बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ एक्स एक्स एक्स सनी लियोन

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ हिंदी दिखाइए: बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ, मेरा लंड जो सुस्त पड़ा था, एकदम से उसमें आग सी लग गयी और धीरे धीरे वो अपनी औकात दिखाने लगा.

बिहार के सेक्सी गाने

मेरे पापा आप जैसे नहीं हैं, उन्होंने कभी मुझसे ठीक से प्यार नहीं किया, इसलिए शायद मैं आप जैसे लोगों से अपनी कमी पूरी करना चाहता हूँ. हिंदी बीएफ पिक्चर सेक्सी मूवीउनमें से एक बंदे ने मुझे अपनी गोद में उठाया और झोपड़ी में लेकर गया.

फिर मैंने उसकी चूत की एक फांक को होंठों से खोला और अपने होंठों में ले के चूसने लगा. भाभी जी के साथ सेक्सी वीडियोमैंने उसके निप्पल को बारी-बारी से चूसा और उसके चूचों का रस पीने लगा जैसे कोई छोटा बच्चा उसमें से दूध निकालने की कोशिश कर रहा है.

अब जब भी वो छत पर कपड़े सुखाती तो मैं चाची की ब्रा और पेंटी को अपने हाथ में लेकर उससे खेलने लगता था और उनको अपने लंड से लगाता और छूकर महसूस किया करता था.बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ: उनके मोटे लंड देख कर मेरी चुत की आग भड़क उठी और मैंने सोचा कि इन्हीं लोगों से चुदाई करवा लेती हूँ.

उसकी तड़पती मादक सिसकारियां मेरे जिस्म में भी सिरहन पैदा कर रही थीं.उस रात जब मैं उनके बाथरूम गया, तो वहां उनकी ब्रा पेंटी को देख के मुठ मारी और सोने चला गया.

बीएफ बीएफ फुल एचडी - बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ

मैंने इधर बीच उसके बोलने पर उसकी एक सहेली को भी होटल ले जा कर पेला था.मैंने उसे बोल दिया कि मैं जिस दिन फ्री रहूंगा उस दिन उसके घर पर आकर उसका कम्प्यूटर ठीक कर दूंगा.

मैं बाहर निकला तो देखा अँधेरा था और शायद वो महिला स्कूटी निकाल कर आ रही थी तो पहले मैं कन्फर्म होना चाहता था कि वही है. बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ आप ऐसा कीजिये कि आज रात तक यहीं पर ठहर जाइए, सुबह होते ही आप बस में बैठ कर चली जाना.

इन पूरे तीन महीनों में ना तो चाची ने कभी मेरा लंड चूसा था, न ही उन्हें ये पसंद था.

बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ?

मुझे भी केवल 2-3 दिन का काम बाकी था तो मैंने कहा- ठीक है, तुम परेशान मत हो, मैं शाम को आ जाऊंगा. अब तो मेरी बीवी उसके लंड और उसके शरीर से आकर्षित होकर खूब मजा ले रही थी. चूंकि रात थी … और ज्यादा हल्ला आदि करने से कोई भी जाग सकता था, इसलिए हम दोनों बस किस तक ही सीमित रहे.

मैंने उन्हें एक पोर्न वीडियो दिखा दी, जिससे वो थोड़ा बहुत गर्म हो गईं और मेरे पास बैठकर मुझे किस करने लगीं. मेरी बीवी नीना तो इतनी उदार दिल की मालकिन है कि जब भी कोई अजनबी तक उसकी चूत के करीब आया, तो वह प्रशांत की ‘चक्की’ स्टाइल का न केवल राज जरूर शेयर करने की सोच ली, बल्कि खुद इस खास चुदाई का प्रैक्टिकल भी बड़े ढंग से कर ली. मैं तुझे कामसूत्र पोजीशन में चोदने वाली हूँ और तेरे लंड को अपनी चूत से दबा दबा कर तुझे भी चिल्ला चिल्ला कर निचोड़ दूँगी.

उसके चुचे मेरे दोनों हाथ में मानो दो गेंदें हों, इस प्रकार समा गई थीं. मगर तभी मेरी नजर अनायास ही उनकी चुत पर चली गयी जिसमें से मेरे व उनके प्रेमरस का‌ बिल्कुल क्रीम जैसा गाढ़ा और सफेद‌ मिश्रण धीरे धीरे बहते हुए बाहर निकल रहा था. नेहा के इतनी जोर से मेरे होंठों को चूसने से मुझे दर्द तो हो रहा था, मगर उससे कुछ कहने की बजाए मैंने अब नीचे से धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिए.

मेरा रूम, मकान की चौथी मंजिल पर था और मेरे घर के सामने वाले घर में एक आंटी रहती थीं, जो इस कहानी की नायिका हैं. प्रमिला भी ड्रिंक लेने गई थी, तो ये बात उसे भी नहीं सुनी और फिर हम सबने साथ में डांस किया, बाहर ही खाना खाया और हम घर आ पहुंचे.

मैं उसके घर गया, उसने दरवाजा खोला और कहा- तू बाथरूम में जा … मैंने पानी गर्म किया है, वो लेके आती हूँ.

मैंने एक घंटे में आने को कहा, तो वो कहने लगी कि भैया किसी काम से कानपुर गए हैं और उसका बेटा अपनी नानी के यहां है.

मुझे क्रश करो … मेरे अंग अंग को चूमो, फिर चूसो, मैं सिर्फ तुम्हारे लिए ही बनी हूँ. उम्म्ह… अहह… हय… याह… गयी मैं तो!मैं भी उसके मम्मों को दबा कर जोर जोर से गांड उठाते हुए चूत चुदाई करते जा रहा था. महेश ने मेरे पीछे खिसक कर मुझे अपनी गोदी में लिटा लिया और मेरा सर अपनी गोदी में रख लिया.

फिर जब हमें पता चला कि बहन ने ये करते देख लिया, तो हम दोनों ने कपड़े सही कर लिए और हम कुछ देर के लिए सोने की एक्टिंग करने लगे. मेरी पत्नी खुशबू के आने तक मैंने कविता भाभी को बहुत चोदा, करीब करीब रोज ही!फिर मेरा ट्रान्सफर दूसरे शहर में हो गया और हम यहाँ आ गये. एक कस्टमर, जिसका नाम बिरजू (बदला हुआ नाम) है, उसने मेरी कंपनी से एक 1109 ट्रक फाइनेंस करवाया था.

एक तरह से उसने मुझे धोखा दिया था, बाद में एक मैसेज भेजा कि वो अपने पापा को धोखा नहीं दे सकती थी.

तो मैं थोड़ा पानी झाड़ कर बाहर निकला और तौलिया खोजने लगा, लेकिन किस्मत मेरी कि उस कमरे में कोई तौलिया ही नहीं था. सच में मेरे देवर ने आज मेरी चूत को चोद कर मेरी प्यास को शांत कर दिया था. मैंने कार को हिलते देखा तो मुझे भी लगा कि सच में कोई चूत चुद रही है.

उन्होंने मेरे पल्लू को मेरे सीने पर से हटाया और मेरे ब्लाउज के हुक्स खोलने लगे. इसके साथ ही धीरे से मैं उसका लेफ्ट निप्पल को चूम के उसको चूसने लगा. मेरे भी मुर्दा पड़े लंड में अब जान आने लग गयी थी और आये भी क्यों नहीं? प्रिया के जैसी कमसिन नवयौवना के दूध जैसे सफेद उन्नत उभारों को देखकर तो किसी बूढ़े के लंड में भी जान आ जाए, फिर मैं तो जवान हूँ.

ममता भाभी को मैंने उल्टा लेटा दिया और अपना लंड वैसे ही उसकी चूत में घुसा दिया.

पाँच मिनट ऐसे ही रहने के बाद गुड़िया का दर्द कम हुआ, तो मैं लंड धीरे से आगे पीछे करने लगा. ये कहानी आज से लगभग एक साल पहले की है जब मैं दिल्ली से किसी काम से बाहर जा रहा था.

बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ तब मैंने मम्मी से कहा- जोधपुर क्यों जा रहे हो?तब मम्मी ने मुझसे कहा कि तुम्हारे पापा को अपने बिजनेस के सिलसिले में अचानक जोधपुर जाना पड़ रहा है. जब मैं वहां से फ्री होकर आयी तो राहुल वहीं बिस्तर पर लेटा था और वहां पर उसके अलावा और भी बहुत लोग सो रहे थे.

बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ देखा … कितना मज़ा आया ना? इसको भी समझा … ये भी थोड़े मज़े लेना सीख ले मुझसे … जवानी चार दिन की होती है … फिर पछताएगी नहीं तो …” सर ने कहने के बाद एक बार और जीभ लपलपाते हुए मेरी योनि की फांकों में खलबली मचाई और फिर बोले- कह दे ना इसको … दे दे मुझे तो अलग ही मज़ा आएगा … बोल दे इसको … मौज कर दूँगा ससुरी की … मेरिट ना आए तो कहना!मैं कुछ ना बोली … मैं क्या बोलती? मेरा बुरा हाल हो चुका था. मैं अपने देवर को मना कर रही थी, लेकिन मैं चूंकि अपने पति से बहुत दिन से नहीं चुदी थी, इसलिए मैं भी गर्म हो गयी थी.

मेरी और नेहा की दोस्ती स्कूल के समय से है, वो और मैं हमेशा से एक दूसरे के राजदार रही हैं, पर हमने कभी एक दूसरे के साथ मजे लेने का नहीं सोचा था.

चोदा चोदी सेक्सी फिल्म दिखाएं

फोटो में मैंने देखा कि एक 35-36 साल का हट्टा-कट्टा मर्द खड़ा है जिसकी हल्की-हल्की दाढ़ी और मूछें हैं. तभी मैंने जंगल की तरफ ध्यान से देखा कि वहां कुछ दूरी पर कोई आग जल रही थी. तेरे चाचा का तो पतला सा है!यह कहते ही वो जमीन पर बैठ कर मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

उसके मुँह से पहले उसकी मूंछें और दाढ़ी मेरी योनि से छू गईं, जिसकी गुदगुदी से मेरे रोंये खड़े हो गए. हालांकि हम लोग अगले 3-4 मिनट में ही मेन रोड से अपने खेत के कच्चे रस्ते पर मुड़ जाने वाले थे और रात का अंधेरा भी था. इसी के साथ मैंने धीरे से एक हाथ को नुपूर की लोवर में डाल कर उसकी चुत को सहलाना शुरू कर दिया.

फिर उसने वह गिलास दोबारा अपने हाथ में उठाया और मेरे मुँह पर लगाया तो मैंने भी उनकी झूठी कोल्ड ड्रिंक पी ली।तुरंत ही राहुल ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये और मेरे होंठों को चूसने लगे.

मैंने मदन से गुजारिश की कि बाइक मुझे चलाने दे, क्यों कि उसे बियर से ही थोड़ा ज्यादा नशा हो गया था. मैंने वंदना की कमर में हाथ डालकर वंदना की ब्रा को खोल दिया और उसके बाद वंदना की एक चूची को चूसने लगा. मेरा उनकी चूत की दरार में अन्दर जीभ पेलते ही वो जोर से चिल्ला उठीं- आआहह … ओमम्म्म … चाटो ना जोर से … इस्स्स … उहह …वे मचलने लगीं और अपनी गांड को इधर उधर घुमाने लगीं.

फिर एकदम से उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत पर ज़ोर से दबाया और उसकी चूत से रस की धार बह निकली. क्योंकि मैं वाइफ शेयरिंग की कहानियां हमेशा से पढ़ता आया था और अपनी गर्लफ्रेंड को भी कहता था कि मैं तुम्हें शादी के बाद मोटे लंडों से चुदवाऊंगा. मैं अन्तर्वासना का बड़ा फैन हूँ और इधर प्रकाशित हर चुदाई की कहानी को रोज पढ़ता हूँ.

तो वंदना बोली- अब यहीं खड़े-खड़े सुहागरात मनाओगे क्या?? बेड पर भी चलोगे या नहीं?मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लेटाया और जो अपने साथ बाजार से गोल्ड रिंग लेकर आया था, वह उसको दी. फिर मैंने मालिनी का ब्लाउज उसके बदन से अलग किया और उसने लाल ही कलर की ब्रा पहन रखी थी, मैं समझ गया कि मालिनी ने पहले से ही सब प्लान कर रखा है.

मैं- अरे मैडम आप यहां शिफ्ट हुई हैं … यह तो मेरे बगल का ही क्वॉर्टर है, चलिए बैठिए दोनों को स्कूल ही जाना है. मस्त चुदाई के साथ वो अपने मुँह से चिल्लाए जा रही थी- आह … और ज़ोर से करो …उसकी चुदास से भरी आवाज़ मुझे और अधिक उत्तेजित करने का काम कर रही थी. अंकल भी पूरे मादरचोद थे, वे जानते थे कि कोई भी औरत ऐसी स्थिति में बिना चुदवाये नहीं रह सकती.

मैंने अपनी बहन से कहा- मीनाक्षी, जाके देखो … सब सो रहे हैं ना … देख कर वापस आ जाओ.

वो बोला- मालिकों आपको बहुत बहुत धन्यवाद, मैं आपका एहसान नहीं भूलूंगा, आप लोग कुछ करना या नहीं इसकी गांड जरूर मारना, इसकी गांड बहुत मस्त है. मैंने उसको अपनी गोद में बिठा लिया, जिससे उसकी गांड मेरे लंड पर आ गई. इधर पुनीत मुझे गंदी गंदी गालियां देकर मेरी गांड को जमके चोद रहा था.

मैंने रमेश की ओर देखते हुए- क्यों काका मज़ा आया?रमेश बोलता उसके पहले ही रूपा बोली- मालिक इसका तो पता नहीं, पर मुझे बहुत मज़ा आया. दोस्तो, आगे कैसे अनिल ने मेरी बहन मीनाक्षी को कैसे चोदा … उसने क्या क्या किया … उसकी शादी के बाद भी उसको कैसे चोदता रहा और उसे अपनी रखैल जैसी बनाए रखा, वो सब अगले भाग में लिखूंगा.

आंटी बोलीं- गुड … मुझे ऐसे लड़के बहुत पसंद हैं … तुम बुरा न मानो तो तुम्हारे लिए एक काम है, तुम करना चाहो तो कहूँ?मैंने तुरंत हां कर दिया- काम तो बताओ आप?तो आंटी बोलीं- क्या तुम मेरे बच्चों को ट्यूशन दे दोगे?मैं बोला- हां क्यों नहीं. तभी मैंने उनको मेरी तरफ देखते हुए पाया और फिर वो नीचे घर में जाने लगीं. मैंने उसे नेट चलाना सिखा दिया था तो नतीजा यह हुआ कि एक दिन मैंने देखा कि वह ‘पत्नी को दोस्त से चुदवाया’ नाम की कहानी पढ़ रही थी.

सेक्सी व्हिडिओ बीपी पाहिजे

क्योंकि मुझे अकेले ड्रिंक करने की आदत नहीं है।मैंने उसे ‘हाँ’ कर दी।वो दो ड्रिंक ले के आई.

मैंने सोचा कि चलो कोई बात नहीं केवल दो घन्टे की तो बात है, काट लेंगे. दस मिनट ऐसे ही चूमने के बाद निप्पलों को रगड़ते और चुचियों को मसलते हुए मैंने उसकी टी-शर्ट निकाल दी. अनु मेरी बीवी है … चुपचाप छोड़ दो इसे … नहीं तो अंजाम बहुत बुरा होगा.

अब तक मैंने आप को अपनी उम्र नहीं बतायी, मेरी उम्र अभी 22 साल है और काफी लड़कियों के साथ में मैंने सेक्स किया हुआ है. शायद मैडम को पता था कि आज मेरा नौकर छुट्टी पे है, इसलिए उसने आज मेरे लिए भी डिनर बना लिया था. सेक्सी ब्लू वीडियो में ब्लूभाबी ने एक ही बार में पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया और उसपे उछलने लगी.

मैंने इतनी लड़कियों और भाभियों को चोदा है कि कभी कभी मुझे लगता है कि मैं भी एक फ्री वाला कॉलब्वॉय हूँ. तुझे मैं बस रोज ऐसे ही चोदूंगा और तुझे ऐसे ही मस्त लौड़ों से चोदते देखूंगा.

एक बार और आराम से उसके स्तनों पर हाथ फेरते हुए पूरा दूध पकड़ कर आराम से दबाया. मेरे को इतना ज्यादा दर्द हुआ कि मैं पूरे जोर से चीख उठी और लंड घुसने में जो दर्द हुआ, उससे लगा कि मैं अभी के अभी बस मर जाऊंगी. उसने पूछा- किस लिए?तो मैंने बोला- वो रात को मैं थोड़ा बहक गया था, इसके लिए मुझे माफ़ कर दो.

अपनी बांहों में लेकर मैंने चाची को बेडरुम में ले जाकर उनके बेड पर पटक दिया. जिन्दगी की तन्हाइयों में,पर कभी जब दिल उदास होता है,वो दोस्त बहुत याद आते हैं,वो दिन बहुत याद आते है!”दोस्तो हंसते रहिये, मुस्कुराते रहिये, खुश रहिये. मैं- बस आज कुछ ज्यादा उत्तेजित हो रहा हूँ जानू!यह कह कर मैंने उसे गोद में उठा लिया और बेड पे पटक दिया.

हम फिर से एक दूसरे को किस कर रहे थे, मेरा हाथ जब उसके उरोजों को मसलने लगे तो मैंने पाया इस बार उसने अपनी ब्रा नहीं पहनी है.

मैं बोला- हां क्यों बुलाया है?वो बोली- ऐसे ही बुलाया है … क्यों आपको अच्छा नहीं लगा लगा क्या?मैं बोला- नहीं ऐसी बात नहीं है. इसी चुदाई के चक्कर में सुबह हो गई और मेरे पति अपनी ड्यूटी पर चले गए.

उसने झट से मेरी साड़ी उठा दी तो मैंने उसे डांटते हुए बोला- रुको, हड़बड़ी क्या है. बलवंत के साथ बिताई रात जितनी खतरनाक थी ( पढ़िये मेरी कहानीवह खतरनाक शाम) उतनी ही हसीन इसके साथ बिताई वह रात थी, रात के बीतते हर प्रहर ने मुझे भी तृप्त किया और उसे भी. उन्होंने मुझे उठाकर पूरी सीट पर चित लिटा दिया और अपनी पैंट को भी उतार दिया.

मकान मालकिन का मायका थोड़ी ही दूर पर था, तो वो भी कभी कभी अपने मायके चली जाती थी. कामरस से गीली होकर नेहा की मुनिया अब चिकनी हो गयी थी, जिससे मेरी उंगलियां उसकी मुनिया पर अपने आप‌ ही फिसलने लगीं और नेहा के मुँह से हल्की हल्की सिसकारियां फूटनी शुरू हो गईं. वैसे आपका नाम क्या है?अंकल बोले- छत्रपाल सिंह … पर सब लोग छत्तू ही बोलते हैं.

बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया. नेहा- कैसा लग रहा है मेरी जान?मैं- लगता है … तुम आज मुझे मार डालोगी.

बॉबी देओल की सेक्सी मूवी

मैंने उसकी पैंट को खोलकर उसे नीचे खींच दिया और उसकी फ्रेंची में तना हुआ उसका बड़ा सा लंड मेरी आंखों के सामने आ गया. पर उसके अंदाज में वो प्रतिरोध नहीं दिख रहा था और न ही वो चिल्लाने जैसी कोई हरकत कर रही थी. वो अपनी चूत पर मस्त खुशबू लगा कर आई थी, जो चाटते वक्त किसी मीठी चॉकलेटी स्वाद दे रही थी.

आह्ह्ह्ह्ह् …मैंने अपने मम्मों को दबाने शुरू कर दिए और मेरी नेहा … मेरी जान मेरी चुत चाटे जा रही थी. वे बोले- आह … बहुत सेक्सी है तू!मैं उनके शरीर पर बिल्कुल छोटी सी चुहिया सी लग रही थी. बीएफ सेक्स वीडियो मेंउसकी घर में भी थोड़ा ज्यादा चलती थी और वो दिखने में भी थोड़ा मजबूत था.

मम्मी ने मेरे सर पर हाथ रखा और बोली- जोर से लगा क्या?मैं बोली- हां मम्मी, दर्द है.

सरिता की चुत इतनी टाईट थी कि चार पाच झटकों के बाद ही मेरा लंड मंजिल तक पहुंच सका. ये सब देविका मैडम के जीवन का भी पहला अनुभव था जब उसने किसी गैर मर्द को अपना आशिक बना लिया था.

मैं आपको अपनी मकान मालकिन भाभी की कामुकता की आग की कहानी बता रहा हूँ. झूले के साथ ही उसकी चूत के दाने से मेरी उंगलियां टकराने लगी … अब उसे आनन्द आने लगा था, वो सिसकारी निकाल रही थी ‘आह स्सस …’ आंखें बंद करके!जब नीचे झूला आया तो सुशीला को सब मालूम पड़ गया. वैसे चूत चुदाई के मामले में मैं अपने आपको बहुत लकी मानता हूं क्योंकि मैं जहां भी रहता हूं, कहीं ना कहीं से चूत का जुगाड़ हो ही जाता है.

मेरा ध्यान गया, तो मैंने देखा कि एक लाइट ब्लू कलर का पंजाबी ड्रेस पहनी हुई औरत जा रही थी, उसने डार्क ब्लू का दुप्पटा भी डाला हुआ था … जिसमें से उसके मम्मे के उभार काफी बड़े से दिख रहे थे.

पर लेटने से पहले ठीक उसी तरह उसने मेरे मुँह में कपड़ा डाला, जैसे मैंने उसके मुँह में. मैंने तुम्हें जब फोटो में ही देखा था … तभी जगत से पूछा था कि क्या यह लड़की मेरा लौड़ा बर्दाश्त कर लेगी, तो जगत बोला कि आपको पता नहीं है, वह दिखने में भले ही पतली है … और कम उम्र की नाजुक लड़की है … पर उसकी चूत के अन्दर जो आग है, वह आप सोच नहीं सकते. थोड़ी देर बाद मैंने हिम्मत करके उससे कहा- अगर आप बुरा आ मानो तो क्यों ना आप अपना दूध यहीं बॉटल में निकाल लो ताकि आपको बार बार जाने ना पड़े.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर चलने वालीमैंने लंड को उसकी चूत में लगाया और एक झटका लगाया तो सिर्फ लंड की टोपी ही घुसी थी कि पूजा के मुँह से चीख निकली … लेकिन मैं नहीं रुका. जगत अंकल कान में फिर बोले- चिंता नहीं करो वन्द्या … कुछ नहीं होगा चुपचाप बैठी रहो, किसी को कुछ पता नहीं होगा … तुम बेफिक्र रहो, ये मेरी जवाबदारी है.

सेक्सी हिंदी फिल्म साड़ी वाली

और हां अगर मुझे तुम्हारे लिये दर्द को बर्दाश्त करना पड़ेगा तो मैं बर्दाश्त कर लूंगी।”मतलब?”बुद्धू … मतलब तुम अपने मुस्टंडे लंड को मेरी गांड का मजा दे सकते हो।”मैंने कस कर पल्लवी को चिपका लिया।इससे पहले हम लोग अपने गांड चोदन कार्यक्रम को आगे बढ़ाते, कमरे की घंटी बजी. जगत अंकल ने कर में ही मुझे अपनी गोद में बिठा कर अपने लंड को मेरी चूत में पेल दिया था. हम दोनों करीब बीस मिनट सेक्स करने के बाद झड़ गए और हम दोनों का एक साथ पानी निकल गया.

उस रात जब मैं उनके बाथरूम गया, तो वहां उनकी ब्रा पेंटी को देख के मुठ मारी और सोने चला गया. कुछ देर बाद मैंने उनकी मेक्सी में अपना एक हाथ डाल दिया था मैं अब उनके बूब्स को महसूस करने लगा था. मुझे कोई अजीब नहीं लग रहा था, प्राइवेट नौकरी करने के कारण मेरे साथ ग्रुप में जो गर्ल्स थीं, वो भी पीती थीं.

मैं उनके दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने मुँह में गपागप चूसे जा रहा था. वो मेरी टांगों की तरफ आ गया और मेरी टांगें फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा. मैंने भी अब उनकी दोनों चूचियों को अपने हाथों में थामकर उन्हें जोर से मसल दिया, जिससे सुलेखा भाभी के मुँह से फिर से एक तीव्र आवाज निकल गई ‘इईईई … श्श्शशश … आआ ह्ह्ह्ह्ह …’उनकी मीठी सीत्कार सी फूट पड़ी.

सुलेखा भाभी की उत्तेजना तो जोर मार रही थी … मगर शायद वो थकी हुई थी. मैं उसकी चिकनी चुत को देखने के लिये अब उतावला सा हो गया और जल्दी से अपना हाथ उसके घाघरे से बाहर निकालकर उसके घाघरे को उतारने की कोशिश करने लगा.

ना ही हम इतनी दूर ट्रेन से जा सकते थे और ना ही बस से बैठ कर ट्रैवल कर सकते थे.

मैं उन दोनों की कमर में हाथ डाल कर बारी बारी से दोनों को किस करता हुआ बाथरूम में ले जाने लगा. बीएफ सेक्स व्हिडिओ मराठीलेकिन उनका लुक एक गांव के जवान देसी चोदू ग्वाले जैसा लग रहा था, जो नग्न अवस्था में पशुओं को खाना पानी दे रहा था. सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो दिखाओफिर मैंने अपनी जीभ को नुकीला करके घुमाते हुए उसकी चूत में डाला तो वो सिहर उठी और ‘इसस्सह इसस्स स्स आहौ ऊउउफफफ्फ़. ” वाली बात आ गयी … ओह … तो ये दवाई तैयार कर रही थी वो मेरे लिये … ये बात मेरे दिमाग में आते ही मैं उत्तेजना से भर गया और मेरी हथेली ने उसकी कमसिन चूत को पूरी तरह से अपनी मुट्ठी में भरकर जोर से मसल दिया.

तभी मेरी नजर उसकी पैंटी पर चली गयी, जो कि चुत के पास से पूरी भीगी हुई थी.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के सभी पाठकों को आशिक की तरफ़ से नमस्कार. अबकी बार चिल्लाने पर जैसे ही मेरा मुँह खुला, उसने सीधे ही लंड घुसा दिया. अब पीछे से मेरी गांड खुल गई तो राज अंकल बोले- रवि भाई आप बुरा नहीं मानो तो मैं सोनू की गांड मार लूं.

मैं उसकी चिकनी चुत को देखने के लिये अब उतावला सा हो गया और जल्दी से अपना हाथ उसके घाघरे से बाहर निकालकर उसके घाघरे को उतारने की कोशिश करने लगा. इस वक्त वो इतनी मस्ती में आ चुकी थीं कि पूरा का पूरा शब्द भी नहीं बोल पा रही थीं. मॉम ने अपने चेहरे से बड़ी कामुकता से अपने चेहरे से नामित के वीर्य को उंगली से उठाया और चाट लिया.

सेक्सी एचडी वीडियो भेजो

ये बात करीब डेढ़ साल साल पहले की है, मेरी छोटी बहन, जिसका नाम मालिनी है, उसने अपनी बारहवीं पास की, उस वक्त उसकी उम्र 18 साल से ऊपर थी. दोपहर को खाने के समय लड़कियां आपस में बातें करने लगीं जो जरूरत से ज़्यादा अश्लील हुआ करती थीं. सरिता को भी दो साल बाद लंड मिला था सो उसका थोड़ा दर्द होना वाजिब था.

मैंने कहा- ठीक है, यदि तुम्हें मुझसे कुछ हेल्प लेनी हो तो मुझे बता देना.

अब तक मैं भी जोश में आ चुका था, तो मैंने एक ही झटके में गिलास खाली कर दिया और भाभी ने भी मुझे देख कर अपना पूरा भरा दूसरा गिलास भी खाली कर दिया.

दिल कर रहा था कि इसी तरह बस मेरी गांड को मसल-मसल कर मामा इसकी चटनी बना दें. मुझे चोदने के इरादे से आये हुए मेरे जेठ जी ने अन्दर अंडरगारमेंट्स भी नहीं पहने हुए थे. सैकसी वीडीयौउसके बाद राहुल ने मुझे पलटा दिया और मेरी गांड को दबाने और सहलाने लगा.

चूंकि अब तो गाहे बगाहे मैम के फोन आते रहते थे और मैम से मेरी हंसी मजाक होती रहती थी. वो कहानी बाद में बताऊंगी।हां, तो जब वो मेरी चूत में लंड डालने की कोशिश कर रहा था तो मैंने अपनी जांघें टाइट कर ली थी. हम दोनों ही अब अपने अपने पूरे शवाब पर थे और हम दोनों में अपनी अपनी मंजिल पर पहुंचने की जैसे कोई प्रतियोगिता सी शुरू हो गयी थी.

”मैं प्रेरणा की बात सुनकर स्तब्ध रह गया। सच में मेरे लिए ये सरप्राइज से कम नहीं था। मैंने तो कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि प्रेरणा अपनी मौसी को चुदवाने के लिए मुझे लेकर जायेगी। प्रेरणा की बातें सुन प्रेरणा की मौसी शर्मा कर अन्दर चली गई।यार, ये सब क्या है … मैं तुम्हारी मौसी के साथ कैसे?”तुम शर्मा क्यों रहे हो? कोई ऐसा काम तो मैंने कहा नहीं जो तुम्हें करना नहीं आता. मैं जैसे ही थोड़ा हाथ ढीला करता, वो अपने हाथ से जोर से दबा देती और जैसे ही मैं थोड़ा धीरे से चूसता, वो मेरे बाल खींच कर चुची पर मेरा मुँह दबा देती, जैसे पूरी चुची को मेरे मुँह में ही डाल देगी.

हाँ आजकल इंटरनेट पर तस्वीरें देखी जा सकती हैं, लेकिन साक्षात् देखने का उन्हें छूने का और उन्हें लेने देने का आनन्द ही अलग होता है.

मैंने भी अब जोर से धक्का लगाकर एक ही झटके ने अपने‌ लंड को‌ उनकी चुत की गहराई तक उतार दिया, जिससे एक बार तो भाभी ‘आआआह्ह् … उऊऊच्च्च् …’ कहकर जोरों से कराह उठीं, मगर साथ ही उन्होंने इनाम के तौर पर दोनों हाथों से मेरे सिर को‌ पकड़ कर बड़े ही प्यार से मेरे गालों पर एक चुम्मा भी दे दिया. उसकी पत्नी सौम्या यानि मेरी भाभी का कॉल आया- भैया, मुझे पुष्कर मेला देखना है. एक शाम, मैं अपने दोस्त के साथ एक सुनसान रोड पर बाइक पर बैठ कर सिगरेट पी रहा था.

पाकिस्तानी भाभी का सेक्स ठीक 9 बजते ही नेहा तो स्कूल चली गई, पर मैं मकान मालकिन के जाने का इंतजार कर रहा था. यह कहते हुए उसने मेरे मुँह पर अपना मुँह रख कर जोर से दबाया और अपने हाथों से उस डिल्डो को मेरी चूत में घुसा दिया.

मेरी वैसे इच्छा हुई कि कुछ देर खेलूँ उसके साथ, फिर सोचा कि आज इसे पहले तड़पाती हूँ, फिर बाद में कभी खेल लूंगी. मैंने उसकी एक चूची को पकड़कर उसके निप्पल को मुँह में भर‌ लिया और उसे जोरों से चूसना शुरू कर दिया. मामी की चूत में लंड डाल दिया और मामी ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगीमामी के मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकल रही थीं.

देसी देहाती चुदाई सेक्सी वीडियो

मैंने उसके चेहरे की तरफ देखा, तो वो आंखें बंद करके मेरे लंड की रगड़ को महसूस कर रही थी. मैंने लगातार कई चुम्बन उसकी चूत पर किये और अपने दांतों से हल्का सा काट लिया. मैं अपना लंड उनकी चूत में पूरा बाहर निकालकर झटके से अन्दर डालता और दोबारा बाहर निकालकर फिर झटका दे मारता, जिससे वो गाली पर गाली बके जा रही थीं.

दो महिलाएं और एक आदमी भी मनमाड़ से ही बैठे थे लेकिन मैंने उन पर उतना अधिक ध्यान नहीं दिया था. खैर कुछ 3-4 मिनट के बाद वो उठी और बोली- अब मैं अपनी पोजीशन में आती हूँ.

अब मैक का लंड मेरी चूत में पूरा जड़ तक घुस रहा था और उसके झटके और धक्के से चूत से फच फच की आवाज आने लगी थी.

कुछ बाद मैंने पाली बदल ली और इस बार एकता को लंड और प्रमिला की तरफ गांड कर दी. मेरे मन में तो चोर घुसा हुआ था, मेरी गांड फटने लगी थी कि कहीं सरोज चाची मेरी मम्मी से कह न दें. उसके धक्के इतने तेज थे कि उसका लंड मेरे पेट में घुसता हुआ मुझे आसानी से महसूस हो रहा था.

कुछ देर के बाद मेरे जेठ ने अपना हाथ मेरे सीने पर रखा, कुछ देर मेरे ब्लाउज के ऊपर से मेरे मम्मे मसलने के बाद उन्होंने मेरे ब्लाउज के हुक खोलना शुरू कर दिए. मैं उसकी चिकनी चुत को देखने के लिये अब उतावला सा हो गया और जल्दी से अपना हाथ उसके घाघरे से बाहर निकालकर उसके घाघरे को उतारने की कोशिश करने लगा. थोड़ी देर में वो मेरे कमरे में आ गयी तो मैंने उसे बिस्तर पर बिठाया और खुद उसके बगल में बैठ गया.

मैंने पानी पिया, उससे उसके बच्चे के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि वो 4 बजे स्कूल से आएगा.

बीएफ पिक्चर दिखा बीएफ: मैंने उसका हाथ थाम लिया, उससे उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वह राजस्थान के जयपुर का रहने वाला है. अपने मोटे लंड से मैं किसी भी लेडी को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता हूँ.

उससे बातें करते हुए मुझे लगने लगा कि वह अपने लंड के साथ छेड़खानी भी कर रहा है. उन्होंने उसे उठाया और मुझे डांटते हुए अंदाज में बोला- क्यों बे गोलू … तू ये सब काम कब से करने लगा?तो मैं बोला- कैसे काम? मैंने क्या गलती कर दी?वो मुझे रूमाल दिखाकर बोलीं- ये क्या है?मैं बोला- रुमाल ही तो है, इसमें क्या गड़बड़ है?वो- क्या पौंछा है इससे तूने?मैं- क्या आपको क्या दिखता है … मेरी नाक है. उन्होंने मुझे पकड़ कर सोफे पर गिरा लिया और मेरी टाँगें पकड़ कर दूर-दूर फैला दीं.

मैं बोल ही रही थी कि जेठ जी ने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी चुत में पेल दिया.

7 बजे के करीब राहुल मेरे पास आये और मुझसे बोलने लगे- भाभी कोल्ड ड्रिंक पिओगी क्या?यह बात उनकी बहन ने सुन ली और वो बोली- अपनी भाभी को ही पिलायेगा? अपनी बहन को नहीं पिलायेगा?वो बोले- ठीक है, मैं लेने जा रहा हूँ सभी के लिए. जो दादा साहेब कार में बैठे थे, मैं उनसे आज तक पहले कभी नहीं मिली थी, ना उन्हें देखा था, ना उनसे कभी बात की थी. क्या होंठ थे, इतने दिनों बाद किसी स्त्री के बांहों में होना मुझे तरन्नुम दे रहा था.