बीएफ चूत और लंड की चुदाई

छवि स्रोत,एचडी बीएफ भेजें

तस्वीर का शीर्षक ,

कैटरीना कैफ न्यूड फोटो: बीएफ चूत और लंड की चुदाई, मैं शुरू से ही चाहता था कि मैं सेक्स से और चुदाई से अपना पैसा कमाऊं.

बीएफ चुदाई इंग्लिश

मैंने उस सेठ के लौंडे की तरफ देखा तो उसी ने उनको मेरे बारे में बताना शुरू कर दिया कि यही वह लड़की है, जो उस दिन स्टोर पर मिली थी और मैंने आपको इसी की फोटो दिखाई थी. हिंदी बीएफ राजस्थानी बीएफसोनम की मम्मी उसकी चाची और वो सामने वाली लेडीज तीनों पड़ोस और गांव में, जो भी मिलता सबसे बतातीं कि बंध्या को चुदवाते रंगे हाथों पकड़ा है.

मैं मन ही मन सोच कर खुश हो रही थी कि आज मुझे अपनी चूत में एक बहुत बड़ा लंड मिलने वाला है और वो भी किसी गैर मर्द का लंड से चूत की साइज़ बढ़वाने का मौका मिलेगा. बीएफ चोदीमैंने उनको अपना तौलिया देते हुए कहा- आप ये तौलिया ले लो और बाथरूम में चली जाओ, मैं तब तक आपके लिए चाय बनाता हूँ.

आह्ह … उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूचियां दबाने में जो मजा आ रहा था वह मैं शब्दों में यहाँ पर कैसे बताऊं! मैं तो जैसे जन्नत में था उस वक्त.बीएफ चूत और लंड की चुदाई: तभी वह मेरे दूधों को दबाने लगे और मुझे बोले- तेरे दूध तो बहुत छोटे छोटे हैं.

फिर हम दोनों ने एक दूसरे का मोबाइल नंबर लिया, मैंने उन्हें एक सेक्सी गुड बाय किस किया और घर के लिए रवाना हो गया.मैंने उसकी चूचियों को एक बार फिर से अपने हाथों में भर लिया और एक ज़ोरदार धक्का उसकी चूत की तरफ दे मारा.

इंडियन वाला बीएफ - बीएफ चूत और लंड की चुदाई

फोन उठाया तो उसने बताया कि वह मेट्रो स्टेशन पर मेरा इंतजार कर रही है.तुम यह बताओ कि कितनी देर में निकल चलोगी?मुझे भारी चुदास चढ़ी हुई थी तो न जाने कैसे मैंने एकदम से बोल दिया- अन्दर आ जाओ … मैं डीजे के पास दिख जाऊंगी.

मोटे-मोटे होंठ, रंग सांवला हो या गोरा, मगर बूब्स का साइज़ कम से कम 34 इंच का हो. बीएफ चूत और लंड की चुदाई मैं बड़े दिनों का भूखा था, तो ज़्यादा देर टिक नहीं पाया और थोड़ी ही देर में मैं ज़ोर ज़ोर के झटके देने लगा.

ग्रेजुयेशन करने के बाद मैंने काम ढूँढना शुरू किया जिससे देहली, नॉएडा के बहुत चक्कर लगाए पर सफलता ना मिली.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई?

आओ मेरे लाल, अपनी एक्स सास को अपनी रखैल बना लो, पेल दो मेरी चूत में अपना लंड. अभी तक मैंने कल्पना का चेहरा देखा नहीं था, तो मैं इस समय उनकी उम्र बताने की अवस्था में नहीं था. उनका 3 साल पुराना जितना पानी इकठ्ठा हो गया था, उन्होंने सब मेरी चूत में निकाल दिया.

मेरी आंखों के सामने उसके हिलते हुए चूचे थे जो मेरी मस्ती को और ज्यादा बढ़ा रहे थे. उसने लंड मेरे मुँह में देने का इशारा किया, तो मैंने उसके लंड को मुँह में भर लिया. इससे वो एकदम से गरमा गई और गाली देते हुए बोली- मादरचोद, क्यों सता रहा है … छेद पर भी कर ना.

पूरा पेटीकोट ऊपर कर दिया, इससे मेरी बीवी की गोरी जांघें केले के तने की तरह चिकनी सामने दिखने लगी थीं. फिर मैं नीचे का दरवाज़ा बंद किया और डोर-बेल का कनेक्शन बंद करके ऊपर आ गया. मैंने बारी बारी उसके दोनों चूचे चूसे और उनको दबा दबा कर काटता भी रहा.

आज तेरी वजह से सुहागरात हो जाएगी, तेरा नाम हमेशा लूंगा कि मेरे भाई के कारण मेरी सुहागरात हुई थी. जब हम अलग हुए, तो वो कहने लगी- यही प्यास बुझाने आए थे क्या?मैंने कहा- हां जानेमन … यही प्यास बुझाने आया था.

उसके बाद हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हुए और नंगे ही एक-दूसरे के साथ चिपक कर सो गए.

फिर जैसे ही उसने दरवाजा खोला, तो मैं भी बाथरूम के अन्दर घुस गया और उसे पकड़ कर उसकी पैन्ट की जेब से रंग निकाल कर उसे लगाने लगा.

मुझे ऐसा लग रहा था कि अगर वो तीन-चार बार मेरे लंड को ऐसे ही सहला देती तो मैं वहीं पर झड़ जाता. मैं उसके पीछे खड़ा हुआ और उसकी दोनों चुचियों को मसलते हुए उसे नहलाने लगा. तभी वाणी भी आ गयी और बोली- अरे इतनी देर से आये क्या … अभी तक काफ़ी भी नहीं पी?हम दोनों मुस्करा दिये और बोले- समय नहीं मिला बनाने का.

तो मैंने वैसा ही किया, उनकी चूत को बहुत चाटा।अब आंटी से बर्दाश्त नहीं हो रहा था और मुझे बोल रही थीं- तेरे अंकल तो दिल्ली में एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करते हैं. मैं बोली- नहीं रामू प्लीज़ कोई बात नहीं है … मैं तो रोज ही अपने बदन में ऐसे तेल लगाती हूँ. फिर मैंने उसकी तरफ 2-3 बार और ध्यान दिया, तो पाया कि वो तब भी मुझे ही देख रहा था.

उन दोनों ने गाउन पहना और जा कर बड़े फ़्रिज़र से कई सारी बियर निकाल कर ले आईं.

फिर वो मेरे पास आई- क्या हुआ मेरे डरपोक राजा? डर गए थे क्या?वो मुझे आंख मार के हंस दी. मैं- सच प्रिया … जवानी में आपके साथ बहुत बुरा हुआ, इतनी अच्छी सुशील लेडी के साथ ये सब नहीं होना चाहिए. सामने से जोर जोर से जगत अंकल भी मेरे मुँह में लंड से चोदने में लगे थे.

मैंने डिल्डो के बारे में सुन तो रकः था, फोटो भी देख रखी थी मगर असली डिल्डो पहले कभी नहीं देखा था. मैं- चलो अच्छा है … और सुनाओ तुम क्या कर रही हो?यहाँ मैं उसे भाभी लिख के आगे की बातें स्टार्ट करता हूँ, जिससे आपको समझने में आसानी हो. धीरे धीरे उनकी मस्त आहें फिर से निकलने लगीं, तो मैंने एक लास्ट धक्के के साथ अपना पूरा लंड उनकी बुर में घुसा दिया.

मैं- मतलब?सासू माँ- देख बेटा, मैं तुझसे उम्र में काफी बड़ी हूँ, मैंने तुझसे ज्यादा दुनिया देखी है और मेरा अनुभव ये है कि आज की तारीख में कोई भी मर्द सिर्फ एक औरत के साथ और कोई भी औरत सिर्फ एक मर्द के साथ नहीं रह सकती.

हुआ यूं कि मैं कमरे में अपने बेड पर लेटा हुआ आँख बंद करके कुछ सोच रहा था. रिशु ने मिशिका की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस कर दिया तो मिशिका ने रिशु का मुंह अपनी पैंटी में घुसा दिया.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई उनकी इन सब बातों को सोचते हुए मैं अपनी किस्मत को कोस कर रहा था कि मैं तलाकशुदा इन तीन दिनों में क्या करूंगा?काम्या (मेरी पूर्व पत्नी) सुन्दर बीवी थी परन्तु उसे कैरियर बनाना था, जिसमें मैं उसकी बड़ी अड़चन था. कुछ देर बाद मैं फिर से उसकी चुत में उंगली डाल रहा था और उसके मम्मे चूस रहा था.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई मीशा ने मेरा लंड अपने मुलायम हाथों से पकड़ लिया और उसे फील करने लगी. भाभी बोलीं- ये क्या कर रहा है?मैंने बोला- भाभी आपकी ये सेक्सी गांड भी मारनी है मुझे.

निहाल की हिम्मत बढ़ती जा रही थी तो उसने अपनी हाथ की हरकत को और तेज कर दिया.

बेटा ने मां को चोदा सेक्सी वीडियो

मेरे घर के पास एक परिवार रहता है जिस में एक बेहद सुन्दर लड़की रहती है. मैंने भाभी के स्कर्ट के इलास्टिक में हाथ डाला और स्कर्ट को नीचे निकाल दिया, भाभी ने अपनी पैंटी पहले ही उतार दी थी. मेरी खोपड़ी सारे दिन यही सोचती रहती थी कि किस तरह से भाभी को चोदा जाए.

करीब 15 मिनट तक उसने मेरी चुदाई की और बाद में वो मेरी गांड में ही झड़ गया. यह कहानी मेरी कामुकता की जीवनमाला के समान है जिसका हर एक शब्द रूपी मोती मैंने अपने निजी अनुभव के समंदर से छांटकर निकाला है. टीवी का रिमोट तो शिखा के हाथो में था तो वो ही अपनी पसंद का कार्यक्रम देख रही थी.

मैं उसके मम्मे सहला रहा था और देखना चाहता था कि अब उसकी चूत कैसी दिखायी दे रही है.

मेरा दिमाग पूरा सुन्न पड़ा था, पर अब उधर बैठने की वजह से मुझे कोई कुछ नहीं कर रहा था. इस दौरान सलहज जोर जोर से सांसें लेने लगी और बड़बड़ाने लगी- जीजा जी और जोर से. इंदु ने मुझे देखते ही आंचल ऊपर कर लिया और मुस्कुराने लगी, बोली- आइये जीजाजी.

इस बार मैंने अपना प्यार दिखाया और उसके दोनों मम्मों को पकड़कर धीरे धीरे मसलने लगा. मैं महसूस कर रहा था कि उसे बहुत मज़ा आ रहा है, क्योंकि वो मुझे रोकने की बिल्कुल भी कोशिश नहीं कर रही थी. और शायद मेरा बदन थोड़ा गठीला है, इस वजह से भी कपड़ों और मेरे बदन की अच्छी जुगलबंदी हो रही थी.

कुछ देर उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई अभिलाषा फिर से जागृत हो गई और उसे देख कर मेरी चाहत मुझे काण्ड कर देने पर आतुर कर देने लगी. पढ़ाई में भी शुरू से ही काफी अच्छी थी तो सब टीचरों की भी पसंदीदा स्टूडेंट थी.

मेरे प्रिय मित्रो, मेरा नाम हर्ष है, यह नाम गोपनीयता के चलते बदला हुआ है. बाद में मुझे एक घर के बारे में मालूम चला जिन्हें एक पेइंग गेस्ट चाहिए था. कुछ देर लंड को चूत के दाने पर रगड़ने के बाद भाभी कहने लगी- राज, अब ज्यादा मत तड़पाओ और इसको अंदर डाल दो.

मैंने वक़्त बर्बाद ना करते हुए उसे गोद में उठाया और पूछा- बेडरूम किधर है.

अबकी बार गांड पर लंड लगाने के बाद मैं उसके ऊपर लेट गया और लंड को थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा. मेरे मुँह से ये सुनकर भाभी खुशी के मारे फूली नहीं समाई और मुझे ज़ोर ज़ोर से चूमने लगीं. अब मेरा दर्द थोड़ा कम हो गया था, तो वो और जोर से झटका मार के चोदने लगा.

मेरे मोबाइल की स्क्रीन पर कल्पना के साइड का कुछ भी नहीं दिख रहा था, शायद उसने फ्रंट कैमरा पर अपनी उंगली रखी थी ताकि वो मुझे तो देख सकें, लेकिन मैं उन्हें न देख सकूं. मैंने उन्हें प्यार से उठाता हुआ बेडरूम में लेकर गया और भूखे शेर की तरह टूट गया.

लोहे और लावा से गर्म लार पाकर प्रिया होश खोने लगी और ‘आआह … ऊऊओह … उफफफ्फ़ … में मर गई…’ कहने लगी. मुझे न जाने क्यों एक बात समझ आ गई थी कि इसकी चूत को सबसे बाद में चूमूंगा. फिर उनकी चूत को अपनी जीभ से चोदने लगा, तो कुछ ही देर में वो झड़ गईं.

सेक्सी डांस गाना वीडियो

वाशरूम में अन्दर जाकर मैंने पहले तो चैक किया कि ऑफिस का कोई और बंदा पहले से वाशरूम में तो नहीं है.

पहले मैंने दोनों उंगलियों को कुछ देर तक उनकी फांकों में ऊपर नीचे किया. मैंने दूध पिया और कुछ ड्राई फ्रूट खाए, गर्म दूध पीने के बाद मेरे अंदर फिर जोश पैदा हो गया, मैंने भाभी को उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया और प्यार करने लगा. सोते देख मुझे उन पर प्यार आ गया और धीरे से मैंने उनकी गोरी पेशानी चूम ली.

एक दूसरे से मिलन की आग ने हम दोनों को सेक्स करने का मन बना दिया था. कुछ देर लंड को चूत के दाने पर रगड़ने के बाद भाभी कहने लगी- राज, अब ज्यादा मत तड़पाओ और इसको अंदर डाल दो. 20 साल की बीएफमेरी गांड में उंगली डालते ही रमीज बोला- यार अब्दुल, इसकी गांड का साइज और उठान इसे दुनिया की सबसे सेक्सी लड़की बना देगी, इसकी बहुत जबरदस्त गांड है.

उसकी कमर पर हाथ रखते हुए उसके बालों को हटा कर उसके गले पर किस करने लगा. उन्होंने तुरन्त बोला- क्यों?मैंने सहज में बोला- ऐसे ही देखूं तो सही.

मैं भी कभी उसको अपने सीने से चिपका लेता था, तो कभी उसकी चूचियों को चूसते हुए चुदाई का मजा लेने लगता था. और थक कर कुछ देर हम ऐसे ही आंखें बंद करके एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे. वो मुँह में लंड पेलने के साथ मेरे निप्पलों को भी मसलते हुए सहला रहा था.

जब वो कुछ नहीं बोली, तो मैंने उसके मम्मे को हाथ से दबाना चालू किया. मैंने भी पानी से उसकी चूत को साफ़ किया और बड़े से बाथटब में उसको लिटा कर उसकी चूत को चाटना चालू कर दिया. उसने मेरी पसंद के ब्लू कलर की कुरती और वाइट कलर की सलवार पहन रखी थी.

शीला ने शरमाते हुए धीमे से कहा- अशोक जी, आप कम से कम दो जोड़ी फटे हुए कच्छे बनियान पहनते तो हैं, हम दोनों पिछले चार साल से बस एक एक सलवार कमीज़ ही पहनती आई हैं, ये तीन तीन जोड़ी साड़ियां भी चौबे जी ने भाभी जी की पुरानी साड़ियां दी हैं, जिनके ब्लाउज छोटे है, आप कहें तो हम दोनों ब्लाउज उतार कर सलवार कमीज़ पहन लें.

मैं फिर से उनकी बुर चाटने लगा, साथ ही मैं उनके दाने से भी खेल रहा था. एकाध जो बचे थे, उनके लिए पहले से ही गेस्टहाउस में सारी व्यवस्था कर दी गयी थी.

इसी तरह से हम दोनों लोग चुदाई करते करते पूरी मस्ती से एन्जॉय कर रहे थे. ऊपर से मैं हमेशा टाइट कपड़े पहनती हूँ, जिससे मेरे कटावदार एंड और अधिक सेक्सी लगते हैं. हमने घर जाकर सारा काम खत्म किया और सास-ससुर को खाना खिला कर उन्हें भी उनके रूम में भेज दिया.

वो मुझे इस अवस्था में चोदते चोदते मेरी कमर को पकड़ कर मेरी चूत में लंड घुसा कर बड़े आराम से चोद रहा था. मैं चुप रही तो उन्होंने अपना नंबर मुझे दिया और बोले कि अगर विश्वास हो तो कॉल कर लेना. तभी जगत अंकल बोले- यार वहां बगल वाली कार में, जिसमें इसकी मम्मी है वह खड़ी है.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई हँसते-हँसते उसकी आँखों से आंसू बहने लगे थे और वह आगे पीछे झूल रही थी. सच बताऊं दोस्तो … मुझे ऐसे कपड़े पहने हुए और ब्लाउज़ में बिना ब्रा की चुचियों से खेलते हुए सेक्स करने में बहुत मज़ा आता है.

ब्लू सेक्सी फिल्म भाई बहन की

मैंने दो चार बार लंड को उसकी चूत की दरार में घिसाया और फिर छेद के मुहाने पर लंड के अग्र भाग को टिकाया. वो लिफ्ट में मेरे से आगे खड़ी थी, तो मैं पीछे से ही अपनी आँखों से उनकी बॉडी का मेज़रमेंट लेने लगा. उसे सब पता चला तो वो कहने लगी- अगली बार जब उससे मिलो, तब कुछ भी हो जाए.

कार में बैठने के बाद मैंने भाभी से पूछा कि कहीं वह मुझसे नाराज़ तो नहीं हो गई है. मेरे पास खुद को शांत करने के लिए मुठ मारने के अलावा और कोई रास्ता ही था. कुंवारी लड़की की बीएफ दिखाइएकुछ महीने पहले की बात है, जब मुझे पैसों की बड़ी तंगी आ गई थी, जिसके कारण में चार दिनों से चोदाई नहीं कर पाया था.

उसकी सिसकरियां बढ़ रही थीं- हाँ आमिर … जोर जोर से करो, ऐसे ही करते जाओ, बहुत अच्छा लग रहा है, प्लीज़ रुकना नहीं.

मैं उछल रही थी कि इतने में एकदम से लाइट आ गई और निहाल ने झट से अपना लंड निकाल लिया, पर निकालते निकालते थोड़ी देर हो गई या बगल में जो लड़के खड़े थे, उन दोनों लड़कों ने जल्दी से खेल देख लिया. आज अपने लंड का पूरा जलवा उसको दिखा कर ज़रा भी सांस ना लेने देना ताकि सुबह उसे लंगड़ा के चलना पड़े.

वो बोलीं- ये सब फिर क्यों कर रहे हो, अब जल्दी से अपना लंड मेरी चुत में डाल दो. उसने पूछा कि ऐसे कैसे गांड में डालोगे?मैंने कहा- मुझे तुम्हारी चूत मारनी है. अब मैंने जीभ चूसते हुए कपड़ों के बाहर से ही उसके बड़े और टाइट मम्मों को जो अड़तीस साइज़ के थे, पूरे जोर से दबाने लगा.

मैं अपना मुँह ऊपर कर के दोनों हाथ से डॉली का मुँह लंड पर दबाने लगा.

वो मेरी कमर को कस के पकड़ के मुझे लपेट कर बोला- आह … अब मेरा भी काम तमाम हो रहा है, तू बहुत मस्त है रे वन्द्या! तुझे चोद के आज मेरे जीवन का बहुत बड़ा काम हो गया. रिशु ने मिशिका की ब्रा के हुक खोल दिए और उसने मिशिका दीदी के कबूतरों को खुला छोड़ दिया. मेरी पिछली दो कहानियाँ पढ़कर एक पाठिका ने मुझसे अपनी कहानी शेयर की.

साली की बीएफ‘ये क्या? ये तूने लड़कों के कपड़े क्यों पहन लिए?’‘तो क्या बाहर मैं? नहीं बाहर मैं दूसरे कपड़ों में नहीं जा सकती. सीमा के बारे में आपको बताऊं तो वह बिल्कुल काम की देवी लगती थी मुझे.

बिहार की लड़कियों की सेक्सी पिक्चर

मैं अभी उसे बोल ही रही थी कि नामित यहां नहीं है लेकिन वो अपने लंड पर हाथ फेरता हुआ सोफे पर बैठ गया और मुझे घूरने लगा. उसने मेरा हाथ पकड़ के मुझे अपने पास खींच लिया, जैसे उसने हाथ पकड़ा. फिर मैंने अपनी जीभ नीरू के चूतड़ों की दरार में लगा दी और उसे ऊपर-नीचे करने लगा.

मैंने रिंकी का बैग खोला और देखकर दंग रह गया, उसमे मेरे कपड़ों के साथ साथ उसकी ब्रा और पैंटी भी थी. मुझे कुछ अज़ीब सा लगा, लेकिन मैंने कुछ नहीं बोला और वाणी की तरफ़ बढ़ा, तो वो एकदम से खड़ी हो गयी और मेरे से गले मिली. लता भाभी ने वहाँ पड़े एक छोटे हैंड टॉवल से अपनी चूत और पांवों को साफ़ किया और नीचे अपने मकान में चली गई.

अब तीनों अंकल का काम खत्म हो गया था, पर मेरी चुदाई की प्यास नहीं बुझी थी, क्योंकि मेरी चूत का रस नहीं निकला था. उसने मुझे गोद में उठाकर रूम में ले जाकर बेड पे पटक दिया और चला गया. उसने मुझसे बोला- जा जाकर बेडरूम से कोई क्रीम ले आओ … पहली बार है, तेरी बीवी को दर्द नहीं होगा.

मैं अभी 25 साल का हूँ और मेरी कद काठी बहुत मजबूत, बिल्कुल एक जिमनास्ट की बॉडी जैसी है. दो तीन पैग के बाद मदन मेरी जांघ में आकर बैठ गया और बड़े प्यार से मुझे अपने हाथों से जाम पिलाते हुए नमकीन खिला रहा था.

मेरा लंड जो इस वक्त बिल्कुल खूंखार हो चुका था … उसकी गीली चूत से टच हुआ.

मैं उसको जगाने जाती थी … तो उस वक्त एक बेबी डॉल टाइप की नाइटी पहन कर जाती थी. बीएफ सेक्स वीडियो एचडी बीएफये सब लिखने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि चुदाई की कहानी का तो भंडार आपके हाथ में है. इंडियन लड़की की चुदाई बीएफइस वक्त मैं आराम से उसकी चुत चोद रहा था और वो बाहर का मज़ा ले रही थी. मेरी आंखें खुल बंद हो रही थीं … क्योंकि मेरे पति ने मुझे कभी न तो मसला था और ना ही मेरी चूत को अपने हाथ या मुँह से छुआ था.

पर देखने में वो 18 साल की कमसिन लड़की को भी पीछे छोड़ दे इतनी कंटीली माल थी.

मैंने उसकी पैंटी को निकाला और उसके पैरों को किस करते करते उसकी चूत तक आ गया. एक बार हम पैसों की तंगी से बहुत परेशान चल रहे थे और मेरी नौकरी भी छूटी हुई थी, इसलिए हम थोड़ी परेशानी में चल रहे थे. लगभग दस मिनट उसको कुतिया वाली पोज में चोदने के बाद अब मेरे लंड ने भी और ज्यादा टाइट होना शुरू कर दिया और मैं जल्दी ही झड़ने वाला था.

उसके बाद वह अपने पुराने बॉयफ्रेंड के बारे में कुछ और बातें बताने लगी और बातें करते-करते उदास हो गई. मुझे कितना मज़ा दे रही है।मैं बोली- तुम्हारे भाई से तो कुछ भी नहीं होता. मैंने दीदी की चुत को चाटना चालू किया, उसे भी चूत चटवाने में मजा आ रहा था.

ट्रिपल एक्स हिंदी सेक्सी बीपी

मैं कुछ भी कहने की हालत में नहीं थी और वह मेरे पिछवाड़े में जोर से रगड़ने लगे. उनकी सूखी चूत में मेरे लंड ने अपने रस की बारिश की और भाभी ने मुझे अपने सीने से लगा कर मेरे लंड के रस एक एक बूंद को आत्मसात कर लिया. मैं उसके बगल में आकर लेट गया और उसे तिरछा करके उसके एक निप्पल को अपने मुँह में ले कर चूसने लगा.

अब मुझे सच में चिंता होने लगी थी क्योंकि अगर गर्मियों का मौसम होता तो मैं रात बाहर सड़क पर भी गुजार सकता था.

मैं भी बस यही सोचती रही कि उसने ऐसा क्यों कहा, शायद वो नीचे सर करके रो रहा था.

और थक कर कुछ देर हम ऐसे ही आंखें बंद करके एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे. उसने कमरे में ले जाकर मुझे बेड पे लिटा दिया और खुद भी मेरे ऊपर आकर कुछ इस तरह से छा गया कि मैं पूरी की पूरी उसके नीचे ढक गई थो. खूबसूरत सेक्सी बीएफमैंने ज़्यादा देर ना लगते हुए कहा- रुक जाओ जान … अभी अन्दर करता हूँ.

मैंने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर हिलाया और अपने अंडरवियर को उतार दिया. जब स्कूटर पर चलते चलते सहन शक्ति जवाब देने लगी, तो एक साइड में रोककर. उसके फ़ोन कॉल्स के इंतजार और शादी की तैयारियों में कब दिन निकल गए, पता ही नहीं चला.

तभी मैंने आंटी की चूत के मुंह पर लंड रखा और उनके मुंह में अपना मुंह लगाकर चूमने लगा. आंटी उचक गई- आअह्ह … क्या कर रहा है हरामी? कहां उंगली डाल रहा है?आंटी ने मुझे पीछे धकेलते हुए कहा.

मैंने रिंकी का बैग खोला और देखकर दंग रह गया, उसमे मेरे कपड़ों के साथ साथ उसकी ब्रा और पैंटी भी थी.

इतने में अजय अन्दर आ गया और उसने सुजाता की गांड पर हाथ रख दिया और सुजाता की गांड के छेद पर लंड सैट करके एक जोर का धक्का दिया, तो उसका पूरा मोटा काला लंड सुजाता की गांड को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. दो तीन पैग के बाद मदन मेरी जांघ में आकर बैठ गया और बड़े प्यार से मुझे अपने हाथों से जाम पिलाते हुए नमकीन खिला रहा था. मैंने देखा कि मामी कमरे के दरवाज़े के पास खड़ी होकर मेरी तरफ देख रही थी.

बीएफ सेक्स देखना है इसके बाद हमारी कुछ फॉर्मल बातें हुईं और एक दूसरे को बाय बोल कर मैं अपने काम में लग गया. रात भर तड़पना, करवटें बदलना और शौहर की याद में जिस्म की आग भड़की रहती थी.

वहाँ पर रहते हुए कुछ दिन ही हुए थे कि मुझे पता चला कि वहाँ पर चाचा के घर में एक आंटी दूध बेचने आती थी. मेरे लंड की पिचकारी निकलने को हुई, मैंने उसके मुँह से लंड बाहर खींचने का प्रयास किया. उसके बाद उसने फिर से अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

बुर की चुदाई वीडियो में सेक्सी

एग्जाम हाल में एग्जाम देने से ज़्यादा मेरा दिमाग़ भाभी को चोदने में लग रहा था. तो दोस्तो, आपको बता दूँ कि बीच में जो एक हफ्ते का गैप बात करने के लिए मिला था, उसमें हम दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया था. मैंने कहा- क्या पहली और क्या दूसरी … इसके साथ तो इतनी रातें गुजारी हैं कि अब कोई खास बात नहीं रह गई.

मैंने बिना कुछ सोचे समझे उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनके मुँह में अपनी जीभ डाल कर उनको किस करने लगा. इतना सुनकर चौबे जी तो एक बारगी सफ़ेद हो गए, परन्तु दोनों लड़कियों के माँ बाप ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

मुझे हफ्ते भर में वापस आना था लेकिन काम लटक जाने से पूरे महीने भर वापस नहीं आ सका.

एक दिन मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझसे कहा कि हम दोनों बाहर जाकर ही सेक्स करेंगे. वो बोला- झाड़ी के पीछे तुम्हारी चुदाई अच्छे से पूरी हो गयी थी कि नहीं?मैं कुछ नहीं बोली, तो वो खुद से फिर बोला कि वो लड़के भागे जिस तरह से मुझे लगा कि ठीक से नहीं चोद पाये होंगे. कैब में उसकी चूची दबाने में इतना मजा नहीं आ रहा था जितना अब मुझे आने लगा.

मैं और कहाँ जाती बेटा, यहाँ से घर कितनी दूर है, तुम तो जानते ही हो. मुझे उस लड़के से चुद कर ऐसा लगा कि जिंदगी का मजा तो सेक्स में ही है. जब उन्हें अच्छा लगने लगा और उनके डर पर मज़ा हावी होने लगा, तभी मैंने एकाएक दोनों उंगलियों को अन्दर घुसा दिया.

फिर उसकी चूत को अपना सारा माल खिलाकर मैं झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया.

बीएफ चूत और लंड की चुदाई: मैंने बात की तो वो बोले- सॉरी जान … मैं शायद आज नहीं आ पाऊंगा क्योंकि बाहर मौसम बहुत खराब है. तो दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, बताना जरूर, अगले भाग में मैं बताऊंगा.

मैं मेरे मेल बॉक्स को देख रही थी कि तभी मेरी नज़र उस मेल पर गई, जिसके साथ एक अटेचमेंट था. मैंने अंकित से बड़ी रिक्वेस्ट की, तब मुश्किल से वो माना और हम दोनों वहां से निकल आए. मेरा बॉयफ्रेंड अभी भी चूत को चाट रहा था और साथ में अपनी उंगली मेरी चूत में डाल रहा था.

बेबी फ़क मी हार्ड … जोर से चोदो मेरे शेर … याआहहअ बेबी फक भड़वे … चोद दे … आह … निकाल दे इस चुत का रस … साली ने नाक में दम कर रखा है … ऊऊह … उम्मम्म … ओह्ह … आह … यू फक सो गुड …”उधर प्रमिला भी ‘ईईईस्स … ओह्ह्ह … सक माय पुस्सी.

वो भी उत्तेजना में बिल्कुल मस्त हो गई और मेरे गाल पर ओर गले पर बेतहाशा चूमना लगी. एक दिन मेरे हस्बैंड बिजनेस के सिलसिले से कहीं बाहर चले गए और उन्होंने जाते वक्त मुझसे कहा कि मैं कल तक आ जाऊंगा. जब मैं उनके घर पहुंचा, तो देखा वो मैक्सी पहन कर बैठी थीं और बच्चे को पढ़ा रही थीं.