बीएफ चाहिए मुझे बीएफ

छवि स्रोत,गांव की बीएफ फुल एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकस वीडियो: बीएफ चाहिए मुझे बीएफ, असलम- हां यह बात तो उनसे मराने वाले सभी नहीं, तो अधिकतर लौंडे कहते हैं.

बीएफ व्हिडीओ हॉट

मैं रूम में गया और कपड़े बदल कर मैंने चड्डी पहन ली और गले में बेल्ट डाल ली. भाई बहन के बीएफ पिक्चरपिछले चौबीस घंटों में तीन चार बार चुदाई करने के कारण अब मेरा स्खलन का समय बढ़ चुका था.

मैं अपने पैरों को बार बार फैला रही थी और अपनी स्कर्ट के अंदर का नजारा उसके सामने पेश कर रही थी. बीएफ हिंदी नंगीउसके बाद सायरा ने मेरी झांटों को कुतरना शुरू किया और फिर रिमूवर से मेरे भी बची खुची झांटों पर क्रीम मल दी.

वो जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी- आहा ऊऊओ ययाआ और जोर से चोद मादरचोद!मैं उसे और जोर से चोदने लगा.बीएफ चाहिए मुझे बीएफ: ज्यादा जल्दी हो रही है, तो मैं जाऊं? असल में पिंकी का हाथ रवि के लंड से ऊपर से टकरा रहा था.

उसकी ब्रा को उतार कर मैंने एक तरफ फेंका और उसकी नंगी चूचियों पर टूट पड़ा.अब ये सब लाइन में खड़े हो गए और हम तीनों ने इनके लंड चूसना शुरू कर दिए.

सेक्सी बीएफ फिल्म चूत - बीएफ चाहिए मुझे बीएफ

मैंने उसकी चुत के गीलापन महसूस करके समझ लिया था कि अभी इसे ऐसे चोदने में मजा नहीं आएगा.वो सिसिया गयी- ओह्ह … ऊईई … भैया … आह्हा … आईई … ऊह्ह … चाट लो … ओह्ह … चाट लो भैया … खा लो इसको … उईई मां … ईस्स्स … आह्ह … और जोर से।मैं पूरी गति के साथ उसकी चूत में जीभ चला रहा था.

वो बोलीं- ठीक है … इस कमरे में बैठ जाओ … और जब बारिश रुक जाए तो छोटे वाले गेट से चले जाना. बीएफ चाहिए मुझे बीएफ मैंने उससे पूछा- कमल, क्या मुझे इधर शराब मिल सकती है?उसने हामी भरी और वो बाहर जाकर कुछ देर में अन्दर आ गया.

तो दोस्तो, आपको इस स्टोरी में कैसा मजा आया?इस बीडीएसएम सेक्स घटना को मैंने तो बहुत इंजॉय किया था.

बीएफ चाहिए मुझे बीएफ?

हम सबने एक साथ खाया और शाम को मैं अपने घर आ गया।उसके बाद मैं मौका देखकर उसके घर जाता और दोनों खूब चुदाई करते।फिर एक रात में उसके घर गया और रात को चोदा।मैंने उसकी सास को नहाते हुए देख लिया था. मेरा बॉयफ्रेंड एक कलाकार आदमी था और वो हमेशा मुझे किसी न किसी तरह से सरप्राइज़ करता रहता था. जब मैंने ध्यान से देखा, तो मां नंगी होकर वरुण के लंड पर कूद रही हैं.

देखना तेरी मालिश करते-करते यह फिर एक बार तेरी चूत की मालिश करने के लिए हुंकार भरेगा. mp3उस लड़के ने मेरे भरे हुए दूध देखे, तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया. थोड़ी देर में रवि आ गया और कर्नल साहब और रीमा जी टीना और चिंटू को लेकर ऊपर चले गए.

जो भी मेरे साथ घटा था, आज मैं उसे इस सेक्स कहानी साइट के माध्यम से आप सबको बताना चाहता हूं. तो फिर पूरे दिन वो ऑनलाइन भी नहीं आई और ना ही फ़ोन लगा उसके पास।मुझे लगा कि मेरा पत्ता तो यहीं पर साफ हो गया. सच कहूँ तो समझ नहीं आ रहा था कि उसने अपनी योनि इस तरह कैसे बनायी रखी थी.

कुछ देर चुप रहने के बाद सायरा बोली- पापा कुछ ऐसा करो कि मैं आपके लंड को प्यार कर सकूं. क्या कहा भैन के लौड़े ने! डिम्पल राजी हुई कि नहीं, वरना किसी दिन उस रंडी को मैं पटक कर चोद दूंगा.

दो-तीन बार कोशिश करने के बाद मेरा आधा लंड उसकी बुर में चला गया और उसकी सील टूट गई.

मैं- तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी मां का महंगा शैम्पू चुराने की? मैं अभी जाकर उसको ये सब बता दूंगा और वो तुम्हारी गांड पर लात मारकर तुम्हें घर और काम से निकाल देगी.

मेरे भूरे निप्पल पर उसकी गर्म जीभ चाटते हुए मुझे बहुत मजा दे रही थी. भाभी ने भी उत्सुकता से पूछा- और क्या क्या क्या मिल सकता है?मैंने भी दम भरते हुए कह दिया- आप जो बोलो, सब मिल जाएगा. तब तक आप मुझे मेल करके बताएं कि सेक्स कहानी में कितना मजा आ रहा है.

वैसे जो कमरा मुझे किराये पर मिला था, उसमें‌ एक छोटा बेड, अलमारी और छोटा-मोटा सामान पहले से ही था. पर अपने बेटे के कमरे में इस तरह जाना भी गैर मुनासिब था, इसलिए मैं खिड़की के बाहर खड़ा होकर अन्दर का नजारा देख रहा था. दोपहर के 3 बजे जब मेरी नींद खुली तो वो भी जाग रही थी।हमने बाहर जाकर हल्का नाश्ता किया और वापस आ गए।फिर हमने काफी टाइम पास किया.

मैंने उससे ये फोटो अपने मोबाइल पर भेजने को बोला तो उसने सिर्फ मेरी वाली भेजी … हम दोनों के साथ वाली नहीं भेजीं.

पिछली रात को हुई मेरी चुदाई के बारे में ही मैं सोच रही थी बस!मैं सोच रही थी कि कहीं आज भी तो जॉन्सन मुझे अपने पास नहीं बुला लिया तो?अगर ऐसा हुआ तो आज तो वो मेरी चूत का कीमा बना देगा।बिस्तर पर लेटी हुई बस मैं यही बात सोच रही थी कि तभी फोन बजा. थोड़ी देर में ही उसकी चूत ने मेरे लंड को जगह दे दी और वो आराम से नॉर्मल होकर चुदने लगी. वो शायद सोच रही थी कि मैं उसे छेड़ रहा हूँ क्योंकि एक तो मैंने कल रात ही गड़बड़ कर दी थी.

उसके बाद उसने अलमारी से मेरे लिए आरामदायक कपड़े निकाले और मेरी तरफ बढ़ा दिये. मैंने काउन्टर पर खुद को पति पत्नी लिखा था और उदयपुर से आया हुआ बताया था. मैं उसके निप्पल पर जीभ से चाट रहा था और बीच बीच में काट भी लेता था.

लम्बा मोटा लंड देखते ही उसकी आंखें खुली की खुली रह गईं और वो बोली- ओ माय गॉड … यह तो बहुत बड़ा और मोटा लंड है.

पर आपके मम्मों को जब तक मैं नहीं देख लूंगा, तब तक कुछ नहीं बता पाऊंगा. अब मैंने बिन्नी से पूछा- कैसा लग रहा है, दर्द तो नहीं हो रहा?बिन्नी- नहीं, बहुत मज़ा आ रहा है, करते रहो.

बीएफ चाहिए मुझे बीएफ जब ये मेरी चूत में जाता है … तो ही मेरी जान निकल जाती … और आप इसे गांड में घुसाने की बोल रहे हो. मैंने उनके मम्मों को देखा और उन्हें देख कर सवालिया निगाहों से देखा.

बीएफ चाहिए मुझे बीएफ प्रियंका नंगी ही उसके करीब गई और उसकी टी-शर्ट ऊपर करके उसके चूचों को देखती हुई बोली- तेरे इन रसीले आमों को भी जीजू चूसेंगे. मेरा हाथ भाभी की चूचियों पर चला गया और मैं उनकी चूचियों को दबाने लगा.

साथ ही मैं अपनी दो उंगलियां चुत में अन्दर बाहर करने लगा और जीभ भी अन्दर डाल कर चूसने लगा.

5 साल लड़की की सेक्सी

तो दोस्तो, मैं कहानी में कुछ हरियाणवी शब्दों का प्रयोग करूंगा क्योंकि ये मेरे कुछ दोस्तों की इच्छा है।अब मैं असाली बात पर आता हूँ. कुछ देर वो मेरे सामने नहाती रही और अपनी चुत में उंगली करके मेरे वीर्य को निकलने की कोशिश करती रही. दस बारह धक्के बाद मामी को मजा आने लगा और वो चुदाई का मजा लेने लगीं.

उसकी चूचियों के निप्पल मटर के दाने जैसे कठोर हो गये थे जिनको दो उंगलियों के बीच में लेकर मसलने में मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैं एक महिला में उसके मुँह और मम्मे देखता हूँ, लेकिन सन्नी को सिर्फ चुत से मतलब है, चाहे वो कैसी भी औरत या लड़की की हो. जैसे कि उसकी चुत कह रही हो कि मुझे जीभ नहीं, तुम्हारा लंड चाहिये … लंड देना है तो अपना लंड पेल दो, जीभ से मेरा क्या होगा? जीभ से तो मेरी आग और भी भड़क जाएगी.

पता नहीं क्या हो गया था मुझे … जो हर तरफ शायरा ही शायरा नजर आ रही थी.

मैंने मासी के मोबाइल से उस लड़के का नंबर निकाल लिया और अगले दिन उसको खोज कर अपने दोस्तों के साथ मिल कर अच्छे से उसकी धुलाई की. उसने मेरी रजामंदी समझ ली और मुझे चादर उढ़ा कर वो मेरी चुचियों से मस्ती से खेलने लगा. इस वजह से मेरी वासना सातवें आसमान पर पहुंच गयी और मैं ज़ोर ज़ोर से आंख बंद करके सिसकारियां लेने लगी.

अब मैं अपनी चाची के सिखाए हुए तरीके से अपनी मस्त मादक मामी को ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था. मैंने भाभी को कभी घोड़ी बना कर चोदा, तो कभी बेड के नीचे खड़ा करके पेला. उसकी मोटी गांड एकदम से चौड़ी फैली हुई थी और मेरा मन कर रहा था कि नीचे से इसकी चूत और गांड में लौड़ा घुसा दूं और इसे अपने लंड पर उछाल उछाल कर चोदूं.

मैंने नीरू से पूछा- डार्लिंग, क्या अब तुम गांड मरवाने को तैयार हो!तो नीरू हंस कर बोली- अगर मैं ना बोल दूं … तो कौन सा आप मान जाओगे. वो मुझे रोकने लगी, लेकिन मैं संयम नहीं रख पाया और एक तेज शॉट मार बैठा.

दोस्तो, अगर अपने एक वर्जिन चूत देखी हो, तो आप समझ सकते हैं मैं कैसा महसूस कर रहा था. मैं धीरे से उसके पास गया औऱ उसके मुँह पर हाथ रख कर उसे जगाया ताकि वो अचानक से किसी अजनबी को देख कर चिल्ला न दे. फ्रेश होकर चाय पीकर सभी साथ नहाये और ये तय हुआ कि कम से कम कपड़े पहने जायेंगे.

मैं बस अब सोच रही थी कि मुझे सजा देने के लिए उसका अगला कदम क्या होगा.

मुझे केवल लड़कियों की नशीली आंखों और उनके यौवन का नशा अच्छा लगता है. कुछ देर बाद मैं हो गया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी क्लिट को अपने मुँह में भर कर खींचने लगा. इतने में उसने मुझे पलंग पर लिटा दिया और वो मेरी गांड को चाटने में बिजी ही गया.

मैं अब तक समझ चुका था कि यह भी मुझसे चुदना चाहती है और मेरा लंड अपनी गांड में और बुर में लेना चाहती है. वो बोले- अरे सब ले जाएगी सुहानी तू अपनी चूत में, तुझे पता नहीं है, आज कल की लड़कियां बड़े से बड़ा लंड ले जाती हैं.

अब काम की अग्नि मेरे अंदर भी जलने लगी थी और मेरे पति की शेरवानी और उनकी पजामी मुझे हम दोनों के जिस्मों के बीच में खलने लगी थी. ”ऐसा कहकर मुझे मेरे दर्द से जुदा करने के लिए वो फिर से मुझे मुँह से चोदने लगा. जी में आ रहा था कि फिर से कविता को अपनी बांहों में भर कर जीभर के उसके रसीले होंठों को चूम लूं.

rajasthani सेक्सी

पर प्रिया ने उसकी इतनी तारीफ कर ली थी कि मनीषा मिनटों में ही अजय से घुलमिल गयी.

मैंने कहा- पूरे कपड़े क्यों निकाल रही हो?बुआ ने कहा- बेटा कपड़ों में तेल लग जाएगा … इसलिए उतार दिए. फिर मुझे पकड़ कर अपनी योनि को मेरी तरफ़ ऐसे चिपका लेती, मानो मुझे अपने भीतर समा लेना चाहती हो. चूंकि हमारी क्लास में कोई नहीं था इसलिए हमें किसी ने आने को नहीं कहा क्योंकि बहुत कम बच्चे थे उस दिन.

इधर मेरी चूत भी उसकी जीभ को अपने समीप पाकर फड़फड़ाने लगी और नाभि से लड़ने लगी कि हट जा साली मेरी सौत … मेरे प्यार को अपनी गिरफ्त से आजाद कर … ताकि वो मेरे पास आ जाए. पिंकी बोली- एक आध महीने में अनिल की बीवी दीपा आ जाएगी, तब अनिल को कैसे बुलाया करोगे. चाचा भतीजी बीएफहम दोनों दुकान के अन्दर वाले हिस्से में पहुंचे, तो नौकर ने कमल की सीट साफ़ कर दी और मेरे लिए एक अलग से कुर्सी लगा दी.

मुठ मारते समय इतना आन्नद आया कि लगा यही जिंदगी का मजा है, इससे बढ़ कर कुछ ना है।फिर मैं सो गया. वाह … और जोर से वाह … फाड़ कर चीर दो … साली गांड है कि आफत है, बहुत लंड लंड करती है … आह आज फाड़ ही डालो रगड़ दो साली को … याद रखेगी कि किसी का लंड लिया था.

मैंने भी रिप्लाई दे दिया- बता क्या बात है?वो बोला- मुझे कुछ चाहिेए है. तभी पंकज ने मुझसे पूछा- कहीं अनिल गुस्सा तो नहीं होगा?मैंने अपनी टांग उसपर फेंकते हुए कहा- गुस्सा क्यूँ होंगे … वही तो मुझे भी मनाकर ले कर आए हैं और तुम्हें भी बुलाया है मेरी चुदाई करने के लिए. मैं आप लोगों से भी कहना चाहता हूं कि आप भी एक बार शनाया को जरूर आजमायें.

मैं यही कल्पना करती रहती हूं कि एक दिन मेरा बॉयफ्रेंड भी मुझे इसी तरीके से चोदेगा. उस पर तो पहले से ही फिदा था मैं!बस फिर तो मैंने उसकी नाभि को चूमना शुरू कर दिया. पर मेरे लंड की फड़कन और उसकी चूत की कुलाचें मुझे मतवाला बनने पर विवश कर रही थीं.

चूंकि चुदाई का मजा ले चुके थे तो हम दोनों अपनी चुदाई के मजे के बारे में ही बात करते थे.

मैं- बिन्नी, क्या रोहन और मैं बराबर हैं, क्या रोहन का लौड़ा ऐसा है?बिन्नी ने एक बार मेरी तरफ देखा और …तुरन्त लौड़े को मुँह में भर लिया और चूसने लगी. मुझे अविना को फिर से चोदने का हुआ तो मैं फिर से उसकी चुदाई में मग्न हो गया.

उसने मुझे बेड पर धक्का दिया और मेरे ऊपर बैठ कर मेरे होंठ चूसने लगी. सलोनी की बुर से रिसते खारे पानी को चाटते हुए मैंने उसकी बुर के लब खोलकर अपनी जीभ फेर दी. फ्रेश हुए चाय नाश्ते के बाद करीब आठ बजे हम लोगों ने स्टार्ट किया था.

वो हर तरह से सेक्स लाइफ को एन्जॉय करते हैं और सबसे कहते हैं कि जिन्दगी का मजा तो सिर्फ लाइफपार्टनर के साथ ही है. क्योंकि जिस उम्र की आप हैं … उस उम्र की इतनी खूबसूरत औरत मैंने अपने पूरे शहर में नहीं देखी. लगा जैसे चूत में किसी ने कोई सख्त चीज ठूंस दी हो!लेकिन लिंग की प्यास तो चूत को भी थी.

बीएफ चाहिए मुझे बीएफ प्रियंका ने मेरे लंड को हाथ से आगे पीछे किया और अपनी मुट्ठी में दबा कर मसलने लगी. फिर मैंने थोड़ी सी स्कॉच और गिरा ली और वो मेरे दोनों पैरों को चाटने लगा.

भाभी देशी पुश

मैं जब भी अपने सुहागरात वाले किस्से को याद करती हूं तो मेरा रोम-रोम आनंदित होता है और मैं चाहती हूं कि मेरी हर रात उसी रात जैसी हो।हर लड़की का सपना ऐसा ही होता है कि उसको उसके पति से ऐसा ही प्यार मिले।तो दोस्तो, अब आपको मैं अपनी सुहागरात में लिये चलती हूं. जब मैंने पहले दिन अपनी नयी देसी इंडियन मेड को देखा तो मुझे पक्का यकीन हो गया कि अब मुझे अपने लंड को बहलाने के लिए अपने हाथ के भरोसे नहीं रहना पड़ेगा. तब तक मैं मूवी ढूंढ तो लूं कोई देखने लायक?फिर उसने मरे से मन से अपना पासवर्ड बताया.

मामी तड़फ रही थीं और उनको लग रहा था कि मैं अभी कुछ देर तक उनको और सताऊंगा. मुझे मिलती हैं तो तुम लोगों के साथ बांट भी लेता हूँ। तुम तो साले वह भी नहीं करते।ऐसी खुले दिल वाली मिलती किधर अपने को!एनी वे, तमाशा बहुत हो गया। अब चोदते हैं. देहाती हिंदी सेक्स बीएफअपने चूचों पर क्रीम या ऑलिव आयिल से नीचे से ऊपर की ओर मसाज किया करो या करवाया करो, जिससे वो हार्ड ओर मस्त आकर में तने रहेंगे.

इस बार दीपावली पर जब मैं मामा के घर गया था, तब शीतल मुझसे रूठी हुई थी.

वो- डॉक्टर की ज़रूरत नहीं है, बस थोड़ा आराम करूंगी … तो ठीक हो जाएगा. वो मेरे होंठ, गाल और कान की लौ को चूसने और चुभलाने लगा।मेरे कान की लौ को जब उसने अपनी जीभ से छेड़ा तो मैं तो बेसाख़्ता ही उससे लिपट गयी और ज़ोर ज़ोर से उसे अपनी ओर खींच कर दबाते हुए उसकी पीठ पर अपने हाथों से सहलाने लगी।उसका लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और पंकज के ऊपर गिरी हुई अवस्था में ही मैंने खुद को अपनी टांगों के द्वारा थोड़ा एडजस्ट करके उसके लंड को अपनी चूत के ठीक बीचोंबीच दबा लिया था.

आप सबको भी पता होगा कि औरत कितनी बुरी तरह से काटती है, ये हमारा गुप्त हथियार होता है. शायरा का रस्खलन होते ही मैंने अब उसके पैरों को थोड़ा और फैला दिया और थोड़ा तेजी से धक्के मारने लगा, पर इतनी भी तेजी से भी नहीं, जितना दूसरों के साथ‌ मारता था. सुनें मेरी कहानी!एक औरत खुलकर तो ये सब किसी को नहीं कह सकती है लेकिन कहानी के माध्यम से तो बता ही सकती है.

मेरे बालों को सहलाती हुई मेरे होंठों को चूमती हुई वो बिस्तर पर चित लेट गयी.

थोड़ी देर में ही मैंने लंड पर चुदाई चालू कर दी … और इसी तरह वो मेरे लंड को भी अपने मुँह में ले पा रहा था. मैंने उसे होटल बुकिंग के लिए बोला, जो कि उसने बड़ी ही जल्दी कर दिया और सारा प्रोग्राम फिक्स हो गया. उसने मुझे एक तरफ धक्का दिया, मेरे गालों को अपने हाथ से पिचकते हुए गुस्से से देख कर बोला- मेरा मुकाबला किसी और से मुझे बर्दाश्त नहीं.

फौजी की बीएफ सेक्सीउनसे हमारे घर के पीछे दायीं और उनका प्लाट है जहां एक कमरा बना है और आगे की जगह खाली है तो वो वहां भैंस बांधने आती और दोपहर को घर ले जाती हैं तो कभी कभी मेरी मां से उनकी बात हो जाती।चाची का घर गांव के अन्दर है तो वो बस प्लाट में भैंस बांधने आती और फिर लेने!मेरे मन में कोई गलत ख्याल नहीं था चाची के लिए. मैंने अपना मुँह तो दूसरी तरफ कर लिया मगर फिर भी कभी कभी चोरी से उसकी‌ ओर भी देख‌ ले रहा था.

सेक्सी मलयालम सेक्सी मलयालम

लेकिन ये स्ट्रिप पोकर क्या होता है?प्रिया भाभी ने कहा- देखो यहां कोई बच्चा तो है नहीं, हम सब एडल्ट हैं. हम दोनों ने एक-दूसरे की आंखों में बड़ी शिद्दत से देखते हुये एक-दूजे के कपड़े कब निकाल दिये ये हमें तब पता चला जब मेरा अंडरवियर मेरे घुटनों पर और उसकी पैंटी उसके घुटनों पर जा अटकी. मैंने उसकी बुर से उंगली निकाल कर उंगली चूसी तो उसकी बुर का नमकीन माल मुझे बड़ा स्वादिष्ट लगा.

नमस्कार दोस्तो, मैं कई वर्षों से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं, यहां की लगभग हर सेक्स कहानी मैंने पढ़ी है. फिर उसने मेरी पैंटी निकाल दी और मेरी छोटी सी चूत उसके सामने नंगी हो गयी. मैंने चाचा जी से कहा- क्या मैं लंगोट में ही सो जाऊं?चाचा जी ने कहा- हां सो जाओ।मैंने पूछा- कहीं रात को लंगोट खुल गयी तो?तो चाचा जी ने कहा- नहीं खुलेगी.

मेरे द्वारा पूर्व में लिखी सत्य घटना पर आधारित सेक्स कहानी पतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्ना के अब तक काफी भाग आपके समक्ष आ चुके हैं, जिन्हें आप सभी लोगों ने काफी सराहा है. पर दर्द और मजे में, मजे की मात्रा ज्यादा थी, तो मैंने भी उसके सर में अपने हाथ से मेरी गांड में धकेलना चालू कर दिया. वो तेजी से मुझे चोदे जा रहा था और मैं सिसकारने लगी थी- आह्ह … हर्ष … ओह्ह … बेबी … मैं तुमसे प्यार करती हूं … आह्ह … ओह्ह जान … ओह्ह … आई लव यू.

मैंने जोश में पूछ लिया- सब अकेले ही!तो उन्होंने भी फोटो की तरफ देख कर कहा- मैं अकेली कहां हूँ. मैं- और?वो- तुम्हारी हर बात अच्छी लगी, तुम मुझे प्यार भी करते हो और मेरा ख्याल भी रखते हो, इतना तो मेरा हज़्बेंड भी नहीं करता.

ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो गलती हो जाना स्वाभाविक ही है, प्लीज़ वो सब नजरअंदाज कर देसी सेक्सी लड़की की पहली चुदाई का मजा लीजिएगा.

फिर एक पल रुक कर वो मेरे लंड को सहला कर बोली- ऐसे लंड के लिए औरत कोई भी कीमत दे सकती है. सेक्सी वीडियो बीएफ सनी लियोन काउसी वक्त चाची की चूत ने भी पानी छोड़ दिया और हम दोनों साथ में ही झड़ गये. बीएफ वीडियो देखे वालाबात करने पर पता चला कि सब कॉलेज में पढ़ती हैं, ये सब पैसों के लिए और मजे के लिए करती हैं ताकि भोपाल जैसे मंहगे शहर में शॉपिंग और मस्ती कर सकें. एक तो उनको चाचा का लंड नहीं मिल रहा था और ऊपर से मेरे जैसा जवान लड़का घर में था.

फिर चाचा जी ने भी अपने लंड पर वैसलिन लगा ली और उसे पूरा चिकना कर लिया.

साफ़ चुत देख कर मैंने एक बार अपना मुँह विमला की बुर में डाल दिया और जीभ को उसकी बुर में चारों तरफ घुमाने लगा. आज मैं ही उसकी गर्लफ्रेंड की चुदाई करने वाला था और उसकी गर्लफ्रेंड अपने बॉयफ्रेंड के दोस्त से चुदवाने के लिए तड़प रही थी।पहले मैंने मीनू के टॉप को उतार और उसकी ब्रा मेरे सामने आ गयी. पहले तो मैंने अभिषेक की शर्ट का एक बटन खोला और उसके सीने पर एक ज़ोर की लव बाईट दिया … मतलब काट लिया.

उनका सख्त लंड मेरे मुँह में जगह बनाता हुआ घुस गया और हलक तक जा कर अटक गया. वो- ऐसे?मैं- तो क्या करता? तुम्हारे बिना ये मान ही नहीं रहा था … इसलिए मैं इसे हाथ से ही तुम्हारा प्यार दे रहा था. मुझे चूत में लंड लेने का अब मजा मिलना शुरू हो गया था और दर्द हल्का पड़ गया था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी देसी मूवी

करीब पंद्रह मिनट निशि की गांड मारने के बाद जैक झड़ने को आया, तो जैक और रोनित ने अपनी जगह बदल ली. इतना सुनते ही वो खुश होकर बोली- क्या सच में?मैंने कहा- बिल्कुल सच … डॉक्टर ने अनुमति दे दी है कि जब तक इच्छा हो, तब तक आप यहां रुक सकते हैं. मैं सोनिया वर्मा फिर से आपको सेक्स कहानी का मजा देने के लिए हाजिर हूँ.

मैंने दूध पी लिया।उसने अपनी सास को फोन किया- कब तक आओगी?वो बोली- बाजार में हूं। एक घंटा लग जाएगा.

पिंकी चुदवाते हुए बोली- तुम सिर्फ बातें करते हो … और जब तक अनिल गर्म होता है, तो तुम उसे भगा देते हो.

सुपारा, टट्टे और उसकी हल्की हल्की झांटों में मेरा थूक ही थूक हो गया था. मुझे इस तरह देखने से वो मुझसे इशारे से पूछने लगी- अब क्या हुआ?मैं सायरा के समीप गया और बोला- रूई, कैंची और हेयर रिमूवर लेकर आ जा. भोजपुरी में सेक्सी बीएफ भोजपुरी मेंमैं उनकी तरफ देखने लगा, तो भाभी जी ने एक हल्की सी मुस्कान बिखेर दी.

मैंने कहा- सिर्फ अच्छा!वो बोली- तो मैं क्या बोलूं अपने पति के सामने … किसी दूसरे मर्द की बढ़ाई करूं क्या … आप भी ना!मैंने बोला- हां मेरी पतिव्रता बीवी. वो- तुम मेरी इतनी तारीफ करते हो फिर भी … या फिर बस मुझे पटाने के लिए ही तारीफ करते हो?मैं- तारीफ … तारीफ तो तुम हो ही ऐसी कि तुम्हें देखते ही अपने आप मुँह से निकल गई. धीरे धीरे मोहित ने पूरा लंड स्वाति भाभी की गांड में डाल दिया और ऊपर से धक्का लगाने लगे.

अब मकान मालकिन को तो बुढ़ापे में महीना आने से रहा, बाकी रही तुम … तो वो तुम्हारा ही होगा ना?मेरी इस वात पर शायरा एक बार तो शॉक्ड हो गयी और फिर हंसते हुए बोली- मैं बताती हूँ तुझे … तू रुक अभी … तू बहुत कमीना है. मेरी कमर के पीछे किसी ने अपनी छाती सटा दी और अपने बाएं हाथ से मेरी छाती से मुझे दबोच लिया.

मैं बोली- हां, मैं चुदी तो बहुतों के लंड से हूँ लेकिन तेरे जैसा कोई नहीं है.

मैंने बिन्नी को सीधा किया और 69 की पोजीशन में आ कर उसकी चूत को चाटने लगा. दूसरी बार में ही उसने अपनी टांगों से मेरे गर्दन को जकड़ लिया और ऐसे ही पूरी ताकत से अपने बदन को लहराती रही. मैं- अरे मेरी जान मैं मदहोशी में था … क्या करूं अन्दर छोड़ने का बड़ा मन था … तो कर दिया.

बीएफ भेजिए बीएफ वीडियो मेरी पिछली कहानीपब में मिला एक हैंडसम आज्ञाकारी गुलामभी सभी पाठकों ने बहुत पसंद की थी. मैं भाभी को ऊपर से लेकर नीचे तक किस करने लगा और भाभी मछली की तरह छटपटाने लगीं.

मैं- सच कहूं … तुम ना दिन व दिन इतनी खूबसूरत होती जा रही हो कि मुँह खुलना वाजिब है. दो तीन बार घंटी बजाने पर भाभी ने दरवाजा खोला और उसी जालीदार दरवाजे से मुझे देखा. मैं भी अपना एक हाथ उनके सिर पर रखकर उनका मुँह अपने लंड पर दबाने लगा, जिससे मेरा साढ़े छह इंच लंबा लंड पूरा उनके गले तक जाने लगा और वो और जल्दी-जल्दी अपना मुँह ऊपर नीचे करने लगीं.

विदाई की सेक्सी वीडियो

मैं वापस आफ़िया भाभी के रूम में आ गया और डोरलॉक करके बेडरूम में आकर भाभी को देखने लगा. अब उसका खड़ा लंड जो कि लगभग आठ या साढ़े आठ इंच का होगा, मैंने उसको महसूस किया. मैं टेबल पर नंगी लेटी थी और मेरा मुंह व बूब्स टेबल पर दबे थे और हाथ हवा में थे.

इस बीच में उसका पति वाशरूम चला गया, तो बीवी झटके से उठकर पति के दोस्त की गोद में बैठ गयी और दोनों के होंठ मिल गए. चूंकि हमारी क्लास में कोई नहीं था इसलिए हमें किसी ने आने को नहीं कहा क्योंकि बहुत कम बच्चे थे उस दिन.

फ़ास्ट सेक्स की कहानी के पिछले भागबॉयफ्रेंड के बॉस को रूपजाल में फंसायामें आपने पढ़ा किअब आगे की फ़ास्ट सेक्स की कहानी:यार डॉली, तुम भी मुझे योगेश के नाम से ही बुलाओ तो ठीक रहेगा।” योगेश ने हल्के से मेरी जांघ को दबाते हुए कहा कहा।यह रोहित कब तक आएगा?” योगेश ने थोड़ा बेफिक्री से पूछा।मैं रोहित से पूछ लूं क्या?” मैंने दबी आवाज में योगेश से कहा।योगेश ने खुद रोहित को फोन लगाकर पूछा कि वह कब तक आएगा.

बल्कि उनके एक‌ दोस्त के रिश्तेदार के घर मुझे एक कमरा किराये पर दिलवा दिया. अभी लगभग दो ही मिनट हुए होंगे कि उसने अपना मुँह पीछे खींच लिया और मुझे उठा कर खुद अलग खिड़की के पास जाकर खड़ा हो गया. इतने में ही चाची ने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसकी मुठ मारते हुए सिसकार कर बोली- आह्ह … चोद दे ना तानु … जल्दी से चोद दे मुझे … मेरी प्यास मिटा दे … इतना बड़ा लंड है तेरा … मैं तो रोक नहीं पा रही हूं खुद को … तेरे चाचा का तो इसका आधा है.

मोहित हंसने लगे और बोले- मैंने स्वाति से कहा था कि तुम्हारा प्रोग्राम कल का रखते हैं, लेकिन वो बोली कि नहीं आज ही बुला लो. मैं- और एक बात…वो- क्या?मैं- दाल चावल पक गए होंगे … बहुत देर से कुकर में सीटियां आ रही हैं. शायरा की भी चीख निकल गयी, पर उसके होंठ मेरे मुँह में थे, इसलिए उसकी दबी हुई चीख मेरे मुँह में ही दबकर रह गयी.

उसने नीचे जाकर ऊपर मेरी खिड़की की ओर देखा तो मैंने उसे हाथ को चूम कर किस का इशारा किया.

बीएफ चाहिए मुझे बीएफ: अब आगे की न्यूड भाभी की मस्त चुदाई कहानी:भाभी मुझे आने से मना करने लगी वो बोली- मैं तुम्हारा खाना यहीं बना देती हूं, आज यहीं सो जाओ. वो आगे बोला- जितना तुम्हारे बारे में राजेश ने बताया था, तुम उससे दो कदम आगे हो.

इसका हल सायरा ने निकाला, उसने मुझसे अपना हाथ छुड़ाया और वो मेरे लंड को पकड़ कर अपनी कमर को उचकाते हुए लंड को चूत में लेने लगी. अब आजकल मैं जब भी अपनी बहन की गांड को चोदने के बारे में सोचता हूं तो मैं दिल्ली सेक्स चैट पर अपनी गर्लफ्रेंड रोजी के पास चला जाता हूं. अब मैं शिमला में थी और अब मेरी पहला काम था … कोई सस्ता और अच्छा सा होटल देखना, जिसको देखने के चक्कर में मुझे दो घंटे हो गए.

चुदाई की काफी शौकीन लग रही थी वो!करीब दस मिनट तक हम ऐसे ही चुदाई करते रहे.

उस समय मैं भीगी हुई थी और उसने मेरी ड्रेस के नीचे से मेरी गांड देख ली और तुरंत बोला- ओह! सॉरी … सॉरी। लॉक खुला हुआ था और मैंने आपको देखा नहीं. उसके कपड़ों से लग रहा था जैसे जॉब से लौट रही हो।उसकी सफेद शर्ट और ब्लैक पैंट में से उसका सुडौल बदन कपड़े फाड़कर बाहर आने को हो रहा था। उसकी शर्ट 36 साईज के बूब्स पर ऐसे कसी हुई थी कि उनके बीच से हवा भी पास न हो सके. प्रिया भाभी भी बीच बीच में ट्विंकल की चुत के दाने को सहलाती और कभी उसके और मेरे जिस्म को चाटती जातीं.