इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,सेक्सविदो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकशी बीएफ: इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर, मैं दोनों के बाल पकड़ कर अपने लंड को उनके मुँह में अन्दर तक डालने लगा.

एक्स एक्स एक्स फोटो सेक्सी

पर ये सब देख कर भी वो एकदम सामान्य थी, बल्कि वो खुश थी…मयूरी उठी और बाथरूम की तरफ बढ़ने लगी. सनी लियोन सेक्सी सेक्समन लो ऐसा नहीं हुआ तो?मयूरी कुछ सोचते हुए- वैसे तुम लोगों का मन नहीं करता कि तुम दोनों मम्मी की चूत की चुदाई करो? एक साथ!रजत- मैं सच्ची बताऊँ, मेरा तो बहुत मन करता है कि मैं माँ का दूध जोर से दबा दूँ और भाई पीछे से मम्मी को पकड़ कर उसकी चूत में उंगली डाल कर मजे ले.

ये सुन कर दोनों मुझसे थोड़ी दूर सोफ़े पर जा कर बैठ गईं और मुझे पास आने का इशारे करने लगीं. হিন্দি মুভি সেক্সअब उन्होंने ड्रावर अपना कार्ड निकाला और उसके पीछे अपना पर्सनल नम्बर लिख कर मुझे दे दिया.

वो जल्दी से अपने कपड़े पहनने लगे तो मैंने उनसे कपड़ों को छीन कर दूर फेंक दिया और बोली- अब क्या छुपा रहे.इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर: उस वक्त एक उसकी चाचा की लड़की निकिता है, उसके बारे में वह मुझे चुदाई के लिए बोलता है.

जब बाप चूत चाट रहा था तो पद्मिनी अपने दोनों हाथों से अपने बापू के सर को ज़ोर से पकड़े थी और ‘उफ.मुझे विचार आया कि साला बूढा सच में निशा की चुत में लंड घुसा कर चोद रहा था.

सेक्सी ब्लू फुल हद - इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर

मेरा ये प्रस्ताव उन्हें पसंद आया और मैंने उन्हें वो लैपटॉप वैसे ही दे दिया.मैं तुमसे बहुत कुछ बोलना चाहती थी पर कभी बोलने की हिम्मत नहीं हो पाती थी, सोचती थी कि पता नहीं तुम मेरे बारे में क्या सोचते हो! यह सोचती थी कि अगर मेरे किसी बात का तुम्हें बुरा लग गया तो तुम मुझ से बात करना बंद तो नहीं कर दोगे? मैं तुम्हें बहुत पसंद करने लगी थी, मुझे तुमसे प्यार हो गया लेकिन डरती थी इस बात से कि कहीं तुम मुझ से दूर ना चले जाओ! मैं तुमसे बहुत बहुत बहुत ज्यादा प्यार करती हूँ.

अगले कुछ ही पलों में वो मेरी पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फेर रहा था. इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर तो लाल जी बोला- हां वन्द्या, मेरा एक दोस्त है, वह लंड बड़ा करने कैप्सूल लाया था.

रात भर मुझे नींद नहीं आई, यह सोच कर करवटें बदलते रहा कि आख़िर चार महीने बाद कल मैं आंटी को बिना रोक टोक के खूब चोद सकूँगा.

इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर?

पर यह बता दो कि तुम्हें मजा आया कि नहीं?तो मैं बोली- तुम दोनों को थैंक्स तुम दोनों की वजह से मुझे बहुत मजा मिला. मगर मैं आपके घर पर नहीं आ पाऊंगा क्योंकि मैं अब पिंकी से नज़रें नहीं मिला सकता. हम दोनों 69 में आ गए, उसने अपनी जीभ मेरी चूत पर फिराना शुरू किया, तो मेरी आहें निकलने लगीं और मैं पागलों की तरह कभी उसका लंड चूसती, कभी उसके आंडों को चाटने लगती.

फिर हम शोरूम में पहुंच गए, मैंने एक्टिवा ले ली, सब डाक्यूमेंट्स चेक किये और सब फिटिंग वगैरा देखा और एक्टिवा की चाबी आंटी को दे दी. जब मैं उनकी सलवार निकालने लगा तो उन्होंने उसको पकड़ लिया- प्लीज़ सतीश और नहीं करो, इतना ही बहुत है, मैं मर जाऊंगी. उसे थोड़ा सा दर्द हुआ तो मैंने उसे समझाया कि दर्द तो होगा और ब्लड भी आएगा.

उस समय सर्दियों का मौसम था तो सरसो में फूल आ रहे थे पीले पीले जो कि देखने में बहुत प्यार लगते हैं. वो मेरी बांहों में वैसी ही लेटी रहीं और हम दोनों वैसे ही नंगे बिस्तर पर लेटे रहे. उसने बोला- मुझको एक अच्छे और भरोसेमंद सेक्स पार्ट्नर और बेस्टफ्रेंड की ज़रूरत थी और इसीलिए मैंने तुम्हारे सारे डॉक्यूमेंट अच्छे से चैक किए थे और तुम्हारा फैमिली बॅकग्राउंड भी चैक किया था.

मेरी सास उस वक़्त पूरी तरह नग्न अवस्था में मेरे सामने की तरफ होकर खड़ी थीं और उनके गीले बाल बिखरे हुए थे. मेरी एक सेक्स स्टोरीआंटी सेक्स स्टोरी- गर्लफ्रेंड की माँ को पटा कर चोद दियापहले भी अन्तर्वासना पर आ चुकी है.

यह कहते हुए सर ने अपना हाथ मेरी जांघों में डाल कर दोनों टांगों के बीच पैंटी के ऊपर फूली जगह पर रख दिया.

अभी भी उसके लंड में इतना दम था कि 2 मिनट तक वो मुझे बेरहमी से चोदता रहा.

मेरी मौसेरी बहन के दो भाई हैं एक उससे छोटा और दूसरा उससे बड़ा… मैं अक्सर उन्हीं दोनों के साथ खेलता था।जब मैं 12वीं में था, तब से मैं अपनी बहन के ऊपर लट्टू था और हमेशा उसे निहारता आ रहा हूँ, मैंने कई बार उसे सोते हुए किस किया है और ना जाने कितनी बार उनके नाम की मुठ मारी है।उसके बाद वो पढ़ने के लिए हॉस्टल में चली गयी थी. लंड की मुठ मार कर बापू सिर्फ पद्मिनी की जाँघ और पेंटी देख कर और छूकर ही खुश हो गया था. थोड़ी देर बाद उसकी चूत गीली हो गयी, मेरा लंड अब आसानी से अंदर जा बाहर जा रहा था.

वल्लिका असमंजस में पड़ गई और संकोच करते हुए बोली- बाबा नियम तो आपने बताए ही नहीं. आप बस मेरी चूत चाटोगे और मुझे अपने लण्ड का माल पिलाओगे!” शाज़िया ने कहा।चाचा- हाँ … मगर अब मेरा इरादा बदल गया है, अब मैं तुझे चोदूँगा भी … तभी वीडियो डिलीट करूँगा, वरना नहीं।उसकी चूची से मुंह हटाकर चाचा उसका पेट चूमते चूमते चूत तक पहुंच गये और उसकी टाँगें फैलाकर चूत को देखने लगे और धीरे से उस पर चूम लिया. मैंने उसको होंठों पे अपने होंठ रख दिए और खूब मज़े से चूसना शुरू कर दिया.

मेरा मन करता कि जाकर अभी उन्हें दबोच लूं!कसम से दोस्तो… बहुत ही माल चूतड़ थे मेरी मामी के! मेरी मामी का फिगर 36 34 38 ही रहा होगा।धीरे धीरे मैं मामी के बारे में सोचने लगा कि कैसे उनको चोदूँ! मैं रोज़ अपने रूम पर उनके नाम की मुठ मारने लगा.

ये सब अभी कुछ महीने से ऐसा लगने लगा है, जब से कमलेश सर ने सेक्सी कहानियां पढ़ने के लिए वो पुस्तकें और मैगज़ीन मुझे दी हैं. आज ही उसकी चूत की सील उसके अपने बड़े भाई ने तोड़ी थी और अब छोटा भाई उसकी चूत में जैसे चटनी कूट रहा था. खैर यही सोचते सोचते मैं सो गया और सुबह 10 बजे सो के उठा तो मैंने मोबाइल चैक किया तो मुस्कान की 2 मिस कॉल लगी थी.

मगर वो उठ नहीं रहा था क्योंकि उसका लंड पूरी तरह से मेरी चूत को देखने के बाद बैठना नहीं चाहता था. पहले तो उसने मना किया, परन्तु मेरे कहने पर कुछ देर बाद जूली ने वह धीरे धीरे पी लिया. जब भी मेरे घर पर कोई नहीं रहता, हम मौका देख कर चुदाई का मजा ले लेते.

थोड़ी देर बाद हम दोनों का मुठ झड़ गया और हम लोग ऐसे ही बेड पर पड़े रहे.

इतनी चुदासी है तू वन्द्या फिर रोज बिना चुदवाये तू कैसे रह पाती होगी. जैसे ही रात के 11 बजे उन दोनों को ले कर आया और उन दोनों को बिठाकर बातें चालू कर दीं.

इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर अचानक से सुरेश जी एकदम से अकड़ गए और मेरी सूखी गांड पर जो बरसों से लंडरस की प्यासी थी. उसे दिन के समय ऐसे नंगी दिखना शर्मनाक लग रहा था पर मुझे ज्यादा उत्तेजक कर रही थी जिससे मुझे चुदाई करने में ज्यादा मज़ा आ रहा था।मैं उसे चोदते चोदते उसके ऊपर चढ़ कर कर कुत्ते की स्टाइल में कमर हिला हिला कर चोदने लगा। फिर हम दोनों एक साथ झड़ कर साथ में चिपक कर लेट गए और मैं उसकी बॉडी पर किस करने लगा.

इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर उसको इस तरह से देख कर एक बार तो मैं भी उसको वासना की नजरों से देखने लगी थी. यह घटना मेरे साथ दस दिन पहले ही उस वक्त हुई थी, जब मैं अपने ऑफिस से अपने घर के लिए एमजी रोड से मेट्रो में चढ़ा था.

सपना ने मेरे पास आकर मेरी 34 साइज गांड को पानी के अंदर मसलना शुरू कर दिया। मैं उस जाटणी की हिम्मत देख कर हैरान रह गई। वो पानी के अंदर मेरे सेक्सी बदना को सहलाने लगी.

लैसबियन पोर्न वीडियो

फिर?”सुनीता- अब अंकित जी ने मुझे उनका लंड चूसने का इशारा किया तो मैंने उनके लंड को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया. वो मेरी चूत में उंगली अन्दर बाहर कर रहे थे और मेरे एक चूचे को चूस रहे थे. अब मैंने उसे चित लिटा कर उसकी टांगें फैला दीं और अपना लंड उसकी चूत के ऊपर रगड़ने लगा.

अभी मैंने मुठ मारना शुरू ही किया था, बॉस ने मेरे केबिन में कॉल कर दिया. तो अंकित बोला- कौन हो तुम? और ये क्या बोल रही हो?मैंने अंकित को सब कुछ बताया कि सुनीता मेरे घर में भी काम करती है उसी ने मुझे बताया कि कल आपने उसकी जमकर चुदाई की, तो आज उसी ने मुझे यहाँ भेजा है. पास आकर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और नशीली आँखों से मुझे देखती मेरा सुपारा चूसने लगी.

मधु आहें भरने लगी थी, उसके एक हाथ ने मेरे लौड़े पर कब्जा कर लिया था.

लेकिन हमारे बीच में 250 किमी की दूरी था, जो हर वक्त तोड़ना असंभव था. मैंने बड़े प्यार से अन्दर लंड को डाला और थोड़ा अन्दर जाते ही उसे दर्द होने लगा. कभी कभी वो मेरी चूचियों को अपने दांतों से काट लेता, जिससे मेरी आवाज़ निकल जाती ‘आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आई.

उसका सर सोफे में टिका के मैं सोफे पे चढ़ गया, उसका सर अपनी टाँगों के बीच रख कर अपनी बहन का मुँह चोदने लगा. मैंने उनसे पूछा- आप में से अभिलाषा कौन है?उनमें से एक लड़की जो बहुत सुंदर दिखाई दे रही थी, उसने बताया कि अभिलाषा मैम रिसेप्शन के पीछे बने कमरे में बैठती हैं. बाहर निकलते वक्त संजू ने मेरे हाथ में कुछ दिया और कहा- ठीक से करना, कोई गड़बड़ न हो जाये!संजू ने मुझे आंख मारी और दरवाजा बंद कर दिया.

आपकी राय और आपकी पसंद जानकर मेरा उत्साह बढ़ेगा और मैं आगे की सच्चाई लिखने के लिए तैयार हो पाऊंगी. फिर उसने बस के कंडक्टर से अपना टिकेट चैक कराया तो पता चला वो तो मेरे ही बगल वाली डबल सीटर पर थी.

मैं आंटी के पीछे बहुत वक्त से लगा हुआ था और उन पर कुत्ते की तरह नजर रखता था कि कब तो मुझे मिले चांस उसे चोदने के लिए… लेकिन वक्त नहीं आ रहा था. इतना कह कर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और खुद को मनोज के हवाले कर दिया. वो मेरी बड़ी बेदर्दी से चूची को चाट और काट रहा था… कभी कभी तो मेरी चूची के के मेरे खड़े निप्पल को काट रहा था.

उसका गदराया बदन, टाइट जीन्स और टी-शर्ट में से दिखने वाला उसका फिगर.

वे भी मेरे फूलते लंड को देखते हुए कपड़े सुखाने के लिए फैलाती रहीं और बाद में नीचे चली गईं. मयूरी- पर ये तब हो पायेगा जब तुम्हारी बीवी इस बात के लिए मानेगी… और हर लड़की तुम्हारी अपनी बहन मयूरी नहीं है… की तुम दोनों का लंड एक साथ लेने को तैयार हो जाएगी. मैं कई बार उसके रूम पर ऑफिस के काम की वजह से गयी थी, चूंकि वो मेरे साथ काम करता था, इसलिए ये एक सामान्य सी बात थी.

जैसे ही मुँह में लंड पूरा घुसा कि एकदम गरम गरम लंड रस की पिचकारी मेरे अन्दर तक घुस गई और उसे मैं ना चाहते हुए भी पी गई. मैं तुम तीनों से रोज चुदवाऊंगी और जहां बोलोगे, वहां चुदवाने चले चलूंगी.

अब क्योंकि वो अपना पानी निकाल चुका था, इसलिए उसे गरम होने में कुछ टाइम लग रहा था. रूबी ने अपने एक हाथ से अपने बूब्स को छिपाते, दूसरे हाथ से कंधे से ब्रा की स्ट्रीप हटाई. उसके बाद वो अगले ही दिन सुबह बोली कि मैंने पानी डाल दिया है, अब देखो क्या होता है.

बीएफ वीडियो फौजी

अंकित ने जब सुनीता को देखा तो उसने उसका शुक्रिया अदा किया कि उसने मेरी चूत भी उसे दिलवाई.

वो किचन में जाने लगी, उसका किचन अंदर था, मैं उसे देखते देखते उसके पीछे चलता चला गया और उसे देख रहा था. आखिर में उसका हाथ पद्मिनी की स्कर्ट के नीचे पहुँचा और उसने उसकी गर्दन को चूमते हुए उसकी जाँघ सहलाना शुरू किया. मैं किसी काम से कमिश्नर के ऑफिस गया था, वहां मैं बाहर बैठकर इंतज़ार कर रहा था.

कुछ देर बाद जैसे ही मेरी आँख खुली, मेरी नज़र दरवाज़े पर गयी, जहाँ पापा खड़े मुझे फटी फटी आँखों से देख रहे थे। मेरे दोनों हाथ अभी भी मेरे बालों में फंसे हुए थे।मैं पापा को इस तरह घूरते देख कर बहुत डर गयी- सॉरी पापा… मेरे बाथरूम में लाईट नहीं जल रही है, इसलिए मैंने आपका बाथरूम यूज कर रही हूँ. जितना कि लड़कों में है क्योंकि मैं बाइसेक्सुअल हूँ और कोई भी मुझे गे बुलाये, मुझे अच्छा नहीं लगता है. लियोन एक्स एक्स एक्सइस वक्त मेरा लंड भी मेरी पेंट में तंबू के बांस की तरह खड़ा हो गया था.

अपने हज़ूर के दरबार में जाने से पहले बहुत सी तैयारी करनी पड़ती है, जिसके लिए समय होना चाहिए. उन्होंने फिर मुझे कहा- तुमने मेरा यह सफ़र बहुत ही खुश खुशनसीब बना दिया.

मैं उससे बोली- मैंने तो शादी से पहले एक बार सोचा था कि क्यों ना रस्सी लगा कर खुद को फाँसी लगा लूँ. उसने मुझे फिर से आई लव यू बोला और किस करके बाद में बात करते हैं, कहकर फोन कट कर दिया. वो एक आलीशान रिज़ॉर्ट था, बहुत मस्त और सभी तरह से वो एक आलीशान महल की तरह लग रहा था.

मगर वो पढ़ी लिखी नहीं थी, इसलिए मैंने उसको कुछ किताबें लाकर दीं और उसको पढ़ना सीखना शुरू किया. उसके पति यानी मेरे जीजू को कंपनी के काम से एक महीने के लिए दूसरे शहर जाना पड़ा था, तो वह अकेली रह रही थी. मैं बोली- तू सच कह रहा है, मेरा दिन रात चुदवाने का मन करता रहता है, लगता है कि कोई भी मर्द आये और बस मेरे जिस्म को मसलने लगे और मेरे मुँह में अपना लंड डाल दे, फिर चूत का और गांड को इतना चोदे कि मुझे कुछ होश नहीं रहे.

मुझे उसमें से एक रेड कलर और एक येल्लो की साड़ी पसंद आ गई, पर मुझे सुहागरात या यूं कहूँ कि सुहागडे मनाना था, तो मैंने नेट वाली रेड कलर की साड़ी ले ली और उसके साथ ब्लैक कलर का वेलवेट का डीप कट स्लीवलैस ब्लाउज ले लिया.

उसकी उम्र 27 साल है और उसकी शादी उसके ज्यादा उम्र वाली लड़की से हो चुकी है. मेरे किस करने के लिए आगे बढ़ते ही वो समझ गई कि अब मैं उसे किस करूँगा.

मयूरी रजत के सीने पर चढ़ी हुई थी और रजत ने अपने हाथ मयूरी के मस्त गोल-गोल बड़ी-बड़ी चूचियों को सहलाने और थोड़ी ही देर बाद उनको जोर-जोर से बड़ी ही बेदर्दी से मसलने में व्यस्त हो गया. मैं अपनी उंगली भाभी की चूत में चलाने लगा,भाभी की कामुकताकी आग विशाल रूप ले चुकी थी. फिर बोला- आज के बाद मुझे कभी याद ना दिलाना कि मेरे बाप ने तुम्हारे किसी भी अंग को हाथ लगाया था.

मुझे भी थोड़ा दर्द हुआ तो वो अपने होंठ मेरे होंठ पर रख कर किस करने लगा. फिर मैंने उनके गालों पर अपनी जीभ फेरनी चालू कर दी और फिर उनके ऊपर के होठों को चूमता हुआ, उनके नाक पर अपनी जीभ से चाट लिया. मैंने मना कर दिया, तो वो रुक गया और तकिए के नीचे से कंडोम मेरे हाथ में दे कर बोला- लंड में लगा दो.

इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर थोड़ी देर बाद विक्रम घर आ गया अपनी कोचिंग क्लास कर के … उसने दरवाजे की घंटी बजायी और मयूरी ने शीतल को दरवाजा खोलने को कहा और उसने बताया कि वो अपने कमरे में जा रही है, तो इस वक्त खुल कर अपने बड़े बेटे पर लाइन मार सकती है. अब वो अपनी चूत में बस की रफ्तार के साथ मेरी भी रफ्तार महसूस कर रही थी और मस्ती से गांड उछाल उछाल कर मेरे साथ दे रही थी.

एक्स एक्स एक्स हिंदी व्हिडीओ

वो मेरी मस्त गांड देख के बहक रहा था और उसका असर उसके लोअर पे दिखाई दे रहा था क्योंकि उसका लंड कड़क हो कर विकराल रूप ले रहा था. फ़िर मैंने उसे 69 पोजीशन में आने को कहा, वो मेरे नीचे थी, मेरा लंड उसके मुँह में था और मैं उसकी बुर चाट रहा था. लंड मोटा ज्यादा होने की वजह से दर्द ज्यादा हो रहा था, मैंने इशारे से लंड निकालने का पूछा तो भाभी ने मेरी कलाई पकड़ ली और उन्होंने कहा- दर्द की चिंता मत करो.

वो बोली- मैं तो डरती थी कि आप नींद में हैं और ग़लती से यह हो रहा है. वह पढ़ाई के साथ-साथ ऑनलाइन पार्ट टाइम जॉब भी करता है, तो उसने मुझे बताया कि तुम भी मेरी कम्पनी में जॉइन हो सकती हो तो किसी से पैसे मांगने की जरूरत नहीं पड़ेगी. ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो में दिखाएंसतीश, तुम मेरे बारे में कल क्या कह रहे थे झूठ मूट ही सब कहते रहते हो.

अंकित बोला- तू तो बहुत बड़ी वाली हो गई वन्द्या, रंडी बन गई क्या?मैं बोली- हां तू कुछ भी समझ अंकित.

इत्तेफाकन उसकी मां का जन्मदिन था तो उसने मुझसे कहा कि आज मेरी मम्मी का जन्मदिन है. पर फिर जब हम संचालन कर रहे थे और किसी की स्पीच की बारी आई, तब वो मेरे बाजू में खड़ी हो गई थी.

कुछ ही देर में चाची ने अपने शरीर को ऐंठ लिया और जोर जोर से चिंघाड़ने सी लगीं. सुरेश जी को याद कर करके उनके मोटे काले लंड के बारे में सोचके मेरी मुँह में पानी आने लगा. तो मैंने हिम्मत करके उनको शुरू से लेकर अब तक का सब कुछ बताया कि कैसे उस लड़के ने अनु दीदी को प्रेगनेंट किया था और मैंने उनका अबॉर्शन करवाया था और किन हालत में अनु दीदी और मेरे बीच में सेक्स हुआ, अगर मैं नहीं करता तो अनु दीदी किसी और से मजा लेतीं और फिर से चक्कर में फंस जातीं.

उन्होंने मुझे बेड पर अपने नीचे लेटाया और मेरा लंड हाथ में लिए सहलाते हुए मेरे ऊपर आकर उल्टी बैठ गईं.

अंकित जी ने मेरे मुँह को चूमते हुए मेरी चीख को बंद किया और अपनी चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी. विकी से मिलने से पहले मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरी ये भूख कभी नहीं मिटने वाली है. कम्पलीट होने तक, मुझे लड़कियों और भाभियों की चुदाई करने को बहुत मौके मिले.

वीडियो सेक्स सेक्सीमैंने हां कर दी तो भाभी मेरे ऊपर आ गईं और अपने आप ही अपनी चुदाई करवाने लगीं. आआआ आअहह उई उम्म्म्म…”फिर मैंने धीरे से उनकी चूत की फांकों को खोला और अन्दर से उनका चना सा दाना दिखने लगा, तो मैंने अपनी जीभ से उसे छेड़ दिया.

लडकियों की सेक्सी

वो भी अचानक एक बार मेले में और दूसरी बार अभी थोड़े दिन पहले ही घाट पर. इस बार मैंने उसकी टांगों को उठा कर अपने कंधों पर ले ली थीं और उसके मुँह पर अपना मुँह लगा दिया था. मैं- मैडम, यू आर सो ब्यूटिफुल, आपका कोई दोस्त क्यों नहीं है?सुधा भाभी- क्योंकि कोई मिला नहीं, जो मुझे समझ सके.

चूत भी ऐसी लग रही थी मानो किसी 18-19 साल की लड़की की चुत हो, जो आज तक कभी ना चुदी हो. इसके बाद अगले ही मैंने भी ऊपर से झटका दे मारा तो मेरा लंड उसकी चूत में चला गया. उसने मेरे होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और धकापेल चालू कर दी.

फ़िर भी मुझे सामने चूत दिख रही थी तो कब तक मेरे जैसा जवान खुद को रोक सकता था. विकी ने मेरे चूत में दो उंगलियां डाल दी थीं और मुझे अपनी उंगली से चोद रहा था. मैंने उसको पेट पर से पकड़ रखा था वह भी बहुत खुश थी पर शायद वह यह सब नहीं चाहती थी और मैं चाहता था.

हमने प्लान किया कि दोनों शादी में चलते हैं और रात को वहीं शादी अटेंड करके वहीं होटल ले लेंगे. दोस्तो, मैं आपकी प्यारी प्यारी दोस्त प्रीति शर्मा।आपने मेरी पिछली कहानीप्रीति भाभी का कैजुअल सेक्सपढ़ी और पसंद की, धन्यवाद.

क्या कहूँ दोस्तों मुझे पक्का यकीन है कि आने जाने वालों में से बहुत लोगों के लौड़े उसने खड़े किए होंगे.

रोहन के स्कूल से आने का टाइम हो चुका था। हम दोनों जल्दी से उठे और एक साथ नहाने के बाद एक-दूसरे को किस किया। मैं अपने कमरे में लौट आया।मेरी सेक्स स्टोरी पर प्लीज़ कमेंट्स मेल से भेजिएगा।नेहा आंटी की चूत चुदाई की कहानी में आगे बहुत कुछ है।[emailprotected]. ववव क्सक्सक्स वीडियो कॉमतब मुझे उस पर और ज्यादा प्यार आने लगा और मैंने मना किया कि नहीं, मैं अब ये सब नहीं करना चाहता. सेक्सी व्हिडिओ चोदाचोदीमैंने उसके होंठों को अपने होंठों से चूस रहा था और एक हाथ से उसके मम्मों को दबा रहा था और मेरी कमर अपना काम कर रही थी. अब तक उसने भी प्रतिरोध करने का नाटक बंद कर दिया था और अपनी सुलगती हुई चूत की बात मान कर मज़े से होंठ चुसवाने लगी.

उसका स्कर्ट और ऊपर उठता गया… और ऊपर और थोड़ा सा ऊपर… पद्मिनी अपने बापू को खुश करने के लिए स्कर्ट उठाती गयी और बापू ज़ोरों से अपना हाथ अपने लंड पर लुंगी के नीचे मारते गया… जैसे ही पद्मिनी की सफ़ेद पेंटी थोड़ा सा नज़र आयी, बापू ने अपना मुँह जल्दी से उस मुलायम पेंटी पर रख दिया और चाटने लगा.

ये एक ऐसा माध्यम है जिसमें हम अपनी आपबीती आप सबके आगे प्रस्तुत भी कर देते हैं और हमें किसी भी प्रकार का परिचय किसी को नहीं देना पड़ता है. जब मेरा निकलने वाला था तो मैंने उससे पूछा- कहाँ निकालूँ?तो वो बोली- मेरे मुँह में निकाल दो. मैं आशा करता हूँ कि ये कहानी आपको मेरी जिंदगी की सबसे अच्छी सेक्स स्टोरी लगेगी.

अब फिर से एक बार उसका लौड़ा मेरे मुँह में था और उसके होंठ मेरी पेंटी पर थे. उसके बाद मैंने खाला को इस तरह लिटा दिया कि मेरी छाती के साथ नूरी खाला की पीठ लगने लगी. हमने कुछ देर आराम किया और फिर मैंने देखा मेरी चूत लाल हो गई थी और बेडशीट पर भी मेरा खून लगा हुआ था.

भाई के साथ सुहागरात

मैंने खुद को संभाला और फिर अपने हाथ पर ध्यान दिया कि उसका लिंग झटके खाने लगा था. हट पगली… तू फिर शुरू हो गई… अब मेरी उम्र थोड़े ही है लंड लेने की…” साधना ने शर्माते हुए कहा।माँ जी… लंड लेने के लिए उम्र कोई मायने नहीं रखती… मैंने तो 80-80 साल की बुढ़िया का भी सुना है कि वो लंड लेती हैं। अगर आपको झूठ लग रहा हो तो नेट पर देख लो… जब तक चुत में आग है तब तक लंड लेने की लालसा औरत में रहती ही है. रात को एहतियात के तौर पर उस कमरे में मयूरी और विक्रम के बीच कुछ नहीं हुआ क्यूँकि रजत वहीं पर सो रहा था.

तो मैंने बाथरूम में रखी हुई क्रीम अपने लिंग और उसकी गांड के छेद पर मल कर एक बार फिर प्रयास किया.

फिर जब मैंने उसकी पेंटी एक तरफ हटा कर चूत पर हाथ रखा तो ऐसा लगा मेरा हाथ जल गया हो.

उधर मेरा लंड चूस चूस के उसका मुँह को दर्द होने लगा था, तो मैंने उसकी टाँगें चौड़ी करके लंड उसकी चुत में पेल दिया. मैंने उसकी जांघ पर हाथ फेर कर पूछा- रेडी हो?तो उसने सीना तानते हुए कहा- हां. मद्रासी ब्लू सेक्सीशाज़िया का बदन गोरा है तो चाचा ने आराम से दोनों हाथ के अंगूठों से उसकी चूत को खोला और चूत के अंदर का गुलाबी भाग दिखने लगा।चाचा ने आहिस्ता से अपनी जीभ गुलाबी चूत में घुसा दी। शाज़िया ने कस कर चाचा का सर अपनी चूत पर दबा दिया.

मैं अभी एकदम गर्म हूँ। अहाना को फिर से गर्म कर के तब डालना।” मैंने खुद आगे बढ़ कर मौका ले लिया।ठीक है. मैंने अपने दोस्त को कोल्ड ड्रिंक पिलाई और सिगरेट दिला के उसे मुस्कान के घर के पास गया. इसी तरह कुछ दिन बीत गए और हम दोनों काफी अच्छे दोस्त बन गए थे, तो मैं उससे डबल मीनिंग बात भी कर लेता तो वो मेरी बात को हंसी में उड़ा देती.

वो दीपक की थी, उसमें उसने उसकी चूत में अपना लंड डालते हुए की बात की थी. मगर मुझे पिंकी अब ज़्यादा चिंता थी कि कहीं वो किसी मुसीबत में ना फँस जाए.

मगर पता नहीं जब से उसने तुम्हें देखा है, उसका पूरा ही मन बदल गया है.

30 बजे ट्रेन वाराणसी में रूकी, तब केबिन के दरवाजे को किसी ने नॉक किया, मैंने दरवाजा खोला तो देखा कि एक हसीन मस्त औरत जिसकी उम्र लगभग 35-36 रही होगी, मेरे सामने खडी थी. फिर मैंने उसकी चूत में 2 उंगली भी डाल दी जिससे उसकी तड़प और बढ़ने लगी और अगले एक मिनट में उसकी चूत का पूरा पानी मेरे मुंह में आ गया।एक बार मेरा भी वीर्य निकल चुका था और उसका भी पानी निकल चुका था, दोनों थोड़ा थक गए थे तो मैंने उसे अपने ऊपर लेटा लिया और प्यार से बांहों में ले लिया। वो मेरे ऊपर ऐसे ही लेटी रही. मैंने उनको मुंह में डालने को कहा तो आंटी मेरे लंड को लोलीपोप की तरह अंदर बाहर करने लगी.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर मैंने भाभी को खड़ा किया और हग किया, तो भाभी शुरू हो गईं, भाभी बोलीं कि पहले तो मेरे को आप का लंड ही देखना है. मम्मी ने तो कहा- राम तो कल आया था, उसने तो ऐसी कुछ बात ही नहीं कही थी?मैंने गुस्सा दिखाकर कहा- ठीक है, उसने नहीं कहा तो मैं नहीं जाती.

मैंने उसके हिप्स को पकड़ा और अपने चेहरे को पैंटी से सटा डाला और उसे चूमने लगा. करीब बीस मिनट बाद उस आदमी ने अपना लौड़ा निकल लिया और मम्मी के मुँह में डाल दिया, मम्मी अब चूत मामा से मरवा रही थी और उस दूसरे आदमी का लौड़ा चूस रही थी. वरुण- मुझे भी नींद नहीं आ रही है, क्या हम बातें कर सकते हैं?सविता- हाँ, क्यों नहीं!वरुण- क्या आप मेरी दोस्त बनोगी?सविता- हाँ ठीक है!वरुण- और अगर मैं दोस्ती में कुछ आपको बोल दूँ तो प्लीज़ मुझे माफ़ कर देना, मैं अपने दोस्तों के साथ थोड़ा फ्रैंक हो जाता हूं.

देसी भाभी बीएफ सेक्सी

मैं सीमा को पहले ही चोद चुका था, आज फिर मेरी तमन्ना जाग उठी कि फिर से एक बार सीमा के साथ खेत में सेक्स का खेल खेलना है. फिर जैसे ही मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर रखा तो वो ऊपर तरफ खिसकने लगी. रेखा ने हँसते हुए कहा- मैंने भी इनसे यही कहा कि मेरी स्कूल में साथ पढ़ी एक सहेली है जो मेरठ में रहती है… उसको मिलना चाहती हूँ.

लेकिन नहीं… वो अपनी बेल्ट खोलने के बाद अपनी जीन्स भी उतारने लगी और देखते ही देखते उसने अपने बदन से सारे कपड़े उतार कर फेंक दिये और पूरी नंगी होकर फिर से सोफ़े पर बैठ गयी। मैं आँखें फाड़े उसके नंगे बदन को देखने लगा।वो सर से पैर तक क़यामत थी. आज की मेरी इस कहानी में मुख्य भूमिका मेरे घर की नौकरानी ने निभाई है क्योंकि उसी ने मुझे आज मुझे एक नया लंड दिलवाया था.

आख़िर वो मेरी दोस्त है, उसका अगर मैं ख्याल नहीं रखूँगी, तो कौन रखेगा.

अब मेरा दांया पैर बीवी के दोनों पैर के बीच में था और बाया पैर बीवी की दांई ओर कमर के बाजू रखकर बीवी की चुत चोदने लगा. लेकिन थोड़ी देर बाद जब मैंने हाथ नीचे करना चाहा तो उसने मेरा हाथ हटा दिया। मैं फिर थोड़ा झूठा गुस्सा दिखाकर उससे अलग हो गया. इन्हें सेक्स मटीरियल भरपूर बेरोकटोक उपलब्ध है और आज वे बड़े आराम से आपसी सहमति से सेक्स सम्बन्ध स्थापित कर लेते हैं.

मैंने दीदी का हाथ अपने लंड पे रखा, उन्होंने झटके से हटा लिया और आंखें खोल कर देखा- हाय, ऐसा होता है क्या आदमियों का? कितना अलग सा है ना. मैंने पूछा- क्यों मैं आपका क्या लगता हूं, जो मेरी इतनी चिंता हो रही है. थोड़ी देर बाद जब वो शांत हुई तो मैंने जोर जोर से उसकी चुत में लंड पेलना चालू किया.

तुमने तो कहा था कि मैं कुल्हाड़ी लेने जा रहा हूं और अन्दर आकर ये क्या गुल खिला रहे हो? कम से कम दरवाजा तो बंद कर लेते चाचा.

इंग्लिश में बीएफ सेक्सी पिक्चर: अपने दोनों हाथों से मैंने अपने दूध नोच डाले और शरीर की सारी मांसपेशियाँ अकड़ गयीं। ऐसा लगा जैसे कोई ठाठें मारता लावा किनारे तोड़ कर बह चला हो।दिमाग में इतनी गहरी सनसनाहट भर गयी कि दिमाग ही सुन्न हो गया. रूबी ने पलट कर मेरी ओर देखा, और मुस्कुराते हुए अपनी आँखों से अपनी पीठ की ओर इशारा किया.

वो शीतल की चूचियों का कोमलता का अहसास तो कर पा रहा था पर कुछ प्रतिक्रिया नहीं कर पा रहा था. अब मुझसे रहा नहीं गया मैंने उनके पीठ पर का अपना हाथ हटाकर उनके तने हुए लंड पर रख दिया. वह होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर रही है और हमारे यहां 3 महीने की ट्रेनिंग पर आई हुई है.

जिस दिन हमने वाघा बॉर्डर पर जाना था, उस दिन मेरी छोटी बहन अमनदीप कौर को बुखार आ गया और उसने अमृतसर जाने से मना कर दिया.

वरुण- माँ, कुछ और ड्रेसेस हैं, ट्राई कर लो, आज सारी शॉपिंग मेरी पसंद से करेंगे!सविता- ओके!मैंने ट्राई रूम से हाथ बहार निकाल कर वरुण से ब्रा पेंटी पकड़ ली!ब्रा पेंटी ट्रायल रूम में लेने के बाद माँ ने यानि मैंने मैसेज किया- ये मैं अपने आप ले लूंगी. उन्होंने सिर ऊपर करके मुझको देखते हुए बोला- तुम कुछ सुनने की हालत में थे भी?इस बात पे मैं चुप हो गया. मैंने कोमल के मुँह से लंड निकाला और शॉल पर ही अपना पूरा माल निकाल दिया.