इंडियन में सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बंदर और लड़की का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी एक्स सेक्सी: इंडियन में सेक्सी बीएफ, रेखा बड़ी मासूमियत से बोली, लेकिन मैंने भी उसे झेलाने के लिए बोला- क्या डाल दूं.

मराठी झवाडी बायका

फिर नम्रता ने अपने कूल्हे फैला दिए, जो कि मेरे लिये इशारा था कि जब तक पानी गर्म हो रहा है … तब तक मैं उसकी गांड घिसाई कर सकता हूं. xx.com सेक्सी वीडियो”उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी लुंगी पर रखा, उस वक्त मुझे करंट सा लगा.

वो पसीना पसीना हो गया था … और मेरे बदन पर पड़े हुए मुझे किस कर रहा था. सेक्सी वीडियो मालिश करने वालामैंने बात शुरू करने और माहौल को हल्का करने के लिये बोला कि चाय या कॉफ़ी?वो बोली- कॉफ़ी.

मेरा खाना पीना कैसे होगा, इसको लेकर अम्मी के लिए ये काफी चिंता का विषय बन गया था.इंडियन में सेक्सी बीएफ: नम्रता ने अपनी बात खत्म की, तो मैं नम्रता से बोला- यार तुमने जो कहानी सुनाई है, उसको सुनते हुए मैं अपने लंड को भींच रहा था, मेरा रस निकलने वाला है, पीने का इरादा है क्या?पर यह क्या, तभी घंटी बज गयी और हम दोनों को वापिस अपने अपने क्लास में जाना पड़ा.

मैंने भी साफ साफ शब्दों में बात करते हुए सर से कह दिया- सर आपको जो कुछ रूपया पैसा जितना भी चाहिए आप मुझे कह सकते हैं.काफी देर तक चूत चाटने और अंगुली करने की वजह से अनिता कांपते हुए अपने कामरस की वर्षा कर गई जिसे मैं अमृत की तरह पीता चला गया.

मस्त सेक्सी व्हिडीओ - इंडियन में सेक्सी बीएफ

अब वो 69 की पोजीशन में आ गई और मेरे लंड को हाथों में लेकर सहलाने लगी … चूमने लगी.मैंने फिर भी लंड को बाहर नहीं निकाला और एक आखिरी धक्का मारा तो पूरा का पूरा लंड साना की चूत में घुस गया.

मेरी चीखें निकलने लगी थी- अह्ह अह्ह येस अह्ह येस!और दिलिया चिल्ला रही थी- जोर से चोदो मुझे … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मजा आ गया,सारा भी दिलिया के साथ साथ उसे किस करती हुई घूम रही थी. इंडियन में सेक्सी बीएफ जब मैं आगे की तरफ नहीं हो पाया तो वो पलट कर सीधी हो गई और मैं उसके ऊपर आ गया.

तो उन्होंने कहा- नहीं, तुम बाहर से आये हो तो गरमागरम खा लो, मैं रोटी बनाकर तुम्हें परोसती हूँ.

इंडियन में सेक्सी बीएफ?

एक दिन मैंने और मेरे एक दोस्त ने उसके घर पर ब्लू फिल्म चला कर देखी. मैंने मुंह पर कपड़ा बांधा और भैया के साथ कुछ दूर तक पैदल जाकर आगे हम लोग एक बात करने लगे. दोस्तो, अब तक की सेक्स कहानीहॉस्टल की सेक्सी लड़की की मस्त चुदाईमें आपने सुधा के संग मेरी चुदाई का मजा लिया था.

मैंने उसकी आंखों में देखा और बोला- रश्मि, क्या मैं तुम्हारी चूत में अपना लंड डाल दूँ?वह मेरी आंखों में देखते हुए मानो कह रही थी- तू चूतिया है क्या … तेरे साथ बिस्तर में नंगी लेटी हूं, तेरा नंगा लंड मेरी नंगी चूत के ऊपर रगड़ रहा है और तू अभी मुझसे यह पूछ रहा है?मैं फिर भी नहीं माना. कुछ ही देर के बाद साना मेरे कमरे में आई और उसने अपने बदन पर लॉन्ज़री डाली हुई थी. मैंने उसके लंड के रस को उगल दिया … क्योंकि उसने एक झटके में अपना लंड मेरे गले में उतार कर अपना लावा निकाल दिया था, जिससे मुझे उबकाई आ गयी थी.

चूंकि वो लोग किसी कारणवश मेरी शादी में नहीं आ पाए थे, इसलिए वो दोनों आने के लिए काफी जिद कर रहे थे. मौसी ने अपनी आंखें बंद की हुई थीं और वे सांसों को कंट्रोल करने की कोशिश कर रही थीं. मैंने उसको बताया कि जब उसका भाई झड़ने वाला हो, उसका बाहर निकाल दिया करो.

अब मैं जोर-जोर से उसकी योनि को मसलने लगा।अब वह अपनी योनि को ऊपर उठाने लगी। जोश में आकर मैं कभी उसके दूध को मसल देता था तो कभी उसकी योनि में उंगली कर देता. पहले तो मुझे उनको देख डर लगने लगा कि ये तो मेरी चूत का कीमा बना देगा.

सो मेरे पास अपने लंड के बातों को मानने के अलावा कोई रास्ता नहीं था.

अब जीजा जी ने मेरे स्तनों पर धावा बोल दिया और अपना लंड मेरे हाथ में ही दिये रखा.

मेरे लंड से वीर्य की धार पिचकारी के रूप में चाची की चूत में पचर-पचर करके अंदर गिरने लगी. उसके बाद भाभी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने कहा- अभी तक आपके जैसी कोई मिली ही नहीं. फिर मैंने उसकी पैंटी को भी उतार दिया और उसकी योनि को भी नंगी कर दिया.

तो मैं कुछ दिन की छुट्टियों में गांव आ गया। गांव आने के बाद भी गलफ्रेंड से अकेले मिलने का कोई प्लान नहीं बन पा रहा था मैंने उसे अपने अकेले मिलने को बोला पर वो ही कुछ बहाना नहीं बना पा रही थी।अब तो यहाँ भी मेरे लंड को धोखा होने वाला था।आखिर में जब सिर्फ 5 दिन रह गये मेरे वापस जाने में … तब गर्लफ्रेंड की कॉल आई और मैंने कॉल उठाई. इसकी हाइट लगभग साढ़े पांच फीट की थी, वो थोड़ी मोटी पर बहुत हॉट लेडी थी. पहले तो मैं उसका लंड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी और उसके बाद उसका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

ऐसे ही दो दिन निकल गए, तीसरे दिन रात को ऑफिस से घर लौटा, तो देखा श्रीमती जी मुँह फुला कर बैठी हैं, वो कुछ बात भी नहीं कर रही थी.

दोनों भी बहुत ही ज्यादा खुश हैं और दोनों ने अपने पतियों से चुदवाने का नाटक करके यह बात छुपा ली है कि उनके जो बच्चे पैदा होने वाले हैं … उनका असली पिता मैं हूं. फिर मैं शुरू हो गया, बोला- रूई!और सारा ने अपना दायाँ चूतड़ ऊपर उठा दिया, मैंने पूरा लंड निकाल कर उधर को धक्का मारा, लंड चूत को रगड़ते हुए अंदर चला गया. मैंने वसुन्धरा का चेहरा अपने दोनों हाथों में ले लिया और बढ़ कर वसुन्धरा की पेशानी पर एक चुम्बन अंकित कर दिया.

उनके लंड का सुपाड़ा जैसे ही निपोरकर मैंने अपने होंठों के पास किया तो मुझे उससे अजीब सी गंध आने लगी. पापा ने मम्मी के ब्लाउज को निकाल दिया और उनके पेटीकोट को ऊपर कर दिया. लेकिन एक बात तो पक्की थी कि वो राधिका नहीं थी, क्योंकि राधिका को मैं अच्छे से पहचानता था.

उसके सो जाने के बाद मैं उससे चिपक गई और उसको अपने सीने से लगा कर उसे अपनी छातियों की गर्माहट का अहसास कराने लगी.

मैंने उसको चुप कराया और समझाया- जानू, तुम अपने घर वालों के कहने पर उधर शादी कर लो, जहां वो चाहते हैं. मैंने भी अंकल को कस कर गले लगाया हुआ था और अपने स्तन उनके सीने में गड़ा दिए थे.

इंडियन में सेक्सी बीएफ आपको मेरी हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदी कैसी लगी, मुझे आपकी मेल का इंतज़ार रहेगा. घर से निकलते हुए वसुन्धरा ने दबी जुबान में पुराने कपड़ों वाला अटैची कार से निकल कर घर में ही छोड़ने की बात कही लेकिन मैं उसकी बात सुनी-अनसुनी कर गया.

इंडियन में सेक्सी बीएफ बस चूमते चूमते हम दोनों वहीं सोफ़े पर लुढ़क गए और एक दूसरे के अंगों से खेलने लगे. मैं अभी भी उसकी नाभि और घुमटी को चूस-चूस कर अपने दिमाग में एक नयी शुभ्रा को पैदा कर रहा था, जो मेरी चुदासी गर्लफ्रेंड हो चुकी थी.

!”आपने यह सब करने के लिए जो आर्टिकल लिखने की बात की थी, वह सब सच था? देखो सच सच बोलना.

फुल हद सेक्सी

अब मैं कैपरी और टाईट टॉप, जो कि स्लीब लैस हुआ करता था, पहनने लगी थी. मैंने उनका गाउन उतार दिया और भाभी मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गई थीं. इसलिए यह सोचकर मैंने खुद को वहीं पर रोकने का फैसला कर लिया और आगे नहीं बढ़ा.

मैंने ये भी कहा कि मैं तो एक पल के लिए आपकी बात मान भी जाऊं लेकिन मेरी बीवी इस तरह से तैयार नहीं हो सकती है. वो बोली- नहीं यार, कभी न कभी तो ये दर्द सहना ही है … तो आज क्यों नहीं … और फिर मैं तुमसे ही ये दर्द लेना चाहती हूँ. हम दोनों लोग जिस बिस्तर पर सेक्स कर रहे थे वो बिस्तर भी हम दोनों की चुदाई से गर्म हो गया था.

मैं थॉमस के सीने को इधर उधर किस करने लगी और उसकी मजबूत बाजुओं को दबाने लगी.

अंकल ने मेरे पैरों को घुटनों में फोल्ड किया और घुटनों को पकड़ कर मेरे कंधे तक ले आए. मैंने पढ़ाते समय मैंने कई बार इस बात को महसूस भी किया था कि कोई कोई लड़की इतनी अधिक चुदैल किस्म की आ जाती थी कि उसके करीब से गुजरने पर वो अपने टॉप या कुरते से दूध दिखाते हुए मुझे रिझाने की कोशिश करती. मैंने उसकी कमीज निकाली और पन्द्रह मिनट तक उसकी चूची का रस पिया और खूब मसला.

वो अब मेरे ऊपर से उठी और सीधे होकर लंड की घुड़सवारी के लिए तैयार हो गई. नम्रता एक-एक करके सेक्सी पैन्टी-ब्रा, पारदर्शी नाईटी पहनती जाती और तारीफों के पुल बांधती जाती. कमरे में से ही पहले खिड़की में से गेस्ट हाउस की ओर देखा लेकिन यहाँ से कोई हलचल नहीं दिखी.

अब जो तू इतना बेसब्री से मेरा इंतजार कर रही है, तो मैं तेरे दोनों छेदों को इतनी बुरी तरह से रौंद दूंगा कि तू जिंदगी भर कभी भी किसी और का भी लौड़ा लेने के लिए सौ बार सोचेगी. मैं भी बोला- हां कैसे करेगा … मुकेश जो है … मुझे सब पता है, हफ्ते में दो बार आता है … सब देखा है मैंने.

मैंने देखा कि पवन का लंड अब फिर खड़ा होकर झटके मार रहा था। उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया. होटल के रूम में पहुँच कर मैं अंकल जी से लिपट गयी और उन्हें चूमने लगी. मुझ पर अपनी नजर गड़ाते हुए बोली- पागल है तू? जो मैगजीन में लड़कियों को नंगी देख रहा है और बुर-चूत की कहानी पढ़कर मुठ मार रहा है? जबकि तेरे ऊपर तो कितनी ही लड़कियां पागल हैं.

अभी प्रतिभा के आने का समय हो चुका था, तो मैंने जानबूझ कर आंखें मूंद लीं.

मेरी पत्नी हर शनिवार को दिल्ली जाती है और घर पर मैं और मेरी बेटी ही रहते हैं. मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं भाभी के मुँह को ही उनकी चुत समझ कर धक्के देने लगा. मैंने देखा कि भाभी अपनी गांड में लंड लग जाने के बाद भी कोई हरकत नहीं कर रही हैं, तो मैंने अपना लंड उनकी गांड में और अन्दर पेलने लगा.

जब मेरी शादी हुई तो मैं अपने ससुराल गयी जो लखनऊ के एक जाने-माने इलाके में है. रोजाना की तरह पेशाब के कारण मुझे नंगा ही सोना पड़ता था, तो मैं माँ के पास आकर सो गया.

केवल चूत की चुदाई की थी। दोनों संतुष्टि वाली चुदाई करके सो गए। फिर मैं सुबह 4:00 बजे के अलार्म बजने का इंतजार करने लगा. इधर मेरे शरीर में अकड़न होने लगी और मेरे लंड से फव्वारा छूटकर रेखा की चूत के अन्दर गिरने लगा. हार कर वसुन्धरा ने ख़ुद को मेरे रहमो-करम पर छोड़ दिया और लम्बी-लम्बी सीत्कारें लेने लगी- आह … ह … ह! हाय … ऐ … ऐ …! सी … इ.

मारवाड़ी सेक्स वीडियोस

दीपिका ने फोन उठाया और स्पीकर ऑन करके बोली- हाँ संजना, कैसी हो?संजना- तुम बताओ, सब सेटिंग हो गई?दीपिका- हाँ, सब हो गई.

चांदनी- अरे विपुल, तुम इतने गर्म क्यों हो … तुम्हारी तबियत तो ठीक है न?मैं- हां जी मैं ठीक हूँ. मौसी मेरे बाल पकड़ कर मुझे हटाते हुए कहने लगीं- सोनू, इतना टाइम नहीं है, ये सब फिर कभी करना … अभी अपना काम खत्म करो और निकलो यहां से. दोस्तो, जैसा अपने पिछले भाग में पढ़ा कि अमीषी की मेरे साथ एक बार चुदाई हो चुकी थी.

इस दूसरी बार में जूली की चूत को चोद कर लंड को अबकी बार कुछ ज्यादा सुकून सा मिला. उस पर लड़कियों की नंगी तस्वीरों वाली छोटी मैगजीन भी साथ में देखने को मिल जाती थी।बस एक दिन ऐसा ही हो गया. சேக்ஸ் பிபிअब आगे:अंकल आज भी कल की तरह रिवीजन करेंगे या सीधे आगे के चैप्टर पर जाएंगे?” यह कहते हुए आज के खेल की शुरूआत मैंने खुद ही की.

आज बहुत दिनों बाद मेरी चुत को आज थॉमस का मोटा लंड मिला था … जिसे पाकर में बहुत खुश थी. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता देता हूं कि मेरे मामा की बहुत साल पहले ही डेथ हो गई थी.

मेरे कमरे और उस मकान के बीच में बस सड़क थी जो लगभग 8-10 फुट की ही थी अर्थात मेरी बालकोनी और उस कमरे की खिड़की के बीच का अंतर लगभग 8 फुट था. मीरा ने छाती को चाटते समय रितेश के निप्पलों को भी दाँत से काट लिया. ”क्या? मैं सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में?”अंशु ने आगे बढ़ के मम्मी की साड़ी और ब्लाउज उतार दिया- नहीं जी, ब्रा और पेटीकोट में … बल्कि पेटीकोट भी बड़ा है.

उसका अदा खान जैसा प्यारा उत्तेजक चेहरा मुझे उसके मुंह में अपना लन्ड ठूसने के लिए प्रेरित कर रहा था। एक बार फिर से हम एक दूसरे के होंठों के रस को अपने अपने मुंह में खींचने लगे. मैंने उसकी पैंटी को खींचकर नीचे करते हुए साइड में किया और अपना लंड उसकी बुर में लगाकर धक्का देने लगा. मैंने भी जीजू से हाथ मिलाया और फिर हम लोग उनकी गाड़ी में बैठकर घर के लिए निकल पड़े.

भाभी मेरे लंड से खेलते हुए बोली- मुझे मां बना दो प्लीज …मेरा लंड अब दोबारा से खड़ा हो चुका था.

मेरी माँ स्कूल में टीचर है उनकी जॉब से हमारा घर बस किसी तरह से चल रहा था।19 साल की उम्र में मैंने अपनी 12वीं की पढ़ाई पूरी कर ली और कुछ काम की तलाश करने लगी पर मुझे मन का काम नहीं मिल पा रहा था. मां बोलीं- हर्षद, तुम ये क्या बार बार घूर-घूर कर मुझे देख रहे थे? ऐसा मुझमें तुझे क्या नया दिख रहा है? तुम बहुत बदमाशी कर रहे हो.

लेकिन बजाए चूतड़ों पर चपत मारने के मैं उसके ऊपर चढ़ गया और आगे हाथ बढ़ा कर मैंने उसके दोनों कबूतर पकड़ लिया. यूं मैंने ऐसे दर्शाया कि मुझे कुछ हुआ नहीं लेकिन अब के इस काम-केलि की डोर मुझे अपने हाथ ही में रखनी ही होगी नहीं तो आज की रात तो वसुन्धरा ने मुझे यक़ीनन उधेड़ कर रख देना था. थोड़ी देर बाद वो एक बाल्टी और पौंछा लेकर आई और पौंछा लगाने लगी लेकिन तब मैंने देखा कि अब उनके एक नहीं, दोनों बूब्स बाहर हैं और एकदम पूरी तरह से.

समय खराब ना करते हुए मैंने उसके ब्लाउज और ब्रा को भी तुरंत निकाल दिया, लेकिन पेटीकोट नहीं निकाला. वो मुझे लंड की ठोकर देते हुए बोला- मेरी जान … माय स्वीट वाइफ … आई लव यू आअह्ह …उसने चोदना चालू कर दिया, वो जोर जोर से धक्के लगाने लगा. पहले तो मैं उसका लंड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी और उसके बाद उसका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

इंडियन में सेक्सी बीएफ फिर 12 बजे तक इसी तरह अन्दर बाहर करता रहा, लेकिन इस बीच मैं एक बार भी नहीं झड़ी. जैसे ही मैंने अपनी किस पूरी की, संजना फिर से मेरा पूरा लंड अपने गले तक ले जाकर उसकी चुसाई करने लगी.

हद हिंदी सेक्सी

वीर्य की आखिरी बून्द तक दीपिका ने चुदाई का आंनद लिया और अंत में मैं उसकी चूचियों और पेट के ऊपर पसर गया. मैं अकेला क्या क्या करूँ यहाँ?तो मैं बोली- मैं कैसे आऊँ … कपड़े अभी गीले हैं. बाली रानी का मुंह एक निप्पल के दबाये हुए था और दूसरी निप्पल पर रानी उंगली और अंगूठे से दबा रही थी.

उसी साइड में बीच वाली बर्थ पर उसकी माँ और नीचे वाली बर्थ पर उसकी दादी सो रही थी शायद. उसकी चुत को मैंने दस मिनट तक लगातार चाटा और वो इस बीच एक बार झड़ भी गयी. ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी में नंगीआसमान की ओर देखते हुए नम्रता बोली- शरद भगवान भी कभी-कभी नाइंसाफी कर ही देता है.

मैंने उसकी पीठ के पीछे तकिया लगा दिया- तुम यहां आराम से बैठो, मैं अभी निम्बू पानी लेके आता हूँ.

जब तक मैं विरोध कर पाती, मेरी पैंटी मेरी कमर से निकल कर उनके हाथ में थी. मेरा तना हुआ लौड़ा एक बार कट के अंदर जाकर फिर से बाहर आ गया और मेरा अंडरवियर नीचे मेरे घुटनों तक सरका दिया शिखा ने.

थोड़ी देर तक मौसी को चुचियों को दबाने और मसलने के बाद मैंने अपना हाथ मौसी के चूत के पर रख दिया और साड़ी के ऊपर से ही उनकी चूत सहलाने लगा. इस कहानी के पहले भागपड़ोसी को पटा कर चुत चुदवा ली-1में मीरा और रितेश की चुदाई की घटना पढ़ी. मैं आपसे सिर्फ इतना चाहती हूं कि आप किसी भी तरह मेरा ट्रान्सफर यहां से करवा दीजिये.

दीपाली मुझसे दया की भीख मांगने लगी- नहीं समीर प्लीज ऐसा मत करो, छोड़ दो मुझे … नहीं तो मैं चिल्लाऊँगी … देख लेना.

अचानक उन्होंने उंगली चुत से बाहर निकाली, तो मैं व्याकुल हो गयी और नाराजगी से उनकी ओर देखा. मैंने भाभी की चूत को देखा, वाह क्या गोरी चूत थी, एकदम मस्त पकौड़ा सी फूली हुई गोरी बुर मेरे सामने खुली पड़ी थी. फिर मैं उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से उसकी दूसरी चूची को दबाने लगा.

हिंदी सेक्स व्हिडिओ हिंदी सेक्सीमैंने देखा कि अभी बोतल में कुछ वाइन बची हुई है। मैंने उन दोनों को रोकते हुए वाइन का पांचवा पेग भी बना लिया और हम सब ने उस पैग को खत्म किया।अब हम तीनों नशे से चूर हो चुके थे. दीपिका ज़ोर जोर से आवाजें निकाले जा रही थी और शराब के सुरूर में अपना सिर इधर उधर पटकती जा रही थी.

ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂ

बस चूमते चूमते हम दोनों वहीं सोफ़े पर लुढ़क गए और एक दूसरे के अंगों से खेलने लगे. उम्मीद है कि हमारी यह सत्य घटना आप लोगों को पसंद आई होगी।[emailprotected]. हमारी कामुक आवाजों को हमारे अलावा पास में बंधी हुई भैंसें भी सुन रही थीं.

कोई चार पांच मिनट ही बीते थे कि मोटी-मोटी बूंदें हमारे ऊपर गिरने लगीं. अम्मी ने उससे कहा कि आप सुबह शाम को आकर बशीर के लिए खाना बना दीजियेगा. उसने मेरे गले को पकड़ा और करीब किया और मेरे डार्क पिंक लिपस्टिक वाले होंठों को पास किया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये.

जब मैं काफी गर्म हो गया तो अब मुझे उसकी चूत में लंड डालने का मन हो गया. अब जब उसका मन होता है, तो मेरे साथ चुदाई कर लेता है और जिस दिन मेरी बहुत इच्छा होती है कि वो मुझे रगड़े, मसले, इतनी ताकत से चोदे कि मेरा रोम रोम मस्त हो जाए, तो उस दिन वो मेरी तरफ देखता भी नहीं है. वो मुझे लंड की ठोकर देते हुए बोला- मेरी जान … माय स्वीट वाइफ … आई लव यू आअह्ह …उसने चोदना चालू कर दिया, वो जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

वहीं हीना की चूत को बड़े लंड की रगड़ और जवानी का भरपूर प्रसाद मिल रहा था. वो मेरे कंधों तक पहुँच रहे थे, वो मेरे कंधों और गले की भी मालिश कर रहा था.

जो कल तक किसी से नहीं मिली थी आज दो-दो लोगों से लंड खा रही थी।कुछ देर में ही सुमन तीसरी बार झड़ गई और उसके तुरंत बाद हरकेश भी उसकी गांड में ही झड़ गया.

फिर मैंने खड़े रहकर ही दिशा को टास्क दिया- दिशा, अब तुम भी आ जाओ अपने मन की करने के लिए. चाची की सेक्सी चूतमैंने उसी पोजीशन में ड्रिंक का एक सिप लिया तो दीपिका ने उसे भी पिलाने का इशारा किया. सेक्सी दिखाइए हिंदी वीडियो मेंमगर वक्त के साथ-साथ धीरे-धीरे मुझे उसके साथ बोर होने वाली फीलिंग आने लगी थी. मुझे लंड चूसने के कारण ही पेशाब पीने में भी कोई शर्म या हिचक नहीं आई थी.

मैंने गाड़ी से बाहर आकर पूछा- कैसा लगा भाभी सरप्राइज?भाभी बोली- यह किसका खेत है मनीष?मैंने कहा- मेरा ही खेत है भाभी; और पास में ही एक तबेला भी है.

फिर नम्रता मेरे ऊपर से हटकर मेरे बगल में लेटी और मेरे होंठ पर अपने होंठ रखते हुए प्यार से चूसने लगी, लेकिन मेरी मंशा तो कुछ और ही थी, मैंने नम्रता को अपने से अलग किया. मुझे देखकर सुमन उठने लगी मगर मैंने इशारे से उसे रोक दिया और वह मेरे सामने हरकेश के लंड पर कूदती रही. मैं- कहीं उसका बाहर चक्कर तो नहीं है?नम्रता- अरे मैं कब मना कर रही हूं.

मगर इसी के साथ मेरे मन की इच्छा भी पूरी हो जाती थी कि मुझे पड़ोस के और लोग भी देखें. आज जब फिर से जीजा के साथ कुछ करने का मौका मिला तो मैंने महसूस किया कि एक ही आदमी से एक ही तरह से चुदते-चुदते जब बहुत दिन हो जाते हैं और फिर किसी पराये मर्द के साथ कुछ करने का मौका मिलता है तो काफी कुछ नया-नया सा लगने लगता है. उसने एक हाथ से मेरे लंड को सहलाना और दबाना जारी रखा जिससे मेरा लौड़ा पूरा तन गया और मेरे अंदर की हवस का शैतान जाग गया.

बंगाली लड़की की सेक्सी वीडियो

ऐसा कहने पर उसने करवट ले ली और मुझे फिर उसकी बगल में लेटने के लिए कहा. मैंने सोनल को अपनी गोद में बिठा लिया था और उसकी नंगी पीठ पर हाथ घुमाने लगा. वह पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी। मैंने अपनी चड्डी से लंड निकाल कर सुमन के चूतड़ों की दरार में फंसा दिया और उसकी पीठ को दांतों से काटने लगा।हरकेश भी उसकी कमर को पकड़ कर उसके चूचों को चूम रहा था। सुमन भी पूरे जोश में आ चुकी थी, उसकी आंखों में नशा और हवस साफ-साफ दिख रही थी.

फिर कुछ देर बाद भैया ने उनको हाथ पकड़ कर उठाया, तो मैं समझ गया कि भाभी की चूत कुछ ज्यादा ही चुद गई थी, जिससे भाभी चल नहीं पा रही थीं.

तभी पापा की नींद खुल गयी और उनके चेहरे पर कई महीने बाद मुझे एक मुस्कान दिखी तो मैं अपना सारा दर्द भूल गयी.

खाना खाते समय मैंने खाने की तारीफ की, तो वो बहुत खुश हुई और बोली- थैंक्स सर. अगले दिन सुबह उठे तो मेरा लण्ड पर जगह जगह पड़े हुए नील बहुत गहरे हो चुके थे और बहुत दर्द हो रहा था. भाई बहिन की सेक्सीमेरे जबड़े का भी दर्द गायब हो गया … जो कि उसके मूसल लौड़े को चूसने की वजह से हो रहा था.

उसकी चूत के रस चूसने के मजे लेने के साथ-साथ उसकी चूत से निकलती हुई महक का भी मैं मजे ले रहा था. करीब रात 11:30 बजे उसका फोन आया और उसने कहा- तुम जल्दी आ जाओ, सब सो रहे हैं. मैं भी बोला- हां कैसे करेगा … मुकेश जो है … मुझे सब पता है, हफ्ते में दो बार आता है … सब देखा है मैंने.

जिस दिन तुमको मैंने पहली बार स्कूल में देखा था उसी दिन से तुम मेरी नजर में चढ़ गयी थी. मैं धीरे धीरे अपना बायां हाथ नितम्बों की दरार के साथ साथ नीचे की ओर ले जाने लगा.

तो कभी दाँत से कूल्हों को काट लेता या फिर कूल्हों को मम्मों की तरह मींजने लगता.

सारा जो दिलिया के ओंठ और जीभ चूस रही थी, उसने मजा दुगना कर दिया था, ऐसा लग रहा था जैसे कोई लण्ड चूत में पेंच की तरह जा रहा हो. कुछ ही देर में मेरे हाथ अपने आप ही उसकी चूत को ढूंढते हुए नीचे चले गए. जब मैं बाहर आया तो साना भी शावर लेने के लिए बाहर मेरा इंतजार कर रही थी.

हीरोइन सब का फोटो मौसी का इशारा पाते ही मैंने मेज़ पर रखे सामानों को धीरे धीरे उस पर से हटा दिया और मेज़ के आस पास पड़े चीजों को भी हटा कर थोड़ी जगह बना ली. हम दोनों चुदाई करते करते इतनी मदहोशी में डूब गए थे कि हम दोनों को ये भी पता नहीं चला कि शाम कब हो गयी.

मुझसे कण्ट्रोल नहीं हुआ, तो मैंने उसे झट से लिटा दिया और उसके ऊपर जाके उसकी चूची चूसने लगा. मैं अपनी पत्नी अंशु की चूत चाट रहा था और उसके यार से गांड मरवा रहा था. इनके जिस्म पर पड़ती हुई अकड़न संकेत देने लगे थे कि कभी भी उनका लंड उल्टी कर सकता है.

सेक्सी गेम व्हिडिओ

उन्होंने मुझसे मोबाइल नम्बर मांगा और रात को मोबाइल चालू रख कर सोने को कहा. वो मेरे ऊपर चढ़ गया था और मेरी चूचियों को दबाते हुए मेरे होंठों को चूसने लगा. मैंने निहारिका से कहा कि मतलब तेरे पति ने तुझको प्रेग्नेंट कर दिया है और अब वो तुमको कई महीने नहीं चोदेगा.

और अन्दर का नजारा देखा कर मेरे होश उड़ गये … अन्दर कोई और नहीं मेरे ससुर और उनकी सगी बेटी यानि कि मेरी ननद सुमीना थी. उसने मुझसे एक ही बिस्तर पर थ्री सम चुदाई के लिए कहा, तो मैंने हां कर दिया.

मैंने अपने एक हाथ से दीपिका के पेट का निचला हिस्सा सहलाना शुरू किया तो दीपिका बोली- आह्ह … स्सस … आई … फिर … चुदवाने का दिल कर रहा है.

मैं भी उसका साथ दे रही थी और हम दोनों लोग एक दूसरे को किस कर रहे थे. ”नीतू इधर तुम अपनी जवानी के जलवे बिखेर कर मुझे सता रही हो और उल्टा मुझे ही कह रही हो कि मत सताओ. मुझे लगा कि मुझे अपनी बेटी की चूत पर थोड़ी चिकनायी लगानी पड़ेगी, तभी उसके बाप का लंड उसकी चूत में जा पायेगा.

मैंने ब्रा उसके हाथों से ली और नाक के पास ले गया। उसमें उसके परफ्यूम की खुशबू आ रही थी। मैंने एक लंबी सांस ली और उसे अपने अंदर उतार लिया. बस राज बस! मेरे लिए आपकी आँखों में आंसू आये, मैंने दोनों जहां पा लिए. और साथ ही मैंने मोनू की बात सुन कर कहा- अच्छा … तो फिर आज फिर फाड़ देते हैं इसकी गांड!सीमा लंड चूत में डलवा कर सिसकती हुई बोली- उफ्फ … सालो, जो कर रहे हो पहले वो कर लो.

हमने बहुत कुछ खाया बहुत पिया … और फिर से 2 दिनों तक लगातार बस यही सफर चलता रहा.

इंडियन में सेक्सी बीएफ: कोई भी काजल को एक बार देख लेता, तो उसे बिना छुए छोड़ने का मन नहीं होता. उन्होंने जो नाईटी पहनी हुई थी, उससे पूरा सिनेमा साफ साफ नजर आ रहा था.

अब इस बार बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा, जो है वो भी जाता रहेगा और आज इतना मजा आएगा पूछ मत. रिया की गांड चुदाई करते हुए रमेश उसकी गांड पर थप्पड़ मार मार कर पूरी लाल कर देता था. अंकल के हाथ हटते ही मैंने जोर की सांस ली और अंकल के ऊपर चिल्लाने लगी- अंकल … आप बहुत बुरे हो … मुझे कितना दर्द हो रहा है.

फिर जैसे-जैसे वो अपनी थाप को बढ़ाती रही तो थप-थप की आवाज से कमरा गूंज उठा.

अचानक मीना के बदन में कंपन होने लगा और वो ज़ोर से मेरे लंड को पकड़ कर निढाल हो गयी. सीमा ‘उन्ह आह्ह् सीस सीसी उफ्फ … चोदो अह्ह्ह मैं गयी … उफ्फ …’ करने लगी थी. एक तरफ वे मेरे गालों पर किस कर रहे थे, तो दूसरे हाथ से मेरा स्तन दबा रहे थे और निप्पल भी सहला रहे थे.