गांव की देहाती चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ ब्लू वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

www.com सेक्सी बीपी: गांव की देहाती चुदाई बीएफ, मैं बोला- क्यों मिसेज रोहित क्या हाल है?वो शर्मा गयी और मुझसे चिपक गयी.

गीता बीएफ

फिर उसके हाथों को एक हाथ से पकड़ कर अपने एक हाथ से उसका ब्लाउज उतारने लगा. हिंदुस्तानी लड़की की बीएफमैं तो उसका मैसेज देखकर हैरत में पड़ गया कि रात को दो बजे तुली का मैसेज क्यों आया है.

फिर मैं अंजू को उसके रूम पर छोड़कर जम्मू चला गया। जब मैं जम्मू से वापस आया तब उसके पास गया. बीएफ वीडियो फुल पिक्चरमैंने उनके एक पैर को अपने कंधे पर रख दिया, जिससे भाभी की चूत थोड़ी ज्यादा खुल कर मेरे मुँह के एकदम सामने आ गई.

उन्होंने मेरे बारे में पूछा, तो मैंने भी उन्हें अपने बारे में बताया कि मैं स्टडी के साथ पार्ट टाइम मसाज कर लेता हूं.गांव की देहाती चुदाई बीएफ: अब मैं अपना दायाँ हाथ उसकी सुराही जैसी गर्दन पर लपेट कर किस कर रहा था। कभी उसका नीचे का होंठ तो कभी ऊपर वाला होंठ चूस रहा था.

हमें भी तो कल को किसी काम की जरूरत पड़ सकती है! उनके घर में कोई लड़का नहीं है, सिर्फ दो लड़कियां हैं।मम्मी के तर्कों ने मुझे चुप करवा दिया.पति के साथ किस और हग किये हुए फोटो थी मगर कोई नंगी फोटो नहीं मिली मुझे.

हिंदी बीएफ बीएफ मूवी - गांव की देहाती चुदाई बीएफ

मैंने भाभी का साथ देते हुए अपने लंड को चुत के छेद में में लगाकर एक नीचे से एक जोर का झटका दे दिया.इस बार वह बेहोश हो गई। मैंने टेबल पर रखा पानी उसके चेहरे पर मारा तो उसे होश आया और तेज दर्द के कारण वह फिर से रोने लगी.

साकेत में मिलने के बाद उसने बताया- मुझे तुमसे बातें करना अच्छा लगता है … और मैं तुम्हारे साथ अकेले में कुछ टाइम बिताना चाहती थी. गांव की देहाती चुदाई बीएफ मगर फिर सोचने लगा कि एक बार देखूं तो सही कि माल कैसा है और चूत कैसी है? फिर अमित मुझे उस रात को पांचवें फ्लोर पर ले गया.

इस बात पर मैंने अंगिका को अपनी गोदी में उठा लिया और उसे लेकर बेड पर जाने लगा.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ?

अपनी चूत पर मेरा हाथ महसूस करते ही वो एकदम से ऐसे कांप गई, जैसे किसी ने पहली बार उसकी चूत को छुआ हो. मैं- जिस्मानी रिश्तों में तुझे खुश नहीं कर पाते हैं क्या जीजा जी?रिया- नहीं-नहीं. लगभग यही दो-तीन मिनट तक चुत चाटने के बाद मैं भाभी के होंठों को चाटने लगा.

फिर हम दोनों जोर से एक दूसरे के होंठों को पीने लगे और लार का आदान प्रदान होने लगा. मैंने उसे उसके घर के पास छोड़ा और फिर वापस अपने घर आ गया।मेरे लंड मे अभी भी हल्का दर्द हो रहा था। मैंने घर आकर खाना खाया और सो गया. मैं पानी पानी हो गयी थी … क्योंकि मेरी ऐसी चुदाई आज तक किसी ने नहीं की थी.

सेक्सी मैडम की चुदाई कहानी में पढ़ें कि अंग्रेजी और पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए मैंने कोचिंग ज्वाइन की. एक दिन मैंने सोचा की क्यों न मैं यहीं पर किसी से शादी करके कर लूं तो मुझे वहां पर लोकल निवासी होने का प्रमाण भी आसानी से मिल जाएगा. वो मेरे लंड से काफी खुश रहती हैं तो वे खुद से ही सेक्स करने का मौक़ा खोजती रहती हैं … और मुझे ही अपना सब कुछ मानती हैं.

फिर उसने अपना हाथ अंदर तक मेरी गांड के छेद तक पहुंचा दिया और मेरी गांड में उंगली दे दी. मैं बस नंगी गर्ल की चूचियों को बौरा कर चूसने लगा और मस्ती से दीदी के दूध चूसे जा रहा था.

मैंने उसे मना कर दिया और लिखा- नहीं तुली, मैं रात को सोते समय अपने सारे कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगा लेटा हुआ हूँ.

उसकी चूत काफी खुली हुई थी और देखकर लग रहा था कि जैसे वो अपनी चूत को बहुत चुदवाती है.

मैंने सुनयना भाभी के एक स्तन को जोर से दबा दिया, जिसके कारण भाभी के मुँह से मादक सिसकारी निकल गयी. एक कमरे से दूसरे कमरे तक मैं नंगी ही टहल रही थी और पति के एक दोस्त से सेक्स चैट कर रही थी. मैंने भी मौके की नजाकत को देखते हुए उन पर लंड चूसने के लिए ज्यादा दबाव नहीं दिया.

कुछ दिन के बाद फिर केस भी फाइनल हो गया और फैसला हमारे पक्ष में आया. फिर अंकल ने आंखें बंद रख हुए अपने सारे कपड़े निकाल दिए और वो बिल्कुल नंगे हो गए. लेकिन जब दुबारा वो आवाज आयी, तो मैंने सोचा कि ये किस चीज की आवाज आ रही है.

मुझे देख कर उसका पहला रिएक्शन था- नाइस सेक्सी नाईटी!मैं- थैंक्स यार … हां तू अब बता … कहां बनवा लूं मैं टैटू … और तू भी मेरे साथ बनवा लेना.

सुरेश- आपके हालत ठीक नहीं है, तो आप कैसे घर को चला पाती हो?सुलक्खी- बाबूजी अब क्या बताऊं, बस मर मरके जी रहे हैं. हम अलग तो हो गए थे, लेकिन दिलो-दिमाग में जो सुरूर चढ़ चुका था, वह हमे अब भी अलग ही अहसास करवा रहा था. तब मैंने बोला- पहली बार है इसलिए कंडोम से आसानी से लंड अन्दर फिसल कर जाएगा.

मां की चूत सहलाते हुए पापा ने कहा- पोर्न देखोगी जान?मां बोली- राहुल उठ जायेगा. मुखिया- देखो सुमन रानी, मुझे तो तुम जान ही चुकी हो … मेरा नाम जीवन परसाद है. मैं समझ गया कि वो चुदाई में खुश नहीं रह रही है इसलिए पहली ही बार में मुझसे चुदने के लिए तैयार हो गयी है.

नहीं था इसलिए मैं और मेरी सहेली एक ही बेड पर कूलर के सामने सोते थे.

फिर धीरे से मैंने सलवार की खुली सिलाई में से हाथ अंदर कर लिया और उसकी पैंटी पर आहिस्ता से एक उंगली रख दी. वो बोली- विशु तेरे लंड से बीज कितनी देर में निकलता है रे? मेरा तो हाथ थक गया और इसे कितनी देर तक हिलाना पड़ेगा?मैंने भाभी को बताया- अभी तो कुछ नहीं, कम से कम डबल टाइम तो मान ही लो.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ दुबारा से मैंने लौड़े को वापस उनकी चूत पर रखा और इस बार पहले से भी तेज गति से चूत में धक्का दे मारा. इसके बाद मेरे हाथ उसके चूचों पर पहुंच गए … और मैंने उन्हें धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ अब उसकी चूत में मेरा लंड चोद रहा था और उसकी गांड में मैं उंगली को अंदर बाहर कर रहा था. पिछले भागगाँव के मुखिया जी की वासना- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि मुखिया जी सुमन की मटकती हुई गांड को देख कर लंड सहलाने लगे थे.

मैंने देखा कि उसकी चूत पूरी गीली हो चुकी थी और उसका रस चूत पर पूरा फैल गया था.

काजल सेक्सी विडिओ

वो सूजी हुई थी … और किसी समझदार इंसान के लिए ये समझना मुश्किल नहीं था कि ये बुरी तरह से चुदाई करवा कर आई है. मैं आगे बढ़ गया।तभी पीछे से उसने आवाज लगाई- अंकल! आप दुकान जा रहे हैं?मैंने कहा- हां! क्या हुआ, कुछ लेना है?तो उसने दस रुपये का नोट मेरी तरफ बढ़ाते हुए कहा- मेरे लिये एक पर्क ला दीजिए न प्लीज़!मैंने मुस्कुराते हुए कहा- ठीक है, मैं ला देता हूँ. https://thumb-v4.xhcdn.com/a/Z6wbZo37kXFSxU3WZDZKQw/022/557/904/526x298.t.webm.

मैं बोला- अब जब हम अगली बार करेंगे तो तुम्हें दर्द नहीं होगा, केवल मजा ही मजा आयेगा. मैंने उनके एक पैर को अपने कंधे पर रख दिया, जिससे भाभी की चूत थोड़ी ज्यादा खुल कर मेरे मुँह के एकदम सामने आ गई. मेरे लंड में दर्द होने लगा था इतना उछल चुका था मेरा लंड।बस को चले हुए काफ़ी देर हो गयी थी.

इस समय हम दोनों ऐसी पोजीशन पर आ गए थे कि अपनी चुदाई को रोक ही नहीं सकते थे.

क्यों … मैंने सही कहा ना!सुमन ने खुले शब्दों में मुखिया को समझा दिया कि उसको पूरी रात रुक कर क्या क्या करना है. ये कह कर मैं कमरे में घुस गया और अपना क्वार्टर निकाल कर उसे खत्म कर लिया. मयंक ने उसे वहीं किचन की स्लैब पर घोड़ी बना दिया और वो मेरे सामने ही मेरे पति से चुदने लगी.

रात को करीब साढ़े ग्यारह बजे मैंने मनीषा को व्हाट्सएप किया:प्रिय मनु, जब से तुम्हें देखा है, मैं अपने होश खो चुका हूँ. यह सेक्स कहानी कुछ दिनों पहले उस वक्त की है, जब मैं बारहवीं कक्षा में था. उसकी प्यास को देख कर लग रहा था कि वो सदियों से मर्द के साथ सम्भोग करने के लिए तड़प रही हो.

इतना बोलकर उसे अपना लंड अपने कच्छे में मसलना चालू कर दिया, जिस पर मेरा रिएक्शन आ गया था. मैंने सीधा हाथ उसके ऊपर से उठाया और उसके चूतड़ों पर रख कर सहलाने लगा और उल्टा हाथ जो कि उसके सिर के नीचे से गर्दन के पास से होते हुए जा रहा था, उससे उसके चूचे टटोलता रहा। उसके चूतड़ सहलाते हुए अब मैंने सीधा हाथ उसके आगे पेट पर कर लिया और सहलाने लगा.

उसका रंग थोड़ा सांवला था लेकिन उसके चूचों की शेप मिकी से ज्यादा सेक्सी थी. मेरी इस कास्टिंग काउच सेक्स स्टोरी के बारे में अपने विचार प्रकट करने के लिए आप कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर छोड़ें अथवा मुझे मेरी ईमेल पर संपर्क करें. मुकेश सर- कुछ नहीं टीना … आज आप बहुत सुंदर लग रही हो और ध्यान आकर्षित कराने वाली हो.

मैंने देर न करते हुए उसकी एक चूची को हाथ में पकड़ लिया और दूसरे दूध को मुँह में भर लिया.

मैं सोच रहा था कि अगर मिकी मेरे रूम में आ जाये तो उसके साथ पूरी रात भर मैं नंगा होकर सो सकता हूं और उसकी जितनी चाहे और जैसे चाहे चुदाई कर सकता हूं. उसके लंड का सुपारा मेरी चूत में जा फंसा और मैं दर्द में बिलबिला उठी. लंड चूसते हुए उन्होंने मुझे थोड़ी बादाम दिए और बोलीं- लो तुम ये ड्राई फ्रूट्स खाओ.

मैं कुछ बोलने लगा- मैडम …आगे कुछ कहता मैं … उससे पहले उसने मेरे होंठों पर हाथ रख दिया और चुप रहने का इशारा कर दिया. करीब एक मिनट बाद उसने मुझे जकड़ लिया और एक लंबी सी आह … के साथ निढाल हो गयी.

ताकि मैं जल्दी से तुम्हारी चुत को ठंडा करने का तुम्हें मज़ा दे दूं. मैंने कुछ मिनट तक उसकी बगलों की खुशबू ली और चाट कर बगलें साफ करने में लग गया. सुमन- अभी … नहीं नहीं इसमें तो आपको टाइम लगेगा ना!मुखिया- हां टाइम तो लगेगा.

इंग्लिश सेक्सी पिक्चर मराठी

वो बोला- अब हमारे लिये लड़ना मुश्किल होगा और पैसे भी ज्यादा लगेंगे.

निकलते टाइम उसने मुझे एक जबरदस्त किस किया और बोली- मुझे बहुत अच्छा लगा. जैसे ही मोनिषा आयी, तो मैंने उससे पूछा- रात को नींद कैसी आयी?मोनिषा ने हंस कर कहा- भैया नींद तो बहुत ही बढ़िया आयी. करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद वो मेरे ऊपर से उठ गयी, लेकिन मैं बेड के ऊपर ही पड़ा रहा.

मेरा लंड छोड़ कर वो मेरे हाथ को ट्रॉऊजर से बाहर खींचने लगी। मगर मैं मजबूती से उसे पकड़े रहा. अंकल ने छह मिनट तक बिना रुके पारिज़ा की चुदाई की और झड़ने के बाद कंडोम को डस्टबिन में फेंक कर अपने कपड़े लेकर चले गए. नाबालिक बीएफ सेक्सजब मैं पीछे मुड़ा, तो मैंने देखा कि चाची के गीले बाल उनकी कमर और पीठ को ढके हुए थे … पर चूतड़ों को नहीं ढक पा रहे थे.

आह … जैसे एक वीरान रेगिस्तान में भगवान ने दो बड़े बड़े पर्वत शिखर एक के साथ एक अगल बगल में रख दिए हों. 4-5 मिनट तक सेक्सी गांड चोदने के बाद मेरा माल निकल गया और वो निढाल होकर मेरे ऊपर लेट गयी.

वो मुझे हमेशा छेड़ती रहती थी और हर समय सेक्स की ही बातें करना पसंद करती थी. इसे देख कर ऐसे लगता है, जैसे भगवान ने बनाते टाइम बस गांड पर ज़्यादा ध्यान दिया होगा. एक दो मिनट तक उसकी गांड में उंगली चलाने के बाद अंदर तक क्रीम चली गयी.

मैं हंसने लगा और बोला- शायद आपने मुझे यहां मेरी ही मसाज करने के लिए बुलाया है. मैं अपने फ्लैट में अकेला ही रहता था, तो मैंने उससे बोल दिया कि तुम मेरे साथ आ कर रह सकती हो. उसी समय मैंने जल्दी से अपने पैन्ट का हुक खोला और पैन्ट को नीचे सरका दिया.

तो अंकल ने उसी पल अपने लंड को अपनी बेटी की चूत की फांकों में फंसाया और धक्का लगा दिया.

मैं चुदासी होती जा रही थी- आह आह उम्म … उह आह चाट मादरचोद … मज़ा आ रहा है चाट साले … कुत्ते रंडी की औलाद. दीदी की चुत से पानी निकल गया, तो वो बिना कुछ बोले मेरे ऊपर से उठ गईं.

तभी पारिज़ा ने मेरी टी-शर्ट निकाल दी और मैंने भी उसकी टी-शर्ट को निकाल दिया. वो बुड्डा अपनी धोती के ऊपर से ही अपने लौड़े को मसलने में लगा हुआ था. जब वो झड़ गई … तो मैं अपने पति को बेडरूम लेकर गई और बेडरूम में काफी देर तक अपने पति से चुदवा कर खुद को शांत किया.

पिछली कहानीकालगर्ल की गांड मारीमें मैंने आपको बताया था कि कैसे मैंने मिकी की गांड चुदाई की. मैं भी तुम्हें चाहने लगी थी और तुम्हारे इजहार का ही इंतज़ार कर रही थी. अंगिका की आंखें देखने से ही नशीली लगती थी और शराब पीने के बाद तो ऐसा लग रहा था कि उसे चुरा कर अपने पास ही रख लूं!रात के दो बज चुके थे और मेरे अन्दर का शैतान अंगिका को नीचे पड़ी देखकर अपने आपे से बाहर हो चुका था.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ उसके बाद अपना 8 इंच का लौड़ा उनकी गांड में और बुर में घुसा कर काफी देर तक लगातार अन्दर बाहर करना, डर्टी हार्ड सेक्स मुझे बहुत पसंद है. मैं हंसते हुए बोली- तो सर इसमें हिचक कैसी … जब आप बोलोगे, मैं आ जाऊंगी.

सूअर वाला सेक्सी वीडियो

उसका प्रोग्राम दिखाने के लिए उसने मुझे और अजय को भी बुलाया लेकिन अजय किसी वजह से नहीं आ सका. थोड़ी देर में गीता फिर से गर्म हो गई और लौड़े को बेदर्दी से चूसने लगी. एक दूसरे की गर्मी हमें अच्छी लग रही थी, पर इस गर्मी के कारण मेरे लंड में हरकत होने शुरू हो गयी.

उस सेक्स कहानी के बाद मुझे कई ईमेल्स आए, जिनमें पाठक और पाठिकाओं ने अपने निजी जीवन से जुड़ी कई बातें व समस्याएं बताईं. उसने मेरी तरफ देख कर पूछा- कैसी लग रही हूँ?मैंने उंगली से ‘मस्त लग रही हो …’ का इशारा किया. बीएफ साली की चुदाईमुझे पता नहीं क्यों ऐसा लगने लगा था कि रीता हम दोनों के बारे में कुछ कुछ समझने लगी है.

मुखिया- एक बात तो है सुमन … तुम हो बड़ी चुदक्कड़ … तुम्हें आए हुए दो दिन भी नहीं हुए और आज तुम मेरे सामने नंगी पड़ी हुई हो.

पहले में निप्पल को जीभ से कुरेदता हुआ उससे खेल रहा था, फिर उसे चूसने लगा. दो तीन मिनट की धकापेल के बाद मेरी चूत ने मौसाजी के लंड को पूर्णतः आत्मसात कर के खुद को एडजस्ट कर लिया.

इसलिए मैं धीरे से उसकी तरफ मुंह करके लेट गयी ताकि उसको मेरे पेट का नजारा मिल सके और मेरी ब्रा को देख कर वो मुझे चोदने का विचार करने लगे. वो भी मेरी पीठ पर हाथ फिरते हुए मेरे जिस्म को वहां तक सहलाने लगी जहां तक उनके हाथ पहुंच सकते थे. सन्नो- कहां मुखिया जी, वो तो सारा दिन खेतों में बैल की तरह लगे रहते हैं.

इस झटके से मेरा आधा लंड गांड के अन्दर घुस गया था और श्वेता चीख कर रोने लगी.

उन्होंने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और कराहते हुए बोलीं- ओह अहह उम्म्म्म … बहुत दर्द हो रहा है … जरा रुक जा. मैंने जैसे ही बाथरूम का दरवाजा ओपन किया तो मेरा तो मुँह खुला के खुला ही रह गया. वो लंड ऐसे चूस रही थी, जैसे पता नहीं वो कितने सालों से लंड की प्यासी हो.

सील पैक वाला बीएफउसने अपना सारा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और मैं बेड पर जैसे पसरती चली गयी. श्वेता ने पूछा- फिर से इतना दर्द क्यों हुआ?मैंने बताया कि मैंने कंडोम निकाल दिया है.

मराठी पिक्चर सेक्सी मराठी पिक्चर सेक्सी

फिर वो थोड़ा ऊपर हो गईं, तो मैंने अपना सिर उनकी छाती पर रख लिया और उनकी नाइटी को खोलकर चूची निकाल कर चूसने लगा. वो झट से मेरे लंड के ऊपर चढ़ गई और अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चुत पर सैट करने लगीं. शाम को गीता को पता चला कि मीता को दवाखाने में काम मिल गया है, तो वो बहुत खुश हुई.

वो झट से मेरे लंड से उतर कर नीचे बैठ गई और उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया. वैसे मेरे पास भगवान का दिया हुआ सब कुछ है … मगर फिर भी जिंदगी खाली खाली लगती है. दोस्तो, अब आगे की कहानी छोटी छोटी होगी … और वो किस्सा भी लिखूंगा, जब हम कुछ नया सेक्स अनुभव करेंगे … या कोई खास पल होगा.

मैंने भाभी का साथ देते हुए अपने लंड को चुत के छेद में में लगाकर एक नीचे से एक जोर का झटका दे दिया. लगभग 10 घंटे के सफर में हम पूरे सफर के दौरान चूमा चाटी करते रहे और मेरे लंड का बुरा हाल हो गया. रिया- थैंक यू भैया।मैं- मुझे भी प्यार हो गया है तुझसे ये फोटो देख कर… हा हा हा!रिया- हप गंदे!मैं- मैंने तेरी सुहागरात वाली सभी फोटो भी देख ली हैं.

लंड चुसवाते हुए मैं भी हवा में उड़ने लगा और उसके बालों को पकड़ कर मुंह में लंड घुसाते हुए उसके मुंह को चोदने लगा. जिस समय मैंने लंड उसकी गांड में घुसेड़ा था, उसकी गांड फटने लगी थी और उसकी मादक लेकिन दर्द भरी मीठी आवाजें निकलने लगी थीं.

वहां थोड़ी रोशनी थी और मैंने देखा कि मॉम का बदन कई जगह से कीचड़ में सन गया था.

यूं तो अन्तर्वासना पर मेरी पचास से अधिक कहानियां उपलब्ध हैं पर इस साईट पर मेरी यह पहली कहानी है. लड़कियों की बीएफ चुदाईमैं हॉट चाची की चुत को फिर से चाटने लगा और अनवरी चाची की चुत के दाने को मैं अपने होंठों से पकड़ कर खींचते हुए खूब ज़ोर ज़ोर से चूस रहा था. हिंदी बीएफ फिल्म हिंदी में बीएफ फिल्ममैं समझ गया था कि मैं अब अपनी बहन मोनिषा को रोजाना ऐसे ही चोद सकता हूं. उन्होंने इतना बोलते ही मेरी टांगों को फैलाया और झट से मेरी गांड के छेद में उंगली डाल कर मुझे पेलने लगीं.

उसका लंड ऊपर से देखने में बड़ा लग रहा था, जो कि उसके छोटे से बॉक्सर में ठीक से एडजस्ट नहीं हो रहा था.

आपको भाभी की कुंवारी बहन संग सुहागरात की कहानी कैसी लग रही है इसके बारे में अपने कमेंट्स जरूर दें. दोस्तो, मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा था कि मुझे एक साथ इतनी सारी चूत चोदने का मौका मिलेगा. पारिज़ा मदहोश होकर सीत्कार कर रही थी और मैं उन दोनों की चुदाई देख रहा था.

उसने मुझे दरवाजे के बाहर से ही आवाज दी और मुझे ब्लाउज पकड़ा कर बाहर से ही चला गया. मेरे हस्बेंड दूर बैठे यह सब देख रहे थे। फिर वह मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा और नीचे उसका लंड मेरी चूत में अंदर बाहर हो रहा था. मैं केवल फ्रेंची में रह गया था अब।उसकी चूचियां देख कर मुझसे रुका नहीं गया और मैंने झट से उसकी ब्रा को खोल कर उसकी चूचियों को नंगी कर लिया और दोनों हाथों में एक एक चूचा थाम लिया.

सेक्सी हिंदी नंगी फिल्में

मम्मी ने सारा काम खत्म किया और नहाने के लिए कपड़े निकाल कर बेड पर रख दिए. आपके मेल मिलने के बाद ही मैं इस गर्म चूत की देसी चुदाई कहानी के अगले दौर को लिखूंगी. मैं- जी … आपने रुकने दिया उसके लिए धन्यवाद … लेकिन क्षमा कीजिए क्या मैं जान सकता हूँ कि आपका शुभ नाम क्या है?उसने कहा- आप नीचे गर्दन झुका कर क्यों बात कर रहे हो? वैसे मेरा नाम रुखसाना है, गर्दन उठाइए.

मैंने सुनयना भाभी के चेहरे को हाथों में पकड़ा और अपने होंठों को भाभी के नरम रसीले लाल होंठों पर हल्के से रख दिए.

मेरे जगह पूछने पर उसने कठुआ बताया जो कि मेरी वाली जगह से 100 किलोमीटर की दूरी पर था.

तो मुझे समझ आ गया था कि पापा का लंड अब चुत को शांत करने में नाकाम हो चुका है इसीलिए मम्मी उनको मना करने लगी हैं. उसकी मतवाली चाल देख कर ऐसा लगता है, जैसे उसका यौवन शिखर पर पहुंच चुका है. मेरी बीएफवो अभी भी ऐसा ड्रामा कर रही थी, जैसे वो गहरी नींद में हो और नींद में ही मेरे लंड को चूस रही हो.

सुरेश तो करवट लेकर सो गया और सुमन अपने पांव पटकती रही क्योंकि उसकी चुत में आग लग रही थी. सुमन- वो दरअसल बात ये है कि जा हम दोनों बस में आ रहे थे, तो यहां के रास्ते बहुत खराब थे. मालिनी तो जैसे सालों की प्यासी लग रही थी और इस बार जैसे ही मैंने कुछ देर उसकी चूत में जोर जोर से झटके लगाये वो फिर से झड़ने की कगार पर पहुंच गई.

जैसे ही वो शांत हुई, मैंने पूछा- बेटू मजा आया?वो बोली- हां भैया … आप वादा करो सारी उम्र मुझे ऐसे ही प्यार करोगे. उनके जाते ही मैंने मोनिषा से एक कप चाय के लिए कहा, तो मोनिषा उठकर मेरे लिए चाय बनाने चली गई.

अब मुझसे सहन नहीं हुआ और मेरे मुँह से एक चीख निकल गयी- उई मम्मी मर गई … मेरी चुत फट गई … आह मम्मी मर गई रे!उसने मेरी तरफ देख कर कहा- क्या हुआ भाभी मरवाओगी क्या … आवाज बंद करो.

इतना बोल कर वो मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बेड पर ले गयी और अपनी ब्रा मेरे सामने खोल कर एक तरफ रख दी. मुखिया- बस सुमन रानी अब हाथों से ही इसको सहलाती रहोगी या चूस कर अपनी चुत में भी लोगी. मैंने उनके कूल्हों को पकड़ा और गीली हुई चूत में एक ही झटके में लौड़ा पूरा जड़ तक अन्दर घुसा दिया.

बीएफ फिल्म चलने वाली वीडियो फिर अगले दिन वो मुझ पर गुस्सा हो गयी और फिर बाद में मुझे मनाने के लिए मुझे जोर से किस कर लिया. वो थोड़ी सहज नहीं हो रही थी मगर फिर बाद में अच्छे से मेरा साथ देने लगी.

पापा हम दोनों से एक ही बात बोल पाए कि ज़िन्दगी में एक दूसरे का ख्याल रखना. मैं- फिर कब!दीदी- आज रात को तू अपनी छत से कूद कर मेरे ऊपर वाले कमरे में आ जाना. पायल भाभी ने अपने ब्लाउज का बटन लगाया और अपनी साड़ी ठीक करते पल्लू ऊपर ले लिया.

एक्स एक्स एक्स फिल्म सेक्सी फिल्म

पारिज़ा मेरे ऊपर गोद में उछलते हुए चुद रही थीं, जिससे उसके कातिलाना मम्मे बेहद तेजी से उछल रहे थे. बस मैंने अपना सारा लावा उनकी चुत में उड़ेल दिया और हांफते हुए उनके ऊपर ही ढेर हो गया. मैंने झटका देते हुए पूरा लंड चूत के अन्दर डाल दिया और संजू को किस करने लगा.

मैं दरवाजा खोल कर दूसरे कमरे में गया और पानी की बोतल लेकर वापस आ गया. सर फिर से मेरे जिस्म की तारीफ करने लगे और बोले- मैंने कभी इतने गौर से तुम्हें देखा ही नहीं था.

मैं बोला- मैडम हम हाजिर हैं, बोलिए क्या करना है?वो बोली- जो भी करना है कर लो.

मैं आपको बता दूं कि मेरे लंड का साइज़ लगभग 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. उसका आठ इंच का लंड फुंफकार मारता हुआ सुमन की आंखों के सामने लहरा रहा था. मैं उसके नाजुक होंठों का स्पर्श पाकर एकदम से सिसक गया और मेरी आंखें बंद हो गयी.

मुझे बहुत गन्दा लगा और मैंने भी गाली देते हुए कहा- साले, मुझे मालूम होता कि तू इतना सब करेगा, तो मैं आती ही नहीं. सबसे पहले मैंने उसकी गांड को सहलाया और पूछा कि कैसा लग रहा है?वो बोली- भैया मुझे पता होता कि इन दो छेदों से इतना मजा आएगा, तो आपसे कब की चुदवा चुकी होती. 109उसने मुझे घूर कर देखा फिर मुस्करा कर कहा- पहले फ्लोर पर बाएं से आखिरी.

मैंने उसकी टांगों को फैलाया और उसकी चूत में जीभ देकर जोर जोर से अंदर तक चाटने लगा.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ: मगर वो ये भूल गया कि इस वक़्त वो कहां है और इसकी बहन मीता भी बाहर बैठी है. वो सरपट मुझे पेले जा रहा था और मेरी सिसकारियां आह्ह … ऊह्ह … आई … आह्ह … ओह्हह … करके सारे घर में गूंजने लगीं.

वो मेरे लंड को पूरा मुंह में भर कर चूसने लगी और मैं उसकी चूत को काट काट कर जैसे खाने लगा. सुनयना भाभी ने इतना बोल कर मेरे गालों पर किस किया और बाथरूम में चली गईं. उसके बाद हम उनके आफिस में गये और एक बहुत ही मोटी फाईल उन्होंने मेरे सामने रखी.

बाल बिखरे हुए, होंठों पर लाइट लिपस्टिक, गले में मंगलसूत्र … जो उनके दोनों बूब्स के ऊपर तक आया था.

मुझे आपके मेल मिल रहे हैं … और मैं यथासंभव सभी को जबाव भी दे रहा हूँ. फिर कोई आधा घंटे बाद होली का हुड़दंग खत्म हुआ और मैंने नहा धोकर खुद को साफ़ किया. तभी शैतानी में भतीजे ने उनके कमरे का दरवाज़ा खोल दिया और भाभी रात के कपड़े बदल रही थीं.