सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ

छवि स्रोत,साधु का सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी इंडियन देसी चुदाई: सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ, ”अभी तुम बहुत छोटी हो, अभी तुम मेरा लंड नहीं ले सकती, तुम्हें बहुत दर्द होगा, तुम वो दर्द नहीं सह पाओगी। कुछ दिन और इंतज़ार करो, फिर मैं तुम्हें सेक्स का सही मजा दूँगा.

बीएफ सेक्सी हॉट बीएफ सेक्सी

भाभी ने शरमाते हुए कहा- ये क्या कर रहे हो?मैं- भाभी सच कहूं तो जब से वो मायके गई है, मैं तो जैसे तड़प गया हूं. सेक्सी वीडियो बीएफ 2019 कातभी अचानक अंकित मेरे चूत में उंगली पूरी घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगा, और मेरे कान में बिल्कुल पास आकर धीरे-धीरे बोलने भी लगा- वन्द्या तू बहुत मस्त माल है तेरी चूत इतनी गर्म है कि लग रहा है कि मेरी उंगली जल जाएगी, आज मैं तुझे जन्नत की सैर कराऊंगा, तू बहुत मस्त है.

लाल साड़ी पहनने के साथ गले में लटकता हुआ मंगलसूत्र, मांग में सिन्दूर, माथे पर बिन्दी और होंठों पर चटक लाली, उनकी ये अदा मुझ पर किशोरावस्था से ही कहर ढा रही थी, जिसे कैश करने का मौका युवावस्था में उस रात मिल चुका था. बीएफ सेक्सी बाथरूम मेंजन्माष्टमी आने वाली थी, सब उसी में लगे थे और मैं भी घरवालों के साथ व्यस्त हो गयी थी.

इसके बाद थोड़ी देर तक हमने बातें की, लेकिन बातें करते समय वो बोल रही थी और सांसें ले रही थी, तो उसके मम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे.सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ: अचानक उन्होंने कुछ मेरी तरफ़ फेंकते हुए ऐसा जताया कि कपड़े धोते वक्त आ गया हो.

मैंने सुबह की ताज़ी ऊर्जा के साथ भाभी से सेक्स किया और इसके बाद मैं घर चला आया.तभी वह खुद को ऐंठते हुए बोली- मेरा कुछ निकल रहा है … मेरा शरीर अकड़ रहा है.

जंगल वाली देसी बीएफ - सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ

मैंने पूछा- क्या हुआ?वह बोली- तुमने फिर से मुझे काटा!तो मैंने आंख मार दी.बेटा, तू इस घाघरे चोली में एकदम हॉट लग रही है; तुझ बंजारिन को चोदने को कब से मचल रहा हूं; पहले यही काम निपटा लें न!” मैंने उनकी चोली में हाथ घुसा के उसके अंगूर मसलते हुए कहा.

मेरे ऐसे करने से कम्मो की चूत की चुदास और प्यार की प्यास जग उठी थी सो उसने अपना मुंह खोल दिया और मेरी जीभ भीतर ले ली. सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ मौसी चुदासी सी बोलीं- बस कर रे लवड़ा हमी मन लवड़ो दे थारो मारे मुडा म.

इस वक्त मुझको भी एक लंड की ज़रूरत महसूस हो रही थी, तो मैंने कुछ नहीं बोला.

सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ?

चार पांच बार और आवाज लगाई अंकित ने, फिर बोला- बड़ी जल्दी तुझे नींद आ गई? मैं तुझसे मिलने आया हूं, और तुझे कुछ बताने भी आया हूं और तू कुंभकरण की तरह सो गयी. बस इतना ही बोला कि जैसे तुम चाहो, मैं नहीं चाहता कि तुम यह समझो कि पिताजी नहीं हैं, तो मैं तुम पर अपना कोई दबाव डाल रहा हूँ. उधर मुन्ना अंकल भी मेरे मुँह में अपना लंड डाल कर पूरा अन्दर बाहर जोर से डालने लगे और करीब दस मिनट तक मेरे मुँह में मेरे अन्दर बाहर लंड करके मेरे मुँह को फ्रेंच स्टाइल में चोदता रहे.

शौर्य एकदम गर्म हो चुका था और बोलने लगा- सैम, और कितना तड़पाओगे? जल्दी से अपना लंड मेरी गांड में डालो और उसकी आग बुझाओ. फिर मैं एक कदम और आगे होंठों तक पहुंचता तो मामी भी जम कर साथ देतीं. मैंने बात की तो उसने मेरी पूरी डिटेल ली और कहा कि कल शाम एक नंबर और एड्रेस मोबाइल पे आएगा, उसी हिसाब से बात कर लेना.

उसके बूब्स मस्त लग रहे थे, एकदम कड़क मीडियम साइज के, न ही बड़े औऱ न ही छोटे …मैं तो उसको देखता ही रह गया. स्नेहा ने गति बढ़ा दी क्योंकि वो आनन्द की चरम सीमा पर पहुंचने वाली थी और अब सब उसके कण्ट्रोल में था. तब पूजा बोली- क्या हुआ रुक क्यों गए? 5-6 धक्के और मार देते तो मेरी चूत झड़ जाती.

हम दोनों बेड पर लेट गए मेरा लंड खड़ा हुआ था जोकि पजामे से साफ दिखाई दे रहा था. मैंने अभी तक 45 लड़कियों, औरतों को चोदा है और एक कुंवारी बुर को भी लेकिन इनके जैसा लंड किसी ने नहीं चूसा.

वह भी उसका मजा लेने लगी और बची हुई शर्म को छोड़ कर उसने अपना विरोध कम कर दिया.

चादर के नीचे हमारा शरीर इस कदर गर्म हो गया था कि हम दोनों अपने आप पर नियंत्रण खोते जा रहे थे.

वो आज भी जब घर पर आती है तो मुझसे पहले की तरह ही हंस के बात करती है. मयूरी थोड़ा मायूस होते हुए- मतलब मेरी चूचियां देखने लायक नहीं हैं क्या?रजत- अरे नहीं… ये तो कमाल की है. एना ने अब लौड़ा चूसना छोड़ कर मेरे लौड़े को अपने हाथों में कस कर पकड़ लिया और धीरे धीरे पूरा आगे पीछे करने लगी.

मैं सर का लंड देख कर हैरान रह गया था इतना बड़ा लंड देखा, तो एक बार के लिए तो गांड फट गई. यह सुनते ही मैं और जोर से रोने लगी चिल्लाने लगी- मेरी चूत को फाड़ डाला. सोहेल का बाहर भी चक्कर था और वो बाहर की लड़कियों को घर में ला के पायल के सामने चोदता था.

पर आज जब मयूरी अपने घर जा रही थी तो उसके दिमाग में कुछ नयी तरंगों ने कब्ज़ा कर रखा था.

वो मेरे लंड को पकड़ कर धीरे धीरे हिला‌ रही थी कि तभी मैंने एक हाथ से उसकी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया, जिससे मेरा सुपारा उसके होंठों से छू गया. मैं- क्यों फिर चुदवाने का मन है क्या?चाची- चुदवाना तो आज सारी रात है. हम दोनों पानी में भीग रहे थे, दोनों के बदन आग की तरह गर्म हो रहे थे.

बहुत दिनों से जोड़ रही थी मैं फोन के लिए!” वो बोली और रूमाल मुझे दे दिया. फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उसकी चुत में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा. मेरा लंड तुरंत खड़ा हो गया और उसकी गांड को छूने लगा, जिससे उसकी चुदास और बढ़ गयी.

तू तो इसमें बहुत सुन्दर लग रही है पर इसे उतारना तो है ही ना नहीं तो मैं दूध कैसे पियूंगा?”तो अभी तक दूध पीते बच्चे हो आप, क्यों?”हां… और भूख भी लगी है मुझे!”हम्म्म्म तो ये लो पी लो!” कम्मो ने कहा और अपने हाथ पीछे ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया.

मेरे बगल में बिस्तर खाली पड़ा था पर बिछा हुआ था उस बिस्तर में तीन जेन्ट्स आ गए. मेरी एक सहेली है मानसी, जिसे अपनी सारी बातें मैं शेयर करती हूँ और वो थोड़ी चालू टाइप की है.

सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ मुझे रात को दूध पीने की आदत है।साक्षी हंसी और फिर दूध ले आई। मैं दूध पी कर बैठ गया, साक्षी बाथरूम चली गई।जब वो वापिस आई तो उन्होंने सिर्फ पिंक कलर का तौलिया लिपटाया हुआ था। उनके गोरे रंग पर पिंक रंग बहुत ही सेक्सी लग रहा था।साक्षी- तुम भी नहा लो।मैंने जल्दी से शावर लिया. मैंने उससे साथ चलने के लिए इशारा किया तो उसने मना करते हुए कहा कि वो मुझे अपने साथ नहीं ले जा सकती क्योंकि यहां सब उसको और उसके पति को जानते हैं.

सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ अब वो भी मजा लेने लगी थी, वो अपने चूतड़ ऊपर उठा उठा कर वह भी खुद को चोदने में मेरी मदद करने लगी. टॉयलेट में पहुँच कर पहले पूजा ने अपना चेहरा धोया और एक तौलिया भिगो कर अपने पूरे बदन को पौंछा.

लालकिले से बाहर आये तो एक बज चुका था और हमें हल्की हल्की भूख भी लग आई थी.

हिंदी में बोलती सेक्सी

भाभी ने समय न गंवाते हुए मेरे शॉर्ट को नीचे किया और लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं. दोस्तो, अन्तर्वासना के सभी पाठकों को जॉर्डन का प्यार भरा नमस्कार।प्रस्तुत है मेरी रोमांटिक स्टोरी ‘अनजानी दुनिया में अपने’ का अगला भाग!मेरी कहानी के पिछले भागअनजानी दुनिया में अपने-4में आपने पढ़ा कि मैं दिव्या की मां कामिनी की कामवासना को एक बार संतुष्ट कर चुका था और अब दूसरी बार की चुदाई चल रही थी. फिर मैं असली बात पर आई कि जो रिपोर्ट मुझे देनी है, उसे कैसे बनाना होता है.

फिर मैंने उसे देखते हुए कहा कि बोलो स्वाति तुम्हें क्या हुआ है? तुम क्यों अकेला महसूस कर रही हो?वो अपनी प्रॉब्लम बताते बताते रोने लगी तो मैंने उसे अपना कंधा दे दिया. तो मैं तब तक के लिए किसी होटल में चला जाऊंगा, जब तक वो यहाँ रहेंगे. अब मैंने फव्वारा चालू किया और प्रिया को खींच के फव्वारे के नीचे ले आया.

तारा की बात खत्म होते ही दरवाजा खुला और सामने एक पहाड़ से व्यक्ति मुस्कुराता हुआ हमारा स्वागत कर रहा था.

उसने कहा- मेरी अपनी मजबूरी थी, मैं भी तुम्हें नहीं खोना चाहता था, अगर तुम्हारी तरफ से हाँ ना होती तो!खैर गिले शिकवे होने के बाद मैंने उससे कहा- ऑफिस के बाद किसी जगह बैठकर खुलकर बात करेंगे. मैंने इतना माल बरसाया कि उसकी ठोड़ी पर से बहता हुआ माल उसके मम्मों के ऊपर टपकने लगा. साथ वाले कमरे को खुला देखकर मैंने अंदाजा लगाया कि वह हिमानी ही होगी.

इससे पहले कि मैं कुछ बोलता, मनीषा ने मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया. किस मूड में थी यह जालिम औरत। मैं कशमकश का प्रदर्शन करता उसे देखता रह गया और वह उठ कर बाथरूम में घुस गयी।वैक्सिंग के सामान को हटा कर मैं उसी टेबल पर बैठ कर मसाज का वीडियो देखने लगा। यह कोई नयी चीज नहीं थी. लेकिन घर में कोई नहीं था तो मेरे मन में कई तरह से सवाल उमड़ रहे थे कि पूजा के पति कहाँ हैं? वो कब आयेंगे.

बस इतने से ही उसके निप्पल कड़क हो गये; जो किशमिश के जैसे थे फूल कर अंगूर से हो गये. अब रजत अपनी एक उंगली मयूरी की गांड के छेद पर रखकर धीरे-धीरे घुसाने की कोशिश कर रहा था.

मयूरी की कंवारी चुत एकदम गुलाबी-गुलाबी लग रही थी और उसकी खुशबू रजत को पागल कर रही थी. सुनील उधर खड़ा होकर पायल को मेरा लंड चूसते हुए देख रहा था, साथ ही पैग लेते हुए वो मुठ भी मारने लगा था. जब वो नहा कर आतीं, तो मैं बाथरूम में जा कर उनकी पेंटी में ही मुठ मार दिया करता था और उन्हें शक भी नहीं होता था.

भाभी ने हमारे चूतड़ों की तरफ हो कर देखा और चूत और लण्ड पर हाथ लगाकर बोली- अभी तो आधा बाहर ही पड़ा है.

अपने भावनाओं को काबू करने की कोशिश करते हुए शीतल अपने हाथ में थोड़ा से तेल लेकर मयूरी के पीठ पर लगाकर मालिश करना शुरू किया. मैंने कहा- चलो अच्छा किया!वे मुझे घर के अंदर ले गई वो आगे आगे, मैं पीछे पीछे!मैं उनके चूतड़ देख रहा था, अच्छी लग रही थी, बहुत मस्त माल थी. मैं भाभी का ये रूप देखते ही पागल हो गया और उनके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा.

जैसे ही उसके नीचे के दोनों होंठ चूस कर मैंने जीभ अन्दर डाली, उसके सब्र का बाँध टूट गया और चुत से सैलाब निकल कर मेरे चेहरे को नहला गया. फिर हम एक दूसरे से फ़ोन पर सारा दिन बात करते रहते थे और मैं रोज दोपहर को उनको प्यार करने, उनके पास आ जाता था.

उसने मेरे साथ एक लम्बी सेक्स चैट की और मैं फोन बंद करके मुठ मार कर सो गया. थोड़ी देर के बाद मुझे भी लगा कि अब ज़्यादा देर रुक नहीं सकता और इसलिए मैंने अपना लंड एक बार जड़ तक पूजा की चुत में पेलकर उसकी एक चूची अपने मुँह में भर कर चुपचाप लेट गया. मैं उठा और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा तो प्रिया को बहुत मजा आ रहा था.

याराना सेक्सी

फिर अंकल ने मेरे एक हाथ को अपने हाथ से पकड़ कर लंड से सटाते हुए पकड़ने के लिए कहा.

चाची और जोर जोर से हिलने लगीं, चाची अपनी गांड पटक पटक कर चाचा को चोद रही थीं. फिर मामी ने रूंधे गले से, तेज धार से आंसू बहाते हुए, बिलख-बिलख कर रोते हुए मुझसे कहा- अब बस करो. मैंने डॉक्टर से पूछा कि इसका इलाज़ क्या है?डॉक्टर ने मुझे बताया कि जिसे यह याद करता है.

आप सभी प्यारे दोस्तों, देवरों और मेरे प्यारे मुँहबोले पतियों को आपकी मधु का प्यार भरा नमस्कार।आप लोगों मेरी पिछली कहानीमेरे मौसेरे भाई ने मेरी चूत गांड को खूब चोदाको इतना ज्यादा सराहने के लिए दिल से कोटि-कोटि नमन करती हूँ और धन्यवाद व्यक्त करती हूँ. वो मेरे बदन को सहलाते निहारते रहे और मैं उनके बदन की सख्ती को स्पर्श करती रही. बीएफ लौंडियाकुछ देर के बाद हम दोनों ने एक बार और चुदाई की और इस बार उसने मुझे घोड़ी बना कर चोदा था.

वे मेरी गांड मारते हुए बोलने लगे- वन्द्या, मैं तेरी गांड को आज बहुत चोदूंगा. सच बता कितने लोगों से अब तक में चुदवा चुकी हो? कितने लन्ड ले चुकी हो वन्द्या? बताओ वन्द्या?यह कहते हुए अंकित जोर-जोर से मेरी चूत को चाटने लगा.

पूजा भी अपने दोनों पैरों को मेरी कमर पर डालकर अपनी गांड को उछाल उछाल कर मेरे लंड के धक्कों का जवाब देने लगी और बोली- चोदो, चोदो मेरे चोदू राजा, और जोर से पेलो मेरी चुत में अपना लंड. यों तो हमने कई बार सेक्स किया था, लेकिन इस बार का कुछ ऐसा अलग हुआ जो मैंने भी सोचा नहीं था. हमारी निकटता कुछ कुछ कहने लगी थी, जो कि हम दोनों को ही बेहद पसंद आने लगी थी.

आपको आना हो तो मेरे गांव ही आ जाना बस और वहीं पर आराम से बिना किसी डर के करना जो करना हो!” उसने अपना फैसला सुनाया. इतना सब कुछ होने के बाद भी मैं उसके होंठों पर अपना कब्जा किए हुए था. उसकी नाभि को देख के ही मैं पागल हो गया, वो थोड़ी सांवली सी थी, लेकिन उसका फिगर देख के कोई भी बंदा मुंठ मारने पर मजबूर हो जाए.

अब मैंने अपना लंड पायल के चुत में फिट कर दिया और पीछे रशीद ने पायल की गांड के छेद पे अपना लंड रख दिया.

कुछ दिन बाद अमित उसके मामा के यहां चला गया, तो मैं अकेला ही सर के घर क्लास पढ़ने जाता था. यदि तुम्हारी सेक्स की इच्छा पूरी हो जाए तो फिर तुम्हारा पढ़ाई में मन लगेगा.

इतने दिनों का कॉलेज का काम भी बाकी था, तो उसने मेरे से नोट्स मांगे. डाक्टर ने आपरेशन करके एक हफ्ते तक उन्हें एडमिट रहने के लिए कहा गया. ये मेरी और हॉट डिम्पल भाभी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लग रही है, मेल लिख कर मुझे जरूर बतायें![emailprotected]कहानी का अगला भाग:हॉट भाभी से की चुदाई की शुरुआत-2.

मेरा दिल टूट गया। जब मैंने धीरज को ये बताया तो वो भी बहुत परेशान हुआ। कुछ दिनों बाद यह बात मेरी सास तक भी पहुँच गई। अब तो वो मेरे पति को मेरे विरुद्ध भड़काने लगी। यहाँ तक की उसको मुझसे तलाक़ लेकर दूसरी शादी करने के लिए भी कहने लगी. और हाँ मैं पैसे क्यों लूंगा? और पहले तो आप ये बताइए कि ये क्या दादागिरी है. मैं समझ तो रहा था कि मुझे इसकी चुत मिलने वाली है, पर वो इतनी तेज निकलेगी, ये मैंने भी नहीं सोचा था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ उन तीनों ने एक साथ पूरी ताकत से इतने जोर से लंड पेला और अन्दर तक घुसा दिया. आज शाम को ऑफिस से आते वक्त ले आई, इसलिए तो बस में जाती थी।मैं- ओके!मैं साक्षी के बेटे के साथ ‘हैलो…’ करने लगा।साक्षी- हैलो करो रोबिन।रोबिन ने हैलो की, साक्षी ने कहा- मुझे लगा था कि तुमने नंबर गलत न नोट कर लिया हो।मैं- नहीं जी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी पर

मुझे रहा नहीं जा रहा था, मैं उन्हें कह बार बार कह रहा था कि अब मेरी गांड मार दो, पर सर मुझे और तड़पा रहा थे. अभी तारा पूरी शांत होती कि माइक ने भी उसकी योनि में अपना लावा उगलना शुरू कर दिया. झड़ते समय भी मैंने 6-7 बार तेज झटके मारे और चुत के अन्दर ही रस छोड़ दिया.

उनका पति सुबह जाता था और रात को ही आता था, जिस कारण वो अपनी सारी बातें मुझे बता देती थीं. उसकी बातों से मुझे लगा कि मेरी दाल नहीं गलेगी, क्योंकि वो काफी स्ट्रेट लग रहा था. सेक्सी बीएफ देहाती में हिंदीलेकिन मामी बोलीं- तुम्हारा फोन अन्दर क्या कर रहा था?मैं बोला- शायद ग़लती से वहीं रह गया होगा.

पहले तो मैं माफी चाहूंगा क्योंकि मैं अपने दोस्तों और सेक्सी गर्ल्स के लिए इतने दिन में कोई कहानी नहीं ला पाया.

ज्योति के पुट्ठे बहुत मस्त थे बड़े बड़े … क्योंकि मैंने ही चोद चोद कर बड़े किये थे. और इस तरह से अचानक, मुझे अंदाजा नहीं था, उसने पूरा जोर लगाकर मेरी गांड में अपना लन्ड इतनी जोर से घुसा दिया कि मुझे लगा कि मैं दर्द के मारे मर गई.

उसे पूरा भरोसा था मुझ पर कि मैं उसकी बेटी का पूरा पूरा ख्याल रखूँगा. यह थी मेरी कहानी रेशमा के साथ!और मुझे नहीं पता था कि उसकी नौकरानी के साथ भी मुझे चुदाई करने का अवसर मिलेगा. छोटे से गांव का टॉयलेट था, तो मैं सिर्फ खड़ी रह सकती थी, उसमें लेटने की जगह नहीं थी, इतने में अंकित ने खुद मेरे टॉप को अपने हाथों से चढ़ा के गर्दन तक किया और नीचे जो समीज पहनी थी, उसे भी ऊपर किया, अब अंकित को जैसे ही मेरे बूब्स दिखे तो बिल्कुल पागल सा हो गया और अंकित ने अपने एक हाथ से मेरे नंगे दूध पर अपना हाथ लगाया और जोर से दबा दिया.

चाचा मेरी गांड में अपना लंड जोर से घुसा रहे थे, पर अब तक वे आधा ही लंड घुसा सके थे.

बीस मिनट तक एक ही अवस्था में संभोग के बाद मुनीर चीखने लगी और फिर उसने पूरी ताकत से माइक को पकड़ लिया. उनकी गदरायी गोरी जाँघों पर जांघें घिसते हुए आंटी को प्यार करता रहा. चाची- आह … निकाल ले आह … आह!मैं- आह … आह!हम दोनों जोर जोर से आह भरते हुए एक दूसरे को चोदने लगे.

काजल अग्रवाल की सेक्सी बीएफ वीडियोमुझे उसके लंड का स्पर्श मेरी चूत के अन्दर तक महसूस हो रहा था जो मुझे मजा दे रहा था. मैं यकीन से कह सकती हूं कि उस जोर के झटके में माइक का लिंग की चोट जरूर मुनीर की बच्चेदानी में लगी होगी, वरना किसी भी औरत की हालत ऐसी नहीं होती.

सेक्सी वीडियो लड़की लड़की के

वो नम्बर देने में बहाने बनाने लगी तो मैंने भी बोल दिया- क्या तुम्हें मुझ पर भरोसा नहीं है?तो अंत में उसने भी नंबर दे ही दिया. बात तब की है जब मेरी 12वीं कक्षा की परीक्षा खत्म हो गई थीं और गर्मी की छुट्टियां शुरू हो चुकी थीं. मुझे भाभी की इस बात से पता चला कि जिनको चोदने का मैं सपने रोज देखता था, वो तो खुद ही मुझ से चुदना चाहती थीं.

पर मुझे लगा कि अगर मुझे अपना हुस्न लुटाना ही है तो अपने घर के बाहर क्यूँ, अपने घर ले लोगों में ही बाँट देती हूँ… मैंने तो बस सारे घर वालों के बारे में सोचा पापा…अशोक- अ… अरे… मैं… तो वो बस जोश-जोश में बोल गया मेरी जान… मेरा वैसा कोई मतलब नहीं था. पिंकी किसी भी तरह का विरोध नहीं कर रही थी बल्कि उसका पूरा साथ दे रही थी. मैंने उससे कहा- तुम चिंता मत करो, अगर मुझसे खराब हो गया तो, तुम निश्चिंत हो कर देखा करो.

उनकी मक्खन जैसी कोमल मुलायम गांड में मेरा लंड बड़े प्यार से चल रहा था. इस वक्त चुदास अपने पूरे यौवन पर थी और हम दोनों ही काम वासना की आग में जल रहे थे. मेरे मुंह से आह निकलने लगी, मैंने आँखें खोलकर उसको देखा… वो लड़की किसी जंगली शेरनी की तरह आक्रमक लग रही थी.

हम सिनेमा के लिए हमारी सोसायटी से थोड़े दूर ही निकले थे कि एक फ़ौरचूनर कार आई. अब मैं लड़की हो चुकी थी तो मेरे छटी इन्द्री कह रही थी कि आज कुछ बहुत अलग होगा.

मुझे मालूम हो चुका था कि मनीषा जाग रही है, फिर भी मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और हल्का सा ज़ोर लगाया.

जबकि उसका थोड़ा सा ही लंड का सुपारा घुसा था लेकिन मेरी हालत बहुत खराब हो गई थी. इंग्लिश फिल्म इंग्लिश बीएफपहले तो मैंने भी उसे वैसे ही समझते हुए बताया, जैसे दो दोस्त आपस में बात करते हैं. हिंदी बीएफ सनी लियोन के बीएफउसने महसूस किया कि सोचने मात्र से ही उसकी चुत में बहुत सारा पानी आ गया है. यह देखकर वो भी जोश में आ गया और उसने झट से मेरी चड्डी भी नीचे कर दी.

यह केवल शुरुआती एक बच्चे की बात है, उसके बाद संकट टल जाएगा। फिर हम अपने अपने पतियों से अपनी अपनी पत्नियों से बच्चे पैदा कर लेंगे।श्लोक तुम कुछ कहते क्यों नहीं? तुम्हें क्या लगता है कि मैं गलत हूं?श्लोक- समाधान तो आपने सही बताया है किंतु रीना दीदी मेरी बहन है, आपका और सीमा का तो फिर भी हो जाएगा क्योंकि साली आधी घरवाली होती है.

पापा जी, कहां गया आपका वो?” वो अपना हाथ नीचे लेजाकर टटोलते हुए पूछने लगी. रशीद धीरे धीरे अन्दर पायल की चूत में अपनी जुबान डालने लगा और पायल की चूत के अन्दर उसकी यौनमणि को उसने अपने होंठों में पकड़ कर कसके होंठों से मींजते हुए खींचा तो वो मीठे दर्द से चिल्ला उठी. उसके होंठ देख के ही मैंने अंदाज़ा लगा लिया था कि इसकी चूत का चीरा 3 इंच से ज्यादा का नहीं होगा.

फिर मैंने भाभी को उल्टा लेटा दिया और उनकी गांड को सहलाने लगा, बिल्कुल गोल मांसल कूल्हे जैसे इन्हें संगमरमर के पत्थर की तरह तराशा गया हो. मैं बाथरूम में पूरा नंगा था और शावर चला रखा था, लेकिन मैं नहा नहीं रहा था. कुछ ही दिनों में वैसे ही सबकी जुगाड़ें पट गईं, पर मैंने अब तक किसी लड़की को पसंद नहीं किया था.

सेक्सी फुल दिखाएं

फिर प्रीति ने कहा- नहीं भाभी, मेरा भी मन करता है प्लीज़।तो मैं बोली- ठीक है. चुत छह दिन से अनचुदी थी तो चुत में थोड़ा दर्द हुआ और मेरे मुँह से हल्की सी चीख निकल गई. उसके बाद मैंने अपने कपड़े पहन कर बाथरूम में जाकर अपनी चूत साफ़ की और मेरा भाई कुछ देर मुझसे बातें करने के बाद अपने घर चला गया.

धीरज बहुत ही मेहनती था और कुछ ही समय में वो कंपनी में उच्‍च पद पर आ गया।अब क्योंकि मैं उससे रोज़ ही मिलती जुलती थी धीरे धीरे मैंने खुद को पाया कि मैं उसको चाहने लगी हूँ मगर मैंने कभी उससे जाहिर नहीं होने दिया क्योंकि मुझे नहीं पता था कि वो मेरे बारे में क्या सोचता है.

मैं अपने लंड को अपने हाथ से छिपाने लगा तो मौसी ने कहा- क्या हुआ??मैंने बोला- कुछ नहीं मौसी.

अचानक मुझे अपने लौड़े पे उसका हाथ महसूस हुआ, वो उसे पकड़ने की कोशिश कर रही थी जो पूरी तरह खड़ा होकर तन चुका था. उसके मैसेंजर में उसने कई लड़कों से बहुत सी चुदाई की बातें की हुई थीं. बीपी सेक्सी फिल्म बीएफफिर उन्होंने मेरी दोनों चूचियों को मुँह में लेकर खूब चुसाई शुरू कर दी.

वो बैठी थी, मैंने जाते ही पहले दरवाजा बंद कर दिया और उसके पास वाली कुर्सी पर बैठ गया. फिर इसने तो अपना शरीर तक तुम्हें बेहोशी की हालत में इस्तेमाल करने दिया. मैंने पूछा क्या इरादा है जानेमन?? आज तो पप्पू पे बड़ा प्यार आ रहा है तुम्हें.

मैं जब पीछे मुड़कर उसको देखती थी तो वो मुझे देख कर मुस्कुरा देता था. कमलेश को सब लोग कम्मो नाम से ही बुलाते हैं तो अब मैं भी उसे इस कहानी में कम्मो नाम से ही संबोधित करूंगा.

आँखों के सामने नताशा की खुली चूत पाकर एक बार तो मेरा मन हुआ कि मैं छेद बदल दूँ, लेकिन तभी नताशा कराहते हुए कहने लगी- ओओओ कम ऑन.

बस 5 मिनट लगातार किस के बाद हम अलग हुए और मैं सीधा उसके चुत पर टूट पड़ा. भाभी मेरे ऊपर टांग रख कर लेटी हुई थीं और अपने हाथों से मेरे लंड को सहला रही थीं. मैं इतने बड़े साइज़ की फोटो को देख कर ख्यालों में ही उसे चोद रहा था कि तभी अचानक किसी ने पीछे से मेरे कंधे पे हाथ रखा.

बीएफ फिल्में फुल मूवी भैया नहीं सैंया बोल?मैं गांडू हो चुका था और लंड मुझे पसंद थे मगर फिर भी मैंने कहा- मुझे जाने दीजिये भाई साहब!मुच्छड़- पहले हमारे लौड़े ले. फिर उन्होंने धीरज से कहा- बोलो क्या बात है?मगर धीरज अभी झिझक रहा था.

अब तो हम रोज ही फ़ोन पे बात करते और अब एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते थे. मेरे गोलों को हाथ से पकड़कर देखते‌ हुए प्रिया ने गोलों को अपनी मुट्ठी में पकड़ कर दबा दिया. यह सुन कर मुझमें जोश आ गया और साली को दीवार पर चिपका कर उसकी ब्रा निकाल दी.

जिम करने वाली लड़कियों का सेक्सी वीडियो

दिनेश के द्वारा मेरी चूत में उंगली करने और चूत चूसने से मैं जोर जोर से हांफने लगी, मेरी सांसें तेज होने लगीं. मुझे भी अपनी मामी की चूत के छेद से निकल रही गरमी का अहसास अपने लंड के सुपारे पर हो गया था. मेरे घर में से सब लोग बाहर गए हुए थे तो मैं भी जोर जोर से चिल्लाकर उससे चुदवा रही थी.

तो मैंने कहा- आप जैसी खूबसूरत बला को देख कर तो किसी नामर्द का भी लंड खड़ा हो जाए तो मैं तो एक जवान लड़का हूं. वो गुस्सा हो गए और मेरा हाथ पकड़कर बोले- तुमसे प्यार करता हूं निशा, तुम करती हो या नहीं?मैंने कहा- आप मेरे भैया हो!वो बोले- मैं तुम्हें चाहता हूँ.

ये सुन कर मैं और जोश में आ गया और उसकी जांघों को फैला कर उसकी चिकनी चूत को चूमने लगा.

मुच्छड़- क्यों छमिया, कहाँ से आ रही है?मैं रोते हुए- छमिया क्यों कह रहे हो भैया?मुच्छड़- अरी रंडी. उन्होंने अपना मुँह घुमाकर मुझे किस किया और मेरे हाथ अपने मम्मों पर रखते हुए दबवाने लगीं. मैं उसकी चुत को ऊपर से ही सहला रहा था और उसके गुलाबी होंठों का रस पी रहा था.

मेरे पड़ोस में एक लड़की थी, जिसका नाम स्नेहा था और उसके साथ मेरी सामान्य बातें होती रहती थीं. उसकी सेक्स की बात को लेकर मैंने उससे ज्यादा तो कुछ नहीं कहा बस उसकी जानकारी को जितना खुल कर बता सकता था, उतना मैंने उसको बता दिया. ये महक सुपारे की थी, जोकि मेरी नाक में घुसने लगी और मैं कुछ मस्त हो गयी.

तुझे बहुत मजा आएगा, तुम देखना हम तीनों मिलकर तुम्हें जन्नत का मजा हमेशा देते रहेंगे और मैं तुझे अलग-अलग एक से एक कड़क लंड दिलवाता रहूंगा.

सेक्सी बीएफ हिंदी में आवाज के साथ: ये सब सुन कर भी मैं चुपचाप वैसे ही बगल में बैठी हुई लंड को एक हाथ से पकड़े हुए थी और कुछ पल बाद कुछ सोचने के बाद सुपारे के ऊपर वाली चमड़ी को अपने हाथ से हल्का सा पीछे की ओर खींच कर सरकाना चाहा. लेकिन बाथरूम के शीशे के परदे को नहीं हटाया, जिससे कि कमरे से बाथरूम में होने वाली गतिविधियों को देखा जा सके.

इतने में मेरे दोनों दूध जम के पकड़ कर राज अंकल जोर जोर से मेरी चूत में अपने लंड के धक्का मारने लगे और फिर देखते ही देखते दो मिनट के अन्दर राज के लंड से बहुत ज्यादा गर्म गर्म लावा मेरी चूत में भरने लगा. मुझे भी पता चल गया था कि वो मेरे साथ सेक्स करना चाहता है लेकिन चुदाई की शुरुआत कोई नहीं कर रहा था. वो कहता है अगर मैं उससे मिलने नहीं गई तो वो मेरे पत्र स्कूल की दीवारों पर चिपका देगा.

मैं इस बार धीमे-धीमे धक्के मारता हुआ चोद रहा था जिससे दीमा को अपना लंड अन्दर घुसेड़ने का कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.

हम दोनों एकदम चुप थे, बस एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे, दिल की धड़कनें भड़क रही थीं. वैसे अगर घर को कोई सदस्य ये सब सुन ये देख भी लेता तो इस स्थिति में कुछ फर्क नहीं पड़ने वाला था … पर वो फिर भी सावधानी से आगे बढ़ना चाहती थी. और हाँ मैं पैसे क्यों लूंगा? और पहले तो आप ये बताइए कि ये क्या दादागिरी है.