सेक्सी बीएफ लेडीस वाली

छवि स्रोत,सेक्सी हॉट सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो छत्तीसगढ़ी: सेक्सी बीएफ लेडीस वाली, ज्योति नीचे से मेरा साथ दे रही थी, बोली- आह जान … अब जरा किस भी कर लो.

पिंकी बीएफ

लंड को चूत में समाने के बाद मैं उस पर उछलने लगी और उसके लंड से चुदाई का मजा लेने लगी. छत्तीसगढ़ी बीएफ पिक्चरशुरू में तो उसने भाव नहीं दिया लेकिन फिर कुछ रोज बीत जाने के बाद धीरे-धीरे वो लाइन पर आने लगी.

10 साल पहले हमारी कार का एक्सीडेंट हो गया था जिसमें मेरे पति और छोटे बेटे का निधन हो गया था. हिंदी वीडियो सेक्सी बीएफ चुदाईबाद में मेरी सहेली ने मुझे बताया कि बहुत स्मार्ट है तुम्हारे पापा के दोस्त का बेटा!उसके बाद मेरे पापा के दोस्त का बेटा रोज मेरे घर आने लगा.

तेज चोदो जान … और तेज!मैं भी झड़ने वाला था और उसके हाथ मेरी कमर पर दबाव बनाये जा रहे थे.सेक्सी बीएफ लेडीस वाली: मेरी दोनों हथेलियों के नीचे वसुन्धरा के दोनों उरोजों और उनके निप्पल्स रगड़ खा रहे थे.

तभी अंकल बोले- मैं सच में आपसे बहुत प्यार करता हूँ और आज पूरी रात में आपका यहीं छत पर आपका इंतजार करूंगा.मेरी सीट सबसे आगे थी क्योंकि मैं यात्रा बस संचालक के साथ ही बैठ कर जाता था.

बीएफ सेक्स की कहानी - सेक्सी बीएफ लेडीस वाली

मैंने भी बोला- आज मेरी जान … मैं भी आ रहा हूँ … बोल कहां माल छोड़ूँ?वो बोली- मेरा पहली बार है … तुम अन्दर ही छोड़ दो.अन्दर लाल ही रंग की छोटी सी ब्रा में भाभी के चूचे बड़ी चमक मार रहे थे.

मैंने कहा- अपना नंबर दो और अपना एड्रेस बताओ … मैं अभी दस मिनट में पहुँचता हूँ. सेक्सी बीएफ लेडीस वाली मैंने कहा- हाँ जी, कौन बोल रहा है?पवन मोटर गेरेज से पवन बोल रहा हूं, आप कौन बोल रही हैं?”मैं शालिनी बोल रही, यहाँ अजमेर से बाहर बाई पास से आगे मेरी गाड़ी ख़राब हो गई है और सामने आपके बोर्ड पर नंबर लिखा हुआ है, तो क्या प्लीज आप आ जाओगे?”हाँ मेडम, मैं बस पहुँचता हूँ.

वापस आकर हम दोनों ने कुछ मिनट तक खुद को रोके रखा और उसके बाद फिर से एक दूसरे के चूची और लंड से खेलने लगे.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली?

चूंकि ये मेरी पहली चुदाई थी, तो हिम्मत बनाने के लिए मैंने बियर पी ली थी. अब मुझे यकीन हो चला था कि काजल भी मेरे लंड को पकड़ना चाहती थी इसीलिये वह जानबूझकर मेरे लंड की तरफ अपने हाथ को बढ़ाये जा रही थी. मेरा काम ही ये था कि बस खाया पिया और अपनी गर्लफ्रेंड के साथ फोन पर लग गया.

जब बहुत दिनों तक मैं उस पर ट्राई करके हार गया तो एक दिन मैंने स्कूल की छुट्टी के टाइम उसको बीच रास्ते में रोक लिया. काफी देर तक उसका लंड चूसने के बाद उसने मुझे नीचे पटक दिया और मेरे ऊपर आकर मेरी चूत पर अपना लंड लगा दिया. छोटे ताले पे कुछ लिखा था … जोकि इतनी कम रोशनी में मैं पढ़ नहीं सकता था.

अगर अपने किया है तो ही आप समझ सकते हो और नहीं भी किया है तो करो … पक्का मज़ा आयेगा. हालांकि मैं भी उसके मम्मे को दबा कर कुछ हद तक मेरे लंड के साथ हो रहे अत्याचार का बदला ले रहा था, पर अब लंड ने भी अपने आपको सरेन्डर कर दिया था. मैंने फोन सेक्स से उसका पानी भी निकाला और मेरे लंड को मुठ मार कर ठंडा किया.

दस मिनट बाद मैंने उसकी चूत से लंड निकाल कर उसके पेट पर वीर्य छोड़ दिया और झड़ने के बाद बाजू में लेट गया. अबकी धक्का मारा तो कोकाकोला का ढक्कन खुलने जैसे आवाज आई और सुपारा उसकी चूत के अन्दर चला गया.

टाइम का पता ही नहीं चला।मुझे बहुत तेज़ पेशाब लगी थी तो मैं बिस्तर से उठी.

दोस्तो, मेरा नाम रोमेश है, मैं छत्तीसगढ़ के बैलाडिला का रहने वाला हूँ.

तो वो बोली- फिर क्यों रोक रहे हो?मैंने बोला- तू प्रेगनेंट हो जाएगी तो. हाय … क्या बताऊं … उसके गोरे बदन पर काले रंग की ब्रा में खड़े हुए उसके चूचे देखकर मैं तो पगला गया. उन्होंने नीचे तो स्विम सूट पहना था पर सोसाइटी की वजह से ऊपर काफ्तान जैसी कोई ड्रेस पहनी थी.

मैं उनके घर के पास गई, तो उनका बाहर का दरवाजा सिर्फ धकेल कर बंद किया हुआ था, मतलब खुला था. उसके दोस्त ने मेरा हाथ पकड़ कर बिठा दिया और कहा- संभल के … पहले कभी ट्रक में बैठे नहीं क्या?मैंने कहा- आपने झटका ही इतनी जोर से दिया कि मैं डर गया. जब मैं 20 साल की थी, तो कॉलेज में पढ़ने के साथ ही मैंने पानीपत में ही कोचिंग लेने का फैसला किया.

मैंने उसको खोल कर देखा तो उसमें इतनी गर्म फोटो थी कि मैं भी वहीं पर चुदासी हो गई.

दमदार चुदाई के बीच ही उसके पति का फोन आ गया था, जिसमें नम्रता ने अपने को भी चुदासी बातों से गरम कर दिया था और वो मुठ मारने जाने की कह कर फोन बंद करके चला गया. तेज चोदो जान … और तेज!मैं भी झड़ने वाला था और उसके हाथ मेरी कमर पर दबाव बनाये जा रहे थे. सीमा- रॉबी, आज जितना मज़ा तुमने दिया, उतना कभी नहीं आया … थैंक्स रॉबी.

मैंने उससे कहा- जाकर तेल की शीशी उठा लाओ और मेरे लंड पर ढेर सारा तेल लगा दो. बस इतना सुनना था कि मेरे से चिपकते हुए बोली- ये आईडिया मुझे बहुत पसंद आया. बीच बीच में वो अपने पे माथे पे आ रहे बालों को पीछे करती तो और भी सुन्दर लगती.

फिर शुभम जी ने अचानक से मेरी पैंटी को एक झटके में उतार फेंका और मेरी चूत को चाटने लगे.

मेरी शादी को दो साल हो गए थे और मैं और मेरी पत्नी रश्मि अपनी शादी की सालगिरह मना रहे थे. ताऊ जी ने चाची की टांगें फैलाते हुए अपने मुँह से थोड़ा सा थूक निकाल कर अपने हाथ में ले लिया और चाची की चूत पर रगड़ दिया.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली मैं एक अच्छे परिवार से हूँ।आप सभी के लौड़ों और भाभी, आंटी और लड़कियों की चूतों को उत्तेजित करने के लिए मैं आपकी सेवा में हाजिर हूँ।मेरे घर के सामने एक परिवार रहता है जिसमें 4 बहनें और एक भाई है. और तो और इस बार वो अपनी हथेलियों को मेरी जांघों पर कस कस कर रगड़ रही थी और लंड को उमेठ रही थी.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली सीमा की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’पर अब दोनों एक जान होकर चुदाई में लग गए थे. मैंने अपने हाथ से उसकी चूत को टटोला और उसको रगड़ने लगा तो उसकी सिसकारी छूट गई.

तस्वीर में स्त्री पुरुष जो कर रहे थे, वो मैं और अंकल … मैं मन ही मन ऐसा सोच कर शर्मा गई, पर चुत की खुजली शांत नहीं बैठने दे रही थी.

मसत शायरी

मेरे मुंह से स्स्स… आह्ह … ओह्ह … संजीव … उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाजें निकल रही थीं. वो ऐसे चल रही थी, मानो कोई हीरोइन सच में रैम्प पर कैट वाक कर रही हो. पुष्पिका के नाम की दो बार मुट्ठ मारने के बाद भी उसका जोश आसमान छू रहा था.

मगर मैंने प्रयास जारी रखा और धीरे-धीरे करके उसकी चूत में लंड को अंदर तक प्रवेश कराता रहा. मैं ऐसा नहीं करना चाहता था क्योंकि इससे दोनों ही फैमिली में झगड़ा शुरू हो जाता और दोनों ही परिवारों की बदनामी होने का भी डर था इसलिए मैंने उसकी बात नहीं मानी और उसको समझाने की कोशिश की. मैं सनी जी को किस करने लगा, तो बंटी जी मेरा मुँह अपनी अपनी तरफ खींचा और मेरे होंठों को चूसने लगे.

इसके बाद मैंने बिना समय गवाते लंड उसकी बुर पर रखा और धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा.

वो साइड में हुआ, फिर मैंने अपने हाथ से मेरे पैर में जो पायल थी, वो निकाल के उसके शॉर्ट के पॉकेट में रख दी. मैं एक हाथ से उसकी चुची दबा रहा था, दूसरे हाथ से उसकी जांघ को सहला रहा था. फिर मैंने भाभी की चूत पर लंड को सेट किया और उसकी चूत में अपना मूसल लंड घुसा दिया तो भाभी चीख पड़ी- आह्ह रामू … फाड़ दी तूने मेरी चूत, आह्ह्ह। बाहर निकाल अपने सांड जैसे लंड को।लेकिन मैंने भाभी की चूत से लंड नहीं निकाला और पूरा लंड भाभी की चूत में उतार कर उसकी चुदाई करने लगा.

बात शुरू करने के लिए पढ़ाई की बात करना ही सबसे बेहतर तरीका होता है क्योंकि इससे सामने वाला मना भी नहीं कर पाता है. जीजा-साली की चुदाई को वह लॉज का मैनेजर बाप-बेटी की चुदाई समझ रहा था. बाजार 1 घंटे की दूरी पर है तो उसे काफी तकलीफ होने वाली थी।बस थोड़ी ही दूर चली थी कि मेरी मां को पीछे कुछ महसूस हुआ.

मैंने एक जोर का धक्का मारा और पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. मेरे रूम के बिल्कुल सामने एक कोठी थी, जिम के लिये मुझे वहीं से गुजरते हुए जाना पड़ता था.

इसके बाद वह मेरे पास आकर खड़ी हो गयी और पूछा- कैसा लगा सरप्राइज़?मैं क्या बोलता … मैंने कहा- तुम्हें पहले बताना चाहिए था. अम्मी की आंखें मज़े से बंद थीं, वो अंकल के लंड की एक एक इंच को महसूस कर रही थीं. उस रात मैंने पत्नी के मना करने के बाद भी उसे दो बार चोदा और जोश में उसे काट काट कर जख्मी भी कर दिया.

मतलब अगर मेरी दोस्ती उस घर के किसी मर्द से हुई, तो उस मर्द की इज्जत करते हुए वह खुद भी उस घर की औरतों को अपनी बहन बेटी जैसा समझेगा.

मैं इतराती हुई स्वीमिंग पूल से बाहर आकर दरवाजा खोलने के लिए चल पड़ी. मैंने कहा- साहिल और हीना, तुम दोनों बातें करो, मैं एक जरूरी फोन कॉल अटेंड करके वापस आता हूँ. ”शायद अंकल की भी इस बात का अहसास हो गया, उन्होंने मुझे छोड़ दिया और दूर हो कर मुझे देखने लगे.

उसने मुझे लंड से पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया. उसे देखकर लग रहा था कि साथ लेकर घूमने लायक तो नहीं, मगर ये बंद कमरे में चोदने लायक जरूर हो सकती है.

हमारी बोगी में एक चाय वाला आया तो उसने चाय का कप लिया और सीधी बैठ के चाय पीने लगी. मैं जल्दी-जल्दी स्कूल पहुंचा, लेकिन तब तक नम्रता स्कूल नहीं आयी थी, पर उसका मैसेज जरूर आ गया. इस तरह सलहज को भी एक साथी मिल गया और मेरे जीवन में पत्नी की कमी भी पूरी हो गई है.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में अंग्रेजी

पंद्रह मिनट तक उसकी चूत में मैंने तेजी के साथ जोरदार स्ट्रोक लगाये और फिर मेरे लंड से माल निकलने को हो गया.

भाभी- ओके, तुम क्या क्या कर सकते हो बताओ तो जरा?मैं- आप इजाजत तो दीजिये, मैं वादा करता हूँ, आपको शिकायत का मौका नहीं दूंगा. मैंने जल्दी से ज़िप खोलते हुए अपने फड़फड़ाते हुए लंड को बाहर निकाला. नम्रता बोली- लास्ट टाईम अपनी कुंवारी गांड के सुराख को देखाना चाहती हूं … तुम वीडियो बना लो.

मेरी गाडी स्पीड में ही रोड से नीचे उतर कर झाड़ियों में घुस गयी और पीछे का टायर एक गड्ढे में फंस गया और गाड़ी बंद हो गयी।मैंने मन ही मन ऊपरवाले को कोसा कि कैसे सुनसान रोड पर गाडी ख़राब करवा दी. फिर मेरे लिंग महाराज को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लग गयी. सेक्स मूवी हिंदी में बीएफसुमन बोली- नहीं, मैंने टेबलेट ले ली है और अभी घर पर कोई नहीं है मम्मी पापा भी आने वाले हैं.

पर उसने मना कर दिया, मुझे बिस्तर पर धकेल दिया और मेरे बगल में आ कर लेट गयी. ये अमित है और ये युवराज, ट्रेनिंग में हमारी मुलाकात हुई, दोनों आज शाम को वापिस जाने वाले थे इसलिए दोनों को आराम करने के लिए घर ले आया, बोला कुछ चाय नाश्ता कर लो, फिर तुम्हें एयरपोर्ट ड्राप कर दूंगा.

फिर मैंने उसकी ब्रा की स्ट्रिप साइड में करते हुए उसके कंधे पर किस करना आरम्भ किया. उसने टॉवल से मेरा पसीना पोंछा तो मैंने उसे चूम लिया और दोनों ओर से चुम्बन की झड़ी लग गई. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था तो मैंने उसे खड़ा किया और वापिस एक बार घोड़ी बनाकर लंड उसकी चुत में पेल दिया और वो धक्के खाने लगी.

तभी भाभी मुझसे अलग हो गईं और बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- भाभी मुझे कुछ हो रहा है … आपको नहीं हुआ क्या?मैंने इतना कहकर भाभी को पीछे की और धकेला और सोफे पे गिरा दिया. क्या सोच संगीता ने उसे एक जोरदार चुम्मी दी और बोली- ठीक है, पर तुम आना बंद नहीं करोगे न?चाय पीकर राहुल संगीता की गाड़ी से सोसाइटी वापिस आया. मैं जब भी सामने होती, तो उनकी नजरें स्कर्ट के नीचे से मेरी जांघें देखतीं या फिर मेरे सीने को निहारतीं.

शोना अब मौसी और मम्मी के साथ टीवी देखने चली गयी … और मैं पढ़ने बैठ गया.

मेरे चांटे से उसको नहीं पता क्या हुआ, वो मुझे और जोर जोर से चोदने लगा. अंकल ने अम्मी की पेंटी को एक साइड किया और अम्मी की चिकनी बिना बालों की चूत साफ़ दिखने लगी.

फिर अजय ने उसकी पैंट को निकाल दिया और अब मेरी बीवी मेरे बिजनेस पार्टनर के सामने नीचे से नंगी होकर केवल पैंटी में थी. उसके बाद भी अंकल जी ने मुझे सहारा देकर कमरे में चार पांच चक्कर लगवाए, फिर मुझे कपड़े पहनाये और मेरी साइकिल बाहर निकाल दी और मैं चुपके से धीरे धीरे साइकिल चलाती अपने घर को निकल ली. प्लान ये बना कि शाम को 10 बजे ही वो जिम से सबको निकाल देगा और मैं गली में सबकी नजरें बचा कर उसके जिम में आ जाऊंगी.

वो नाइटी पहन कर कपड़े धोती और मैं अपने घर के दरवाजे के पास खड़े खड़े देखता रहता था. मेरी अम्मी और मेरी बेगम कौसर घर का काम निपटा कर सो गई थी।जब मैं घर वापिस आया तो सीधे अपने कमरे में गया। मेरा कमरा ऊपर वाली मंजिल पर है. उसने मुझे फिर से मारना चालू कर दिया मेरे पूरे जिस्म में बेल्ट के निशान आ गए.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली आह … क्या बताऊं, चाची बिल्कुल बदल गयी थीं … उनके मम्मे और बड़े हो गए थे. मैंने ज़बरदस्ती दीदी के पज़ामे का नाड़ा खोल दिया और अन्दर हाथ डाल कर उनकी चूत को सहलाने लगा.

सबसे पतला मोबाइल 2021

वो हंसते हुए बोलने लगी- आफ्टरऑल तुम वर्जिन हो यार … बिल्कुल कुंवारे … मेरी तरह. ” (मास्टर को तुम या तो सिसकारियां” लेते हुए पसन्द हो या तो बिल्कुल चुपचाप)उसने बोला- सॉरी मास्टर. आप चाहे मुझे पगार मत देना लेकिन इसकी चूत का स्वाद लेने दीजिए मुझे भी.

कुछ देर बाद उसके नर्म होंठ मेरे गालों को छू कर निकल गए और अपनी लिपस्टिक का निशान छोड़ गए. मुझे ऐसा लगा जैसे उसको अपनी बेटी नीना की चूचियों से ज्यादा मज़ा मेरी चूचियों को मसलने में आ रहा हो. एक्स बीएफ फिल्म हिंदी मेंभाभी के हाथ के स्पर्श से मेरी हिम्मत जग गई और मैंने भाभी के चुचों पे हाथ रख दिया.

हम दोनों के ही दिल कह रहे थे कि समय ठहर जाए, पर वो मानने वाला नहीं था.

अगले दिन अंकल दरवाजे पर खड़े पेपर पढ़ रहे थे, मैं और आंटी किचन में थे. उनकी ब्रा और कच्छी वहीं फर्श पर पड़ी हुई थी बाहर।मैंने चुपके से जाकर भाभी की कच्छी को उठा लिया और उसको सूंघने लगा.

मैंने अपने एक हाथ से उसके चेहरे को टच किया, तो वो अचानक से जाग गयी. जब कुछ पल बीत गए तो उसने खुद ही मेरा हाथ पकड़ा और नीचे ले जाकर अपनी पैंट के ऊपर से ही अपने लंड पर रखवा दिया. ताऊ जी इस झटके से अपने लंड को कोमल की चूत में अन्दर ले जाने में सफ़ल हो गए.

यहाँ तक कि हम दोनों लोग कपड़े खरीदने जाना होता था, तो हम अपने पति के साथ नहीं जाते थे.

मैंने वो कागज उठाया, तो उसमें लिखा था कि कल अनुषी भाभी ने तुम्हें देख लिया था और मुझे भी. मैंने उसको आराम से चोदने के लिए बोला तो वो मेरी चूत को आराम से चोदने लगा. एक दिन सुमन कॉलेज से आ रही थी और मैं पैदल-पैदल जा रहा था तो सुमन मेरे से बोली- राकेश कहाँ जा रहा है?मैंने उससे नजर नहीं मिलाई और उस दिन के लिए माफ़ी मांगी.

बीएफ चूत में बीएफजिस लंड को अपने हाथ में लेने के सपने मैं देख रहा था आज वह लंड मेरे हाथ में था. आह्ह … उसने तीसरे धक्के में पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

সেক্সি ফিল্ম এইচডি

बिस्तर पर लेटते ही दोपहर का वही सब नजारा मेरी आंखों के सामने आ गया कि कैसे सीमा भाबी अपने चूचों को बाहर निकाले सो रही थीं. मैंने चाय का खाली कप किचन में जाकर रख दिया और वापस आने लगा तो सुमिना ने कहा- भाई, एक बार जाकर कपड़े दे आ, नहीं तो वो शॉप बंद करके चला जायेगा. सुमन भाभी ने आंखें मूंदे हुए कहा- यार, तुम तो बड़ी अच्छी मालिश करते हो.

वो लंड को चूत में लेने के लिए बेताब होने लगी, तो मैंने सोना को इशारा किया कि मैं अब फायर करने वाला हूँ बाकी तुम संभाल लेना. कैसे दोनों से नजरे मिलाऊंगा? रीना को इस घटना के बारे में क्या बताऊंगा?मुझे तो कल रात क्या हुआ था यह पता भी नहीं था. मुझे बड़ा मजा आ रहा था कि तभी ओफ्फ-ओफ्फ करते हुए नम्रता अपनी टांगों को फैलाकर मूतने लगी, जिसके छींटे मेरे शरीर पर पड़ने लगे.

तो लिंग का मुंड अंदर फंस गया और अक्षिता के मुँह से एक हल्की चीख निकली- उइई माँ … मैंने सोचा कि ये काम की देवी तो नाम की तरह ही अक्षत है. कुछ देर सोचने के बाद भाभी ने कहा- ठीक है, तुम आंखें बंद करके लेटे रहो, मैं चुम्मा ले लेती हूं. वह बोली- यह क्या किया? तुमने तो मेरी ब्रा फाड़ दी।मैं बोला- कोई बात नहीं आंटी मैं नई लाकर दे दूंगा।फिर मैंने उसकी पैंटी खोल दी.

मैंने एक और जोरदार शाट मारा और मेरा पूरा लंड उसकी कसी हुयी चूत की गहराइयों में खो गया. मैंने आपको अपनी पिछली सेक्स स्टोरीभाबी जी लंड पर हैंमें कैसे मैंने अपने लंड से भाबी की चुत और गांड की सेवा करके उन्हें खुश कर दिया था.

ज़ायरा की बगल से बहुत ही मादक खुशबू आ रही थी, जो उसके पसीने ने ओर भी मादक बना दी थी.

मैंने मुँह बनाया, तो उसने इशारा करके पूछा कि कहां और कब?मैंने इशारों में ही बताया कि पीछे खेत में रात को एक बजे … तो वो हंस दी. बीएफ राजस्थान कामाँ बोली- हां आशा, मैं तुझे फोन करके बताना ही भूल गई कि हम लोग मार्केट जा रहे हैं. बीएफ भेजिए हिंदी बीएफउसके बाद हम कई बार मिले, सेक्स छोड़ कर सब कुछ किया … घंटों तक एक साथ नंगे साथ लेटे रहे, एक दूसरे के साथ 69 का पोज बनाते, एक दूसरे का पानी निकाल देते थे. अपने नये फ्लैट में शिफ्ट हुए हमें तीन महीने ही हुए थे कि हमारे सामने वाले फ्लैट में भी एक परिवार रहने आ गया.

पर डॉली से मेरी दोस्ती चलती रही और मैं जब भी उसके घर जाती, हम दोनों उसके कमरे में बंद हो जाते और पूरे नंगे होकर एक दूसरे में अंगों से खेलते, चूत से चूत घिसते रगड़ते मुट्ठी में भर भर के भींचते.

फिर दो मिनट तक मैंने उंगली को चूत के अन्दर बाहर करके उनकी चुत को पैंटी से साफ कर दिया. सीमा ने पूछा- टू पीस वाला लूं या सिंगल पीस फ्रॉक स्टाइल में?राहुल हंस पड़ा, बोला- जिसमें तुम्हें शर्म नहीं आये, वो ले लो. भाभी जब कमरे में दाखिल हुई तो उनकी नजर मेरी लुंगी के नीचे लटक रहे मेरे लंड पर गई, मेरे बड़े से लंड को देख कर भाभी एकदम से वहीं रुक गई.

मेरी पत्नी मुझे बताने लगी- भाभी बोलती बहुत हैं, अभी दस दिन हुए हैं और अपना पूरा इतिहास बता चुकी हैं कि मेरा नाम भूपिन्दर कौर है, वैसे सब मुझे बेबी कहते हैं. कुछ देर मौसी जी ने मेरी पढ़ाई के बारे में पूछा, फिर सोने को बोलकर सो गयीं. कुछ देर के बाद मैंने उसको नीचे कर दिया और उसे बेड पर पीठ के बल लेटा दिया.

गुजराती सेक्सी फिल्म वीडियो

फिर उस रात जब वो मुझे पढ़ाने के लिए आई तो मैंने देखा कि उन्होंने एक सेक्सी सी नाइटी पहन रखी थी. जब उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा तो मैं थोड़ा सा घबरा गया, मैं उसके लंड पर हाथ रख कर ऐसे ही लेटा रहा. ’उसने इशारे से पूछा- क्या है मेरी सजा?मैंने कहा- मैं तुम्हें बेड पे नहीं चोदूंगा.

उसको साहिल ने अपनी गोद में बैठा लिया और हीना आराम से साहिल की गोद में बैठ कर फोटो देखती रही.

भाभी बोली- आज मन किया तुम्हारा … हम लोग कितने दिन से बातें कर रहे हैं.

मैंने उसकी गर्दन को चूमा, उसकी नाभि पर जीभ से चाटा, उसके चूचों को साड़ी के ऊपर से ही किस किया. भाभी का कद 5 फ़ीट, गोरी चिट्टी, छोटे छोटे स्तन, जबरदस्त मुस्कुराहट तथा साथ में भाभी शरारती भी थी. बीएफ पंजाबी देसीचूंकि ये मेरी पहली चुदाई थी, तो हिम्मत बनाने के लिए मैंने बियर पी ली थी.

मैंने पेरेंट्स से पूछ लिया- मैं बबीता को बुला लूँ क्या?पेरेंट्स ने बबीता को बुलाने के लिए हाँ कह दिया और मैंने उसको बुला लिया. यह कच्छी भी उतनी ही छोटी थी और बड़ी मुश्किल से भाभी की चूत को ढक पा रही थी. घने बादल छाये हुए थे। जब एकदम से तेज हवा चलने लगी तो भाभी भी मेरी हेल्प करने के लिए आ गई। बाहर बंधी रस्सी के ऊपर से जब मैं कपड़े उतार रहा था तो मैंने देखा कि भाभी की ब्रा और कच्छी भी टंगी हुई थी। मैंने भाभी की ब्रा को उतार कर उसका साइज पढ़ लिया.

क्या मस्त मजा था, क्या आनन्द था, जो बस महसूस किया जा सकता था … बताया नहीं जा सकता था. वो कभी कभी अपना लंड मेरे मुंह में अन्दर बाहर भी कर रहा था और हम दोनों बीच बीच में कभी कभी एक दूसरे को किस भी कर रहे थे.

तेजी से उसकी चूत में जीभ को अंदर-बाहर करते हुए मैंने उस हसीना को फिर से गर्म कर दिया.

अपनी चार उंगलियाँ मेरी चूत में डाल कर उसने उंगलियों को अंदर और बाहर करना शुरू कर दिया. पहले मैं सीधा हुआ और उसकी दोनों टांगों के बीच में खुद को बैठाया उसने भी अपनी टांगें पूरी तरह से खोल दी थीं. मेरी देसी कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected]इससे आगे की कहानी:सलहज को चोदा पत्नी जैसे यात्रा में.

सेक्सी बीएफ राजस्थानी सेक्सी मैंने अपनी एक टांग को उठा कर उसकी टांग पर इस तरह रख दिया कि मेरा घुटना मुड़ कर उसके लंड के ऊपर जाकर टच हो गया. फिर दिशा अपनी गांड मटकाती हुई और मम्मों को एक दिलकश अंदाज में हिलाते हुए वापस गेम में शामिल हो गई.

उसके बाद ज्योति उठी और बोली- बस, अब अंदर डालो, मैं और नहीं रुक सकती. चुदक्कड़ हसीनाओं से विशेष निवेदन है कि बिना दोस्ती किये ही मुझे मेल करके चुदाई के लिए ऑफर मत करना, सिर्फ उत्साहवर्धन करने के लिए मेल करना. फिर उसने अपने होंठों से शैम्पेन की बोतल को लगाया और एक लम्बा घूंट भर लिया.

सेक्सी मराठी लड़की

तभी उसने मुझे बुलाया- एक्सक्यूज़ मी!मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो बोली- गाड़ी जयपुर कितने बजे पहुंचेगी?मैंने बोला- सुबह 4 के आस पास. उसने ब्रा को हाथ में लेकर एक तरफ फेंक दिया और मेरे चूचों के निप्पलों को अपने दांतों से काटने लगा. अक्सर जवान लड़कों को इस उम्र में सेक्स के सपने आते रहते हैं इसलिए सुबह के टाइम में उनका लंड भी खड़ा हुआ दिखाई दे जाता है.

सौरव के लंड से चुदते हुए मेरी चूत ने दो बार पानी छोड़ा था जो मेरे लिए मजेदार अहसास था मगर चूत में बहुत दर्द हो रहा था।उसने मुझे कहा कि वह मेरी गांड का दीवाना है और मेरी गांड मारना चाहता है। मगर मैंने मना कर दिया। उसने मुझसे काफी जिद की पर मेरे कहने पर वह मान गया और उसने उस दिन मेरी गांड नहीं मारी. हल्का फुल्का तैयार होकर मोहल्ले की नजर से बचते हुए हम दोनों एक रेस्टोरेन्ट पहुंचे, जहां पर खाना खाया गया और फिर पैदल ही पास की मार्केट में टहलने लगे.

उन्होंने हां बोल दिया, तो मैंने उसी समय उनसे एक चुम्मी माँग ली, तो उन्होंने मैसेज में लिप्स भेज दिए.

फिर उसने एकदम से मेरे लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- और अगर कभी मौका मिल जाए तो?उसका हाथ लगते ही मेरा लंड एकदम से तन गया. चाची का रंग एकदम गोरा है, उनका कद 5 फुट 6 इंच है और एकदम कसा हुआ बदन है. इतना कहते हुए मैंने अपने सर को उसकी टांगों के बीच घुसेड़ दिया और पहले तो अच्छे से उस चूत से निकलती हुई महक को सूंघा और फिर बड़े प्यार से फांकों पर, चूत के अन्दर जीभ चलाने लगा.

मैंने उन एक सालों में जो मज़े किए, जो प्यार मुझे मिला, वो दिन मैं कभी भूल नहीं सकता. मैं उसको काफी दिनों तक रुकवा रही थी क्योंकि मैं अकेली बाहर जा नहीं सकती. आंटी तड़फ कर चिल्लाने लगीं- आह इ इ … मुझे और न तड़पा मादरचोद, साले अपना लौड़ा अब तो ठोक दे मेरी भोसड़ी में, बना ले इसे अपने लौड़े की गुलाम … आह मुझे ऐसे ही बिना लंड दिए शांत करेगा क्या!मैं- साली छिनाल … तेरी इस चुत में बहुत गर्मी है, इसे और तड़पने दे … लोहा जितना गर्म होता है, ठोकने में उतना ही ज्यादा मजा आता है मेरी रानी.

वो जिस तरह से लंड को चूस रही थी उससे ऐसा लग रहा था कि बेचारी कई सालों से लंड की प्यासी है.

सेक्सी बीएफ लेडीस वाली: कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स के जरिये अपने विचार जरूर बतायें. मैंने सुमन भाभी को देखा उन्होंने अपनी आंखें बंद कर ली थीं और वे मेरी मसाज का मजा लेने लगी थीं.

मेरा भी चुदाई का सपना पूरा हुआ और किसी लड़की की चूत चोदने के लिए पैसे भी नहीं खर्चने पड़े. अब कम से कम इतना जुगाड़ तो हो गया था कि जब भी मन करे मैं अपने लौड़े की प्यास को चूत चोद कर बुझा सकूं. सुमन भाभी की सफाचट चूत ऐसी लग रही थी, जैसे उन्होंने आज ही मेरे लिए अपनी चूत की झांटें साफ़ को हों.

कुछ देर बाद उसने धक्का देकर मुझे बेड पर गिरा दिया और मेरी शर्ट खोलने लगी.

इतना सुनने के बाद मधु रोने लगी, तो मैंने उसके करीब जाकर उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसे अपने सीने से चिपका लिया. फिर जब सब हो गया, तो उन्होंने मेरी छाती पे किस की और नीचे को किस करती हुई फिर से लंड तक पहुँच गईं. आप जाइये फ्रेश हो जाइये।मैं जाकर फ्रेश हो कर आ गया और मैंने उसके पति का पायजामा और टी-शर्ट पहन ली.