बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,फोटो हीरोइन का फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्सएक्स फोटो: बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ, रानी आंखें बंद करके मालिश करवाने का मजा ले रही थी और मैं मौके का फायदा उठाकर उसके तने हुए और ऊपर सर उठाए बोबों को निहार रहा था.

गांव की सेक्स कहानी

काफी देर तक मेरे मुंह को चोदने के बाद उन्होंने लंड को बाहर निकाला जो मेरी लार में पूरा गीला हो गया था. घोडा सेक्सी घोडा सेक्सीअचानक मेरा ध्यान उसकी हरकतों पर गया, तो मैंने देखा कि उसका एक हाथ उसके पजामे के अन्दर था और वो मस्ती में चूर होकर अपनी चूत को रगड़े जा रही थी.

इसी तरह मेरे दोस्त के रूखे रवैये के चलते मेरी उसकी गर्लफ्रेंड से नजदीकियां बढ़ती जा रही थीं. नया सेक्सी वीडियो देहातीमेरी जान अब नीचे से बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और मैं जोर जोर से उसकी चूत को चूसने लगा था.

चुत का रस स्वाद में थोड़ा खारा और थोड़ा खट्टा था, विजय पूरे रस को पी गया.बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ: उतने में सुनील भी दीदी को बाथरूम में ले आया और हमने एक बार फिर एक-दूसरे की बहनों को वहां चोदा.

इसी बीच मैंने सोचा कि इसकी चूत का स्वाद भी चूसकर ले लूं, फिर पता नहीं क्यों उसकी चूत पर झांटें देखकर चूसने की इच्छा नहीं हुई.मैंने दूसरे दिन एक बजे उनको अपने आने का मैसेज कर दिया और तय वक़्त पर चला गया.

नेपाली सेक्सी फिल्म एचडी - बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ

मगर चिकनाई ज्यादा होने से जैसे ही उसका आधा लंड मेरी गांड में घुसा, मुझे बहुत ज्यादा दर्द होने लगा- उई मां फट गई … आह उफ़्फ़ बहुत दर्द हो रहा है जानू … प्लीज़ निकाल लो.मेरी साइकल को सुरेश ने पेड़ से बांधकर मुझे अपने साथ कार की पिछली सीट पर बैठा लिया.

मेरी पतली सी चिकनी कमर और लचकती और थिरकती मोटी सी गांड ऐसा कहर बरपाती है कि किसी मुर्दे के लंड में भी पानी ला दे. बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ जिस जिस्म को मैं चोदने के लिए मरा जा रहा था, आज वो मादक जिस्म मेरी बांहों में था.

तभी ज़रीना ने आसिफा को अलग हटा दिया और वो खुद मेरे लंड के ऊपर आ गयी.

बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ?

लिली को मैंने बेड पर बैठने के लिए कहा और उससे पानी चाय के लिए पूछा. गेम चल जाने के बाद एक बार उसने मुझे खेल कर दिखाया और मुझे उसके बारे में समझा कर मुझसे खेलने के लिए कहा. कार्ड बाँटने से लेकर दावत तक के सभी कामों की तैयारी जोर शोर से शुरू हो गई; सभी रिश्तेदारों को न्योता भेजा गया।26 दिसंबर को बहुत सर्दी थी.

सारा ने आज ब्रा और पैंटी पहन ली थी क्योंकि कमल को शक नहीं होना चाहिए था. जब हम सभी लोग खाना खाने बैठे, तब मेरे एक तरफ मेरी वाइफ मधु बैठी थी और मेरी दूसरी बाजू में मेरी साली चंचल बैठी थी. धीरे-धीरे उसने मेरे कंधे पर हाथ रख दिया, इससे मुझे जैसे कई करंट लग गया.

इस बार मैंने लगभग 15-20 मिनट तक दीदी की चुदाई की और एक बार फिर से मैंने दीदी की चूत में अपना माल गिरा दिया. कोई दस मिनट की किस के बाद मेरी बहन के ब्वॉयफ्रेंड ने उससे कहा- अब तुम एक बार मेरा लंड पकड़ो. आप जानते होंगे कि सर्दी में या तो प्यास लगती नहीं और लगती है तो फिर प्यास कितनी जोर से लगती है.

मैं भाभी की ब्रा को देखकर उत्तेजित हो गया और उनकी ब्रा को सूंघने लगा. काफी देर तक जब वो नहीं आई और बच्चे भी नीचे चले गए, तो मैं इधर उधर देखता हुआ सोचने लगा कि अभी यहां पर कोई नहीं है, तो क्यों न एक बार इसकी पैंटी को सूंघ लूं.

वहां मैंने क्या देखा? साली को मैंने कैसे चोदा?अर्न्तवासना पर ये मेरी पहली काल्पनिक जीजा साली की चुदाई कहानी है.

अब मैं यास्मीन की चुत रोज पेलता हूँ और यास्मीन की दोनों जवान बेटियों पर भी मेरी नजर थी.

मैं उनकी नीचे पड़ी अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर उनके लंड का स्वाद ले रही थी. मैंने कहा- अच्छा एक काम करो, तुम एक कागज पर लिख कर अपने पास ही रख लो. अंजुमन ने फिर से पानी छोड़ दिया मैंने भी झटकों की रफ्तार बढ़ा दी मैं तो जैसे स्वर्ग में था।अब धीरे धीरे मेरे शरीर में अकड़न होने लगी.

मेरी हिम्मत बढ़ गई और शाम को मैंने सत्यम को फोन करके यह सारा प्लान समझा दिया. दोस्तो, ये मेरी चुदाई की कहानी जैसी घटी थी ठीक वैसी ही आपके सामने लिख दी है. हम दोनों एक दूसरे से बात करने लगे, तो वो मेरा हाथ पकड़ कर एक तरफ वीराने में ले गई.

हाय … उसके बड़े बड़े, गोल गोल और सफ़ेद मम्मे एकदम मादकता बिखेर रहे थे.

कुछ देर बाद मैंने सरीना की लैगी के अन्दर हाथ डालकर उसकी गांड पर हाथ रख दिया. उसने अब अपनी कमर पर जोर देना शुरू किया और आहिस्ते आहिस्ते लंड चूत को चौड़ा करता हुआ अन्दर जाने लगा. कोमल अब काम वासना की आग में बुरी तरह सुलग रही थी तो उसने कोई प्रतिरोध नहीं किया.

तो वो मेरे बिना बोले उठ कर अपनी गांड मटकाते हुए मेरी पसंद वाली आइस क्रीम ले आईं. फिर गाना गाते हुए मैंने उसको भी इस बात का सिग्नल दे दिया कि मैं बाथरूम में हूँ. मेरे आगे पीछे दोनों छेदों में उन दोनों की जीभ चल रही थीं और वो दोनों मस्ती से मेरी चुत गांड चाट रहे थे.

मेरे ऊपर शराब का नशा हावी हो गया था … सामने टीवी पर सेक्स सीन चल रहा था.

मैंने भी सोचा ज्यादा फोर्स नहीं करता हूँ, भाभी एक बार किस तो करें, फिर मुँह में भी ले लेंगी. सुहागरात वाली रात को हम दोनों जब कमरे में आए तो मेरे दिल की धड़कन इतनी तेज तेज से हो रही थी मानो मेरा दिल फट कर बाहर ही आ जाएगा.

बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ मेरे मुँह के खुलते ही उसने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी और मेरे मुँह का स्वाद लेने लगा. अब फिरंगी और इंडियन मतलब जॉन और रॉय मेरे मम्मों को दबाने लगे और मुझे किस करने लगे.

बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ मैंने अपने आपको बहुत रोका … लेकिन मेरे होंठ उसके होंठ पर छू गए और बिना रुके मैं उसके नर्म नाजुक गुलाबी होंठों को चूसने लगी. अपनी मॉम की चूचों को रोहन बारी बारी से अपने मुँह में लेकर चूस रहा था.

हम दोनों ने चित्रकूट में शादी के बाद होटल में जाकर सुहागरात मनाई थी.

ब्लू सेक्सी फिल्म एचडी वीडियो

शेखर- बेटा तुम्हें कब निकलना है?रोहन ने जवाब दिया- जी कल सुबह छह बजे. मैंने आंटी को थोड़ी हिम्मत दी, तो वो मेरे गले से लग गईं और मुझे कसके जकड़ लिया. लेकिन दुबारा मैंने उस नम्बर पर कॉल किया, तो वो नंबर भी स्विच ऑफ आने लगा.

आपके मेल के बाद मैं आपको और भी बहुत सारी सच्ची सेक्स कहानी लिखूंगा, जो आपको मजा देंगी. वो लंड सहलाते हुए बोली- मैं उसकी गांड तुझे कैसे दिलाऊं भाई?मैंने कहा- कर ना यार कोई जुगाड़. वो बार बार उसके लोहे जैसे लंड को अपनी चूत पर महसूस कर रही थी जिससे उसकी चूत दिन भर गीली बनी रहती थी.

इससे लंड उनके गले से जा टकराया और उनकी आंखें मानो बाहर ही आ गई थीं.

पिछले भागचूत चुदाई के लिए पापा के दोस्त को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि ओमी अंकल किचन में आकार मेरे साथ सेक्सी हरकतें करने लगे थे और मैं उनका साथ दिए जा रही थी. हमारा सेक्स चालू हो जाता था और इसी तरह से अब हम दोनों रोजाना सेक्स करने लगे थे. दूसरी बात ये कि तू यहां डांस के साथ साथ ग्राहक को जितना ड्रिंक कराएगी, उसका कमिशन अलग से मिलेगा.

मैंने तुम्हारे टीचर से भी तुम्हारे रोज़ स्कूल मोबाइल ले जाने पर कह दिया है. एक तो इतना मोटा लंड घुसा हुआ है … और उस पर एक और मोटी उंगली भी चुत में डाल दी. मम्मी पापा का कमरा ऊपर वाले तल पर एक किनारे पर था जबकि दूसरे किनारे पर मेरे छोटे भाई का कमरा था.

आकृति आंटी ने अपनी गांड मेरे मुँह पर रख कर अपनी गांड हिलाते हुए सारी की सारी आइसक्रीम मुझसे चटवा चटवा कर साफ करा ली. उधर कुसुम भी कुछ पल बाद संयत हुई और बाहर आकर उसने देखा कि रोहन बाहर नहीं है.

मगर मैं नासिर की बात पूरी सुनने की जिद करती हुई बोली- अरे नासिर जी, जो भी हो, खुल कर बोलो … मन में मत रखो. मैंने भाभी को फिर से पकड़ लिया और उनको बेडरूम में ले जाकर मैं भाभी को किस करने लगा. वो मुझसे लंड चुसवाते हुए एक बार फिर से मुझे चोदने के लिए खेलने लगे.

उसकी चड्डी को चूमते हुए मैंने अपने होंठों का जोर और बढ़ाया, जिसके कारण उसकी चुत भी चड्डी के साथ साथ मेरे होंठों में आने लगी.

उसके बाद मैंने उसे चित लिटाया, तो वो किसी पारंगत रंडी के जैसे अपनी चुत खोलकर लेट गई और उसने अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मुझे इशारा किया. और मैं मस्ती भरी आवाजें निकाल रही थी- ‘उफ़ आहह … यस आई लाइक इट … ओह्ह फ़क मी … आह उफ़्फ़ उफ़ … उई मां और तेज़ … आह और तेज़!मेरी मादक आवाजों से अंकल की उत्तेजना और रफ्तार में तेज़ी आती जा रही थी. मैंने चंचल के कामरस से भीगे पजामे पर नजर डाली, तो चंचल समझ गई कि मैं क्या देख रहा हूँ.

इसलिए आप मुझे साड़ी खोलने दो।मामी जी चुप हो गई।तब मैंने मामी जी के हाथों को हटाया और साड़ी को पेटीकोट में से निकाल लिया. मुझे ऐसा लग रहा था कि रानी मेरी इस मालिश से उत्तेजित हो रही थी क्योंकि उसकी सांसें तेज चलने लगी थीं और बार बार वो अपने हाथों से चादर को भी मुट्ठी में भर रही थी.

पहले मैंने सत्यम के लंड को अपने दोनों हाथों में लेकर खूब मसला और खूब प्यार से सहलाया. मेरी गर्म सांसों को अपनी चूत पर महसूस करके मायरा का तन भट्टी की तरह तपने लगा. मैंने अपनी मॉम को उन्हीं के बिस्तर में कैसे चोदा, इस सेक्स कहानी में आपको पढ़ने मिलेगा.

प्लीज सेक्सी

मेरी चुत हल्की चिपचिपी होने लगी थी और उसमें से निकलने वाली मादक गंध बसंत को मदहोश कर रही थी.

मैं आपको बता दूँ कि मेरा दाहिना स्तन मेरे बाएं स्तन से थोड़ा बड़ा है. हालांकि मुझे उस वक्त तक भाभी के फिगर के साइज का नहीं पता था, लेकिन उनका फिगर परफेक्ट था. मेरे घुटने मोड़ कर उसने चुत का एक चुम्मा लिया और दोनों पैर को अलग करके जगह बना ली.

अभी मैं दिसम्बर 2019 में मौसी के यहां पर गया था। उस वक्त मेरे एग्जाम खत्म हुए थे और मुझे एक प्रोजेक्ट के लिए एक फैक्ट्री में जाना था. थोड़ी देर बाद जब अचानक आंखें खोलीं, तो उसने पाया कि मैं उसके बोबों को घूर रहा हूं. फुल सेक्सी पिक्चर वीडियो मेंफिर अमित ने मेरी ब्रा भी निकाल दी और मेरे दोनों दूध खुलकर उसके सामने आ गए.

शहर से 60 किलोमीटर दूर एक काफी सुनसान हाइवे के किनारे मैंने अपनी कार लगाई और ब्रा पैंटी उतार कर नंगी ही गाड़ी से बाहर आ गयी. उसने अपनी टांगों से चुत को छिपाने की कोशिश की मगर मैंने उसकी दोनों टांगों को फैलाए रखा और अपनी जीभ से बहन की चुत को चाटना शुरू कर दिया.

मेरी चूत पूरी तरह फैल कर जेठजी के लंड के साथ साथ उनकी चार मोटी मोटी उंगलियों को अन्दर समेटे हुई चुदाई का मजा ले रही थी. मैंने उस दिन अपनी बहन को पूरे कॉलेज में ढूंढ लिया लेकिन वो नहीं मिली. मैंने भी अपने दोनों हाथों से जेठजी के सर को पकड़ लिया और अपने होंठों को जेठजी के होंठों से चिपकाते हुए पूरी तरह से समर्पित हो गई.

मैंने उनको हटाया और उनकी टांगों को चौड़ी करके उनकी चूत में मुंह लगा दिया. क्या वो अधूरा काम खत्म करना चाहती है?ये सोचकर उसका लंड फिर से झटके मारने लगा. उसने उठ कर एक घूंट खींचा और मेरी उंगलियों से सिगरेट लेकर अपने होंठों में दबा ली.

कुछ देर बाद मेरा पानी निकालने ही वाला था, मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

मैंने कहा- ठीक है, आप सो जाइये, कहां सोना है आपको? बेड पर या नीचे वाले गद्दे पर?मामी बोली- मैं नीचे वाले गद्दे पर सो जाऊंगी, तुम बेड पर सो जाना. आज मैं आपको अपनी दो चचेरी बहनों की चुदाई की कहानी बताऊंगा कि कैसे मैंने उनको थका थकाकर चोदा.

और हुआ भी ऐसा ही … मेरी सभी सहेलियों ने मुझे घर से बाहर ले जाने का इंतजाम कर लिया. मेरा लंड उसकी चूत को सलामी दे रहा था और उसकी चूत में जाने को बेताब हो रहा था. हालांकि सारा की सोच ये थी कि कमल सारा से कहे कि वो लकी से सेक्स करे, मगर बीती रात सारा खेल बिगड़ गया.

इस तरह से उन लोगों ने मुझे काफी उत्तेजित कर दिया और उसी वक्त मुझे सत्यम को फोन मिलाने को बोला. मेरा लंड काफी तेज तेज धक्कों के साथ जाकिरा की चूत में अंदर बाहर हो रहा था. शेखर पहले तो चौंक गया था फिर उसने मुझसे मेरी मर्जी पूछी तो मैंने उसे सब सच सच बता दिया.

बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ उसकी उईई ईई ऊईई आहह की सिसकारियां निकलने लगी।अब वो भी अपनी गांड चलाने लगी मैं लंड को अंदर तक पेलने लगा।उसने बताया कि उसके पति से उसका झगड़ा है, वो मायके में रहती हैं और 3 माह से उसकी चुदाई नहीं हुई है।मैंने देखा कि सब गहरी नींद में सो रहे थे. मैंने उसके लंड की पूरी चमड़ी को खोली और आगे लाकर सुपारे को ढका इस तरह से मैंने लंड की मुठ सी मारी.

लड़की और लड़की का सेक्स

उसने भी कह दिया कि कोई दिक्कत नहीं है।उसके ये कहते ही सारा उस पर टूट पड़ी और चूम चूम कर उसे निहाल कर दिया. भाभी मेरा सिर पकड़ कर अपनी फुद्दी में दबाने लगीं और सिसकारियां भरने लगीं. वो अपनी मोटी उंगलियों और हब्शी लंड, दोनों से जेठजी मेरी चूत को चोद रहे थे.

आते जाते समय हम दोनों जब रोज ही एक दूसरे को देखने लगे, तो मैं उसे देखा करता था. जब उसका दर्द खत्म हो गया और उसे मजा आने लगा तो उसने अपनी गांड उठा कर चूत चुदवाना शुरू कर दिया. सेक्स वीडियो इंडियन देहातीबस इतना समझ लीजिए कि पहली बार फोन पर बातचीत में मेरी उससे सीधे चुदाई की बात नहीं हुई थी.

पांच मिनट में ही वो जोर जोर से सिस्कारियां लेने लगी- आआह … अम्म्म्मा.

मामी बोली- अमन … मेरे पेट में तुम्हारा बच्चा है। तुम पापा बनने वाले हो।ये सुनकर मेरे हाथ पैर कांपने लगे. तब भी मैं डरते हुए भाभी के घर गया और वर्षा भाभी को उनकी ब्रा दे दी.

उसने दस बारह तेज तेज धक्के मारे और मेरी चुत में अपना पानी निकाल दिया. लेकिन अब मुझे उसका लन्ड अपनी चूत में लेना था; उसके लिए मैं उतावली हो रही थी. जैसे ही उसकी स्पीड कम होती मैं उसको नीचे से धक्का दे देता और स्पीड तेज कर देता.

अपनी बीवी के मुँह से ये सब सुन कर मुझे ऐसा लगा कि जैसे मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गयी हो.

रोहन अपनी मॉम के पास गया और उसे लिटा कर उसके रसीले होंठों पर अपने होंठ टिका कर चूसने लगा. कुछ मिनट बाद मैंने अपने मन को शांत किया और उसकी पैंटी वहीं टांग कर अपने रूम में वापस आ गया. काफी माल चाटने के बाद भी रोहन का माल उसके चेहरे से होता हुआ उसके चूचों तक आ गया था.

हिंदी चुड़ै कहानीउसके बाद उसने नंगी ही टेबल पर पिज़्ज़ा लगाया और मेरी गोद में आकर बैठ गयी. उसने कमल के होंठ कसकर चूसे और अपना हाथ पीछे करके लकी के लंड के उभार को पकड़ लिया.

ब्लू पिक्चर के चित्र

उसने अपना हाथ नीचे ले जाकर मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड पर रख दिया. उन्होंने मुझसे कहा- मैं गली में जा रहा हूँ, तुझे देखना हो तो देख लेना. हालांकि मुझे कुछ खास समझ नहीं आया, बस वो किसी स्कूल के बारे में बात कर रही थी.

उसने लंड चूस कर खड़ा कर दिया और खुद ही मेरेलंड पर बैठ कर चुदाईकरवाने लगी. उस रात को सारा कमल से इस तरह चुदी कि वो कमल से नहीं कि बल्कि लकी से चुदवा रही हो।इधर कमल ने भी सारा को अपनी बीवी नहीं बल्कि उसके ऑफिस की लड़की रीना समझ कर चुदाई की।दोनों ही अपनी अपनी फंतासी को पूरी करने के लिए कल्पना में अपने मनचाहे पार्टनर संग सेक्स का मजा ले रहे थे. मेरी बेहन ने कहा- ये कैसे होगा?मुझे मालूम था कि आने वाले रविवार को मम्मी पापा को मौसी के घर जाना था, मौसा जी की तबियत खराब थी, जिस वजह से उनका जाने का प्रोग्राम था.

मेरी जितनी भी सहेलियां हैं … उनके घर में भी मुझे उनके पापा या भैया या उनके घर का कोई भी मर्द मुझको अश्लील भाव से ताड़ने का एक भी मौका नहीं छोड़ता था. मैं उसको लगातार किस करते करते उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से जोर जोर से दबा रहा था. ऊपर व्हाइट कुर्ता पहना था, वो मलमल का था जिसके अन्दर से उन्होंने काले रंग की ब्रा पहनी थी, जो साफ़ दिख रही थी.

मेरा ऐसे करते ही कार्तिक ने मुझे बेड पर धीरे से धक्का देते हुए गिरा दिया. तभी भाभी ने मुझे इस हालत में देखा और हंस कर एक मिनट तक मेरे लंड को घूर घूर कर देखने लगीं.

मैंने उससे कहा- जान माल आने वाला है, क्या करूं?उसने हाथ के इशारे से कहा- मेरे मुँह में ही झड़ना है.

जैसे कि मेरी पिछली कहानीबहन की मदद से उसकी सहेली की गांड मारीपढ़ने से आप लोगों को पता ही है कि मुझे लड़कियों की गांड मारने का बड़ा शौक है. ग्रामीण सेक्स व्हिडीओमैंने उससे बिना कुछ पूछे अपने ढके तेज किए और अपना पूरा उसकी चुत के अन्दर ही निकाल दिया. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो एचडी मेंअब मेरे लौड़े पर भी अकड़ बढ़ गई और झटके के साथ ही वीर्य निकाल गया और रजनी की चूत में भर गया और उसके ऊपर लेट गया।पता नहीं चला कब दोनों को नींद आ गई।सुबह 5 बजे नींद खुली तो बस ढाबे में खड़ी थी।उसने बताया कि 40 मिनट रूकती है फिर सीधा अजमेर!वो मैक्सी पहनने लगी मैंने पकड़ लिया और मैक्सी रख दी. अब आगे हॉट आंटी चुदाई कहानी:अब मुझे रहा नहीं गया तो मैं उनका सिर पकड़ कर उनके होंठों को अपने लंड के पास ले आया.

वो कंप्यूटर के सामने वाली कुर्सी पर बैठ गया और मैं उसके बगल में बेड पर किनारे से बैठ गयी.

सरिता भाबी के बारे में उन लौंडों को सब पता था कि भाबी एक महा चुदक्कड़ औरत है. उस दिन बहुत बारिश हो रही थी सुहानी हवा चल रही थी, बड़ा ही सेक्सी मौसम था. पहले तो उनकी इस बात से चौंका कि ये औरत बनाने की बात क्यों कह रही हैं.

उसके मुँह में पानी आ गया और वो बुदबुदाने लगा- आह आज तो तेरे इन रस भरे संतरों को पूरा निचोड़ डालूंगा. इकबाल नीलम बाई से बोला- नीलम बाई, तू इन सबको सब कुछ अच्छे से समझा दो और काम पर लगा दो. उस दिन जब शाम को मैं उस दुकान पर गया तो वहां एक 35-37 वर्षीय महिला बैठी थीं, लेकिन वो अपनी उम्र के हिसाब से बहुत लाजवाब आइटम थीं.

आंटी सेक्स व्हिडिओ

उस रात मैंने आंटी को चार बार चोदा और वैसे ही लंड पेल कर उनके ऊपर ही सो गया. फिर जब भी हमें मौका मिलता हम दोनों एक हो जाते।मैंने आंटी की गान्ड भी मारी. मुझे औसत साइज की उन औरतों को चोदना बहुत पसंद हैं, जो सेक्स को दिल से समझती हों.

उसने वासना से मेरी तरफ देखा और अपनी चूचियों को मसलती हुई बोली- मैं दरवाजा खुला रखूँगी और तुम्हारा इंतजार करूंगी.

किसी की क्या परवाह!मैंने कहा- हां … हम दोनों है ही ऐसे, लोगों की सोच का क्या करें.

भाबी ने अपना चिकना हाथ बाथरूम से निकला और साथ में अपने गोरी जांघ भी बाहर कर दी. मैंने पानी पिला कर उससे आराम करने का बोला पर वो मेरी बांहों में आ गई. सेक्सी न्यू हिंदी मेंपांच मिनट बाद मैंने भाभी के सामने लंड लहराया और उनको लंड चूसने के लिए इशारा किया.

उनके मुंह की पकड़ इतनी तेज थी कि मेरे मुंह से जोर जोर की आहें निकलने लगीं. जब मुझे मालूम चला कि वो ब्रा उसकी बहन की थी तो मुझे काफी अजीब सा लगने लगा था. उनका पानी और मेरा पानी दोनों मिल चुके थे जो मेरे लंड और उनकी चुत को लिसलिसा कर रहा था.

मैंने पूछा- तो तुम्हें कैसे मालूम है कि ज्यादा अन्दर तक घुसता है?वो चुप हो गई. चूंकि छत पर अंधेरा था तो पता नहीं लग सकता था कि कोई इन्सान सो रहा है या जाग रहा है।दीदी ने देखने की कोशिश तो की और मैंने सोने का नाटक किया।मैंने सोचा कि दीदी अब मामा को कुछ बोलेगी.

फिर मैंने उसके सामने अपने मन की बात रख दी और उससे कहा- मुझे तुम्हारा सेक्स देखकर काफी अच्छा लगा.

जब मैं उनके घर गया तो उन्होंने बताया कि आज रिट्ज का जन्म दिन है और उन्होंने सोचा है कि आज उसको घर ही में एक सरप्राइज पार्टी दी जाए. जब तक आरिफा और जाकिरा की शादी नहीं हो गयी तब तक वो मुझसे चुदवाती रहीं. उतने में सुनील भी दीदी को बाथरूम में ले आया और हमने एक बार फिर एक-दूसरे की बहनों को वहां चोदा.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो हद और मॉम मेरे खड़े लौड़े को बार बार खा जाने वाली नजर से देखे जा रही थीं. सीमा ने कहा- अब देर न करो राजा, पहले एक बार मेरी चुत में लंड पेल दो … बाकी का मजा हम दोनों अगले राउंड में करेंगे.

मेरी चूत में जलन हो रही थी लेकिन समीर नहीं रुक रहा था।मैं उसको पीछे धकेलना चाह रही थी।वो चोदते हुए बोला- साली, जब लंड लेने का मन कर रहा था तब नहीं सोचा कि दर्द भी होगा चुदने में? आज मैं तेरी चूत को फाड़ता रहूंगा। मैं तेरी चूत की प्यास मिटा दूंगा।ये बोलकर वो फिर से चोदने लगा. मैं चाहता था कि कोमल मुझसे लिपट जाए … लेकिन शायद नारी सुलभ लाज की वजह से वह ऐसा नहीं कर सकती थी. उसकी खुशी का कारण यह था कि वो आज अपने घर पूरे दो वर्ष बाद लौट रहा था.

ब्लू फिल्म हिंदी इंडियन

सभी दोस्तों को सादर अभिवादन।मैं आपका जाना पहचाना हूँ लेकिन कुछ नए पुरुष एवं महिला दोस्तों को अपना परिचय देना आवश्यक हो जाता है. इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी पढ़ने के लिए सभी का धन्यवाद।[emailprotected]. कुछ ही समय में मैं उसके घर आ पहुंचा और हम दोनों पहली बार रूबरू हुए थे.

तो कभी उसी हाथ को एकदम से ऊपर ले जाकर मेरे बालों में अपनी उंगलियां फेरने लगता. रमेश ने और 15 मिनट मेरी गांड मारी और लंड का पानी मेरी गांड में छोड़ दिया.

सरिता तो चुदवाने के लिए बेक़रार थी और विजय भाभी को चोदने के लिए गर्म था.

मैंने उसकी पूरी बात को ध्यान से सुना, तो समझ गया कि एक छेद लंड के लिए उपलब्ध हो सकता है. मैं खुश हो गया और लन्ड को तुरंत चौथे गियर में डाल दिया और फुल स्पीड से उसकी चुदाई करने लगा. मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और फच्च फच्च उईई आआहह उईई आआहह उईई आआहह की आवाज तेज हो गई.

वो नशीली आवाज में बोला- क्या बात है सरिता … तुम तो बहुत मस्त लग रही हो … एकदम माल लग रही हो. उसने अलमारी खोली।मैंने कहा- उसमे ऊपर वाले दराज़ में मेरी बीवी के कपड़े हैं। तुम उनमे से एक ब्रा और पेंटी निकाल कर पहन लो।उसने एक सफ़ेद ब्रा और एक मेरून कलर की पेंटी निकाल कर पहन ली।फिर उसने मेरे कहने पर मेरी बीवी की लिपस्टिक लगाई, आँखों में काजल डाला। आने हिसाब से वो थोड़ा साज संवर कर मेरे पास आई।मैंने कहा- बड़ी सुंदर लग रही हो!जबकि वो लग नहीं रही थी. फिर हमने अपना अपना एग्जाम दिया और जिस दिन हमारा लास्ट एग्जाम था उसी शाम को मैंने एक होटल में रात के लिए कमरा बुक किया.

मैंने अपनी मम्मी से बोला- मैं आज रात को यहीं रुकूंगा और कल सुबह घर आ जाऊंगा.

बीएफ बिहारी सेक्सी बीएफ: किसी ब्रोकर ने मुझे वहां पर कमरा दिलवा दिया और मैं वहां पर शिफ्ट हो गया. जैसे ही मैंने उसकी जींस खोलने लगा, उसने मुझे रोक दिया और आगे बढ़ने से मना कर दिया.

चुदाई के मैंने उससे पूछा- तुमको अपनी चूत और गांड मरा कर कैसा लगा?उसने खुश होकर मुझे गले लगा लिया और बोली- आकाश, आज से मेरी इस गांड पर अब सिर्फ तुम्हारा हक है. मैं आपसे बस इतना कहना चाहती थी कि आप मेरी ब्रा ले लीजिए … पर अगर चाची को पता चला कि उनकी ब्रा को आप हाथ लगाते हो, तो वो आप पर गुस्सा होंगी. दो दिन बाद आसिफा की अम्मी का फोन आया कि मैं आसिफा से अब बात ना करूं और उससे हर तरह के संबंध खत्म कर दूं वरना उसके अब्बू उसको जान से मार देंगे.

ये सब करने के बाद अब इतना तो हो गया कि वो सारा के साथ हफ्ते में दो तीन दिन पोर्न मूवीज देखने लगा और उसके बाद वो सेक्स का जबरदस्ती का प्रयास करता.

लिली को मैंने बेड पर बैठने के लिए कहा और उससे पानी चाय के लिए पूछा. नैना भी बहुत जोरों की चीख के साथ चिल्लाई- आह … मर गई … आह … अनुराग … मार दिया।मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और कहा- मेरी जान … बस अब दर्द नहीं होगा।मैं अपने लण्ड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा. इसलिए मैंने उसे ऊपर उठाया और उसकी पैंटी उतार दी कर उसको बेड पर लिटा दिया.