बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी हिंदी में फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर बताएं: बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी, तभी रीना आ गयी, वो हंस कर बोली- हाँ तो हो गयी आपकी मसाज पूरी?तीनों ने काफी पी और कविता उठ कर वाश रूम में चली गयी.

रूस की बीएफ

उफ्फ… क्या अहसास था गर्म सॉलिड लोहे जैसा… लम्बा मोटा! मैंने भी हाथ नहीं उठाया. बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में बीएफजब शाम में जब हमारे डिपार्टमेंट में कोई नहीं होता था तो वो मेरे पास आ जाती थीं और हम दोनों बातें करते थे.

वो देखने में ऐसी लगती है, आप यूं समझ लो कि उसका चेहरा पोर्न स्टार सनी लियोनि जैसा है. देहाती बीएफ वीडियो चलने वालीकहानी का पिछला भाग:मुंबई की शनाया की कुंवारी बुर की चुदाई-1आशीष ने मेरा हाथ अपने लंड पे रख दिया.

मैं हमेशा एक बहन चाहता था ताकि चुदाई का सामान घर में ही मिल जाए और बाहर मुँह ना मारना पड़े.बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी: इससे दोनों 69 के पोज़ में आ गए थे और चुसाई का खेल फिर शुरू हो चुका था.

सोनिया बोली- यार वैसे तो आपका दोस्त मस्त आइटम है, पर देख लो कहीं कल को कोई बात न खराब हो जाए.हेमा- आज भी आप दुकान जाओगे क्या? मैं सोच रही थी कि आज मैं माता के मंदिर होकर आऊँगी.

बीएफ नेपाल की - बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी

मुझे भी कोई ऐतराज़ नहीं था क्योंकि हमारे पास पैसे की कोई कमी तो थी नहीं.मैंने चाची को चोदना चालू किया तो चाची ने अपने पैरों से मुझे जकड़ लिया ताकि मैं कोई हरकत ना कर दूँ.

फिर हम दोनों बाथरूम से आकर बिस्तर पर लेते और पल भर में ही सो गए।तीन घंटे बाद जब हमारी आँख खुली तो हमने बिस्तर पर चूत चुदाई का एक राउंड और खेला. बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी ”मेरी छाती के बालों से खेलते हुए उसने मेरे लंड को हाथ में लिया और वह उसे हथियाने लगी.

उसकी सु सु की आवाज़ मुझे सुनाई दे रही थी और स्पीड से निकलती पेशाब की धार भी दिख रही थी.

बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी?

लेकिन आखिर वरुण की जिद के आगे उसके सामने ही शोभा को अपनी चूचियों को मसलते हुए अपनी चुत में उंगली करना ही पड़ी. विवेक ने मुझे किस करते हुए बोला- सरिता प्लीज़, मैं तुम्हारी मर्जी के खिलाफ तुम्हें कुछ नहीं करूँगा. भाभी ने मुझ से पूछा- उस दिन तुमने क्या क्या देखा था?मैं भाभी का सवाल सुनते ही हक्का बक्का रह गया और हकलाते हुए कहा- कुछ नहीं भाभी!तो भाभी बोलीं- अच्छा, मैंने तो तुमको देख लिया था.

क्योंकि वो थोड़ी नर्वस लग रही थी पर मेरा पूरा ध्यान तो उसकी सेक्सी बॉडी पर लगा था. उसने फिर स्माइल की और कहा- क्या आप सेक्स करना चाहते हो?मैंने कहा- सुमन शायद तुम्हें बहुत चढ़ गई है. एक दिन भैया ड्यूटी से वापस आ रहे थे, वे अपने हाथ में कुछ सामान लिए हुए थे.

वह बोली- लेकिन यह इस छोटी सी जगह में जाएगा कैसे?मैंने कहा- अभी जाएगा. फिर कुछ मिनट में मेरे लंड ने दीदी के मुँह के अन्दर ही पानी छोड़ दिया. अब दस मिनट हो चुके थे और मैंने उसको सीधा करके उसकी चूत में अपना लौड़ा डाल कर उसकी गुलाबी चूत में लंड पेलने लगा.

तुम सारा दिन ये क्या चूसती रहती हो?फ्लॉरा- भाई ये लॉलीपॉप है और ये मेरी फेवरिट है. वो चौंक गया… बोला- हिमानी क्या बोल रही है?मैंने कहा- जो तूने सुना… मैं तेरे लिए ये भी कर सकती हूँ… मुझे पता है तुमको गांड मारने का बहुत शौक है… सो यार तेरे लिए मेरी गांड हाजिर है… लेकिन आराम से मारना.

इधर वो हमारे मम्मों की घुंडियों को दो उंगलियों में मसल रहे थे और हम दोनों की नाक में लंड की खुशबू घुस रही थी.

अजीब बात थी कि मामी ने बिना अंडरवियर पहने ही पेटीकोट और साड़ी पहन ली.

अब रोस्टन ने मुझे घोड़ी से सीधा बेड पर लेटाया और मेरी चूत को चोदने लगा. दूसरे दिन हम सभी 4 बजे ही गाँव से निकल आए, वो और मम्मी पीछे बैठी हुई थीं. मैंने अपनी एक उंगली भाभी की फुद्दी में घुसा दी और उनकी चूची चूसने लगा.

थोड़ी देर चुप रहने के बाद वह बोला- मुझे आशा है की कम से कम उनमें से कुछ कपड़े तो अब तुम्हारे और वरुण के पहनने के काम आ ही जाएँगें. पांच मिनट की चुदाई के बाद मेरे लंड ने चाची की चूत में ही पिचकारी मार दी और चूत को अपने कामरस से भर दिया. काकू मुस्कुरा दिया उसने टॉवल की गाँठ खोली और टॉवल को नीचे उसकी चूत के ऊपर ढक कर सरका दिया.

अंकित मेरी ब्रा खोल कर मेरी मोटी चूची को चूसने लगा, दबाने लगा, मैं भी अंकित का साथ दे रही थी.

मैं इसलिए चुप था कि एक तो मैं साबिया से डर रहा था और दूसरा मैं इसे प्यार भी बहुत करता हूँ. मैंने रूबी की चूत पर अपने होंठ लगाए, चूत के दाने को होठों से चूसना शुरू किया. मैंने रूबी को कहा- वह सीधे ही क्यों नहीं करवा लेती? स्पर्म बैंक का चक्कर क्यों रखती है?रूबी ने कहा- पता नहीं वह राजी होगी या नहीं?मैंने पूछा- सुन्दर है?तो रूबी कहने लगी- अप्सरा जैसी सुन्दर है.

मैंने उसके होंठ चूमते चूमते एक हाथ उसकी नाभि पर रख दिया और उसकी नाभि को उंगली से सहलाया, वो हड़बड़ा गई. अगले दिन कोई और बस थी, जिसमें कुछ ज्यादा ही लोग भरे हुए थे तो वो दोनों भी जैसे तैसे अन्दर घुस गए. एक हाथ से मैं उसके मम्मों को दबाता रहा और दूसरे हाथ को उसकी चुत पर लगा दिया.

मैं अपने औज़ार के बारे में बता दूँ कि मेरा औज़ार 7 इंच लंबा और खीरा जितना मोटा है.

और अचानक एक सैलाब उसकी चूत से उमड़ा, जैसे कोई गर्म पानी का फव्वारा चालू हो गया. फ्रेंड्स, मेरा नाम सरिता है, घर पर मुझे प्यार से सभी सोनी बुलाते हैं.

बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी वह भी इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं देती थी क्योंकि सिखाने में हाथ तो लग ही जाता था. बाद में मुझे भी मजा आने लगा और मैं अंकित का लंड अपनी चूत में लेकर उछल उछल कर सिसकारियां ले ले कर चुदवाने लगी और हम दोनों चुदाई करते करते एक बार झड गए.

बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी कुछ देर मम्मे मसलने के बाद वो झट से सीधा चुत के पास पहुँच जाते थे और तेल से सनी उंगलियाँ आराम से चुत में घुस जाती थी. लंड का पानी निकलने के बाद अतुल शांत हो गया तो फ्लॉरा भी उन दोनों के साथ चुत की झांटें साफ करने चली गई.

तो मुझे समझ आया कि मैंने अनामिका को नहीं पटाया बल्कि अनामिका ने अपनी कामुकता की संतुष्टि के लिए मुझे साधन बनाया है.

एक्सएक्सविडियो

उसके होंठ पतले और रसीले, आँखें नशे से भरी हुईं, जो भी देखे उसकी आँखों में खो जाए. उन्हीं देर रात की बातों में सरिता ने मेरे साथ अपने जीवन के सब से कड़वे सच एवं अनुभव को साझा किया जो मेरे मन को छू गया. वो मेरे मम्मे को जोर से प्रेस नहीं कर रहा था, शायद उसे डर था कि कहीं मैं उठ न जाऊं.

चूँकि मेरा लंड काफी लंबा और मोटा था तो मैंने थोड़ा सब्र से काम लिया. अंकल… पर आपको बताना पड़ेगा कि आपने मम्मी को बस में कैसे छेड़ा था और फिर माँ कैसे आपसे चुदवाने के लिए तैयार हुई. मैं चित लेट गया और उसे अपने ऊपर बिठा कर उसकी फुद्दी में लंड डाल कर उसे चोदना शुरू किया.

मैंने देर ना करते हुए अपना लंड रेणु दीदी की चुत पर रखा और एक जोरदार धक्का दे मारा.

मेरे देवर ने अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाला और मेरी गांड में घुसेड़ दिया. महीने बाद उसने खुशखबरी सुनाई कि उसे माहवारी नहीं आई है और टेस्ट में प्रेग्नेंसी कन्फर्म हो गई है. चलो मुझे क्या… खरबूजा चाकू पर गिरे या चाकू खरबूजे पर… कटेगा तो खरबूजा ही… मुझे तो एक बढ़िया मजेदार साफ़ सुथरी चूत मिल ही गई चोदने को!अनामिका ने राहुल से एक वादा लिया कि ये सब बातें प्राइवेट होंगी और तुम मेरे घर आते रहोगे.

गोपाल तो पागल हुआ जा रहा था, वो तो नीतू के निपल्स को दबा दबा कर मज़ा ले रहा था और नीतू आहें भर रही थी. नमस्ते अन्तर्वासना के नियमित पाठको, मेरा नाम राजा (बदला हुआ नाम) है, मेरी उम्र 25 साल की है. एक तो… मैं बहुत से पतले कपड़ों की दूकान सी बना के रखी थी मेरी अलमारी में, उनमें से ही एक सी थ्रू कपड़े की शर्ट पहन ली जिसका गला काफी बड़ा था, उसमें से मेरे मम्मे आधे आधे दिख रहे थे.

साधु- पहले इसको उत्तेज़ित करो, फिर ये घी अपने लिंग पे लगा कर इसकी कुंवारीयोनि में अपना लिंगप्रवेश करवाना. मैं उठा और बहूरानी को पीछे से पकड़ कर अपने से सटा लिया और गर्दन चूमने लगा.

बस यही बता दो कि कभी कोई लंड देखा भी है तुमने?सहेलियों के मुँह से लंड का नाम सुनते ही मैं चौंक जाती थोड़ी गर्म होने लगती, मेरा चेहरा लाल होने लगता और मेरी चुत में खुजली होने लगती. जब संगीता वहाँ से जाने लगी तो मैंने कहा कि संगीता एक बार डॉक्टर को दिखा दें क्या?तो उसने बोला- शेखर तुमको कुछ करने की ज़रूरत नहीं है, मैं खुद संभाल लूँगी. पीटर- फुल स्पीड पे ऑन करो वाइब्रेटर को!पीटर की आवाज में पता नहीं क्या जादू था कि बिना कोई विरोध किये मैंने वाइब्रेटर को फुल स्पीड पे डाल दिया.

ऐसा करने से पप्पू को अपना लंड रूपा की चूत से अन्दर बाहर होते दिखने लगा.

दिल में खूबसूरत याद लेकर पर उसके खो जाने का दर्द उस ‘सफर की डुबकी’ के आनन्द से ज्यादा था. पर चंडीगढ़ शहर रात को जल्दी ही बंद हो जाता है तो वहाँ पे ऑटो रिक्शा भी नहीं था. सुमन की बात सुनकर गुलशन जी थोड़े घबरा गए क्योंकि उनके लंड से पानी की बूंदें आने लगी थीं और सुमन को शक ना हो जाए ये सोच कर उन्होंने बात को बदल दिया और सुमन तो खुद यही चाहती थी.

मैं इस हग में चाची को कसता ही जा रहा था और अपना मुँह ऊपर करके चाची के हाव भाव नोट कर रहा था. उसके मम्मी पापा बगल के कमरे में सोए हुए होने की वजह से, डर के मारे जल्दी चुदाई करके भाग आता.

अब चाची भी मेरा साथ दे रही थीं और हम एक दूसरे को प्यासों की तरह चूम और चाट रहे थे. बाद में रीना ने पूछा- तूने क्यों नहीं चुदवाया?तो कविता बोली कि वो अपनी कुंवारी चूत की सील किसी मसाजर से तुड़वाना नहीं चाहती. कुछ ही देर में लंड एकदम तन गया और भैया से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, उन्होंने मुझे अपने ऊपर खींचा और मुझे किस करने लगे.

ब्लूफिल्म

वैसे भी कॉलेज की लड़कियां बहुत स्लिम सी होती हैं और मुझे स्लिम लड़कियां ज्यादा पसंद नहीं हैं.

उसने नीचे स्कर्ट पहनी हुई थी, मैंने उसकी स्कर्ट ऊपर उठा कर पैंटी को नीचे किया, तो पता चला कि उसकी चूत पनिया गई थी. दोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानियोंडॉक्टर साहिबा का अतृप्त यौवन-1डॉक्टर साहिबा का अतृप्त यौवन-2को बहुत सराहा. पसीने से हमारा बुरा हाल था, हम बिस्तर पर आधा घंटा पड़े रहे, फिर दोनों उठ कर इकट्ठे नहाए और उसके बाद डिनर के लिए निकल गए.

उसने कविता से कहा कि अगर वो कहे तो वो उसकी ब्रा खोल दे, तो कविता ने मना कर दिया. उसने मुझसे कहा- मैं आपको बहुत मानती थी भाई, पर आप ने मेरा विश्वास तोड़ा है. बीएफ इंडिया व्हिडिओतभी वो चिल्लाने लगी- बस सन्नी… अह… अब और नहीं… निकाल दो मेरे अन्दर… मैं पूरी टूट चुकी हूँ… आह… मेरा निकल जाएगा आआह… अब मुझसे नहीं होगा.

मैंने देखा कि उन्होंने कोई पैकेट निकाला, उसको फाड़ कर कुछ निकाल कर अपने लंड पे चढ़ा लिया… ओफ्ह्ह ये तो कंडोम है. फिर मैक्सी के अन्दर हाथ डाल के पेटीकोट का नाड़ा खोलने लगीं और उसे भी उतार दिया.

वो नाराज़गी दिखाने लगीं, फिर कुछ देर चुप रहकर बोलीं- देखो दीनू मैं जैसा कहूँगी, वैसा ही तू करेगा?मैं बोला- ठीक है. और हाँ, एक बात और… मेरी शादी हो गई है… अब चुदने का लाइसेंस भी मिल गया है. आज तेरी मस्त चुदाई कर दूँ, उसके बाद तेरी फ्रेंड्स की भी चुत चोद दूँगा.

सोनिया अब तक वाशरूम में जा चुकी थी और मैं फिर उसके करीब गया और बोला- साली देख, अगर नखरे दिखाने हैं तो साफ़ बोल दे… या सीधे आ जा, मजा ले ले जवानी के… नहीं तो फिर घूमने ही चलते हैं. फ्लॉरा- आपकी बात सही है अंकल मगर करीब के रिश्तों में मेरा झुकाव ज़्यादा रहा है, अब आप कुछ भी समझो. मोना ने नीतू को पहले ही सब कुछ समझा दिया था कि आज क्या होगा और उसकी चुदाई होगी.

यह मेरी कहानी की आखिरी हिस्सा है, पीछे के सारी कहानी और आज की कहानी केवल तीन दिन और तीन रात में घटित है.

मैंने तुरंत राहुल को कॉल किया कि मेरे पास कपल डिनर और मूवी टिकट हैं, तुम दोनों कल शाम को चले जाओ. ममता और मैंने एक-दूसरे को चुदाई के बहुत मौके दिए और आगे की कहानी में मैंने कैसे ममता को रात में रूम पर बुलाकर चोदा और कैसे उसकी मालिश करके तेल लगाकर उसकी गांड मारी.

मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी तो वो बड़े मजे से मेरी जीभ को चूसने लगी. अब पूजा की वजह से नहाना जरूरी था या किसी और वजह से, ये तो आने वाला वक़्त बताएगा. टीना का बाँध भी टूट गया और सुमन ने उसका भी रस गटक लिया, मगर जब आखिरी बार उसने चुत को चूसा तो फ्लॉरा ने जल्दी से सुमन को अलग किया और उसको किस करने लगी.

रूपा पप्पू का चेहरा चूमते हुए हाथ नीचे डाल कर उसकी गोटियाँ मसल कर बोली- अरे-अरे ये गाली मत दे उसे… उसके साथ शादी के बाद आज पहली बार किसी पराये मर्द का लंड इस चूत को नसीब हुआ है. इससे पहले वो कुछ और बोलते मैंने मम्मा के बात को बीच में ही काटते हुए बोला- ठीक है मम्मा, कल चला जाऊंगा. मैं समझ गया कि इसे पर्सनॅलिटी प्रॉब्लम है, आसानी से चूत आज ही मरवाएगी.

बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी मैंने पूछा- ये तुम्हारी बहन है क्या?वो बोला- हां, मुझसे बड़ी है… इसकी शादी हो चुकी है. मगर जॉय बहुत ही सुलझा हुआ आदमी था, उसने फ्लॉरा को अच्छे से संभाल लिया और घर की सारी ज़िमेदारी जॉय अच्छी तरह निभा रहा था.

இந்தி நடிகைசெக்ஸ்

मुझे ये सोच कर ही मजा आ रहा था कि मैंने उसकी बुर का उदघाटन किया है. ”मैंने उनकी एक न सुनी उलटे झटके तेज कर दिए और कुछ देर चुदाई के बाद उनकी चूत में ही वीर्य विसर्जन कर दिया. इसलिए 10 मिनट उसको उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और फिर से उसकी चूत चाटने लगा.

धीरे धीरे वो अपनी सही स्थिति में आये; बुर पे लंड… मेरे कन्धों को पकड़ कर थोड़ा दबाव…उफ्फ ऊई माँ थोड़ा सा अंदर… दर्द हल्का सा बुर की दीवारें फैलती हुई लगी… धीरे धीरे थोड़ा और अंदर थोड़ा और दर्द… माँ मेरी… उफ्फ आशीष धीरे धीरे दर्द होता है. रूपा का जोश और बढ़ावा देख कर खुश हो कर पप्पू ने सोचा कि साली को सच में आज तक ऐसा लौड़ा नहीं मिला, तभी ये इतनी उछल कर चुदवा रही है. चोदने वाला बीएफ फिल्ममैंने उसे झट से बाँहों में भर लिया और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए.

फिर भाई उठ कर मेरे पैरों के पास बैठ गया और उसने मेरी स्कर्ट को धीरे-धीरे उठाता हुआ मेरे कमर तक कर दिया.

थोड़ी देर बाद जब मेरा दर्द कम हुआ तो वो किस करते हुए आहें भरने लगीं. काफी चुदाई के बाद उसकी चूत में अब सूजन महसूस होने लगी, जिसका पप्पू को भी एहसास हुआ.

रूपा को पप्पू का पेशाब अपनी माँग और पूरे बदन पे सोने के पानी जैसा लगा. बात तब की है जब मैं बारहवीं की परीक्षा के बाद मेडिकल की कोचिंग के लिए अपने दोस्तों के साथ उत्तम नगर में फ्लैट लेकर रहता था. हम दोनों बकवास करती करती, एक दूसरी की लाइफ स्टोरी बतियाती काफी पी गयी.

वो मेरा एक हाथ ज़ोर से दबा रही थी, तभी वो सह नहीं पाई और उसने मेरे हाथ में नाख़ून भी मार दिया.

फिर उस फिल्म में धीरे धीरे दोनों एक दूसरे के कपड़े उतार के बिल्कुल नंगे हो जाते हैं. पूरी जीभ अन्दर डाल कर चूत चाटने के बाद अपनी गांड को चोद रही रूपा की जीभ का अच्छा एहसास होने लगा. मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी अच्छी लगी या नहीं, मुझे अपने विचार मेल से भेजें और अगर आप मेरी कहानी पर अपने कमेंट्स लिखना चाहते हैं तो पुरानी अन्तर्वासना साईट पर आ कर आप कमेंट्स दे सकते हैं.

सेक्स बीएफ हिंदी ब्लूदीदी ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और आइसक्रीम की तरह लंड चूसने लगीं. मेरे साथ संगीता नाम की एक लड़की पढ़ती थी, जो बहुत ही सिंपल लेकिन सेक्सी थी.

हिंदी सेक्सी चूत वाली

फिर खुद लेट गई और घुटनों को मोड़ कर चुत को फैला दिया और मॉंटी को पैरों के पास बैठने को कहा, मगर मॉंटी तो अनाड़ी था उसको समझ ही नहीं आ रहा था कि कैसे बैठे, तो सुमन ने उसको समझाया कि कैसे बैठना है, तब कहीं मॉंटी सही पोज़िशन में आया. इतने में मेरे फ्रेंड का कॉल आया कि आज कॉलेज स्टाफ के यहाँ कोई डैथ हो गई है तो कॉलेज में छुट्टी हो गई है. तू भी झूठ बोली ना कि तूने उसे नौकर के साथ चुदवाते हुए देखा है?उधर नीता ने भी पप्पू का लंड चूसते हुए आँख मारते हुए यह बताया कि उसने भी वो नौकर की कहानी झूठी बनाई थी.

मेरा हमेशा से फैन्टेसी है शादीशुदा औरतों को नंगी करके मंगलसूत्र और सिंदूर के रहते हुए चोदना. चुत पर लंड के सुपारे का अहसास होते ही मैं थोड़ी सी रिलेक्स हुई कि चलो गांड तो नहीं मारेगा. अब मामा जी का लंड सारा रस निकल चुका था, धीरे धीरे लंड सुकड़ने लगा था, मामा जी को नींद आने लगी थी, शायद काफ़ी थक चुके थे, मैंने मामा जी को आवाज़ दी पर मामा जी जवाब नहीं दे रहे थे, मैंने दो तीन बार आवाज़ दी तो मामा जी की नींद खुल गयी, मामा जी उठ कर बाथरूम चले गये.

मैंने पूरा माल आंटी की चूत में ही निकाल दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. यार जब कोई लड़की लंड को मुंह में लेती है तो कितना मज़ा आता है, ये तो वो ही जान सकता है, जिसने अपना लंड किसी लड़की से चुसवाया हो. तू दर्द की चिंता मत कर, जितनी बेरहमी से हो सके डाल अपना लौड़ा मेरी चूत में और चोद मुझे.

मैंने पूछा- तुम्हारा बॉयफ्रैंड के बारे में क्या विचार है?तो उसने कहा- उस साले की गांड पर कल ही लात मार दूँगी. फिर 2-3 महीनों में उसने हमारे घर से अच्छे रिलेशन बना लिए थे और हमारे घर कभी भी आ जाया करता था.

मैंने कहा- ये क्या है?उसने बोला- या तो अन्दर बैठ जाओ या हम ये पुलिस को दिखाते हैं.

अब फ्लॉरा के मॉम-डैड आ गए थे मगर जॉन और फ्लॉरा चुदाई का मौका ढूँढ ही लेते. हिंदी बीएफ ओपन मेंमैंने पूछा- आपके हज़्बेंड घर पर नहीं हैं क्या?तो वह बोली- हमारा 3 साल पहले तलाक़ हो गया है. बीएफ गुडरिचअब हम भी उसी की चाल पर चलेंगे और उनके सारे प्लान उन्हीं के खिलाफ इस्तेमाल करेंगे समझी. फ्रेश होने के बाद हम सबने रात का खाना खाया और खाते खाते मैंने फिर से नोट किया कि अंजलि अभी भी मुझे बार बार देख रही थी.

जाते जाते उसने अपना मोबाइल नम्बर दे दिया और बोली- जब भी मन करे फोन कर देना, मैं आ जाऊंगी.

रूपा थकान की वजह से यंत्रवत अपनी जीभ बाहर निकाल कर पप्पू का लंड चाटने लगी. तेरी माँ होती तो शायद ये प्राब्लम नहीं होती मगर अब जो करना है… मुझे ही करना है. अब तो हमेशा मैं तुम्हें चोदूँगा तुम्हारी जैसी कच्ची कली को चोद कर मेरा लंड तृप्त हो गया.

चाची एक दम से तड़प उठी थीं, वो मुझसे कहने लगीं- अब किसिंग सकिंग ही करोगे कि चोदोगे भी? मैं तेरे कमरे में ज़्यादा टाइम तक नहीं रुक पाऊँगी… अगर तेरे चचा जाग गए तो? अब और कितना तड़पाओगे. श्वेता भी अब बहकने लगी और एक रोमांटिक गाने पर उसने अपनी पीठ मेरे सीने पर लगा दी और डांस करने लगी. आग हम दोनों में बराबर लग चुकी थी, तभी सोनिया बोली- आज तो बहुत मूड बन गया यार, अब खेल शुरू करो बस.

செஸ் வீடியோ கன்னட

मैं अपने परिवार के साथ शहर में रहता था, क्योंकि मेरे पिताजी वहां काम करते थे. पर कविता ने कहा- पहले आप मेरी मसाज कर दो, मुझे ज्यादा नहीं करानी, पर इसे पूरी करानी है, आप इसकी मसाज फुर्सत से बाद में करना. लखनऊ पहुँचने के बाद होटल में गए, रूम लिया, सामान रखा और घूमने निकल गए.

अमन से शोभा की मुलाकात हुई तो अमन समझ गया कि आज सविता भाभी की चुत मिलना मुश्किल सा लग रहा है.

मैंने अपने लिए एक पेग बनाया मगर रिया इतनी बैचेन थी कि वो उठ कर रूम में ही चहलकदमी करने लगी, खड़े खड़े ही अपने चुत सहलाने लगी, सिगरेट सुलगाकर रेलवे इंजन की तरह धुआँ निकालने लगी.

वो तड़प उठी और बोली- अब मत तड़पाओ, मेरी चूत में अपना लंड डाल दो प्लीज. कमल ने एकदम से मेरी चूचियों को अपने हाथों से पकड़ा और सहलाते हुए और सॉरी बोलने लगा. सेक्सी बीएफ सील बंदसच कहूँ, इस समय मुझे उनका भार बिल्कुल महसूस नहीं हो रहा था, मैं बिल्कुल हल्का महसूस कर रही थी.

यह पहला मौका था कि हम दोनों एक दूसरे को टच कर रहे थे, उनका दूसरा हाथ भी मेरे हाथ को सहलाने लगा, मैं पिघलने लगी. मैं भी अपनी चरम सीमा पर पहुँचने वाला ही था, कुछ 10-12 झटकों के बाद मैंने भी उसकी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया और मैं निढाल हो गया और कुछ देर तक वैसे ही उसके ऊपर पड़ा रहा. वो बस मेरे सामने देखती ही रही और मैंने अपने होंठ उसकी गीली आँखों पर लगा दिए और उसके आँसू पी गया.

वो हाथ जोड़ने लगी कि हम ऐसा न करें उसे हमारे जैसे अच्छे लोग फिर नहीं मिलेंगे. बस चूत के शौक को पूरा करने के लिए इतना तगड़ा रिस्क उठाया था हमने!फिलहाल तो सभी लड़के अच्छे से पेश आ रहे थे.

मेरे घर के सामने प्रिया आंटी का घर था तो मेरे ध्यान में आरती आंटी के स्थान पर प्रिया आंटी की चूचियां आ गई थीं.

उधर मेरी उंगलियों ने मौसी की चुत की दीवार को जैसे ही छुआ, अन्दर इतनी गर्मी थी कि मुझे ऐसा लगा मैंने गरम तवा में उंगली रख दी हो, तो मैंने झट से उंगली बाहर निकाल ली. रश्मि ने मुझे एक स्पेशल फ्रेंच किस की जिसमें उसने अपनी जीभ से मेरी जीभ के नीचे गुदगुदी की और अपना गर्म थूक मेरे मुख में भर दिया. मैं उसको उसी बेडरूम से निकाल कर बालकोनी में ले गई और उसे बोला कि वो खिड़की के परदे के पीछे से सावधानी से अंदर झांके.

बीएफ दे बीएफ वीडियो बीएफ मेरी सहन करने की क्षमता अब खत्म हुई, मैं तपाक से उठी और एक लड़के को पीछे से जा लिपटी। मुझे वैसे लिपटे देखकर रिया के होंठों पे एक बेहद कमीनी मुस्कान आई. मेरे साथ काम करने वाला एक साथी बाइक से आता था, वह मूल चंद पुल होकर जाता था.

एक देवर है नागपुर में पढ़ाई करता है एक ननद है 19 साल की, वो बी ए कर रही है. मॉम ने कहा- बेटी रो मत, दर्द तो सिर्फ पहली बार होगा, एक बार तेरी सील टूट गई तो उसके बाद दर्द नहीं होगा. नीता की कमसिन जवानी मसलते हुए और उसे अपना लंड चुसवाने में पप्पू को बड़ा अच्छा लग रहा था.

क्षक्श विडीओ

उन्होंने मुझे अन्दर बुला कर बैठाया और बोलीं कि मैं बीयर लेकर आती हूँ. रीना ने कविता को चूम कर बधाई दी और एक वादा लिया कि कविता के पति से वो भी एक बार जरूर चुदवाएगी. चलो अब सीधे सेक्स स्टोरी पर आती हूँअपनी पिछली नोन वेज स्टोरीचुत चुदाने की चुनचुनाहटमें आपको बता रही थी कि किस तरह मसूरी जाते हुए रास्ते में अनु ने मेरी चुदाई खुले आसमान के नीचे की थी.

रागिनी ने लगभग सिसियाते हुए मेरे लंड को अपनी चुत के छेद पर लगा दिया और कमर उचका कर लंड का सुपारा चुत के अन्दर खींचने का प्रयास करने लगी. मैं चाहता था कि मैं चाची को कम से कम दो बार झाड़ दूँ इसलिए मैं उनको हर प्रकार से चोद रहा था.

फ्लॉरा और टीना पास में एक साथ बेड पर लेटी हुई थीं और सुमन उनके बीच में बैठ कर दोनों की चुत को बारी-बारी से चाट रही थी.

अपने आप ही मेरे कदम उसकी ओर बढ़ने लगे जिससे पास आने पर उस का मर्दाना अंदाज़ मेरे सामने उजागर हुआ. जॉन ने धीरे से लंड उसके मुँह में पेल दिया और वो मज़े से लंड को चूसने लगी. जल्दी ही कोई लड़की पापा के सामने लानी होगी नहीं तो हमारा काम बिगड़ जाएगा.

मेरी पिछली कहानीमेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी मॉम को खेत में चोदापर बहुत से मित्रों ने टिप्पणियाँ की हैं, उन सबका आभार प्रकट करती हूँ. मैंने उसकी टांगों को फैलाया और अपना पूरा वजन उसके ऊपर डाल दिया। उसकी गर्दन के दोनों तरफ अपनी दोनों कोहनियों को टिकाकर उसके चेहरे को अपने हाथों में ले लिया और अपने होंठ उसके होंठों पर टिका दिए। दो चार छोटे-छोटे झटके देने के बाद मैंने एक ही झटके में उसका कौमार्य भंग कर दिया मतलब उसे लड़की से औरत में तब्दील कर दिया।मेरे उस झटके से वह बिलबिला गई परंतु उसने धैर्य से काम लिया. पर चुत सील पैक थी और लंड मोटा था तो लंड उसकी चुत के अन्दर नहीं जा रहा था.

ऐसे ही शहज़ाद भी करते थे घर पहुँच कर सबसे पहले ये भी कच्छे-बनियान में ही आ जाते थे.

बीएफ हिंदी एचडी सेक्सी: यह कहते हुए पप्पू ने नीता की टाँगें खोलीं और उसकी चूत सहला कर नीचे झुका और नीता की चूत चाटने लगा. कविता बोली- विनय ज्यादा बदमाशी नहीं, चुपचाप अपने कमरे में जाओ और अपनी बीवी को भी ले जाओ.

अब वो चाहे उसके पापा का ही क्यों ना हो, उसको इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ रहा था. आंटी की आवाजें धीरे-धीरे तेज़ होने लगीं और आंटी की चूत गीली होती जा रही थी. लेकिन मेरा मन और मस्तिष्क ऐसे किसी भी विचार से बिल्कुल सहमत नहीं थे इसलिए उनकी ओर से मुझे ऐसा कुछ भी नहीं करने के संकेत मिले.

तरुण के तीन इंच मोटे लिंग-मुंड ने मेरी योनी को पूरा फैला दिया और उस क्षण मुझे ऐसा लगा की जैसे मेरी योनि में एक गर्म लोहे की छड़ घुस गयी हो.

लड़के पूरी ताकत लगाकर हमें चोद रहे थे और हम दोनों भी अपने अपने चूतड़ उठा कर उन का लंड अंदर तक ले रही थी. हमें कब नींद आ गयी इसका पता ही नहीं चला और जब सुबह पक्षियों के चहकने की आवाज़ सुन कर मेरी नींद खुली तब मैंने अपने को बिस्तर पर पूर्ण नग्न पाया और तरुण का कहीं पता नहीं था. जो मेरी राइट साइड की लेडी थी उसने बोला- ज़्यादा ही भाव खा रहा है मादरचोद.