बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ लुगाई

तस्वीर का शीर्षक ,

संगीत को चोदा: बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ, वह बोली- सर, देख लिया, अब बदल लूँ?मैं- इंटरव्यू में फेल होना चाहती हो क्या?फ़लक ने नीचे का हाथ हटाकर अपना मुँह छिपा लिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो 3gp

इस सब मैं वो कामयाब भी हो रही थी क्यों उसको निखिल के पैंट के उभार को देख कर पता चल रहा था. बीएफ पिक्चर व्हिडिओ पिक्चरमैं बोलना चाहती थी- मुझे चोदो!मेरी बेटी के यार के लंड से मेरी चुदाई आपको कैसी लगी?आप मुझे मेल करना न भूलें.

एक बार मैं उनके घर के सामने से निकला तो अंदर से ब्लू फिल्म की आवाज आ रही थी. बीएफ चाहिए वीडियो में हिंदी मेंवहां काफी देर घूमने और कुछ झूले झूलने के बाद हम दोनों वहां से निकल आए.

मैं भाभी से उनकी गांड चटवाई और इसके बाद लंड के सुपारे को ताई की गांड के छेद पर रखकर एक धक्का दे दिया.बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ: आंटी जोर से हंसी और बोलीं- तू क्या … तेरा तो अब सब कुछ बड़ा हो गया होगा.

मैं आपको उनके बारे में बता देता हूँ ताकि आपको भी उनके हुस्न का अंदाज लगाने में आसानी हो.मैंने धीरे से उसके दोनों गालों को अपने हाथों से पकड़ कर उसके गाल को चाटा.

कुत्ते और लड़की की बीएफ पिक्चर - बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ

उसने अब धारा को चूमना भी छोड़ दिया था और बेसब्री से उसके ब्लाउज़ को निकाल फेंकने की तरकीब ढूँढ रहा था.मैंने पूछा- क्या हुआ मना क्यों कर रही हो आप?उन्होंने बताया कि उनकी चूत को आज तक किसी ने भी हाथ से नहीं छुआ है.

वो मेरी गांड मारने के लिए भी कह रहा था मगर मैंने उससे अपनी गांड नहीं मरवाई. बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ मैं एकदम से उस दूध वाले के लंड पर टूट पड़ी और इतनी शिद्दत से उसका लौड़ा चूसा कि वो कुछ ही मिनटों में झड़ गया.

मैंने भी फरियाल से कहा- जान मेरा भी निकलने वाला है … कहां लोगी?फरियाल बोली- आह … तुम मेरी चूत में ही निकाल दो और मेरी चूत की प्यास मिटा दो.

बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ?

फिर मैं उसको बोली- चल कोई नहीं, तू चूत में डाल ले!तो वो बोला- मैं आपको बिना कंडोम के चोदना चाहता हूँ. उसने आते ही मेरी दोनों टाँगें अपने कंधों पर रख ली और मेरी चूत में लंड उतार दिया. वो हंसने लगी और उसने नौकरानी को आवाज लगा कर उसे बोला- शारदा, हम दोनों का खाना लगा दो.

मेरी गांड अभी तक सील पैक थी, मेरे मन में आता था कि कोई मर्द उसको भी अपने फौलादी लंड से फाड़ दे और मेरे दोनों छेद चालू कर दे. इंडियन कॉलेज गर्ल Xxx कहानी में पढ़ें कि एक लड़की को पड़ोसी लड़के के कमरे में पोर्न फोटो मिली. अनिकेत- क्या बकवास कर रहा है तू?विवेक- मेरे पास फोटो भी है, अगर कहो तो अभी दिखाऊं?अनिकेत ने मेरी तरफ देखा और फिर बोला- नहीं, रहने दे.

थोड़ी देर घुसाने की कोशिश के बाद जब लंड अन्दर नहीं गया, तो मेरे कान के पास आकर बोले- तुम बहुत प्यारे हो मुझे माफ़ कर दो. एक दिन मीरा नहा रही थी, तब उसने जानबूझ कर निखिल को अपने कमरे में कुछ देने के लिए कहा. ऐसा बोलकर वो बेड पर बैठ गईं और मेरा सर अपनी जांघ पर रख कर अपना एक चुचा मेरे मुँह में दे दिया.

धारा- ऐसी बात नहीं है … वैसे आप दोनों की बातों में कुछ नया नहीं है जो मैंने पहले ना सुनीं हों या नहीं पढ़ा हो. आंटी की इतनी तेज चीख निकली कि आस-पास वालों को पता चल गया होगा कि इनके घर में आज चुदाई चल रही है.

इस समय मुझे मां का मुलायम नर्म पेट अपने पेट पर टच होते हुए महसूस हो रहा था.

हमारी लम्बी चली चुदाई में आशारा पस्त होकर ऐसे लुढ़क गई कि उसकी नींद ही लग गई.

मैंने भी लिख दिया- मुझे बड़ी ख़ुशी होगी कि मैं आपकी बदन तोड़ सेवा कर सकूँ. जींस में मेरी मटकती फूली हुई सी गांड और कसी शर्ट में बाहर को निकलने को आतुर मेरे मम्मे सभी के लंड खड़े कर रहे थे. थोड़ी देर बाद शीना भी आ गयी, उसने मुझे गुड इवनिंग बोला और इशारे से वीडियो के बारे पूछा तो मैंने अपना अंगूठा दिखा कर उसे बता दिया कि मिल गया वीडियो.

तब जो दिल में दिमाग में हो वही आदमी हकीकत में भी करने से पीछे नहीं हटता है. निखिल- मेरी जान अब मैं आ गया हूं, तुम किसी भी बात की चिंता मत करना. ज्योति उसकी तरफ मुँह फाड़े देख रही थी- तूने अपनी दीदी की चुदाई भी देख ली?स्नेहा- हां … और मैंने अपनी बुआ की बेटी की चूत भी कई बार देखी है.

मैंने खुश होकर तुरंत उसको फ़ोन किया और थोड़ा डांटा- इतने दिन लगा दिए … तुम्हारे बिना मेरा दिल ही लग रहा था.

जिससे मेरे भी मुंह से ह्म्म्म … ह्म्म्म जैसे आवाज आ रही थी।नीतू अभी तक आँखें बंद करके चुद रही थी. वो इतने अच्छे से लंड की चुसाई कर रही थीं कि जैसे प्रोफ़ेशनल रंडी हों. मैंने अपने कपड़े उतारे और उसके दिए कपड़े पहनने ही वाला था कि मेरी नजर बाथरूम के खुले दरवाजे से उसके ऊपर चली गई.

ये मेरा पहला अनुभव था … पहले तो मुझे बहुत अजीब सा लगा लेकिन फिर उसमें मुझे मज़ा आने लगा. वो बोला- आपको किसी चीज़ की ज़रूरत हो और मैं उसको पूरा न करूं … ये मुझसे नहीं हो सकता. संगीता सर मोड़ कर बड़ी गौर से मयंक के लौड़े को देख रही थी और मेरे लौड़े को अपनी चूत में घुसाए हुए उचक रही थी.

मैंने थोड़ा साइड में सरक कर देखा, तो मां सोई हुई थीं और मुझे गर्मी लग रही थी क्योंकि थोड़ी बारिश के कारण लाइट चली गई थी.

मेरे और मयंक के लंड से ढेर सारा गर्म माल निकला, जो संगीता की जीभ और मुँह पर जा लगा. पता नहीं धारा क्या जवाब देगी, कहीं वो भी मुझे बाक़ी मर्दों की तरह बस वासना का भूखा तो नहीं समझ लेगी?शेखर के दिमाग़ में ये सवाल कौंधने लगे थे और उस वक़्त उसकी हिम्मत ही नहीं हो रही थी कि स्क्रीन की तरफ़ देखे, भले ही धारा ने कोई जवाब दिया भी हो!थोड़ी देर तक अपनी नज़रें स्क्रीन से बचाए रखने के बाद शेखर ने अब वापस स्क्रीन की तरफ़ देखा तो फिर से वही रात वाली घटना घटी.

बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ तो दोस्तों कैसी लगी मेरी हॉट वुमन सेक्स कहानी … अगर कोई गड़बड़ हुई हो, तो माफी चाहता हूं. उसकी बीवी की मादक आवाज सुन मुझे अंदाजा हो चुका था कि वो कितनी गर्म और जोशीली है.

बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ दूसरे दिन से नगर वाले एक एक करके अजय के घर में आने लगे और सब लोग प्रियंका की चुत चोदकर उसमें अपने लंड का पानी डालने लगे. ये 18 साल की 32-26-32 का कातिल फिगर और मटर के दाने जितने पिंक निप्पल हैं.

ये कह कर भाभी मेरे पास आईं और मेरे लोअर के ऊपर से लंड पर हाथ रख दिया.

बीएफ सेक्सी बीएफ वीडियो बीएफ

ये देख कर मेरे अन्दर और जोश आ गया और मैंने आंटी का चेहरा पकड़ कर अपना पूरा लंड उसके गले तक उतार दिया. जब उसे फुल मजा आने लगा तो मैंने स्पीड बढ़ा दी और पन्द्रह मिनट बाद उसकी गांड में पानी छोड़ दिया. परीक्षा के बाद गर्मी की छुट्टी हो गई थीं तो हम लोग ज्यादा नहीं मिल पाते थे.

अरुणिमा[emailprotected]लेडीज़ टेलर सेक्स कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 4. पहले अपनी उंगली से उनकी चूत को सहलाया और धीरे धीरे चुत में उंगली करने लगा. फिर अचानक से दीदी मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं और मेरा लंड अपनी चूत में खुद सैट करने लगीं.

थोड़ी देर बाद उसकी पाजामी निकाली तो सामने आयीं उसकी गोरी जांघें और लाल फूलदार पैंटी जो चूत के रस से भीग चुकी थी.

भाभी ने एक सेकंड के लिए मेरे लंड को ज़ोर से पकड़ लिया … फिर छोड़ दिया. मैंने उसके हाथ से ग्लास पकड़ने की कोशिश की, लेकिन उसको ये दर्शाया कि मेरा हाथ गंदा है और मैं ग्लास नहीं पकड़ सकती. मैंने अपनी पूरी स्पीड पकड़ ली और धकाधक पूरा लंड पीछे खींच खींच कर अंदर चाची की बच्चेदानी तक घुसाने लगा.

मेरे दिमाग में बार बार भाभी का वो ही रूप सामने आ रहा था, जब भाभी मेरा लंड चूस रही थीं. मैंने पहला सिप लिया और कहा- आह … वाकयी भाभी, चाय बहुत बढ़िया बनी है. मैंने सारा माल भाभी के मुँह में ही छोड़ दिया और भाभी सारा माल पी गईं.

अबकी बार मैंने बोला कि आपको किससे बात करनी है आप बार-बार फोन क्यों कर रहे हो?उधर से आवाज आई. मेरी धीमी गति से रीतू की बेचैनी बढ़ने लगी और अपने शरीर की हलचल पर काबू पाने के लिए उसने मुझे कसके जकड़ लिया.

मैंने कहा- आपकी कोई रिश्तेदार नहीं है, जो बिल्कुल आपकी तरह हो दिखने में!मोना भाभी बोलीं- हां है तो एक. सुनीता ने आगे होकर मेरे लंड के अचानक हुए हमले से बचना चाहती थी लेकिन मेरी पकड़ के मजबूत होने की वजह से वैसा नहीं कर सकी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की दीवारों को चीरता हुआ उसकी गहराई में समा गया. मैंने आगे से चाची की चूचियों को पकड़ लिया जिससे चाची बिल्कुल गठरी की तरह मेरी बांहों में आ गई.

वो दस मिनट कूदने के बाद झड़ गई और बगल में लेट गई।मैंने उसे डॉगी स्टाइल में होने को कहा.

वो हंस दिया और बोला- तो आज हम से मिल लो, मैं अपने रूम में अकेला ही हूँ और उद्घाटन समारोह भी अच्छे से करूंगा कि इससे बड़े बड़े लौड़े भी अपनी गांड में लेने के लिए तुम्हारी गांड मचलने लगेगी. मैं तेल लेकर वॉशरूम में गया लेकिन थोड़ी देर बाद निकल कर बोला- मैं नहीं लगा पा रहा. वो कुछ बड़बड़ाते हुए अपना इंचीटेप निकालने लगा और मुझसे बोला- सीधी खड़ी हो जाओ … तुम्हारा नाप लेना है.

फिर तीनों दोस्तों और अजय ने मिलकर प्रिया की चुत गांड को चोदकर उसकी आग बुझा दी. मगर मेरी मां की चुदी हुई चुत ने मेरे दोस्त सैम का लंड अपनी चुत में जल्दी ही एडजस्ट कर लिया.

शेखर झट से उठा और एक नीली जीन्स और सफ़ेद रंग की टी-शर्ट डालकर बढ़िया सा परफ़्यूम मार कर अपने फ़्लैट से बाहर निकल गया. पांच मिनट बाद वह एकदम नॉर्मल हो गई और उसने अपनी गांड हिला कर मुझे इशारा कर दिया. तभी उन्होंने मेरी टीशर्ट को ऊपर उठाया और देखा मैंने ब्रा नहीं पहनी है.

हिंदी में बीएफ अच्छी वाली

धारा की चूत में शेखर का लंड अब भी वैसे ही था, अटका हुआ … उसने अपना आधा शरीर उठाया और टटोल कर धारा की चूचियों को थाम लिया।फिर शुरू हुआ धारा कि चूत का कचूमर बनाने वाला खेल.

फिर मैं वापस बाजार चला गया और बाजार से सब्जी एक बड़ी पोलीथिन में ले आया. मैं तुरंत मम्मी के पास गई और बोली- शादी तो आज ही है … और मेरा सूट भी नहीं सिल पाया है. अब आगे सेक्स विद माय स्टेप मॉम:जैसे ही मेरा लौड़ा चुत में घुसा, मैंने उसी पल एक बार पूरी ताकत से एक और शॉट मार दिया.

मैं आपको देविका जी ही कहूंगा।फिर मैंने पूछा- क्या प्रॉब्लम आ रही है देविका जी आपको एप्लीकेशन यूज करने में?मैंने हाथ सेनीटाइज करते हुए उससे पूछा. मैंने लंड भाभी के मुँह से लगा दिया और सारा वीर्य भाभी के मुँह में ही छोड़ दिया. छोटे-छोटे बच्चों का बीएफजाते हुए वे मुझे बोलकर गए हैं कि पीछे से उनका डॉगी अकेला रहेगा और वैसे भी उस एरिया में चोरियां होती हैं तो रश्मि को वहाँ दो तीन दिन के लिए भेज दिया जाए.

दीदू आपने ममता की सिर्फ भोसड़ी ही देखी है … या उसकी चुदाई होते भी देखी है?नेहा- तुझे पता है, ममता एक नंबर की पक्की छिनाल है, साली एक बार तो उस कुतिया ने तो मुझे पकड़ लिया और मेरे दूध दबाने लगी थी … निप्पल चूमने चाटने लगी थी. खासकर मैं कम उम्र के नए नए जवान हुए लड़के से मेरी चुदाई करवाना चाहती हूं.

इसी तरह उस भीड़ को पार करते हुए शहज़ाद का लंड मेरी गांड से बार बार टकराने और रगड़ने के कारण एकदम टनटना गया और मुझे कुछ ज्यादा ही गड़ने लगा. लेकिन वो सोच में पड़ गयी कि रितेश को इस खेल में शामिल करने में दिक्कत हो सकती है. पर लगातार लंड हिलाने की वजह से और उनके मेरे निप्पल के चारों ओर ऊपर जीभ फेरने की वजह से मैं चरम पर आ गया और झटके से जब तक अपना मुँह नीचे लंड की ओर किया, तब तक पहली पिचकारी उनके माथे और नाक पर गिर चुकी थी.

झटके मार मारकर मैं थोड़ा सा रुक कर खुद को सामान्य करने लगा तो नेहा ने खुद ही आगे पीछे होते हुए कमर हिलानी शुरू कर दी. मयंक अब संगीता के ऊपर जोर लगाकर लेट गया और उसकी दोनों चूचियों को दबाने लगा. मैं ऐसे ही धक्के लगाते रहा, फिर वो झड़ गई और 2 मिनट के लिए निढाल हो गई.

[emailprotected]हॉट यंग इंडियन चुदाई कहानी का अगला भाग:गांव की कमसिन कली की चुत का मजा- 2.

अब वो पूरी तरह से गर्म हो गयी थीं लेकिन मैं अभी उनको और ज्यादा गर्म करना चाह रहा था. मुझे अपने चेहरे पर तो उसी बुर्के का दुपट्टा बांधना था, तो मैं सिर्फ वही पहन कर तैयार हो गई.

उसकी बातों से लग रहा था कि उसके दिमाग में मेरे लिए बहुत कुछ चल रहा है. चाय पीते पीते मेरे दिमाग में एक आइडिया आया और मैंने थोड़ी सी चाय अपनी पैन्ट पर गिरा दी और ऐसे एक्टिंग की, जैसे मेरी जांघ के पास से जल गया हो. अब उसका लन्ड अंदर जाने के कुछ देर बाद समीर ने मुझे धक्कापेल चोदा और करीब आधे घंटे बाद उसने फिर से हम दोनों को अपना वीर्य रस पिलाया.

यूँ अचानक से शेखर को दौड़ कर अपने कमरे में जाते हुए देख कर रघु भी एक पल को चौंक सा गया और शेखर को पीछे से आवाज़ लगायी- अरे क्या हो गया शेखर भैया? इतनी जल्दी ऑफ़िस से वापस आ गए और यूँ हड़बड़ा कर कहाँ दौड़ रहे हैं?शेखर के ऊपर तो मानो कोई भूत सवार था, उसने रघु की बातों पर कोई ध्यान ही नहीं दिया और सीधा अपने कमरे में जाकर बिस्तर पर अपने लैपटॉप के साथ पसर गया. मैंने कहा- अरे मैं तो सोच रहा था कि इसको स्वाद ले लिया होगा!वो मेरी तरफ आंखें तरेरते हुए बोली- साले, मैं अब तक कुंवारी हूँ. मेरी चूत से एक का स्पर्म रिस रिसकर निकल रहा था और दूसरा मेरी गांड मार रहा था.

बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ मीरा से इस दृश्य को देख कर रहा नहीं गया और वो अपनी चुत में उंगली करते हुए वहीं झड़ गयी. मीरा की गांड उसकी चुत से काफी टाइट थी, तो निखिल जल्दी ही उसकी गांड में झड़ गया.

भोजपुरी बीएफ वीडियो चाहिए

अब आपको मेरी कलम से और भी सेक्स कहानियों का पैक देखने को मिलेगा क्योंकि मैंने अभी तक कुछ कहानियां साझा नहीं की हैं … पर अब करूंगा. मैं- तो आप इतने दिनों तक कैसे रहती हो?भाबी- क्या करूं … मन तो बहुत करता है. तब मैंने लकी की गांड में तेल लगा दिया और अपने लंड पर तेल लगा कर उसकी गांड में डालने लगा.

इतने में सूरज भईया बोले- मोना ये तुम्हारा देवर और मेरा ख़ास दोस्त जैसा भाई. धीरे धीरे निखिल के लंड की चाहत को भी मीरा समझ गयी थी क्योंकि जब भी वो ऐसी कोई हरकत करती तो निखिल का लंड फूल कर उसकी इस क्रिया का अभिवादन करने लगता था. बीएफ कोलकाता कामीरा ने लंड को अपनी चुत में ले लिया और लंड चुत में लेते ही उसने मादक सीत्कार निकाल दी.

तभी मैं उसके पास गई और उसके होंठों पर एक जोर का किस किया और कहा- जाकर चुपचाप अपनी जगह पर लेट जाओ.

मैंने देखा कि अमित की हालत तो उन तीनों में सबसे ज्यादा खराब हो गई थी. तभी धारा ने एक मैसेज भेजा- तो आपका नाम शेखर है?शेखर चौंक गया!उसने ललित को अपना परिचय दिया था यानि सिर्फ़ ललित को ही पता था कि उसका असली नाम शेखर है, वरना उसकी आइ.

”जी हां सही सोचा बहनो … मैंने भाभी की चुत पर लंड फिरा कर गांड में डाल दिया था, जिससे भाभी को झटका लगा. वो कहने लगी- ये कहां से पटा लिया तूने?मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश हो रही थी. अब मैंने भी उसको फ्रॉक निकालने के लिए बोल दिया तो उसने एक डोरी खींची और बेबीडॉल को निकाल दिया.

मैंने एक दो बार उससे बात करने की कोशिश की मगर उसकी तरफ से रूखा रवैया देख कर मैंने कुछ भी नहीं बोला.

मैं दिखने में एकदम ऐसी सेक्सी और हॉट थी कि कोई बूढ़ा भी मेरी ठुमकती जवानी को देख ले, तो उसका लंड भी खड़ा हो जाएगा और उसका मुझे चोदने का मन करने लगेगा. ” घुटी हुई आवाज़ में दर्द दबाते हुए उन्होंने फिर से बात बदलने के लिए कहा. मैंने प्रभा की मम्मी से बात की और उनको बताया कि हम दोनों साथ में कॉलेज जाएंगे और एक साथ ही वापस आएंगे.

सेक्सी नंगी बीएफ दिखाएंजब मैंने उसको अपने शरीर में ऊपर से बांधा, तो वो इतना झीना कपड़ा था कि उसमें मेरा शरीर पूरा दिख रहा था. मैंने भाभी से पूछा- अब क्या इरादा है?तो उन्होंने कहा- साथ में शॉवर लेते हैं.

सी हिंदी बीएफ

मैंने दूध मसलते हुए कहा- भाभी अब आप कुछ नहीं बोलोगी, मुझे मेरे मन की कर लेने दो. हालांकि मैंने अपनी लाइफ में सिर्फ 2 बार ही गोली खायी है वो भी मेरे भाई साहिल के साथ सेक्स करने के बाद!मेरी हाँ मिलते ही वो खुश हो गया और उसने अपने लंड से कंडोम निकाल दिया. वो बोली- कितने सवाल करते हो, तुम्हें तुम्हारा गिफ्ट चाहिए या नहीं!इस पर मैं कुछ नहीं बोला और एक हल्की सी स्माइल करके चुप ही बना रहा.

मैसेज का टाइम देखा तो पता चला कि बस 15 मिनट पहले ही उसने मैसेज भेजा था लेकिन फिलहाल वो थी ऑफ़-लाईन. उसके होंठों के निशान अपने गाल पर देखकर मैं भी मुस्कुरा दिया और थोड़ा गुस्सा भी हुआ. मुझे बहुत गर्म लग रहा था, मैं कह नहीं सकता कि मुझे कितना मज़ा आ रहा था … बहुत उत्तेजित था.

तभी मेरी नज़र दरवाजे की तरफ गयी क्योंकि दरवाजा हिलता हुआ सा प्रतीत हुआ. एकदम मजबूत मर्द की तरह वो रीमा को चोद रहा था और फ़च फ़च की आवाज़ आ रही थी. काफी लम्बी चुदाई के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने बोला- मेरा माल आ रहा है … रस कहां लेगी मेरी रंडी!आंटी बोलीं- मुझको बच्चा चाहिए तेरे से क्योंकि तू दिखने में हैंडसम है.

उसने लोगों को दिखाने के लिए दस कदम से दौड़ लगाई और नजदीक आकर सिर्फ एक झटके में लंड चुत में घुसा दिया. मैंने उनके गले में हाथ डाल कर उनको बांहों में ले लिया और भाभी को अपने प्यार का अहसास कराया.

ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैंने भाभी से बोला- भाभी में झड़ने वाला हूँ, मलाई कहां निकालूं?भाभी बोलीं- मेरे मुँह में छोड़ दो … मुझे आपका माल पीना है … बहुत टेस्टी है.

इसी वजह से अचानक से मां की आंख खुली और वो एकदम से मुझसे अलग हो गईं. ब्लू बीएफ मूवीसज्योति- हट बेशर्म … सब लोग हैं यहां बस में … कोई देखेगा तो क्या सोचेगा?चिराग- बस इतना प्यार करती है मुझसे? और रही बात किसी के देखने की … तो कोई हमें नहीं देख रहा. बीएफ छोटी लड़की वालीबस अनायास ही मेरे होंठ उत्तेजना और शर्म के मारे कांपने लगे और इसी कश्मकश में पता नहीं कब, मैंने उनके अंडे जैसे बड़े गुलाबी सुपारे को मुँह में ले लिया. दिनकर के झड़ते ही प्यासी रोमा उठी … और वो प्रिया के साथ गगन से किस करने लगी.

अब वो रोज जब सेंटर आती तो अपने और मेरे लिए कुछ न कुछ खाने पीने के लिए ले आती।मेरे मन में आशारा के लिए आकर्षण बढ़ता ही जा रहा था.

भाभी भैया के साथ फोन सेक्स कर रही थीं और अपनी चूचियों को सहला रही थीं. शीना के मम्में उसकी माँ से छोटे थे पर कड़क थे, और उसकी ब्रा से आधे से ज्यादा बाहर निकले हुए थे. ”मैंने अब पहली बार लंड चुदाई जैसे शब्दों का प्रयोग किया था, जिससे उनकी आंखों में भी चमक आ गयी थी.

शुरुआत में तो भाभी चुम्बन का विरोध कर रही थीं पर मैंने उनके हाथ पकड़ लिए और बेतहाशा उनके होंठों का रस चूसने लगा. उनका शरीर थोड़ा गठीला जरूर था, पर पूरे शरीर में बाल थे, पेट बाहर निकला हुआ था. मैंने उसे चित लेटाया और उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख कर चूत की फांकों को लंड से रगड़ने लगा.

इंग्लिश बीएफ ब्लू फिल्म सेक्सी

जिसकी भनक मेरी मां को लग गयी थी, जिस कारण मेरी माता जी और पिता जी के बीच दूरियां बढ़ने लगी थीं. मैं बोली- बड़े बेशर्म होते जा रहे तुम!उसी पल उसने मेरी चूचियों को पकड़कर मसल दिया और बोला- क्या चूचियां हैं दीदी. मगर वो बोला- दीदी मैं बड़ा हो गया हूं और आप जिसकी बात कर रही हो, वो भी बहुत बड़ा है.

मैं- तुम्हारा साइज क्या है?फ़लक- 34-32-34मैं- और गहराई?फ़लक- किस चीज की गहराई ?मैं- चूत की!फ़लक- मुझे क्या पता?मैं- आज नापकर बताऊँगा.

धारा- दरअसल कल रात हमारे इंटरनेट ने काम करना बंद कर दिया था इसलिए अचानक ऑफ़-लाईन होना पड़ा.

हर झटके के साथ मामी की आह निकल रही थी जो मुझे मदहोश कर रही थी।इस बार मैं लगभग 20 मिनट तक चोदता रहा और इस दौरान मामी 2 बार झड़ चुकी थी जो मामी ने बाद में मुझे खुद बाताया था।उस रात हमने 3 बार चुदाई की और एक दूसरे से लिपट कर नंगे ही सो गए।सुबह उठा तो मामी रसोई में नाश्ता बना रही थी. धारा की साड़ी और साये की दीवार भी शेखर के लंड को धारा की गांड की दरार को ढूँढने से रोकने में असमर्थ ही साबित हो रहे थे. चुदाई वाली हिंदी में बीएफदोस्तो, आज मैं अपनी पहली देसी हॉट सेक्स कहानी आप सबके बीच लेकर हाज़िर हूँ.

अब आगे हॉट आंट सेक्स कहानी:दूसरे दिन मैंने साहिल को बोला- आज मुझे मार्केट में कुछ काम है तो मैं कंपनी नहीं जाऊंगा. मैंने भाभी की गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे भाभी की चूत थोड़ी ऊपर उठ गई. मानस ने भी सोनम की गांड पर हाथ रख दिए और खुद अपना मुँह उसकी जांघों में घुसा कर किसी भूखे कुत्ते की तरफ लप-लप करके उस रईस जवान रंडी मैडम की चुत पीने लगा.

मैंने पेशाब की और न जाने क्या सोच कर भाई के तरफ का दरवाजा खोल के अन्दर चली गई. उसकी हरकतें मुझे आभास करा रही थीं कि उसे मज़ा आ रहा है।एक पुरुष को क्या चाहिये? यही कि बिस्तर पर वो अपने साथी को मज़ा दे.

इसका नतीजा कुछ देर बाद ये निकला कि वो लड़का मेरे बाथरूम में नंगा हो कर घुस आया.

मैं- रज्जी मेरी तरफ देखो न!रज्जी- हां बोलो?मैंने उनका हाथ अपने हाथों में लेकर उंगलियों में उंगली फंसाते हुए कहा- मुझे सब मंजूर है शोना … आई लव यू जान!रज्जी मुस्कुराती हुई बोलीं- पक्का न!मैं- तेरी कसम जान एकदम पक्का. धारा के 7-8 मैसेज को पढ़ते पढ़ते शेखर ने उसकी आख़िरी लाईन पढ़ी जिसमें धारा ने ये लिखा था कि वो दोपहर को इंतज़ार करेगी. एक दिन की बात है कि मैं और विवेक घर के पीछे बने बाथरूम में एक साथ मस्ती कर रहे थे.

बीएफ हाथी घोड़ा मैं अम्मा से हंसी मजाक करता था तो कभी कभी भाभी भी हंस दिया करती थीं. अब क्या था … वो दोनों मेरी चूत के पास आ गए और मेरी चूत का पानी पीने के लिए आपस में झगड़ने लगे.

उसने मुझसे कहा- मुझको मेरी मां की चुदाई होते देखना बहुत अच्छा लगता है और बहुत मजा भी आता है. धारा- ह्म्म … आप दोनों ने इतनी सारी बातें की हैं कि पूरी पढ़ने में 1-2 घंटे लग जाएँगे. अगले दिन मैं उनकी दुकान पर गया तो अम्मा अपने पोते को ना पढ़ने के कारण डांट रही थीं.

बिहारी बीएफ वीडियो सेक्सी

मानो उन्हें चाटने, काटने, नोंचने और उन पर चांटे मारने का निमंत्रण दे रहे हों।नेहा के मादक जिस्म को देख उससे मिलने को मन और बेचैन हो गया।अब रोहन मेरे साथ सुरक्षित महसूस करने लगा था. स्नेहा ने शरारत से आंख दबाते हुए पूछा- दीदू क्या हुआ था मॉम को?नेहा ने मुस्कुराते हुए बताया- अरे कमीनी मॉम ने अपना पानी छोड़ दिया था. जिसके बाद उन्होंने अपने मुँह को बंद तो कर लिया, पर लम्बे लंड की तेज चोट के दर्द छुपा नहीं पा रही थीं.

लेकिन मेरी मजबूत पकड़ के आगे वो हिल भी न सकी इसलिये अंत में मुझसे कहा- राहुल प्लीज रुक जाओ. आगे क्या हुआ?दोस्तो, कैसे हो सब? मेरा नाम मिथुन दास है और मैं मध्यप्रदेश का रहने वाला हूं।मैं 7 इंच लम्बे और 2.

टॉयलेट में पूरी नंगी बैठी उसकी चुत से अभी भी बूंद बूंद पानी निकल कर जमी पर गिर रहा था.

शायद शेखर को इसका आभास हुआ, उसने खुद को धारा से थोड़ा अलग करते हुए थोड़ा पीछे होकर साये को धारा की कमर से नीचे उतारने की कोशिश की. यकीन मानिए … मैंने महसूस किया कि मेरे देखने से वह शर्म और हया से भर गई और अपना बदन दोनों हाथों से ढकने लगी. इस समय मैं एकदम किसी 18 साल की लौंडिया की तरह सज संवर कर और हाई हील्स पहन कर अपनी बेटी के आशिक़ के साथ रंगरेलियां मनाने को तैयार हो गयी थी.

फिर पास पड़े अपने कपड़े उठाकर उसकी जेब से तीन कंडोम का एक पैकेट निकाला. मैं उनका बहुत सम्मान भी करता था क्योंकि वो बहुत ही सीधे स्वभाव की हैं. मेरे पति के सोने के बाद रात में मेरा नौकर मेरा बिस्तर गर्म करता था.

पहली बार तो आप मेरे घर आई हो, अनजाने में ही सही, लेकिन आपको मैं बिना चाय पिये जाने नहीं दूंगा.

बीएफ भेजें हिंदी में बीएफ: पर मम्मी एक सेक्स के लिए ऐसे कैसे अपने आप को किसी और के हवाले कर सकती है, मेरा मतलब आपके हवाले?मैं- देखो बेटा, ये बात तुम्हारी माँ में ही नहीं, दुनिया की हर ऐसी औरत में होती है, जिसकी सेक्स के मामले में संतुष्टि उसका पति नहीं कर पाता. तो मैं वापस आ गया और भाभी से बोला- आप चलो आज टेस्ट ही करा दो, बस 5 मिनट लगेंगे.

मेरे मुंह से हल्की सी आह निकली लेकिन मैं उनका लंड में पहले भी कई बार ले चुकी थी इसलिए मुझे बहुत ज्यादा दर्द नहीं हुआ. आप सभी से निवेदन है कि कहानी को ध्यान से पढ़ें, बारीकी से आकलन कीजियेगा. चाय पीते हुए मैंने कहा- आप दिन भर घर में अकेली ही रहती हैं, अंकल नहीं आते क्या?वो बोली- नहीं … वो सुबह गए तो रात में 10 बजे ही आते हैं.

जब वो अपनी गांड मटकाती हुई और बलखाती हुई चलती है, तो सच में मेरा मुँह खुला का खुला ही रह जाता है.

शेखर काफ़ी देर तक धारा की चूचियों को ब्लाउज़ के ऊपर से ही मसलता रहा. मैं उनके ऊपर कुछ इस तरह से लेट गया था कि मेरा पूरा शरीर उनके शरीर पर था. उसने कहा- आपकी गांड का क्या साइज है?मैंने कहा- पता नहीं, मैंने कभी नाप नहीं लिया है.