हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म बीपी देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी सेक्सी वीडियो नेपाल: हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो, मुझे ऐसे करते देख उसने मेरी चूत में ही अपना वीर्य छोड़ दिया और कुछ देर मुझसे ऐसे ही चिपका रहा.

सेक्सी बलात्कारी

चाची बोली- अब रहा नहीं जाता … जल्दी से अन्दर डाल दो … मुझे अब रहा नहीं जा रहा है. चोदा चोदी सेक्सअब मैं वासना में भूल गई कि मेरी उम्र कितनी है, बच्चे कितने बड़े हैं.

इतना सुनते ही मेरे बांछें खिल गयी।फिर मैं अपनी खुशी छुपाते हुए मम्मी से बोला- क्यों जाना है लखनऊ?मम्मी बोली- तुम्हारे पापा के दोस्त की शादी की सालगिरह है। पापा को छुट्टी नहीं मिली इसलिए तुमको जाने को बोला।मैं मुँह लटका कर बोला- ठीक है, चला जाऊँगा।मैंने रात को रवि को कॉल किया कि मैं दो दिन बाद तुम्हारे पास पहुँच रही हूँ. डॉक्टर नर्स की चुदाईइसलिए मैं पोर्न देख कर मुठ मार लिया करता हूँ और अपनी जवानी की आग को शांत कर लेता हूं.

उन दोनों को अलग से एक रूम में सोने के लिए दे दिया और हम दोनों अपने रूम में आ गए.हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो: अगले ही पल दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाल दी, जिससे उनकी प्रिन्टेड ब्रा और 36 बी साइज के कातिलाना चुचे दिखने लगे.

मेरा एक हाथ दीदी के मम्मों पर था और एक पैर उनकी नंगी टांगों के बीच फंसा हुआ था.मैं भाभी के कुरते के अन्दर से ही हाथ डाला और उनके पेट को सहलाने लगा.

भाभी और देवर की सेक्सी वीडियो हिंदी में - हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो

रात के 1:30 बजे थे, पता ही नहीं चला कि हम दोनों आपस में चिपक कर कब सो गए.जब तक उसने अपना लंड खाली किया, तब तक उसने मेरी चूचियां इतनी जोर से दबा कर रखीं कि मेरी चूचियों से दूध की धार टपकने लगी.

फिर वो बोले- लेकिन मम्मी आज सुबह ही बंध्या ने उन दो सेठों से मिलने से ऐेतराज कर दिया था. हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो अपनी आत्मकथा शुरू करने से पहले मैं अपने बारे में कुछ और जानकारी देना चाहूंगी.

मुझसे उसका ऐसा करना बर्दाश्त नहीं हो रहा था और मेरा खड़े रहना मुश्किल होने लगा था.

हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो?

अब उसका एक हाथ मेरी फुदी पर खेल रहा था और मैंने भी अपनी टाँग को पूरा खोल रखा था ताकि वो मेरी फुदी को आराम से मसल सके. दीदी- आहह राज … कितना मजा देते ही भाई … कम ऑन फक मी फास्ट … आंह फाड़ डाल अपनी दीदी की चुत. पापा आते हैं, मम्मी की सलवार और पैन्टी उतारते हैं, अपना पैजामा उतारते हैं, हिला हिलाकर अपना लण्ड खड़ा करते हैं और उस पर निरोध चढ़ा देते हैं और मम्मी की चूत पर हाथ फेरने लगते हैं, कभी कभी ऊंगली भी करते हैं फिर टांगों के बीच आ जाते हैं और फिर से लण्ड पकडकर हिलाने लगते हैं और मम्मी की चूत में डाल देते हैं, मम्मी चुपचाप लेटी रहती हैं, पापा उचकने लगने लगते हैं.

मुझे भी बहुत इच्छा थी तो मैंने उसके सोए हुए लंड को चूस चूस कर जगा दिया. मैं दरवाजे पर पहुँचा, तो भाभी मेरे नजदीक आकर बोलीं- अगर मुझे तेरे भैया से करवानी होती, तो तू अब तक यहां पर नहीं होता. मैंने कहा- अच्छा आप मेरे लिए क्या कर सकते हो?उसने कहा- कुछ भी!मैंने कहा- ठीक है, मेरी 3000 रूपये की हेल्प करोगे?उसने कहा- ठीक है, बताइए कैसे भेजने हैं.

पहले तो मैंने भाभी की पैंटी में ही हाथ डाल कर उनकी चूत के दाने को मसला. एक दिन जब हम कॉलेज जा ही रहे थे, तो कैंपस में संदीप ने पीछे से आवाज लगाई- गीत … ओ गीत … जरा एक मिनट रूको तो सही. दूसरी तरफ संगीता भी चुदवाने के लिए तैयार हो चुकी थी, कई बार उसकी चूत में उंगली चला चुका था.

लेकिन गर्लफ्रेंड बनाने का जुनून ही था कि मुझे ललिता की ओर धकेल रहा था. दीदी रोज पापा से मुझे डांट लगवा दिया करती थी लेकिन मैं फिर भी उसकी बात नहीं सुनता था.

उससे राजन ने उससे कहा- चलिए एक दिन मैं बनाया करूँगा, एक दिन आप बनाइएगा.

दोस्तो, मेरा नाम शाहीन शेख है, मैं अभी सिर्फ 30 साल की हुई हूँ। शादीशुदा हूँ, लेकिन अभी तक माँ नहीं बन पाई हूँ। शादी को 6 साल हो गए हैं, और मेरे शौहर पिछले 6 साल से हीअपना पूरा ज़ोर लगा रहे हैं। मगर फिर भी मेरी गोद खाली है।अब आप सब के लिए ऐसी कोई ऑफर नहीं है.

मैंने कहा- शुरुआत कैसे करूं?उन्होंने कहा- मेरी एक सहेली है, जिससे मैंने तुम्हारे बारे में चर्चा की थी. स्वीटी आंटी- वाह रॉकी … मेरे कपड़े खोल कर मुझे ब्रा और पैन्टी में कर दिया और खुद अब तक कपड़े पहने हो … चलो तुम्हारे कपड़े मैं खोलती हूं. तभी अंकल ने दीदी की कमर को पकड़ कर अपनी कमर को एक जोर से झटका मारा, तो दीदी अपनी जगह से एक इंच ऊपर को खिसक गईं.

संदीप का लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था, मैं अब पूरी तरह थक चुकी थी और सिर्फ संदीप के झड़ने की प्रतीक्षा करने लगी. खा पीकर अब सोने की बारी आई, तो मामी बोलीं- तुम मेरे कमरे मैं ही सो जाना. मैंने मन ही मन प्लानिंग कर रखी थी कि लंड घुसते वक्त मैं जोरों से चिल्लाऊंगी … ताकि उसे मेरी चुत चुदाई का पूरा मजा आए.

पूरा लंड साफ करके भाभी उठी और बोली- देखा, पिला दिया ना इसने अपना पानी मुझे.

कुछ देर तक हम ऐसे ही एक दूसरे से चिपके हुए लेटे रहे।फिर 15-20 मिनट बाद उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मुझे दोबारा अपना लंड चूसने को कहा. अब मैंने लाल रंग का अबीर अपने हाथों में लिया और आंटी की छाती पर रगड़ने लगा. फिर वन्दना ने अपने बेटे को नौकरानी के साथ पार्क में भेज दिया और 8 बजे वापिस आने का बोल दिया.

मैंने अपना लोअर उतारा, फिर अपना अंडरवीयर उतारा और चढ़ गया अपने साले की बेटी की बुआ पर … यानि अपनी बीवी पर और अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया. हम दोनों बैड से जब नीचे उतरे तो देखा कि बैड पे जो चादर थी उस पर खून और वीर्य लगा था. वो बार-बार अपनी चूत को मेरे जांघिया में तने हुए मूसल पर रगड़ रही थी.

मैंने भी बोला- मुझे भी बहुत मज़ा आया अपनी चूत और गांड की चुदाई करवा कर।यह बोल कर मैंने अपने दोनों हाथों से उन दोनों के लंड मसल दिए.

ममता के साथ सेटिंग हो जाने के बाद मेरा जीवन आराम से कट रहा था कि एक दिन शाम को मेरे भाई की बहू रेखा आई और बोली- चाचा जी, आप ने एम कॉम कर रखा है, शैली के एग्जाम आने वाले हैं, उसे थोड़ा पढ़ा दिया करिये. आह्ह… आपकी सेवा करना तो मेरा पहला काम है।अब मॉम शर्मा अंकल को किस करने लगी.

हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो होने वाले दर्द के बारे में सोचकर ही मेरा मन डर गया था, पर अब तक के उपक्रम ने मुझे भी गांड चुदाई के लिए तैयार कर दिया था. आज सुबह से ही मेरी चूत फड़क रही थी। मुझे अहसास हो रहा था कि आज कुछ होने वाला है लेकिन मुझे इसकी उमीद नहीं थी कि मैं भाई के साथ घर से इतनी दूर इस होटल में अकेले एक कमरे में होंगी।पिछले कई महीनों से मैं एक किसी ऐसे ही अवसर की तलाश में थी.

हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो मैं ये सब सोच ही रहा था कि तभी अंकल ने मॉम की गांड में अपना काला लंड घुसा दिया. उसका फिगर यही 30 इंच की चूचियां, 24 इंच की पतली सी कमर और 32 इंच की थोड़ी उठी हुई गांड है.

मैंने उसके चेहरे को ऊपर किया, उसने मेरी आँखों में देखा और हम दोनों की आँखें नम हो गयी.

लोकल सेक्सी वीडियो लोकल सेक्सी वीडियो

मैं बोला- बस यार और 5-7 मिनट की बात है … तुम यहीं घोड़ी बन जाओ, बेड पर तो तुम्हें रात को चोदना है. इस मस्त चुत चुदाई के कुछ देर बाद हम एक दूसरे अलग हुए और अपने अपने कपड़े पहन कर रेडी हो गए. अगले दिन जब मैं नहा रहा था तो प्रीति भी अपने बाथरूम से मुझे नहाते हुए देखने लगी.

मैंने कहा- ममता, जब तुम काम करने आई थी तो तुमने पांच हजार रुपये मांगे थे लेकिन मैं चार हजार देना चाहता था. मैंने कहा- थक कैसे गई यार … कहां गई थी तुम?संजू बोली- कहीं नहीं, आप आईये ना … सब बताती हूँ, पर खाना जरूर से लेते आईयेगा. इस दो अर्थी बात पर हम दोनों ने एक दूसरे को पल के लिए देखा और हंस दिए.

मुझे पता था कि मर्द का लिंग जब औरत की योनि में जाता है तो उसको मजा आता है.

इस बात पर मेरे साले और सलहज ने आंखें मिलाईं और आंखें ही आंखों में अपनी सहमति लेते हुए मुस्कुरा दिए. फिर चाचा ने उनकी टांगों को चौड़ी किया और चाची की चूत में लंड डाल कर हिलने लगे. हम दोनों ही नग्न थे, एक दूसरे को प्यार से निहार रहे थे, मेरा लंड एकदम तनकर उसकी तरफ सलामी दे रहा था.

कहीं संदीप पर तेरी नजर तो नहीं है ना?इस पर मनु ने कहा- तेरे सामने तो मैं कुछ भी नहीं … और ना ही तेरे जितनी बुलंद मेरी किस्मत है. पर शायद दीदी को रफ्तार ना काफी लगा … तभी तो दीदी खुद ही डिल्डो की ओर कमर उछालने लगी थीं. उनके अनुसार चाचा जी ने उनको चोदना छोड़ दिया था और वो अपनी शारीरिक प्यास न बुझ पाने के कारण परेशान थीं.

उनकी सांसों से गर्मी निकल रही थी और वो मादक सिसकारियां भरने लगी थीं. इस बार मैंने कोई बहाना नहीं किया और कपड़े लेकर बाथरूम की ओर जाने लगी.

जब मैं तीसरी बार होने को आयी, तो मैं उससे बोली- बस करो अब … मैं फिर से झड़ रही हूँ. तो उसने मुझे कहा- ऐसी ही चैट करो, नहीं है व्हाटसअप नंबर!मैं बोला- ठीक है, नहीं देना है तो मत दो. ”तो क्या मैं तुमको और जोर से चोदूँ?”जी हां सर … चोदिए ना!”बहुत टाईट है तेरी फुद्दी!”तुम्हारा लंड भी तो बहुत मोटा है.

दोस्तो, पसन्द तो मैं दीदी को बचपन से ही करता हूं। जब से लन्ड जवान हुआ है तब से ही मैं उनके हुस्न का दीवाना हूँ। स्कूल में जब दीदी स्कर्ट में गांड मटकाते हुए चलती थी तो मेरा लन्ड मचल उठता था। मैंने कई बार अपनी बहन के बारे में सोच कर मुठ मारी है.

मुझे वो बिस्तर मेरी सुहागरात की सेज नजर आने लगी, वासना से मेरी आंखें लाल और गाल गुलाबी हो गए थे. मैंने मैंगो फ्लेवर का कॉण्डोम अपने लण्ड पर चढ़ाया और ‘यह लो आम का मजा’ कहते हुए अपना लण्ड ज्योति के मुंह में दे दिया. उसे तो मरियल से प्रकाश की आदत थी जिससे कुछ होता जाता नहीं था, बस वो जबरदस्ती करके कभी अंदर कभी बाहर अपना माल गिरा देता था.

हालांकि अब दीदी के कहने पर हमें घर से एक घंटे की और छूट मिल सकती थी. लेकिन मैं हॉस्टल में नहीं रहना चाहती थी … क्योंकि प्रीत मुझसे मिलने पुणे आता था.

उसने ब्रा खोल कर मेरे चेहरे पर फेंक कर मारी … क्योंकि मैं एकटक उसे ही देखे जा रहा था. संदीप ने मेरी कमर के दोनों ओर पैर डाल लिए और मेरे उरोजों को मुँह में भर कर चुदाई की पोजीशन बना ली. मेरे नर्म हाथों और मेरे पति के सख्त हाथों का अन्तर उसे पता लग गया था.

इंग्लिश वीडियो सेक्सी मूवी

संदीप ने जैसे ही पैंट का हुक खोला, मैंने पैंट नीचे खींच दिया, साथ ही मैंने उसकी फ्रेंची कट अंडरवियर भी खींच दिया.

मैं बोली- बेटी तो अभी जग रही है … फिर कैसे?उसने बोला- इसकी भूख मिटी हुई है?मैं बोली- हां. मैंने उसको पीठ के बल सीधी किया और उसकी चूत को जीभ लगा कर चाटने लगा. रेशमा ने मेरी तरफ देखा और फिर इशारे से मुझे बेडशीट देखने के लिए कहा.

आंखों में वासना की मस्ती और चाल में चंचल हिरनी की अदा … होंठ जैसे मद से भरे प्याले हों. मोमबत्तियों को बुझाने के बाद, वसुंधरा के बहुत मना करने के बावज़ूद मैं सभी जूठे बर्तन डाइनिंग टेबल पर से उठा-उठा कर किचन में सिंक में रखने लगा और वसुंधरा किचन में कॉफ़ी बनाने लगी. கிராம செக்ஸ்படம்मैंने देखा कि श्वेता ने अपने पैरों को मेरे पैरों के ऊपर रखा हुआ था.

”आशू- सुबह-सुबह चढ़ा कर (दारू पीकर) आयी है क्या, तुझे पता है न मैं क्या कर सकता हूँ?वो मेरा वीडियो कॉलेज ग्रुप में डालने की धमकी देने लगा. एक मिनट बाद विक्की बाथरूम से आया और मेरे पास ऐसे ही आकर बेड पर नंगा लेट गया.

मैं बस स्टॉप से बाहर आया और जैसे ही रिक्शा में बैठने वाला था कि मुझे अपने पहचान की एक आंटी दिख गईं. और मुंह में लिये मम्मे को मैं कभी उसकी निप्पल को काटता तो कभी प्यार से चूसता. ”अच्छा आप बताइये … आज कैसे याद आई आपको मेरी?”कुछ नहीं … याद तो आपको बहुत किया क्योंकि आपने जो निस्वार्थ मेरी मदद की वो मैं भूल नहीं सकती.

मैंने उनके ऊपरी होंठ को अपने होंठों में कैद किया और उन्हें चूसने लगा. ये मैंने अपनी एफबी पर पोस्ट डाल कर कुछ इस तरह से उसको विश किया था कि यदि वो देखे, तो उसको ही समझ में आए कि ये मैंने उसके लिए ही लिखा है. मैं कुछ बोल पाता, उससे पहले ही आंटी ने मेरी पैंट और अंडरवियर उतारकर मेरे लंड को आज़ाद कर दिया.

मेरे दोनों हाथ घूम कर वसुंधरा के दोनों कूल्हों पर जमे थे और अपनी उँगलियों और हथेलियों के नीचे मैं स्पष्टतः वसुंधरा की पैंटी का इलास्टिक महसूस कर रहा था.

मैं जब भी घर में आता था, भाभी मुझे दुल्हन की तरह सजा देती थीं और वह शर्ट पैंट में हो जाती थीं. अब तो मेरा मन भी करने लगा था कि अपनी बहन के साथ अपनी भी चूत की चुदाई करवा लूं.

फिर एक दिन उसी ने मुझसे कहा तुम बाहर फ्लैट लेकर क्यों नहीं रहतीं?मैं- नहीं … डैडी बोलते हैं कि बाहर सेफ नहीं है. इतने में मैंने बोला- कब आऊं तो खाना खाने?वो बोली- वहीं आ जाओ!मैं बोला- कहाँ आना है?तो उसने बिना कुछ सोचे पता बता दिया. मैं बार बार भाभी के चूचों के निप्पल दबा कर चूसता और हर बार भाभी का दूध मेरी पकड़ से छूट जाता.

मैम ने दीदी को जग की तरफ़ इशारा करते हुए कहा- प्रिया जरा एक जग पानी लेकर आओ … गिलास भी लेते जाना. और जैसे ही दरवाजा खोल कर अंदर आया वैसे ही प्रीति मेरे रूम में आकर मेरे से लिपट गई और मेरे होंटों को अपने होंटों में लेकर चूसने लगी. मैं अभी तक पहली बार झड़ा था, और चाची दो बार झड़ चुकी थी।फिर हम दोनों जरा शान्त हो कर लेटे रहे और एक दूसरे को किस करते रहे और मस्ती करते रहे।अब हम दोनों चुदाई के लिये तैयार थे.

हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो मुझे लग रहा था कि मेरे लंड के स्वागत के लिए यह छेद खुल और बंद हो रहा था. उसके बाद राकेश को समझा दिया गया और ज्योति का दूसरे चौथे दिन मेरे यहाँ आना जारी है.

राजस्थानी मेवाड़ी सेक्सी

मगर अगली दो बार वो बिना कंडोम के चुदीं और माल झड़ने के समय मेरे लंड का सारा माल पी गईं. पापा के बेडरूम में एक छेद है जो विण्डो एसी की साइड में है, वहां से पूरे बेडरूम का एक एक कोना दिखता है. उनके जाते ही मैंने नखरे दिखाते हुए कहा- जल्दी बताओ क्या काम है?संदीप ने भी नखरे दिखाते हुए कहा- काम तो कुछ नहीं है.

फिर भी नवयौवना की चूत का मुँह चाहे जितनी भी फूली हो, पर खुली नहीं रहती. अब मैं आदी के बारे में सोचने लगी थी कि अब इसके लिए लंड कहां से लाऊं. हिंदी बफ हिंदी बफ हिंदी बफसर ने मुझे मेरे घर के पास छोड़ दिया और मैं अपने घर आ गया।अगले महीने पता चला दोनों विभा मैम और नाज़िमा प्रेग्नेंट है।मैम ने कॉलेज में मुझे बताया।यह ग्रुप सेक्स कहानी तो यहीं समाप्त हुई। फिर कभी मौका मिला तो लिखूंगा। तब तक मुझे मेल करें, बताएं कि मेरी कहानी में आपको मजा आया या नहीं?[emailprotected].

मैंने देखा कि श्वेता ने अपने पैरों को मेरे पैरों के ऊपर रखा हुआ था.

जब मेरा वीर्य निकलने को हो गया तो मैंने लंड से वीर्य छूटने का वीडियो रिकॉर्ड किया. मगर अभी मैं चूत में लंड नहीं डालना चाह रहा था क्योंकि ललिता ने कभी सेक्स नहीं किया था.

मुझे दर्द हो रहा था, मैं छः रही थी कि अंकल अपना लंड मेरी चूत में से निकाल लें. मैं नंगी उठ कर बाथरूम में चली गई, पर जब मैं बाथरूम से लौटी, तो दीदी गहरी नींद में सो चुकी थीं. भाभी का नाम सपना था (बदला हुआ नाम) उसने तीन मैसेज में लिख कर मुझसे कुछ जानना चाहा था.

दरअसल मैं पैसे देने के बहाने से पूनम को अपना फोन नम्बर देना चाह रहा था.

काफ़ी देर तक मैंने उसका लंड चूसा और फिर मैं उसके ऊपर आकर लेट गयी और उसके लंड को अपनी फुदी पर सैट करने लगी. लेकिन मैं सोचती हूँ कि कब तक डिल्डो से ही काम चलाएंगे, हमें कोई लंड भी नसीब होगा या नहीं. अब मैं उनकी बात को समझ गया था और उनको हर तरह से साथ देने की बात करने लगा था.

ब्लू फिल्म हिंदी भोजपुरीउसके बाद सायरा रात के खाने की तैयारी करने लगी लेकिन इस समय वो पूरी तरह से एक संस्कारी बहू की तरह पेश आ रही थी।कोई आधे घंटे के बाद सोनू भी आ गया. बहुत साल बाद लण्ड में कुछ हरकत सी महसूस हुई और काफी साल बाद पहली बार सिल्क को सोच कर मुठ मारी, ढेर सारा गाढ़ा वीर्य निकला और निकले भी क्यों नहीं … इतने सालों से इकट्ठा जो हुआ पड़ा था.

रोते हुए सेक्सी वीडियो

मीना बोली- संगीता गणित में बहुत कमजोर है, तुम अगर थोड़ा समय दे दो तो अबकी बार पास हो जाये. लॉंग ड्राइव पर जाते थे तो कहीं सन्नाटे में गाड़ी खड़ी करके दो तीन बार उसने मेरी चूचियां चूसी थीं और एक बार अपना लण्ड मुझसे चुसवाया था. थोड़ी देर बाद मैंने जानबूझ कर अपनी कोहनी उसके मम्मों पर दबाई, तो उसने कुछ नहीं बोला … बल्कि चुपचाप मुझसे सटी हुई बैठी रही.

ममता खाना बहुत स्वादिष्ट बनाती थी पर राजन ने देखा कि प्रकाश ने बहुत कम खाना खाया और चुप ही रहा. मम्मी- आआह चोद दे मुझे … आआह भैन के लौड़े … तेरी पूरी फीस दी है हरामी … पूरा मजा लूंगी. इस चारदीवारी ने मुझे जाने कितनी रातें बेबसी के आलम में सिसकते हुए देखते गुज़ारी हैं और इसी चारदीवारी ने मुझ अभागिन पर नसीब को मेहरबान होते देखा है, आपको मुझ पर क़रम करते देखा है, मेरे प्यार को परवान चढ़ते देखा है.

संजू गर्म हो गई थी और उसने अपना जीभ मेरे मुँह में दे दी, जिसे मैं चुभलाने लगा. एक और बात! कभी गौर कीजियेगा पाठकगण! पुरुष आँखें खोल कर अभिसार करना पसंद करता है और स्त्री आँखें बंद कर के. इसके बाद मैंने अपना कुर्ता उतार दिया और पूछा- मर्दों की छाती में बाल क्यों होते हैं?पता नही, दादू.

मैं सोचने लगी कि इसमें दीदी के बॉस और उसके दोस्त का कोई कसूर नहीं … मैं खुद अपनी मर्जी से यहाँ चुदाई के लिए ही तो आयी थी. उसने खुद ही मेरा 7 इंच का लंड पकड़ लिया और जोर जोर से आगे पीछे करने लगी.

उषा ने प्रीति को कहा था कि एक बार संजय से चुदवा ले! चूत चुदवाने में कितना मजा आता है ये तू नहीं जानती.

स्वीटी आंटी ने भी हल्के स्वर में कहा- कमरे में मेरे पति और खुशी है, हम सब अभी सोने वाले हैं. బిఎఫ్ సెక్స్ హిందీमैं अभी भी चुप थी, मेरा भाई फिर बोल पड़ा- दीदी, आप मुझ पर भरोसा कर सकते हो. एक्स एक्स एक्स इंडियन एचडीथोड़ी देर बाद वसुंधरा ने मेरी कमर पर से अपनी गिरफ्त ढीली कर के अपना मुंह हल्के से बायीं ओर घुमाया और एक लम्बी सांस ली. हम दोनों को सेक्स करते करते आधा घंटा हो चुका था और वो अब तक तीन बार झड़ चुकी थीं.

मैं भी उसे कभी धीरे तो कभी तेज चोदने लगा ताकि हम दोनों चुदाई का पूरा मज़ा ले सकें.

इसी तरह किस करते करते हम खड़े हो गए और किस करते करते ही बेडरूम तक चले गए. घर में प्रवेश करते ही उन्होंने कहा- सोनू, तुम फ्रेश हो जाओ, तब तक मैं तुम्हारे लिए नाश्ता बनाती हूँ. पहले हाथ से अच्छे से दोनों चूचों का मुआयना करने बाद जेठजी ने अपना मुँह ही लगा दिया और एक बच्चे की तरह मेरे चुचे चूसने लगे.

कोई 15 मिनट बाद मैंने ही अपने आपको रोका और मोनिका से कहा- जन्नत कब ले चलोगी!वो हंस दी और बोली- जब तुम कहो. मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और बेडरूम में लाकर बेड पर लिटा दिया. मैंने जल्द ही थोड़ी जोर से धक्का दिया जिससे स्नेहा भाभी की चीख निकल गई- आआहह … मर गई … बहुत मोटा है.

सेक्सी ग्रामीण

प्रीति के मुँह से सिसकारियाँ निकल रही थी ओओओ मे ऐ ऐ री चू उ उ त फट गयी. मैंने कहा- तुम बहुत अच्छे हो संदीप, जो इतना कुछ सोचते हो, पर तुमने एक लड़की के मन को नहीं समझा है. लेकिन वो मुझे एक अच्छा दोस्त समझती थी, इसीलिए मैंने कभी प्रयास नहीं किया.

दरवाजे के बिल्कुल पास में पहुंच कर परदे के पीछे से मैंने दरवाजे के अंदर झांक कर देखा.

कुछ देर बाद नीतू अलग हुई और शावर जैल लेकर मेरे और अपने जिस्म पर अच्छे मला.

अब उसके हर धक्के के साथ मेरा बार-बार मुंह खुल जाता था क्योंकि मुझे दर्द हो रहा था. वो बोला- क्या पता फिर मौका मिले ना मिले? बस तुम अपना दरवाजा अन्दर से बंद मत करना।मैंने कहा- ठीक है. लड़की की चुदाई की वीडियोउसने मुझसे कुछ नहीं कहा, परन्तु अपने बहन को ‘रंडी’ कह कर दूर हट गई.

आज शैली को पूरी नंगी करने में मुझे कोई भय नहीं था क्योंकि आज तो उसकी मम्मी ने ही उसे मेरे पास चूत चुदाई के लिए भेजा था. हम दोनों को एक साथ देखकर कोई भी यही सोचेगा कि ये दोनों ब्वॉयफ्रेंड-गलफ्रेंड हैं, लेकिन फिलहाल तो हम एक अच्छे दोस्त भर थे. जीजा बोले- हां मेरी रानी, आज तो मैं तुम्हारी चूत का उद्घाटन करके ही रहूंगा.

बीच बीच में जेठजी मेरे दोनों चूतड़ों को कस कर दबा देते, तो मैं भी उनके चूतड़ों को अपनी पूरी ताकत से दबा देती. अंकल ने अपना काला सा लंड अपने हाथ में लिया और मेरी मॉम की प्यारी सी चूत में डाल दिया.

उसने कहा- हम तो फ्रेंड पहले से ही हैं, गर्लफ्रेंड बनोगी … तो कहो!मैंने सोचा नहीं था कि वो इतनी बेबाकी से ये बात कह देगा.

इधर परमीत बाथरूम से निकली और उधर मनु और दीदी चाय बिस्किट के साथ कमरे में आ गए. हो सकता है ये मेरा भ्रम ही हो, पर लोगों का मुझे घूर कर देखना … मेरी खूबसूरती के लिए इनाम जैसा था. मैंने पास पड़े तौलिये से मुँह साफ किया और बाथरूम में जाकर मुँह धोकर आ गया.

एक्स एक्स एक्स फुक्किंग वीडियो हम दोनों इतने गर्म थे कि एक दूसरे को थप्पड़ मार मार कर मस्ती कर रहे थे. मैंने प्रीति को कहा- प्रीति, कभी इस चुदाई को भूल नहीं पाऊँगा मैं!प्रीति मेरे सामने बिना कपड़ों में मेरी गोदी में बैठी थी.

सपना के मुँह से खुद के लिए पति सुनकर एक पल के लिए तो मैं अकबका गया. मैंने हैरानी से पूछा- तो फिर कैसे मर्द पसंद हैं आपको?उसने अपना फोन निकाला और उसमें कुछ वीडियो दिखाने लगी. ’ की चीख सुन कर मैं समझ गया कि अबकी बार दीदी की चुत में अंकल का लंड सही से चला गया.

आदिवासी में सेक्सी

लेकिन मैं बाल्टी लेकर अन्दर घुस गया तो वो घबरा गई और अपनी दोनों टांगें जोड़कर चूत छिपा ली व दोनों हाथों से अपनी चूचियां छिपा लीं. जीजा जी- साले साहब अपनी बहन को चोदने में मजा आ रहा है न?मैं- बहुत ज्यादा … और आपको?जीजा जी- हां बड़ी मक्खन माल है आलिया. और मैं तो जैसे सातवें आसमान पे थी।अब मुझसे भी रहा नहीं गया और मैंने पीछे वाले का लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी.

मैं परमीत और मनु हम तीनों मजे करते हुए जब एक दूसरी के साथ लेस्बीयन सेक्स चुदाई कर रही थी तो परमीत ने कहने लगी- यार, तुम लोगों से चुदाई करके जीवन का आनन्द ही आ जाता है. मुझे यह कहानी काफी रोचक लगी इसलिए मैं उसकी तरफ से ये कहानी आपके लिये पेश कर रही हूं.

आज तो मैं तेरी चूत को चोद कर ही दम लूंगा चाहे तू कितनी भी नौटंकी कर ले.

उसके बाद एक हफ्ते बाद मैंने उससे हाय लिख कर मैसेज किया तो उसने भी हाय में रिप्लाई किया. दोस्तो, पिछले साल मेरी एक सेक्सी कहानीदोस्त की कुंवारी मौसी को चोदाअन्तर्वासना पर आई थी जिसे आप पाठकों ने काफी पसंद किया था. कुछ देर तक की बातचीत के बाद धीरे धीरे उसके सारे ज़ेवर उतार कर उसे अपनी बांहों में भर कर दस मिनट तक चूमाचाटी की.

दो मिनट के चूतफाड़ धक्कों के बाद मेरे लंड ने मेरी नातिन की टाइट चूत में थूकना शुरू कर दिया. मैं- हां देख सकते हो, लेकिन कहां से देखोगे?तब उसने कहा- मैं अपने रूम की खिड़की से देख लूंगा. उसके बाद वहीं एक अच्छे रेस्तरां में हमने डिनर लिया, साथ में एक एक का वोडका तड़का लगाया और होटल आ गए.

मैंने उनके हाथ पर सब कुछ बेहतर ढंग से मैनेज करने के लिए 2 लाख का चैक रख दिया.

हिंदी बीएफ फुल चुदाई वीडियो: वो फिर से मस्ती में आने लगीं और मेरे सर को पकड़ कर अपने दूध में दबाने लगीं. मेरी पत्नी को मैं सहमति से चुदवा चुका था, इसलिए वो भी मेरी एहसानमन्द थी.

उसकी पैंटी से आ रही उसके प्रिकम की खुशबू मेरी सांसों में घुलने लगी. सपना- हम्म … अभी तो पूरी फिल्म बाकी है … अभी तुमने मेरे जलवे देखे कहां हैं. उन्होंने अपना एक हाथ मेरी कमर में डाला और लंड फुद्दी में लगा कर एक हाथ मेरी गांड में लगा के लंड पेल दिया मेरी चूत में!अब हम दोनों की ही कमर चलने लगी; मेरे दूध उनके सीने से रगड़ने लगे.

पर लंड के खड़े होकर अकड़ जाने और साइज में बहुत बड़े होने की वजह से मुझसे ये भी नहीं हो पा रहा था.

जिस दोस्त ने ये बात कही थी, उसकी ये बात सुनकर मुझे कुछ अज़ीब सा लगा. मैंने गिलास साइड रखा और उसके बदन पर हाथ फेरने लगी, उसकी गर्दन पर हल्के हल्के चुम्बन देने लगी. ”ये सारी बातचीत मीना सुन रही थी और उसे सुनाने के लिए ही हम लोग कर रहे थे.