चूत चुदाई बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बीएफ भेजिए तो वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

भावेश खाट डाउनलोड: चूत चुदाई बीएफ फिल्म, चाची मना करने लगीं- ये क्या कर रहा है तू … कपड़े उतारने की बात थी पकड़ने की बात कहां थी.

चूड़ी वाला बीएफ

जिधर भी महफ़िल जमती उधर बातें करने के बाद नेहा और मैं बहुत देर तक चूमाचाटी करते. बीएफ देना हिंदी बीएफमैंने दूसरी पैंटी उन्हें पहनाई ही नहीं।देख लो अच्छे से … फिर से नहीं देखने दूँगी!” वो बोली.

अपनी सगी बहेन की चुचियां मसलते हुए मैं अपने हाथ को उसके पेट पर फेरते हुए नीचे ले गया. सेक्सी बीएफ खुला खुलाहमारी आवाजें निकलने लगीं- आह आह्हम्म ओह्म्म आह्म्म आह्म्म ह्म्म आहम्म मम्म.

सास ससुर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि शादी के कुछ समय बाद मेरे पति ड्यूटी पर चले गए और मैं चुदाई के लिए तरस गयी.चूत चुदाई बीएफ फिल्म: मैं- फिर!नेहा- फिर एक ही बिस्तर पर जॉन ने मुझे रगड़ा और वीर सीमा को चोदता रहा.

सनी ने उसकी आंखों में देखते हुए अपने लंड को जैसे ही पीछे की ओर खींचा, तो ऋतु की चूत भी खिंचती चली गई.मैंने उसको घुमा दिया और उसकी मोटी चूची अपने मुँह में भरके चूसने लगा.

बीएफ चुदाई वाली ब्लू - चूत चुदाई बीएफ फिल्म

अंजू कसमसा कर दूर होने लगी पर पीछे अलमारी और मेरी मजबूत पकड़ से वो हिल भी नहीं पाई.जीजू ने मुझे किस करके मेरे मम्मों को खूब तेज दबा कर छोड़ दिया और चले गए.

मीना की मीठी कराहें और मेरे मुख से निकलती ‘हम्म हम्म …’ की आवाज एक कामुक और नई दुनिया का अहसास करा रही थी. चूत चुदाई बीएफ फिल्म वो उधर अपनी चुत को साफ करने लगीं, इधर मेरा लंड मेरी पैंट को फाड़कर बाहर आने लगा था.

मामी भी पूरी गर्म हो गयी थीं और मामा की जीभ चूस रही थीं- आह आह और खींचो इन्हें … ओह्ह ओह आह.

चूत चुदाई बीएफ फिल्म?

छत पर उन्होंने गेहूँ सुखाने के लिए डाला हुआ था, तो उसी को समेटने के लिए आंटी छत पर आई थीं. धीरे धीरे चूत का कसाव कुछ कम हुआ और लंड बाहर आने लगा, तो चूत के होंठ भी उसके साथ ही खिंचते चले आए, इतनी टाईट चूत थी ऋतु की. हर धक्का पहले धक्के से तेज पड़ रहा था, जिससे उसका चुदाई का मजा बढ़ता जा रहा था.

तभी भैया ने अपने दोनों हाथ मेरे मम्मों पर लगा दिए और कस कसके मसलने लगे. हुआ कुछ यूं कि गांव में अब्बू के दोस्त फहीम की बीवी की तबियत खराब हो गयी. मैं यह सब देख कर अपने आपको रोक नहीं पा रहा था … पर कर भी क्या सकता था.

क्योंकि हमारे शोर से किसी को यहां परेशानी नहीं होती थी, ना ही हमको कोई परेशान करता था. सनी और ऋतु दोनों इस जोरदार चुदाई के बाद एक दूसरे की बांहों में पड़े हुए थे. मैं उससे बोली- तुम किस बारे बात कर रहे हो … मैं तो तुम्हें जानती तक नहीं हूँ.

चिराग मुझे देख कर बोला- अरे तुम आई हो … आ जा!उसने मुझे खींच कर अपने ऊपर ले लिया. उस दिन मेरी जान निकल गई थी, कितना ज्यादा दर्द हुआ था, तुझे तो सब पता है ना … चीख निकलवा दी थी तूने मेरी.

मनोज भी अपने सब कपड़े उतार कर नंगा हो गया और मुझे घुटने के बल बैठा कर लंड चुसवाने लगा.

पता नहीं मुझे जीजू के अलावा किसी और का लंड मिलेगा या नहीं!मेरी डबल सेक्स की कहानी अच्छी लगी या नहीं … कमेंट करना भूलना मत ओर प्लीज गलत या गंदे कमेंट मत करना.

मैं उन्हें बिस्तर पर ले गया और लेट कर बोला- तेल मत लगाओ, आप मेरा लंड चूस दो. मीना ने अकबका कर मुँह हटा लिया- क्या करता है आशु … पूरा मुँह में घुसाएगा क्या!मैं- अरे मैंने जानबूझ कर थोड़े किया, वो तो अपने आप मेरे चूतड़ उछल गए. एकदम से किस कर देने से मेरी चाची गुस्सा हो गईं और उन्होंने मुझे एक थप्पड़ मार दिया.

मम्मी की चूचियां और गांड इतनी हॉट हैं कि कोई भी उनको देख कर मुठ मारे बिना नहीं रह सकता है. भाभी की मादक आवाजें आने लगीं तो मैं पूरी ताकत से पिल पड़ा और उनको चोदता रहा. मैं बोला- दीदी, मैं मालिश कर दूंगा तो शायद आपको आराम मिल जाए!ठीक है पेन रिलीफ जेल ले आओ और मालिश कर दो!”मैंने मन में सोचा कि अगर जेल से मालिश की तो मालिश 5 मिनट में ही खत्म हो जाएगी.

मैंने उंगली घी में भरकर मामी की गांड के सुराख पर रख दी और धीरे-धीरे उसमें घुसाने लगा.

दस मिनट तक ये चला, उसके बाद अब्बू ने लंड चूत पर रखा और एक ही झटके में पूरा अन्दर कर दिया. लेकिन चौथे दिन बाबूजी मुझसे बोले- अञ्जलि, तुम वो गाउन नहीं पहनती हो क्या?बाबूजी, रात को पहनती हूँ!”बहू, तुम जो ड्रेस पहनती हो, वो मुझे दिखाती हो. जाने कितनी बार इस दृश्य की खुद पर कल्पना की थी मैंने जो आज हकीकत में बदल रही थी और मैं आंख बंद करके उस हकीकत की गजबनाक लज्जत को महसूस कर रही थी।दस मिनट से ऊपर ही उसने लगातार इसी पोजीशन में धक्के लगाये होंगे और तब उसका पारा चरम पर पहुंचा.

फिर चाची बोलीं- तुझे मेरा दूध पसंद आया था न … चल अब सीधे मुँह लगा कर दूध पी ले. सभी लोग डर डर कर एक दूसरे से मिल रहे थे और अमीर लोग सबसे ज्यादा डरे हुए थे. तब मैंने उसकी नाइटी और पैंटी को उतार दिया और उसे 69 की पोजीशन में लिटा लिया.

ऋतु की गांड सनी की गोद में होने के कारण उसके लंड से छू रही थी जिससे सनी को अहसास हो रहा था कि उसका लंड आज जितना टाइट पहले कभी नहीं हुआ था.

इतनी देर में सब घर जाने की आवाज देने लगे तो हम दोनों भी एक एक करके बाहर आ गए. जैसे जैसे लंड भीतर जाता, दर्द और बढ़ता जाता … लेकिन चिकनाई खूब होने से लंड पूरा भीतर समा ही गया.

चूत चुदाई बीएफ फिल्म फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को ऊपर लिया और उसकी चुत के मुँह पर अपना लंड सैट कर दिया. मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ लिया और नीचे से अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर चाटने लगा.

चूत चुदाई बीएफ फिल्म तुम्हारा लंड लंड नहीं … चूत खोदने की मशीन हो गया है।सास ससुर की सेक्स की बातें सुन सुन कर मेरी चूत में आग लग गयी. सनी ने अपने जलते हुए होंठों को उसके प्यासे होंठों पर रख दिए और चूसने लगा.

तभी मेरे पैर से एक बाल्टी टकरा गई और आहट सुन कर चाची ने झट से अपने ऊपर चादर डाली और पूछा- कौन है?मैंने आवाज दे दी कि चाची मैं प्रतीक हूँ.

भोजपुरी सुहागरात सेक्सी वीडियो

अब मेरा लंड भी धीरे धीरे आखिरी मंजिल तक पहुंचने लगा और मैं लंड को धीरे धीरे चलाने लगा।बुआ साथ छोड़ चुकी थी।आंटी समझ गई और उसने बोला- राज उठो!मैंने लन्ड को बुआ की चूत से बाहर निकाल लिया. मैं आप लोगो को बताना भूल गया कि भाभी पहाड़ी परिवार से थीं और पहाड़ी लोगो का लंड 4 से 5 इंच का ही होता है. गुस्से में कमरे पर पहुंचते ही मैंने बैग फेंका, कपड़े उतारकर भी लगभग फैंक से दिए और नाइटी पहन कर भूखे पेट ही सो गई.

मैं इतनी ज्यादा उत्तेजना में आ गया था कि मुझे लगा मैं अब पानी छोड़ दूंगा. फिर मोहिनी स्वाति को कमरे में ले जाकर उसकी भरपूर चुदाई करके इतने दिन की कसर पूरी करेगी. मैं उस वक्त सिर्फ एक फ्रेंची पहने हुए था और लंड सहलाते हुए ब्लू फिल्म देख रहा था.

भाभी के मोटे मोटे बूब्स साफ़ नजर आ रहे थे और बारिश में भीग कर उनकी कुर्ती उसकी गांड से बिल्कुल चिपक गयी थी, जिससे उनकी मस्त गांड का आकार एकदम साफ दिख रहा था.

तभी अचानक मैंने महसूस किया कि उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाने की बजाए मेरी गांड के छेद पर लगा दिया और हल्का सा जोर लगा रहा था. एक बार फिर से लंड चूत की लड़ाई छिड़ गई और कभी लंड भारी तो कभी चूत भारी पड़ रही थी. थोड़ी देर के बाद फिर से मैंने अपना लंड दीदी की चूत में पेला और फिर से चुदाई की.

फिर उन्होंने मम्मी के चुचों को ब्रा से निकाल कर एक दूध को चूसने लगे और दूसरे को मसलने लगे. ’मामा उठकर तैयार होने चले गए और मामी वहीं लेटकर लम्बी लम्बी सांसें लेने लगीं. वो बोला- ठीक है, कल से जब भी हम गाय को चराने लेकर जाएंगे, तब यही बात करेंगे.

कुछ देर बाद फिर से साफिया गर्म हो गई। वो फिर से अपने मामा का साथ देने लगी चुदाई में. वो झुक झुक कर लूडो की डायस फैंक रही थीं और अपनी गोटियां चल रही थीं.

सनी हल्के हल्के से ऋतु की चूत के होंठों को हाथ से ऐसे सहलाने लगा, जैसे कि उसकी मालिश कर रहा हो. दीदी प्याज़, मसाला, सब सामान लेकर चल दीं, कुछ सामान मेरे हाथ में भी था, नहीं तो दीदी की गांड में मैं उंगली करने की सोच रहा था. मैंने उसके कान में पूछा- दर्द है या कम हो गया?वो भी फुसफुसाया- अभी है दर्द.

फिर मैंने कहा- भाभी मैं जानता हूं कि आप भी चुदना चाहती हो, अगर आपको मैं पसंद नहीं हूं तो बता दीजिए.

मेरे से मीना और मंजू दोनों ही चुद रही थी और किसी को कानोंकान इस बात की खबर नहीं थी. मनोज पीछे से मेरी दोनों बगलों में से अपने हाथ आगे निकाल कर मेरे मम्मों दबा रहा था. पर अब्बू का लंड तो शताब्दी ट्रेन की स्पीड में दौड़ रहा था, स्टेशन से पहले गाड़ी कहां रुकने वाली थी.

इसमें मेरी मम्मी की भी गलती नहीं है … चूंकि पापा अक्सर बाहर रहते हैं, तो उन्हें अपनी प्यास बुझाने के लिए कोई तो चाहिए ही था. मैंने फिर से उसे उकसाया- तो डिल्डो से कैसे करती हो आप?वो भी मूड में आने लगी.

मैं आपको रिश्ते में लगने वाली अपनी एक दीदी की Xxx ब्रदर सिस्टर कहानी सुना रहा था. खासकर उन भाभियों के साथ चुदाई का मजा ज्यादा आता है, जिनके एक या दो बच्चे हों. और क्या तुम दोनों की कोई गर्लफ्रेंड भी है? तुमने कभी सेक्स किया है?मैं- नहीं … हमारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

आंटी सेक्स वीडियोस

मेरी शादी होने वाली है … आह … ऑयमा … जानू डालो … मां चोद दो मेरी … आह … उम्मह … मैं सिर्फ तुम्हारी रंडी हूं आंह.

मेरी बड़ी बड़ी चुंचियों का रसपान करते हुए मीना और दीपक थक ही नहीं रहे थे. उस दिन भाभी ने ब्लू कलर की कुर्ती पहनी थी और सफेद रंग की स्लैक्स पहनी थी. वो मेरे कान में बोली- पहले एक बार मुझे चोद दो, फिर बाक़ी की मस्ती जैसे मर्जी आये कर लेना.

मैं और मामी बेड पर टिककर बीयर पीने लगे और मामी मेरे कंधे पर सर रखकर पेस्ट्री खा रही थीं. तुमने मुझे प्यार दिया है और तुमने मुझे इतना प्यार किया है कि उस प्यार के बदले मैं तुम्हारे लिए कुछ भी करूं वे वे कम ही होगा! अगर तुम मुझे चोदना चाहते हो तो चोद लो! सच कहूं तो मेरा भी मन हो रहा है कि मैं अपनी बुर में तुम्हारे लंड को लूं और अपने भाई से जिंदगी की पहली चुदाई का मजा उठाऊं. सेक्सी बीएफ वीडियो चोदा चोदी वीडियोमेरी सेक्सी हिन्दी कहानियाँ सबको पसंद आती है तो मैं नई कहानी जीजू के जोरदार लंड की लेकर आयी हूँ.

जब मैं घर पर नहीं होता हूँ, तब छोटी बहन मेरे वाले छोटे बेड पर सो जाती है. अगली बार मंजू की चुत में मेरा लंड जाएगा और चुत फाड़ कर आपको उस सेक्स कहानी का मजा देगा.

उसके हाथ को अपनी गीली हो चुकी चुत से लगते ही मुझे बेहद गर्म अहसास होने लगा और मैंने अपनी कमर उठा कर उससे अपनी चुत मिंजवाने की कोशिश करने लगी. मैंने कहा- बच्चे कब तक सोएंगे?दीदी बोलीं- सो जाएंगे अभी, मैंने दूध में उनको नींद की गोली दे दी है. मैं मेडिकल शॉप से कंडोम लेने जाने लगा तो भाभी बोलीं- रहने दो … आज पहली बार मेरी चुदाई अच्छे से होगी.

उस दिन उनके घर पर कोई नहीं था; तभी शायद दीदी ने उस लड़के को घर पर बुलाया था. लंड घुसने से ऋतु की आंखें फैलती जा रही थीं लेकिन वो आज पूरी कोशिश कर रही थी कि पूरा लंड उसके मुँह में घुस जाए. चूंकि छत पर कोई आता नहीं था, सबको मालूम था कि ताला लगा होता है तो हमको डर भी नहीं था.

आधे घंटे तक मैंने दीदी के बालों की मसाज की थी उसकी वजह से दीदी को नींद भी आने लगी थी, वे बैठे-बैठे सो गई थी.

उसका नाम सोनाली था वह भी अपने फोन में कुछ देख रही थी और अपनी चूत में तेजी से अंदर बाहर उंगली कर रही थी. इस तरह दिन में ही मैंने अपने दोस्त सलीम की चालू अम्मी नफीसा को चोद डाला.

जब मैं घर आ गई तो वो यहीं आकर होटल में ले जाकर पहले चुदाई कर लेते थे. मैंने उससे कहा- मोनाली, क्यों ना मैं तुमको रंडी बना दूँ … क्या तुम मेरी रंडी बनोगी?मेरी बीवी को लगा कि मैं सेक्स में मजाक कर रहा हूं. जिसमें दो आदमी दो गोरी लड़कियों को अपनी गोदी में बिठा कर स्मूच कर रहे थे.

मैं तेरे कमरे में गया भी था, लेकिन जैसे ही मैंने दरवाजा खटख़टाने को सोचा, तो देखा कि तेरे कमरे का दरवाजा खुला हुआ है. इस भयंकर चुदाई के बाद हम दोनों बहुत खुश थे।अभी भी मेरा लन्ड पिंकू की चूत में था. दो मिनट बाद मैंने अपने लंड का पानी उनके मुँह में छोड़ दिया और उनके बाजू में गिर गया.

चूत चुदाई बीएफ फिल्म अभी अभी राजेश ने मेरी गांड को तबियत से बजाया था तो गांड का छेदा लाल हो गया था. मेरी पिछली सेक्स कहानीमां बेटी एक ही रात में चुद गईंके लिए मुझे बहुत से मेल आए थे, जिसमें से मुझे एक मेल राजस्थान से एक आंटी का आया था.

bp पिक्चर वीडियो में

मैंने एक को मुँह में भर लिया और एक को अपने हाथों से दबाने लगा, निप्पल को दो उंगलियों में लेकर मसलने लगा. उसने मुझसे कहा- अब ठीक है धर्म, जो होता है, अच्छे के लिए ही होता है. मम्मी ने उससे पूछा- आप कहां जा रहे हो?उसने कहा- मैं शादी में जा रहा हूँ.

अब चाची अपनी उंगलियों से अपनी चुत मसल कर खुद को शांत करने की कोशिश कर रही थीं. चाचा ने मेरी तरफ देखा और मुझसे कहा- वो देख, कितने सख्त ओले गिर रहे हैं. बीएफ सेक्स की कहानीमैंने अपने घुटनों को उनकी गांड के थोड़े से नीचे रखकर उनके कमर की मालिश करना चालू कर दिया.

कहानी के पिछले भागआखिर चूत चुदाई की तमन्ना पूरी हो गयीमें आपने पढ़ा कि नगमा की पहली चुदाई का वृत्तांत सुनने के बाद मुझसे रहा ना गया.

फिर उस लड़के ने शिल्पा दीदी को उठा कर बेड पर लिटा दिया और उन्हें किस करने लगा. थोड़ी देर में वो अक़ड़कर झड़ गई और मैं उसके कम को निकलते देखने लगा।अब मैंने उसकी चूत का कम साफ किया और उसे किस करने लगा, उसके गोरे गोरे मम्मों को खूब पिया और मसला।वो फिर से गर्म हो गई.

मुझे तो पता था कि अगर अब्बू आएंगे तो खाला की चुदाई लाइव देखने को मिलेगी. सनी ने बहुत प्यार से मेरे माथे पर एक चुम्बन लिया और मेरी आंख में देखने लगा. किसी को ऐतराज तो होना ही नहीं था तो हम दोनों उसके पापा की प्रिया स्कूटर से चल पड़े.

दीपक तो कल से जा ही रहा है ना!मैंने कहा- हां ठीक है, पर ज़्यादा नहीं करना … लिमिट से करना और वो भी धीरे धीरे.

मैंने कहा- मैंने मालिश करते हुए आपका वीडियो बना दिया है … देखना पसंद करेंगी. वो थोड़ी मोटी हैं और उनका रंग सांवला है, लेकिन उनका फिगर कातिलाना है. वीर भी समझ गया कि मैं फोरसम के लिए तैयार हूँ और उसी रात हम सीमा और जॉन के घर पहुंच गए.

शेर वाला बीएफअब मुझे कपल स्वैपिंग के लिए तैयारी करनी थी, तो मैंने अपने दोस्त की साली प्रिया से बातें बना कर उसे बहला फुसला कर राजी कर लिया. वो दोनों अब अपने अपने लौड़े के साथ खेलते हुए मेरे स्तनों का पान करने लगे.

नंगी चुदाई ब्लू फिल्म

दोस्तो, मैं आपको एक बात शेयर करना चाहता हूँ कि कुंवारी लड़की को चोदने से ज्यादा मजा शादीशुदा औरतों को चोदने में आता है क्योंकि शादीशुदा औरतें सब जानती हैं, उन्हें ज्यादा मनाना नहीं पड़ता. इससे भाभी एकदम गर्मा गईं और थोड़ी ही देर में भाभी मेरे सिर पर हाथ रखकर मुझे नीचे धकेलने लगीं. मीना लालटेन की पीली रोशनी में इतनी खूबसूरत लग रही थी कि मैं खुद बेकाबू सा हो गया.

अब आगे माउथ सेक्स का मजा:‘आंह आशु … बड़ा अच्छा आआअहहह लग रहा है … आआह … ईईईई …’चूची चूसने के साथ साथ मेरी एक उंगली जो उसकी चूत के रस में भी डूबी थी, वो सटासट अन्दर बाहर हो रही थी. राहुल मुझसे बहुत खुला हुआ था, वह मुझसे सभी तरह की बातें करता था।हम दोनों घर पर ही रहते थे इसलिए हम दोनों एक दूसरे के साथ ही ज्यादातर वक्त बिताते थे. मैं भी मन में हंसा और सोचा कि 2 ही महीनों में कैसे में धर्म से धारा बन गयी(या).

अबकी बार मेरी गांड में राजेश का लंड था और वो मेरा कमर पकड़ कर सटासट पेले जा रहा था. फिर चचा ने ढेर सारा नारियल तेल मेरी गांड में डाला और दोनों उंगलियों से मेरी गांड पेलने लगे. साइंस का छात्र होने के कारण एक दिन तीसरे फ्लोर का फ्यूज मैंने निकाल दिया.

मेरे इतना कहते ही भाभी झड़ गईं और उन्होंने अपनी चुत मेरे मुँह पर दबा दी, उनका सारा रस मेरे मुँह में ही निकलने लगा. इसके बाद से भाभी मेरे लंड की मुरीद हो गई थीं उन्हें अब भैया के लंड की कोई जरूरत नहीं रह गई थी.

[emailprotected]गाँव की औरत की चुदाई का अगला भाग:पहाड़ी गांव में देसी चूत चुदाई के किस्से- 5.

थोड़ी देर बाद मैंने नीतू को फिर से लिप किस किया और उसके बूब्स को दबाने लगा, फिर पीने लगा. न्यू सेक्सी बीएफ सेक्सीमेरे इतना कहते ही भाभी बहुत जोर से हंसने लगीं और बोलीं- तुम इतने बड़े हो गए हो. बीएफ सेक्स फिल्म्सथोड़ी देर बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने मौसी का हाथ पकड़ लिया. फिर तो उस अधकचरी सेक्स की किताबों का ज्ञान काम आया और मैं उसको गर्दन और यहां वहां चूमने लगा.

जब मैं रेस्टोरेंट पहुंचा तो वहां देखा कि मुकेश क्षिति भाभी पहले से बैठे हैं.

बेडरूम में जाकर मैंने मामी को बेड पर लिटाया और फ़्रिज से बीयर और पेस्ट्री ले आया. फिर बुआ के आने के बाद भी मैं उसे रात को कमरे में बुला कर चोद देता था. जब मैं सो कर उठा तो सोचा कि अब नीचे चल कर जुबैदा आंटी की चुत चोदने का इंतज़ाम किया जाए.

मैंने सुमन की गान्ड को मसलना, सहलाना शुरू किया।सुमन मेरी नियत समझ गई और मेरे हाथ को अपने चूत पे रखवा दिया।सुमन से मैंने गांड मारने की बात बोली तो उसने बाद का बोल कर टाल दिया. साफिया बोली- और उसके बाद?फ़िरोज़ बोला- उसके बाद भी देखेंगे क्या होता है!तो यही कहानी है फिरोज और उसकी भांजी साफिया की चुदाई की!आपको कैसी लगी यह लॉकडाउन सेक्स कहानी? आप मुझे मेल करके बताइएगा. दोस्तो, बिना किसी रूपरेखा के मैं बताना चाहती हूँ कि सच्ची घटनाओं से इस सेक्स कहानी का कोई संबंध नहीं है, यह अकेली औरत सेक्स कहानी पूरी तरह काल्पनिक है.

ব্লু ফিল্ম সিনেমা

तब उस लड़के ने उठकर बैल खोल दिए और मुझसे बोला- चल, इन्हें लेकर आगे चल. उस वक्त तक मैं ये नहीं जानता था कि सेक्स के बारे में मेरी फैमिली काफी आगे निकल गई है. मैंने बेड पर एक बड़ा गद्दा लगाया और छोटे गद्दे अपनी बांहें रखने के लिए अगल बगल में लगा दिए.

आंटी आंख दबाती हुई बोलीं- एक बार चुत चोदने के बाद भी संकोच हो रहा है … बड़े संस्कारी हो!मैं हंस पड़ा.

उस दिन के बाद मुझे बहुत अफ़सोस हुआ था कि तुम किस तरह जिद कर रही थी और मैंने मना कर दिया था.

जब खाला की चुदाई फहीम और अब्बू करेंगे, तब मैं उस चुदाई की कहानी को लिखूंगा. आपको करना यही है कि पॉजिटिव इशारों के बारे में सोचें और निगेटिव इशारों को इग्नोर कर दें. कैटरीना कैफ बीएफ एचडीईई …’मैंने एक हाथ से उसकी कमर और दूसरे हाथ से उसके बाल पकड़े और फिर दनादन उसकी चूत पर लंड का प्रहार करना शुरू कर दिया.

अब पिंकू के बड़े बड़े बूब्स मझे नजर आ रहे थे, मन तो कर रहा था इन्हें तभी निचोड़ कर पी जाऊं. जब मैं आकांक्षा की चूत को चाट रहा था, तब वो ज़ोर ज़ोर से आवाज़ निकाल रही थी. ‘ऊउम्म उम्म्म ऊम्म्म …’कुछ 5 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे.

उसके बाद उन्होंने मेरे लौड़े को मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगीं. मेरे पति को तो जैसे जन्नत मिल गयी हो।वो आह्ह … आह्ह … की आवाज़ करने लगे.

अगले दो गेम भी मैं ही जीता और चाची का पेटीकोट और ब्लाउज खुलवा लिया.

गाहे बगाहे हम दोनों होटल के कमरे में जाकर अपनी प्यास बुझाने लगे थे. मैंने कहा- क्या हुआ ज्योति … तुम क्यों रोती हो?जबकि उससे ये कहते हुए मैं खुद भी रुआंसा था. अपना फोन उठाते हुए जॉन ने कबीर को व्हाट्सैप पर लिखा- कम एंड टेक फन.

किचन की सेक्सी बीएफ मैं उसकी इस बात को नजरअंदाज कर देता और उससे लगभग रोज़ कहने लगा था कि वो किसी औऱ से भी चुदवाने का मजा ले ले. पिछले भागपहली बार लंड चुसवाने का अनुभवमें अब तक आपने पढ़ा था कि मंजू की चुत चुदाई के लिए मीना मान गई थी और उसने अपने कमरे में मंजू को चोदने की रजामंदी दे दी थी.

मैं बोला- दीदी, मैं मालिश कर दूंगा तो शायद आपको आराम मिल जाए!ठीक है पेन रिलीफ जेल ले आओ और मालिश कर दो!”मैंने मन में सोचा कि अगर जेल से मालिश की तो मालिश 5 मिनट में ही खत्म हो जाएगी. मौसी के टॉयलेट जाने की बात सुनकर उनकी लड़की बोली- अब ये दस पन्द्रह मिनट के लिए गईं. उस दिन उनके घर पर कोई नहीं था; तभी शायद दीदी ने उस लड़के को घर पर बुलाया था.

शुद्ध देसी चुदाई

मैंने भी अपने को साफ किया, अपने कपड़े पहने और मीना को किस करके अपने घर आकर सो गया. उसकी गीली चूत और अधिक खुल चुकी थी तथा प्रेम मार्ग स्पष्ट गहराई तक दिखने लगा था. मैंने महसूस किया कि चाची मुझसे छूटने की कोशिश कर तो रही थीं लेकिन उनकी छूटने की ताकत न के बराबर थी.

साबुन के झाग से उनके दोनों मम्मे ढके हुए थे और वो नीचे पैंटी पहनी हुई थीं. दो नर्म नर्म स्तन और उसमें चार चांद लगाने वाला तुम्हारा ये चिकना, लंबा, मोटा सिकुड़ा हुआ, फिर भी 6 इंच का लंड भेंट में दे दिया.

मैं अपने भाई के साथ खेत में गयी तो रास्ते में उसका दोस्त भी हमारे साथ हो लिया.

जैसे ही अनलॉक शुरू हुआ, मैंने अपनी पैकिंग कर ली और कुछ दिनों के लिए अपने बड़े पापा(ताऊ) के लड़के के यहां मुम्बई घूमने को आ गया. आकांक्षा लगभग 2 साल से अपनी चुत में उंगली कर रही थी लेकिन अभी भी उसकी चूत की फांकें ज्यादा खुली नहीं थीं. इतना तो पता था कि मीना को सेक्स के बारे में पता होगा कि लंड को बुर में कैसे डालते हैं क्योंकि उसके साथ उसके कॉलेज में कई शादीशुदा लड़कियां भी थीं.

उसके बाद चुत में सटासट किया और उसके बेखबर होते ही मैंने झटके से गांड में लंड डाल दिया. उसी समय उसने लंड मेरे मुँह के अन्दर कर दिया और बोला- बेबी, मुझे तुमने मजबूर कर दिया, तुम खुद भी तो कर सकती थी ये सब … लव यू सन्नो … सक इट डॉल. फिर मैं अपने बाएं हाथ में पेग उठा कर पीते हुए उसकी जांघ पर अपना दाहिना हाथ फेरने लगा.

स्वाति ने उन्हें मोहिनी और मेरे से मिलवाया।हमने उन्हें हमारे घर आने का निमंत्रण दिया।स्वाति और मोहिनी फ़ोन पर बात करते रहते.

चूत चुदाई बीएफ फिल्म: इस बीच सरपंच जी ने भी मीना के पापा से बात करके उनको हम दोनों के लिए परेशान नहीं होने को बोला. मैंने सुमन को देखा, उसने जींस और शर्ट पहनी हुई थी।उसने थोड़ा मेकअप भी किया हुआ था, भोजपुरी फिल्म की हीरोइन लग रही थी।मैंने सुमन की तारीफ की तो वो शरमाने लगी.

मैंने उस दिन बहुत कोशिश की कि उसकी चुत भी देखने को मिल जाए, लेकिन नहीं हो पाया. मुझे बिल्कुल भी अहसास नहीं था कि ये छुटकी भी जलन करती होगी और इतनी तेज होगी. कहानी के पहले भागशादी की उम्र निकलने पर लड़की की सेक्स इच्छाhttps://www.

साथ ही मैं पसीने से लथपथ हो गई थी क्योंकि उस समय लाइट नहीं थी और मैंने इन्वर्टर भी ऑन नहीं किया था.

मैं भाभी को करीब 25 से 30 मिनट तक चोदता रहा और वह भी चिल्ला चिल्ला कर चुदाई के मजे लेती रहीं. फिर मैंने उनको सीधा लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा. मामी- मुझे भी आज तुम्हारे साथ बहुत मजा आया … तुम्हारा स्टेमिना, चोदने का तरीका, उस सबकी मैं फैन हो गयी.