मद्रासी बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,सेक्सी मारवाड़ी सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

गन्ने की खेत की सेक्सी: मद्रासी बीएफ दिखाओ, तो आपका समय ना बर्बाद करते हुए मैं सीधा अपनी हॉट देसी गर्लफ्रेंड चुदाई कहानी पर आता हूं.

ఇంగ్లీష్ సెక్స్

फिर जिनेलिया ने मुझसे पूछा- रईस, आप सिर्फ देखते ही हो या ऐसा कुछ किया भी है?मैंने कहा- अपनी जीएफ के साथ कुछ बार किया है. हिंदी में चोदा चोदी वीडियो सेक्सीउस रात हम सब थके हुए थे और रात के खाने के बाद हम सब सोने के लिए जगह खोजने की कोशिश कर रहे थे.

खाना खाने के बाद चाची ने अपने कपड़े पहन लिए, पर मैं अभी भी नंगा ही था. नई नई लड़कियों की सेक्सी वीडियोमैं तभी समझ गया कि ये भी चुदाई के लिए तड़प रही है, तभी उंगली डालकर अपनी प्यास बुझा रही है.

काफी देर तक उसके दोनों दूध चूसने चाटने के बाद मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत पर फेरा और उसकी पैंटी के अन्दर डाल दिया.मद्रासी बीएफ दिखाओ: ओके … एक मिनट, आती हूं!वो उस कमरे की तरफ मुड़ गयी जहां उसकी भतीजी भी एक पैग लगाकर टुन्न हो रही थी.

मैंने भी उनको अपने छिले हुए लंड की पिक भेजी और बोला- मेरा भी वही हाल है.मैं इतनी जोर से चूचे चूस रहा था कि तीन बार अन्दर तक चूची खींचने से साक्षी का दूध मेरे मुँह में पूरा भर जाता था.

मारुती आरती - मद्रासी बीएफ दिखाओ

दोस्तो, कैसे लगी मेरी कुकोल्ड वाइफ की चुदाई स्टोरी, प्लीज़ मुझे बताना.थोड़ी देर चाटने के बाद मैंने फिर से लंड को छेद पर सैट किया और इस बार अपनी पूरी ताक़त से एक ही धक्के में लंड को गांड में पूरा उतार दिया.

मुझे उसके साथ किस करने में बहुत मज़ा आ रहा था तो मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी. मद्रासी बीएफ दिखाओ मैंने कहा- कैसी हरकत?भैया हंस कर बोले- जैसी गाली दी, साला वैसी ही हरकत कर रहा था.

मैंने दोपहर में अपने बेडरूम को अच्छे से साफ किया, बिस्तर पर नई मखमली चादर बिछाई.

मद्रासी बीएफ दिखाओ?

वो बर्फ लेकर ऊपर आयी और रख कर वापिस जाने को मुड़ी तो लड़खडा़ती हुई कुर्सी पर बैठ गयी. कुछ पल बाद मैंने धीरे से वो कम्बल उसके पैर पर भी डाल दिया और उसने भी कुछ न कहते हुए कम्बल को अपने ऊपर ओढ़ लिया. इस बार वो भी शायद हल्की गर्म होने लगी थी और उसने कोई विरोध नहीं किया.

कुछ शराब की मस्ती और कुछ मेरे होंठों की हरकतों ने उसे ऐसा मस्त किया कि वो मेरा लंड मांगने लगी- बस करो ना, अब तो बस सिर्फ़ लंड ही चाहिए. कमाल की बात ये थी कि मेरा छोटा भाई बापू के बिस्तर के बाजू में ही टांगें फैलाए खर्राटे ले रहा था. मैं मॉम के ब्लाउज के सारे बटन खोलकर उनका ब्लाउज उतारने लगा लेकिन मुझे उनका ब्लाउज उतारने में काफी दिक्कत हो रही तो मैंने उनका ब्लाउज फाड़ कर उनके सेक्सी जिस्म से अलग कर दिया.

अगले दिन सुबह फिर से चाची ने मुझसे कहा- राकेश साथ चलो, आज खेत में जाना है. अपने मन की कर ही ली तूने!मैंने हंस कर कहा- अबे यार मजा आ रहा है, तो थैंक्स बोल न. लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और जोर से एक झटका उसकी गांड में दे मारा.

मैं- तुम्हारा छेद एकदम मस्त है मेरी जान, बहुत मज़ा आ रहा है तुम्हें कुतिया बना कर चोदने में. मैंने पूरा लंड कोमल की फुद्दी के अन्दर डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा.

भैया ने अपने एक हाथ को मेरे कंधे पर रखा और दूसरे हाथ को मेरी चुची पर जमा दिया.

मैंने मॉम के रसीले होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मैं उनके सेक्सी होंठों को चूसने लगा.

अब जब भी वो झुकती हैं तो मैं कोशिश करता हूँ उनके शर्ट के गले में से उनकी चूचियां देखने की … और बहुत बार देखा भी है।मुझे अब लगता है कि मेरी घर की सारी औरतें बहुत ही कामुक है चुदाई के लिए … उनको रोज नये नये लंड चाहियें अपनी चूत के लिए!दोस्तो, आपको मेरी सिस्टर बॉयफ्रेंड सेक्स कहानी में मजा आया या नहीं? मुझे कमेंट्स करने अवश्य बताएं. लेकिन मैंने उसका हाथ नहीं छोड़ा और उससे बोला- देखो कविता डरने की कोई बात नहीं है. अब मैं चाची के साथ ही लेट गया और कुछ देर तक हम दोनों ने सेक्स की बातें की.

’‘अपनी आंटी को बताओ ना ठीक से कि उसके भतीजे को आंटी का क्या पसंद है?’ये सुनकर मेरा लंड जो अब पूरी तरह खड़ा था, अन्दर ही फुंफकार मारने लगा. वो बोली- मेरा गिफ्ट?मैंने उसे फिर एक मस्त पार्टी दी और उसने थोड़ी सी ड्रिंक की. फिर जब छोड़ा तो मुझे ऐसा लगा कि वह मुझे चुदाई का न्यौता दे रही है कि तुम भी मेरे साथ भी ऐसा करो.

मेरा लंड तो एकदम तना ही हुआ था, वह उसकी गांड की दरार में गर्मी लेने लगा.

इस बार मैंने उनके चूतड़ों के नीचे दो तकिये रखे, जिससे चूत का मुँह आसमान की तरफ हो गया. उनकी फ्लाइट बिल्कुल सही समय पर आ गई और मैं बाहर उनका इंतजार कर रही थी. अब हम दोनों जब तब एक दूसरे को अपनी लंड चूत और चूचियों की फोटो भेज दिया करते थे.

बोलो, मंजूर है मेरी शर्त?अपने प्यार से पूरे एक महीने के लिए दूर रहना बहुत मुश्किल था मेरे लिए इसलिए मैंने भी जानबूझ कर एक ऐसी शर्त रख दी जो पूरी नहीं हो सकती थी. मैं- लेकिन आपा, मेरी सहेली ने ऐसा क्यों कहा कि मैं फट जाऊंगी?आपा- अरे पगली, उसका यह मतलब नहीं था. मुझे इस तरह घूरते देख उसने अपनी बांहों से अपने स्तनों को ढकना चाहा.

साक्षी के बदन से दूध की खुशबू से मेरा लंड और कड़क हो गया और मेरी पैंट में ही उसमें से पानी आना शुरू हो गया था.

वो मुझे देखती हुई बोली- ना बाबा ना … मैं वो सब आपके साथ नहीं कर सकती. फिर मैंने सब लड़कियों की मोमबत्ती जला दीं और सबको इशारा कर दिया कि अब आगे क्या करना है.

मद्रासी बीएफ दिखाओ पर मैं इस बार नहीं रुका और धक्के लगाता रहाथोड़ी देर बाद चाची भी अपनी गांड को पीछे धकेल धकेल कर लंड को चूत में अन्दर तक लेने लगीं. मुझसे अब रहा नहीं गया और मैं मॉम के दोनों चूतड़ों को फैला कर उनकी गांड के छेद को चाटने लगा.

मद्रासी बीएफ दिखाओ अब जहां कोमल ने पायल बांधी हुई थी, वहां उसे किस करता हुआ लगातार ऊपर को आता गया. चाची बोलीं- तुझे जो करना है, कर पर मेरी चूत को शांत कर बस!मैं चाची के मुँह से ये सुनकर बहुत खुश हो गया.

मेरी बीवी बोली- मैंने उससे पूछा कि तुमने कभी पी है?तो चंदा बोली कि नहीं!फिर मेरी बीवी ने कहा- तो तुम खुद एक पैग पीकर देखो तब बताना कि औरतों को एक पैग से कुछ नहीं होता.

एक्स सेक्सी ब्लू फिल्म

फिर मैंने धीरे धीरे झटके लगाने शुरु किये और उसके दूध चूसता रहा जिससे उसे मजा आने लगा।वो बोली- पूरा लंड अंदर डाल दो!मैंने वैसा ही किया. मैं कुछ समझ पाती कि उसने अपना लंड मेरे गांड पर सैट किया और एक धक्का दे दिया. मैं उठ कर खड़ी हुई तो मेरी चूत में भरा हुआ उनका वीर्य बहने लगा और मेरी दोनों जाँघों से होता हुआ घुटने तक पहुँच गया.

अब जलालुद्दीन के हिजड़े भी मुझे देख कर कहने लगे थे- नगमा बीबी, तुम जब आई तो तो कच्ची कली थीं लेकिन जलालुद्दीन की दुआओं से अब तो तुम जवान लड़की लगने लगी हो. ड्राइवर गुस्से में आ गया और बोला- देखो मैडम, ये ताव कहीं और दिखाना. घर जाकर सोनी ने व्हिस्की दो गिलास में डाली, दोनों चिकन तंदूरी के साथ व्हिस्की पीने लगे.

मैं ऊपर उठती तो सररर से उनका लण्ड बाहर निकल आता और फिर बैठ जाती तो एक बार फिर धचाक से उनका लण्ड मेरे अंदर समा जाता.

मैंने जल्दी जल्दी कॉफी खत्म की और हिना से घर जाने की कह कर मैं उठ खड़ी हुई. अपने हाथ से मैंने उसको चुटकी में पकड़ा तो चाची का दूध भी मसलने को मिल गया. वो चिल्लाने लगीं- निकाल ले … आंह फट गई मेरी … आंह … बर्दाश्त नहीं हो रहा है मुझसे … आह मेरी लेट्रिन निकल ज़ाएगी.

कुछ मिनट उससे लंड चुसवाने के बाद मैंने उसे लिटा दिया और पूछा- रेडी हो?वो बोली- हां. आज मैं कोमल को इतना कसके रगड़ रहा था कि वो मेरे लंड की गुलाम हो गई थी. [emailprotected]इन्फैचुएशन सेक्स कहानी का अगला भाग:शादी में मिली भाभी ने दिया चरमसुख- 2.

उनके रहने के लिए हमने अपने घर में ही स्टोर रूम में उनका गद्दा लगवा दिया था, वे दोनों उसी स्टोर रूम में रहती थी।बात उस रात की है जब मैं पेशाब करने के लिए उठा. मैंने भी मुठ मारना बन्द नहीं किया और कामुक सिसकारियां भरते भरते व उसका नाम लेते हुए मुठ मारता रहा.

अब तो वो एकदम माल लगने लगी है और उसके चुचों का साइज भी बढ़ गया है, गांड भी बहुत बाहर को आ गयी है. मेरी नज़र उनकी गोरी गोरी टांगों पर अटक गयीं लेकिन मैंने ध्यान ना देने का नाटक किया और ट्रे बेड पर रख दी. थोड़ी देर बाद हॉट चाची उठीं और अपने पेटीकोट से दोनों को साफ करने लगीं और ऐसे ही नंगी नीचे चली गईं.

फिर मैंने अपनी जीभ को गोल करके उसकी चूत में डाल दिया और उसकी चूत का रस पीने लगा.

अभी हमारी ये बातें हो ही रही थी कि सोनी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया. उसके बाद मैंने उनकी दोनों टांगों को फैलाया और उनकी चूत में अपनी दो उंगलियों को एकदम से डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा. वह बहुत खूबसूरत थी और उसकी चूचियाँ बहुत बड़ी बड़ी थीं। उसने मुझे और भी कई चूत दिलवाई.

अब पापा का लंड मेरी चूत की गहराई तक जाकर मेरी हालत खराब करने लगा।मुझे समझ में आ गया कि मम्मी उस रात क्यों चिल्ला रही थी।अब पापा मुझे अपनी रखैल बना कर चोद रहे थे। मैं भी आहह आहहह करके अपनी कमर उठा-उठा कर लंड लेने लगी थी।पापा का लंड मेरी चूत में खलबली मचा रहा था. मैं इतनी जोर से चूचे चूस रहा था कि तीन बार अन्दर तक चूची खींचने से साक्षी का दूध मेरे मुँह में पूरा भर जाता था.

मैं थोड़ा रुक गया और लंड को थोड़ा थोड़ा अन्दर बाहर करके आराम आराम से धक्के लगाने लगा. शेखर बोला- ऐसा कैसे हो सकता है? तुम तो इतनी स्मार्ट और सुन्दर हो, फिर तुम्हारा बॉयफ्रेंड कैसे नहीं है?मैंने कहा- मैं लड़कियों के स्कूल में पढ़ती थी और इसी साल कॉलेज में आई हूँ इसलिए कभी लड़कों से घुलने मिलने का समय ही नहीं मिला. जब मैंने हाथ को कुछ ऊपर उठाया तो मेरी उंगलियों में कुछ नरम सा महसूस हुआ.

2021 का सेक्सी पिक्चर

उसकी कुंवारी गांड को किस तरह से मैंने खोला और अगले 3 साल तक कोमल को मैंने अपनी रंडी बना कर किस किस तरह से चोदा, वो आपको आगे कभी लिखूँगा.

मैं- क्या भरोसा, बाद में मौका मिलता या नहीं, तो मैंने सोचा पहला मजा भरपूर वाला होना चाहिए. उसकी पीठ इतनी कामुक लग रही थी और उसमें उसकी ब्रा की डोर तो मानो किसी को घायल ही कर दे. फिर सबने एक दूसरे की तरफ देखकर इशारा किया और डिल्डो का टोपा लड़कों की गांड में पेल दिया जिससे सभी लड़कों की एक साथ चीख निकल गयी.

फिर मैंने सामने से उसकी एक टांग अपने ऊपर रख कर लंच को चूत की फांकों पर रगड़ने लगा जिससे वो बिन पानी की मछली की तरह मचलने लगी. अदीबा का गोरा सा चेहरा, बड़ी बड़ी आंखें, रसीले होंठ और उन पर डार्क ब्राउन कलर की लिपस्टिक कहर ढाती थी. मां बेटे की सेक्सी कहानियां हिंदी मेंकरीब 10:30 बजे चाची मेरे रूम में आ गईं और उन्होंने दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया.

वो मादक आवाजें निकाल रही थी ‘उम्म्म आ आ उम्म आ आह …’कुछ मिनट तक मैं उसके मम्मों को चूसता रहा. मैं इतने दिन तक जलालुद्दीन के साथ रहते रहते यह भूल ही गई थी कि एक दिन मुझे लौट कर भी जाना होगा.

वो हल्की-हल्की सिसकारियां ले रही थी और मैं भी धीमे-धीमे अपनी गति को आगे बढ़ाता जा रहा था. ये कह कर मैं एक पल के लिए रुका और इस आशंका से माधुरी की आवाज सुनने की प्रतीक्षा करने लगा कि वो अब चिल्लाई तब चिल्लाई. यदि कभी तूने घर के बाहर किसी दूसरे से सेक्स कर लिया और कुछ लफड़ा हो गया तो बड़ी बदनामी होगी और हो सकता है कि तू किसी परेशानी में फंस जाए.

मैंने बची हुई तेल की बोतल चाची के हाथ में थमाई और लंड की मालिश करने और मुठ मारने को कहा. फील्ड से मैं सीधा शाम को ही ऑफिस आया और आते ही मैंने माधुरी की दुकान पर नजर डाली. सुबह दस बजे चाची मेरे कमरे में आईं और बोलीं- अब जाग जाओ, जीजी खेत से आ गई हैं और नीचे बुला रही हैं.

माधुरी ने अपना नम्बर मुझे दिया और मेरा मोबाइल नंबर आपने मोबाइल में आयशा के नाम से सेव कर लिया.

साथ ही मैडम मम्मी को किस भी कर रही थी।मम्मी की आवाज़ से लग रहा था कि वे मैडम का विरोध कर रही है।अब मैं लगातार उनकी तरफ देख रहा था. काकी के मुँह से एक मीठी सी आह निकली और उनके हाथ ने मेरे बापू के सर को अपने मम्मे पर कस लिया.

मुझे उससे बात करने में थोड़ा अजीब सा लग रहा था इसलिए मैंने उससे ज्यादा बात नहीं की. मेरा थूक पीते पीते वो बोले- तुम्हारा थूक कितना लाजवाब है, जी करता है कि अब से पानी की जगह तुम्हारे थूक से ही अपनी प्यास बुझाऊँ. करीब चार मिनट के फोर प्ले के बाद शबाना के सब्र का बांध टूट गया और वो हाथ जोड़कर बोली- प्लीज अब अगला राउंड.

मेरी नज़रें आंटी की गोल मोटी चूचियों और तने हुए निप्पल्स की तरफ हो गईं. वो बोल रही थीं कि उनको लेट्रीन करने में बड़ी तकलीफ़ हो रही है, दर्द हो रहा है. कुछ देर बाद वापस बिस्तर पर लाकर चाची को घोड़ी बनाया और गांड में लंड डालकर चोदने लगा.

मद्रासी बीएफ दिखाओ उसके स्तन इतने अच्छे आकार के हैं, जिन्हें देखकर कोई भी उन्हें हाथों में भरना चाहे. जलालुद्दीन साहब ने मेरी बिना बालों वाली चमकती चूत देखी तो उनको मानो नशा छा गया और उन्होंने मेरी चूत को बेहताशा चाटना शुरू कर दिया.

नोरा फतेही सेक्सी

ध्यान से देखने पर मुझे यह पता चला कि उसने ब्लाउज के अंदर ब्रा नहीं पहनी है क्योंकि उसके निप्पल भी एकदम टाइट ब्लाउज के बाहर आ रहे थे।मैंने उससे कहा- अब ठीक है. मैं नहाया और एक बैग में ब्रा पैंटी डाल कर एक नार्मल लड़के की तरह उसके रूम में गया. वो मेरे बाजू में आईं और बोलीं- अभी तक कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है?उनके इस सीधे से सवाल से पहले तो मैं सकपका गया.

अब मैं रोज जलालुद्दीन को बुलाती थी और वो भी मेरी बात मान कर हर रोज मुझे रगड़ रगड़ कर चोदा करते थे. हम दोनों के बदन में ऐसी आग लगी थी कि हमारा फोरप्ले काफी समय तक चलता रहा था. सेक्सी वीडियो नया पिक्चरवो भी मुझे यूं अनायास आया हुआ देख कर शर्मा गई और अपने आपको ढकने लगी.

लंड को चूत में ही रख मैं उसके पर गिर गया और उसे किस करता हुआ उसके बगल में लेट गया.

मैं बस से सुबह नहीं गया था पर जब शाम को ट्यूशन क्लास से वापिस आया तो आंटी मुझे देख कर एकदम खुश हो गईं और मुझसे सुबह ना आने का कारण पूछने लगीं. मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही गीली चूत को रगड़ना शुरू किया तो माधुरी छटपटाने लगी.

मैंने कहा- क्या हुआ?वो हंस कर बोली- काट क्यों रहे हो?मैंने कहा- मैंने काटा नहीं है. मैंने कहा- ठीक है, मैं तुम्हें चोदने के लिए अपने कुछ नए साथियों को बुला लूंगा. इतना कहकर मैंने उनकी जांघ पर हाथ रखते हुए कहा- उससे भी ज्यादा सुंदर तो आप हैं.

ये सुनकर आंटी ने कहा- हम्म … मेरा बेटा अपनी आंटी के साथ 69 चाहता है.

इसी तरह से मैंने माधुरी की दूसरी चूची को भी पहले अपने दांतों से चबाया और चुभलाया. दरअसल वो पतले से कपड़े का क्रीम कलर का सलवार समीज पहनी हुई थी, जिससे उसकी कच्छी की कट दिख रही थी. अपनी एक उंगली को मैंने सलवार के साथ ही फुद्दी के अन्दर डाला तो ऐसा लगा कि भाभी की चूत गर्म और गीली हो गई थी, मतलब भाभी जान कर भी अनजान बन रही थीं.

செஸ் விக்கேடோइससे साक्षी की मादक आवाजें मुझे मस्त कर रही थीं और उसकी चूत भी अब पानी छोड़ रही थी. मैंने उसकी टांगों को फैलाकर अपने लंड को उसकी कसी हुई चूत पर रखा और हल्का सा धक्का दे दिया.

ac dc सेक्सी

अब जलालुद्दीन के हिजड़े भी मुझे देख कर कहने लगे थे- नगमा बीबी, तुम जब आई तो तो कच्ची कली थीं लेकिन जलालुद्दीन की दुआओं से अब तो तुम जवान लड़की लगने लगी हो. कुछ ही देर बाद उससे रहा ना गया और वो मेरी गोद से उठ कर उसने फटाफट से मेरी पैंट और अंडरवियर उतार दिया. ’‘साली जब उंगली डालती है, तब दर्द नहीं होता नहीं होता है?’‘आपका लंड बहुत मोटा है ना.

फिर मेरे पेट पर बैठकर भाभी ने अपनी ब्रा का हुक खोला और किसी देसी पोर्न स्टार के जैसे ब्रा को निकाल कर दूर फेंक दिया. हॉट कजिन सेक्स कहानी में मैंने अपने से छोटी अपनी बुआ की विवाहित बेटी को चोदा. फिर मैंने सर को झटका और धीरे धीरे उसे सहलाना चालू किया तो उसकी आवाज बदल गई थी.

ऐसे ही मैंने चाची के दोनों छेदों की क़रीब 2:30 बजे तक मस्त ठुकाई की और चाची की चूत के साथ साथ गांड की सील तोड़कर गांड को भी अच्छे से शांत कर दिया. उन्होंने बताया कि उनकी जांघ पर इंफेक्शन हो गया है, जिस वजह से वे परेशान हैं. उसके बाद उन्होंने पूरी रात भर मेरी बारी बारी से चुदाई की, जिसमें हमने बहुत मज़ा लिया.

आपके बहुत सारे मेल मुझे मेरी पिछली सेक्स कहानी के लिए आए थे, उसके लिए धन्यवाद. गरिमा उसकी बात से कुछ ग़ुस्सा भी हुई पर वो ज़्यादा कुछ कह नहीं सकती थी क्योंकि वो सोच रही थी कि कहीं ये उसके काम में कोई परेशानी खड़ी ना कर दे.

यह बात उन दिनों की है, जब मैं 20 साल का हुआ ही था और लॉकडाउन लगा हुआ था.

कुछ देर बाद उसने मुझे सोफे पर लेटा दिया और मेरे लंड को बेताबी से चूसने लगा. तमिल सेक्सी वीडियो आंटीउस घटना के बाद मैं बहुत खुश था क्योंकि अब मैं एक चोदू मर्द बन गया था और बिना शादी के एक बच्ची का बाप भी. suhaag फिल्ममैंने उसे बांहों में भर लिया और उसके होंठों को अपने होंठों के बीच लेकर चुम्बन करने लगा. दोनों ने एक दूसरे की अपनी इच्छा बताई और एक दूसरे की इच्छा पूरी करने का वादा किया.

मिष्टी की झुकी हुई नजरें प्रणय निवेदन कर रही थीं, जिसे प्रिंस की नजरें परख चुकी थीं.

अपनी चूत में पूरा लंड लेते ही साक्षी की मादक कराहें निकलने लगी थीं ‘आह राजा इस्स्स…’कुछ ही पलों में साक्षी की चूत से रस छूटने लगा था, जिससे अब मुझे फच फच की आवाज आ रही थी. मैंने कहा- ये साला मोहित बहुत बोल रहा है, आज इसकी गांड मारकर मैं इसकी माँ चोद दूंगी. फिर मैंने अपने लंड को खड़ा किया और 2-4 अच्छी सी फोटो खींच कर उसको भेज दीं.

मेरी कमर से उसने अपना हाथ मेरी टी शर्ट के अंदर डाला और बोला- क्या सच में मनीष … मैं जो चाहूं कर लूं तुम्हारे साथ? मुझे मना तो नहीं करोगे और न रोकोगे?मैं बोला- हाँ अजय, आज बस हम दोनों हैं. उसने चैक करने के लिए ईमेल आईडी का लॉगिन मेरे फोन में किया लेकिन गलती से मेरे फोन से वो लॉगआउट नहीं हुई. फिर एक हिजड़े ने मेरी कुर्ती खोली तो मैंने उसको रोकने के लिए कस कर उसका हाथ पकड़ लिया.

सेक्सी कहानी चूत चुदाई

चाची बोलीं- चल अब मैं चलती हूँ, तू जल्दी से बाईक घर लेकर जा, तेरे चाचा को भी अपने काम पर जाना है. आपको ये सेक्सी सिस्टर की सेक्स कहानी कैसी लगी, ये आप मेल करके बता सकते हैं. फिर कुछ देर बाद लंड खड़ा हो गया तो मैंने फिर से मीनू को चोदना शुरू कर दिया.

जब भी वो मेरे सामने आती तो मुस्कुरा देती थी। एक दिन वो घर में अकेली थी.

मेरी नीचे को नजर गई तो कोमल भाभी की हाई हील्स से बाहर झांकती हुई गुलाबी एड़ियों को देखकर मैं सोचने लगा था यदि इसकी एड़ियां इतनी गुलाबी हैं, तो चूत कितनी गुलाबी होगी.

थोड़ी देर तक जब उसने कोई हरकत नहीं की, तब मैंने अपना हाथ उसके दूध पर रख दिया. फिर मैंने देखा कि एक लड़की रिया को दो लड़कों ने आगे पीछे से पकड़ लिया और उसे रंग लगाने के बहाने रगड़ने लगे. नेपाली रंडी का सेक्सी वीडियोवो बोलने लगे- आंह ले … तुझे अपनी बीबी बनाकर रखूंगा जान … तुम बहुत सेक्सी हो … आह तुम्हारी जैसी औरत को चोदने का मजा ही अलग है आंह तुम जैसे कहोगी, हम वैसा ही करने को तैयार हैं.

मेरी नजरें अपनी मामी और दोस्त की चाची के चूचों से हट ही नहीं रही थीं. आज वो मंदिर जाने वाली थी तो उसने लाल रंग की साड़ी और उसी रंग का मैचिंग ब्लाउज़ पहना था क्योंकि उस दिन वटपूजा थी. कुछ ही देर में शायद उसको लंड चूसने में मजा आने लगा था और वो अब मजे से कुल्फी के जैसे लंड चूसने लगी थी.

उसके भरे से स्तन मेरे सामने थे, जो सफेद रंग की ब्रा में और मस्त चमक रहे थे. फिर भैया ने अपने लंड को बुर से थोड़ी बाहर की तरफ़ खींचा और फिर से एक जोरदार धक्का दे दिया.

इसलिए मैंने वो सब किया अगर मुझे अहसास होता कि इसमें इतना दर्द है, तो मैं कभी तेरे साथ वो सब नहीं करता मगर अब मुझे पता चल गया है कि तुझे भी बहुत दर्द हुआ होगा.

अभी जैसे ही मैं बाथरूम में घुसता, मुझे मां की सिसकारियां सुनाई दीं. फिर मैंने जोर-जोर से उनके चूचों को दबाना शुरू किया और उनके चूचे चूसने लगा. मैंने उसकी चूत पर अपना लंड लगा कर थोड़ा सा झटका दिया तो लंड फिसल गया.

హీరోయిన్ సెక్స్ మూవీ वो दीवार से टिकी किसी बेसुध और मदहोश अप्सरा की तरह मेरी जीभ को अपने मुँह में लिए हुई थी. उसके छोटे छोटे सेब के आकार के चूचे बिल्कुल कड़क थे, लगता था जैसे कभी किसी ने दबाए ना हों.

‘अच्छा ये बताइए कि ये चलेगा कैसे?’मैं फोन हाथ में लेकर उसके फंक्शन समझने लगा, थोड़ी सी कसरत के बाद फोन चालू हो गया. एक दो बार तो उसने अपना चेहरा हटा लिया, फिर शान्त होकर खड़ी हो गई और मैं उसके होंठ चूमने लगा. एक चालीस साल की अधेड़ उम्र की औरत से ऐसा कुछ सुनकर मेरा लंड फटने को होने लगा.

न्यू सेक्सी वाला

मैंने उसको नीचे लिटाया और उसकी दोनों टांगों को पकड़ कर चोदना शुरू कर दिया. मैंने कहा- कैसा लगा लंड?मामी- हां साले, तेरा लंड तेरे मामा से भी मस्त मजा दे रहा है. मर्द को ख़ुशी ही तब होती है, जब औरत चुदाई के समय ऐसे दर्द से कराहती है और वो उसे उकसाती है कि चोदो और चोदो.

मैंने जल्दी जल्दी उसका ब्लॉउज खोला और उसकी एक चूची को मुँह में ले लिया. इस मौके का मैं पूरा फायदा उठाना चाहता था तो मैंने मॉम को पकड़ने के बहाने मैंने उनके बड़े चूतड़ों को पकड़ लिया.

उन दोनों की धकापेल चुदाई और गालीगलौच से मुझे भी अपनी चूत में सुरसुरी होने लगी.

मैंने उससे कहा- अब तेरी पैंट क्यों गीली होने लगी है?वो भी अपनी हाफ पैंट उतारती हुई नंगी होने लगी. अब जलालुद्दीन आलिम ने कहा- अब सबर नहीं होता, आखरी इलाज भी आज ही कर देता हूँ. साथ ही उसने सुनहरे रंग का ब्लाउज पहना था जिसमें वह बहुत ही ज्यादा हॉट लग रही थी.

मीनू की तरफ से हरी झंडी मिलते ही कोमल ने भी लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी. भैया के लंड का सुपारा एकदम गुलाबी था और उस पर गीलेपन की चमक आ गई थी. घर पहुंच कर सुरेंद्र जी फ्रेश होने के लिए बाथरूम चले गए और मैं उनके लिए कॉफी बनाने लगी.

उसकी बात से फिर से लगा कि मुझे हर हाल में एक चूत सैट कर लेनी चाहिए.

मद्रासी बीएफ दिखाओ: यह सुनकर शेखर ने टेक्सी में से एक मोटा कम्बल निकाल कर घास पर बिछाया और मुझे लेटा दिया. अब मैंने उसे पूरे इत्मीनान से नंगा कर दिया और उसकी चूत को चाटने लगा.

उनका लण्ड मेरे मुंह में फूला फूला लगने लगा और अचानक उनके लण्ड में से सात आठ बार गर्मागर्म पिचकारियां मेरे मुंह में छूट गईं. मैंने चूत में काफी अन्दर तक अपनी जीभ घुसा दी और उन्हें जीभ से ही चोदने लगा. शबाना के एटीट्यूड से साफ जाहिर था कि वह अहसान आज और अभी उतारना चाहती थी.

फ्रेंड्स, मैं संजू पंडित एक बार फिर से आपको अपनी चचेरी बुआ की चुदाई के बारे में बता रहा हूँ.

तभी मम्मी बेड से उतरने लगीं तो मैं अपने कमरे में आ गया और अपने बेड पर लेट गया. मैं समझ गया और बहुत खुश हुआ कि चलो अब तो ये आज नहीं तो कल जरूर देगी. वह मेरे पास आकर बैठी और उसने मेरे लिए चाय का कप रखा, एक कप खुद के लिए भी सरका लिया.