एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू

छवि स्रोत,क्सक्सक्स क्सक्सक्स कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो फिल्म सेक्सी मूवी: एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू, अब आगे पहली बार सेक्स का मजा:मैं- हां किया है ना!मीना- तू तो बड़ा छुपा रुस्तम है रे!मैं- आप करोगी मेरे साथ.

हिजड़ों की सेक्सी वीडियो

तभी तो भाभी मेरी खातिरदारी कुछ ज्यादा करने लगी थीं और भाभी खुद ही अपनी तरफ से शुरुआत करेंगी. एक्सएक्सएक्स हिंदी hdमैं मामी के दोनों निप्पलों को हाथ से मसलने लगा था- ओह्ह मामी कितना अच्छा चूस रही हो आप … आई लव यू मेरी जान ऊम्म्म!वो लंड को चपड़ चपड़ करके चूसे जा रही थीं और हाथ से हिला भी रही थीं.

आंटी ने मुझे घूर कर देखा और काफी गुस्से से अपना काम जल्दी जल्दी करके वहां से चली गईं. सनी लियॉन बफ हद वीडियोअब मैं उनके मम्मों को दबाने लगा, साथ ही मैं अपने एक हाथ से उनकी गांड को भी सहलाता जा रहा था.

मैं जानबूझकर अपने हाथ ऊपर नीचे ले जाने लगा और दीदी की चुदाई के बारे में सोचने लगा जो होने वाली थी.एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू: फिर बोली- देख मैं तेरे से बड़ी हूँ, मंजू को तेरे से मिलवाने में मैं तेरी मदद कर दूंगी.

मेरी मम्मी अपनी कमर उठा कर उनके लंड को अपनी चुत में लेने को उतावली दिख रही थीं.मुझे भी उस रात उसकी जुदाई करके भरपूर मजा आया।उसकी बड़ी बड़ी चूची को चूस कर मैंने भरपूर मजा लिया।उसके चेहरे पर संतुष्टि की भाव स्पष्ट दिख रहा था।जीजा साली की सेक्सी कहानी आपको कैसी लगी? मेल और कमेंट्स में अवश्य बताएं.

ब्लू पिक्चर सेक्सी नई - एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू

भाभी बिल्कुल आराम आराम से मेरे लंड को अपने हाथ से सहला रही थीं और कुछ ही देर में उन्होंने मेरे लंड को खड़ा कर दिया था.मैं भाभी से बोला- आज रात तो आपको अकेले सोना पड़ेगा, आज भैया तो है नहीं.

तब तो पता नहीं था, पर बाद में पता चला और समझ में आया कि इसी को ओर्गास्म कहते हैं जो मीना ने पा लिया था. एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू दीदी की बुर एकदम गीली हो रही थी जिसकी वजह से फच फच की आवाजें आ रही थी.

मैं अक्सर दीदी के अन्दर से रोने और चिल्लाने की आवाजों को सुनती रहती थी.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू?

दीपिका मेरे कमरे में आई और अजीब सी आवाज में बोली- मॉम बुला रही हैं … चलो. उन्होंने मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा तो मैंने अपनी उंगलियां उनकी तरफ बढ़ा दीं. यह बात उस समय की है जब मैं भुवनेश्वर से अपनी ग्रेजुएशन पूरी करके वापस राउरकेला आ गई थी.

उसकी गीली चूत और अधिक खुल चुकी थी तथा प्रेम मार्ग स्पष्ट गहराई तक दिखने लगा था. ”मैंने कहा- अरे साली रंडी, जब तुम मां ही नहीं बनी हो, तो दूध कैसे निकलेगा?वो कहने लगी- समझ लो न कि दूध निकल रहा है … आंह चूसो न खूब चूसो … मैं बिना बच्चा दिए ही तुम्हें दूध पिलाऊंगी … आह आह आह जान जल्दी जल्दी करो … मैं गई. अब पापा बोले- तो भोसड़ी के हमारे लंड में क्या कांटे लगे हैं, जो तुझे दर्द होने लगेगा.

फिर मैंने उन्हें मदद की चेंज करने में!उनकी कमीज उन्होंने खुद ही निकाल ली और सलवार निकालने के लिए मेरी मदद मांगी।अब वो ऊपर से सिर्फ ब्रा में ही थीं. कभी वो आपको पॉजिटिव इशारा देगी, साथ ही साथ आपको निगेटिव इशारा भी देगी … क्योंकि वो कभी नहीं चाहती कि आप उसको पहल करते हुए देखें. बस मैं ये ही सोच रहा था कि कैसे मैं इस भाभी की मदमस्त जवानी का रसपान कर पाऊं.

इस बार उसने हाथ तो हटाया नहीं, पर उसकी गर्म हथेली ने गर्म मेरे लंड का आकार बढ़ा दिया. मामा- आंह मैं भी गया … बस आह आह ओह ओह …साली तेरी चूतहै या आग की भट्टी.

वो उठने लगा तो मम्मी धीमे से बोलीं- अभी बैठ जाओ न, जब सब मेहंदी लगा लें, तब चले जाना.

सेक्स करने के बाद उसने बताया कि उसके मम्मी पापा 5 दिन के लिए बाहर गए हैं.

जोया मुझे स्मूच कर रही थी और मैं उसे … एक दूसरे को हम दोनों पूरा साथ दे रहे थे. तभी मैंने पीछे से जाके उसे पकड़ लिया और अपना खड़ा लंड बाहर कपड़ों के ऊपर से ही उसकी गांड में लगा दिया. उनकी चूत में लंड चल रहा था और उनकी चूची मेरे मुँह से खिंच खिंच कर चुस रही थी.

गांव में रहकर भी उसकी सोच चुदाई के मामले में शहर की लड़कियों से बहुत ज्यादा खुला और आगे की है। उसके लिए पति पत्नी के रिश्ते का मतलब होता है की चुदाई में मैं उसे संतुष्ट करूं और वो मुझे! शिवानी मुझे कभी रोकती नहीं है कुछ करने के लिए … पर मैंने इसका कभी भी गलत फायदा नहीं उठाया. उसके बाद मैंने कहा- भाभी, अब अपनी चुत में मेरा लंड लेने के लिए तैयार हो जाओ. दिन भर मैं बस उनके चूचों को देखता और उनको चोदने की तमन्ना मन में बसाए हुए लंड सहलाता रहता था.

फिर मुझे लिविंग रूम की दीवार पर लगे अस्सी इंच के स्क्रीन पर एक पॉर्न मूवी चलती हुई दिखी.

कमरे में सिसकारियां भरने लगी।थोड़ी देर बाद मैं बुआ के ऊपर आ गया और लन्ड को उसके मुंह में डालने लगा. मेरा लंड पूरा उनकी चूत में जाने के बाद उन्होंने मुझे अंदर बाहर करने कहा और फिर मैंने उनकी जम के चुदाई की।उनके बूब्स को ब्रा में से निकाल के जोर से दबाए और उनके निप्पल अपने मुख में लेकर खूब चूसे. मैं उस वक्त सिर्फ एक फ्रेंची पहने हुए था और लंड सहलाते हुए ब्लू फिल्म देख रहा था.

सनी- किसलिए, चुदाई के लिए?ऋतु का चेहरा शर्म से लाल हो गया, वो प्यार से बोली- सनी मुझे अपना जीवन साथी बनाने और इतनी अच्छी चुदाई के लिए!सनी- ओए होए तुम मेरी जान हो यार. मामी ने मुझे लंड एडजस्ट करते हुए देख लिया- अच्छा जी, तो अब आप अपनी मामी पर ही लाइन मार रहे हैं. उनके मस्त मम्मों को देखकर तो मेरे अन्दर वासना की लहर ही दौड़ गयी और मेरा लंड मेरी पैंट में सलामी देने लगा.

मैं अपनी जीभ उसके चूत के चारों तरफ जोर-जोर से घुमा रहा था और अपनी ज़ीभ और होठों से उसकी चूत को निचोड़ कर चूस रहा था.

हैलो फ्रेंड्स, आप उत्तराखंड के एक गांव की इस सच्ची सेक्स कहानी का मजा ले रहे थे. दरअसल मैं अपनी चूचियों से थोड़ी परेशान थी क्योंकि मेरी चूचियां पहले की तरह कसी हुई नहीं रह गई थीं.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू दोस्तो, बिना किसी रूपरेखा के मैं बताना चाहती हूँ कि सच्ची घटनाओं से इस सेक्स कहानी का कोई संबंध नहीं है, यह अकेली औरत सेक्स कहानी पूरी तरह काल्पनिक है. जब दीदी अपने बाल पीछे करती हैं जब वे बाल उनकी गांड पर आते हैं जिसकी वजह से गांड और ज्यादा फूली फूली लगती है.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू मैं सरसों के तेल से आप की मालिश कर देता हूँ जैसे दोपहर को आपके सर की मालिश की थी. कुछ देर रुक कर मैंने सिगरेट मसल दी और फिर से धक्के लगाना शुरू कर दिए.

फिर मैंने उसको चित लेटा दिया और उसके ऊपर आकर उसकी चुत को पूरा चाटने लगा ताकि वो गीली हो जाए.

न्यू गांव की सेक्सी वीडियो

उसकी हल्की सी आह निकली और मैंने पापा के हाथ से तेल की शीशी लेकर लंड और गांड के जोड़ पर तेल टपकाना शुरू कर दिया. मोनाली को लगता था कि मैं मजाक कर रहा हूं … और वो भी रंडी बनने के लिए हां कर देती. मम्मी उठीं और उन्होंने दरवाजा बंद कर दिया और मेरा बिस्तर ठीक कर दिया.

मुझे बहुत तेज़ दर्द उठा और मैं चिल्लाने लगी; उसे अपने ऊपर से दूर करने लगी. मैंने उसे देखा और आंखों से इशारा किया कि पहले मैं अन्दर जा रहा हूँ. जब हमने छुप्पन छुपाई खेलना शुरू किया तो मैं उसका हाथ पकड़ कर उसे उसी फ्लोर पर ले आया और उसी अलमारी के पीछे छुप गया.

मैंने झांक कर देखा कि मम्मी अपनी नाइटी को ऊपर करके जमीन पर बैठी हैं और अपनी चूत में उंगली डाल रही हैं.

मैंने भी उससे धन्यवाद कहा- तुमने मुझे अपनी कुंवारी चुत चोदने का मजा दिया. लेकिन हम दोनों ने करीब आधी रात को एक बार … और बहुत सवेरे एक बार फिर से सम्भोग किया. थोड़ी देर बाद उसने मेरा लंड मुँह में ले लिया और चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया.

उसके पापा के सामने हम अच्छी बातें करते लेकिन जब वो थोड़ा घूमने बाहर निकल जाते थे, तब हम दोनों अपनी अश्लील बातों का बाज़ार बनाने लगते थे. एकदम मस्त आम जैसी चूचियां थीं उसकी!मैंने एक को पीना शुरू कर दिया और दूसरी को एक हाथ से दबाने लगा. उस रात मैंने 4 बार भाभी की चुदाई का मजा लिया और थक कर मस्ती करने लगे.

फिर वो मेरी तरफ आईं, मेरा कम्बल ठीक किया और लालटेन उठा कर अपनी तरफ ले गईं. मेरा नाम आकाश (नाम बदला हुआ) है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूं और मेरी उम्र 21 साल है.

साली की चूत बहुत गर्म थी, चुदाई के बाद मेरा लंड उसकी चुत के गर्मी से जलने लगा. पर चैट में उसने कहा कि शायद विजय ये पसंद न करे कि वो संजीव से चैट कर रही है।संजीव बोला- निश्चिंत रहो, मैं उसे कभी कुछ नहीं बताऊंगा. एक हफ्ते से ज़्यादा हो गए तेरी मस्त चूत और ये सॉलिड मोटे चूचे देखे हुए.

दस मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैंने उन्हें दीवार से चिपका दिया और उनकी एक टांग हवा में उठा कर चूत में लंड पेल दिया.

किस करते करते ऋतु जैसे ही अपने दोनों हाथ उसकी कमर पर लाई तो उसे अहसास हुआ कि सनी की छाती नंगी हो चुकी थी. बीच बीच में वो लंड बाहर निकालते और मेरी गांड में ढेर सारा थूक डाल देते. बेडरूम में जाकर मैंने मामी को बेड पर लिटाया और फ़्रिज से बीयर और पेस्ट्री ले आया.

अब भाभी कहने लगीं कि अमित आज मैं तुम्हें तुम्हारे भैया की जगह दे रही हूँ. मेरी कहानी के पहले भागमैं पहली बार कैसे चुदी: मेरी स्टोरीमें आपने पढ़ा कि मैं और मेरे बड़े भाई एक कमरे में पीजी पर रहते थे पढ़ाई के लिए.

मामी के मुँह से और तेज कामुक आहें कराहें निकलने लगीं- उई माँ … उम्म्ह … अहह … हय … याह … क्या कर रहे हो … आग लग गई है. बुखार से मुझे बेहोशी हो रही थी पर उस हालत में ही मैं अपने कपड़े ढूंढ रही थी. मैंने उसकी चूत पर लन्ड सेट किया और अपनी कमर को थोड़ा पीछे कर के एक झटके मे फिर से अपना लन्ड उसकी चूत में उतार दिया.

करीना कपूर कि सेक्सी

इसके बाद मैंने चाची को पूरे लॉकडाउन में हर रोज़ चोदा और लॉकडाउन खुलने के बाद भी जब सब वापस आ गए, तब भी मैं मौक़ा पाते ही उन्हें चोद देता था.

उस समय मेरी उम्र 18 साल की हुई ही थी, मेरा लंड अपने पूरे उफान पर था. वैसे भी मैं खुद शादी करना चाहता था … मगर मेरे पास फिलहाल कोई ऐसी स्त्री है ही नहीं, जिससे मैं शादी कर सकूँ. शायद हड्डी टूट गई है।मैं हड़बड़ी में गाड़ी निकालने जा रहा था पर मैं ये तो भूल ही गया कि मासी ने कपड़े नहीं पहने हैं.

उसने मुझसे कहा- रानी, मेरे सर में थोड़ा हाथ फिरा दो, मुझे नींद नहीं आ रही है. उन्होंने मुझे देख कर कहा- अपने हाथ से हम दोनों का अंडरवियर निकालो, तुम्हें हम सोने का नैकलेस देंगे. हिंदी ब्लू फिल्म सेक्सी एचडीमैं फिर से एक बार एक साथ तेजी में आया और कुछ ही पलों में डिस्चार्ज हो गया.

हॉट गर्ल सेक्स Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी पहली चुदाई के समय मेरे पास दो लंड थे लेकिन मैंने छोटा लंड पहले लिया ताकि मुझे कम दर्द हो. मैं बोला- ऐसा क्यों बोलता है तू … बता न क्या जिम्मेदारी है बेटा!किशन बोला- अंकल मैं चाहता हूं कि आप मेरी मम्मी से शादी कर लें.

फिर उन्होंने नीचे गाड़ी पार्क की और हम लोग लिफ़्ट से तीसरी मंज़िल पर आ पहुंचे. मम्मी बिस्तर पर बैठ गईं, वो भी उठा और बाहर निकल कर फिर से अन्दर आ गया. यह देसी गांड चुदाई कहानी मेरे पहले सेक्स की पर गांड मारने की कहानी है.

वो सबसे बोल रहा था- मैं इसे हॉस्पिटल ले जा रहा हूँ, ये मेरी परिचित है. मैंने बीटेक किया है और अब मैं एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करता हूँ. कहानी के पिछले भागस्टूडियो में साली के नंगे जिस्म का मजा लियामें आपने पढ़ा किफिर प्रीति बोली- अच्छा जीजू, वो ड्रेस कब पहननी है? या ऐसे ही नंगी रहूं?यह बोलकर वो हंसने लगी.

उसकी चुत के पानी की वजह से फॅक फॅक की आवाज़ आने लगी, इससे पूरा कमरा गूँज गया.

थोड़ी देर बाद मैंने नीतू को फिर से लिप किस किया और उसके बूब्स को दबाने लगा, फिर पीने लगा. भाभी मुस्कुरा कर बोलीं- क्या हुआ?मेरे मुँह से न जाने किस झौंक में निकल गया- आप बहुत सेक्सी लग रही हो.

वो समझ गया और बोला- ठीक है आ जा!उसने कंडोम निकाला और लंड पर लगा दिया, फिर लालटेन बंद कर दी. ये तय था कि अगर मैं अगला गेम हार जाता तो खेल खत्म … और चाची उठ कर चली जातीं. इतने में भाभी बोलीं- सॉरी सॉरी … मैंने कुछ नहीं देखा … मुझे लगा कोई नहीं है.

वे जैसे ही गिरी उनकी कमर में काफी पेट चोट लगी क्योंकि वे कमर के बल ही सीढ़ी के ऊपर ऊपर गिरी थी. मेरा लावा निकलने को हुआ तो मैंने अपना लंड चुत से बाहर निकाल दिया और 5-6 पिचकारियां सपना के पेट और मुँह पर मार दीं. उससे चैटिंग शुरू हुई, उसने बताया वो यहां अकेली रहती है, उसके पति दुबई में नौकरी करते हैं.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू दोस्तो, मैं हिमांशु आपका दोस्त फिर से आपके सामने अपनी एक नई और सच्ची आंटी सेक्स देसी कहानी लेकर हाज़िर हूँ. मैंने चूत की फांकों में लंड का सुपारा फंसा कर एक झटका मारा तो मेरा लंड थोड़ा सा घुस गया.

वीडियो सेक्सी जंगल की

अपनी गर्लफ्रेंड से जाकर ये सब कर!मैंने कहा- मम्मी आपको मेरी जरूरत है, ये मुझे मालूम है. वो मेरे लंड पर बैठीं और उन्होंने खुद अपने हाथ से लंड पकड़ कर अपनी चुत के छेद में सैट किया. मैंने पूछा- मज़ा आया?दीदी बोलीं- हां बहुत … तुम पूरी ताकत से कर रहे थे, पर मुझे खुल कर मजा लेना है.

कुछ देर बाद मैंने अपना लंड दूसरे हाथ से बाहर निकाला और करवट लेकर लंड दादी की जांघ पर रख दिया. भाभी ने मेरे सर पर प्यार से हाथ फेरा और बोलीं- अब सो जाओ बेबी … मैं बहुत थक गई हूँ. फ्री प्रोनइतना तो पता था कि मीना को सेक्स के बारे में पता होगा कि लंड को बुर में कैसे डालते हैं क्योंकि उसके साथ उसके कॉलेज में कई शादीशुदा लड़कियां भी थीं.

मैंने भी हरे कलर की साड़ी पहनी थी और इसमें मैं भी बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

अब पीछे खड़े लड़के का एक हाथ जो पहले मुँह पर था, वह गालों पर होंठों पर बड़ी नर्मी से फिसलने लगा. पहले मेरी चूचियां इसलिए टाईट थीं क्योंकि उन दिनों मेरे अन्दर काफ़ी आग लगी रहती थी और मेरे कुछ आशिक़ थे जो मेरी चूचियों को खूब दबाकर चूसकर मुझे चोदते थे.

जब भाभी को अगला पीरियड नहीं हुआ … तो वो खुश हो गईं और उन्होंने गर्भ चैक करने वाली किट से अपना प्रेगनेंसी टेस्ट किया. मुझे इस अंदाज़ में देख कर मेरे पति का सारा गुस्सा शांत हो गया और वो भी मेरे साथ हंसने लगे. मैं सलवार ढूंढ कर उसे सूंघ कर मुठ मार रहा था तभी चाचा जी की बहन गर्म पानी लेकर आ गयी.

उसने अपने लंड को मेरे मुँह में घुसा दिया और बोला- आह चूसो ना, तुम्हें मज़ा आएगा.

कुछ ही दिनों में भाभी और मेरी बहुत अच्छी बनने लगी थी क्योंकि मैं खुले विचारों वाला बंदा हूं. मैं हिन्दी देसी सेक्स कहानी की सबसे मस्त साईट अन्तर्वासना पर रोजाना सेक्स कहानी पढ़ता हूँ. कोई उसके मुँह में लंड डाल रहा था, तो कोई उसकी गांड में, तो कोई उसकी चूत चोद रहा था.

सेक्सी चूत वीडियोमैं डरते हुए गया और बुआ से बोला- जी बुआ जी … क्या हुआ!उन्होंने पूछा- क्या हुआ का क्या मतलब है? खाना नहीं खाना है क्या … चलो बैठो खाना खा लो. [emailprotected]बुर फाड़ चुदाई की कहानी का अगला भाग:मेरी यौन अनुभूतियों की कामुक दास्तान- 7.

औरतों का देहाती सेक्सी वीडियो

भाभी की गांड मेरे सामने आ गई थी तो मैं उनकी गांड के छेद को पागलों की तरह चाटने लगा. उसकी ये हरकत मानो कह रही थी कि अब तो चूम लो मेरे इन रसीले होंठों को. इस बार भी वो अकेली ही आई।जन्मदिन से 1 दिन पहले तो मैं उसे बस स्टैंड पर लेने के लिए गया.

करीब 15 -20 मिनट हम दोनों एक दूसरे से चिपक गए और वासना के वशीभूत होकर चूमाचाटी करने लगे. मैं चौंकती हुई बोली- तुम लोग दूसरों के साथ भी सेक्स कर लेते हो?नेहा- हां यार, कभी कभी हम दोनों ही टेस्ट चेंज करते रहते हैं. उसने कहा कि ठीक है, लेकिन अगर दर्द ज्यादा हो रहा है, तो दवा लगा लो.

चूत गांड डबल सेक्स कहानी मेरी गर्म गर्लफ्रेंड की दोहरी चुदाई की है. सुबह जैसे ही बुआ नहाने जातीं … मैं दरवाजे की झिरी से बुआ का नंगा बदन देखने लगता था. मैंने उनकी क्लिट को हल्के से उंगली लगा के और मसल कर बताया- ये!वो हल्की सी सिसकारी और बोलीं- सिर्फ बताने को कहा था, घिसने को नहीं। इसे चूत का दाना कहते हैं.

उस जमाने में अंतरवासना की तरह की मस्तराम की किताब 5 रुपए (ठीक से याद नहीं) में आती थी और वापस करने पर एक रूपया किराया देना होता था. सपना को मेरे लम्बे मोटे लंड से दर्द होने लगा था, उसने अपने दांत भींच लिए थे और चादर पकड़ ली थी.

ऋतु की आंखें भी वासना में तप्त होकर सनी से यही कह रही थीं कि मेरी चूत चूस कर पूरी तरह से गीली कर दो.

जब लॉकडाउन शुरू हुआ तो साफिया अपने मामा को छेड़ते हुए बोली- मामूजान … अब कैसे होगा आपका? मामी तो मायके में है … कैसे बर्दाश्त करेंगे आप?उसके मामा बोले- तुम अपना सोचो!इस बात पर वह शरमा गई. राजस्थानी नंगी सेक्सीइस भयंकर चुदाई के बाद हम दोनों बहुत खुश थे।अभी भी मेरा लन्ड पिंकू की चूत में था. સેક્સ વીડીયાसभी लोग डर डर कर एक दूसरे से मिल रहे थे और अमीर लोग सबसे ज्यादा डरे हुए थे. पांच साल बाद एक साथ दो-दो मर्द मेरे जिस्म को छू रहे था, वो भी इस तरह.

2 मिनट लिप किस करने के बाद मैंने उसके बूब्स को पकड़ कर दबाने लगा और उसके निप्पल को मसलने लगा.

मैं जीजू की मोटी उंगली अपनी चुत में पाकर अभी चीखने ही वाली थी कि तभी जीजू ने अपने दूसरे हाथ से मेरा मुँह दबा दिया. मीना के रसीले होंठों को मैंने चूसना शुरू किया तो मीना ने भी मुझे गनगना कर पकड़ लिया और मेरा साथ देने लगी. मैंने कहा- मैं रोज आपको देखता हूं, आप किसी आफिस में काम करती हैं न!वो बोलीं- हां, मैं पास ही एक आफिस में काम करती हूं.

हॉट सेक्सी गर्ल हिंदी कहानी शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को खुद के बारे कुछ बताना चाहती हूं. मैंने उसको घुमा दिया और उसकी मोटी चूची अपने मुँह में भरके चूसने लगा. थैंक्स! बस एक बात कहना चाहती हूँ यदि बुरा न मानो तो …पहले वाले लड़के ने पूछा- बोलो?मैंने कहा- हो सके तो चोरी करना छोड़ दो … और कोई काम करो.

सेक्सी फिल्म वीडियो कुत्ता

अंजू की सांसें तेज हो गईं- आह अह्ह हहह हम्मह उफ्फ!वो बोली- आंह आशु छोड़ो मुझे उफ्फ … आह क्या कर रहे हो, मत करो कुछ हो रहा है मुझे … आह आह आह उफ्फ हिश हिश!ये सब करते हुए वो भी मंजू की तरह शांत हो गई. सनी उसकी चूत को चूसता रहा और जल्दी ही ऋतु का बदन फिर से गर्म होने लगा. ऐसा सच में होता है कि कभी कभी ऐसे रिश्ते मेंचुदाई के खेलहो जाते हैं.

पहले तो उसने गुस्से में मना कर दिया पर मैं अपनी कोशिश में लगा रहा और मेरी कोशिश रंग ले आई.

मैं भाभी को करीब 25 से 30 मिनट तक चोदता रहा और वह भी चिल्ला चिल्ला कर चुदाई के मजे लेती रहीं.

फिर बाद में ऋतु ने मुझे जो बताया, उन दोनों की सेक्स कहानी आज आपके सामने फिर से पेश है. करीब 10 मिनट तक ताबड़तोड़ चूत चोदने में मेरी बहन एकदम बेदम और लस्त हो गयी. वीडियो में चुदाईमैंने पूछा- कैसा लग रहा है बुआ जी?वो बोली- राज, फ़ाड़ दे मेरी चूत! तेरे लौड़े में जादू है!मैं जोश में आ गया और लन्ड को तुरंत चौथे गियर में डाल दिया और झटकों की रफ्तार बढ़ा दी.

वाइफ फ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी पत्नी की सहेली की सेक्स की जरूरत को समझा और सेक्स का जो आनन्द मुझे मिला, इस कहानी में प्रस्तुत है. स्वाति ने उन्हें मोहिनी और मेरे से मिलवाया।हमने उन्हें हमारे घर आने का निमंत्रण दिया।स्वाति और मोहिनी फ़ोन पर बात करते रहते. अब तो मुझे घर से बुलावा आ चुका था और मुझे जाना भी था, तो मैंने सोचा कि उस लड़के की तरफ़ नहीं देखूंगी.

मैंने उनके सिर पर हाथ रखकर अपनी आंखें बंद करके मजे लेना शुरू कर दिए. मैं कपड़े पहन कर उनके कमरे में जाकर नीचे फर्श पर अपना बिस्तर लगाने लगा.

हॉट गर्ल रोमांस स्टोरी में पढ़ें कि चुदाई सेक्स से महरूम लड़की ने मेरे बताये तरीके से घर में काम कर रहे दो कारीगरों को अपना जिस्म दिखाकर पटाया.

फिर मैंने कहा- तनु बेबी, आज पूरी रात मजा ले लो … आज तो मैं जग भी रहा हूँ और आपको हर तरह से चोदने के मूड में भी हूँ. मन्दिर से सिन्दूर लेकर उसने मेरी मांग भर दी और जेब से एक मंगलसूत्र निकाल कर मेरे गले में पहना दिया. उसका क्या मिलेगा?ये सुनकर तो वह बहुत ज्यादा खुश हो गया और बोला कि फिर तो बहुत अच्छी कमाई होगी.

बैगन से चुदाई मामी कामुक सिसकारियां लेने लगीं- इश्स आआ … आहह!फिर मैं उनकी चुत पर आ गया. एक दिन चुदाई के दौरान मोनाली मेरे लंड पर कूदती हुई बोली- मुझे सच में रंडी बना दो.

मेरे ब्रेकअप को 6 महीने हो चुके थे। मैं अपने दुख दर्द से उबर चुकी थी।इधर रिंकी और मेरे भाई के बीच तनातनी चल रही थी, भाई रिंकी से नाराज थे।भाई ने 3 महीनों से मेरी सहेली की चुदाई नहीं की थी।इस बीच मैंने भैया को बहुत मनाया, रिंकी बहुत रोयी लेकिन वो नहीं माने!एक दिन मेरे भाई शेखर का चुदाई का मन हुआ तो उसने रिंकी से बात की. उस दिन के बाद मुझे बहुत अफ़सोस हुआ था कि तुम किस तरह जिद कर रही थी और मैंने मना कर दिया था. उसके लंड की लंबाई काफी ज्यादा लग रही थी और मोटाई किसी खीरे जैसी थी.

चोदने वाली फिल्म सेक्सी

सेक्सी सिस्टर को चोदा मैंने! वो मुझसे छोटी थी पर बहुत जबरदस्त माल थी. मैं- आज तो आपने निहाल ही कर दिया मामी … आह आपने अपनी चूत रस का स्वाद चखा दिया … आई लव यू मामी. जब तक मंजू कुछ समझती, तब तक मैंने एक दूसरा निरोध निकाल कर लंड पर चढ़ाया और चूत में लंड उतार दिया.

फिर मैंने उसके नाम की मुठ मारना शुरू कर दी और उसकी ब्रा पैंटी को देख कर मुठ मारने लगा. वो मुँह पर मेरे हाथ लगे होने के कारण चिल्ला भी ना सकी, पर ‘उम्म उम्म …’ करती रही.

दस मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैंने उन्हें दीवार से चिपका दिया और उनकी एक टांग हवा में उठा कर चूत में लंड पेल दिया.

वो उठने लगा तो मम्मी धीमे से बोलीं- अभी बैठ जाओ न, जब सब मेहंदी लगा लें, तब चले जाना. अब अगर मैं किसी अपने पुराने यार से चुदवा लूँगी, तो तेरे भाई साहब मुँह फुला लेंगे. मैं उस समय बुआ के मम्मे देख कर मस्त हो रहा था और उनके मुँह से ये सुनकर कि मैंने उनकी मार दी है … मैं एकदम से गनगना गया.

जैसे जैसे लंड भीतर जाता, दर्द और बढ़ता जाता … लेकिन चिकनाई खूब होने से लंड पूरा भीतर समा ही गया. उस रात मैंने भाभी को धकापेल चोदा और उनकी चुत में अपना रस टपका दिया. मैं कुछ देर बाद भाभी की चुत में लंड को तेजी से अन्दर बाहर करने लगा.

जहां खाना बनाते थे, वहां पर बिस्तर लगा कर दादी, मम्मी, बड़ी दीदी, छोटी दीदी कोने में लेट गईं.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू: दोस्तो, मैं राहुल आपको अपनी यौन अनुभूतियों से भरी हुई इस सेक्स कहानी में एक बार फिर से मजा देने के लिए हाजिर हूँ. आकांक्षा के पापा के वहीं होने की वजह से मेरी गांड ज़रूर फट रही थी लेकिन इतना तो पता था कि पकड़े नहीं जाएंगे.

मैंने मासी से कह दिया कि अब वो कोई भी काम नहीं करेंगी, सब मैं करूंगा. आप लोगों ने मुझे मेरी पिछली कहानी पर बहुत प्यार दिया, जिसका मैं दिल से धन्यवाद करता हूँ. शैंकी के बाद बाकी का बचा खुचाचुदाई का ज्ञानमैंने अपने दूसरे चोदू शेखर से चुदवा कर जान लिया था.

अगली सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने प्रिया की चुत और गांड मारी.

आपको भाभी की देसी चुदाई कहानी में मजा आया या नहीं? मुझे मेल ज़रूर कीजिएगा. मैं उस वक्त सिर्फ एक फ्रेंची पहने हुए था और लंड सहलाते हुए ब्लू फिल्म देख रहा था. अब फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाज तेज होने लगी।बुआ लंड पर मस्ती से उछलने लगी और बोली- राज, मुझे अपने लौड़े पर बैठाकर जन्नत की सैर करवा दो.