सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी

छवि स्रोत,முஸ்லிம் பெண் xnxx com

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्ल्यू फिल्म फुल एचडी: सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी, राजीव भगत भी मुझसे बेहद अपनेपन से मिले। अपने ड्रावर से निकाल कर उन्होंने चॉकलेट के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाया।उधर नीना डॉक्टर साहब की तारीफ़ में कसीदे पढ़ रही थी तो डॉक्टर भी कुछ पीछे नहीं रहा.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಸೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂ

कोई इस रसभरी को छू कर न चख ले, इसलिए मैंने कहा- आप बस के पास पहुँचिए, मैं चाय लेकर आता हूँ. भाभी देवर xxxउन्होंने रास्ते में मुझे बहुत सारी खाने की चीजें दिलाईं और हम 3 घंटे के बाद मौसी के घर पहुँच गए.

जब भाभी ने मुझे घूरना बंद नहीं किया तो मैंने सीधे हाथ से कान पकड़ कर फुसफुसा कर सॉरी कहा. ब्लू सेक्सीउसने भी अपनी टाँगें खोल कर मेरे लंड का स्वागत किया और मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के मुंह पर रख दिया और झटका मारा.

तो वो बोला- भाई, मेरे अंदर कोई बीमारी नहीं है, विश्वास कर!मैं बोला- नहीं, विश्वास की बात नहीं है.सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी: बीच बीच में मैं अपनी चुदाई की गति धीमी कर देता ताकि देर तक टिक सकूँ.

मुझसे मामी ने पूछा- नीरज, तू कब तक सोएगा?मैंने कहा- अभी तो मैं टीवी देखूँगा.मैंने जैसे ही उसकी चूत में लंड सटाया, मंजू ने खुद ही झटके से अपनी गांड ऊपर उठायी और लंड चूत में ले लिया.

सेक्सी फिल्म चोदा चोदी वीडियो - सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी

मेरे घर वालों से भाभी ने मुझ रात में सोने के लिए भेजने को बोला और खाना खाने के बाद मैंने और भाभी ने काफ़ी सेक्स किया.उसके आगे अपनी चुत कर दी ताकि वो भी उसका पूरा नजारा देख कर उसमें अपना मुँह मारे.

प्रिया का बायाँ हाथ मेरी पीठ पर कस गया और दायाँ हाथ मेरे सर के पृष्टभाग पर जमा कर प्रिया मुझे ऐसे अपनी ओर दबाने लगी जैसे चाहती हो कि मैं उस के उरोजों में ही समा जाऊं. सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी अब तक नताशा की सुस्ती काफी हद तक दूर हो चुकी थी, और उसने खुद ही उठा कर लिकर का पैग पी डाला.

मैंने काम्या से कहा- मैं अपनी बुर तेरे मुँह पे रख रही हूँ और तेरी बुर पे अपना मुँह.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी?

करीब एक घंटे बाद जब मैं खाना ख़ाकर हॉल में बैठी पेपर पढ़ रही थी तो मुझे व्हाट्ससैप पर एक मैसेज आया. दोस्तो, मैं आपको बताना भूल गया कि हम पहले भी हंसी मजाक और थोड़ी बहुतफोन पर सेक्स चैटकिया करते थे. चुदाई के साथ में 20000 भी मिलने वाले थे, इसलिए वो बोली- तुम परसों का फिक्स करना, मैं कल घर पर अपनी माँ को समझाऊंगी कि कोई खास काम है, जो रात में ही खत्म करना है, इसलिए मैं रात को नहीं आ पाऊंगी.

कामिनी बोली- आह… क्या मजा देते हो राजा… इतनी देर से पेले जा रहे हो मेरी जान… मैं दो बार निकल गई हूँ, अब तो छोड़ दो पिचकारी अपनी!विवेक बोला- आह… छोड़ देंगे… अभी तो लंड के मजा लो. उसकी कामुक सिसकारियां बहुत तेज गूंज रही थीं, पर वहां सुनने वाला कोई नहीं था. मोहन फाल्के पे था और मैं नीचे बैठी थी इसलिए मेरा सर सीधा मोहन की जाँघों में घुस गया था.

उस दिन अर्पिता ने स्कर्ट पहनी हुई थी, जो पानी के कारण ऊपर हो रही थी. पापा ने माँ से कुछ बोला, जो मुझे सुनाई नहीं पड़ा क्योंकि दरवाजा पूरी तरह से बंद था और आवाज़ बाहर नहीं आ सकती थी. उसकी रेशमी, नर्म, मुलायम और घुंघराले झांटों के बीच उसकी बुर तो ऐसे लगती होगी, जैसे घास के बीच गुलाब का ताजा खिला हुए फूल हो.

फिर उसके बाद तो भाभी के नाम की मैंने न जाने कितने बार मुठ मारी।फिर एक दो दिन बाद मैं सुबह सुबह अपने छत पे घूम रहा था, तभी भाभी अपने घर के पीछे आयी और अपनी साड़ी ऊपर करके मूतने के लिए बैठे गयी. दीदी ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी गीली चूत के छेद पर लगाया और मुझे जोर से धक्का मारने को कहा.

मैं दुकान पर गया और एक बड़ा वाला पैकेट कंडोम का ले लिया और साथ में सेक्स उत्तेजना वाली दो गोलियां भी ले लीं.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:चूत चीज़ क्या है… मेरी गांड लीजिए-2.

कहानी तो क्या… यह मेरी जिंदगी की सच्ची घटना है जिसने मुझे कॉल बॉय बना दिया. एकता ने अपनी चुत सहलाते हुए कहा- अकेले अकेले चालू हो गए?डॉली ने कहा- कम ऑन जॉइन अस. जब भी मैं उनके बदन की सॉफ्टनेस को फील करता मेरा लंड और भी ज़्यादा कड़क होता जा रहा था.

मेरी साली की जवान बेटी के साथ सेक्स की कामुकता भरी कहानी के पिछले भागस्त्री-मन… एक पहेली-3में आपने पढ़ा कि प्रिया मेरे घर में मेरे साथ अकेली है, रात हो चुकी है, वो मेरे बेडरूम में मेरे बेड पर है. बहरहाल डॉक्टर को ही मेरी चुदक्कड़ बीवी की पैंटी निकाल कर उसके हाथ में देनी पड़ी. वह आज अस्पताल में होने की वजह से नहाया भी नहीं था इसलिये मस्त गाँव के जवान मर्द की खुशबू उसकी कड़क चुदाई होने का एहसास दिला रही थी.

फिर उसका उल्टा लिटा कर उसकी पैंटी से लेकर बिल्कुल नीचे तक दोनों पैरों पर किस किया.

क्या आप जानते हो क्यों मना कर देती है वो?क्योंकि आप अपनी बीवी का दिल और विश्वास ही नहीं जीत पाए हो… पहले विश्वास जीतो, फिर देखो कि वो खुल के आपका साथ देगी. मैंने पूछा- वो क्यों?वो बोलीं कि अब तक जहां कहीं भी मैंने मसाज़ कराई है, वहाँ पर मेरी मसाज़ लड़की ने की है और पहली बार किसी तुम जैसे जवान मर्द जैसे लड़के ने की है, इसलिए मुझे अच्छा लगा. मैंने हाथ को नीचे करके भाभी की साड़ी उठानी चाही, लेकिन साड़ी भाभी के पैरों में फंसी हुई थी.

फिर हमने थोड़ी इधर उधर की बातें की और तभी उसने सीधे मुझसे कह दिया- क्या तुम मेरे घर पे आ सकते हो. जैसे ही कुछ समय रुक कर निकला तो देखा मैंने बाहर आकर तो मेरी गांड ही फट गई. कपड़े उतारते समय भाभी बोली कि रुको थोड़ी देर आप एक काम करो, किचन में जाओ और वहां से एक कोल्ड ड्रिंक की बोतल लेकर आओ.

रात को खाना आदि खाकर मैं और बिंदु दोनों ही चंदर के कमरे में पहुँच गए.

इस पर पापा ने 50000 रूपए से विक्रम का तिलक कर दिया और इतने ही उसके पापा को भेंट देकर कहा कि यह रिश्ता अब पक्का हो गया है. उसके बाद वो मेरे कपड़े खोल कर मेरे लंड को चूसने लगी और फिर हम लोग 69 की पोज़िशन में हो गये.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी मुझे उन लोगों के घावों में थोड़ा और नमक डालने की इजाज़त दें, जो अपना पैसा इस तरह की ठगी के चक्कर में गंवा चुके हैं. फिर उसने मेरे गाऊन को फाड़ दिया और मैंने उसकी नाइटी को फाड़ कर हटा दिया.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी उसके गालों पर किस करने के बाद मैंने धीरे से उसके लिप्स पर हल्की सी किस की. जब मैं सो कर उठा, तब तक सुबह हो चुकी थी और हम बंगलोर के बाहरी इलाक़े में पहुँच चुके थे.

सुबह ऑफिस में जो पहले आ जाता तो दूसरे की प्रतीक्षा में निगाहें दरवाजे की ओर ही रहती.

इंडियन झवाझवी सेक्सी व्हिडिओ

विवेक बोलता जा रहा था- आह… क्या चिपक चिपक कर चूत देती हो मेरी जान…कामिनी कह रही थी कि तुम भी तो एंगिल बदल बदल के चूत लेते हो मेरे राजा…काफी देर ऐसे ही वो मेरी बीवी की चुत में धक्के देता रहा. जब मम्मी पापा को ये पता चलेगा तो उन पर क्या बीतेगी?उसने मुझे बोला- सॉरी भैया, मुझे माफ़ कर दो. मैंने लंड सहलाते हुए कहा- वो क्यों?तो वो बोली- देखो ना कितना उतावला हो रहा है.

उनके सलवार खोलने पर उनकी पायल की आवाज ने मुझे वहीं पर मुठ मारने को मजबूर कर दिया और मेरे मुँह से आह आह की हल्की लेकिन लगातार आवाज आने लगी. उसकी गांड गजब के चिकने और गोल चूतड़ों के बीच थी जो चुदाई से गीली हो गई थी. अब तक उसकी कामुकता फिर से जाग गई थी, उसकी कामवासना अब उसके काबू में नहीं थी.

इस हमले से वह अचानक से तड़प उठी और उसकी आंखों से आंसू की धारा बहती निकल गई फिर भी उसने आगे बढ़ने के लिए अपनी सहमति दे दी.

मेट्रो में घुसते ही भाभी रुक गई पर मैं पीछे से भागता हुआ आ रहा था तो अपने आपको रोक नहीं पाया और भाभी की गांड से अपना लंड गलती से टकरा दिया. जब भी मैं उसकी गांड पे थप्पड़ मारता, तो उसकी गांड थोड़ी देर देर तक हिलती रहती थी. मैंने सोचा था कि कुछ देर चैन से बात हो पाएगी, पर उसकी माँ को क्या बोलता.

इतना कह कर माँ ने सीसी टीवी कैमरा का क्लिप जो रिकॉर्ड हुआ था, मुझे दिखा दिया. तभी मेरे रूम पार्टनर जो कि हर टाइम मेरे साथ रहता है, उसने मुझे हिला कर कहा कि क्या सोच रहा है बे?मैं- कुछ नहीं. जाते समय रास्ते में मुझे बस उसके चुचे ही दिखाई दे रहे थे कि आज उसके चूचों को मसलने का भरपूर मौका मिलेगा.

वो गरम हो चुकी थी और मेरा लंड पकड़ के हिलाते हिलाते उफफ… आहहह… स्स्सस्स्स…” कर रही थी. मैंने अपना लंड नीलम भाभी की गांड के छेद पर रखा और एक ही झटके में पूरा लंड गांड के अन्दर पेल दिया.

एक दिन मैंने सोचा कि इनकी रास लीला की वीडियो बना लेता हूँ, फिर कामिनी को सबक सिखाता हूँ. आज पूरी रात यह आपकी ही मेहमान है या यह कहूँ कि इसकी चुत आपके लंड की मेहमान है. तुझे सब सिखाने ही तो यहां लाई हूं, अगर तुम्हें पहले आता होता तो यहां क्यों आते, घर में कभी भी चुपके से कर लेते.

मेरा एक भाई आशीष यानि बिंदु माँ का लड़का हॉस्टल में रह कर पढ़ाई करता है.

अभी मैं एक ऐसी कंपनी में काम कर रहा हूँ, जिसमें मुझे बाहर जाना पड़ता है इसलिए थोड़ा टाइम निकालकर अपनीसच्ची कहानीआप तक पहुँचा सका हूँ. मौका ताड़ के मैंने कहा- आपके हाथों में तो जादू है अलका जी… आपकी बनाए हुए पकवान खाकर तो जी करता है कि आपकी उंगलियां चूम लूँ… चूमूँ और बस चूमता ही जाऊँ. अपनी मौसी के आंसू पौंछने के बाद मैं अपनी चारपाई पर वापिस आने लगा तो मौसी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- राजीव… मुझे बच्चा चाहिए! और तुम्हारा शरीर भी तगड़ा है! क्या तुम मेरी मदद कर सकते हो?मैं मौसी की बात सुन कर एकदम से हैरान परेशान हो गया कि मौसी यह क्या बोल रही है? मैं तो सपने में भी ऐसा कुछ नहीं सोच सकता था.

बस धक्का परेड चालू!इतना बढ़िया साथ तो कोई शादीशुदा भी न दे पाए, काफी लम्बी चुदाई करने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।जिया को तो लगा कि मेरा साथ पा कर उसने खजाना पा लिया है क्योंकि इस सम्भोग से उसे अपार संतुष्टि मिली थी. अब मैं उनके पास गया और उनके बाल पकड़ कर खींचे, जैसे ही उनका मुँह खुला मैंने उसमें बॉल को डाल दिया और पट्टी बाँध दी.

तेरा लंड बहुत मोटा है… मेरी चूत फाड़ रहा है… इतना मोटा लंड मैंने पहले कभी नहीं लिया. वह बोला- मैं शादीशुदा हूँ और मेरे पास चोदने के लिये बीवी है लेकिन आज ही सुबह उसे बेटा हुआ है इसलिये पिछले 3 महीनों से उसे चोदा नहीं है… और इसीलिये मैं अस्पताल आया हूँ… तेरी बात सुनकर ये मादरचोद लंड खड़ा होकर झटके मार रहा था और कोई दूसरा इंतज़ाम भी नहीं था इसलिये मुझे तेरे पास आना ही पड़ा. ”मैंने पिंकी के पसीने से भरे स्ट्रॉबेरी को देखा और यही मौका था कि मैं रोशनी के पीठ पीछे पिंकी की स्ट्राबेरियों को चूस लूँ.

वीडियो सेक्सी देखने की

उस दिन पापा को ऑफिस के किसी काम से बाहर जाना था और अगले दिन ही वापिस आना था.

मेरी बीवी मंजू मचलने लगी- आह हहहहह ससससस संजू… अब तड़पा क्यों रहे हो? चोदो मुझे!लेकिन मैंने उसकी बातों को अनसुना करते हुए उसकी चूत में मुँह डाल दिया और चूसने लगा. फिर वो अपनी माँ बिंदु को देख कर बोला- माँ इसमें यहाँ तो कुछ है ही नहीं!बिंदु माँ ने जवाब दिया कि अब तू आ गया है तो मुँह में भर कर खींच खींच कर इसके नींबुओं को संतरा बना दे ना. बहुत नाराज़ थी कि उसके बाद वाली रानियों की तो कहानी लिख के छप भी गयीं लेकिन उसकी अभी तक नहीं छपी.

उसने लंड को मेरी चुत पर सैट किया तो मैंने भी उसके लंड को पकड़ कर अपनी चुत में फंसा लिया. भाबी जल बिन मछली की तड़फ उठीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाय राम मार डाला देवववव. सेक्सी पॉर्नमैं कैसे सहन करूँगी?तो मैंने कहा- तुम डरो मत, मैं बहुत आराम से करूँगा.

मैंने उसको कहा- तुम क्या चाहते हो?तो उसने मुझे फिर से बेडरूम में आने को कहा और वो अन्दर चला गया. तभी दी ने मुझसे कहा- छोटू डेली मुझ पे चढ़ता है और जबरदस्ती मुझे चोदता है.

मैंने कहा- लेकिन रात को निकलेंगे कैसे?दीदी ने कहा- तुम चलने की तैयारी करो और जाने की बात मुझ छोड़ दो. अब मैंने भाबी की पेंटी को भी निकाल दिया और अपनी जीभ को सीधे उनकी चुत के छेद में घुसा दिया. गिरने से लगी चोट को भुला के वो मुझे अपने आलिंगन में समेटे जा रहा था.

कुछ देर बाद दीक्षा और प्रीति ने अपनी अपनी पोजीशन बदल ली, मतलब प्रीति मेरे लंड को छोड़ कर पोतों पर आ गई और दीक्षा मेरा लंड चूसने लगी. ”गुड!” अभी तक चुप बैठी नताशा भी बातचीत में कूद पड़ी और बोली- साशा को इंग्लिश आती है. मैंने आज मौक़ा समझ लिया और जल्दी से जाकर कमरे का दरवाजा बंद कर दिया और कमरे में एक चादर बिछा कर उस पे खुशबू को लिटा कर खुद उसके ऊपर चढ़ गया.

चूत पूरी गीली थी तो लंड बिना किसी परेशानी से चूत में अंदर तक समा गया.

मैं हड़बड़ा गया और सीधा अन्दर भागा और बाथरूम के बाहर से भाभी को आवाज़ लगाई, भाभी ने दरवाजा खोला और बाहर आ गईं. शायद उसको भी याद आ गया कि सील टूटने की कहानी में कई बार उसने इस बात को पढ़ा था और खून निकलना एक स्वभाविक क्रिया होती है.

मैंने उससे कहा- जान देखो, तुम्हारा और मेरा भी पहली बार है, इसलिए थोड़ा सा दर्द होगा. मैंने अपने दोस्त से कहा कि तुम उसे लेकर अन्दर जाओ और जगह देख कर उसे चोदना. वो दिखने में काफ़ी कमाल की आइटम थीं, उनको देखते ही लंड खड़ा हो जाता था.

हम दोनों पसीने से लथपथ होने लगे थे, मगर कोई भी एक दूसरे से हार मारने को तैयार न था. जैसे ही मैं चाय ली, मैंने देखा नगमा इशारे से मुझे बाथरूम की तरफ बुला रही थी. कुछ देर तक तो मैं उसे देखता रहा फिर तभी मेरे दिमाग में एक योजना आई… मैंने उस पर थोड़ी सी अपनी रजाई डाल दी। मैंने उसको पूरी तरह से रजाई नहीं ओढ़ाई थी, बस उसके हाथ व पैरों पर ही डाली थी। वो गहरी नींद में थी इसलिए कुछ देर तक तो वो ऐसे ही सोती रही मगर फिर मेरी रजाई की तरफ गर्मी पाकर अपने आप ही वो धीरे धीरे मेरी रजाई में घुसने लगी.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी अब मैंने मेडिकल स्टोर से विटामिन की गोलियां लीं और कुछ सिरप भी ले लिए. लगभग 5 मिनट तक उसके धाँसू लंड ने मेरे मुंह की गले गले तक चुदाई की और अंत में उसने अपने लंड का पूरा ज़ोर लगा दिया और मानो मेरा गाला फटने को था.

हॉस्पिटल की सेक्सी मूवी

मगर क्या तुम फिर से मेरी पत्नी बन कर मुझे माफ़ नहीं कर सकती?मैंने कहा- मुझे सोचना पड़ेगा मगर शायद नहीं हो सकेगा. कुछ वक़्त की चटाई से दोनों का पानी एक दूसरे के मुँह में ही निकल गया था. चलो अब हम दोनों अन्दर चलें?”नहीं रूल इज रूल… पहले गेम खेलो उसके बाद चुत मिलेगी.

मैं दर्द से चिल्लाया ‘आ… आ… ब… स…’वो जरा रूक गया और मेरे चिल्लाने से चौंक गया. तो वो मुझसे कहने लगी कि आप जो बोलोगे मैं वो करूंगी, पर आप प्लीज़ ये बात हम दोनों तक ही रखना. চুদাই কি ভিডিওफिर धीमे से मैंने उसके शर्ट को उतारा तो उस के चूचों को देखता ही रह गया.

क्या मस्त बूब्स थे उसके… मैं उसके बूब्स को दबाने लग गया और फिर मुंह में लेकर चूसने लग गया.

मेरी हाइट 6 फ़ीट 2 इंच है, मेरा रंग गोरा है मेरे लंड का साइज 8 इंच है. मैंने ये जान लिया था कि मैडम जितनी सुंदर हैं उतनी ही सेक्स में डर्टी भी हैं.

इस वक्त मैं भाभी की चुत को पूरे ज़ोर से चाट रहा था तो उस दौरान भाभी की मदभरी आवाज निकल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्या खा ही जाओगे… आह…उनकी कामुक आवाज़ मुझे और अधिक गरम कर रही थी. दारू पीते समय ही मेरे को पता चल गया था कि भाभी वास्तव में बहुत बड़ी छिनाल है. अब मैं धीरे धीरे अपने होंठों को उसके होंठों के पास ले गया और उसे किस कर दिया.

मौसी की शादी को करीब आठ साल हो गए थे लेकिन उनके कोई भी बच्चा नहीं था.

मेरे जाने के समय मुझसे बोला- हां, जरा पूरी तरह से तैयार होकर रूम में बैठो मैं तुम्हें कुछ दिखाना चाहता हूँ. वो बड़बड़ा रही थीं- आह सैम… मेरे सपनों के राजकुमार… आआहह… उफ्फ… क्या जादू है तुम्हारे हाथ में… उफ्फ… अगर हाथ में इतना जादू है, तो लंड में कितना होगा!थोड़ी देर उनके जिस्म को कपड़ों के ऊपर से सहलाने के बाद मेरी नज़र एक कैंची पे पड़ी. तभी मैं प्रीति की चूत के सामने आ गया और अपना लंड प्रीति की चूत पर घिसने लगा तो प्रीति सिसकारी भरने लगी.

एक्सएनएक्सएक्स एचडीमैंने हाथ से उसकी चूत को सहलाना शुरू किया, वो तड़प रही थी, यह मेरा पहली बार था तो ज्यादा कुछ मुझे पता नहीं था. अधिकतर पुरुषों को दूसरे की बीवी को देख कर तो जोश बहुत आता है लेकिन जब उनकी खुद की बीवी की बात करो तो सांप सूंघ जाता है, ऐसा नहीं होना चाहिये.

फुल एचडी गुजराती सेक्सी वीडियो

कुछ देर बाद जब लंड ने चूत में जगह बना ली तो वो भी मज़े लेने लगी और पूरे रूम में फच फच… की आवाज आने लगी. भाभी ने दो गिलास में आधा क्वार्टर खाली किया और कहा- नीम्बू को काटिए. दिखने में दीदी बहुत ही शरीफ लगती हैं, लेकिन अन्दर से एकदम सेक्स की भूखी रंडी हैं.

कुछ देर बाद चंदर ने आशीष से बोला- यार, तू भी कुछ योगदान दे ना अपनी माँ की चुदाई में!आशीष भी मेरे चूचों पर टूट पड़ा और मेरे मम्मों को जोर जोर से दबा दबा कर चूसने लगा. लंड धीरे धीरे अन्दर जाने लगा, वो सिसकारियां ले रही थी और अपने निचले होंठ को अपने दांतों से दबा रही थी. चुदाई करते करते जब मेरी नज़र दरवाजे की तरफ गयी तो मैंने देखा कि कोई 45 साल की औरत नाइटी पहने खड़ी होकर अपनी नाइटी को कमर तक उठाकर अपनी चूत को रगड़ रही थी, मैं समझ गया कि यह औरत नेहा की सास है.

दीदी टांगें खोलकर टेबल पर बैठ गईं और मैं कंडोम उतार कर दीदी की चूत में लंड पेलने लगा. लड़की- मगर आपको देख कर कोई नहीं कह सकता कि आप 35 साल से ऊपर की होंगी. मैंने कहा- ठीक है दीदी मैं बाजार जा रहा हूँ, तुम्हें कुछ मंगाना है?दीदी ने कहा- नहीं भाई मुझे कुछ नहीं मंगाना है.

मैंने गरम लोहे पर चोट मारी- क्यों अलका जी, चूत निवास बोलने में आपको शर्म आती है… जब नाम है तो वही बोलना पड़ेगा न. उसकी चूत के पानी से मेरा लंड गीला हो गया और वो लंड रगड़ने से बिना पानी की मछली की तरह तड़प रही थी.

फिर मैं क्या करता, खुश तो था ही कि आख़िर मेरी एक फंतासी तो पूरी हुई.

तो मैंने एक कन्सलटेन्सी फर्म से कांटेक्ट करके कुछ गर्ल्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया।इंटरव्यू वाले दिन 5 लड़कियां आईं. ब्लू फिल्म हिंदी में इंडियनतभी झटकों के साथ एरिक के लंड ने नताशा के होंठों और चेहरे पर सफ़ेद बूंदें उगलनी शुरू कर दीं, जिन्हें प्यार की देवी ने चाटते हुए पीना शुरू कर दिया जबकि हाथों में उसने अभी तक अपने दोनों प्रेमियों के ढीले हो चुके लंड पकड़ रखे थे. देहाती भाई बहन की चुदाईयहाँ थोड़ा सा कम्पनी की कॉलोनी के नक़्शा बता देता हूँ ताकि आपको आगे का हाल बेहतर समझ में आए. गोलू का लंड तनाव में आएगा, तो उसकी शकल पे एक तेज नजर आएगा, ये भी एक कॉन्फिडेंस है.

वो बोला- आह… पी जा मेरी जान मेरे लंड का अमृत… जो था तो बिंदु के लिए मगर आज तो तेरी किस्मत में ही लिखा था.

लगभग 15 मिनट तक लिप लॉक के बाद हम थोड़ा शांत हुए। मैंने उसे खुद से अलग किया और मैं मेन गेट को अंदर से बंद कर के आया। वापस आकर मैंने उसे जूस पिलाया जो मैंने अननोन नंबर वाली लड़की के लिए ला कर रखा हुआ था।हम दोनों ने जूस पिया।फिर वो बोली- क्या मैं जाऊं अब?मैंने कहा- मन तो नहीं जाने देने का…वो बोली- क्या मन हैं फिर?मैंने कहा- तुम्हें किस करते रहने का मन कर रहा है. मैंने साड़ी के ऊपर से ही भाभी की चुत पर हाथ लगाया और धीरे धीरे सहलाना शुरू किया. मैं 4:45 पर ही बस स्टैंड पहुँच गया, तब तक बस भी स्टैंड पे लग चुकी थी.

चूंकि मैं हर लड़की की इज्जत करता हूँ… सो उस लड़की की खूबसूरत दिखती फोटो की तारीफ़ करने लगा. मेरे ये कहने से वो थोड़ा डर गई और मुझसे विनती करने लगी- नहीं जीजू, मैंने कुछ नहीं किया है, आप प्लीज़ किसी को कुछ मत बताइए. हेलो दोस्तो, हम हैं आपकी बबीता भाभी… यह अभी तक की सबसे पहली भोजपुरी सेक्स कहानी है अन्तर्वासना पर…यह उस समय की बात है जब हमारे पारी काफी बीमार हो गए थे.

10 साल के बच्चे की सेक्सी

हम दोनों ने कभी हफ्ते 15 दिनों में उसे बुला कर ऐश करना शुरू कर दिया. अब तक आपने पढ़ा था कि अशोक ने मुझे बड़ी रकम का ऑफर दिया था जिसे मैंने स्वीकार कर लिया था. दोस्तो, मेरी कई सेक्स कहानी अन्तर्वासना पर आ चुकी हैं, जैसेसौतेली मॉम की चुदाईमॉम की अन्तर्वासना शान्त कीघर की चूतों के छेदअब मेरी नई सेक्स कहानी पढ़ें.

मैंने अपने जीवन में इतना सेक्स दो दिनों में नहीं किया था और स्खलित हुआ था।आज इन मैम की शादी हैं ये आराम से चुदकर सो रही हैं।मैंने उनके सर को अपनी गोद में लिया फिर उसे दूध पिलाने की कोशिश की, अर्धनिंद्रा में मैम ने दूध पी लिया।फिर मैंने उनके ओष्ठ पर लगे दूध को अपने ओष्ठ से चूस कर साफ किया।करीब ग्यारह बजे वो उठी, बोली- जानू, शरीर में बहुत दर्द हो रहा है.

ये कह कर मॉम नवीन को किस करने लगीं और दूसरी तरफ नवीन के लंड को हिला हिला कर खड़ा कर रही थीं.

इसके अलावा मुझे आज पहले उसका रिएक्शन भी देखना चाहता था कि कहीं ऐसा न हो कि भड़क जाए. उस दिन मुझे गालियां क्यों बक रहा था?नवीन- हम आपको गालियां नहीं देना चाहते थे. सेक्सी फिल्म ब्लू पिक्चर वीडियो मेंदोस्तो, मैं मुँह मियां मिठ्ठू नहीं बन रहा हूँ लेकिन जिस पर भी आज तक चांस मारा है, कभी खाली हाथ नहीं गया.

दीदी ने मुझे तस्वीरें दिखाईं, जिसमें दीदी कहीं कैपरी, कहीं जींस और कहीं स्कर्ट में थीं और सब अलग अलग जगह की तस्वीरें थीं. जुलाई 2014 में मुझे अन्तर्वासना के विषय में पता लगा तो मैंने एक एक करके वे सब कहानियां छपने भेज दीं और सभी छप भी चुकी हैं. फिर मैं अपना मुंह उसकी चूत के पास ले गया और उसकी चूत को जीभ से चुदाई करने लगा, वो भी चूतड़ उठा उठा कर मुख चुदाई का मज़ा ले रही थी.

लंड के सामने आकर मॉम ने अपने दोनों घुटने भी हवा में उठा लिए और पैर के पंजों के बल बैठ गईं. हम एक दूसरे को उकसा रहे थे और करीब 20 मिनट की लगातार गांड ठुकाई के बाद मैं उनकी गांड में झड़ गया.

शुरू के एक बार तो मैं मज़े से चुदी मगर बाकी की तीनों बार की चुदाई मेरे लिए लंड का दंड के समान थीं.

उसकी इस बात पर मुझे हँसी आ गई और उसी का फायदा उठा कर उसने अपना पूरा मूसल मेरी सलोनी गांड में पेल दिया. सजी हुई बनावटी «अमेरिकन » मुस्कान वाली काउंटर गर्ल, जिसने हमें विजय दिवस की शुभकामना भी दी, से अपने बर्गर्स की ट्रे प्राप्त कर हम लोग अपनी सीट पर आ गए. वो हमारी बगल में बैठ कर अपने बर्गर्स खाते हुए अपनी ही किसी भाषा में बातचीत करने लग गए, और हम नताशा संग अपनी रूसी में.

इमेजिंग फोटो उसकी 36-26-34 की फिगर के साथ वो जबरदस्त काँटा माल है और मेरे क्लास की मिस यूनिवर्स जैसी है. यह सब सुरेंद्र जीजा देख रहे थे और फिर सुरेंद्र जीजा बोले- अंकल, मुझे भी ड्रिंक करना है। मैं आपकी दारू पी सकता हूं क्या?अंकल बोले- हां बिल्कुल सुरेंद्र, तुम ले लो, सामने रखी है!सुरेंद्र जीजा गए और उन्होंने पूरा ग्लास दारू का भरा और पीने लगे.

नगमा की माँ जोर-जोर से आवाजें निकालने लगी- आह चोदो मुझे और चोदो अहा अहह अहा रुकना नहीं, कितना बड़ा लंड है तुम्हारा. एक तो मेरी टांगें आपस में नहीं मिल पा रही थीं, क्योंकि चुत बुरी तरह से चुसवाने के बाद फूली हुई थी और दूसरा इतने ऊंची हील वाले सैंडल मैंने कभी पहने ही नहीं थे. मैं जानबूझ कर मोहन के पांव के पास बैठ गई थी और ट्रक के चलने का इंतजार कर रही थी.

पुलिस लड़की की सेक्सी वीडियो

पूजा बोली- हाँ पापाजी, मैं भी अपनी चूत में खीरा, केला गाजर मूली आदि डाल के अपने आप को चोदा करती थी कि इस चूत कि आग कुछ तो शांत हो… लेकिन फिर सारी रात तड़फती रहती हूँ. मैं अंदर गया तो देखा कि गुड़िया सो रही है; भाभी को देखा; कहीं नहीं दिखी, भैया भी नहीं दिखे. मैंने मंजू की पीठ चूमते हुए कहा- जान, तुम्हें मज़ा आ रहा है ना उस आदमी का लन्ड लेने में?मंजू की गर्दन खुद व खुद जोश में हाँ का इशारा कर गयी मेरे लिए यह जीत की पहली सीढ़ी थी.

यह सुन कर नवीन पे मानो शैतान सवार हो गया और एकदम से कस कस कर मॉम को चोदने लगा. इस पोज़िशन में चुदाई से गांड की रगड़न से सेक्स की फीलिंग और मज़ा और भी ज्यादा बढ़ जाता है, इसलिए ये मेरी फेवरेट पोज़िशन है.

लेकिन मैं जान चुका था कि इस शरीफ लिबास के पीछे एक बहुत बेशर्म औरवासना की भूखीरंडी छिपी हुई है.

दोस्तो, मेरी सेक्स स्टोरी इन हिंदी कैसी लग रही है? कृपा करके मेल के माध्यम से मुझे अपने विचार बतायें।धन्यवादआपका अपना शरद सक्सेना[emailprotected][emailprotected]. मोहन फाल्के पे था और मैं नीचे बैठी थी इसलिए मेरा सर सीधा मोहन की जाँघों में घुस गया था. पहले तो ये सुनकर थोड़ा अचम्भित हो गई, फिर कहने लगी- प्लीज़ आप यकीन कीजिए, हमने कुछ नहीं किया.

इस बार के सेक्स में हमें लगभग 15 मिनट का समय लगा और उस चरम आनन्द की भी प्राप्ति हुई. मैंने कहा- पागल… रोया मत कर! रोते हुए कोई अच्छा नहीं लगता!और मैं उसको समझाने लग गया. मैं भाभी से बात करने का कुछ बहाना चाह रहा था, पर मौका नहीं मिल रहा था.

मैंने उसके मम्मे सहलाते हुए कहा कि रानी थोड़ा दर्द होगा, सहन कर लेना.

सेक्सी चोदा चोदी बीएफ एचडी: मगर वो दर्द से चिल्ला उठी… उसकी चूत से खून आ रहा था; वो रो रही थी; आंखों से आँसू आ रहे थे।मुझे उसके दर्द का अंदाजा था; मैं उसे किस करने लगा; उसका ध्यान बंटाने लगा, उसको कहा- जानू मैं तुम्हें प्यार करता हूँ, मैं तुम्हें दर्द में नहीं देख सकता।तभी मैंने एक और झटका दिया, मेरा पूरा लण्ड अंडा चला गया, वो चिल्ला उठी, मैंने हाथ से उसका मुँह कर दिया औऱ उसे किस करने लगा. पूजा ने भी सोचा कि बाहर चुदवाने से तो अच्छा है कि मैं घर में ही चूदवाऊँ.

इस चुदाई के बाद दीदी ने फिर से पंजाबी सूट पहन लिया और शरीफ लड़की बन गईं. दीदी ने मुझे रानी दीदी की खींची हुई चार सेल्फी दिखाईं, जिसमें वो मेरा सोये हुए का लंड चूस रही थीं. वो रह रह के आगे चढ़ आता और उसका लंड मेरे गांड की दरार में घुस जाता था.

मैंने गुस्से में आंटी को पकड़ कर उनको अपने नीचे लिटाया और जोरों से होंठों पर किस करना चालू कर दिया.

”मैं घुटने के बल बैठ गया, भाभी ने अपनी दोनों टाँगें खोल दी और एक हाथ से मेरा लण्ड पकड़ा और चूत के मुँह पर रखते हुए बोलीं- दो बात का ध्यान रखना, एक तो एकदम मत डालना, धीरे धीरे डालना क्योंकि तुम्हारा लण्ड बहुत मोटा और बड़ा है. उसका बस इतना कहना था और उसने मेरी सौतेली मां के सगे बेटे आशीष को बोला- यार, तुम आज बिंदु को सम्भालो, मैं आज इस रंडी को चुदाई का असली पाठ पढ़ा दूं ताकि फिर कभी किसी लंड को चॅलेंज ना कर पाए. उसने मेरी पीठ पे चुम्बन करने शुरू कर दिए और थोड़ी ही देर में उसके थूक से मेरी पूरी कमर गीली हो गई थी.