट उठाकर अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया.

एक दिन मैं अपने कपड़े सुखाने के लिए अपनी छत पर गई तो वो भी अपनी छत पर ही अकेले खड़ा फोन पर बात कर रहा था.

मोनिका बोली- क्या देख रहे हो? इसकी सील तुम उस रात बुरी तरह अपनी रॉड से तोड़ चुके हो. न्यू हिंदी बीएफ 2021मेरे बहुत बोलने के बाद वो माना, लेकिन अब उसका हाथ मेरी बैक यानि की मेरी गांड पर आ गया. डॉक्टर डॉक्टर ने की सेक्सी बीएफमगर पापा नहीं माने तो?फ्लॉरा- पागल जब हमने अतुल को अपने जाल में फँसा लिया तो तेरे पापा तो प्यासे हैं. दस मिनट तक धकापेल चोदने के बाद भाई ने पोजीशन चेंज की और मुझे सोफे पे लिटा कर मेरे दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर मुझे ज़बरदस्त चोदने लगे.

अब उसकी गांड जोर से हिल रही थी और अचानक ‘आअह्ह्ह्ह्ह… भाई…ईई… मैं गई… अह…’ अनु झड़ गई.

वो लड़के लोग तो यह भी कहते हैं कि इस नवरात्रि में हम माँ-बेटी उनके मोहल्ले में जा कर उनके डाँडिया लेकर डाँडिया खेलें. हम दोनों एक ही स्कूल से पढ़े हैं और एक दूसरे से बहुत प्यार भी करते थे. मैं- अच्छा लग रहा है ना मेरा लंड? अगर हाँ तो अपनी एक उंगली तेरी चुत में डाल.

मगर सुमन की बात को वो टाल भी नहीं सकता था तो उसने लंड को हाथ में लिया और चुत को देखने लगा. मैंने बहुत कोशिश की पर हिम्मत नहीं हुई चाची के मुँह में लंड डालने की. वो लंड अन्दर लिए बगैर ही चुत जोर-जोर से रगड़ने लगी, तो मैंने उसकी कमर पकड़ कर उसे अपने नीचे लेटा लिया और उसके ऊपर आ गया.

सेक्सी बीएफ वीडियो वीडियो बीएफ

वो हाथ जोड़ने लगी कि हम ऐसा न करें उसे हमारे जैसे अच्छे लोग फिर नहीं मिलेंगे. मौसी सामने ही बैठी थीं… मैंने कांपते हुए दो उंगलियां उनकी चुत में घुसा दीं. आ जा मेरे पास और तेरे रसीले संतरे मुझे दिखा, मैं भी तो देखूं इनमें कितना रस भरा पड़ा है.

मैंने उसका निप्पल चूसना शुरू किया और राइट हैंड से उसके लेफ्ट निप्पल को मसलने लगा.

मैं अन्दर का लुक देख कर सब कुछ भूल गई, अन्दर भी पिंक कलर की ही थीम थी.

एक जोरदार झटका पूरे जोर से मारकर अपना पूरा लंड उसकी चुत में घुसेड़ दिया. अंकल देखो मैंने आपको बताया कि वो लोग क्या बोल कर छेड़ते हैं, रही बात कहाँ टच करते हैं… वो तो मैं उनको करने नहीं देती. देसी बीएफ हिंदी में सेक्सीमैंने उससे पूछा- तुमने पहले किसी को चोदा है?तो वो बोला- हाँ अपनी गर्लफ्रेण्ड को!फिर अमित मेरे पेट पर और जाँघों पर किस करने लगा.

मेरी पहली कहानी की नायिका प्रेमा के साथ यहाँ दूसरी मुलाकात लिख रहा हूँ, जो करीब दो माह बाद हुई. जब तक मुझे जगह नहीं मिलती तो क्या मैं तुम्हारे यहाँ रह सकती हूँ?मैं- देख रिया, मुझे तो कोई प्रॉब्लम नहीं. वो इस दौरान दूसरी बार झड़ गई थी, लेकिन मेरा चुदाई का सिलसिला चालू ही था.

वो बोलीं- मैं तुम्हें अच्छी नहीं लगती क्या?मैं बोला- ऐसी बात नहीं है. साधु- मोना बेटी, तुम और नीतू अपने सारे वस्त्र निकाल दो, अब ये चंदन का टीका तुम्हारी और इसकी योनि पे लगाऊंगा.

अब बेटी वो लड़के क्या बोलते हैं, वो तूने बताया लेकिन इससे क्या ज्यादा गंदा बोलते हैं जिससे तू उनको जंगली कहती है… यह नहीं बताया, कुछ भी बोलते होंगे, मुझे खुल कर बता न सब?नीता अब पप्पू को ज़रा भी रोक नहीं रही थी.

ये लंबी चीज है अगर तू पूरा मुँह में लेकर चूसेगी तो शायद इसका नाम बता पाएगी, नहीं तो हार जाओगी. उसके बाद तरुण ने डोरी सुलझाने के लिए जब चोली को थोड़ा ढीला किया तब मेरे दोनों स्तन उसमें से बाहर निकल गए. फिर थोड़ी सी माज़ा पीकर बाकी में मैंने गोली को मिला दिया और माजा लेकर कमरे में आ गया.

बीएफ सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स एक्स ब्यूटी अन्दर कमरे में सोती थी, मेरा और नाना जी का बिस्तर बरामदे में लगा था. टीना भी कम नहीं थी, उसने सुमन की आँखों में एक नशा देखा, जिससे उसको लगा कि कुछ तो गड़बड़ है.

अपने मुलायम मम्मों पे पप्पू के खुरदुरे पैरों से होता खिलवाड़ उसे अच्छा लगा और वो बोली- हाँ साले… डालती हूँ! पहले झाँटों से तो स्वाद खतम करने दे. मैंने मोनिका को होटल चलने को कहा, पर वो मानी नहीं क्योंकि उसके लिए यह पहली बार था, वो कभी ऐसे होटल नहीं गई थी और वो कॉलेज भी बंक नहीं करना चाहती थी. कुछ देर की चुदाई के बाद मुझसे रहा नहीं जा रहा था… लंड झड़ने को हो गया था… वो भी झड़ चुकी थी.

बीएफ महाभारत

कुछ ही क्षणों में जब तरुण का लिंग तन गया और उसका लिंग-मुंड भी त्वचा से बाहर निकल आया तब मैंने तरुण की ओर देखा तो पाया कि वह जाग चुका था और मुस्करा रहा था. उसके बाद मैंने वरुण को जगाया और हम तीनों नग्न ही नलकूप पर जा कर एक साथ ही नहाये तथा तैयार हो कर गाँव के मंदिर में जा कर गन्धर्व विवाह करके ईश्वर का आशीर्वाद लिया. एक रोज सुबह ही हम अकेले थे तो सैर करके पार्क में एक बैंच पर बैठ गए.

ब्यूटी कहने लगी- आज मुझे तुम्हारा लंड चाहिए, रात को जब नाना सो जाएंगे तो तुम मेरे कमरे में आ जाना. मुझे थोड़ी ही देर में फिर से मजा आने लगा और मैं गांड के दर्द को भूल गई.

रूपा की उंगली पूरी चाट कर हल्के से चबाते हुए पप्पू बोला- क्या बोलती है यार? तेरी जैसी गर्म रंडी औरत को भीड़ में जाना पसंद नहीं? अरे तेरी जैसी औरत को ही तो मैं भीड़ में ढूँढ कर गर्म कर कर चोदता हूँ, तू मेरी ज़िंदगी में बस में मिली वैसे तीसरी चूत है.

यह लंड चुत की चुसाई काफी देर तक चलती रही, इतने में वो एक बार झड़ चुकी थी. मैं बहुत पागल हो गई और बोली- अब लंड घुसा दो यार!तो फ़ारुख ने मेरी गांड के नीचे दो तकिये लगाए, इससे मेरी चुत बहुत ऊपर उठ गई थी, मैंने अपनी दोनों टांगें फैला दीं और फ़ारुख से बोली- आज मुझे रांड बनाकर चोदो. मैं छुट्टियों में अपने घर आया तो हमारे घर पर एक बहुत ही सुन्दर माल किस्म आइटम बैठी हुई थी, जिसकी उम्र करीब 22 साल होगी.

साधु- पहले इसको उत्तेज़ित करो, फिर ये घी अपने लिंग पे लगा कर इसकी कुंवारीयोनि में अपना लिंगप्रवेश करवाना. जब सुमन को ये अहसास हुआ उसने जल्दी से अपने आप को संभाला और कपड़े पहन कर टीना को इशारा किया कि वो जा रही है. मैं इसी पोजीशन में कुछ देर खड़ा रहा और एक हाथ नीचे करके उसकी चूत को मसलने लगा… ताकि उसको थोड़ा आराम मिले और वो दर्द को भूल जाए.

माँ क़सम, उसको चोदने में मुझे जो मजा आया, मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता.

सलमानी बीएफ: रोस्टन ने हमारा उस लड़की से परिचय करवाया, उसकी गर्लफ्रेंड का नाम सिंडी था. दीदी ने ब्लैक कलर की साड़ी और ब्लाउज भी ब्लैक कलर का ही पहना हुआ था.

मैं सपने में देख रहा था कि कोई दरवाजा खटखटा रहा था, दो तीन बार दरवाजा बजाया गया था. मैं और भाभी पास में ही खड़े थे तो मेरा शरीर उनके बदन को टच कर रहा था. रूपा उंगली से अपनी चूत चोदते हुए जोश में आकर दूसरे हाथ से पप्पू के बाल पकड़ कर उसका सिर झंझोड़ डाला और उसकी छाती में एक मुक्का भी मारा.

रूपा पूरी मस्ती में आ कर अपनी कमर उछाल-उछाल कर चुदवाती हुई बोली- और तेज़ कर भोसड़ी के… और तेज़ डाल ना, मजा आ रहा है एक साथ चूत और गांड चुदवाने में.

यहाँ का खेल खत्म हो गया तो चलो पीछे जाकर टीना और मॉंटी को भी देख आते हैं कि वहां क्या हुआ होगा. अब आज देखो कि फ्लॉरा भी जान पाती है या नहीं कि गुलशन जी उसके मामा हैं. उससे बातचीत के क्रम में उसने मुझे बताया कि उसका अफेयर बहुत लड़कों के साथ रहा है.