पिक्चर बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,गाना वाला सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगि फिल्म सेक्सी: पिक्चर बीएफ दिखाओ, कुछ मिनट बाद उसने मॉम से पूछा- आंटी कैसा लगा?मॉम बोलीं- बड़ा सुकून मिल रहा है और ऐसे सुकून की तो तू कोई भी फीस मांगेगा, तो मैं दे दूँगी.

का चोपड़ा सेक्स

मैडम मेरे लंड को जोर-जोर चूस रही थी, मेरे हाथ मैडम के सर पर रखे थे. ब्लू वीडियो ब्लू विडियोअभी मैं बैठा ये सब होते देख ही रहा था कि दरवाजे पर फिर से घंटी बजी.

घर आकर मैंने किसी को कुछ नहीं कहा क्योंकि कहीं ना कहीं मैं भी शर्मा अंकल को पसंद करने लगी थी और उनकी इस हरकत पर मुझे किसी भी प्रकार का गुस्सा नहीं आ रहा था. www सीएनसीसी comमैंने कहा- क्यों तेरा पति तुझे चोदता नहीं है क्या?वो बोली- उसका लंड नर्सों की चूत में ही घुसा रहता है.

वो बोलीं- मेरी चूत में आग लग रही है, कब आ रहा है?मैंने कहा- यार मामी, अभी नहीं आ सकता हूँ.पिक्चर बीएफ दिखाओ: विक्रम ने मॉम के पैर फैला दिए और जांघ के अन्दर का हिस्सा दबाया, तो मॉम ने कहा- हां यहां भी है.

अगले ही दिन जब हम अपना सामान शिफ्ट करने के लिए ट्रक लोड करवा रहे थे, तभी अचानक से वरूण के पास कॉल आया.मैंने हंसते हुए कहा- अरी जानेमन तू नहीं समझेगी … सेक्स भी एक नशा होता है यार … जैसे शराबी शराब के लिए पागल रहता है, वैसे ही मेरी चूत लंड के लिए पागल रहती है साली.

एक्सxx com दो - पिक्चर बीएफ दिखाओ

उनका लंड 8 इंच का था, ये मेरे ब्वॉयफ्रेंड के लंड से बहुत बड़ा लंड था.मैं- हां बेबी, मैंने तुम्हारी पैंट उतार दी है और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में हूं.

इससे मेरे तनबदन में जोश सा भर गया और मैंने भाभी को अपनी ओर घुमा लिया. पिक्चर बीएफ दिखाओ आंटी मेरे लंड के ऊपर जोरों से उछलने लगीं और मैं भी नीचे से धक्के लगाने लगा.

थोड़ी कोशिश करने के बाद लंड अन्दर घुस गया और दोनों आगे पीछे से एक साथ उसको चोदने लगे.

पिक्चर बीएफ दिखाओ?

अब मैंने उसकी चूत देखी और क्या बताऊं दोस्तो … मैं बस उसे ही देखता रह गया. मैंने वैसलीन की डिब्बी से थोड़ी सी वैसलीन निकाल कर लंड के ऊपरी भाग में लगाई और धीरे धीरे अपने लंड को सहलाने लगा. लगभग बीस मिनट तक मैंने सुरभि की गांड मारी और अपना वीर्य सुरभि की गांड में छोड़ दिया.

तो मैंने ज्योति को चूतड़ों से पकड़ा और अपने लंड से उठा कर रोहित के लंड पर बिठा दिया. मैंने उनकी उनकी गोल और नर्म गांड को अपने हाथों से दबाना शुरू कर दिया. उन दिनों सर्दियों का मौसम चल रहा था और हम दोनों एक ही बेड पर पास पास सोते थे.

मैं उसे पहले से छोड़ता था पर लॉकडाउन की वजह से हम चुदाई नहीं कर पा रहे थे. फिर भी सब आस-पास ही रहते थे और सबका एक दूसरे के यहाँ आना जाना भी था. ऐसा कहती हुई वो सर से खुद के बारे में पूछने लगी और कुछ देर बाद चली गई.

भाभी की आंखों में एक बार देखा तो वासना से भरी नशीली आंखों ने मुझे इशारा दे दिया. जब सीखने वाले/वाली बिना कंडोम/डेंटल डॅम के लंड/ चूत चूसने की कोशिश करते, तो परीक्षक उनको रोकते.

बाहर मेरे देवर, सास ससुर और सारे रिश्तेदार सब मुझे मुस्कुरा कर देख रहे थे.

कुर्ते में आगे की ओर से चाची के बड़े-बड़े मम्मे उछल रहे थे और पीछे की ओर चाची की मोटी गांड मटक रही थी.

चूत की क्लिट पर सुपारा रगड़ने से उसकी आहों की गहराई और आवाज भी बढ़ रही थी. मैं- भाभी में आपके लिए इतना कुछ कर रहा हूँ, तो आप मेरे लिए कुछ नहीं करेंगी?भाभी- बोलकर तो देख राजा, तेरे लिए तो मेरी जान हाज़िर है मेरे राजा. मैं- अभी से!दीदी- तीन बज गए हैं घोंचू, टाइम देख ज़रा!हम तीनों बाहर हॉल में आ गए.

डॉक्टरी भाषा में ये निम्फ़ोमैनियाक नामक स्थिति होती है, जिसमें एक महिला को लगातार चुदाई करवाने का मन करता है. फिर हम नए कपड़े पहन कर तैयार हो गए और होटल से करीब 2:00 बजे को निकल गए. यह मेरी पहली और एकदम सच्ची प्यासी भाभी पोर्न कहानी है जो मेरी जिंदगी में बीती थी.

मैंने उन्हें हग किया और प्रॉमिस किया कि कभी किसी को पता नहीं चलेगा और ये दुबारा भी नहीं होगा.

फिर जब मैं फ्रेश होने गया, तो फिर मुझे वही देसी पोर्न फिल्में याद आ गईं. साथ ही उसने ये भी कह दिया- अगर हमारा ब्रेकअप ना हुआ होता तो आज हमारी सुहागरात हो रही होती!तो मैंने भी मस्ती में कह दिया- सुहागरात के लिए शादी होना जरूरी है क्या?जिसके रिप्लाई में उसने हंसने वाला इमोजी भेज दिया. वे जब झाड़ू लगाती थी तो पूरी नंगी होकर! मैं लेटकर दरवाज़े के नीचे से देखता था.

विश्वेश्वर जी बोले- पूरी रंडियों वाली प्रकृति है इस अरुणिमा की … लेकिन ताज़ा बदन है … तो चोदने में मज़ा बहुत आया. कॉलेज जाने का कह कर मैं निकली और भाई अपनी जॉब पर जाने की कह कर निकल गया. कुछ देर बाद भाभी भी पूरी तरह साथ देने लगी थीं; उनकी दोनों टांगें हवा में उठ गई थीं.

दस मिनट किस करने के बाद मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा और टॉप के ऊपर से ही उसके चुचे दबाने लगा.

फिर हम दोनों ने कई बार होटल में चुदाई की लेकिन इससे वंदना का बहुत पैसा खर्च हो रहा था. फिर सोम ने मेरी गांड में दो उंगलियां डालीं, तो मुझे थोड़ा दर्द हुआ.

पिक्चर बीएफ दिखाओ गांड ढीली करने के लिए लड़की को खुद की उंगली गांड में चलाना चाहिए, ताकि मर्द को लंड पेलने में आसानी हो और गांड मरवाते समय लड़की को भी मजा आए. परंतु वरूण ने बहुत टाइम लगाने के बाद हां की क्योंकि उसका मन म्यूजियम जाने को था.

पिक्चर बीएफ दिखाओ उन्होंने मुझे चुदाई की पोजीशन में सैट किया और अपना लंड डालने को कोशिश करने लगे. मैंने ध्यान दिया कि मैंने तो पेज बंद कर दिया था, फिर ये कैसे खुल गया.

विश्वेश्वर जी ने शमशुद्दीन जी से कहा- चेहरा पकड़ इसका … और लंड मुँह में अन्दर तक ठेल दे, मुझे दिक्कत नहीं होना चाहिए.

मारवाड़ी सेक्स वीडियो सेक्सी

वह इतनी गर्म हो गई और बोली- मालिक अब रहा नहीं जाता!फिर मैंने अपने लन्ड का सुपारा थोड़ा सा उसकी चूत में घुसा दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं कबीर अग्रवाल, एक बार फिर से आप सभी का अपनी चुदाई कहानी में स्वागत करता हूँ. भाभी की फिगर की बात कहूँ तो उनका 38-32-40 का मदमस्त बदन देख कर किसी का भी सोता हुआ लंड तुरंत खड़ा हो जाएगा.

उधर सिमरन शिकायत करने के बावजूद अपनी गांड उठा-उठा कर धक्के लगवा रही थी और लौड़े के धक्कों को पूरा अन्दर तक ले रही थी. मैंने अपने दोनों हाथों को उसकी पीठ पर ले जाकर उसे इस तरह से कस लिया कि वो बिल्कुल मेरे सीने पर चिपक गई. मेरे बार-बार वंदना के घर जाने से वंदना के मोहल्ले के लड़कों को हम दोनों के ऊपर शक होने लगा था क्योंकि मैं जब भी वंदना के घर जाता था, तो उसके मोहल्ले के लड़के मुझे बेहद शक की नजरों से देखने लगे थे कि वंदना और मेरे बीच में क्या रिश्ता है.

अगले ही दिन जब हम अपना सामान शिफ्ट करने के लिए ट्रक लोड करवा रहे थे, तभी अचानक से वरूण के पास कॉल आया.

कुछ समय बाद जब मेरी चूत ज्यादा गीली हो गई, तब उसने मेरे कान में कहा- थोड़ा दर्द सहना मेरी जान … उसके बाद मजा ही मजा आएगा. अब पापा ने मम्मी की पैंटी को भी निकाल दिया और वो मम्मी की चूत को हाथ से सहलाने लगे. वो मेरी चूत पर हाथ फेरने में लगे हुए थे और मेरे मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं.

मैं फटाफट तैयार होकर चाची के घर निकल गया और जाकर दरवाजा खटखटाया तो चाची ने दरवाजा खोल दिया. मैनेजर शिखा से बोला- हां जी मैडम, सामने की साईड में एक कमरा है, वहां शान्ति रहती है. चूत की क्लिट पर सुपारा रगड़ने से उसकी आहों की गहराई और आवाज भी बढ़ रही थी.

ट्रेनर ने छत से लटकती रस्सी उनके गले के बेल्ट में बांध दी और हाथ पीछे करके बांध दिए. स्वाति मुस्कुरा कर बोली- तुम ठीक से दरवाजा बंद नहीं कर सकते थे?मैं बोला- मैंने दरवाजे की कुंडी लगाई थी, शायद कुंडी ठीक से बंद नहीं हुई होगी.

भाभी ने मेरे लंड को अपनी चूत के दाने पर टिकाया और उसे धीरे धीरे अन्दर लेना शुरू कर दिया. Xx फ्रेंड सेक्स कहानी कॉलेज में दोस्त बनी लड़की के साथ आठ साल बाद भी आधे अधूरे सेक्स की है. स्वाति ब्लू कलर की साड़ी में थी और उसके खुले कोट से उसकी नाभि दिख रही थी.

उस पर दर्द साफ झलक रहा था और इधर मेरे लंड में कसी हुई चूत की जकड़न के कारण दर्द हो रहा था.

अब होती है असल जिंदगी की शुरुआत, जब लॉकडाउन खुला ही था तो काफी महीनों बाद मेरा जयपुर जाना हुआ. मुझे उन पर हंसी आ रही थी और अन्दर से चार लौड़ों से चुदने की उत्तेजना भी भरती जा रही थी. जब भाभी पीहर जातीं तो हम दोनों फ़ोन पर ही नंगे होकर वीडियो चैट करते थे.

मैं समझ गया कि दीदी की गांड को मारने में कोई समस्या नहीं होगी क्योंकि दीदी अपनी गांड की सेवा करवाती हुई लग रही थीं. बाद में एक बार फिर से पापा मम्मी की मिशनरी पोजीशन में धमाकेदार चुदाई होने लगी.

थोड़ी देर के बाद हम दोनों उठे और फिर मैं अपने कपड़े पहनकर बाहर आ गया. हम दोनों का शरीर दर्द कर रहा था इसलिए पानी से खूब अपने शरीर को आराम दिया. इस तरह से भाभी धीरे-धीरे गर्म हो चुकी थीं … साथ में मेरा लंड भी अब पूरा तन्ना कर छह इंच का हो गया था.

देसी सेक्सी बीएफ फुल एचडी

उसने मेरी तरफ़ देखा और हल्की मुस्कान के साथ बोली- आप जैसा बोलेंगे मैं वैसा करूंगी लेकिन कभी भी हमारे संबंध के बारे में किसी को भी पता नहीं चलना चाहिए.

लंड क्या घुसा … मेरी सारी जवानी निचुड़ गई और मेरी चूत में इतनी जोर से दर्द हुआ कि मैं छटपटा कर राजेश के आगे से हटने की कोशिश करने लगी. इसके बाद मैंने जल्दी से आंटी की चूत में लंड घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा. पायल मेरी गोद में थी और अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर से लपेटी हुई मचल रही थी.

मैंने आंटी से पूछ लिया तो आंटी ने मुझे बताया कि सभी रिश्तेदार व मेहमान धर्मशाला में ही ठहरे हुए हैं क्योंकि पूरी शादी के सभी कार्यक्रम धर्मशाला में ही होने हैं. चाची बोलीं- ठीक है आप मेरे साथ आओगे ना … वर्ना मैं किसके साथ जाऊंगी?चाचा बोले- हां मैं तुम्हारे साथ आ जाऊंगा. पाकिस्तान में हिंदू कितने हैंआप मुझे मेल करें कि यह नो कंडोम सेक्स कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected].

ऐसा क्यों?अशोक हैरान है!सविता भाभी एपिसोड 15 वीडियो रूप में देख कर पता लगायें कि उन लोगों ने पैसे क्यों नहीं लिए!आपको यह ट्रेलर अवश्य पसंद आया होगा. उसी समय कोमल ने नीतू के एक मम्मे को दबाते हुए उसके सर को आगे कर दिया.

देसी गांड की खेत में चुदाई का मौक़ा मिला मुझे अपने खेत में! एक लड़की हमारे पेड़ से आम तोड़ते पकड़ लिया। उसने इसकी कीमत अपनी चूत से चुकाई, कैसे?!–more–दोस्तो, मेरा नाम राजेश है। मैं खेडा (नाडियाड) का रहने वाला हूं।मेरी उम्र 22 साल है। मैं दिखने में भी अच्छा हूं।मेरे लंड का साइज 7. मुझे छोटे साइज़ के लंड से मज़ा नहीं आता है, कम से कम लंड 5 इंच से ज्यादा होना ही चाहिए. हॉट बहन की वासना इतनी बढ़ गयी कि वो अपने भाई से सेक्स करने की बातें सोचने लगी.

अपनी बहन की चूत में लंड पेले हुए ही उसे किस करने लगा और चूचे दबाने लगा. चाची ने कुछ पल तक अपने दोनों हाथों से मेरे लंड को आगे पीछे करना चालू रखा. वहां कॉलेज में पढ़ने वाले दो लड़के थे जो जुड़वां भाई हैं।हम सब जानते हैं कि हमारी सविता भाभी को नए नए लोगों से खासकर जवान लड़कों से दोस्ती पसंद है.

कुछ देर बाद स्वाति नंगी उठकर अल्मारी से दारू की बोतल और सिगरेट उठा लाई.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद वो बोली- चल अब डाल दे इसे मेरी चूत में!अभी इतनी जल्दी भी क्या है?” कह कर मैंने उसे गोद में उठाया और बेड पर डाल दिया और उसकी चूत को चाटने लग गया. आर्ट ऑफ़ सेक्स प्लेज़र सीखी मैंने एक आंटी के सेक्स कोचिंग सेंटर में! एक महीने की ट्रेनिंग में हमें क्लाइंट को मजा देने के तरीके सिखाये गए.

पहले मैं यह बता दूं कि मैं 6 फीट का हूं और मेरा लंड भी 6 इंच का है. उन्हीं लोगों में चार बहुत ही प्रभावशाली लोग मेरे परम मित्र बन गए थे. मेरी बहन की गांड देख कर मेरा मन करता था कि मैं उसकी में मुँह लगा कर उसका रस पी जाऊं; अपनी जीभ गांड के छेद में अन्दर तक पेल दूँ और उसका मजा ले लूं.

कुछ देर उसकी चूत मेरे मुंह में रस छोड़ने के बाद नार्मल हुई तो हमने उसे छोड़ दिया।ज्योति उठ कर बैठ गयी. वो बोली- साले, आज क्यों ना तू मुझे मार डाल लेकिन आज मुझे पूरी ताकत से चोदेगा … समझ गया. नीतू उठ गई और बोली- ताना मत दीजिए भाभीजी, मैं क्या करूं मेरा शरीर ही ऐसा है, तो इसमें मेरी क्या गलती है!कोमल- कोई बात नहीं ननद रानी … सब ठीक हो जाएगा.

पिक्चर बीएफ दिखाओ इससे वो और ज्यादा तेज़ सांस लेने लगी और ‘आन्ह … या … ओह्ह ह’ ऐसी आवाजें निकालने लगी।फिर मैंने उसको गोदी में उठाया और बाथरूम से ले जाते हुए बैड पर पटक दिया. अब तो ऐसा लगने लगा था कि संगीता भाभी मुझसे कुछ ज्यादा उम्मीद लगा कर बैठी थीं.

हिंदी ब्लू पिक्चर बफ

फिर वो अपने हाथ से मेरा लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगी मेरे चेहरे को देखते हुए!दोस्तो, मुझे उस समय ऐसा लग रहा था कि मानो आज ज़ाफ़रा मेरी जान ही ले लेगी. मैं मजा तो ले रही थी मगर उनके पहलवानी हाथों से मुझे दर्द हो रहा था. एक बार आपकी इजाज़त से देखना चाहता हूं।मैं एक सांस में बोलता चला गया- मैं आपकी ब्रा और पैंटी के सहारे काम चला रहा हूं।वो एकदम कामुक आवाज में बोलीं- पता है मुझे!लोग सच कहते हैं कि अलमारी में खज़ाना होता है.

मैं- हां बेबी, मैंने तुम्हारी पैंट उतार दी है और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में हूं. मुझे क्या मालूम था कि मेरा ये हंसना उसके लिए एक छूट साबित हो जाएगी. सेक्सी टाइमपासमोमबत्ती जला कर मैं फिर से स्वीच बोर्ड पर गया और सिर्फ मेन को आन किया.

अब चाचा मुझसे बोले- क्यों परिमल जाओगे ना चाची के साथ?मैं तो अन्दर ही अन्दर खुश हो रहा था और चाचा को दिखाने के लिए सोचने लगा.

मैं नहा कर बाहर आया तो मेरा खड़ा लंड देखकर चाची बोलीं- अरे रे रे फिर से जग गया हमारा शोना … इसे सुला दो … वर्ना मैं फिर से शुरू हो जाऊंगी. मैंने भाभी से कहा- जान, एक बार फिर से मेरी कुतिया बनो न!वो बोलीं- ठीक है, तुम कुत्ता बन जाओ, मैं तो तुम्हारी कुतिया हूँ ही.

एक-एक करके उन वेटरों से मैंने सामने की तरफ वाले कमरे में आने का इशारा कर दिया. अब जब भी मैं उसे चाय देने उसके रूम में जाती तो देखती कि उसका लंड अक्सर खड़ा रहता था जो मुझे साफ साफ उसके अंडरवियर में उभरा हुआ दिखाई देता था. मैंने उनकी दोनों टांगें उठा कर अपने कंधों पर रख लीं और लंड को चूत पर सैट करके एक ही बार में तेज झटके से पूरा लंड चूत में डाल दिया.

जब वो मुझे देखने आए तो मैं सोच रही थी कि ये पहलवान जब मेरे ऊपर चढ़ेगा, तो मेरी तो चटनी बंट जाएगी.

अभी मेरा लंड पूरी तरीके से अन्दर नहीं गया था कि मेन गेट पर किसी के आने की आहट होने लगी. उन्होंने मुझे आवाज लगाई- प्रियांश, मम्मी कहां हैं?मैंने लंड अन्दर करते हुए कहा- भाभी, मम्मी मार्केट गई हैं. जिससे मुझे हल्का सा दर्द तो हो रहा था लेकिन मजा भी बहुत आ रहा था।ऐसा करते करते अंकल ने एक हाथ से मेरी जींस का बटन खोला और मेरी जींस को नीचे कर दिया और मेरी जींस को निकालकर एक साइड रख दिया.

चूत में लंड कैसे घुसाफिर जैसे ही लंड सैट हुआ, मैंने पूरा लौड़ा एक धक्के में गांड में पेल दिया. मैंने अपनी वो उंगली भाभी की गांड में अन्दर बाहर करनी शुरू कर दी और चूत को चाटता रहा.

सेक्सी फिल्म हिंदी वीडियो बीएफ

मैंने उनकी साड़ी को ऊपर करना चालू कर दिया, जो कि पहले से आधी उठी हुई थी. करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने लंड निकाल कर भाभी के आगे लाकर कहा- अब इसको मुँह में डाल कर चूसो. वो मादक सिसकारियां भरने लगी थीं- आह विकास अब चोदो मुझे … मेरी चूत की आग को ठंडी कर दो.

अब मैं वैसे ही रुका रहा और उसे किस करता रहा, उसके बूब्स सहलाता रहा. वैसे भी शर्मा अंकल कई बार मुझे एक लड़की और कई लड़कों की चुदाई वाली गैंगबैंग ब्लू फिल्म दिखा चुके थे. वो बोली- तुम किसी को बोलोगे तो नहीं!मैंने कहा- कभी नहीं कामिनी … ये भी कोई बोलने वाली बात है?कामिनी ने मुझे देखा और आंख मार दी, तो मैं उस पर टूट पड़ा.

उनके साथ जाकर मैंने सारे कमरों में देखा कि किस कमरे की लाईट नहीं जल रही है. Xx फ्रेंड सेक्स कहानी कॉलेज में दोस्त बनी लड़की के साथ आठ साल बाद भी आधे अधूरे सेक्स की है. आधा घंटा बाद हर लड़के के पास दो पुरुष परीक्षक और हर लड़की के पास दो स्त्री परीक्षक पहुंचे.

किशन- भैया, मेरी गांड में बहुत दर्द हो रहा है लेकिन आपका लंड लेने में बहुत मजा आया. हम अपने आप को साफ़ करके वापिस बैड पर आ गये और हम तीनों कपड़े पहन लिए।हमारी चुदाई का एक राउंड पूरा हो चुका था, हमने टाइम देखा तो 8 बज रहे थे, यानि लगातार 2 घंटे से हम तीनों की चुदाई चल रही थी.

इस बात से मैं काफी खुश हुआ कि वह भी मेरे लिंग की प्रशंसा कर रही थी.

मैंने ननद की ओर देखा और मैं कुछ बोलती, उससे पहले वो बोली- देखो भाभी मेरे भैया का लंड कितना बड़ा है? और जानती हो … ये ना बहुत मस्त चुदाई करते हैं. बीपी पिचरमैंने भाभी को मज़ाक में बोल दिया कि आपको इसलिए पहले बताना था, ताकि मैं पहले ही आपको अपनी बीवी बना लेता. मुसलमानी कहानीगांड मारने में सबसे ज्यादा मजा आता है क्योंकि गांड के अन्दर की चमड़ी जैसे हमारे लंड को मुट्ठी में भर रही हो, ऐसा लगता है. दो दिन बाद शाम को ठीक आठ बजे चारों मेरे घर पधारे, साथ में वो अरुणिमा के लिए महंगे तोहफे लेकर आए थे.

आपको मेरी हॉट चाची Xxx सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल पर जरूर बतायें![emailprotected].

मैंने मना किया लेकिन वो नहीं मानाइस बार उन्होंने मुझे पलंग पर घोड़ी बनाया और पीछे से मेरा चूत में लंड डाल दिया. उसे देख पीछे-पीछे इमरान और प्रकाश भी अपने कपड़े खोलकर हौद में कूद गए. करीब दो घंटे बाद चाची का फोन आया तो मैंने उन्हें अपने रूम पर आने को बोला.

जैसे तैसे कराहते चिहुंकते एक दो मिनट में लंड गांड के अन्दर समा गया. वहां क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो, मैं रोनित एक बार फिर से सामने अपने दोस्त की मम्मी की चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. ऑफिस में सिर्फ़ लड़की है, वो भी शादीशुदा भाभी नहीं है … और हमारे यहां बिल्डिंग में भी कहां कोई ऐसी भाभी है, जो मुझे मजा दे सके.

क्सक्सक्स वब

मैं भी उसके पास बैठा था, वो अपने बिखरे हुए बालों को पीछे करके बाँध रही थी।कुछ देर बाद मैंने ज्योति को बैड के किनारे पर गांड रख कर लेटने को कहा. चूत का खट्टा कसैला स्वाद और लड़की का अपने पैरों से मेरे सर को दबाना. उसने मुझे अपने ऊपर लिटा लिया और मेरी पीठ सहलाते हुए बोला- अभी इतनी जल्दी क्या है तुमको? आज तो स्कूल भी नहीं जाना है.

मैंने देखा कि पायल ने लाल साड़ी पहन रखी थी, जो उसके बदन पर एकदम टाईट पहनी हुई थी.

भाई ने कहा- क्या बात है?मैंने कहा- मैं पहली बार सेक्स करूंगी तो मेरी चूत में दर्द होगा.

वह इतनी गर्म हो गई और बोली- मालिक अब रहा नहीं जाता!फिर मैंने अपने लन्ड का सुपारा थोड़ा सा उसकी चूत में घुसा दिया. फिर हम दोनों नंगे ही कमरे में आ गए और बिस्तर के नीचे जमीन पर दरी बिछा कर लेट गए. अन्तर वासनामेरी चूत के अन्दर भी हल्की सुरसुराहट होने लगी, एक अजीब सी सिहरन और मज़ा भी आने लगा था.

मेरी साली सुप्रिया पूरे 7 दिन तक मेरी बीवी की सेवा करने के लिए मेरे घर रुकी रही और मैंने उन सात दिनों तक अपनी साली की चूत को चोद चोद कर भोसड़ा बना दिया. फिर अगले दिन मेरे पिताजी का जन्मदिन था तो शाम को हमने एक छोटी सी पार्टी जैसी रखी. शर्मा अंकल के साले राजेश और उसके तीन दोस्त राजेंद्र, प्रकाश और इमरान मुझे अपना परिचय देते हुए मेरे साथ बात करने लगे थे.

मैंने चिकनाई के लिए एक तेल की शीशी ले ली थीहम दोनों ने अपने लिए खाना भी एक होटल से पैक करवा लिया और सब सामान लेकर लॉज में आ गए. मुझे तो वैसे भी नींद नहीं आ रही थी और मैं बार-बार चाची की तरफ ही देख रहा था और सोच रहा था कि किस तरह से मैं चाची के साथ सेक्स करूँ?वैसे तो मैं उनसे अपनी सारी बातें शेयर करता था लेकिन मैं उनसे सेक्स के बारे में कैसे बात करता?अब उन्हें सामने देखकर में खुद पर कंट्रोल भी नहीं कर पा रहा था.

तो जो नज़ारा मेरे सामने था वो देखकर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने स्पोर्ट्स ब्रा के ऊपर से ही दूध बाहर निकाल लिए और मसलने लगा.

मेरे लंड पर अभी भी माल लगा हुआ था, तो कोमल ने जीभ से चाट कर लंड साफ कर दिया और जो माल नीतू के मुँह पर लगा था, उसको भी चाट लिया. यहां से सीखे लड़के, लड़कियां जो अपना काम अच्छे से कर रहे हैं, तुम्हारी परीक्षा लेंगे. मेरे सामने भाभी की भरी हुई एकदम दूध सी सफ़ेद जांघें थीं और उन संगमरमर सी चिकनी जांघों में लाल पैंटी फंसी देख कर मेरे मुँह में पानी भी आने लगा था.

खिड़की ग्रिल उसे मालूम था कि एक बार गांड मरवाने का मज़ा आने के कुछ दिनों बाद ही मेरी गांड फिर से लंड के लिए खुजलाने लगेगी. फिर उसने मुझसे मेरी उम्र पूछी और मैंने उससे उसकी!उसकी उम्र 21 साल थी.

आंटी कामुक सिसकारियां लेने लगीं- आअह हाऊम्म उफ फ्फ़ मार डालेगी डार्लिंग बेबी … कम ऑन फक मी. मैं भी जानता था कि जो लड़की दो दिन पहले 55-60 साल के बुड्डे के साथ चुदने आई थी और चुद कर गयी थी. एक परीक्षक लेट गया, लड़कों को उनका लंड गांड में डाल कर बैठा दिया गया.

बॉलीवुड हीरोइन के बीएफ वीडियो

उसके बाद मैंने अपने सारे काम अपने दूसरे साथी को दे दिए और आवश्यक काम के लिए दो दिन के लिए सूरत जा रहा हूँ, बॉस से ऐसा कह कर ऑफिस से निकल गया. थोड़ी देर बाद चाची ने मुझे अपने ऊपर से साइड में किया और अपने कपड़े सीधे करके चलने लगीं. आप मेरे साथ बने रहिए और इस हॉट वाइफ हार्ड सेक्स कहानी पर किसी भी प्रकार की राय देने के लिए आप मेल पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

मैं गाज़ियाबाद जिले का रहने वाला लड़का हूँ और दिल्ली के एक कॉलेज का छात्र हूँ. गांड मारने के बाद उसने एक बार फिर से अपने लंड का सारा पानी मेरी गांड में छोड़ दिया.

फिर बातों बातों में मैंने अपनी पैंट खोल दी और उसे मेरा लंड पकड़ा दिया.

उसकी इस झीनी सी नाइटी में से उसके आधे से ज्यादा दूध साफ़ दिखाई दे रहे थे. कभी मैं उसके बूब्स को दबाता तो कभी उसकी मुलायम गांड को!जिसकी वजह से वो मछली की तरह मेरे हाथ से फिसलने लगती और में किसी भूखे शेर की तरह उसको अपना शिकार समझ कर जोर से यानि कस के पकड़ लेता. उसकी बहुत ही मुलायम और गुलाबी चूत चाटने में जो मजा आ रहा था, शायद ये मजा हम दोनों के लिए पहली बार था.

गुरबचन जी बोले- तो ऐसा बोल न भड़वे कि अन्दर शमशुद्दीन तेरी रंडी बीवी को चोद रहा है. प्रिया भाभी मेरे तने हुए लंड को देखकर उस पर टूट पड़ीं और लंड को ऐसे चूसने लगीं जैसे कोई लॉलीपॉप चूस रही हों. और वो चिल्ला पड़ी- ये क्या किया? पागल है क्या? अंदर नहीं छोड़ना था, अब पिल खानी पड़ेगी.

कोमल तुम गांड चुदाई के लिए क्रीम और 2 इंच मोटा वाला डिल्डो ले आ जाओ.

पिक्चर बीएफ दिखाओ: उस रात मैंने अपनी साली की चूचियों को जी भरके चूसा और उसने मेरे लंड को बार बार चूस कर खड़ा किया. मेरे दिमाग में आया कि अधिक देर होने के कारण कहीं पत्नी इधर ही न आ जाए.

हॉट लेडी मैरिड सेक्स कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मैंने एक भाभी की मदद की. उस वक्त मेरा गला बिल्कुल सीधा था इसलिए पूरा लंड मेरे गले के अंदर जा रहा था. रूम में जाने के बाद हम दोनों ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए और बेड पर लेट गए.

इतने में मेरी काली रंग की ब्रा का हुक भी खुल गया और ब्रा एक झटके में ही मेरे बदन से अलग हो गई.

उसका कड़क लंड देखने में लग रहा था कि आज चूत में घुसेगा तो सीधा पेट में जाएगा. मैं कराहती हुई बोली- अब तुम चारों अपने हाथों से अपने लंड के माल से मेरे शरीर को नहलाओ. इतने में मामी के फोन पर मामा का फोन आया, उन्होंने कहा- आज खेत पर नहीं रुकूँगा.