बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर

छवि स्रोत,अमेरिका सेक्सी वीडियो बताओ

तस्वीर का शीर्षक ,

केक वाला कार्टून: बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर, मैंने उनकी ब्रा खोल दी … जिसे उन्होंने आगे से हाथ लगाकर संभाल लिया.

सेक्सी वीडियो चुदाई का हिंदी में

मगर मैं इस बात पर हैरान हो रहा था कि जब अवनी ने पहले ही उनको सब कुछ बता दिया था तो वो मुझसे दोबारा ये सब पूछने क्यों आई थी?वो मुझसे अधिक खोद खोदकर पूछ रही थी. चोदने वाली सेक्सी हिंदी मेंमुखिया- देख गीता मैंने मोहलत दी थी ताकि तू टंकी खाली कर देगी, मगर तूने नहीं की.

भैया का लंड इतना अच्छा खड़ा है, उसको कैसे भूल जाऊं … अब जो होगा देखा जाएगा. सेक्सी वीडियो कॉल में दिखाओतभी सामने डांस फ्लोर पर डीजे बजने लगा और मैंने ओल्गा की तरफ हाथ बढ़ा कर उससे डांस करने का इशारा किया.

तो सिमरन ने बताया कि मेरी उम्र 23 साल है और मैं एक कुंवारी लड़की हूँ.बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर: इतना बोलकर वो फिर अपने बिस्तर पर जाकर लेट गयी और मेरी शादी के विषय में बात करने लगी.

इसी बीच राजेश ने अपने अँगूठे से मेरी गांड के छेद को रगड़ना शुरू किया.उसकी गर्लफ्रेंड भी मॉडर्न ख्यालात वाली थी और जब भी उन दोनों को समय और मौका मिलता है, तब वो दोनों सेक्स करते हैं.

मारवाड़ी सेक्सी हिंदी पिक्चर - बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर

अशोक ने भी मेरा उपकार समझते हुए जल्दी ही निकिता की चुत दिलवाने का वादा किया.अब वो मेरे लंड पर खूब उछलने लगी और मैं भी तेज़ तेज़ झटके मारने लगा.

उसने जल्दी से मीता को उकड़ू बैठाया और अपना लंड उसके मुँह के आगे कर दिया. बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर मैंने उंगली को अपनी नाक के पास लाकर सूंघा, तो एक अलग ही महक आ रही थी.

फिर नाजिया आंटी ने उन्हें समझाया कि चुत की बोहनी हो गई, ले पैसे रख ले.

बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर?

अब मैंने भाबी को झांसे में लेते हुए कहा- भाबी आप उस बात की चिंता मत करो, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा. कुछ देर बाद उसका दर्द जाता रहा और उसकी कमर ने चुदाई का मजा लेना शुरू कर दिया. आपा से मैंने पूछा- माल कहां निकालना है?आपा ने बोला- इसकी चूत पहली बार चुदी है इसलिए पहला पानी इसकी चूत में डालो, जिससे इसे भी इसका आनंद मालूम चले.

कासिब के होंठों की गर्मी से मेरी चूत पिघल गई … और मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं. साली ने बीवी की कमी पूरी कीआपने अब तक पढ़ा था कि मेरी साली और मैंने 69 में एक दूसरे के लंड चुत को चूस कर झड़ा दिया था. वो अब मुझे जोर जोर से किस कर रहा था और उसका एक हाथ मेरी शॉर्ट्स के अन्दर पहुंच कर मेरी गांड को जोर जोर से दबा रहा था.

उन्होंने पूरे जोर से पेटीकोट को पकड़ लिया था। इधर मैं भी उनके पेटीकोट को खोलने के लिए पूरा जोर लगा रहा था लेकिन वो पेटीकोट खोलने ही नहीं दे रही थी।फिर मैंने ज़ोर से झटका देते हुए उनके हाथों से नाड़े को छुड़ा दिया और उनका हाथ हटते ही मैंने तुरंत पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. वहां खेतों में एक मज़े की बात हो गई … वो देखते हैं कि वहां क्या हुआ. उसके बाद फिर सर के साथ मेरी चुदाई में मैंने क्या क्या मजे किये और सर ने कितनी बार मेरी चूत और गांड का बाजा बजाया वो मैं आपको अपनी किसी और कहानी में बताऊंगी.

रस्सी उसके सिर से काफी ऊपर थी इसलिए वह जब हाथों को ऊपर करती तो उसकी गोरी पतली कमर दिख जाती. दोस्तो, जैसे मैंने पहले आपको बताया था कि मीनू एक 19 साल की कमसिन कली थी.

फिर मैं मेरा हाथ नीचे उसकी चूत पर ले गया और एक हाथ से चूचे दबाते हुए दूसरे से उसकी चूत को सहलाने लगा.

मैं दीदी की ब्रा और पैंटी लंड पर लगाए अपनी मैडम से सेक्सी बातें कर रहा था.

लेकिन मौसा जी मेरे पास आ के मेरे दोनों बूब्स पकड़ कर पम्प करते हुए मुझे किस करने लगे. चल भाग यहां से … और साली रंडी जाकर किसी रंडीखाने में बैठ कर अपनी चूत का भोसड़ा बनवा कर अपनी और अपने परिवार की इज्जत बढ़ा. अब मेरी अम्मी बिस्तर पर चित लेट गईं और धीरज मेरी अम्मी की चूत में लंड डालने लगा.

उसने मेरे लटकते गेंद जैसे अंडकोष को हाथ में थाम लिया और हल्के हल्के दबाने लगी. मुझे न जाने क्या मस्त अनुभूति सी होने लगी कि मैं उस मजे को लिख ही नहीं पा रही हूँ. इस झटके से आदिल चिल्लाया- बहन की लौड़ी, तेरी मां की चूत … मेरे लंड को तोड़ेगी क्या?मैं बोली- मां के लौड़े, तू मेरी गांड को फाड़ सकता है तो मैं तेरे लंड को भी तोड़ सकती हूं.

अभी तक वैसे मैंने उसे बताया नहीं था कि आज उसकी गांड भी खुलने वाली है.

अपने से पंद्रह साल छोटे भतीजे को याद भी नहीं किया उन्होंने।फिर चाचा ने उसका ब्लाऊज़ खोलकर दोनों फूले बूब्स के चूचकों को अपनी कठोर उंगलियों से मसल दिया. माँ की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि एक दिन अल सुबह मैंने अम्मी को बरामदे में कपड़े उतारते देखा. मैंने प्लान बनाना शुरू किया और ध्यान आया कि अक्सर पूजा भाभी घर का सारा काम करने के बाद दोपहर में नहाती है। नहाने के लिए घर पर ही तिरपाल का बाथरूम बना हुआ है। मुझे याद आया कि तिरपाल थोड़ा सा फटा हुआ था जिसमें से गौर करके देखने पर बाथरूम का मस्त नज़ारा देखा जा सकता था।अब अगले दिन मैं पूजा भाभी पर पूरी नज़र बनाये रख रहा था.

भाभी मादक आवाज में कराहते हुए बोलीं- तुम अच्छे से बताओ न!मैंने बोला- ओके सोचिये, मैं और आप अभी एक रूम में हैं. सुमन का हाथ पकड़ कर मुखिया उसको बाहर ले गया और तहख़ाने के दरवाजे से कान लगाया. मैंने कहा- अब अगर छुरी से केक काटो, तो ध्यान रखना … कहीं मेरी ये ना काट देना.

मगर सोनू इस बात के लिए तैयार नहीं था और मैं सर से चुदने के लिए मरी जा रही थी.

मैंने फोटो के साथ ही पूछा- इससे भी छोटा है क्या?भाबी ने मैसेज तो देख लिया लेकिन कुछ रिप्लाई नहीं किया. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]लंड चूसने की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 4.

बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर सुरेश- अरे बाप रे, इतना अंधविश्वास … चल जाने दे, इसके बारे में बाद में बात करेंगे. मौसी को भींचकर मैंने तगड़े तगड़े दो झटके और मारे … और लंड को मौसी की बच्चेदानी तक पहुंचा दिया.

बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर सुरेश- देर मत कर मीता, जैसे मैंने तुम्हारी फुन्नी को चाटा, तू भी लंड को चूस … और देख कैसे मज़ा आएगा. उन्होंने मुझसे कहा- ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने उन्हें नमस्ते किया और ‘कुछ नहीं …’ कह कर चुप हो गया.

थोड़ी देर में मेरे लंड ने तेज पिचकारी मारी और उसके मुंह को पूरा वीर्य से भर दिया।रोबीना मेरे लंड के पानी को थूकना चाहती थी लेकिन मैंने उसके मुंह से लंड को नहीं निकाला और फिर उस पर जीभ चलाते हुए उसको वो अंदर ही अंदर पेट में ले गयी.

बीएफ देसी सेक्स

मैं बोला- आपको भैया की याद नहीं आती है क्या रात में?वो बोली- आती तो है, मगर वो तो मुंबई में हैं. उसने दोनों हाथों से दोनों बूब्स पकड़ लिए और एक साथ दोनों को दबाने लगा. रजिया अब शांत हो चुकी थी और आराम से अपनी मैक्सी को नीचे करके लेट गयी.

उस चुदासी लेडी की चूत में धक्के मारते हुए मैं उसकी चूचियों को जोर जोर से भींच रहा था. उसको एक अजीब सी जलन अपनी छोटी चुत में महसूस होने लगी … और ना चाहते हुए भी उसका हाथ खुद की चुत पर चला गया. मौसी के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … डीडी … चूस ले बेटा … इस्स … पी जा इनको … अपनी मौसी का दूध पी ले … आह्ह … और जोर से।मैं बोला- आराम से मौसी, बगल वाले रूम में बच्चे भी हैं.

सुरेश और मीता की चुदाई के साथ उस लड़के के साथ किस तरह का इलाज हुआ और सुरेश ने मीता को किस तरह से चोदा.

मुखिया जी अपने लम्बे और मोटे लंड से सुमन की चुत को रात भर चोदते रहे. दो मिनट बाद जब मेरा रोना रुका, तो उसने फिर एक धक्का लगाया और पूरा लंड पेल दिया. मैंने दीक्षा से कहा कि जो मैंने सेक्स टाइम बढ़ाने की और लंड कड़क करने की दवाइयां उसको दी थीं, तुम वो लेकर आओ.

मैंने पूछा कि आपका नाम क्या है भाभी?भाभी ने कहा- मेरा नाम कोर्निषा (बदला हुआ नाम) है, आप कौन बोल रहे हैं?मैंने उन्हें सब बताया कि मैंने अभी आपको फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी, जो आपने एक्सेप्ट कर ली थी. मैं बोली- क्या काम?इकबाल बोला- कुछ बड़े वीआईपी लोग जुआ खेलने आते हैं, उनके सामने तुझे डांस करना होगा. अब मेरे पूरे शरीर का दबाव भाभी की गांड पर पड़ रहा था। मेरा लन्ड भाभी की गांड में घुसने के लिए दबाव बना रहा था। भाभी का पूरा जिस्म तपने लगा था। मैं भाभी की गर्दन के पीछे किस करने लगा।फिर मैंने उसके बालों की चोटी को खोल दिया.

बस उसके मोटे लंड से एक जोरदार पिचकारी निकली और मीनू की चुत में गर्म अहसास हुआ. मैंने अशोक से बोला- पकड़ के रख इसे, मैं इसकी चुत और गांड तेल से भर देता हूं.

वो बाथरूम में गया और दस मिनट में फ्रेश होकर नंगा ही लन्ड हिलाते हुए निकाला. तो वो कहने लगी- तुमने ही तो मेरा ये हाल कर दिया है, बताओ अब मैं क्या करूं. थोड़ी ही देर में सात-आठ पिचकारियां मेरे लंड से निकलीं, जो सीधे उनके गले के अन्दर चली गईं.

मैंने तुरन्त अपनी जीन्स उतारी और उसको भी जीन्स उतारने को कहा।उसने फटाक से जीन्स उतार दी जैसे मेरे कहने का ही इंतजार कर रही थी.

लंड के साथ ऐसे खेल रही जैसे किसी बच्चे को उसकी पसंदीद आइसक्रीम मिल गयी हो. उसके बाद हम जब भी मिलते थे, तब मूवी देखने के बहाने अलग से बैठ जाते थे और मोबाइल में सेक्स मूवी देखते थे. सुजाता भी अब गर्म होने लगी थी और उसके हाथ मेरे सिर के पीछे आ गये थे.

सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं ट्रेन के लिए स्टेशन पर था. सच में चूत बहुत ही गजब की चीज बनाई है भगवान ने, लंड के लिये तो असली स्वर्ग चूत ही होती है.

वहां खेतों में एक मज़े की बात हो गई … वो देखते हैं कि वहां क्या हुआ. लंड से निकलते चिपचिपे द्रव को वह निगलती जा रही थी। इतने प्रेम से किसी लड़की को आज तक लंड चूसते हुए मैंने तो नहीं देखा था।कुछ देर बाद ससुर बोलने लगे:इस संसार के सारे बंधन आज रात तोड़ दे,डार्लिंग, कैसे घुसाऊं मेरा काला लंड … तो अब छोड़ दे!मगर सुहानी में बहुत प्यास थी. टीवी पर कभी मिया खलीफा की, तो कभी डैनिएला पोर्न स्टार की जितनी भी सेक्सी फिल्म्स थीं सब देखने लगा.

हरियाणवी औरतों की चुदाई

चूंकि वो पहले से ही अपनी बुर में उंगली करती थी, तो उसे ज्यादा दिक्कत नहीं हुई.

अब जो नजारा मेरी आंखों के सामने था उसे देखकर मेरी आंखें फटी रह गयीं. मेरे पति मेरी जबरदस्त चुदाई में लगे हुए थे और सर को सारा सीन दिखा रहे थे. उसका चेहरा मेरे चेहरे के बिल्कुल पास में था और मेरी जांघ उसकी जांघ से सट गयी थी.

जैसे ही उन्हें लंड का अहसास हुआ, उन्होंने खुद हाथ से उसे चूत के मुहाने पर सैट कर लिया. ये तो मेरी मर्ज़ी है कि मैं किसके साथ सेक्स करूं, किसके साथ नहीं … समझे!कालू- अच्छा मैडम, जैसी आपकी मर्ज़ी. हिंदी फिल्म नंगी सेक्सी वीडियोजिस दिन मेरी ड्यूटी नहीं होती, तो भी उसको लेकर क्लास से बाहर चला जाता था.

उस दिन हम दोनों होटल के कमरे में अन्दर जाकर पहले हमने एक दूसरे को ज़ोर से हग किया और स्मूच किया. मैंने अब खड़े होकर उसका ब्लाउज निकाला और पीछे हाथ ले जाकर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया.

पहले उनके गोरे चिकने पैर, फिर चिकनी दूध जैसी गोरी जांघें, चूत पर लाल पैंटी, जिसमें से बाल बाहर निकले हुए दिख रहे थे. मैं- हाय दीदी, आज तू बड़ी सेक्सी लग रही है … क्या बात है किसी पर दिल आ गया है क्या?दीक्षा- हां यार, पर आज तू भी बड़ा मस्त लग रहा है. अब राहुल ने अपने लौड़े को जहां तक अन्दर गया, वहीं तक रहने दिया और मेरे होंठों, मेरे बोबों मेरे चूचुकों को चूसने लगा.

उसने कहा- जीजू, मैं आपकी आधी घर वाली हूँ … और आप मुझसे ये सब क्यों छुपा रहे हो. अब मुझे इसका पता लगाना ही होगा, नहीं तो वो हमेशा मीता को यूं ही नुकसान पहुंचाता रहेगा. उसकी पतली कमर, मस्त उठी हुई गांड, सॉफ्ट सॉफ्ट चूचे, एकदम मक्खन सा चिकना बदन और साड़ी और ब्लाउज के बीच में दिखती मस्त नाभि मुझे अन्दर तक गर्म कर गई थी.

मैं- भाभी, मैं जब भी अपने दोस्तों से मिलता हूँ, तो उनके गले लगता हूँ.

मैं तेजी से उसकी चूत को पेलने लगा और पूरा कमरा आह्ह … आह्ह … आईई … ओह्ह … उफ्फ … हाह्ह … चोदो … आह्ह … और चोदो … जैसी आवाजों से गूंज उठा. मेरी सासु मां बोल रही थीं- दीदी आप कितनी देर में आ रही हो?वो बोलीं- बस अभी आ रही हूं, दस मिनट लगेंगे.

मेरा आपसे पूरा काम चल रहा है। आप तो बहुत अच्छी हो। मेरा पूरा पूरा ख्याल रख रही हो। मगर पूजा भाभी मेरे लन्ड को भा गई है, इसलिए मैं पूजा भाभी की भी लेना चाहता हूं। आप ही मुझे पूजा भाभी की चूत दिलवा सकती हो।वो पहले तो मना करने लगी लेकिन फिर उनको लंड भी लेना था तो बोली- मैं इतना जोखिम कैसे उठा सकती हूं? मैं सीधे सीधे पूजा से नहीं कह पाऊंगी. करीब 10 मिनट तक लंड चूसने के बाद मैंने लंड निकाल कर उसके मम्मों के बीच में रख दिया. मैंने कहा- अगर आपको ज्यादा दिक्कत है तो मैं आपका सामान आपके रूम तक भी छुड़वा सकता हूं.

वो लंड चूसने में एकदम एक्सपर्ट थी यार … बता नहीं सकता कि कितना मजा मिल रहा था. मामी- ट्राई मार रहा है मुझ पर?मैं- क्या करूं मामी … मन चंचल है और मैं मजबूर!मामी- तेरे पास तो अवनी है. मुझे उनका इंटेशन समझ नहीं आ रहा था कि आखिर वो मुझसे क्या चाहती हैं.

बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर खाने के बाद मैंने नताशा को बालकनी में भेज दिया और इंतजार करने को कहा. ऐसे देख रही थी जैसे पहले कभी उन्होंने किसी मर्द को अंडरवियर में न देखा हो.

बीएफ खतरनाक वाला

एडल्ट सेक्स कहानी मेरी मॉम की … वे अपनी चढ़ती जवानी से ही सेक्स के जलवे बिखेरने लगी थी. मेरी चीख सुनकर फार्म हाउस की एक मात्र नौकरानी हमारे कमरे के करीब आ गई और एक खिड़की के छोटे से छेद से हमारी सुहागरात का लुत्फ उठाने लगी. ये मेरी पहली शर्त रहती थी कि लंड चूसने के 5 मिनट बाद चूत में लंड लेना ही पड़ेगा.

जब मैंने घूम कर देखा, तो मेरे पीछे मेरा भाई कासिब नंगा खड़ा था और उसका गर्म लंड मेरे नंगे चूतड़ों पर चुभ रहा था. मेरी गांड की प्यास बुझी या नहीं?दोस्तो, मैं प्रेम शर्मा आपको अपनी कहानी का अंतिम भाग बता रहा हूं. हा सेक्सी व्हिडिओफिर उन्होंने बताया कि ये शादी उनकी एक सहेली की थी, जहां वो पहली ही बार जा रही थीं, तो उन्हें वहां कोई नहीं जानता था.

रुक्मणी- तुम्हारे सामने कैसे?मैं- तो क्या हुआ? मैं दरवाजा बंद कर लेता हूँ और मुँह फेर लेता हूँ.

फिर राहुल ने अपना लंड रूचि के दोनों मम्मों के बीच में रख कर इशारा किया. मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा ढीला कर दिया और उसे हाथ पकड़ कर बेड से नीचे ले लिया.

जब पता चला कि जीजाजी का एक्सीडेंट हो गया है, तो खुशी ने मुझे भाभी के साथ भेज दिया. किंतु अगर यही प्यार जिस्म और जान का हो जाये तो इसमें जैसे चार चांद लग जाते हैं।कुछ ऐसा हमारा भी रिश्ता था. फिर बुआ ने मुझे खुली छत पर चुदाई करवाने की ईक्षा बतायी तो हम दोनों बुआ भतीजा रात को …दोस्तो, मैं समीर एक बार फिर आप की खिदमत में पेश हूँ.

नमस्कार दोस्तो, मैं पिंकी सेन एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी को आगे लेकर आ गई हूँ.

मैंने उसको वहीं पर बांहों में भर लिया और दोनों एक दूसरे को चूमने लगे. धीरे धीरे मैं ऊपर आते हुए उनके पैर को चाटते हुए उनकी जांघ तक पहुंच गया. मुझे उम्मीद है कि मेरी पिछली कहानीमां बेटी फाइनेंसर से चुद गयीके जैसे ही आप इस इंडियन रंडी सेक्स स्टोरी को भी पसन्द करेंगे.

हिंदू सेक्सी व्हिडिओगुलाबी उभरे होंठ, बड़ी सी काली आंखें और उसके चेहरे पर हमेशा एक तिरछी मुस्कराहट होती थी. साबुन देकर वो वापस चली गई। मैं मेरी योजना के अनुसार धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था। अब एक दिन दोपहर का समय था। मैं उनके साथ उनके कमरे में बैठा हुआ था। हम दोनों बैठे बैठे टीवी देख रहे थे.

सेक्स वीडियो भाभी देवर की

पर मैं उसे यह कह कर मना करके रोक देता था कि मैंने पहले कभी गांड नहीं मरवाई, तुम्हारा लंड मोटा है. मैंने भी पीछे पलटकर गुड नाईट कहा और धीरे से उसके मोबाइल फ़ोन को उठा लिया. प्लीज़ मुझे जरूर मेल करें, ताकि में अपने जीवन की और भी चुदाई की कहानियां आप लोगों से साझा कर सकूं.

समीक्षा कहने लगी- दीदी सॉरी, जीजू ने जबरदस्ती आपकी कसम दे कर ये सब किया है. मैं बोला- जानू आप टेंशन न लो, ऐसा दिन ज़रूर आएगा जब मैं आपको मेरे लंड को चूसने और चाटने का मज़ा ज़रूर दिलाऊंगा. रघु- मैं समझ सकता हूँ बाबूजी, इसी लिए तो मेरी पत्नी को आपके पास लाया हूँ.

खैर … कभी मैं, तो कभी वो दीदी जिनका नाम रुक्मणी था, वो भाभी को चुप कराए जा रही थीं. भाभी जमीन पर बैठ गईं और अपने नीचे के ब्लाउज हुक खोल कर अपने मम्मों को बाहर निकाल लिया और मुझे अपनी गोद में लिटा कर दूध पिलाने लगीं. उसकी रजामंदी की बात सुनकर मुखिया खुश हो गया और उसने गीता के मम्मों को ज़ोर से दबा दिए.

दर्द और मजे से उनकी सिसकारी निकल रही थी। उनके मुंह से निकल रहीं अजीब सी आवाजें ही बता रही थीं कि उनको भी अपनी चूचियां चुसवाने और निप्पल कटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था. मैं लौड़े से केक खाने के बहाने उसे अपने मुँह में अन्दर बाहर करने लगी.

आखिर आप मेरे भैसुर हैं, सेवा तो करनी ही पड़ेगी।उसके घूंघट से उसका चेहरा छुपा हुआ था.

मैं अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत में उसे घुस जाने का न्यौता देने लगी. सेक्सी हिंदी में xxxसुरेश जब घर पहुंचा, तो सुमन ने रेड कलर की बहुत ही सेक्सी नाइटी पहनी हुई थी, जिसको देखकर सुरेश खुश हो गया. भाभी की चुदाई फुल सेक्सी वीडियोमैं वैसे तो अपने घर में इकलौता बेटा था, पर मेरे तीन चचेरे भाई हैं, जिनकी शादियां हो चुकी हैं. मेरे पति ने मेरी पीठ पर अपने दोनों हाथ कस कर मुझे अपने सीने से चिपका लिया।उधर सर ने पीछे की पोजीशन ले ली और अलमारी पर से नारियल का तेल उठा कर ढेर सारा अपने लन्ड पर लगाने लगे.

मैंने उसको डॉगी की तरह किया और पीछे से अपने लंड को उसकी चूत के मुँह पर रख दिया.

छत पर गर्म करने के बाद मैं उनको नीचे रूम में ले आया और आंटी की चुदाई करके उसको खुश कर दिया. वो बोली- काफी सख्त है ये … तेरे जीजू से तो डेढ़ गुना बड़ा है!इतना बोलकर वो मेरे लंड पर झुकती चली गयी और अगले ही पल मेरा लंड मेरी आपा के मुंह में था. उनके बड़े बड़े मम्मों को देख कर मैंने अपना लंड हाथ में लेकर मसलने लगा.

यहां या ऊपर की ओर?गीता- डॉक्टर सब नीचे की तरफ दर्द है और पैर भी दुख रहे हैं. रणजीत- अरे करता तो हूँ ना, अब मुनिया नहीं होती … तो खेत से आकर सीधा तेरी चुदाई कर लेता. अम्मी कुछ नहीं कर रही थीं मगर राज मेरी अम्मी के मम्मों को उनकी मैक्सी के ऊपर से ही मसलने और दबाने लगा.

हॉट न्यूड वीडियो

उनकी गांड साड़ी में बहुत ज्यादा मटक रही थी। गोल गोल गांड देखकर लंड में कसक सी उठ गयी. मीता- मगर बाबूजी मेरा लंड लेने का बहुत मन है, उसका क्या होगा!उसकी बात सुनकर सुरेश समझ गया कि इसको ठंडा करने के चक्कर में सुमन के सामने नज़रें नीची हो जाएंगी. थोड़ी देर में जब वो आह … आह … करने लगी तो मैंने नीचे से झटके मारना शुरू कर दिया और पूरा लिंग अंदर चला गया.

दोस्तो, रुक्मणी भाभी की मादक जवानी को लेकर मैंने ठान लिया था कि इनकी चुदाई की कहानी आप सभी को सुनाना ही है, चाहे कुछ हो जाए.

सुरेश खड़ा हो गया और आगे जाकर अपना खड़ा लंड मीनू के होंठों पर टिका दिया, जिसे देख कर मीनू भी समझ गई और फ़ौरन मुँह में लंड लेकर चूसने लगी.

जैसे ही उंगली उसकी चूत में गयी तो वो हड़बड़ा कर उठ गयी और उसने मेरे गाल पर जोर से तमाचा मार दिया. उसे किस करते करते मैंने उसे बेड पर चित लिटा दिया और उसके बदन पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. देहाती सेक्सी बिडियोउसने ब्लाउज़ और साड़ी पहनी और ब्रा-पैन्टी व पेटीकोट दूसरे कपड़ों के साथ ले लिए। फिर मैंने उसे पलंग के पास बुलाया और पलंग पर खड़ा हो गया।अपना लन्ड मैंने आंटी के मुंह में दे दिया.

ये तो वही लाल साड़ी वाली लड़की थी जिसके लिए मेरा लंड बेकाबू हुआ जा रहा था. इसी को लेकर मैं अक्सर वीजा लेने के लिए चंडीगढ़ जाता रहता था … जिसके लिए मुझे कई चक्कर लगाने पड़ रहे थे. उसकी गांड को खूब मसला, फिर अशोक से बोला- इसको टाइट पकड़ ले और ये कितना भी चिल्लाए, इसे छोड़ना मत.

ज़मींदार अक्सर बड़ी हवेली में रहना पसंद करते थे, तो उसी हिसाब से ये हवेली बनाई गई थी. कहानी को और उत्तेजक बनाने को आप अर्चना भाभी की कल्पना कीजिये, वो एक्ट्रेस लता सब्रवाल, जो टीवी पर भाभी का रोल करती हैं, से मिलती जुलती शक्ल सूरत की थीं.

राहुल को अपने मन की बात, रूचि को बताने की कहने की कभी हिम्मत ही नहीं हुई थी.

तुझे दर्द हो तो तकिए या बेडशीट को मुँह में डाल लेना, समझ गया ना?मैंने डरते हुए हां कहा और धीरे करने का अनुरोध किया. उसने अपनी चूची को निप्पल के पास से भींच लिया और बोली- यहां क्या?मैंने कहा- अब हाथ तो तुम्हारा लगा है मैं कैसे बताऊं. रजिया बोली- तो तू ही बता? मैं उंगली न करूं तो और क्या करूं? जब से तेरे जीजाजी इस दुनिया से गये हैं तब से मैं बहुत अकेली पड़ गयी हूं.

एक्स एक्स सेक्सी कहानियां जब मैंने घूम कर देखा, तो मेरे पीछे मेरा भाई कासिब नंगा खड़ा था और उसका गर्म लंड मेरे नंगे चूतड़ों पर चुभ रहा था. मैंने भी अपना हाथ भाभी के पेट की साइड से डालते हुए उनकी चूचियों पर पहुंचा दिया और भाभी की चूची को दबाने लगा.

फिर मैंने उनके घुटनों को फैला दिया और चूत में जीभ को अंदर तक घुसा दिया. सुरेश ने उन दोनों को पीछे के रास्ते से बाहर निकाल दिया और खुद वापस अन्दर आया, तो मीता कुर्सी पर बैठी उसको देख कर मुस्कुरा रही थी. जैसे ही मेरा हाथ भाभी की जांघों के बीच में ऊपर तक गया तो भाभी की चूत से हाथ टकरा गया.

मियां खलीफा सेक्सी बीएफ

दोस्तो, हमारे देश में गोरे रंग को लेकर लोग बहुत ज्यादा खर्चा करते हैं. रात को 2:30 बजे, जब सभी गहरी नींद में सो गए और मुझे भी नींद आने ही लगी थी कि तभी मेरे फोन पर भाभी का मैसेज आया कि छत पर मिलो. इकबाल ने मुझे घुटने के बल बिठा दिया और दोनों अपने खड़े लंड मुझे चुसवाने लगे.

दीक्षा- अच्छा ठीक है … बता क्या करना है रोल प्ले सेक्स में?मैं- आप मेरी बहन ही बनी रहो और मैं आपका क्या बनूं?दीक्षा- तू भी मेरा भाई ही बन जा. वो नंगी होकर पानी में कूद गई और नीचे हाथ डालकर वॉल खोलने की कोशिश करने लगी … मगर वॉल बहुत टाइट बंद था, जो शायद उसके बस का ना था.

मैं उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को मामी की चिकनी चूत पर रगड़ने लगा.

मैंने भैया से बोला- आप इतने जल्दी क्यों जा रहे हो?भईया बोले- ऑफिस से फोन आ गया है, जाना ही पड़ेगा. तेरे पति के सामने कुतिया बना कर चोदूंगा तुझे … तेरी चूत में मेरी बीवी की चूत से कई गुना ज्यादा मजा है. मैं फिर से उस पल का मजा लेने के लिए वहीं दरवाजे के बाहर खड़ा होकर मुठ मारने लगा.

मुखिया- देख गीता, तुझे तेरे घर वालों की ख़ुशी चाहिए या नहीं? अब फैसला तेरे हाथ में है. रघु समझ गया कि मीता के सामने डॉक्टर साब कुछ बताना नहीं चाहते, तो वो चुपचाप उठा और अन्दर चला गया. बहुत कोशिश करती हूं खुद को रोकने की लेकिन फिर अंत में अपनी चूत में उंगली डालकर तेजी से चलाती हूं और फिर ऐसे ही झड़ जाती हूं.

कभी पिंक पैंटी तो कभी ब्लू, कभी गेहूं रंग की ब्रा और तो कभी फूलों के प्रिंट वाली.

बीएफ छत्तीसगढ़ी पिक्चर: उसकी पतली कमर के नीचे एकदम नुकीली चुत जो एकदम क्लीन चमचमाती हुई थी. जब भईया की शादी हुई, तब उनकी उम्र 30 साल थी और भाभी की उम्र 23 साल थी.

[emailprotected]देसी सेक्स का खेल कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 9. उसके चेहरे पर मदहोशी छा गयी थी और उसके मुंह से जोर जोर की सिसकारियां निकल रही थीं. मीता के साथ तुम्हारी रासलीला मुझसे छिपी नहीं है … और वो बेचारी भोली भली मीनू की चुदाई जो तुमने की, वो भी मैं जानता हूँ.

उसके बाद मैं तुंरत किचन में आ गया, जहां पर भाभी बेक्रफास्ट बना रही थीं.

उसके बाद मैंने उसकी शर्ट खोलनी शुरू की और उसकी ब्रा को भी उतार दिया. मेरा लन्ड पूजा भाभी की चूत लेने के लिए बैचेन हो रहा था। धीरे धीरे मेरे हाथ उनके बोबे से टच करने लगे। फिर मैं पानी लेकर पीठ को धोने लगा और रगड़ते रगड़ते मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया. मैंने देखा कि उसकी आंखें बंद हैं, अपने होंठ दांत में दबाए हुए वो ‘ऊ ऊ ऊ … आह आह …’ कर रही थी.