सेक्स बीएफ जंगली

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ जंगल वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

दादा पोती का सेक्सी: सेक्स बीएफ जंगली, वन्दना ने मेरा पेग उठाया और उसमें अपने दोनों चुचे डुबो दिए और उन्हें मेरे मुंह में देने लगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर

मेरे द्वारा लिखे गये पूर्व प्रकाशित लेख-सेक्स में सनक या पागलपनबीवी की सेवा दिलाएगी मेवालड़कियां सुरक्षित हस्त मैथुन कैसे करेंऔर सेक्स फेंटेसी जैसे बहुत से लेख आप लोगों ने काफी पसंद किये हैं. सेक्सी बीएफ 18 सालअब उन्होंने अपनी गांड का रिदम बनाते हुए मेरी चूत को चोदना शुरू कर दिया.

मैंने हड़बड़ी में ब्रा को कपड़ों ढेर पर छोड़ा और शरमाकर वहां से सरक लिया. चूत वाली बीएफ पिक्चरमैं उठा और उसको सोफे पर पटक कर उसकी चिकनी चूत पर लंड को रगड़ने लगा.

बताओ ना!सोनिया शर्मा कर मुस्कुराते हुए बोली- अच्छा पूछो, क्या पूछना है?रोहन- किसी भी मूवी के रिलीज होने से पहले उसके ट्रेलर बार बार दिखाए जाते हैं.सेक्स बीएफ जंगली: फिर अपनी शर्ट उतार दी और दोनों को वहीं पास में एक खूंटी पर टांग दिया.

आख़िर वो घड़ी भी आ गयी थी जब पापा का लंड फिर से उसकी चूत में जाने वाला था.वो मोना के माथे को सहलाते हुए बोलीं- आज बस थोड़ा सा दर्द ही होगा, उसके बाद तुम इससे चुदने के लिए तरसने लगोगी … खूब मजे करोगी.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ दिखाइए - सेक्स बीएफ जंगली

मेरे कहने पर भी उसने मेरे लंड से अपना मुंह नहीं हटाया और मेरा पानी उसके मुंह के अंदर ही निकल गया.इतने में भाभी की चुत ने पानी छोड़ दिया और वो निढाल होकर बेड पर गिर गईं.

मैंने देखा कि वो ब्रा और पेंटी पहन कर आई थी … पर मैं अभी भी नंगा खड़ा था. सेक्स बीएफ जंगली मैंने ध्यान नहीं दिया और अपने घर के काम में लगी रही।कुछ देर बाद उन्होंने मुझे बताया कि शाम को उनका दोस्त आ रहा है।मैंने कहा- आप भी ना … ये सब मत करो, किसी को पता चला तो अच्छा नहीं होगा।वो बोले- अरे कुछ नहीं होगा.

मेरी चूत में तूफान सा उठ चुका था जिसको शांत किये बिना अब मुझे चैन नहीं मिलने वाला था.

सेक्स बीएफ जंगली?

रोहन- कोई बात नहीं … मैं बस यही सोच रहा था कि आपने मुझे मैसेज करने से मना क्यों किया. काफी दिनों तक मैंने उससे बातें की और हम दोनों के बीच में लेट नाइट तक बातें होती रहीं. मेरा ऐसा मानना है कि हर बार हम लोगों ने अपने बदले पार्टनर के साथ एन्जॉय किया, मतलब हम आपस में सभी एक दूसरे के साथ कम्फर्ट फील कर रहे हैं, अब शायद हम अपने मन में यह तय कर चुके होंगे कि यदि हमें रात भर किसी के साथ रहना है तो हमारा पार्टनर कौन हो.

रात को हिल स्टेशन पर घूमने का आनंद ही कुछ और होता है … मौसम ठंडा … सर्द हवा … साथ में गर्म जिस्म … चिपकने में मजा आ जाता है. ”बहुत अजीब लग रहा है!”अच्छा नहीं लग रहा क्या?”अच्छा तो लग रहा है!”मेरी मिड्डी औरऊपर हो गई. वो जब भी इसके बारे में सोचती, उसकी टांगों के बीच में एक बाढ़ सी आ जाती, और हर बार पिछली बार से ज्यादा.

फिर उसने जब मेरा लंड पकड़ लिया और बोली- अब इधर उधर मत कर … छेद में डाल दे. चूचियों के नीचे 28 इंच की लचकदार कमर और 36 के भारी चूतड़ मेरे कब्जे में आ गए थे. वहां से हमारा सिलेक्शन हुआ और हम तहसील के लिए गए, जिसमें हम चार लड़के और चार लड़कियां थीं.

उस दिन मैं अपनी छोटी बहन श्वेता के बेटे का पहला जन्मदिन मनाने के लिए उसके ससुराल में गई हुई थी. कुछ देर बाद मासी सो गईं, पर मुझे नींद नहीं आ रही थी … क्योंकि मुझे मेरे अन्दर का जानवर सोने नहीं दे रहा था.

उनके कपड़े पूरे गीले थे तो मैंने सोचा कि ऐसे तो पापा की तबियत खराब हो जायेगी.

अब हम दोनों ने खाना खाया और मेम को सब काम ब्रा पेंटी में ही करने को बोला.

इस बात को जानकर, पता नहीं क्यों मुझे बुरा नहीं लगा … क्योंकि मैं हमेशा सोचती थी कि जब विक्की को पता चलेगा, तो वो मेरे बारे में क्या सोचेगा. ”मेरी जान … पहली बार में थोड़ा दर्द होता है उसके बाद तो बस एक मीठी और मदहोश करने वाली चुनमुनाहट सी ही होती है और अगले कई दिनों तक उसकी याद रोमांचित करती रहती है. साकेत भैया ने आंखें बंद कर लीं और अपना दोनों हाथ पीछे करके अपनी कमर को ऊपर नीचे करने लगे.

आधा लंड पेल कर मैं थोड़ी देर रुका रहा, वो दर्द से कराहते हुए चुप हो गया था. उन्होंने धीरे से मेरी बनियान को निकाला और मेरे सीने पर किस करते हुए मेरी छाती की घुंडियों को चाटने लगीं. वो वैसे ही मेरी दोनों टांगों के बीच में अपने दोनों पैरों को मेरे शरीर के दोनों तरफ फैलाते हुए पेट के बल औंधी लेट गई.

मैंने कहा- यहाँ पर कैसे?वो ज़िद करने लगीं और जैसे ही मैं लंड दिखाने वाला था, तभी किसी के रूम के पास आने के आवाज़ आने लगी.

दीदी लंड देख कर बोली- क्या कर रहे हो साकेत … ये सब ठीक नहीं है? प्लीज़ तौलिया लपेट लीजिए ना?साकेत भैया- अरे प्रिया अभी तो शुरू हुआ है. मैं खुद से पूछने लगी कि क्या मैंने अभी अभी अपनी बहन को सोच कर मुठ मारी? क्या हो गया है प्रीति तुझे, तू एक लड़की के बारे में ऐसा कैसे सोच रही है?इस तरह के कई विचार थे मेरे मन में, जिनके जवाब मेरे पास नहीं थे. सीधे हनीमून पॉइंट गए … वहां तो जिसको देखो चिपटाए खड़ा था … खुले आम चूमा चाटी हो रही थी.

उसके गीले बदन के साथ लगते ही मेरा लंड एकदम से खड़ा होना शुरू हो गया. हम दोनों मन बना चुके थे कि पूल खाली होने के बाद खुल कर मस्ती करेंगे. अब आगे:हमारी जानकारी अनुसार परमीत ने भी कभी लंड नहीं देखा था और ना ही किसी से सेक्स किया था, फिर भी शर्त और नशे के कारण वो एक कामुक और पुरानी खिलाड़ी की तरह नजर आ रही थी.

लेकिन अमित का डर अब न पूजा को था, न मुझे!मैंने उसके गालों पर, गले पर किस करना चालू कर दिया.

पूजा- चाय दे दी आपको, अब यहाँ क्या है?अमित- जी चाय तो अच्छी है लेकिन उसमें दूध थोड़ा कम है!पूजा- अभी दूध खत्म हो गया है. थोड़ी देर में जैसे ही मेरा निकलने को हुआ, तो वो मेरे ऊपर लेट गयी और मेरे होंठों चूसते हुए चूतड़ हिलाने लगी.

सेक्स बीएफ जंगली मुझसे हर समय तुम्हारे बारे में ही पूछते रहते हैं … और एक तुम हो कि उनके बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचती हो. एक तरफ रीमा के बूब्स को किस करते राहुल भी चुदाई के लिए भूखा हो गया था.

सेक्स बीएफ जंगली उत्तेजना मैं मैंने भी उसकी चूचियों को उसके टीशर्ट के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया था. सर बहुत खुश थे- ओह मेघा … क्या चूत है तेरी!स्स्स्स स्स्ससर … बहुत मजा आ रहा है … तेज तेज कीजिये! उम्मम्मह म्मम!”सर ने तेज तेज धक्के लगाने शुरू कर दिए.

”पी रखी थी … ओ हां कल रात मैं पार्टी में थी फिर!”चल ज्यादा जोर मत डाल दिमाग पर … उठ जा, कॉलेज नहीं जाना क्या?”नो दीदी आई एम नॉट फीलिंग वेल.

मार मार के

हम भी अपने लिए ऐसा ही कोई एकांत सा स्थान ढूंढने के लिए दूर तक निकल गए. उसमें मर्द को भले ही मजा आये लेकिन औरत घबरा जाती है और वो सहज नहीं हो पाती. नीले रंग की साड़ी में उसका गोरा बदन और उसके उठे हुए पहाड़ देख कर मेरे लंड का वहीं पर तंबू बन गया.

सामने देखा तो जेठजी शॉर्ट्स और टीशर्ट में अपने बेड पर सर नीचे किए बैठे थे. मेरी अभी भी आह्ह्ह् निकल जा रही थी मगर दर्द कम था।उनकी पकड़ भी कम हो चुकी थी और कमर की रफ़्तार तेज़!मुझे भी अब सुखद अहसास हो रहा था, मेरी आहें अब तेज़ हो रही थी. उसने भाभी की साड़ी के पल्लू को अलग कर दिया और भाभी का ब्लाउज दिखने लगा.

इतना बोल कर मैं चाची पर झपट पड़ा और चाची को लिटा कर उनकी चूत चाटने लगा.

सुनील बेसुध सोया पड़ा था पर बिल्कुल नंगा … उसका लंड देख कर दीपा को मजा आ गया. लंड के घुसते ही माँ के कंठ से आह की आवाज आई और उन्होंने शान का लंड लील लिया. मैंने उसके कंधों को कस कर पकड़ लिया और गले पर चूमते हुए उसे चोदना जारी रखा.

शुरू में थोड़ी तकलीफ़ हुई, लेकिन धीरे धीरे उन्होंने दोनों लंड सह लिए और अब वो भी मज़ा ले रही थीं. मैंने उससे सहमते हुए पूछा- अमन क्या हम दोनों ट्राई कर सकते हैं?मेरी इस बात पर अमन फट से बोला- हां हां ठीक है … क्यों नहीं. कुछ देर तक यहां वहां की बातें होती रहीं और उसकी सास ने बताया कि जन्मदिन की सारी तैयारियां हम दोनों के भरोसे ही हैं.

दोस्तो, भाभियो और हॉट गर्ल्स मैं आपका राज मैं कोटा, राजस्थान से आज आप लोगों को एक नई और सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ क्योंकि यह मेरी अन्तर्वासना पर दूसरी कहानी है, तो इस में अगर कोई गलती दिखे, तो माफ कर दें. मैंने नीता को स्टोरी बताने को बोला तो बोली- ज़्यादा कुछ याद नहीं है.

फिर पापा कहने लगे- बेटी, अगले हफ्ते में तेरा जन्मदिन है तो मुझे कुछ गिफ्ट देना चाहता हूं. क्या तुम नहीं देखना चाहते थे कि मैं भी दूसरी औरतों की तरह मां बनूं?इसके बाद प्रतीक गुसा होता या कुछ कहता, मैंने औरतों वाला ड्रामा शुरू कर दिया और उसे बांहों में भर कर रोने लगी. मगर मेरी बीवी का रंग एकदम गोरा था और कूल्हे भी बड़े-बड़े। वक्षों को देख कर किसी के भी मुंह में पानी आ जाये.

जब मुझे लगा कि अब चाची मेरा लंड लेने के लिए तैयार हैं, तब मैंने अपने लंड का सुपारा उनकी गांड पर रखा और धीरे धीरे अन्दर धकेलने लगा.

दोस्तो, उनके उन रसीले बोबों का प्रथम बार मसलने का आनन्द आज भी महसूस कर पा रहा हूँ. आप लोगों को ये तो पता ही होगा कि वेटिंग टिकट होने पर क्या क्या कष्ट झेलने पड़ते हैं. संजू लंड के ऊपर ही उठक बैठक करने लगी और आंख मूंदे अपने होंठों पर दांत फेरते हुए कसमसाने लगी.

अब आप अनुमान लगा सकते हो कि 6 फिट की ऊंचाई वाली औरत और उसका इतना भरा हुआ बदन होगा, तो वो औरत कैसी लगती होगी. अब बस नीचे से उनके बॉस मेरी चूत में धक्के मार रहे थे।फिर उन्होंने मुझे अपने ऊपर से हटाया और मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा.

मुझे अभी भी फोन नहीं दिया है मेरे शौहर ने मुझे … पर एक लैपटाप पुराना है देवर का, वही इस्तेमाल कर रही हूँ यह कहानी लिखने और ईमेल भेजने के लिए।अभी तक आठ लोगों से मैंने सेक्स किया है शादी के बाद … शौहर को छोड़कर सात. संजय ही क्यों … उस वक्त तो कोई भी मर्द खुद पर काबू नहीं कर सकता था. अब मैं किसी भी आंटी की गांड और चूची देखकर उसके बारे में सटीक अंदाजा लगा लेता हूं.

कॉलेज की सेक्स फिल्म

बेबी रानी चिल्लाई- कुतिया, तू चुद क्यों नहीं लेती आज … राजे यह बहनचोद अभी तक कुमारी है … मेरे साथ हुई चार बेवफाइयों से डर के साली बॉयफ्रेंड ही नहीं बनाती … बता साली पच्चीस साल की हो गयी और अभी तक बिनचुदी पड़ी है … राजे आज चोद दे इस माँ की लौड़ी को.

रुक गई, आवाज भी अच्छे से नहीं निकल पा रही थी।मैं उसको कस कर पकड़े हुए था।और जब वो शान्त हुई तो उसकी चुदाई शुरू कर दी।मेरे धक्के से उसके जिस्म का हर अंग काम्प रहा था। वो पहली बार अपनी गांड चुदवा रही थी।बहुत ही टाइट गांड थी उसकी … वो तो बस रोए जा रही थी. वो भी जोश में आ कर बोल पड़ीं- हां भाई … ले चोद ले अपनी बहन की चुत … और भर दे इसमें अपना वीर्य और कर दे मुझे ठंडा. कुछ देर बाद मैं उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा तो परी मैम ने अपनी पेंटी भी निकालने का कह दिया.

आज तुम भी ये जान लो की परमीत पक्की सरदारनी है और सरदारनी किसी चैलेंज से पीछे नहीं हटती. अब उसने मुझे एक बड़ा पैग बना कर दिया और एक सांस में पूरा पी जाने का कहा. बीएफ बुर की चुदाई वीडियोमैंने भी आंख दबाकर कह दिया- यार मुझे पता नहीं क्यों … अब भी ठंड सी महसूस हो रही है.

वो जोर जोर से करहाने लगी- आंआह … कम ऑन … ऊंह … करते रहो … मैं झड़ रही हूँ. अब मैंने दोनों को बेड पर बुलाया और वन्दना को नीरू की चूत चाटने को बोला तो उसने झट से नीरू की चूत को मुंह में भर लिया और उसकी चूत के दाने पर जीभ फेरने लगी.

तुम तो जानते ही हो कि जब मैं तुमसे मिली थी तो हमारा पहला सेक्स होने ही वाला था लेकिन सोनम ने अपनी मां को बता कर हम दोनों को रंगे हाथ पकड़वा दिया था. मैंने ध्यान दिया तो ये वही औरत थी जिसको मैं सुबह अपनी बाइक पर लेकर गया था. पर कॉलेज का माहौल देख कर मेरी कभी हिम्मत ही नहीं हुई कि किसी लड़की को पटा सकूँ.

मैंने पापा के लंड को अपने हाथ में ले लिया और उनके लंड को हिलाना शुरू कर दिया. मैं- ह्म्म … अच्छा चलिए खाना खा लीजिए, आपकी वजह से काफी देर हो चुकी है. अपने मम्मों के बीच में सुनील का लंड रखकर दीपा ने उसकी मालिश करी तो सुनील को तो लगा कि वो छूट ही जाएगा.

मैंने उससे कान में पूछा- कहां निकालूं?उसने अन्दर ही निकलने को बोला- मैं तुम्हारा बीज अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूं.

हम दोनों दोस्त तो थे, मगर सिर्फ़ दोस्त थे, एक दूसरे के बारे में कुछ ऐसा वैसा नहीं सोचते थे. तभी ऊपर से सुधीर सर ने मेरी टॉप उतार कर मुझे नंगी कर दिया और बोले- साली रंडी टेबल के सहारे झुक जा!मैं टेबल के सहारे झुके गयी और राजेश्वर सर ने पीछे से मेरी गांड में लन्ड डाल दिया.

बाद में मैंने उसके मुँह से लन्ड हटाया और उसे मेरा स्खलन करने के लिए धन्यवाद दिया. मैं बोला- नहीं सच में, तुम्हें देख कर लगता है कि जैसी नक्काशी ताज महल में की गई है वैसी ही खूबसूरती से बनाने वाले ने तुमको भी गढ़ा हुआ है. मैं ज़ोर ज़ोर धक्के मारने लगा था, कुछ ही देर में वो भी नीचे से गांड उठा उठा कर चुदाई का मजा लेने लगी.

नीरू तुम भी एक ही सांस में खींच जाओ पेग!यह बोल कर मैं बिल्कुल नंगा हो गया. इसलिए जो दूसरे मर्द हमारे आस-पास मौजूद थे, अपने पार्टनर के साथ वो भी हमारी बीवियों के जिस्म को निहारने से कोई परहेज नहीं कर रहे थे. भाभी जी क्या माल थीं … मैंने ऊपर से नीचे तक भाभी के बदन का एक्स-रे कर दिया.

सेक्स बीएफ जंगली थोड़ी बाद उसने सीधा मेरा खड़ा हुआ लौड़ा लोअर के ऊपर से ही पकड़ लिया और बोला- मैं इसकी (लौड़े) गर्मी को शांत कर देता हूँ, फिर आपको नींद आ जाएगी. मैं बताना चाहूंगी कि वो दिखने में भले ही साधारण सा था, लेकिन वो था काफी दिलकश.

सेक्सी फिल्म पुरानी वाली

मैंने थोड़ी सी हिम्मत करके अपनी पैंट में बने तम्बू की तरफ अमृता का ध्यान खींचने के लिए उसको इशारा किया तो वो मेरे तम्बू को देख कर मुस्कराने लगी. मैं कपड़े पहन कर चाची के साथ ही सोफे पर उनकी जांघों से जांघें चिपका कर बैठ गया. मुझे लगता है कि मामी जरूर इसका मज़ा लेंगी और मैं मामी के करीब और सटता जाऊंगा.

इधर भाबी भी अपने बुर पर मेरा सिर दबाए जा रही थीं और मस्त कामुक आवाजें निकाले रही थीं- आह … बहनचोद चल … अपनी दीदी की बुर को अच्छे से चाट … वरना तेरी माँ की बुर अपने पति के लौड़े से फड़वा दूंगी. मेरी छोटी बहन श्वेता की सास ने खास तौर पर मुझे जन्मदिन के लिए न्यौता भेजा था. बीएफ दीजिए बीएफ दीजिएफिर मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी चूत की फांकों को खोल कर अपना मूसल लंड मेरी चूत पर रख दिया और पूरा जोर लगा कर धक्का मारा तो मेरी चीख निकल गई.

दीदी- कुछ नहीं मतलब!श्वेता दीदी- वो बोले हम होटल में नहीं मिलेंगे … अगर मिलना हो तो घर बुलाओगी, तब ही मिलेंगे.

दूध वाला आने दो, फिर दे दूंगी दूध वाली चाय!अमित- जी दूध तो मेरे सामने है; आप की इजाजत हो तो मैं खुद ले लूं?इतना कहते ही मैंने पूजा के स्तनों को दबाना शुरु कर दिया. तभी अचानक चाची ने मेरे हाथ पकड़ लिए और बोलीं- नहीं दीपू … प्लीज … इससे आगे नहीं, प्लीज मुझे माफ़ कर दे … पर इससे आगे नहीं.

फिर मैंने उसे सर की तरफ से हाथों को पकड़ा और पैरों को भाभी ने पकड़ लिया. डॉक्टर ने मेरी पैंट की चेन खोल कर मेरे सोये हुए लंड को बाहर निकाल लिया. उनकी आवाज़ भी तेज हो गयी थी और वो भी तेज स्वर में चिल्लाने लगी थीं- अअह … उहहह और जोर से … हां लगे रहो.

पर मैंने मना कर दिया क्योंकि मैं और कोई लफड़े में पड़ना नहीं चाहती थी.

फिर मैंने उनकी पटों यानि रानों पर चुम्बन करना शुरू किया और हल्के से काटने लगा. मेरी चूत को चोदते हुए उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और उसके बाद अपनी जीभ मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चाटने लगा. मैं उन्हें औऱ तड़पाने लगा और पैंटी के ऊपर से चूत को चाटने लगा, तो वो पागल सी हो गईं.

सानिया लियोन का बीएफये कहानी तब की है, जब मेरी मासी हमारे घर कुछ एक सप्ताह के लिए रहने आई थीं. मेरी तो चीख निकल गयी ‘आह सुहास धीरे बेबी!’सुहास ने धक्के मारने शुरू कर दिए थे.

ओयो का मालिक कौन है

हालांकि मैं उसे बचपन से जानती हूं, लेकिन इस बार उसका बर्ताव कुछ बदला बदला सा था. मुझे नहीं पता था कि उसने कभी गांड चुदवाई थी या नहीं लेकिन अभी मेरे मन उसकी गांड को चोदने की तीव्र इच्छा जगी हुई थी. उसे थोड़ा आगे करके मैं पीछे बैठ गया और धीरे धीरे उसकी चूत की सिकाई करने लगा। उसको मजा आ रहा था और उसकी चूत जो किसी संतरे की फांक जैसी थी अब वह फूल कर पाव रोटी की तरह हो गयी थी। हल्की सी सूजन थी जो शायद रात भर चुदाई के खेल से जाती।मैं उठ कर बाहर गया और खाना ऑर्डर कर दिया। अमृता भी उठ कर अपने आप को साफ करने लगी थी.

कुछ देर यूं ही मम्मे मसलने और उसे किस करने के बाद वो मेरी तरफ घूम गई. मैं बोला- यार, मैंने भी कई भाभियों के साथ सेक्स किया है, लेकिन उन सबमें से तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया. मैं बैग से तेल की बोतल निकाल कर उनके पास गया और उनकी मसाज शुरू कर दी.

इसके साथ ही मैं उसके ऊपर झुक गया और उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया क्योंकि मेरा लंड काफी बड़ा था. मैं- नहीं … आप मेरे साथ ही चलो और अगर आपको मेरे साथ खाना खाने में शर्म आ रही है, तो मैं आपका खाना यहीं लेकर आ जाती हूं. फिर मैं लेटे लेटे अपने पैर के अंगूठे से उसकी गांड के छेद को छेड़ने लगा.

मैं नित्या की चूत चाट कर साफ़ कर रहा था।फिर थोड़ी देर बाद नित्या और निधि ने अपनी अपनी जगह बदल ली। अब मैं निधि की चूत चाटने लगा और नित्या मेरा लंड मुंह में लेकर मेरा लंड खड़ा कर रही थी।जब मेरा लंड खड़ा हुआ तो निधि की चूत में लंड लगा कर जोर से झटका मारा. पहली बार की चुदाई में ऐसा इसलिए होता है कि लंड से पानी नहीं निकला होता है, यदि वो मेरे लंड को चूस कर माल निलवा देती … तो शायद उसकी चुत को कम से कम बीस मिनट तक मेरे लंड से सामना करना पड़ता.

विजय बोला- भाभी, मैं और मेरा दोस्त दोनों मिल कर आशीष को मना रहे हैं.

बुर्का और ऊपर करके वो टॉप के बटन खोलकर सामने से वो मेरे बूब्स चूसते हुये मुझे चोदने लगा।उसके झटके देखके लग रहा था कि अभी उसको बहुत कुछ सीखना बाकी है. बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी बीएफमैं- पकड़ा गया था … मतलब?वॉयलेट- वो कोई दूसरी लड़की के साथ उसके बैडरूम में पकड़ा गया. एनिमल बीएफ दिखाओफिर भाभी जी ने कहा कि जो औरत सामने गेट पर खड़ी है मैं उसे भी अपने साथ ही लेता चलूं और उसे रास्ते में छोड़ दूं तो मैंने उनकी बात मान ली. शबनम तो बेशर्म है, वो अंदर नंगी ही खड़ी थी … नायरा ने भी हँसते हुए अपने कपड़े उतार दिये.

चाहे मैं शौच करने जाऊं या पेशाब करने, चाहे नहाने जाऊं या सोने, सुरेंद्र जीजा मेरे पीछे पड़े रहते थे.

जॉली इस बार मुस्कुराया, लेकिन रिया पीछे होने के कारण उसकी मुस्कान देख ना सकी. मैंने भी देखा कि अब मामला पूरा गर्म हो गया है, तो मैंने जीभ को सीधे चुत में लगाया और चूसना शुरू कर दिया. मुझे अपनी राय से अवगत कराएं … मुझसे मेरी ईमेल आईडी[emailprotected]पर संपर्क करें.

जब कुछ नहीं हुआ, तो मैं मोसी के पूरे दूध को अपनी हथेली में भर कर सहलाने लगा. वो बाथरूम के थोड़ा और पास गयी तो उसको लगा जैसे ये आवाज़ अन्दर से ही आ रही है. दीदी ने जैसे ही अपने टांगों को थोड़ा फैलाया, तभी उनकी गुलाबी बुर दिखी.

गांव की औरतों की सेक्स वीडियो

”क्यों?” गौरी ने मेरी ओर तिरछी नज़रों से देखा।वह मंद-मंद मुस्कुरा भी रही थी।गौरी तुम बहुत खूबसूरत हो मेरी जान!”बस … बस झूठी तारीफ़ रहने दो … आप कपड़े चेंज कर लो। मैं चाय बनाती हूँ, वैसे खाना भी तैयार है आप बोलो तो गर्म करके लगा दूं?”गौरी तुम्हें अपनी बांहों से अलग करने का मन ही नहीं हो रहा. ”गौरी प्लीज मान जाओ ना?” मैंने किसी बच्चे की तरह गौरी से मनुहार की तो उसकी हंसी निकल गई।पता है मेरे से तो ठीक से चला भी नहीं जा रहा. दीदी ने कोई विरोध नहीं किया और अपने मुँह को दूसरी तरफ करके उनके लंड को अपने मुलायम नाजुक हाथों से सहलाते हुए ऊपर नीचे करते हुए हिलाने लगी.

अनिता भाभी अपने पेट पर हाथ रखते हुए बोली- ये जो पहले का फल है इसे तो बाहर निकालूं!मैं- इसमें मेरा क्या कसूर है.

दोस्तो, मैं माफ़ी चाहती हूँ मैं आपको हमारे शहर का नाम नहीं बता सकती हूँ आप मान लीजिएगा कि मैं इंदौर से हूँ.

हमारे यहां शादी में दुल्हन के साथ कोई एक आदमी जाता है जो कि दुल्हन को दो दिन के बाद वापस लेकर आ जाता है. एक बार मेरी बात तो सुन लो प्लीज? जाने की लगी है आपको तो।मैं बोली- हम्म जल्दी बोलो?आकाश बोला- क्या आप मुझसे फ्रेंड्शिप करोगी, मेरे सब दोस्त कहते हैं कि मैं बहुत अच्छी दोस्ती निभाता हूँ।इधर सोनम ने फोन पे धीरे से कहा- थोड़े से नखरे करते हुए मान जा।तो मैंने थोड़े से नकली नखरे करते हुए आकाश के दोस्ती के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया।कहानी जारी रहेगी. बिहार का सेक्सी बीएफ हिंदीइसी मौके का फायदा मैं और नील उठाना चाह रहे थे कि जैसे हमें उन दोनों के स्तन और गांड को देख कर जो उत्तेजना हो रही थी वैसे ही वो दोनों भी हमारे नंगे जिस्मों को देख कर उत्तेजित होकर खुद ही इस अदला बदली के खेल को अंजाम तक पहुंचा दें.

मैं ऊपर शीशे से सब देख रहा था, थोड़ी ही देर में चाची का मुँह लाल हो गया और वो इधर उधर देख कर अपने चूचों को दबाने लगीं और साथ ही साथ अपनी सलवार में हाथ डाल कर अपनी चुत रगड़ने लगीं. तभी विवेक ने कहा- बंध्या, मेरे अंडरवियर को नीचे करके अपने पसंद की चीज को देख लो. रोहन- एक बात बताऊं जान … तुम्हारे होंठों को चूसना और तुम्हारी चुचियों से खेलना … इतना सुकून मिला है मेरे दिल को, मेरे हाथों को, मेरे दिमाग को … लेकिन बस सिर्फ एक बॉडी पार्ट है, मेरा जो बेचैन हो गया है.

मैं- आप टी-शर्ट शॉर्ट्स भी पहनती हो?हिना- ये मेरे नहीं, आलिया के हैं. मैंने भी उससे कहा कि तू चिंता मत कर रंडी … आज तेरा काम उठा कर ही दम लूंगा.

बस में काफी देर आराम करने के बाद सबा जब बस से उतरी, तो उसका लड़खड़ाना थोड़ा कम हुआ.

इस बार फिर से साकेत भैया ने दीदी का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और अपना हाथ भी ऊपर से रख लिया. कपड़ों की चिंता न मुझे थी और शायद उसके कपड़े तो शाम को घर जाते जाते गंदे हो ही जाते थे, इसलिए उसे भी कोई फ़िक्र नहीं थी. मैंने टीसी से सीट के बारे में बोला, तो टीसी ने लिस्ट देखकर मुझे बताया कि ट्रेन पूरी भरी हुई है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ न्यू जब मेरे हस्बैंड यहां नहीं होते हैं, तो मुझे ही उसकी देखरेख करनी होती है. मेरी बीवी ने रोहित के लंड को धीरे धीरे अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगी.

तभी उसने चुदास के चलते अपने ब्लाउज के चटकनी बटन एक झटके में खोल दिए और मेरे सामने उसके बिना ब्रा के चूचे फुदकने लगे. सुनील ने लंड निकालना चाहा पर दीपा ने अपने नाखून उसकी पीठ पर गड़ा दिये और अब सुनील की तूफ़ान मेल शुरू हो गयी. जब चाची नीचे झुक कर कुछ उठातीं, तो मुझे उनकी फूली हुई गांड मस्त लग रही थी.

कुत्ता की लड़की की सेक्सी

चूंकि रात में मैंने पापा के लंड चूत चुदाई करवाई थी तो लंड आसानी से अंदर चला गया. सोनिया- आह्ह्ह आह्ह्ह … रोहन … कितना मजा आ रहा है जानू … काश तुम खुद मसलते मेरी चूत को खुद अपने हाथों से … आह. मैंने कहा कि तुम मुझे बहुत प्यारी लगती हो … तुम मेरी इस बात का क्या मतलब समझती हो?सीमा- मुझे नहीं मालूम … मगर तुम भी मुझे बहुत प्यारे लगते हो.

मैंने उसको पुनः अपने आगोश में खींच लिया और हम फिर से एक दूसरे को प्यार से चूमने लगे. मैं अब उसके सिर के पीछे आ गया और उसकी गर्दन व कंधों पर मालिश करने लगा.

मेरी मां ने साफ मना कर दिया कि उस घर में मेरी शादी नहीं हो सकती है.

पर मैं कहां सुनने वाला था … मैंने उसके ऊपर 69 में आकर उसके मुँह में अपना लंड दे दिया, जिसे वो लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. दीपा को भी आग लग गयी पर वो बोली- मुझे 5 मिनट दो, मैं नयी वाली नाईट ड्रेस पहनती हूँ, फिर रात भर सेक्स करेंगे. अब उसने अपने लंड को मेरे चूत में अंदर बाहर करते हुए मेरी चूत को चोदना शुरू कर दिया.

मैंने कहा कि आ तो मुझे भी रही है … और मैं उसी का इंतज़ाम कर रहा हूँ. वो भी पीछे से आ गए और मेरी बहन की चुत में दूसरा लंड डालने की कोशिश करने लगे. मैंने उसकी सलवार, जो पहले से खुली था, उसको नीचे सरका दिया, वो बिना पैंटी के थी.

इस पर वो और भड़क गईं, बोलीं- डरपोक है क्या तू?मैंने कहा- जो भी समझो.

सेक्स बीएफ जंगली: ओह माय गॉड … उसकी बड़ी बड़ी और मोटी-मोटी चूचियों को छूने का एहसास इतना हसीन और मस्त कर देने वाला था, जिसे लफ़्ज़ों में बयान करना मुश्किल है. मनोज ने दीपा की ब्रा ऊपर करके उसके मम्मे निकाल दिए और उन्हें चूसने लगा.

अब मैं किसी भी आंटी की गांड और चूची देखकर उसके बारे में सटीक अंदाजा लगा लेता हूं. महेश ने मौका देखकर अपना हाथ अपनी बेटी के हाथ से हटा दिया और ज्योति के एक हाथ से पकड़ी हुई उसकी साड़ी को जो उसने अपने सीने के आगे रखी हुई थी अपने हाथ से खींचकर छीन लिया।महेश ने साड़ी को बेड पर फ़ेंक दिया।पिता जी?” ज्योति अपने सीने के आगे से अपनी साड़ी के दूर होते ही होश में आते हुए अपने दोनों हाथों से अपनी चूचियों को ढकने लगी।बेटी इतना शर्माओ मत, अपने भाई का लंड भी तो आराम से ले लेती हो. पिंकी तो मस्ती के मूड में थी … उसने तो स्पोर्ट्स ब्रा और एक बरमूडा पहन लिया ताकि वेक्सिंग अच्छे से हो जाए.

आज तुम भी ये जान लो की परमीत पक्की सरदारनी है और सरदारनी किसी चैलेंज से पीछे नहीं हटती.

अब पूजा न न तो कर रही थी लेकिन बस नाम मात्र का!सच तो यह था कि अमित की गैरमौजूदगी का फायदा हम दोनों उठाना चाहते थे. उसने आधे से ज्यादा लंड एक बार में ही गटक लिया, उसे देख कर यही लगा कि जैसे ये काम परमीत रोज ही करती हो. अतः अपने अपने कॉटेज में जाकर कपड़े बदलने थे … रात की प्लानिंग सीमा-राजीव के जिम्मे थी इसलिए सभी आदमियों को राजीव ने बोल दिया कि वे इस तैयारी से आयें कि रात उन्हें अपने कॉटेज के अलावा कहीं और भी काटनी पड़ सकती है.