लोकल बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,करीना कपूरxxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू हिंदी फिल्म: लोकल बीएफ वीडियो, नहीं तो मेरा बाप मुझे मार ही डालेगा।नहीं बताऊँगा।” मनीष बोला।चलो बला टली.

पोर्न स्टोरी हिंदी में

ये काम लगातार चलता रहा सुबह के 4 बजे तक मेरी गांड को गड्डा बनाने का कार्यक्रम चलता रहा. ssb का फुल फॉर्मफिर दूसरे दिन आंटी ने मुझे फोन करके कहा कि उनकी दो सहेलियां हैं … जिनके भी बच्चे नहीं हो रहे हैं.

मैंने बोला- अपने कमरे में जा कर पैड लगा लेना और ये पेन किलर खा लेना. रोमांटिक वीडियो डाउनलोड करेंमैं उसके ऊपर वाले होंठ को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था। एक हाथ से मैं उसकी चूचियों को उसके सूट के ऊपर से ही दबा रहा था।लगभग 5 मिनट तक उसके होंठों को मैं चूसता रहा। उसके होंठों को चूसने के कारण उसके होंठ इतने लाल हो चुके थे कि लगने लगा अब इनमें से खून ही निकल आयेगा.

क्योंकि मेरी मां की चूचियां और उनकी चौड़ी-चकरी गांड को देखकर अच्छे अच्छे मर्दों का लंड खड़ा हो जाता है.लोकल बीएफ वीडियो: मेरी बीवी मुझे चूत नहीं देती है, इसलिए मैं तेरे जैसी रंडी के पास जाता हूं चुदाई का मजा लेने।फिर उसने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरी टांगों को चौड़ी करके मेरी चूत में लंड घुसा दिया.

फिर मैंने भी ज्यादा जोर नहीं डाला क्योंकि छत पर रिस्क भी था और पहली चुदाई में मैं जबरदस्ती नहीं करना चाह रहा था.कभी मेरे कंधों पर तो कभी मेरी छाती पर किस करके वो मुझे तड़पा रही थी.

जंगल में रेप - लोकल बीएफ वीडियो

मैंने एक हाथ से नीचे ही नीचे उसकी जीन्स का बटन खोल दिया और उसकी पैंट में हाथ देकर उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत पर फिराने लगा.मैंने कहा- नहीं, प्लीज … रिकार्डींग नहीं, आप जैसा बोलोगे मैं करूंगी मगर रिकॉरडिंग मत कीजिए प्लीज.

अगली बार आपको सोना के ब्वॉयफ्रेंड सनी के लंड से अल्पना की सैटिंग कराने की डर्टी सेक्स गर्लफ्रेंड स्टोरी लिखूँगी. लोकल बीएफ वीडियो अब उन दोनों में से एक ने लंड निकाला और मां के पैरों को फैलाकर उनकी बुर में लंड पेल दिया.

पूरन, विश्वजीत, मनोहर और दो वर्जिन लड़के रोहन और सनी, ये पाँचों अब मेरी चूत में अपना-अपना लंड डालने को तैयार थे। पाँचों मेरी चूत चुदाई कैसे और किन पोजीशन में करते है- मेरे ग्रुप सेक्स स्टोरी का मज़ा लें।मेरी कहानी के पिछले भागदुनिया ने रंडी बना दिया- 5में आपने पढ़ा कि मैं रोहन और सनी को समझा रही थी कि चूत में लंड डालने पर चुदाई होती है.

लोकल बीएफ वीडियो?

उधर दीदी ने रवि के लंड के सुपारे को अपने मुँह में ले लिया और जोर-जोर से अंडकोष दबाने लगीं. मैंने अपनी बीवी के चूत को सहलाना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने देखा कि चाचा मेरी मां के गालों को प्यार से सहलाते हुए रंग लगा रहे थे जैसे कि मां उनकी बीवी हो.

असल में तवायफ मर्द या औरत, अमीर या गरीब, गंवार या पढ़ा लिखा, कोई भी हो सकता है. जब उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने कहा- अभी रख दें, मैं बाद में ले लूंगी. बाल साफ हो जायेंगे।मगर उस समय तक मेरी चूत में उतने बाल नहीं उगे थे कि कभी साफ करने की जरूरत होती। बस हल्के हल्के भूरे रोम ही उगे हुए थे। मैंने उससे कहा कि आज पहली बार में ही तो ये सब नहीं होगा न? आज तो बस बातें होंगी।रूपा बोली- पगली अगर वो चोदने के लिए बोले तो चुदवा लेना.

सहलाते हुए वो सिसकार कर बोले- आह्ह सोनम … तुम कितनी मस्त हो यार! तुम हमेशा ही ऐसे ही मेरा साथ दोगी न?मैंने भी सिसकार कर कहा- आहह हां … अंकल … बस्स … आप किसी को इस बात के बारे में पता मत चलने देना. मैं नाइटी पहने हुए ट्रायल रूम से बाहर आई और दुकान में लगे बड़े से मिरर में फिटिंग देखने लगी।तभी दुकानदार ने मुझसे बोला- बहुत सेक्सी लग रही है यह नाईटी आप पर!जवाब में मैं भी मुस्कुराने लगी।अब दुकानदार ने मुझसे उस नाईटी को पैक करने के लिए पूछा. अब मेरे हाथ मामी के ब्लाउज पर पहुंच गये जिसमें उनके रसदार, शानदार, यौवन से भरपूर स्तन दबे हुए थे.

उसने मेरी सलवार का नाड़ा खींच कर खोल दिया और फिर मेरी सलवार को मेरे चूतड़ों से खींचते हुए नीचे करके मेरी टांगों से खींच कर निकाल दिया. दोस्तो, मैं ये सब अपनी मां के मुँह से सुनकर गरम हो गया और मेरा भी लंड खड़ा हो गया.

हर एक झटके के साथ भाबी मचलने लगीं- आह … और ज़ोर से … और तेज पेलो … फाड़ दो इस चुत को … आह साली का भोसड़ा बना दो … मैं तुम्हारे लंड की दीवानी हो गयी.

इस पर उन्होंने कहा- मुझे घर की सफाई भी करने पड़ेगी … नहीं तो तेरे अंकल को शक हो जाएगा.

मैंने अपने इस शो के लिए खास प्रकार का एक रूम तैयार किया था, जो बहुत बड़ा है. तीसरे दिन अचानक उनके पति मेरे कमरे में आए और मुझसे बोले- यह सब कुछ सही नहीं हो रहा मानव. फिर रविन्द्रनाथ ने अपना काला मोटा लंड निकाला और मां को घोड़ी बना कर उनकी गांड के छेद पर घिसना शुरू कर दिया.

मैं उनके घर चला गया क्योंकि रिश्तेदारी की बात थी और मैं मना नहीं कर सकता था. मैं में घर था मगर मम्मी सामने थीं तो मैं घर पर भाभी से बात नहीं कर पाया. बोले- कुछ हुआ क्या?मैं बोली- नहीं, आगे बढ़ो।उसने दूसरा धक्का दिया और बोले- कुछ हुआ?चाचू का लंड अंदर नहीं जा रहा था.

उसे दर्द हुआ … मगर वो नशे में होने के कारण थोड़ी ही चीखी फिर मस्त चुदाई स्टार्ट हो गयी.

साथ ही वो दोनों हाथों से मेरे चूचे दबा रहा था। मेरे होंठों से हट कर उसने मेरी गर्दन चूमना शुरू कर दिया और अपने दोनों हाथ मेरे टॉप के अंदर घुसाकर मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे चूचे दबाने लगा।मैंने भी उसकी शर्ट के बटन खोलने चालू किये और उसकी नंगी छाती पर हाथ फिराने लगी।तभी अचानक वो उठा और अपनी पैंट उतारने लगा. मैंने बेड के बाहर मुंडी निकाल कर देखा तो वो मेरी तरफ पीठ करके खड़ी थी और अपनी शर्ट खोल रही थी. वो मेरे से बोली- क्या ये सब होता है?मैंने बोला- हां … और इसको करने में बड़ा मजा आता है.

कि तभी उन्होंने मेरी पैन्टी उतार दी।मैंने शर्म के मारे अपनी आँखें बन्द कर ली।मेरे पतिदेव मेरे ऊपर चढ़ गये और मेरे दोनों चूचियों को बारी-बारी से चूसने लगे।कुछ देर बाद मुझे कुछ बहुत ही गर्म चीज चूत के मुहाने पर महसूस हुयी।शायद उनका लंड था।शायद क्या … उनका लंड ही था जिसको मेरे पतिदेव मेरी चूत पर रगड़ रहे थे. मेरे मुँह को फिर एक दूसरी तरह के माउथ गैग से बांधा जिसमें बॉल की जगह लंड लगा हुआ था. तभी कोरोना वायरस के चलते जनता कर्फ्यू हो गया और घर में हम भाई-बहन अकेले रह गये.

फिर शमशेर ने मेरी बेटी की टांगों के बीचे में आते हुए उसकी चूत पर अपना मोटा लंड सैट किया और बिना किसी रुकावट के उसे एकदम से एक जोर से घक्का दे दिया.

उसने 2-3 डिज़ाइन सेलेक्ट कर लिए और कहा कि मेरा आना पॉसिबल नहीं होगा, आप मुझे मेरे घर पर ये दे सकते हो?तो मैंने उससे हां कह दिया. लेकिन अब से एक बात समझ लो कि अपनी बुर उसे ही दो, जिससे कुछ फायदा हो.

लोकल बीएफ वीडियो चुदाई करवाते हुए मेरी बीवी हमेशा ही अपनी आंखें बंद रखती थी और बड़े ही मजे से चुदवाया करती थी. वो बोली- क्या बात है, आज तो आप बड़ी जल्दी आ गये?मैंने बिना कुछ बोले उसको वॉश बेसिन पर झुकाया और उसकी गीली गांड में लंड पेल दिया और उसे चोदने लगा.

लोकल बीएफ वीडियो अब मैं दीदी की चुत को याद करके और उनके मम्मों के बारे सोच कर एक बार मुठ मार ली. मामी के मुंह से दर्द भरी कराहटें निकल रही थीं लेकिन उनको मजा भी पूरा आ रहा था जो उनके चेहरे पर साफ दिख रहा था.

उन्होंने मेरी ओर देख कर स्माइल की और मैंने भी स्माइल में ही उत्तर दिया.

हिंदी मूव्ही सेक्सी

मैं झट से उधर से घूमा और अपने कमरे के बाथरूम में जाकर मुठ मारकर बाहर आ गया और बेड के नीचे ही सो गया. अम्मी की बात सुनकर मैं रिलेक्स हुआ और पूछा- अम्मी किस लिए?तो उन्होंने कहा कि मुझे उनसे कुछ काम है. वो बोली- जब मजा ही नहीं आएगा … तो क्या कहना बाकी रह जाएगा!मैंने कहा- एक बार मौका तो दो यार.

उसने मेरे पैरों से गमछे को घुटनों के ऊपर चूत तक सरकाया और ऊपर से मेरी चूत तक सरकाया. जब उसका दर्द कम होता गया तो वो भी मेरा साथ देते हुए अपनी गांड को हिलाने लगी थी. मुझे अपने अन्दर से डर भी लग रहा था और खुशी भी कि मुझे मोटा लंड मिला है.

मैं सामने झुक कर खाना डालने लगी तो देखा कि उनकी नजर मेरी चूचियों की घाटी में झांक रही थी.

मां भी किसी भी समय अपनी गांड के छेद में लंड डलवाने से नहीं चूकती थीं. कुछ देर किचन में चोदने के बाद मैं उसको हॉल में बेड की ओर खींच ले गया. और एक औरत करे तो समाज उसे रंडी कहकर बुलाता है?ऐसा क्यों???यह समाज का दोगलापन कब तक सहन करेगी हम औरतें?क्या कभी किसी सेक्सी औरत के पति ने उसकी पत्नी के दिल की बात जानने की कोशिश की है कि उसकी क्या ख्वाहिश है?खैर मैं अपनी भाभी की जवानी की कहानी पर आती हूँ.

मैं सोच रही थी कि आज यदि भाई मेरी चुत में लंड पेलेंगे, तो मैं लंड अन्दर ले ही लूंगी. गर्म होते होते मामी जी भी मेरे होंठों को अपने दांतों से काटने लग गई। मैं आज दिल खोलकर मामी जी के रसीले होंठों को चूस रहा था। मुझे मामी जी के रसीले होंठों को चूसना बहुत पसंद था और बहुत ही मजा आ रहा था. तभी मेरी कार के आने की आवाज़ सुनाई दी और मेरा ड्राइवर कार लेकर गेट के अन्दर आ गया.

एक तो मेरा लंड काफी मोटा था और जिया मेम की गांड का छेद काफी छोटा था. मैंने उसे करते करते उसके कपड़े उतार दिए और उसको पूरी तरह नंगी कर दिया.

सनी- मेरी जान सॉरी बोला न … नेक्स्ट टाइम तुम्हारी चाय और तुम्हारे बूब्स दोनों पियूंगा. मगर सच तो यही था कि वो मेरी चाची थी और मेरे सामने मेरी चाची की चूत खुली पड़ी थी. फिर नवाब ने मुझे भी दुल्हन बनने के लिए कहा और बोला कि आज तेरी भी सुहागरात मनेगी.

मगर सबसे ज़्यादा मुझे देवर-भाभी की सेक्स कहानी और पड़ोसी के साथ सेक्स वाली कहानी पसंद आती हैं.

सुनीता भाभी की चुत में मेरा लंड एक कॉर्क के ढक्कन की तरह कस गया था. तब तक अल्पना ने बियर की दो कैन खोल कर एक मुझे दे दी और एक खुद अपने होंठों से लगा कर बियर का मजा लेने लगी. इसी बीच एक दिन उनका देवर फिर से आया और मैंने कुछ देर बाद सुना कि आंटी ने अपने देवर से झगड़ा कर लिया था.

फिर मैंने ऐश्वर्या को घुमा दिया और पीछे से आकर उनकी सेक्सी लाल रंग की ब्रा की हुक खोल दिया. उसकी पीले रंग की नयी कमीज में से उसकी जालीदार लाल ब्रा भी दिख रही थी.

बिना समय बरबाद दिये उसने मेरे दोनों स्तन पकड़ लिए और मेरे मम्मों को जोर जोर से मसलने लगा. इससे पहले कि मैं कुछ कर पाता, चाची ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया. उनके दूधिया मक्खन से मुलायम मम्मे मेरे लंड के तनाव को निरंतर बढ़ा रहे थे.

चाची ने भतीजे

मैं उन्हें बेड पर ले गया और उनकी टांगों को फैला कर गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

दूसरी औरत ने नोट को अपने ब्लाउज में खौंसा और बोली- मालकिन आपका जंवाई हीरा है हीरा … इनका आप जरा स्पेशल ख्याल रखिएगा. मैं नजमी की हरकतों को देखना चाह रहा थथोड़ी देर रुकने के बाद मैं चुपके से फिर उतरा. कोई दो मिनट के दर्द के बाद उसको भी मजा आने लगा और वो खुल कर अपनी गांड मरवाने लगी.

तभी मैंने एकदम से उनको पलट दिया। अब मामी जी की भारीभरकम गांड मेरे सामने पड़ी थी और मेरा लन्ड मामी जी की गांड पर निशाना लगाए बैठा था।गजब नज़ारा था यारो, जो मामी थोड़ी दर पहले चूत देने के लिए तैयार नहीं हो रही थी, अब वो मेरे नीचे थी और मैं उस पर चढ़ा हुआ था. अब मैं दीदी की चुत को याद करके और उनके मम्मों के बारे सोच कर एक बार मुठ मार ली. एसएक्सएक्सएक्सयोगेश जी को भी पता चल गया और उन्होंने हंसते हुए मुझे कार के लिए बधाई दी.

मां बोली- फिर आ गये तुम?इतने में ही मैंने मां की गांड में लंड लगा दिया और घुसाने की कोशिश करने लगा. उधर मैं शांत मन से दीदी से मिली और उन्हें बताया कि मैं कुछ दिन आपके घर पर ही रहने आ गई हूँ.

मैं- तुम अब रहने दो … इसलिए तो तुमने इतने दिनों से मेरे बूब्स से हाथ भी नहीं लगाया. मेरी कुँवारी चूत प्यासी ही थी।आखिरकार फिर वो दो दिन काटने भी मुझे भारी लगने लगे थे. लंड घुसते ही ऐश्वर्या के मुँह से तेज आवाज़ निकल गई और ससुर अपनी बहू को चोदने लगे.

इधर मैं आपको बता दूं कि हमारी लाइब्रेरी में ज्यादातर समय कोई नहीं रहता है. फिर मैंने उस अफ्रीकन को इशारा किया कि वह अपना मोटा लंड मेरी बीवी की चूत में डाल दे. आधे घंटे तक मेरी गांड चोदने के बाद सर ने अपना लंड मेरे मुंह पर लगाया और सारा माल मेरे मुंह पर गिरा दिया.

फिर उसने मेरी स्कर्ट के नीचे से मेरी पैंटी भी उतार दी और अपनी उँगली से मेरी चूत सहलाने लगा और फिर उसने अपनी उँगली मेरी चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा।मैं सिसकारियाँ भरने लगी थी.

वो बोली- ये क्या है?मैंने बोला- सेक्स करने का सबसे बेहतरीन तरीका है. 100% फ्री हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे एक शादी में मुझे एक लड़की बहुत अच्छी लगी.

वो मुझे फिर से किस करने लगा और अब वो खुद भी ज़ोर-ज़ोर से मेरी चूचियों को दबा रहा था। मैं अपना हाथ मेरी चूचियों से हटा कर उसके सीने पर ले गई और उसकी शर्ट के बटन खोलने लगी।जब तक चुम्बन खत्म हुआ तो शर्ट के सारे बटन खुल चुके थे. अब जल्द ही मिलेंगे एक नई सेक्स कहानी और नए रोमांचक फैंटेसी के साथ … तब तक के लिए अलविदा. उसका फिगर 34-28-34 का बहुत ही शानदार था कि देखने वाला बस देखता ही रह जाये.

दो मिनट दबाने के बाद वो बोली- अच्छा ठीक है, मुझे काफी देर हो गयी है यहां आये हुए. मैंने अपना लंड निकाल कर मम्मी के मुँह में डाल दिया और उनके मुँह में ही झड़ गया. मेरा भाई मेरे पास आया और मेरा हाथ पकड़ कर बोला- दीदी आई लव यू!मैं उसको हैरानी से देखने लगी.

लोकल बीएफ वीडियो लंड घुसते ही ऐश्वर्या के मुँह से तेज आवाज़ निकल गई और ससुर अपनी बहू को चोदने लगे. उसने दरबान ने कहा- ये मेम साहब कैसी दिखती है?दरबान ने धीरे से कहा- अच्छी दिखती है साहब.

ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಬಿ ಎಫ್ ಸೆಕ್ಸ್

अब हैंडी कैम को बेड के कॉर्नर पर फिक्स कर दिया गया और कैम चालू कर दिया. चाची ने मुझे कई बार चूमा और मैंने भी बदले में उन्हें कई बार चूमा। चाची की चुदाई के बाद हम दोनों बहुत खुश थे. मैंने आंटी से बोला- आंटी जी मुझे आपकी गांड के छेद में अपनी पूरी जीभ डाल कर चाटना है, आपकी चूत भी चाटनी है … और बगलें भी चाटनी हैं.

फिर भाभी बोली- चलो हम चारों मिल कर एक गेम खेलते हैं, गेम के रूल मैं बता देती हूं. चूंकि एक अनजान लड़की मुझे अपने घर में रात रोकने के नजरिये से रोके हुए थी, तो मेरे मन में उसके पार्टी वासना भरती जा रही थी. सेक्सी दिल्ली कीउसके बाद उसके पेट को चूमते हुए नाभि से होकर उसकी चूत की ओर बढ़ा उसकी पैंटी को आहिस्ता से उतार दिया और चूत को नग्न कर दिया.

सोनी ने बताते हुए कहा- आपको याद होगा कि आपने एक बार मुझसे पूछा था कि मेरा मंगलसूत्र कहां गया? और मैंने आपको बताया था कि मंगलसूत्र भारी था इसलिए मैंने छोटा हार पहन लिया है.

कुछ देर तक मेरी चूत को चाटने के बाद प्रीति में मुझे ऊपर खींचा और किस करने लगी. जैसे ही पारुल ने मेन गेट खोला तो वहाँ एक करीब 25-26 साल की शादीशुदा औरत और एक 18-19 साल की कुँवारी लड़की खड़ी थी.

फिर कुछ पल बाद वो उठने को हुए, तो मैं भी उठ गई और मैंने अपनी सलवार पहन ली. पर मैं भी भरी पूरी छमिया बन चुकी थी, ये सब मेरे जिस्म के साथ हुई छेड़छाड़ के कारण हुआ था. वो मां के गाल को सहलाने लगे और बारी बारी से उनके कपड़े निकालकर मां को पूरी नंगी कर दिया.

जैसे ही ससुर ने मेरी चूत पर अपने होंठ रखे तो मेरी चूत की आग और भड़क गयी.

और उनको पता लगे कि उनके लंड के लिए मेरी चूत किस तरह से व्याकुल हो रही है. मैंने दूसरी ओर देखा तो पाया कि दूसरी ओर मेरे बड़ा भाई था जो मेरी बीवी को फ्लाइंग किस दे रहा था. मेरी बीवी के चुचों की साइज़ 32 इंच की थी, जो बहुत ही प्यारी लग रही थी.

ठाकुर की चुदाईतो दोस्तो, इस कहानी पर आपकी क्या राय है मुझे मेरी ईमेल आईडी पर रिप्लाई देकर जरूर बतायें. मैंने उसके चुचों को चूसना जारी रखा और उसकी नाभि में अपनी उंगली चला दी … इससे वो मचल उठी.

हिंदी एम एम एस वीडियो

ऑटो से पिपराईच पहुंच कर मैंने मेडिकल स्टोर से दो पैकेट कंडोम लिए … और गांव जाने वाली ऑटो में बैठ गया. फिर कुछ पल बाद वो उठने को हुए, तो मैं भी उठ गई और मैंने अपनी सलवार पहन ली. मैंने घर में मूवी लगा कर देखा तो मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन ही निकल गयी.

तभी मैंने मामी की गांड को जोर से भींच दिया और उसको अपनी बांहों में बुरी तरह से जकड़ लिया. जाह्नवी ने उसके लंड को ऊपर से सहलाते हुए कहा और गुर्जर ने उसकी चूचियों को दबा दिया. मैंने दीदी को वहीं सोफे पर लिटा लिया और उसको किस करते हुए उसे ऊपर से नंगी कर दिया.

अब फ़रज़ाना ने मेरे अंडरआर्म्स के पास अपने हाथ टिका दिए और फेस पीछे ले जाकर मेरी चुदाई स्टार्ट कर दी. हम दोनों फिर से गर्म हो गये और मैंने एक बार फिर से उसकी चूत बजा डाली. मैंने अपनी बीवी को फिर से दबोच लिया और उसके होंठों को गर्दन को चूमने और चाटने लगा.

इतना हक तो विकास का भी था मेरे जिस्म पर कि वो मेरे जिस्म के साथ छेड़खानी करके खेल सके. फिर उसने अपने लंड पर थूक लगाया और मेरी बीवी की चूत के छेद पर रख कर धीरे धीरे सहलाने लगा.

अगले दिन जब मैं लाइब्रेरी गया, तो वहां नम्रता अकेले बैठे पढ़ रही थी.

लेकिन यह क्या … अंडरवियर में हाथ डालते ही जैसे मुझे जोरदार करंट लगा. पटना का गोलघर दिखाइएमैं तो इस पशोपेश में थी कि अपने नंगे बदन का कौन सा हिस्सा कैसे छुपाऊं. कंडोम वाला सेक्सीमुझे भाभी की गांड पर जूता से निकले खून से बहुत बुरा लग रहा था मैंने हवस में बेचारी भाभी को बहुत ज्यादा टीज कर दिया था. मुसम्मियां चूसने और चूत के गीले होने की खबर लगते ही मेरा लण्ड टनटना गया.

यह तभी की बात है।फिर आपने पूछा था कि यह इसमें दिल के आकार का लॉकेट कहां से आया तो मैंने कहा था कि यह मेरे पास बहुत पहले से था.

धीरे धीरे मेरी छाती को चूम कर मेरे पेट की ओर बढ़ती हुई जिया ने मेरी नाभि को चूमा और फिर मेरे झांटों वाली जगह पर एक बहुत ही कोमल गर्म चुम्बन कर दिया. हम दोनों लडकियां बाहर निकलीं और पीछे के दरवाजे से घर के बाहर निकल गईं।आसमान में चांद की रोशनी आज कुछ ज्यादा ही तेज थी। जल्दी जल्दी चलते हुए कुछ ही समय में हम दोनों उस खण्डहर तक पहुँच गए। उस समय मैंने सलवार कमीज पहना हुआ था और दुपट्टे से अपने सर और मुँह को ढक रखा था. दीदी गरम गरम सांसें छोड़ने लगीं, जिसके कारण मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और उन्हें लिप किस कर दिया.

वैसे नाम क्या है इसका?मैंने कहा- नवाब खान। उम्र में तेरे से बड़ा है. चम्पा- क्या जंवाई बाबू … ऐसे गोरे गालों को इतनी जल्दी थोड़े ही न छोड़ा जाता है … जरा कस कर मसल कर रंग लगाओ. मैंने बोला- आ जाओ ऊपर मेरे कमरे में … लेकिन पहले देख लेना सब सो गए हैं कि नहीं.

हिंदी ब्लू फिल्म फुल हद

फिर …मेरी पिछली कहानी थीरॉन्ग नंबर की काल से मिली लड़की की चूतमैं जयकुमार आप सभी के समक्ष एक नई फर्स्ट लव सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं. [emailprotected]Xxx गर्ल हार्ड सेक्स स्टोरी का अगला भाग:होली पर मेरी ससुराल में घमासान सेक्स- 3. उसके बाद रात भर मैं प्रीति के पास रहा और दिन दोपहर, पूरी रात उसको चार बार कस-कस कर, आसन बदल बदल कर उसे चोदा.

रात को उसे पेशाब लगी तो वो बोला कि दीदी मेरे साथ चलो बाथरूम तक।मैं उसको बाथरूम तक लेकर गयी.

मैं- साली चूसेगी हमेशा मेरा लंड ना!नेहा- हां जान … मैं आपके लंड को खा जाऊंगी.

मैंने कहा- अच्छा … मतलब मैं ही अपनी बेगम के लिए मोटा लंड सेक्स के लिए तलाश कर लाऊं?उजमा शर्मा गई और बोली- हां मेरे सरताज. अब तक मैंने अपनी गांड भी नहीं मरवाई थी तो ये लगने लगा था कि मैं भी नशा करके अपनी गांड में जेठ जी और पति का लंड ले लूं. करीना कपूर xxxxमेरी तेज सिसकारियों को रोकने के लिए दादाजी बोले- आराम से कर साली … कोई सुन लेगा.

फिर वो 27 दिसम्बर को आई और बोली- यार, मेरा कोर्स छूट गया है … मुझे अपना रजिस्टर दे दो. अलमारी से क्रीम की शीशी और कॉण्डोम का पैकेट निकाल कर मैं भी बेड पर आ गया. हम दोनों रोज 1 बजे जाते और मैं मोहित के साथ खड़ी रहती और रूपा चुद कर आ जाती.

मैं तो आज ही फिर से उसकी चुदाई करने वाला था और रोज ही उसको चोदने वाला था. मैंने जिया के बूब्स को अपने हाथों में भर लिया और उनको कस कर दबाने लगा.

लेकिन मुझे इसके बदले में क्या मिलेगा?सनी- पीहू मेरी जान … तुम जो कहोगी मैं वो करूंगा.

मैंने लंड को बाहर निकाल लिया और अपने होंठों से मां की चूत पर हमला बोल दिया. फिर मैंने उसे सीधे लिटा कर चोदा और अपना रस उसकी चूत में टपका कर उसी के साथ नंगा ही सो गया. पांचवें आदमी ने मेरी गांड में वीर्य छोड़ने के बाद मुझे अपने कपड़े पहनने को कहा.

वीडियो गाने वाली सेक्सी मुझे भी तीन चूतों के बीच में एक लंड होकर इतना मजा आता है कि बस क्या बताऊं. लोकेश के साथ मैंने सेक्स तो किया हुआ था लेकिन आज जब रोहन के साथ ये सब कर रही थी तो ज्यादा मजा आ रहा था.

इसके बाद शिवम ने चुदाई की पोजीशन बनाई और नम्रता की चूत में अपना लंड पेल दिया. ब्लाऊज वैसे तो मां ने अपने दूधों को छुपाने के लिए डाला हुआ था लेकिन वो मेरी मां के स्तनों को संभाल नहीं पा रहा था. तभी उन्होंने पलट कर पीछे देख कर अपने होंठों को दांत से दबाने का एक इशारा सा किया और गांड हिला कर आगे जाने लगीं.

लड़की पेशाब करते हुए

कुछ देर धकापेल चुदाई के बाद उस लड़के ने अपने लंड का पानी मां की बुर में छोड़ दिया. दीदी जीजा जी की चुदाई देख कर ही मैं सुमित से अपनी चुत की सील खुलवाने का साहस किया था. ! अपने यार से एक पल मिलने के लिए महीनों की तैयारी और हर बात पर उसकी मर्जी सम्भालने की चिंता.

अंकल मेरी चूत पर अपने लंड का टोपा घिसते जा रहे थे और मैं उस रगड़न का मजा अपनी आंखें बंद करके लिये जा रही थी. उनके बाद पांचवां मेरे ऊपर चढ़ गया उसने भी मेरी चूत में अपना लंड घुसा दिया और धक्के लगाने लगा.

पहले दिन तो अच्छे से उसके बदन से खेला, फिर सोचा कि 3-4 दिन में छोड़ कर आ जाऊंगा.

अब मैंने मामी को ज्यादा दर्द देना ठीक नहीं समझा और उनकी चूचियों को छोड़ दिया. जब वो कुछ शांत हुई तो फिर मैंने एक शॉट और लगाया मेरा लंड चूत की सील तोड़ते हुए पूरा चूत में चला गया. जब तक मैं उन दोनों के पहुंचा, तब तक शुभम नम्रता को नंगी कर चुका था और वह उसे किस कर रहा था.

यहां पर एक बात तो मानने वाली थी कि आकाश सर बहुत ही लकी थे जो उनको जिया जैसी हॉट बीवी मिली थी. मैंने कहा- क्या करोगी जान कर!वो तमक कर बोली- मैंने पूछा कि अपने हॉस्टल का नाम बताओ. हुआ भी कुछ ऐसा ही कि वो टिक न पाया और कुछ ही देर बाद झड़ने को हो गया।झड़ने से पहले मुझसे उसने पूछा- अंदर ही डाल दूँ क्या?मैंने कहा- हां, मेरी चूत बहुत प्यासी हो गई है। बुझा दो इसकी प्यास।मैंने ये कहा ही था कि उसने अपना माल मेरी चूत में छोड़ना शुरू कर दिया.

उधर मम्मी अपनी जान पहचान वाली औरतों से बातें करने लगीं और मैं बोर होने लगा कि कहां फंस गया.

लोकल बीएफ वीडियो: उसकी कामुक निगाहें भी मेरा मनोबल बढ़ा रही थीं और उसकी चुत चोदने के लिए मेरा लंड बेकरार हो गया था. रानी ने मेरे मुँह से अपनी तारीफ़ सुनी तो शर्माते हुए उसने थैंक्स कह दिया.

मां मेरी पैंट उतारने लगी और मैंने गांड उठा कर उनको जगह दे दी पैंट खींचने के लिए।पैंट नीचे करके मां ने मेरी अंडरवियर में हाथ दे दिया और मेरे लंड को पकड़ लिया. मोहित अंकल तो मज़े में अपना रस मेरी गांड में डाल रहे थे और उन्हें पता भी नहीं था कि उनकी वाइफ पूजा आंटी नीचे छटपटा रही थीं. मैंने एक हाथ से नीचे ही नीचे उसकी जीन्स का बटन खोल दिया और उसकी पैंट में हाथ देकर उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत पर फिराने लगा.

मैं- तुम अब रहने दो … इसलिए तो तुमने इतने दिनों से मेरे बूब्स से हाथ भी नहीं लगाया.

मेरी रंडी बीवी ने लंड को चूत पर सैट कर लिया और बोली- चोद दीजिए अपनी रंडी बीवी को. मैंने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया क्योंकि मुझे जरा कम भरोसा हुआ. हमको पिला दो अपना माल, प्लीज।कहते हुए साधना ने मेरा लंड भाभी की चूत से निकाल लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.