बीएफ चोदते

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो मोटी औरत सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ खपाखप: बीएफ चोदते, मगर मुझे बहुत मजा आ रहा था और भाभी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न होते देख मेरी हिम्मत बढ़ती जा रही थी.

पंजाबी सेक्सी मूवी फुल

लगभग उसी समय चूत के गीलेपन के कारण मैं भी उसकी चूत में झड़ गया … और उसके ऊपर गिर गया. स्कूल वाली लड़की के साथ सेक्सी वीडियोक्रॉस ड्रेसर आम तौर पर वे बॉटम गे मर्द होते हैं जो लड़कियों के कपड़े पहनना पसंद करते हैं और गांड मरवाते हैं.

भाभी ने भी अपने हाथों से मेरा सिर जोर से अपनी चुत में दबा लिया और सेक्स भरी आवाज से कहने लगीं- आह कितना मस्त चूत चूसते हो … आह खा जाओ देवर जी … मेरी चूत को खा जाओ … आहह … चूसो चूसो खा जाओ अअम्म … आंह … मर गयी … देवर जी अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है … अब मेरी चुत में अपना लंड पेल दो. सेक्सी फिल्म 12 साल की लड़कियों कीगाल फूले फूले से … बड़े बड़े चूतड़, मोटी मोटी जांघें, हल्के सांवले/गेंहुए रंग के!अपने शहर होशंगाबाद से बिजनस का सामान लेने आए थे।चूँकि हमारे पास एक ही बिस्तर व पलंग था, अतः गद्दा आड़ा करके बिछाया पैरों के नीचे दरी बिछाई.

फिर मैंने कोशिश की कि लाला की बेटी, जो अब जवान हो चुकी है, उसे पटा लूँ.बीएफ चोदते: सामान रखने के बाद मेरा दोस्त अपने रूम पर चला गया और मैं अपने नये रूम में आराम करने लगा.

रोनिता की चुत में लंड जब जा रहा था, तो रोनिता के चेहरे पर बहुत खुशी दिख रही थी.पूजा चुप थी, पर उसके शरीर में हो रहे कम्पन से साफ पता चल रहा था कि वह उत्तेजित हो रही है.

पिक्चर फिल्म ब्लू सेक्सी - बीएफ चोदते

वो तपाक से बोली- क्या कर रहे हो?मैंने बात पलटते हुए कहा- मतलब मैं तो आगे बढ़ रहा हूं.शायद उसने अपनी बेटी को भी डांटा होगा, उसके बाद वो भी मुझसे कन्नी काट गई.

मेरी मामी को एक 4 साल की बेटी थी।यह बात उन दिनों की है जब मैं पढ़ाई करने के दौरान दशहरे की छुट्टियों में अपने घर गया हुआ था. बीएफ चोदते फिर आंखों में इशारे हुए और हम दोनों सेक्स करते करते अपनी चरम सीमा पर पहुँच गए.

मैं कैसे भी करके उसकी बांहों से बाहर निकली और उससे थोड़ी दूर को सोने लगी.

बीएफ चोदते?

वो मुझसे कहने लगी- आह … चोदो … मुझे चोद दो … आह हां ऐसे ही … मम्मी रे … मम्मी मर गई रे. मुझे चुदाई से ज़्यादा मज़ा चूत चाटने और होंठों को चूसने में आता है, मैंने उसको ख़ूब समूच किया।बीस मिनट तक मैंने उसकी चूत को ख़ूब चोदा. ”अचानक हुई इस आवाज से मैं डर गई और सामने देखा- सुनील तुम!मैं गाउन ठीक करते हुए खड़ी हो गयी.

पूजा भी चाहती थी कि उसे कोई प्यार करे, सेक्स करे पर सम्मान के साथ करें आगे उसके अरमान पूरे हुए या नहीं हुए … ये मैं जल्द लिखूँगा. मैं उसके सुपारे को मुँह से घर्षण प्रदान करने लगी और बीच बीच में जुबान से चाट चाट कर थूक से लिंग सुपारे से लेकर जड़ तक गीला करने लगी. मेरे मोटे चूतड़ और कम ऊँचाई की वजह से उसका लिंग मेरी योनि में गहराई तक नहीं जा रहा था.

तब भाभी एक पल के लिए चुप हो गईं, फिर बोलीं- मैं तो खुद भी यही चाहती थी … पर आपसे बोल नहीं पा रही थी. तभी माँ बोलीं- आह मैं गईईई …वो गांड मराने के साथ साथ अपनी चुत में भी उंगली करती जा रही थीं. उनकी पहली पत्नी से एक बेटा है जिसकी उम्र बीस साल के ऊपर होने वाली है.

मैंने उससे आंख के इशारे से पूछा- क्या देख रहा है?उसने हाथ में चूची को पकड़ कर खाने के लिए मुँह बनाया और मैं हंस पड़ी. ज्योति के मुँह से सिसकारियां छूट रही थीं- आआआआ … उम्हह … आआह …उसके कानों पर चुम्बन करने के साथ-साथ मैं अपने हाथ में ज्योति का हाथ लेकर मसल रहा था.

तो मैंने उसे कैसे चोदा और आनन्द दिलाया?दोस्तो, ये मेरी मेरी गर्लफ्रेंड सेक्स की पहली गंदी कहानी है, इसलिए कोई गलती हो जाए, तो माफ कर दीजिएगा.

मैं फिर धीरे धीरे धक्के लगाने लगा, वो यह दर्द सहन नहीं कर पा रही थी।तब उसने मुझसे कहा- प्लीज ललित … किसी और दिन कर लेना … अभी मैं ये सहन नहीं कर पा रही हूँ.

मेरे पति जब मुझे नहीं चोदते हैं, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदने की बात करती हूँ. मैं ज़रीना के पास गया और आंटी, जो ज़रीना के पास बैठे रो रही थीं, मैंने उनको वहां से उठा कर असगर के कमरे में भेज कर आया. हुआ यों कि भाभी ने एक दिन बाथरूम में नहाते हुए मेरा लम्बा और मोटा लंड देख लिया.

मुझे चुत में उंगली की आवाज भी सुनाई दे रही थी … और उसके मुँह से निकलती हल्की हल्की सिसकारियां भी मुझे मस्त कर रही थीं. एक बार मेरा दिल किया कि प्रीति को पकड़ कर चोद दूं, फिर सोचा नई नई जॉब है, जिंदगी का सवाल है. उसने मेरी मॉम के मुँह में लंड डाल दिया और मेरी मॉम एक रंडी की तरह अनिल का लंड चूसने लगीं.

उम्मीद है कि आपको मेरी सच्ची क्सक्सक्स स्टोरी पसंद आयी होगी … कृपया mahe[emailprotected]पर अपनी कीमती राय दें.

वो मेरे निप्पल को बार बार काट रहा था जिससे मैं चिल्ला रही थी और मजे से विभोर का लंड अपनी चूत में ले रही थी. मैंने और जानकारी की, तो मालूम हुआ कि उन्होंने कई बार दीदी को वियाग्रा भी दे कर चोदा था. ‘आहहहह … उहहह … ह … उम्मम …’करीब दस मिनट बाद मेरे लंड से सफेद लावा बह निकला, जिसने मीरा की बुर को एकदम से भर दिया.

मैंने कहा- जान, ये मेरी सेक्स टीचर की वजह से है … वरना मुझे तो ये सब कुछ भी नहीं पता था. फिर बारी थी उसके 30 साइज के वक्ष उभार की।मैंने थोड़ा सा उन्हें भी पीना शुरू किया. मगर मैं घर पर मौजूद नहीं था इसलिए ना चाहते हुए भी मिहिर जाने के लिए इजाज़त माँगने लगा और उसने कहा कि यदि किसी भी चीज़ की आवश्यकता हो तो उर्वशी उसे बता दे.

मैं अन्दर गया, उस लड़की ने अपने मम्मों को से घुटने तक टॉवल बांधा हुआ था … बाल खुले हुए थे.

मेरे लंड से लार सी निकलने लगी तो उसें मेरा लंड अपने मुंह से बाहर निकाल दिया. वह बोला- तुम बड़ी देर लगे रहे, मुझे एकदम भड़भड़ी छूटती है, चालू हुआ तो बीच में रूक नहीं पाता।फिर हम उठे, मामा जी से कहा- आप पहले नहा लो, हम फिर नहाएंगे.

बीएफ चोदते दस्तूर ने मेरी टी-शर्ट उतारी और मेरे निप्पल मुँह में लेकर चूसने लगी. चिकनाई हो जाने से मैं जोर जोर से चुत में उंगली चलाने लगा और उसका पानी निकल गया.

बीएफ चोदते तुम मुझे खुल कर मजा लेने और देने वाली लगीं, जैसा कि मैं अपनी पत्नी से चाहता था. फिर मैंने झटकों की स्पीड अचानक से तेज कर दी और फास्ट सेक्स स्टार्ट कर दिया.

एक शाम को माँ ने बोला- बेटा बगल की आंटी आयी थीं, वो तुमको पूछ रही थीं.

सेक्सी वीडियो दिखाओ देहाती

मैंने भाभी की चूत के ऊपर नाक रखी और उसको सूंघा तो उससे एक मजेदार खुशबू आ रही थी. मुझे सर्विस देने में कोई परेशानी नहीं है, पर मैं आपको बस एक राय दे रहा था. अब आगे:तभी मेरी एक तेज ‘आआइई … उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ आवाज निकली और बस मेरी योनि से रस की फुहार छूट पड़ी.

मैं बीच बीच में ब्रेक दबाता रहा और हर बार ब्रेक दबते ही भाभी मुझसे चिपक जाती रहीं. धकाधक धक्कों की आवाज कमरे में गूंज रही थी और हम पसीने में नहाए एक दूसरे में खो गए थे. उस दिन मैंने कॉलेज की छुट्टी कर ली थी क्योंकि नितेश भी अपने मां और पापा के साथ गया हुआ था इसलिए मैं कॉलेज में बोर हो जाता.

मैंने कई बार उसको बोला लेकिन वोलंड चुसाईकरने के लिए तैयार नहीं हुई.

जब वो अपनी ग्रेजुएशन कर रही थी तब की यह घटना है जो आज मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं. तेरा पति तो खुश रखता है ना तुझे!सरस्वती- हां, इस बुढ़ापे में भी मेरी जान निकाल देता है. हम दोनों भाई बहन अधूरी चुदाई करने के बाद थोड़ी देर यूं ही चिपके हुए लेट कर आराम करते रहे और फिर दुबारा गर्म होने तक एक दूसरे की बांहों में आकर मूवी देखने लगे.

जब मैंने यहाँ की सेक्स कहानियों को पढ़ा, तो मैंने भी सोचा कि मैं भी अपनी कहानी लिखूं. मुझे ये सब बड़े अच्छे से पता था कि कैसे कोई लड़की या औरत को गर्म करके संतुष्ट किया जाता है. वो नाइटी में थी और मुझे उत्तेजित करने के लिए बार बार अपनी जुल्फों को आगे पीछे करते हुए अपने मम्मों की हलचल दिखा रही थी.

आज भी हम दोनों बातें करते रहते हैं लेकिन अभी तक दोबारा वहां जाकर उसकी चूत की चुदाई का मौका नहीं मिल पाया है. कुछ ही पलों में उनकी चुत ने रस छोड़ना शुरू कर दिया, जिससे मुझे ये समझ आ गया कि माँ को चुत में मेरी उंगली मजा दे रही है.

उन्होंने बताया कि अंकल के शरीर से जो गंध आती है, वो मुझे पसन्द नहीं है. सुरेश हम दोनों के पास आया और मुझे बोला- पहचाना मुझे?मैं थोड़ी आश्चर्य से देखती हुई बोली- हां, पहचान लिया. थोड़ी देर बाद मेरा जैसे ही पानी निकालने को हुआ, तो वो बोली- भाई, अंदर मत डालना प्लीज़!फिर मैंने भी लंड को चूत से बाहर निकाल कर उसे सीधी करके उसके पेट बूब्स पर मेरा सारा माल गिरा दिया.

मामी भी जैसे खुद को मेरी बांहों में सौंपते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी.

लड़के ने कंप्यूटर संबंधित कुछ काम बताया, उन्हें कुछ प्रिंट निकलवाने थे. तो प्लीज़ मुझे मेल ज़रूर करें जिससे आगे भी मैं मेरी रिश्तों में चुदाई की स्टोरी आप लोगों के साथ शेयर करता रहूँ!मेरी मेल आई डी है[emailprotected]. मैं जितनी बार धक्का मारता, उतनी बार वो चिल्ला देती- हाय दैय्या … उह … मम्मी … मर गई रे … आह मम्मी रे … आह और तेज … आह मम्मी.

उसका सांवला चेहरा था, पर वो बहुत ही सेक्सी और चमकीली जिस्म की मालकिन थी. उसे मेरे लंड और मेरे से इतना प्यार हो गया था कि उसने अपने पति को नपंसुक बता कर उससे तलाक भी ले लिया.

कुछ समय बाद चाची हम दोनों के लिए चाय बना लाईं और हम तीनों लोग चाय पीने लगे. शायद उसने अंदर से ब्रा नहीं पहनी थी और उसकी हिलती हुई चूचियों को देख कर मेरी नीयत डगमगाने लगी. खाते पीते और बातें करते 10 बज गए और फिर पता नहीं, वो बात घुमा फिरा कर अपनी बीवी और अकेलेपन की बात करने लगा.

लड़की की सेक्सी वीडियो गांव की

मेरे मुँह से ‘चूत’ सुनकर वो शर्मा गयी और मेरे लौड़े को जीभ से चाटने की कोशिश करने लगी.

जो भी उस समय मेरी मॉम को देखता, तो उसका मन यही करता कि उसी समय मॉम को पटक कर चोद दें. मैं कसमसाने लगी … मुझे ऐसा लगा, जैसे सुरेश आज मेरी योनि फाड़ ही देगा और मेरी बच्चेदानी के मुँह में लिंग का सुपारा घुसा देगा. तुमको चड्डी देखना है?मैंने झुझलाते हुए कहा- चड्डी के अन्दर जो छुपा रखा है न … उसको देखना है.

फिर मेरी टांगें फैलाईं और झुक कर मेरी योनि के इर्द गिर्द चूमने लगा. उसके 34 साइज के बूब्स, 26 की कमर और 36 के चूतड़ देख कर मेरा लन्ड तन कर खड़ा हो गया था. सेक्सी इंडियन पिक्चर सेक्सीबस फिर क्या था … इतना सुनते ही मैंने उसके बदन को कसकर जकड़ लिया और उसके होंठों में अपने होंठ डालकर उसे किस करने लगा.

फिर एक जुलाई को दस्तूर ने बताया- मेरा कल बर्थडे है … क्या हम दोनों ईव्निंग में कहीं चल सकते हैं?मेरी तो जैसे मुँह माँगी मुराद पूरी हो गयी थी. अब मैं जन्मजात नंगा था। मैंने भाभी को सीधा लिटाया और खुद उनके पैरों के पास आ गया।मैंने भाभी के पैरों के तलवे चाटने शुरु किये.

योनि पर चुम्बन से उर्वशी छुई-मुई के जैसे इकट्ठा हो गई और उसने नीचे झुक कर मिहिर के माथे पर एक प्यार भरा चुम्बन दे दिया. वो नहाकर आयी और एक हल्की सी कुर्ती पहनी जो काफी पतले कपड़े की थी, अंदर ब्रा भी आसानी से देखी जा सकती थी. अभी कॉलेज शुरू होने में थोड़ा वक्त था लेकिन कोचिंग की क्लास शुरू हो गई थीं.

आपको मेरी यह भाभी की चोदाई कहानी कैसी लगी इसके बारे में जरूर मुझे बताना. मैंने अपनी जेब से फोन निकाला और कैमरा ऑन करके वीडियो बनाना शुरू कर दिया. वह कहने लगी- जान, मेरी चूत से खून निकल रहा है, क्या करूँ?मैं कपड़ा लाया, उसका खून साफ किया और उसको फिर से किस करने लगा.

क्या आप पक्का किसी और से चुदना चाहती हो?तो मोनिषा आंटी ने मना करते हुए कहा- वैसे तो मेरे लिए तुम और तुम्हारा लंड ही काफी है.

अंदर बाथरूम में जाकर मैंने लंड निकाल लिया और जोर से उसको हिलाने लगा. मैंने पूछा- कैसा लगा?भाभी हंस कर बोलीं- मैं बता नहीं सकती … कितना अच्छा लगा.

आंटी की चीख निकली- उम्म्ह … अहह … हय … ओह …दर्द मुझे भी हुआ क्योंकि मैंने भी पहली ही किसी की चूत में अपने लंड डाला था. लेकिन कभी चूत चुदाई का मौका नहीं मिल पाया था क्योंकि हम लोग कहीं बाहर ही मिलते थे. अनिल मॉम को किनारे पर ले आया और बोला- चल मेरी प्यारी रंडी, मेरा लंड चूस ले.

उसका ध्यान मंगल के ऊपर भी गया, वह भी तो मौजूद था और उसे ही देख रहा था. यह कहानी सिर्फ मेरी ही नहीं बल्कि हॉस्टल में रहने वाली हर लड़की की है।आप मानें या ना मानें।मेरा नाम नीरू है, मैं गुजरात के वलसाढ़ में रहती हूं। आज मैं 24 साल की हूँ. मैं समझ चुका था कि दीदी को अब चुदाई का चस्का लग गया था और सेक्स के साथ वो नशा भी करने लगी थी.

बीएफ चोदते हम दोनों सांपों की तरह लिपटने लगे थे और उसके हांफने से मुझे अंदाज हो गया था कि वो बहुत थक गया था. किस करने के थोड़ी देर बाद मोनिषा आंटी ने कहा- ओह नवीन, क्या सच में तुम मुझे इतना चाहते हो?मैंने कहा- हां मोनिषा आंटी, मैंने जब से आपके नंगे जिस्म को देखा है … मेरे लंड को चैन नहीं मिल रहा है.

हिंदी सेक्सी देवरिया

जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ, तो मैंने फिर से लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. उसकी चुदाई के बाद का एक अनुभव मैं अभी ही लिख रहा हूँ कि उसके एक चूचे को मैं अपने मुँह में पूरा भर लेता था. मैंने खाना उसके हाथ से लिया और साइड में रख दिया और उसको अपनी बांहों में ले लिया.

उसे रिकवर होने में और अपने पैरों पर खड़ा होने मैं एक साल लगा, पर वह पहले की तरह चल नहीं सकते था. उसे एक हफ्ते से बोल रहा था, तब किसी तरह दोपहर को गाय वाले घर में हम मिले. सेक्सी गवरीमामी भी पहले तो शरमाती रही लेकिन फिर उन्होंने मामा को अपनी बांहों में भर लिया मामा के होंठों को चूसने लगी.

चाची अपने हाथों से भैंस के थन दुह रही थीं और मैं अपनी आँखों से चाची के हिलते थनों को देखने में लगा था.

हम दोनों लोग नंगे ही बिस्तर पर लेटे थे और साथ आपस में किस भी करते जा रहे थे. थोड़ी देर में आंटी फिर से गर्म हो गयी और कहने लगी- अब और इंतजार मत करवाओ।मैंने उन्हें बिस्तर पर लेटाया और मैं उनके ऊपर आ गया और बूब्ज़ को चूसने लगा.

उन्होंने फिर से मेरा मुंह दीवाल की ओर कर दिया और अपने लंड में थूक लगाने लगे. मोनिषा आंटी ने जब उसका लंड देखा, तो लंड देखते ही उसको अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. दस मिनट तक लगातार उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने उसके कानों को चूमना शुरू कर दिया.

अनिल मॉम को किनारे पर ले आया और बोला- चल मेरी प्यारी रंडी, मेरा लंड चूस ले.

उसने पलट कर पीछे मेरी तरफ देखा और कहा- पूरी रात पड़ी है … अभी पहले नहा कर फ्रेश हो जाओ. मैं जैसे ही वहां से निकलने के लिए वापस घूमा, तो अन्दर से आवाज आई- रुकिए आती हूँ. मैंने चुत की गुलाबी फांकों में लंड का सुपारा फंसा दिया और उसकी आँखों में देखा.

सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म भेजिएअब मैडम को भी मेरे नंगे बदन से सट कर कुछ कुछ होने लगा था और फिर धीरे से उनके हाथ मेरे तने हुए लौड़े पर जा लगे तो उन्होंने एकदम से हाथ हटा लिया. यह सुनकर ज्योति सोफे से उठकर मुझे कसकर अपने गले से लगा लिया और बोली- मैं तुम्हारे सच्चे प्यार के लायक नहीं हूं … क्योंकि मेरे आयुष के साथ शारीरिक सम्बन्ध हैं.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो में दिखाएं

फिर मैंने अपना 7 इंच का लंड रोनिता की चुत पर टिकाया और एक ज़ोर से झटका मार दिया. आपको मेरी इस जवानी की कहानी को लेकर कुछ भी कहना हो, तो आपका स्वागत है. कभी कभी कल्लू अपनी दो उंगली से मम्मी की चूचियों की घुंडियों को मसल देता था.

मैं भी आपको पहले दिन से चोदने की फिराक में था लेकिन कभी कहने की हिम्मत नहीं हुई. वो हांफता हुआ मुझे बिना रुके ताबड़तोड़ धक्के मारे जा रहा था और मैं कराहती सिसकती उसके सीने से लिपट कर लिंग का वार सहती रही. मैंने उनको इंजेक्शन लगाया, दवा गोलियां दीं और लगाने किये एक मल्हम लिख दी.

मटकती हुई फिर वो रसोई में चली गई और उसके लिए कुछ खाने के सामान लेकर आ गयी. हुआ यूं कि मैं जिम खत्म करके बाहर निकला, तो मेरे जिम में ही वर्क आउट करने वाली एक लड़की अपनी कार के पास खड़ी होकर फोन पर बात कर रही थी. रात की पहली चुदाई से मेरे लंड पर सूजन आ गई थी और मुझे दर्द भी हो रहा था.

उसकी बात का जवाब देते हुए मैंने कहा- जो मामा जी को देती हो वही …वो बोली- अगर वो दूंगी तो कितना करोगे?मैंने कहा- जितना आप साथ दोगी, उतना ही करूंगा. एक एक कड़ियां खुद जोड़ने लगी, क्यों मैं सरस्वती और सुरेश पर ज्यादा ध्यान देती थी, क्यों विमला से उनके बारे में सुनना चाहती थी, क्यों एक समय के बाद मुझे सरस्वती से जलन सी होने लगी थी.

उसकी चूत की खुशबू इतनी मनमोहक थी कि मन कर रहा था मैं उसकी चूत के अंदर ही घुस जाऊं.

चूंकि मैंने पैसे ले लिये थे इसलिए मैंने अपने हाथों ही मुसीबत मोल ले ली थी. चूत चुदाई फिल्म सेक्सीहम तीनों लोग बातें कर ही रहे थे कि तभी पड़ोस की एक लड़की मेरी बहनों के पास आ गयी. ओपन का सेक्सी वीडियोमैं साथ ही उसके होंठों को काट लेता था, कभी उसके गांड को अपने हाथों से दबाए जा रहा था. पूरा लंड पेलने के बाद मैंने उसके मम्मों पर अपनी जीभ चलाई और उसकी चूचियों पर लगी लिक्विड चॉकलेट को चाटते हुए उसको मजा देना शुरू किया.

आपको मेरी मौसी की लड़की यानि मेरी मौसेरी बहन की देसी बुर की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

मगर फिर देर रात को अचानक मुझे महसूस हुआ कि किसी के हाथ मेरे चूचों को छेड़ रहे थे. कोई दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने भी अपना वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया. ये सुन कर मुझे बहुत बुरा लगा, इसलिए मैंने उससे कहा- जब हम लोग एक ही शहर में रहते हैं, तो जब मन हो … खाना खाने आ जाया करे.

मैं अचंभित हो गया क्योंकि वो मेरे दोस्त की बहन थी, मैंने कभी उसे उस नज़र से नहीं देखा था और न ही कभी सोचा था उसके बारे में।और मेरे मुंह से एकदम निकल गया- मैं नहीं करता बाबा, मुझे इस सब से दूर रहना है।फिर उसके घर मेरा आना जाना लगा रहा और धीरे धीरे मैं भी उसे देखने लगा. भाभी ने अचरज से मेरी ओर देखा और पीछे मुड़ गईं और बोलीं- जो करना है जल्दी कर ले. उसके बाद मैंने दोबारा से उसको अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों का रस पीने लगा.

सेक्सी फिल्म नंगा सेक्सी

वापस आकर लाला माँ से बोला- भाभीजी, आपकी आपकी भैंस तो बहुत ही प्यासी लगती थी, एकदम से चुपचाप खड़ी रही, बड़े आराम से भैंसा आया और अपना काम कर गया. दो मिनट के बाद ही उसके मुंह से मादक सिसकारियां उम्म्ह … अहह … हय … ओह … निकलनी शुरू हो गईं. चाची ने आव देखा न ताव … उन्होंने मेरे लंड को पकड़ लिया और दोनों हाथों से लंड की मालिश करने लगीं.

वो जितनी ज्यादा बाहर से गोरी चिकनी थी, उतनी अन्दर से भी थी, उसकी चूत एकदम गुलाबी दिख रही थी.

मैं क्या तारीफ करूं उसके मम्मों की, बेहद सफेद … काले और उभरे हुए निप्पल मुझे एकदम रसीले लग रहे थे.

वो सब मैं आपके साथ साझा करूंगा, पर आज के लिए इतना ही … फिर हाजिर होऊंगा. तभी मॉम ने अपनी टांगें फैला दीं, जिससे उनकी तौलिया एक तरफ को सरक गई. हॉट सेक्सी भाभी काआपको मेरी भाभी की चुदाई की ये सच्ची कहानी कैसी लगी, मेल पर जरूर बताना.

मैंने नम्बर दिया, तो उसने कहा कि मैं आपसे फोन पर सवालों के हल पूछ सकती हूँ न?मैंने हंस कर कहा- बेशक तुम मुझसे कुछ भी पूछ सकती हो. उसके बाद मेरे बेटे प्रकाश ने मेरी चूत को सहलाया और दोबारा से अपना लंड मेरी चूत पर लगा दिया. मैं भी पहली बार के संभोग से काफी थक गई थी और अगर दूसरी बार किया, तो और अधिक थकान होगी.

शिवानी बहुत खुश लग रही थी।मैंने उससे बात की तो उसने बताया कि उसे बहुत मजा आया और वो मेरे झड़ने से पहले ही झड़ चुकी थी. मैंने बिना समय बर्बाद किए उसे बेड पर लेटा दिया और उसके गालों को चूमने लगा.

मैंने कहा- मौसी की बात मानना … ये बहुत कमीनी है, जितना चाहे उतने लोगों को चढ़वा देगी, तू मना मत करना.

वो बोली- तो नहाने की क्या जरूरत है, वो तो हम दोनों इधर ही एक दूसरे को समझ सकते हैं. जैसे तैसे जोर लगा कर मामाजी ने मेरी गांड में डाला और मेरे ही ऊपर पसर गए. उसकी कसी हुई छोटी सी ब्रा में उसके फंसे हुए मम्मे मुझे मदहोश कर रहे थे.

फुल एचडी सेक्सी जबरदस्ती मैं समझ चुका था कि दीदी को अब चुदाई का चस्का लग गया था और सेक्स के साथ वो नशा भी करने लगी थी. जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ, तो मैंने फिर से लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

उसकी चुचियों को ब्रा में से ही रगड़ने के कारण वे एकदम लाल हो गयी थीं. इस माँ बेटा सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने सौतेले बेटे की वासना भड़का कर उससे अपनी चूत चुदाई करवा ली. मैं उसके नीचे पीठ के बल लेट गया और सौम्या ने अपनी चूत को मेरे मुँह की तरफ करके मेरे लंड को अपने मुँह की तरफ ले लिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो फोटो

फिर उसने मेरे पति को अपने बारे में बताया और फिर उन दोनों की जान पहचान हो गयी. गांव में घर में शादी भी थी, इसलिए मुझे इस कारण कुछ दिन रुकना भी था. मैंने कहा- यार सॉफ्टवेयर वाली सीडी मेरे पास नहीं है … तू बाजार से ला दे, तो मैं इनस्टॉल कर दूंगा.

मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था और उसकी बुर भी चिकनी हो गई थी, इसलिए मैंने भी देर न करते हुए लंड उसकी बुर पर टिकाया और पेल दिया. उसकी इतनी मुलायम चुत थी कि क्या बताऊं दोस्तो!अब मैं उसके ऊपर चढ़ गया और मैंने अपने लंड पर कंडोम चढ़ाकर उसकी चुत के छेद पर सैट कर दिया.

उसके होंठों पर होंठ रख दिये और दोनों ही एक दूसरे से लिपटते हुए एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे.

40 हुआ, तो मैं बोला- अब मैं घर जा रहा हूँ … शाम 5 बजे तक पैसा लेकर आऊंगा … तब तक आप लोग आज का काम खत्म कर देना. थोड़ी देर बाद वो नॉर्मल हुई, तो मैंने उससे बात करते करते उसके बाल खोल दिए. अब तो उसके मुंह से सिसकारियां निकल रहीं थीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मम्मीईई … आह्ह … चोदो जानू … आइ लव यू डार्लिंग!जैसे जैसे चुदाई आगे बढ़ रही थी वो मुझसे लिपटने लगी थी.

उसकी पैंट नीचे गिर गयी और उसका लंड उसके कच्छे में तना हुआ अलग ही दिखाई दे रहा था. जब भी मामी ने बुलाया, मैं मामी के घर गया और मामी को चोदा पूरे मजे से!तो दोस्तो, इस तरह से मैंने अपनी चुदक्कड़ मामी को चोदा, उनकी चूत की सफाई और चुदाई दोनों ही कर डाली. क्या तुम मेरे सिर भी मालिश कर दोगे?मैंने बोला- हां आंटी बिल्कुल कर दूंगा.

कई बार जब मेरे मम्मी-पापा घर पर नहीं रहते थे तो वो जीन्स और टॉप भी पहन लेती थी.

बीएफ चोदते: मुझे लड़की गाली देने वाली ही पसन्द है, उससे उत्साह बढ़ता है और चुदाई अंतहीन हो जाती है।मैंने उसे बेहताशा चूसना ज़ारी रखा और बीच बीच में उसकी गांड को भी छेड़ देता तो उसकी चीखें वासना भरी हो जातीं. ’डॉगी स्टाइल … सच में क्या मस्त पोजीशन होती है दोस्तों … बड़ी शानदार और लाजवाब आसन होता है.

हम लोग दुकान से वापस निकल कर कार की तरफ आये तो मैडम को एक आइसक्रीम वाला दिख गया. माँ शर्माती हुई जब लाला के पास से गुज़री, तो लाला बोला- आप पता नहीं कब समझेंगी. कुछ देर बाद वो बेकाबू होकर अपना पूरा बदन हिलाने लगी और जोर से मेरा सिर अपनी बुर पर दबाने लगी.

ये बात मैंने तुरंत उसको कॉल करके बता दी कि कल सुबह मेरे घर वाले सब बाहर जा रहे हैं … पर मैं नहीं जा रहा हूँ.

ये सोचते हुए मैं अपने मन को पक्का करने लगा था कि बहन की चुत जरूर मिल जाएगी. पसीने से मेरा पूरा बदन भीग गया था और योनि के चारों तरफ सफेद झाग फैल गया था, जो इतनी अधिक चिपचिपी और लसलसी हो गयी थी मानो गोंद लग गई हो. काफी देर चूसने के बाद जब वो थक गयी तो उसने लंड अपने मुंह से बाहर निकाल दिया.