मल्लिका शेरावत का बीएफ

छवि स्रोत,पंजाबी चुदाई सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी में बीएफ वीडियो: मल्लिका शेरावत का बीएफ, फिर मैं बोली- तो तुम्हें जॉब चाहिए है? दरअसल आज मेरा कुत्ता यहां पर नहीं है, मैं चाहती हूं कि तुम्हें मैं अपने कुत्ते की जगह रख लूं आज.

सेक्सी इंडियन सेक्स

मैं रूम में गया और कपड़े बदल कर मैंने चड्डी पहन ली और गले में बेल्ट डाल ली. बंगाली सेक्सी ब्लूमगर मैंने उसकी चूचियों पर मुंह लगा दिया और उनको पीते हुए उसकी चूत में लंड को पूरा उतार दिया.

कुछ औरतें तो अपने पति से भी ऐसा सामान नहीं मंगवाती हैं और मैं तो उसके लिए अंजान था, फिर भी शायरा ने हिम्मत से काम लिया. झारखंडी सेक्सीइनका किसी के साथ कोई सम्बन्ध नहीं है, अगर होता भी है … तो मात्र ये एक संयोग ही होगा.

उस कहानी पर मुझे मेल करने वाले दोस्तों का शुक्रिया अदा करता हूं।मैं अपने सारे राज राज ही रखता हूँ; मैं नहीं चाहता कि मेरी किसी भी दोस्त को कोई परेशानी आए.मल्लिका शेरावत का बीएफ: इसके बाद मैं सीढ़ी से उतर कर अपने रूम में नंगी ही आ गई और सटासट दो उंगली डाल कर अपनी चूत ठंडी की और नंगी ही सो गई.

मैं पहली बार उसका स्पर्श पा रहा था इसलिए मेरे अंदर भी प्यार उमड़ रहा था।अब मुझे वो दोस्त की गर्लफ्रेंड नहीं बल्कि एक प्यार की भूखी लड़की लग रही थी.सायरा ने अपने आपको बिल्कुल ढीला छोड़ दिया और अपनी आंखें बन्द कर लीं.

सेक्सी वीडियो बफ सेक्सी - मल्लिका शेरावत का बीएफ

मैं- तो क्या बात है?वो- बस थोड़ी तबीयत सी ठीक नहीं हैमैं- चलो तो फिर डॉक्टर के पास चलते हैं.‘फिर क्या हुआ?’‘फिर वे बाद में बम्बई चले गए एक्टर बनने … वहां शायद रेलवे में नौकरी लग गई थी.

मेरी ड्रेस आगे से पूरी तरह से मेरी चूत के पानी में भीग चुकी थी।अनिल चुपचाप बिस्तर के सामने लगे सोफ़े पर बैठा हुआ अपनी चिर अभिलाषा को पूरी होते देख रहा था. मल्लिका शेरावत का बीएफ उसने मेरी टांगें खुलवा दी थी और वो उनके बीच में था जिससे उसका लंड मेरी चूत पर नीचे ही नीचे टकरा रहा था.

मैं एकदम से खुश होते हुए बोली- क्या अभी एक बार और चुदवाने को मिलेगा.

मल्लिका शेरावत का बीएफ?

मैं भाभी को नीचे लिटाकर उसकी बड़ी बड़ी चूचियों को दबाने लगा और उसकी गर्दन को चूमने लगा. मैंने अपने लौड़े को रोक दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा।थोड़ी देर बाद मैं धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगा. कुछ देर तक हम दोनों यूं ही नाग नागिन की तरह एक दूसरे से लिपटे हुए आलिंगन करते रहे.

वो उनके बड़े बड़े खरबूजे जैसे स्तन, उनकी फूली हुई गांड और वो रसीली चूत. कपड़े उतारने के बाद हवा तेज़ चल रही थी और भीगे होने के वजह से मुझे इतनी ज़्यादा ठंड लगने लगी कि मेरे दांत बजने लगे. बीच बीच में कभी कभी हाथ आगे ले जाकर मैं उसकी ऑफिस वाली पैंट के उपर से ही उसकी चूत को हल्का सा दबा देता था.

असल में यह प्लान मेरा नहीं था, ये तो हमारे ही क्लास के दूसरे दोस्तों का था. मैंने तेल हाथ में लिया और उसकी पीठ से लेकर उसकी कमर तक मालिश की शुरूआत कर दी. अब मैं अपने ब्लाउज का बंधन बांधने लगी लेकिन पीछे हाथ करके मुझसे बंध ही नहीं रहा था.

हिंदी ग्रुप सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं चुदाई के लिए नए लंड की तलाश में शिमला गयी. मैं विन्नी को सनी से चुदवाना चाहती थी और सनी भी अपनी बहन को चोदना चाहता था.

भाभी मस्ती से आह ऊह कर रही थीं और खुद भी नीच से अपनी गांड उठा आकर जोर जोर से झटके मार रही थीं.

ये मेरा पहला अनुभव है इसलिए लिखने में कुछ गलती हो जाये तो माफ कर दीजियेगा।मैं मुम्बई में एक टेलीविजन सीरियल में काम करता हूं और इसी के चलते मेरी बहुत सी लड़कियों से दोस्ती भी है.

खैर बात लंबी हो गई, इसलिए सीधे मुद्दे पर आते हुए कहानी को आगे बढ़ाता हूं अब. भाड़ में जाओ तुम तुम्हारी मैगी के साथ!मेरे पति ने इसका कोई जवाब नहीं दिया. नंदिनी का एक बेस्ट फ्रेंड मोहित था, जिसको वो मन ही मन प्यार करता था.

अब मेरा लंड बैग के पीछे था और भाभी का हाथ बैग के नीचे से आया हुआ था. मुझे आज अपनी बीवी बनाकर चोदो मेरे राजा!मैं जोश में आ गया और लन्ड को तुरंत चौथे गियर में डाल दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा।फिर मैं बोला- भाभी जी, आपका राज आज आपको कली से फूल बना देगा!वो बोली- भाभी नहीं, अफसाना बोलो। आज से तुम मेरे शौहर हो, मैं तुम्हारी रखैल हूं. तो मैम ने उससे पूछा कि आज तुम अकेले कैसे! बाकी के दोनों लड़के कहां हैं?अभिषेक ने जवाब दिया कि वो दोनों नहीं पढ़ेंगे.

भाभी- फिर दो बजे हम लोगों ने लंच किया और चारों लोग नंगे होकर बेड पर एक दूसरे के अंगों से खेलते हुए आराम करने लगे.

मैंने अपने हाथों को उसकी छाती पर रखा और तेजी से उसके लंड को लेने लगी. जल्दी ही चुदाई की आग भड़क उठी और मैंने फिर से एक बार उसकी चूत में लंड पेल दिया. रवि ने रात को सेक्स के दौरान आदतन फिर अनिल का जिक्र किया- अबकी बार जब अनिल आयेगा तो हम दोनों तुमको नहीं छोड़ेंगे और तुम्हारी चूत में हम दोनों एक साथ आएंगे.

फिर थोड़ी देर में हम अलग हुए तो मैं उठा और अपने सारे कपड़े निकाल दिए और चाची के भी कपड़े निकालने लगा. वो छटपटाने लगी लेकिन मैंने उसपर कोई दया नहीं दिखाई और दो तीन तेज शॉट लगा कर उस रुकावट को फाड़ दिया. फिर उन्होंने मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह अपने मुँह में ले लिया और बड़ी बेरहमी से घुप्प-घुप्प की आवाजों के साथ चूसने लगीं.

कुछ ही देर में अयान के हाथों का ये दबाव मुझे ऐसे लगने लगा था कि मेरी पैंटी के अन्दर एक अजीब सी हलचल महसूस होने लगी थी.

मेरी पिछली सेक्स कहानीबहू के तन की प्यास का इलाजके लिए आप लोगों ने मुझे बहुत ही खूबसूरत-खूबसूरत मेल किए, जिसके लिए मैं आप सभी को धन्यवाद करता हूं. मैं समझ गया कि अब रोहिणी मेरे लिए एक परमानेंट छेद के रूप में फिट हो गई है.

मल्लिका शेरावत का बीएफ सोने से पहले शॉवर लेने की आदत के चलते मैंने अपने रूम में आते ही नहाने का सोचा. वो हम दोनों को अठखेलियां करते हुए देख कर अपनी नज़रें बार बार चुरा लेती थी.

मल्लिका शेरावत का बीएफ नमस्ते दोस्तो, मैं रूपा एक बार फिर से अपनी सहेली के ब्वॉयफ्रेंड से अपनी स्कूल सेक्स की हिंदी कहानी में आपका स्वागत करती हूँ. जितना लिंग अभी तक मेरी योनि में घुस चुका था, उससे अधिक लिंग को वो नहीं डाल रही थी.

फिर अगले दिन सुबह तैयार होकर मैंने शायरा के घर का दरवाजा खटखटा दिया.

bff तस्वीर

मुझे सामान्य कॉलेज में तो दाखिला‌ मिल‌ रहा था, मगर कम अंक‌ होने के कारण जिस कॉलेज में मेरे भैया चाहते थे, उसमें दाखिला नहीं मिल रहा था. पर मैंने उसकी योनि को चाटना जारी रखा और साथ में अब अपनी हाथ की दो उंगलियों से मैथुन भी शुरू कर दिया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:कोविड वार्ड में चुत चुदाई का मजा- 4.

आप बस इतना समझ लीजिए कि ये नाइटी बस नाम के लिए एक कपड़ा था, जो मेरे बदन पर था. प्रियंका उठते हुए फिर से अनामिका की छत्तीस इंच की गांड को मसलते हुए बोली- चल इसको रेडी करना है … छेद की ऑइलिंग कर ले … वरना तेरा हाल भी सुरभि मैम जैसा हो जाएगा. मैं उन दोनों की बातें सुनकर सोचने लगी छुटकी कि बाप रे, ये चाची तो महाचुदक्कड़ निकली.

उनको होंठ अभी भी मेरे होंठों से हटे नहीं थे और मैं उनके साथ बेड की ओर धकी चली जा रही थी.

मैंने बिन्नी को बांहों में भरकर दुबारा प्यार किया और उससे पूछा- फिर कब आओगी?बिन्नी- जब आप कहोगे तभी आ जाऊंगी, आप मुझे फोन कर देना. वो मुँह बनाती हुई बोली- पता नहीं क्या कह रहे हो … मुझे तो बस स्कूटी चलाना सीखना है. इस मौसम में ट्रेन का टिकट तो मिलने से तो रहा, तो मैंने लखनऊ से सीधे शिमला वाली बस का टिकट बुक कर लिया.

मुझे भी उनका इस तरह से मेरे जिस्म के लिए पागल होना बहुत पसंद आ रहा था. मुझे भी राहुल ने ये नहीं बताया था कि वो अब किसी और को पटा रहा है।मीनू की बात मैं सुनता रहा और फिर उसने मेरे कंधे पर सिर रखकर रोना शुरू कर दिया. तो दोस्तो, एक बार विजिट करें और देसी नंगी लड़की की फोटोज का आनंद लें.

मगर शायरा को सांत्वना देने के लिए उसके होंठों को मैंने फिर से चूसना शुरू कर दिया, साथ ही एक हाथ से उसके मम्मों को भी दबाने लगा. दूसरी बार जब वो मिली तो बोली- इस वीकेंड में तुम क्या कर रहे हो!मैंने बोला- कुछ नहीं.

मेरा लण्ड बिन्नी की जवान चूत से निकले रस को अपने अंदर सोखने लगा और बिन्नी की चूत मेरे लण्ड से निकले वीर्य को अपनी दीवारों में सोखने लगी. पिंकी बेचैन हो गयी, उसने दोनों से अपने हाथ छुड़ाये और बोली- चुपचाप मूवी देखो … वर्ना मैं उठ जाऊँगी. मेरे होंठों को चूसने के बाद वो मेरी गर्दन पर टूटे और उसको चूमने लगे.

मेरे निप्पल तन चुके थे और डॉक्टर अपनी जीभ से मेरे निप्पल को चाटे जा रहा था.

वो हल्की सी चीखी और बोली- जरा धीरे कीजिये ना!मैंने उसकी बात को अनसुना करते हुए उसे बेड पर सीधा लिटाया और अगले ही पल उसकी पैंटी को उसके बदन से अलग कर दिया. इस पर प्रियंका बोली- इसके आम जैसे हैं … उठे हुए निप्पल्स भी कड़क रहते हैं … अनामिका, क्या तुम जीजू को अभी अपने आम दिखा सकती हो!अनामिका- अरे जीजू अब तो आप आओगे … तब पूरे दर्शन कर लेना. कई मिनट तक गांड की दरार में रगड़ने के बाद उसने अचानक से उस डिल्डो को अपनी चूत में ले लिया.

हॉट सेक्स विथ फ्रेंड्स वाइफ में पढ़ें कि मेरे पति के जवान दोस्त ने मुझे खूब चूसा. अब मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजना हो रही थी क्योंकि मैं हर तरफ से व्यस्त हो गया था.

रवि को भी समझ आ रहा था कि अगर अब उसने एक कदम भी आगे बढ़ाया, अगर उसने पिंकी की चूत को छेड़ा या पिंकी को और कैसे भी गर्म किया, तो पिंकी खुद ही दोनों के लंड पकड़ लेगी. फिर अपनी चुदास को लिये वो मेरी नजरों में देखकर चुदाई की भीख मांगती थी. उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर दबा दी और आह उफ्फ करके मेरे मुँह पर झड़ गयी.

चंदा की चुदाई

फिर प्रियंका के साथ जाकर और अनामिका और सुरभि को भी ले आना दीवान उठाने के लिए.

मैंने पहले ही जानबूझकर ऐसी बातें करके उसको खुल कर बात करने पर मज़बूर कर दिया था इसलिए उसकी सारी झिझक निकल गयी थी और वो अब आराम से बात कर रही थी. मैंने कहा- अभी तो कुछ किया ही नहीं और आप अभी तृप्त हो गईं!भाभी बोलीं- कर लो यार जो करना है … मुझमें तो अब जान बची नहीं है. क्योंकि उसमें ऊपर जाने के लिए सीढ़ियां घर के अन्दर से नहीं थीं, बल्कि बाहर से बनवाई हुई थीं … बिल्कुल फ्लैट के जैसे.

उनसे हमारे घर के पीछे दायीं और उनका प्लाट है जहां एक कमरा बना है और आगे की जगह खाली है तो वो वहां भैंस बांधने आती और दोपहर को घर ले जाती हैं तो कभी कभी मेरी मां से उनकी बात हो जाती।चाची का घर गांव के अन्दर है तो वो बस प्लाट में भैंस बांधने आती और फिर लेने!मेरे मन में कोई गलत ख्याल नहीं था चाची के लिए. तुम्हें नहीं लगता कि ये दोस्ती कुछ ज्यादा ही महंगी होती जा रही है?मैं- नहीं करवाना तो मना कर दो, मुझे भूख होगी तो होटल से खा लूंगा. चूत की सफाईउसने एक बार मुझसे भी इस तरह करने के लिए बोलकर देखा होता, तो मैं उसकी खातिर झट से राजी हो जाती.

शायरा का बस अब एक काम रह गया था और वो था मादक सिसकारियां लेना, मगर शर्म के कारण वो बेचारी तो वो भी ठीक से नहीं ले‌ पा रही थी. मेरे जोर जोर से धक्के देने के कारण उनकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं और वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं.

जैसे ही वीर्य से पहली पिचकारी छूटी तो उसने लंड को झट से मुंह में भर लिया और मेरे चूतड़ों को अपने मुंह की ओर दबा लिया. पिंकी भी अब ये सोचने लगी थी कि रवि के मुकाबले अनिल उसकी भावनाओं की ज्यादा क़द्र करता है. वो शायद सोच रही थी कि मैं उसे छेड़ रहा हूँ क्योंकि एक तो मैंने कल रात ही गड़बड़ कर दी थी.

मैं बस आंखें बन्द करके अपनी महिला मित्रों के साथ की गई चुदाइयों को याद कर रहा था. आप लोग तो जानते ही होंगे कि सेल्स में आने-जाने और रहने का खर्च कंपनी ही देती है और ज्यादातर लग्ज़री रिसोर्ट्स में ठहरने का मौका मिलता है. अस्मिता खुश होकर पूरे भाव से मेरे गले से लग गई और बोली- मेरे राजा तूने तो मुझे अपना दीवाना बना लिया.

फिर जैसे ही काम खत्म हुआ, तो हम दोनों आराम करने के लिया बाहर आए और हाथ मुँह धो कर बैठ गए.

घर के सब लोग चले जाते थे और मैं और चाची अकेले घर में पति पत्नी की तरह रहते थे. खैर … मैंने ऐसे ही उसे अपने मुँह में ले ले कर चूसना शुरू किया और काफी देर बाद वो हल्का हल्का खड़ा होना शुरू हो गया.

मैंने बिन्नी से पूछा- कैसा लग रहा है?बिन्नी धीरे से फुसफुसाई- अच्छा लग रहा है. वो- तो फिर थप्पड़ खाने को भी तैयार रहना!मैं- एक किस के लिए तो हज़ारों थप्पड़ खा लूंगा मैडम. पिछले भागशिमला में लंड की तलाश- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं नंगी कमरे में थी और उसी वक्त एक जवान लौंडा, जोकि वेटर था, कमरे में आ गया और उसने मुझे नंगी देख लिया.

मैं भी उसके चेहरे को देखने लगी और हमारी नजरों के बीच में मेरे तने हुए चूचे आ रहे थे. ओय् … बस चुप कर बदतमीज!”मैं- आह मम्मी … अब क्यों मारा?वो- कुछ तो शर्म कर ले!शायरा ने शर्माते हुए कहा. सनी बोला- ऐसी बात है रानी तो आज फिर से तैयार हो जाओ, आज मुझे तेरी गांड ही मारनी है.

मल्लिका शेरावत का बीएफ मैं फिर से उसकी बुर चाटने लगा और अपनी दो उंगलियां बुर में डालने लगा. हम नीचे पहुंचे तो वहां पर एक बड़ा सा गेट लगा था और उस पर ताला लगा था.

सोनाक्षी सेक्सी पिक्चर

वो- तुम दूसरों जैसे क्यों नहीं हो?मैं- दूसरों के जैसा होता, तो मैं तुम्हें इतना प्यार नहीं करता. उस दिन तो उस दिन तुमने बिना कुछ पूछे ही थप्पड़ लगा दिया, उस दिन भी मैं तो तुम्हारे अच्छे के लिए ही कर रहा था. सेक्सी इंडियन वाइफ स्टोरी में पढ़ें कि कैसे पराये मर्द के सामने अपनी बीवी को नंगी होते देख मेरी भी वासना अपने चरम पर थी.

अब अनामिका की मस्त 36 इंच की गांड, प्रियंका के आंखों के सामने हो गई थी. इसका मतलब वो समझ गया था और अब वो बहुत ज़्यादा उत्तेजना से कस कस के मेरे मम्मों को मसलने लगा था. सेक्सी वीडियो चोदा चोदी सेक्सीइस तरह विभिन्न मुद्राओं में दोनों मिलकर पत्नी का बैंड बजाने लगे थे.

लेकिन उसके हाथ अब मेरे चूतड़ों के ऊपर आने लगे और अब उसके हाथों का दबाव कुछ जोर से होने लगा.

इस तरह से मैंने अपने दोनों बूब्स उसको पिलाये और मेरी चूत पानी छोड़ती रही. मानवेन्द्र भी इशारा समझ गया और अपना चश्मा हटाते हुए भूखे शेर की तरह मेरी तरफ देखा.

वो मेरे लंड को पकड़ कर अपने होंठों मेरे लंड पर फिराने लगी और मेरे लंड को चूसने लगी. हालांकि पिंकी को खराब लगता, पर जब रवि मुँह फुलाता, तो पिंकी उसकी बात मान लेती. तो मैंने पहली बार चूत को कैसे छुआ?दोस्तो, कैसे हो सब? मैं हरियाणा (भिवानी) का जाट हूं और अन्तर्वासना साईट पर मेरी ये पहली कहानी है। आशा करता हूँ कि आप सबको यह ट्रेन में सेक्स की कहानी पसंद आएगी।यह बात तब की है जब बी.

ये सब बातें हुई तो असलम भाई मुझसे बड़े झिझकते हुए कई दिनों बाद पूछ पाए- तो क्या सलीम भाई ने आपकी भी …?वे इतना ही कह पाये थे कि मैंने बड़ी सहजता से कह दिया- हां, उन्होंने मेरी भी कई बार मारी.

कुछ देर बाद मैं हो गया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी क्लिट को अपने मुँह में भर कर खींचने लगा. वैसे शायरा की हंसी तो बता रही थी कि मेरे उस लैटर ने अपना काम‌ कर दिया था. उसकी मादक आह निकलने लगी और वो मेरा सर दबा कर अपने दूध चुसवाने का मजा लेने लगी.

एक्सएक्सएक्स नेपालीमैं चाह कर भी उन्हें नहीं बता पाया कि मैं उनसे बम्बई जाकर शाबासी ले आया हूं. मैं मामी की गाँव में चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से अगले भाग में लिखूंगा.

दादा की शायरी

मैंने उससे कहा- अच्छा अब जाओ … तुम्हारा ज्यादा लेट होना सही नहीं होगा. वो जैसे जैसे मेरे चुत पर अपनी उंगली घुमाता गया, वैसे वैसे मैं उसके लंड को अपने मुँह के अन्दर बाहर करने लगी. कमली अपनी बेटी से बोली- जा बेटी, अन्दर चली जा और सेठ को अपनी चुत दिखला दे.

नील- प्लीज सिमरन … बस एक बार मेरी मदद करो, मैं इसके लिए हमेशा तुम्हारा आभारी रहूंगी. इसी तरह का खेल खेलते हुए कब मेरी भी आंख लग गयी … मुझे नहीं मालूम चला. मैं अम्मी बनना चाहती हूं।थोड़ी देर बाद वो किचन में गई और दूध लेकर आई.

वो अलग हटने लगी, तो मैंने उसके हाथ पकड़ कर लंड पर रखा और हिलाने का इशारा किया. तो उस समय फिल्म में पति तो केवल शॉर्ट्स में ही बाहर चला गया और गेट खोल कर दोस्त को सिटिंग रूम में बिठा आया. नैना भी काफी शॉक्ड लग रही थी, उसने अपने आपको संभालते हुए मेरी तरफ देखा.

उसमें नायलॉन की रस्सी थी, डॉटेड कॉन्डम थे, चिकनाहट की क्रीम, मोमबत्ती और एक छड़ी भी थी. किसी अनजान लड़के से दोस्ती करना क्या जरूरी था!मासी उदास होकर बोलीं- मैं तुझसे सब सच बता देना चाहती हूँ.

अब जब भी वो हाथ नीचे करता तो मेरी जांघ पर ही रख देता और सहलाने लगा.

शायद वो काफी देर से उस दुकान में खड़ी हुई थी और उसने मेरी सभी बातें सुन ली थीं. वीडियो सेक्सी भेजनाचूंकि ये मेरे लिए नया खेल था, तो मैंने कहा- वो कैसे … मुझे क्या करना पड़ेगा?वो बोलीं- अभी तुम केवल मेरा साथ दो, फिर जब सीख जाओगे तो अपने आप मुझे चोदने लगोगे. एक्स एक्स एक्स सेक्सी ब्लू पिक्चरपता नहीं क्या हो गया था मुझे … जो हर तरफ शायरा ही शायरा नजर आ रही थी. लेकिन उससे दर्द के चलते हो ही नहीं रहा था और उससे पहली बार की चुदाई होने के कारण भी नहीं हो रहा था.

नीचे खड़ी औरतें हम सबके जिस्मों पर शराब फेंक कर हमारा उत्साह बढ़ा रही थीं.

मैं काफी निराश होकर कमरे के गेट पर खड़ी थी और सोच रही थी कि आज आखिरी रात थी यहां … लेकिन लंड का कुछ इंतजाम नहीं हो पा रहा है. मैं भी समझ चुका था कि भाभी को क्या चाहिए … मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया. तभी अन्नू और डॉली मेरे आस पास आकर, खड़ी होकर मुझे देखने लगीं और मेरी नज़र उनसे मिली तो पहले अन्नू ने मेरे मुंह में पेग का सिप दिया और फिर किस किया.

अस्मिता बोली- वाह यार अमित … तुमने तो मेरी टेंशन एक सेकंड में ही हल कर दी. मैं तुम्हें इमोशनली और फिजिकली प्यार तो दूंगा ही … लेकिन उम्मीद मत करना कि अमित सिर्फ तुम्हारा रहेगा. उसने एक उंगली अपने मुँह में डाली और उसे पूरा थूक में भिगो कर उसे मेरी गांड में डाल दिया.

भजपुरीविडियो 2020

इसलिए जैसे ही मेरे लंड का टोपा उसकी धधकती हुयी चूत के अन्दर गया, तो सायरा ‘आह … मर गई. मैं तो पहले से ही उस पर फ़िदा था, मगर बहन होने के कारण मैंने कभी हिम्मत नहीं की थी. उसने अभी भी कुछ नहीं कहा, इससे मेरी हिम्मत बढ़ने लगी और मैं और जोर से उसके दूध दबाने लगा.

भाभी और मैं हम दोनों बड़ी बेताबी से एक दूसरे के होंठों को मस्ती और पूरी शिद्दत से चूसे जा रहे थे.

उसके बाद हम लिपट कर बातें करने लगे और कुछ देर बाद फिर से किस करने लगे.

मौसी अपनी गांड की चुदाई से खुश होकर बोली- आज मालूम पड़ा कि पीछे से करवाने में उतना ही मजा है, जितना आगे करवाने में. पहली बार में ज्यादा मजा नहीं आया क्योंकि सबका मूड था एक जल्दी वाला राउंड हो जाए, फिर दूसरी बार आराम से करेंगे. देसी सेक्स दिखाएंउसने एक 34 बी साइज़ की टीनेजर वाइट कलर की ब्रा की फोटो भेजी और उसका फिगर लिख कर बताया कि 34b-30-36 का है.

इसके बाद मैं सीढ़ी से उतर कर अपने रूम में नंगी ही आ गई और सटासट दो उंगली डाल कर अपनी चूत ठंडी की और नंगी ही सो गई. वहां अनामिका प्रियंका के पीछे भागने लगी … और आखिरकार उसने प्रियंक को पकड़ कर नीचे जमीन में ही गिरा दिया. वो मेरी इस बात पर बेहद खुश हुई और बोली- हां यार, मैं यही सोच सोच कर डर रही थी कि कहीं कोई लफड़ा न हो जाए.

रवि ने पोर्न मूवी देख और दिखा कर पिंकी को अपनी चूत चटवाने का शौक लगा दिया था. नमस्कार दोस्तो,मैं आपकी कोमल फिर से आपके सामने अपनी एक जवान लड़की की चाहत की कहानी के साथ हाजिर हूँ।मेरी सभी कहानियों को आप सभी इतना पसंद करते हैं उसके लिए आप सभी पाठकों का धन्यवाद।आप सभी के मेल मुझे मिलते हैं मगर माफ करिये हजारों की सँख्या में मेल आते हैं इसलिए सबको जबाब दे पाना मुश्किल है।मेरी पिछली कहानी थी:मेरी कमसिन दोस्तदोस्तो, आज की कहानी मेरे एक पुराने पाठक ने भेजी है.

’न्यासा की सेक्सी आवाजें निकलने लगीं और उसने अपने हाथ से सन्नी का लंड पकड़ लिया.

उन्होंने राजू चाचा का लंड मुँह में अन्दर तक भर कर चूसना शुरू कर दिया. वो भी पूरा मेरे बदन के नशे में खोया हुआ, मेरे निप्पल को चूसने का मजा ले रहा था. उन तीनों के लिए ये ऐसे था जैसे वो बहुत दिनों की भूखी हों और उनके लिए खाना बंट रहा हो.

ત્રીપલ એક્સ સેક્સી વિડીયો मैं ये नहीं कह रही हूँ कि तू भी अपने ब्वॉयफ्रेंड से ब्रेकअप कर ले … शायद तुम लोग ज्यादा क्लोज हो. अस्मिता मेरे गले से लगकर कर रोने लगी और बोली- मेरी किस्मत में तुम्हारा प्यार हमेशा हमेशा के लिए क्यों नहीं हो सकता?मैंने कहा- ज्यादा जज्बाती मत बनो.

मेरे जोर जोर से धक्के देने के कारण उनकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं और वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं. मैं पूरे कपड़े पहन कर बाहर निकला और देखा कि सब सामान अन्दर चला गया है. मैं- पर ज़िंदगी जब खुद कहे कि तुम्हें एक और चांस और दे रही हूँ ‘जी लो.

सेक्सी एडल्ट फिल्म

अब आगे की इंडियन देसी गर्ल गांड कहानी:अब मेरी चाचा जी से सारी शर्म खुल गयी थी. फिर 69 के पोज में आकर बुआ की चूत और गांड के छेद को खूब चाटने में लग गया. ऑफिस सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे बॉयफ्रेंड को उसका बॉस प्रोमोशन नहीं दे रहा था.

मैंने उसके बालों को खींचा और कहा- अब तुम्हारी मालकिन को तुम्हारी जरूरत है. शायरा का दर्द कम करने के लिए मैंने अपने होंठ उसके होंठों से जोड़ दिए और उन्हें हौले हौले प्यार से चूसने लगा, ताकि शायरा दर्द को भूल कर किस पर फोकस करे … और उसका दर्द कुछ कम हो ज़ाए.

उसके बाद हमें जब भी मौका मिलता हम छुप छुप कर पोर्न मूवी देखा करते थे.

अब आगे लवर हॉट सेक्स स्टोरी:मेरे हाथों ने पूजा के मम्मों को नापा, तो मुझे अहसास हो गया कि उसके मम्मे तीस इंच के थे. मैं अब उसके आगे की एक नयी सेक्स कहानी लिख रहा हूँ, उम्मीद है कि ये सेक्स कहानी भी आपको‌ पसन्द आएगी. मैंने कहा- अरे यार, मैं भी उसी जगह में हूँ, तुम किससे हो … मतलब किसी गाड़ी से हो?वो बोला- हां मैं ऑडी-ए3 कार से हूँ.

माफ़ी चाहूंगा मेरी एक सरकारी ऑफिस में 2017 से जॉब लग जाने के बाद मैं काफी बिजी हो गया था. मगर एक झलक भर देखने के बाद वो घूम गया और मैंने फिर हड़बड़ी में अपने जिस्म को ढकने का नाटक किया. आपको ये सेक्स विथ कॉलेज गर्लफ्रेंड कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपनी राय जरूर नीचे कमेंट्स बॉक्स में छोड़ें.

शायरा के साथ चुदाई करते हुए मुझे कोई जल्दी नहीं थी … इसलिए मैं अब धीरे धीरे ही अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा … और लगभग दो तीन मिनट तक ऐसे ही आराम आराम से लंड को हिलाता रहा.

मल्लिका शेरावत का बीएफ: वो चाय बनाने लगीं, तो मैं भी किचन में आ गया और फिर से न्यूड भाभी को पीछे से पकड़ लिया. मैंने बिन्नी से कहा- बाथरूम जा कर अपने हाथ धो कर आओ, रोहन ने इन्हें गंदा किया हुआ है.

वो बोलीं- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं बोला- नहीं, मैं ऐसे ही ठीक हूँ. उसकी इस बात से मानो केएलपीडी हो गई मतलब ‘खड़े लंड पर धोखा …’ हो गया था. आज असलम भाई ने बताया कि मैं उनसे मिलता जुलता हूं, तो जानकर ख़ुशी हुई.

उस लैटर को वहीं दो बार पढ़ने‌ के बाद शायरा उस गुलाब व लैटर को‌ लेकर अब अन्दर चली गयी और अन्दर से दरवाजा बन्द कर लिया.

मैं ये सुनकर निहाल हो गया कि मेरी संस्कारी बीवी अपने यार की फ़रमाइश पर अपनी चूत की झाँटें बढ़ाती रही लेकिन मुझे बताया भी नहीं!चूँकि मैंने एक सप्ताह से उसे चोदा ही नहीं था तो उसका ये राज़ मेरे लिए राज़ ही रहा।मैं इधर अपने खयालों में खोया था और उधर पंकज ने सुमन की चूचियाँ चूसकर निप्पल लाल कर दिए थे. उसने मेरी रजामंदी समझ ली और मुझे चादर उढ़ा कर वो मेरी चुचियों से मस्ती से खेलने लगा. कहते हुए मैं उसके चेहरे के एकदम पास आ गयी और उसकी आंखों में आंखें डालकर देखने लगी.