करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,टीचर्स सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

कंडोम सेक्सी व्हिडिओ: करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो, उसकी शादी इस साल होने वाली है। लेकिन हमारा ये प्रोग्राम चलता ही रहता है और आगे भी चलेगा।दोस्तो, बताना कैसी लगी मेरी आपबीती।[emailprotected].

भोजपुरी में काजल की सेक्सी

तो मैं करीना की चूचियों पर ही झड़ गया और अपने वीर्य से उसकी चूचियों की मालिश कर दी।अब मैं कुछ देर वैसा ही पड़ा रहा और तभी करिना बाथरूम गई और वापस आ गई।तब मैंने करीना को फिर से अपने और खींचा और उसका नाड़ा खोल दिया. सेक्सी ब्लू फिल्म आदिवासीजिससे अगर वो चिल्लाए तो उसकी आवाज़ वहीं दब जाए।मेरे स्तन उसकी छाती को छू रहे थे और मैं उसके होंठों को लगातार चूमे जा रही थी। फिर मैं धीरे-धीरे उसके लण्ड पर दबाब बनाने लगी और उस पर बैठने लगी।धीरे-धीरे उसका लण्ड मेरी चूत की गहराइयों में उतरने लगा।उसे कितना दर्द हो रहा था.

तो वो मेरे पास आई, उसने मुझे वादे के अनुसार 500 रुपए वापस किए।फिर मैं तुम लोगों के पास आया और तुम्हें वो मनघड़ंत कहानी बताई कि कुछ हुआ ही नहीं।फिर मैंने भूषण से कहा- अच्छा तो यही था तेरी मुठ मारने का झूठ।वो हँसने लगा।आपके ईमेल की प्रतीक्षा में।[emailprotected]. सेक्सी सेक्सी सेक्सी देखना हैऔर आखिरी बार नज़र बाहर डाल कर मेरे लण्ड को मुँह में ले लिया।आज इतने दिनों बाद अपने लण्ड पर आपी के मुँह की गर्मी को महसूस करके मैं भी तड़फ उठा- उफ्फ़ आप्पी.

लेकिन मेरे मनाने के बाद वो मान गई तो मैंने अपने सारे कपड़े निकाल लिए और उसके भी निकलवा दिए। मैंने उसके मम्मों को मुँह में लेकर चूसा।मुझे तो ऐसा लगा रहा था जैसे मैं तो जन्नत में हूँ। मैंने काफ़ी देर तक चूचे चूसने के बाद उसके सारे बदन को खूब दबाया।वो भी मस्ती में मचल रही थी.करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो: मैं तो तुम्हें तड़पा रही थी। कमरे में अन्दर जाकर मैंने नेहा को दूध पिलाया और तनु को पानी पिलाकर सुला दिया। अब वो दोनों नहीं उठेंगी। मैं अगर पहले ‘हाँ’ भर देती तो तुम पागल हो जाते और वहीं शुरू हो जाते।इतना सुनते ही मेरा अजगर फिर जुर्राट हो गया। मैं उसे पकड़ने वाला ही था तो उसने मुझे रोक लिया और कहा- पहले मेरे सवालों का जवाब दो।अब उसके क्या सवाल थे और चुदाई का क्या हुआ.

तुम्हारे ख्याल में ये सब सही है?’आपी की बात सुन कर मेरे चेहरे पर भी संजीदगी आ गई थी, मैंने भी आपी के बालों में हाथ फेरते-फेरते ही जवाब दिया- आपी क्या सही है.और मुझे जम कर प्यार करो। मेरी हालत बहुत खराब हो रही है।वो मुझसे लिपट गईं, मैंने भी उन्हें बाहों में भर लिया।मुझे भी चूत ना मारे हुए बहुत दिन हो गए थे। यहाँ तो आज चूत खुद चुदने आई थी.

हिंदी में सेक्सी बातचीत करते हुए - करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो

उसने कोई जबाव नहीं दिया।फ़िर मैं उस दिन उसको ‘गुड नाइट’ बोल कर सो गया।दूसरे दिन उसका ‘गुड मॉर्निंग’ का मैसेज आया हुआ था।रात में उसका मैसेज आया- क्या कर रहे हो.अब उसे देखकर मैं भी मुस्कुराने लगी।वो समझ गया कि मैं उससे चुदवाने के लिए तैयार हूँ।फिर हम लोगों ने खाना खाया और फिर मैंने उससे बोला- आज रात मेरे ही साथ सो जाना.

या शायद मेरी पोजीशन ऐसी थी कि मैं अकड़ा हुआ था और कोशिश यह थी कि मेरा जिस्म आपी से टच ना हो. करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो आज भी सुनीता अब्सेंट रही और मंगलवार को भी नहीं आई।मेरे गुस्से का तो कोई ठिकाना नहीं था बुधवार को सुनीता जब काम पर वापस आई.

अधिक चिकनाई की वजह से फिसला जा रहा था।मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी गाण्ड को कसके फैलाया.

करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो?

पर किस करना नहीं छोड़ा।आपी भी पूरे मज़े से मुझे किस कर रही थीं और अपने हाथों से मेरे सर पर दबाव डाल रही थीं। वे मेरे होंठों को अपने होंठों पर इस तरह दबाव डाल रही थीं. और मैंने उन्हें अपनी बाँहों में भर लिया। उनको इस तरह लेने से मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।वो फिर थोड़ी देर बाद चुप हुईं और वैसे ही मेरे बाँहों में लिपटी रहीं।थोड़ी देर फिर उन्होंने धीरे से कहा- गौरव, आई लव यू!मैंने पूछा- क्या?उन्होंने कहा- मैं तुम्हें लाइक करती हूँ।उन्होंने मेरी तरफ देखा और मुझसे पूछा- तुम भी मुझे पसंद करते हो. उसके पैरों के बीच में आ कर अपना मूसल जैसे लण्ड का सुपारा उसकी चूत की लकीर में ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर रगड़ने लगा.

जो थोड़े से दबाव ही से फिसलती हुई तकरीबन एक इंच तक चूत के अन्दर दाखिल हो गई।उसी वक़्त आपी ने एक तेज सिसकी भरी और अपनी टाँगों को आपस में बंद करते हुए सीधी खड़ी हो गईं- सगीर निकालो बाहर. ’ मौसी अपने चूतड़ उचका कर लण्ड को अपनी चूत में लेने की कोशिश करते हुए बोलीं।मैंने लण्ड के सुपारे को मौसी की चूत की दोनों फांकों के बीच के कटाव में थोड़ा और रगड़ा और फिर हल्का सा धक्का लगा दिया। चूत इतनी गीली थी कि लण्ड का मोटा सुपारा ‘गप्प’ से अन्दर घुस गया।‘आऐईयईई. तो मैं उसके मुँह में मुँह डालकर उसके होंठों को चूसने लगा।अब तो वो मेरी पीठ पर अपने नाखूनों से नोंच रही थी.

उसने मुझे सीधा किया और मेरा गाउन उतार कर साइड में रख दिया।मैंने आलोक से बोला- आलोक प्लीज अब ज्यादा देर मत करो।वो उठा और उसने अपनी पैंट की जेब से एक कन्डोम का पैकेट निकाला और मुझे देते हुए बोला- चाची पहले मुझे ये तो पहना दो।मैंने आलोक से कहा- आज तो पूरी तैयारी से आए हो।तो वो हँस दिया. क्योंकि मैं उसका पूरा ध्यान रखता हूँ।मैंने भी प्लान बनाया कि कुछ किया जाए. मूवीज देखना या अपने हाथों से अपने आपको तसल्ली पहुँचाना एक अलग बात है और ये बिल्कुल अलहदा चीज़ है कि आप किसी और के साथ सेक्स करो और वो भी सगे भाई के साथ.

मुझे तो खुद सनी से चुदने की पड़ी थी और विकास के लिए उसे पटाना था।मैंने भी हंस कर कह दिया कि कोई सेटिंग वेटइंग नहीं है तेरे जीजू से ही तेरी आग बुझवा दूँगी।कावेरी बोली- धत्त…पर यह पक्का हो गया था कि कावेरी मान जाएगी।अब कावेरी वो पैकेट निकल लाई. आज तो जी भरके आपकी चुदाई करूँगा।मैंने हँसते हुए उसे अपने पास खींचा और उसके होंठों पर एक जोरदार चुम्मी दी। फिर मैंने उससे बोला- तू अभी तैयार हो जा.

आखिर वो मेरी पत्नी की बहन है।अगर जबरदस्ती करूँगा तो इज्जत की माँ चुद जाती। यही सोच कर सोफे के पास गया तो देखा कि जहाँ मैं मोबाइल रख कर गया था.

तो वो अब जल्दी ही घर वापस आ जाता था।कुछ देर बाद रोहन वापस आ गया और आते ही अपने कमरे में चला गया.

फरहान ने बेसाख्ता अपने सिर पर हाथ फेरा तो उसके हाथ पर भी मेरे लण्ड का जूस लग गया। फरहान ने अपने हाथ को देखा और फिर आपी की आँखों में देखते हुए ज़ुबान निकाल कर चाटते हुए बोला- उम्म्म. सो हम दोनों ऐसे ही निढाल लेटे रहे।करीब 30 मिनट बाद हम दोनों उठे और फिर दुबारा से मैंने नेहा भाभी की एक बार और पूरी ताकत से चोदा।अब वो और मैं दोनों ही खड़े होने के लायक ही नहीं रहे थे।मैंने नेहा भाभी को उस रात 2 बार चोदा. पर फरहान नहीं हटा और ऐसे ही हनी की चूत को चूसता रहा और हनी आहें भरती रही- आहह आआहह.

मैं आपी की बात सुन कर उनको ‘ओके’ बोल कर वहाँ से चला गया।मैंने अपने कमरे में जाकर में फौरन कपड़े उतारे और वॉशरूम में घुस गया। कुछ लम्हे बाद मैं फ्रेश होकर बिस्तर पर लेट गया और आपी का इन्तजार करने लगा।करीब दस मिनट बाद आपी कमरे में आईं तो मैं खुशी से आपी की तरफ बढ़ा और उनको गले से लगा लिया। मैंने उनके होंठों पर एक किस की. मर्द को अपने ऊपर इतना तो कंट्रोल होना ही चाहिए।मैं ऐसी ही मुतज़ाद सोचों से लड़ रहा था कि आहिस्ता-आहिस्ता बिस्तर के हिलने से मेरे ख़यालात का सिलसिला टूटा और मैंने आँखें खोल कर देखा तो फरहान बिस्तर की दूसरी तरफ लेट कर कैमरा हाथ में पकड़े हमारी मूवी देखते हुए मुठ मार रहा था।मैंने चिड़चिड़े लहजे में कहा- यार क्या है फरहान. मैं तुम्हारा बच्चा पैदा करूँगी और आपको दूध भी पिलाऊँगी।मैंने रास्ते में कई बार उनके बोबों को भी दबाया था। होंठों भी छुआ और गाण्ड पर भी हाथ फिराया। वो नाराज होने वाली तो थीं नहीं.

चिकने कूल्हे मेरी नजरों के सामने थे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !झुकने से आपी के दोनों कूल्हों के दरमियान का गैप थोड़ा बढ़ गया था और आपी की गाण्ड का डार्क ब्राउन सुराख भी झलक दिखला रहा था।उससे थोड़े ही नीचे आपी की खूबसूरत चूत के लब नज़र आ रहे थे.

इतना पढ़ते ही मेरा मायूस लौड़ा फिर से अजगर जुर्राट बन गया था। मैंने अपने लौड़े को पायजामे में सैट किया और बाहर गया तो वो बाहर नहीं थी. तथा हर रोज़ इस वेबसाइट पर कहानियाँ पढ़ती हूँ।मैं बहुत दिनों से सोच रही थी कि मैं भी मेरी एक पुरानी और मजेदार चुदाई की कहानी इस पर लिखूँ।तो दोस्तो, यह घटना दो साल पहले की है. ’ मैंने हँसते-हँसते हुए कहा- जब आप अपने जज़्बात से तंग आकर अपनी टाँगों के बीच वाली जगह को थप्पड़ों से नवाज रही थीं.

पर बार-बार लण्ड फिसल रहा था।उसने अपने हाथ से मेरा लण्ड पकड़ कर अपनी चूत पर सैट किया और धक्का लगाने को कहा।मैंने जैसे ही धक्का लगाया. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्यारा नमस्कार।मैं मेरी पहली मस्ती भरी कहानी आपके सामने रखने जा रहा हूँ।मैं प्रेम, 26 साल का 5’7″ लम्बा युवक हूँ और मेरा हथियार भी लम्बा और मोटा है।मैं एक अच्छे शहर से हूँ. फिर चूत में जाएगा।उसकी चुदास बहुत ज्यादा हो गई थी, उसने बोला- ठीक है.

’ निकलने लगा।मैंने रुक कर उसके होंठों को चूम लिया और फिर से लण्ड को जोर से अन्दर पेल दिया।कुछ देर के दर्द के बाद मजा आना शुरू हो गया।मैं उसकी चूत को चोदते गया, साथ ही उसके मस्त मम्मों को भी दबा रहा था, उसको चुम्बन कर रहा था.

बाहर निकालो।मैंने उसके सीने पर वीर्य की पिचकारी निकाल दी।कुछ पल चरम का आनन्द लेने के बाद फिर से उसी सुख को लेने के लिए हम दोनों तैयार हो गए थे।उस दिन मैंने उसे एक बार और चोदा और अब जो सिलसिला शुरू हुआ तोअब तक चोद रहा हूँ. उन्होंने मुझे अपने पास खींच लिया और अपने गले से लगा लिया।मैं आंटी की चूचियों को जोर-जोर से दबाने लगा।‘आंटी आज मुझे चोद लेने देना।’आंटी बोलीं- आज तो पूरी रात बाकी है.

करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो तो इसका मतलब तुमने उन दोनों के लण्ड एक समय मैं अपनी गाण्ड और चूत में लिए हैं. मैं पिछले 4 साल से अन्तर्वासना की पाठिका हूँ और मैंने लगभग सारी सेक्स कहानी पढ़ी हैं।कुछ समय से मेरी भी तमन्ना थी कि मैं अपनी चूत चुदाई की कहानियां यहाँ लिखूँ जिससे आप लोग भी इसका मज़ा ले सकें।यह कहानी मेरी और मुझे ऑनलाइन मिले मेरे दोस्त अमित के बारे में है। क्योंकि यह मेरी पहली कहानी है.

करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो बिल्कुल नहीं।एक पल के लिए हम दोनों मौन रहे।पूजा- क्या तुम्हें मजा आया था?मैंने- अंह. मुझे सुन कर भी अनसुना कर दिया। फिर मेरी पैन्ट निकाल कर फेंक दी और मेरी पेंटी ना जाने कहाँ गायब कर दी।वो एक बार फिर मेरे पर चढ़ गए। मेरी चुत बुरी तरह सूज गई थी.

और गर्म होने लगी थी।फ़िर वो मेरे पास को आई और उसने अपने नरम हाथों को मेरे गर्म और सख्त लौड़े पर रख दिया।इतना कड़क लण्ड पकड़ कर उसके मुँह से ‘अह्ह्ह्ह.

सेक्सी किसान

लेकिन वो उसे अपनी गोद में रखे हुए ही मूवी देख रही है।मैंने उससे बोला- जाओ इसे भी सुला दो।उसने बोला- नहीं. बस रह गया कल चला जाऊँगा बनवाने।अब्बू ने गुस्से से भरपूर नज़र मुझ पर डाली और बोले- यार अजीब आदमी हो तुम. क्या तुम पायल और अंकल के साथ जाकर उसे एग्जाम दिला दोगे?मैं- हाँ क्यों नहीं.

वो खुश नसीब है कौन?उन्होंने कहा- तुम्हारी बहन पिंकी!मैंने कहा- वो तो अभी छोटी है?मौसी ने कहा- वो छोटी नहीं है. लेकिन भैया को इस बारे में आज तक कुछ पता नहीं है।आपको मेरी कहानी कैसी लगी. तो मैंने लण्ड को हटा लिया।मौसी करवट लेकर सीधी हो गईं और पैरों को पूरा खोल दिया.

अपने अंडर में रख लिया है।अब सुनीता के तो मज़े हो गए, उसे अब साढ़े दस पर आना और 5.

वो था नेहा की प्यारी-प्यारी चूत की मालिश करना।इसलिए मैं नेहा की टांगों पर मालिश करने लगा और जब मैं उसकी पूरी टांगों पर मालिश कर रहा था. मैं समलैंगिक हूँ और मुझे लंड देखना व मुंह में लेकर चूसना पसंद है इस बात का पता लगे हुए मुझे ज्यादा दिन नहीं हुए थे।कद-काठी की बात करें तो मैं थोड़ा मोटा हूँ. मेरा बायाँ गाल आपी के सीने के दोनों उभारों के दरमियान में था।आपी ने अपनी टाँगों को अभी भी उसी तरह मेरी कमर पर क्रॉस कर रखा था.

मैंने खुद भी आँखें बंद कर लीं।मेरी गहरी नींद टूटी और मैंने ज़बरदस्ती आँखें खोल कर देखा. मम्मी और आंटी बातें करने लगीं। थोड़ी देर बाद बेबी रोने लगा और वो चुप नहीं हो रहा था. उसने जॉब ऑफर लैटर तो पकड़ लिया और साथ ही उसे लगा जैसे उसने कुछ गलत कह दिया था।अर्श- आई एम सॉरी सर.

नहीं तो मैं भी रो दूँगा।और वाकयी मेरी कैफियत ऐसी ही थी कि चंद लम्हें और गुज़रते. ’मैंने भी देर करना उचित नहीं समझा और धीरे से धक्का लगाया और लण्ड का टोपा उसकी चूत के अन्दर जा कर फंस गया।माधुरी- अह्ह्ह्ह्ह.

आपके विचारों का स्वागत है।आप लोग मुझे फेसबुक पर भी कांटेक्ट कर सकते हैं।आपका मयंक लव. जो उसके किसी और नाम से था।मैंने वो ईमेल नोट कर ली और भी उसमें भी बहुत सारी सेक्सी स्टोरीज की इमेल्स थीं, जो उसने अपनी दूसरी मेल पर सैंड की हुई थीं।इसके अलावा मैंने उसके दोनों गूगल प्लस एकाउंट्स को अपने गूगल प्लस में ऐड कर लिया।दूसरे दिन मुझे उसकी कॉल आई। उसने ‘नमस्ते’ बोलने के बाद मुझसे कहा- सर अपने मुझे कॉल करने को कहा था. तो मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख दिया और उन्हें चूमने लगी.

तो उन्होंने मना कर दिया।मैंने खुद वहाँ आने का इशारा किया तो उन्होंने गर्दन हिला दी।मैंने अपने कमरे की लाईट बंद की और दरवाजे को ऐसे ही उड़का दिया.

तो मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबाया और एक जोरदार धक्का और मारा और पूरा का पूरा लण्ड उसकी चूत में उतार दिया।वो तो तड़पने लगी. मैंने कहा- मैं जाने वाला हूँ।कुछ धक्कों के बाद मेरे लण्ड में भी हरकत शुरू हुई और मैंने भी उसको कस कर पकड़ लिया और उसकी जीभ चूसने लगा।फिर मैंने भी अपना सारा लावा उसकी चूत में उड़ेल दिया और लस्त होकर उसके नंगे बदन पर ढेर हो गया।कुछ देर तक हम यूं ही पड़े रहे, फिर. अगले ही पल उसने मेरे सिर में पर थप्पड़ मारा- साले रंडी की औलाद! अगर लंड चाहिए तो पैसे ले आना.

मैंने उसे चूत की दरार पर रखा और एक धक्का मारा तो मेरा आधा लण्ड घुस गया।वो चीख पड़ी और बोली- ओह गॉड मैं तो मर गई. जो पूछना है अपने लल्लू भैया से पूछिए।मैंने इसके बारे में दो दिन बहुत सोचा।एक दिन घर पर कोई नहीं था.

फिर अपने दोनों उभारों को आपस में दबाते हुए आईने में से ही मेरी तरफ नज़र उठाई और मेरी आँखों में देखते हुए अपनी ज़ुबान निकाली और सिर झुका कर अपने खूबसूरत. मैं समझ चुका था कि उसका यह ज़िंदगी का पहला ऑर्गेस्म हुआ है।वो अभी भी मेरी बाँहों में थी. मैं आज भी अपनी मामी से उतना ही प्यार करता हूँ और आज उनका एक बच्चा भी है.

सेक्सी ओपन वीडियो फोटो

वो उठीं और मुझे अपने ऊपर खींच लिया, मेरे होंठों पर किस करके कहा- जानेमन, आज मैं तुम्हें सिखाती हूँ।उन्होंने मेरा लण्ड अपनी चूत पर रखा और कहा- अब धक्का मारो।मैंने धक्का मारा और लण्ड थोड़ा सा अन्दर घुस गया, मुझे पहली बार चूत का मज़ा पता चला, वो बिल्कुल गर्म गर्म लग रहा था। मुझे इतना अच्छा लग रहा था कि मैंने अपनी मामी को कहा- आई लव यू जान.

मोना- मैं बच्चा चाहती हूँ और तुम्हारे भईया को समय पर छुट्टी नहीं मिल पाती है। वो कई बार कोशिश कर चुके हैं मगर बच्चा नहीं हुआ।इतने में मैं बोला- भईया नहीं दे सकते तो हम कब काम आएँगे।मैंने मोना भाभी को बिस्तर पर लिटा दिया। मैंने प्यार से भाभी को होंठों पर चूम लिया। इतने पर ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. तो मैंने अपने पूरे लण्ड पर थूक लगाया और फिर थोड़ी देर घिसा। मेरे लण्ड का पानी निकलने का नाम नहीं ले रहा था। मैंने उनकी जाँघों के बीच हाथ घुसाने की कोशिश की. है ना?मैंने शरारत से आपी को देखा और कहा आपी मैं क्या ‘कर’ रहा हूँ आपको.

तभी अचानक मेरा पैर फिसल गया और मैं गिर पड़ी। मेरी कमर और पीठ में बहुत चोट लगी थी और दर्द के मारे मैं रोने लगी।मेरे गिरने और रोने की आवाज़ सुनकर आलोक भागकर बाथरूम की तरफ आया और मुझे गिरा हुआ देखकर अचानक से डर गया।मैं खड़ी नहीं हो पा रही थी तो वो मुझे सहारा देने लगा. इतना मोटा लंड जो लिया था।चाची को देखा तो बेसुध सी लेटी हुई थीं।मैंने उनकी गाण्ड साफ की. सेक्सी पंजाबी चुदाई वीडियोऔर मुझसे यह कहते हुए क़मीज़ गर्दन तक उठा दी।मैं आपी के क़रीब पहले ही आ चुका था। मैंने अपनी बहन के हसीन उभारों को देखा और अपने दोनों हाथों में आपी के उभार पकड़ कर दबाए और निप्पल को सहलाने के फ़ौरन बाद ही अचानक से आगे बढ़ कर आपी का खूबसूरत गुलाबी निप्पल अपने मुँह में ले लिया।मेरी ज़ुबान ने आपी के निप्पल को छुआ.

कोई आ जाएगा।मुझे भी यह बात सही लगी और मैं अपने कमरे में आ गया।दोस्तो, सोनिया का साथ मुझे इतना अच्छा लगने लगा था कि मैं किस काम से दिल्ली से हरिद्वार आया था. मैंने खुशी खुशी उसकी बात मान ली और अपनी पैंट को अंडरवियर समेत जांघों तक नीचे सरका कर उसकी जगह लेट गया।उसने मेरा लंड हाथ में लेकर एक दो बार हिलाया जिससे मुझे काफी अच्छा लगालेकिन अगले ही पल अचानक उसने मुझे जबरदस्ती दूसरी तरफ पलट दिया और एकदम से मेरे ऊपर आकर गिर गया और उसका लंड सीधा मेरी गांड पर आ लगा।उसने सिसकारी ली-.

वो अब तन गया था।मैंने बिना कुछ सोचे उसकी गीली चूत पर अपना लण्ड रगड़ा और अन्दर घुसेड़ दिया।जैसे ही लण्ड फिसल कर अन्दर गया. कैसे हो मित्रो!अन्तर्वासना के नए पाठकों के लिए मैं अपना परिचय दे दूँ।मैं जैक. तभी से मेरा लण्ड तुझे याद कर रहा था।फिर उसने अपने हाथ से दो अंगूठी निकाल कर शेरा को दे दीं और बोला- अब तू जा.

मुझे ला दो।हनी ने सोफे से अपना स्कूल बैग उठाया और बाहर की जानिब जाते हुए कहा- भाई आप खुद जा कर ले लें ना. अब जल्दी से लौड़ा चूत के अन्दर डाल दो। ये तुम्हारा लण्ड लेने को बड़ी तड़फ रही है।मैं बोला- क्या बात है भाभी दिल्ली आने के बाद भी भाई का नहीं लिया क्या. मुझे समझने के लिए इशारा काफी था। मैंने उसे कमरे पर आने का न्यौता दे दिया।दूसरे दिन सुबह-सुबह 7 बजे उसका फोन आया कि वो 9 बजे तक मेरे कमरे पर आ जाएगी।मैं बहुत खुश हुआ।मैंने नहाते हुए अपनी झाँटें अच्छे से साफ कर लीं.

मैंने नजरें झुका लीं।आपी ने एक क़हक़हा लगाया और शरारती अंदाज़ में बोलीं- हीई हीएहीई तुम्हारी ही बहन हूँ मैं भी.

पर इस बात का मुझे कोई एहसास नहीं था।फिर वो मुझसे अलग हुआ और हम दोनों अन्दर आने लगे। उसने मेरी लड़खड़ाती चाल देखकर पूछा- माँ आप ऐसे क्यों चल रही हो?तो मैंने बोला- अभी नहाते समय बाथरूम में फिसल गई थी।फिर हम सब लोगों ने मिलकर खाना खाया।उसके बाद आलोक और रोहन वहीं सो गए और मैं अपने कमरे में आ गई।कुछ देर बाद मुझे मेरे कमरे में किसी की आहट हुई. आज मुझे ये वाला दूध पीना है।भाभी मुस्कुरा दीं, फिर भैया ने आधा गिलास दूध पिया और आधा भाभी को पिलाया।भैया ने भाभी को गोद में लेकर बिस्तर पर लेटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट गए। अब भैया उनके गहने उतारने लगे.

वक़्त बस यहाँ ही थम जाए और तुम हमेशा इसी तरह अपना लण्ड मेरी चूत में ऐसे ही अन्दर-बाहर करते रहो!मैंने कहा- फ़िक्र ना करो आपी. जिसे देख कर मेरा मन ललचा गया और मैंने उसकी पैंट भी उतार दी।उसने पैंटी भी काले रंग की ही पहनी हुई थी. तभी वो लोग भी हमारे पीछे आने लगे।बस में बहुत भीड़ थी, मैंने उनसे कहा- आप इधर ही रुको.

ये मुझे ब्लैकमेल करना चाहती है।तो मैंने भी नाटक शुरू कर दिया और हाथ जोड़ कर. काली ब्रा में क़ैद चूचे बाहर आने को तैयार थे।मुझे पोर्न स्टार मीया खलीफा की याद आ गई।मैंने ब्रा भी उतार दी… उसके दूध आज़ाद हो गए… एकदम तोप से तने हुए चूचे. ऐसे दोस्त जिनमें कोई भी शर्म और किसी किस्म की कोई बंदिश न हो।अर्श- ओह सॉरी सर.

करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो आपी ने मेरे कहने के मुताबिक़ मेरे लण्ड को अपनी रानों में सख्ती से दबा लिया और मेरा लण्ड आपी की नर्म हसीन रानों के दरमियान दब गया।मैंने अपने लण्ड को आपी की रानों में ही आगे-पीछे करना शुरू किया. यानि कि आज रात को भी आने का प्रोग्राम नहीं है?‘यार तुम्हें पता ही है कि फरहान और हनी के फाइनल एग्जाम होने वाले हैं.

செக்ஸ் வீடியோஸ் கேரளா

तो सामने से आपी भी अपनी चूत को मेरी तरफ दबातीं और मेरी कमर पर अपने पाँव की गिरफ्त को भी एक झटके से मज़बूत करके फिर लूज कर देतीं और उनके मुँह से ‘आह. बस मुस्कुरा कर वापस अपनी नजरें आपी की टाँगों के दरमियान जमा दीं।आपी ने अपने पजामे को थोड़ा और नीचे किया. पीछे मेरा हाथ उसकी गाण्ड को दबा रहा था।फिर उसकी चूत पर मैंने अपने होंठ लगा दिए और वो मादक सिसकारियाँ लेने लगी।वो अपने एक हाथ से मेरे लण्ड को दबा कर मेरा भी बुरा हाल कर रही थी।मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डाली और अन्दर-बाहर करने लगा। कुछ मिनट बाद उसने मुझे बहुत ज़ोर से पकड़ा और वो अकड़ने लगी। फिर उसका रस निकल गया और वो मैं पी गया। अजीब सी खुश्बू थी उस अमृत की।अब उसकी बारी थी.

नेहु ने कहा- मोनू, मैं हमेशा बिल्कुल नंगी सोती हूँ।मैंने कहा- क्यों तुम्हें डर नहीं लगता कि कोई तुम्हें देख लेगा?नेहु बोली- मोनू मेरा रूम मम्मी-पापा के रूम से अलग है और मैं अकेली सोती हूँ तथा मुझे रात को पूरी नंगी सोने की आदत है।मैंने मन ही मन बस पूरा प्रोग्राम बना लिया, उससे बात करने के बात मैंने मुठ जरूर मारी।फोन रखने से पहले मैंने उससे मिलने की ख्वाहिश जाहिर की. तो मैंने सर से बात की और मैं चाचा के घर निकल गया।मैं पहले दुकान पर गया. मोटी रंडी की सेक्सीजिससे नेहा गर्म होने लगी।नेहा के होंठों पर मैं दुबारा से जोर-जोर से पूरे जोश में चुम्बन कर रहा था और भाभी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी।फिर जल्दी ही मैंने नेहा की ब्रा और पैंटी को भी उतार दिया, नेहा बिना कपड़ों के मेरे सामने लेटी हुई थी।मैंने नारियल के तेल को उसके चूचों.

तो मैं बाथरूम गया और मुठ मार कर वापस आ गया।मुझे आने में 5 मिनट लगे होंगे.

मैं निकलने वाला हूँ। आ दिखाता हूँ तुझे बाबा जी के लौड़े में कितनी मलाई भरी है।मैंने थोड़ी कोशिश करते हुए हाथ बढ़ाया और कांच का कप उठा लिया। पुक्क करके उन्होंने पूरे लण्ड को चूत के बाहर खींच और जल्दी से कप के मुँह में डाल दिया।मैं हैरान होकर देखने लगी।उनके लण्ड के द्वार से मोटी सी सफेद दूध जैसी धार निकलने लगी। बहुत ही हैरान कर देने वाला दृष्य था। लिंग कांच के कप के तल तक पहुंच रहा था. भाभी ने मेरा लन्ड चूस कर मेरा वीर्य गटका और भाभी और मैं फटाफट फिर से नहा कर बाहर निकल आए और कपड़े पहन कर घर की ओर चल दिए।दूसरी भाभी रूपा भाभी को देख कर मुस्कुरा दीं.

मैं भी उसे ही देख रही थी। तभी वो मुझसे बोला- पर मम्मी मेरे साथ सेक्स करेगा कौन?और इतना कहकर वो मुझे देखते हुए मुस्कुराने लगा।मैंने उससे बोला- लगता है मुझे ही कुछ करना पड़ेगा तेरा. आप समझ सकते हो।उसके आम ब्रा से बाहर आने को बेताब थे।मैंने उनको कैद से आजाद किया और अपने मुँह में डाल लिए।इधर मैं आम चूसे जा रहा था उधर उसकी गर्म सांसें तेजी से चल रही थीं।उसके बाद मैंने उसकी पैन्टी उतार फेंकी और अपने भी सारे कपड़े उतार दिए।उसने आँखें बन्द कर रखी थीं और वो मेरा लण्ड देखना नहीं चाहती थी।फिर देर ना करते हुए मैंने अपना लण्ड उसकी चूत में घुसाने का प्रयास किया. जो दिल्ली में रहती हैं। मेरी मौसी का नाम सोनी (बदला हुआ) है।बस क्या बताऊँ उनको जो देख ले.

वो वहीं लेटा हुआ तड़पने लगा और अचानक मेरे सिर को पकड़ कर लंड मेरे मुंह में दे दियाऔर पूरा गले में घुसा दिया.

रायपुर से आपके लिए एक मस्त सेक्सी कहानी लेकर आया हूँ।अन्तर्वासना का मैं आभारी हूँ कि मुझे यहाँ अपनी कहानी लिखने का मौका मिला। मैं अन्तर्वासना पर कामुकता भरी हिन्दी सेक्स स्टोरी का पिछले सात सालों से नियमित पाठक हूँ।आज मैं पहली बार अपनी कहानी पोस्ट कर रहा हूँ, यह मेरे जीवन में घटी सच्ची घटना है।अब आपकी मुलाकात इस कहानी की नायिका से करवाता हूँ।नाम नेहा, उम्र 26 साल. उसकी तबीयत ठीक नहीं है और मैं और रामा मेरे कमरे में आ गए। कमरे में आते ही मैंने रामा को अपने गले लगा लिया और उसकी चूचियाँ कुर्ते के ऊपर से ही दबाने लगा।उसने अपना सर मेरी छाती पर रख लिया और सिसकारियाँ लेने लगी- ओफ. मगर शारीरिक सुख कैसे दे पाता होगा? अगर दिया भी तो पूरी तरह की खुशी नहीं दे पाता होगा क्योंकि वो ना दिखने में अच्छा था.

बॉलीवुड सेक्सी दिखाइएलेकिन फरहान बिल्कुल आखिरी स्टेज पर था और आपी के आगे होते ही फरहान के लण्ड ने अपना पानी छोड़ दिया और उसने अपने ही हाथ से आखिरी 2-3 झटके दिए. मुझे आग लग गई और मैं पूरी मचल गई, मेरे बदन में अजीब सा करेंट लगा।फिर उसने मेरी चूत चूसी और धीरे-धीरे उंगली डाल कर चूसने लगा।चूत में उंगली जाते ही मेरी चीख निकल गई।फिर उसने मुझसे पूछा- पहले चुदी है?मैंने मना कर दिया.

कोरिया सेक्सी व्हिडीओ

तू सिर्फ मेरा है और इस गांड पर सिर्फ मेरा हक़ है।यह कहकर उन्होंने मेरी गांड में उंगली डाल दी. मुझे उसके साथ बड़ा अजीब सा लग रहा है।उसने कहा- वो सब तुम मुझ पर छोड़ दो।उसके बाद हम वापस कमरे में गए तो फ़रज़ाना ने अपनी फ्रेंड से कहा- तुम सोफा पर बैठ जाओ और हम दोनों को बिस्तर पर प्यार करने दो. तो उसके चेहरे पर थोड़ा दर्द था।वो फ्रेश होकर एक्जाम की तैयारी में लग गई, मैं उसे बार-बार देखता जा रहा था।मेरे लंड में भी जलन और दर्द हो रहा था.

प्लीज जरूर बताइएगा। मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा।[emailprotected]बहन की चुदाई कहानी का अगला भाग :गरम माल दीदी और उनकी चुदासी चूत-2. मगर मैं झड़े बिना कैसे निकल जाता।कुछ देर और धक्के देने के बाद मैं भी झड़ने वाला था। मैंने उनसे पूछा- कहाँ निकालूँ?तो उन्होंने कहा- मेरी चूत में ही निकाल दे. रात में ही होगा।बस फिर तो मैं बेशरम हो गया और चाची से बोला- ठीक है.

मेरा बरसों का सपना आज पूरा हुआ… फाड़ दो मेरी चूत मेरे राजा… नीता आज तूने मुझ पर बड़ा एहसान किया है मेरी जान!विकास भी कह रहा था-. जैसे मेरे होंठ ही खा जाएंगी।मैं भी आपी के ऊपर लेट कर आपी को किस करता रहा।हम ऐसे ही करीब दस मिनट तक मगन हो कर किस करते रहे।इसके बाद आपी ने अपने होंठ मेरे होंठों से अलग किए तो आपी के होंठों से हल्का-हल्का खून निकलने लगा।मैंने अपना हाथ आपी के होंठ पर लगाया. इसलिए आपी ने दिल से नहीं चूसा होगा क्योंकि अगर वो दिल से सब कुछ कराएँ.

तो वो धीरे-धीरे अपनी स्पीड तेज करता गया।मैं सिर्फ़ मजे से भरी हुई सीत्कारें ले रही थी ‘आआहह. जिसे वो मान भी गई।अगले दिन रविवार था और मुझे कहीं जाना भी नहीं था तो मैं सुबह 9 बजे से ही तैयार हो कर बाल्कनी के चक्कर लगाने लगा.

तो उसने कहा- हम तैयार हो कर आ रहे हैं।मैं दोबारा वहीं सोफे पर बैठ गया।आपी ने नाश्ता लगाना चालू किया।अब्बू ने आपी से कहा- तुम आज यूनिवर्सिटी मत जाना.

मैं खाना खाते हुए नजर उठा कर आपी की छाती के उभारों और पूरे जिस्म को भी देख रहा था, आपी ने मेरी निगाहों को ताड़ लिया, आपी ने भी उसी वक़्त मेरी तरफ गुस्सैल शक्ल बना कर आँखों से अम्मी की तरफ इशारा किया. सेक्सी मूवी कुत्ताअगर आप बुरा ना माने तो मैं उनको घुमा देता हूँ। आखिर भाभी के लिए अपना भी तो कोई फर्ज बनता है।भाई बाले- अरे ये तो बहुत बढि़या है। तुम इस महीने, अगर तुम्हें टाइम मिले तो कुछ जगह तुम घुमा देना. मराठी सेक्सी पिचरतैयार भी हो जाऊँगी और तुम्हारी मर्जी के कपड़े भी अच्छे से पहन लूँगी. ’ की आवाज निकल गई।मेरे दिमाग में एक बार फिर से खयाल आया कि मैं यह क्या कर रही हूँ? मगर उत्तेजना के कारण मेरा ख्याल दिमाग में ही दब कर रह गया.

अपनी कमर हिला कर लण्ड को अच्छे से चूत पर सैट कर लिया।मैंने उसके कन्धों को पकड़ा और करीब-करीब उस पर लेट ही गया, फिर मैंने अपने चूतड़ को पीछे करके शॉट लगाया।अबकी बार सुपारा अन्दर चला गया।उसकी चीख निकल गई ‘ऊऊऊ ईईईई.

पायल भी मेरा साथ दे रही थी।नाइटी के अन्दर से उसका गोरा बदन दिख रहा था। उसके गले के आस-पास के खुले हिस्से को मैं चूम रहा था. मगर फिर उसकी शादी हो गई। अब मेरा लण्ड फिर से अकेला हो गया है।दोस्तो, यह थी मेरी सच्ची कहानी। मैं आप सब दोस्तों की मेल का इंतज़ार करूँगा।[emailprotected]. पर दोस्तों इस दर्द में भी मज़ा आ रहा था। फिर मैंने चाची को जम कर चोदा और चाची ने भी मेरा पूरा साथ दिया।तो इस तरह मैंने अपनी सुमन चाची की चूत और गाण्ड दोनों मारी।कसम से बहुत मज़ा आया।मैं जब तक वहाँ रहा.

मेरे को बैठा कर वो फिर फोन पर बात करने लगा।जब वो बात करके वापस मेरे पास आया तो मैंने पूछा- किसके साथ लगा था तू?मेरे दोस्त ने बताया- एक लड़की है लखनऊ की. दर्द भी हो रहा था, लण्ड बाहर आना चाहता था।मैंने धीरे से उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठाना शुरू किया था, पायल ने मेरा हाथ पकड़ लिया- नहीं राहुल!मैं- पायल मुझे तुमको देखना है. तो फरहान अपनी पढ़ाई में ही बिजी था।मैंने उससे ज्यादा बात नहीं की और उसकी पढ़ाई की बाबत मालूम करके कपड़े चेंज किए और बिस्तर पर आ गया।मेरा यह नेचर है कि मैं जब कोई काम करने लगता हूँ.

बिहार के सेक्सी फिल्म वीडियो

फिर मैंने एक लंबा जोरदार होंठों पर चुम्मा लिया।इधर लंड महराज मामी की चूत के छेद में घुसने को बेताब थे, मैं अपने लंड को मामी की चूत की दरार पर घिसने लगा।मामी की चूत पहले से ही बहुत रसीली हो रही थी. जिससे पूरा लण्ड अन्दर चला गया।भाभी की चूत से खून निकल आया, भाभी बोलीं- ऊहह यह. मैं कॉफ़ी बनाती हूँ।मैं बैठ गया और कुछ देर में वो कॉफ़ी लेकर आई और मुझसे बात करने लगीं।हम दोनों को बातों में पता ही चला.

मैंने कहा- कुछ नहीं।घर पहुँच कर उन्होंने मेरा नंबर लिया और अपना मुझे दिया और बोली- तुम ऊपर रहते हो ना.

मेरी मम्मी ने अगले दिन ही मुझे एक बरतन में सब्जी दी और कहा- जा सीमा आंटी को दे आ।तभी मेरे दिमाग में एक प्लान आया और मैं जल्दी से अपने कमरे में गया और मैंने जाते ही अपनी पैन्ट उतार दी और अन्डरवियर भी उतार दिया। मैंने सिर्फ़ लोअर और टी-शर्ट पहन लिया।अब मैं आंटी के घर गया और देखा कि आंटी ने सिर्फ़ घाघरा और ब्लाउज पहना हुआ है।आंटी ने मुझे अन्दर बुला कर बैठने को बोला.

लाओ अपना बैग मुझे दो।’नफ़ीसा आंटी का बैग खुला और उन्होंने उसमें से 4 डिल्डो निकाले। सभी आंटियों ने एक-एक डिल्डो ले लिया और उसे चाट कर गीला करने में लग गईं।मेहता आंटी उठीं और नफ़ीसा आंटी का हाथ पकड़ कर मेरी गोद में बैठा दिया और मेरा हाथ उनकी जाँघों पर रख दिया।नफ़ीसा आंटी सलवार कुर्ते में थीं। मेरा लंड उनकी गाण्ड के ठीक नीचे वाइब्रेट कर रहा था. तो वो मेरे फ्लैट पर ही आ जाती थीं।हम बहुत अच्छे फ्रेंड बन गए थे।एक दिन उनको एक फ्रेंड की शादी में जाना था जो उनके घर से 30 किमी. सेक्सी फिल्म वीडियो में चलने वाला’ अब्बू ने जवाब दिया और घूँट-घूँट चाय पीने लगे।इहतिशाम अंकल अब्बू के बहुत क़रीबी दोस्तों में से थे और इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट का बिजनेस करते थे।मैं लैपटॉप को ऊपर-नीचे से चैक करने के बाद ओपन कर ही रहा था कि अब्बू की आवाज़ आई- देखो आज रात इसमें जो भी काम है.

आंटी हँसने लगीं।फिर मैंने आंटी की पैंटी उतार दी और उनकी चूत चाटने लगा। आंटी मेरे बालों को जोर से खींचने लगीं और सिसकारियाँ लेने लगीं।मेरा माल निकलने वाला था. तुम्हारा लन्ड बहुत मोटा है और लंबा है। मेरी शादी होने के बाद भी मैं तुझसे खूब चुदवाउंगी मोनू!थोड़ी देर बाद उसने मुझे ऊपर ले लिया और कहा- मोनू मेरी जान. तो उसकी आवाज़ मेरे मुँह में घुट कर रह जा रही थी। लम्बा चुम्बन लेने के कारण शायद उसको सांस लेने में तकलीफ़ भी हो रही थी। इसी तरह कुछ मिनट हुए कि वो अकड़ने लगी और झड़ गई।वो मुझसे और जोर से लिपट गई और बोली- तूने आज मुझे मस्त कर दिया.

जाओ आप अपने ज़ख़्म और खून साफ करो और मैं अपना कर लेता हूँ।आपी ने भी हँस कर मुझे देखा और मेरे होंठों पर एक किस करके खड़ी हो गईं।मैं भी उनके साथ खड़ा हुआ. राजेश के साथ आज तक कभी भी मैं चरम सीमा तक नहीं पहुँची थी।यह कहते हुए उसने मुझे चुम्बन किया।मैंने भी जवाब में चुम्बन किया और चूचे दबाए।हम मस्ती करते हुए सो गए.

टपोरी हैं।मैं आगे की तरफ देख रही थी।बाकी के दो मेरी दोनों बाजू में खड़े हो गए।पीछे वाले ने धीरे से हाथ मेरी गाण्ड पर रखा और बोला- यार देख है भी चुदने आई है.

इसलिए मेरी भी जांघें नंगी ही थीं। जब मेरी जाँघों से भाभी की नर्म मुलायम जाँघों का स्पर्श हो रहा था. कहकर उसने लंड मेरे गले में उतार दिया।मेरी आंखें बाहर आ गईं… मैंने उसके हाथ सिर पर से हटाते हुए उससे दूर हटने लगा. जब मैं आप की चूत का रस पी रहा था।यह कहते हुए मैंने आगे बढ़ कर आपी की चूत पर हाथ रखा और कहा- वो भी डायरेक्ट यहाँ मुँह लगा के.

देसी भाभी की हॉट सेक्सी तो रास्ते में कार ख़राब हो गई।रात के बारह बज रहे थे।हमने सोचा कि अब आज की रात यहीं किसी होटल में रुक जाते हैं।हम पास के एक होटल में गए. मैं आपी की बात सुन कर उनको ‘ओके’ बोल कर वहाँ से चला गया।मैंने अपने कमरे में जाकर में फौरन कपड़े उतारे और वॉशरूम में घुस गया। कुछ लम्हे बाद मैं फ्रेश होकर बिस्तर पर लेट गया और आपी का इन्तजार करने लगा।करीब दस मिनट बाद आपी कमरे में आईं तो मैं खुशी से आपी की तरफ बढ़ा और उनको गले से लगा लिया। मैंने उनके होंठों पर एक किस की.

और 2 मिनट बाद मुझे दीवार में धकेलते हुए मेरी गांड में वीर्य का फव्वारा मारने लगा. तो कोई किसी की चूत चाट रहा था।एक फ़ोटो में तो कमाल था, दो आदमी एक ही लड़की की गाण्ड और चूत में लण्ड डाले हुए थे।मैं तो पागल हो चुका था और मेरा लण्ड खड़ा हो चुका था।मैंने पैन्ट खोली और अपने लण्ड को हाथ में ले लिया।मुझे काफ़ी अच्छा लग रहा था, मेरा लण्ड एकदम गर्म हो चुका था।मुझे काफ़ी अच्छा फील हो रहा था. नहीं तो अब मेरे आँसू निकल आएँगे।आपी हिचकियाँ लेते हुए चुप होने लगीं। उनके बाल खुले हुए थे और चेहरे के आगे आ गए थे।मैंने आपी को गले से अलग किया और आपी के बाल पीछे कर के आपी के आंसू साफ करने लगा।तो आपी ने अपने हाथ से मेरे हाथ को ज़ोर से पीछे कर दिया।मैंने कहा- आपी मेरी बात तो सुनो.

सेक्सी पिक्चर फूल

चाहे 5-6 घन्टे ही क्यूँ ना लग जाएं।’उन्होंने गर्दन को राईट-लेफ्ट हरकत देते हो ज़िद्दी अंदाज़ में कहा।‘उम्म्म्म. अब वो ब्रा और पैन्टी में थीं।ब्रा उतार कर मैं बुरी तरह उनकर मम्मों को चूसने लगा।कुछ देर बाद मैंने उनसे कहा- आपकी गाण्ड बहुत खूबसूरत है. क्योंकि मुझे भी बहुत दर्द हो रहा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि किसी ने मेरे लंड को बहुत ज़ोर से भींच लिया हो।चाची अब मुझे छोड़ने के लिए बार-बार विनती कर रही थीं.

तो दिन में ही एक-एक घंटा तक बात होने लगी।उसने अपने बारे में बताया कि उसकी शादी के ठीक 2 साल में ही तलाक हो गया था और अब वो अपनी मम्मी के साथ अकेले रहती है। हॉस्पिटल में नर्स है. जिसे उसने देख लिया।वो फिर से हँस दी।अब मैंने झटके से उसे बाँहों में भर लिया और अपनी पकड़ और टाइट कर दी। उसके मम्मे मेरे सीने से टच होने लगे थे.

आज से मैं तेरी रानी हूँ।फिर हम बाथरूम गए और खुद को साफ करके बाहर आए।उनके चेहरे पर एक मुस्कान थी।इसके बाद मैं अपने घर चला गया।अब तो मैंने मोना भाभी को कई बार चोदा आज वो दो बच्चों की माँ हैं।वो कहती हैं- बड़ा लड़का आपका है और मैं आपकी रानी हूँ।अब मैं किसी वजह से मैं उनसे नहीं बोलता हूँ मगर आज भी मेरा मन उनकी चूत लेने का करता है।तो दोस्तो, मेरी कहानी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताना।[emailprotected].

तभी ये जल्दी सो गए।मैं उसको लेकर उसके कमरे में चला गया और बातें करने लगे।मैंने नॉनवेज बातें शुरू कर दीं।उधर दवाई अपना असर दिखा रही थी।इसी बीच मैंने उसका हाथ अपने हाथों में ले लिया और सहलाने लगा।फिर मैंने अपने दिल में दबे प्यार का उससे इजहार किया. कमाल की आइटम थी वो।लिफ्ट में उससे मेरी कोई बातचीत नहीं हुई।मैं अपने काम से चला गया।फिर जब मैं वापस फ्लैट पर आया तो देखा वही औरत अपने पति के साथ कहीं जा रही थी। उन दोनों की बातों से लग रहा था कि वो पति-पत्नी हैं।उस औरत ने फिर मुझे देखा।मैं बहुत खुश हुआ कि यह औरत मेरे बगल के फ्लैट की ही है।फिर कुछ दिन यूं ही बीत गए और एक दिन किसी ने फ्लैट पर दस्तक दी. मैं लेटे हुआ मोबाइल पर फन्नी वीडियो देख रहा था और वो मेरे पैर के पास बैठी हुई थी।मैंने उसे अपने पास बुलाया और बोला- आराम से पैर फैला लो।वो मेरे पास आ गई तो मैंने करवट ले ली।मैंने उससे पूछा- तुम्हें बच्चों की मूवी अच्छी लगती हैं?तो उसने बोला- आप क्या देख रहे हैं?मैंने कहा- फन्नी वीडियोज.

मैं बोला- मैंने तुमको दूर से देख लिया था।वो बोली- यहाँ से जल्दी चलो. शैतानियत थी।मेरी बहन मेरे लण्ड को अपनी चूत के नीचे दबाए मेरे सिर के बाल खींच रही थी. तो मैं भी तुम्हारी ही बहन हूँ।यह बोलते हो आपी की आवाज़ भर्रा गई थी और उनकी आँखों में नमी भी आ गई थी।मैं नीचे झुका और आपी की सलवार को पकड़ कर ऊपर करने के बाद आपी के हाथ से उनकी क़मीज़ और चादर भी छुड़वा दी.

तो लगा जैसे पूरा टोपा चूत में चला गया हो। पर अगले ही पल दीदी के मुँह से थोड़ी आवाज आई और वो आगे की ओर खिसक गईं.

करिश्मा कपूर का सेक्सी बीएफ वीडियो: जो अपनी सेक्स लाइफ से संतुष्ट नहीं थीं।मैंने उन सबको खुश कर दिया।निहारिका ने तो मुझे कॉलबॉय बना दिया। मैं जब भी मुम्बई जाता हूँ. रंग गोरा है।मैं कानपुर से हूँ पर पिछले 4 साल से दिल्ली में रह रहा हूँ!मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैंने अन्तर्वासना पर कई सेक्स कहानियाँ पढ़ी हैं.

यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है मौसी। सिर्फ़ आज तबियत से चोद लेने दो।’‘सच में तुम बहुत चालाक हो. यही नीचे से उठ कर मुझे तंग कर रहा था।इतना कह कर वो फिर से मेरी गोद में बैठ गईं।मुझे याद आया कि आपी ने मेरी उंगली में कुछ डाला था. जिसमें मुझे बहुत मजा़ भी आ रहा था मगर मेरा सिर उसने इतनी जोर से दबाया हुआ था कि मेरा दम घुटने लगा और मुझे हटना पड़ा।मैं फिर उसके होंठों को चूमने लगा। पाँच मिनट बाद उसने मुझे हटाकर मेरी पैंट खोल दी और मेरे सारे कपड़े उतारने लगी।वो मेरे कपड़े उतारने के साथ-साथ मेरे बदन को चूमती भी जा रही थी जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।मेरे लिंग को देख कर वो मुस्कुराई और उसे बड़े प्यार से चूमा और बोली- सो गुड.

इससे ज्यादा मज़ा आएगा।आपी ने एक नज़र मेरे चेहरे पर डाली और फिर फरहान को देखते हुए मुँह चढ़ा कर तंज़िया लहजे में उसकी नकल उतारते हुए बोली- आपी ऊपाल आ जाएं बाअला मज़ा आएगा.

बिन्दास भाभी की चूत की खाजसमीर यादवमैं अपने बारे में बता दूँ कि मैं वाराणसी में रहता हूँ. मैं आंटी को चोदकर अपना चुदास दूर कर लेता हूँ।आज आंटी हमारे पास नहीं हैं, वो अपने पति के साथ हमेशा के लिए अपने घर बंगाल चली गईं।आपको मेरी सच्ची कहानी कैसी लगी. तुम अपनी सेहत का भी कुछ ख़याल करो।ये कह कर आपी ने हाथ में पकड़े गंदे टिश्यूस को कंप्यूटर टेबल के नीचे पड़े डस्टबिन में फेंका और पैकेट में से 5-6 टिश्यू और निकाले और फिर से मेरे लण्ड और मेरी जाँघों पर लगी मेरी गाढ़ी सफ़ेद मनी को साफ करने लगीं।मैं पानी का गिलास हाथ में पकड़े आपी को देखने लगा.