देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

गंदा शायरी वीडियो: देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी, अंदर जाकर उसने जूस बनाया और मुझे दिया।फिर थोड़ी इधर उधर की बात हुई, फिर मैंने बोला कि एक्सरसाइज शुरू करते हैं।वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी। वहां पर ज्यादा जगह नहीं थी तो मैं उसे बेड पर ही लेट कर एक्सरसाइज बताने लगा।उसने वो सब कर ली तो मुझे बोली- मेरी कमर में दर्द हो रहा है, प्लीज थोड़ा दबा दो.

फ़ास्ट टाइम सेक्स

उसने पुलकित की ओर देखा- तुमने तो मुझे मार ही दिया था, मुझे नहीं पता था कि सेक्स करने में इतना मज़ा आता है, मेरे तो सारा बदन झनझना उठा है. हिंदी बीएफ चुदाई वीडियो मेंक्या हुआ?वो मुझे देख कर रो पड़ी, मुझे बांहों में भरके काँपते हुए रोते हुए बोली- माया दीदी कुछ भी ठीक नहीं है.

मैं बेड से नीचे आ गया और उसे बेड के नारे करके उसके पैर ऊपर हवा में उठा दिए, मैं वहीं से उसकी चूत चाटने लगा. सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्स सेक्सहां पर ये सारी बातें जैसे भूल जाओगे कभी मुझसे भी जिक्र मत करना, जब तक मैं खुद न करूँ.

वो फिल्म मैं भाभी के साथ देखूँ, फिल्म देखते हुए हम दोनों एक दूसरे के हस्तमैथुन कर सकें!14.देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी: लेकिन पिछली बार की डाँट की वजह से मैंने इस बार भाभी पर कोई भी रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये.

जैसे ही मैं उसे किस करते नीचे पहुँचा, उसने मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत पर लगा दिया और बोली- चूस इसे.पार्टी में मेरे भैया मेरे इस रूप को देख कर समझ ही नहीं पाए कि ये कौन है.

बंगाल का सेक्सी वीडियो बीएफ - देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी

मैंने एक हाथ पिंकी की कमर कस कर पकड़ ली और दूसरे हाथ से उसका मुँह बंद कर दिया.कहा, तभी गीतांजलि ने मेरे पजामे में से मेरा लंड निकाल लिया और सिमरन से पकड़ कर चेक करने को कहा.

मैंने कहा- हां भाभी, अभी शिवानी की चूत में अपना लंड डाल कर उन्हें चोद कर आया हूँ. देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी आंटी ने बेटियों की तरफ़ इशारा करके कहा- अच्छा ये मेरे लिए और उनके लिए नहीं?कुणाल- क्यों नहीं आप चाहें तो उनके लिए भी है.

मेरे दोस्त को उसकी गर्लफ्रेंड का कॉल आ गया, शायद उसे कहीं जाना था तो उसने मेरे दोस्त को बुला लिया.

देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी?

उसने मिनी स्कर्ट पहना था और ऊपर से डीप नेक का टॉप जिसमें से उसके मोटे मोटे मम्मे बाहर निकलने को तैयार हो रहे थे और उसकी सफेद गोरी टाँगें मेरे लंड को झड़ने से नहीं रोक पा रही थी. ? डार्लिंग लंड चूसने के बाद चूत मरवाने और मारने में ज़्यादा मजा आता है. पर मैं इतना कह सकता हूँ कि यह मेरी सच्ची चोदन कहानी है।आप सब मुझे मेल करके अपनी राय दे सकते हैं कि कैसी लगी मेरी कहानी।मैंने अब तक लगभग 25 लड़कियों के साथ चोदन किया है.

शुरू शुरू में तो मैंने रूप आंटी की तरफ कुछ ख़ास ध्यान नहीं दिया। लेकिन दो ही महीने के बाद एक दिन ऐसा आया. लड़कों के लिए वहीं पास में एक हॉस्टल था लेकिन मैं बाहर ही एक कमरा लेकर रहता और अपनी पढ़ाई किया करता था. मैं भी हिम्मत न हार कर उनसे साफ साफ लहजे में बोलने लगा कि मैंने तो आपको पहले ही बोल दिया था कि मैं आपको प्यार करता हूँ.

तभी बस की स्पीड स्लो हुई तो मैंने थोड़ा नज़दीक जाकर बोला कि आंटी आप थोड़ा इधर हो जाओ. तो सर ने कहा- तो मैं भी तो तुम्हें अपनी बहन दे रहा हूँ और इतनी बड़ी पोस्ट, जिसके लिए जिंदगी भर लोग मरते हैं. साथ ही साथ बीच बीच में अपनी जीभ उसकी चूत में अन्दर तक डाल कर रगड़ देता था.

मुझे देखते ही दीदी चिल्लाई- ये क्या बदतमीज़ी है? नॉक करना नहीं आता तुम्हें?अपनी पैंटी ऊपर करते हुए बोली अंजलि दीदी. मैंने भाभी के रूम के पास जा कर देखा कि भाभी गहरी नींद में सो रही हैं तो मैं भाभी के पास बेड पर जा कर लेट गया.

उसके मम्मे बड़े सफेद और मोटे थे जिन्हें देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.

मोहन लाल- मतलब तुम भी अपने बाप से चुदती थीं?मयूरी- जी पापा… और अपने भाइयों से भी.

ध्यान रखें कि आप घटनाक्रम के साथ बहते चले जाएं, इससे आपके मन में स्वतः ही विचार आते चले जायेंगेऔर कहानी का प्रवाह और तेज होता चला जाएगा. मैंने ये सुनते ही एक जोश में आकर एक जोर से झटका दिया और अन्नू भाभी की चूत में मेरा लंड जड़ तक घुस गया. नहीं तो एक तू है जिसने ज़रा सा लंड चूत में घुसते ही सारा घर सर पर उठा लिया था, पेलो मामा पेलो और ज़ोर से पेलो अपना लंड मेरी गांड में.

तभी एक अंकल बोले- यार, आरती के नीचे मैं हो जाता हूं और इसकी मस्त गांड में मैं अपना लंड डाल देता हूं, आरती तुझे बहुत मजा आयेगा अगर एक साथ चूत और गांड चुदवाओगी. उसके दिमाग में पता नहीं क्या सूझा कि वो हल्के से मुस्कुराई और बोली- तुम लोग घबराओ नहीं. अगले दिन ननद ननदोई जी चले गए, ननद जाते समय बोली- भाभी, अगर इनको काम में देर हो जाएगी तो ये आपके यहाँ रात को रुक जाया करेंगे.

हम बाहर निकले, पर उसे धूप बहुत लग रही थी… तो उसने कहा- यार बहुत तेज धूप है, गरमी लग रही है, ठीक नहीं लग रहा.

जब वो ऑफिस में अंदर आई तो शायद उसने बोर्ड देखा कि चप्पल बाहर उतारनी हैं और जब सैंडल उतारने को झुकी वो तो मैंने देखा कि उसने गहरे गले का ब्लाउज पहना है. ऑफिस के बाद दारु पीना और लेस्बियन सेक्स करना इतना ही काम बचा था हमारे पास. फिर जबसे मैंने एक बार माँ और बेटे की चुदाई का वीडियो देख लिया तब से तो बस मैं अपनी मॉम को लेकर कामुक हो गया था, मुझमें बहुत ज्यादा सेक्स फीलिंग यानि वासना आनी शुरू हो गई थी.

यह कह कर उसने मेरी कमर पर किस कर लिया, फिर पेट पर कर लिया और आगे मेरी क्लीवेज में तो जुबान ही लगा दी. फिर उसने ग्लास में पड़ी रेडवाईन को स्तनों पर डाल दिया, वो नीचे जाती हुई उसके पेटीकोट के अन्दर चली गई. अपनी चूत को और गांड को भी पोंछा और फिर पैंटी, टॉप और जीन्स धुलने के लिए डाल दी.

मुझे नहीं लेना। जो सीनियर था, उसने डपटा- चेक तो करना पड़ेगा मैडम। सरकार हमें हर आदमी के लिए अलग मशीन नहीं देती।अब तक मैं देख चुकी थी कि पांचों हट्टे कट्टे जवान थे.

मैंने कहा- एक लड़के और लड़की के बीच में जो सब रजामंदी से होता है, वो सही होता है. आनन्द- जानू, मैं तुम्हारे लिए रेड वाइन लाया हूं और तुम चाय बना रही हो.

देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी आप अपना मोबाइल नंबर बता दीजिये, मैं देख कर कॉल कर दूंगीअमित- ठीक है लिख लीजिये. मैं अपने देश की राजधानी दिल्ली का रहने वाला हूँ और इंजीनियरिंग कर रहा हूँ.

देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी भाभी को अत्याधिक पीड़ा हो रही थी तो भाभी ने मुझे थोड़ा रुकने को कहा तो मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. चोदन कहानी का पहला भाग :रिश्तेदारी में आई लड़की को पटा कर चोदा-1कहानी का दूसरा भाग :रिश्तेदारी में आई लड़की को पटा कर चोदा-2अब तक की चोदन कहानी में आपने पढ़ा कि मैंने नेहा की चुदाई के लिए उसकी चूत पर अपना लंड टिका दिया था और अपने लंड को उसकी चूत से बार बार टच कर रहा था, ताकि वो उतावली हो जाए.

अगले दिन से वो ठीक 4 बजे शाम को आ जाती थी और हम दोनों पहले पढ़ाई फिर योगा करते थे.

बीएफ सेक्स अंग्रेजों का

शिशिर ने भी दो चार धक्के और लगाए और सलमा के ऊपर लेटकर लम्बी लम्बी साँसें लेने लगा. फिर कुछ देर बात करने के बाद ननद मेरी सास के साथ एक पड़ोसी के यहाँ चली गई. मैंने बहुत ही मेहनत से पढ़ाई की और अपनी 11 वीं की परीक्षा बहुत ही अच्छे नंबर से पास की.

उसने मुस्कुरा कर कहा- हेल्लो जी, क्या देख रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं. बहुत बड़ी है यार, किसी को पता लग गया तो शामत आ जाएगी और आज तो इत्तफ़ाक़ से मैंने एक्सट्रा क्लास का बोला था, तब यहां आ गई हूँ. अब तक हमारी रुसी गुड़िया किड के साथ बिल्कुल खुल चुकी थी और ओमार संग मेरी उपस्थिति में भी बिना शर्माए अपनी नर्म गुलाबी जीभ से चप-चप की आवाज के साथ किड के लंड को चाटने में लगी हुई थी!अब तक सिलिकॉन के लंड को एक तरफ फेंक ओमार अपनी उंगलियों को मेरी जीवनसंगिनी की गांड में नचाने लग गया था, कभी एक चूत में, दूसरी गांड में, कभी दो चूत में और एक गांड में, तो कभी दोनों छेदों में दो-दो उंगलियाँ घुसेड़ते हुए.

उसके हाथ मैंने अपने हाथों से पकड़े, अपने होंठ उसके होंठों पर रखे और उसकी आवाज रोकी.

चूंकि वो बहुत गोरे थे इसलिए उनके चेहरे पर काली मूंछें बहुत प्यारी लग रही थीं. अब मैंने उनसे कहा- अंकल हम ऐसा करते हैं कि आप मेरे मुँह की तरफ लंड कर लीजिये और मैं अपना लंड आपके मुँह की तरफ कर लेता हूँ. अमित ने मुझे अप्रत्यक्ष रूप से बता दिया था कि वो मुझे 5 मिनट के लिए गले से लगाएगा और मैं फिर भी राजी हो गई थी.

काजल फिर से चीख पड़ी, पर उसको इस बार दर्द से ज्यादा सुख का अनुभव हो रहा था. धीरे धीरे मैं अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा, अब उसे भी अच्छा लग रहा था. अगर तुम्हें कष्ट हो रहा है तो अब हम तुम्हारे साथ कोई जबरदस्ती नहीं करेंगे!” ओमार बोला.

खाना खाने के बाद मैंने बोला- यार आज बहुत धूप है और लेक्चर भी बोरिंग है. जलेबी आदि रख दिया और बोलीं- बेटा ये घर की बनी जलेबी है, बाजार की नहीं हैं.

फिर जब मम्मी दूसरे कमरे में गयी तो बहन को गले मिला, मैं कभी गले नहीं मिलता था पर उस दिन मिला और अपनी बाहों में उठा लिया. अरे अब थोड़ा धरम करम में भी मन लगाया करो!” रानी जी ने मुझे ज्ञान दिया. तभी मेरा ध्यान गांड में अंदर बाहर होते लंड पर गया जिस पर खून लगा हुआ था.

फ़िर मैं दीदी की गर्दन को चूमने लगा, दीदी पीछे चेहरा घुमा कर मुझे चूमने लगी। मैंने दीदी का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया। दीदी घूम कर मेरे सामने आ गई और मेरे लंड को जम कर दबाने लगी.

मैंने उसकी गांड को पीछे से पकड़ा और जबरदस्त झटके लगाने शुरू कर दिए. माया कुछ ऐसा कर कि जिससे तेरी बहन वर्षा को भी रोज लंड की तलब लग जाए और वो लंड के लिए तड़पे. अभी हम थोड़ा आगे ही चले थे कि आगे एक ट्रैफिक जैम में फँस गए और अचानक तेज बारिश शुरू हो गई.

”कुछ देर धकापेल के बाद मेघा कराहने लगी आआअ मेरा पानी निकलने वाला है. हां, अब उसने टांगें चौड़ी कर लीं, गांड अपने आप लंड की ठोकर से ढीली हो गई, मैंने उसके होंठ चूसने चालू कर दिए, उसकी पीठ पर हाथ फेर रहा था, अब वह शांत था, उसकी गांड अपने आप ढीली कसती, ढीली कसती होने लगी, वह लंड का मजा लेने लगा था.

माया ने अपना हाथ अमित से छुड़ाया और उस्मान से कैमरा बंद करने की कहने लगी. चलो फिलहाल मुझे पसंद आई और फिर वो पैसे और ड्रेस, घड़ी आदि सब अपनी अल्मारी में रख के बंद कर दिए और आकर लेट गई. अंजलि थोड़ा मुस्कुरा कर बोली- मैं नहीं जा रही कहीं…अंजलि दीदी को मुस्कुराती देख मेरी जान में जान आई मैं कुछ बोल पाता कि वो फिर बोल पड़ी- देखो… घबराओ मत, मुझे भी आज किसी की जरूरत है… कितने समय से बस इस डिल्डो से मास्टरबेट कर रही हूँ.

हिंदी वीडियो बीएफ बीएफ

दूसरे दिन मैं मेरी पसंदीदा शर्ट पहन कर ठीक टाइम पर उसके बताये कैफे में पहुँच गया.

ये कहते हुए पीछे से मेरी एक चूची को पकड़ लिया और एक हाथ से मेरे चूतड़ों को दबाने लगा. इसी लिए हम आज अच्छे दोस्त है जो एक दूसरे की खुशियों का ध्यान रखते हैं।तभी मौसी ने कहा- तू ये बात किसी को मत बताना प्लीज!मैं चुप थी. ”और कोई भी सीनियर लड़का मेरी स्कर्ट उठाकर, मेरे छोटे छोटे गोरे चूतड़ों को थपकी देते हुए मुझे दीवार के सहारे झुका देता.

फिर मैंने अपने हाथ उसके पीछे ले जाकर उसके दोनों चूतड़ों को अपने हाथों में लेकर सहलाए, जिसका मोनिका पर कोई असर नहीं दिखा. और अभी तो भाभी का नौवाँ महीना बाकी था साथ ही अभी बच्चा भी होना था इसलिये हम किसी रिश्तेदार को बुलाने के लिये सोचने लगे. बीएफ देसी वालाविक्की ने यहाँ मुझे तैरने के लिए कहा तो मैंने कहा- इस ड्रेस में कैसे?विक्की ने कहा- मैं स्वीमिंग ड्रेस लाया हूँ.

अब मैं केवल पैंटी में रह गई थी क्योंकि इस ड्रेस में वो डोरी वाली ब्रा नहीं पहनी थी, जो मैं पहन के कॉलेज गई थी. पापा ने बताया कि बेटा जयपुर में तो अपना पड़ोसी बॉबी यादव भी रहता है.

तो मित्रो, पहली बात तो ये अच्छी तरह से समझ लें कि कोई भी सेक्स कथा किसी अन्य साहित्यिक रचना की तरह ही होती है अब ये किसी पाठक का अपना खुद का दृष्टिकोण है कि वो इन कहानियों को किस दृष्टि से देखता है. इतनी टाइट महसूस हुई मुझे उसकी चूत… ये या तो काफी टाइम बाद सेक्स करने का असर था।उसे भी थोड़ा दर्द हुआ पर धीरे धीरे वो अपनी चुत चुदाई को एन्जॉय करने लगी. कॉलेज जाना, कोचिंग जाना, अवी से बात करना और अमित से बात करना यही सब चलने लगा.

माया ये जानती थी और वो फैसला कर चुकी थी कि जब सब सम्मोहित हो ही चुके हैं, तो क्यों ना डील को फाइनल किया जाए जिससे एमडी पे वो अपनी धाक जमा सके. परन्तु इस पर नियन्त्रण के कारण यह लोगों की सोच के केंद्र में आ गया है। जैसे इंसान को भूख लगती है, वैसे ही सेक्स की जरूरत महसूस होती है. दीदी भी तेज़ी से सिसकारियाँ लेते हुए मुझे उनकी गांड चोदने को बोल रही थी- आहह… पेल मेरे राजा… पेल अपनी रंडी दीदी को… गांड फाड़ दे… अपनी… दीदी … की।मैंने दीदी की बात सुनी और हाथों को दीदी की कमर से हटा कर दीदी के बूब्स पर रखा और बूब्स को मसलने लगा। मैं दीदी की बातें सुन कर खुश होने लगा, अब शिखा दीदी को भी बड़ा मज़ा आ रहा था.

उनके मम्मों का साइज 34 इंच है, भाभी के चुतद भी 34-35 इंच के तो होंगे ही… भाभी का रंग एकदम दूध जैसा गोरा और होंठ तो इतने रसीले की उनको देखते ही उन पर टूट पड़ने की इच्छा हो जाए.

सुबह जब जागी तो मैंने देखा कि अमित के 20 और नए नंबर से 35 एसएमएस आए हुए थे. मैंने फोन लिया तो ललित बोला- प्रकाश यार, मुझे आफिस के काम से चार दिन के लिए दिल्ली जाना है.

अब तक की चुदाई, कॉल और फ़ेसबुक और व्हाटसएप पर ही होती थी लेकिन अब रियल चुदाई का टाइम आ गया. एक दिन मुझे अपने सेल फोन में पड़ोस की लड़की का नंगा फोटो दिखाया और कहने लगा कि मैंने इसको चोदा है. सन्नी- लेकिन सर अगर वो नहीं माने तो?अमित- उसका एक ही इलाज है… जब भी उसके साथ हल्का फुल्का कुछ करो तो मोबाइल पर उसकी क्सक्सक्स वीडियो बना लो.

इस प्रकार हमारे बीच बातों का हल्का फुल्का दौर चला और मैंने बताया कि मैं क्यों मॉल आया और क्यों पार्किंग में टाइम पास कर रहा था. मैं जोर जोर से एक हाथ से उसके चूचे दबाता रहा और मुँह से दूसरे चूचे को काटता रहा. मेरा तो दिमाग़ ही खराब हो गया, इतने खूबसूरत चूचे थे, इतने गोरे गोरे कि मेरा तो लंड सीधा खड़ा हो गया.

देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी मैं धीरे धीरे उसके कपड़े उतारने लगा अब वो बस ब्रा और पेंटी में ही थी. ”अरे यार मैं तेरे लिए एक गिफ्ट लाया हूँ देखेगी?” गिफ्ट का नाम सुनकर मैं थोड़ा लालच में आ गई.

बीएफ वीडियो जो चले

रात में करीब 2 बजे मैंने मम्मी को हिला के चेक किया कि मम्मी सोई या नहीं… मम्मी उस समय गहरी नींद में थी. मैंने घिघयाते हुए कहा- मेम जो सज़ा देनी है, दो लेकिन प्लीज़ मॉम को मत बताना. अगली बात है लेखक को अतिश्योक्ति से बचना चाहिए और पाठकों को मूर्ख समझने की भूल कभी नहीं करना चाहिए कि वे उनकी बातों को सच मान ही लेंगे.

कुछ देर बाद मम्मी बोली- मैं मीतू के पास सो रही हूँ, तुम यही टीवी वाले कमरे में सो जाओ. अब तक एक बार मेरा पानी भी उनकी चूत के अन्दर गिर चुका था लेकिन मैं धक्के मारे जा रहा था. बिहारी सेक्सी सेक्सदोनों क्रॉस होकर आपस में चूत रगड़ रही थीं, मम्मों को चूस रही थीं और किस कर रही थीं.

मैं कभी कभी दिन में जब मौका लगता था, कोई घर में नहीं होता था, तब किसी न किसी बहाने से वासना के वशीभूत मॉम को टच कर लेता था लेकिन उसमें सेक्स जैसा कुछ नहीं था, सब नॉर्मल ही चल रहा था.

मेरी चूचियां इतने जोर से दबाने पर दर्द सी करने लगी थीं और जो मेरी पैंटी में लग गया था, वो उस समय इतना ख़राब लग रहा था कि मैं क्या बताऊँ. मैंने उसके मुंह में लंड घुसा दिया, अब वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चुत.

लेकिन मैं उससे जिद करता रहा कि सेक्स में उम्र का कोई मतलब नहीं होता है. इधर सिराज ने मेरे चहरे पे चुम्बनों की झड़ी लगा दी, इतनी कि उसके थूक से मेरा पूरा चेहरा गीला हो गया. मम्मी दोनों हाथों से ब्रायन के लंड को सहला रही थीं और उसके मस्त लंड की मालिश भी कर रही थीं.

मैं रात को मामी के घर पहुंचा, मामी मुझे देख कर बहुत खुश हुईं, उन्होंने दरवाजे पे ही मुझे किस कर दिया.

दोस्तो, मैं सूरत से हूँ, मेरा नाम रोहन है, 24 साल का हूँ, दिखने में स्मार्ट और शारीरिक रूप से बलिष्ठ हूँ. और इतना कह कर वो बाथरूम में चली गई, वो चाहती थी कि मैं उसको देखूँ इसलिए उसने बाथरूम की लाइट ऑन की और गेट भी थोड़ा सा खुला छोड़ दिया. आअहह…बस 5 मिनट और चूसने के बाद उसका पानी निकल गया और मेरे चेहरे पर उसके चूत रस की मलाई फ़ैल गई.

एचडी बीएफ बीएफ बीएफशायद उसके विचार भारत के लिए बहुत अच्छे थे और वो मुझसे मेरे भारत के बारे में बहुत कुछ जानना चाहती थी. मुझे आपका लंड अपनी चूत में चाहिये पापा …जल्दी से पेल दो मेरी चूत में!” बहूरानी जी अब भयंकर चुदासी होकर निर्लज्ज होने लगी थी और यही मैं चाहता था.

छोटे बच्चों की बीएफ सेक्सी

फिर मैंने आखें बंद कर लीं, अब अवी जग गया था उसने मेरी आखें बंद देखी तो उसी तरह चूची दबाता रहा ताकि मैं आँखें ना खोलूं. लेकिन मेरे जोर देने पर उन्होंने अपने बच्चे को गोद में उठाया और अपने ब्लाउज़ को खोल कर एक मम्मे से अपने बच्चे को दूध पिलाने लगीं और दूसरा मुझे दिखा दिया, जिसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. मैं उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद का रहने वाला हूँ और मैं अन्तर्वासना का पिछले 5 साल से पाठक हूँ.

भाभी ने मेरा पैन्ट खोला फिर मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को आज़ाद किया और लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया. शायद उन सब ने धुंधले उजाले में हम दोनों का रूप देख लिया होगा तो जैसे गाड़ी रुकी तो सारे के सारे पुलिसिये कूदकर भागते हुए हमारे पास आए. वो सब वहां हमारे पास आने को निकल गए और मेरी तो यहां हालत पतली होने वाली थी.

लेकिन मैं 100% पक्की थी कि भाई कुछ नहीं कहेगा क्योंकि भाई कैसे भी लड़ते भिड़ते हों लेकिन एक जवान लड़की की दावत कभी नहीं छोड़ेगा, चाहे वो उसकी सग़ी बहन क्यों ना हो. फिर भी उसकी चूचियां एकदम हिमालय जैसी खड़ी थीं… गोल-गोल और सख्त मम्मे किसी का भी लंड खड़ा कर देने को आतुर थे. मैं हॉल में सोफे पे बैठ गया,मुझे जोर से पेशाब लगी तो मैं बाथरूम की ओर चल दिया.

आपको क्या बताऊं, लड़की क्या वो तो पटाखा थी, उसे देखते ही मेरी हालत खराब होने लगी और मेरा हथियार खड़ा होने लगा. और रही बात सुभाष की, तो उसको मैंने दवा दे दी है, उसे नींद आ गई है, वो सो गया है.

मामी और जोर से मेरे लंड को हिलाने लगीं और मैं झड़ने को हुआ तो मैंने खड़े होकर अपने हाथ से अपना लंड हिलाया तो उन्होंने अपनी जीभ को अपने होंठों पर फिराई मैं समझ गया कि इनको लंड का माल खाना है.

मैं सरिता को उतार कर अभी कुछ आगे गया ही था कि सरिता का फ़ोन आ गया और उसने बताया कि उसके फ्लैट की चाभी ऑफिस की टेबल पर ही छूट गई है और बारिश तेज होने के कारण चाभी ऑफिस से लाना मुश्किल है. बीएफ सेक्सी चुदाई वाली लड़कीउनकी मृत्यु के बाद मेरी मॉम को नौकरी मिल गई और अब वे सरकारी नौकरी में हैं. ब्लू फिल्म देखना सेक्सीमैंने शिवानी भाभी को उठाया और टेबल पर लेटा कर उनकी पेंटी एक तरफ सरका कर चूत चाटने लगा. मौसी- हहह आहह रोहण… कितना तड़पाते हो! रोहण आज तो जी भर कर चुदाई करवाऊँगी! कर दो शांत मेरे मन को!हां रानी, तुम कितना अच्छा चुदाई कराती हो! मजा आ जाता है!”हह हाँ… और करो और हइ इइ इइइइ आह… बस बस रोहण, बस करो!”तभी मौसी खड़ी हो गई, रोहण अपने दोनों हाथों से मेरी मौसी के मम्मों को सहलाने लगा, दोनों आपस में चुम्बन करने लगे.

तुझे भी लंड चाहिए, तू नहीं लेगी तो इस तरह बिन पानी की मछली की तरह तड़पेगी.

इससे पहले कि रिया कुछ कहे, मैंने फिर से अपने होंठ उसके होटों पे रख दिए. अन्धेरे में मुझे उसका बदन दिख नहीं रहा था, पर ये एहसास हो रहा था कि मेरी बांहों में एक नाजुक कोमल फूल है, जिसका मैं रस पीने वाला हूँ. कुछ देर यूं ही देखते रहने के बाद उसने अचानक से मेरा लण्ड पकड़ लिया और सहलाते हुए धीरे से फुसफुसा कर कहा- हम आपके बहुत दीवाने हैं!दोस्तो, पहली बार किसी लड़की ने मेरे लंड को हाथ लगाया था… मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता कि कैसा करंट लगा था मुझे!मैं हैरान परेशान भी था उसकी ऎसी निडरता भरी हरकत से… मैं कभी सोच भी नहीं सकता था कि कोई जवान लड़की ऎसी हरकत कर सकती है.

तभी अनुराग का कॉल आ गया और मैंने उससे 2 मिनट बात की तो बॉस ने देखा कि मैं आई फ़ोन 7 यूज़ कर रही हूँ।इससे उन्होंने नए फोन की पार्टी मांग ली. साथ ही मैंने दीदी की गांड को अपने हाथों से कस के पकड़ हुआ था और दीदी की चूत को अपने लिप्स पर दबाया हुआ था, मेरा हाथ दीदी की गांड के छेद के पास था, मैं मेरी एक फिंगर दीदी की गांड के होल पर चलाने लगा था और दीदी की गांड का छेद भी मस्ती में अपने आप थोड़ा खुल और बंद होने लगा था. फिर मम्मी शाम 3 बजे दूसरे घर गयी जहाँ हम हमारी गाय रखते हैं, वहाँ से मम्मी पूरा काम करके ही आती हैं तो हमारे पास डेढ़ दो घंटे का समय था.

कुत्ता वाली बीएफ सेक्सी

बस वैसे ही करो।तो आंटी ने मेरा लण्ड पकड़ लिया और उसे मुंह में ले कर धीरे धीरे चूसने लगीं. उसने कहा- भाई नोयडा में कोई लड़की पटाई या नहीं?मैंने कहा- नहीं यार … कहां टाइम मिलता है. शादी के दिन जब बारात आ गई और जय माला का कार्यक्रम हो गया तो सब लोग डी जे स्टेज पर डांस कर रहे थे.

फिर एक दिन मेरे मम्मी पापा गाँव किसी काम से जाने वाले थे, मेरे मन में लड्डू फूटने लगे.

लेकिन उनके साथ आप उनका हिन्दी रूपान्तर भी अवश्य लिखें क्योंकि आपकी कहानी पूरे भारत वर्ष के अलावा नेपाल और अन्य देशों में रहने वाले भारतीय भी पढ़ते हैं, उन्हें स्थानीय भाषा समझने में असुविधा हो सकती है.

मैंने धीरे से उनके एक चूचे पर प्यार से हाथ फेरते हुए मसक दिया, इससे उनकी आह निकल गई. लिप किस करते करते मेरे हाथ उसके बूब्स पर चलने लगे तो वो बोली- मेरी शर्ट ख़राब हो जायेगी, मैं वापस कैसे जाऊँगी. सेक्सी में दीजिएये सब इस घर में मेरे लिए अनएक्सपेक्टेड था इसलिए मैं सोच में पड़ गई थी.

अब मैं उसका एक दूध अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरा दबाने लगा. उसको सुरेश का लंड अपनी चूत में लेने में थोड़ा सा दर्द हुआ, पर सुरेश का मोटा लंड एक ही बार में फिसलते हुए पूरा अन्दर चला गया. मेरे सामने पेंटी में कैद मुमताज़ की गांड लगभग 32 इंच की, नंगी मलाईदार कमर 29 इंच की और उसके तने हुए मम्मे 36 इंच के थे.

मैंने भाभी के बूब्स को दबाना चूसना शुरू किया, वाह क्या मस्त मुलायम थे उफ़फ्फ़… वो उसके बड़े बड़े बूब्स, उसके ऊपर छोटी सी किशमिश जैसी निप्पल. इसके बाद पूनम चली गई और फिर मैं रोज़ाना पूनम से मैसेज से चैट करता और हम सेक्स चैट भी करते रहे.

मैंने थोड़ा गुस्से के साथ कहा- क्या कह रहे हो आप?मैं ऐसा इसलिए किया ताकि उसे लगे कि मैं उससे गुस्सा हो गई हूँ.

मैं आपको एक हफ्ते पहले की चोदन घटना सुनाना चाहता हूँ, जहाँ मैंने टीटी नगर में रहनी वाली सुष्मिता (नाम बदल दिया है) भाभी का दर्द दूर किया. घर में मॉम, मैं नानी और बहन ही रहते थे, मिलने वाले आते थे और दिलासा देकर जाते रहते थे. लेकिन पिछली बार की डाँट की वजह से मैंने इस बार भाभी पर कोई भी रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये.

देहाती लड़की का वीडियो सेक्सी पर आप तो और ज्यादा करने लगे।मैं उसके चूचों पर दांतों काटने लगा और वो चिल्लाने लगी- भैया, आप ये क्या कर रहे हैं?मैंने उसकी बात को अनसुना कर दिया और चूत के पास जाते हुए उसे जगह जगह काटता जाता और वो सिसकारियों से कमरे में मधुर ध्वनि भर रही थी।मैं उसकी चूत चाटने लगा और एक हाथ से उसके चुचे की बेरहमी से मसलने लगा जिससे वो एकदम लाल हो गए।15 मिनट तक चूत चुसाई से उसकी चूत ने पानी फेंक दिया. किसी हैम जैसा मोटा, पत्नी की रंगत वाला कामुकता के चरम पर पहुँच आसमान की ओर सलामी देता हुआ ओमार का गोरा लंड मेरी पत्नी के चेहरे की पृष्ठभूमि में एक शानदार नजारा पेश कर रहा था!!इस समय तक जब किड मेरी बीवी के अंदरूनी हिस्सों को छिन्न भिन्न करने में लगा हुआ था और हमारी सेक्स की देवी उसके लंड को अपने गुलाबी होठों से दबाए हुए उसे खुश करने का प्रयत्न करने में लगी हुई थी.

इतनी टाइट चूत होने की वजह से रमेश को भी अपने लंड में थोड़ा दर्द का एहसास हुआ, पर उसको काजल की आँखों में आंसू देख कर थोड़ी देर रुकने का ख्याल आया. यह कह कर दूसरे झटके में पूरा लंड भाभी की चूत में डाल दिया और धीरे-धीरे धक्के मारने लगा. वो बेहद खूबसूरत हैं, उनको देख कर लगता है कि कोई स्वर्ग की अप्सरा आ गयी हो.

देसी बीएफ नंगी

छुट्टी के बाद महेश मुझे अकेले में एक तरफ ले गया और कहा कि मैं उसके साथ उसके रूम में आ जाऊं, वो वहां मुझे बताएगा कि मुझे क्या करना है. मेरा मन तो कर रहा था कि जाकर साली की गांड पे थप्पड़ ही थप्पड़ बजा दूँ. अच्छी सेक्स कहानी कैसे लिखें?पहली बात तो यह कि कहानी लिखने के लिए कल्पना शक्ति का प्रबल होना पहली आवश्यकता है; इसके बाद अपनी कल्पना को शब्दों में परिवर्तित करके साकार कर देना ही मूल आवश्यकता है.

इधर सिराज ने मेरे चहरे पे चुम्बनों की झड़ी लगा दी, इतनी कि उसके थूक से मेरा पूरा चेहरा गीला हो गया. मैं समझ गया कि अब वो पूरी गर्म हो गई है और मेरा लंड अपनी चूत में लेने को तैयार है.

मुझे तड़पा मत…मैंने अपना मोटा सा लौड़ा उनकी चूत पर रखा और एक धक्का मारा, वो चिल्लाने लगीं और बोलीं- थोड़ा धीरे धीरे करो क्योंकि मेरी चूत में पिछले कई महीने से लौड़ा नहीं गया है.

सुरेश भैया मेरे अच्छे पड़ोसी दोस्त थे, उनकी एक लड़की थी, जो एक साल की थी. अब उसकी भी शादी हो गई है और वो जब भी आती है, हम दोनों दबा कर चुदाई करते हैं. मैंने फिर से उस की चूत तो चाटना शुरू कर दिया, पर अब मैं ध्यान रख रहा था कि उस का डिसचार्ज ना हो पाए.

दीदी- हो गई तेरे मन को शांति, कर ली अपनी मनमानी तूने, चल अब जल्दी से मेरी वीडियो डेलीट कर और दफ़ा हो जा यहाँ से!मैं- अरे दीदी, इतनी भी क्या जल्दी है, अभी तो एक बार ही हुआ है. हां मैं बताना भूल गया, मैं यहाँ से सेक्टर 16 की तरफ जा रहा था तो सोचा देख लूँ कि दिव्या आ गई है या नहीं, पर मैं बहुत भाग्यशाली हूँ. उसके बाद उस दिन हम दोनों ने और दो बार पूरी मस्ती से चुदाई का मजा उठाया.

मैं बहुत धीरे करूंगा जिससे तुम्हें ज्यादा दर्द नहीं होगा, लेकिन थोड़ा तो जरूर होगा.

देवर भाभी का बीएफ वीडियो हिंदी: लेकिन मैंने अपना कार्यभार जयों का त्यों संभाल रखा था औ र कुछ समय की धक्का पेली के बाद ममता ने जैसे ही दोबारा अपना पानी छोड़ा, मैंने भी अपना स्पर्म उसकी चूत की गहराई में छोड़ दिया. मैं जब बेकरार हो गई तो बोली- ओह सुनील डार्लिंग, अब चुत को चूसना खत्म करो और मेरी चुत में अपना लंड पेल दो.

अब हम थक चुके थे तो बांहों में बांहें डाल कर नंगे ही सो गए!अगले दिन हमने फिर से सेक्स किया और बहुत किया. आज मैं भाभी की चुदाई करने अपने कॉलेज से छुट्टी लेकर पहुँच जाता हूँ. और कुछ देर बाद टाईम देखा तो 1 बज चुका था! मैं उठा और अपने कपड़े पहनने के बाद अप्पी से बोला- कैसी रही तुम्हारी सुहागरात की ट्रेनिंग?बोली- ट्रेनिंग नहीं, रियल सुहागरात थी!तो दोस्तो मेरी अपनी अप्पी यानि बहन के साथ सुहागरात कैसी लगी? मुझे जरूर बताइएगा.

तुम मेरी गांड भी फाड़ोगे ना? तुम मेरी चूत, गांड सब फाड़ डालोगे, तुम मुझे मत चोदो…तभी उसकी माँ ने उसे चुप कराने की कोशिश की, तब मैंने उसकी माँ से कहा.

यह सुन कर मेरे दिल में एक लहर चलने लगी और मैं अन्दर ही अन्दर खुश हो रहा था कि आज कुछ कर सकता हूँ. मयूरी ने भी वक़्त न गंवाते हुए अपनी चूत को सुरेश के खड़े लंड पर सैट किया और ऊपर से ही सुरेश को चोदने लगी. तभी अंकल लोगों ने मेरी लैगी को नीचे उतार दिया और पैन्टी भी… पैंटी जैसे नीचे उतार रहे थे कि सुरेश अंकल पैंटी को चाटने लगे और बोले-साली की चूत बह रही है, देखो कितनी चुदासी है! तीनों बहुत दारु पिये हुए थे दारू की बहुत बदबू आ रही थी.