मराठी सेक्सी ओपन बीएफ

छवि स्रोत,शेतकऱ्याची कविता

तस्वीर का शीर्षक ,

कैटरीना बीपी सेक्सी: मराठी सेक्सी ओपन बीएफ, हालांकि मैं मन ही मन खुश थी कि मेरी जोरदार चुदाई होगी आज!जीजू कहने लगे- अरे मेरी रानी, जो ये तुम्हारा गदराया बदन है … इसका स्वाद तो ले लेने दो.

वीडियो सेक्सी फिल्म चुदाई

उसके बाद हम तीनों को जब भी मौका मिलता तो हम तीनोंधकापेल चुदाई का मजाले लेते हैं. सेक्सी+वीडियो+मारवाड़ीवह अपने दोनों फैलाए हुए पैरों को घुटनों से मोड़ कर मेरे सर को अपनी चुत पर दबाने लगीं.

पता नहीं मुझे जीजू के अलावा किसी और का लंड मिलेगा या नहीं!मेरी डबल सेक्स की कहानी अच्छी लगी या नहीं … कमेंट करना भूलना मत ओर प्लीज गलत या गंदे कमेंट मत करना. सेक्सी फिल्म पहलीमैंने उसे पलंग पर पटका और लन्ड को तुरंत उसकी मखमली चूत में घुसा दिया.

सच बोलूं दोस्तो, उस समय तक तो उनकी चूचियों का स्पर्श पाकर ही मेरा लंड खड़ा हो चुका था, मैं उसी समय उनकी सवारी करने के मूड में था.मराठी सेक्सी ओपन बीएफ: अब जब भी उसका या मेरा मन होता है, तो हम दोनों उसी फ्लैट पर मिल लेते हैं और एक दूसरे को प्यार कर लेते हैं.

अब्बू ने लंड पेलते हुए बोला- चुप रंडी छिनाल … तेरी मां का भोसड़ा मादरचोदी … आज तुमको फहीम भी पेलेगा … आह तुम्हारी मां का चोदूं … साली तुम बहुत बोलती हो … आज तुम रात भर चुदोगी.आजकल के जैसी डिज़ाइनर ब्रा तो नहीं थी, पर उसकी चूचियां उसमें उभर कर दिख रही थीं.

औरत की चुदाई कहानी - मराठी सेक्सी ओपन बीएफ

समता को प्रचार के लिए विकास के साथ घूमना था और भी महिला साथी उसके साथ थीं.मेरा मन कर रहा था कि बस भाभी के मम्मों को भी अभी पकड़ लूं और मुँह में दबा कर पी जाऊं.

उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ा और ऊपर नीचे करने लगे. मराठी सेक्सी ओपन बीएफ मैंने देखा कि वो जगह तो सही थी लेकिन मैं अपनी बहन की चुदाई कैसे देखता.

मेरी पिछली चुदाई वाली कहानीराजनीति में सेक्स से मिली सफलताको आप सभी की ओर से बहुत अच्छा प्रतिसाद मिला था.

मराठी सेक्सी ओपन बीएफ?

उसके बारे में थोड़ी देर पहले मुझे प्यार आ रहा था, उसी के मुँह में अब मुझे अपना लंड अन्दर तक डालने की इच्छा हो रही थी. उन्होंने मुझे बताया कि ये मेरा पहला प्यार है, जिसको मैं अभी भी प्यार करती हूं. मैंने जीजू को धकेल दिया और कहा- ये सब ठीक नहीं है, मैं दीदी को कहूंगी जीजू, आप ये सब क्या कर रहे हैं.

मीना ने अकबका कर मुँह हटा लिया- क्या करता है आशु … पूरा मुँह में घुसाएगा क्या!मैं- अरे मैंने जानबूझ कर थोड़े किया, वो तो अपने आप मेरे चूतड़ उछल गए. मैं- अभी कैसा लगा?मीना- बहुत अच्छा … तेरे हाथों में तो जादू है … और तेरा ‘वो …’ तो बहुत मस्त है, गर्म भी भी बहुत था. अन्तर्वासना की सेक्स कहानी और पोर्न फिल्म देखकर मुझे सेक्स करने के बारे में काफी ज्ञान हासिल हो चुका था.

मेरी ओर देखते हुए आंटी ने कहा- अभी नहीं!मैं निराश हो गया और मुँह लटका लिया. अब मैं उससे रोज पढ़ाने लगा और इसी बहाने मैं उसको छूने लगा।कभी-कभी उसकी उभरी हुई गांड पर हाथ फेर देता था. एक बार फिर से लंड को अपने मुँह में लेकर भाभी ने लंड साफ कर दिया और मुझे चूमने लगीं.

मेरी बहन उन्हें बता रही थी कि उसने तो शादी में आते ही मन बना लिया था कि तुम तीनों से अपनी चूत चुदाई का मजा लूंगी. और हमारे दीवार के ऊपर छत की तरफ एक छोटा सा रोशनदान या वेंटिलेशन है जिससे गर्ल्स टॉयलेट से बॉयज टॉयलेट में और बॉयज टॉयलेट से गर्ल्स टॉयलेट में देख सकते हैं।मैंने अभिषेक से बोला- शायद कोई टीचर होंगी.

यह हॉट लेडी Xxx कहानी उस वक्त मार्च 2020 में शुरू हुई थी, जब कोरोना का डर शुरू हुआ था.

इसके अलावा मुझे ऐसी सेक्स कहानियां भी पसंद हैं, जो अनजान लोगों के मिलने से चुदाई तक बात पहुंच जाती है.

उसने बातों ही बातों में मुझसे कहा कि मेरा पहला ब्वॉयफ्रेंड जब अपना लंड मेरे हाथ में देता था तो उसकी नसें उभरी हुई दिखती थीं. वो खुद मेरे ऊपर आ गया, उसने मेरी टांगें ऊपर की … और अपना लंड मेरी चुत पर रख दिया. देसी गर्लफ्रेंड Xxx कहानी मेरी कोचिंग में पढ़ने वाली एक रसीली लड़की की है.

उस समय मेरे पास फोन था, जिसे चार्ज करने के लिए मैं भाभी के घर लगा आता था. अब उसकी चूत से फच फच की आवाज आने लगी, मैं समझ गया कि प्रीति फिर से झड़ गयी है. मैं भी कहां रुकने वाला था … मैंने फिर से शॉट पे शॉट लगाना शुरू कर दिए.

तो हमने अगले दिन ड्रिंक और डिनर करने का प्लान बनाया।मैंने शराब के साथ कवाब की व्यस्था करने को कहा, सुमन मान गई।मैंने मजाक में बोल दिया- शराब, कवाब के बाद शवाब मिल जाए तो मजा आ जाए।सुमन कुछ नहीं बोली.

मैंने उनकी पैंटी अपनी पैंट की जेब में डाल ली और नाश्ता करने चला गया. फिर कुछ मिनट बाद हम दोनों 69 की पोजीशन से वापस सीधे हुए और मैं जोया को किस किया. उनके होंठ मेरे होंठों को इस कदर जकड़े हुए थे कि मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरे होंठों को एक गर्म प्लास से जकड़ लिया गया हो.

मुझे यह जान कर हैरानी नहीं हुई, क्योंकि मेरे फैमिली में सब कोई फ्रैंक हैं. सनी एक हाथ नीचे लाते हुए उसकी चूत को सहलाने लगा जिससे ऋतु को अब अच्छा लगने लगा था. भाभी के रसीले निप्पलों को मैं कभी कभी अपने दांतों से पकड़ कर काट देता, कभी जीभ से निप्पल के साथ खेलने लगता.

मैंने ड्रामा किया और कहा- जीजू मैं आपके पैर पड़ती हूँ, प्लीज़ ऐसा मत कीजिए.

अब समय बर्बाद न करते हुए कहानी के अहम हिस्से की ओर बढ़ते है।तो उस दिन मासी का मैं ही ख्याल रख रहा था. क्योंकि कल रात में मैं इतनी बड़ी गलती कर चुकी हूँ, तो अब एक बार ये गलती फिर सही.

मराठी सेक्सी ओपन बीएफ उसे और मुझे पता था अगर उसके पापा उठ भी गए और बाथरूम की तरफ आ गए, तो आकांक्षा उनको खुद अन्दर होने की बता कर उन्हें दूसरे वाले बाथरूम में भेज देगी. दो दिन उनका कोई रिप्लाई नहीं आया तो मैं भी डर गया कि कहीं भाभी को बुरा न लग गया हो.

मराठी सेक्सी ओपन बीएफ वो कभी प्रीति के स्तनों के साथ खेलने लगतीं, तो कभी प्रीति को किस करने लगतीं. अभी मेरा लंड आधा ही अंदर गया था!मैंने अपनी गांड को दीदी के बुर के ऊपर दबाना चालू रखा जिससे धीरे-धीरे मेरा पूरा लंड दीदी के बुर के अंदर जा चुका था.

हॉट गर्ल एनल फकिंग स्टोरी मेरी कम्पनी के मैनेज़र की दो बेटियों की चुदाई की है.

जानवर सेक्सी कुत्ता

नमस्कार दोस्तो, मैं विकी एक बार फिर से इस कामुक कहानी की दुनिया में आपका स्वागत करता हूं. मैंने देर ना करते हुए एक और जोरदार धक्का मारा जिससे मेरा आधा लंड उस कोमल सी चूत में घुस गया. मेरी ही तरह मेरी तीन और सहेलियाँ हैं, बरखा, गुलज़ार और तान्या!ये तीनों बुर चोदी चोदने और चुदाने में बड़ी एक्सपर्ट हैं।लड़कों में रोहित, गोपी, विकी, अंकित, संजू और नीरज हैं।ये सब हमारे पक्के बॉय फ्रेंड्स हैं।बस कमी इस बात की है कि न हमने कभी इन्हें नंगा देखा और न इन लोगों ने कभी हमको नंगी देखा।आज मौक़ा है सबको नंगा और नंगी देखने का.

मैंने कहा- जल्दी करो, अपने लंड पर निरोध लगाओ और जल्दी से चुदाई करके अपने कमरे में जाओ. मैंने उसको पेट के बल पलट दिया और उसके चूतड़ों पर बैठ कर कमर से दोनों हाथ डाल कर उसकी चूचियों को दबाने लगा; साथ में उस पर झुक कर उसकी गर्दन को चूमने लगा. वो बोली- मामूजान, तुम मुझे मार के ही दम लोगे क्या?मगर मामू जान फिरोज तो बस अपने काम में लगा हुआ था.

दीपक मेरे गोरे नितम्बों के बीच में से दिख रहे बादामी रंग के गांड के छेद को उंगली और जीभ से चाट रहा था.

फिर उन दोनों का सर अपनी मजबूत बांहों से मैंने अपने स्तनों पर दबा दिया. ऋतु तड़पती हुई कराही- आंह प्लीज़ घुसा दो ना सनी … देखो कैसे तड़प रही है. ऋतु के जोर जोर से सांस लेने के कारण उसकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं.

ननहीं … आह्ह मर गई आहह … मम्मी बहुत दर्द हो रहा है … उफ्फ्फ मीना दी बचा लो मुझे. उनके मस्त मम्मों को देखकर तो मेरे अन्दर वासना की लहर ही दौड़ गयी और मेरा लंड मेरी पैंट में सलामी देने लगा. उन्होंने चूतड़ सहलाते हुए कहा- बेटा थोड़ा दर्द बर्दाश्त करो, आसानी से घुस जाएगा और अपनी गांड ढीली किए रहो.

वहां जाने पर एक होटल में इन महिलाओं के रुकने का प्रबंध किया गया था. ये कह कर जीजू मेरे पीछे आ गए और मेरे कान में बोले- अब तक कितने लौड़ों से चुद चुकी हो?मैंने उनको बताया- जीजू, मैंने सिर्फ अपने ब्वॉयफ्रेंड से ही सेक्स किया है या आपने अपने दोस्त के साथ मुझे चोदा था.

भाभी ने अचानक से मुझे आया देख कर फोन छुपा लिया और बोलने लगीं- अरे तुम कब आए?मैंने कहा- मैं तो कब का आ गया था भाभी. मैं अपनी उत्सुकता ससुर जी पर जाहिर नहीं होने देना चाहती थी।मेरी चूत में खुजली तो थी लेकिन मैं चाहती थी कि ससुर जी ही शुरूआत करें।मैं खुद खुलना नहीं चाहती थी।एक बार फिर वे बोले- अञ्जलि, कुछ चाहिये तो बता दो।मैंने जवाब नहीं दिया. मैंने अपने हाथ को उसके कुर्ते के अंदर डाल दिया और उसकी नंगी कमर पर चलाने लगा और दबाने लगा.

अंजू- नहीं पूछ सकती न, तुम बता दो ना कि उसे क्या हुआ है?मैं- मुझे नहीं पता.

और अगर गलती से अगर मैं किसी के सामने झुक गयी तो मेरी गांड और चूत का दिखना तो बिल्कुल तय था. चिपका हुआ गाउन था तो आंटी के जिस्म का एक एक कटाव साफ़ नुमायां हो रहा था और मेरे लंड में आग सी लग रही थी. यह काल्पनिक सेक्स कथा हिन्दी में लिख रही हूँ मैं … मैंने कैसे अपने पुराने क्लासमेट को अपने साथ फ़्लैट में रखा और एक रात उसके साथ वासना में बह गयी.

मुझे उसकी बात पर भरोसा नहीं हो रहा था मगर उसकी बात बाद में सही निकली थी. करीब एक घंटे के बाद मैंने महसूस किया मेरे मम्मों पर दीपक अपने हाथ फिरा रहा था और हल्के हल्के से मेरे दूध दबा रहा था, उन्हें मसला रहा था.

देसी दीदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि दीदी के फोन में सेक्स चैट देखकर मैंने उसका फायदा दीदी से सेक्स का मजा लेने में किया. मैंने उससे कहा- मोनाली, क्यों ना मैं तुमको रंडी बना दूँ … क्या तुम मेरी रंडी बनोगी?मेरी बीवी को लगा कि मैं सेक्स में मजाक कर रहा हूं. भाई मोबाइल पर पोर्न देखते थे तो मैं अन्तर्वासना की सेक्स कहानियाँ पढ़ती थी.

कार्टून सेक्सी कार्टून सेक्स

मेरे परिवार में मेरे अलावा मेरे मम्मी पापा, दो बहनें और दादा जी रहते हैं.

इस बीच सरपंच जी ने भी मीना के पापा से बात करके उनको हम दोनों के लिए परेशान नहीं होने को बोला. दोनों की पहली चुदाई संपन्न हो चुकी थी, मामा भानजी दोनों शांत हो चुके थे।थोड़ी देर बाद मामा अपनी भांजी के नंगे जिस्म से अलग हुआ और उसकी आंखों में देखने लगा. अब भाभी अपने आपे से बाहर हो गई थीं, उन्होंने मेरा लंड मुँह में ले लिया.

इतनी देर में सब घर जाने की आवाज देने लगे तो हम दोनों भी एक एक करके बाहर आ गए. ज्योति ने मुझे भी अपने कमरे में बुलाया और बोली- मुझे कोई काम नहीं था … पर मैं यह चाहती थी कि मेरी बेटी भी अपना घर संसार बसाए. मर्डर फिल्म का सेक्सी वीडियोमैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए और वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में रह गई थी.

फिर मैंने इक्शाना को बेड पर ही घोड़ी बना दिया और उसकी चूत से बहते पानी को चाटने लगा. अब आगे पढ़ें मैन टू मैन सेक्स कहानी:मजबूरी में न चाहते हुए भी मुझे चचा की बात मानना पड़ी.

मैं- तुमने भी तो सह लिया था ना … तुमको तो कुछ नहीं हुआ था!मीना- अरे यार तेरा वो लेने के लिए मैं उससे काफी बड़ी हूँ. अब तक बहुत समय मेरे लौड़े ने बगैर चुत के निकाला था तो आज की रात मेरे जीवन में फिर से उजाला लेकर आने वाली थी. विकी और अनिकेत पहले भी बहुत सी औरतों के साथ एक साथ चुदाई कर चुके हैं … वो ऐसा अब भी करते हैं.

हमारे दिल को बहुत शांति मिली।हम दोनों ने फिर से एक बार फिर सुहागरात मनाने का फ़ैसला किया. मैंने नाड़ा खोला और अपना लंड दीदी की चुत में डाला तो मेरा लंड आराम से अन्दर चला गया. बीच बीच में मेरी गर्दन को चचा अपने दांतों से हल्का सा काट लेते तो मेरे पूरे शरीर में सिरहन सी पैदा हो जाती.

मैंने थोड़ा इंतज़ार किया, फिर उसके चूतड़ पकड़ कर उसे अपने सीने से चिपका लिया, उसकी गर्दन पर अपने होंठ रख दिए.

दो तीन दिन बाद मुझे फिर से शैंकी के लंड की जरूरत महसूस होने लगी थी. भाभी हंस कर बोलीं- अच्छा … तुम्हें मुझमें ऐसा क्या ख़ास लगा?मैं कहा कि आपके बूब्स बहुत बड़े और एकदम गोल हैं, आपकी गांड तो और भी भारी है.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागदूसरी कुंवारी चूत चोदने की तैयारीमें आपने अब तक पढ़ लिया था कि मैं मंजू को नंगी करके सिर्फ एक पैंटी में ला चुका था. उसने मेरी गीली पड़ी चुत की फांकों में लंड का सुपारा घिसा और मेरी आंखों में देखते हुए अपना लंड एक झटके से चुत में घुसा दिया. दीदी प्याज़, मसाला, सब सामान लेकर चल दीं, कुछ सामान मेरे हाथ में भी था, नहीं तो दीदी की गांड में मैं उंगली करने की सोच रहा था.

जैसे ही मैंने मुंह खोला, उसने चुत को मेरे मुंह में लगा अपना पानी छोड़ने लगी जिससे मेरा मुंह भर गया।मैं सुमन का सारा माल पी गया।अब सुमन बेसुध होकर सो गई, उसका काम हो गया था।20 मिनट आराम करने के बाद सुमन उठ कर मेरे लन्ड को मुंह में ले कर चूसने लगी, मेरा लन्ड खड़ा किया।मैंने सुमन को अपनी जींस से कॉन्डम निकाल कर दिया. उसने पानी से कुल्ला किया और मेरे बगल में आकर लेट गई और अपनी बातें सुनाने लगी. मेरी नंगी बहन बोली- भैया अब मत तड़पाओ … जल्दी से अपना लौड़ा मेरी चूत में डाल दो, नहीं तो मैं मर जाऊंगी।मैं बोला- जल्दी क्या है पिंकू … अबसे तो हम हर रोज चुदाई करेंगे.

मराठी सेक्सी ओपन बीएफ अब मैंने सांस खींच कर अपने चूतड़ पीछे किए और मीना के कन्धों को पकड़ कर एक जोरदार शॉट लगा दिया. मैंने भी उनका पीछा किया और हिम्मत दिखा कर उस घर के बाहर तक चला गया.

भोजपुरी सेक्सी photo.com

मैं उनकी चूत में लंड डाल रहा था, वो जोर से चिल्ला उठी, उन्हें दर्द हो रहा था. कसम से दोस्तो, चुत में उंगली लेते ही वो जो उछली न … मेरी आधी उंगली चुत में घुस गई. ‘पट पट पट पट …’उसी के साथ मंजू की आवाजें संगीत को मदमस्त कर रही थीं.

राजेश अंकल बोल रहे थे- आंह बबीता … तेरी गांड मार मार कर लाल कर दूँगा. वो मुझे खुद से दूर करना चाहती थी … लेकिन मैंने उसे पकड़े रखा और दस बारह शॉट मार दिए. सेक्सी वीडियो लड़कों वालीरूम में जाते ही मैंने आंटी को अन्दर लिया और दरवाजा बंद करके जोर से गले से लगा लिया.

उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ा और ऊपर नीचे करने लगे.

मैं जल्दी से बाथरूम में गया और मामी की चुदाई याद करके मुठ मारने लगा. अब दादाजी ने मम्मी के पेटीकोट को खींचा और उसे मम्मी के बदन से अलग कर दिया.

मुझे पता है तुम और अधिक चाहती हो, लेकिन आज तुम इंचार्ज नहीं हो। आज की रात मेरी मर्जी चलेगी मैं जैसा बोलूंगा वैसा ही तुम्हें करना है।”जो आज्ञा मालिक जैसा आप चाहें. एक दिन मैंने सोचा कि मैं आज कुछ ऐसा करता हूँ, जिससे भाभी से रहा ही न जाए. उसने कमरे का दरवाजा बजाया और आवाज देकर बोली- भैया, मॉम ने आपको खाने के लिए बुलाया है.

नहीं तो बुआ!मेरे इतना कहते ही बुआ मेरे करीब आ गईं और उन्होंने अपनी एक हथेली से मेरी जांघ को दबा दिया.

मामी के साथ गर्म सेक्स किचन में किया मैंने! वो रसोई में काम कर रही थी. आंटी कुछ बोलती … इससे पहले मैंने आंटी को बोला- आंटी मुझे माफ कर दीजिए. लेकिन मेरा वादा है कि अगली हक़ीक़त में मैं आपको वो बातें खुल कर बताऊंगी, जो आप सुनना चाहते हैं और अहसास करना चाहते हैं.

गंदी गंदी फिल्मपहले मैंने उससे पूछा- आपके पति तो विदेश में हैं … तो आप किसी और के साथ अपनी जरूरत पूरी करती हैं?आंटी- नहीं यार … मैंने आज तक अपने पति के अलावा किसी से सम्बन्ध नहीं बनाया. दादी बाहर की तरफ गईं तो मैं जल्दी से दूसरे रास्ते से भाग कर नल की तरफ आ गया.

चूत की सेक्सी मूवी

‘आह मामी थैंक्यू मामी आह आह … इतने मजे देने के लिए थैंक्यू … आह आह्ह आह्हम्म. हम सबने हां बोला और फिर हम चारों ने दोबारा वही खेल खेला और एक दूसरे को खूब मजा दिया. करीब एक घंटे के बाद मैंने महसूस किया मेरे मम्मों पर दीपक अपने हाथ फिरा रहा था और हल्के हल्के से मेरे दूध दबा रहा था, उन्हें मसला रहा था.

सनी उसकी चूची मुँह में भर कर चूसने लगा, जिससे ऋतु को कुछ आराम मिला. मैंने कहा- जल्दी करो, अपने लंड पर निरोध लगाओ और जल्दी से चुदाई करके अपने कमरे में जाओ. जैसे बुआ भतीजा हो लेकिन उनकी उम्र लगभग एक जैसी हो तो पढ़ने में ज्यादा मजा आता है.

मैंने जब पीछे मुड़कर देखा तो मुझे यकीन नहीं हुआ कि वह आंटी थी जिन्होंने मेरे कंधे पर हाथ रखा था. इससे बहेन की सांसें तेज हो गईं और उसने मेरे लंड को तेज़ी से मसलना शुरू कर दिया. इन लोगों को सेक्स करने के पैसे मिलते हैं।मैं- हां आंटी मुझे पता है।आंटी- जब लड़का और लड़की दोनों सेक्स के लिए राजी हो सेक्स तभी करना चाहिए.

काफ़ी देर तक लंड देखने के बाद उसने मुझे जगाने के लिए आवाज़ दी लेकिन मैं टस से मस भी नहीं हुआ. उस समय एक अलग किस्म का दर्द मुझे महसूस हुआ, लेकिन लंड जल्दी निकाल लेने के करण मैं उस दर्द को सहन कर गई.

थोड़ी देर में मीना के होश ठिकाने आए तो मैंने उसको अपने लंड पर उसका हाथ रखवा कर उसको आगे पीछे करना बताया.

मैंने कहा- तुझे भी आवाज निकलवानी हो तो अन्दर आ जा!आंटी हंस दीं और बोलीं- हां साली इसी लिए आई है. सेक्सी ब्लू फिल्म बिहार कामैं अपनी जीभ उसके चूत के चारों तरफ जोर-जोर से घुमा रहा था और अपनी ज़ीभ और होठों से उसकी चूत को निचोड़ कर चूस रहा था. एक्सएक्सएनएनमैं- हां जान … रुक थोड़ी देर और गांड का पूरा मज़ा ले लेने दो … आह्ह … उसके बाद आपकी चूत को भी शान्त कर दूँगा. अंकल ने मम्मी की ब्रा उतार दी और दोनों मम्मों को जोर जोर से मसलने और पीने लगे.

पहले मेरी चूचियां इसलिए टाईट थीं क्योंकि उन दिनों मेरे अन्दर काफ़ी आग लगी रहती थी और मेरे कुछ आशिक़ थे जो मेरी चूचियों को खूब दबाकर चूसकर मुझे चोदते थे.

मैं चला गया लेकिन मैं कोई दवा नहीं लाया और मैंने वापस आकर उनको बताया कि एक बंदे ने देसी नुस्खा बताया है. वहां पर बॉस के भैया हरदीप सिंह, 42 साल और उनकी पत्नी मोना करीब 35 साल ने मेरा स्वागत किया. इतनी देर में सब घर जाने की आवाज देने लगे तो हम दोनों भी एक एक करके बाहर आ गए.

” ये कहती हुई ज्योति घुटनों के बल बैठ गई और उसने मेरा पूरा लंड अपने मुँह में भर लिया. तब मैंने दोनों के साथ ही मजा लिया, पर उन दोनों की जानकारी में आए बिना. मीना ने जोर से सिसकारी ली- आअहह … अहह उफ्फ!मैंने एक हाथ से अपनी ज़िप खोल कर लंड बाहर निकाला और उसका हाथ पकड़ कर लंड पर रख दिया.

राजस्थानी देशी सेक्सी वीडियो

आह आह आहह आह आज मैं बहुत खुश हूँ मेरे राजा … मुझे रगड़ दो … आह फाड़ दो मेरी चुत को … आंह … आज मुझे पहली बार किसी मर्द से पाला पड़ा है. फिर जब मैंने उसे समझाया कि मैंने ही मीना से याचना की है कि मुझे तुमसे मिलाने में मदद करे. अब आगे भाई ने सेक्सी बहन की गांड मारी:फिर मुझे अपने ऊपर बिठाते हुए कहा- आहिस्ता से लंड को चूत में लेते हुए बैठो!जैसे ही मैं बैठी लंड पर … फच से पूरा लंड मेरे चूत में घुस गया।एक मीठा सा दर्द हुआ और मेरी आँखें बड़ी हो गयीं.

मैं समझ जाता था कि ये इसलिए ऐसा कह रहे हैं कि टेंशन फ्री होकर चुदाई करें.

आज हम दोनों हवस के नशे में खो गए थे … इसलिए आवाजों की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया.

जैसे ही सनी ने उसकी चूत पर जीभ फिराई, वो मस्ती से तड़प उठी और अपनी खुद चूची को मुँह में भर कर चूसने की कोशिश करने लगी. वो बोला- ठीक है, कल से जब भी हम गाय को चराने लेकर जाएंगे, तब यही बात करेंगे. সেক্স স্টোরি ইন বাঙ্গালীउनकी जवानी और मेरी जवानी ऐसे आ टकराई, जैसे किसी प्यासे को कुआं मिल गया हो.

जानबूझकर मैं अपना हाथ दीदी के टीशर्ट पर लगा रहा था और कभी-कभी उनके पजामे पर भी हाथ लगा दे रहा था. भाभी को चूत और गांड काफी समय से लंड नहीं मिला था तो उन्होंने झट से हां कर दी थी. पूरी ताक़त से उसने मेरी गांड मारी तो मैंने भी उसे मजा चखाने के लिए अपने दोनों चूतड़ कस लिए.

मैं- आह्ह … आह उहह … कसम से आह्ह … क्या गांड हिला कर चुद रही हो जान … ले रानी लंड ले … मुझे भी मज़ा आ रहा है. पिछले भागरात को छत पर दीदी ने लंड चूसामें अब तक मैंने दीदी को स्कूटी सिखाने के बहाने ले जाकर एक जगह स्कूटी पर ही दीदी को चोद दिया था.

अब पिंकू के बड़े बड़े बूब्स मझे नजर आ रहे थे, मन तो कर रहा था इन्हें तभी निचोड़ कर पी जाऊं.

उसके बाद एक हफ्ते तक हम लोग गांव में रहे और रोज हम दोनों ने उस लड़के की गांड मारी और जमकर मजा किया. भाभी ने अचानक से मुझे आया देख कर फोन छुपा लिया और बोलने लगीं- अरे तुम कब आए?मैंने कहा- मैं तो कब का आ गया था भाभी. कुल मिला कर हम तीनों की लाइफ के ये करीब 18 महीने बहुत मस्त और कामुक थे.

पंजाबी+सेक्सी [emailprotected]मेरी सेक्सी हिन्दी कहानियाँ … अगला भाग:जीजू और उनके दोस्त के साथ सैंडविच चुदाई- 2. जब पापा मम्मी को लगा कि मैं सो गया, तो वो धीमी आवाज में बात करने लगे.

वो मेरी बात सुनकर मुस्कुरा दीं और बोलीं- प्लीज प्लीज … बस मैं नहा लूं. मेरी दीदी अक्सर अपने बालों को खुला ही रखती हैं क्योंकि उनके बाल बहुत ज्यादा सिल्की हैं जो देखने में काफी अच्छे लगते हैं. अब उनकी आंखें अब बन्द होने लगी थीं, मैं समझ गया कि वो झड़ने वाले हैं.

तापसी पन्नू की सेक्सी फोटो

चीटिंग मॉम सेक्स कहानी मेरे पापा के दोस्त से मेरी मम्मी की चुदाई की है जिसे मैंने खुद अपनी आँखों से देखा. उन्होंने मुझे पेट के बल लिटाया और मैंने अपनी गांड हाथ से फैला दी।वो मेरी गांड में अपना लंड डालकर लेट गये।उनका वजन काफी ज्यादा था तो मैं हिल-डुल नहीं पा रहा था।वो पूरी गति से चोद रहे थे. बॉस सेक्स कहानी एक भाभी की चुदाई की है जो मुझ एक मॉल में मिली और उसने मुझे जॉब दी.

पर उतना पानी उसकी चूत से नहीं निकला, जितना मंजू की चूत से निकला था. ‘ऊउम्म उम्म्म्म …’हम दोनों दस मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे को चूसते रहे.

सुबह जब धीरज ने मेरी चुत से लंड को बाहर निकाला तो पूरा निरोध माल से गुब्बारे की तरह फूला हुआ था.

वो मुझसे बोली- आज तुमने मेरी चुत की प्यास बुझा कर मुझे तृप्त कर दिया. मैंने सोचा कि मम्मी या दादी उठें, उससे पहले मैं दीदी को चोद देता हूं. रेणु की हालत खराब पहले से थी … मगर कमाल की बात ये थी कि उसने अपनी गांड मराने में ज़्यादा विरोध नहीं किया.

फिर नेहा की आवाज़ आई- मादरचोद कबीर मज़ा आ गया … आज दूसरी बार तेरा लंड लिया है, क्या कसके ठोकता है रे तू … आज वीर भी नहीं है. मैं भी उसके निप्पल को अपने होंठों से दबा कर चूस रहा था मगर वो अपनी पूरी चूची मेरे मुँह में डालने लगी. तुम मेरी ब्रा को देख कर मुट्ठ मारो, उससे अच्छा है तुम मेरे साथ जो करना चाहते हो, कर लो.

मैं अभी कुछ सोच पाता, तब तक तो भाभी ने मेरा लंड हिलाना शुरू कर दिया.

मराठी सेक्सी ओपन बीएफ: एक काम करो तुम खाना खा लेना!और मुझे कहा- राज प्लीज यार, क्षिति को घर तक छोड़ देना!इतना कहकर वह निकल गया. उसने अपनी दोनों टांगें हवा में उठा दीं और बड़बड़ाने लगी- हां यहीं पर पेल दो यश … आंह … बस अब अन्दर डाल दो.

कुछ देर बाद हम दोनों मिशनरी पोजीशन में आकर चुदाई करने लगे और झड़ गए. पापा ने कुछ पल बाद लड़के को नंगा कर दिया और उसका लंड पकड़ कर हिलाने लगे. दीपक तो कल से जा ही रहा है ना!मैंने कहा- हां ठीक है, पर ज़्यादा नहीं करना … लिमिट से करना और वो भी धीरे धीरे.

आज पहली बार मनोज का पानी (वीर्य) मैंने अपने मुँह में लिया था, तो मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था.

तभी मैंने इक्शाना के पास जाकर उसे पीछे से पकड़ लिया और उसके मोटे मोटे चूचों को पीछे से ही दबाने लगा. पर बहुत साल बाद समझ में आया कि मंजू मेरा इम्तिहान ले रही थी या चिढ़ा रही थी … या ये कह लो कि वो मेरे मज़े ले रही थी. मोना भाभी- चूतिए … दो साल से मैं चुदी नहीं हूँ और उस भड़वे हरदीप का लौड़ा तेरी तरह तगड़ा नहीं था.