मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो ब्लू सेक्सी वीडियो ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

दिल्ली बीएफ वीडियो: मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ, अनीशा बोली- अपनी बीवी की मारी है कभी?मैंने कहा- मेरी बीवी मुझे गांड नहीं मारने देती.

सनी लियॉन हॉट सेक्सी वीडियो

मैंने इस कहानी को लिखने में बहुत समय लिया है क्योंकि बीच बीच में मैं नैना से फोन पर जानकारियां हासिल करती रही और उसे कहानी में जोड़ती रही. नेपाली लड़की के साथमैं उसकी कमर में हाथ घुमाते हुए बोला- तो क्या हुआ दिल पर किसी का जोर ना चलता.

उसकी गांड की दरार में उसका गाउन घुसा जा रहा था मतलब उसने चड्डी भी नहीं पहनी हुई थी. एक्स एक्स एक्स वीडियो गांव कीजब मैं झोपड़ी के पास पहुँचा तो सुना कि झोपड़ी से कुछ आवाजें आ रही थी ‘अअ अह अआअ अह हम्म्म् ईषष ईईईआआ!’तो मैंने झोपड़ी में झाँक कर देखा तो माँ और मुखिया जी दोनों बिलकुल नंगे थे.

वो सोनम को चरम पर ले गए, जहां सोनम ने अपने शरीर को ढीला छोड़ दिया और पापा से लिपट गई.मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ: उसने खुद ही अपने हाथ से कुर्ती उतार दी और अपने दोनों मम्मे पर मेरे हाथ रखवा कर मसलवाने लगी.

उसके पसीने की खुशबू शब्बो को पागल कर रही थी, उसका एक हाथ अब खुद ब खुद उसकी सलवार के ऊपर से उसकी फुद्दी रगड़ने लगा.दोस्तो, आप सबको मेरी और मेरी बेटी जैसी यंग गर्ल Xxx स्टोरी कैसी लगी?प्लीज़ मेल करें.

मोहन सेक्स - मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ

चुदाई का खेल अपने चरम रोमांच पर था और घचाघच घचाघच चुदाई करते हुए महंत चुत की बखिया उधेड़ रहा था.मैंने आंखें बंद करके चार पांच करारे घस्से मारे और फिर एकदम से लंड बाहर खींच लिया.

एक दिन मैं उसके पास से सब्जी लेने गया तो उसके पास दो दिन पुरानी सब्जियां ही थीं. मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ मैं बाथरूम में नहा रहा था और ये उसको पता नहीं था, उसने अचानक से बाथरूम का दरवाजा खोल लिया और तभी तुम्हारा फ़ोन आ गया.

थोड़ी देर बाद वो उठकर कपड़े पहनने की कोशिश करने लगी लेकिन मेरा लंड एक बार फिर तैयार होने लगा था.

मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ?

अभी कुछ ही देर बीती थी कि मेरी सिसकारियों की आवाज़ से सोये हुए बाबा जी और उनका लौड़ा, दोनों जाग गए. एक बार लंड चूत में लेने के बाद साफिया कामुक होती चली गई और कब उसनेदूसरे लंड से चुदनाशुरू कर दिया, मुझे मालूम ही चल सका. मैं- तभी आप उनको मटका कर चलती थीं न!वो- नहीं, ऐसी बात नहीं … खुद ही वो हिलते हिलते पता नहीं कैसे इतने बड़े हो गए!मुझको लगा कि लोहा गर्म है.

मैं अपनी पूरी रफ्तार से ललिता भाभी को चोदने लगा और लंड अन्दर बाहर करने लगा. उसने मेरे कान कि लौ को हल्के से अपने दांतों से काटकर कहा- अच्छा मैं बदमाश और तुम? तुम्हारे मन में तो लड्डू फूट रहे होंगे ना?मैंने कहा- क्यों … लड्डू क्यों फूटेंगे? तुम मेरे लिए सब कुछ हो, तो तुम्हारी सहेली के बारे में गलत कैसे सोच सकता हूँ. एक रात चूड़ियों की खनक से मेरी नींद खुली पापा मामी को छेड़ रहे थे, सेक्स के लिए कह रहे थे.

उस रात मैं दीदी को सुबह तक चोदता रहा दूसरे दिन दीदी ठीक से चल भी नहीं पा रही थी और हम दोनों रोज ऐसे ही सेक्स करते रहे. बिग गांड वाली भाभी को सेट करके उसी के घर में उसकी चूत मारी, गांड मारी. उसने अपनी दीदी के दोनों पैर हवा में उठा दिए और अपने हाथों में थाम लिए.

दूध वाले ने भी उसके मुँह में लंड डाल दिया और उसके बाल पकड़ कर मुँह चोदने लगा. फिर उसने स्लीवलैस गोल्डन ब्लाउज में से हाथ ऊपर करके अपने अंडरआर्म्स आगे कर दिए और थोड़ा दूसरी तरफ झुक गयी.

उसने अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया था और तेज तेज आवाजों के साथ चिल्ला रही थी- आह मेरे पंडित जी, आह मस्त चोद रहे हो मैं बस जाने ही वाली हूँ … आह और जोर जोर से अपना लंड पेलो … आह आह मैं गई!बस वो झड़ गई और निढाल हो गई.

जैसे ही ब्रा उसके सीने से अलग हुई, उसके बेहद खूबसूरत दूध मेरे सामने थे.

वो मुझे गाली देते हुए बोला- साली रंडी … मेरे होते हुए उसका लंड भी लोगी क्या?मैं बोली- पहले उसे ले तो आओ आप, फिर बात करते हैं ओके. उसे मैंने रुपए दिए और कहा- मैं फ्रेश वहीं स्टेशन पर हो लिया था, अब मैं निकलता हूँ. ‘अअ अअअ सर आराम से चूसिए न … निप्पल पर जीभ आराम से फेरो आह … कितना सुकून मिलता है.

चाची बार बार मना कर रही थीं कि छोड़ो मुझे … नहीं तो मैं चिल्ला दूंगी. चूत में गीलापन हो जाने मेरा लंड फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाज करके जल्दी जल्दी अन्दर बाहर होने लगा था. मैंने ध्यान दिया कि भाभी मेरी उंगली को एक ही जगह आगे पीछे कर रही थी और उसका हाथ पहले से थोड़ा ज्यादा ही तेज़ होता जा रहा था.

मर्दाना कड़क आगोश पाकर चेतना मचल उठी और उसने तनिक भी प्रतिरोध नहीं किया.

पापा नाईटी के ऊपर से ही उसके सीने पर हाथ फेरकर बोले- बहू, अगर तुम चाहो तो आज से तुम को यह समस्या नहीं रहेगी. मैं सांस लेने के लिए गांड से अपना मुँह बाहर निकालता तो सना अपने हाथों से मेरा मुँह पकड़ कर झट से वापस अन्दर डाल देती. मेरी आयशा से न रहा गया और उसने मेरा सिर को पकड़ लिया और अपनी बुर में दबाने लगी.

मुझे चोदने वाले मर्द का लंड मुझे पसंद आना चाहिए और उस वक्त मेरी चूत में आग लगी होनी चाहिए. ख़ास दोस्त को गांड मरवाने का शौक लगामें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी खाना बनाने किचन में थी और हम दोनों दोस्त कमरे में टीवी देखने लगे थे. उनकी गांड पर मेरे अंडकोष लगने से थप थप की आवाज़ तेज हो गई थी और कमरे में चुदाई की आवाज गूंजने लगी थीं.

मैंने जस्सी से पूछा- यार, मुझे और एक इच्छा है … क्या तुम पूरी करोगी?वो बोली- क्या इच्छा है … बोल ना!मैंने बोला- तेरी गोल मटोल गांड मारने की इच्छा हो रही है.

भाभी की चुदाई दूधवाले से करवा दीआज मैं एक और चुदाई कहानी लेकर आई हूँ. मैंने उसकी चूची दबाई और कहा- हां तुमने लंड को रगड़ा था तो मुझे भी मजा आ गया था.

मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ फिर ये बात उस समय की है, जब मेरे और मेरी गर्लफ़्रेंड शनाया के रिलेशन को पांच साल पूरे होने वाले थे और मेरी गर्लफ़्रेंड ने मुझे सरप्राइज़ देने का प्लान किया था. लेकिन मास्टर नहीं माना और उसने अचानक से भाभी की गांड में लौड़ा घुसा दिया.

मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ एक बार उसने दोनों लड़कों से एक साथ चुदवाया फिर मैंने भी दोनों लड़कों से एक साथ चुदवाया. व्यस्तता के दौरान भी मैं अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ने का वक़्त अक्सर निकाल ही लेता था.

इन दो बार की चुदाई से अंजलि कीचूत लंडबड़े आराम से और मस्ती से लेने लगी थी.

सेक्सी बीएफ बड़े लंड की चुदाई

मैं- आअहह मेरी रांड, साली चूस ऐसे ही अपने मालिक का लौड़ा … छिनाल हम्म्म आअह रेशु मेरी जान … आंह. वो मुझे बिल्कुल नोंचे जा रही थी और मैं भी उसके जोश का जवाब अपने जोश से दे रहा था. दीदी- आह चोद दे भाई … आह अपनी बहन को चोद दे … आज मेरी चूत की प्यास बुझा दे.

हॉट आंटी फक़ स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोसियों की शादी में आये कुछ लोग हमारे घर में ठहरे. मेरी आंखें कब नम हो गईं, पता ही नहीं चला, जिसे उसने भी भांप लिया था … और दूसरी ओर मुँह करके खड़ी हो गयी. लौंडा लगा था और ‘दे … दनादन … दे … दनादन अन्दर बाहर … अन्दर बाहर कर रहा था.

रात के नौ बजने वाले थे, अब अमरचंद सुध-बुध खो चुके थे लेकिन अभी भी तकरीबन चार पैग व्हिस्की बची थी.

सविता मेरे काफी करीब खड़ी हुई थी और मेरी नजर उसकी भीगी हुई टी-शर्ट पर थी. मगर दोस्तो, अगले दिन दोपहर में मेरे फोन पर उसने मैसेज किया और दिल्ली से अपने शहर तक आने जाने की टिकट भेज दी. तब नीरजा मेरे पास आई और हम दोनों से बोली- अपनी अपनी आंखें बंद करो दोनों!अब हम कर भी क्या सकते थे.

दूसरा शायद मेरी चूत का स्वाद तुम्हें अच्छा लगे और मेरी कम्पनी को लोन मिल जाए. वो मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी और मेरे लंड में पुनः जान आना शुरू हो गई, तो वो लंड की मुठ मारने लगी. अब मेरे सामने उसका वो चिकना और हरा भरा जिस्म था जिसका मैं हमेशा दीवाना और भूखा रहता हूँ.

अब मेरा दर्द कम हुआ, तो उसने स्पीड धीरे धीरे बढ़ा दी और अपने मजबूत हाथों से मेरे मम्मों को दबाने लगा और निप्पल मींजने लगा. ये सब मैं अपनी देसी वर्जिन गर्ल हॉट स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा.

मेरा आधा लंड उनकी सलवार में घुस गया था लेकिन दीदी मुझसे बात करती जा रही थी. मेरे परिवार में हम चार लोग हैं, मेरे मम्मी पापा, मैं और बड़ी बहन है. उसके हिचकिचाने की वजह शर्म नहीं थी क्योंकि हम एक दूसरे को अच्छी तरह देख चुके थे.

हम दोनों एक ही रूम में रुके तो अनीशा ने मुझसे कहा- वो फाइल अप्रूव करवाने के लिए ये फाइल खुलना जरूरी है.

शैली मामी की आंखों में लाल डोरे तैर रहे थे, पता नहीं क्रोध के थे या वासना के. मुझसे उन्होंने बात की और फाइल रिजेक्ट करने के कारण पूछा तो मैंने उन्हें कुछ कारण बताए. फिर से एक बार मेरे होंठों पर किस किया और फिर से केक को लेकर मेरी गर्दन से लेकर मेरी छाती पर फैला दिया.

तभी एकदम से लिफ्ट रुक गई और गेट खुल गया तो हम दोनों को होश आ गया कि हम बेसमेंट में आ गए. तभी मनीष ने मेरे मम्मों को अपने दोनों हाथों से पकड़ कर एक जोरदार धक्का मार कर अपना लंड मेरी चूत में जड़ तक घुसेड़ दिया.

मैं 3 महीने तक अपने पति से ही चुदवाती रही और किसी ग़ैर मर्द से नहीं चुदवाया. जस्सी ने मेरे लंड पर बहुत सारा साबुन लगाया और बोली- अब देख कैसे सट से अन्दर जाता है. ऐसा करते समय जोर जोर से घर्षण होने लगा था जिससे पच पच की मादक आवाजें निकल कर पूरे घर में गूंजने लगी थीं.

बीएफ सेक्सी किन्नर की

वो दिखने में भी पतला दुबला है लेकिन हॉट लड़की की भूख ये सब भूल चुकी थी.

वीरू का कमरा पहले फ्लोर पर बना था और इस एंगल से देख़ने से शबाना की चूचियां और भी खूबसूरत लग रही थीं. मैंने कहा- तुम जब चाहो फोन कर लेना, मैं तुम्हारी खिदमत में हाजिर हो जाऊंगा मेरी जान. मैंने चादर से ही अपना हाथ पौंछ लिया और आयशा के साथ चिपक कर लेट गया.

फिर भी मैंने अपने आपको काबू में करके एक बार आखिरी कोशिश करने की सोची और अपनी पूरी ताकत से मनीष को अपने ऊपर से हटाना चाहा. फिर मैंने वहीं रूम में रखी क्रीम का डिब्बा उठाया और उसकी चूत पर बहुत सारी क्रीम पोत कर लंड सैट करने लगा. செக்ஸ்வீடியோ டவுன்லோடிங்ये कह कर उसने मेरे बालों को पकड़ लिया और मेरे मुँह को फिर से जोर से चोदते हुए पूरा वीर्य मेरे मुँह में भर दिया.

मुझे रह-रहकर अपने शौहर की याद आ रही थी और उनका मासूम चेहरा मेरे सामने आ रहा था. उसका लौड़ा मेरे पति के लौड़े से मोटा है तो उसे चुदने में मुझे खूब मज़ा आया.

अनीशा बोली- अपनी बीवी की मारी है कभी?मैंने कहा- मेरी बीवी मुझे गांड नहीं मारने देती. वो आंह उन्ह करने लगी और मेरे लंड के सुपारे को अपनी गांड पर महसूस करने लगी. नेकेड सेक्सी गर्ल चुदाई कहानी तीन लड़कियों की है जो आपस में शादी से पहले अपनी चुदाई के किस्से आपस में एक दूसरी को बता रही थी.

दोस्तो, मैं आशा करता हूं कि आप सभी पाठकों को मेरी यह Xxx हिंदी कॉम कहानी पसंद अवश्य आई होगी. मैं बोला- भरोसा करो … अगर भरोसा ना कर सकती, तो मैं अब कुछ नहीं बोलूंगा. अपनी दीदी की इस कमनीय काया को देख कर सुमंत और महंत दोनों काटो तो खून नहीं वाली स्थिति में थे.

मैं- क्या देख रही है कुतिया, चल ऐसे ही घुटनों पर रेंगती हुई मेरे पास आ जा और बता अपने मालिक को कि क्या चाहिए तुझे?रेशमा भी चुदने के लिए बेहद तड़प रही थी.

हम तीन लोग ही रात को घर में थे उनके ड्राइंग रूम में ही फर्श पर गद्दे बिछा कर लेटे थे. आप मुझे इस वर्जिन गर्ल देसी Xxx कहानी पर अपने विचार प्रकट करना न भूलें.

वह कभी अपने होंठों से मेरी गर्दन पर किस करता, कभी अपने होंठ मेरे होंठों पर रख देता. वो बोला- तो बताएं क्या मूड है?मैंने कहा- पहले तो कुल्फी चुसवाने का मूड है. जगह बदल कर मैंने अपने अकड़ रहे लंड को सुमंत के मुँह में चूसने-चाटने के लिए डाल दिया और मैं नीचे अर्चना के टांगों में आ गया.

महंत के मोटे लंड के ऊपर दीदी घोड़ी की तरह ऐसे उठने बैठने लगीं जैसे सातवें आसमान में उड़ रही हों. मैं- लो भाभी, पर भाभी मेरे पास ये सिर्फ एक ही क्रीम की टयूब है, आप किचन में जाओ … और लगा कर वापस दे दो. मैंने उसे अपनी तरफ मुँह करके सीधा लेटने को कहा और मैं उसकी एक टांग ऊपर उठा कर उसकी चूत में फिर से लंड पेल कर फकाफक चोदने लगा.

मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ ये मेरी जिन्दगी का पहला अवसर था जब मैंने अपनी रिश्ते की कुंवारी बहन की सीलतोड़ चुदाई की थी. हॉट आंटी फक़ स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोसियों की शादी में आये कुछ लोग हमारे घर में ठहरे.

एचडी बीएफ देसी वीडियो

मैं पूरी मस्ती में उसके सर पर हाथ फेरने लगा और मेरी सिसकारियां निकलने लगीं. इस सेक्स कहानी को लिखने का मकसद केवल मेरी खुशी जो मुझे हॉट सेक्स विद वाइफ से मिली, को जाहिर करना ही है. मैंने जस्सी को बोला- आह … ये क्या कर रही है … मेरे लंड से पानी निकल जाएगा.

सना ने ये देख लिया और उसने मुझसे कहा- ऐसी गुस्ताखी क्यों … आप हमसे मांग लें, हम खुद ही आपको अपनी बेहतरीन अदाकारी दिखा देंगे. वो आंख दबा कर बोली- हो गया केएलपीडी!मैं हंस दिया और उसे चूम कर मैंने गाड़ी को उसके घर की तरफ मोड़ दिया. वीडियो में सेक्सी चाहिएराज मेरी चूचियां मसलता हुआ बोला- मेरी जान, बहुत मस्त चूत है तेरी मजा आ गया.

खाना बनाने के बाद मैंने नजरें नीचे किए हुए देवर और ससुर को खाना दिया और खाना खाने के बाद अपने कमरे में आ गई.

खूबसूरत औरतों को लंड की कमी इसलिए नहीं होती क्योंकि सब लोग उसे लंड पकड़ाने के लिए आगे पीछे घूमा करते हैं. उसके चूतड़ों के नीचे तकिया लगा दिया ताकि चूत थोड़ा ऊपर हो जाए और लंड डालने में आसानी हो.

मैंने देखा था कि वो दोनों रास्ते में साथ साथ ऑटो में कहीं जा रहे थे. मैंने इंटरव्यू से एक रात पहले श्रेया को बता दिया था कि तुम्हें मेरे साथ चलना है. थोड़ी देर के बाद सोनाली अपनी गांड हिलाने लगी तो मैं अपनी कमर आगे पीछे करके लंड अन्दर बाहर करने लगा.

बाप बेटी Xxx कहानी में पढ़ें कि अपने पापा के साथ सेक्स करने के लिए मैं जानबूझकर उनके सामने नंगी होने लगी थी.

मैंने धीरे से आंखें खोलीं, तो देखा नीरजा ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया था. सविता मेरा हर तरह से पूरा साथ दे रही थी और मैं उसके कोमल बदन को अपने बदन से लपेटे दनादन चुदाई किए जा रहा था. उन तीनों का सफेद सफेद माल मेरी जांघों पर जम चुका था, चूचियों पर भी उनका माल जम चुका था.

इंडियन कॉल गर्लमेरा एक हाथ अब भी उसके छाती पर था, रेशमा को गिरने से बचाने के लिए मैंने अपना हाथ, जो उसके फुद्दी पर था उसे भी उसके सीने पर ले आया और धीरे से बर्थ पर सुलाते हुए पूरे जोर जोर से चोदने लगा. फिर बोली- ठीक है शालिनी, नौ बजे तक मैं रेडी हो जाऊंगी, तुम मुझे अपने साथ पिक कर लेना … बाय.

बीएफ फिल्म सेक्सी दिखाएं

थोड़ी शर्म और हल्की मुस्कान के साथ उसने जवाब दिया- तुम मुझे अपनी गर्लफ्रैंड या अपनी बीवी समझ कर अपने हिसाब से कुछ भी कर सकते हो. लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया और हम दोनों ऐसे ही चूत में लंड डाले सो गए. महंत की पहली ही चुदाई से सगी बहन अर्चना की चुत की धज्जियां उड़ती दिखाई दे रही थीं, इसलिए सबसे छोटा सुमंत को औंधे पड़ी दीदी ने चुत देने से इंकार कर दिया.

मैं दर्द के मारे चिल्लाना चाहती थी लेकिन एक बाबा का लौड़ा मेरे मुँह के अन्दर होने की वजह से मेरी आवाज लौड़े से टकरा कर मुझमें वापस रह गयी. मेरे मुँह से चीख निकल गयी- ओह्ह ओह्ह मां मर गईईई … आह … कोई तो बचाओ आहह … इस जालिम से. फिर मुखिया जी ने अपने लंड और माँ की चूत पर बहुत सारा थूक लगाया और अपने लन्ड को माँ की चूत में डालने की कोशिश करने लगे.

भाभी सेक्स Xxx कहानी में पढ़ें कि फर्स्ट क्लास कूपे में कैसे मैंने एक लड़के के साथ सेक्स की बातें करके उसे सेट किया, फिर घर बुलाकर उसके बड़े लंड का मजा लिया. सरिता हंसती हुई मुझसे मेरे कान में बोली- हर्षद … मेरी दीदी से बचके रहना. वीरू के बदन से आती पसीने की खुशबू ने शब्बो की जवानी की आग फिर से भड़का दी। वीरू ने भी दर्द का बहाना करके शब्बो के भरे हुए बदन पर अपना हाथ साफ़ किया.

जनवरी की ठंड में भी सुबह सवेरे मैंने फ्रेश होकर अर्चना दीदी के हाथ का बने लजीज आलू के परांठे नाश्ता में लिए और रात भर की थकान दूर करने के लिए सुमंत और महंत के साथ वहीं सो गया था. मुझे भी मज़ा आ रहा था और भाभी की भी धीमी आवाज़ में सिसकारी निकल रही थी.

‘आअह साली रंडी क्या मस्त भोसड़ा है तेरा कुतिया, आज से तेरे चूत का असली मालिक हूँ मैं रंडी, उस चूतिये को चोदने दिया तो मां चोद दूंगा तेरी …’ये सब बोलते हुए मैंने उसके कान को हल्के से काट दिया.

नमस्कार दोस्तो, मैं सूरज सिंह, कहानी का अगला भाग लेकर आप सभी के सामने हाजिर हूं. बीवी की चूत की चुदाईभाभी बोलीं- नहीं, बोलो क्या हो जाएगा?उनके पति गर्म हो गए और बोले- खड़ा हो जाएगा. प्लीज सेक्समैं उसे सहारा देकर बाथरूम में ले गया और उसे सलाह दी- एक बार नहा लो. मैंने जब ये सुना तो मैं समझ गया कि मेरी बहन की चूत में काफी पहले से ही आग लगी थी और ये खुद ही मेरे लंड से चुदने मचल रही थी.

मेरे मन में उसकी चुदाई देखने की इच्छा थी। तो मैंने बहन की चुदाई की प्लानिंग की। मैंने उसे कैसे चुदवाया?दोस्तो, मेरा नाम रोहित है। मैं उदयपुर, राजस्थान का रहने वाला हूं।यह कहानी मेरी बहन की चुदाई की है कि कैसे उसके हॉस्टल वार्डन ने उसकी चूत मारी।कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपनी बहन के बारे में बता देता हूं।उसका नाम मानसी है और वो 19 साल की है।मेरी बहन बहुत सेक्सी है.

मैंने भी अपने बारे में हर बात उसे बताई और उसने भी शादी के बाद कि सभी बातें मुझे बताईं. ये कह कर मैंने उसके हाथ से नाइटी लेकर अलग रख दी और उसके बदन से कपड़े उतारने लगा. क्योंकि जिस अनुष्ठान की बात वो कर रही थी उसमें मेरा समय बहुत अधिक लगना था.

उसके कपड़ों की सलवटों को देख कर मैं समझ गया कि ये मादरचोद आज फिर सोनाली के साथ चोदम चोदाई का खेल खेल कर आया है. लगभग नौ बजे मेरी नींद खुली तो मुझे प्यास लगी तो मैं उठ कर पानी पीने आ गया. मैंने अपनी दोनों उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं और साथ में मैं अपने अंगूठे से उसकी चूत के ऊपर वाला दाना सहलाने लगा.

बीएफ पिक्चर हिंदी दिखाइए

मैंने वापस आंटी को बिस्तर पर लिटा दिया और गांड के नीचे तकिया लगा दिया. वो अन्दर से आयी- क्या हो गया … अच्छा नहीं बना क्या?ये कहती हुई वो मेरे सामने ही बैठ गयी. महंत का लंड पहली बार तांडव मचा चुका था इसलिए उसने कोई जल्दबाजी नहीं दिखाई.

मैंने कहा- तो मेरे घर आइये, मैं घर पर 11 बजे आपका इंतज़ार करुँगी।उन्होंने कहा- ठीक है मैं आ जाऊंगा। आज तो संडे है। छुट्टी का दिन है।मैं फिर ख़ुशी ख़ुशी अपने फ्लैट पर वापस आ गई।मेरे मन में खुराफ़ात आने लगी।मैं बाथ रूम गयी और अपनी झांटें वगैरह साफ़ करके खूब मस्ती से नहाया और बाहर आ गई।मुझे मालूम है कि अंकल वाइन लेते हैं तो मैंने ड्रिंक्स का सारा इंतज़ाम कर लिया.

वो काफी सेक्सी माल है, मैंने उसकी फोटो मास्टर के साथ एफबी पर देखी थी.

उसने भी जवानी की आग में मेरे लौड़े से चुदवाने के लिए मेरी सारी बातें मान लीं. आरजू ने जानबूझकर अपनी एक तौलिया में लिपटी फोटो भेजकर जीजा से कहा- सॉरी गलती से आ गई जीजा जी. देसी फुक्किंगअब मैंने ललिता भाभी की पीठ पर हाथ फेरते हुए कहा- अरे भाभी, यह तो मेरा फ़र्ज़ था.

सारा लांछन मेरे ऊपर ही लगा दिया जाएगा और मेरा समाज में जीना दूभर हो जाएगा. मेरी पिछली कहानी थी:उम्रदराज भोसड़े की ठरकये बात दिसंबर के मध्य की है, जब मेरी सेक्स कहानी पढ़कर एक पाठिका ने मुझे ईमेल किया कि मुझे आपकी सेक्स कहानी पसंद आयी है. दस मिनट के बाद मैंने उसके मुँह में अपना वीर्य झाड़ दिया और वो मेरे रस को पूरा पी गई.

एक दिन दोपहर में जब हमारी वीडियो कॉल हो रही थी तो मैंने उससे कहा- तुम्हारी ऐसी कौन सी फैंटेसी है, जो आज तक पूरी नहीं हुई?इस सवाल पर स्नेहा शर्मा गयी, वो एकदम ऐसी लाल हो गयी, जैसे दूध में केसर घुल गया हो. भाई ने मुझे भी इसी वादे पर पूरी बात बताई कि घर पर किसी को मत बोलना.

भाभी बोलीं- आइला … इतना बड़ा लंड … जितना उस दिन देखा था, ये तो आज उससे बड़ा दिख रहा है.

मैं- आहह … हां बेटी … तुम ही मेरी रंडी हो!कुछ पल बाद मैंने अपना लंड रेखा की चूत से बाहर निकाल कर उसके मुँह में डाल दिया. दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीप्राइवेट सेक्रेटरी की रसीली चूत का मजामें पढ़ा था कि मैंने अपनी पड़ोसन रेशमा को अपने ऑफिस में काम पर रख लिया था और उसे मुंबई लाते समय ट्रेन के कूपे में ही पटक पटक कर चोदा था. तभी अचानक से ससुर जी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और एक झटके में मुझे अपनी ओर खींचकर मुझे अपनी गोद में बिठा लिया.

गांड सेक्सी मौसी मेरे लिए नाश्ता बनाकर ले आईं और बोलीं- अजय लो नाश्ता कर ले, मैं खाना बनाने जा रही हूँ. जब रात होती थी और वो गहरी नींद में सो जाती थी तो मैं उसकी गांड पर हाथ फेर देता था; उसके 32 इंच के मम्मों को दबा देता था और सहला देता था.

भगवान ने औरतों को इतना खूबसूरत और हॉट बनाया ही है कि इन्हें देख कर लंड बहनचोद अपने आप खड़े हो जाते हैं. आज मैंने कसा हुआ स्लीवलेस ब्लाउज पहना, साड़ी नाभि से नीचे बंधी हुई थी और ऊंची हील के सैंडल पहन कर मैं एकदम पटाखा माल बनकर गई थी. ये कह कर मैंने उसके हाथ से नाइटी लेकर अलग रख दी और उसके बदन से कपड़े उतारने लगा.

भोजपुरी में सेक्सी फिल्म बीएफ

मैं उनके एक इशारे पर सीधा लेट गया और वो अपने घुटनों पर उल्टी लेट कर मेरे लंड के सामने आ गईं. वैसे मेरी बीवी मार्च के अंत में जाने वाली थी, हमने उसी समय का प्लान किया था कि कहीं बाहर चलेंगे. उसे मेरे दोस्त का लंड मिल नहीं रहा था और पापा के लंड से उसकी चूत की आग भड़क उठी थी.

मैंने अन्दर से कुंडी भी नहीं लगायी और घर के आंग़न में कपड़े उतार कर नंगी नहाने लगी और पापा का इंतज़ार करने लगी. उस रात मैं दीदी को सुबह तक चोदता रहा दूसरे दिन दीदी ठीक से चल भी नहीं पा रही थी और हम दोनों रोज ऐसे ही सेक्स करते रहे.

रेशमा ने भी जोश में आकर मेरे दोनों पैर पकड़ कर मुझे बिस्तर के कोने तक घसीटा और लगभग खड़ा कर दिया.

फोन में से आवाज आई- कौन जान!मैं- जान, प्लीज मजाक मत कर मेरा बच्चा … बहुत नींद आ रही है यार!फोन से फिर आवाज आई- एक बार नंबर चैक करो, फिर बात करो. कोई अपने पति से खुश नहीं रहती, किसी को अच्छा बॉयफ्रेंड नहीं मिलता, तो कोई अलग मजे के लिए मुझे बुलाती थी. मैंने पूछा- यार मजा आ रहा है … कोई परेशानी तो नहीं है, साफ कह देना.

मैंने उसका हाथ अपने हाथ में ले लिया तो उसने दूसरा हाथ मेरे हाथ के ऊपर रख दिया. मैं उसकी चूचियां रगड़ने लगा तो नीता अपनी गांड उठाकर मेरे लंड पर अपनी चूत रगड़ती हुई बोली- अब नहीं रहा जाता हर्षद … तुम जल्दी से अपना मोटा लंड मेरी चूत में डाल दो. मैंने बोला- ठीक है मैं चला जाऊंगा, लेकिन तुम अभी कहां हो?तो उसने बोला- अभी मैं अपने भईया भाभी घर फ़रीदाबाद आई हूँ.

फिर मैंने पूछा- क्या आप मुझे उस दवा का नाम लिख कर दे सकती हो, जो आपने इंजेक्शन से डाली थी?उसने सवाल करते हुए पूछा- क्या आप यहां पर दोबारा ड्रेसिंग करवाने नहीं आओगे?मैंने कहा कि मुझे 3 दिन के लिए चंडीगढ़ जाना है, इसलिए दवा का नाम पूछा.

मराठी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ: उसका फ़ायदा ये हुआ कि मैं रात रात भर में किसी की चुत को 5-6 बार भी चोदूँ, तो कमजोरी नहीं आती है. मेरे ससुर की उम्र 54 साल है और वो शरीर से काफी हट्टे-कट्टे मर्द हैं.

मेरे लंड से इतना सारा रस निकला था कि पर्वी के पूरे शरीर की मालिश हो सकती थी. उस दिन के लिए मैंने अपनी चूत की साफ़ सफाई की; अपने जिस्म को पार्लर में जाकर चिकना करवाया. बिजनेस का काम करने के बाद हम लोग दो दिनों तक मुंबई घूमने के लिए रुक गए.

निकाह के कुछ साल तक तो उसका शौहर उसके बदन के साथ खेल लिया मगर उसकी चूत की आग कभी ठंडी ना कर सका, जैसे तैसे एक लड़की पैदा हो गयी और उसके बाद तो उसने खुद अपने कमजोर शौहर को अपने पास फटकने नहीं दिया.

सोनाली ने झड़ते ही मुझे अपने ऊपर चिपका लिया और साथ में अपने दोनों पैरों से मेरी गांड को कस लिया, मेरे लंड का दबाव वो अपनी चूत पर बनाए रही. जब वह हमारी कॉलोनी में आईं, तब उस समय मैं कॉलोनी में नहीं था, मैं अपने काम के सिलसिले में बाहर गया हुआ था. कार की ड्राइवर सीट पर एक लड़की बैठी हुई थी, जिसने अपना चेहरा दुपट्टे से ढका हुआ था और आंखों पर काला चश्मा लगाए हुई थी.