एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,आदिवासी सेक्सी पिक्चर 2021 की

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी में पोर्न फिल्म: एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ, उसकी आँखें मुझे निमंत्रण दे रही थी कि आओ और चूस लो मेरा रस!फिर मैं कहाँ रुकने वाला था मैंने उसके बाल पकड़े और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये.

अमरीकन सेक्सी अमरीकन सेक्सी

मन कर रहा था अभी काजल को पकड़ कर उसके होंठों को चूस लूं और उसके चूचों को दबा दूं. 7 सेक्सी फोटोवो मेरी बात समझ गई और बोली- कहो तो मैं तुमको भी खुश कर सकती हूं, पर प्लीज़ ये फोटो तुम किसी और को मत देना … नहीं तो मेरे घर वालों की बहुत बेइज्जती होगी.

मैंने फ़ौरन अपना बायां हाथ उसके दोनों हाथों में से निकाल कर उसके दायें हाथ के पृष्ठ भाग पर जमा दिया और अपने दायें हाथ की चारों उंगलियां वसुन्धरा के दायें हाथ की उँगलियों में पिरो दी. बंगाली सेक्सी वीडियो दीजिएहालांकि मैं भी उसके मम्मे को दबा कर कुछ हद तक मेरे लंड के साथ हो रहे अत्याचार का बदला ले रहा था, पर अब लंड ने भी अपने आपको सरेन्डर कर दिया था.

दीदी बोली- अब क्या होगा?तो मैंने कहा कि बाइक खींच कर पैदल ही चलना पड़ेगा.एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ: दिशा अपने दोनों हाथ से सोनल के सिर को पकड़ लिया फिर दिशा ने उसे किस किया.

राहुल के मन में आया कि फोन वापिस स्विच ऑफ कर दे … पर उसने रजनी को बोल दिया- मैं फ्लैट में ही हूँ और सो रहा हूँ और प्लीज डिस्टर्ब मत करो.मैंने भाभी से हस्तमैथुन करने को कहा और ख़ुद उनकी गर्दन और मम्मों की गहरायी पे अपनी ज़ुबान चलाने लग गया.

सेक्सी विधि - एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ

जैसे ही ताऊ जी ने लंड को चाची की चूत पर सटाया, चाची ने अपने दोनों हाथों से चूत को फ़ैला दिया और ताऊ जी के लंड को अपने चूत का रास्ता दिखाया.बस उसको देखता रहता उसकी बातों को एन्जॉय करता, उसके साथ को एन्जॉय करता … लेकिन मैं क्या जानता था कि एक दिन ऐसा भी आएगा कि मैं उसे अपने दिल की बात भी बोल दूंगा और हम दोनों सारी हदें लांघ जाएंगे.

मेरा तना हुआ लौड़ा उसकी जांघों के बीच में छिपने का रास्ता ढूंढ रहा था. एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ सच में दोस्तो, एक दोस्त जो कर जाएगा, वो कोई और दुनिया में कभी नहीं करेगा.

चूत बहुत ही ज्यादा टाइट थी इसलिए आनंद विभोर होकर मेरे लंड ने जल्दी ही वीर्यपात उसकी चूत में कर दिया.

एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ?

मैंने कहा- भाभी, क्या आपको मेरे साथ अच्छा लग रहा है?भाभी ने मेरे गाल पर हाथ फेर दिया और कहा- मैं इसी प्यार की तो भूखी हूँ. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागपहला नशा पहला मज़ा-1अब तक आपने पढ़ा कि मेरी सहेली नीना और उसकी बड़ी बहन सरिता, दोनों बहनें अपनी जवानी की आग को अपने बाप से चटवा कर या उंगली करवा कर शांत कर लेती थीं. पर हम मानव, सभ्य समाज में रहते हैं और समाज की कुछ वर्जनायें, कुछ बंदिशें होती हैं जोकि सबको माननी ही पड़ती हैं.

साथ ही उसने मुझे बसंती की निखरी जवानी और खूबसूरती को लेकर भी बताया कि तूने देखा नहीं कि तेरी बहन कितनी खूबसूरत बन कर गई. मैंने अपनी जुबान उनके छेद से लड़ा दी और धीरे धीरे उनके छेद पर जीभ घुमाने लगा. हम लोग भी वहीं खड़े थे और दूल्हा-दूल्हन एक दूसरे के गले में माला पहना रहे थे.

क्या तुम्हारे पास कोई ट्राउजर है जो मैं पहन सकूं?उसने कहा, हां शालिनी जी, मैं आपको देता हूं. अचानक चाची की नजर मुझ पर पड़ी और उन्होंने मुझे उनके चूचों को घूरते हुए देख लिया. मैंने छोटा वाला स्टूल पैर से खींचा और उसकी दाएं पैर को स्टूल पे रखवा दिया.

इस साल कुम्भ मेले के दौरान मेरी विधवा सलहज शान्ति ने पहले से टिकट बुक करवा रखा था, जिसके बारे में मुझे बाद में पता चला. वापस आते हुए काजल की जांघ मेरी जांघ से अब कुछ ज्यादा ही सटी हुई मालूम हो रही थी.

मेरी भी छुट्टियां चल रही थीं, तो मैं भी तैयार हो कर उनके साथ लखनऊ चल दिया.

”थोड़ी देर में मम्मी आ गयी।मालिनी आज दिन में आराम कर लो, शाम को तुम दोनों को एक पार्टी में जाना है.

मैंने उसके कपड़े निकालने शुरू किये तो उसने मना कर दिया, कहा- दीदी यहीं है, अभी नहीं, मैं रात को आऊँगी. सीमा वाल पकड़ कर प्रैक्टिस कर रही थी पर उसके पैर सीधे नहीं हो पा रहे थे. मैं 28 वर्ष का 5 फुट 6 इंच का सामान्य कद काठी का दिल्ली का रहने वाला आदमी हूँ.

मैंने आंटी की बुर से लौड़ा निकाला और आंटी के पेट पर बैठ कर दोनों चूचों के बीच में आंटी की चुत रस से भीगे लौड़े से चूचों की चुदाई करने लगा. दो-तीन मिनट तक भाभी मुझे हटाने का नाटक करती रही लेकिन जब मेरा लंड बार-बार भाभी की गांड से रगड़ता रहा तो भाभी गर्म हो गई. अनीता बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- यार ऐसे तो झड़ जाऊंगा … थोड़ा सब्र करो, तभी मजा कर पाएंगे.

वाह क्या हसीन नजारा था, गोल गोल भरे हुए चूचे और चुचूकों पर डार्क काले रंग के निप्पल चार चांद लगा रहे थे.

उसको मैंने दौड़ कर पकड़ भी लिया लेकिन वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी. भाभी का कद 5 फ़ीट, गोरी चिट्टी, छोटे छोटे स्तन, जबरदस्त मुस्कुराहट तथा साथ में भाभी शरारती भी थी. सचिन को मैंने अपने ऊपर लेटा लिया और उसके लंड को खुद की अपनी चूत पर लगवा लिया.

आह्ह … काजल की चूत … आह्ह … उसकी चूत में लंड को पेल दूं … स्स्सस … काजल के चूचे … उसके नंगे चूचे … हाय … काट लूं उसके चूचों को … पी जाऊं उनको दबा कर … आह्ह स्स्स … मन में ऐसे उमड़ते भावों के साथ मैं अपने ही हाथ से अपने लंड को बुरे तरीके से रगड़ने लगा. होली मनाने के लिए मेरी हॉट साली दिशा भी आई थी, जिसको देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए. जैसे ही मैंने उनके पैर पर हाथ रखा और दबाया, तो मैं उनके पांव की नरमाई को देखता ही रह गया.

उन्होंने कहा- आप मुझे बेबी दे सकते हो क्या?मैं पहले तो समझ ही नहीं पाया कि बेबी दे सकते हो, इस बात का क्या मतलब है.

तो मैंने अपने होंठ अपनी साली की चुत पर रख दिए और उसकी चूत को मजे से चाटने लगा. बस उसके बाद मैंने भाभी के टी-शर्ट उतार दी और उनकी ब्रा के ऊपर से उनके मम्मों के चूचुक बारी बारी से पीने लगा.

एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ जब मेरा लंड उसकी चूत से बाहर आया तो वह खून से लथपथ था। उसकी आँखों में पानी था और उसका दर्द उसके चेहरे से साफ़ दिखाई दे रहा था। मैंने उसे टॉवेल दिया और चूत साफ़ करने को कहा। अपनी चूत को साफ करते-करते उसने आधा टॉवेल खून से लाल कर दिया।मैंने उसे दोबारा से उसी पोजीशन में आने के लिए कहा मगर वो दर्द होने के कारण डर गई थी और लंड को अंदर लेने से मना करने लगी. अब उसके एक हाथ की दो उंगलियां चूत के अन्दर-बाहर हो रही थीं, तो दूसरे हाथ की एक उंगली गांड के अन्दर बाहर आ जा रही थी.

एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ भोला ने मेरी चूत पर लंड लगाकर मुझे अपनी तरफ खींचते हुए एक जोर का धक्का मारा और एक ही झटके में भोला का मोटा लंड मेरी चूत को चीरता-फाड़ता हुआ अंदर घुस गया और मैं दर्द के मारे ऐसी चिल्लाई कि मेरी आवाज पूरे लॉज में पहुंच गई. बार-बार उछल-उछल कर काजल के हाथ को ये जता रहा था कि उसकी हालत बहुत खराब हो चुकी है.

चाची- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और कितना तड़पाएगा, डाल दे रे जीशान, अब रहा नहीं जा रहा है.

बीपी फिल्म चालू

मोनिषा इस तरह से लंड चूस रही थी, जैसे मानो लंड चुसाई में वो बहुत एक्सपर्ट हो. वह मेरी मां को देखकर मुस्कराया और वहां से चला गया। मेरी मां शर्म से पानी-पानी हो रही थी. लेकिन अचंभे की बात यह थी कि वो दर्द से कराहकर मेरे सीने से लग गयी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी.

उसने अपने हाथ से मेरे लंड को चुत के छेद का रास्ता दिखाया और मुझे आँख मार दी. सॉरी मास्टर उम्म्म हम्म फ़क योर लिटिल स्लट हार्डर मास्टर (अपनी इस छोटी सी रंडी को और जोर से चोदो)मैंने उसके दूध मसलते हुए चुदाई तेज कर दी. अगर मैं किसी फिल्मी हिरोइन से उसकी तुलना करूं तो वो बिल्कुल श्रद्धा कपूर के जैसी दिखती है.

दो घण्टे चलने के बाद बाथरूम वगैरह जाने के लिए बस रुकी और मेरी सलहज शान्ति देवी चलकर संवाहक के पास आई और मेरी तरफ देख कर कहने लगी कि कंवर साहब पीछे गाड़ी उछलने के कारण मेरी हालत खराब हो रही है.

अगली कहानी मैंने उसकी कमसिन ननद की जवानी पर किस तरह हाथ साफ किया, यह लिखूंगा, तब तक के लिए विदा लेता हूँ. मैं उसको दनादन चोदने लगा और उसके मुँह से ‘आह … अहा … आ …’ की सी आवाजें आ रही थी. मेरा प्यार का नाम प्रिंस है। मैं दिल्ली के पास फरीदाबाद (हरियाणा) में रहता हूं। यह मेरी पहली कहानी है अगर इसमें कोई गलती होती है तो माफ कर दें। वैसे तो मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूं लेकिन पहली कहानी लिखने की हिम्मत आज हुई है।कहानी को शुरू करने से पहले मैं अपने बारे में कुछ और भी बताना चाहूंगा.

30 बज रहे थे, राहुल को पहनने के लिए सीमा ने अपने पति की शॉर्ट्स और टी शर्ट दीं. मैं विक्की का लंड मुँह में लेती कि मुझसे पहले ही निहारिका ने लंड को अपने मुँह में ले लिया. मैं उसे चोर नज़रों से देख रहा था और सोच रहा था कि काश यह माल मेरी गर्लफ्रेंड बन जाए.

मैंने दिशा के पूरे मम्मे को अपनी हथेली में भर कर पूरी सख्ती से मसला और उसके होंठों को जोर से चूस लिया. पर अब मेरा तो लंड खड़ा हो चुका था और शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा था, तो मैं बाथरूम में घुस गया और उसके नाम की मुठ मार कर सो गया.

वो बोली- चाचू ये ग़लत है आप ऐसा कैसे कर सकते हो यार?मैं- अच्छा तुम कर रही थी, तो सही था. फिर मैंने उसके पैर को कंधे से नीचे सरकाया और एक हाथ से जांघ को पकड़ कर उसके होंठों को किस करते हुए धक्के मारने लगा. अब शायद उसे भी मेरी उत्तेजना का पता चल गया और वह भी अपनी पैंट में खड़े हुए लंड को मेरी नंगी गांड में जोर से दबा रहा था.

उसने कहा- अब उंगली से बस भी करो और अपना लंड डालो मेरे अंदर!तब मैंने लंड को एक हाथ से पकड़ा और उसकी चुत के छेद पर लगा दिया और धक्का दे दिया.

नहीं भैया, हमें और कुछ नहीं चाहिए, थैंक्स!” मैंने वेटर से कहा और वो वापस चला गया. लंड खड़ा हो गया तो मैंने लौड़े के टोपे को भी आगे-पीछे करना शुरू कर दिया. मॉल में पहुंच कर ज्योति ने पहले मेरे लिए एक शर्ट और जीन्स पसंद की फिर हम लेडीज़ कपड़े के सेक्शन की ओर गए.

उसकी इस बात को सुनकर, मैंने लंड को उसकी गांड से बाहर निकाल कर नम्रता को गोद में उठाया और डायनिंग टेबिल पर लेटाते हुए उसके मम्मों को पीने लगा. भाबी- किस बारे में बात करने के लिए आए थे?मैं- भाबी जो अभी आपने कहा, आपने उस दिन मुझे और नताशा भाबी को चुदाई करते हुए देख लिया था, इसलिए मैं आपसे रिक्वेस्ट करने आया था कि प्लीज़ इस बात को मम्मी को कभी ना बताएं.

धीरे धीरे मैगज़ीन और टीवी आदि की वजह से मेरा सेक्स का ज्ञान बढ़ने लगा, कॉलेज में सहेलियां भी कुछ ना कुछ बोलती ही रहती थीं. चोपड़ा अंकल पापा जी के दोस्त थे, दोनों एक साथ सुबह की सैर पर जाते थे और वापस लौट कर हमारे यहाँ चाय पीते थे. मैंने अंजान बनते हुए पूछा- मतलब भाबी?भाबी- अब लंड दिखा रहा है या वहीं आकर निक्कर के ऊपर से पकडूं इसे?मैं भाबी के बेड के करीब आ गया.

xxx वीडियो राजस्थानी

पर इस बार नम्रता ने मेरी बात सुन ली और वापस 69 की पोजिशन में आकर अपनी चूत मेरे मुँह के पास ले आयी.

मैंने भी मौके का फायदा उठाना चाहा और भाभी को बोला- आप मेरी रज़ाई में आ जाओ, आराम से देख लो. परवीन मेरे लंड पर अपने होंठों को घुमा रही थी, तो मुझे बहुत ही मज़ा आने लगा. मैंने कहा- तुम यहां क्या कर रही हो? किसी ने देख लिया तो कोई क्या सोचेगा?वो बोली- देखने दो, मुझे किसी की परवाह नहीं है.

ज्योति भी ऐसी ही औरतों में से थी क्योंकि वो एक चुदासी रांड थी और उसका हस्बैंड कमजोर दुबला-पतला था जिसके कारण वो उसे ढंग से चोद नहीं पाता था. मेरे आते ही उसने मुझे गोद में उठा लिया और जिम के दूसरे रूम में ले गया. मूवी सेक्सी हिंदी फिल्मरात्रि नौ बजे हमे विश्राम के लिए एक धर्मशाला में पहुंचे जहां पर मैं पहले भी कई बार रुक चुका था.

अब वो भी अपनी गांड उठाकर चुदा रही थी और मादक सिसकारियां ले रही थी- ओह … फ़क मी आआह … यश माय डार्लिंग … फक मी हार्ड … आआहह … और जोर से आआहह … बस ऐसे ही यस्स मुझे अपनी बना लो … यश आई लव यू. अब सीमा राहुल के ऊपर चढ़ गयी और अपने हाथों से राहुल का लंड अपनी चूत के मुहाने पर रख लिया और फिर आगे पीछे होने लगी.

सुनते ही बेबी उठी और मेरे लण्ड को चाट कर, चूस कर गीला कर दिया और लेट गई. मेरे मन में चोर था कि कहीं आंटी ने मेरे वीर्य से सनी हुई पेंटी को देख लिया और उनको पता लग गया कि मैंने बाथरूम में आकर कुछ गड़बड़ की है तो पता नहीं क्या होगा. मैंने जल्दी से ज़िप खोलते हुए अपने फड़फड़ाते हुए लंड को बाहर निकाला.

अब तो वो मुझे देख कर घूंघट भी नहीं करती थी, बल्कि मेरी तरफ गुस्से से देखती थी. उनका चांदनी जैसा बेदाग़ बदन था, स्वर्ग की अप्सरा जैसी चाची मेरे सामने एकदम नग्न थीं. मैंने कहा- जल्दी डाल हरामी, मैं चुदना चाहती हूं तेरे इस मोटे लंड से.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड सपना के मुँह से निकाला और उसके पास में चिपक कर लेट गया.

सुबह किसी को ढूंढ कर निकलने का जरिया खोज लूंगा।लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।मेरे दिमाग में आया कि चलो रात यहाँ बिताने से अच्छा है कुछ दूर तक चला जाये. मुझे अच्छे से याद है कि वो इतवार का दिन था जब सुबह सुबह मेरे साले का फोन आया- सीमा (साले की पत्नी) को नर्सिंग होम छोड़ दिया है, दीदी (मेरी पत्नी कामिनी) को लेने आ रहा हूँ.

इस साल बोर्ड के एग्जाम होने थे तो पढ़ाई का दबाव भी बढ़ने लगा था, मैं हमेशा ही फर्स्ट डिवीज़न पास होती आई थी तो मुझे अपना स्टेटस मेंटेन करने की भी फ़िक्र थी; पर इस निगोड़ी चूत का क्या करूं जो मुझे परेशान किये रहती थी, मेरी अटेंशन को बुक्स से हटा कर बुर की ओर धकेलती रहती थी. और फिर जैसे जैसे मैं उसकी चूत के पास बढ़ने लगा तो मानो उसमें एक आग सी लग गयी. मैंने उनसे पूछ लिया- आप कहाँ जा रहे हो?रोहन ने मुझे बताया कि वह अपने फ्रेंड्स के साथ घर जा रहा है.

साथ ही मैंने जीभ के टच से महसूस किया तो भाभी की चूत पर हाथ लगा दिया. काफी लोगों ने कई बार मुझे ऐसा बोला भी है कि आपकी बीवी श्रद्धा कपूर जैसी दिखती है. दोस्तों, सामान्यत: मैं रात को घर में केवल लुंगी पहन कर ही सोता हूँ.

एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ सामने से वह औरत बोली- अरे आपको लगी तो नहीं … बहुत जोर से दरवाजा बंद किया उसने. उसी समय चारू ने बताया कि उसके स्कूल की भी आज जल्दी छुट्टी हो गयी और अभी घर नहीं जाना चाहती.

बीएफ गांव देहाती

मुझे एक आध इंच तक तो कुछ नहीं हुआ, पर उसके बाद लगा जैसे चूत चिर जाएगी. पति ने कहा- नौ और दस दिसंबर को तो हमारे बैंक की दो नई ब्रांच का उद्घाटन अपने शहर में होने वाला है. इसलिए जब उसका मैसेज आया, तो मैं उठकर उसकी छत से होते हुए उसके घर में अन्दर चला गया.

इतना कहकर भोला ने मुझसे पूछा- बंध्या, तुझे कोई दिक्कत तो नहीं है अशफाक का लंड लेने में?अब मैं क्या कहती उसको. मैंने तमाम लड़कियों औरतों को चोदा था लेकिन हाथी का बच्चा पहली बार चोद रहा था. हॉलीवुड सेक्सी गानेचाय पीते पीते उसने कहा कि मैंने अपने साथ वाले पैसेंजर से बात कर ली है और वो तुम्हारी सीट पे शिफ्ट हो जाएगा.

भाभी बोली- ये सूसू किसने की है?मैंने कहा- मैडम ये हम दोनों की प्यास का पानी है.

इसलिए उनके साथ इस तरह की बातें होंगी इसका अंदाजा नहीं था मुझे।फिर होते-होते बात सेक्स तक पहुंच गई थी. उसके कहे अनुसार ही काम हुआ, हम दोनों ने एक-दूसरे को नहाते हुए देखा.

अब वह खुद भी नंगा हो जाता था और अपना लंड मेरे हाथ में थामकर मुझे कहता था- इसे सहलाओ. सच में दोस्तो, एक दोस्त जो कर जाएगा, वो कोई और दुनिया में कभी नहीं करेगा. नेहा- क्या हुआ, तुम तो सब्जी लेने गये थे?मैं- आज किसी ने बारिश की वजह से दुकान नहीं लगाई.

मैं पसीने से भीग गया तो ज्योति मेरे ऊपर आ गई और अपनी गांड हिला कर लण्ड अपनी चूत में लेने लगी और गालियां देने लगी- भोसड़ी के … तेरे लण्ड को खा जाऊंगी आज, आह आह … उम्म्म … हाय मेरी प्यासी चूत और उसमें तेरा ये हथौड़े जैसा गर्म लौड़ा … आह चोद बहन के लौड़े … ऐसा लण्ड मिले तो मैं तेरे साथ भागने को भी तैयार हूं मेरे सेक्सी लंड के राजा … आह्ह … कितना मजा आ रहा है तेरा लण्ड लेने में.

रात के समय चाची ने खाना बनाया और कोमल ने मुझे और ताऊ जी को खाना खिलाया. जीभ की नोक से मेरे लंड के छेद को सहलाती और गप से पूरा लंड मुँह में ले लेती. चाची ये बोल कर बाथरूम में चली गईं और जाते वक्त जल्दबाज़ी में या पता नहीं जानबूझ कर उन्होंने बाथरूम के दरवाजे को बंद नहीं किया.

व्हिडिओ सेक्सी चलनेवालामैंने देखा कि भाभी की आंखें आश्यचर्य के कारण फैल कर बड़ी हो गई थीं. मैं तो उनको देख कर नहीं खो सा जाता था, उनके पास से निकलता था तो खुद को भूल सा जाता था।और हाँ … मैंने बताया कि उनकी दो लड़कियां थी, बड़ी लड़की का नाम देविका था जो 24 साल की रही होगी और दूसरी का नाम नेहा था 21 साल की होगी.

चूत लंड बीएफ

मैंने उसकी उंगली में रिंग डाल दी और कहा- अब तो दे दी मुँह दिखाई, अब तो दीदार करा दो. उसने अपने लंड को मेरे गले तक उतारना शुरू कर दिया और फिर पांच-सात मिनट में उसने अपना वीर्य मेरे मुंह में निचोड़ दिया. मेरे घर के पड़ोस में एक भैया रहते थे, जो आज़मगढ़ उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे.

मैं उठी, अपनी टांगें साफ कीं, चादर साफ की, कपड़े पहने और अपनी किस्मत को कोसते हुए लेट गई. अब उसके एक हाथ की दो उंगलियां चूत के अन्दर-बाहर हो रही थीं, तो दूसरे हाथ की एक उंगली गांड के अन्दर बाहर आ जा रही थी. एक बार फिर नम्रता अपनी ऐड़ियों को टेबिल पर टिकाकर पैर फैला लिए और अपने दाहिने हाथ को चूत पर बड़े प्यार से फेरने लगी और उसी प्यार से मम्मों को सहलाने लगी.

बंटी बोला- फिर आगे?फिर मैं नीचे आ जाता और आपका लंड बाहर निकाल कर धीरे से लंड की टोपी पे अपनी जुबान फेरने लगता. हालांकि वो लोग गांव में ही रहते थे लेकिन उनके पास पैसे की कोई कमी नहीं थी. मैंने देखा कि भाभी बेड पर लेट कर आराम कर रही थीं और टीवी देख रही थीं.

मैंने अब ध्यान से देखना शुरू किया, तो भाभी ब्लैक कलर की साड़ी में सेक्स बॉम्ब लग रही थीं. मैंने बोला- पर चुत चिकनी रखती हो … ऐसा क्यों?वो- नहीं बाबू … आज ही साफ़ की है, जब आपने बोला कि यहीं रुक जा, मैं तब ही समझ गयी थी कि आज आप मेरी चुदाई करोगे.

उसका कहना था- तुम नहीं थके तो आ जाओ, मैं भी तैयार हूं जंग के लिये।फिर मैंने अपना लिंग एक ही झटके में अंदर डाल दिया और अक्षिता के मुँह से फिर एक सिसकारी निकली.

और बॉस ने सम्पूर्ण जिम्मेदारी मुझे दी है तो मैं तो शादी में ग्यारह दिसंबर को ही आ पाऊंगा और बच्चों के भी पेपर शुरू होने वाले हैं. पती-पत्नी सेक्सी व्हिडिओइस बार उनकी नुकीली झांटें मेरी चिकनी चूत से जा मिलीं और मैं चुभन और दर्द से बिलख उठी. सेक्सी वीडियो डाउनलोडिंग ओपनपहले मूवी देखी, फिर डिनर कर के वापिस 11 बजे करीब फ्लैट पर वापिस आया. हम लोग अलग हुए, कपड़े पहने और चलते समय कह गई- एक घंटे में आती हूँ, तब मस्ती करेंगे.

उसने एकदम से चौंक कर कहा- देवर जी, ये आप क्या कर रहे हैं, यह सब ठीक नहीं है.

मेरे होंठ दीदी के होंठों पर रहने के कारण वो कुछ बोल भी नहीं पा रही थी. मैंने उससे हाथ की स्पीड बढ़ाने और मुंह खोलने के लिए तैयार रहने को कहा. मैंने ऑफिस के बाद उसे एक चैक से पेमेंट दे दिया, वो थैंक्स कहकर चली गयी.

मैंने कहा- आपको ऐसा क्यों लग रहा है?सुमन भाभी- यार तुम इतने हैंडसम हो, दिखने में भी बड़े हॉट हो … और तुम्हारी कोई जीएफ नहीं है. अगले दिन रजनी का दिन में फोन आया, बोली कि वो बिल्कुल नार्मल है, जो हुआ उसमें राहुल कि तो गलती नहीं थी. मैंने कहा- क्यों?उसने कहा कि तुम्हारे जैसा बड़े लंड वाला मुझे अब तक कोई नहीं मिला.

sax ভিডিও

फिर मैं उसके नीचे आ गया और वो मेरे लिंग को हाथ में पकड़ कर उस पर कूदने लग गयी. मगर मेरी ब्रा गीली थी और मेरे मोटे चूचों के निप्पल उनमें तनकर जैसे बाहर निकलने को हो रहे थे. मैं दीक्षा के गालों के पास अपना होंठ ले गया और उसके गाल को अपने नाक से छूने लगा.

अंकल- अगर आपने मेरी बात नहीं मानी तो मैं आपके पति को आपके बारे में सब बता दूंगा कि आप दूसरे मर्द के लंड के साथ साथ खेलती हो.

यही सब सोच कर मैं आराम करने लगा।शाम को उसने मुझे चाय पीने के लिए बुला लिया.

मैं बोला- ओके तो अमित यहां क्यों आया था?रेशमा मामी बोलीं- वो भी मेरी चुत मारना चाहता था. वो खेलने लगी मेरी चुचियाँ से।एक और बात बोलूँ, तुम गुस्से तो नहीं होंगे?”हाँ बोल न!”तुम घर में ब्रा पहना करो, इनकी शेप अच्छी बनी रहेगी. सेक्सी नंगी चुदाई कहानीहालांकि मुझे भी लग रहा था कि मेरे सुपारा भी मानो किसी आरी पर चल रहा हो.

मेरी पिछली कहानीमेरी बीवी मुझसे नहीं चुदतीको आप सभी प्रेमियों का खूब प्रतिसाद मिला … बहुत लोगों ने मेल किए. मैं ज्योति के साथ हुई अगली चुदाई के बारे में दूसरी कहानी लेकर जल्दी ही वापस आऊंगा. बोली- नहीं, रूको नहीं भोसड़ी वाले, चीर दे इसी तरह मेरी गांड, बड़ा इठलाती थी … आह मेरे राजा आह.

रश्मि ने मेरी छाती के बालों से खेलते हुए मुझसे मधु के बारे में कुछ कहने को कहा. जब उसने उस फोल्ड किये हुए कपड़े को खोला तो मैंने देखा कि वो एक लड़की की पैंटी थी.

फिर उन्होंने मेरे दोनों बूब्स कस के दबोच लिए और पूरी ताकत से लण्ड मेरी चूत में पिरो दिया.

कामवर्धक दवा ने अपना पूरा असर किया था मौसी की चुदास पर इसलिए मौसी बस मेरे लंड से चुद कर शांत होना चाह रही थी. मेरी इस हरकत से आंटी बहुत उत्तेजित हो गईं और मादक सिसकारी लेते हुए हांफने लगीं. उसके मुंह से आनंद की आवाजें निकलने लगीं थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… भाई … मेरे भाई … मेरी चूत को चोद दे … आह … मजा आ रहा है.

कैटरीना सेक्सी कैटरीना मैं समझ गई कि वो मेरी मस्त फूली हुई चूत को चोदने के लिए बेताब हो उठा है. तभी फिर उसने अपना घोड़े के लंड जैसा लंड मेरी चुत पर रखा और जोर से धक्का लगा दिया.

क्या मस्त लग रही थी वो बिना कपड़ों के!अब मैं उसके पैर के अंगूठे को मुंह में लेकर चूसने लगा और उसी के साथ उसकी जांघों को सहला भी रहा था. मेरे धक्के पर उसकी गांड उछल कर मेरी तरफ आती और फत्थ की आवाज हो जाती. लेकिन दिशा मुझे बड़े ही कामुक अंदाज में देख कर मुझसे धीरे से ऐसे अलग हुई जैसे किसी बच्चे से जबरन उसकी पसंद का खिलौना छीन लिया गया हो.

देवर भाभी की सेक्सी वीडियो देवर भाभी

मैंने मोनिषा को अपने लंड पर बैठाने की इच्छा जाहिर की, तो मोनिषा उठकर अपनी हुई फूली हुई चुत को मेरे लंड पर टिका कर बैठ गई. मुझे मधु को माँ तो बनाना ही था, साथ ही साथ उसे अपनी रंडी और रखैल भी बनाना था. क्लास में मैंने बात अपनी सहेली को ये बात बताई तो उसने कहा- शादी से पहले मेरा भी एक ब्वॉयफ्रेंड था.

साथियो, आपके लौड़े खड़े हो रहे होंगे और आप सोच रहे होंगे कि वो लौंडिया कैसी दिखती होगी. क्योंकि मैंने नशे में उन्हें गले तो लगा लिया था, पर अब मुझे उनकी सांसें मेरी छाती पर महसूस होने लगी थीं.

उसके साथ मेरे सेक्स सम्बन्ध कैसे बने और इसमें मेरी सहेली की क्या भूमिका रही, इस सबके बारे में मैं खुल कर अगले भाग में लिखूंगी.

जैसे ही मैंने फोन रिसीव किया, उधर से मेरी बीवी की मधुर आवाज आयी- हैलो. फिर मैंने भाभी की चूत पर लंड को सेट किया और उसकी चूत में अपना मूसल लंड घुसा दिया तो भाभी चीख पड़ी- आह्ह रामू … फाड़ दी तूने मेरी चूत, आह्ह्ह। बाहर निकाल अपने सांड जैसे लंड को।लेकिन मैंने भाभी की चूत से लंड नहीं निकाला और पूरा लंड भाभी की चूत में उतार कर उसकी चुदाई करने लगा. उसने मेरी चुत और गांड चाटी थी इसलिए उसका लंड चूसने में मुझे कोई गंदी बात नहीं लगी.

फिर वो मुझसे अलग हुई और मेरे लंड को अपनी चूत के अन्दर लेकर उछाल मारने लगी. वो आंखें बंद किये, मेरे सर पर हाथ फेर रही थी और बीच बीच में अपने पैग का सिप मार रही थी. जब मैं चाची के घर पहुंचा तो वह एक लम्बी सी मैक्सी में बैठी हुई कपड़े धो रही थी.

जब नम्रता को बर्दाश्त नहीं हुआ, तो उसने लंड को पकड़ा और थोड़ा आगे की तरफ खिसककर लंड को अन्दर ले लिया और अपनी कमर को चलाने लगी.

एचडी पिक्चर सेक्सी बीएफ: अब उसे भी मजा आने लगा था और अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी।हम दोनों दस मिनट तक चुदाई करते रहे. उन्होंने मुझे एक हाथ से जकड़ लिया और दूसरा हाथ स्कर्ट के अन्दर डाल कर मेरी चुत को पैंटी के अन्दर से सहलाने लगे.

वह तेजी के साथ मेरे लंड पर मुंह चलाने लगी थी लेकिन अब मैं उसकी चूत के मजे लेना चाहता था. अक्सर छोटी वाली।एक दिन मैं ऊपर कमरे से बाहर निकल कर सो रहा था क्योंकि गर्मी कुछ ज्यादा हो गयी थी. इन्होंने अपना लण्ड मेरी टांगों के बीच डाल दिया और धक्के मारने लगे, तुरन्त ही डिस्चार्ज कर दिया, अपने कपड़े पहने और सो गये.

मगर यहां पर मेरे लिए चिंताजनक बात ये थी कि मेरे तने हुए लंड का टोपा काजल की सबसे छोटी उंगली से बस इंच भर की दूरी पर ही रह गया था.

वो ऐसे चल रही थी, मानो कोई हीरोइन सच में रैम्प पर कैट वाक कर रही हो. करीब दस मिनट बाद वो होश में आयी और मेरे बालों को सहलाते हुए बोली- उठो … तुम तो सो गए … उठो यार क्या हालत कर दी मेरी चोद चोद के. मेरी चूत की प्यास आज तक नहीं बुझी है अच्छी तरह से। एक तुम ही हो जो मेरी प्यास बुझा सकते हो.