बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स

छवि स्रोत,सेक्स एक्सीडेंट

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी बीएफ व्हिडिओ ओपन: बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स, मैं सबसे आखिर में खड़ा था इसलिए वो कंडक्टर पीछे मेरे पास तक नहीं आया, बल्कि उस लड़की को टिकट देने‌ के‌ बाद वहीं खड़े खड़े ही मुझसे टिकट के लिए पैसे मांग लिए.

सूट की डिजाइन दिखाइए

मैं आंखें बंद करके अपनी पहली चुदाई की याद में खो गयी कि कैसे मुझे डॉक्टर ने चोदा. जापानी मां बेटेपर अचानक डॉक्टर ठहर गया और मेरी दोनों चूचियों को बारी-बारी से पीने लगा.

जब मेरे होंठ एक निप्पल पर होते थे तो हाथ दूसरे पर … दीदी के मुंह से लगातार सिसकी निकले जा रही थी. हीनदी सैकसविक्रम बोला- बेबी, बहुत लंबे समय के बाद मुझे यह मौका मिला है, प्लीज मान जाओ ना.

रेखा की चूत के लब फैला कर अपने लण्ड का सुपारा रखकर धक्का मारा तो अन्दर नहीं गया.बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स: थोड़ी देर में श्रेया का मैसेज आया- कहां हो तुम?मैंने कहा- लाइब्रेरी.

मगर थोड़ी देर के बाद भैया का लंड फिर से खड़ा हो गया और एक बार फिर से उसने मेरी चूत में लंड दे दिया.वैसे यह बताओ कि तुम अभी कहां रह रहे हो?तब उसने बताया कि अभी तो होटल में हूँ मगर कोई अच्छी जगह किराए पर देख कर वहां चला जाऊंगा.

sexy song दिखाओ - बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स

मैं आज सिर्फ़ तुम्हारी हूँ, तुम मेरा ख्याल रखोगे न!रामू- जी भाभी जी.हम‌ दोनों किस करने में इतने अधिक खो‌ गए थे कि हम दोनों में, एक दूसरे के होंठों को चूसने चाटने की जैसे एक होड़ सी लग गयी थी कि कौन किसके होंठों को ज्यादा प्यार करेगा.

अगले दिन हम लोग बाइक से जा रहे थे और वो मेरे से बिल्कुल चिपक कर बैठी हुई थी. बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स आपकी मारने में जितना मजा आया, उससे ज्यादा आपसे करवाने में जा आ गया.

मैंने कहा- क्यों मुझसे शर्मा रही हो क्या जान?वो कुछ नहीं बोली, बस ‘उन्हं लाईट बंद कर दो.

बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स?

नहा-धोकर जब हम दोनों बाथरूम से बाहर निकले, तो वो बोली- तुम यहां कब तक हो?मैंने कहा- बस आज रात और हूँ. उस दिन भाभी हमारे घर आई और मेरी मम्मी से बोली- आज मेरे पति घर नहीं आएंगे, अगर आपको कोई एतराज ना हो, तो राहुल आज मेरे घर सो जाएगा. मैं उसकी प्यासी चूत में पूरा अन्दर तक लंड पेल कर उसकी मदमस्त चूचियों को भी चूस रहा था और वो भी अपनी चूचियां चुसवाते हुए लंड का मजा ले रही थी.

उनकी पलकें हल्की हल्की काँप रही थी जिन्हें मैं अपने होंठों से महसूस कर सकता था. उसने मेरे दूध मसलते हुए पूछा- माँ, मेरा माल कहां लोगी?मैंने अपनी गांड को उसके लंड पर हिलाते हुए कहा- आह … मेरी चूत के अन्दर ही निकाल दो बेटा. मल्लिका शेरावत अब लेटी हुई थी और इमरान हाशमी उसकी जांघों को हाथों से सहला रहा था.

शायरा की चूत डर के मारे कांप रही थी और ये डर शायद मेरी पहले वाली चुदाई के कारण था. मैंने आखरी के शॉटस में बिन्नी के चूतड़ों को खींच कर स्लैब से कुछ नीचे कर लिया और स्लैब की किनारी पर उसके चूतड़ों को अड़ा कर तेज शॉट्स लगाए जिससे मेरा लौड़ा बिन्नी की बच्चेदानी तक तोड़फोड़ मचा गया. अच्छा … क्या हुआ था, पूरी बात तो बता?”पहले वाले लड़के उससे पूछते हुए कहा और‌ मेरी कॉलर छोड़कर मुझे हाथ से इशारा‌ करते हुए बोला- चल बे … तू निकल.

उसने समझाया कि तुम चूतिया हो, इतना समझ लो कि सांप और चूत जहां मिले, वहीं मार देना चाहिए. ”सही है, लेकिन उसे सबसे ज्यादा पसन्द है उपिन्दर, इसका मस्त लण्ड, इसके धक्के! मेरा आईडिया ये है कि मम्मी को यहाँ बुलाएं और उसके बाद उपिन्दर उसे एक दो दिन खूब प्यार करे!”मतलब तबियत से रगड़े, पेले”हाँ अंजू, जब मम्मी खुश हो जाएगी तो मैं उसे मना लूँगी। प्रोग्राम कैसे हो ये मम्मी जुगाड़ लगा लेगी और फिर शैली को मौका मिल जाएगा तो वो तो खुशी खुशी सुहागरात की रिहर्सल करेगी.

मैंने रुक कर उसे प्यार से चूमा और होंठ हटा कर कहा- न न डरना नहीं … मैं बहुत प्यार से करूंगा … दर्द महसूस ही नहीं होगा.

वह भी मेरी चूत के गर्म पानी से पिघल जाने के लिए बेचैन हो गया और झड़ने वाला हो गया था.

मैं भी बिना किसी डर के अब चुदवा सकती थी।हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी सारे राज बताए कि किस किस को चोदा है या चुदी हूं. हां मगर मेरी चुत का भी ख्याल रखना और अनन्या को इस बात का पता नहीं लगना चाहिए कि मेरी तुम्हारी सैटिंग है. मैं बोला- तो फिर आप क्या सोच रही हो?मैंने वो मेरे करीब आयी और मेरे सीने से लगकर नीचे हाथ ले गयी.

मगर मेरा तो अभी आधा ही काम हुआ था, तो मैं अपना हाथ उसकी चूत के पास लेकर गया. कुछ देर बाद बॉस ने मुझे बुलवाया और मैं जैसे ही कमरे में अन्दर पहुंची, वो उठ कर मेरे पास आकर बोला- रूपा पहचाना नहीं?एकदम से मुझे याद आया कि यह तो मेरे कॉलेज में साथ पढ़ता ही नहीं था बल्कि मेरी चुत की पहली सेवा भी कर चुका था. मेरी टांगें मेरी स्कर्ट से पूरी बाहर आ गयी थीं बैठने के बाद। मेरी चिकनी गोरी टांगें उन दोनों के लिए जैसे एक ख्वाब थीं.

इसी तरह कुछ देर मुझे प्रिंसिपल ऑफिस में ठोकने के बाद अभिषेक ने मुझे खिड़की से बाहर किया और खुद भी बाहर आ गया.

मैं बोला- जब तुम्हें मैं गलत लगता हूं तो किसलिए मेरे से बात कर रही हो? हमारा बात करना ठीक नहीं है. इससे थोड़ा समय मिल जाता है और सेक्स की टाइमिंग बढ़ जाती है।यास्मीन को मैंने अपने लंड पर बिठाया, मैंने अपने हाथ से लंड फुदी पर रखा और यास्मीन की गांड पकड़ कर नीचे दबाया. इधर मुम्बई में मैंने अनिता को मकान दिला कर उसे यहीं शिफ्ट करवा दिया.

जब तक ज्योति झड़ती रही महेश उसकी चूत में वैसे ही धक्के मारता रहा।पूरी तरह से झड़ने के बाद ज्योति ने अपनी आंखें खोल दीं और हांफते हुए अपने पिता के चेहरे को देख कर बोली- पिता जी, इतना मजा तो मुझे समीर के लंड से चुद कर झड़ते हुए भी नहीं मिला. मेरे हमले से बेचैन होकर उसने हाथ बढ़ा कर मेरी मांसल चुत को भींच लिया. अब मैंने तुरंत आंखें बन्द करके मजे लेने लगा कि अनामिका क्या कर रही है, ये देखता हूँ.

उन्होंने अपने दोनों हाथों को दर्द के चलते आगे कर दिए और दूर होने लगीं.

फिर मैं चूत में लन्ड अन्दर बाहर करते करते उसके बूब्स को भी दबाने लगा. तभी राहुल ने धीमे से शिल्पा की गांड पर एक चपत लगा दी और अन्दर चलने का इशारा कर दिया.

बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स क्योंकि उस समय मुझे सारे ही पांच सौ रूपए तो महीने भर के लिए पॉकेट मनी मिलता था. मैंने स्वेटर अलग कर दिया और जल्दी से उसका ब्लाउज के बटनों को भी खोल दिया.

बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स उन धोखेबाजों को भी गाली देते हुए मैं बड़बड़ा रहा था कि साले जानबूझकर मोटे चूचे वाली लड़कियों को बैठाते हैं ताकि उनको मेरे जैसे चूत के भूखे लड़के आराम से पैसे दे दें और वो इन फोकट के पैसों से फिर मजे लें. मैं अपने हाथों से अपनी पुद्दी को छुपाने लगी मगर उन्होंने मेरे हाथ हटा दिए।मेरी पुद्दी देखकर वो बोले- आज 10 साल के बाद किसी फुद्दी को देख रहा हूँ.

इस घर में इन तीनों के लिए तू ही सबसे ज्यादा आसानी से मिलने वाला लंडधारी है.

एचडी मसाज वीडियो

मैंने कहा- तू कुछ दिन पहले मुझसे बोलती, तो मैं अब तक तुम दोनों का संगम करवा देती. प्रियंका- मेरी जान अब शर्माना छोड़ भी दे … साली हम दोनों को पूरी रात नंगी चुदवाने का प्रोग्राम है. ज़ारा- और पता है मैं कितनी तड़पती हूं?मैं- सॉरी यार अब रोना बंद करो नहीं तो मैं भी रो दूंगा!ये कहते-कहते मेरा गला भर्रा गया तो ज़ारा उठी, अपनी आंखें पौंछीं और सीधे पैर कर बैठ गयी.

मैं उसके साथ घूमने भी गया था, पर उस समय टूर में साथ में पूरा बैच था … तो उसके साथ कुछ भी कर पाना मुश्किल था. गर्दन से होते हुए मैंने शायरा के मम्मों पर एक किस किया और फिर सीधा नीचे चला गया. कहानी के रूप में आज जो सच्ची घटना मैं आप लोगों के बीच में प्रस्तुत करने जा रही हूँ.

कभी वो केवल एक पैंटी में दिख जाती थी, तो कभी कमरे के बाहर बने ओपन बाथरूम में नंगी नहाते दिख जाती थी.

तभी संजू ने अपना थूक अपने हाथ में लिया और चूत में पूरा थूक लगा दिया जिससे चिकनाहट और बढ़ गई. सुबह जल्दी तैयार होकर मैं होटल‌ से पहले तो नाश्ता करता, फिर कॉलेज चला जाता. थोड़ी देर बाद मैं फिर से लेट गया और आशा को अपने मुंह पे बिठा कर अपनी जीभ से उसकी चूत चोदने लगा.

देखते देखते मैं एक डेटिंग साइट पर पहुंच गई।मैंने अपनी प्रोफाइल बनाई और वहाँ ताक झाँक करने लगी. उसकी इस बात पर मुझे हंसी आने लगी तो मैंने अपना मुंह दूसरी तरफ कर लिया और हंसने लगी. कहां उसका लंड खड़ा नहीं होता था और अब कहां उसका वीर्य निकलने का नाम नहीं ले रहा था.

एक शाम मेरा दोस्त मुझे अपने साथ जबरदस्ती अपनी कसम देकर बाजार लेकर चला गया. वो बोला- कोई बात नहीं, अभी मैं और जीजा बाहर जा रहे हैं और हमारे लिये खाना मत बनाना.

आज वो भी बहुत ख़ुश हो रहा था, उसने कहा- जान अब तुम्हारे सपने पूरे होंगे, मैं तुम्हारा ग़ुलाम. वो कहने लगे- मुझसे इतनी दूर क्यों खड़ी हो मेरी जान, हम दोनों में तो ऐसी शर्म वाली बात नहीं होनी चाहिए. अब आगे की सेक्सी चूत की चुदाई स्टोरी:कुछ पल बाद उसके दोनों हाथ मेरी स्कर्ट के ऊपर से मेरे दोनों चूतड़ों को मसलने लगे.

मैंने उसकी गांड को पकड़ा और उसकी चूत चाटने लगा।मैंने यास्मीन को बोला- मेरा बेल्ट खोल कर लण्ड तो देख लो.

एक दिन मैंने उसको बातों ही बातों में गर्म कर दिया और उसी वक्त मैंने उसको दिल की बात बताने की ठान ली. तो मैं बोला- सॉरी भाभी, आप इतनी हॉट हो कि पता ही नहीं चला … मैं कब झड़ गया. रास्ते में उसने मुझे बताया कि मुझे आज से पहले सेक्स करने में कभी इतना मज़ा नहीं आया था.

हमारे घर में मेरे अलावा मेरे पिता (साहिल) जिनकी आयु 46 साल और मेरी प्यारी मॉम (शालिनी) जिनकी आयु 42 साल है, हम तीनों ही रहते हैं. कुछ देर बाद मैंने उसे दोबारा से बेड से उठाया और उसे अपनी बांहों में ले कर अपनी छाती से उसके चुचों को दबा दिया और एक बार फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में दे दी.

ज़ारा- जान!मैं- हउम्म?ज़ारा- मेरे हाथ से नहीं खाओगे?मैं- ओह सॉरी! लाओ!उसने मुझे खिलाया, मैंने उसे और हम चुपचाप खाना खाने लगे. उसके बाद …हैलो भाइयो और चुलबुली चुत वालियो, आज मैं आपके सामने अपनी एक और सेक्स कहानी पेश कर रहा हूँ. उसने मुझसे कहा- क्या देख रही हो … कभी खुद को शीशे में नहीं देखा?मैं कुछ शर्मा गई और कुछ नहीं बोली.

सेक्स वीडियो दिखा दीजिए

उसने मेरे नंगे हो चुके सीने की घुंडियों को अपनी उंगलियों से मसला तो मेरी आह निकल गई.

मैं नहीं चाहती थी कि मेरी हंसी बुड्ढे को दिखाई दे।फिर वो बोले- बेटा, इस बारे में सोचना जरूर! हम दोनों की जरूरत पूरी हो सकती है. ये कहते हुये मैंने उसका हाथ पकड़कर लंड पर रख दिया!वो पैंट के ऊपर से ही लंड सहलाने लगी और मैं उसे किस करने लगा. मैं- अभी आपका मन है या नहीं?सुगंधा भाभी- मुझे डर लग रहा है किसी को पता चल जाएगा इसलिए!मुझे पता था कि सुगंधा भाभी बातों से अब मानेंगी नहीं, इसलिए मैं बिना कुछ बोले उनके होंठों को चूमने लगा.

अब मैंने तुरंत आंखें बन्द करके मजे लेने लगा कि अनामिका क्या कर रही है, ये देखता हूँ. कुछ देर चोदने के बाद उसकी चूत जब मेरा लंड लेने के लिए खुल गई, तो मैंने लंड निकाल लिया. कैट रानी सेक्सी वीडियोतब से वो मुख मैथुन का मज़ा भी लेने लगी और कुछ दिन में मेरा लिंग भी चूसने लगी.

इधर मनोज ने अपना सारा माल निकाल कर दीपा चूत भर दी तो उधर सुनील ने अपना सारा माल पेपर टिश्यू पर निकाल दिया. खैर … मुझे लगने लगा था कि रंगोली की चुत तो मिलने की उम्मीद हो गई है.

स्पीड बढ़ाने पर उसने मेरा लंड छोड़ दिया और चूत वाले हाथ पर हाथ रख दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं जैस्मिन आज मैं आप सभी के साथ अपनी प्यासी जवानी की सच्ची कहानी साझा करने जा रही हूँ. अब हम दोनों लस्त हो चुके थे, ऐसी दमदार चुदाई के बाद कैसी हालत होती है, ये किसी को बताने की जरूरत नहीं है.

दीदी की ससुराल में दो तीन लड़के किराये पर कमरा लेकर रहते थे।उन्ही में से एक लड़का था रोहित. जब लंड तीन इंच तक अंदर घुस गया तो मैंने एक जोर का धक्का मारा और उसके होंठों को मैंने अपने होंठों से जोर से दबा दिया. आज मैं आपको अपने जीवन की दास्तान बताने जा रहा हूँ, आशा है आपको पसंद आएगी और जो लोग अपने जीवन में कुछ नया करना चाहते हैं उन्हें कुछ जानकारी प्राप्त हो सकेगी.

मैं दिखने में तो स्मार्ट और हैंडसम हूँ और अब तक तीन लड़की पटा चुका हूं.

जैसे-जैसे मेरी जवानी हिलोरें मारने लगी … इंटरनेट पर सेक्स तलाशा तो पहली बार में ही अन्तर्वासना साईट हाथ लग गई. 5 मिनट बाद दोनों खुद को साफ कर के आए।सोनाली ने अब मुझसे सौरभ की गांड मारने को बोला तो मैंने मना कर दिया पर सौरभ को लण्ड चूसने की इजाजत दे दी।मुझे नींद आ रही थी, लण्ड चुसवाते हुए मैं सो गया।अगली सुबह उठकर हम लोगों ने नाश्ता किया, सौरभ ने नहाते हुए सोनाली की चूत चुदाई की। मैंने भी किचन में मालविका को चोदा औऱ थोड़ी देर बाद मैं औऱ सोनाली वापस अपने अपने घर के लिए निकल गए।[emailprotected].

मैंने अपनी कामवाली को कह दिया कि अभी तो केवल हम दोनों ही हैं, तो कुछ दिन की छुट्टी ले ले. जिससे वो थोड़ी सी तो हिचकी, लेकिन कई बार पानी छोड़ने से उसे ज्यादा परेशानी नहीं हुई. मैं नए नए तरीके ढूंढ़ती रहती थी कि गुलामों को कैसे पेलते हैं और ग़ुलामों से कैसे बर्ताव करते हैं.

मैंने उसके लंड के दहकते सुपारे को अपनी प्यासी चूत की फांकों में महसूस किया तो मैं और भी ज्यादा उतावली हो गई. सेक्स कहानी का हर शब्द उनके द्वारा ही लिखा गया है, मैं बस ये कहानी भेज रही हूँ. फिर शुक्रवार की शाम को उसका फ़ोन आया- कल मिल सकते हो?उसकी तरफ से मिलने की सुनकर मेरी तो जैसे मन की मुराद ही पूरी हो गयी हो.

बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स उधर से मस्त महक आ रही थी, उसकी बगलें साफ़ नहीं थीं … थोड़े से छोटे छोटे बाल थे. कुछ देर के बाद उसका दोबारा से फोन आया और उसने मुझे मेरे दाईं तरफ देखने के लिए कहा.

बाप बेटी की चूत

जाते समय मौसा जी ने 3000 रुपये हमें दे दिये ताकि हमें किसी चीज की जरूरत हो तो लाई जा सके. उसने समझाया कि तुम चूतिया हो, इतना समझ लो कि सांप और चूत जहां मिले, वहीं मार देना चाहिए. थोड़ी देर बाद मॉम ने मेरा लंड अपने मुँह में लेकर पूरा साफ कर दिया और मुझे कपड़े पहना दिए.

उसने जीभ से चुत की लंबी फांक को सहलाना शुरू किया और अपने एक हाथ की बीच उंगली को मेरी चुत में घुसा दी. थोड़ी देर खड़े रह कर ट्राई करने के बाद मेरा भी पेशाब निकलना शुरू हुआ और सीधे उसकी बॉडी पर जाने लगा. मर जावा मूवी डाउनलोडउसके बाद वो मेरे पास आया और बोला- मैडम, मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा होता है मगर आपके सामने पता नहीं, इसे क्या हो जाता है.

अब वह अन्दर बाहर अन्दर बाहर शुरू हुआ … धच्च फच्च धच्च फच्च … लंड चलने लगा.

बड़ी वाली लाइट जलने के बाद कमरे में ज्यादा रोशनी हो गई थी और जीजा मुझे हवस भरी नजरों से घूर रहे थे. मैंने अपने कपड़े पहने और देखा कि मालू की चूत से रिसे खून से चादर पर निशान बन गया था.

थोड़ी देर उसी तरह रगड़ने के बाद मैंने अपने शरीर को नीचे किया और अपना मुंह दीदी की टांगों के बीच लेकर चला गया. अंशिका हम सभी को देख रही थी और अपनी चूत पे तेज तेज उंगली चला रही थी।मैंने सोचा भी नहीं था कि अंजू की चूत का रस बहकर मेरे मुंह में आने लगा और मेरी जीभ को भिगोने लगा, मैं उसका रस पिए जा रहा था। अंजू की चूत को मैंने अपने होंठों में कस लिया ताकि वो इस बहते झरने का पूरा मज़ा ले सके।अंजू मेरे मुंह से उठ गयी और अंशिका ने उसकी जगह ले ली। दूसरी तरफ मैंने सपना की चूत में धक्के तेज कर दिए थे. उसे तो लग रहा था, जैसे वो किसी जन्नत की हूर के साथ सेक्स कर रहा हो.

फिर से रोमांस शुरू हो गया और आखिर में हम दोनों के बीच फिर से सेक्स हुआ.

अतः मेरे लिए कपल स्वैप करना सबसे बड़ी फैंटेसी बन गई और इसके लिए योजना बनाना आरंभ कर दिया. ’भाभी ने मेरा सर पकड़ा और चूत में गड़ाने लगी- उम्मम अअअअअभाभी झड़ने लगी. परिणाम वश उसका लंड और जबरदस्त चुदाई करने लगा, जो और अन्दर तक जाकर मुझे अपरिमित आनन्द का अनुभव दे रहा था.

सेक्सी गाना वाला वीडियोमैं- यहां पास में कोई एटीएम‌ है क्या? मेरे पास कैश कम है … मुझे पैसे निकालने होंगे. तो वो बोले- बेटी तो नहीं हो ना!फिर मैंने मन मन में सोचा कि साला बुड्ढा सच में बहुत हरामी है.

দেশি পর্ণ

उसने अपना लंड सूंत कर थूक लगा कर टिकाया, तो जेम्स बोला- मेरे पास तेल की शीशी है. मैं नीचे क्लास गई और क्रीम को लेकर छत पर आ गयी और अभिषेक को पकड़ा दी. सास ने भी मनुहार करके रुकने के लिए कहा … तो मेरी बीवी भी कहने लगी- हां आज रुक जाओ, कल चले जाना.

इसलिए मैंने भी अब अपने आपको शायरा के ऊपर गिरा दिया और पूरी तरह से शायरा से चिपक गया. मैं दर्द और मजे से दोहरी हो गई और दूसरे ही पल उसने मेरे एक कड़क निप्पल पर अपना मुँह लगा दिया. मेरा लंड उसकी चिकनी चुत की दीवारों को चीरते हुए अन्दर धंसता चला गया.

मुझे सामने रखी टीचर की टेबल पर उल्टा लिटा कर मेरी पूरी गांड में खूब सारी क्रीम लगायी और उंगली चलाने लगा. सोनाली भी उसके चुचे सहला रही थी।थोड़ी देर मेरा औऱ सौरभ का लंड झड़ गया, हमलोग सब अलग हो कर बिस्तर पे लेट गए।मालविका में उठने की ताकत नहीं थी, भरपूर ट्रिपल चुदाई के बाद उसका बदन दर्द से टूट रहा था। उसने सोनाली को अपने ऊपर आने को बोला और प्यार से किस करने लगी. इस वक्त वो हल्के ब्लू कलर की साड़ी में आई थीं और वो एक स्लीबलैस ब्लाउज पहने हुई थीं.

अगले दिन सभी लड़कियों ने आपस में बताया कि उनके पार्टनर्स बहुत कम्फर्टबल हैं और शायद उन्हें सेक्स से कोई परहेज नहीं होगा. मैं पैसे व टिकट को अपने पर्स में रख ही रहा था कि तभी अचानक से ड्राईवर ने बस के ब्रेक‌ लगा दिए.

फिर मेरा लंड हाथ में लेकर बोला- आपका हथियार मस्त है … चुदाई में मजा बांध दिया.

चाची- अरे क्या हुआ?मैं- एक ही पोजीशन में कितनी देर तक चोदूं … अब ऊपर उठो. लोकल चोदा चोदीएक गैर मर्द का लम्बा मोटा लंड देख कर मेरे मुँह और चुत दोनों में पानी आ गया था. 52 भैरव के नामउसके मुँह से बड़े लंड की सुनकर मेरी गांड कुलबुलाई- यार, मुझे भी मिलवाओ उससे. उसने इस बात पर बहुत सारे दिल वाले इमोजी भेजे और बोली- यस कम ऑन … आगे बढ़ो.

मैंने भी सुनील भैया की गर्दन को पकड़ लिया और उनके लंड के मजे लेते हुए चुदने लगी.

मैं अपनी साली को और अपने साढ़ू की बॉडी को सकुशल इंडिया लेकर आना चाहता था. मैं घर से बाहर बने बाथरूम में अंदर गयी और अपनी जीन्स और टीशर्ट निकाल दी. वो विक्रम के सीने के निप्पलों को अपने दांतों में भींचकर काटने और चूसने में लगी थी.

उस समय मर्डर मूवी नयी नयी ही आई थी, इसलिए केबल वाले ने उसे ही चलाया हुआ था. उनके इतना कहने की देर थी, मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और एक लम्बी किस देने के बाद धीरे धीरे उनके सारे अंगों को चूमता चाटता नीचे की तरफ बढ़ने लगा. मेरी भाभी एकदम सुडौल माल थी, गदराया बदन, मस्त चूतड़ और रसीले होंठ थे.

क्सक्सक्स desi

मगर मेरे पति मुझे किस करने लगे और प्रीत मेरी कमर पर मुझे किस करने लगा. कुछ दिन बाद मैंने एक दिन अपने बेटे सैम को अपने घर खाने पर बुलाया और उस दिन मैंने एक सेक्सी पारभासी साड़ी पहन ली. मामी को उनकी पैंटी तो मिली नहीं … लेकिन उनकी नजर मेरे खड़े लंड पर जरूर पड़ गयी.

उसकी चुत कैसी होगी … क्या खुली हुई होगी या मुझे ही फीता काटना पड़ेगा.

ऐसे ही अंशिका बोल रही थी- उई बहन चोद दी आज हमारी … उई उई आह आह सी सी सीससी मर गयी … मरवा दिया … कुतिया … ले जीजू साले … पी … मेरा मूत!कहते हुए उसने मेरे मुंह में अपनी चूत का रस छोड़ दिया और पूरी तरह झड़ गयी थी।अब अंशिका मेरे मुंह से उठ गयी और सपना भी हम सभी एक दूसरे से अलग हुए और साथ ही मैंने अंजू को घोड़ी बनने के लिए कहा.

मैंने भी सोचा यह अच्छा हुआ … अब मैं खुल कर चुदवा सकती हूं।शादी तय होने के बाद वो मुझे चोदने के लिए बुला लेता था. उसने जल्दी से लंड बाहर निकाला और लंड का सारा माल शिल्पा की चुत के ऊपर मार दिया. vidmate फ़ाइलमैंने उनसे कहा कि आप मुझे अपना नंबर दे दो, ताकि मैं अपने रिजल्ट के बारे में आपसे पूछ सकूँ.

इसके बाद रिचा मेरी तरफ मुड़कर बोली- जी, आपका क्या नाम है?मैं अकचकाकर धीरे से बोला- नीतीश. सीमा ने फिर अपना राग अलापा, बोली- एक बार मेरी सुन लो … सच बताना कि उस रात तुम्हारे साथ कौन था, क्या ये तुमने अपने पति को बताया या पति ने तुम्हें बताया … तुम सबको कसम है सच सच बताना?सबने कसम खाकर बताया कि न तो उन्होंने बताया और न ही उनके पतियों ने पूछा. मैंने मामी को अपनी भुजाओं में उठाकर टांग दिया और मामी की चूत में लंड अन्दर बाहर करने लगा.

और फ़ोन भी नहीं लग रहा।वंदना मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और बोली- कोई बात नहीं, मैं चलती हूँ तुम्हारे साथ, मेरे प्यारे जीजू आप ऐसे उदास अच्छे नहीं लगते।वैसे भी मैं दीदी को बता कर तो आयी नहीं हूं।मैं- तो चलो फिर बैठो गाड़ी में, चलें फिर पहाड़ों की सैर करने।वंदना- मेरा तो मन आज किसी और चीज़ पे सैर करने को हो रहा है. इसके बाद शिल्पा ने जोश में आकर राहुल को बेड पर बैठा दिया और सेक्सी स्माइल करके उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई.

खाना खाने का मन तो था नहीं … मैं तो बस रंगोली से बात करने का मौका देख रहा था.

मैं नीचे झुककर उसकी चुत की झांटों में अपने मुँह को दबा रहा था और उसकी रसभरी चूत को चाट रहा था. ”इतना कहकर भैया रुक गए। अब तो उनका सिकंदर जोर-जोर से उछलकूद मचाने लगा था।फिर क्या हुआ?” भाभी ने पूछा।अरे … होने को क्या था वहीं इच साली का गेम बजा डाला। बाप … क्या मस्त पूपड़ी थी अपुन को भोत मज़ा आया। उसने खुश होकर अपुन को पहनने को नए कपड़े दिए, एक हज़ार रुपया बी दिया और नाश्ता बी करवाया. कमल को साथ लेना इसलिए जरूरी हो गया था क्योंकि एनर्जी ड्रिंक लाने वाला कमल ही था.

सेक्सी वेडिंग मुझे ऐसा लगता है कि तेरी दीदी की चूत मारते हुए मैं उसे नहीं बल्कि अपनी साली को चोद रहा हूं. कुछ दिनों बाद मुझे पता लगा कि मेरा बाप बीमार है और दवाई भी नहीं ले पा रहा है.

ये बात सुनते ही चाची हैरान हो गईं, मैं पहली बार उनको गाली दे रहा था. बाद में सास ने पूछा तो मैंने उन्हें दारू की बात कह दी, तो वो धीरे से मेरे नजदीक आकर बोलीं- मेरे लिए भी ले आना. मगर फिर कुछ देर बाद ही उसमें इमरान हाशमी व मल्लिका शेरावत का एक‌ बेहद ही बोल्ड व उत्तेजक‌ सीन‌ आना शुरू‌ हो गया, जिसमें इमरान हाशमी मल्लिका शेरावत की पीठ को जबरदस्ती चूमने चाटने की लगा.

एक्स एक्स एक्स वीडियो चूत

ऐसे ही एक रात खाना खाने के बाद मैं और शायरा टीवी देख रहे थे कि तभी मैंने देखा कि एक चैनल पर मर्डर मूवी आ रही थी. सब्जी वगैरह खरीदने के बाद मेरा दोस्त मुझे लेकर उसकी दुकान पर ले गया. वो आंखें नचाते हुए मेरी तरफ देखने लगी, तो मैं उसके गाल खींच कर एक चिकोटी ले ली और कहा- ऐसे क्या देख रही हो … जल्दी से मुँह में ले लो.

उसने मेरे पीहर से थोड़ी ही दूर पर मकान किराए पर ले रखा था जिसमें वह अकेला रहता था और जोधपुर में ही रहकर जॉब करता था. उधर ड्राइवर भी उस रांड के एक बूब के साथ खेल रहा था और एक के साथ में लगा हुआ था.

लेकिन मन ही मन उसकी चाहत जरूर थी या यूं कहो कि मैं भी यही चाहती थी.

वो- तुम्हें मज़ा आ रहा है ना मुझे छेड़ने में!मैं- सच में, मुझे ताज्जुब हो रहा है तुम इन्हें कैसे पहनोगी?वो- तुम अपनी बीवी के लिए खरीदो, तब देख लेना. प्रीति जिंटा जैसी खूबसूरत कद काठी होने के बावजूद उसकी शादी नहीं हो पा रही है क्योंकि एक तो वो हल्का सा लंगड़ा कर चलती है, दूसरे गोपाल की शारीरिक स्थिति को देखकर लोग मना कर देते हैं. मैं धीरे से उसकी चूचियों को दबाने लगा, जिसके उसके मुँह से सिसकारियां निकलनी चालू हो गईं.

उसकी तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गई थी, वो तुरंत बोला- बस मैं कुछ ही देर में आ रहा हूँ।और ठीक 10 बजे वो आ गया। वो एक शराब की बोतल भी साथ लाया था।पूजा उसे देख बहुत शर्मा रही थी. ’ की आवाज निकली मगर अगले ही वो मेरे लंड पर उछल उछल कर मेरे लंड को अपनी गांड में अन्दर तक लेने लगी. धीरे धीरे को मलीहा बोल भी रही थीं- तुमने अपनी लाइफ में जितना एक्सपीरियंस किया है, मुझ पर सब अमल करो.

तभी थोड़ी देर बाद ही मिष्टि आंटी घर पर आईं और मॉम और आंटी तैयार होकर पार्टी में जाने लगीं.

बीएफ पिक्चर ओपन सेक्स: मेरी साली की उम्र भले ही 55 की है लेकिन वो देखने में 40 की लगती है. अब मैंने अपनी गांड का ऐसा धक्का दिया और बार बार ढीली कसती ढीली कसती की, फिर एकदम से ऐसी सिकोड़ी जैसे लंड को मेरी गांड चूस रही हो.

सुबह मेरे जन्मदिन के दिन वो मेरे किराए वाले रूम में मुझसे मिलने आयी. सुनील भी बातूनी था, अपनी और मनोज की सारी पोल पट्टी उसने दीपा से खोल ली. दोस्तो, इसके बाद की ग्रुप सेक्स कहानी और आफ़िया भाभी की गांड चुदाई की कहानी मैं आपको अगली बार लिखूंगा.

उसकी इस मादक अदा से मैं अब तक बस झड़ा ही नहीं था, बाकी मेरा सब काम हो चुका था.

ये देखकर मैंने झट से उसे मैसेज भेज दिया और उसने रिप्लाई भी बड़ी जल्दी कर दिया।वो दिखने में बड़ी खूबसूरत थी. अब मैं उन फोटोज को बहुत ध्यान से देखने लगी, क्योंकि मैंने आज तक कभी ऐसी कोई चीज़ नहीं देखी थी. मैं सोच रहा था कि क्या करूं … कैसे करूं?चूत को इतने पास देख कर मेरे से रुका नहीं जा रहा था.